पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए

छवि स्रोत,हॉट सेक्सी भाभी सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी बीएफ नई में: पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए, हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूस चाट रहे थे। मैं कपड़ों के ऊपर से ही एक हाथ उसके उभारों पर ले गया और उन्हें हल्के हल्के दबाने लगा.

2022 के सेक्सी वीडियो एचडी

वो कहने लगी- अब्बू अब देरी मत करो … मार दे आज अपनी नाजुक बिटिया की गांड. 6 सेक्सी फोटोचलिये अब कहानी को वहीं से आगे बढ़ाता हूं जहां मैंने इसे पिछले भागमेरी चालू बीवी लंड की प्यासी-7में छोड़ा था.

मुझे अच्छा लग रहा था जब किसी और की बीवी अपने पति की बजाय किसी गैर मर्द की तारीफ कर रही थी. नवीन मराठी सेक्सी वीडियोउन्होंने मुझसे पढ़ाई के बारे में पूछा, फिर मेरे गेम्स के बारे में … क्योंकि मैं हैंडबाल और बेडमिंटन भी कालेज की तरफ से खेलता था.

उसने अपना लंड मेरी दोनों चूचियों के बीच में घुसा कर आगे पीछे करना शुरू कर दिया.पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए: इसके बाद पिंकी के साथ क्या-क्या हुआ, वो सब मैं अगली सेक्स कहानी में आपको बताऊंगा.

आदमी बोला- मेरा एक दोस्त है, अगर तुम कहो तो उसे बुलाऊं?मां बोली- ठीक है कल बुला लेना.मैंने हैरानी जाहिर की, तो इस पर प्रिया ने बताया कि कमरे साउंडप्रूफ हैं.

सेक्सी आर्केस्ट्रा वीडियो गाना - पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए

वो तीन नयी चूत मुझे कैसे मिली और मैंने उनकी चुदाई कैसे की, वो सब बातें मैं आपको अपनी आने वाली कहानियों में बताऊंगा.फिर कुछ देर मेरे लंड को हाथ में लेने का मजा लेने के बाद उसने मेरे अंडरवियर को खींच दिया और मैं अब बिल्कुल नंगा हो गया.

इस कहानी के पात्रों के नाम काल्पनिक हैं और स्थान के नाम भी बदल दिये गये हैं. पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए मेरा बेटा अभी छोटा है इसलिए उसे मैं अपनी सास के पास छोड़ आई हूँ … और पति विदेश में सर्विस करते हैं … इसीलिए मैं अकेली ही जा रही हूँ.

चुदाई के मैदान में वह किसी भी रिश्ते को आराम से अपने बस में कर लेती थी.

पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए?

उस के लैपटॉप में कई ब्लू फ़िल्में थीं मैं एक फिल्म को वॉल्यूम बंद करके देखने लगा. मैं तेजी से उसके लंड पर कूदते हुए उसके लंड को पूरा जड़ तक घुसवाने लगी. मैंने चूत में उंगली की स्पीड बढ़ाई, तो वो मचल उठी और उसने टेबल पर दोनों दोनों हाथों से टेक ले लिया.

मुझे लगा था कि यहां कोई नहीं आएगा, इसलिए मैंने घर के दरवाजे में बाहर से कुंडी नहीं लगायी थी. और देखते ही देखते लंड को अम्मी की चूत में पूरा उतार दिया और जोर जोर से धक्के मारने लगा. इसका केवल एक ही मतलब निकल रहा था कि उसने शादी से पहले अपनी चूत की बहुत ठुकाई करवाई है.

फिर देखने लगा कि हो क्या रहा है?मगर किसी की कोई आवाज नहीं आ रही थी. फिर मैंने उनको वहीं डाइनिंग टेबल पर लिटाया और उनकी कुर्ती निकाल कर उनके मम्मों को ब्रा के ऊपर से दबाने लगा. उस दिन मैंने ब्लू कलर की साड़ी पहनी हुई थी और खुले गले वाला ब्लाउज पहना हुआ था जो थोड़ा छोटा था.

मैं उस हिसाब से तैयार होकर बस स्टैंड पहुंच गया और वहीं पास के एक मेडिकल स्टोर से कंडोम का एक पैकेट लिया और बस काउंटर पर पहुंच गया।वो भी सीधा बस स्टैंड पर आ गयी। उसने पटियाला सूट पहना था. अगले दिन फिर मैं देरी से आने का बहाना करने लगा और घर पर बोल दिया कि मैं दोस्त के घर पर जा रहा हूं.

थोड़ा और रेडी हो जाऊँ इसलिए मैंने सेक्स की गोली ले ली जो मैं अपनी जेब में रखता हूँ.

तभी मेरे मन में शैतानी ख्याल आया कि जाकर देखना चाहिए कि पापा अब क्या कर रहे होंगे!मगर देखने जाऊं तो कैसे जाऊं.

उसने अपना लंड मेरी दोनों चूचियों के बीच में घुसा कर आगे पीछे करना शुरू कर दिया. कुछ देर बाद मैंने मनीषा बुआ को उठाया और उनकी कसकर अपनी बांहों में पकड़ लिया. मेरी घुड़की सुनकर वो दोनों चुप गए और मेरे प्लान में साथ देने को तैयार हो गए.

साथ ही वो मेरे लंड को और उसकी गोटियों को अपने हाथों से सहला भी रही थी. इस तरह से दो बार बहुत ही तसल्ली से मैंने लवली की मां की चुदाई की और कहा कि आपसे फोन पर बात होती रहेगी. लेकिन हॉल में भी कोई नहीं था, इसलिए मैं किचन में आ गया, जहां पर दीदी ब्रेकफास्ट बना रही थीं.

फिर वो मेरे लंड पर पैंट के ऊपर से हाथ फेरते हुए बोली- सोचो, अगर कल को मेरी सास ने मेरे पति की दूसरी शादी कर दी, तो फिर मुझे इस घर से निकलना होगा.

मैंने कहा- किस बात का धन्यवाद!वो बोली- आप नहीं होते, तो ठंड में मैं जम जाती. मुझे लगा कि अब मैं उसके चुचे देखूंगा वो आगे घूमी तो उसने ब्लैक कलर की ब्रा पहनी हुई थी. करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद ही साधना बड़बड़ाने लगी- हाँ विशू जी, स्सस … आह्ह हां, ऐसे ही … आह्ह … और तेज विशू जी… चोदो प्लीज.

उसने कहा- आह … क्या जबरदस्त चूत है साली की! पहली बार लंड घुसाते ही समझ आ गया था कि नई नई नथ उतरी है. अपने चूचों को छेड़ते हुए मैं उस आनंद के ज्वार को बर्दाश्त करने की कोशिश करने लगी. आंटी की सहेली की चुदाई का मजा मैंने कैसे लिया? पड़ोसन आंटी ने अपनी सहेली को अपने घर बुला कर मुझसे चुदवाया.

जीजा जी- देख राज, कई बार हमें अपनों की खुशी के लिए ऐसे कदम उठाने पड़ते हैं.

मामी मेरे लंड को अपनी उसमें (चूत में) ले लेती है और फिर मुझे धक्के मारने को कहती है. उससे चूचियां चुसवाते हुए ऐसा लगने लगा था कि मेरी जवानी फिर से जवान हो रही है.

पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए अब वो मुझे सिर्फ बहन की नजर से ही नहीं बल्कि सेक्स की नजर से भी अच्छी लगने लगी थी. रेशमा- नहीं मांनूगी, आप बोलो तो!मैंने कह दिया- मुझे आपकी गांड बहुत अच्छी लगी.

पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए मौसी के कहने पर मैं आहिस्ता से वहां से उठा और अपनी वाली जगह पर आकर लेट गया. उसने अपना लौड़ा इतनी ताकत से अंदर घुसाते हुए धक्का दिया कि उसका लंड मेरी गांड से घुस कर मेरे हलक से निकल आयेगा.

इसके अलावा मेरी पीठ पर यहाँ वहाँ काटने के मारने के निशान बना दिये।मेरे सर के बाल खींचे, मेरे बदन पर थूका, मेरी माँ बहन बेटियों तक को गालियां दी।करीब आधे घंटे तक राजेश मुझे पोज बदल बदल कर चोदता रहा, मैं तीन बार और स्खलित हो गई।औरत को कितना जलील किया जा सकता है, ये उसको पता था.

कानपुर की हिंदी बीएफ

इस ऐनल सेक्स हार्ड फक स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरे दो यारों ने मेरी चूत मतलब गांड मोटे लंडों से मार मार कर खुली कर दी. धीरे धीरे से मैं उस लड़के के लंड को अपने हाथ से हल्का हल्का दबा कर सहलाने लगी. मेरा लंड फिर से थोड़ा सा रस छोड़ने लगा, जिसे मंजू पी गई और फटाफट खड़ी हो गयी.

मेरे लंड को हैरानी से देखते हुए वो बोली- हाय… इतना बड़ा भी होता है क्या किसी का?ये कह कर भाभी ने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और उसको लॉलीपोप की तरह चूसने लगी. मुझे दसियों बार रिजेक्ट किया गया है लेकिन तुमसे चुदवाते ही मेरी शादी तय हो गई. मौसा ने मैडम को नीचे लेटाया और उसके ऊपर लेट कर उसके होंठों को चूसने लगे.

इतना बोल कर हम दोनों ने एक दूसरे की आंखों में देखा और दोनों के होंठ मिल गये.

उसी शाम मामी का फोन आया और वो बोलीं- अपने लंड की मालिश कर लो … आज तुम्हारे लंड को नई चूत का रस मिलेगा. ब्लू फिल्म में भी नंगी लड़कियों को देख कर आपका लंड कभी इतना नहीं हिनहिनाया होगा, जितना मुझे एक छोटी से पैंटी में सामने पड़ी सलोनी को देख कर मजा आ रहा था. अब वो दूसरा आदमी मां की गांड में लंड डाल कर उसकी गांड चुदाई करने लगा.

तो मैंने उन्हें कैसे मनाया सेक्स के लिए?हाय फ्रेंड्स, अपनी फैमिली सेक्स स्टोरी के पिछले भागविधवा ताई ने मेरी वासना जगायी-1में मैंने आपको बताया था कि एक दिन मैं मेरी ताई के साथ घर पर अकेला था. आह्ह चोदो मुझे… चोदते रहो।मामी की ये बातें मुझे उनकी चूत को और जोर से ठोकने के लिए उकसा रही थीं. तो मैंने क्या किया?हमारे बगल वाला घर शुक्ला जी का था, शुक्ला जी एक बैंक में मैनेजर थे और आजकल पश्चिमी उत्तरप्रदेश के किसी शहर में पोस्टेड थे व महीने में एक दो बार ही घर आ पाते थे.

तो वो बोले- अरे पागल, इसमें तो प्रोटीन होता है, नीरा तो मेरी आखरी बूंद तक पी जाती है।मुझे बड़ी हैरानी हुई कि यार ऐसे कैसे कोई किसी की पेशाब करने वाली जगह को मुँह में ले सकता है।हालांकि मुझे पता था कि ऐसा होता है. जैसे ही हमने एक दूसरे के मुँह में अपनी जीभ डालने की कोशिश की, उनके शरीर से एक अलग सी सिहरन हुई.

शाहिद मेरे सिर के पीछे था और अपने लंड को मेरे मुंह में ठूंस रहा था. अब जब भी दोनों पढ़ने आतीं तो मैं उसे ही देखता रहता था और इशारे करता. सोच रहा था कि साला ऊपर वाले ने हमको ऐसे टेलेंट क्यों नहीं दिया कि बातों ही बातों में लड़की को चूत देने के लिए उकसाया जाये.

अब मैंने फिर से भाभी से पूछा- क्या बात है … आपका पति से झगड़ा हो गया है क्या? ऐसा क्या हुआ जो आपने ऐसा कदम उठाया.

हम आमने सामने तो आ सकते थे लेकिन अकेले में मिलना जैसे नामुमकिन सा लगने लगा था. और रही बात कंडोम की … तो कौन सा नीता प्रेग्नेंट हो जाएगी बिना कंडोम के चोदने से? क्यों नीता?मानव ने मुझे आंख मार कर बोला।क्यों नहीं, एक बार तो ट्राई कर ही सकते हो।” मैंने भी आंख मार कर बोला. मैं वही वाकया आपके सामने पेश कर रहा हूं जो कि एक सत्य घटना पर आधारित है.

जब हम दोनों घर के पीछे वाले कमरे में चुदाई कर रहे थे मां ने हमें देख लिया. इस तरह से एक सप्ताह की मौज काटनी थी।हम दोनों सुबह स्कूटी पर घूमने निकल जाते.

मैंने ये कहते हुए अपने लंड को थोड़ा सा बाहर लिया और एक ही झटके में फिर पूरा अन्दर कर दिया और उनकी गांड को धकाधक चोदने लगा. मैंने कहा- अमन, क्या तुम मेरे साथ थोड़ी दूर तक चल सकते हो? मुझे टॉयलेट जाना है. अभी मेरे सामने जीजा जी दीदी को चोद रहे थे और जीजा जी के धक्के मारने की स्पीड भी कम थी.

भोजपुरी बीएफ वीडियो चलने वाला

उनकी चूत पर छोटे छोटे बाल थे मानो 4-5 दिन पहले ही ट्रिम किये गये हों.

मुझे ऐसा महसूस हो रहा था कि जैसे मैं बेलचे से सीमेंट और रेत फेंट रहा हूँ. मौसी के घर जाने के बाद भी मौसी मुझ पर पूरा ध्यान रखती थी और वो इकलौती औलाद वाली नसीहत ने मौसी के घर में भी मेरा पीछा नहीं छोड़ा. आपके फीडबैक के माध्यम से ही मुझे आप लोगों के मनोरंजन के लिए भविष्य में बेहतर कहानियां लिखने की प्रेरणा मिलेगी.

दीदी बरामदे में खड़ी होकर पड़ोस की एक लड़की से बात कर रही थी।दीदी बहुत ही खूबसूरत लड़की थी. मैं बोला- आंटी अगर बात सिर्फ़ कमज़ोरी और शरीर टूटने की है तो आप मुझ पर छोड़ दो. दीदी की सेक्सी वीडियोसुमित के साथ सालभर रिलेशनशिप में रहने के चलते उसने मेरी चूचियों को इतनी बार छेड़ा और दबाया था कि मेरी चूचियां अब पहले के मुकाबले काफी बढ़ गयी थीं.

बदन झुक कर मुड़ने लगा और मेरे लिंग पर बनी बलविंदर के हाथ की मुट्ठी से बाहर झांकते मेरे शिश्न से एक सफेद तरल पदार्थ की जोरदार पिचकारी निकल कर वाशिंग मशीन पर जा लगी. पर मैं हिम्मत रख कर बोली- डार्लिंग, लड़कियों की चूत तो फटने के लिए ही बनी होती है.

मैंने मामी के पास जाकर उनके चूचों पर हाथ रखा, तो मामी की तरफ से कोई भी हलचल नहीं हुई. उसका लंड मेरे मुँह में फंसा हुआ था और उसने मेरे सर को दबाया हुआ था. लड़की वालों की तरफ से बहुत सी सुंदर-सुंदर लड़कियां भाभियां और आंटियां आई हुई थीं.

मैंने उसको निकाल कर फेंक दिया और दोबारा से लंड को हिला हिला कर खड़ा करने लगा. और अपने दोनों हाथ मेरी पीठ और सिर पर फिरा रही थी।अब मैंने झटकों की गति बढ़ा दी। मेरे झटकों से तख्त भी बुरी तरह से हिल रहा था. मैं बहुत ख़ुश हो रहा था कि अब अपनी मीनू जान को चोदने का मौका जरूर मिलेगा.

ये सोचते ही मैं गेट खोलकर बाहर आकर बैठ गया और उधर 5 मिनट बैठकर, फिर से गेट बंद करके रूम में आ गया.

अलीज़ा तनिक गुस्सा हुए बोली- तुमने पानी अन्दर क्यों डाला?रोशन लाल बोला- मादरचोदी पोस्टिंग करवाना है ना … तो ज्यादा चुदुर चुदुर नहीं कर. फिर वो थोड़ा झुकी और मुझे किस करने लगी और अपनी चूत को ऊपर नीचे करती रही.

इसके सुबूत के लिए मैंने विडियोग्राफ़ी के साथ फोटो खिंचवाने और एक स्टाम्प पेपर पर साइन करने तक सारे काम कर लिये. उसके पति को शायद ज्यादा समय नहीं मिलता था उसकी चूत को चोदने के लिए, इसी वजह से वो इतनी जल्दी अपनी चूत मुझसे चुदवाने के लिए तैयार हो गयी थी. मैं तयशुदा दिन और शाम को आठ बजे उस जगह पहुंच गया और मेरी सलहज का इंतज़ार करने लगा.

जिससे उसकी पैंटी जो ब्लैक कलर की थी, अंदर से दिखने लगी।उसे पता न चले कि नीचे क्या हुआ है इसलिए मैं बिना कुछ हरकत किये ऊपर उठकर उसे किस करने लगा और फिर से उसके स्तनों के साथ खेलना शुरू कर दिया. लवली ने पीछे का दरवाजा खुला रखा हुआ था और मैं भी अपने बाप और अपनी रंडी बीवी की चुदाई के खेल को अपनी आंखों से लाइव देख रहा था. एक दिन अचानक फोन करके वो बोली- कहां हो? न फोन, न मैसेज?मैंने बता दिया कि काम में बिजी था, ध्यान नहीं रहा कि कॉल कर लूं.

पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए मेरी पोज़िशन ऐसी हो गयी थी, जैसे कोई गर्ल चुदने से पहले घोड़ी बनती है. फिर बाद में मुझे समझ आया कि वो अपने रूम में आने के लिए बोल कर गयी हैं.

बीएफ हिंदी और इंग्लिश

अब मैं अपनी कुर्सी से उठकर उनकी कुर्सी के पीछे गया और पीछे से उसके दोनों चूचों को अपने मजबूत हाथों से पकड़ कर जोर से दबा दिया, जिससे बुआ के मुँह से आह निकल गई. सर्दियों का मौसम था तो मोसी बाहर घर के आंगन में नंगी नहा रही थी जहां धूप आई हुई थी।घर में और कोई नहीं था. मेरे मन में ख्याल आ रहे थे कि यदि इन दोनों में एक की चूत भी आज रात को चोदने के लिए मिल जाये तो मेरी जिन्दगी कुछ सुधर जाये.

यदि घर पर भी मौका मिलता है तो हम भाई बहन का सेक्स का अवसर नहीं छोड़ते हैं. और उसने मेरी दोनों दूध जैसी सफेद चूचियों को ज़ोर-ज़ोर से मसलना और चूसना शुरु कर दिया। वो एक चूची को हाथ में लेकर चूसते तो दूसरे को हाथ से मसलते और निप्पल को उंगली से कसकर निचोड़ते।3-4 मिनट के बाद मास्टर ने अपनी पैंट का बटन और जिप खोलकर पैंट को अपने घुटनों तक नीचे कर दिया. गुजराती सेक्सी सील पैकमैं उससे बोला- पिंकी मैं तुम्हें कोई काम वाली बाई नहीं, बल्कि अपना दोस्त मानता हूं.

लवली कहने लगी- आशीष अब सब जान गये हैं और ये तभी राज़ी होगें जब उनको कोई चूत मिले.

हाय दोस्तो, मैं राजकुमार अपनी बहन बनी बीवी की चुदाई कहानी को आगे बढ़ा रहा हूं. फिर मेरा क्या होगा? इसलिए बेहतर है कि तुम मेरा साथ दो और मेरी गोद में सारी खुशियां डाल दो.

सुनीता अपनी सलवार और चड्डी उतार कर नंगी हो गयी और मनोज के पास जाकर अपनी चूत उसके मुँह से सटा दी. दोस्तो, आप सभी को क्या लगता है कि यह सही है या गलत आप मुझे मेल या कमेंट में बता सकते हैं. देवर भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे बहन की शादी के समय भाभी और मैंने एक दूसरे को नंगा देख लिया.

उनके लंड खड़े थे … सबसे पहले मैंने हरि की पैंट उतारी, तो मैं दंग रह गई.

मैंने सोचा कि उन्हें अपने हाथों और टांगों के बाल शेव करवाने होंगे … पर मामला कुछ और ही था. इधर खड़े होकर कब तक चुदाई करोगे?मैंने मोनिका को गोद में उठाया और बेडरूम में आ गया. जिससे मैं हट ही न सकी और उसके लंड से पानी सीधे मेरे गले से होकर पेट में चला गया.

सेक्सी वीडियो एचडी हिंदी चुदाईअगली रात दीदी मेरी गोद में बैठी मेरे खड़े होते लंड को महसूस करने लगी थीं. मुझे लंड चूसना तो पसंद नहीं था फिर भी न चाहते हुए भी मैं अमन का लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

गांव की हिंदी में बीएफ

मैंने मानव के लंड को अपने मुंह में ले लिया और उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी।मानव अब मेरे मुंह को मजे से चोदने लगा।मुझे अब मुंह और चूत दोनों में लगातार धक्के लग रहे थे। मैं अपने दोनों तरफ से चुदाई के मजे ले रही थी. करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद मुझे लगा कि मेरा काम तमाम होने वाला है. लेकिन भैंस साइड में हट गई तो उसका लन्ड बाहर ही लटकने लगा।तभी मोसी बोली- ये ऐसे नहीं रुकेगी.

मेरे चारों ओर के सारे लोग मेरे शरीर को अब बेतहाशा चूमने लगे। रोहन मेरी ब्रा से निकले हुए चूची के हिस्से को चूम रहा था. मैं प्रीति को गले लगाने के बहाने उठा और उसकी पीठ की तरफ जाकर प्रिया को उंगली से चूत बनाकर जीभ डाल कर इशारा किया. तब से मेरी माँ बहुत अकेली रहने लगी।अब मैं आपको अपनी माँ के बारे में बताता हूँ.

उसका लंड मेरे मुँह में फंसा हुआ था और उसने मेरे सर को दबाया हुआ था. उनके चूचे एकदम बाहर की ओर निकले हुए थे, कम से कम 36 इंच की चूचियां तो होंगी ही… भाभी की पतली कमर थी और सबसे अच्छी तो उनकी गांड 42 इंच के आस पास की रही होगी. मंजू अब मेरा लंड लंड चूसने लगी और करती रही … और जब तक मेरे लंड ने पानी नहीं छोड़ दिया और जिसे वो पी नहीं गई, तब तक उसने मुझे चैन नहीं लेने दिया.

जहां दोनों मेरा इंतजार कर रहे थे।मुझे अच्छी तरह से तैयार हुआ देखकर दोनों के चेहरे खिल गए।मैं भी हंसते हुए सोफा पर नीरव के बगल में बैठ गई।अब हम लोगों ने चर्चा शुरू की और नीरव ने मानव से मेरे सानिध्य के लिए अनुरोध किया।मानव ने उनकी बात मान ली. मैंने उनसे कहा- मेरा लंड बड़ा लग रहा है?बुआ ने भी चुदाई की खुमारी में मेरे लंड को पकड़ कर मसला और कहा- हां तेरा लंड बहुत बड़ा है.

क्या आप अपनी गर्लफ्रेंड को प्यार नहीं करते?मैं- मेरी गर्लफ्रेंड नहीं है भाभी.

मैं ये देख रहा था कि आंटी की नज़रें मेरे पजामे पर मेरे लौड़े पर ही जमी थीं. देसी भाभी की चुदाई सेक्सी पिक्चरक्या नज़ारा था मेरी आंखों के सामने, मैं उनके घुटनों की बनावट से अंदाजा लगा सकता था कि आगे की यात्रा अगर मंगलमयी रही तो जन्नत मिलने वाली है. मारवाड़ी इंग्लिश पिक्चर सेक्सीजिसमें उन्होंने मेरे तलवों से शुरू कर ऊपर जांघों तक मेहंदी की डिजाइन बनाई. मगर दोस्तो, मैं दो बाइक का क्या करूंगा, इसलिए मैंने निगार आंटी को बाइक का मना कर दिया.

मां ने पूरा लंड अंदर ले लिया था जैसे कोई कुतिया किसी कुत्ते के लंड को खींच लेती है.

कुछ नहीं!रेशमा मुझे छेड़ते हुए कहने लगीं- अरे शर्माओ मत, बोलो ना प्लीज!मैं- आप बुरा मान जाओगी. उन्होंने मेरे लंड पर अपना हाथ रख कर कहा- आह ये काफी बड़ा है … बड़ा सख्त और मोटा लंड है तेरा आशीष … तू मुझे पहले क्यों नहीं मिला रे … आज काफी मजा आने वाला है. उस दिन मैंने उससे पूछा कि तुम्हें अपने लिए कुछ और लेना हो तो ले लो.

उस आदमी की बातें सुन कर लग रहा था कि आज ये इन दोनों लड़कियों में से किसी न किसी एक की तो चूत बजा कर ही मानेगा. मुझे उनके मुँह से ऐसे शब्द निकलना अजीब से लगे, लेकिन सुनकर बड़ा मज़ा आया. कुछ देर तक ऐसे ही एक दूसरे को चूमने के बाद मैंने साड़ी का पल्लू पकड़ा और दीदी के कंधे से पिन निकाल कर पल्लू को गिरा दिया.

आदिवासी लड़की की बीएफ

मां बोली- तो तुमने उसको अब क्यों नहीं बताया कि पूजा तुम्हारी बहन है बीवी नहीं?मैं बोला- मुझे ध्यान नहीं रहा. जो घटना उस रात हुई, वैसी ही घटना कई बार और भी हुई, मगर अभी तक मैं मां की चूत नहीं मार सका था. तभी मैंने मौके को भांप कर फिर से अपने लंड को उसकी चूत से बिना बाहर निकाले पूरा बाहर खींचा और फिर डबल ताकत से तीसरा जोरदार धक्का लगा.

ये अलग बात थी कि चोर नजरों से मैं बीच बीच में अमिता की तरफ देख रहा था.

इस कहानी पर अपने विचार बताने के लिए हमें अपने मैसेज और कमेंट्स जरूर दें.

मैंने देखा कि जीजा जी मेरे सामने ही खड़े थे और हम दोनों एक दूसरे को देखकर मुस्करा दिए. मैंने अपनी जीभ उसके चूत में डाल दी और चाटने लगा।उसके बाद उसी पोजिशन में साइड में आकर उनके बूब्स चूसने लगा। फिर वापस पीछे से उसकी चूत चाट रहा था और अपने लौड़े को भी गीला कर लिया. तृषा कर मधु के वीडियो सेक्सीतो उन्होंने मेरा हाथ हटा दिया और खड़े होते हुए बोलीं- ये गलत है … तू मेरे बेटे का दोस्त है … और उम्र में भी मुझसे बहुत छोटा है.

मैंने लंड पेलते हुए कहा- हां चाची कभी नहीं जाऊंगा …मैं जोर जोर से चूत में लंड के धक्के देता रहा. मैंने उसकी पैंटी को उसकी टांगों से निकलवा दिया और उसकी चूत को चाटने लगा. मैंने पूछा- दीदी, क्या आप अभी नहाई नहीं हैं?दीदी- अरे पहले चूत को तो बहा लेने दे … फिर तेरे साथ ही नहाऊंगी.

उनका एकदम गोरा रंग, लंबी हाईट, बड़े काले बाल और नाक में नोज रिंग बहुत सेक्सी लग रही थी. शाम को जब मैं घर आया तो उसने मुझे पूछा- ये कैसी किताब पढ़ते हो?मैंने अनजान बनकर उससे पूछा- कौन सी किताब?उसने वही किताब मेरे सामने ला दी.

मेरी अपनी भाई बहन की चुदाई की कहानी के आने वाले भागों में आपको इसका कितना लुत्फ़ मिलेगा, प्लीज़ मेल करेक जरूर बताएं.

मैंने मामी से पूछा- बोलो … कहां लोगी लंड का माल?मामी बोलीं- आह मेरी गांड में ही छोड़ दो. जब वहां से मैं बाथरूम की ओर गया, तो मुझे एक रूम का गेट थोड़ा खुला हुआ दिखाई दिया. वो लंड सहलाती रही … और मैं चुपचाप हो कर खुद को सामान्य दिखाने की कोशिश कर रहा था.

बोनी लड़की का सेक्सी वीडियो एक दिन पिंकी नेल पॉलिश लगा रही थी और मैं बाजार से कुछ सामान लेने बाइक पर जाने की तैयारी कर रहा था. उसके बाद मैंने अपने लंड को अंदर बाहर करते हुए भाभी की गांड में चलाना शुरू किया.

उसने कहा- आह … क्या जबरदस्त चूत है साली की! पहली बार लंड घुसाते ही समझ आ गया था कि नई नई नथ उतरी है. अब आगे की हिन्दी रियल सेक्स स्टोरी:हमें चुदाई और बातें करते हुए 2 घंटे से ज्यादा हो गए थे. मेरा मौसाजी डिफेन्स में थे इसलिए उन्हें डिफेन्स क्वॉर्टर मिला हुआ था.

गर्ल्स बीएफ वीडियो

फिर मैंने सोचा कि तब तक ये किताबें ही देख लूं … काहे की किताबें हैं. निकलते ही मैंने उसे पास करते हुए बोला- मुझे कुछ करना है।उसने पूछा- क्या करना है अब तुझे?मैंने बोला- तुम्हें गले लगाने का मन कर रहा है।वो बोली- ओह्ह, तो फिर यहां खुले में लगायेगा क्या? यहाँ नहीं. अंकल आंटी ने मेरी नंगी गांड मारने की कहानी पूरी की और मेरी तरफ मुस्कुरा कर देखा.

मैं रूम में ही पर्दे के पीछे बैठा बैठा आंटी को देखता रहा कि आंटी क्या करती हैं. अब ऊपर से मैडम मेरी चूत को चाट रही थी और नीचे से मौसा उसकी चूत को चाट रहे थे.

उसने बताया कि मेरी मां उसके लंड को रात में छेड़ती है और अपनी चूत में ले लेती है.

गाड़ी में बैठते वक्त अम्मी पीछे बैठने लगी लेकिन मनोज ने कहा- भाभीजान, आप आगे आ जाओ, सुनीता को पीछे बैठने दो. मेरे लंड से जोरदार फुहारें चल पड़ीं और 8-10 बार पिचकारी सी छूटने के बाद मैं ढीला पड़ता चला गया. कुछ ही देर बाद उसके बमपिलाट धक्के मेरी नंगी चुत के चिथड़े उड़ाने लगे.

मैंने मां और पापा से इस बारे में बात की और उनको बताया कि मुझे वहां फ्लैट पर अकेले रहना पड़ेगा. मैंने उस दिन पहली बार चूत में लंड डाला और 10 मिनट की चुदाई के बाद मैं ताई की चूत में ही झड़ गया. उसने देखा कि उनका बेटा और बेटी एक दूसरे से एकदम नंगे होकर लिपटे हुए हैं.

सुबह जब सूर्योदय हुआ तो मैडम बोली- आप तो सच में ही असल मर्द हैं मौसा जी.

पाकिस्तानी बीएफ दिखाइए: मैं- ठीक है … लेकिन दीदी मेरी एक और इच्छा भी है कि आप मेरा लंड मुँह में लो … प्लीज़ दीदी … इस बार मना मत करना. उसके कातिलाना नैन नक्श और मस्त उभारों से लग रहा था कि उसकी चूची की साइज 36 इंच की तो होगी ही.

तभी उसने मेरा लंड अपने मुँह से निकाला और फुसफुसाते हुए मुझसे बोली- विशू जी, अब आप मुझे इतना क्यों तड़पा रहे हो, जल्दी से अपना मूसल मेरी चूत में डालकर मेरी चूत की चटनी बना दो. वो अलीज़ा को देख कर चौंक गए- अरे अंजलि जी … ये अलीज़ा यहां क्या कर रही है?मैं बोली- अरे मुकेश जी यह तो आपके विभाग का ही माल है. मैंने कुछ खाने का आर्डर कर दिया … और बातों के साथ किस का मजा लेने लगे.

फिर वो मुस्कराते हुए बोली- कहां खो गये थे अभिषेक?मेरी चोरी पकड़ी गयी और मैं झेंप गया.

फिर जब पांच मिनट बीत गये और लगा कि मौसी फिर से गहरी नींद में जा चुकी है तो मैंने दोबारा से मौसी की चूत को छूने की कोशिश की. वो मुस्कुराते हुए मान गईं और जैसे करने के लिए मैं आंटी से कह रहा था, अब आंटी वैसा ही करती जा रही थीं. करीब दो मिनट उसकी चूत और चूसने के बाद मैंने उसको फिर से किस किया और लंड हिला कर उसकी आंखों में देखा.