बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो

छवि स्रोत,मुसलमान बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सक्सक्स नई हद: बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो, अबकी बार जब तुम शालू की चुदाई करना, तो उसके ऊपर जरा सा भी रहम मत करना.

https://thumb-v7.xhcdn.com/a/BB-DPlXGqbjkDJJmr5tf6A/015/760/327/526x298.t.webm

हल्के हल्के से रेशमी झांटों से घिरी हुई भाभी की चुत को चाटने में गजब मजा आ रहा था. सेक्सी दिखा दो वीडियो मेंजब मेरा लंड भाभी की चुत में 6″ तक घुस गया, तो वो बोलीं- अब रुक जाओ.

गालियों की वजह से मैं और जोश में आ गया और मैं भी चाची को गालियां देते हुए जोर जोर से चोदने लगा. जन्मदिन की बीएफवो खड़ी होकर आराम से मेरे लंड से चुदने लगी और मैं उसके चूचों को दबाते हुए उसकी गांड की खड़ी चुदाई करने लगा.

सुरसुराहट क्या, कामोत्तेजना तो तभी से शुरू हो चुकी थी, जब मैं और नम्रता मेरे घर आ रहे थे.बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो: सीकर में मेरे पास वाली सीट खाली हो गई तो मैंने उसको बैठने के लिए कह दिया.

बुआ की नजर सीधे मेरे खड़े लंड पर गयी और वो पांच मिनट तक ऐसे ही देखती रहीं.हर हफ्ते पार्लर जाती है और वैक्सिंग भी टाइम से कराती है। मुझे हर रोज फ्रेश मॉल मिलता है।मैंने आइस क्यूब को उसकी कांख पर रगड़ना चालू किया। वो उतेजना के मारे छपटाने लगी.

তামিল ব্লু ফিল্ম ভিডিও - बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो

मेरी चूची को चूसने के बाद वो मेरे निप्पल को चूसने लगा और उसको अपने दांतों से काटने लगा.उसके‌ कारण एक तो मुझे उससे शर्म महसूस होती थी और दूसरा मुझे थोड़ा-बहुत इस बात का भी डर था कि‌ कहीं मोनी मेरे बारे में घर पर फोन‌ करके न बता दे.

उसके बाद मैंने उसके गाउन की डोरी खोल दी और गाउन उतार कर उसको एक तरफ डाल दिया. बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो वो बोल रही थी- आरव प्लीज़ खा जाओ मेरी चुत को … ऊऊहह … जल्लदीईई … डालो अपना लंड.

कुछ देर बाद उसने मुझे बताया कि मैंने एक फेक आईडी से उससे बात की है और उसने मुझसे पिक्स माँगी थीं, तो मैंने तेरी पिक्स उसे सेंड कर दीं.

बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो?

अब जब भी मैं लंच टाइम में बाहर जाता तो वो खूबसूरत लड़की भी एक बार नज़र भर कर मेरी तरफ देख कर नज़र फेर लेती थी. दो तीन दिन क्रेन का काम चलता रहा और हम लोगों का एक दूसरे को देखने का अपना खेल चालू रहा. दरवाजे पे हल्का हरे रंग का पारदर्शी पर्दा था इसलिए बाहर का दिखाई देता था.

‌उसकी साड़ी व पेटीकोट शायद कुछ ज्यादा ही दबे हुए थे इसलिये अब जैसे ही मैंने उन्हे हाथ से खींचने की कोशिश की तो मोनी पहले तो हल्का सा कसमसाई फिर एकदम से उसके बदन का तापमान बढ़ गया‌।शायद मोनी की‌ नींद खुल‌ गयी थी इसलिये मेरा हाथ अब जहाँ था वहीं का‌ वहीं रुक गया और पहले की तरह ही मैं आज फिर से सोने‌ का‌ नाटक करने‌ लगा।मेरी तरफ से कोई हरकत नहीं हो रही थी. तेल देने के लिए मैंने उसके घर का दरवाजा खटखटाया, उसकी माँ ने नींद में दरवाजा खोला. अगर आपने मेरी पहली कहानी नहीं पढ़ी है तो पढ़ लीजिएगा ताकि कहानी का पूरा मजा आए.

कुछ पल तक चूचों को चूसने के बाद उसने पैटीकोट का नाड़ा खोल दिया और उसे नीचे खींच दिया. जब गांड को हद तक चाट चुकी थी, तो फिर अपने पति को कोसते हुए बोली- मैं यही खेल उसके साथ खेलना चाहती थी, मैं उसकी गांड चाटना चाहती थी, उसके लंड को चूसना चाहती थी, उसके वीर्य का रस पीना चाहती थी, उसके निप्पलों को दांतों के बीच लेकर चबाना चाहती थी. मौका तो सही था और मैं अपने रिदम के साथ उनकी बाइक से घूमने के लिए चली गयी.

यह सुनकर भाई को जोश आ गया और वो पूरी स्पीड से मुझे चोदने लगा और गाली देने लगा- साली रंडी कुतिया … ले अब देख अपने भाई के लंड का कमाल … आज तो तुझे में अपने बच्चों की माँ बना कर छोड़ूँगा … मेरी चुड़क्कड़ रखैल. हां, लेकिन नई जगह पर भी अपनी बीवी की चुदाई में मैंने कोई कमी नहीं की.

मैं भी उसके साथ चाटने लगा।फिर मैंने दो उंगली उसके मुंह के अंदर डाल दीं। वो मेरी उंगलियां चाट रही थी.

उसने भी गाली बकी- अबे गांडू साले चोद दे आज … तेरा मस्त लौड़ा मेरी चूत की खुजली मिटा रहा है … अन्दर तक पेल आह … भैन के लौड़े.

उनके पूरे सीने में घने बाल थे और उनके पूरे शरीर पर भी बाल ही बाल थे. फिर मैं भाई के ऊपर आ गयी और होंठों को बुरी तरह से चूसने लगी और अपने हाथ से उसका लंड हिलाने लगी. उसके बाद मैंने उसको करवट के बल लेटा लिया और खुद भी उसके साथ लेट कर उसकी टांग को उठवा दिया.

एक दिन सुबह कहीं जाने के लिए कार निकाल रहा था तो देखा कि गुप्ताइन की लड़की डॉली छाता लेकर खड़ी थी और गुप्ता जी स्कूटर निकाल रहे थे. चूस मादरचोद!! अच्छे से मेरा लौड़ा चूस!” रवि ने सिसकारी भरते हुए कहा. फिर मैंने पापा से कहा- आप भी मेरी गांड को जमकर चोदो, तुम्हारी बंध्या तुम्हारी रंडी बन कर रहेगी.

मेरी उम्र 26 साल है और मानसी की 24 साल। मानसी का शरीर बहुत अच्छे से उभरा हुआ है। उसके मम्मे और गांड बहुत ही मस्त हैं.

इसके बाद तो मानो काजल की उफनती जवानी का जलवा ही मेरे सामने बिखर रहा था. फिर इसमें गलत क्या है भाभी?इतना कह कर मैं भाभी के चूचों को दबाने लगा और मैंने फिर से भाभी के गालों पर हाथ रख कर उनके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. मैं अपने दोस्तों के पास नहीं बल्कि आज मानसी के चूचों को दबाने की प्लानिंग कर रहा था.

बाजार की दूरी अधिक होने के कारण कभी कभी तो ऐसा हो जाता है कि मैं मोबाइल में गाना सुनते हुए सो भी जाती हूँ. मैं निहारिका से बात करने के बहाने बैठी, तो जानबूझ कर विक्की के लंड पर हाथ रख दिया … और लंड को थोड़ा दबा भी दिया. मेरे जीजा जी के साथ मेरा जो सेक्स हुआ था उसके बारे में भी मैंने सुमन को बताया था.

स्कूल पहुंची तो मन पढ़ाई में तो लगना ही नहीं था अतः शुरू के दो पीरियड जैसे तैसे काटे और फिर टीचर से पेटदर्द का बहाना बना कर स्कूल से निकल ली और सुरेश अंकल के घर के पास पहुँच कर सावधानी से छुपते छुपाते अंकल जी के गेट के भीतर जा पहुंची.

शाम को सब लोगों ने खाना खाया और साथ में हॉल में बैठ कर मूवी देखने लगे. मैंने कई बार उसको फोन करने की कोशिश की लेकिन उसने जो नम्बर दिया था वो हमेशा ही स्विच ऑफ रहने लगा था.

बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो लंड को डाल कर मैंने पूछा- पहले भी किसी का लंड ले चुकी हो क्या दीदी?वो बोली- नहीं, बैंगन डाल लेती थी जिससे मेरी सील पहले ही टूट चुकी है. कुछ दिन बाद ही भाभी के हज़्बेंड का ट्रांसफर जयपुर हो गया, तो भाभी वहां चली गई.

बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो आठ-दस धक्कों के बाद लंड ने उसकी चूत के अन्दर पानी छोड़ना शुरू कर दिया. फिर उठ कर अलमारी में से साड़ी ब्लाउज पेंटी ब्रा सब निकाल कर मुझे दे दिया.

तभी अचानक से मैंने उसके निप्पल को कस कर मसल दिया, उसने अचकचा कर अपनी आंखें खोल दीं और मेरे निप्पल को भी कसकर दबा दिया.

वीडियो चोदी

जैसे जैसे टाइम बीतता गया, वैसे वैसे मौसी की चूत गीली होती गयी और मैं धक्कों की स्पीड बढ़ाता गया. लगभग नंगे होकर मैंने मामी को वहीं बेड पर लिटा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर बेतहाशा चूमने लगा. रानी ने अपने हाथ उरोजों की जड़ पर जमा के दबाया तो चूचे थोड़े ऊपर को उठ गए.

मैं उसकी चूत में लंड डाल ही रहा था कि वो जाग गई और फिर मुझसे नाराज हो गई. उस लड़के ने मेरी बहन की चूत में लंड फंसा रखा था और वो उसकी चुदाई करने में लगा हुआ था. बीच-बीच में वह मेरी गोलियों को किस कर लेती थी और कभी पूरी की पूरी मुंह में भर लेती थी.

वो लंड हाथ में लेते ही चौंक गईं और बोलीं- तुम्हारा लंड इतना बड़ा कैसे? सच में आज तो मैं इससे रात भर चुदाऊंगी.

सुबह आपके इंटरव्यू के समय से पहले ही मैं आपको अपनी गाड़ी में छोड़ आऊंगी. जैसे ही जीभ की टो उसकी गांड के छेद पर चलने लगी, नम्रता की आह निकल गई. मेरी पिछली कहानीभाई की दीवानीपढ़ कर कुछ अन्तर्वासना के पाठकों ने मुझे नया नाम चुलबुली मोनी दिया है, जो मेरे ऊपर सही जंचता है.

यह देख कर मेरा लंड भी फड़फड़ाने लगा और मेरी पैन्ट फाड़कर बाहर आने के लिए मचलने लगा. मेरी चुत और गांड में दोनों का लंड था और दोनों बैठ कर मुझे चोद रहे थे।कुछ देर में झड़ने के बाद मैंने उन्हें जाने को कहा. मैं मेले में निहारिका को ढूंढ रहा था, पर निहारिका अपनी भाभी के साथ रात आठ बजे आई.

हेतल अपनी चूत को मानसी के मुंह पर पटकती हुई चूचों को अपने हाथों से रौंदती रही. मुझे समझते देर नहीं लगी कि मानसी ने अंधेरे में रितेश जीजू पर हाथ साफ करने की तैयारी कर ली होगी.

मैं टॉयलेट में जाकर पेशाब करने लगा और जब मैंने मूतने के बाद लंड को हिलाया तो लंड में हवस सी जाग उठी. अंकल ‘मूऊऊऊऊ … मूऊ … पुच पुच … मूऊऊ … पुच आह ओह उईईई …’ करके मेर दूध निचोड़कर चूसने लगे. वो अक्सर उसे बेड के नीचे डाल देती थी।मुझे उसकी कांख की मादक भीनी सी खुशबू पागल बना रही थी। मुझे नशा सा चढ़ने लगा था। मैंने क्यूब छोड कर उसके आर्मपिट्स को चाटना चालू कर दिया। वो छटपटाने लगी, तेज तेज सीत्कार करने लगी.

मैंने कहा- फिटनेस सेंटर नहीं जाना क्या?उन्होंने बताया कि मैं अपनी सास को पास में ही रिलेटिव के यहां कार से छोड़ कर आई हूँ, सो थोड़ा लेट हो गयी हूँ.

और जोर से मार डालो राजा!वो बहुत गंदी तरह से मेरे भोसड़े को मार रहा था. मैंने देखा कि निहारिका के चूतड़ पहले से भी ज्यादा बाहर निकल आए थे और खड़े हो गए थे. उसकी आंखें बंद हो गई थीं और मेरा मुंह खुल कर स्स्स … स्सस … करने लगा था.

अब और देर करना मुनासिब नहीं था, मैंने उसका हाथ अलग किया और अपने हाथ से उसकी चूत के दोनों लब खोलकर लण्ड का सुपारा रख दिया. कुछ देर तक मेरी चूचियों को चूसने के बाद उसने अपना रुख मेरी चूत की तरफ किया और मेरी चूत पर ले जाकर अपना मुंह रख दिया.

पर उन्होंने ऐसा कुछ करने के बजाय मेरा कुर्ता और शमीज उतार डाली और झट से मेरी ब्रा का हुक खोल दिया. लेकिन दोस्त ने मुझे इशारा किया कि काम बन गया हो, तो जबरदस्ती मत रुको. मगर बच्चों के एग्जाम होने के कारण दीदी को अकेले ही शादी में जाना पड़ा.

सेक्सी वाला वीडियो गाना

पहली बार किसी लड़की की चूत मिली थी और वो भी इतनी टाइट और बिल्कुल कुंवारी.

वीर्य को उनकी चूत में खाली करने के बाद जीजा जी कुछ देर के लिए शांत हो गये. उसके बाद ताऊ जी ने दोबारा से तेल की शीशी से थोड़ा तेल निकाला और अपने लंड पर मल लिया. मैं- मुझे तो भूख लगी है, चलो कहीं बाहर खाने चलते हैं?अलका- हां ज़रूर … बस दो मिनट में रेडी हो जाऊं.

मैंने पूछा- सरला, तुमने तो अपनी संतुष्टि कर ली, लेकिन मेरा क्या होगा?सरला बोली- मैंने मेरा तरीका ढूंढा, तुम जो चाहो मेरे साथ तुम भी कर लो. आप मुझे मेल कीजिए कि आपको मेरी ये चुदाई की कहानी कैसी लगी ताकि मैं और कहानी लिख सकूं. ब्लू भेजेंकुछ देर बाद मेरा लंड छूटने वाला था और पिचकारी निहारिका की सलवार पर जा गिरी.

मैं उसके पैरों को किसी कुत्ते की तरह चूमने लगा। मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं कुछ भी बता नहीं सकता। मैं उस समय सातवें आसमान में उड़ रहा था।फिर लगभग 5-7 मिनट लण्ड चूसाने के बाद मेरा शरीर अकड़ने लगा और मेरे लण्ड ने गर्मागर्म लावा छोड़ दिया और लण्ड से लावा की पहली पिचकारी उसके मुँह में ही गिर गई. भाबी- नहीं नहीं देवर जी, आंगन में नहीं … अगर कोई आ गया तो मुश्किल हो जाएगी.

तब मुझे लगा कि मुझे भी अपनी सच्ची चुदाई की कहानी आप सबको बतानी चाहिए. उस दिन मैंने अपनी वाइफ, बहन और साली को मजे से चोदा था जो मेरी जिंदगी का सबसे बेहतरीन दिन था. उसने मुझे पकड़ के घास में लिटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गया। अपने सीने से मेरी पीठ को दबा के अपने दोनों हाथ से मेरी गांड को फैला के लंड छेद में लगाया और अंदर डालने लगा.

वहाँ मेरा कोई फ़्रेंड नहीं था। मैं समय काटने के लिए मैं फ़ेसबुक पर बहुत ऑनलाइन रहता हूँ और पहले भी कई लोगों से मुलाक़ात कर चुका हूँ। साथ में मैं ऑनलाइन सेक्स मूवीज़ भी देखता हूँ।फ़ेसबुक पर मैं बहुत सी लड़कियों और भाभियों को रिक्वेस्ट भेजता हूँ कि काश़ कोई मिले और मैं मज़े ले सकूँ. मैं सुमन को पूरी तरह से गर्म कर देना चाहती थी और मैं इसमें तेजी के साथ कामयाब भी होती जा रही थी. सुडौल और विकसित होता जिस्म जब वह आइने में देखती होगी तो उसका मन सेक्स की तरफ भी जरूर जाता होगा.

उसी दिन पति को बाहर जाना था तो वे बोले- तुम होटल चली जाना, मैं कुछ गिफ्ट लेकर वहां दे जाऊंगा.

उसके बाद मुझे कुतिया पोज में मेरे पीछे से लंड फिट किया और मेरे मम्मों को दबाते हुए मेरी चुत में लंड ज़ोर से अन्दर तक पेल दिया. … मुझे बहुत मज़ा आ रहा है … यू आर अ लवली सकर … आआह … आआह … बस करते रहो … आह रुकना नहीं.

मैंने कहा- जीजा आप बस चोदते रहो, अब मुझे मजा लेने दो अपनी चूत की चुदाई का. मामी- हां चोदो मेरे जानू चोदो … अपनी मामी को … मैं कब से इस दिन का इंतजार कर रही थी. वो मचल उठी, उसकी चूत पानी छोड़ रही थी। मेरे ऐसा करने मात्र से ही वो स्खलित हो गयी। उसका रस स्टिक पे लगा हुआ था.

हम दोनों ने शादी से पहले ही चुदाई कर ली थी लेकिन किसी को भी इस बारे में अभी तक पता नहीं है. वे बोले- तो आज फिर?मैं बोली- पति के आने तक आप रोज मेरे साथ ही रहोगे. जब भी गुजरा वाकिया याद आता, बाथरूम में शावर चालू करके मुँह पर हाथ रख कर रोने लगती.

बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो मैंने रजाई एक तरफ हटाई और भाभी की टांगों को एक हाथ में उठा कर उनकी चूत पर लंड को सेट करके उनकी चूत में लंड को धकेल दिया. फिर मौका देख कर मैं बात करते हुए ही उनके चूचे और चूतड़ को छू ले रहा था.

सेक्सी फोटो नंगा

उसके हाँफने से उसके बोबों को मैं ऊपर नीचे होते हुए देख सकता था। मेरी बहन का गोरा बदन वासना से तप कर लाल पड़ चुका था। मैं उसके चेहरे पर संतोष का भाव देख सकता था।उसे इस हालत में देख कर मेरा लण्ड भी तन चुका था। मैं उसके पीछे गया. मैं- भाबी, आपकी ये नटखट सी चुत कुछ मूसल जैसा बड़ा सा खाना चाह रही है. उसकी गांड एकदम हाहाकार मचा रही थी, इस पोजीशन में मुझे उसकी गांड का भूरा छेद दिख रहा था, जो बहुत दिलनशी लग रहा था.

गीतू के होंठों की लालिमा उसके शरीर की अग्नि को परिभाषित कर रही थी। मानो गीतू मुझसे कह रही हो कि प्रीतम आओ और मेरे शरीर की आग को अपने जिस्म में समा लो। गीतू की यौवन की आग बढ़ती जा रही थी. थोड़ी ही देर में दोनों ने एक दूसरे का अच्छे से चाटकर साफ कर दिया और उसके बाद एक दूसरे से चिपक गए. ಹಿಂದಿ ಸೆಕ್ಸ್ ಹಿಂದಿतभी मेरे पति का फोन आया, वो बोले- आप लोग कहां पर हो?मैंने उन्हें बताया- हम लोग मोनार्क होटल में हैं.

अगर मेरी बहन ने भी कुणाल को अपनी चूत चोदने की इजाजत दे दी तो फिर मैं इसमें कुणाल की क्या गलती कहूं!मैं यही सब सोच रहा था कि कुछ देर बाद कुणाल मेरे घर से बाहर निकलता हुआ दिख गया मुझे.

मौसी जैसे ही आगे की तरफ सरकीं, मैं भी उसी टाइम थोड़ा पीछे की तरफ सरक गया. उस पड़ोसी भाभी ने क्या किया या हमने क्या किया … ये सब जानने के लिए अगले भाग का इंतजार कीजिएगा.

मेरे दादा जी एक वैद्य हैं जिनके पास सब दवा लेने आते हैं। हमारे खेत में हमने गेहूँ काटने के लिये काम वालियों को लगाया हुआ था जिसमें से 2 औरत थी और 4 लड़कियां. मैंने इस बार थोड़ा ज्यादा ही जोर लगा दिया, तो वो अपने आपको रोक नहीं सकीं. हालांकि अभी कुछ फाइनल नहीं किया है, लेकिन जब भी किसी कॉलब्वॉय या अन्य मर्द से चुदना होगा, तो सेक्स स्टोरी लिख कर आप सभी को जरूर बताऊंगी.

इस आसन में दो ही मिनट में मेरी चूत ने अपना रस छोड़ दिया, पर भाई पर उसका कोई असर नहीं हुआ.

लेकिन बाद में ये सब मामला खुला, तो भाभी खूब हंसीं और उन्होंने भी मुझसे इसी तरह से अपनी कुंवारी गांड का बाजा बजवा लिया. बस फिर क्या था, मेरे हाथों ने उसके चुचे को दबा लिए और कस-कस कर मसलने लगे. मगर उसकी चूत मारना इतना आसान काम थोड़े ही था! उसके लिए तो पहले मुझे इस चुड़ैल का पता लगा कर उसको अपने काबू में करना था.

बीएफ फिल्म सेक्सी ब्लू फिल्म सेक्सीकाजल ऊपर से बिल्कुल नंगी हो चुकी थी और उसकी तेज़ धड़कनों की वजह से उसकी दोनों चूचियां बहुत तेज़ी से ऊपर नीचे हो रही थीं. उसके कमरे में पहुंच कर उसने मुझे पलंग पर बैठने को कहा और वो नहाने चली गई.

xxx88 वीडियो

मेरे पति भी इस बात से परेशान हैं क्योंकि रात को कभी भी मेरी अचानक सेक्स की चाहत से मैं उन्हें जगा देती हूँ और उनकी मर्जी रहे या ना रहे. कई लोग कहते हैं कि नंगी फिल्में देख लेने से या किसी को सेक्स करते हुए देख लेने से सेक्स का ज्ञान हो जाता है. उसने मुझे दिखा कर उंगली से निकाल-निकाल कर हर एक कतरा पीया मेरे रस का। फिर उठी और मेरी गोद में आ कर बैठ गयी.

फिर रात को भी कुणाल और सुमिना के बारे में ही सोचता रहा। मगर किया भी क्या जा सकता था, इसलिए ज्यादा सोचने का कुछ फायदा ही नहीं था।ऐसे ही सोचते-सोचते मुझे नींद आ गई. मैडम के पीछे पीछे मैं ड्राइंग रूम में चला गया और कापियों वाला गट्ठर एक टेबल पर रख दिया. लेकिन उसके बाद उसने मेरी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और जल्दी ही मेरी चूत का दर्द कम होना शुरू हो गया.

भाबी ने मेरे लंड पर कूदते कूदते मेरे लंड को अपने रस से बिल्कुल गीला कर दिया था. मैंने भी उसे कह दिया- जब भी मेरी जरूरत हो तो बता देना, मैं आ जाया करुँगी. पास ही सिगरेट की दुकान से मैंने गोल्डफ्लेक सिगरेट का पैकेट ले लिया.

जिसमें पहले कुछ रोमांटिक गाने, फिर नग्न नृत्य और उसके बाद सनी लियॉन के सम्भोग दृश्य. ये कहते हुए भाबी ने मेरे लोवर में हाथ डाल दिया और मेरे लंड को बाहर निकाल कर प्यार से लंड को सहलाने लगीं.

बाली रानी अंजलि रानी से इतना प्यार करती है कि उसने ज़िद पकड़ ली यह कहानी अंजलि रानी को ही समर्पित हो.

बेताब तो मैं भी बहुत हो रहा था लेकिन मैं उसकी बेताबी देखना चाहता था. जीजा साली की चुदाई चुदाईउसने कहा- आप मेरे घर में आराम से रहना और आपको वहाँ पर कोई परेशान भी नहीं करेगा. xxx सेक्स व्हिडिओदीदी- पागल है क्या … चल पीछे हट!मैंने कहा- नहीं, दीदी आज तो मैं आपसे बदला लेकर ही रहूंगा. मैंने मां से कहा- ज्योति आंटी को एक दिन हमारा फार्म हाउस दिखाने के लिए ले चलते हैं.

मैंने पीछे पलट कर देखा तो वह खड़ी हो गयी और एकदम से मुझे अपनी बांहों में भर कर मुझसे लिपट गई.

मैंने एक हाथ से दिशा के मुँह पर हाथ रखकर उसकी आवाज दबाने की कोशिश करने में लगा था, लेकिन दिशा फिर भी तड़प रही थी. उस पड़ोसी भाभी ने क्या किया या हमने क्या किया … ये सब जानने के लिए अगले भाग का इंतजार कीजिएगा. मैंने कहा- अगर आपको मसाज करानी है … तो आपको पहले नहाना होगा, फिर मैं आपकी मसाज कर सकता हूँ.

उसका लंड राकेश से काला था और मोटाई थोड़ी कम थी और लम्बाई बराबर!मैंने जल्दी से उसे मुंह में ले लिया और चूसने लगी. क्या चूत थी यार … गोरी-गोरी, फूली हुई, हल्के गुलाबी रंग की … देखते ही चाटने का मन करने लगा।यह सब देखकर अब मुझसे रहा न गया और मैंने वहीं पर खड़े होकर अपने लंड को हिलाना शुरू कर दिया. पहली बार मैंने लिंग को हाथ में लिया तो लगा कि कोई गरम लोहे की रॉड पकड़ ली है मैंने.

काजोल सेक्सी फोटो

अब तक मैं भी नंगा हो चुका था तो मैंने भी अपना लंड उसके मुँह के पास किया. नीना जिस मस्ती से अपने सगे बाप से अपनी चूत चाटवा रही थी, उससे मेरे पूरे बदन में आग लग गई. मैं और गर्म हो गया और लंड चूत से निकाल कर तुरंत उसकी गांड में डाल दिया.

कहानी पर कमेंट के जरिये अपनी प्रतिक्रया देना न भूलें और कहानी के बारे में अपने विचार आप मेल पर भी साझा कर सकते हैं.

इस पर उसने हंसते हुए कुछ इमोजी भेजकर कहा कि मेरा खर्चा महंगा पड़ जाएगा.

लेकिन मेरी हालत अच्छी नहीं थी तो मैंने बॉस से कहा- क्या मैं यहाँ आज रुककर आराम कर लूं?तो वो बोले- हां, जितना आराम करना है, कर सकती हो, कोई प्रोब्लम नहीं. उस दिन हम दोनों फिटनेस सेंटर नहीं गए और जूस पी कर बाइक पे कुछ देर घूमते रहे … फिर मैंने उनको घर छोड़ दिया, जिधर से वे कार से अपनी सास को लेने चली गईं. देसी भाभी की चौड़ाईकुछ देर तो वो दर्द से बिलखती रही मगर फिर उसको भी धीरे-धीरे मजा आने लगा.

इतनी मस्त कांटा माल थी कि यूं समझो कि उसे देखते ही सभी के लंड पानी छोड़ने लगें. क्या भा गया था वसुन्धरा को मुझमें? क्यों वसुन्धरा मुझे पसंद करने लगी थी? अभी जुम्मा-जुम्मा कुल दो ही दिन की तो मुलाक़ात थी हमारी और कोई मर्द चाहे कितने भी आकर्षक व्यक्तित्व का मालिक क्यों न हो, इतनी जल्दी तो कोई लड़की उस पर फ़िदा नहीं होती. ”अरे हाँ!”हम बाथरूम में गए। मैं, ब्रा पैंटी में घुटनों पे बैठी। दोनों मेरे सामने खड़ी हुई नंगी और फिर सुनहरी रंग का फव्वारा शुरू हो गया, मेरे चेहरे गर्दन पूरे जिस्म, ब्रा और कच्छी को भिगाने लगा।मैंने अपने भीगे जिस्म पर जीन्स और टॉप पहना। अंशु भी तैयार हो गयी।जब हम चलने लगे तो डॉक्टर आशा ने कहा- कामिनी बड़ा मज़ा आया तेरे साथ, आती रहा कर!जी ज़रूर!”और हम दोनों घर आ गए.

हम दोनों ने अपने अपने घर पर फोन से बता दिया था कि या तो लेट नाइट आएंगे या मॉर्निंग में आ पाएंगे. लंड चुसाई की मस्ती से जोश में आ कर मैं उसके सिर को अपने लंड पे दबाने लगा.

मैं दिशा को गोद में उठाकर बाथरूम ले गया और हम दोनों रोमांस के साथ नहाने लगे.

उसके मुँह में जैसे ही मेरा लंड गया और वो खड़ा हो कर अपनी साढ़े आठ इंच की औकात में आ गया. हालांकि उनके चेहरे पर कोई अलग भाव नहीं थे, मुझे ऐसा लगा, जैसे उन्होंने ये सब जानबूझ कर किया था. रूम में जाते ही मैं सोचने लगा की मॉम को चोदना ठीक होगा या नहीं? सोचते-सोचते मेरे दिमाग ने यही सुझाव दिया कि माँ एक औरत है और मैं एक मर्द हूँ.

थ्री एक्स बीपी हिंदी कई मिनट की चुदाई के बाद उसकी चुत फिर फड़फड़ाने लगी और उसने अपना पानी निकाल दिया. हालांकि उसकी चूत चिकनी थी, लेकिन कड़े रोंए के वजह से मेरे सुपारे पर एक अजीब से जलन हो रही थी, जिसका मैं विरोध भी नहीं कर पा रहा था.

तभी साले अंकल ने मेरे बूब को काटा, मैं चिल्ला दी- उई अंकल आहह … ये क्या कर रहे हो … छोड़ो मुझे. वो बोले- अब तेरी गांड का रास्ता खुलेगा, शुरू में थोड़ा दर्द होगा लेकिन थोड़ी देर बाद दर्द से भी ज्यादा मजा आएगा. जैसे ही मैंने भीतर घुस के दरवाज़ा बंद किया कि रानी ने तौलिया गिरा दिया.

मनुष्य की सेक्सी

कुछ देर बाद वे दोनों लड़कियां अपने कपड़े पहनने लगीं तो मैं चुपके से नीचे खिसक आई. ये जान कर मैं और जोश में उसका मुँह चोदने लगा और उसके निप्पल को पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से खींचने लगा, जिससे वो पागल हो गई. मैंने वैसा ही किया और उसने मेरे पैर उठा कर अपने कंधे पर रखे और अपने लंड पर थूका और मेरी गांड के छेद पर लगाया.

मैं अपने घुटनों पर बैठ कर आंटी की चुत पर पैंटी के ऊपर से ही मुँह रख कर सूंघने लगा. इस बात पर वो मुस्कुरा उठी और लंड चूसने लगी … चूसने क्या, समझो खाने लगी.

अंकल- जरूर बेटा … वैसे मैंने आज तक तुम्हारी अम्मी को बुरी नजर से नहीं देखा, मगर अब हमेशा देखूंगा.

आप मुझे मेल कीजिए कि आपको मेरी ये चुदाई की कहानी कैसी लगी ताकि मैं और कहानी लिख सकूं. मैं जोर से चीख पड़ी- उई माँआह … मर गई … अंकल छोड़ दो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं आपके हाथ जोड़ती हूँ. उसने मुझे बताया है कि अब उसकी एक साथ तीन उंगलियां गांड में जाने लगी हैं.

वह एक बार तो उछली मगर उसके बाद फिर उसने अपनी चूत को ऊपर से रगड़ना शुरू कर दिया. उसने बताया कि वो जिम करता है।मैंने उसे चेस्ट पे किस कर दिया और नीचे बैठ गयी. मैंने तुरंत चाची को बेड पर लेटा दिया और दोनों टांगों को फैला कर लंड चूत के मुँह पर सैट करने के बाद जोर जोर से चोदने लगा.

उसका नाम डिंपल जयश्री है उसे उसके उपनाम डीजे कह कर बुलाना अच्छा लगता है.

बीएफ नेपाली सेक्स वीडियो: मुझे डर लग रहा था कि कहीं कोई परेशानी न खड़ी हो जाए क्योंकि यह जगह सही नहीं लग रही थी. उसकी नंगी चिकनी टांगों की तरफ निगाह गई … तो उसने नीचे मिनी स्कर्ट पहन रखी थी.

माँ बोली- अब तो खुश हो गया होगा न तू?मैंने कहा- हाँ मां, आज मैं बहुत खुश हूँ. इसी शर्मोहया के चक्कर में मुझे छेद बड़ी देर बाद नसीब हुआ, मतलब 25 साल के होने के बाद मुझे चुत नसीब हुई. दोस्तो, आपको ये सेक्स कहानी कैसी लगी … अपने विचार मुझे ज़रूर बताएं.

वनिता के ससुर राजेन्द्र जी ने मुझे लिटा कर किस किया और मेरे मम्मों को दबाते हुए बोले- तुम बड़ी मस्त चीज हो मेरी जान … सारा मोहल्ला तुम्हें चोदना चाहता है.

जब मैंने दीदी से पूछा तो उन्होंने मना कर दिया- मुझे नहीं मालूम, जो खरीदना है खरीदो. पांच मिनट बाद मैं भी उनके मुँह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा माल पी गईं. सबसे पहले विकी को हैंगआउट ब्लॉक लिस्ट से बाहर निकाला और मैसेज किया.