सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी चची की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉट सेक्सी वीडियो मूवी: सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ, इसका एक कारण ये भी था कि हम दोनों के पास अपने शरीर की जरूरतों को पूरा करने का विकल्प मौजूद था.

हिंदी में सेक्सी वीडियो भाभी की

स्वीटी आंटी की कोई प्रतिक्रिया न देखते हुए मैंने उनकी जांघ को आहिस्ता आहिस्ता रगड़ना शुरू कर दिया. हीरो हीरोइन वाली सेक्सी वीडियोमीना ने रवि से कहा कि वो नीचे रिसेप्शन पर बैठ कर उसके फोन का इन्तजार करे.

मैंने उसके हाथ से ग्लास लेकर आधा उसे पिलाया और आधा मैंने पीया।इसके बाद मैंने उसे बेड पर बिठाया. सेक्सी वीडियो बिहार का हिंदीअचानक से उसने अपना मुंह छुड़ाया और बोली- तुम्हारे उंगली डालने से मुझे दर्द महसूस हो रहा है.

मैं कुछ समझ पाती, उसके पहले ही जेठजी ने शायद मुझे संभलने के लिए या मौके का फायदा उठाने के लिए मेरी पीठ को हल्के हल्के सहलाने लगे.सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ: आप को ऐसा नहीं करना चाहिए।मैंने कहा- मुझे पता है कि मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए.

इसके लिए आपके बहनोई भी लालायित रहते हैं, पर मैंने आज तक गांड में लंड नहीं पेलने दिया है.जिगोलो और रंडीबाजी का एक फायदा यह भी होता है कि औरत के साथ काम-क्रीड़ा का सुख हर प्रकार से भोगने के लिए मिल जाता है.

घोड़े की और घोड़े की सेक्सी वीडियो - सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ

जिन्होंने मेरी चुदाई की कहानी के पहले भाग नहीं पढ़े हैं, वो नीछे दिए लिंक पर जाकरमेरी गर्लफ्रेंड की पहली चुदाईमेरी और मेरी गर्लफ्रेंड की दूसरी चुदाईपहले जरूर पढ़ लें.मास्साब ने पैंट थोड़ी खिसकायी थी पर मैडम जी जितनी दिख रही थी उतनी नंगी थी और अपने पैरों को मोड़कर घुटने ऊपर करके लेटी थी.

उसने मुस्कुराते हुए रूम का गेट बंद कर दिया और मुझे अपनी गोद में उठा लिया. सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ थोड़ी देर के बाद मेरे दिल में रानी का मुखरस चखने की प्रबल इच्छा जागी.

दोस्तो, चूंकि मेरा पेशा उस प्रकार का है कि मेरे फोन में रिकॉर्डिंग हमेशा ऑन रहती है.

सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ?

’ करके ऊपर की तरफ सांस ली … अगले ही पल वो फिर से चूमने में मस्त हो गयी. मैंने भी उसके बाल पकड़ कर उसके मुँह को जोर जोर से चोदना चालू कर दिया. मैंने भी अपने हाथ से अलका की सलवार के नाड़े को ढीला करके अपनी दो उंगलियां उसकी चुत में डाल दी थीं और उसकी चुत का मर्दन करने लगा था.

मैं अपनी हथेली के नीचे वसुंधरा की गर्म धधकती योनि से निकलती आंच स्पष्ट महसूस कर रहा था. बाद में मैंने भी ऋतु के साथ सेक्स किया और छोटी के साथ भी चुत चुदाई का मजा लिया है. मैंने भी हंसते हुए उसे समझाया कि जान जब इस छेद से दो-ढाई किलो का बच्चा निकल सकता है तो नौ इंच के लंड से डरने की क्या जरूरत है.

भाभी चुत चुसवाने के साथ में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाज़ निकालने में लगी थीं. मेरी निगाह उसके गले और चुचियों पर से होती हुईं, उसकी जींस तक गईं और वापस आकर उसकी चुचियों के खुले हिस्से पर टिक गईं. मैंने पहले ही सुरभि को बोल दिया था कि मैं देर शाम को तुम्हारे घर आऊंगा.

चार खूबसूरत जवान लड़कियों का एक साथ ऐसा उन्माद भरा खेल … सचमुच वो पल लाजवाब था. रानी ने ज़ोर से सी … सी … सी … किया और मैं उंगली को तेज़ तेज़ चूत में भीतर बाहर भीतर बाहर करने लगा.

मैं वसुंधरा की दोनों टांगों के बीच दायें हाथ से अपना लिंग-मुण्ड वसुंधरा की योनि पर रगड़ने लगा.

सिल्क बोली- उफ्फ … क्या करते हो? रुको अभी!पर मैं कहाँ रुकने वाला था … मेरा दूसरा हाथ उसके सिल्की से पेट से सरकता हुआ जन्नत के दरवाज़े तक पहुंच गया और चिकनी चमेली चूत … ये क्या … चूत तो गीली हुई पड़ी थी.

मैंने रतिजा की फोटो भी नहीं देखी थी इसलिए थोड़ा डर भी लग रहा था कि पता नहीं कौन होगी और कैसी दिखती होगी. हमने सोचा कि अगर इसने यह वीडियो इंटरनेट पर डाल दिया तो बहुत बदनामी होगी. परंतु नीरज अपने को संभाल नहीं पाया और बेतहाशा संजू की चूत में झड़ने लगा.

(वैसे दंगल से मुझे याद आया आपने मेरी पिछली कहानीहोली में चुदाई का दंगलपढ़ी होगी. इस दौरान मैं दो बार झड़ चुकी थी। मुझसे और बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैंने बोल दिया- तरुण, प्लीज़ डाल दो।तभी मैंने तरुण के लंड को चूस कर थूक से सराबोर कर दिया और दोबारा घोड़ी बन गयी. सच में उस साधारण सी फोटो में भी कोमल भाभी क्या मस्त माल लग रही थी यारों … मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया था.

मैं उसे और ज्यादा गर्म करना चाहता था ताकि वो चुदाई में मेरा पूरा साथ दे सके.

कहानी के पिछले भाग में मैंने बताया कि दोनों सेठों ने मुझे पागल कर दिया था, मैं चुदने के लिए तड़प उठी थी. आंटी ने एक सरसरी नजर से नीचे देखा और फिर बोली- आपके पास मिक्सर ग्राइंडर है क्या, मुझे नाश्ता बनाना है. सुहास ने मुझे वासना से देखा और हल्के से धक्का देते हुए मुझे बेड पर लिटा दिया.

जैसे ही उसको समझ में आया कि ये सब मेरा किया धरा है तो वो मुँह छिपा के बैठ गई. मैं आपको अपनी सेक्सी चुदक्कड़ बहन की सेक्स कहानी को पूरे विस्तार से लिख कर बताऊंगा. फर्क इतना था कि वो मुझे जानते थे कि मैंने कभी उनकी बेटी की दमन में हेल्प की थी.

मस्त रहो … चुदाई करो … मजे करो … खुश रहो।आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी? आप मुझे ईमेल भेज के बता सकते हैं।‌मेरी ईमेल अड्रेस है[emailprotected]आपके विचारों का इंतज़ार रहेगा। आपके मेल्स आगे कहानियां लिखने में प्रेरित करेंगे। धन्यवाद फिर मिलेंगे।.

वर्ना कौन करता है इतनी हेल्प आजकल! बेटा तुम अब जब भी कोचिंग जाओ तब यहीं से चले जाया करो. तब चाची की चूत मेरे लंड पर ही थी तो मुझे बहुत मजा आ रहा था।फिर मैंने उठ कर चाची की ब्रा के हुक खोले और उनके बूब्स को आजाद किया और चूसने लगा.

सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ साथ ही मैं मिताली भाभी के चूचों को मुख में लेकर चूसने में भी लगा रहा. हम दोनों उन लड़कियों के पास जाकर खड़े हो गए और बिल्कुल अंजान बनकर रिसेप्शन पर बैठी लड़की से कुछ बात करने लगे.

सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ भैया उसके मम्मों से थोड़ा नीचे, अपने दोनों पैर दोनों तरफ करके बैठ गए थे और वे दीदी के मुँह में लंड पेल रहे थे. फिर मैंने लौड़ा चूत में घुसाये घुसाये ही गुड्डी को चूचियों से पकड़ के घसीट के अपनी तरफ झुकाया और लपक के अपना मुंह उसके मस्त स्वादिष्ट चूचियों पर लगा के बेसाख्ता चूसने लगा और साथ साथ बेबी रानी को हौले हौले धक्के लगाने लगा.

डंडा उस कुत्ते के पीठ पर पड़ा … तो दर्द से बिलबिला उठा लेकिन तब तक दूसरा कुत्ता वार की तैयारी कर रहा था.

बच्चों के लिए बेस्ट क्रीम

वैसे भी मेरे घर पर आज कोई नहीं था और मुझे सेक्स किये हुए भी 2 महीने हो गए थे. दोस्तो, कैसे हो आप सब लोग!आपने मेरी पिछली कहानीदो जवान बहनें और साथ में भाभीपढ़ी होंगी. उसने मुझे अपनी ओर खींचते हुए कहा- दीदी, आई रियली लव यू!मैंने कहा- भाई ये सब ठीक नहीं है। ऐसा भी नहीं होता है.

मैंने ये देखा तो मैंने नीरज के ऊपर से संजू को हटाया और अपनी संजू को मिशनरी पोज में लिटाकर उसकी चूत में अपना लंड डाल कर बेतहाशा चोदने लगा. वो पीछे की तरफ था तो उसे दरवाजे के बाहर नहीं दिख रहा था पर मैं मेज पर झुकी थी तो मुझे वो दिख गयी थी. सीमा नीचे मेरे लौड़े पर गांड में लंड डलवा कर बैठ रही मुस्कान की गांड को ध्यान से देख रही थी.

मैं भी मस्त चुदाई करने में लगा पड़ा था। मैं उसकी गोरी गांड पे जोर जोर पे थप्पड़ मार रहा था।उसकी मोटी गांड मुझे मदहोश कर रही थी।‌मुझे मस्ती सूझी, मैंने उसकी दोनों टांगें पकड़ी और हवा में ऊपर उठा दी.

आशा है कि मेरी पिछली कहानियों की तरह आपको मेरी ये कहानी भी बहुत पसंद आएगी और आप इसको भी दिल खोल कर सराहेंगे. मीना उठी और वाशरूम में फ्रेश होकर ड्रेस अप हुई और कुणाल और रवि को बाय बोलकर रपट ली. आपने यह नंबर उसकी जेब में क्यों रखा था?अब मुझे बात समझ आ गई और मैं उसको पहचान गया.

जिया- और टाइमलाइन!मैं- आधे घंटे में जो ज्यादा क्लू ढूंढेगा, वो जीत जाएगा. आलिया को नग्न देखकर मुझे लगा कि जीजा जी आलिया को पेल रहे होंगे इसलिए वो नग्न थी. वसुंधरा के बिस्तर पर बैठे-बैठे नीचे की ओर सरकने की वजह से वसुंधरा की नाईटी नीचे से ऊपर की ओर सरक गयी थी या यूं कहिये कि वसुंधरा का जिस्म उस की नाईटी से नीचे की ओर से बाहर आ गया था जिस कारण वसुंधरा की गोरी-गोरी टांगें पिंडलियों से ऊपर तक और घुटनों से ज़रा सा नीचे तक अनावृत हो गयीं थी जिससे वसुंधरा क़तई बेख़बर थी.

पहले की भांति यह सेक्स कहानी भी मेरे और मेरी पतिव्रता सुंदर बीवी संजना के जीवन पर ही आधारित है, जिसे पढ़कर आप सभी मेरी बीवी के एक नए पहलू से अवगत होंगे. उसके कोई ऐतराज न करने पर मैंने अब उसकी बांहों पर तेल डाला और हाथों की मसाज करने लगा.

मैंने कहा- अगर तुम पहले ही चिपक जाती तो मुझे इस तरह गड्ढे से बाइक निकालने की जरूरत ही नहीं पड़ती. फिर वो बोली- ये तो बहुत गहरी होगी ना? मेरे मर्द का ही बहुत बड़ा है, मैं तो झेल नहीं पाती. मैंने बोला- कितनी देर का काम है सर?वो बोले- थोड़ा लंबा है … दो तीन घंटे का काम है.

चुदाई के बाद वो मुझसे आते समय अपने व्यवहार के लिए मुझसे सॉरी बोल रही थीं.

उसका लौड़ा तनाव में आ चुका था जिसकी शेप मुझे किसी डंडे की तरह उसकी लोअर में अलग से दिख रही थी. समय आ गया था कि इस प्रणय-लीला को … दोनों प्रेमियों की काम-उत्तेजना को अगले सोपान पर ले जाया जाए. दीदी ने परमीत को और नीचे सरका कर घोड़ी बना दिया और मोटा वाला डिल्डो हाथ में दे दिया.

ये देख कर भैया उसे अपने नीचे करके खुद ऊपर चढ़ गए और उसकी दोनों चुचियों को बारी बारी से पीना चालू कर दिया. मैं फिर से आंटी की जांघों पर अपने हाथ फेरने लगा और उनकी जांघ को सहलाने लगा.

मैंने भी उसकी मदद कर दी, क्योंकि मैं खुद भी अब सारे बंधन से आजाद होना चाहती थी. जैसे ही मैंने आंटी की चूत में उंगली दी, वो एकदम से गनगना उठीं और आंटी ने मेरे होंठों पर काट लिया. मेरे दोनों हाथों में ही बर्तन थे, तो मैं समझ नहीं पा रही थी कि पल्लू ठीक कैसे करूं.

बुर चोदने की कहानी

हमने नंबर एक्सचेंज किये, अगले स्टॉप पर वो उतर गया।पर मेरी वो हालत कर गया था कि पूरी रास्ते मेरी टांगें कांप रही थी।आगे की कहानियों से जल्द ही रूबरू करूँगी आपको। तब तक के लिए विदा, खुदा हाफिज।दोस्ती, कैसी लगी आपको ये कहानी? अपनी प्रतिक्रिया दें.

एकाएक चूमते-चूमते रोहित ने संजना की डिजाइनर साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया और ब्लाउज के ऊपर से ही संजू की सुडौल एवं गदराई चूचियों पर हाथ फेरने लगा. कभी किसी के पति को विश्वास में लेकर उसकी पत्नी को चोद देता था तो कभी बॉस की बीवी की चूत मार लेता था. इसके बाद मैंने अपना मेकअप किया और मैं पूरी तरह रंडी सी बन कर रेडी हो गयी थी.

संजय ने फिर कहा- यार जिगोलो का मतलब होता है कि वो महिला को खुश करे, उसकी सेवा करे. उनको देख कर हम सहेलियां आपस में बात करती थीं कि देखो ये लड़की कैसे बिगड़ गई है. सेक्सी औरतों के साथउसी समय मैंने जिया को चोदना बंद कर दिया और जिया को अपने ऊपर से हटा दिया.

मैं लॉन में टहल रहा था कि एक बच्चे के शोर के कारण मैं सड़क पर दौड़ कर आया, तो देखा कि एक लड़की भागती हुयी मेरी तरफ आ रही थी और दो कुत्ते उसका पीछा कर रहे थे. नीतू बोली- अब जल्दी से दोनों कपड़े पहनो … और सर आप बाहर ड्राइंग रूम जाओ.

मैं सारे ख्यालातों को झटकते हुए अभी के क्षणों का पूरा लुत्फ लेने के लिए पूरे शरीर को ढीला छोड़े हुए थी. मोनू बोला- फिर तुम मेरे पास जाओ इस बार बेबी!मैंने सीमा से कहा- साली देख ले, तेरा पार्टनर तो फ़िदा हो गया मुस्कान पर! कहीं वो न पटा ले इसे?सीमा तुरंत बोली- कोई बात नहीं, मैं आपको पटा लूंगी. वो बोला- आंह … क्या माल हो साली … आज तो तेरी चुदाई में मजा आ जाएगा.

मैंने भी परमीत को शांत जानकर दीदी के पास जाना सही समझा और दीदी के भारी उरोज, जो किसी को भी आकर्षित कर सकते थे, उन्हें थामना चाहा. नीरज- कैसा कोइंसीडेंट?आकाश- हमने अपनी बीवी की चुत का सील तोड़ी, लेकिन उसकी गांड सबसे पहले उसके भाई ने मारी. यह देख कर तीसरा लड़का, जो मेरी बोट पर था वो मेरे पास आया और उसने मेरे कान में कहा- अगर तेरी गांड इतनी मस्त है तो तेरी चूत तो बिल्कुल जबरदस्त होगी.

इस तरह गीत ने अपने बचपने से लेकर जवानी के मजे तक सब कुछ मुझे बताया.

वह भी मेरे होठों को चूस चूस कर मेरा साथ दे रही थी और कस के पकड़े हुए लेटी थी. मुझे नहीं पता कि कहानी में उसने अपना नाम गीत रखने के लिए क्यों कहा, पर जुबां पर इस नाम के आते ही मेरी धड़कनों ने गुनगुनाना शुरू कर दिया.

भाबी के नहाने के समय की फोटो के कारण उसके बदन पर चिपकी हुई पानी की बूंदें किसी मोती की नक्काशी सी लग रही थीं. इसीलिए तो युगों-युगों से राधेश्याम, सीताराम, उमाशंकर एक ही संज्ञा है. तभी मेरे ऊपर चढ़ गईं और मैंने अपना खड़ा लंड दीदी की गांड में घुसा दिया.

वो इतनी ज्यादा कामुक थी कि वो बोली- भैया आप भी आ जाइए … आप आगे से मेरी चूत में अपना लंड घुसा दीजिए. धीरे-धीरे ऐसा करते-करते वसुंधरा के जिस्म में कुछ कुछ प्रणय-हिलोर सी उठने लगी और उस की योनि में दोबारा ऱज़-स्राव होने लगा. मैंने गुलाबी रंग का गोल लांग गाऊन फ्राक पहन लिया, गुलाबी की लिपस्टिक लगा ली और सामान्य सी ही तैयार हो गई.

सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ भाभी- हां दरअसल मुझे भी थोड़ी घबराहट हो रही थी क्योंकि मैं अभी तक ऐसा किसी दूसरे के साथ नहीं किया है. वो बोला- मुझे आपके बदन की खुशबू बहुत पसंद थी। आप नई नई जवान हुई थी.

डोरेमोन न्यू मूवी इन हिंदी

मैंने जिस समय उससे कंडोम लिया, उसी समय मैंने उसका गिलास उठा कर एक ही सांस में पूरा गिलास अपने हलक में उतार लिया. रवीना की चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’पर रवि नहीं माना बस अपने होंठों को उसके मुंह पर रख कर चीख रोक दी और धक्कम पेल मचा दी. जैसे ही मैं मोटर वाली बोट में बैठी उसमें एक लड़का जो पीछे ड्राइव करने वाला था, उसने मुझे थोड़ा पकड़ने की कोशिश की.

दीदी का खुला बदन मेरी आंखों के सामने था। हर एक धक्के के साथ उनकी चूचियां ऊपर नीचे हो रही थीं। दीदी के हाथ उसके बालों में थे। उनकी चिकनी काखें मेरे सामने थीं। दीदी का वो चुदक्कड़ और कामुक रूप सच में देखने लायक था. अब मैं उनके दोनों पैरो के बीच अपनी उंगलियों को घुसाते हुए उनकी मादक चुत की तरफ बढ़ने लगा. देहाती सेक्सी हिंदी ब्लूलेकिन मुझे जरूरत थी तो उस अनजान आंटी के साथ की।वो आंटी भी बहुत मुझे बहुत दिनों की प्यासी लग रही थी.

न चुद रही है कुतिया! आह उई आ … ह उई सी … सी सी कुतिया … ले हमारे … लौड़े … ही आह … आह सी…सी … सी.

अर्चना के बारे में जानने के लिए आप मेरी पिछली सेक्स कहानीभाभी की चुदास और चूत चुदाईपढ़ें. उस लड़की के हाथ छूकर तो मज़ा ही आ गया जैसे किसी रुई की गुड़िया का हाथ पकड़ा हो.

आपको मेरी हिंदी सेक्सी स्टोरी पसंद आई? मेरी स्टोरी पर अपने कमेंट के जरिये अपनी राय देना न भूलें. मैं अपनी आंखें बंद करके इस पल को समेट लेने का प्रयास करने लगी और जल्द ही मैंने अपने कामरस का त्याग संजय के लंड पर ही कर दिया. पता नहीं क्यों … जब वो पलंग से उतरी तो मैंने उसके चादर खींच ली और उसको वैसे ही नग्न बाथरूम जाने को कहा.

जीजू भी तैयार होकर आ गए और चाय नाश्ता करके बोले- आज मैं 3 बजे दो हफ्ते के लिए काम से बाहर जाने वाला हूँ.

वो बोला- मैं समझा नहीं कि क्या मतलब है तेरा? तेरे पास तेरी है तो, तू उससे मजा ले लिया कर न!शायद वो समझ रहा था कि मैं उसकी वाली की चुदाई के लिए उससे कह रहा हूँ. अब तीनों नंगे थे और कुणाल और रवि खड़े खड़े अपना लंड चुसवा रहे थे और मीना के निप्पल दबा रहे थे. बहुत देर तक होंठ चूसने के बाद अंकल मेरे लंड की तरफ आए और मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया.

सेक्सी बीपी कॉमेडीमैं सभी से मिलने के बाद जब चाची के पास आया, तो चाची को देख कर मेरा लंड पैंट में ही उछलने लगा. उसने बात खत्म करते हुए एक लाइन और जोड़ दी, आपको मालिश करवाना है क्या मैडम?उसके ऐसे प्रश्न के लिए मैं तैयार नहीं थी.

नई comedy फ़िल्में

मैंने भी उसके सर को पकड़ कर अपने लंड पर दबा दिया ताकि अब मेरा लौड़ा उसके मुंह से बाहर न निकल जाए. तो बहुत मजा आ रहा था। चॉकलेट खाते खाते हम दोनों दूसरे के लब आपस में जुड़ गये और हम एक दूजे को किस करने लगे. मैंने उसके लंड को चूसा और एक नैपकिन से अपनी चुत को पौंछ कर सुखा दी.

इस कामयाबी के लिए हसन ने उसकी गांड में चार पांच चपत लगा कर शाबासी दी. मैंने अपने एक हाथ से उसकी चूत को छूकर देखा, तो पाया कि उसकी चूत रस बहा रही थी. मेरी और श्वेता भाभी की लगभग सेम हाइट और फिगर होने की वजह से पीछे से पहचाना थोड़ा मुश्किल है … और उस मुश्किल को भाभी की नाइटी ने और बढ़ा दिया था.

मैंने इस बार प्रियंका को उसकी बाजू से पकड़ कर अपने पास खींचा, बोला- साली इधर आ … तू ही रह गयी अब मेरे लंड से चुदने से!वो तुरंत बोली- मैं तो रोज़ आपसे ही ठुकती हूँ डियर, अब रेस्ट करो सभी!मोनू कहने लगा- देख लो यार … रेस्ट करना है तो कर लो. हम सभी बाहर आ गए, जहां दो कार खड़ी थीं, इसलिए हमें कोई प्रॉब्लम नहीं थी. गीत की इस पिक में उसकी ब्रा की पट्टी हल्की सी नजर आ रही थी, इसलिए लंडदेव ने सलामी और जोरों से दी और रात को मैंने अपनी गीत को याद करके अपनी पत्नी को कसके चोदा.

मैं- ओह्ह!सिल्क- आप बोलिये ना क्या कहने वाले थे आप?सिल्क ने आम लड़की की तरह चंचलता दिखाते हुए पूछा. भैया ने मजबूरी में कहा- अभी तुम कुछ और माँग लो, किंतु हार नहीं दिला सकता हूँ.

लंड सैट करने के बाद हम दोनों ने ही एक साथ झटका मारा, तो लंड ने सीधे भाबी की बच्चेदानी में चोट मार दी.

अब तो हम सभी बहुत बुरी तरह से थक गये थे और मज़ा भी बहुत आया था। फिर हमने एक एक किस तीनों लड़कियों को की, और ऐसी चुदाई की बधाई दी।हम उसी रूम में कपड़े पहन कर सो गये. सेल्फी राज वायरल वीडियो सेक्सीमैंने दीदी की गांड से लंड निकालकर दीदी को हटाया और आलिया के दोनों पैरों को ऊंचे करके आलिया की गांड में लंड पेल दिया. सेक्सी हिन्दी देसीजीजा जी- कोई बात नहीं साले साहब … आपके कारण गांड मराने की सजा भी झेल ही लेंगे. मैं कविता की आपबीती तो सुन रहा था लेकिन मेरा लण्ड अपनी ड्यूटी निभा रहा था.

इस बार धक्के से पहले मैंने उसके मुँह पर अपना हाथ रख दिया था, तो उसकी चीख बाहर नहीं निकल पायी.

अब राहुल ने मेरे कंधे पर हाथ रख लिया थोड़ी देर बाद मेरे मम्मों को दबाने लगा. फिर धीरे धीरे मैंने उसे दुपट्टे के ऊपर लिटाया जिससे उसका कुर्ता ख़राब न हो।उसके कुर्ते की चेन खोलकर मैं उसके दूध के कलशों पर अपनी जीभ से मालिश करने लगा. जब उसने दर्पण में अपने आपको टू पीस में देखा, तो वो शर्मा कर मुझसे चिपक गई.

जब मैं जिम से बाहर निकल रहा था तो मैंने देखा कि एक लड़की जिम में आई. फिर एकदम नीचे बैठ गई और मेरी फ्रेंची को नीचे करके लंड को मुंह में भर लिया. मैंने मन मार कर पढ़ना शुरू किया, पर न जाने क्यों मेरा मन पढ़ाई में नहीं लगता था.

एडल्ट चुटकुला सुनाओ

लेकिन उन्होंने अपने आपको इतनी अच्छी तरह से सँवारा था कि वो बिल्कुल एक नयी नवेली दुल्हन की तरह लग रही थी।वो मोटी-मोटी आँखें, दूध सा गोरा चेहरा, टमाटर जैसे गाल और पतले पतले सुर्ख लाल लिपस्टिक से रंगे हुए होंठ और बहुत कड़क से लग रहे थे. उसने मुझे बेड के किनारे तक खींच लिया और मेरे दोनों पैर अपने कंधे पर रख कर मुझे चोदने लगा. मैं आलिया के मम्मों को अपने हाथ से सहलाने लगा, जिससे आलिया और मदहोश हो रही थी.

बहुत सारे लोगों ने मुझसे हमेशा सत्य घटना वाली सेक्स कहानी लिखने का मशविरा दिया है.

मैं भी मस्त चुदाई करने में लगा पड़ा था। मैं उसकी गोरी गांड पे जोर जोर पे थप्पड़ मार रहा था।उसकी मोटी गांड मुझे मदहोश कर रही थी।‌मुझे मस्ती सूझी, मैंने उसकी दोनों टांगें पकड़ी और हवा में ऊपर उठा दी.

और मेरी तरफ नज़र करके बोली- छोड़ दो मनोज उसे … और पहले मेरे पास आओ।परेशान मत हो मैडम। मैं सबको बराबर सर्विस दूंगा. उस दिन शबनम ने जो दुपट्टा गिराया था, वो कोई संयोग से गिरा था या उसकी ही मर्जी से दुपट्टा उसके मम्मों से हटा था, ये मैं समझ नहीं पा रहा था. सेक्सी वाले वीडियो दिखाइएआलिया- एक काम करो अपने हथियार को बाथरूम ले जाओ और फिर कल रात तुम और भाभी किचन में जो कर रहे थे उसे याद करके मुठ मार लो.

ये सुन कर मैं खड़े खड़े उसके मोम्मे चूसने लगा और सच में मुझे सुबह से ज्यादा मजा अब आ रहा था. संजू ने कुछ देर सोचा, फिर बोली- नहीं भैया मैं बर्दाश्त नहीं कर पाऊंगी. मैं उन्हें ललचाई नजरों से देख रही थी और परमीत ने मेरी चोरी पकड़ ली.

कसम से यार उसके गुलाब के पंखुड़ियों जैसे होंठ देख कर मैंने भी अपने होंठों पर जीभ को फेर लिया. एक दिन शुक्रवार शाम को उसने मुझे कॉल किया- आज मेरे घर में मेरे अलावा कोई नहीं है, आप आ सकते हो.

मुझे भी उससे बात करना अच्छा लगता था, तो मैं खुद भी उसके साथ बात करने लगी थी.

तभी मैं आपसे मिलने आयी कि मैं भी देखूं ऐसा क्या है आपके पास जो मेरा लड़का और मर्द दोनों पागल हो गए हैं. नीरज बोला- तेरी भाभी भी यही कहती थी, पर एक दिन हमने ये किया तो उसे बहुत मजा आया. मेरी पहली सेक्स कहानीक्लासफेलो कुंवारी लड़की की चुदाईको आप सभी ने पसंद किया, उसके लिए सभी को धन्यवाद.

सेक्सी इंडियन फिल्म हिंदी परमीत ने सहेलियों के पास हॉस्टल में जाकर बर्थडे मनाने और रात रुकने का बहाना बनाया था. मेरे घर पर मेरे अलावा और कोई नहीं रहता। मैं जिंदगी में काफी अकेला महसूस किया करता था.

नीतू बड़ी जोर जोर से चिल्लाने लगी- आह जानू … और जोर से चूसो इन्हें … आह चूसते जाओ … बहुत मजा आ रहा है आह … इसस उईई यस …उसने मेरा सिर अपनी छाती में दबा लिया. मैंने एक ही धक्के में अपना 9 इंच का लंड उसकी चूत में पेल दिया और आगे पीछे करने लगा. संजय और परमीत दोनों पूरे कपड़ों में थे और संजय ने पेंट की जिप खोलकर लंड बाहर निकाल रखा था.

फिल्म सेक्स सेक्स सेक्स

मैं तब भी नहीं बोला … तो उन्होंने मेरा लंड पकड़ लिया और हिलाने लगीं. भाभी के मुँह में लंड का अहसास पाते ही मुझे तो मानो जन्नत मिल गई थी. आलिया- ये चारों हम इस हालत में छोड़कर कहां चले गए हैं?नताशा- पता नहीं.

मैंने पूछा- तेरे इतने अमीर दोस्त कहाँ से बन गए जो इतने आलीशान होटल में पार्टी करते हैं?तन्वी मुस्कुरा के बोली- दोस्ती करने के लिए बेधड़क बनना पड़ता है, शर्माने से दोस्त नहीं बनते, और दोस्त तो हमेशा काम ही आते हैं।मैंने कहा- ठीक है. मैंने कहा कि आंटी एक काम करते हैं खुशी को आगे खाली जगह पर खड़ा कर देते हैं.

अब मैं भी मस्ती से सिसकारियां ले रही थी। मेरी और उसकी सिसकारियां कमरे में गूंज रही थीं।मैं उसके भार से नीचे दबी थी। इसी आसन में वो मुझे करीब 10 मिनट तक चोदता रहा। साथ ही साथ वो मेरी चूचियां मसलता तो कभी चूसता और चाट लेता.

मैंने दीदी की पीठ पर हाथ ले जाकर उनकी ब्रा का हुक खोला और ब्रा उतार दी. मैं उसको फिर से चूमने के मूड में आया ही था कि रानी ने मेरी छाती पर हाथ रख के धकेला और खुद को अलग करके कहा- राजे के बच्चे अब दे भी दे न गिफ्ट. बात तब की है जब हमने अपनी क्लास की अर्धवार्षिक परीक्षा दी थी, उसके तुरंत बाद परमीत तीन दिन स्कूल नहीं आई थी.

मेरे से रहा नहीं गया, उत्तेज़ना में मैंने उसको नीचे लिटा कर उसकी ब्रा और शर्ट को उतार कर एक तरफ फेंक दिया. और थोड़ी देर बाद जब मेरा लंड पुनः जागृत हुआ तो मैंने घोड़ी बना कर कार में ही उसको जबरदस्त तरीके से चोदा और उसकी चूत में दुबारा लंड झाड़ दिया. बाहर का तो मुझे पता नहीं लेकिन कमरे के अंदर तो तूफ़ान यक़ीनन अपने यौवन पर था.

भाभी मुझे देख कर बोली- शुभम, आज तुम्हें किसी भी तरह इसकी चुदाई करनी ही है.

सेक्सी गंदी फिल्म बीएफ: यह सुनकर मेरी चूत से फिर से पानी आने लगा तो मैंने उनको सोचकर बताने को बोला. !आज मेरे मकान मालिक मुझसे क्या कहेंगे, इसका मुझे अंदाजा तो हो ही गया था.

उन्होंने अपनी दो सहेलियों के नंबर भी दिए हैं … उनके साथ की चुदाई की कहानी भी आपको लिखूँगा. मैंने गर्दन उठाते हुए उस जाट की नंगी गांड को पकड़ कर हाथों से भींचते हुए होंठों की तरफ आगे धकेलते हुए उसके दोनों आण्डों को मुंह में ले लिया. मेरी तीसरी सहेली तो और भी गजब की थी, सुंदरता में भी आगे, पढ़ाई में भी आगे और शारीरिक बनावट में भी सबसे आगे रहती थी.

एक मेरी साथी लड़की भी आएगी मेरे साथ … वो वीडियो कैमरा लेकर आएगी … अगर अपने कुछ गड़बड़ काम किया तो वो सब कुछ रिकॉर्ड करके पुलिस में शिकायत कर देगी.

मैंने भी उसके सर को पकड़ कर अपने लंड पर दबा दिया ताकि अब मेरा लौड़ा उसके मुंह से बाहर न निकल जाए. वो बोला- साली, तेरी चुदाई की शुरूआत मैं तेरी गांड चोद कर ही करूंगा. मेरे लंड पर हाथ फिराते हुए वो बोली- बस थोड़ा सा इंतजार, उसके बाद तुम मेरे छेद में अंदर जाने वाले हो.