बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की

छवि स्रोत,लड़की चूत कैसे मरवाती है

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी हॉट सेक्सी बीएफ: बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की, लेकिन अब सेजल ने भी अपनी आंखें बंद कर ली थी और वह दर्द को सहन कर रही थी और अपने ससुर के लंड के धक्कों का मजा ले रही थी.

पंजाबी लड़की की सुहागरात

भाभी बोली- तुम ऐसे ही चाटते रहो! यह वाला क्षेत्र आज तक किसी ने नहीं चाटा. सेक्स पॉर्न वीडियोमैंने ऐसा इसलिए किया कि ताकि विशाल के अंदर सेक्स का स्टेमिना ज्यादा देर तक बना रहे और हम दोनों मां-बेटा अपनी चुदाई का मजा ज्यादा देर तक ले पायें.

मैंने उसकी टांगों को अपने कंधों पर रखा और अपने दोनों हाथों से उसके मम्मों को दबा दिया. सेक्सी बीएफ ब्लू फिल्ममेरा नशा बढ़ गया और भाभी के सर को पकड़ कर मैंने उनके मुँह को चोदना शुरू कर दिया.

उसने कुछ नाराजगी दिखाई और खाना नहीं खाने का बोल कर अपने रूम में चली गई.बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की: निशा ने मेरी और वासना भरी निगाहों से ऐसे देखा, जैसे कह रही हो कि अब मेरी बारी उसकी चुत को ही चूसने की थी.

फिर उसने एक प्यारी मुस्कान दे कर कहा- आर्यन मैं तुम्हें फ़ोर्स नहीं करूंगी, पर तुम एक बार मेरी उस फ्रेंड साक्षी के बारे में सोच कर बताना.और उन दो महीनों में कभी दोपहर तो कभी शाम के अंधेरे में मैंने निधि की कई बार चुदाई की।दोस्तो, मेरे जीवन की यह पहली चुदाई की कहानी है आपको गर्लफ्रेंड के साथ मेरे प्यार की मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लगी?आप मुझे[emailprotected]पर बता सकते हैं.

मौसी की सेक्स - बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की

मैंने कहा- क्या हुआ, दर्द हो रहा है क्या?वो बोली- हां, बहुत दिनों के बाद चूत में लंड जा रहा है इसलिए दर्द तो होगा ही लेकिन तू रुक मत.भाभी ने बाथरूम में ले जाकर मुझे अपने हाथों से नहलाया और मेरी अच्छी तरह से खातिर की.

चाय पीते पीते अचानक से वह मुझे बोली- आशु ये रात को जो तू हरकतें करता हैं, इन्हें बंद कर दे. बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की मैं अक्सर अपनी ससुराल जाता और जब मौका मिलता नीलम को चोदकर अपने लण्ड का ताव उतार लेता.

इसलिए इस देश में इस तरह के अनेकों अद्भुत आश्चर्य आपको देखने को मिल जायेंगे जो रति-क्रिया में आपको अलग ही अनुभव दे सकते हैं और आपके उन हसीन पलों को सदैव के लिये यादगार बना सकते हैं.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की?

तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी सेक्स कहानी? अपने सुझाव और विचार मुझे ज़रूर मेल करें। अगली कहानी में मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने एक और वर्जिन लड़की को चोदा।[emailprotected]. उसकी इस सख्त बात को सुनकर मैं एकदम से डर गयी और उसको समझाने लगी, लेकिन उसने मेरी एक नहीं सुनी. चुदाई के लिए और क्या चाहिए?मम्मी अपने कमरे में चली गईं और मैं चुदाई का तान बाना बुनने लगा.

मेरे से रहा नहीं गया और मैंने उसके चूचों में अपना चेहरा चूसा दिया था. एक दूसरे से लिपटे हुए हम चूमाचाटी कर रहे थे तभी मैं 69 की पोजीशन में आ गया और नीलम की चूत पर जीभ फेरने लगा. मैंने मम्मी का चेहरा देखने के लिए घूंघट उठाया तो मेरी आँखें फटी रह गईं.

जब भी मैं अपने गांव में जाता था तो किसी न किसी बहाने से सोनू के घर जरूर जाया करता था ताकि मैं कविता को देख सकूं. हमारी योजना के अनुसार भाभी को अपनी भतीजी को पहले खाली खेत में टॉयलेट के लिए भेजना था. मैं छत की दीवार लांघ कर उसकी छत पर चली गयी और उसके सिक्स पैक छूकर देखने लगी.

एग्जाम सेंटर पर मैं फ़ोन नहीं ले जा सकता था, तो मैं अपना फ़ोन मानवी को दे गया और उससे बोला कि मैं एग्जाम देने जा रहा हूँ, तुम ध्यान से जाग जाना और घर से फ़ोन आए, तो बात कर लेना. मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मुझे कभी अपनी ही बहन की चूत मारनी पड़ेगी.

वो बोली- वाओ यार जय … मज़ा आ गया अभी तक तुम कहां थे … आज पहली बार मुझे सेक्स में इतना मज़ा आ रहा है.

मैंने उसे फिर से किस करना शुरू किया और इस बार धीर से अपना लंड आगे पीछे करना शुरू कर दिया.

फिर हम लोग लेट गए क्योंकि हम दोनों थोड़ा थक गए थे इसलिए थोड़ा आराम करने लगे. माँ ने उसको बोला- तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो, तेरे लिए मैं बहुत दिनों से इंतजार कर रही थी अब देख, हम तेरे घर में ही तेरे ही बिस्तर में सेक्स करेंगे।विशु बोला- हां आंटी, मैंने आपके लिए ही अंकुर से दोस्ती की थी. आपको जल्दी ही हाज़िर मिलूंगा नई कहानी के साथ।कहानी कैसी लगी बताये जरूर मेरी मेल आईडी[emailprotected]पर!.

अब्बू की आकस्मिक मृत्यु हो जाने के बाद अम्मी और छोटी बहन की सारी जिम्मेदारी मेरे ऊपर थी. सोफे पर लिटाने के बाद उसने एक बार फिर से भाभी की चूत को पेलना शुरू कर दिया. उसके दर्द का अहसास मुझे अच्छी तरह से हो रहा था … इसलिए नहीं कि वो रो रही थी … बल्कि इसलिए कि गांड के टाइट होने की वजह से मेरे लंड में दर्द होने लगा था.

उसकी उठी हुई गांड मुझे बहुत पसन्द है तो …हैलो फ्रेंड्स, मैं मन एक बार फिर से अपनी नई सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूँ.

रानी के जाने के बाद मैंने बहू को देखा तो उसकी आँखों में मुझे गुस्सा दिखाई दिया. बहू मेरे आगे खड़ी थी और मैं उसके पीछे!तभी कुछ और लोग भी आ गए लिफ्ट में. ऐसे ही लगभग 10 मिनट तक उनकी चुदाई चली होगी, इस दौरान मैं अलग अलग खिड़की से जाकर उनकी चुदाई का मजा लेता रहा.

सब कुछ वैसे ही हुआ, बुर चाटना लंड चूसना … पर जब वो पीठ के बल लेटने लगी, तो मैंने कहा- बेटू आज मैं दूसरी पोजीशन तुम्हारी बुर पेलूंगा. नसरीन तौलिया लेकर आई और बाथरूम का दरवाजा खटखटा कर तौलिया लेने का कहा. उनके मुंह से आह निकल रही थी गर्दन में किस करते करते!कुछ ही देर बाद हम दोनों ने एक दूसरे के कपड़े उतार दिए.

तुम लोग सिर्फ देखते हो या कुछ करते भी हो?”शगुन के घर में उसका चाचा रहता है, वो अपने चाचा के साथ करती है.

उसने मुझे नीचे से ही घूर कर देखा, फिर उसको पूरा मुँह में लेकर चूसने लगी … मेरा पहली बार कोई चूस रहा था तो मैं सातवें आसमान में था. शिल्पा- तुम्हें कैसे पता चला कि मुझे इस पर ही बात करनी है … और यही बोलना था.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की अब आगे आयुषी और रिचा की चुत में लंड पेलने की कहानी आपके मेल मिलने के बाद लिखूंगा. मैंने उससे कहा- यार ये बात मैंने भी सोची थी, लेकिन मुझे ऐसे किसी रंडी के बारे में नहीं पता जिससे मैं चुदाई की बात कर सकूं.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की उसने मुझे अपने पास बुलाया और अपना काला मोटा 7 इंच का लंड मुझसे मुँह में लेने को कहने लगा. मैंने कहा- बताओ बहू, क्या कमी है मेरे बेटे में जो तुम्हें इस नकली लंड का इस्तेमाल करना पड़ा?बहू की साँसें तेज चल रही थी मगर वो डरी नहीं.

जैसे जैसे मैं बेडरूम की ओर बढ़ रहा था तो एक मादक सी खुशबू मेरी नाक में गहरी होती जा रही थी जो शायद बेडरूम में से ही आ रही थी.

सुहागरात की स्टोरी

फिर भाभी ने मुझे नीचे लिटाया और मेरे चेहरे पर अपनी चूत रखकर बैठ गई और मुझे चाटने को बोला. हमेशा की तरह मर्दों की कामुक निगाहें मेरी चूचियों और मेरी गांड को निहार रही थीं. वह बहुत गर्म हो चुकी थी और जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी। वह मेरे बालों पर हाथ भी फेर रही थी और साथ में मेरे होंठों को चूस रही थी.

जब भी रचना की चूत का गर्म पानी मेरे लौड़े पर महसूस होता तो मेरी आग और भड़क जाती थी. कामवाली मेरे लंड को कुल्फी के जैसे मस्ती में चूसने लगी और अम्मी ने उसके कपड़े उतार कर उसको नंगी करना शुरू कर दिया. चिन्ना अभी भी कुंवारा है और कहते हैं कि उसने अपना पूरा जीवन गरीब लोगों की सेवा के लिए लगा दिया.

तभी चमन ने पीछे से आगे हाथ करके मेरे चुचे पकड़ लिए और उन्हें दबाना शुरू कर दिया.

दो मिनट बाद मैंने भाभी को उठाया और बिस्तर पर लिटा कर उनकी टांगों से उनकी पैंटी को खींच लिया. चाची बोली- आज मेरी प्यास को बुझा दो, कल जब मैंने तुम्हारा लंड अपनी गांड पर महसूस किया था तो तब से ही मेरी चूत में आग लगी हुई है. मैंने चुत पर अपनी जीभ फेरी, तो भाभी की कमर उठ गई और वो चुत चटाई का मजा लेने लगीं.

उनकी बड़ी बड़ी आंखें … आह … उस खूबसूरत जवानी को याद करके ही लंड हिलाने का मन करने लगता था. उसके अगले दो मिनट बाद अम्मी खुद अपनी गांड को हिला हिला कर अपनी चूत को मेरे लंड के टोपे पर रगड़वाने लगी. मैंने शीशे में देखा तो बहू के होंठों को लिपस्टिक हल्की सी मेरे होंठों पर लगी हुई थी.

काफी कोशिशें हुईं, मगर रजिया का शौहर नहीं बच पाया … उसकी मृत्यु हो गई. यह कह कर चिन्ना करोना के पीछे आ गया और करोना को पीछे से पकड़ कर सहारा देते हुए वहां रखे इस स्टूल पर बिठा दिया.

वो बोली- तू तो खल्लास हो गया, अब मेरा क्या?मैंने हांफते हुए कहा- कुछ देर रुको यार, मुझे थोड़ा टाइम दो. मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उन्हें चूसने लगा और एक हाथ उसकी पीठ पर घुमाने लगा. मुझे बहुत मायूसी हुई और वे भी बहुत शर्मिंदा हुए और मुझसे दूर दूर रहने लगे.

चिन्ना- फिर से बोलो, क्या होती हैं?करोना- चूचिया अंकल!चिन्ना अब सिर्फ निप्पल्स पर प्रेशर डालते हुए- ये क्या होते हैं?करोना हल्के से- निप्पल।चिन्ना निप्पलों को जोर से दबाते हुए- जोर से बोलो क्या?करोना खुमारी भरी कम्पकपाती आवाज में- निप्पल्स।चिन्ना- शाबाश मेरी अच्छी बेटी।अब चिन्ना ने अगला कदम बढ़ाया और करोना को सहारा देते हुए खड़ा कर दिया.

अनाड़ी करोना इस दोहरे नए अनुभव से एकदम बौखला कर बेड से उतर कर नीचे खड़ी हो गई. इसी बीच मैं एक दिन उससे चैट कर रहा था, तो हमारी बातें सैक्स रिलेटेड होने लगीं. अपने भाई से बाथरूम में चुदा कर में बाहर निकली। कुछ देर में मम्मी भी आ गयी। हम भाई बहन रात में चुदाई करना चाहते थे पर मम्मी घर में थी.

पर जब आग बढ़ी तो खीरा केला मूली भी ट्राय किये पर जो संतुष्टि मम्मी में देखी वो नहीं मिल पाई। आंखों के सामने वो बड़े बड़े लन्ड घूमते रहते। पर किसी अजनबी पर भरोसा करने की हिम्मत ही नहीं थी।अब शेष बचा मेरा भाई। जिस अवस्था से में गुजरी हूँ, कमोबेश वही सब देखकर भाई भी जवान हुआ है. मैं बोली- ठीक है … रात में कोई बाधा नहीं है … लेकिन इतनी सुबह ब्रेकफास्ट बनाने आने में मुझे देर हो जाएगी.

शुरू में मैंने चुदाई की रफ़्तार धीमी रखी, फिर जैसे जैसे आग बढ़ी, लंड ने रफ़्तार पकड़ ली. भाभी की सहेली ने मुझसे कहा- तो तुम अपनी चीज का कमाल दिखाओ?मैंने कहा- आप 10 मिनट और रुको, भाभी को आने दो. मेरे दसवीं क्लास में रहने तक, वो अक्सर मेरे सामने ही अपने कपड़े बदल लेती थीं, लेकिन उस वक्त मैं उनकी निगाह में छोटा था.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो मिया खलीफा

उसके मुंह में लंड लेते ही मेरे मुंह से आह्ह … ओह्हह … करके सिसकारियां निकल गयीं.

मेरे दोस्त कीबीवी की चुदाईसे उसको मेरे बड़ा लंड का चस्का लग गया था और मैं ज्यादा समय तक भी चोदता हूँ. उसकी चुत इतनी गर्म हो रही थी कि बस किसी भी पल बिस्फोट होने वाला हो. मेरी अम्मा के बड़े बड़े बूब हिलने से ऐसा लग रहा था मानो किसी नारियल के पेड़ पर लटके नारीयल तेज हवा से झूल रहे हों.

मैंने उससे दोस्ती कैसे बढ़ाई और फिर उसकी कुंवारी बुर चुदाई कैसे की?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम रमेश है और मैं हरियाणा के सोनीपत जिले से हूं. मैंने हिम्मत करके उसकी शर्ट थोड़ी और ऊपर कर दी ताकि उसकी चूचियां देख सकूं. सेक्स बीएफ सारी वालीउसके बाद हम दोनों किस करने लगे और कुछ देर किस करने के बाद मैंने अपने कपड़े पहने और अपने कमरे में आ गयी.

मैं अपने लंड महाराज को उसकी चुत के द्वार तक ले जाने के लिए उसके दोनों पैरों के बीच में बैठ गया और उसके दोनों पैरों को अपनी कमर पर टिका दिया. पुरुष स्पर्श- नारी शरीर किसी भी तरह के स्पर्श के प्रति अत्यधिक संवेदनशील होता है.

मुझे ये ऐसे मालूम था क्योंकि वो 28बी साइज़ की ब्रा पहनती थी, ये मैंने अभी ही देखा था, जब उसने अपनी ब्रा को निकाला था. इतनी अच्छी लग रही थी, मुझे ऐसा लग रहा था कि बस अभी जाकर उसके जिस्म को चाटने में लग जाऊं. जिसे महसूस करके चिन्ना के हथियार ने एक मस्त अंगड़ाई ली और आगे के युद्ध के लिए तैयारी करने लगा.

फोन काटने के बाद मैंने नसरीन को देखा और उससे बोली- चल अब अच्छे से तैयार हो जा … अपनी चूत के बाल साफ कर ले और वैक्सिंग कर ले. उसने करोना की दोनों टांगें अपने कन्धों पर चढ़ा ली और उसकी गुस्से से भरी आँखों में बेशर्मी से झांकते हुए अपने खरतनाक लण्ड के सुपारे को करोना की नाजुक और अभी तक कुंवारी चूत के मुँह पर भिड़ा कर हल्का हल्का रगड़ा लगाना शुरू कर दिया. मैंने उससे कहा- अब रहा नहीं जाता प्लीज!वह कहने लगी- अरे रुको, अभी इतनी भी क्या जल्दी है? जब 5 साल और इंतजार किया है तो और 5 मिनट इंतजार नहीं कर सकते क्या?मैंने कमरे की लाइट बंद कर दी और सिर्फ मोबाइल के टॉर्च को जलाकर टेबल पर उल्टा रख दिया जिससे कि हल्की हल्की रोशनी रहे.

मैंने पूछा- बहू, दर्द हो रहा है तो निकल लूं?बहू बोली- डैडी, आपका लंड काफ़ी अंदर तक जा रहा है इसलिए थोड़ा दर्द हो रहा है.

उसके निप्पल पिंक थे जो काफी खूबसूरत लग रहे थे। मैंने एक स्तन को अपने मुँह में ले लिया और उसे ज़ोर ज़ोर से चूसने और काटने लगा. मुझे सनसनी होने लगी और मैं जानबूझ कर झुक झुक रेडी होने लगी, जिससे पीछे से मेरी पूरी नंगी गांड दिख रही थी.

एक दिन मैंने निश्चय कर ही लिया कि आज उसे प्रपोज कर के ही रहूंगी और अपनी चूत चुदवा कर रहूंगी. मैंने उठ कर देखा, तो मेरा और भाभी का वीर्य एक साथ भाभी के चूत से बह रहा था. अब मेरे मुंह से आह्ह … आह्ह करके सिसकारी निकल रही थी और जब लंड उसके मुंह में जा रहा था तो उसके मुंह में गूं-गूं की आवाज हो रही थी.

अपनी बहन की चूत गांड मारने में क्या मज़ा आ रहा था, इसको कैसे लिखूँ, कहा नहीं जा सकता. कमर से ऊपर तनी हुई चूचियों का नाप 36 इंच है और बीच की बलखाती हुई कमर 32 इंच की है. नसरीन यह सुन कर स्तब्ध रह गयी कि बड़े भाई उसी से दूसरा विवाह करना चाहते हैं.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की वो हंसकर अपने बेटे से पूछने लगीं- क्या हुआ बेटा?उसने अपनी मम्मी से कह दिया- वो मेरे कौन हैं?मैं सामने में ही खड़ा था, तो मैंने अपने मुँह से तेज आवाज नहीं निकालते हुए धीरे से ‘पापा. मैंने उसकी बात से राजी होकर बाथरूम में जाकर लंड चूत को साफ़ किया और वापस आकर 69 की तैयारी करने लगे.

ஸ்கூல் செக்ஸ் வீடியோஸ்

मोहन ने कहा- दूध का मजा बाद में ले लियो … अभी ठीक से देख … ढीली सिली है कि नहीं. उसने मुझे एक झटका मारते हुए नीचे गिरा दिया और मेरे ऊपर जैसे बाथरूम के कमोड पर बैठते हैं, वैसे बैठ गई. दीदी- तुम कहना क्या चाहते हो?मैं- क्या मैं आपके साथ एक बार सेक्स कर सकता हूं?दीदी- क्या बक रहे हो … राज तुम जानते हो ये तुम क्या बोल रहे हो?मैं- दीदी प्लीज़ …दीदी- शटअप … वरना एक तमाचा मारूंगी.

मैंने भी उसको मजाक में डांटते हुए कहा- नेहा हम मार देंगे, हमको तंग ना करो. जब मैंने तेरे लंड को लोअर में तना हुआ देखा तो तब मुझे भी चुदने का मन किया और मैंने आगे कदम बढ़ाया. एक्स एक्स एक्स एचडी में हिंदीमैं तो उसकी चूत चोदने के लिए बेसब्र हो रहा था और उसको मेरी भूख की पड़ी हुई थी.

दीदी ने मेरे निक्कर में से लंड को बाहर निकाला और वो मेरे लंड को देखने लगीं.

मैं पूरी तरह से सेक्स के लिए चुत को लेकर सोचने लगा था और मेरे ठीक बाजू में मेरी बहन सोई हुई थी. मैं अभी कुछ समझ पाता कि दीदी मेरे ऊपर चढ़ गईं और मुझे किस करने लगीं.

उनके हाथ में एक बैग था, तो उन्होंने कुछ इस तरह से रखा हुआ था कि किसी को पता नहीं चले. उसके कहने पर मैंने भी सोचा कि आज घर में कोई नहीं है, क्यों न मौके का फायदा उठाया जाये!मैंने भोलेपन से कहा- अच्छा नहीं करूंगा बदमाशी, एक बार छूने तो दे!वो धीरे धीरे मेरे पास आई. उसने जल्दी से कंडोम को चूत से निकाला और कहा- सही मैं यार … तुम्हारे लंड में बहुत ज्यादा वीर्य है और तुम चुदाई भी अच्छी करते हो.

मैंने तेल लगे लंड को चुत की दरार पर सैट करके नसरीन की पतली कमर को दोनों तरफ से पकड़ लिया.

मुझे एग्जाम के लिए देर हो रही थी … इसलिए ऐसा हो गया … प्लीज मुझे माफ कर दीजिए. मैं आपकी पूसी को सक् करूंगा आपकी ऐस को लिक् करूंगा और आपको बिल्कुल खा जाऊंगा. उसकी इस सख्त बात को सुनकर मैं एकदम से डर गयी और उसको समझाने लगी, लेकिन उसने मेरी एक नहीं सुनी.

एक्सएक्सएक्स देशीमैंने उससे कहा- क्या हुआ? घर में चिल्ला चिल्ली क्यों मची है?तो अनिल ने कहा- कुछ नहीं बस रोजमर्रा की लड़ाई चल रही थी. तनु के सामने हम मां-बेटे को सेक्स करने में नये रोमांच का अहसास हो रहा था.

बिहार का सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर

फिर मैंने सोचा कि इन दोनों की चुदाई के बीच में सबसे बड़ा रोड़ा तो मैं ही हूं. सोनू और मैं अक्सर गांव में घूमने के लिए साथ में निकल जाया करते थे और काफी मस्ती किया करते थे. मैंने फोन चेक किया तो पता चला कि सारिका ने सारे वीडियो अपने मोबाइल में सेन्ड कर लिए थे.

अब उससे भी बरदाश्त ना हुआ तो वो बोली- बस करो। मुझसे अब और ना रहा जा रहा है। अब चोद दो मुझे. वो बोली- शरमा क्यों रहे हो, मैंने भी तो तुम्हारे सामने अपना ब्लाउज उतारा है. मैंने पीछे से लंड सैट किया और एक झटके में पूरा लंड उसकी बच्चेदानी तक ठोक दिया.

मौका देख कर वो मेरे लंड को पकड़ लेती थी और मैं उसको जमकर चोदने लगा. मैंने कहा- ये क्या हाल बना रखा है भाभी?भाभी बोली- पापा ने एक बार फिर से मेरी गांड मार ली. अनुभवी चिन्ना ने करोना के हावभाव देख कर झट लगाम अपने हाथ में लेते हुए करोना के दोनों कंधो को अपने हाथों से पकड़ कर उसे दबोच लिया.

मैं दीदी की बातों को नजरअंदाज करके तेजी से उनकी चुदाई किये जा रहा था. इस कहानी की नायिका का नाम मैं नहीं लूँगा, ऐसा उसकी प्राइवेसी बनाए रखने के लिए कर रहा हूँ.

और बोली- लेकिन आप बुरी तरह करते हो! पूरा बदना और बदन के सारे जोड़ हिला कर रख दिए.

जितनी पोपुलैरिटी सन्नी ने हासिल की है, शायद ही किसी दूसरी नग्न अभिनेत्री को मिली है. इंडियन कुंवारी लड़की की चुदाईमेरे दोस्त कीबीवी की चुदाईसे उसको मेरे बड़ा लंड का चस्का लग गया था और मैं ज्यादा समय तक भी चोदता हूँ. कॉलेज की लड़कियों की बीएफमेरे अंदर कामवासना के समुद्र में एक ज्वार फूट चुका था जो रुकने का नाम नहीं ले रहा था. मेरा लंड तो अब छोटा हो गया था और कंडोम तो पूरा मेरे वीर्य से भरा हुआ था.

मुझे बहुत मजा आ रहा था और मेरी सिसकारियां पूरे कमरे में गूंज रही थी.

सिम्मी ने काफी जिद की और कहा- सब जाते हैं, मुझे भी जाना है।मैंने कह दिया- किसी दिन कोई अप्रिय घटना घट सकती है. तभी बहू ने उसे मुँह में ले लिया और चूसने लगी वो खुद का पानी चाट चाट के साफ़ कर रही थी. मन तो कर रहा था कि नेहा की चूत में लंड देकर ही अपनी प्यास बुझाऊं लेकिन वो हरामी मेरे लंड में सेक्स की आग जला कर भाग गयी.

मैंने अपने समधी से कहा कि मेरी बड़ी इच्छा थी कि अंजू की शादी के बाद अपनी बेटी व दामाद को देवी यात्रा कराऊंगा. वह बहुत जल्दी में था, उसे भी आज शाम को किसी भाभी से मिलना था जिसके लिए वह कंडोम लेकर आया था।वह मुझे कंडोम का पैकेट देकर बोला- इसे अपने पास रख के रखना. मगर मेरी इतनी हिम्मत नहीं हो रही थी कि मैं उनकी चुदाई देखने की कोशिश करूं या फिर वहीं खड़ा होकर उनकी बातें सुनूं.

हिंदी सेक्सी वीडियो जबरदस्ती

मैंने अपनी बहन से कहा- रिया इस बार मैं तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ. मैं अब तुम्हारी यानि अपनी प्यारी बहन की बुर में अपना लंड डाल कर पेलूंगा और चोद चोद कर मजा दूंगा. फिर एक मेरा दोस्त रजत घर आया हुआ था और उसे ऐसे ही मां ने कामवाली के लिए बोल दिया.

उपर्युक्त किसी भी तरह के प्रयोग के लिए आपके पास कलाकार के रूप में दो प्रकार के विकल्प हो सकते हैं-1.

ठीक इसी तरह का दिल उसकी दोनों चूचियों के निप्पल को बीच में लेकर बना था, उसमें भी हम दोनों का नाम था।मैंने निधि से कहा- लग रहा है सुहागरात की तैयारी काफी पहले से चल रही थी.

किचन से निकल कर जब मैं बेडरूम की ओर आया तो मेरा लंड मेरी जांघों के बीच में दायें बायें डोल रहा था. उनको अभी आभास हो गया था कि कोई बाहर से आने ही वाला है इसलिए वह दोनों अलग हुए सेजल नहाने के लिए चली गई और फौजी साहब अपने लंड को धोने के लिए चले गए. बीएफ पिक्चर दिखाएं हिंदी मेंयार, अगर सामने एक मस्त माल चुदने के लिए तैयार हो तो ऐसे में भला खाने और भूख मिटाने का होश किसे रहता है.

दीदी के चूचों को छेड़ते हुए मैंने पूछा- आपको जीजा के साथ भी इतना मजा आता था क्या?वो बोली- तेरे जीजा का लंड तो नाम का ही लंड था. कई बार मैंने इस बात को नोटिस किया था कि उनकी पैंटी का इम्प्रेशन मेरी नजर में नहीं आया था. घुटनों तक उठे गाऊन से बाहर दिखतीं मम्मी की गोरी गोरी टांगें देखकर उनकी जांघों और चूत के बारे में सोचते सोचते मेरा लण्ड टनटना गया.

मुझे यह सब करते हुए देखकर वे बहुत उत्तेजित हो रहे थे, यह उनके हावभाव से ही जाहिर हो रहा था. जब मेरे लौड़े का लावा रचना की चूत में आखरी बूंद तक टपक गया तो मैं निढाल होकर के रचना की बगल में लेट गया.

मैंने जाने की बात की तो उन्होंने बोला कि मैं तुम्हारे लिए ट्रेन का टिकट बुक करवा देता हूँ, तुम अकेली चली जाओ.

उसे मैंने डॉगी स्टाइल में होने को बोला, तो वो जल्दी से डॉगी स्टाइल में आ गई. फिर मैंने उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो 29 साल का है और ठेकेदारी का काम करता है. मैंने पूछा- आपके वहां भी नीचे ऐसे ही बाल हैं क्या?मामी ने कहा- हां, सबके ही होते हैं.

हिंदी बीएफ गाना में कहानी का पिछला भाग:शहर की चुदक्कड़ बहू-6इस बार बहू ने मेरा मुँह पकड़ के मुझे एक किस कर दिया. दो तीन बार धीरे धीरे करने के बाद जब दो तीन शॉट जोर से मारे तो मम्मी चिल्ला पड़ी.

उनके हाथ में लकड़ी से बना हुआ लंड के जैसे आकार लिये हुए कुछ चीज़ थी. तुम्हारे घर में भी तो फूफा रहता है, तुम क्यों उंगली से करती हो? चलो आओ बेड पर. मेरी माँ ने बोला- ओके!अजय अंकल ने फिर से मेरी नंगी माँ को गोद में उठाया और माँ की चूत में लंड डाल के मेरी माँ को धक्का मार कर चोदने लगे.

व्यक्ति सेक्सी वीडियो

मेरी यह कहानी भी एकदम सच है जिसमें मैंने किसी कल्पना का सहारा नहीं लिया है. मैं बोली- ठीक है साहब जी … कितने बजे आना है?नवीन जी बोले- मेरा मॉर्निंग में 7 बजे जाना रहता है और मैं रात में 9 बजे कमरे पर आता हूँ. यदि आपको किसी अन्जान व्यक्ति या अजनबी शख्स के सामने निर्वस्त्र होने में कोई परेशानी नहीं होती है तो आप पुरूष कलाकार के साथ भी जा सकती हैं.

तभी उसने अपना लंड पकड़ा और मेरी चूत पर थूक लगा कर लंड को सैट कर दिया. पर मैंने उसे कस कर पकड़ा था और वैसे ही आज बहुत दिनों बाद ये कुंवारी चूत लंड के नीचे आयी थी तो इतनी जल्दी मैं उसे अपनी से कैसे अलग कर सकता था।मैंने थोड़ी देर उसके ऊपर वैसे ही अपने आप को रहने दिया थोड़ी देर उसके होंठों को चूसा उसकी चूचियों को मसलने लगा।वह धीरे से बोली- बाबू, प्लीज बहुत दर्द हो रहा है.

जब भी मां बाथरूम में नहाने के लिए जाती थी तो मैं उन पर नजर जमाये रहता था.

मैंने एक बार फिर से श्वेता की बुर व गांड का मुआयना किया और थोड़ा सहला भी दिया. इस काम में मुझे कोई भी लड़की ज्यादा दिन ग्राहक नहीं देती थी, इसलिए मैं नई नई लड़कियों की तलाश में रहती थी. वो!उसने कहा- हां बताओ तो, क्या आपके साथ?मैंने कहा- मैं चाहती हूं कि तू मेरे साथ सेक्स करे!ये बात सुन कर विशाल ने कुछ नहीं कहा.

वो बोली- पहली तो पूरी कर दूंगी, दूसरी मेरे पास तुमको पिलाने दूध के लिए फिलहाल कोई व्यवस्था नहीं है. उसने मुझे नीचे लेटने को बोला और अपनी गुलाबी चूत मेरे मुँह पर रख कर बैठ गई और झुक कर मेरे लंड को हाथ में लेकर सुपारे को जीभ से चाटने लगी. कल्पना ने कहा- फिर मैं भी इस आईसक्रीम को तुम्हारे लंड पर मल कर तुम्हारा लंड चूसूंगी.

मैंने कहा- अच्छा सेक्स वगैरह!भाभी बोली- हां …तो मैंने कहा- हां भाभी एक बार किया था … लेकिन मुझे थोड़ा गंदा सेक्स पसंद है … इसलिए उसने मुझे आगे पसंद करना बंद कर दियाभाभी- रियली … सच बताओ.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गांव की: अब मुझे भी ये सब अच्छा लगने लगा था, तो मैंने भी कह दिया कि तेरा ही तो है … पकड़ ले. मैंने कहा- ठीक है भाभी … एकाध दिन आपको पूरी रात चोद दूंगा … अगर घर में आपका कोई आए ना.

सुहागरात के अगली सुबह जब मीठी मीठी मादक भोर में आप दोनों एक दूसरे के जिस्मों को उभरते दिन की हल्की रोशनी में देखेंगे तो उस समय आपके पति के पौरुष के लिए आपको और आपके जिस्म के अंगों को नजरअंदाज करना बहुत चुनौतीपूर्ण कार्य हो जायेगा. तो वो और ज्यादा बेचैन हो गई और बोली- क्यों तड़पा रहे हो? अब चोद भी दो मुझे।मैंने थोड़ा सा थूक अपने लंड पर लगाया और अपना लंड उसकी चुत में पेल दिया।लंड अभी आधा ही अंदर गया था कि वो दर्द से चिल्लाने को हुई. मैंने पूछा- कितना?तो उसने कहा- कम से कम दो हजार!मीनू ने कहा- ये तो ज्यादा है.

कभी उनको किस करता और उनके चूचों को सहलाता जा रहा था।काफी वक़्त हो गया था तो मैंने मैम से कहा- मैं अभी चलता हूँ.

ध्यान रखना कि कोई देखे नहीं, मैं सबको खिला कर रात में सोने के लिए आऊंगी।मैं रात के खाना खा कर पूजा के साथ बातें करते हुए निधि के आने का इंतज़ार कर रहा था. दूसरे दिन सुबह साढ़े चार बजे भाभी ने घर से निकलने के बाद मुझे फोन लगाया. जैसे ही मैं आया, वो मुझे देख कर मुझसे लिपट कर रोने लगी क्योंकि उसकी बुआ जी की मृत्यु हुई थी.