चेन्नई वाली बीएफ

छवि स्रोत,बीपी ओपन मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

सैराट पिक्चर मराठी: चेन्नई वाली बीएफ, उसका 5-6 सहेलियों का ग्रुप है, जो किटी पार्टी की आड़ में जवान लड़कों को बुलाकर उनसे अपनी चुदाई करवाती हैं और पैसे भी देती हैं.

सेक्स वीडियो मारवाड़ी देसी

अगर अन्तर्वासना के पाठकों को मेरी छोटी बहन की गांड देखना हो तो वे उसे वीडियो पर देख सकते हैं. हिंदी में एक्स एक्स एक्स हिंदी मेंतो उसकी गाण्ड में चुभने लगा।उसने यह भाँप लिया था और एकदम से ठीक होने की कोशिश भी की.

अंकित ने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठों को जमकर चूसते हुए बोला- वन्द्या मां की लौड़ी साली छिनाल. भाभी को चोदा भाभी को चोदाजिसने मुझको सम्पूर्ण नग्न देखा है।दोस्तो, लड़की को चोदने का मज़ा तो उसको पूरा नग्न करके ही आता है। जब तक दो नग्न जिस्म आपस में रगड़ न खाएं.

गिलास रखा था। सामने हेंगर पर कुछ कपड़े टंगे थे जो चाचा के ही लग रहे थे।मैं पूरे कमरे का मुआयना करके वहाँ चाचा को ना पाकर मायूस होकर कमरे से बाहर आ गई। फिर ना चाहते हुए मैं भारी कदमों से अपनी छत की तरफ बढ़ी ही थी कि तभी पीछे से चाचा के पुकारने की आवाज आई- बहू यहाँ क्या कर रही हो.चेन्नई वाली बीएफ: रोका किसने है?यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !इतने में मेरा हैण्डपंप खड़ा होने लगा। उन्होंने शायद ये देख लिया था.

तो पिंकी भी डोर नॉक करने लगी तो हमने अपने-अपने कपड़े पहने और बाहर आ गए।पिंकी हम दोनों को देख कर मुस्कुराने लगी और फिर उसने कॉफ़ी बना कर हमें दी और कॉफ़ी पीकर हम वहाँ से निकल पड़े।वो मुझे मेरे कॉलेज छोड़कर चला गया और मुझे जाते समय एक अच्छा सा ‘फ्रेंच किस’ भी किया।तो दोस्तो, यह थी मेरी रियल स्टोरी.मैं सोनी के चूचों को दबाए जा रहा था और अब सोनी मेरे काबू में आने लगी। उसकी कामपिपासा जाग उठी और उसके कंठ से चुदासी आवाजें आने लगीं ‘आआहह.

நியூ செக்ஸ்வீடியோ காம் - चेन्नई वाली बीएफ

उसकी गर्मी से मेरा लन्ड और सख्त होता जा रहा था।मैंने उसकी पतली सी कमर पकड़ी और अपना मोटा लन्ड उसकी चूत पर रख कर दबाया.रवि कुत्ते की तरह मेरी चूत की चुदाई करने लगा और जीजा मुँह चोद रहा था.

नहीं तो वो मुझे घर से निकल देंगे और मुझे यहाँ पे और कोई नहीं जानता है. चेन्नई वाली बीएफ उसका पति एक ड्राईवर था और वो बहुत खूबसूरत थी। मेरा लण्ड उसे देख कर हमेशा ही खड़ा हो जाता था। पर मुझमें हिम्मत की कमी थी.

मैंने कहा- आज कर भी लो!फिर हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गयी और एक दूसरी की चूत को चूसने लगी.

चेन्नई वाली बीएफ?

मैंने उसके भोंपू दबाते हुए उसकी जांघों पर हाथ फिराया और धीरे से उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया. उसने अपना चेहरा मेरी छाती में छुपाया। उसके दोनों थनों के निप्पल मेरी छाती में चुभ रहे थे। दोनों चूचुक चुदाई के ख्याल से इतने टाइट हो गए थे कि मेरी छाती में चुभ रहे थे।अब आगे. पर दोनों के धक्के एक साथ नहीं लग पा रहे थे जिससे ठीक से बात नहीं बन पा रही थी।तो मैंने कहा- भाभी पहले आप उछल लो.

डैड ने मॉम की गांड पर जैसे ही लंड रखा, वो उचक कर बोलीं- गड़बड़ नहीं करना. इस बार जैसे ही मैंने अपना हाथ पोपकोर्न की तरफ बढ़ाया तो पोपकोर्न की जगह हाथ किसी गर्म और लम्बी वस्तु पर चला गया. मैंने न चाहते हुए भी गर्दन हिला दी।वो मुझे बेडरूम में ले गया।दोस्तो, अब मैं भी नशे में झूम रही थी।उसने मुझे बिस्तर पर बैठाया और कहा- ले चूस.

और मैं खाना खत्म करके बर्तन लेकर रसोई में चली गई, फिर साफ-सफाई करके मैं बेडरूम में आकर लेट गई, पति पहले से ही बिस्तर पर लेटे थे, मैं उनके बगल में लेट गई।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !कुछ देर बाद पति ने कहा- ज्यादा मन हो रहा है चुदने का?मैं जानबूझ कर बोली- कुछ खास नहीं. मेरी कहानी की हीरोइन है, वो मेरे पड़ोस में रहने वाली एक 18 साल की एक सीधी सादी लड़की है, जिसका फिगर 32-28-32 है और उसका नाम पायल है. वो इस वक्त मुझे इतना कस के पकड़े हुए थे कि मेरा हिलना भी मुश्किल था.

वैसे मुझे यह पता था कि मेरा देवर मुझे शुरू से ही पसंद करता था क्योंकि वो हमेशा मेरे लिए कुछ न कुछ बाजार से लाता रहता था, मुझे त्योहार पर उपहार भी देता था. ’ की आवाज़ कर रही थीं।तभी मैंने अपना लौड़ा बाहर निकाला और मामी के हाथ में दे दिया।दोस्तों मेरा लंड 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है.

और उसका लण्ड पैन्ट से बाहर झाँक रहा है। लड़की भी बहुत कांप रही थी।^वो लड़के के खुले लण्ड को झुकी नज़र से घूर रही थी। अचानक लड़की को घूरते देख लड़के को होश आया कि उसने पैन्ट की चैन खुली कर रखी है। लड़का चैन लगाने लगा। लड़की उसके और करीब आ कर उससे चिपक गई। लड़के के शरीर में गुदगुदी होने लगी.

यदि तेरी मम्मी ने किसी के साथ सेक्स कर लिया है, तो अब तो तू कुछ नहीं कर सकता है.

मैंने उससे पूछा- आप क्या पीना पसंद करेंगी?उसने पलट कर मुझसे पूछा कि मैं क्या पी रहा हूँ?मैंने बोला- मैं ब्लडी मेरी पी रहा हूँ. अब आप‌ ये सोच रहे होंगे कि सुमेर भैया और सुलेखा भाभी की उम्र में तो इतना फासला हो सकता है मगर जब उनकी बड़ी लड़की बी. उन्होंने जैसे ही दबाव बनाया, मुझे बेहद दर्द होने लगा और राज अंकल का लौड़ा गांड से फिसलकर बाहर हो गया.

ऐसे नजदीक के रिश्तेदार वो भी सत्तर सत्तर साल के बुड्ढे भी और बहुत करीब के रिलेटिव, उन तक ने मेरे साथ सोने के लिए अपनी कोशिशें करी हैं. उससे आपका बोझ कम हो जाएगा।पर वो तो और सुबक़-सुबक़ कर आँसू बहाने लगी. ’ निकल गई।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !अब भाभी भी गरम हो गईं और मेरे लण्ड को ऊपर से ही सहलाने लगीं।मुझे बहुत मज़ा आया।भाभी ने कहा- तुम बेडरूम में चलो, मैं आती हूँ।मैंने पूछा- कहाँ जा रही हो?तो कहने लगीं- पेशाब करने.

प्रिया मुझ पर गुस्सा तो थी मगर वो काफी उत्तेजित भी थी, इसलिए कुछ देर मेरे होंठों को जोरों से चूसने और काटने के बाद उसने मेरे होंठों को छोड़ दिया और अपने पैर मेरी कमर के दोनों तरफ करके मेरे ऊपर बैठ गयी.

तो मैंने उससे कहा- ये तो मैं भी ला कर दे सकता था।उसने कहा- मुझे शर्म आती है।मैंने कहा- जब उससे मांगी. तब लंड आराम से अन्दर चला जाएगा।मैं चित्त लेट गया और भाभी मेरे लंड के ऊपर बैठने लगीं. फिर थोड़ी देर तक उसकी गांड में साबुन लगाते हुए बेटे ने अपनी एक उंगली माँ की गांड में डाल दी तो शीतल जैसे चिहुँक सी उठी, उसके हाथ से पेटीकोट का नाड़ा छूट गया और पेटीकोट नीचे गिर गया.

इसी बीच उसका शरीर अकड़ने लगा और उसने मेरे सिर को अपने हाथों से अपनी चूत पर दबा लिया और ‘जीजू … मैं मर गई! जीजू मैं मर गई!’ कहते हुए उसने पानी छोड़ दिया और वह शांत पड़ गई. तो मैंने प्रिया को मेरे घर पर ही सोने के लिए बोला।पहले उसने मुझे मना कर दिया. कुछ देर तक हम लोग ऐसे ही लेटे रहे, फिर कुछ पल बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

पर लंड अन्दर नहीं गया।मैंने थोड़ा और ज़ोर लगाया तो चिकनाहट की वजह से एक इंच लंड अन्दर चला गया.

इस पर भी मैं एक दो बार उसका हाथ अपनी गोदी में रखने का बहाना करते हुए उसको अपना लंड पकड़ने का इशारा दिया. क्योंकि हम नहीं चाहते थे कि किसी को हमारी मुलाकात का पता चले और कोई मुसीबत खड़ी हो।वैसे भी जान है.

चेन्नई वाली बीएफ तो लाइफ में ऐसा मज़ा पता नहीं कब नसीब होगा और अगर मान जाओगी तो हो सकता है हमारी दोस्ती बहुत ज्यादा बढ़ जाए।तो मेरे दिमाग में एक आइडिया आया. कमर के निचले हिस्से पर एक तिल था।मैं पूरी पीठ और उसके कान पर किस करने लगा और मेरे हाथ उसके मम्मों को पूरी तरह जकड़े हुए थे। फिर वो पलट गई अब उसका हाथ मेरी कैपरी के अन्दर जाने लगा.

चेन्नई वाली बीएफ ।नहा कर मैंने खाना खाया और माँ को कल रात की घटना के बारे में बताया।माँ ने कहा- यह सब तो होता ही रहता है. ’उसने चौंकते हुए मेरी तरफ चाय बढ़ा दी। मैं कप उठाया और चाय पीते हुए.

तो मैं नीचे झुक कर उसकी चूत को चाटने लगा। अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदने लगा।वो बुरी तरह से ‘एयेए.

चोदी चोदा वाला सेक्सी पिक्चर वीडियो

मैंने दही को नाभी तक बहने दिया, फिर नीचे से ऊपर तक चाटते हुए उसे गर्म करने लगा. तेरी चूत और मेरे लण्ड का माल आज नाश्ते को खास बना देंगे।पायल- अच्छा ये बात है. मैंने भी अब प्रिया की दोनों चूचियों को हल्के हल्के दबाना और मसलना शुरू कर दिया.

तो वो खुश हो गईं।मैंने भाभी से कहा- आपकी चूत इतनी टाईट कैसे हो गई?वो बोलीं- सब आपकी चटाई का असर है. जिसमें मैंने अपना लण्ड सैट किया था।‘यह क्या है?’ उभरी हुई जेब देखकर उन्होंने पूछा।‘हॉट डॉग है. मैंने उसकी चुत के दाने को होंठों में दबा लिया, जिससे प्रिया और भी ज्यादा गर्म हो गई.

और तू चिंता मत कर कल तुझे प्रेगनेंसी वाली टेबलेट ला दूंगा, तुझे कोई दिक्कत नहीं होगी.

वो दर्द के मारे चिल्लाने की नाकाम कोशिश कर रही थी, उसकी चुत से खून निकलने लगा था. पर वो सोती ही रही।अब उसके चूचे ऊपर की तरफ हो गए। क्या गज़ब के चूचे थे. मैं भी उसकी चूत को चूसना छोड़ कर उसके मुँह को ही कस कर चोदने लगा।अपना लंड उसके मुँह में ही तेजी से अन्दर-बाहर करने लगा।अब वो भी पूरी तरह से पागल हो गई थी।उसको लंड की जरूरत चूत में थी और मुझे भी चूत की ख्वाहिश थी।मैंने खुद को सीधा किया और उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ने लगा.

मैं सफ़र से काफ़ी थका हुआ था तो मैं सोने जाने लगा, उसने मेरे होंठों पर किस किया और हम नीचे चले आए।फिर मैं सो गया।जब उठा तो देखा उसके घर वाले आ गए हैं. नीचे चूत चुद रही थी और आगे से मेरे मम्मे चुस रहे थे, मेरी जवानी मेरे सर चढ़ कर बोल रही थी।मैंने भी अपनी जवानी का खूब मज़ा लूटा।दीप्ति ने भी मुझे मस्त कर रखा था और सुनील नीचे से जोरदार धक्के लगा रहा था, उसका पूरा लंड मेरी चूत में पिला हुआ था और हर बार उसका लंड मेरी बच्चेदानी को टच करके वापिस आता था।मेरे मुँह से सिसकारियाँ निकल रही थीं, सुनील मुझ पर गालियों की बरसात कर रहा था और कह रहा था- उन्ह. तुमने मेरी गांड में अपना साढ़े छह इंची लंड डालकर मस्त मथा था मेरी चुत को.

शीतल का चेहरा बाथरूम के शीशे की तरफ था और विक्रम शीतल के पीछे खड़ा था तो जब शीतल की चूचियां पूरी नंगी हो गयी तो वो सामने शीशे में शीतल की खुली चूचियों को साफ़ देख सकता था. मैंने भी संजय की उंगली के साथ एक अपनी एक उंगली गीत की चूत में डाल दी।अब एक उंगली संजय की और एक मेरी.

तो उसने कहा कि आपको कैसे पता?तब मैंने उसे बताया कि मैंने मूवी देखी है. पूरा दिन कार वॉश करने के बाद कोई होश नहीं रहता है, सिर्फ़ थके हारे घर आके, जो खाना होता है. दादा जी ने मुझे करीब बीस मिनट तक चोदा और फिर मेरी चूत के अन्दर ही उन्होंने अपना लावा छोड़ दिया.

पर हमारे गाँव की नहीं थीं। वो हमारे गाँव में भाड़े के घर में रहती थीं.

मुझे शादी-शुदा औरतें बहुत पसंद हैं क्योंकि उनकी बड़ी गाण्ड और भूरे निप्पलों का मैं दीवाना हूँ।आप सबने मेरी कहानीसीमा भाभी की अन्तर्वासनाऔरचाचा की माल की चाचा से बेहतर चुदाईको पढ़ कर मुझे खूब मेल किए. मैंने उससे पूछा कि क्या चक्कर है?उसने तब बहुत देर बाद मुँह खोला और बोला कि वो लड़की, जिससे आप मसाज़ करवाती थीं. सरबजीत भी रात को अपनी खेती को पानी लगाने जाता था, इसलिए वह सवेरे के समय तक खेत में बना रहता था.

फिर मैं उनकी गांड को अपने हाथ से सहलाने लगा, भाभी के मुँह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… की आवाजें आने लगीं. मैं अंकल बगल में बैठी हुई अंकल के लंड और सुपारे पर जीभ फिरा रही थी.

मैं समझ गया कि ये अब अपनी चूत दे देगीं।चाची ने लण्ड को लॉलीपॉप जैसे चूसना चालू कर दिया। मेरे लण्ड का पूरा सुपारा उनके मुँह में था। मेरा मन कर रहा था कि धक्का मार कर पूरा लण्ड मुँह में डाल दूँ. तो मैंने उसके दोनों मम्मे दबाते हुए उसकी चूत पर से हथेली फिराना शुरू किया। हाय. जिससे जाकिर भी तुम्हें अपना लंड गांड मराने के भी साथ में चुसवा सके.

सेक्सी वीडियो चाइना चाइना

मेरे तने हुए लंड का प्यारा सा गुलाबी टोपा देख कर उसको लंड टच करने की इच्छा हुई.

पर हमारी फैमिली के उनके साथ बहुत अच्छे संबंध हैं और हम सब फैमिली की तरह ही रहते हैं।चाचा दो भाई हैं. इसके बाद मैं सीधा प्रिया के कमरे में चला गया, प्रिया कपड़े प्रेस कर रही थी. मादरचोद, साली, रांड, छीनाल, चोदीचे तुझ्या गांडीत पहिले मी लंड घालणार आहे, नंतर मी तुझी पुच्ची झवीन.

शायद अब सुमा मान जाएगी।फिर मैंने सुमा के मम्मों को दबाना स्टार्ट कर दिया, सुमा सिसकारियाँ भरने लगी, सुमा बोली- जानू. मेरा चेहरा दीवार की तरफ करके वो नीचे बैठ गये और मेरे कूल्हों को धीरे धीरे काटने लगे. टीचर एक्स एक्स एक्स वीडियोमैंने फिर से लण्ड उसके मुँह में डाल दिया और उसके मुँह को चोदने लगा।‘खों.

क्योंकि मैं उसे लगातार काफ़ी लम्बे समय चोदता था। वो एक घंटे में तीन बार झड़ती थी। शादी के पांच साल तक ये सिलसिला चला. क्योंकि उस रात की बातें तो वो ऐसे खुलकर कर रही थी‌, जैसे कि उसे कुछ पता ही नहीं या फिर जानबूझ कर वो अनजान बनने की कोशिश कर रही थी.

कितना मजा देते हो।” वह फिर सिसकारने लगी।कुछ देर जुबान फिराने के बाद मैंने जुबान वापस खींच ली और अंगूठों का दबाव रिलीज करके योनि को वापस मिल जाने दिया. वे घुटनों तक उसे उठाकर घुटने मोड़कर बैठी हुई थीं।इस अवस्था में उनके गाउन का पिछला भाग उन्होंने शायद जानबूझ कर नीचे छोड़ दिया था। जिस कारण उनकी सेक्सी गुलाबी चड्डी साफ़ नजर आ रही थी।मैं उसे गौर देखने लगा. लो थोड़ा तो आपको टेस्ट करा देती हूँ।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !इतना कहकर पायल ने अपनी जीभ की नोक से बूँद को उठाया और पुनीत के मुँह में अपनी जीभ घुसेड़ दी.

फिर बेड पर मालिश करने के लिए बोला, बाद में मतलब उन्हें भी मजा आ रहा था. यह मेरा वादा है।सोनी ने खुल कर कहना शुरू कर दिया- इतने दिन से मैं देख रही हूँ कि तुम और दीदी सेक्स कर रहे हो और अब मेरा मूड भी हो गया है. और जल्द ही नींद में आ गई।मैं भी उससे चिपक कर लेट गया और उसके ऊपर अपना पैर और हाथ रख लिया और उसके मम्मों को हल्के हाथ से सहलाने लगा।उसने कुछ भी हरकत नहीं की.

वो जल्दी ही गर्म हो जाएगी।मैं सोनी की गर्दन और उसके कान के पीछे के हिस्से को जोर-जोर से चूसने और चाटने लगा.

धीरे-धीरे लण्ड अन्दर चला गया।मैंने लण्ड पूरा जड़ तक पेल दिया। वो आँखें बंद किए लेटी रही और अपने दांत भींच दर्द को झेलती रही।मैं उसे चुम्बन करने लगा और चूची पीने लगा।थोड़ी देर बाद वो मेरा साथ देने लगी. इतना कहकर पुनीत ने ट्रे से कुछ अंगूर उठा लिए और पायल की चूत पर उनको रगड़ने लगा.

मैंने उनके चेहरे पर संतुष्टि का भाव देखा।उसने मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर वादा करने को कहने लगी कि कहो मैं उसकी प्यास हमेशा बुझाता रहूँगा और उसकी सारी कल्पनाओं को पूरा करूँगा. पर टेस्टी था।मैं उसकी चूत में 3 फिंगर डालकर अन्दर-बाहर करने लगा और उसकी चूत के दाने को अपने दाँतों से काटने लगा।‘ओह. मुझसे चलते नहीं बन रहा था, पता नहीं मेरी जांघों और टांगों को क्या हो गया था.

तुमने मेरी गांड में अपना साढ़े छह इंची लंड डालकर मस्त मथा था मेरी चुत को. और उसकी चूत में लंड डाल दिया। उसके लटकते आमों को जोर-जोर से मसलते हुए लौड़े को अन्दर-बाहर करते हुए मैंने सोनी की धकापेल चुदाई करना शुरू कर दी।इस बार सोनी की सिसकारियाँ मेरे कानों में पड़तीं. तो मैंने उसे उल्टा लिटाया और उसकी गाण्ड में अपना मूसल डाल कर उसको जोर-जोर से चोदने लगा और कुछ ही मिनट बाद उसकी कसी हुई गाण्ड में ही झड़ गया।तभी उसका फ़ोन रिंग करने लगा.

चेन्नई वाली बीएफ लेकिन मेरी पैन्टी कहीं दिख ही नहीं रही थी।आखिर मेरी पैन्टी गई कहाँ. अब तुझे मेरा लण्ड चूसना गंदा लग रहा है।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने उसके बाल पकड़ कर उसको नीचे किया और उसके मुँह में लण्ड डाल दिया और आगे-पीछे करने लगा।वो ‘गूं-गूं’ करने लगी।मैंने उसके मम्मों पर एक और जोरदार थप्पड़ मारा.

सि सेक्सी

अब मैंने अपनी पूरी ताकत से लंड की चोट मारी और ज्योति की चूत में पूरा लंड एक बार में ही उतार दिया. थोड़ी देर बाद मैंने उसकी चूचियों को मसलते हुए बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और पीछे से पकड़ कर उसकी मुनिया में लंड ठूंस दिया. रवि की पिचकारी मेरे हलक में गिरने लगी और चूत में जीजू का लौड़ा घुस चुका था.

रूम पर आने के बाद मेरी फ्रेंड ने मुझको गाड़ी में से बैग लाने को कहा तो मैं गाड़ी से उसका पर्स और बैग ले आया. मैं यह बात सुनकर थोड़ा उदास हो गयी क्योंकि मुझे अपने पति से चुदाई का सुख नहीं मिल पाता था जैसा मैं चाहती थी. भाभी की ब्लू फिल्म’ कहते हुए उन्होंने सुपारे के चमड़े को अपने हाथ से हौले-हौले पीछे किया।मेरा लाल लाल सुपाड़ा उनकी आँखों के सामने था। लण्ड तो पहले से तना था.

इस कारण मैं उस पर ध्यान नहीं देता था।जैसा कि आप जानते हैं कि घर के अन्दर हम सभी लोग एकदम नंगे रहते हैं और जब मन करता है.

मोटा लंड अन्दर जाते ही मेरे मुँह से सिसकारियां निकलनी शुरू हो गईं और मैं आहें भरती हुई विकास के लंड से अपनी चुदाई करवाने लगी. ’और उसने मेरे सिर को कस कर दबा दिया और चूत ने पानी छोड़ दिया।हाँ, उसकी चूत ने ढेर सारा उसकी मचलती जवानी का रस छोड़ दिया.

बोली- क्यों मजाक कर रही हो?नहीं … मैं तुम्हें दिखा दूँगी घर चल कर अपने लैपटाप में जिसमें मैं लिखती हूँ अपने साथ हुई घटनाओं को!”वह बोली- आप मेरे साथ करोगी फिर?नहीं … अभी नहीं, अमित तुम्हें ढूँढेगा. राजीव अंकल का लंड रस मेरी गांड में लगा था, सब कुछ राज अंकल ने चाट कर साफ़ कर दिया और बोले- राजीव का लंड रस तेरी गांड से निकल रहा है वो भी बहुत टेस्टी हो गया है सोनू. इसे तुम लोग कैसे झेल लेती हो?तो शिखा ने बड़ी ही सहजता के साथ जबाब दिया- हमें सिर्फ सील टूटते समय बहुत तेज दर्द हुआ था.

थोड़ी देर बाद मैंने उन्हें कुतिया बनने को कहा और वो झट से कुतिया की पोजीशन में आ गईं.

मैंने घंटी बजाई तो प्रीति आंटी ने दरवाजा खोला, मुझे देखकर बोली- अरे बबलू तुम. मैंने कहा- मेरी प्यारी भाभी को कैसे मुझ पर रहम आ गया।भाभी ने कहा- रहम नहीं. तो देखा कि उसने आज पैन्टी नहीं पहनी थी। मेरा हाथ सीधा उसकी चूत पर उगे कोमल बालों के ऊपर था।अब वो ‘सी सी.

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಪ್ಲೀಸ್ ಕಮ್मैंने नहाना शुरू कर दिया था।स्वाति ने सोचा कि मैं सफ़र से आया हूँ इसलिए मुझे नहाने में वक्त लगेगा. सीधा बिस्तर पर पायल को पटक दिया और उसके होंठ चूसने लगा।पायल भी मस्ती में आ गई और उसका साथ देने लगी, कुछ ही देर में दोनों चूमते-चूमते एक-दूसरे के कपड़ों को निकालने लगे।अब दोनों एकदम नंगे हो गए थे।पुनीत का लण्ड तो लोहे जैसा सख़्त हो गया था, एक तो गोली का असर और दूसरा ऐसी क़ातिल जवानी पास में हो.

देसी गांव की औरतों की सेक्सी वीडियो

तब रीतिका बोली- दीदी, मैंने लेस्बीयन सेक्स देखा बहुत है, कभी किया नहीं है. और उसका टॉप निकाल कर फेंक दिया।नीचे उसने पिंक कलर की ब्रा पहनी हुई थी।कसम से दोस्तो, क्या क़यामत लग रही थी वो. रेवती ने मेरा हाथ पकड़कर मेरी तबियत का मुआयना किया तो उसने पाया कि मुझे बुखार था.

मेरे हिसाब से इससे अच्छा टाइम कुँवारी लड़की की सील तोड़ने का कोई नहीं होता. उन्होंने भी मुझे जोर से भींचा और चूत को और जोर से मेरे लंड पर दबाया. फिर मैं उठा और उसके मुँह के पास आकर उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया.

फिर मैंने भाभी को मेरे कपड़े निकालने के लिए कहा और उन्होंने मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और मैं सिर्फ़ अंडरवियर में रह गया था।मैंने भाभी का शर्ट निकाल दिया. फिर वे मुन्ना अंकल को बोले- मुन्ना इतनी जोर इसके दूध दबाओ कि इसके दूध पिचकारी छोड़ दें. प्रिया के गर्म गर्म थूक के अहसास से मेरे लंड में भी अब हल्की उत्तेजना सी आ गयी थी.

वो कुछ नहीं बोला पास आया और उसने मुझे बेड पे बैठा दिया और इससे पहले मैं कुछ बोल पाती उसने अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया और मेरे चूचुकों को मसलते हुए घुमाने लगा. उसकी मादक आवाजें कमरे में गूँज रही थीं। मैं और भी मदहोश होने लगा। थोड़ी देर में ‘फ़च्छ.

वहाँ ससुराल में सासू माँ ने पूजा के लिए बहुत सी महिलाओं को बुलाया था। हम सबने 9.

अगले ही पल अंकल ने अपने खड़े और तननाए लंड को मेरे चौड़े किए हुए मुँह के ठीक बीचों बीच में निशाना लगाते हुए मुँह के अन्दर तेज़ी से ठेल दिया और मेरे सिर को भी दूसरे हाथ से ज़ोर से दबा कर पकड़े रहे. जबरदस्ती xxx वीडियोजब पूजा ने मेरे बदन के लिए कॉमेंट किया तो मैंने बोला- नहीं पूजा डियर तुम तो किसी भी फिल्म एक्ट्रेस से बहुत ज़्यादा सुंदर हो. भोजपुरी गाना xxxमैं तो कभी सपने में भी नहीं सोच सकता था कि ऐसा कभी होगा।फिर हम दोनों फ्रेश होकर एक-दूसरे से लिपट कर सो गए।[emailprotected]. फिर कभी इनकी गाण्ड भी फाड़ डालूँगा।उन दो दिनों में मैंने मामी को 8 बार चोदा।दोस्तो, मुझे बहुत मज़ा आया.

फिर मैंने उसको सीधा करके एक उंगली उसकी चूत में डाल दी, वो एकदम से जाग गई.

चाहे इसके लिए कितने भी नायरों से क्यों ना चूत चुदानी पड़े।तभी जेठ ने भी मेरी छाती की घुंडी को जोर से मसक दिया और मैं सीतकार उठी- आहह्ह्ह्… आहसीईई. उसकी गर्मी से मेरा लन्ड और सख्त होता जा रहा था।मैंने उसकी पतली सी कमर पकड़ी और अपना मोटा लन्ड उसकी चूत पर रख कर दबाया. मेरी गर्लफ्रेंड के साथ किया है!इतना कहते ही उसने पूरा पैग खाली कर दिया और मेरी गोदी में बैठ गई।मैं उसके चूचे उसके टॉप के ऊपर से ही दबाने लगा.

मैं अब फिर से खुश हो गया और प्रिया के होंठों को अपने मुँह में भरकर उन्हें जोरों से चूसने लगा. पता नहीं पूरा जाएगा तो क्या होगा?मेरी बुर के अन्दर काफी जलन हो रही थी. तो लोग उसके चूतड़ों के दोनों मटकते उभारों को देखकर लार टपकाते थे।मेरा उसके परिवार से अच्छा संबंध था.

एक्स एक्स एक्स हार्ड सेक्सी

अब मेरा सात इंच लंबा हथियार उसकी चूत फाड़ने के लिए तैयार था।पिंकी मेरे लण्ड को पकड़ कर किस कर रही थी, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।तभी पिंकी बोली- प्लीज़ इसे मेरी चूत में डालो. साया भरभरा कर नीचे की ओर फिसल पड़ा और अब मेरे होंठ चिकने चूतड़ों पर थे और हाथ पतली कमर को सहलाते हुए नाभिकूप को उंगलियों की सहायता से चोद रहे थे. मैं गेट खोलकर अंदर घुस गया और गेट अंदर से बंद कर दिया…मैं सीधा उसके कमरे में गया तो देखा कि कमरे का सामान यहां-वहां बिखरा हुआ है…कॉन्डॉम का एक पैकेट फर्श पर फटा हुआ पड़ा था। उसी के साथ एक फटा हुआ कॉन्डॉम भी पड़ा हुआ था। उसके बेड पर चादर नहीं थी और तकिया भी इधर-उधर पलटे पड़े हुए थे।मैंने उसको आवाज़ दी- गौतम…वो बोला- अबे भोसड़ी के, मैं बाथरूम में हूं.

मैंने पेशाब किया, लेकिन मेरा लंड तब भी बैठने का नाम ही नहीं ले रहा था.

उनके पति दिखने में ठीक हैं और वे अपने काम के कारण ज्यादातर आउट ऑफ सिटी ही रहते हैं.

भाभी जोर जोर से सिसकारियां भर रही थीं, जो कि इस चुदाई के कार्यक्रम को और भी मधुर बना रही थीं. अब तक मैंने रिया के सारे कपड़े उतार कर उनको न्यूड कर दिया था और मैं भी वस्त्रविहीन हो गया था. सनी लियोन चूत चुदाईलेकिन सत्य यह था कि उस साल दीवाली तक मेरा कोई चक्कर न चला।जब मैं दीवाली की छुट्टियों में अपने घर जा रहा था.

कुछ देर बाद पुनीत उसके मम्मों को चूसने लग गया तो पायल सिसकारियाँ लेने लग गई।पायल- आह्ह. मैंने कहा- हां हिंदी फिल्मों से पहले ये इसी तरह की फिल्म एक्ट्रेस थी. आपको बताना चाहूंगा कि मेरे चाचा की ससुराल भी हमारे गांव में ही है, तो अंतिमा का भी हमारे घर आना जाना लगा रहता था.

क्या काम है?’‘तुम चाय बना लाओ और भाई साहब के साथ जाकर मार्केट देख भी लो और सब्जी भी ले लेना. उसने मुझे पकड़ा और कहा- छोटी सी जिंदगी में सब कुछ हासिल नहीं होता … और जो हासिल करने का मौका हो तो उसे छोड़ना नहीं चाहिए, उसे पा लेना चाहिए.

मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि यह हकीकत है या सपना … लेकिन जो भी हो, वह एक आनंददायक पल था और मैं उसे खोना नहीं चाह रहा था।मैंने अपना हाथ बढ़ाया और उसके स्तनों पर रख दिया, उसके शरीर में एक झनझनाहट मैंने महसूस की और अपने हाथों से मैंने उसके स्तनों को दबाना शुरु कर दिया.

अब तो मेरी बहन भी मेरा साथ पूरी एक रंडी की तरह रह कर देने लगी।हम दोनों एक-दूसरे के होंठ और जीभ चूस रहे थे।फिर मैंने अपनी बहन को अपनी गोद में उठा कर बिस्तर पर पटक दिया, मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए।मेरे लण्ड को देख कर मेरी बहन बोली- अगर मुझे पता होता कि घर में ही इतना मस्त लण्ड है. और कहा- भाभी आपकी ब्रा का साइज़ तो बहुत बड़ा है।वो हँसने लगीं और कहने लगीं- तुम्हें साइज़ नहीं पता क्या?मैंने कहा- मैंने देखा ही कहाँ है?वो दो कदम और आगे बढ़ कर बोलीं- तो देखकर नाप लो ना. जिनमें से कुछ हमारे एरिया के गुंडे टाइप लड़के भी थे। वो आते-जाते भी मेरी बड़ी बहन के साथ मज़े लिया करते थे और मेरी बहन भी उनकी हरकतों में मज़े लिया करती थे।मैंने कई बार अपनी बहन को लड़कों के साथ मॉल में भी देखा था.

मारवाड़ी क्सक्सक्स वीडियो आज तू क्या तेरी माँ भी चुद जाएगी।कुत्तों की तरह मैं उन्हें चोदने लगा और भाभी बहुत मज़े लेने लगीं, अपनी गाण्ड को ऊपर-नीचे करने लगीं।अब मैंने भाभी को घोड़ी बनने को कहा और उनकी गाण्ड मारने की बात की।भाभी ने कहा- आज तो तू चाहे मार दे मुझे. जिसका नाम पूजा था और वो पड़ोस में ही रहती थी।वो किरण के पास इंग्लिश पढ़ने आती थी.

उधर लंड की सटासट पम्पिंग से लगातार प्रिया की सिसकारी निकलते हुए और तेज हुई जा रही थीं. फिर धीरे धीरे उसने अपनी‌ कमर को आगे पीछे हिलाना शुरू कर दिया, जिससे मेरा लंड अब प्रिया की चुत की संकरी दीवारों पर घिसने लगा. अब तक आपने पढ़ा था कि मैं अब मालती और श्यामा के साथ सेक्स के लेस्बियन खेल में मस्त होने लगी थी.

रिक्शा वाली सेक्सी वीडियो

हम दोनों चुदाई कर रहे थे और हम दोनों के पसीने से बिस्तर भी भीग गया था. पर कुछ देर बाद उसे भी मज़ा आने लगा।मैं उसकी गाण्ड को चोद रहा था और सरिता उसकी चूचियों को चूस रही थी और उसकी चूत सहला रही थी। बीच-बीच में रीना भी सरिता की चूचियों को चूस रही थी।रीना के एक तरफ़ मैं लेटा था और दूसरी तरफ़ सरिता।मैं उसकी गाण्ड में ही झड़ गया।फ़िर हम साथ साथ नहाए. उन्होंने मेरी कमर के नीचे तकिया लगा दिया, जिससे मेरी चुत ऊपर की ओर उठ गई.

मैंने तुरंत उनकी चूत में अपना मूसल पेल दिया। पहली बार में तो मेरा लण्ड आधा ही अन्दर गया. उन्होंने अपना मुँह मेरे लंड पे रख के पानी निकाला और मैं पूरा पानी पी गई.

कुछ देर बाद मैंने उसे मेरे केबिन की तरफ आते हुए देखा और मैं देखता हूं कि वो वाकयी मेरे तरफ ही आ रही है और कुछ देर बाद वो मेरे सामने खड़ी थी.

यश मैं आने वाली हूँ।मैंने पिंकी को पेट के बल लेटा दिया और मैंने सोचा एक बार गाण्ड में भी माल निकाल दूँ।मैंने जल्दी से वैसलीन ली. ’ कहते हुए उन्होंने मेरे होंठों को हल्के से काट लिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने भी उनके होंठों को हल्के से काटा. मैं एक बिना हाथ वाली कुर्सी पर बैठ गया और नीतू को आगे की तरफ मुँह करके अपने लौड़े पर सवार कर दिया.

उसने मुझे लंड सहलाते हुए देखा तो शायद वो ये जान चुकी थी कि मैं क्या घूर रहा हूं. कमर के निचले हिस्से पर एक तिल था।मैं पूरी पीठ और उसके कान पर किस करने लगा और मेरे हाथ उसके मम्मों को पूरी तरह जकड़े हुए थे। फिर वो पलट गई अब उसका हाथ मेरी कैपरी के अन्दर जाने लगा. मुझे उठा हुआ देखकर बहन ने गुड मॉर्निंग कहा और कहा कि मम्मी ने चाय बना दी है, आप पी लो.

तो सन्नी उसके पास गया और उसको चूमने लगा।कुछ ही देर में उसने निधि को नंगी कर दिया और उसके कच्चे अनारों को चूसने लगा। उसको निधि के मम्मों चूसने में बड़ा मज़ा आ रहा था।फिर उसने निधि की चूत को देखा.

चेन्नई वाली बीएफ: ठीक 8 बजे मैं खेत में इंतजार कर रहा था।दस मिनट बाद एक कयामत सी गाण्ड मटकाते हुई भाभी खेत में अन्दर आ गई, मैंने उसको धीमी आवाज़ में अपनी तरफ़ बुलाया. एक दिन मेरे ऑफिस में अपनी पत्नी आरती के साथ आए।उनकी पत्नी क्या माल औरत है.

तब मैं बिस्तर पर नंगा पड़ा था और चाची वॉशरूम में गई हुई थीं।मैं भी वॉशरूम के अन्दर घुस गया. वो बोली- तो फिर देर किस बात की है, मेरी बिल्लो रानी तेरी है, आ कर मेरी बिल्ली मार ले. मेरी दोनों चूचियों को पकड़ कर पूरी ताकत से धक्का लगा दिया।चाचा का सुपाड़ा मेरी चूत के अन्दर घुस गया था।‘उह.

अब वो बिल्कुल नंगी मेरे सामने थी।मैं गौर से उसके जिस्म को देख रहा था। नारी सौंदर्य सच में ऐसा होता है.

मैंने देर न करते हुए अपने सारे कपड़े उतार दिए।अभी भी मैं उसकी खूबसूरती को देखे जा रहा था। मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाली. पर कभी कोई मौका ही नहीं मिला। जब गली के सब लौंडे मज़े ले सकते हैं तो हम घर में ही क्यों नहीं ले सकते. मैंने न चाहते हुए भी गर्दन हिला दी।वो मुझे बेडरूम में ले गया।दोस्तो, अब मैं भी नशे में झूम रही थी।उसने मुझे बिस्तर पर बैठाया और कहा- ले चूस.