बीएफ सेक्सी चोर

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी यूपी बिहार

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सक्सक्स कॉम वीडियो: बीएफ सेक्सी चोर, अब कमरे में अँधेरा था, बस हलकी सी रोशनी म्यूजिक प्लेयर से आ रही थी.

बीएफ सेक्सी चुदाई इंग्लिश

कभी वो मेरे एक मम्मे को अपने मुँह में लेकर चूसता तो कभी मेरे निप्पल को अपनी दो उंगलियों से जोर से उमेठ कर रगड़ देता. एक्स वाली बीएफउसने मुस्कुरा कर मेरी तरफ देखा और बोली- प्रकाश, क्या देख रहे हो?मैंने उसे सॉरी बोला और नीचे देख कर पेपर पढ़ने लगा.

चाची- उम्म्ह… अहह… हय… याह… अपनी चाची को नए नए मज़े दे रहा है और चाची को अपना बना रहा है … शाबाश बेटा. तमिल आंटी बीएफराहुल को लगा कि अब वो होने वाला है, उसने सारिका से कहा- मेरा होने वाला है, कहाँ निकालूँ?सारिका बोली- अब चोद चोद कर दोनों ने भोसड़ा बना दिया है तो अब तो अंदर ही छोड़ दो.

जब हम उनके कमरे के पास पहुंचे, तो उन्होंने मुझे अन्दर आकर बैठने को कहा.बीएफ सेक्सी चोर: अगले ही पल उसने मुझे बांहों में भरते हुए मेरे होंठों पर अपने होंठ सटा दिये और हम दोनों एक दूसरे को वहीं किचन की स्लैब के साथ लग कर चूसने लगे.

फिर जब इशिता ने मुझको अपने कमरे में सोने को कहा, उस दिन क्या हुआ वो अगले भाग में बताती हूँ.फिर उसकी पैन्टी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा, जिससे वो और भी गर्म होने लगी थी.

बीएफ एक्स एक्स एक्स चुदाई वीडियो - बीएफ सेक्सी चोर

तुम दोनों ने मुझसे बड़े होने के बावजूद भी मुझे तुम्हारे साथ खेलने का मौका दिया.” समीर ने अपनी बहन से कहा और अपने होंठों को ज्योति के नर्म होंठों पर रख दिया.

तभी उन्होंने मुझे गोद में लिए हुए ही एक जोर का झटका लगाया और एक सांस में हम दोनों ही लोग एक साथ झड़ गए. बीएफ सेक्सी चोर उसके बाद वो मुझे दीवानों की तरह चूमने लगी और चुम्बन करते करते उसने मेरे शरीर पर कई लव बाइट भी दे दिये.

फिर उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी पैंट के ऊपर से लंड पर रखवा दिया.

बीएफ सेक्सी चोर?

मैं तो भूल ही गया था कि उसने खाने को मंगाया था। मैं उसके सामने नहीं आना चाहता था तो मैं उसके घर के अंदर जाते ही ऊपर छत में चला गया।सेक्स अभी भी मेरे दिमाग में भरा हुआ था तो ऊपर जाते ही मैंने अपनी बियर एक सांस में गटक ली. पहले तो मुझे डर लग रहा था; लेकिन फिर दिमाग में आया कि अगर मॉम ने मुझसे कुछ पूछा, तो मैं भी बोल दूंगा कि आप क्या कर रही थीं. क्योंकि सिर्फ रूम लेना ही मेरा मकसद नहीं था, बल्कि मैं अपनी आंखों से हरेक रूम में रहने वाले लड़के के लंड नापना चाहता था और अपनी आंखें सेंकना चाहता था.

मैं हिमाचल प्रदेश का रहने वाला हूं और दिल्ली से सटे गुरुग्राम में जॉब करता हूं. बस 5 मिनट लंड अन्दर डाल कर चोदते हैं … और अन्दर झाड़ कर सो जाते हैं. टॉयलेट के अन्दर जाते ही उसने मेरा कच्छा नीचे किया और एकदम से लंड उछल कर उसके सामने आ गया.

‌वैसे मेरा छोटा सा व्यापार है, मगर फिर भी वो मुझसे ज्यादा पैसे वाले थे. लंच करने के बाद शरीर में सुस्ती सी आ गई और मैं अंगड़ाई लेते हुए उठ कर अपने कमरे में जाकर बेड पर गिर गया. मैंने पति से बहाना बना दिया कि मेरी फ्रेंड प्रेग्नेंट है और उसके घरवाले किसी रिश्तेदार के अंतिम संस्कार पर गए हैं, तो मैं उसका ख्याल रखने जा रही हूँ.

’ की आवाज निकाली और मुझसे नखरे दिखाते हुए बोली- आह मार ही दिया … आराम से भी डाल सकते थे ना. दोस्तो, आप सभी को मेरा नमस्कार! मैं नितिन उर्फ़ निट्स एक बार फिर आप सभी के बीच में!मेरी पिछली चोदन स्टोरीव्हाट्सैप से बिस्तर तक का सफरआप सभी ने पढ़ी.

मैंने उससे कहा- ठीक है, फिर मैं जाता हूं।जैसे ही मैं जाने के लिए अपने कदम उठाए, उसने मेरा हाथ पकड़ लिया.

मैंने उसके लिए 3-4 दिन तक रूम ढूंढा, लेकिन कोई अच्छा रूम नहीं मिल रहा था.

उसने धीरे धीरे पैरों को दबाना शुरू कर दिया और उँगलियों को और पोरों को हल्के हल्के सहलाना शुरू कर दिया. मगर एक दो-बार मैंने उसको आंखों की गुस्ताखियां करते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया था।हम दोनों के बीच में अब तक न तो कुछ बात हुई थी और न ही दोनों में से किसी एक की तरफ से बात करने की कोई पहल. उसके लंड के अहसास से मेरी चूत भी पानी छोड़ रही थी।घर से करीब हम पाँच किलोमीटर दूर आ गए थे.

उनमें कोई ऐसी पॉपुलर साइट नहीं रह गई थी जहां पर मैंने चुदाई के वीडियो देख कर मुठ नहीं मारी हो. चाची- मादरचोद … साले बोला न … मुझसे नहीं होगा ये सब … अब तू लंड हिला कर झाड़ ले, मैं जा रही हूँ. यह सुनकर मेरे मन में खुशी का ठिकाना नहीं रहा, लेकिन फिर भी मैंने ये बोलते हुए मना कर दिया कि ज्योति मेरी बहू है और मैं कैसे आकर बात करूंगा.

पैंट को निकाल कर दरवाजे के पीछे हैंगर पर टांग दिया और तौलिया लेकर उसे कंधे पर डाला और अंडरवियर की इलास्टिक को एडजस्ट करते हुए नंगे पैरों ही बाथरूम में घुस गया.

लंड भी 7 इंच लंबा और मोटा भी मस्त है … चूत की धज्जियां उड़ाने के लिए. उसमें हमने एक बाइक को खाई में फेंक दिया और घरवालों को लगा कि हम भी खाई में गिर कर ऊपर पहुंच गये. तभी मैंने फैसला कर लिया था कि मुझे तुम्हारी निशानी चाहिए और इसीलिए मैंने ये सब किया।फिर हमारी कुछ और दिन बात हुई और फिर हम हमेशा के लिए अलग हो गए।आज मुझे उससे अलग हुए तीन साल हो गए है लेकिन आज भी जब मैं अकेला होता हूँ तो मुझे उसकी याद तड़पा के चली जाती है। ऐसा लगता है वो यहीं कहीं मेरे आसपास ही है और अभी कहीं से आकर मुझे अपने गले से लगाकर बोलेगी- बाबू आई लव यू शोना।पर यह महज़ एक ख्याल है.

जब मेरी गांड चुदते हुए पूरी तरह से खुल गई तो मैंने पति को नीचे लिटा लिया और खुद उनके लंड पर बैठ कर मैंने पूरा लंड अपनी गांड में ले लिया. कहानी के बारे में अपनी राय जरूर दें और कहानी पर कमेंट करना न भूलें. उसने मेरी गोद में आकर अपना जाम खत्म किया और मेरे हाथ से सिगरेट ले ली.

बाद में उठकर हमने होटल से डिनर ऑर्डर करके खाया और फिर सारी रात और 3 बार चूत ठोकी और एक बार मैंने भाभी की गांड भी मार ली.

वो बोल रही थीं- आह शिवा … और तेज चोदो मुझे … फाड दो मेरी चूत को … आह … बना दो इसे भोसड़ा …फिर मैंने उन्हें डागी स्टाइल में चोदा. ऊपर टॉप था और नीचे लोअर। उस दिन मैंने नीचे से ब्रा और पैंटी नहीं पहनी हुई थी.

बीएफ सेक्सी चोर सोनम आंटी ने पूरा लंड अपनी चूत में उतरवा लिया और अपने चूचों को दबाने लगी. चूंकि वो घर पर अक्सर अकेली होती थीं तो उनका भी समय कट जाता था और इस दोनों ही काफी घुल-मिल गये थे.

बीएफ सेक्सी चोर जिन महिलाओं को शरीर में दर्द होता है और जिनकी जिन्दगी में बच्चों की ख़ुशी नहीं है, उन महिलाओं की ऐसी कमी की वजह से मैं उनको आयुर्वेदिक मसाज देता हूँ. मेरे पैर छूते हुए बोली- मेरा रिजल्ट आ गया, मेरी 17वीं रैंक आई है, मुझे मनचाहा कॉलेज मिल जायेगा.

अनिल ने अब तक जिन चूचियों को कपड़ों के ऊपर से ही घूरा था आज वो उसकी आंखों के सामने बिल्कुल नंगे थे.

हिंदी ब्लू फिल्म गांव की

मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके चूचों को चाटना और चूसना चालू कर दिया. इसलिए जब भी मेरे पति का मूड होता है तो मैं उनसे चुदाई करवाने के लिए हमेशा तैयार रहती हूँ. अपनी जीभ से मेरे लंड को पूरी तरह चाटने के बाद उसने मेरे लंड के आगे वाले हिस्से को अपने मुँह में ले कर चूसना शुरू कर दिया और घूम कर अपनी चूत को मेरे मुँह के पास ले आयी.

मेरे मम्मों का आकार इतना बड़ा है कि एक बार जो कोई इनको चूस ले, तो बस दीवाना बन जाता है. मैंने उनको बेड पर चित लिटा कर मिशनरी पोजीशन में किया और उनके ऊपर आकर एक धक्का दे मारा. वो बोली- आप ये क्या कर रहे हैं?मैंने कहा- तुम्हें नहीं पता मैं क्या कर रहा हूं?वो बोली- ये ठीक नहीं है.

फिर सर ने मुझे सीधा लेटा दिया … और मेरे दोनों पैर ऊपर करके मेरी चूत को चाटने लगे.

मैं अपने यहां अपनी चूत में उंगली करती रहती थी और उधर से वो दोनों एक दूसरे के साथ नंगे लेट कर गर्म चुदाई की बातें करते हुए मुझे भी गर्म करते रहते थे. अपना लंड फिर से मेरी चूत में डाल दिया और फिर से मेरी चुदाई शुरू हो गयी. ऋतु ने उठ कर सारी लाइटें बंद कर दीं और सिर्फ एक मंद रोशनी वाली लाइट जला दी.

मैंने जब से तुम्हारी चूत को देखा है मैं तुम्हारे साथ सब कुछ करना चाहता था लेकिन मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी. ” उसके दिमाग ने कहा। दिमाग की आवाज़ ने उसके दिल को मात दे दी और उसने अपना हाथ आगे बढ़ाकर अपनी बहू के चिकने पेट पर रख दिया।वाह … कितना नर्म और चिकना बदन है. वो मेरे सामने घोड़ी वाले पोज में आकर बोली- आज आप मेरी गांड भी मार लो.

अब चूंकि शबनम ने राहुल के गले में बाहें डाल दी थी तो उसका टॉप काफी उठ चुका था. चूंकि मैं अभियांत्रिक की पढ़ाई कर रहा था तब किराया बहुत हो जाता था तो हमने खुद का घर ले लिया.

उसने कहा- उंगली से क्या होता है … इस को तो पूरा लौड़ा चाहिए, जो इस निगोड़ी चूत की नसों को ढीला कर दे. जैसे ही लण्ड मूसल की तरह टाइट हुआ, डॉली ने मुझे धक्का देकर लिटा दिया और उचक कर मेरे ऊपर चढ़ गई. उसकी आवाज में एक मदहोशी सी का अहसास हुआ मुझे जैसे कि वो मुझे रोकना चाहती है.

हमारे पास खेत का बहाना बनाकर मिलने के अलावा दूसरा कोई चारा ही नहीं बचता था.

मैं जैसे ही पीछे बैठने लगी तो वो बोला- लो दीदी आप चलाओ।मैंने कहा- मुझे तो चलानी ही नहीं आती!तो वह बोला- कोई नहीं, मैं सिखा दूँगा. मैंने अपना लंड धीरे से थोड़ा सा बाहर निकाल कर एक जोरदार धक्का मार दिया. दरअसल वो तबियत खराब होने का बहाना कर रहा था क्योंकि उस दिन भी घर पर प्रशांत, सुमन और मेरे सिवाय कोई नहीं था.

उसको लंड के झटके लगने का पता ही नहीं था और इधर लंड का टोपा अन्दर घुस गया. ”मेरी बात वो समझ तो गई थी लेकिन वो ऐसे रिएक्ट कर रही थी जैसे उसे कुछ समझ ही न आ रहा हो.

भाभी को चोदते चोदते कब मैं उनके नीचे आ गया और वो कब शेरनी की तरह मेरे लंड पर अपनी चुत में उछल उछल कर अन्दर लेने लगीं, मुझे होश ही नहीं रहा. धीरे धीरे चयन मेरे लंड के साथ खेल रहा था और मेरा लंड अपने पूरे जोश में चयन को मज़े दे रहा था. धीरे धीरे हमारी बातें प्यार में बदलने लगीं और फिर थोड़े दिन बाद हम दोनों सेक्स चैट करने लगे थे.

एक्स एन एक्स एक्स मूवी

पर जब मेरी हरकतें उसको गर्म करने लगीं, तो वो उठ गई, वो बोली- ये क्या कर रहे हो?मैंने बोला- तुमको प्यार कर रहा हूँ.

तभी दरवाजे की बेल बजी। आशा (हमारी नौकरानी) ने दरवाजा खोला तो एक सुंदर सा नौजवान घर में दाखिल हुआ. मेरे हाथ मेरे पति के लंड पर पहुंचा तो उन्होंने मेरे होंठों को अपने होंठों के अंदर दबा लिया. मैंने चाची को पिछले 10 दिनों से चोदा नहीं था, तो मैं पहले चाची को अपने पास खींच लिया.

इस पर वो उदास होकर अपनी सारी व्यथा मुझे बताने लगी, कहने लगी- सच कहूं तो उन्होंने कभी मेरी परवाह की ही नहीं. एक दिन मैं स्कूल से जल्दी आ गया क्योंकि हमारे स्कूल के टीचर की मृत्यु हो गई थी. कॉलेज बीएफये कह कर उसने एक लार्ज पैग बना दिया और उसे कोल्ड ड्रिंक से भर दिया.

फिर बाहर निकाल कर उंगली पर लगे मेरे पानी को चाट गया। फिर वो झुक कर अपनी जीभ से मेरी चुत की चुदाई करने लगा।मेरा बस होने ही वाला था कि एकदम से गेट खुलने की आवाज आई. उस शाम के बारे में किसी ने मर्दों को कुछ नहीं बताया पर वो रात और ये शाम के वाकये ने लड़कियों को कुछ ज्यादा ही मस्त कर दिया था.

उसके बाद हम बहुत बार मिले और बहुत चुदाई की अलग अलग पोजीशन में मैंने उसे चोदा. मैंने पूछा- उस दिन ऐसा क्या खास था?वो बोलीं- पता नहीं, पर उस दिन मुझे बहुत मज़ा आया था. उम्मम … वो मुझे इशिता से जरूरी कुछ काम था … कहां मिलेगी वो?” मैं गला साफ करते हुए बोली.

और इतना कहकर वो परीशा की गान्ड को कसकर अपने दोनों हाथों से भींच लेता है।मुकुल राय- बेटी, मेरा लंड को पूरा खड़ा कर ना फिर मैं तेरी गांड मारूँगा।करीब 5 मिनट तक परीशा मुकुल राय के लंड को पूरा थूक लगाकर चूसती और चाटती है. मैंने कहा- कौन सा प्रोग्राम?वो बोले- जिस प्रोग्राम के लिए तुम कमरा ले रहे हो मैडम. इसी बीच महेश की बेटी ज्योति वहां पर आ गई और बाप-बेटी में चुदाई को लेकर चर्चा होने लगी.

मैंने उससे कहा- पहले कुछ ड्रिंक चलेगी?वो बोली- ओह्ह श्योर!मैंने बैग से व्हिस्की की बोतल निकाली और दो डिस्पोजेबल गिलास में व्हिस्की डाल कर ठंडा पानी डाला और उसको गिलास उठाने का इशारा किया.

अब मैंने अपनी बहन सुमन के साथ अपने भाई से चूत चुदवाने के प्लान बनाने की सोची. मैं अक्सर अपने मामा के यहां चली जाती थी ताकि अपने ममेरे भाई-बहन के साथ थोड़ा वक्त बिता सकूं.

हालाँकि राहुल ने ये कह दिया था कि वो रोज तो नहीं आ सकता, फिर भी वो कोशिश करेगा कि बड़े लोगों को स्वीमिंग सिखा दे. मैंने फिर उसकी टी शर्ट के अन्दर हाथ डाल दिया, तो पाया कि उसने अन्दर ब्रा नहीं पहन रखी थी. थोड़ी देर बाद भैया ने भाभी की चुत चाटना बंद किया और भाभी के ऊपर आकर अपने लंड को भाभी की चूत पर सैट करने लगे.

इस तरह मैं आज भी उन दोनों को चोद रहा हूँ … उसकी मम्मी से चुदाई की स्टोरी में आगे लिखूँगा. तभी शायद वो तीसरी बार स्खलित हो गई, मेरे लंड ने भी मेरा साथ छोड़ दिया और उसके मुँह में मेरी प्यार की निशानी बह निकली. इसके बाद हम सभी का पहले से तय कार्यक्रम मेरे फार्म हाउस पर चुदाई का मेला लगाने का था.

बीएफ सेक्सी चोर थोड़ी देर चूत को चूसने के बाद मैंने दो उंगली उसकी चूत में डाल दी और उनको आगे पीछे करने लगी. कभी एक चूची को पीता, तो दूसरी को मसलता और जब दूसरी को पीता, तो पहली को खींचता.

एक्सएक्सएक्स sex

उसी के फोन में अपनी और उसकी कुछ फोटोज भी निकाली ताकि उसको ये न लगे कि मैं उसकी नंगी तस्वीरों का कहीं पर दुरूपयोग कर लूंगा. मैं यानि अनुज, पंकज और श्रेयस। हम तीनों ही अच्छे दोस्त हैं लेकिन तीनों ही एक नम्बर के चोदू भी हैं. दोबारा पूछते हुए मैंने कहा- मजा आया कि नहीं?वो धीमी सी आवाज में बोली- बहुत!उससे इस तरह की कामुक बातें करते हुए अब मेरी जिज्ञासा और उत्तेजना दोनों बढ़ने लगी थी.

मेरी बहन सुमिना काजल की चूत को चाट रही थी और काजल उसके चूचों को भींच रही थी. फिर वो बोली- तुम खड़े हो जाओ, अब मैं भी वो करूंगी … जो तुमने सोचा भी नहीं होगा. हिंदी ब्लू पोर्नउससे बातें हुईं, तो वो पूछने लगी- कैसी लगी चाची की चूत?मैंने कहा- मज़ा आ गया.

दोबारा पूछते हुए मैंने कहा- मजा आया कि नहीं?वो धीमी सी आवाज में बोली- बहुत!उससे इस तरह की कामुक बातें करते हुए अब मेरी जिज्ञासा और उत्तेजना दोनों बढ़ने लगी थी.

उसे अपने ससुर का मूसल लंड उछलते हुए अपनी नजरों के सामने बहुत अच्छा लग रहा था।क्यों बेटी, कैसा लगा तुम्हें मेरा यह बदमाश?” महेश ने अपनी बहू को अपने लंड की तरफ घूरते हुए देखकर अपने हाथ से अपने लंड को पकड़ते हुए पूछ लिया।पिता जी बहुत हो चुका, मैं अब कपड़े पहनना चाहती हूं. तभी अंकल ने ममता को नीचे बैठा दिया और मेरी चूत से निकला हुआ लंड उसके मुँह में दे दिया.

हम दोनों ने एक दो डॉक्टर्स को भी दिखाया, लेकिन कोई फ़ायदा नहीं हुआ. लड़कों को अभी पन्द्रह मिनट बाद जाना था ताकि इस बीच में उनकी दुल्हन सुहागरात की तैयारी कर ले. तो लौड़े की मुलाक़ात सीधे भाभी के सर्विक्स (बच्चेदानी का प्रवेश द्वार जिसे कहते हैं) से हुई और आह की एक मीठी सी सिसकारी भाभी के मुंह से निकली.

मैं थोड़ा सांवला हूं और मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है, मेरा लंड 3 इंच मोटा और 6 इंच लम्बा है.

दूध चूसने से और चूत में लंड लेने से वो खुद को रोक नहीं पाई और फिर से झड़ने के करीब हो गई. राहुल फिजियोथेरेपी में एप्रेंटिसशिप डिग्री करके एक नामी अस्पताल में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के पद पर कार्यरत है. मैं खाना लेने गया ही था कि उसने मुझे कॉल किया कि तुम 2-3 बियर लेते आना.

सनी लियॉन की क्सक्सक्सइस पर उन्होंने कहा- अगर ये बात तुम्हारे अंकल को पता चल जाएगी, तो वो मुझे मेरे गांव छोड़ आएंगे. आंटी की मस्त सिसकारियां निकल रही थीं- आहह … अहहा … अहह … अहह … उम्म्म्म … उफफ्फ़ … और चूस और चूस उम्म्म्म … आह आह.

sex पोर्न

आंटी बोली- क्या हुआ, बताओ कुछ, क्या नेहा सही कह रही थी?मैंने हकलाहट के साथ कहा- जी आंटी वो … वो …आंटी बोली- अरे घबराओ मत, खुल कर बोलो क्या बात थी?मैं- कुछ नहीं आंटी … वो बस ऐसे ही हो गया।आंटी मेरी बात सुन कर मुस्कराने लगी. हल्के-हल्के उसका लंड मुझे अपनी गांड पर बड़ा होता हुआ महसूस हो रहा था। मुझे उसका लंड बहुत ज्यादा बड़ा लग रहा था. अब आगे:मामी ‘बद्तमीज कहीं का …’ बोल कर गुस्से में वहाँ से चली गई और मैं अपना मुँह बाये उन्हें देखता रहा।मैं सीधा ऊपर वाले फ्लैट में आ गया और इस बारे में सोचने लगा कि ये मामी को क्या हो गया? अभी तक तो मजे ले रही थी और अब?जितना मैं सोच रहा था, उतना मेरा गुस्सा बढ़ रहा था।साली … ये मामी अपने आप को क्या समझती है? पहले इस्तेमाल किया फिर फेंक दिया.

एक बार ऐसा हुआ कि जब मैं मेरी बीवी को सेक्स के लिए मना रहा था, तब मेरी सास हमारी बातें सुन रही थीं. कहानी के पिछले भागबड़ी साली की दबी हुई अन्तर्वासना-1में मैंने आपको बताया था कि मेरी पत्नी बीमार रहने लगी तो मैंने उसे अपने पुराने घर में छोड़ दिया था. हालांकि ये भी हो सकता था कि भैया का लंड छोटा होने की वजह से भाभी को ज्यादा दर्द नहीं हुआ हो और बिना किसी दिक्कत के भैया का लंड भाभी की चूत में चला गया हो.

… मगर सब झूठ, अगर इतना ही लाइक करते, तो आज तक प्रोपोज क्यों नहीं किया. हम उस दिन करीब 4 बजे चाय पीने गए और फिर शाम को अपने अपने घर चले गए. फिर मैं आगे के दरवाजे को ताला लगा कर, पिछले दरवाजे से अन्दर आ जाऊँगी ताकि किसी पड़ोसी को कुछ ना पता लगे कि अन्दर क्या हो रहा है.

जब तक मैं इस पल को देख पाता, तब तक तो मेरा पूरा लंड उसके मुँह के अन्दर तक जा चुका था. मेरी बात पर वो लेडी भी बोली- ठीक है, हम दोनों का खाना 9 बजे ही लाना.

बच्चों को मैंने खूब सारी महंगी महंगी गिफ्ट दीं, तो बच्चों को भी मैं डैडी सा लगने लगा था.

मेरे मम्मों का आकार इतना बड़ा है कि एक बार जो कोई इनको चूस ले, तो बस दीवाना बन जाता है. चुदाई वाली पिक्चर बताओमर्द लोग तो स्विमिंग पूल में थोड़ी देर रहकर बाहर आ कर अपनी ड्रिंक संभाल लेते पर ये पांचों लड़कियां पूल में आपस में अठखेलियाँ करतीं रहतीं. इंग्लिश इंग्लिश बीएफशबनम निहाल हो गयी … क्या मजा आ रहा था … दूसरे से चुदवाने का आनंद ही कुछ और हैपूरा कमरा कामुकता भरी सीत्कारों से भर गया … दस पंद्रह मिनट के घमासान के बाद राजीव ने शबनम से पूछा- मेरा होने वाला है … कहाँ गिराऊं?शबनम बोली- अंदर ही गिरा दो, हम सबने पिल ले रखी है. मैं रीना के पीछे हो गया और लंड को उसकी गांड पर लगाकर चुचों को सहलाने लगा.

समीर के जाते ही नीलम ने भी अपनी आँखें खोल दीं। उसे कई दिनों से अपने पति पर शक था क्योंकि जहाँ हर रोज़ वह उसे चोदने के लिए मरा जाता था वह कई दिनों से उसके क़रीब तक नहीं आया था।नीलम जल्दी से उठकर दरवाज़े तक आ गयी और वह अपने पति को देखने लगी कि वह कहाँ जा रहा है। समीर सीधा अपनी बहन ज्योति के कमरे में घुस गया, नीलम को यह देखकर बहुत हैरानी हुई कि इतनी रात को समीर अपनी बहन के कमरे में क्या करने गया है.

उसके बाद मैंने रजू के चूचों को जोर से दबाते हुए उसकी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया. उनके बीच में किस बात को लेकर दिक्कत थी, शुरू शुरू में ये बात मुझे नहीं मालूम चल सकी थी. उसने मेरे करीब आकर मेरी ब्रा के अन्दर हाथ डाला और मैंने उसकी पैंट खोल दी.

डियर दोस्तो, आप मुझे मेल के ज़रिए बता सकते हैं कि आपको मेरी हिंदी गे सेक्स स्टोरी कैसी लगी. मैंने सबसे पहले अपने हाथ पैर धोए और ड्राइंग रूम में बैठ कर टीवी देखने लगा. दूसरे दिन सुबह उनका फोन आया और भाभी ने कहा कि शिवा भूलना मत … ठीक 8 बजे तक आ जाना.

सेक्सी बाबा

मुझे लड़कियों की शक्ल सूरत से इतना मतलब नहीं रहता है, जितना उनके चूतड़ और मम्मों की साइज से मजा आता है. तभी उसने अपना बांया हाथ चूतड़ों पर ले जाकर लंड को छू कर देखा कि कितना अन्दर गया है. सभी जानते थे कि इस पल के बाद उनका पार्टनर पूरी रात दूसरे के साथ चुदाई करेगा.

उनके लंड को हाथ में पकड़ कर मैं आगे चलने लगी और पति पीछे-पीछे चलने लगे.

मैंने अकेले ही खाया, उसने खाने से मना कर दिया।फिर हम लाइट ऑफ करके लेट गए। एक तो अनजान जगह, ऊपर से घर की टेंशन मुझे नींद ही नहीं आ रही थी और शायद उसको भी।लगभग एक घंटे बाद वो उठा और बाथरूम गया.

जिस दिन मम्मी गईं, उस दिन मैंने ढेर सारी ब्लू फिल्म डाउनलोड करके अपने लैपटॉप में रख लीं. पर मैं नीचे छिपा रहा।वह आदमी फ़ोन निकाल कर यूज़ करने लगा। फ़ोन की रोशनी में मैंने उसका चेहरा देखा, लगभग 40-45 साल का रहा होगा, बड़ी बड़ी मूछें, भरा हुआ चेहरा, कुल मिला कर ठीक ठाक आदमी लग रहा था।फिर उसने फ़ोन की लाइट ऑन की और बैग से कुछ निकाल कर खाने लगा।रात के 10 बज रहे थे और खाने का सामान देख कर मेरी भूख दोगुनी हो गयी। मैं नीचे से ऊपर आया और लालसा भारी नजरों से खाने को देखने लगा. पूरी नंगी लड़कियांवो वहीं रुक गयी और मुड़ कर मुझे देखा, मेरे पास आई और ज़ोर से हंसी।ये तुम्हारा चेहरा उड़ा उड़ा सा क्यों लग रहा है?” उसने पूछा.

कुछ देर तक उसके पाइप को अपनी गांड मरवाने के बाद मुझे कुछ राहत सी मिलने लगी थी. मैंने ना बोला तो अंकल ने बोला- ठीक है, तुम अपने लिए चाय बना लो और पी लो. इधर मैं अपनी बेटी को दूध पिला रही थी और दूसरी तरफ खुले में चुदाई के बारे में सोच सोच कर रोमांचित हो रही थी।अब मेरी बेटी सो चुकी थी.

अगर एक दो घंटे के लिए डॉली को भेज दीजिये तो मैं बोलता जाऊंगा वो लैपटॉप पर फीड करती जायेगी. भोला और जीजा दोनों यही बातों कर रहे थे और दोनों ही मेरी चूत और गांड को चोदने में लगे हुए थे.

उसके बाद उसने एक कागज पर अपना फोन नम्बर लिख कर हमें दे दिया और वह यह बोल कर जल्दी से निकल गयी कि अभी पुलिस आ रही है.

हम दोनों का पानी निकल गया और उसके बाद हम नंगे बिस्तर पर बेहोशी हालत में लेट गए थे. भाभी आँखें बंद करके मजे ले रही थी और हर झटके से उनकी बस आहें निकल रही थी और वो कराह रही थी।इस पोजीशन में करते करते मैं थक गया तो मैंने भाभी को उठाकर नीचे खड़ा कर दिया और खड़े खड़े उनको बेड पर कोहनियों के बल झुका दिया। उनकी चुत के मुंह पर लण्ड को सेट करके धीरे धीरे अंदर पहुंचा दिया और चुत ने भी अपना मुँह खोल के लण्ड को पूरा निगल लिया. फिर अंकल ने मुझे डॉगी पोज़ में आने को कहा और मेरी गांड में चिकनाई को लगा दिया.

हिंदी बीएफ बहन भाई किसी औरत को सच्चा दोस्त चाहिए होता है, किसी गे को साथी की जरूरत होती है, या फिर किसी को लड़की की आईडी बना कर लड़कों के साथ मजाक करना पसंद आता है. साथ ही भाभियों और आंटियों से अनुरोध है कि अगर उनको मेरी इस कहानी में कहीं भी अपनी कोई छाप मिलती है तो अपने विचार मुझे ईमेल ज़रूर करें.

वो मादक सिसकारियां भरने लगी- आआअह्ह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… उउइइइ इइ उफ्फ्फ … जान बहुत मजा आ रहा है … पहली बार किसी मर्द से पाला पड़ा है … आज तो पूरे लंड का पानी ही पी जाऊँगी. उसे अपने ससुर का मूसल लंड उछलते हुए अपनी नजरों के सामने बहुत अच्छा लग रहा था।क्यों बेटी, कैसा लगा तुम्हें मेरा यह बदमाश?” महेश ने अपनी बहू को अपने लंड की तरफ घूरते हुए देखकर अपने हाथ से अपने लंड को पकड़ते हुए पूछ लिया।पिता जी बहुत हो चुका, मैं अब कपड़े पहनना चाहती हूं. वह तौलिया लपेट कर बाहर आई तो महेश उसकी नंगे जिस्म को देख कर अपने लंड को हिलाने लगा.

सेक्सी चूत वाली

अंकित का लगातार उसके घर में रहना उसकी कल्पनाओं को और बढ़ावा दे रहा था. मैं अब झड़ने के कगार पर पहुंच गया और मेरे लंड ने उसकी चूत में वीर्य छोड़ना शुरू कर दिया. मैं मन ही मन हंस रहा था कि पहले तो चाची को तो लंड चूसना बिल्कुल पसंद नहीं था.

गीले अंडरवियर को दोनों हाथों से खींच कर घुटने मोड़ते हुए टखनों से निकाल कर एक तरफ डाल दिया. मेरी पीठ को प्यार से अपनी बांहों से सहलाते हुए वो मुझसे और जोर से लिपट गयीं.

पूरे दिन इंटरव्यू के बाद सभी लड़कियों को बोल दिया गया कि यदि आप सेलेक्ट होती हैं तो आपको एक या दो दिन में कॉल करके बता दिया जाएगा.

मैं तेज आवाजें इसलिए कर रही थी कि ताकि सुमन को भी पता लग सके कि हमारी चुदाई कहां तक पहुंची है. उसकी मुस्कुराहट अंकित को थोड़ा आराम देती है लेकिन फिर भी बहुत विश्वास के साथ नहीं. मैं अपनी खाट पर लेटा हुआ था कि मेरे फ़ोन पर मेरी बहन की मिस कॉल आयी.

उसने अब फ्रेंच किस का लालच छोड़ा और डांस करते करते घूम गयी और अपनी पीठ मुश्ताक की छाती से भिड़ा कर उसके हाथ अपनी मम्मों पर रख लिया और मुख पीछे करके मुश्ताक को चूमने लगी. उन्हें देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया और लगा कि अभी पकड़ कर भाभी को चोद दूँ. दोस्तो, मेरी ये सेक्स स्टोरी आपको अच्छी लगी होगी, प्लीज मुझे मेल करें.

रुचि जब गांड मटका कर चलती थी तो मेरे दिल पर जैसे कटार सी चल जाती थी.

बीएफ सेक्सी चोर: ” नीलम को उस वक्त अपने ससुर का लंड जन्नत का मजा दे रहा था। जिस वजह से वह अपने ससुर के लंड के हटते ही अपने चूतड़ों को ऊपर की तरफ उछालते हुए सिसकारते हुए कहने लगी।बेटी सोच लो, फिर मत कहना कि मैंने कोई ज़बरदस्ती की तुम्हारे साथ?” महेश अपनी बहू को अपने लंड के सामने तड़पती हुई देख कर खुश हो रहा था। वो अपनी बहू की चुदाई करने के लिए आतुर था. मुझे पता नहीं था कि उसका ही फ़ोन है, क्योंकि मैंने उसका नम्बर लिया ही नहीं था.

विजय की पत्नी रजनी ने उसको राहुल का फ्लैट बताया और जब राहुल ने दरवाजा खोल कर पैकेट लिया तो रजनी ने मुस्कुरा कर राहुल को हेलो बोला. हम दोनों ही एक दूसरे को ऐसे पकड़े हुए थे, जैसे दोनों एक दूसरे में घुस जाना कि चाहते हों. फिर मैंने अपने लंड पर तेल लगाया और अंकल की गांड में पूरा लंड एक साथ डाल दिया.

मैंने थोड़ा सा दबाव डाला, तो मेरा लंड उसकी कुंवारी चूत में सैट हो गया.

इस बात को लेकर उन दोनों में अक्सर झगड़े होते है, उसका पति उसके साथ मारपीट करता है. फिर हमने उठ कर अपने कपड़े पहने और मैंने उसको एक बार फिर से बांहों में लेकर चूमा और गुड नाइट बोल कर अपने कमरे में चला गया. क्योंकि उसके घर वालों को उसने नींद की गोली दी हुई थी और किसी का कोई डर नहीं था.