एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,बीएफ देहाती सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

2021 का बीएफ वीडियो: एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी, उधर कमलनाथ जमीन पे लेट गया था और रमा उसके ऊपर उल्टी दिशा में चढ़ी हुई थी.

सेक्सी रोमांटिक वीडियो बीएफ

मगर जब मैंने दोबारा से आंखें खोलीं तो वो अपनी मैक्सी को अंधेरे में ही नीचे करके वापस लेट चुकी थी. श्रीलंका बीएफ एचडीमैंने उसे अपने नीचे लिटाया और लंड को बहन की चूत की फांकों पर रखकर लंड सैट कर दिया.

तीन बजे के लगभग मेरी नींद खुली, तो देखा कि सलमा की अम्मी अभी भी नंगी सो रही है. एक्स एक्स व्हिडिओ बीएफ सेक्सी व्हिडिओक्या तुमने अपनी चूत को कभी लंड का स्पर्श करवाया है?मेरा सवाल सुनकर वो मेरी आंखों में देखते हुए बोली- नहीं सर, मैंने तो बस अपनी चूत को उंगली से सहला कर देखा है.

फिर कई मिनट तक मेरी चूत को चोदने के बाद उसने मेरी चूत में ही अपना माल छोड़ दिया.एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी: मैंने उसकी पीठ पर झुक कर उसकी चूचियों को भींचना शुरू कर दिया और उसकी गर्दन के पास पीठ पर चूमना शुरू कर दिया.

वो बीच बीच में बड़बड़ा रही थी और रुक रुक कर मेरे लंड को चूस रही थी.न कोई खुल कर बात करता था और न ही इतने साधन मौजूद थे कि सेक्स के बारे में ज्यादा कुछ पता चल सके.

सेक्सी बीएफ गाने वाली वीडियो - एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी

थोड़ी देर में मैंने उसे तेज़ी से चूसना शुरू कर दिया और हाथ से भी तेजी से हिलाना शुरू कर दिया.आंटी के मोटे चूचों को चूसकर मैंने उसकी बड़ी चूत की चुदाई की?मेरा नाम राहुल है और मैं पुणे में रहता हूं.

उसका लिंग किसी भी स्त्री को चरम सीमा तक पहुंचाने के लिए बड़ा मजबूत दिख रहा था. एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी करीब और 5 मिनट उसकी बुर को ठोकने के बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया.

वहां हम दोनों ने खाना खाया, पर अब भी सेक्स की कोई बात ही नहीं हो रही थी.

एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी?

मैंने कहा- तो मेरी जान … अब खुल के मज़े ले लो अपने घरेलू यार के लौड़े के … अब आगे भी ऐसे ही गाड़ी चलती रहनी चाहिए. फिर वो अपना लहंगा ठीक करने लगी और मैं पास में खड़ा होकर पेशाब करने लगा. मैंने उसका सिर पकड़ कर अपने स्तन पर लगा कर उससे चूसने को कहा और बड़बड़ाने लगी- आहहह … आहहह … और … जोर … से … चोदो … मुझे … तेज़ … धक्का … मारो … मेरा … पानी … निकल … रहा … सीईई … आहहह.

मैं भी ताबड़तोड़ मम्मी की चुदाई रहा था, लेकिन मेरा पूरा लंड मम्मी की चूत में जा नहीं रहा था. हालांकि उसने अपने चेहरे से नकाब हटाया हुआ था, जिससे मैं उसका चेहरा देख सका. फिर मैंने अपना हाथ नीचे ले जाकर प्रिया की चूत पर फिराया और अपनी उंगली उसकी चूत में डाल दी.

मैं एक तरफ बैठ कर ये सब देख रहा था और अपनी बारी आने का इंतजार कर रहा था. मैं उससे दोस्ती करने के बाद ही इतना बिगड़ गयी थी कि मैं रोज मोबाइल में पोर्न देखने के बाद और अपनी चूत में उंगली करने के बाद ही सोती थी. जब मैं अय्याशी की दुनिया में उतरा तो कई लड़कियां मुझ पर फिदा रहती थी.

विशाखा कहने लगी- मैं आपको अपने शादी के टाइम से लाइक कर रही थी, पर बोलने में डर लगता था. और वो मेरे लन्ड को हाथ में लेकर सहलाने लग गई।फिर आंटी को मैं गोदी में लेकर अपने बेड पर ले आया और उनको बेड लेटा कर हम दोनों एक दूसरे को चूमने लग गए.

लेकिन मुझे जरा भी अंदेशा नहीं था कि ये वस्त्र एक तरफ से कमर के पास से नीचे तक कटा हुआ था और मैंने पैंटी भी नहीं पहनी थी.

मेरा काम में बिल्कुल भी मन नहीं लग रहा था इसलिए उस दिन मैं शाम को जल्दी घर आ गया.

आंटी मुझसे बोलीं- बेटा, अब और न तड़पा … जल्दी से इसे मेरे अन्दर डाल कर इसकी सारी गर्मी मिटा दे. और ऐसा हो भी क्यों न … इतना उत्तेजक और कामुक दॄश्य, जो सामने चल रहा था. अब मेरे मन में भी इस सम्भोग को कामुकता और रोमांच भरे अन्दाज में खत्म करने की इच्छा जागृत हो गई थी.

हम दोनों ही अब काफी थक चुके थे। वो मेरे ऊपर से हटे और बगल में लेट गए। मैंने टॉवल से अपनी चूत को पोंछा और फिर लेटी रही। जल्द ही मुझे नींद आ गई। उसके बाद मुझे कुछ होश नहीं रहा था कि मैं कहां पड़ी हुई हूं और किस हालत में पड़ी हुई हूं. मेरा तो मन हुआ कि अभी के अभी उसकी पेंटी फाड़ कर लवड़ा उसकी गीली चूत में घुसा दूं … लेकिन मैंने खुद को कंट्रोल किया. तब तक आप अन्तर्वासना पर गर्म कहानियों का मज़ा लेते रहें और दूसरों को भी मज़ा दिलवाते रहें.

उसी समय सोनाली ने मुझे रोक लिया और मुझसे पूछने लगी कि तुम मेरे लिए ही रोज मेरे पीछे आते हो ना!तो मैंने भी टाइम नहीं गंवाते हुए उससे बोला- हां … मैं तुम्हारे लिए ही आता हूं.

कुछ पल और संभोग करते हुए रवि के धक्के दुगुनी तेज़ी से लगने लगे और उसने अचानक धक्के मारते हुए ही मुझे पकड़ कर करवट ले ली. मैंने उसके मोटे लंड को अपने हाथ से पकड़ा, तो वो मेरे मुँह के पास आ गया. उनको क्या पता था ये बच्चा अब उनकी जवानी के क्या क्या करने की सोचने लगा है.

चुदाई के समय भी मेरी गांड फट रही थी।हम कमरे में लौटे तो कपडे़ उतारे जब अंडरवीयर बनियान में थे. मैंने देखा कि अंगिका हाइट में मेरे कंधे से भी नीचे आ रही थी और जितनी सुन्दर वो विडियो कॉल और अपनी भेजी हुई पिक्चर में दिखाई दे रही थी, यकीन मानो उससे कहीं ज्यादा सुंदर वो सामने आने पर लग रही थी. फिर मैंने बाथरूम में जाकर अपना लंड साफ़ किया और कपड़े पहन कर अपने रूम में जा कर सो गया.

उसकी कमर से उसके बालों को हटा कर मैंन उसकी ब्रा के सारे हुक खोल दिये.

मैंने बोला- यार, घर पर क्या बोलूँगा … नहीं रुक सकता, सॉरी!इसके बाद काव्या ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोला- रुक जाओ ना निहाल. मगर मां किसी को इस बारे में नहीं बताती थी क्योंकि वो घर की बात को घर में रखना चाह रही थी.

एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी हालांकि मुझे नाचना नहीं आता था, पर मर्दों के आगे उस दिन क्या चलता और बाकी की औरतें भी वैसी ही थीं. मैं क्या कहता, मैंने और उसने चाय पी और हम दोनों में थोड़ी बहुत बातें हुईं हमने चाय खत्म की.

एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी कांतिलाल के निर्देशानुसार मैं लिंग पर सीधी बैठ थी और आगे की तरफ अपने चूतड़ों को धकेल धकेल कर संभोग करने लगी थी. उसने कहा- क्या हुआ? अब तक तुम्हारा हुआ नहीं था क्या?मैंने कहा- देखो ना कितना खड़ा है.

फिर उसके बाद उसने अन्दर से ही आवाज लगाई कि आप दूध ले आओ ना … तब तक मैं बाहर निकल कर कपड़े पहन कर आपके लिए खाना लगा देती हूं.

तमिल का बीएफ

दो मिनट के बाद ही उसकी चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया और वो झड़कर ढीली पड़ गयी. मैं बेड पर गया, तो काव्या ने मेरा लंड चूस कर खड़ा कर दिया और फिर खुद ही चूत फैला कर लेट गयी. मैंने फिर धीरे धीरे अपने झटकों की रफ्तार को बढ़ाया, तो आंटी की चीखें अब कामुक सिसकारियों में बदल गयी थीं.

फिर वो मेरी बात सुन कर मुस्कराने लगी और अपने बैग से चिप्स का एक पैकेट निकाल कर उसे खोला और चिप्स खाने लगी. शायद ये बात मेम को पता चल गई थी कि मैं उनके चुचे देखता रहता हूं, इसलिये अब मेम का ज्यादा ध्यान मेरे तरफ ही रहता था और वो बार बार साड़ी का पल्लू संवारने लगती थीं. मैंने पूछा- क्या तुमको इसके बारे में भी विस्तार से जानना है?वो बोली- हां सर, प्लीज!मैंने उसकी चूत पर अपनी जीभ को रख दिया और उसमें जीभ घुसाते हुए उसको चूसा और फिर दोबारा बाहर निकाल कर कहा- मर्द इसको इस तरह से प्यार करता है.

इसी बीच वो फिर से चार्ज हो गई और गांड उठा उठा कर लंड के मजे लेने लगी.

मुझे बड़ा अजीब लगा … पर बाकी की महिलाएं उत्सुक दिखीं और आपस में बातें कानाफूसी करते हुए पेशाब करने की तैयारी करने लगीं. मैंने बोला- क्या किस्मत है तेरी यार … ऐसी मस्त बीवी तो बहुत नसीब से मिलती है. उसने आगे बताया कि क्या पता वो आदमी कैसा हो … सीधा संभोग करने चाहे और हो सकता है, कंडोम भी न लगाए.

उन आंटी ने मुझे घर बुलाकर अपनी प्यास कैसे बुझायी?दोस्तो, मैं अक्की आनंद एक बार फिर जयपुर से आपके लिएमेच्योर भाभी की चूत चुदाई का मौक़ा मिलासे आगे की आंट सेक्स स्टोरी हिंदी लेकर हाजिर हूँ. उसने भी मेरा साथ देते हुए अपने सिर को थोड़ा सा उठा लिया और मेरे हाथ में सिर रख कर मुझसे चिपक गई, फिर मैंने दूसरे हाथ से उसके चेहरे को ऊपर की तरफ उठाया और उसके गुलाबी होंठों पर अपने होंठों को रख दिया. मैं एक ऐसी चुत की तलाश में था जो मेरे लंड का पानी अपनी चुत में लेकर निकलवा सके.

मगर ऐसा कुछ हो न पाया। फिर मेरी पढ़ाई वहां से खत्म हो गई और मैं अपने घर आ गया. क्योंकि पुरुष साथी ही संभोग के दौरान धक्कों की जिम्मेदारी लेता है, इसलिए स्त्री को समय समय पर आसन बदल कर धक्कों की जिम्मेदारी लेते रहनी चाहिए ताकि संभोग का आनन्द बना रहे और पुरुष को थोड़ा सुस्ताने का समय देते रहना चाहिए.

अब वो कराह रही थी- आह जल्दी करो न … मुझे बहुत दर्द हो रहा है तुम्हारा लंड बहुत मस्त लम्बा और मोटा है … मुझे मज़ा भी आ रहा है … और दर्द भी हो रहा है. मैंने बोला- तो ये समझ लो कि अम्मी तो तुम्हें यहां आगे पढ़ने नहीं देगी. मेरे मोबाइल में पोर्न पहले से ही था क्योंकि मेरे ऑफिस में जो लड़की मेरी सहेली बनी थी, वो मुझे हमेशा पोर्न भेजती रहती थी.

सबसे पहले घर में वही उठती थी और बगीचे की तरफ का ताला खोल कर काम में लग जाती थी.

आगे बात करने पर पता चला कि वो अपने सास और ससुर के साथ यहां पर रहती है. मेरी पहली सेक्स स्टोरी गाँव की सेक्सी लड़की, स्कूल की गर्लफ्रेंड सोनाली के साथ है, उस टाइम मैं 19 साल का था, मैंने 11 वीं पास करके बारहवीं में एडमिशन लिया था. तो उन्होंने पूछा- क्या?मैंने बताया- भाभी, उस हनीमून के बाद मुझे सेक्स की भूख पैदा हो गई है और आप बच्चे में व्यस्त हो गई हो तो मेरी सेक्स समस्या का समाधान करवाओ, किसी से मेरा सेक्स करवाओ.

करीब 5 मिनट बाद मैंने अपना पूरा माल उसके मुंह में खाली कर दिया जिसे वह बड़े स्वाद लेते हुए चट कर गई।इसके बाद हम दोनों को ही थोड़ी थोड़ी थकान हो गई थी तो सोनू ने पूछा- क्या लोगे?मैंने बोला- जो आप पिला दो. तथा दिन में भी साराह मैम मुझे 2-3 बार फोन करके जानकारी लेती रहती थी.

वो मेरी तरफ देख कर हंस पड़ी- तुम बहुत बदतमीज हो … जगह का तो ख्याल किया करो. मैंने छिपी हुई नजरों से देखा कि उसके पैर में हल्के हल्के से बाल थे और पूरा पैर एकदम गोरा दिख रहा था. भाई और तुम्हारी बातों को सुन कर मुझे तुम पर भरोसा था इसलिए मैं तुम्हारे साथ ये सब करने के लिए तैयार हो गई.

बीएफ फिल्म चुदाई में

जब मैं और मेरी पत्नी बातें करते थे, तो वह बार-बार मेरी तरफ देख कर मुस्कुराती रहती थी.

मुझे ही बात छेड़नी पड़ेगी तो मैंने उससे पूछ लिया- आप यहां पर कैसे आज?उसने बताया कि वो यहीं पर काम करती है. उसकी ऐसी आवाज सुनकर उसकी मां बोली- क्या हुआ?भाभी बोली- कुछ नहीं, ऐसा लग रहा था जैसे पीछे कुछ चुभ रहा हो. यह बोल कर मैं उनकी जांघों को हाथ से सहलाते हुए हट कर कमरे में आ गया.

मैंने धीरे से कहा कि लंड को हाथ में पकड़ लो लेकिन उसने मना कर दिया. मैं उसके मुँह को अपने लंड से चोदता रहा और ऊपर से ही उसके चूतड़ों पर ज़ोर ज़ोर से झापड़ मारता रहा. इंग्लिश बीएफ सेक्सी इंग्लिश मेंवो मुझे चूमते हुए धीरे धीरे धकेलने लगा और ठीक मुझे जमीन पर गिराते हुए वो मेरे ऊपर आ गया.

मैंने मैडम की चूत पर अपनी जीभ लगायी, तो मैडम तो पागल सी हो गईं ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’मैंने काफी देर तक मैडम की चूत चूसी और मैडम झड़ गईं. मैं उससे ताकतवर था और उसके लंड का सुपारा मेरी गांड में घुसा आनंद दे रहा था.

इससे बड़ी विडम्बना और क्या होगी कि सब कुछ है मेरे पास लेकिन सब कुछ होते हुए भी जैसे कुछ भी नहीं है।मैं उसकी बात का मतलब समझ ही नहीं पाया. रास्ते में बातें करते हुए मैंने बहाने से भाभी से उनकी सेक्स लाइफ के बारे में पूछने की कोशिश की. तू तो अब अपनी मम्मी की चुदाई करके मजा दिया कर … लेकिन अभी तू अपने रूम में जा … नहीं तो सुबह कुसुम तुम्हें यहां देखकर न जाने क्या सोचेगी.

मैंने करीब आकर भाभी को अपनी गोद में उठा लिया और ले जाकर बिस्तर पर पटक दिया. फरजाना बोली- मगर मैं इंशा को क्या कहूँगी?मैंने कहा- चल ऐसा करते हैं, इंशा को मैं कुछ नहीं कहता, मगर शिफा तो हमारे खानदान से नहीं है. अनु की चूत से नमकीन रस निकलने लगा था जिसको मैं साथ साथ चाट लेता था.

फिर उसने मेरे पीछे आकर उसने हाथ से अपने लिंग के सुपारे को पकड़ कर मेरी योनि में गपा दिया.

[emailprotected]अन्तर्वासना डॉट कॉम स्टोरी का अगला भाग:कमसिन लड़की की अनचुदी बुर ठोकी. जब मेरा वीर्य निकलने वाला था, तो मैंने पूछा कि माल कहां निकालूं?वो बोली- मेरी बुर में ही गिरा दीजिए.

वहीं दूसरी तरफ राजेश्वरी लंबे समय तक टांगें फैलाने की वजह से असहज दिखने लगी थी. फिर उन्होंने हल्के से टी-शर्ट को ऊपर करके अपनी चुत दिखायी और टी-शर्ट को अपने मम्मों के ऊपर कर लिया. वो लड़की बहुत ही प्यारी थी इसलिए उसको रोते हुए देख कर मेरा मन भी दुखी हो गया था.

वो नीचे बैठी हुई फूलों को देख रही थीं और अन्जाने में अपने संगमरमर जैसे जिस्म के दर्शन करा रही थीं. कभी मैं कहती कि आज वह ऐसी लग रही थी, आज उसने ब्लैक कलर की ड्रेस पहन रखी थी, तो उसमें वो बड़ी हॉट लग रही थी. मैं बस अगले ही एक पल भाभी के पास लेट गया और बिना कुछ सोचे उनसे लिपट गया.

एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी अब मेरे लिए सही मौका था और जिस तरह से उसके लिंग की नाड़ियां अभी चल रही थीं, उससे मुझे एहसास हो रहा था कि उसका लक्ष्य समीप है. उसकी बीवी के मोटे-मोटे चूचे देख कर मन करने लगा था कि पहले उनसे ही खेल लूं.

साउथ हीरोइन सेक्सी वीडियो बीएफ

उसके कंधों को भी दांतों से हल्के हल्के काटा और धीरे धीरे किस करते हुए उसकी कमर तक पहुंच गया. मैंने सोचा कि इससे पहले कि बात इमरान तक पहुंचे मुझे कुछ करना चाहिए. इधर राजशेखर ने अपनी अवस्था बदल ली थी और अब कविता उसका लिंग चूस रही थी.

वो ये सब देखते हुए बोलीं- छोटू को बोलो कि थोड़ा इंतजार करे … उसकी छोटी थोड़ी नखरेबाज है … अभी तैयार होकर आती है. उसके ये कहते ही मैंने पोजीशन बनाई और अपना लंड उसकी चूत में रखकर तैयार हो गया. देसी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफमैं उसके लिंग के सुपारे को खोल चूसने लगी और एक हाथ से उसके अण्डकोषों को दबाने ओर सहलाने लगी.

आखिरकार मेरे लंड ने दम छोड़ दिया और मैंने पूरा का पूरा वीर्य उसकी चुत में छोड़ दिया.

करीब 20 मिनट तक इसी रफ्तार से संभोग के बाद रमा ने उत्तेजना भरे स्वर में कहा- अब मेरी बारी है, मैं तुम्हारे लंड की सवारी करूँगी. यह जरूर है कि मेरे पति के साथ में उनके मोबाइल फोन में पॉर्न वीडियो वगैरह उनके साथ देखती रहती हूं और काफी रोमांस और मस्ती करती रहती हूं.

इस सफर में आप हमारे साथ जुड़े रहिये और आपको बारी बारी से हर लड़की की सेक्स कहानी और चुदाई की घटनाएं यहां पर पढ़ने को मिलती रहेंगी. अगले दिन जाने से पहले मैंने सोच लिया था कि आज मैं भी पीछे नहीं हटूंगा. मगर फिर मामी ने जो बोला … वो सुन कर मुझे अपने कानों पर यकीन नहीं हुआ.

दिन प्रतिदिन मेरा आकर्षण हॉट श्रेया आंटी की तरफ बढ़ता ही जा रहा था.

भाभी ने बादाम का दूध पीने को दिया और बोली- अबी तो पहले वाली शैतानी तो नहीं करते हो?मैं एकदम डर गया और बोला- नहीं भाभी, अब नहीं करता।भाभी बोली- तुम्हारे भैया भी बचपन से यही करते आ रहे थे; अब उनमें कमजोरी आ गई और अब उनसे बच्चा पैदा नहीं होता।कुल मिला कर सोने का समय हो गया और हम एक ही बेड पर सो गए. रमा ने बताया कि आज और कल यानि 31 दिसंबर और 1 जनवरी को सब लोग बहुत मजे करने वाले हैं. करीब दस मिनट तक मैंने डॉली के होंठों को ही पी पी कर उसे खूब गर्म कर दिया.

छोटी लड़की का बीएफ दिखाओअब उसकी गोरी, मोटी गांड व बिना बालों की चूत मेरे मुँह से बस थोड़ी दूर थी. आंटी मचलने लगी, वे बोली- क्या कर रहा है, इतनी गंदी जगह को इतनी मस्ती से क्यूं चाट रहा है.

हिंदी बीएफ सेक्सी बिहार की

मैंने उन्हें कहा- सर आप बैठिए!मैंने उन्हें कुर्सी देते हुए अपनी दुकान के अंदर ही बैठा लिया।वे मेरे साथ बात कर रहे थे और मुझे कहने लगे- तुम्हारे घर में सब लोग कैसे हैं?मैंने उन्हें बताया- बस साहब क्या बताएं, मम्मी की दवाइयों में बहुत खर्चा हो जाता है. दीदी की योनि में लंड को डालकर मैंने धीरे-धीरे अपने बदन को दीदी के बदन पर घिसना शुरू किया. मैंने उन्हें कहा- सर आप बैठिए!मैंने उन्हें कुर्सी देते हुए अपनी दुकान के अंदर ही बैठा लिया।वे मेरे साथ बात कर रहे थे और मुझे कहने लगे- तुम्हारे घर में सब लोग कैसे हैं?मैंने उन्हें बताया- बस साहब क्या बताएं, मम्मी की दवाइयों में बहुत खर्चा हो जाता है.

मैंने लगभग दस मिनट तक भाभी की चूत की चुदाई की और फिर मैं भाभी की चूत में ही झड़ गया. तो मैंने उसकी गांड में एक मोटी पेंसिल को डाल दिया और पेंसिल जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा. मुझे अपनी किस्मत पर विश्वास नहीं हुआ कि मैं इतनी गजब की सेक्सी महिला से मिल रहा हूं.

चूंकि पढ़ाई पूरी होने के बाद मुझे कोई अच्छी नौकरी नहीं मिली थी तो मैं अपनी बुआ की बेटी के पास गुवाहाटी चला गया था. वो तड़फ उठी मगर मैंने उसकी तड़फन को नजरअंदाज करते हुए उसकी चूत में एक और जोर का धक्का मारा. अब उसने अपनी ब्रा भी उतार दी और अपनी गांड को आगे पीछे करते हुए मुझे लिप किस करने लगी.

मैंने अपने लंड को भाभी की चूत पर सटे हुए आगे की तरफ एक हल्का सा धक्का मारा और मेरा लंड भाभी की गर्म चूत में घुस गया. मैं आगे की सीट पर बैठने लगा, तो राकेश ने बोला- यार तुम भी … ये क्या कर रहे हो, तुम पीछे बैठो, मैं आगे बैठ जाता हूँ.

मैं मस्ती में था, तो एक हाथ से राईट बोबे को मसलना शुरू किया और लेफ्ट बोबे को चूसने लगा.

सभी ने मोबाइल रूम में रखना ठीक समझे … क्योंकि वहां अन्दर मोबाइल ले जाने की परमिशन नहीं थी. जानवरों की चुदाई बीएफलेकिन बारहवीं तक पहुंचते पहुंचते मुझे सेक्स के बारे काफी जानकारी और रूचि हो गयी थी. बीएफ चुदाई फिल्म हिंदीउनके आने के बाद मां ने पैकिंग करनी शुरू कर दी और मैंने भी मां का हाथ बंटाया. मैंने हिम्मत करके उसका फिगर पूछ लिया, तो उसने बताया कि उसकी बीवी का फिगर 36-30-38 का है.

मुझे तो जैसे जन्नत मिल गयी … मैं अपनी कुर्सी से बिना कुछ बोले उठा और जाकर सोनू का एक दूध मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे हाथ से उसका दूसरा दूध मसलने लगा.

उसने मुझे अपने बैग से पानी की बोतल निकाल कर दी और मुझे पानी पीने के लिए कहा. फिर उसने अपने लंड को हाथ में लेकर हिलाया और फिर मेरे हाथ में दे दिया. अंडरवियर निकाल कर एक तरफ फेंक दिया और मेरा लंड उसके सामने फनफनाता हुआ लहराने लगा.

अब जब बात खुल ही चुकी थी, तो मैंने उसके बाद इंशा और शिफा को कई बार चोदा. मम्मी का गोरा बदन लाल ब्रा में क्या कामुक रहा था … ऊपर से नाइट बल्ब की धीमी रोशनी में उनकी चूचियां और भी ज्यादा चमक रही थीं. सम्भोग के बीच में अंतराल होने का मतलब था, अब कांतिलाल ने इससे पहले जित्तनी देर सम्भोग किया था, उतनी ही देर संभोग वो बिना झड़े फिर से कर सकता है.

बीएफ बीएफ इंग्लिश बीएफ इंग्लिश

मुझे मालूम है कि काव्या का ये रूप सोच कर ही आप लोगों का लंड खड़ा हो गया होगा. उसने फिर बोला- पूछ लेना मुझे बेहतर लगा … क्योंकि काफी समय के बाद मिली हो न … और क्या पता औरतें ये धारणा भी रखती हैं कि दूध सिर्फ उनके बच्चे पीते हैं. डॉली जोर से अपनी चूत उठाकर कामुक आवाजें करने लगी थी ‘उन्ह … सीई … अह … ऊँऊँ.

इसलिए आज मैंने जब सफाई करके चूत को चिकनी करके लंड डाला तो लंड सट से अंदर सरक गया.

काफी देर तक चूमा-चाटी के बाद मैंने उसकी पैंट को निकलवा दिया और उसको एक साइड में खड़ी करके उसकी टांग उठा कर अपना लंड उसकी चूत पर सेट करके उससे चिपक गया.

अब मैं आंटी के बोबे को हाथों से मसलने लग गया, एक हाथ से आंटी के बोबे को दबाता तो दूसरे बोबे को मुंह में लेकर चूसता. मुझे चाहे काम होता या न होता लेकिन मैं उसके साथ सफर पर निकल पड़ता था. कुत्ता और औरत की बीएफ फिल्मआप ऐसे मुझे सुझाव दें, जिससे मैं आपको मेरी बहुत सी कहानियों को आप लोगों के साथ शेयर कर सकूं.

उसकी चुत गर्म भट्टी की तरह गर्म हो गयी थी और चुत से धीरे धीरे सफ़ेद पानी निकल रहा था. वो कोई चीज परोसने के लिए झुकी, तो उसके गहरे गले से मुझे उसकी चूचियों के दीदार हो गए. एक और बात मैं आपको बता देना चाहती हूं कि जब भी बिंदास ग्रुप की कोई भी कहानी यहां पर पोस्ट होगी तो वह हर बार किसी न किसी नई लड़की की होगी.

जब उसने ये बताया कि उसका पति उसे वह सुख नहीं दे पाता है, जो उसे मिलना चाहिए. वो भी नीचे से गांड उठा कर इस बात का संकेत दे रही थी कि अब उसकी बुर को लंड लेने की सख्त जरूरत है.

कविता बिल्कुल सुस्त पड़ गई थी, पर धक्कों की मार से वो भी एक सुर में कराहने लगी.

मुझे राज से चुदने का मन बनने लगा था, मगर इतनी जल्दी मैं खुलना नहीं चाहती थी. मेरे दोनों हाथ मेरे बस में नहीं थे, उसकी हाथ मेरी गांड के गोलों पर टिके हुए थे और मेरा लंड उसके मुँह में था. और फिर उसने यही सवाल मुझसे पूछा तो मैंने कहा कि मैंने भी नहीं किया है.

तमिलनाडु सेक्स बीएफ वो चार लड़के उसे छेड़ने लगे और उससे बोलने लगे- चल बोल … कितना लेगी?वो बोली- आप जैसा समझ रहे हो … मैं वैसी नहीं हूँ. सारी चीजें अपने हिसाब से सही चल रही थीं।पत्नी से बिछड़े हुए लगभग एक महीना हो गया था और अब मेरा मन चुदाई करने का होने लगा था.

लेकिन मैंने अपनी उंगली नहीं डाली।मैंने उससे कहा- एक बात बताओ कि उस दिन मैं जब स्कूल आया था, तुम्हें कुछ याद है?उस हॉस्टल गर्ल ने कहा- याद नहीं बल्कि मैं सब देख रही थी कि कैसे तुम मेरे चुचे देख रहे थे और मेरी चूतड़ों को देख कर तुम्हारा नाग कैसे उफान मार रहा था. राज- उम्म्म … ह्म्म्म्म …मैं- आह्ह्ह … अह्ह्ह … ओह्ह्ह …हम दोनों मानो एक दूसरे को पछाड़ने में लगे थे. मोनू ने भाभी के चूचों को हाथों में भर लिया और सोनू ने पीछे भाभी की गांड को दबाना शुरू कर दिया.

हॉट लड़की की बीएफ

मैंने दो ही दिन में उसकी गांड से लेकर चूत और मुँह सभी छेदों को चोद दिया. मैंने दीदी की टांगों को दोनों तरफ करते हुए फैला दिया और अपना 6 इंच का लंड दीदी की चूत पर टिका दिया. उसके मुंह से एक सी … सी … आवाज आई और उसने मेरे सिर को अपनी चूची पर दबा लिया और मेरे बालों पर अपनी उंगलियों से सहलाने लगी.

मैंने तुरंत उसका कमीज ऊपर किया और एक चूची को बाहर निकाल लिया और उसमें अपने होंठों को रख दिया. मेरी साली अपने कपड़े बदल रही थी, उसके शरीर पर केवल ब्रा और पेंटी थी, उसका शरीर बिल्कुल संगमरमर की तरह चिकना था.

मैं उसकी कमर पकड़ कर चुत की चुदाई बहुत ही तेजी से करने में लगा हुआ था.

अम्मा ने कहा- बेटे मैं वो अनुभव लेना चाहती हूँ, जिसमें औरत आदमी का लंड और आदमी औरत की चुत चाटता है. मैं बोला- हां, लेकिन तुम्हें अपने भाई से डर नहीं लगता? अगर उसको हमारे बारे में पता लग गया तो वो क्या सोचेगा?वो बोली- भाई की भी तो गर्लफ्रेंड है. फिर मैंने अपना दूसरा हाथ गर्दन से हटा कर उसकी बेबी (चूत) पर रख दिया.

अब आगे की हॉट गर्ल अनल सेक्स स्टोरी:मैंने नजमी से बोला कि एक एक पैग और हो जाए. मॉम जोर जोर से आवाज निकाल रही थीं- आह आई … और जोर से दबा कर पी … आई … पी ले बेटा … यह तेरे लिए ही हैं. उसने मुझसे हटने को कहा, पर मैं उसके बोबे दबाता रहा और उसे चूमता रहा.

एक बात मैंने नोटिस की कि युक्ता को शायद मुझसे कुछ ज्यादा ही लगाव हो गया था.

एक्स व्हिडीओ बीएफ हिंदी: लेकिन अचानक ख्याल आया कि आस-पास अपने लोग हैं, जो उम्र में बड़े हैं. मैंने आवाज देते हुए उससे कहा- सलमा देख लेना कि नजमी सो रही है ना … और एक बढ़िया बोतल दारू की ले आना.

मैंने उस वक्त तक नहीं सोचा था कि मैं उसके साथ पहली बार सेक्स करूंगी. उसे दर्द भी हो रहा था मगर वो आवाज नहीं कर सकती थी क्योंकि बच्चों के उठ जाने का डर था. जाते हुए मैंने उससे पूछा- आप रोज इतनी ही पीती हो क्या?इस पर वो हंस पड़ी और बोली- आज नहीं पीऊंगी.

इस बात पर वो थोड़ी नाराज हुई और बोली- आप कैसे इंसान हैं? एक औरत आपको बुला रही है और आप हैं कि औरतों की तरह ही नखरे कर रहे हैं?मुझे उसका इस तरह से बोलना बड़ा अच्छा लग रहा था क्यूंकि उसकी हिंदी ज्यादा अच्छी नहीं थी.

बाकी नीचे का कपड़ा खोल कर तौलिया लपेट लेती थी और नहाने लगती थी।इस वजह से मैं उसके नीचे के हिस्से को तो नंगा देख पाता था लेकिन उसके चूचों को कभी मैंने नंगा नहीं देखा था. मेरी साली मुझे खाना खिलाने के बाद पड़ोस में रह रहे अपने चाचा के घर में सोने चली जाती थी और सुबह जल्दी आकर मेरे लिए खाना बना देती थी. फिर मैंने उससे पूछा- आखिर मुझे करना क्या है?तब उसने अपना असल स्वार्थ मुझे बताया.