इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,कूल्हे की हड्डी का इलाज

तस्वीर का शीर्षक ,

रूपा का सेक्सी वीडियो: इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ, अब वो मेरे नीचे आ कर मुझे अपनी चुत के अन्दर लंड डालने का इशारा करने लगी.

फुल सेक्सी डाउनलोड

एक बार और तेरीचुत और गांडको चोद देता हूँ ताकि शाम तक तुझे लंड की याद ही ना आए. साड़ी डोर मेटथोड़ी देर चूसने के बाद उन्होंने कहा- अब घुसा भी दीजिये।मैंने भी चुदाई करना ही उचित समझा क्योंकि मेरी भी उत्तेजना का कोई पारावार नहीं था.

लेकिन गेम भी कब तक खेलो यार!मैंने कहा- सही है यार तुम्हारी बात भी!मैं बस इसी उधेड़बुन में था कि अब इस ताजे लंड को कैसे मैं कहीं अकेले में ले जाऊँ और इसके मोटे ताजे जंगली लंड का मजा लूं. हिंदी राजस्थानी मारवाड़ी सेक्सी वीडियोमैंने लड़की के मुंह से अपना लंड निकालते हुए उसे स्वान का लंड चूसता छोड़ दिया और दोबारा अपना लंड उसके होठों के बीच जगह बनाकर अन्दर ठूंस दिया.

उसने मेरे हाथ को हटाने की कोशिश की लेकिन मैंने उसको बोला- प्लीज कुछ देर शांत रहो, तुमको आराम मिलेगा.इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ: उसने मैरून ब्रा पहनी थी और उस ब्रा में उसके गोरे चूचे बहुत सुन्दर लग रहे थे जैसे चांद के ऊपर लाल नीले बादलों का पहरा हो.

मेरे शौहर जो सेक्स के लिए ज्यादा रूचि नहीं रखते थे, इसलिए मैं अपनी जवानी में भी पूरी तरह सेचुदाई का मज़ानहीं ले सकी.तो वो हंसने लगा- साले लड़के लड़के में प्यार होता है कभी?मैंने कहा- हाँ, होता है, सब कुछ होता है और प्यार में मैंने उसे गांड भी दे दी.

सेक्स इंग्लिश सेक्स इंग्लिश सेक्स - इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ

मैंने हाथ बढ़ा कर उनकी पेटीकोट ऊपर उठा दिया और उनकी जाँघों को फैला कर उनके बीच आ गया.इस बार जब चाची ने कुछ नहीं कहा तो मुझे लगा कि शायद चाची सो गई हैं, मैंने धीरे से अपनी एक आंख खोली तो देखा चाची जाग रही थीं.

’ करने लगीं। मेरा पूरा लंड अब चुत के अन्दर था और वो मेरे ऊपर से मुझे क़िस दे रही थीं।भाभी ने मेरी आँखों में देखा और बोलीं- प्रिन्स मुझे अब ऐसे चोदो कि मुझे सेक्स की कमी ना हो और अगर मुझे तुम्हारा सेक्स स्टाइल पसंद आया तो आगे भी मैं तुमसे चुदवाऊंगी और मेरी फ्रेंड्स को भी तुमसे ही चुदवाऊंगी. इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ मैंने हैरत से पूछा- क्या हुआ रिया?फिर एक कमीनी सी हंसी के साथ रिया ने कहा- सालों ने फ्री में बड़ी तबियत से चोदा यार! बदन का हर छेद दर्द कर रहा है!हम दोनों फिर से ठहाके मार के हंस पड़ी!फिर गोवा की सेक्सी यादें लेकर हम दो दिन बाद फिर से अपने मुकाम दिल्ली पहुँच गयी!आगे मेरी चूत ने और क्या क्या गुल खिलाए ये जानने के लिए मेरी अगली सेक्स स्टोरी का इंतज़ार करें.

जिन्होंने पहले मेरी दास्तानदोस्त की बहन को चोदा मजा लेकरपढ़कर अपनी चूत न रगड़ी हो और लंड न सहलाया हो, उनको बता दूँ कि मैं देहरादून का रहने वाला हूँ.

इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ?

मैं कुर्सी पर बैठ कर फिल्म देखने लगा और चाची आकर बिस्तर पर लेट कर फिल्म देखने लगीं. गोरी इतनी कि चांद भी फीका लगे, आंखों में नशा इतना कि मदिरा का नशा बेकार लगे. फिर मैंने उसके एक बूब को मुँह में डाल लिया और वो मदहोश हुए जा रही थी…फिर उसने अपना हाथ पैन्ट के ऊपर मेरे लंड पर रख दिया और लंड को सहलाने लगी, उसने मुझसे कहा- मुझे आपका देखना है.

फिर उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिए और बोली- अब ठीक है!भाभी मेरे लंड को बड़े ध्यान से देख रही थीं. रमेश के मुख से भी अब ‘आह आह’ की आवाजें और उनकी साँसों के बढ़ने की आवाज आने लगी थी. उसने थोड़ी लम्बी साँस ली और बोली- बिल्कुल जान ही निकाल दी थी, मैंने तो कभी सोचा नहीं था कि कभी इतना बड़ा और मोटा लंड अंदर लूँगी.

बरखा- मुझे कोई प्राब्लम नहीं है, आज की रात जो चाहो करो, मगर शादी के बाद नहीं. मैंने हैरत से पूछा- क्या हुआ रिया?फिर एक कमीनी सी हंसी के साथ रिया ने कहा- सालों ने फ्री में बड़ी तबियत से चोदा यार! बदन का हर छेद दर्द कर रहा है!हम दोनों फिर से ठहाके मार के हंस पड़ी!फिर गोवा की सेक्सी यादें लेकर हम दो दिन बाद फिर से अपने मुकाम दिल्ली पहुँच गयी!आगे मेरी चूत ने और क्या क्या गुल खिलाए ये जानने के लिए मेरी अगली सेक्स स्टोरी का इंतज़ार करें. एक बार मेरी बेटी की सहेली हमारे घर आई, न जाने क्यों मुझे लगा, ये लड़की कुछ चाहती है.

उन्होंने सुमन से बहाना किया कि तुम अन्दर जाओ मैं थोड़ी देर में आता हूँ मगर सुमन नहीं मानी और उनको अन्दर साथ ही लेकर गई, जहाँ सबसे पहले उनकी मुलाकात ममता से ही हुई और ममता को एक सेकेंड भी नहीं लगा अपने भाई को पहचानने के लिए. सुलेखा तो झड़ने के बहुत करीब थी तो मैंने उसकी चूत में झटके और तेज कर दिए और मनोज भी शायद ज्यादा उतेजित हो गया, उसने नेहा की चूत में अपनी जीभ स्पीड से चलानी शुरू कर दी, नेहा जोर जोर से चिल्लाती हुई बोलने लगी- उई आह आह… सालों चुद गई उई उई आह.

मेरी बड़ी साली उसके बड़े पापा साथ रहती है और छोटी उसकी मम्मी और डैडी के साथ रहती है.

फिर मैंने उसे खड़ा किया और उसका एक पैर बेड पर रेखा और उसकी चूत में लंड लगाने लगा.

उन्होंने मेरा पेंट उतार कर मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और धीरे से अपने मुँह को मेरे लंड के सुपारे पर लगाने लगीं. आज टीना ने सुमन को वो काम करने को कह दिया था जो शायद एक रंडी भी ना करती. उस अनिता को बेटी बनाकर घर लाते तो मुझे ख़ुशी होती, आपने तो उसको रखैल बना दिया और उसके होते हुए भी आप क्यों तड़पने का नाटक कर रहे थे.

वो मुझसे लिपट गईं और मुझे चूमने लगींभाभी की साँसों की ख़ूशबू ने मुझे पागल कर दिया… और मैं पूरी तन्मयता से भाभी को चोदने लगा. वो बोली- अरे आपको हिम्मत की ज़रूरत, आप चार हो, हिम्मत तो मुझे चाहिए, मैं तो अकेली हूँ. मैं बड़े मनोयोग से उनकी मालिश कर रहा था और अपने लंड को उनके चूतड़ों से रगड़ रहा था.

वो मेरा लंड मुंह में लिए मचल उठी।दूसरी तरफ ऋतु की चूत पर नया मुंह लगने की वजह से वो कुछ ज्यादा ही गर्म हो चुकी थी और उसने अपने पैरों से सन्नी की गर्दन के चारों तरफ फंदा बना डाला था और अपनी चूत उससे चुसवाने में लगी हुई थी.

मेरे सीने के मर्दाना चूचुकों को प्राची भाभी ने जब दांतों से काटा, तो मैं सिहर गया. !सुमन की बात सुनकर गुलशन जी खुश हो गए, उनको लगा सुमन भी यही चाहती है कि उसके पापा उसको मज़ा दें. वो अपनी भारी मर्दाना आवाज में बोला- अरे कुछ नहीं, चलो तुम तो… अपन गांव के लोग है.

संजय की बात सुनकर पूजा ने गौर किया तो उसको अहसास हुआ कि सच में पूरा लंड चुत की गहराई में है. भयानक दर्द का एहसास होते ही मैं जोर से चिल्ला उठी- मर गई माँ! फाड़ दी मेरी चुत हरामी!मगर पीटर तो मशीन बन चुका था, उसने मेरी कमर पकड़ी और वो फुल स्पीड से मेरी चुत की चुदाई करने लगा. हमें जब तक फ्रेशर नहीं मिल जाता था क्लास के लड़कियों से बात करना भी मना था.

जैसे मैंने मेरा लंड उनकी चुत में डाला तो लगा कि मेरा लंड किसी गरम आग की भट्टी में चला गया हो.

मुझे बड़े प्यार सेचाचा ने चोदाथा पहली बार… दर्द तो बहुत हुआ था लेकिन मजा भी आया था. क्या तुम रात में इसकी देखभाल के लिए रुक सकते हो? रात में तुम रुक जाना और फिर सुबह मैं आ जाऊंगा.

इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ ‘उई माँ…’ उसके मुंह से निकला और उसने अपने नाखून मेरी पीठ में गड़ा दिये जोर से!शुरूआती धक्के तो मैंने आराम से धीरे धीरे लगाए, जब चूत थोड़ी खुल गई और लंड सरपट दौड़ने लगा तो मैंने टॉप गियर में चुदाई शुरू की. मुझे कमरे की भरपूर रोशनी में पहली बार अनीता दीदी की चूत की झलक मिली, मेरे छोटे उस्ताद ने तुरंत उछल कर सलामी दी.

इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ लेकिन वो मेरे समझाने पर जल्द मान भी गई और फिर मैंने देर न करते हुए लंड उसकी चुत में घुसा दिया. एक दिन मैं रूपा के घर गया, तब फ़ूफा जी बाज़ार गए हुए थे और बुआ जी किचन में खाना बना रही थीं.

यश ने मेरा हाथ अपने लंड पे रखवाया और वो खुद मेरे निप्पल उमेठने लगा.

सैकसी कहानीया

परंतु वह कहने लगी- घर तक तो मेरी जान ही निकल जायेगी और फिर वहां मेरी बेटी भी आ गई होगी. उसके होंठ चूसते चूसते मैं उसको लेकर पीछे को लेट गया और हम एक दूसरे से कुछ ऐसे लिपटे हुए थे जैसे साँपों का कोई जोड़ा. वो गले तक लौड़ा फँसा कर चूस रही थी उसकी आँखों से आँसू भी आने लगे थे मगर मजा बराबर ले रही थी.

इन कहानियों से प्रेरित होकर आज मैं बुर की चुदाई की अपनी रियल कहानी आपके साथ शेयर करना चाहता हूँ. अब दोस्तो आप समझ रहे होंगे कि यहाँ क्या होने वाला है? हाँ सही समझे भाई और बहन का मिलाप होने वाला है. बात करते करते उसने मेरा हाथ थाम लिया तो मुझसे रहा नहीं गया और मैंने पलट कर सीधे अपने होंठ उसके होठों पे रख दिए.

मेरे बदन का एक भी ऐसा अंग नहीं था जो उन लोगों से अनछुआ हो, सब मुझे मसल रहे थे, मुझे मजे कम और दर्द ज्यादा हो रहा थी, मैं चीख रही थी लेकिन कोई नहीं सुन रहा था.

अब वो मादक आवाजें निकालने लगी- ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उन्ह… आअह्ह… उईईइ… मेरे सजन मुझे और जोर से चोद… मर्र गयी… मेरे जानम, मेरी चूत फाड़ दे आज… आह्ह… ओहहो… उम्म्म… अहह… हई… याह… उईई… क़र उह्ह्ह… आआअह्ह… बहुत मजा आ रहा है… मुझे तूने पहले क्यों नहीं चोदा मेरे सनम!मैं भी उसकी हर बात का उत्तर अपने लंड के झटके से लगातार दे रहा था और उसे अपनी बातों से गर्म भी कर रहा था. मेरा लंड तो कई दिनों से मेरे काबू में नहीं था और अब जब मानसी ने मेरे लंड को पकड़ा तो मेरे लंड में खून दुगनी तेज़ी से दौड़ने लगा. संजना के मुँह से बार बार आह निकल रही थी ‘आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… जानू आई लव यू आहह.

फिर उसने हम दोनों से सॉरी बोला और कहा कि यार अब करने का मन तो होता है ना. उधर पूर्ण उत्तेजना की स्थिति में आए स्वान ने भी नताशा के मेरे लंड से भरे गालों को टहोका तो वो मेरा लंड अपने मुंह से निकाल स्वान के लंड पर ट्रान्सफर हो गई. परीक्षा के दौरान उसने मुझे बहुत हेल्प की, जिससे मैं पास हो गया और वह दोबारा फेल हो गई थी.

सबीना से रहा नहीं गया और वो नंगी ही कैमरे के सामने आकर बोली- हेलो कोमल भाभी कैसी हो? मैं सबीना रफीक की छोटी बहन और जमीला की प्यारी ननद. उन्होंने फ्लॉरा की कमर को कस कर पकड़ा और दे दनादन गांड की ठुकाई शुरू कर दी.

अभी तू ऐसे ही चली जा और चुपके से दूसरी पहन लेना, किसी को बताना मत ओके. मेरे पूछने पर उसने बताया कि उसके पास गाड़ी है और स्कूटी है, परंतु चलाना नहीं आता. जमीला- रफीक तो अभी गया कोई जरूरी काम से ऑफिस बुलाया है रात तक आएगा और देखते है मौका मिलेगा तो आएंगे.

ला दूसरा भी दे।थोड़ी देर बाद दोनों 69 के पोज़ में हो गए और सुधीर जीभ से मोना की चुत को चाटने लगा। इधर मोना भी उसके लंड को मज़े से चूस रही थी। दस मिनट तक ये चुसाई चलती रही और फिर मोना की चुत बहने लगी.

मैंने महसूस किया कि पूजा के होंठ मेरा लंड मुंह में लेते ही बंद हो गए और उसकी जीभ मेरे लंड के सिरे को कुरेदने लगी. इतना कह के मैंने फिर से उन्हें पकड़ना चाहा, पर उन्होंने मेरा हाथ झटक दिया. अब डिनर करके जाओगे क्या?चलो थोड़ा सुमन के होम सेक्स को भी देख लो, आज उसकी सील टूटने वाली है तो उसने क्या किया है.

मैंने कहा- नहीं नहीं, बस पूछना था कि अब कोई दवाई बची तो नहीं है जो देना हो…उसने फ़ाइल देखी और बोली- नहीं कोई बाकी नहीं है. विनय खुद सिगरेट पीता है तो उसके साथ एक दो कश रीना भी मार लेती है, चाहे माहोल पार्टी का ही क्यों न हो.

गुलशन जी ने टी-शर्ट थोड़ी ऊपर की तो सुमन आगे की ओर झुक गई- पापा थोड़ा ऊपर करो ना प्लीज़. ये बात सुनते ही वो एकदम से हैरान हो गई और बोली- प्लीज़ ऐसा मत करना… तुम जो बोलोगे मैं वही करूंगी. उस दिन उन्होंने नेट का एग्जाम देने का बहाना करके पूरे दिन का समय निकाल लिया था हमारे मिलन के लिए और मुझे भी बुला लिया था.

पति करवा चौथ जोक्स

वैसे मेरे पति का भी मन है कि मैं किसी और के साथ भी सेक्स का मजा लूँ.

मोहन- हेलो जमीला डार्लिंग, कैसी हो और खूब चुदवा रही हो दो दिनों से राजेश से?जमीला- क्या बताऊँ यार, ये राजेश का लौड़ा बड़ा मस्त है और चोदता भी मस्त है. मैं उसके कामुक शरीर के एक एक अंग को सहला रहा था, कभी उसके गाल को सहलाता… कभी उसकी चूचियों को मसलता… कभी उसकी योनि को सहला देता तो कभी उसकी लम्बी चिकनी जांघों पर हाथ फिराता… मेरी बाजुओं में उसकी नाजुक कमर ऐसे बल खा रही थी जैसे नागिन बल खाती है. मेरा निचला होंठ अपने दांतों से काटते हुए रिया बोली- साली, आज तो तू किसी का खून जरूर करेगी.

और पूरा लंड पेलने के बाद मैं भाभी की चुत में हल्के-हल्के झटके मारने लगा. सैर करते वक्त उसकी बड़ी गांड और मस्त चूचियाँ सबका ध्यान अपनी और आकर्षित करती थी. फैंसी कपड़ामैंने धीरे से चूची दबाना शुरू किया तो उन्होंने मेरा हाथ अपनी चूची से हटा दिया.

आआआ स्सस्सस्स!”उसकी स्कर्ट तो थी ही छोटी से तो मनोज मेघा की जांघें चाटने लगा और चूत को मसलने लगा. अब फ्लॉरा हाथ नहीं आएगी मगर टीना ने उसको बातों में ऐसा उलझाया कि वो उनके जाल में फँस गई।फ्लॉरा- नहीं यार टीना.

शायद उन्हें भी नींद आ रही थी और वे भी मेरे बांहों में आकर सो गई।[emailprotected]. एक बार ललितपुर आना स्नेहा के साथ फिर तुम्हारे सारे अरमान रात भर में पूरे कर दूंगा!’‘आ सकी तो जरूर आऊंगी. दीपक और उसकी बीवी उनके कमरे में सोए और मुझे बाहर ही कमरे में जिसमें हमने डिनर किया था वहीं पड़े बेड पर सुलाया.

मगर उसे मेरे ऊपर तरस नहीं आया, वो बस अपने हैवानी लौड़े से तूफान मचा रहा था. !बरखा को देख कर अतुल की हालत पतली हो गई, मगर वो कुछ कहता या सोचता तब तक तीनों जोर-जोर से हंसने लगी थीं. थोड़ी देर बाद उसने मेरे बूब को छोड़ कर अपना हाथ मेरी सलवार के नाड़े की तरफ बढ़ाया लेकिन जब उससे नाड़ा नहीं खुला तो मैंने खुद ही खोल दिया.

तेरा भाई साला छोटे लंड वाला बिज़ी आदमी है… तुझमें कितना दम है, देखती हूँ.

वो दोनों भी कुछ मिनट में झड़ गये और फिर से मेरे मुंह और चूत में वीर्य की वर्षा हो गयी. मैं बोला- तुम्हारे घर के सब लोग कहाँ गये?तो बोली- भैया की तबियत खराब हुई रात में, तो मम्मी अस्पताल गयी हैं, भाभी है बस, वो तो दूसरे रूम में सो रही हैं.

तभी पापा ने मेरी एक चूची की घुंडी मुँह में भर लिया और बच्चों जैसे चुचे का अंगूर चूसने लगे. अब दो मिनट के इंतजार की जगह पाँच, सात, दस, पंद्रह तो बीस-बीस मिनट का इंतजार होने लगा. मेरी इन दो दिनों में हिम्मत बढ़ गई थी तो आज मैंने पहले उनकी गाल पे किस किया.

उसकी कमीज और सलवार उतारने के बाद मैंने उसको अपनी तरफ करते हुए निहारा तो मेरे होश ही उड़ गए. जय ने राहुल को डांट लगाई- इतने बढ़िया माल की तूने अभी गांड देखी तक नहीं? चूतिया है यार तू भी!ये कहते हुए जय ने अचानक से मेरी पैंट खोलने की बजाय उसको खींच कर निकालने की कोशिश करने लगा जिससे पैंट का हुक टूट गया और मुझे थोड़ा गुस्सा आया. वो बहुत तड़प रही थीं तो मैं अपनी जीभ चुत में अन्दर तक डाल कर पागलों की तरह चुत पर लगी चॉकलेट को चूसने लगा.

इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ थोड़ी देर बात मुझे कुछ महसूस हुआ, आँखें खोलने की कोशिश की, पर खोल नहीं पाई. मेरी चूत के पानी को मामा ने अपनी जीभ से चाट कर साफ कर दिया और मेरी चूत के अन्दर तक अपनी खुरदरी जीभ घुसेड़ रहे थे.

एचडी फिल्म सेक्सी फिल्म

भाभी ने कहा- प्राची … प्राची नाम है मेरा, कमरे में या अकेले में तुम मेरा नाम ले सकते हो, मुझे अच्छा लगेगा. उसने मुझे खुद से अलग किया और मेरे लंड पर टूट पड़ी, मेरे लंड को किसी लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. अब उनके जिस्म पर बस एक ही अंत:वस्त्र बाकी था जो उनकी काले रंग की डिज़ाइनर पैंटी थी, जिसमें से उनकी चूत उपर तक उभरी हुई नज़र आ रही थी.

रोहित कॉलेज टाइम से ही सविता भाभी पर फ़िदा था और उसी वक्त से वो सविता भाभी को चोदना चाहता था. मैंने उन्हें बेड पर बैठाया और पहले उनके गले को चूमते हुए उनके उन मम्मो को ब्रा के ऊपर से सहलाया. संभोग क्या होता हैउसके पति नॉर्वे में सर्विस करते हैं और साल में 8-10 दिन के लिए आते हैं.

’माँ अब अपने चूतड़ उछाल-उछाल कर धक्का लगा रही थीं, उनकी चूचियाँ हर धक्के के साथ मेरी छाती से रगड़ खा रही थीं.

कुछ तो हुआ होगा? तू खुलकर मुझे बता ना!सुमन ने बताया वो एक बार नहा रही थी तब नीचे साबुन लगाते टाइम ग़लती से उसकी उंगली अन्दर चली गई तो बहुत दर्द हुआ था. अब तक उनकी हालत खराब हो रही थी, लेकिन अब मेरी हालत खराब होने लगी।ऐसा लग रहा था कि उन्होंने चूसने में कोई कोर्स किया हो.

मैंने ऐसा लंड तो ब्लू-फिल्म में खूब देखा है।उसने लंड चूसना चालू किया. लंड जरा सा गया ही था कि उसकी चीख निकल पड़ी- आःह्ह्ह रुको, दर्द हो रहा है, थोड़ा और गीला करो!लेकिन उसकी सुनता कौन?किसी भी महिला की चुदाई में महिला को जितना दर्द होता है, मर्द को उतना ही मजा आता हैं इसका कारण शायद पुरुषों को लगता है कि उसने महिला को दर्द देकर सेक्स में उसे अपनी मर्दानगी दिखा दी है. अपना हाथ चाची की मरमरी जांघ पर रखा और फिराते हुए धीरे से चूत की तरफ ले गया.

मैंने उसके चेहरे पर उसके बहते आंसुओं को अपने हाथों से साफ़ किया और उससे कहा- बेबी, तुम क्यों अकेली फील करती हो.

मेरी नजर उसकी जांघों पे पड़ी तो वो समझ गई, बोली- क्या देख रहे हो राज?मैं बोला- खूबसूरती को देख रहा हूँ. मोना- अच्छा मैं यहाँ तुम्हारी जान बचाने के चक्कर में लगी हूँ और तुम्हें मजे की पड़ी हुई है?गोपाल- अरे प्लीज़ यार ग़लत मत समझो. ये सब मेरी वजह से हुआ।मैंने कहा- क्या?वह बोला- भाई साहब ने जो किया। वे मेरे होम टाउन में भी ये सब करते रहते हैं। हम भाइयों की मार दी.

मुछो का स्टाइल‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’थोड़ी देर चुत चाटने के बाद वो मेरी क्लीन शेव्ड चूत को पूरा मुँह में भर के चूसने लगा. पानी की तरह पैसा बहाया तूने और मुझे मस्का मार रही है?बातें करते करते हम कब टापू पे पहुंचे ये पता ही नहीं चला.

छोटे बच्चे की टोपी

उनकी इस क्रिया की मेरे बदन में प्रतिक्रिया हुई, मैं इतनी ज्यादा उत्तेजित हो उठी कि मेरे शरीर में सुरसुरी उठने लगी, साँसें तेज हो गयीं, स्तनों और निप्पलों में सख्ती बढ़ गयी, योनि और गुदा दोनों के सुराख और कस गए और ऐसा महसूस हुआ जैसे योनि की दीवारों से पानी रिस रहा हो. रास्ते भर वो मेरी स्कर्ट में हाथ डालकर मेरी चुत में उंगली करता रहा और मैं पानी पानी होती रही. दो तीन मिनट बाद जमीला एक साइड हुई और जमीला ने कंडोम उतारा और मस्ताना को किस किया और फिर दूसरा कंडोम फाड़ कर मुँह से चढ़ाया और बोली- सबीना डार्लिंग, अब असली लौड़े का मजा दे तेरी इस कमीनी चुदक्कड़ चूत को!और सबीना मेरे मुँह से खड़ी होकर मेरे मस्ताना पर चढ़ गई.

लंड खड़ा हो गया तो उसने मुँह में ले लिया।वह अपने बड़े भाई की तरह पुराना खिलाड़ी था। उसका माफी माँगना तो बहाना था। वह बड़ी जोरदारी से लंड चूस रहा था। फिर उसने मुँह में से लंड निकाल दिया और मेरी तरफ देखने लगा। पर उसे हाथ से पकड़े था. चाची मुझे अपने ऊपर से हटाने की पूरी कोशिश कर रही थीं, पर एक आदमी की ताकत और एक औरत की ताकत में बहुत फर्क होता है, खासकर तब जब आदमी पर वासना का भूत सवार हो, तब उसकी ताकत दोगुनी हो जाती है. पण्डित जी ने इस बार जोरदार साथ दिया और मेरे होठों का खूब रसपान किया.

वो बहुत तड़प रही थीं तो मैं अपनी जीभ चुत में अन्दर तक डाल कर पागलों की तरह चुत पर लगी चॉकलेट को चूसने लगा. अब भाभी लंगड़ा कर चलने लगीं तो मैंने आगे बढ़ कर फिर से उनकी कमर पकड़ ली और उन्हें बेडरूम तक सहारा दिया. अब मैंने अपने दोनों हाथों को सुलेखा के चूतड़ों के नीचे किया और सुलेखा की गांड को बाहर को खोल दिया और मनोज मेरा इशारा पाकर उसकी गांड के करीब आया, उसने अपना लंड धीरे से सुलेखा की गांड पर रख दिया और मैंने सुलेखा को पीछे कर दिया.

कहाँ जा रहे हो?मैं शरमाते हुए उनके पास गया तो वो बोलीं- आओ तुम भी यहीं लेट जाओ न. मैं उठ गयी और मामा जी नीचे लेट गये और सर के नीचे तकिया लगा लिया, मुझे लगा कि शायद मामा जी बोलेंगे मेरे लंड पर चूत रख कर बैठ जाओ पिछली रात जैसे…पर मामा जी की ख्वाहिश कुछ और ही थी, मामा जी बोले- मेरे मुँह पर चूत रख कर बैठ जाओ, मुझे तुम्हारी चूत चाटनी है.

आज कितने टाइम बाद आपकी गोद में सर रख कर सोऊंगी और आप मेरे बालों में हाथ घुमा कर मुझे सुलाओगे.

अब आगे पढ़ें वर्जिन चुत की कहानी:दोस्तो, उम्मीद है कि इस ग्रुप सेक्स में आपको मज़ा आया होगा. हिंदी फिल्म का हीरोइन का सेक्सी वीडियोऐसे करने से रानी की आँखें नशीली हो चलीं और वो बिस्तर पर पैर फैला कर लेट गई. नया देहाती सेक्सी वीडियोइसलिए मैं उसके ऊपर चढ़ गया और मेरे ऊपर चढ़ते ही उसने मुझे जोर से अपनी बांहों में जकड़ लिया. जैसे ही बोट किनारे से तीन मील दूर पहुँच जाएगी तो आप चाहें तो अपने कपड़ों से मुक्ति पा सकती है.

मैं वास्तव में भी नीलम को चोदने का अधिकारी बन गया और मैंने नीलम पर मानो जादू ही कर दिया था.

फिर मैं धीरे से बिस्तर से उठी, अपनी पैंटी उतारी और पण्डित जी की गोद में बैठ कर उनसे चिपक कर उन्हें चुम्बन देने लगी. ‘हाआआआ… आआआआ…आआह… नीचे से चोदो मुझे स्वान!’ एंड्रयू के मोटे लंड के अनवरत धक्कों से सातवें आसमान में उड़ रही नताशा बोली. मैं झुक कर पहले भाभी की चुत को सूंघने लगा क्योंकि मुझे चुत की महक बहुत पसंद है.

काफी देर एक दूसरी को चूमना-चूसना होने के बाद हम दोनों बाहर आकर तैयार होने लगी. इन्हीं सब घटनाओं को लेकर सविता की सहेलियां चर्चा कर रही थीं कि जब सावी की शादी हो जाएगी तो साथी लड़कों के लंड खड़े होने ही बंद हो जाएंगे. ऋतु बोल उठी- उह्ह राज… तुम्हरा लंड तो बहुत बढ़िया है, इसेमेरी चूत में डालोन!और उसे चूसने लगी!उसके मुँह में लेते ही मेरा लंड ऐसे कड़क हो गया जैसे वियाग्रा की 100 एम जी गोली खा ली हो.

सेक्स सेक्स सेक्स डॉट कॉम

कुछ देर में ही दोनों बिल्कुल नंगी होकर एक-दूसरे की चूचियाँ दबाने और चूसने लगीं. सामने खड़ा रुस्लान बेतहाशा हुंकारता हुआ भक्काड़ा हो चुकी गांड में अपने लंड को पूरा बाहर निकालता हुआ अन्दर घुसेड़ने लगा था. उसके मुंह से ‘ओह्ह्हह्ह… ओफ्फ फ्फ्फ… आआहह…’ की आवाजें दोबारा आने लगी.

फिर जीजाजी रुक गये और बोले- अनु, बच्चे के कारण तुम्हारी चूत थोड़ी फैल गयी है, मुझे मज़ा नहीं आ रहा है.

स्वान ने मस्ती में चूर होकर अपनी आँखें बंद कर ली और आनन्द के अतिरेक में अपनी कमर लहराने लगा.

फिर मैंने चाची को लिटा दिया और खुद उनके ऊपर लेट गया और किस करने लगा. टीना- बात पहले की है जब मैं बहुत छोटी थी, तब पापा का बिजनेस अच्छा चलता था और मेरे एक अंकल थे जो उनके पार्ट्नर थे. हरी साड़ीमीना को पता था कि मोना शुरू से ही सीधी रही है, ये जल्दी मानेगी नहीं.

तभी वो बगल में बैठा लड़का फिर फुसफुसाया- देखा लौड़े के, मैं मना कर रहा था. चल जाने दे मैं तेरी चुदाई नहीं करूंगा मगर तुझे मैं खुलकर प्यार तो कर सकता हूँ ना. मैं यह अवसर खोना नहीं चाहता था, मैंने सही वक्त देखा और उसके नर्म लबों पर अपने लब टिका दिए.

वो आंगन में अपने बच्चे के कपड़े सुखा रही थीं, तो बैठ कर झुकी हुई थीं. यही सब करते हुए हम दोनों बिस्तर पर लेट चुके थे और कभी वो मेरे ऊपर होती तो कभी मैं उसके जिस्म के ऊपर होता.

फिर मैंने पण्डित जी से कहा- आज दोनों लोगों का खाना मैं ही खाना बनाती हूँ, अगर आपको आपत्ति न हो तो?पण्डित जी बोले- भाई वाह, नेकी और पूछ पूछ.

मैंने कहा- मैं तो सबसे लास्ट पारी खेलूँगा, जिसने पहले खेलना हो खेल लो. इसका कॉलेज क्या शुरू हुआ आजकल ये पूरी बदल ही गई है।हेमा- आप भी कुछ समझते नहीं हो. अब मेरी भी रफ्तार बढ़ रही थी, मैं भी अपने चरम की तरफ पहुंच रहा था, पूरा केबिन हमारी चुदाई के शोर से गूंज रहा था, शोर इतना था कि सोता हुआ आदमी भी जाग जाता.

उर्दू सेक्सी पिक्चर जब एक ब्रेक के दौरान चंगेज़ ने अपना फनफनाता हुआ लंड वापस चूत की जगह मेरी प्यारी पत्नी की गांड में घुसेड़ दिया, और खड़ा हुआ रुस्लान तो वैसे ही सिर्फ गांड ही मार सकता था, तो उसने भी जगह बनाते हुए अपना मोटा लंड मेरी पत्नी की गांड में पेल दिया. पर एक दिन वो खुद फिर से नहाने गईं और हर बार की तरह आज भी चाची ने दरवाजा खुला छोड़ा था.

गोपाल ने जल्दी से कपड़े पहने और मोना के पीछे वो भी गया, तब तक नीतू ने भी कपड़े पहन लिए थे. क्या आज साड़ी का दिन है?तो वो बोलीं- आजकल बहुत ध्यान दे रहे हो?मैंने कहा- देना तो पड़ेगा न!फिर दीदी बोलीं- वो आज सारे कपड़े धो दिए हैं न इसलिए साड़ी ही पहन ली है. मैं समझ गया कि वो कुछ करना चाहती है तो मैंने मौका देख कर उसका हाथ पकड़ लिया.

छोटी सी लड़की की सेक्सी

पूजा पहले तो चौंक गई पर फिर उसने मेरा लंड जोर शोर से चूसना शुरू कर दिया. मैं समझ गया था कि अब वह रात भर ही अस्पताल में रुकने वाला है और अभी और भी वार्ड में जाकर दवाइयाँ देगा, उसके बाद जब फ्री हो जायेगा, तब मैं लंड का जुगाड़ जमाता हूँ, यही सोचते हुए मैं कुछ देर अपने वार्ड में ही बैठा रहा. लेटी हुई नताशा के पीछे से सोफे के हत्थे पर बैठे चंगेज़ ने अपने तने हुए लंड को मेरी पत्नी के सर को अपने बाएँ हाथ से उभारते हुए मुंह के अन्दर घुसेड दिया.

अब तुझे बस उस आग को भड़काना है, हो सके तो अपने चूचे भी उनको दिखा देना. उसके होंठ चूसते चूसते मैं उसको लेकर पीछे को लेट गया और हम एक दूसरे से कुछ ऐसे लिपटे हुए थे जैसे साँपों का कोई जोड़ा.

अब मुझमें काफ़ी कॉन्फिडेन्स आ गया, मैंने कहा- भाभी आप तो बहुत खूबसूरत हो.

ठीक है?”ये क्या, तुम नंगी आ गई?”तुमने मुझे यहाँ बातें करने तो बुलाया नहीं होगा न? तो वक्त बर्बाद न हो इस लिए ऐसे नंगी आ गई. जब पूजा वैसे ही बेजान पड़ी रही तो उसको अहसास हुआ कि पूजा अब भी बेहोश है, तो उसने पास पड़ी पानी की बोतल से थोड़ा पानी पूजा के चेहरे पे गिराया, जिससे वो होश में आई. पण्डित जी ने मुझे कमरे की चाभी सौंप दी, फिर बोले- आप को किसी भी प्रकार की तकलीफ हो तो आप बेझिझक मुझे फ़ोन कर दीजिएगा.

काफ़ी देर तक इसी तरह चोदने के बाद जमाई बाबू ने बिस्तर के किनारे पर बैठ कर अपनी सासू माँ को अपनी गोद में बिठा लिया और चोदने लगे. विकास ने भी अपना मुंह मेरी बहन की चूत में दे मारा और उसे काफी तेजी से चाटने लगा. जहाँ हमारी बेंच में 20-25 लोग बैठे थे, वहीं लड़कियों की बेंच में 7-8 लोग ही बचे थे.

सुमन के साथ सब हंसने लगे और संजय के साथ बाकी सब भी हैरान थे कि ये सुमन अचानक से इतनी फास्ट कैसे हो गई.

इंग्लिश बीएफ हिंदी बीएफ: अब मैं थक गई हूँ… गोदी?मैं- आजा…मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया और हम नंगे ही लेट गए. खुद खोल कर अपनी उंगली से निकाल कर मेरे लंड पर पोती और मुस्कुराने लगा।मैंने कहा- ला थोड़ी सी मैं ले लूं।उसने शीशी आगे बढ़ा दी। मैंने दो उंगलियों में ली.

फ्लॉरा- सिर्फ़ मेरी ही? टीना की गर्मी कौन निकालेगा?अतुल- क्या मतलब है तुम्हारा?फ्लॉरा- वो भी तुम्हें देख कर फिदा हो गई है. टीना- वो तुम मुझपे छोड़ दो, दुनिया का कोई मर्द ऐसा नहीं होगा, जिसको एक साथ दो चुत फ्री में मिलें और वो ना कह दे. उस तो लग रहा था कि मानो वो किसी 18 साल की कुंवारी लड़की की चूचियों को पी रहा हो.

सुमन अब एकदम नंगी थी, उत्तेजना से उसके निप्पल खड़े हो गए थे मगर उसको अभी भी ये डर सता रहा था कि कहीं संजय उसको ऐसे ना देख ले.

फिर धीरे से पूरा लंड एक झटके में अन्दर धकेला वो तो गला फाड़ कर चीखने ही वाली थीं कि मैंने उनके होंठों को अपने होंठों से बंद करते हुए किस किया. तुम तीन दिन की कह रहे हो, मुझे जिंदगी भर याद रहेंगे।सुकांत- अरे सर बहुत दिन नहीं. तो मुझे पता कैसे लगेगा और बिना पता लगे मैं तेरी मदद कैसे कर पाऊंगी?सुमन ने रात से लेकर सुबह अपनी माँ से हुई बहस तक की सारी कहानी टीना को बताई.