बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ हिंदुस्तान

तस्वीर का शीर्षक ,

सनी लिओन सेक्सी फोटो: बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी, इंदु ने मुझे देखते ही आंचल ऊपर कर लिया और मुस्कुराने लगी, बोली- आइये जीजाजी.

20 साल की लड़की की सेक्सी बीएफ

वहाँ पर ज्यादा आबादी नहीं थी और आस-पास ज्यादा घर भी नहीं बने हुए थे. बीएफ कुत्ता की चुदाईतो उन्होंने भी सहानुभूति पूर्वक कहा- अब जो हो गया सो हो गया … आपकी तरह मैं भी आपने आप पर काबू नहीं कर पाई.

कुछ ही पल बाद भाभी अकड़कर झड़ गईं और उनकी चूत का पानी मेरे मुँह में आ गया. बीएफ चोदी चुदाईजब हम पहुंचे तो वहां पर 2-3 पेशेंट ही बैठे थे। आखिर में मेरा ही नम्बर था.

उसे बहुत तेज़ दर्द हुआ तो मैंने उसके क्लिट को धीरे-धीरे दबाना शुरू किया तो उसको थोड़ा आराम मिला.बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी: मैंने उनसे पूछा- क्या आपको जाने की जल्दी है?उन्होंने कहा- नहीं बस उनका ध्यान रखना पड़ता है … ज्यादा ड्रिंक न करें, नहीं तो ऊपर लाना मुश्किल होगा.

मेरे अचानक से आने से वो हड़बड़ा गयी और जल्दी से नाइटी पहनकर मेरी ओर घूमकर पूछा- तुम यहाँ कैसे?मैं बोला- मेरे कपड़े रिंकी की बैग में पड़े हैं, उन्हें ही लेने आया हूँ.मेरी नानी यानि अविका की दादी को थोड़ा कम दिखाई देता है, तो ज़्यादा प्राब्लम नहीं थी.

हिंदी बीएफ सेक्सी इंग्लिश - बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी

उस दिन सुजाता की तीन बार चुदाई हो गई और सुजाता रमेश काफ़ी देर तक ऐसे ही नंगे पड़े रहे.आंटी फिर बोली- सच-सच बता मुझे कब से चल रहा है ये सब?तो मैंने अपनी मम्मी-पापा की कसम खायी तो उनको थोड़ा विश्वास हुआ मुझ पर और वो नॉर्मल होकर मेरे बगल में आकर बैठ गयी और बोली- देखो जो तुमने मेरी बेटी के साथ किया वो ठीक नहीं किया.

उन्होंने तुरन्त बोला- क्यों?मैंने सहज में बोला- ऐसे ही देखूं तो सही. बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी उसकी कमर को चूस करके मैंने लाल कर दिया और फिर धीरे धीरे में उसके चूचों को दबाने लगा.

शीला के चुचे और चूत में मैं इस कदर खो गया कि मुझे ध्यान ही नहीं रहा कि पद्मा ने कितनी बार मेरे लंड का पानी पिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी?

मैंने भाभी की चूत को देखा और पल भर की देर किए बिना ही भाभी की चूत पर अपने होंठ रख दिए. ‘आआहहह … ऊउम्म्म् म्म्मम …’हम दोनों कल रात भी बार बार चुदाई कर चुके थे, परन्तु आज जैसी चुदाई का आनन्द पहले कभी नहीं आया था. मेरी इस हरकत से वह उत्तेजित होकर कहने लगी- भाई क्या कर रहा है?मैंने कहा- बस तुम्हें प्यार कर रहा हूँ.

मैंने ज़्यादा देर ना लगते हुए कहा- रुक जाओ जान … अभी अन्दर करता हूँ. मैंने जानबूझकर बाथरूम का दरवाज़ा लॉक नहीं किया था ताकि भाभी मेरे बाथरूम में नहाने के लिए आए और मुझे इस हाल में देख ले. अभी तक कुत्ते का लिंग थोड़ा बाहर था, पर अब उसका लिंग पूरी तरह बाहर आकर लाल दिख रहा था.

तुम लगभग आठ बजे के करीब हमारे मौहल्ले के बाद वाले नुक्कड़ पर आकर मिलो. उसके बाद मैंने अपने दोनों हाथ उसकी दोनों चुचियों पे रखे और जोर जोर से दबाने लगा. ऐसा लग रहा था कि जाने वो मेरे प्यार को पाने के लिए कब से प्यासी हो.

आसमान ने शोर करना बंद कर दिया और बारिश की तेज़ मधुर आवाज़ आने लगी थी. मैंने उससे जाकर ट्रेन वाली सब बात कुछ इस तरह से बताई कि वो भी चुदाई के लिए राजी हो गई.

उसके बाद जब भाभी को होश आया, तो भाभी ने मुझे धक्का दिया और दूर कर दिया.

वे पापा को समझा रही थीं- आप गुस्सा ना हो, आजकल के लड़कों में तमीज नहीं होती … आप हल्ला मत करो, हमारी ही मोहल्ले में इज्जत चली जाएगी.

सोनू कहने लगी- नाराज़ तो नहीं हो न?मैंने सोनू को दोबारा बांहों में लिया और उसके होंठों पर एक लंबा किस किया और कहा- चिंता मत करो, मैं नाराज़ नहीं हूँ. मैंने दरवाज़े की आड़ ले कर उनसे पूछा- क्या हुआ जी?तो उन्होंने कहा- मुझे जोर की बाथरूम लगी है … और मेरे हब्बी नीचे हैं. मैंने कहा- तो क्या आपके पहले पति ने आपकी आधी सील ही तोड़ी थी?वह बोली- हां, बाकी की आधी भी वह तोड़ना चाहते थे लेकिन मैंने मना कर दिया था.

इंदु बोलने लगी- जल्दी जल्दी कर लीजिये, अब कोई आ गया तो दिक्कत हो जाएगी. मैं दोनों हाथों से उसके चूतड़ दबा रहा था और कभी कभी उसके चूतड़ों पे थपकी भी मार देता था. मामा और पापा कुछ देर में बाहर चले गए और मैं ऊपर छत पर ही था और तभी मामी ऊपर आ गई.

मैं कमला के बारे में सोच रहा था कि क्या होगा, उसकी चुत मिलेगी कि नहीं.

छोटे शहरों में लड़का और लड़की अगर साथ में चल भी रहे हों तो दुनिया उनको ऐसी ही नजर से देखती है. मैंने उसकी चूचियों के अंदर हाथ डाल दिया था और उनको जोर-जोर से भींचना शुरू कर दिया था. उसने पूछा- क्या कर रहे हो?तो मैंने कहा- मेरे लंड को शांत करना है, तेरी बुर तो ठंडी हो गई.

लेकिन यहाँ तो मेरे लंड में आग लगी पड़ी थी, मैंने सोचा अगर यह मौका हाथ से गया तो फिर कभीबहन की चुतनहीं मिलनी है. वो मुझे बहुत गालियां दे रही थी- और चोद साले … और चोद … रंडी बना दे मुझे कुतिया बना ले अपनी. मगर इससे पहले तो सुषी ने मेरे लंड को बिना कंडोम के ही अपनी चूत में ले लिया था.

इधर मैंने उसकी चूचियां चूसना शुरू किया ही था कि सलोनी मेरी जींस खोलने की कोशिश करने लगी.

मैंने सोच लिया कि उसको फोन करके पूछ लेता हूँ, अगर वह आ रहा है तो मैं रुकूंगा नहीं तो फिर मेट्रो लेकर वापस चला जाऊंगा. जैसे ही मैंने एक उंगली थोड़ी सी घुसाई, वो एकदम से उछल कर मुझसे लिपट गई.

बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी मैंने देर ना करते हुए उसका बैग पकड़ कर अन्दर रखा और जल्दी से उसका हाथ पकड़ने के लिए अपना हाथ बाहर निकाला. कुछ ही मिनट के बाद सुषी फिर से मेरा साथ देने लगी और चुदाई के लिए फिर से तैयार हो गई.

बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी अब अड्रेस नहीं बता रहा हूँ … वरना मिर्ज़ापुर के कुछ रंणबांकुरे उसके घर तक़ पहुंच जाएंगे. मुझे कल्पना ने जिस बिल्डिंग का नाम बताया था, वो 21 मंजिल की एकदम शानदार बिल्डिंग थी.

तब महेश अब्दुल को बोला- लगता है वन्द्या का काम होने वाला है, वन्द्या झड़ने वाली है.

सेक्स कैसे करते हैं वीडियो

मैं पीछे जाकर खड़ी हुई तो वहां लेडीज के पीछे फिर जेन्टस और लड़के खड़े थे. आखिरकार लंड जब अपना पानी छोड़ने वाला था, तब मैंने लंड उसकी गांड में घुसाया और सारा पानी उसकी गांड में छोड़ा. मैं इस तरह चिल्लाती रही, लेकिन वो सांड की तरह का गेंडा ठाकुर एक पल के लिए नहीं रूका.

भाभी ने मेरे सिर के बालों को पकड़ा और अपनी चूत में मेरे होंठों को रगड़वाने लगी. आज से पहले मर्दों की मैंने सुनी थी और आज पहली बार कोई मर्द मेरी सुन रहा था. कुछ पल के दर्द के बाद मैंने उसकी टांगें फैला कर गांड के रास्ते को चौड़ा करते हुए चोदना चालू किया.

थोड़ी देर बाद मेरा मूड बनने लगा और मैंने कहा- यदि तुम बुरा ना मानो, तो एक बात बोलूँ?उसने कहा- हां बोल?मैंने कहा- आज मुझे तेरी चुत देखनी है.

वो मुझसे पूछने लगा- सर आप मदन से इतने घुल मिल कैसे गए?तो मैंने कहा- तू ज्यादा दिमाग मत लगाया कर … और मैंने कहा था न कि अन्तर्वासना पढ़. उसकी भरी हुई जाँघें … वाह … जैसे ही उसको चाटा और चूमा, सलोनी ने जोर से सिसकारी भरी- आआआ … ह्ह्ह ह्ह्ह्ह … उफ्फ … बस राहुल बस, उफ्फ …सलोनी पागलों की तरह अपनी कमर को उचका रही थी. वो भी समझ रहा था कि मैं उसके साथ सेक्स करना तो चाहती हूँ लेकिन नारी सुलभ विरोध कर रही हूँ.

वो झिझक रहा था तो मैंने उसकी धोती निकाली और उसका 2 इंच के पाइप जैसा मोटा और लम्बा देसी लंड देख कर मस्त हो गई. मैं फिर से उसके निप्पल चूसने लगा थोड़ी सी लार लगा कर उसके निप्पलों को बार बार चूमता और जीभ से घुंडी को सहला कर चूसने लगता. मैं एकता की पीठ पर चुम्मा चाटी करने लगा और दोनों आपस में किस करने लगीं.

उसने मेरी गांड को थपथपाते हुए इशारा किया, तो मैं झट से पलंग पर चूत फैला कर लेट गई. इसके बाद मैं भाभी की ब्रा को फाड़ कर अलग करते हुए उनके मम्मों को चूसने और दबाने लगा.

मुझे शेर-ओ-शायरी का बहुत शौक है जबकि उनको ये सब बिल्कुल भी नहीं जमता है. डॉली ने हैंड शावर ले कर लंड पर लगे झाग को साफ किया और फिर लंड पर टूट पड़ी. पटेल जैसे ही मेरी एक टांग को पकड़कर कर फैलाने लगा कि जहां बारात आयी थी, उधर से तीन चार लोग बातें करते उधर को आने लगे.

या फिर कुछ मौसम और मेरे सहकर्मियों की बातों का असर था कि मुझमें चुदाई की तीव्र इच्छा जागृत हो गयी थी.

बातों ही बातों में उसने बताया कि उसे मॉडलिंग और एक्टिंग का बहुत शौक है. उसके मम्मे वाकयी इतने हाहाकारी थे कि पहली ही नजर में किसी को भी पागल कर दें. ज़रीना अब काफ़ी हद तक गर्म हो चुकी थी, वह चुदवाने को बेक़रार थी, उसने मुझसे कहा- अब करते क्यों नहीं, जल्दी करो, अब नहीं रहा जा रहा.

शुरू में धीरे दो तीन मिनट के बाद फुल स्पीड में धक्के चालू कर दिए, जिससे शुरूआत में तो एकता जोर जोर से मुझे गालियां दिए जा रही थी … लेकिन बाद में उसे अब बड़ा मजा आने लगा था. मगर किस्मत से मैं छूट गई थी और मेरी पेंटी न मिली तो मैं बिना पेंटी के चली आई.

अब मुझे ये तो नहीं मालूम था कि ये कल्पना ही है या कोई और? इसलिए मेरी कुछ भी बोलने या पूछने की हिम्मत नहीं हुई और मैं बस चुपचाप बैठा रहा. संजीव ने पीछे हाथ लाते हुए मुझसे हाथ मिलाया और गाड़ी शहर की तरफ मुड़कर सड़क पर दौड़ने लगी. हम तो बचपन ही से बस इसी जुगत में लगे रहे कि भूखे पेट न सोना पड़े, दो जोड़ी फटे हुए कच्छे बनियान और दो जोड़ी कपड़े हैं, न कोई धन.

सेक्सीचुत

बाथरूम जाने के लिए जब मैंने जग का सहारा लिया और उसी के सहारे से उठी, तो मुझे चक्कर आने लगे.

मैंने गौर किया कि वो मेरी योनि से खेलने के साथ साथ बीच बीच में अपना लिंग भी पकड़ के सहलाता और हिला रहा था. मुझे इस वक्त अपनी सास एक ऐसी पोर्न एक्ट्रेस लग रही थीं, जो ब्लोजॉब देते समय सिगरेट का धुंआ लंड पर छोड़ती जाती है. एक बार तो मुझे वह मुझे सरप्राइस किस भी कर देता था, मुझे बहुत मजा आता था.

पर निहाल नहीं रूका और लहंगे के नीचे घुस कर उसने सीधे मेरी पेंटी को वहां से पकड़ लिया जहां चूत थी. अपनी बनियान और कच्छा उतार कर मैं नंगा दोनों के नज़दीक जाकर उनकी चूचियां दबाने लगा. देसी बीएफ वीडियो पिक्चरपापा करवट लेकर अपनी एक टांग को मम्मी के पट पर रखकर कभी मम्मी का चूचा सहला रहे थे तो कभी मम्मी की चूत पर हाथ फिरा रहे थे.

धीरे धीरे उनकी मस्त आहें फिर से निकलने लगीं, तो मैंने एक लास्ट धक्के के साथ अपना पूरा लंड उनकी बुर में घुसा दिया. वो क्या है ना कि हम मिर्ज़ापुरयों को अपने टेलेंट पर पूरा भरोसा होता है.

उसके जाने के बाद मैं और वाणी बैठ कर उस शाम के बारे में बात करने लगे. अब वो ऋतु की गांड में लंड डालने लगा और उसने मुझसे बोला- चल आ आकाश … अपने हाथों से अपनी वाइफ के दोनों चूतड़ों को अलग कर, जिससे इसकी गांड का छेद और खुल जाएगा … फिर तू इसकी गांड के छेद में भर कर क्रीम लगा देना. जब मैंने उसका लंड चूस कर गीला कर दिया, तो उसने मेरे मुँह से मेरी पसंदीदा कुल्फी खींच ली.

जैसे ही वो गांड नीचे करके चुत उसके मुँह पर दबाती, वो उसकी चुत पर जोर से काट लेती और जैसे ही गीता वापस गांड ऊपर करती, मेरी उंगली और अन्दर हो जाती. और ज़ोर ज़ोर से पेल मेरे हीरो रॉकी!उसकी ये बातें उसकी इतने सालों से दबी कामुकता को बयान कर रही थीं. मैं उसको साइड में लाया मतलब भाभी के पीछे लाने में मेरा खड़ा लंड उसको चिपक कर चलते हुए, एकदम उसकी गांड के छेद में हल्का सा सैट हुआ और फिर टच होते मैं साइड हो गया.

मैं अभी 25 साल का हूँ और मेरी कद काठी बहुत मजबूत, बिल्कुल एक जिमनास्ट की बॉडी जैसी है.

उसने अपने घर का पता मुझे दे दिया और कहा कि तुम सुबह 11 बजे के आस पास घर आ जाना. भाभी जी के बात करने के तरीके से लग रहा था कि वह पूरी तरह से चुदासी हो गई थीं.

समय दिए बिना मैंने दूसरा झटका मारा, और पूरा लौड़ा उसकी चूत के अंदर घुसा दिया. उसके आते ही मैंने उसे ज़ोर से हग किया और एक दूसरे को किस करने लग गए. मैंने फ़िर से उसकी ब्रा उतार दी … वाऊउउउ … उसकी चूचियां देख कर मैं तो चकित ही रह गया.

दो औरतें और चार आदमी काम कर रहे थे, उसमें वो भीमजी अंकल न था, ये भी बहुत अच्छा हुआ. वह अपने लण्ड को जड़ तक पेले हुए मेरी पसीने से भीगी हुई काखों के पसीने को चाट रहे थे. मैं भी बस यही सोचती रही कि उसने ऐसा क्यों कहा, शायद वो नीचे सर करके रो रहा था.

बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी सच तो यह है कि मैं अंतर्वासना पर कहानी पढ़ पढ़ कर सेक्स की आदी हो गई हूं. लिंग के घुसते ही सरदार जी बोल पड़े- अब सही लगा है, ज्यादा देर नहीं सारिका जी, थोड़ी देर में ही फंस जाएंगे ये दोनों.

देहाती बुर चुदाई वीडियो

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:बड़े लंड से दो चूत चोदने का मजा-2. वो खुद अपने हाथ से उसे खड़ा करने की कोशिश कर रहा था, पर इतनी जल्दी उसका कैसे खड़ा होता. यह बात 4 महीने पहले की है, जब मैंने एक ऐप डाउनलंड की थी, जिसमें हम जिससे चाहें, उससे चैट कर सकते थे और वीडियो कॉल भी कर सकते थे.

दलअसल जिस बिल्डिंग में हम रहते थे, उसी में दो फ्लोर ऊपर एक ऐसा फ्लैट था, जिसमें हमारे ही ससुराली रिश्तेदार रहते थे लेकिन नौकरी के चलते वह दो साल से आउट ऑफ कंट्री रह रहे थे. वो मुझे कुदरत की तरफ से मिली एक बख्शीश है, इसे देख कर सिर्फ लड़कियां ही मुझसे जलती हैं, बाकी सब इसे चाहते हैं. भाभी की चुदाई बीएफ सेक्सतब वो आदमी मेरे सामने मेरी पैंटी को अपनी नाक के पास ले जाकर सूंघने लगा.

ठन्डी बियर के कारण उसकी घुन्डियां एकदम टाइट हो गयी थीं, तो मैंने ज़ोर से चूसते हुए उसे हल्का सा काट लिया.

मैंने उस वक्त दीदी को चोदते हुए पूछा- दीदी मेरा साथ कैसा लग रहा है?दीदी ने नीचे से गांड उठाते हुए जर्क दिया और कहा- यानि?मैंने कहा- तुम मुझसे संतुष्ट तो हो?दीदी ने कहा- हां ठीक है, कोई चिंता नहीं. उसके जाने के बाद मैं और वाणी बैठ कर उस शाम के बारे में बात करने लगे.

अभी तक कल्पना ने स्कार्फ़ निकाला नहीं था और उन्हें देखने के लिए मेरी उत्सुकता वैसे ही बनी हुई थी. हमारे रूम के ठीक राईट साइड में एक घर था, जिसमें अंकल, आंटी और उनके 2 बच्चे रहते थे. मैं भी आंटी के बाद कुछ पल का विराम देकर खेत से बाहर आ गया और हम आगे बढ़ने लगे.

चल जल्दी से भाग चलें, नहीं तो बहुत ज्यादा गड़बड़ हो जाएगी और बहुत पिटेंगे.

फ़िर बाहर आ कर हमने फ़िर थोड़ा खाना खाया और बिस्तर पर लेट कर पैग लगाने लगे. दर्द से तड़प कर मैं बोली- मुझे नहीं करना मार डालेगा क्या छोड़ दे कुत्ते … मादरचोद मत कर … मैं मर जाऊंगी. जब भी मैं किसी पार्टी में जाती हूँ तो वेस्टर्न ड्रेस ही पहन कर ही जाती हूँ.

लड़की लड़का का बीएफ वीडियोउसने गहरे गले की कुरती पहनी थी … और टाइट ब्रा थी, फिर भी इतने बड़े बूब्स को ढक पाना मुश्किल था. आप अपनी पसंद का कोई भी ड्रेस ले लो, स्कर्ट या नीचे पहनने का, जो भी आपको अच्छा लगे.

रेप वाली सेक्सी वीडियो

रोज रोज एक जैसे लंड से चुदाई का अहसास अच्छा नहीं लगता, इसे बदलते रहना चाहिए. आह … उम्म म्म्म म्मम … बड़ी ही मस्त फीलिंग थी … मैं आपको उस अनुभव को शब्दों में बता ही नहीं सकती. यह पढ़ कर मुझे बड़ा गुस्सा आया, मैंने भी रिप्लाई किया- एक बार मेरे लंड के सामने गांड आ गयी ना … फिर चाहे तुम्हारी हो या किसी की भी … थप्पड़ मार मार के लाल कर दूंगा, फिर जाके गांड सैंकोगी अपनी.

सुखबीर, मेरेपड़ोसी से सम्भोग का सुखपाने के बाद हम दोनों कभी दोबारा नहीं मिले और न उसने कभी जोर दिया. मेरी कजिन को भी मेरे हाथों की हरकत से और लंड की सख्ती से पता चल गया था कि मेरा सेक्स का मूड बन गया है और लंड खड़ा हो चुका है. रिशु- मिशिका, थैंक्स फ़ॉर नम्बर।मिशिका- इतनी भी फॉर्मेलिटी करने की जरूरत नहीं है.

उतने में अंकल का कॉल आया-आज मत आना … आज बहुत पानी बरस रहा है, सब रास्ते बन्द हैं. वह मेरे लंड से चुदकर इतना आनंद ले रही थी कि उसने मुझे बुरी तरह अपने से चिपका लिया. उसका नाम मैं यहाँ पर नहीं बता सकता लेकिन बिना नाम के कहानी का किरदार समझने में पाठकों को परेशानी न हो इसलिए मैं उसका नाम बदलकर लिख रहा हूँ।उसका नाम नीरू था.

एक दिन मम्मी पापा को किसी शादी में जाना था, तो मैंने पहले से ही तैयारी कर ली कि आज तो अपनी चूत में गाजर या बैगन डाल कर मज़े लूँगी. इस दौरान मेरा बायाँ हाथ उसके बालों पे था, जिससे मैंने उसकी गर्दन को पीछे को खींची हुई थी.

मैंने भी कह दिया- अगर आप मुझे किस करती हो, तो मैं समझूँगा आपको भी मुझसे कोई शिकायत नहीं है.

मैंने कहा- आप उसे छोड़ो, बताओ आपकी क्या सेवा करूँ?हेमा भाभी कहने लगी- मैं तो अपनी एक प्रॉब्लम बताने तुम्हारे पास आई थी. 2021 के बीएफ हिंदी मेंमैंने कहा- अभी हमारी शादी नहीं हुई है भाभी … शादी होनी तो अभी बाकी है. थ्री एक्स बीएफ थ्री एक्समैंने अपने बॉयफ्रेंड को कॉल किया और पूछा कि कहां हो आप?तो उसने कहा- मैं अपने दोस्तों के साथ घूमने आया हूं. ऐसे लग रहा था, जैसे हम दोनों सदियों से प्यासे हों … और पहली बार यूँ नंगे होकर लिप किस कर रहे हों.

उसने पूछा तो मैंने बताया कि मोबाइल कम बैटरी की वजह से स्विच ऑफ़ हो गया है.

वैसे क्या निकालूँ?कल्पना- अपना वो …कल्पना को छेड़ने के लिए मैंने फिर से पूछा- मेरे लंड की बात कर रही हो क्या?उन्होंने हल्की सी स्माइल के साथ ‘हां कहा. और पीछे से तो कुंवारी थी, उसकी गांड का तो उद्घाटन भी मैंने ही किया. पहली बार जो देखी थी मैंने अपनी बहन की चूत। फिर मैं धीरे से क्लिटोरिस को उंगली से छेड़ने लगा तो उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया.

मैंने उसकी कमर को अपने दोनों हाथों से पकड़ रखा था और ‘दे दनादन …’ अपना लंड उसकी चूत में दिए जा रहा था. फिर उसी हफ्ते के शनिवार को सुबह-सुबह ही मेरे फोन की रिंग से मेरी नींद खुली तो देखा कि संध्या का ही कॉल था. मैंने पूछा- कैसी हो तुम, मम्मी ने तुमको ज्यादा डाँटा तो नहीं?वह बोली- मैं ठीक हूँ.

मियां खलीफा एक्स एक्स एक्स वीडियो

मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी हथेली पर रख दिया, मेरे मुंह से निकल पड़ा- ठीक है, हम दोस्त हैं अमित जी. जो लौंडा मेरी गांड में लंड डाले मेरी चुदाई कर रहा था, वह भी मेरी पीठ के तरफ से आगे को हुआ और बोला- एक बार अपना चेहरा दिखा दे. ‘शीला जी, पद्मा जी, आपकी और हमारी शादी तो हो गयी, पर हम आपको बता दें कि हमने कभी किसी औरत को हाथ भी नहीं लगाया और न ही कभी किसी को गलत नज़रों से देखा, आप दोनों तो फिर भी तजुर्बेकार हैं.

उसके कबूतर (बूब्स) बत्तीस इंच के रहे होंगे जो उसकी सुंदरता में चार चाँद लगाते थे.

वो बोली- कोई बात नहीं भैया! आप करते रहो ना… लंड को रगड़ो ना मेरी चूत में … बहुत अच्छा लग रहा है मुझे!जब वो दर्द सहने को तैयार दिखी तो मैंने उसे कहा- लेकिन किसी किसी लड़की को पहली बार लंड घुसवाते समय ज्यादा दर्द भी होता है.

तो फिर उसने कुछ फोटो हटाई तो फिर पता नहीं मुझे क्या हुआ कि मैंने उसको ऐसा करने से मना कर दिया और बोली- नहीं हटाओ, रहने दो … अभी हम दोनों के सिवा कौन है यहाँ।इसके बाद उसने मुझे बैड पर बिठाया और फ्रिज में से केक निकाल कर बाहर रखा और बोली- यह मेरे अच्छी दोस्त के लिए जो आज दुल्हन की तरह सजी है. लंड सलहज की बच्चेदानी पर बार बार टकराता और वो सिसकारी लेती, इससे मेरा जोश और बढ़ जाता. एक्स एक्स एक्स बीएफ फिल्म भेजोभाभी बोली- हाँ ज़रूर …और उसके बाद दूधवाला मुझे किस करने लगा और बूब्स दबाने लगा.

जब भी कभी मैं मेरे भाई-भाभी को साथ में हंसते हुए देखती हूँ … तो मुझे भी किसी की ज़रूरत महसूस होती है. आह्ह … उसके होंठों को चूसते हुए उसकी चूचियां दबाने में जो मजा आ रहा था वह मैं शब्दों में यहाँ पर कैसे बताऊं! मैं तो जैसे जन्नत में था उस वक्त. मैं कुछ मूवीज़ की सीडी लेने आपके रूम में गया और वहीं पर मूवी देखने लगा लेकिन उसमें पॉर्न मूवी थी और मुझे आपके बेड पर कपड़े बिखरे पड़े हुए दिखे और कपड़े ठीक करते वक़्त उसमें से मुझे आपकी पेंटी मिली और मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैं पेंटी में मुट्ठ मारने लगा और तभी अचानक आपने मुझे ऐसा करते हुए देख लिया.

उसके बाद सुषी ने मुझसे वहीं पर बैठने के लिए कहा और फिर वो ये कहकर अंदर चली गई कि हम खाना परोस कर लाती हैं उसके बाद तीनों ही साथ में बैठकर खाना खाएंगे. उसने साड़ी मुँह से निकाल कर कहा- पहली ही बार है … बस उंगली का कमाल है बेटा, जो तेरा आसानी से चला गया … जल्दी कर पूरा डाल.

फिर मैंने और तेरे पापाजी ने मिल कर फैसला किया कि किसी भी तरह उसे शादी के लिए मनाना है और उसके लिए हमे ऐसी लड़की की जरूरत थी, जो हमारी परेशानी समझ सके.

वो भाग कर मेरे पास आया और बोला- अरे मुझे बोल दिया होता, मैं बैठा था न … आपको अकेली को आने की क्या जरूरत थी. और जब वो आगे को झुकी, तो मेरी निगाह उसके कमीज़ के गले के अंदर गई। अंदर दो दूध से गोरे, गोल मम्में दिखे। बस देखते ही मेरा तो मन मचल उठा, मैं सबसे नज़र चुरा कर बार बार उसकी कमीज़ के गले के अंदर देख रहा था। उसके मम्में देख कर मेरा तो लूडो के खेल से मन ही उठ गया। मैं तो अब कोई और ही खेल खेलना चाहता था। मगर चाह कर भी मैं सुमन से वो सब नहीं कह सकता था, जो मेरे मन में था. अब तो मैं वासना के अंतिम छोर में पहुंच गई थी और रोके से भी मेरी सिसकारियां नहीं रुक रही थीं.

सेक्सी बीएफ ब्लू हिंदी में मैं जब से इस बिल्डिंग में आया था, मैं उनको किसी ना किसी बहाने से देखता और टच करने की कोशिश करता रहता. मेरे कहने भर की देर थी कि भाभी ने मेरे लंड को मुँह में भर लिया और मस्ती से लंड चूसने लगीं.

अब मुझे बस जग के आने का इंतज़ार था क्योंकि जिस बेनाम रोग के साथ मुझे वो छोड़ गया था, उसका इलाज भी उसी के पास था. मगर न जाने क्या हुआ, पैर उठाकर कपड़े उतारते वक्त प्रशांत का टावेल सरक कर नीचे जा गिरा. इतने में फिर से पता नहीं कैसे उधर से निहाल आ गया और वह जो मेरी गांड में लंड डाले हुए था, उससे बोला- अरे भैया तुम यह सब क्या कर रहे हो.

सेक्स मजा

जब लंड ढीला होकर बाहर आया तो मैंने उससे कहा- तुमने यह क्या कर दिया मुझे फुसला कर. मैं उसके पीछे आ गया, तो मैंने अपना लंड पीछे से उसकी चूत में डाला और चोदने लगा. इस तरह की आवाज अपने आप मेरे मुँह से निकल रही थीं कि अचानक से दरवाजा खुला और सोनम की मम्मी उसकी चाची और सामने वाली एक लेडीज सामने आके खड़ी हो गईं.

लेकिन मुझे नहीं पता था कि वो पहली लड़की तू होगी तो इसलिए बस थोड़ा सा अपने भाई के लिए सहन कर ले. उसके अहसास से ही मेरी चूत में से पानी बहने लगा था। इतने में ही दरवाजे को बाहर से कोई ठोकने लगा.

मैंने रिंकी का बैग खोला और देखकर दंग रह गया, उसमे मेरे कपड़ों के साथ साथ उसकी ब्रा और पैंटी भी थी.

ये कह कर मैंने वीडियो कॉल चालू रख कर अपने कपड़े उतारे और दराज में से एक नापने वाला टेप निकाला, जो टेलर लोग ड्रेस का माप लेने के लिए रखते हैं. उसका मोटा लंड देख कर मेरी आह निकल गई और मैं उसके लंड को एकटक देखने लगी. आज से मैं तेरी हूँ।तभी मैंने आंटी को डॉगी स्टाइल से सेक्स करने के लिए तैयार कर लिया.

कुछ देर बाद हम दोनों सेक्स करते करते झड़ गए और हम दोनों का पानी निकल गया. शायद आप यहां तक आकर ये जानना भी चाहते होंगे कि मेरी काया कैसी लगती है. जैसे चूत से कोई बहुत गर्म गर्म पिचकारी से निकलने को हो और मुझे इसका अहसास भी हुआ.

फिर साड़ी एक हाथ से समेट कर दोनों जांघें फैला उसके लिंग के ऊपर बैठ गयी.

बीएफ सेक्सी वीडियो मद्रासी: पांच मिनट दे दनदना दन करने के बाद जैसे मेरी आंखों में नींद सी भर आई और मेरे लंड ने वीर्य की एक जोरदार पिचकारी सारा की चूत में छोड़ दी और मैं निढाल होकर बिस्तर पर लेट गया. मैंने कुछ गे सेक्स की वीडियो झा जी को भेज दिए और उनसे कहा- अभी बाथरूम में जाकर इन्हें देखो.

मैं मामी की चूचियों को इतनी जोर से मसल रहा था कि उनकी चूचियां एक की दो हो गई थीं. मैंने इसी मदहोशी में पुनीत को बोला- चोद कुत्ते साले और मेरी गांड में डाल. वो हंसने लगी और कुछ ही समय के बाद उसने मुझे मेरे घर के आगे छोड़ दिया और वो चली गई.

उफ्फ … क्या बताऊं दोस्तो, इतना मजा आ रहा था कि मन कर रहा था मैं सीमा को दांतों से काट कर खा जाऊं.

मैंने उन को गोद में उठाया और बिस्तर पर ले आया और फिर उनकी चूत में डंडा पेल कर उनकी धकापेल चुदाई चालू कर दी. थोड़ी देर तक ऐसे ही लेटा रहा, वो बिल्कुल सीधे सो रही थी। फिर मैंने अपना एक हाथ धीरे से उसके बूब्स पर रख दिया जैसे अनजाने में रखा हो लेकिन उसने मेरा हाथ नहीं हटाया. पापा मुझे गाली देते हुए कहने लगे- अबकी बार चुदना तो क्या, साली तुझे चलने लायक भी नहीं छोडूंगा.