बीएफ सेक्सी पति

छवि स्रोत,बीएफ फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

जिओसिनेमा सेक्सी पिक्चर: बीएफ सेक्सी पति, अगले दो-तीन मिनट तक वो मेरे लंड पर मुंह को चलाती रही तो मेरा वीर्य निकलने हो गया.

आंटियों का बीएफ

मैंने कहा कि भाभी थोड़ा सा पीछे होकर बैठ जाओ, मुझे परेशानी हो रही है. नौकरानी की चूत चुदाईघप्प घप्प लण्ड जाता मामी की चूत में जाता तो मामी बोल रही थी- अह्ह्ह्ह साहिल … मेरे प्यारे भांजे … कितना मस्त तुम पेलते हो, पूरा मज़ा देते हो.

[emailprotected]भाभी की चुदाई कहानी का अगला भाग:अनजान भाभी की चुदाई उसी के घर में-2. एक्सएक्स मूवीटांगों को चौड़ी करने से मां की चूत भी फैल गई थी और चूत अंदर से साफ दिखाई दे रही थी.

रूम में 50 से 60 की उम्र के आदमी थे, जिसमें अधिकतर आदमी रानी के हुस्न को देख रहे थे.बीएफ सेक्सी पति: वो सोफ़े पर बैठी थी और उसने अपनी ड्रेस उतार कर मेरी एक शर्ट पहन ली थी, जिसके कुछ बटन खुले थे.

मैंने महक को बेड पर लिटा दिया और उसकी गीली चूत पर अपना गर्म लंड रख दिया.वो रूम में आया और मेरे पैर को सहलाते हुए अपना हाथ मेरे चूतड़ों पर फिराने लगा.

ब्लू फिल्म फुल हद हिंदी - बीएफ सेक्सी पति

जाते वक़्त नीलोफर ने मेरा नंबर ले लिया कि अगर उसे आगे इस बारे में कोई जरूरत पड़ती है, तो वो मुझसे सम्पर्क कर सकेगी.पर मेरे ज्यादा जोर देने पर वो मेरे साथ वो वीडियो देखने के लिए मान गईं.

दो मिनट के बाद जब वो सामान्य होने लगी तो मैंने धीरे धीरे करके अपने लंड को उसकी बुर में चलाना शुरू कर दिया. बीएफ सेक्सी पति हम दोनों ससुर बहू को चुदाई करते हुए 10 मिनट हो चुके थे और फिर मेरा पानी एक बार फिर निकल गया था.

मैं बाबा की मंशा और मुझे औलाद का सुख देने के तरीके को समझ चुकी थी और मैं इसके लिए मानसिक रूप से तैयार भी थी.

बीएफ सेक्सी पति?

चूंकि मैं हड़बड़ी में थी तो सामने से आती हुई बाइक दिखाई नहीं दी और मैंने बाइक वाले को ठोक दिया और वो लड़खड़ाकर गिर गया. उस समय मैं बाथरूम में अपनी आंख बंद किए अपने लंड को अपने हाथ लेकर हिमानी का नाम लेकर बड़बड़ा रहा था- मेरी जान हिमानी जब तुम इतनी नशीली हो … तुम्हारी चूत भी बहुत नशीली होगी … आह एक बार अपनी नशीली चूत का दीदार तो करा दो … मेरी जान!उसी समय हिमानी मेरे सामने खड़ी होकर मुझे देख रही थी. सोनल थोड़ी देर ही मेरा लंड चूस पायी थी कि तभी उसकी बहन काजल ने सोनल के मुँह से मेरा लंड खींच कर निकालने का प्रयास किया.

जेठ जी पिछले चालीस मिनट से वो मुझे पोजिशन बदल कर चोद रहे थे।मैं उनके स्टेमिना की दीवानी हो चुकी थी। अब मेरी चुत में दर्द होने लगा था लेकिन उस दर्द में भी मुझे मज़ा आ रहा था।लगभग एक घंटे चोदने के बाद उनकी स्पीड बढ़ने लगी और दस बारह झटकों बाद अपना लन्ड निकाल कर मेरे मुंह में दे दिया और अपना पूरा वीर्य मेरे मुंह में उड़ेल दिया. शोभा की ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उईई आआआ’ की आवाज मुझे और तेजी से चोदने को मजबूर कर रही थी. उसकी चूचियों की घाटी मुझे नीचे हिलती हुई दिखाई दे रही थी जो मेरी उत्तेजना को और ज्यादा तीव्र कर रही थी.

फिर पापा ने मुझे नीचे गिराया और मेरी स्कर्ट ऊपर करके मेरी कच्छी को नीचे कर दिया. मेरी आंख खुली, तो देखा कि वो गद्देदार चीज और कुछ नहीं, अमीषा के आम थे. इसलिए जब भी किसी गड्डे में बाइक के आने से झटका लगता तो वो खुद ही एकदम मेरी पीठ से चिपक कर अपनी चूचियों को रगड़वाने का मजा लेने लगी थी.

इतनी देर में लंड में भी ढीलापन आने लगा और थके योद्धा की तरह चूत से फिसल कर धरातल पर आ गए. तभी उनकी नजर भी मेरी पैंट पर पड़ गयी और वो भी मेरी पैंट में बने तम्बू को देखने लगीं.

इससे प्रशान्त की मम्मी रोते हुए अपने घर चली गईं और सब मेहमान भी चले गए.

रानी बोली- मेरे राजा, मेरी चूत का सुराख अभी पूरी तरह से नहीं खुला है.

जी कर रहा था कि अभी उस पर टूट पड़ूँ कैसे भी करके!सोचते सोचते मैंने फिर से करवट बदली और उसकी तरफ मुँह करके लेट गया. पर काफ़ी दिनों से मैं सागर से मिली नहीं हूँ, तो जिस्मानी भूख भी समझते ही हो. मेरे लंड का साइज भी काफी अच्छा है इसलिए कविता को भी लंड के साथ खेलने में मजा आ रहा था.

उसने राजश्री के होंठों को चूसना शुरू कर दिया और राजश्री भी उसका साथ देने लगी. वो चुदासी सी बोली- ज्यादा देर मत लगाओ यार … पहले जल्दी से मुझे शांत कर दो. जब वो पूरी तरह से शांत हुआ तो उसने सीट के नीचे हाथ डाला और पन्नी को खींच कर बाहर निकाला.

मैंने भी वहीं से कमर को ऊपर नीचे करना शुरू किया और उसके मुँह को चोदना शुरू कर दिया.

जिस कारण मैं छोटी के साथ अल्प समय ही घपाघप कर सका और वह स्खलित हो गयी. अचानक ही मेरा लंड अकड़ने लगा और उसके साथ ही पूरे बदन में लहर सी दौड़ गयी और मैंने अज़रा की गांड में वीर्य गिराना शुरू कर दिया. मैंने बिना वक़्त गंवाए उससे पूछा- क्या मैं तुम्हें किस कर सकता हूँ, अगर तुम बुरा न मानो तो?कुसुम- बिल्कुल … तुम कर सकते हो.

मूवी से आने के बाद हमने आपस में बात करके कार्यक्रम की रूपरेखा निश्चित कर ली. सोनल तो जैसे कोई पोर्नस्टार हो … उसकी लंड चूसने की कला से मुझे बहुत मजा आ रहा था. अब मैंने अपने दोनों हाथ टी-शर्ट के ऊपर से ही उसके सुडौल मम्मों पर रखकर दबाने लगा.

मेरे बाहर आते ही पूजा भाभी भी अन्दर घुस गईं और वो भी नहा कर बाहर आ गईं.

मैंने कहा- आंटी जी, ताई जी ने कहा है कि आपके यहां कुछ लोगों का नहाने का प्रबंध करना है. साथ ही बीच बीच में ऊपर उठी उसकी गांड के आसपास के हिस्से को नजाकत से सहला रहा था.

बीएफ सेक्सी पति मैंने भी बहुत बार सोचा कि अपने जीवन की कुछ सेक्स घटनाएं पाठकों के साथ साझा करूं. मैंने उसको नम्बर नहीं बताया बल्कि यह बता दिया कि वो यूट्यूब पर *** के नाम से सर्च करे.

बीएफ सेक्सी पति लगभग दस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद वो एकदम से चिल्लाते हुए निढाल पड़ गई. वो मेरे दूध मसलता हुआ बोल रहा था- आह सविता मेरी जान … चूस ले इस लंड को बहुत तड़पाया है तूने इसको … वाहह मेरी रानी और ज़ोर से चूसो … एकदम अन्दर तक लो.

अन्दर जाकर मैंने अपना हाथ उनकी साड़ी के अन्दर डाल दिया … वह एहसास मुझे आज भी याद है.

हिनदि बियफ

जिन्दगी में पहली बार कोई लड़की इस तरह से मेरे सामने खुद अपने जिस्म को सौंपने पर उतारू हो रही थी. वो मुझे ऐसे बोला, तो मुझे बड़ा अच्छा लगा और वो मुझे झाड़ियों में ले गया. जैसे कि हम दोनों बचपन से ही साथ में सोते थे, वैसे ही आज भी हम साथ में सो गए.

मेरा लंड पहले ही टाईट हो गया था, उसके लंड पकड़ने से लंड एकदम से फनफनाने लगा. अभी तक तो मामा-मामी और उनके तीन छोटे बच्चे हमारे घर पर भी आते-जाते रहते थे लेकिन मामा की बड़ी लड़की सुमन से मैं कभी नहीं मिला था. थोड़े देर में मेरा लंड एक जबरदस्त वीर्य का फव्वारा छोड़ते हुए पुच्च से चूत के बाहर निकल गया.

इस दौरान हमें एक दूसरे को अच्छी तरह से जान लेने और समझ लेने का मौका मिला.

उसके बाद मैंने फिर से लंड को हाथ से पकड़ कर मॉम की चूत पर सैट किया और अन्दर डाल कर चुदाई शुरू कर दी. कविता मेरी लोअर के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ कर खींच रही थी और बदले में मैं भी कविता के पूरे जिस्म पर हाथ फिरा रहा था. मेरी बांहों के घेरे में आते ही उसके बदन में करंट सा दौड़ गया और उसके गर्म से जिस्म की छुअन ने मेरे अंदर एक उन्माद सा पैदा कर दिया.

एक पल का झटका लेने के बाद ब्रून ने रानी की चूचियों को पकड़ते हुए उसे सहारा दिया. मैंने भी थोड़ा सा केक लिया और उसके गाल पर लगाने के लिए हाथ उठाया लेकिन वो बचकर एक तरफ हो गयी. मैं बड़ी हिचकिचाहट के बाद अपनी इस सेक्स कहानी को आप सभी के लिए लिख सका हूँ.

उसके बालों को सहलाते हुए मैंने कहा- सच कहूं तो तुम्हारे चूतड़ों ने पहले दिन से ही मेरी हालत खराब कर रखी है. मैंने लंड बाहर निकाल कर कंडोम हटाया और उसके मुँह में लंड ठूंस दिया.

इस बार अलीशा दीदी की आंखों से आंसू निकल आए और वो ज़ोर से चिल्ला दी- आआअहह … मर गई … उहह … आह सौरभ बहुत दर्द हो रहा है. मैं आपको बता दूं कि मुझे सेक्स करने के लिए 20-22 के लड़के ज्यादा पसंद आते हैं. मैंने अपनी बहन की चूत की प्यास को कैसे शांत किया?मेरी रियल सेक्स कहानी के पिछले भागमामा की लड़की की सीलतोड़ चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मैं दिल्ली में अपने मामा के घर पर घूमने के लिए गया हुआ था.

वो बोला- साली, अब तो तू कुतिया बन जा बहन की लौड़ी … आज देख कैसे तेरी मां चोदूंगा.

बस अब मैंने भी आव देखा न ताव, उन्हें अपने नीचे लिटाया और एक बार में पूरा का पूरा लंड भाभी की चूत में पेल दिया. कुसुम की तरफ से कोई विरोध न देखते हुए मैंने एक हाथ धीरे धीरे ऊपर करते हुए उसके पेट से होते हुए उसके मम्मों पर रख दिया. उसके जाते ही एक खनखनाती सी आवाज मेरे कानों में पड़ी- सुनिए!मैंने पलट कर देखा तो बस देखता ही रह गया.

पहली बार सेक्स स्टोरी लिखी थी तो अनुभव नहीं था इसलिए गलती पर ध्यान न दें. लगभग छह साल पहले उसकी शादी दिल्ली में रहने वाले एक युवक से हुई तो वह बंगलौर से दिल्ली आ गई.

किसी तरह 1 घंटा बीता तो मैं इंतेज़ार करने लगा कि भैया कब बुलाएंगे।तभी उन्होंने आने का इशारा किया तो मैं शर्माते हुए उनके पास गया तो उन्होंने मुझे दूसरी किताब दिखायी. जब मैंने उससे एक दिन के लिए उसके रूम की बात की, तो वो झट से राजी हो गया और उसने मुझसे हां कह दी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:हनीमून में चालू बीवी के कारनामे-3.

सेक्सी वीडियो कुंवारी लड़की का

उसने मेरी टी-शर्ट के बटन खोल दिए और मैंने उसका साथ देते हुए शर्ट को निकल जाने दिया.

अंकल के सर को अपने पैरों की कैंची में जकड़ कर मैं ज़ोरों से झड़ने लगी. मरीज के सामने मैंने उसे एक काम दिया और बोला कि जल्द ले आओ … और उसके बाद मैं निकलूँगा. पापाजी अपने रूम में चले गए और मैं अपने रूम में गयी तो पति मुझे देखकर बहुत खुश हुए.

ब्रून ने अपने लिए डियर सुना तो उसकी तो बांछें खिल गईं, उसने फॉल को लेकर बताना शुरू कर दिया कि टैक्सी से आप खुरपा ताल के ऊपर तक जा सकते हो. फिर मेरे दिमाग़ में एक आइडिया आया कि क्यों ना अपने बेटे को अपनी सहेली के पास छोड़ दूं. देसी सेक्सी राजस्थानी वीडियोमैंने कहा- कल तो संडे है?यश ने आंख दबाते हुए कहा- तभी तो कहा है … तुम आना तो सही.

फिर मैंने उन किताबों में से एक देसी इंडियन गर्ल की नंगी फोटो वाली मैग्जीन उठाई. काफी समय से मैं अपने साथ हुए एक मीठे अहसास को आप सभी के साथ बांटना चाहता था। यह घटना कुछ साल पहले की है जब मैं 24 साल का था.

मेरी बीवी लाइव आ गई फेसबुक पर … कैमरा मैं अपनी बीवी की चूचियों पर ले गया. अगर बीच में कपड़े का पर्दा न होता तो सुमन की चूत में मेरा लंड कब का अंदर जा चुका होता. और अब माँ को सोनू ने गोदी में ले लिया था और माँ की गर्दन पर चुम्बन कर रहा था.

उस समय मेरा लंड पूरा खड़ा था और मैं सीधा लेटा हुआ था।बुआ- मनीष … उठ बेटा, बहुत देर हो गई है. इतने में मेरी चचेरी बहन सोनल बाहर आ गई और कहने लगी- अरे हो गया चालू तुम्हारा!काजल- यार … प्रेम से सब्र नहीं हो रहा था और तुम्हारे बिना ही चालू करने का बोल रहा था. क्योंकि रानी ने एक सिंगल पीस वाली काले रंग की स्पलिट ड्रेस पहनी हुई थी.

चाची मुझे अपने बेटे जैसा ही मानती है और उनके अपने बच्चे की तरह ही मेरा खयाल भी रखती है.

एक दिन वो शादी का कुछ सामान लायी थी, मैं भी इत्तफाक से उस समय वहीं था. मेरा लंड मामी की चूत में अन्दर नहीं जा रहा था, तो मैंने अपने लंड पर थोड़ा थूक लगाया और लंड अन्दर पेल दिया.

मैंने उन्हें लंड चूसने को कहा, तो उन्होंने मना कर दिया … लेकिन फिर थोड़ा जोर दिया … तो भाभी मेरा लंड चूसने लगीं. फिर होटल में चाची को तौलिये में देख मैं चाची की चूत चोदना चाह रहा था पर चाची ने कुछ और किया. कुछ देर बाद वो मेरी गांड में ही झड़ गया और इसी पोज़िशन में हम दोनों सो भी गए.

पीछे से रवि ने भाभी की गांड के छेद पर लंड लगा दिया और उसकी गांड में लंड को घुसाने लगा. मैंने अपने बालों को खुला छोड़ रखा था।अमरीश का कॉल आया- सुकृति, क्या तुम तैयार हो गयी? 7 बजने को हैं. आप मेरे इस अनुभव को बड़े ध्यान से पढ़ने की कोशिश कीजिएगा, आपके लंड और चूत से रस टपकना चालू न हो जाए, तो मुझे जरूर लिखना.

बीएफ सेक्सी पति मैंने अपने बायां हाथ उसके पेट से सरकाते हुए उसकी गांड की तरफ ले गया और दाहिना हाथ उसके कपड़ों के ऊपर से ही उसके मम्मों से खेलने लगा. उसने रोना बंद किया और फिर से आगे बताने लगी कि उसने अपनी मन की वासना को कैसे दबा कर रखा.

ब्लूटूथ पे सेक्सी

चुत को अपनी जीभ से ऊपर से नीचे तक चाटना शुरू किया, तो उनसे मेरे लौड़े को अपने मुँह में रख लिया. बुआ ने मुझसे खाने के लिए पूछा, तो मैंने मना कर दिया और टीवी देखने लगा. मैंने दोबारा से चाची की चूत में मुंह लगा दिया और उसकी चूत में जीभ से ही चोदने लगा.

उस दिन अंकल ने मुझे एक बार और चोदा और मेरी चुत की आग को अपने लंड के पानी से शांत कर दिया. फिर मैंने अपनी चचेरी बहन को घोड़ी बना लिया, पीछे से उसकी चूत मारने का मन कर रहा था. आगे सेक्सीमैंने उसके कान को चूम लिया, तो उसने घूमकर मुझे कसकर पकड़ा और मुझे किस करने लगी.

अगर मैंने शुरूआत नहीं की होती तब भी ये खुद ही आज मुझसे चुदने वाली थी.

अब माँ सिर्फ ब्रा में थी और उसमें में उनके चुचे और भी उभर कर सामने आ रहे थे. मैं देखना चाह रहा था यहगर्म जवानीकुंवारी चूत है या पहले से ही चुदी हुई है.

फिर मैंने उसकी बुर में जीभ डाल दी और अपनी जीभ को अंदर बाहर करने लगा. हम दोनों सशंकित हुए, तो बोलीं कि काशी के राजा इसका जीवंत उदाहरण हैं. मगर वो बीच बीच में मुझे अपने से दूर धकेल कर उकसाने की कोशिश भी कर रही थी.

जेठ जी ने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये और धक्के मारने लगे।करीब पांच मिनट चोदने के बाद उन्होंने मुझे मेरी पोजिशन बदली और मेरी टांग को कंधे पे रख के मुझे चोदने लगे।लगभग आधा घंटा चोदने के बाद उन्होंने अपना लन्ड मेरी चुत से निकाला और मुझे उल्टा लिटाकर मेरी गांड में लंड घुसाने लगे.

सोनू बोला- चाची आप बस इस वक्त का मजा लो!वह अपना लंड मां के ऊपर लग रहा था और मां को गर्दन पर किस कर रहा था. अन्दर बाहर करने के दौरान जब अन्दर गया तो मैंने जोर लगाकर पूरा लण्ड पेल दिया तो कृति फिर चिल्ला पड़ी. तभी मैंने उन्हें गुड मॉर्निंग विश किया और कहा- पापा जी, आज अपने मुझे उठाया नहीं?तभी पापा जी बोले- बहू, बस चाय पीने का मन नहीं हुआ इसीलिए!मैंने कहा- पापा जी, अब बना दूँ आपके लिए चाय?तो वे बोले- बना दो!फिर मैं चाय बनाने जाने लगी.

हिंदी मारवाड़ी बीएफ सेक्सीमेरे पड़ोस में एकशादी शुदा औरत रहती थी, वो दिखने में काफ़ी अच्छी थी. यह घटना आज से 7 साल पहले की है जो मेरी और मेरे मामा की लड़की यानि कुंवारी ममेरी बहन के साथ पहले सेक्स की है.

ब्लू पिक्चर भाई बहन की

आएशा मुस्कुराते हुए बोली- आप तो बड़ा फ्लर्ट करते हैं … पर मुझे आप अच्छे लगे. उसने मेरा लंड चूसना चालू कर दिया और जोर जोर से मेरे लंड का रसपान करने लगी. फिर उसने आतुरता दिखाते हुए मेरी बेल्ट खोलकर जैसे ही मेरी पैन्ट नीचे की, उसको मेरा खड़ा लंड दिख गया.

मैंने धीरे से उसके सीने पर हाथ रख दिया और उसके रिएक्शन का वेट करने लगा. फिर मैंने पति से पूछा- अब मुझे क्या करना है?पति बोले- पहले मेरी कसम खाओ कि तुम नाराज नहीं होगी और मैं जो कहूंगा, वो करोगी. चुदाई में भी इतना मजा नहीं आता जितना चूत में लंड लेकर आराम से लेटने में मुझे मिल रहा था.

इस हनीमून सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि मेरी नवविवाहिता पत्नी रानी के साथ नैनीताल में हनीमून के दौरान क्या क्या हुआ. इंस्पेक्टर ने मुस्कराकर कहा- बको?मैंने एक ही सांस में सारा वाकया सुना दिया. जा जाकर नाश्ता कर ले और फ्रेश हो जा।मैंने एक आंख खोल कर बुआ की तरफ देखा तो बुआ मेरे खड़े लंड को घूर रही थी.

उसने वही किया, अब हम दोनों एक दूसरे के आमने सामने बैठे थे और लंड महाराज गुफा के अन्दर सुस्ता रहे थे. फिर मैंने कोमल की बात को अनसुना करने के लिए अपना ध्यान कामिनी की ओर लगाया.

अनमोल- तुम्हारे भाई का एक दोस्त राजा है, वो हुक्का सप्लाई करता है, उसी से बात करूं?तभी राहुल को घर से कॉल आ गया.

मैं गया तो उन्होंने पूछा- कॉमिक्स कैसा लगा?मैं बोला- अच्छा!फिर उन्होंने पूछा- और मेरा लण्ड?मैं शर्मा गया. হিন্দি কিहल्की सी सिसकारी के साथ मेरी बीवी ने पूरे मोटे खीरे को अपनी चूत में ले लिया और मैं खीरे को अंदर बाहर करने लगा. हिंदी ब्लू फिल्म सेक्सी चुदाई वालीउसने रोना बंद किया और फिर से आगे बताने लगी कि उसने अपनी मन की वासना को कैसे दबा कर रखा. जब उसका छेद चौड़ा हो जाये तो फिर उसको किसी पोजीशन में चोदा जा सकता है.

पीछे से इस कसी हुई साड़ी में से मेरी निकली हुई गांड की पहाड़ी साफ़ दिख रही थी.

मगर ये बातें कई बार ऐसी भी होती हैं कि इनको किसी के सामने कहने की हिम्मत भी नहीं होती. जब मैंने स्पीड बढ़ाई तो भाभी के मुंह से हल्की दर्द भरी आवाजें निकलने लगीं- आह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह … आराम से।मैं धीरे धीरे उसकी चूत को चोदने लगा. मुझे उसके साथ बात करना अच्छा लगा और ये भी लगा कि ये कोई अच्छे लड़के हैं.

अंकल ने मां को नीचे की तरफ किया और खुद खड़े हुए और मां को इस पोजीशन के अंदर लेकर आए कि उनकी चूत जो है वह बाहर लटकी रहे. उसके गोरे शरीर में काले रंग की चड्डी बहुत अच्छी और सेक्सी लग रही थी. इसीलिए मैंने सोचा कि अब कैसे भी करके नागपुर तो जाना ही है इसलिए मैंने चाची से कहा कि हम ट्रेवलर (बस) से नागपुर चले जाते हैं तो चाची ने भी हां कर दी।जब मैं टिकट निकालने अपने दोस्त की दुकान पर गया तो उसने बताया कि उसमें सिंगल सिंगल सीट उपलब्ध नहीं है केवल जुड़वा सीट ही उपलब्ध हैं जबकि मैं नहीं चाहता था कि चाची मेरे साथ एक ही सीट पर सोए.

बाप बेटी की सेक्सी बीएफ

उसके बाद उन लोगों ने मेरी बहन को घेर लिया और मेरी बहन अब उन सबका लंड चूस रही थी. उसकी चूची को मुंह में लेकर मैं दूसरे हाथ से उसकी स्कर्ट को खोलने की कोशिश करने लगा. मैंने उसको वहीं सोफे पर गिरा लिया और उसकी जांघों से पैंटी भी निकाल दी.

वो ज़ोर ज़ोर से चीखने लगी- आंह … यस्स … सो बिग … अहह उह … और तेज करो … मुझे और चोदो … आह ज़ोर ज़ोर से चोदो … मेरी चुत को आज फाड़ दो … मुझे इसी तरह का लंड चाहिए था.

मैंने दरवाजा खटखटाया और कहा- अन्दर आने की इजाज़त है क्या?उसने दरवाजा खोला और मुझे खींचते हुए अन्दर ले लिया.

आजकल अगर पुरूषों के साथ जबरदस्ती की बात जब आती है तो मुझे ऐसी घटनाएं बिल्कुल भी अविश्वास के योग्य नहीं लगती हैं क्योंकि मैं खुद एक ऐसी ही घटना की गवाह थी. अपने फोन पर पोर्न फिल्में देखना और दोस्तों के साथ मस्ती मजाक तो बहुत होता था लेकिन कभी स्पर्म डोनेट करने के बारे में सपने में भी नहीं सोचा था. కొడుకు సెక్స్ వీడియోबाद में उनकी मस्त जवानी को देखते देखते कब लंड ने आन्दोलन करना शुरू कर दिया, मुझे याद नहीं है.

चूंकि वह भैया के पड़ोस में ही रहती थी, इस कारण वो भी ताई जी के यहां ज्यादा आ जा रही थी. फिर मैंने कमर को छोड़ कर उसके पैंटी में हाथ डाल दिया, मेरा हाथ गीला हो गया. मैं बोला- आज तो हाथ चूमने का नहीं … तुम्हारे गाल चूमने का मन कर रहा है.

मुझे अजीब तो लगा मगर क्या करता, मुझे उनके मोटे लंड बड़े ही मजेदार लग रहे थे. इससे पहले मेरे मन में भी कुछ धारणाएं थीं जो इस घटना के बाद से बदल गयी हैं.

पाठकों उसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने हिमानी की चूत को अपने प्यारे लंड से हलाल किया.

बातों बातों में हम दोनों ने एक दूसरे को अपनी भावनाएं बता दी और मैं उसकी पहली चुदाई के लिए उसे अपने खेतों में ट्यूबवैल के कमरे में ले आया. अब आपका ज्यादा समय न लेते हुए मैं अपनी कहानी को शुरू करने जा रहा हूं. किस तो मिला नहीं लेकिन मामी ने मामा को वो बता दी और मुझे बहुत डांट पड़ी.

चोदा चोदी की ब्लू फिल्म इंस्पेक्टर ने गुर्राते हुए कहा- साली वेश्या, मुझे मत सिखा, मैं जब भी किसी को चोदता हूं तो अपना गर्म गर्म माल हमेशा ही छेद के अंदर ही निकालता हूं. भाभी के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह आह्ह … आई ई… इसस्स … करके वो अपनी चूत चटवाने का मजा ले रही थी.

मैं उन्हें अपनी गोद में उठा कर उनके कमरे में ले गया और बेड पर सीधा सुला दिया. तभी मैंने महसूस किया कि उनका लन्ड भी तन गया और मेरी जांघों में चुभने लगा।उन्होंने मेरा हाथ छुड़ाया और खड़े हो गए।तभी फिर से बिजली कड़की और मैं उनसे फिर लिपट गयी।उन्होंने मेरा चेहरा पकड़ा और बोला- कोई बात नहीं, डरो मत, मैं हूँ ना!मेरी आँखें बंद थी. मैं अभी बाकी था इसलिए मैंने पोजीशन बदल कर उसे डॉगी स्टाइल में किया और उसे जमकर चोदने लगा.

मराठी झवाझवी नवीन कथा

नीचे उनका नाग मेरी जांघों के बीच के त्रिकोणीय जगह टकरा रहा था और वहां के बिल खुलने की राह देख रहा था. वो बोल रही थीं- आह और तेज चोदो मुझे … और तेज चोद बेटा … पूरा लंड पेल्ल्ल …मॉम लगभग 17-18 मिनट बाद झड़ गईं. चुत में क्रीम लगाने के कारण उसकी चुत में कुछ राहत सी हुई और वो मेरी उंगलियों का मजा लेने लगी.

मजबूरी में उनका पूरा वीर्य मुझे पीना पड़ा।मुझे बहुत अजीब महसूस हो रहा था लेकिन मज़ा भी आया।यह मेरी सच्ची कहानी है. तभी अंकल ने अपना सर आगे करते हुए मेरे नाजुक होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

इसलिए हम दोनों टैक्सी से निकल कर वहीं के नजारे देखते हुए टहलने लगे.

उसकी बढ़ती हुई सांसों और बढ़ी हुई धड़कनों के साथ ही उसके ऊपर नीचे होते वक्ष इस बात के गवाह थे कि उसके अंदर मेरे शब्दों ने वासना की चिंगारी फूंक दी है. उसे खाने के दो तरीके हो सकते हैं, चाहे एक बार में पूरा रसगुल्ला चट कर जाओ या काट काट कर टुकड़ों में खाओ. वो गुस्सा होते हुए बोली- ये क्या कर दिया तुमने, मेरे सारे मुंह पर केक लगा दिया.

उसकी चूत गीली हो चुकी थी और मैं उसको अपने मोटी उंगली से ऊपर से नीचे तक सहलाने लगामेरी उंगली के स्पर्श से वो मदहोश होकर अपनी चूत को मेरी उंगली की ओर धकेल रही थी. फिर वो मेरी चूचियों को मसलते हुए बोले- सोचो, अगर कल को तुम्हारी सास ने तुम्हारे पति की दूसरी शादी कर दी तो फिर तुम्हें घर से निकलना होगा. पति बोले- मेरे पापा के लंड की बारे में सुन के जब तुम्हारी चूत का ये हाल हो गया तो सोचो जब वो तुम्हारी चुदाई आपने लंड से करेंगे तो तुम्हारा क्या हाल होगा?मेरी आँखें बंद थी और मुझे ऐसा लग रहा था जैसे पापा जी ही मुझे चोद रहे हैं.

मगर साथ में अब एक दूसरी चिंता सताने लगी थी कि अगर सब कुछ ठीक रहा और मैं स्पर्म डोनर बन गया तो इतनी बड़ी बात को घर वालों से कैसे छिपाया जायेगा.

बीएफ सेक्सी पति: अन्तर्वासना से मेरा नाता पुराना है इसलिए सेक्स कहानियां भी पढ़ता रहता हूं. क्योंकि जब मैंने अपनी सील अपने पापा से तुड़वाई थी, तो पूरे 15 दिन तक मेरी चूत में दर्द होता रहा था.

ये सुनकर लंड के नीचे दबी छोटी हंसने लगी- जीजी, अभी तुम्हारे थनों में दूध किधर से निकलेगा. उसने हंसते हुए मुझसे कहा- लगता है पूरा रूम फ्रेशनर आज ही खत्म कर दिया है. मैं मूवी के वक़्त भी शोभा की सेक्सी बॉडी और उरोजों को किसी बहाने देख रहा था.

दोस्तो … अन्तर्वासना जैसी विश्व प्रसिद्ध हिंदी सेक्स कहनी के पटल पर ये मेरी पहली कहानी है.

अंकल ने मेरी आंखों में झांक कर देखा, तो मुझे शर्म सी महसूस हुई और मैं नीचे देखने लगी. फिर एकाएक वो ऐसे लिपट गयी, जैसे पूरा के पूरा वीर्य को आत्मसात कर लेना चाहती हो. अब आगे:खाना खत्म करके पापा जी दुबारा टीवी देखने लगे और मैं उनके लिये रसगुल्ला लेकर आयी- पापा जी, ये लीजिये!पापा जी बोले- कोई खास बात है क्या आज?मैंने कहा- नहीं पापा जी, बस थोड़ा स्वीट खाने का मन था.