फुल सेक्स वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,साड़ी वाली सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स बीएफ ब्लू: फुल सेक्स वीडियो बीएफ, अगले दस मिनट तक मैं उसकी चूत को चोदता रहा और फिर मैंने अपने लंड का सारा दूध उसकी चूत के दरिया में बहा दिया.

खुल्ला सेक्सी वीडियो

मेरी बहन के मुँह से जोरदार सीत्कार निकल रही थी, जैसे उस की लंड से चुदाई में मस्त सीटियां बज रही हों. रियल मी सी 12 4 64मेरी प्यासी जवानी की हिंदी चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी पहली चुदाई के बाद सेक्स के लिए दो साल तड़पती रही.

मैंने उसके लहंगे का नाड़ा खींच दिया और वो एक पैंटी में मेरे सामने आ गई. बड़ी बहन की चुदाई की कहानीपहला कारण यह कि मेरी मां की शादी छोटी उम्र में ही हो गई थी और इस वजह से उनको बच्चा भी जल्दी हो गया.

वो- वाह बहुत पहुंचे हुए शायर लगते हो … तुम तो आशिक़ाना मिज़ाज के हो रहे हो.फुल सेक्स वीडियो बीएफ: आंटी ने फिर से हंस कर कहा- आज तू मेरी तरफ नहीं देख रहा है, क्या आज मैं अच्छी नहीं लग रही हूँ?मैंने उनसे कहा- नहीं आंटी, आज तो आप बहुत मस्त लग रही हो.

उसका लिंग भी सिकुड़ कर सामान्य हो गया और फिसलता हुआ मेरी योनि से बाहर निकल गया.कॉलेज की पांच बिंदास सहेलियों ने अपनी शादीशुदा जिन्दगी से वक्त निकाल कर मुलाकात की और अपनी गुजरी जिन्दगी को याद करके उसे सभी पाठकों तक लाने का फैसला किया.

सुहागरात कैसे - फुल सेक्स वीडियो बीएफ

कुछ देर तक मेरी बूर चाटने के बाद डॉक्टर साहब ने चेयर नीचे कर दी और मेरे ऊपर लेट गये.मोनू नीचे आ गया और भाभी ने अपनी टांगों को फैलाते हुए मोनू के लौड़े को अपने हाथ में लिया और उसके लंड पर बैठती चली गई.

चूमते हुए कांतिलाल ने पीछे से मेरे वस्त्र की डोरी खोल दी और उसे सरका कर कमर तक खींच दिया, जिससे मेरे स्तन खुल गए. फुल सेक्स वीडियो बीएफ भाभी ने अपने मस्त चूचों को मेरी कुहनी के आगे वाले भाग की तरफ अपने चूचों को मेरे हाथ से सटा दिया और मेरे हाथ पर अपने चूचों को स्पर्श देने लगी.

फिर मैंने फेसबुक एक यार बनाया और …मेरे प्यारे दोस्तो, आज मैं अपनी हिंदी चुदाई स्टोरी लिखना चाहती हूँ.

फुल सेक्स वीडियो बीएफ?

तीन चार विजिट के बाद डॉक्टर साहब मुझसे इतना खुल गये कि मौका मिलते ही मेरी चूचियां और चूतड़ दबा देते. रमा और रवि आम पति पत्नी की भूमिका में थे, पर उनके लिए कहानी ये थी कि लड़की की माँ यानि मैं, जो एक विधवा रहती है, उसे भी काम की इच्छा कभी कभी होती थी. जैसे ही मैं झड़ने लगा, वो मुझे बहुत ही ज़ोर से किस करने लगी और मुझे बहुत सुकून मिलने लगा.

एक दिन जब मैं सुबह उठा तो मेरे मम्मी और पापा कहीं जाने की तैयारी कर रहे थे. वेटर से सभी खाने पीने और जितनी भी जरूरत की चीज़ें चाहिए थीं, हमने मंगवा कर रख लीं और उन्हें कहलवा दिया कि हमें अब कोई परेशान करने न आए. फिर वो उठी और उसने मुझे पकड़ कर अपने ऊपर गिरा लिया और ताबड़तोड़ मेरे होंठों और गालों और गर्दन पर चुम्मियों की बरसात कर दी.

कुछ देर के बाद कांतिलाल ने राजेश्वरी को घुटनों के बल खड़ा कर दिया और खुद खड़ा होकर उसका सिर पकड़ कर अपना लिंग जांघिये से बाहर निकाला और उसके मुँह में ठूंस दिया. मैं मुस्कुराती हुई सोफे पर चित लेट गई और अपनी एक टांग को सोफे के नीचे झुला दिया. अमन चुत में झड़ गया था और सुरेश ने मेरी बीवी के मुँह को पकड़ कर लंड के झटके देते हुए उसे रस पिला दिया था.

बल्लू ने भाभी को अपनी गोद में उठा लिया और फिर कमरे में अंदर ले गया. उसको देखते ही दिल में हलचल सी मच गई और मैंने उसको टोकते हुए नमस्ते की तो वो भी मेरी तरफ देख कर हल्के से मुस्करा दी.

शायद उसने चुत के बाल साफ़ नहीं किये थे, इसलिए पैंटी पर ऊपर से ही कुछ काला काला सा दिखाई दे रहा था.

इसमें कोई शक नहीं है कि हम पांचों बहुत ही खुले विचारों वाली लड़कियां हैं लेकिन इस तरह से सार्वजनिक रूप से पराये मर्दों से चैट करना हम लोगों की शादीशुदा जिन्दगी के लिए काफी नुकसानदेह हो सकता है.

इस पर अल्पना शर्मा गई और बोली- क्या करूं … मैं तो विवेक से परेशान हूँ. लेकिन फिर भी वो चुपके से मम्मी के सोने के बाद वो हॉस्टल गर्ल मेरे कमरे में आती, हम चुदाई चुदाई खेलते, एक साथ नहाते. उसका ब्लाउज मैंने पीछे से फाड़ दिया क्योंकि उस टाइम मैं बहुत जोश में था.

मैंने मुस्कुराते हुए उसके पजामे का नाड़ा खोल कर उसके जांघिये को नीचे सरका दिया. चट्ट की आवाज के साथ गर्म भाभी की ब्रा के हुक टूट गये और मोनू ने उसकी ब्रा को उसके चूचों के ऊपर से हटा दिया. फिर मैंने उसके चूचों को पकड़ लिया और उसको कस कर बांहों में भरते हुए उसके चूचे भी साथ में दबाने लगा.

बेशक वो मेरे जवाब से खुश नहीं थी लेकिन उसने मेरी बात को एक ही बार में मान लिया.

मैं जैसे ही बैठा, तो आवाज़ आई- आइए बड़ा इंतज़ार करवाया आपने?यह आवाज सुनकर मैं एकदम से चौंक गया. मैं हंसने लगा और बोला- मैडम, मैं भी इन्सान हूं, थोड़ा रहम कर लीजिये. न्यू सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी पड़ोसन भाभी ने मुझे छत पर मुठ मारते रंगे हाथों पकड़ लिया.

फिर मैंने पूछा- ऐसा भी क्या है जो आपसे इतना भी बर्दाश्त नहीं हो रहा है? आपको शायद किसी सही इन्सान की तलाश करनी चाहिए. फिर मैंने उसकी चूत में उंगली डालकर उसे पूरा गर्म कर दिया, जिससे उसकी चूत से रस निकल गया. मगर उसकी दर्द भरी कराह से पता चल रहा था कि धक्कों में बहुत ताकत थी.

इतनी खूबसूरत औरत आपके सामने खड़ी हो और आपके पास उसको पकड़ने के लिए जाल भी हो, तो सैयाद क्यों किसी पर तरस खाये.

फिर मैं किस करते करते आंटी की गाउन के ऊपर से ही उनके बोबे को दबाने लग गया. अब मेरा खुद ही मन कर रहा था कि वो अपने लंड को मेरी चूत के अंदर डाल दे.

फुल सेक्स वीडियो बीएफ ऐसे ही किस करते करते अभी हमें पांच मिनट ही हुए होंगे कि उसने मेरा एक हाथ पकड़ कर अपने एक बोबे पर लगा दिया. मैं एक हाथ से उनकी मोटी कलाई को और दूसरे हाथ से उनके कंधे और गले को सहला रहा था.

फुल सेक्स वीडियो बीएफ भाभी ने बादाम का दूध पीने को दिया और बोली- अबी तो पहले वाली शैतानी तो नहीं करते हो?मैं एकदम डर गया और बोला- नहीं भाभी, अब नहीं करता।भाभी बोली- तुम्हारे भैया भी बचपन से यही करते आ रहे थे; अब उनमें कमजोरी आ गई और अब उनसे बच्चा पैदा नहीं होता।कुल मिला कर सोने का समय हो गया और हम एक ही बेड पर सो गए. उसने कहा- मैं और औरतों को तो नहीं जानता, मैं बस तुमको ही जानता हूँ.

वो मेरे लंड की ऐसे प्यासी लग रही थी जैसे दस दिन के भूखे शेर के सामने किसी ने बकरी को रख दिया हो.

न्यूड पोर्न

मैंने उसका नाम बदल दिया है क्योंकि कहानी उसकी मॉम के बारे में है इसलिए मैं नहीं चाहता कि उसकी मॉम की पहचान किसी को पता चले. आज तू इसे मेरी चुत में डाल दे, जिससे मेरी चुत की प्यास शांत हो जाए. मैं उसके आदेश के अनुसार नीचे घुटनों के बल हो गई और उसके लिंग को देखते हुए उसे हाथों में लेकर हिलाने लगी.

फिर मैंने अपने लंड को दीदी की चूत पर रखा और उसको दीदी की चूत पर पटकने लगा. फिर वो मेरे एक दूध को मुँह में लेकर चूसने लगा और निप्पल पर अपने दांत गड़ाने लगा. लेकिन उन्होंने मेरी उस सहेली से पूछना चाहा कि इस ग्रुप स्टडी में और कौन कौन रहेगा.

हम लोग उसी मॉल के सिनेमा हॉल में टिकट लेकर मूवी देखने के लिए घुस गए.

वो थके हुए स्वर में बोलने लगी- आह … काश तुम पहले मिल जाते, तो मैं इतना नहीं तड़फती … आज मुझे नया जीवन मिल रहा है. मैंने अपनी पैंट को निकाल दिया और फिर अपने अंडरवियर को भी निकाल कर एक तरफ डाल दिया. इतनी खूबसूरत औरत आपके सामने खड़ी हो और आपके पास उसको पकड़ने के लिए जाल भी हो, तो सैयाद क्यों किसी पर तरस खाये.

अब मेरे मन में भी इस सम्भोग को कामुकता और रोमांच भरे अन्दाज में खत्म करने की इच्छा जागृत हो गई थी. श्रुति बोली- आह बना दे मुझे अपने बच्चे की मां … तेरे तगड़े लंड जैसा तगड़ा बच्चा होगा … मेरे चुतिया पति जैसा लुल्ला नहीं चाहिए मुझे. उसने अंतरा का एक दूध अपने मुँह में पूरा भर लिया था और जबरदस्त तरीके से चुसाई करने में लगा था.

फिर जब उसने देखा कि मैं उसको देख रही हूं तो उसने अपनी आंखें बंद कर लीं और जैसे सोने का नाटक सा करने लगा. भोसड़ी के धीरे से घुसाता न जालिम!तो दोस्तो, सीमा आंट की चुदाई की कहानी अभी चल ही रही है.

अपनी मर्दानी ताकत का प्रयोग करते हुए उसने मुझे भी मेरी टांगें पकड़ खींचा और बिस्तर से नीचे उतार दिया. अगर उसकी मां वहां पर न होती तो मैं भाभी की चूत को फाड़ कर रख देता लेकिन हम दोनों ही मजबूर थे. चूंकि वह असल में तो सिंगल बेड ही था अतः हम दोनों चिपक कर ही सोते।मेरा रूम मेट भी यही कोई तेईस चैबीस साल का रहा होगा, मेरे से ज्यादा गोरा … बहुत माशूक बन ठन कर रहता.

मैं 5 मिनट तक मॉम को किस करता रहा और उनके मुँह का सारा पानी अपने मुँह में ले लिया.

मुझे पता चल गया था कि मां को अपनी चूत के साथ इस तरह से छेड़खानी करवाने में मजा आ रहा है. मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैंने मैक्सी ऊपर उठाई और जल्दी से लौड़ा निकाल कर उनकी चूत के छेद पर रख दिया. ”जब तुम चिल्लाई थी तो उस समय क्या किचन में थी?”हाँ, किचन में पानी पीने गई थी.

फिर जब मैं पर्ची उठाऊँगी, तो उन्हीं चारों मर्दों में से किसी एक के साथ संभोग करूँगी. थोड़ी देर में उनके ऊपर आने की आवाज आयी। मैं खुश हो गया और मेरा लंड उफान लेने लगा कि आज तो बुआ की चूत मिलेगी।बुआ जैसे ही ऊपर आयी और आते ही मुस्कराई.

मगर जब उसने अपना लंड भाभी की फुद्दी में डाला, भाभी की तो चीख ही निकाल गई- अरे … आह उस्मान भाई धीरे!मगर उसे तो जैसे कोई जन्नत की हूर मिल गई हो और वो उसे जल्द से जल्द चोद कर अपनी हवस मिटा लेना चाहता था।बस दो चार घस्सों में ही उसने अपना लौड़ा भाभी की चूत में घुसा दिया। मोटा, लंबा और खुरदुरा लंड लेकर भाभी खुश थी।उस्मान तेरा औज़ार तो बहुत तगड़ा है. बाकी 6 लोग जिनमें अब एक कपल रह जोड़ी जीएफ बीएफ की थी, बाकी आपस में दोस्त ही बचे थे. अब मैंने उसको उसके बिस्तर पर लिटा दिया और पूरा गाउन गले तक ऊपर करके उसके दूध चूसने लगा.

टीचर सेकस

मैंने पानी पिया और कहा- शुरू करें एक्सरसाइज?वो बोली- हां … बस मैं एक मिनट में आयी.

काव्या ने पूछा- निहाल, तुम दिखने में तो बहुत अच्छे हो, तुमने तो बहुत गर्लफ्रेंड पटाई होंगी ना?मैंने बोला- नहीं यार … मैंने आज तक किसी लड़की को प्रपोज़ तक नहीं किया. फिर मैंने बाथरूम में जाकर अपना लंड साफ़ किया और कपड़े पहन कर अपने रूम में जा कर सो गया. मुँह हाथ धोकर मैं फिर से उसी साफ सुथरी घरेलू महिला के रूप में आ गई.

उसके मुँह से लंड चूत चुदाई जैसे खुले शब्द सुनकर मेरे लंड को ताकत मिल गई थी. वो बोली- इतना बड़ा कैसे मेरे अन्दर जाएगा?मैंने कहा- तू चिंता मत कर … सब चला जाएगा. कार का सेक्सएक बार मैंने फिर से कोशिश की और इस बार मैंने भाभी का हाथ अपनी जांघ पर रखने का प्रयास किया, तो भाभी ने मेरी तरफ देखा और मुस्कुरा कर मेरे लंड को टच करके जल्दी से अपने हाथ को हटा लिया.

हमारे बीच सच कहूँ तो सिर्फ चुदाई वाली प्यास थी और चुदाई की चाहत थी, जिससे हम एक दूसरे की आँखों में देख कर महसूस कर लेते थे. फिर उसने मेरे बालों को पकड़ लिया अपनी साड़ी के पल्लू को नीचे गिरा दिया और मेरे मुंह को ऊपर उठा कर अपने चूचों की दरार दिखाने लगी.

फिर मैंने देर ना करते हुए उसका लहंगा ऊपर कर दिया, जो उसने कमर पर पकड़ लिया. अगर आपको मेरी मॉम की चुदाई की सेक्स कहानी अच्छी लगी?मेरी ईमेल आईडी पर मैसेज भेजिए. फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत में डाल दिया और मेरे मम्मों को अपने हाथों से मसलते हुए मेरी चुदाई करने लगा.

मेरे अगल बगल भी बाकी के लोग धीरे धीरे एक दूसरे के अंगों को सहलाते, चूसते, चाटते हुए एक दूसरे को संभोग के लिए तैयार करने लगे थे. मेम जब भी सामने होतीं, तो मेरा ध्यान उनके होंठ और मम्मों पर ही ज्यादा जाता था. फिर उसने भी मेरी पैंट में हाथ डाल दिया और मेरे पहले से तने हुए लंड को हाथ में पकड़ लिया.

रूम में ही सर्व करूं या फिर आप लोग बाहर रेस्टोरेंट हॉल में आयेंगे?मैंने अंगिका से पूछा तो वो बोली- खाने के लिए बाहर चलेंगे.

वो झट से बोली- प्लीज आप लोग मुझे भाभी कहना बन्द कीजिये … केवल रमा कहिए … और किसे कहां चोदना है, मुझसे ना पूछें, मैं भी तो देखना चाहती हूँ कि आखिर ये कैसी सर्विस देती है. आह्ह … पहली बार नंगी चूत को छूकर ऐसा तूफान उठा कि मुझसे रहा न गया और मैंने दीदी की योनि में उंगली ही डाल दी.

वो मुझे किस करने लगा और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर कुछ देर के लिए रुक गया. अब मैंने उसकी साड़ी का पल्लू हटाया, वैसे ही मुझे उसके उठे हुए गोल, मुलायम और सफेद चुचे दिखने लगे और मेरा दिमाग़ खराब होने लगा. वहाँ मेरे होंठों का स्पर्श महसूस होते ही काजल प्यार में पागल हो गयी और आह आह की आवाज निकालने लगी.

इससे उसे एक ज़ोर से झटका लगा और वो चिल्ला उठी- आई ऐईई … मर गई … मेरी फट गई … आह तूने मार दिया. नेताजी जब मदिरा मुँह से लगा कर पीने लगे, तब मैंने चोर नजरों से रमा को देखा. उस रात मैंने मॉम की 4 बार चुदाई की और उन्हें मैंने अपनी पहली पत्नी बना दिया.

फुल सेक्स वीडियो बीएफ जब तक आंटी बात कर रही थी तब तक मैं बाथरूम में जाके आंटी के नाम की मुठ मार के आ गया।मैं अपने रूम में आके बैठ गया और आंटी भी मेरे पास आके बैठ गई और हम दोनों बातें करने लग गए बातों ही बातों में हम सेक्स की बातें करने लग गए. कुछ देर तक मेरी बूर चाटने के बाद डॉक्टर साहब ने चेयर नीचे कर दी और मेरे ऊपर लेट गये.

डॉट कॉम बीएफ सेक्सी

तब मुझे धीरे धीरे समझ आया कि ये लोग अच्छे खासे खुले और ऊंचे वर्ग के लोग हैं. कांतिलाल ने कविता के बगल बैठ कर उसके चेहरे को हाथ से ऊपर उठा कर उसे देखने लगा. वो कभी पहल तो नहीं करेगी लेकिन एक बार उसको किसी ने गर्म कर दिया तो फिर वो चुदवा कर ही रहेगी.

अपनी जीभ से उसकी जीभ को चूसने लगा, उसके मुँह में अपना मुँह डाल कर अपनी सांस उसके मुँह में छोड़ने लगा. मैंने देखा कि नमिता अपनी बूर सहला रही है तो मैंने उसकी गांड से अँगूठा निकाल कर बूर में डाल दिया. नंगी ब्लू पिक्चर वीडियोजब उससे कंट्रोल नहीं हो पा रहा था, तो उसने कहा- निहाल, उफफ्फ़ … अब ये खेल का बस करो.

मैंने लंड को हिलाया और उनकी टांगों के बीच में आकर उनकी चूत पर रगड़ने लगा.

वो चित्त लेटी हुई अमन के लंड को चूस रही थी और सुरेश उसके बोबों को पकड़ कर अपना लंड बीच में रगड़ रहा था. मैंने बोला- क्या अम्मा बुढ़िया को क्यों बुला रही हो?अम्मा बोलीं- एक बात बताऊं, उसे भी सेक्स चाहिए, काफी सालों से उसके पति बीमार हैं, वो भी लंड की प्यासी हैं.

यह मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की ट्रू स्टोरी है, जिसके लिए आपके मेल का स्वागत रहेगा. उसका लंड उसकी जांघों के बीच में ऐसे तना हुआ था जैसे बिल से निकल कर सांप फन उठाये खड़ा हो. तभी मैंने 69 की पोज़िशन बना ली और उसको अपना लंड चूसने को बोला और मैं उसकी चूत को चाटने लगा.

पर इस चक्कर में उसके जोर लगाने से उसका खड़ा मस्त लंड मेरी गांड के छेद पर बार बार हल्के हल्के धक्के भी दे जाता था तो मुझे मजा आ जाता था.

मुझे मेल करके जरूर बताएं क्योंकि इससे मुझे अगली कहानी लिखने में बहुत सहारा मिलेगा. लेकिन अब मुझसे नहीं रुका जा रहा था, मैंने आंटी को अपनी बांहों में भर लिया और उनको किस करने की कोशिश करने लगा. चूंकि ये चाची की चूत की चुदाई मेरी पहली कहानी है इसलिए कहानी लिखते समय कोई गलती हो जाये तो आप उसे नजरअंदाज कर दें.

सैक्स वः सैक्स ४भाभी बोलीं- अभी तक मन नहीं भरा तुम्हारा?मैं- नहीं भाभी … जब आप जैसी सेक्सी माल भाभी हो … तो किस देवर का मन भरेगा. उम्म्ह … अहह … हय … ओह … क्या बताऊं यारों, अपनी ममेरी बहन की चूत में लंड देने का वो पहला अहसास … आज भी उस पल को याद करते ही मुट्ठ मारने का मन कर जाता है.

देसी सेक्सी bf

शकूर बोला- ठीक है, आज रात को अरशी तुम्हारे रूम में ही पढ़ाई कर लेगी. मेरा लंड पूरा का पूरा उसकी चूत के रस से भीगा हुआ था और काफी चिकना भी हो गया था. मैंने मेरी बीवी को देखा, वो ग़ुस्से में थी … क्योंकि वो फुल मूड में थी.

फिर मैंने सोचा कि छोड़ो यार अपनी गर्लफ्रेंड है … अपन इसको रहने देते हैं. उसकी इस तरह के संभोग क्रिया से मुझे लगने लगा कि रवि के आगे मैं देर तक नहीं टिक पाऊंगी. जब मैं और मेरी पत्नी बातें करते थे, तो वह बार-बार मेरी तरफ देख कर मुस्कुराती रहती थी.

वो मुझे किस करने लगा और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर कुछ देर के लिए रुक गया. हम सभी महिलाओं ने पुरुषों की ताकत को जांचने का एक तरीका अपनाया था, जिसमें कमलनाथ फिसड्डी साबित हो गया था. एक दिन मेरे ससुर ने मुझे फोन किया कि आपके साले और उसकी बीवी को आपके पास दिल्ली भेज रहा हूँ.

उसके दोनों मम्मों को मैंने कस कस कर दबाया। मगर इससे ज़्यादा मैं उसके साथ और कुछ नहीं कर पा रहा था क्योंकि रूपा तो हमेशा ही घर में होती थी. लेकिन मेरे पति की माँ यानि मेरी सास कहती है कि अगर तू मुझे मेरे परिवार का वारिस नहीं दे सकती तो मेरे बेटे को छोड़ दे.

आंटी मेरा पूरा साथ देने लग गई और धीरे-धीरे मेरे सारे कपड़े उतार दिए.

मैं सोच रहा था कि अगर राज अकेला होता, तो मैं उसकी गांड मार सकता था. चूहा का फोटोमैंने हम दोनों के ऊपर एक चादर ओढ़ ली और उसकी सलवार को ढीला करते हुए पैंटी को नीचे सरका दी. हिंदी में ब्लू फिल्म देखनी हैमैंने बिना ज्यादा सवाल किए अपनी साड़ी उठा दी, पैंटी उतार दी और पल्लू सीने से हटा कर टांगें फैला कर चित लेट गई. लेकिन अचानक मेरे बॉयफ्रेंड राहुल का फोन आया कि उसके घर बहुत जरूरी काम है, जिससे वो नहीं जा सकता.

मामी जी लेट गई और मामा जी मिशनरी पोजिशन में आकर उन्हें चोदने लगे और 7-8 धक्कों के बाद ही मामा जी का निकल गया और वह चुपचाप लेट गए.

पांच-सात मिनट तक चाटने के बाद उसको ऐसी गर्म किया कि उसने मेरे मुंह में अपना फेंक दिया. बाकी के समय तो बदन में इतनी ताकत रहती है कि अपनी योनि की मांसपेशियों को अपने मन मुताबिक सिकोड़ और ढीली कर सकूं. दो मिनट बाद उसने खुद अपनी पैंटी को उतारा और मुझे धक्का देकर बिस्तर पर सीधा लिटा दिया.

मैं 5 मिनट तक मॉम को किस करता रहा और उनके मुँह का सारा पानी अपने मुँह में ले लिया. मैं एक ऐसी चुत की तलाश में था जो मेरे लंड का पानी अपनी चुत में लेकर निकलवा सके. मैंने आव देखा न ताव दोनों हाथों से उसके मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

पाठशाला मूवी

शायद वस्त्रों का एक अलग प्रभाव पड़ता है और इसी वजह से मर्द स्त्रियों को कामुक वस्त्र में देखना पसंद करते हैं. मुझे लगा रमा खुद कुछ करवाना चाहती होगी, पर वहां कुछ लड़कियों से बात करने के बाद उसने मुझे एक कमरे में भेज दिया. दूसरी बार में अंतरा बिना कपड़ों के थी क्योंकि हमें अब किसी का डर नहीं था.

पहले तो वो मेरे स्तनों को दबाने लगा और फिर मेरे होंठों को चूमने लगा.

उसके होंठों को चूसते हुए मैंने अपने लंड को भाभी की चूत पर लगाया और लंड को चूत में पेल दिया.

मेरे धक्कों से जब वो बहुत रोने लगीं, तो मैंने उनको जकड़ कर लंड पूरा घुसा दिया और उनकी चूत सहलाने लगा. भाभी समझ गई कि उनकी गांड को चोदने की तैयारी हो चुकी है इसलिए वो उठने लगी लेकिन सोनू ने भाभी के सिर को पकड़ लिया और अपने लंड पर दबाते हुए उसको लंड चुसवाता रहा. स्तन चोखणेवो बोली- क्यों?मैंने कहा- जो मजा बीवी और माशूका दे सकती, ऐसी जगह पर बहन उतना ही टेंशन देती है.

थोड़ी देर में मैंने धीरे से अम्मा के कान में धीमे से कहा- मेरी नल्ली भर गयी है. तभी उसने मुझको कस कर जकड़ लिया और कहा- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मामाजी … जोर से चुदाई करो … और जोर से चोदो … मुझे कुछ-कुछ हो रहा है … आह मैं कट सी गई … नीचे कुछ हो रहा है मामा जी … प्लीज प्लीज …तभी वह शांत पड़ गई. खाना बनाने के बाद उन्होंने मुझे आवाज दी- कुणाल आ जा, खाना खा ले बेटा.

उसने साड़ी का पल्लू लपेट कर इस तरह मेरे कंधों पर रखा कि स्तन, पेट और पीठ का भाग ज्यादातर खुला ही रहे. तब मैंने उनके होंठों को चूमते हुए कहा- आज आपकी गांड की चुदाई की … कल आपकी चूत चोदेंगे.

असल में ये हॉट वाइफ स्टोरी दो महीने पहले उस वक्त की है, जब हम दोनों उसकी स्कूटी को सर्विस के लिए छोड़ने गए थे.

जब उसने मेरे लंड को देखा तो वह अपने हाथ को मेरे लंड पर लायी और उसको अपने हाथ से हिलाने लगी।मैंने उसे कहा- रेवा, मैं तो तुम्हें बड़ी शरीफ लड़की समझता था लेकिन तुम तो बड़ी ही ठरकी हो?वह मुझे कहने लगी- मेरा भी तो दिल है, मेरे अंदर भी कामुकता है. खाना खाने टाइम अचानक इत्तफाकन मुझे मेरी बहन के मम्मों के दर्शन हो गए. उसके बाद हम दोनों ने जल्दी से घर का काम खत्म किया और शाम का खाना खाने के बाद फ्री हो गये.

सैक्स सैक्स सैक्स मैंने उसके हाथ में अपना हाथ दिया और उसने मुझे उठाया और फिर दूसरे हाथ से मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अपनी ओर खींच लिया. मैं जोर से उसकी चूत को फाड़ देना चाहता था लेकिन ऐसा नहीं कर पा रहा था.

मैं सनी को प्यार करती थी, ये बात वो और उसकी जीएफ सोना भी बहुत अच्छे से जानती थी. मैंने तो सुरेश से चुदते वक्त ही सोच लिया था कि अगर मेरे पति रोज मुझे नहीं चोदेंगे, तो मैं सुरेश के रूम में आकर सुरेश से चुदूंगी. फिर मैंने सोचा मां चुदाए … अपने को तो चूत मिल रही है … बस मजा लो … और मैं कौन सा दूध का धुला हूँ … मैंने भी कईयों की चूत बजाई है.

ब्लू सेक्सी वीडियो में हिंदी में

कभी मैं कहती कि आज वह ऐसी लग रही थी, आज उसने ब्लैक कलर की ड्रेस पहन रखी थी, तो उसमें वो बड़ी हॉट लग रही थी. मैं तो ये सोचता था कि मैं ही नहीं इनको तो कोई भी चोदने के लिए तैयार हो जायेगा. यह मेरी सच्ची और पहली घटना है, जो मैं अपने पति की परमिशन से आपके साथ शेयर कर रही हूं.

कांतिलाल ने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे उठाया और बोला- आओ अब तुम मेरे ऊपर आ जाओ. जब दोनों ही शांत हुए तो मैंने उसकी टाइट चूत से अपना सोया हुआ लंड खींच लिया.

मेरे पति के दोस्त ने अपना मोटा लंड दिखा कर मेरी कामवासना कैसे जगायी.

टीना- भाई, हम सही नहीं कर रहे … जो कर चुके हैं, वही बहुत ज्यादा है. वो मैंने अपनी पहले की सेक्स कहानीसहेली के बॉयफ्रेंड संग सेक्स पार्टीऔर इससे पहले की कहानियों में बताया है. मेरी भाभी की गांड इतनी सेक्सी है कि जब वो चलती है तो उसको हर कोई देखने लग जाता है.

पांच मिनट में ही वो एकदम गर्म हो गई और मेरे सिर को पैरों में दबाने लगी थी. लेकिन अब मुझे यकीन होने लगा था कि इस लड़की के साथ मेरी देसी कहानी परवान चढ़ने वाली है. फिर मैंने उसकी भारी सी गांड में फंसी हुई छोटी सी जालीदार पैंटी को उसके कूल्हों के बीच से उंगली घुसाते हुए खींच दिया.

मैंने कभी ऐसा नहीं सोचा था कि मैं सीमा भाबी के साथ कभी इस हालात में भी लेटूँगा। मैं यह नहीं सोच पा रहा था कि अब क्या करूं.

फुल सेक्स वीडियो बीएफ: दीदी का रस चखने के बाद अब उनकी योनि को अपने लंड का रस देने की बारी थी. मेरी योनि की पंखुड़ियों को अपनी उंगलियों से फैला कर बोला- वाह कितनी प्यारी, सुंदर और कामुक है तुम्हारी चुत … और देखो यही तो है स्वर्ग जाने का रास्ता.

मैं जब अपनी दुकान में बैठा हुआ था तो उस वक्त मेरे पास वर्मा जी आ गए।वर्मा जी हमारे कॉलोनी में ही रहते हैं, वे रिटायर हो चुके हैं. मैंने धीरे से मामी के तन से चादर को हटाया और उनके बदन पर हाथ फिराने लगा. मैं भी उसका साथ देने लगी और अपनी गांड उठा उठाकर उसका लंड अपनी चूत में लेने लगी.

हम दोनों चुपचाप ये सब कर रहे थे क्योंकि आंटी भी बगल में ही सो रही थी.

श्रुति ने सुरेश के लंड को पूरा चाट कर साफ कर दिया और उसको अपने थूक से गीला कर दिया. आंटी मेरा पूरा साथ देने लग गई और धीरे-धीरे मेरे सारे कपड़े उतार दिए. भले वो अपनी पूरी ताकत लगा रहा था, मगर मुझे उसकी ताकत में दम नहीं दिख रहा था.