बीएफ बोलने वाली

छवि स्रोत,करिश्मा कपूर की सेक्स फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

व्हिडिओ बीएफ सेक्स: बीएफ बोलने वाली, ज्योति- ऐसा क्या है मेरी आवाज़ में?मैं- एकदम लंड खड़ा कर देती है आपकी आवाज़!जैसे कि मैंने बताया हम पहले से ही बहुत खुल चुके थे और ऐसे लंड चूत शब्द का इस्तेमाल बहुत आसानी से एक दूसरे के साथ करते थे और फ़ोन सेक्स भी कर लेते थे.

कुत्ते के साथ लेडीस

ये पोर्न स्टार लड़कियां जो तरह तरह की चुदाई में दर्द सहती हैं, वो सब कैसे होता होगा. आपकी भाभीमैं कभी नीचे होकर उसकी नाभि को चूम रहा था तो कभी ऊपर आ कर उसकी गर्दन को.

देसी गर्लफ्रेंड फक़ स्टोरी मेरी पुरानी प्रेकिका की दूसरी बार चुदाई की है. भूमि सेक्सीकुछ देर ऐसे चोदने के बाद मैंने उसे नीचे उतारा और उसे पलंग के पास खड़ा करके उसके पीछे आ गया.

इन दोनों में धीरे-धीरे एक दूसरे से बहुत ज्यादा बनने लगी और एक दूसरे को पसंद भी करने लगे.बीएफ बोलने वाली: मैं अपना मोबाइल वापस लेने के लिए उसके पास गई, तो भैया ने मुझे चिढ़ाते हुए फोन अपने हाथों से ऊपर कर लिया.

बस में अन्दर गए तो पता चला कि हम दोनों को जो दो बर्थ मिली थीं, वो एक दो बर्थों वाली सीट थी.अभी मैं कुछ कोशिश करता, उससे पहले ही उसने खुद अपने कपड़े खोलने शुरू कर दिए और आधा मिनट से भी कम समय में वो खुद से पूरी नंगी हो गई.

बकरा कैसे बनाते हैं - बीएफ बोलने वाली

मॉम- बेटा ये क्या है?मैं- कुछ नहीं मॉम वो बस ग़लती से हो गया … सॉरी.इसलिए अब मैंने उसकी पैंटी को एक साइड से थोड़ा सा सरकाया और उसकी नंगी चूत में अपनी जीभ रख दी.

एक तो उसका कड़क लंड और मेरी मुलायम चूचियों के बीच घर्षण हो रहा था, ऊपर से मुझे नए लंड से चुदने की चुदास मजा दे रही थी. बीएफ बोलने वाली सब नंगे बैठे थे और मैं सोच रहा था कि ये सबके सब अगर अरुणिमा को दो दो बार भी चोदेंगे तो वो पक्का बेहोश हो जाएगी.

एस सेक्स के बाद उसका छेद मेरे लंड की मोटाई जितना चौड़ा हो गया था और उसके चूतड़ टमाटर जैसे लाल हो गए थे.

बीएफ बोलने वाली?

रिया ने उत्सुकतावश पूछा- कौन सा गेम?मैंने कहा- ट्रुथ या डेयर खेलते हैं. ‘ऊह … ऊह …’जैसे ही मैंने सहलाने की गति तेज की, उसकी आवाज भी गहरी होती गयी ‘हहह … हहआह …’जैसे जैसे मैंने गति बढ़ाई, वैसे वैसे उसकी आवाज और गहरी होती गई ‘ओह्ह … हहह … आह उह. बीस मिनट की मालिश के बाद अम्मी कार्तिक का लंड और बहन अनुपम का लंड चूसने लगीं.

वो मुझे डांटने लगी थीं मगर न तो उन्होंने अपनी सलवार सही करने की कोशिश की थी और न ही मेरा लंड चुत से हटाने की कोशिश की थी. कुछ देर बाद उनका एक लंबा किस लेने के बाद मैं अपने घर पर आ गया और अपने बिस्तर पर लेटकर सो गया. रोहित ने पीछे से अपना लंड मेरी चूत में सैट किया और घचाक से लंड घुसेड़ दिया.

मैं उस दर्द से अपने आंसू बहाने लगी पर मुँह से आवाज भी नहीं निकल पा रही थी क्योंकि उसका हाथ मुँह पर जमा था. इधर मैं उससे चुदाई करवाना चाहती थी परन्तु अपनी तरफ से पहल करना नहीं चाहती थी. इससे पहले कि वो कुछ कहती, मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और दोनों उंगलियां एक साथ उसकी चूत के अन्दर डाल दीं.

फिर मैंने सोचा कि तब भी इसका पहली बार का पानी निकाल देती हूं, वरना बीच में ही छोड़ देगा तो मजा किरकिरा हो जाएगा. अरुणिमा थोड़ा हिचकिचा रही थी पर फिर भी आगे आकर उसके लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी.

मुझे तो जैसे उसकी सफ़ेद ब्रा में कैद हिमालय की दो ऊंची ऊँची पहाड़ियाँ दिख गयी.

आयेशा ने देखा तो बोली- क्या हुआ मेरी जान? तेरी चूत भी पानी छोड़ रही है क्या?मैंने कहा- हां यार, बहुत खुजली हो रही है चूत में! मुझे अभी किसी का लंड चहिये जो मेरी चूत की प्यास शांत कर सके!तो आयेशा ने कहा- तू कहे तो तेरे दोस्तों में से किसी को बुला दूँ?मैंने कहा- नहीं यार मैं नहीं चाहती कि किसी को मेरी असलियत पता चले.

तब मैंने कहा- अब रहने दो अंकुश, मैं अपने हाथ से तुम्हारे लंड को हिलाकर तुम्हारा वीर्य निकाल देती हूँ, मेरी चुदाई काफी हो गई है, अब मुझे चूत में जलन हो रही है. हम कैसे मिले होटल में और हमने क्या क्या किया?मेरी कहानी के पहले भागहिमाचल के कपल से वीडियो सेक्स का मजामें आपने पढ़ा कि ऑनलाइन दोस्ती के बाद हिमाचल के कपल ने मुझसे वीडियो सेक्स किया. कुछ पल बाद मैंने हल्के से फिर से धक्का मारा तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस चुका था.

मैं पूरी टूट चुकी थी क्योंकि आज से पहले मैंने कभी इतना दर्द नहीं सहा था. चूंकि वाइब्रेटर थोड़ा घुन्न घुन्न्न की आवाज कर रहा था, तो मुझे उसकी स्पीड समझ आ रही थी. कुछ ही पलों बाद मैंने साफ़ देखा कि वो अपनी चूत में उंगली करने लगी थी, उसका जोश बढ़ता चला जा रहा था.

कुछ देर बाद वो भी अपनी गांड हिलाने लगीं और जोर जोर गाली देने लगीं- आंह चोद भोसड़ी के … आज मुझे रंडी बना कर चोद … बहुत दिनों से तेरा लौड़ा लेना चाह रही … अअअअ उफ़्फ़ आआआ ईई!चाची मेरा लौड़ा गपागप लेने लगी थीं.

इससे मेरी हिम्मत लौट आई और मैंने उसकी अम्मी के चूचे चूसना चालू कर दिया. तभी मैंने एक जोर का झटका मारा और उनकी बच्चेदानी तक अपना लंड पेल दिया. पर उसका मन अभी और चुदाई करने का था इसलिए उसने मुझे वापस अपनी बांहों में ले लिया और मेरे मना करने पर भी मुझे चोदने लगा.

मगर मैं बिना कुछ सुने मौसी की गांड में लंड पेल कर उनको जोर जोर से चोदता गया. हैरी ने झट से मेरी एक चूची को मुँह में भर लिया और मुँह में दबा कर चूसने लगा. एक जोर की आवाज करने ही वाली थी पर उसके होंठ बंद करके आवाज को दबा लिया.

तभी मैंने आयेशा को डिल्डो लाने का इशारा किया और सहेलियों से कहा कि लड़कों के साथ किस तरह से गांड फाड़ चुदाई करनी है, उसकी प्रेक्टिस कर ली जाए.

सभी मुझे संगीता के रूप में देखकर बहुत उत्तेजित और खुश हुए और मेरी जोरदार गांड बजाई. आसपास देखा मैंने … तो मेरी मदद के लिए कोई भी नहीं था क्योंकि लॉकडाउन का समय चल रहा था.

बीएफ बोलने वाली वो- पर आपने मुझे पहचाना कैसे? मैंने आपको अपना नाम तो बताया नहीं था … और ये तो मेरे नाम से आईडी भी नहीं है … फिर कैसे?मैंने शायराना अंदाज में लिखा- जब नजरें बात कर रही हों, तो लबों का क्या काम. मुझे मजा भी आने लगा था तो मैंने अपनी दो उंगलियां उसके चूतड़ों के बीच में डाल दीं.

बीएफ बोलने वाली मैंने उन्हें अपनी बांहों में उठा लिया और हम दोनों बाथरूम में पहुंच गए. भले ही लंड दूसरी बार चूत में घुसा था लेकिन सही मायने में ये पहली चुदाई थी और इसलिए उतावलापन और जोश ज्यादा था.

रेशमा आंटी ने अम्मी को बाबा का फोन नंबर दिया और बोलीं- इस पर बात करना, बाबा नाजिर नाम है.

वीडियो वाला फंक्शन

फिर अचानक उसने मुँह हटाया और बोली- आज तुम मेरी मांग भी भरोगे ताकि मैं सदा के लिए तुम्हारी बेगम बन जाऊं. मैं- यदि मैं झेल नहीं पायी तो मैं कोड वाक्य ‘सोमवार …’ बोलूंगी, तब सब रुक जाना. मुझसे भी अब रहा नहीं जा रहा था और मेरा लंड उसकी चूत की बैंड बजाने के लिए तैयार भी हो गया था.

आयेशा ने रिया के टॉप के ऊपर से उसके बूब्स दबाना शुरू कर दिए, फिर उसने रिया का टॉप उसके जिस्म से अलग कर दिया. कहानी के पहले भागसहकर्मी लड़की के साथ सेक्स की इच्छामें अब तक आपने पढ़ा था कि उसके और मेरे दो दो कपड़े उतर चुके थे. जब मैं पूरी तरह से गर्म हो गई तो मैंने उन्हें रुकने का इशारा किया क्योंकि अगर वो ऐसे ही चूत चाटते रहते तो मैं झड़ जाती.

फिर आपने उस आदमी से झूठ क्यों कहा? कौन था वो आदमी?अरुणिमा ने तुरंत कहा- भड़वा है साला भोसड़ी वाला! नाम भर पर पति है.

उसे खोलते समय उसके बदन पर नज़र पड़ी तो जगह जगह दांतों के निशान साफ़ दिख रहे रहे थे. मेरे मुँह से हल्के स्वर में निकला- ओए होए … तू तो बड़ी गजब की माल़ है यार!इस पर वो शर्मा गई और अपने चेहरे को अपने दोनों हाथों से ढकने लगी. मैं टीवी ऑन करके देखने लगा और मॉम अपने कपड़े लेककर वॉशरूम में चली गईं.

ऐसे में मैंने सोचा कि ममता भाभी को पटाने की कोशिश की जाए, मेरी उनसे बात नहीं होती थी. वो बोली- अब आगे भी बढ़ जाओ राज … अपनी इस मीनू को ठंडी कर दो!मैं उठा और मीनू के पेट पर चढ़ गया. फिर कुछ देख लेटे रहने के बाद आंटी उठीं और मेरा लंड चाट कर साफ करने लगीं.

मैं धीरे धीरे उसकी पीठ को चूमता हुआ उसकी गांड की दरार के पास पहुंचा. मैं उसके मम्मे पकड़ के निचोड़ने लगा और उसके साथ चुदाई के मज़े लेने लगा.

मैं एक को हाथ से पकड़ कर मुँह से चूस रहा था, दूसरी को हाथ से ही मसल कर मजा ले रहा था. तो उन्होंने बताया कि अब उनके शौहर घर कम ही आते हैं और आसिफा पर भी बुरी नजर रखते हैं. कुछ देर बाद मुझे पता ही नहीं चला कि मेरा पानी बाहर आने लगा और रोमा की चूत में पूरा पानी समा गया.

मैं अपने इन चारों पतियों के सामने बंद कमरे में अलग अलग रात संगीता बनकर आ चुकी थी.

वो लम्बी सांस लेकर बोली- साली बहनचोद रंडी, चूतिया है क्या? मादरचोद मेरी चूत फट गयी. जब मैं जोर जोर से उसके चूचे दबाने लगा तो उसके मुँह से आह निकलने लगी. उसके झड़ जाने के 5 मिनट बाद मैंने भी अपना माल उसके पेट पर निकाल दिया और हम दोनों संतुष्ट हो गए.

दोस्तो, बारिश में रिसेप्शनिस्ट की चूत चुदाई का मजा किस तरह से आया, इसको मैं हॉट पंजाबी गर्ल सेक्स कहानी के अगले भाग में पूरा लिखूँगा. मैं पुन: दर्द से कराह उठी और मुँह से निकल गया- उई मम्मी रे मर गई … आह आह ओह!मैं सीत्कार करने लगी.

मैं गले में पट्टा, जिस पर रस्सी बंधी होती, पहनकर, सिर्फ ब्रा पैंटी में आंख पर पट्टी बांधकर, घुटने के बल एक तकिये पर खड़ी चौधरी जी के आने का इंतजार करती. नमस्कार दोस्तो, मैं मधु, अपनी सेक्स कहानीकुंवारी बुर को लगी लंड लेने की तलबसे आगे की घटना लेकर आप लोगों के सामने फिर से हाजिर हूं. उनकी चूत उनके मुँह से ज्यादा गर्म थी और मुझे तो जैसे उनकी चूत में जाते ही एक अलग ही दुनिया का अहसास हुआ.

चरमोत्कर्ष

जैसे ही मेरा थोड़ा सा लंड भाभी की चूत में गया, भाभी एकदम से जाग गईं.

इससे ज्यादा मैं कुछ उखाड़ नहीं पाया, पर वो भी उस वक़्त उतना ही मज़ा देता था, जितना आज नई लौंडिया को चोदने के वक़्त मिलता है. मैंने पूछा- तुमने किया?इस पर बेचारा दुखी हो गया और बोला- कहां भैया, मेरा नसीब कहां इतना अच्छा है कि मुझे वो सब करने का मौका मिले. थोड़ी देर तो आयेशा मेरे ऊपर लेटकर ही मुझे चोद रही थी मगर जब वो थक गयी तो वो मेरे उपर से उठ गयी.

एक बांस की बल्ली उसके सर के ऊपर रस्सी से दोनों तरफ से बंधी हुई लटकी थी. मैंने भाभी की चूचियों को मसलते हुए नीचे से झटके लगाना शुरू कर दिया. आंटी का नंबरउस चोदते चोदते बीस मिनट हो गए थे, उसके बाद वह अरुणिमा की चूत में ही झड़ गया और थोड़ी देर उसके ऊपर पड़ा रहा.

वो मेरे सुपारे से जड़ तक पूरा लौड़ा मुँह में भर लेती और बीच बीच में सुपारे पर आकर थोड़ा सा हल्का काट लेती, जिससे मेरी उसे चोदने की आग और भड़क जाती. उसी पर अपनी जवानी लुटाओगी क्या?इस बात को सुनकर नेहा का चेहरा शर्म से लाल हो गया लेकिन वह कुछ नहीं बोल पाई.

इस बार प्रिया भी पूरी मस्ती से चुदवा रही थी, फ्री सेक्स का मजा ले रही थी. चौधरी जी बोले- सजनी जब बाहर निकलेगी तो उसका परिचय पहचान कर लोग पूछेंगे. इस जबरदस्त चुदाई के बाद कुछ देर तो मेरी हिम्मत नहीं हुई कि पलट कर उससे दूर हो जाता.

अब मैं दोपहर में उनके सोने का इंतज़ार करता और सो जाने के बाद कपड़े अस्तव्यस्त होने पर टेबल फैन ऐसे सैट करता कि उनकी साड़ी और ज्यादा सरक जाए. उसे खोलते समय उसके बदन पर नज़र पड़ी तो जगह जगह दांतों के निशान साफ़ दिख रहे रहे थे. अब क्यों शर्मा रही हो डार्लिंग?ज्योति बोली- आप दोनों मर्द मज़ा बहुत दे रहे हो!तो रोहित हँसते हुए बोला- मज़ा आ रहा है तो शर्माने का क्या काम डार्लिंग? शर्म उतार कर खेलो!उसके इतना कहते ही मैंने उसके एक मम्मे पर हाथ रखा और निप्पल को सहलाया और फिर मम्मे को दबाना और सहलाना शुरू किया.

हम दोनों रूम के गेट पर थे, तभी उसने मेरी ब्रा निकाल कर हॉल में फैंक दी और मेरे मम्मों पर टूट पड़ा.

फिर मैंने नाटक करते हुए कहा- लेकिन ये गलत है, आप मेरी फुआ लगती हो और किसी को पता चल गया तो?जया बोली- ये बात हम दोनों के बीच में रहेगी और बिल्कुल रोज की तरह हमारा पढ़ाई जारी रहेगी. मैंने कहा- तुम चिंता मत करो, मैं हूं ना आज मैं तेरी पूरी तड़प मिटा दूंगा.

एक दिन उसने दोपहर में मुझसे कहा कि भैया आपके फोन में वीडियोज हैं क्या!मैंने उसे सॉंग्स और मूवी के वीडियो ओपन करके दे दिए. वो मुझे बातचीत के दौरान कुछ ऐसा करने लगी थी, जो मुझे गर्म करने लगा था. मैंने महसूस किया था कि शिमला आकर उसकी आहें भरने की आवाजें तेज हो गयी थीं.

पीछे से मोनू ने मेरी गांड में अपना थूक लगाया और लंड छेद में लगाकर अन्दर डालने लगा मगर लंड बार बार छिटक कर अलग हो जाता. उस रात मुझे नींद नहीं आ रही थी क्योंकि मैं मामी के बारे में ही सोच रहा था. अरुणिमा उनसे कुछ बात करके शायद मना कर रही थी, पर वो सुन ही नहीं रहे थे.

बीएफ बोलने वाली मैं ख़ामोशी से बाहर आ गया और एक चाय के दुकान पर बैठ कर एक घंटा टाइम पास किया. सच में उसका लंड बहुत मोटा ओर लम्बा दिखा और पूरा लाल सुपारा मुझे ललचाने लगा था.

घर पर केक कैसे बनाते हैं

मैं ठीक स्टेज के सामने कुर्सी पर बैठा हुआ था और सामने बारी बारी से सभी फ़ोटो के लिए आ रहे थे और वो लड़की मेरी बहू के पास ही खड़ी हुई थी. उसकी चूत बिल्कुल साफ थी लेकिन मेरे लंड पर छोटे छोटे बालों की झाड़ियां थीं क्योंकि मैंने दो सप्ताह पहले झांटों को साफ़ किया था. इधर मैं उससे चुदाई करवाना चाहती थी परन्तु अपनी तरफ से पहल करना नहीं चाहती थी.

उस वक्त आसिफा ने कुछ नहीं कहा था, बस उसके होंठों पर एक हल्की सी मुस्कान तैर गई थी. नीचे जाकर सबने एक दूसरे को रंग लगाया … या यूँ कहिये कि सबने एक दूसरे को रंगों से पोत दिया. माला बनाने की डिजाइनमम्मी के मम्मों का मस्त नजारा देखकर पापा बहुत उत्तेजित होने लगे थे और उनकी आंखों में वासना साफ़ दिखने लगी.

तभी पीछे से आवाज आई कि अगर दोबारा किसी भी रंडी ने आवाज निकाली तो उसकी ऐसे ही माँ चोद दी जाएगी.

मैं उसको जब देखता हूं तो मुझे उसे पटक कर तबियत से चोदने का मन करता है. मैं चरम पर आ गया था तो मेरी कसमसाहट बढ़ गई थी और मैं जोर-जोर से उनकी दोनों चूचियों को मसलने लगा.

जब मैंने रूम की सफाई की तो मैंने गिन गिन कर इस्तेमाल किए हुए 43 कंडोम पालीथिन में भर कर कचरा गाड़ी में डाले थे. फिर मैंने लल्ला को फुल स्पीड पर कर दिया तो भाभी कराह कर बोलीं- आंह प्लीज उसे कम कर दो यार … दर्द हो रहा है. मंजू बोली- नहीं, हम लोग जिस्म मूवी देख रहे थे कि उसमें यह वीडियो क्लिप, केबल वाले ने जोड़ दिया था.

उसने फटाफट दोनों के लिए पैग बनाए और चियर्स बोल कर अपना गटगट करके खींच लिया.

मैं बातों बातों में अब उन्हें कुछ ज्यादा टच करने लगा था और भाभी भी इसका बुरा नहीं मानती थीं. मैं अपनी थकान भूल कर अपने ऊपर चढ़े अपने देवर को प्यार से सहला रही थी. कसी हुई ब्रा में से मेरी चूचियों का उभरा एकदम संतरे के आकार में और तनी हुई नजर आती हैं.

लेडीस जेंट्स सेक्सी वीडियोमैंने कहा- तो कब तुड़वाओगी अपनी सील?वो बोली- जिससे तुड़वाने का मन है, बस वो सैट हो जाए, तब मैं मजा ले लूंगी. मैं अपने साथ बीते हर उस पल को इस कहानी में लिखूंगा जो मेरे और उसके साथ बीता था और जो मैंने महसूस किया वो सब मैंने कहानी में बताने की कोशिश करूंगा.

मनीषा कोइराला सेक्सी पिक्चर

तभी ज्योति बोली- आप लोगों को बस यही काम है … अरे आओ बैठो रवि, बातें करते हैं!मैंने बैड पर बैठते ही ज्योति की गाल पर एक सिंपल प्यारी सी किस देते हुए कहा- डार्लिंग, क्यों घबराती हो? आज तो आपकी ये गोल्डन नाईट है. मस्त रसीली साईट अन्तर्वासना पर रिश्तों में चुदाई की बहुत सी कहानी पढ़ने के बाद मुझे भी लगा कि मुझे अपनी चुदाई कहानी भी शेयर करना चाहिए. अब मैं अपने प्लान पर काम करने लगा कि कैसे उसे अपने लौड़े के नीचे लाऊं.

उन्होंने मुझे कस कर जकड़ लिया और मेरा लंड थोड़ी देर के लिए उनकी चूत में यूं ही घुसा रहा. ज्योति- वाओ मेरे राजा … मेरी जवानी के सरताज … आज फुल डर्टी कर के चोद ले साले!मैं- हाँ मेरी रानी … ये देख हसीना … तेरी गांड तक नंगी होने लगी है अब … देख तेरी पैंटी उतार रहा हूँ तेरे चूतड़ों से!ज्योति- हाँ ले उतार यार … कर दे मुझे अल्फ नंगी आज … चूस ले अपनी जान की जवानी … ले … आह्ह. शनिवार की रात को हम सब एक जगह बैठे हुए बात कर रहे थे, तो रिया ने कहा- सालो, कल के लिए तैयार रहना.

मेरा पूरा मेकअप करके उसने मेरे लंड पर हाथ फेर दिया और बोली- अब तुम जा सकते हो. मेरा चेहरा दीपक के सीने से चिपका था और दीपक के हाथ मेरी कमर थामे मुझे स्थिर रखे हुए थे ताकि वो आराम से मेरी चूत बजा पाएं।तभी पूल कर्मचारी आ गया. क्या अरुणिमा का पांच सौ ग्राम कम हो गया क्या?मैंने कुछ जवाब नहीं दिया तो वो बोले- या फिर चूत दो इंच घिस कर छोटी हो गई या पतली हो गई?मैंने फिर कोई जवाब नहीं दिया.

मैं समझ नहीं पा रहा था कि ज्यादा मज़ा किसे आ रहा है, हाथों को या आंखों को. उसकी छोटी सी ब्रा में से उसकी चूचियां बाहर आने को बेताब दिख रही थीं.

… आज तूने मुझे जन्नत दिखा दी … साले तेरी कहानियाँ पढ़ कर भी ऐसे ही मस्त हो जाती हूँ … आज तो तू खुद साक्षात मेरी फुद्दी चूस रहा है … मेरे राजा … ले तेरी रांड तेरे … मुँह में अपनी … जवानी का रस छोड़ रही है.

मैंने दो सीट के बीच से पीछे देखा, दीपक मेरी सीट की ओर ही देख रहे थे और धीरज से हल्के स्वर में बातें कर रहे थे।उन्होंने मुझे झांकते हुए देख लिया- अरे तुम सोई नहीं? हमें भी नींद नहीं आ रही, पीछे आ जाओ. यूट्यूब ऑन करोचुदाई के समय अपनी ही ब्लू फिल्म आईने में देखना … और ज्यादा उत्तजेना पैदा करता है. कटरीना कैफ सेक्सी फिल्ममोहित ने रिया की टांगें अपने कंधे पर रखी हुई थीं और उसकी गांड मार रहा था. संजना पूरे जोश के साथ अपनी गांड हिलाने लगी और बोलने लगी- आह जान, मैं झड़ने वाली हूँ.

मैंने पूछा- तू उसके साथ कितनी बार कर चुकी है?वो बोली- अभी सिर्फ एक ही बार अन्दर लिया है.

इस कारण वो सिर्फ अपना पानी निकाल कर झड़ जाता और फहीमा को वो कभी भी तसल्लीबख्श चुदाई का मजा नहीं दे पाया था. अंत में उनकी जुबान एक पल को मेरे लंड के सुपारे पर आ ठहरी, पर उन्होंने मेरा लंड चूसा नहीं. मैंने उसे बिस्तर पर करवट लेकर लिटा दिया और पीछे से उसकी चूत में लंड पेल कर चुदाई करने लगा.

फिर संजय ने मुझे अपनी सच्ची कहानी शुरू से बताई, उसकी सहमति से ही मैं उसकी गे सेक्स कहानी लिख रहा हूँ. फिर उसके बाद मैंने तय कर लिया था कि अब तो इन मादरचोदों की गांड मारनी ही है. मेरी पिछली सेक्स कहानीफेसबुक गर्लफ्रेंड के साथ सुहागरातआपको कैसा लगी? प्लीज़ मेल जरूर करें और आपसे निवेदन है कि मुझसे किसी तरह की पर्सनल जानकारी या नंबर बिल्कुल भी न मांगे.

गूगल एक्स एक्स एक्स

वो मेरे बूब्स के निप्पलों को जोर जोर से मींजने और काटने लगा, इससे मुझे दर्द भी हो रहा था. विकास अपनी बहन की चुत का सारा पानी पी गया और जोर जोर से बुर चूसने लगा. मैंने कहा- देख, वैसे तो मैंने कभी गिने नहीं मगर हां, अंदाजे से बताऊं तो लगभग 30 या 35 के आसपास लिए होंगे.

हालांकि इस दौरान मुझे कभी कभी यही डर लग रहा था कि कहीं बारिश न रुक जाए.

वो बहुत जोश में आकर बोली- जोर जोर से चोदो आप!इतना सुनकर मैं भी जोश में आ गया और अपनी रफ्तार को बढ़ाता चला गया.

मैं भी यही चाहता था कि उसके अन्दर की सारी शर्म निकल जाए इसलिए उसे मैंने शराब पिलाई थी. दो बार चोदने में मेरी हालत खराब हो गई और उसके बाद हम दोनों ही सो गए. कर्नाटका सेक्स वीडियोएक तो जिसे गोदी में उठाया उसका वज़न बैलेंस नहीं बनाने देता, दूसरा डर रहता है कि कहीं गिर गए तो लेने के देने हो जाएं.

अंकल- हां, तुझे देखते ही पता लग गया था कि तू साली चुदी चुदाई रंडी है. मैं फिर से बोला- तेरी मम्मी को कुछ पता नहीं चलेगा और हम दोनों मजे करेंगे. चूंकि अब उसे किसी के देखने का डर नहीं था तो वो बिना डरे खेल सकती थी इसलिए अब वो आराम से खेलती हुई झुकी जा रही थी.

उसके बैठते ही मैंने भी अपने कपड़े भी उतार दिए और सिर्फ कच्छे में उसके सामने बैठ गया. जब मैं नमन भैया को खाना देने के लिए नीचे झुकी तो भैया की नजर सीधे मेरी गोरी चूचियों पर ही टिक गई थीं.

फिर अरुणिमा के तैयार होते ही मैं उसको लेकर बाहर आ गया और हम दोनों घर के लिए निकल आए.

मैं भी आइसक्रीम वाले के पास गया और उससे 50 रूपए वाली दो आइसक्रीम लेकर घर में अन्दर आ गया. सुनीता बोली- तुम तो इससे छोटे दीखते हो? सच सच बताओ?अब हमने सच बताया. कुछ मिनट होंठों के चुम्बन के बाद बाबा अम्मी के शरीर को चूमने लगा और अम्मी के दूध दबाने लगा.

मां की चुदाई खेत में उनके जाने के बाद मैं बाजार से दो कंडोम ले आया और उन्हें तकिये के नीचे छुपा दिए. मैं बहुत खुश हो गया और अपनी शॉप से एक उत्तेजना बढ़ाने वाली दवा खा ली.

धीरे धीरे करते हुए मैंने उनकी चड्डी नीचे कर दी और उन्होंने खुद चड्डी पैरों से नीचे करते हुए अलग कर दी. वो बोलीं- कंधे क्यों उचका रहे हो?मैंने लंड पर हाथ फेर कर कहा- मेरे पास कोई ऑप्शन ही नहीं है. उनके बगल में राजशेखर जी भी खड़े थे और अरुणिमा उनका लंड हाथ से सहला रही थी.

जवान लड़की

अपनी बहन की मदभरी बातों को सुनकर उसके अन्दर भी हवस अपना विकराल रूप धारण कर चुकी थी. ऐसे में मैंने सोचा कि ममता भाभी को पटाने की कोशिश की जाए, मेरी उनसे बात नहीं होती थी. मेरी चीख सुनकर रिया ने मुझसे पूछा- क्या हुआ?तो मैंने कहा- भोसड़ी वाली, इधर मेरी माँ चुद गयी और तू पूछ रही है कि क्या हुआ? भैन के लौड़े चोद कम रहे हैं, मार ज्यादा रहे हैं.

मैंने उनको बेड किनारे उतारा और डॉगी बना कर एकदम से उनकी बुर में लंड पेल दिया. विकास- और अगर जवानी में एक लड़का और एक लड़की साथ ही रूम में रहें, तो एक दूसरे को लेकर कुछ ना कुछ भावनाएं मन में उत्पन्न होंगी ही.

अब मैं उसे चोदता हुआ गालियां देने लगा- भैन की लौड़ी … साली रांड … आज तो तेरी चूत को फाड़ ही दूंगा तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा.

फिर पिंकी ने मुझे ये सब बताया तो मैं उसकी मदद करने के लिए राजी हो गई. चौधरी जी और मदन जी मामा भांजे हैं, जब उनमें से किसी परिवार में उत्सव होता, तब दोनों साथ गांव जाते. https://thumb-v4.xhcdn.com/a/Za8ALeq4XD9ThOSIReObbQ/013/574/534/526x298.t.webm.

रिया ने पैंटी पहनी हुई थी तो मैंने पीछे से जाकर उसकी पैंटी को उतार दिया. फिर उसने मेरे बाल पकड़कर मेरा मुँह अपनी तरफ किया और मेरी गांड पर थप्पड़ मारता हुआ मुझे किस करने लगा. प्रिया ने मस्ती से कहा- किस रूप में?मैं उठा और अलमारी से एक नाईट गाउन निकाल कर ले आया.

शादी के दो दिन पहले मदन जी ने मेरे बदन का माप लिया और वो मेरे लिए ब्रा पैंटी साड़ी ब्लाउज आदि ले आए.

बीएफ बोलने वाली: वो अम्मी का एक दूध चूसता हुआ बोला- यास्मीन, क्या मस्त माल है तू … तेरी जवानी लाजवाब है. मेरी पिछली कहानीएक रात में चार पतियों का लंड लियामें आपने पढ़ा कि मैंने लड़की बन कर 5 पतियों से शादी की, सबसे गांड मरवाई.

अलफिया भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और जोर जोर से कामुक सिसकारियां ले रही थी- हाई उमम्म हां डेविल, ऐसे ही और दवाओ इन्हें … आंह मसल दो मेरे चूचों को … सारा रस निकाल दो इनका. आज जब वो लिखने के लिए नीचे झुकती, तो मुझे उसके रसीले चूचे दिखाई देने लगते. सुबह से अब तक मेरी गांड 9 बार मारे जाने से, गांड और शरीर दुःख रहा था.

उसके कड़क निप्पलों को टॉप के ऊपर से ही उंगली से सहलाते हुए उसे अपने ऊपर गिराया.

मैं उनके रूम पर भी नहीं जा सकता था क्योंकि वहां उनको जानने वाले रहते थे. एक हफ्ते के बाद मेरा दोस्त आया और मुझे बताया कि कुल मिला कर चार लोग उस लड़की (अरुणिमा) की चुदाई करेंगे. मेरी बहन मस्ती से चीख रही थी ‘आआह … उईई … आआह … मर गयी आआह … कितना अन्दर तक ठांस रहे हो … आआह … धीमे पेलो …’लेकिन दोनों अपनी मौज में गांड ठोक रहे थे.