बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी

छवि स्रोत,राजस्थानी रंगोली

तस्वीर का शीर्षक ,

गोल्ड मंगलसूत्र फोटो: बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी, मुझे पता था कि बस में ठंड लगेगी … इसलिए मैं साथ में कम्बल लेकर आया था.

सोनागाछी का

फिर मैंने तुम्हें सीधा करके तुम्हारे लंड को 20 मिनट तक चूस कर खड़ा किया. डिजाइनर साड़ी दिखाइएउसने कहा- हां मैं एक बार निकल चुकी हूँ … और अब फिर से आने वाली हूँ.

दस मिनट तक भाभी की गांड मारने के बाद मैंने उन्हें दीवार से चिपका दिया और उनकी एक टांग हवा में उठा कर चूत में लंड पेल दिया. सेक्सी मॉडल फोटोमैं इतना बोल सकता हूँ कि चुत की चुदाई और खुदाई के लिए मेरा लौड़ा एकदम मस्त है.

होठों को चूसते चूसते दोनों आनंद के समंदर में गोते लगा रहे थे।एक दूसरे की मदद करते हुए करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद फिरोज का पानी निकलने वाला था.बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी: उसने कहा, तो मैंने उसकी उंगलियां खींची और उससे कहा कि अब तुम मेरी भी खींच दो.

तभी उसका व्हाटसप्प बजा।विजय जानता था कि ये संजीव का होगा तो उसने सीमा को फोन देखने दिया और कुछ नहीं पूछा।सीमा के पास संजीव का गुडनाइट मेसेज था। सीमा मोबाइल लेकर टॉइलेट में गयी और संजीव का एक गुडनाइट का मेसेज भेज कर और बाद में डेलीट करके वापिस आई.उसे छोड़ कर मैं वापस जाने लगा तो वो बोली- सर प्लीज आप यहां रुक जाईए.

चोदा चोदी वाला सेक्स - बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी

अंजू की चूचियां भी आकार ले चुकी थीं, उसके चूतड़ भी मेरे दबाने से गोल और मस्त हो गए थे.भाभी को गर्म करने के दौरान ही मेरा लंड लोवर में तम्बू बन कर खड़ा हो चुका था.

उसकी नजरों में वासना दिखाई देने लगी और वो मेरी चूचियों की तरफ़ देखने लगा. बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी उसने कमरे में आते ही मेरे पैर छुए तो मैंने उसे उठाकर अपनी बांहों में भर लिया.

मुझे लगा कि मैं ज्यादा टाइम तक नहीं टिक सकूँगा … इसलिए मैंने उन्हें दीवार से टिका दिया और उनकी एक टांग उठा कर कंधे पर रख ली.

बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी?

तब मैंने धक्के मारने रोक दिए और अपने दोनों हाथों से उसके पेट की पकड़ कर ऊपर किया जिससे उसके दोनों चूचे हवा में झूलने लगे. मैंने सुमन की गान्ड को मसलना, सहलाना शुरू किया।सुमन मेरी नियत समझ गई और मेरे हाथ को अपने चूत पे रखवा दिया।सुमन से मैंने गांड मारने की बात बोली तो उसने बाद का बोल कर टाल दिया. मेरी Xxx कामुकता कहानी में पढ़ें कि मेरी एक सहेली रोज मेरे घर आती थी और मेरे भाई को देखती थी.

जब उधर से वापस आ रहा था तब वो ऑटो के इन्तजार में खड़ी थीं और बारिश में भीग रही थीं. उनकी गांड का छेद बार बार ऐसे बन्द हो रहा था और खुल रहा था, जैसे मुझे आंख मारकर बुला रहा हो. ये कह कर उसने हाथ में पकड़ी हुई तौलिया को बड़ी नजाकत से मेरे सामने अपने जिस्म पर लपेटी और गांड हिलाती हुई अपने रूम में चली गयी.

उसने मेरी कहानी पढ़कर ईमेल किया। वो पहाड़न भाभी विधवा थी। उसकी चूत की आग ने मुझे बुला लिया!दोस्तो, मैं विकास एक बार फिर से आप सबके लिए एक और नयी रियल सेक्स स्टोरी लेकर आया हूं. दूसरे दिन सुबह किशन हम दोनों को कोर्ट ले गया और वहां पर हम दोनों की शादी रजिस्टर कर दी. उठ कर मम्मी ने सामने से रोटी वाली मिट्टी के तवे को उतार दिया और अपना नाड़ा भी ढीला करके बैठ गईं.

उसकी हालत देख आकर साफ़ लग रहा था जैसे इसे लंड नाम की कोई चीज कभी मिली ही न हो. अब पीछे खड़े लड़के का एक हाथ जो पहले मुँह पर था, वह गालों पर होंठों पर बड़ी नर्मी से फिसलने लगा.

ये तुमने क्या कर दिया … अईमेरी गांड फट गईहै … आह्ह … बहुत जलन हो रही है.

उसने घुटने के बल बैठ कर मेरी टांगें फैला दीं और मेरी चूत पर अपना लंड सैट करने लगा.

मेरी किस्मत इतनी अच्छी थी कि फिर मुझे उनकी कारगुजारियों को देखने का मौका मिल गया. समता- आप सोने के लिए अपने रूम में जाएंगे या यहीं प्लानिंग करनी है?विकास- मैं यहीं रुकता हूँ, आप सो जाइए. मैंने कहा- जब मैं हॉट लग रही थी, तो दारू क्यों पी … मुझे देख कर ही गर्म हो जाता.

मम्मी चाचा की बात समझ गईं और उन्होंने अपनी सलवार का नाड़ा ढीला कर दिया. फिर मैंने उनके ब्लाउज को भी अलग कर दिया और देखा कि भाभी ने पिंक कलर की ब्रा पहनी हुई थी जिसमें उनके चूचे बहुत मस्त लग रहे थे. थोड़ी बार बाद मैंने थोड़ा सा लंड बाहर करके झटका मारा और अपना पूरा लौड़ा उसकी बुर में पेल दिया.

” मैंने अपनी उंगलियों को चूत से बाहर निकालते हुए कहा।उसका दिमाग उत्तेजना से भन्ना रहा था और वो उंगलियां निकालते वक्त कराह रही थी.

हम कभी कभी अलग अलग पोर्न वीडियो देख कर नए नए सेक्स पोजीशन में चुदाई कर लेते हैं. थोड़ी देर बाद उसे उठा कर मैंने उसके बूब्स पकड़ लिए, उसकी ब्रा के हुक खोल कर बूब्स को आजाद कर दिया. कभी वो दोनों मेरे घर आ जातीं, तो कभी हम दोनों आकांक्षा के घर चले जाते, तो कभी नेहा के घर.

मैंने धोती, बिना बांह का कुर्ता पहना और धोती के नीचे कुछ नहीं पहना।स्वाति के बड़े स्तन झूल रहे थे। मैंने बर्तन स्वाति के स्तनों के नीचे रखा और उसके निप्पल खींचकर, मरोड़कर, स्तन दबाकर बकरी का दूध निकालने जैसा करने लगा. मैंने कहा- क्या घुसा लूं … मेरी जान पूरा बोलो ना!प्रिय- साले तेरे लौड़े को अपनी सीलपैक बुर में घुसाने का जी कर रहा है … अब तू ज्यादा चुदुर चुदुर न कर बस लंड पेल दे. इन हालातों में ही तीन दिन बाद अस्पताल वालों ने मुझे सिर्फ एक फोन करके बता दिया कि आपकी पत्नी का देहांत हो गया है और हम उसका अंतिम संस्कार कर देंगे.

शाम को मैं बोर हो रही थी तो मैंने सोचा मामा के लड़के सुरेन्द्र को घर बुला लूं.

पर मुझे जब भी मौका मिलता, मैं उनके साथ कोई ना कोई हरकत करता रहता था. डर के मारे गांड तो फट रही थी, फिर भी मैं अपनी आदत से बाज नहीं आ रहा था.

बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी फिर कुछ देर बाद उसने अपना नाड़ा खोला और बोली- यहां पर एक दाना हो रहा है … जरा चैक तो कर क्या है?मैंने लालटेन उठा कर देखा कि दीदी की गांड पर एक दाना हो रहा था. हितेश और मेरे भाई को मालूम चला, तो उन दोनों ने क्या किया … वो सब काफी मजेदार है.

बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी फिर मैं बोला- चल पिंकू घोड़ी बन जा!पिंकू बोली- भैया, मेरी पहली चुदाई है कुछ होगा तो नहीं?मैं बोला- तुम डरती क्यों हो? मैं हूं ना! मैंने सारा इंतजाम कर दिया है. कुछ देर बाद हमारे बीच फिर से माहौल बन गया और मैंने बुआ को लिटा दिया.

‘हा हां अफ आ आह्ह्ह … ओह्ह्ह … उफ्फ उईई … मम्म्म …’मेरा लंड अन्दर जाता तो मेरी जांघ उसके उठे हुए बदन से टकरा कर मस्त शोर करती.

चुदाई गांव की

फिर शैंकी ने मेरे हाथ पकड़े और लंड को झटके से चुत के अन्दर डाल दिया. फिर मैंने एक बार फिर से उसके मम्मों से नीचे आकर उसकी झांटों वाली चुत को चूमने लगा. मुझे यहां पर ज्यादातर ऐसी सेक्स कहानियां पसंद आती हैं जो भाई बहन, कजिन भाई बहन या हमउम्र रिश्ते में सेक्स की हों.

सुबह जब धीरज ने मेरी चुत से लंड को बाहर निकाला तो पूरा निरोध माल से गुब्बारे की तरह फूला हुआ था. मैंने उससे कह दिया- हां ठीक है तुम दीपक के साथ उधर सामने के कमरे में सो जाना. आंह क्या पिंक निप्पल थे!मैंने एक निप्पल को जीभ से चाटना शुरू कर दिया और दूसरे दूध को हाथ से मसलना शुरू कर दिया.

जो उनके साथ हुआ होता है, वो ही आपके सामने मनोरंजन के रूप में पेश करते हैं.

मैंने चुत चोदने के पहले खुद को जरा ठंडा करने की सोची ताकि देर तक चुदाई का मजा लिया जा सके. एक दो बार पकड़ा भी गया, मां के द्वारा मार भी खाई … पर ये बात मां तक ही रही. आह चोद दो मुझे … आह आशु बड़ा अच्छा लग रहा है … और तेज तेज करो … जल्दी जल्दी अन्दर बाहर करो आह … ओह्ह्ह आऊ … मैं मर गयी ईईईइ तू तो बहुत मस्त है रे … ओह्ह आह्ह …’चूत के पानी से मेरा लंड चिकना होकर सटासट अन्दर बाहर हो रहा था.

ऋतु का बदन तड़प उठा और चूत लंड के मिलन से रोती हुई आंसू बहाकर और गीली हो गई. थोड़ी देर के बाद उस लड़के ने उनकी ब्रा और पैंटी भी उतार दी और अपने कपड़े भी उतार दिएवो दीदी के मम्मों को चूसने लगा और चूत में उंगली डालने लगा. वो सिर्फ टॉप पहने थी, उसके बूब्स के निप्पलों का शेप साफ़ नज़र आ रहा था.

यूं ही धीरे धीरे करके मैंने मामी की नाइटी को उनकी कमर तक उठा दिया और लेट गया. हर धक्के पर उसकी गांड आगे की ओर जाती, जिससे उसकी चूत पूरी तरह से ऊपर उठ जाती मानो सनी को और ज्यादा चोदने के लिए उकसा रही हो.

मैंने धीरे धीरे करके एक मिनट में अपना पूरा लंड जुबैदा आंटी की चुत में सैट कर दिया. वैसे मैं एक बात बता दूँ कि मेरे पति बहुत ही अच्छे इंसान हैं कि मुझे बीवी से रंडी बना कर मुझे मजा करवा रहे हैं. मैंने हंस कर अपने दोनों हाथों से चाची के दोनों दूध पकड़े और अपनी गांड उठा कर चाची की चुत में लंड के धक्के देने शुरू कर दिए.

फ्रेंड्स … मेरी बीवी दूसरे राउंड की चुदाई के लिए एक गैरमर्द का लंड खड़ा करने लगी थी.

चाची एक हाथ से खेल रही थीं और एक हाथ से उन्होंने अपने बूब्स ढक रखे थे. मैंने अब एक पल की भी देर न करते हुए भाभी की चिकनी चूत की दरार में लंड को घिसना शुरू कर दिया. वो लंड देखते ही सहम गई कि इतना बड़ा लंड उसकी कसी हुई चुत में जाने वाला है.

अब तक तीन बार तीन आसनों से उसने अंदर डाला था तो क्रम के हिसाब से कम होती दर्द हर बार हुई थी. फिरोज बोला- पर सोच लो … मैं तुम्हें दूसरों से भी चुदवा दूंगा … तुम्हें चोदने वाले बहुत होंगे।साफिया बोली- मुझे कोई दिक्कत नहीं … अभी पहले आप मुझे चोद लीजिए!अब धीरे-धीरे फिरोज सफिया के मुंह में धक्का देने लगा। वो अपने लंड चुसाई का पूरा मजा लेने लगा.

पूरा लंड चुत की गहराई में घुसा तो मामी एकदम से चिल्ला पड़ीं- आई मार डाला रे … आह्हम्म आह आह साले ऐसे कौन घुसेड़ता है … आह्हम्म आह फट गई मेरी चूत … आह्म्म ओह्म्म आह्म्म उफ्फ. इस वजह से भाभी की मादक आवाजें निकलना शुरू हो गईं- अअह मांआ मर गई … धीरे करो जान … आह बहुत अन्दर जा रहा है आआह ऊईई. सारी रात ऋतु की चूत फड़फड़ाती रही मानो अपनी सारी प्यास आज ही बुझा लेना चाहती हो.

सनी लियोन एक्स व्हिडीओ

ऋतु ने सनी की पैंट के साथ ही सनी का अंडरवियर भी निकाल कर अलग कर दिया.

कोई उनसे पूछे कि सत्तर के दशक से नब्बे के दशक तक किसी लड़की को पटाना कितना मुश्किल काम था. कुछ दिनों बाद मेरी वाइफ अपने मायके गई तो यों ही शाम के वक्त मैंने सोचा कि चलो आज रेस्टोरेंट में कुछ खाना खाते हैं. मुझसे अब रहा नहीं गया तो मैंने अपना एक हाथ से मीना के हाथ को कसके पकड़ लिया.

मैं अब झटकों पे झटके लगाने लगा और थोड़ी देर बाद लंड ने नफ़ीसा की गांड में वीर्य छोड़ दिया. छेद में लंड का सुपारा लगाया तो छेद ने चिकनाहट के कारण लंड के सुपारे को खा सा लिया. लाल होठों पर शायरीअगर आप मुझे देखेंगे तो आपको मैं कुंवारा लड़का लगूंगा, लेकिन मैं चुत चुदाई का खेल इंटरस्टेट तक खेल चुका हूँ.

आपका अंशु सिंह[emailprotected]दर्द भरा सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरी पत्नी की गैर मर्द के लंड से चुदाई- 4. जॉन- अरे वाह, सुन नेहा लास्ट टाइम जब तुम दोनों ने हमारे साथ कबीर और निशा को ज्वाइन किया था, बड़ा मज़ा आया था.

तभी अचानक से न जाने क्या हुआ कि उसका तौलिया गेट के हैंडल से फंस कर खुल गया और वो एकदम नंगी हो गई. मैंने अपनी सहेली से बात खत्म ही की थी कि दुबारा से मेरी नजर उसी लड़के की झोपड़ी की तरफ़ चली गई. मेरी मौसेरी बहन ने खुद अपनी सहेली से मेरी दोस्ती करवायी, हमें मिलने का मौका दिया.

मैंने उसे कुछ नुक्ते बताये जिनसे वो उन लड़कों को अपनी तरफ आकर्षित कर सकती थी. तब नीता मेरा नाम लेती हुई बोली- आह विजय, आज पहली बार मेरे स्तन को किसी पुरुष ने देखा और छुआ है. फिर जब बारिश रुकी तो रात के 10 बज चुके थे और मुझे कोई जाने नहीं दे रहा था इसलिए मैं उस रात वहीं रुक गया और खाना खाकर सोने चला गया.

उसने मेरी गर्दन को पीछे से पकड़ कर मेरा मुंह अपने होंठों पर रख दिया और उन्हें चूमने काटने लगी.

राहुल ने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरा सर पकड़ कर आगे से लंड डाल कर मेरा मुँह चोदने लगा. अकेले में सब कोई देखता है तो मैंने ज्यादा नहीं सोचा और दूसरी डीवीडी लेने के लिए डीवीडी बॉक्स तरफ गया.

ऋतु का बदन अकड़ता चला गया- आह सनी मेरी चूत गई … आंह मेरी जान आह आह!मजे के कारण ऋतु की आंखें बंद हो चुकी थीं. चचा लंड हिलाते हुए बोले- कैसा लगा?मैं बोला- चचा इससे तो मेरी गांड फट जाएगी, इतना मोटा मैं बर्दाश्त ही नहीं कर पाऊंगा. जब भी कोई पार्टी होती है या अनिकेत को अपना कुछ काम होता है तब विकी और अनिकेत हम मां बेटी को नेताओं और अधिकारियों की रंडी बना देते हैंहम दोनों मां बेटी सोसायटी में नामी रंडियों के नाम से फेमस हो गए हैं.

पर मुझे जब भी मौका मिलता, मैं उनके साथ कोई ना कोई हरकत करता रहता था. जिसकी उम्र बढ़ती जा रही थी लेकिन शादी न हो पाने या सेक्स न मिल जाने के चलते यौनकुंठा का शिकार होने लगी थी. पहले तो वो पापा के साथ बैठ गए, कुछ देर बाद मम्मी आटा गूंथने लगीं तो चाचा जी भी आग सेंकने लगे.

बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी मैं तुम्हारे लंड से चुदाना चाहती हूं।तो मैंने आंटी को कहा- आंटी, मैंने अभी तक किसी की चुदाई नहीं की है।आंटी ने कहा- मैं तुम्हें सेक्स करना सिखाऊंगी. मैं जब उस झोपड़ी के पस गई तो उस झोपड़ी में एक लड़का बैठा था, जो मुझसे उम्र में बड़ा लग रहा था.

एक्स दिखाओ

उसके ऐसा करने पर मैं भी एकदम से सिहर सी गई और हल्की हल्की ‘आह … उह … उफ्फ् …’ की सिसकारियां भरने लगी. मैं झेम्प गया और बोला- सॉरी मामी … मैं वहां फ़ोन पर बात कर रहा था, तो मुझे आपकी आवाज सुनाई दी. लेकिन उसके बदले हम तुम्हारे बूब्स को और चूत को छेड़ेंगे और अच्छे से देखेंगे.

मैंने चूची चूसने के साथ उसकी चिकनी चुत में फिंगर फ़क करना शुरू कर दिया. लेकिन इससे उसकी पत्नी संतुष्ट नहीं थी।वह अक्सर उसको ताने देती रहती थी।संदीप अपनी पत्नी की चूत मारने की बजाय गांड ज्यादा मारता था इससे उसकी पत्नी परेशान रहती थी क्योंकि उसको चुदाई का पूरा मजा नहीं मिलता था।ऊपर से संदीप उसकी गांड मारता था तो उसको दर्द होता था।संदीप का लण्ड भी 6. शीतल की चुदाईकुछ देर बाद मैंने भाभी को फिर से चित किया और उनकी चूची के एक निप्पल को अपने मुँह से काट लिया.

राहुल ने अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया और मैंने पीछे से उसकी मोटी गांड पर थूक लगा दिया.

मंजू- मीना दी क्या कह रही थीं … आराम से करना!मैं- अरे वो कह रही थी कि तुम्हारी चुदाई प्यार से करना. कुछ पांच मिनट तक लंड की सवारी करने के बाद चाची थक गईं तो मैं एक बार फ़िर से चाची को नीचे लेकर उनके ऊपर चढ़ गया.

पापा ने रुक रुक कर तेल टपकाना जारी रखा और उसकी गांड तेल से लबालब हो गई. यह सब सुन कर मैं खुशी से फूला नहीं समा रहा था क्योंकि मुझे शिल्पा दीदी की इन कारगुजारियों का काला चिठ्ठा मेरे सामने खुल चुका था. तभी भाभी मेरी ओर देख कर बोलीं- जाओ जल्दी … साफ करके आओ यहां क्यों खड़े हो.

सनी ने मेरे होंठों को चूमना शुरू किया और थोड़ी ही देर में हम एक दूसरे के साथ खुल कर चूमाचाटी करने लगे थे.

भैया- वाह … क्या मस्त गांड है तेरी … मगर मुझे तेरी गांड का छेद इतना बड़ा क्यों लग रहा है!मैं- कुछ नहीं भैया, मुझे पता नहीं कैसे है ये तो इतना ही होता होगा. फिर मैंने चुत में लंड लगाने की सोची और अपने लोअर से लंड बाहर निकाला और उनकी गांड पर रगड़ने लगा. उसकी बात को जल्दी से नकारते हुए मैंने कहा- ये क्या कह रही हो तुम? मुझे यह सब पसंद नहीं है.

ब्लू फिल्म नंगी इंग्लिशशैंकी पूरी दम से झटके लगा देता और उसका लंड मानो मेरे पेट तक चला जाता. फिर मैंने उनसे बोलना ही छोड़ दिया, पर वो बड़े ही हब्शी किस्म के आदमी थे.

सास और जमाई सेक्सी वीडियो

अब उसने मेरी चैन अपने हाथों से ही खोल ली, अन्दर चड्डी के सिरे को नीचे करती हुई अपने हाथों से मेरे तने हुए बड़े लंड को चैन से बाहर किया. फिर किसी तरह मैं 12 वीं पास करके इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री लेकर नौकरी में आ गया. जैसे ही अनलॉक शुरू हुआ, मैंने अपनी पैकिंग कर ली और कुछ दिनों के लिए अपने बड़े पापा(ताऊ) के लड़के के यहां मुम्बई घूमने को आ गया.

उनकी कमर की लचक और चूतड़ों की थिरकन देखकर मन करता था कि मामी को वहीं झुका कर गांड मार लूं. दीदी की बुर से काफी सारा पानी निकला जिसे मैं सारा का सारा चाट चाट कर पी गया. मामी- आह आह मजा आ गया है … निकाल दो सारी गर्मी इस निगोड़ी चूत की … आह्हम्म उफ्फ्फ उफ्फ्फ और अन्दर डालो.

जब मुझसे रहा न गया तो मैंने अपना लंड पैंट से बाहर निकाला और मुठ मारने लगा. वो गुस्सा होतीं तो मैं कह देता कि आपके हुस्न का दीदार करने का जी करता है. थोड़ी देर के बाद मंजू ने मुझे लिटा दिया और मेरे लंड को पकड़ कर आगे पीछे करने लगी.

सोफे पर जॉन लेटा था और नेहा की टांगों में किसी दूसरे का लंड घुसा हुआ दिखाई दिया. क्या पता कल अगर मैं उस लड़के के पास गई, तो वो मेरे साथ कुछ कर न दे.

गाहे बगाहे हम दोनों होटल के कमरे में जाकर अपनी प्यास बुझाने लगे थे.

मैं जाने के लिए रेडी हो गई थी और मीना का इन्तजार कर रही थी कि वो आए और मेरा मेकअप कर दे. ओपन सेक्सी सीनXxx भाभी सेक्स कहानी के पहले भागपड़ोसन भाभी को ब्रा पेंटी में देखामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं जब भाभी के घर गया, तो वो बाथरूम से एक तौलिया पहन कर दरवाजा खोलने आई थीं. सेक्सी दिसणारेदोस्तो, मेरी बीवी की चुत एक गैर मर्द के मोटे लंड से चुदने के लिए गर्म हो चुकी थी. पर मैंने कुछ नहीं सुना और मम्मी की चुत के अन्दर ही अपना सारा स्पर्म छोड़ दिया.

इस बीच सरपंच जी ने भी मीना के पापा से बात करके उनको हम दोनों के लिए परेशान नहीं होने को बोला.

अब दीदी के बूब्स एकदम नंगे थे मेरे सामने!मैं अपने हाथ दीदी की गांड पर ले गया और उनके निप्पल पर एक किस कर दी. उसने बोला- आप मुझे प्लीज़ बस स्टैंड से पिक कर लोगे क्या … मैं जयपुर पहुंचने वाली हूँ. मैं मेरी हॉट मौसी के ऊपर चढ़ गया और उनके होंठों को अपने होंठों से दबा कर चूसने लगा.

मैंने देखा कि चाची खेलते समय कुछ ज्यादा ही झुक रही थीं जिससे उनके मम्मे मुझे साफ़ नजर आ रहे थे. तभी सनी ने अपनी जीभ बाहर निकाली तो ऋतु ने अपना पूरा मुँह खोल दिया और उसकी जीभ सनी के मुँह में प्रवेश कर गई. अपनी कमर को मामी मेरे लंड पर आगे पीछे ऐसे घिस रही थीं जैसे सिल-बट्टे पर चटनी पीस रही हों.

देसी सेक्सी सेक्स

मैं राहुल की यंग गर्ल हॉट सेक्स कहानी उसी की जुबानी बताने जा रहा हूं।मेरा नाम राहुल है और मैं दिल्ली में रहता हूं. मैं अभी कुछ सोच पाता, तब तक तो भाभी ने मेरा लंड हिलाना शुरू कर दिया. उसकी गांड पर मैंने दो चांटे मारे जिससे उसकी गोरी गांड लाल हो गयी और मेरी उंगलियों के निशान उसकी गांड पर छप गए.

वह स्वाति के होंठ, स्तन और चूत कभी नहीं चूसता था और लंड भी नहीं चुसवाता था।मोहिनी ने कहा- स्वाति, तुम हमारे पास आ सकती हो, अपनी चूत और स्तन की चुसाई के लिए। मैं और तेरे जीजाजी मिलकर तेरी इच्छा पूरी करेंगे।मेरी पत्नी मोहिनी स्वाति को बता चुकी थी कि अब मुझे भी पता है कि उन दोनों के बीच में लेस्बियन संबंध हैं.

जब उनका लंड चुत के अन्दर जाता, तब मेरे पेट में एक अलग ही खलबली मच जाती.

फिर रोज सुबह उठकर सबसे पहले मैं वो दवाइयां खाता, बाद में जिम जाकर कॉलेज चला जाता. उसके बाद हमारी चुदाई इस तरह से होती थी मानो यहां कोई स्पीड ब्रेकर ही नहीं है, चिकनी फोरलेन पर गाड़ी दौड़ी चली जा रही हो. सन ऑफ सरदार फिल्मननहीं … आह्ह मर गई आहह … मम्मी बहुत दर्द हो रहा है … उफ्फ्फ मीना दी बचा लो मुझे.

और अगर गलती से अगर मैं किसी के सामने झुक गयी तो मेरी गांड और चूत का दिखना तो बिल्कुल तय था. जैसे ही चूत पर होंठ लगे, ऋतु की सिसकारी निकल गई और वो ‘आह आह उफ्फ …’ करती हुई गांड उठाने लगी. दूसरे दिन मम्मी पापा को किसी फंक्शन में बाहर जाना था तो मेरी बहन ने अपनी सहेली को घर बुला लिया.

हम दोनों गर्म हो चुके थे और ताबड़तोड़ चुदाई शुरू हो गई थी।अब मेरा लौड़ा भी टाइट हो गया और झटके से आंटी की गांड में पिचकारी छोड़ दी. अंजू की चूचियां भी आकार ले चुकी थीं, उसके चूतड़ भी मेरे दबाने से गोल और मस्त हो गए थे.

मैं उनकी गांड दबाने लगा, वो मेरे सीने पर सिर रखकर बात करती रहीं और डांस करती रहीं.

तो उसने कहा- ऐसे नहीं राजसी … प्लीज आराम आराम से!उसने मुझे लंड को सहलाने को बोला. आंटी ने कहा- मुझे भी बताओ कि क्यों यूं ही!मैंने कहा- सच में इस वक्त मुझे इसकी बड़ी जरूरत महसूस हो रही थी लेकिन मैं संकोच के कारण आपसे कुछ कह ही नहीं पाया. कुछ ही देर में पापा का पूरा लंड उस लड़के की गांड में अन्दर तक जा चुका था.

जुदाई देसी पांच मिनट तक लंड चूसने के बाद मैंने उसके मुँह से लंड निकाला और उसे चित लिटा दिया. वो खुद नग्न होकर मेरे हाथों से अपनी चूची मिंजवाने का मज़ा लेना चाहती थी.

दो बार चुत चोदने के बाद अब्बू ने खाला से बोला कि सरसों का तेल ले आओ और मेरे लंड की मालिश कर दो. मैं- आपने वो किताब में देखा था न … कैसे कितना मोटा सा उसके अन्दर घुसा हुआ था!मीना- हां रे, तेरे को ये सब कहां से मिलती हैं. साफिया का हाथ जैसे ही पकड़ा … साफिया के शरीर में एक मर्द को छूने की हलचल होने लगी थी और उसने अपनी नजरें नीची कर ली.

സെക്സ് വീഡിയോസ് തമിഴ്

चाची जोर से चिल्ला पड़ीं- आह मर गई … साला तू बहुत जल्दी में रहता है … हर बार यही करता है. तभी सनी ने एक जोर का धक्का मारा और अपने 7 इंच लम्बे लंड को मेरी चूत में जड़ तक पेल दिया. बिल्कुल साफ़ चिकनी चूत थी चुत की पुत्तियां पहली चुदाई के बाद से आज थोड़ी सी फूली हुई थीं.

वहां मुझे सबसे मिलकर बहुत ख़ुशी हुई क्योंकि उसकी सहेली के घर के लोग बड़े ही खुशमिजाज किस्म के थे. मैंने तुरंत ही देसी सेक्सी आंटी को बिस्तर पर पलटी किया और चुत के पानी को लंड के द्वारा उनकी गांड पर लगा दिया.

तो वो बोली- कैसे होंगे? ये सब लड़कों के कपड़े हैं, तुम्हें अब ये नहीं ही होंगे, तुम्हें लड़कियों के कपड़े आज़माने चाहिए.

और कुछ ही देर में मेरे पूरे लंड को अपने मुंह में लेकर अच्छे से चूसने लग गई! मैं अपनी दीदी की बुर को पूरा एन्जॉय कर रहा था. सनी ने अपने एक हाथ को ऋतु की कमर पर रख दिया और हल्के हल्के से सहलाने लगा. कुछ पल बाद मैंने जब देखा कि उसका दर्द कुछ कम हो गया, तो मैंने फिर से एक जोरदार झटका दे दिया.

मैंने उससे कहा- प्लीज़ आगे ही कर लो, आपका बहुत बड़ा लंड है और मेरी गांड बहुत टाइट है. फौजी ने मेरी बहन को नीचे झुकाया और उसकी गांड में थूक लगा कर लौड़ा पेलने लगा. कुछ देर बाद सनी ने ऋतु को बेड पर लिटा दिया और खुद उसके ऊपर लेटते हुए किस करने लगा.

मामी की तरफ कोई प्रतिक्रिया न होते देख कर मुझे गर्मी चढ़ गई और मैंने उनकी नाइटी को और ऊपर कर दिया.

बीएफ सेक्सी मूवी भोजपुरी: शुरुआत में तो सब ठीक था, पर जब वह अपने कॉलेज के पास पहुंची तो एक बाइक वाले के साथ बैठ कर कहीं चली गईं. जैसे ही उन्होंने होंठ दबा कर लंड चूसा, मैंने अपना पानी छोड़ना शुरू कर दिया.

अब नीचे से वो चूत का भोसड़ा बनाने में लगे थे और पीछे से सन्नी मेरी गांड मारने में लगा था. वो मेरे लंड को देख कर बोलीं- वाह तेरा तो तेरे मामा से भी काफी बड़ा लंड है. वो बोली- मामूजान, तुम मुझे मार के ही दम लोगे क्या?मगर मामू जान फिरोज तो बस अपने काम में लगा हुआ था.

वो दुबारा बाथरूम में गई और अपने कपड़े चेंज करके गाउन पहन कर वापस आ चुकी थी.

इस बीच बुआ हंसती हुई बोलीं- मालूम … मैंने ही तुझे अपने दूध दिखा कर फंसाया था. वो आदमी, जो हमारे साथ में आया था, वो मम्मी से बोला- लाओ अपना हाथ इधर करो … मैं लगा देता हूं. अब रेणु अपने होंठ मेरे होंठों पर ले आई और किसी पोर्न स्टार की तरह वो मुझे चूमने लगी थी.