हॉस्टल का बीएफ

छवि स्रोत,लड़का लड़की नंगी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी भाभी की विडियो: हॉस्टल का बीएफ, मैं भी उसके कामुक चेहरे पर आते मादक भाव को देख स्खलित होने के चरम पर था।मैंने पूरी शक्ति से झटकों की गति बढ़ा दी और नेहा के जिस्म को कस कर जकड़ लिया.

वीडियो में ब्लू सेक्स

भाभी की चूत चोद चोद कर पता ही नहीं कब मेरा लंड बढ़ कर 6 इंच का हो गया. इंडियन सुहागरात सेक्स वीडियोफिर आज मुझ जैसे एक अनजान मर्द से उन सब बातों पर खुल कर बात ना करना चाहें.

निखिल तेल की बोतल लेकर आया तो मीरा ने उससे पूछा- पहले कभी गांड मारी है?निखिल ने कहा- नहीं आपकी गांड पहली बार मारूंगा. हिंदी में ब्लू पिक्चर दिखाएंइस चुदाई स्टोरी में एक लड़की अपनी सहेली को अपने चाचा चाची की चुदाई का आँखों देखा हाल बता रही है.

उसे दर्द हुआ और वो आह करके उछली, जिससे उसके हाथ स्तनों से हट गए और हिलते हुए स्तनों का नज़ारा मुझे देखने को मिल गया.हॉस्टल का बीएफ: भाभी बहुत ज़ोर से चिल्ला पड़ीं- आआह … मर गई मम्मी रे … आह नहीं … बहुत दर्द हो रहा है … आह बाहर निकालो … मेरी चूत फट गई.

मैंने अपने कपड़े उठाए और नंगा ही अपने रूम में आ गया और अंडरवियर पहन कर सो गया.नेहा के जिस्म को चूमते हुए मैंने देखा कि वो आँखें बन्द कर सिसकारियां ले रही थी जिन्हें देख मैं भी उतेजित हो रहा था.

पोर्न इंडियन वीडियो - हॉस्टल का बीएफ

मेरा लौड़ा चाची की जांघों में घुसने लगा और उसी रगड़ाई में मेरा टॉवल खुल कर नीचे गिर गया.बस अनायास ही मेरे होंठ उत्तेजना और शर्म के मारे कांपने लगे और इसी कश्मकश में पता नहीं कब, मैंने उनके अंडे जैसे बड़े गुलाबी सुपारे को मुँह में ले लिया.

इधर नेहा की हालत भी कम खराब नहीं थी, उसकी भी लेगिंग में उसकी चूत वाले हिस्से पर बड़ा सा धब्बा बना हुआ था. हॉस्टल का बीएफ मैंने रोहन से कहा- अब इसे शांत तो करो?रोहन ने मुस्कराते हुए लन्ड को फिर से मुंह में ले लिया और चूसने लगा.

शन्नो बिल्कुल रंडी बन चुकी थी और उसी भाषा में बोल रही थी- आह चोद साले चोद अपने दोस्त की अम्मी की चूत गांड को जमकर चोद!एक औरत लंड की इतनी दीवानी है, ये देखकर मेरा जोश और बढ़ गया और मैंने तेज़ तेज़ झटके लगाने शुरू कर दिए.

हॉस्टल का बीएफ?

[emailprotected]सेक्स टॉक कहानी का अगला भाग:लंड चुत गांड चुदाई का रसिया परिवार- 8. मैंने उसकी तरफ देखा तो वो भी बिस्तर की चादर को अपनी मुट्ठियों में भींचे हुई थी. मैं मौका देखते हुए अपनी बेटी के पास गई और बोली कि तुम कुछ देर घर में ही रहना, मैं कुछ काम से जा रही हूँ.

मैं उसकी तारीफ करने लगा- तुम तो बहुत ही खूबसूरत हो और बहुत मस्त हो. मैंने कहा- नहीं अभी थोड़ा अंधेरा है, सभी सो रहे हैं … मैं निकल जाता हूं. मेरी मम्मी इतनी भोली हैं कि उनको लग रहा था कि वो डॉक्टर मेरी मदद कर रहा है.

आप सभी से निवेदन है कि कहानी को ध्यान से पढ़ें, बारीकी से आकलन कीजियेगा. एक रात में मामा जी ने मेरे कच्छी को नीचे कर दिया और अपना लंड मेरी जांघों के बीच डाल कर अपनी प्यास बुझाने लगे थे. भाभी मेरे पास ही कुर्सी पर बैठी थीं, उनका शरीर देखकर मैं पागल हो रहा था.

संगीता हम दोनों के सामने आकर जमीन पर घुटनों के बल बैठ गई और दोनों हाथों में हम दोनों के लौड़े पकड़ लिए. मयंक के तेज धक्कों के कारण संगीता के चूतड़ मयंक की जांघ पर फट फट पटपट की आवाजें निकाल रहे थे और नीचे चूत में से फच फच पूच पूच की आवाज आ रही थी.

जो सुकून लंड को चूत में डालने के बाद मिलता हैं कहीं नहीं मिल सकता।ख़ुशी हो या गम … चूत चोद के आप ख़ुशी को दुगना कर सकते हैं और गम को भुला सकते हैं।यह सेक्स एडिक्ट गर्ल Xxx कहानी मेरे कॉलेज के समय की है जब मैंने अपनी दोस्त की बहन की चुदाई की। तब मैं और मेरा दोस्त दोनों 22 साल के थे.

मैंने लंड को अंडरवियर से बाहर निकाला और अन्तर्वासना पर कहानी पढ़ते हुए मुठ मारनी शुरू कर दी.

मैंने बिना ज्यादा सोचे गौतम के प्यारे लंड को अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. उन मर्दों की चौड़ी छाती, फड़कते बाजु और पैंट के पास का फूला हुआ हिस्सा मुझे बेहद गर्म कर देते थे. मैं समझ रहा था कि ये चुत फाड़ने कि कह जरूर रही है मगर जब मेरा मोटा लंड इसकी चुत की सील फाड़ेगा … तो बुक्का फाड़ कर रोएगी.

मुझे सच में लगा था कि वो गाल पर किस करेगा … क्योंकि लड़के भी लिप किस करते हैं, तब तक मुझे ये बात नहीं पता थी. यहां से मुझे कुछ ऐसे दोस्त मिले, जिन्होंने अपने अलग अलग तरह के कई किस्से साझा किए. उसे मेरे लिंग के इस क्रूर कार्य का अंदाज़ा नहीं था।मैंने एक बार और झटके से उसकी चूत में लन्ड धकेला.

मेरा लन्ड कड़क होने के साथ साथ फूलता जा रहा था और रोहन मस्त हो उसे चूसने में व्यस्त था।कुछ देर चूसने के बाद रोहन बाथरूम में मुंह का पानी थूक कर मेरे पास आया और मेरी जाँघों को सहलाते हुए मेरे लन्ड के आसपास चाटने लगा.

अब आगे गरम लड़की के साथ सेक्स कहानी:उर्वशी का वासना से भरा चेहरा देख कर मैंने उसे एकदम से उठा लिया और खड़ा करके उसे दीवार से लगा दिया. मैं भाभी के इन शब्दों का मजा लेता और उनके सामने शर्माने का नाटक करता ताकि भाभी मेरे मजे ले सकें. गजब की चुसाई की उसने!मेरी तो आंखें बंद होने लगीं!मैं बोला- तन्नू! छोड़ो मेरा निकल जायेगा!उसने मुंह से लंड निकाला और बोली- आपने भी तो यही किया था!और फिर से चूसने लगी,मैं- तन्नू…जा…न!कहते-कहते मैं उसके मुंह में झड़ गया!वो लंड को होंठों में दबाकर सारा जूस पी गयी; एक कतरा भी नहीं छोड़ा.

इस बार अमित ने मेरी बीवी की गांड मारी और मैंने उसकी चुत में लंड पेला. एक बात और कि इससे पहले मैंने कभी सेक्स नहीं किया था, तो मुझको कुछ ख़ास नहीं पता था कि चुदाई में क्या करना होता है. जैसे ही मैंने अपने होंठ और जीभ फ़लक के क्लिटोरियस पर लगाये उसने आ … आ … आ … आ … करते हुए मेरे सिर को अपनी जाँघों के बीच जोर से भींच लिया.

सोनिया वर्मा[emailprotected]कॉलेज लवर्स सेक्स कहानी का अगला भाग:लंड चुत गांड चुदाई का रसिया परिवार- 15.

आह्ह … धारा !!” शेखर के मुँह से बस इतना ही निकल सका।धारा ने धीरे-धीरे करके शेखर के लंड के उन सभी हिस्सों को जो कि उसके फ़्रेंची के होते हुए छुए या चूमे जा सकते थे, चूमा और अचानक से लंड को अपने दाँतों से पकड़ लिया. फूटने लगी।वो दोनों अब पूरी तरह से चोदने लायक गर्म हो गई थी, उन दोनों लड़की लड़की का सेक्स देख कर मैं भी गर्म हो गया था.

हॉस्टल का बीएफ अपनी जीभ को मेरे मुँह में डाल कर जीभ से मेरे मुँह की चुदाई करने लगे. आंटी की इस उम्र में भी उनकीचूत बहुत टाईट थीक्योंकि अंकल का लंड छोटा था और वो आंटी को कभी कभी चोदते थे.

हॉस्टल का बीएफ मैंने बोला- भाभी जब लौड़ा लेना था … तो नाटक क्यों कर रही थीं?भाभी- चुप कर मादरचोद … बकचोदी करने नहीं बुलाया है तुझे यहां. उसी दौरान बातों बातों में पता चला कि सितारा के भाई की शादी करीब आठ साल पहले हुई थी और अभी तक कोई बच्चा नहीं है इसलिए सितारा की भाभी कविता काफी परेशान रहती है.

शेखर अपने चरम पर था और अगले कुछ ही पलों में उसका लावा बाहर आने वाला था.

योगा वीडियो बीएफ

दोस्तो, यह जवानी है दीवानी कहानी के आगे भाग में मैं प्रभा की बुर चुदाई की कहानी लिखूंगा. वो बोले- लीसा, मुझे भूख लगी है कुछ खाने का है?आंटी ने उनसे कहा- आप अन्दर चलो मैं आती हूँ. मेरी उम्र 27 साल है।मैं देखने में सामान्य हूं, लम्बाई 5’6″, बॉडी भी सही है।मेरा लन्ड 6 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है, मैं चोदने में पक्का खिलाड़ी हूं।मुझे चूत की चिकनाहट और गरमाहट बहुत पसंद हैं.

मेरी पिछली सेक्स कहानीनजर का धोखा और मौसी की चूतमें आपने पढ़ा था कि मैंने अपनी फ्रेंड की मौसी की चुत को चूस कर झाड़ दिया था. मेरी बातों का उस पर कोई असर नहीं हुआ … बल्कि वो मेरे पास आकर मेरे साथ हरकत करने लगा. अब मेरे दिमाग में एक आईडिया आया, मैंने एक कंडोम का पैकेट खरीदा और सब्जी वाली थैली में डाल दिया.

मैं तय समय पर यानि शाम के पांच बजे जब वहां पहुंचा, तो मैं उसे वहां नहीं देख पाया था.

उनके जाने के बाद मैंने दरवाजा बंद करके नंगी ही बाथरूम में जाकर खुद को साफ किया. जिस घर में हम रहते थे, वो हमारे दादा का था … मतलब उसमें चाचा लोगों का भी हिस्सा था. उसको देख कर वो बोला- हाय अब लग रहा न कि नई नवेली दुल्हन सुहागरात में पति से गांड मरवा कर बाथरूम जा रही हैं.

उस वक़्त मौसी के ये सेक्सी फोटो, मेरी फटी हुई गांड के बावजूद मेरे अन्दर उत्तेजना भर रहे थे. शेखर के लिए इतना काफ़ी था कि धारा भी उससे बात करने के लिए उतनी ही इच्छुक नज़र आ रही थी जितना कि शेखर खुद. अब उसने धीरे-धीरे धक्के देने शुरू कर दिए मुझे ऐसा लग रहा था कि वह मेरा मुंह नहीं मेरी चूत चोद रहा है.

झटके मार मारकर मैं थोड़ा सा रुक कर खुद को सामान्य करने लगा तो नेहा ने खुद ही आगे पीछे होते हुए कमर हिलानी शुरू कर दी. जब वो अगले दिन मेरे घर आया, तो आज जानबूझ कर मैंने शहज़ाद को रिझाने के लिये एक एकदम हल्के रंग और झीने कपड़े का सूट पहना.

मैंने उसे चूम लिया और अपने ही वीर्य का स्वाद उसके होंठों से ले लिया. मैंने कहा- किसका लंड चूस रही हो जान!मौसी ने हंसते हुए कहा- अबे यार, लंड चूसने की फीलिंग तभी आती है, जब वैसी ही आवाज भी निकले … मैं एक खीरा चूस रही हूँ ताकि तुम्हें लंड चुसाई की आवाजें सुनाई दें. मैं उठ कर अलग होने लगा तो उन्होंने फ़ुर्ती से मुझे पकड़ा और मेरी गांड पर 5-6 झापड़ जड़ दिए.

क्योंकि मैं सोफे पर झुकी थी तो वो मेरी चूचियों के नीचे बैठ गया और मेरे दूध पीने लगा.

जब तक मेरा रस नहीं निकला, तब तक भाभी गजब तरीके से लौड़े को चूसती रही थीं. मॉम ने डैड का लोहे की रॉड की तरह सख्त गीला लंड पकड़ कर अपनी चूत से लगाया और धच से लंड पर बैठ गईं. अवनि का एक पैर ऊपर करके जैसे ही मैं लंड को चूत में डाल रहा था कि किसी ने दरवाजा बजा दिया.

देसी वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि सेक्सी बीवी ने अपने पति के दोस्त को रात में अपने घर बुलाया. वह एक बड़ी कंपनी में सॉफ्टवेयर डेवलपर थी और उसी कंपनी से मेरी कंपनी का मार्केटिंग टाई-अप था.

तो मैं कैसे चुदी उस जवान लड़के से?हैलो हाजरीन और खवातीन, मैं आपकी प्यारी सी सबीना आपको अपनी सेक्स कहानी में अपनी बेटी के लंड से अपनी चुत चुदाई के लिए मरी जा रही थी. मैंने कहा- अगर तुमको मुझसे प्यार है … तो तुम उनसे बात करना छोड़ दो. जब लंड चुत के लिए कड़क हो गया तो मैंने उन्हें पीठ के बल लिटा दिया और अपने लंड को उनकी चूत के द्वार पर सैट कर दिया.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म भेजो

थोड़ी देर चुदाई करने के बाद अबकी बार मैं और सुनीता दोनों ही अपने मुकाम पर पहुंचने वाले थे.

इधर मैं रुचि के मम्मों चूस रहा था और उधर लंड से चंचल की चुदाई चल रही थी. वो लोग काफी दिनों से डिमांड कर रहे थे कि हम अपनी सेक्स लाइफ की मदभरी कहानियों को उनके साथ अन्तर्वासना पर शेयर करें. फिर पल्लवी ने वो किया, जिससे समीर के साथ साथ ज्योति भी हैरान हुए बिना नहीं रह सकी.

एक पल बाद सोनम की पारदर्शी पैंटी मानस के सामने आ गयी और सोनम ने उसका मुँह अपनी जांघों में दबा कर दांत पीसते हुए कहा- चल भोसड़ी के, निकाल अपनी जीभ और चाट मेरी भोसड़ी … कुत्ते आज तो मैं तेरे मुँह में मूतूंगी … हरामी के पिल्ले. अन्तर्वासना के प्रिय पाठको, मैं विराज एक बार फिर से आपकी चूतों को चमचम … और लौड़ों को बांस बनाने के लिए हाजिर हूँ. देसी रंडीमैंने अपना हाथ उसकी जांघों पर रख दिया और बोला कि आप अकेली हो और अंकल भी आपको टाइम नहीं दे पाते, तो कोई दोस्त बना लो.

एक दिन हम मंडी में सामान लेने गये थे तो वहां मेरा पैर डगमगाया और समीर ने मुझे संभालते हुए मेरी चूची को दबा दिया. इस पोजीशन में मेरा लंड चूत और गांड के बीच दस्तक दे रहा था और आशारा की मादक सिसकारियां बढ़ने लगी थीं.

अब वो रोज जब सेंटर आती तो अपने और मेरे लिए कुछ न कुछ खाने पीने के लिए ले आती।मेरे मन में आशारा के लिए आकर्षण बढ़ता ही जा रहा था. उस कड़कती ठंड के मौसम की सर्द रात में मेरी मां और पिताजी दो जिस्म एक जान हो गए थे; अर्थात उन दोनों ने मेरे अवतरण की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी थी. फिर मैंने 3सम चुदाई की उन दोनों के संग!अब आगे हॉट फॅमिली सेक्स कहानी:शाम को मेरी आँख खुली तो देखा घड़ी में चार बज रहे थे।मैंने एक नजर कमरे में घुमाई तो मुझे रूपाली कहीं भी दिखाई नहीं दी लेकिन नीतू अभी भी मेरे बगल में अलसाई हुई निर्वस्त्र पड़ी थी।उसके चेहरे पर पर शांति और तृप्ति के भाव स्पष्ट दिखाई दे रहे थे।कुछ देर तक तो मैं उसी तरह उसके बगल में लेटा रहा और नीतू के नंगे जिस्म की काया को देखता रहा.

वरना आज तक तो जितने भी मर्द मिले हैं वो बस हवस और वासना से भरे हुए अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए तड़पते हुए ही दिखे हैं. अंततः मां की चुत का लावा फूट गया और उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया, मैंने चुत रस पूरा अन्दर गटक लिया. लेकिन शेखर की इस हरकत से धारा के गले में लंड का धक्का ज़ोर से लगा और वो गूँ-गूँ करती हुई पीछे हट गयी.

पूरा लंड चुत ने अन्दर तक चला गया था … जिस कारण से उसे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था.

अभी भाभी चुदने के लिए तैयार नहीं थीं पर मैंने एक झटके में पूरा लंड चुत के अन्दर डाल दिया. फिर मैंने कहा- क्यों बहन के लोड़े … माँ चुद गयी ना … क्या तेरे लंड में इतना दम है कि तू मेरी प्यास बुझा सके?साहिल बोला- मां की चूत तेरी … बहन की लोड़ी … हमें छोड़ कर तो देख … फिर बताते हैं तुझे हम!फिर मैंने उसका लंड सहला दिया और उसके होंठों पर किस करना शुरू कर दिया.

चिराग- तू … तू … यहां क्या कर रही है?स्नेहा- भैया ज्योति कहां है … और तुम यहां क्या कर रहे हो?चिराग- व. पार्टी में हम दोनों किसी शौहर पत्नी के तरह ही हर तरफ घूम फिर कर खाना खा रहे थे. फिर क्या हुआ?नमस्कार दोस्तो,मैं राकेश अपनी एक और कामुक और सच्ची फ्री सेक्स स्टोरी हिंदी आप लोगों के समक्ष ले कर आया हूँ, आशा करता हूँ कि आप सब लोग मेरी इस कहानी को भी उतना ही पसंद करोगे जितना आपने मेरी पिछली कहानियों को किया.

नीतू अपनी कमर को उचका कर चूत मेरी तरफ धकेलने लगी।उसकी चूत मुझे अब कुछ तंग लगने लगी थी, ऐसा लग रहा था कि उसकी चूत के होठ मेरे लंड को अंदर खींच रहे हो।ये सारे शुभ संकेत थे कि नीतू की अब झड़ने वाली है।मैं भी उसी गति से चोदता रहा फिर नीतू ने अपने मुंह से एक हाथ हटाया और एक हाथ से अपने चूत के दाने को सहलाने लगी।थोड़ी देर बाद मुझे मेरे लंड पर तेज दबाव महसूस हुआ लगा कि नीतू बस अब झड़ जाएगी. तीन रात और तीन दिन में मैंने और चाची ने लगभग 10-12 चुदाई के सेशन पूरे किए. इस बात को मैंने पापा को बताया, तो उन्होंने उससे बात करके कहा- तुम काम शुरू करो, मैं अभी किसी बिजली वाले को भेजता हूँ.

हॉस्टल का बीएफ सुबह 3:00 बजे मेरा स्टेशन आ गया और मैं सुनीता के पास विदा का एक पत्र रख आया जिसमें मैंने उसे उसके प्यार के लिए शुक्रिया लिखा था. मैंने कहा- मुझे तेरी गांड मारना है … आसानी से मरवाओगे तो ठीक … नहीं तो जबरी मार दूँगा.

दिल्ली का बीएफ हिंदी

मैंने दूध मसलते हुए कहा- भाभी अब आप कुछ नहीं बोलोगी, मुझे मेरे मन की कर लेने दो. आंटी बॉय सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मुझे शौहर के दोस्त के घर की शादी में अकेली जाना पड़ा। वहां मुझे अकेली देख दो जवान लड़के मुझसे बात करने लगे। उसके बाद …दोस्तो, मैं जानिसार अपनी आपबीती कहानी आपके सामने ला रही हूं।मेरी हाईट 5 फीट 4 इंच, फिगर 36-30-36 है। ब्रा 36 सी की पहनती हूं। मेरे बूब्स काफी बड़े हैं। रंग भी गोरा है। मेरे बाल मेरी पीठ तक आते हैं।मेरे शौहर का बिजनेस है भोपाल में!यह कहानी सुनें. मेरी उंगली आंटी की चुत में घुसी तो आंटी की कराह निकल गई- अहह मर गई … साले हरामी मुझे और मत तड़फा … अब जल्दी से मुझे चोद दे कुत्ते आह फक मी … तुम बहुत मस्त लौंडे हो … आह मुझे बहुत मज़ा आ रहा है.

इस पर उसने कहा- हम दोनों सिर्फ फ्रेंड हैं और हमारे बीच में ऐसा कुछ भी नहीं है. उसके जाने के दो मिनट बाद फरियाल भी नीचे चली गई और मेनगेट लॉक करके वापस आ गई. क्सक्सक्स सक्सीअब आगे कॉलेज गर्ल Xxx कहानी:इस कहानी को सेक्सी आवाज में सुनकर मजा लें.

अंकल ने मेरे बाल सहलाए और कहा- प्यार से कर न मेरी जान … तुझे बहुत मजा आएगा.

लगभग 10 मिनट तक यूँही चहल-क़दमी के बाद शेखर के पैर लड़खड़ाने लगे थे।किसी तरह वो वापस अपने बिस्तर तक आया और धड़ाम से बिस्तर पर गिर कर छत की ओर निहारता हुआ लेट गया. धारा की बातें पढ़ कर शेखर को जहां जोश आ गया था वहीं उसके मन में ये विचार भी आ रहा था कि धारा की उम्मीदों पर वो खरा उतर पाएगा भी या नहीं क्यूँकि धारा शेखर के अंदर एक साथी की झलक देख रही थी.

आप सभी से निवेदन है कि कहानी को ध्यान से पढ़ें, बारीकी से आकलन कीजियेगा. मैं अपने अंगूठे से निप्पल का सिर रगड़ रहा था और दूसरे हाथ की पहली और तीसरी उंगली से मैं उनकी चूत के होंठ खोल कर बीच की उंगली उनकी चूत में अन्दर बाहर कर रहा था. अब राजेश झड़ने वाला था तो उसने पूछा- भाभी, पानी गांड में ही निकाल दूं?मैं बोली- बिल्कुल नहीं … तुम दोनों अपना पानी मेरी चूत में ही निकालोगे.

मैं समझ गया कि भाभी कह रही हैं कि शुरुआत में भैया ने जब भाभी की चुत की सील तोड़ी थी, तब भाभी को बहुत दर्द हुआ था और वो ठीक से चल नहीं पाई थीं.

मैं उनके चहरे के हाव-भाव देख रही थी और वो मेरी जुल्फों से खेल रहे थे. सेक्स विद माय स्टेप मॉम के पहले भागसौतेली मॉम के साथ सेक्स की शुरुआतमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी मां ने मुझसे चुदवाना स्वीकार कर लिया था और मैंने उनकी चुत में लंड पेल दिया था. वैसे तो गर्म मैं पहले से ही थी लेकिन उनका लंड देखकर तो मेरी चूत में आग सी लग गई.

क्सक्सक्स विदोपहले मैंने उसके लोअर को निकाल दिया और साथ ही उसकी ब्लैक पैंटी को हाथ लगा दिया. दो तीन सिप लेने के बाद घर की बैल बजी, मैंने दरवाजा खोला तो सामने शीना खड़ी थी, उसकी टांगें अभी भी कांप रही थी.

15 साल की लड़कियों की सेक्सी बीएफ

यह कहानी मैं उस सहेली की मर्ज़ी से ही पोस्ट कर रही हूँ।उसकी गोपनीयता बनाए रखने के लिए मुझे कुछ किरदारों के नामों को बदलना पड़ा है।तो चलिये अब आप लोग उसकी वर्जिन Xxx स्टोरी का आनंद लीजिये।यह कहानी सुनकर मजा लें. मैं बोली- सेक्स भी किया है कभी!वो बोला- आज के दिन ही वो मुझे अपनी चूत गिफ्ट में देने वाली थी और आज मैं उसकी चुत की सील तोड़ने वाला था लेकिन अचानक वो चली गयी. उसकी रोटियां जैसे ही बन कर खत्म हुईं, मैं उसे उठाकर बाहर ले आया और हॉल में पड़े सोफे पर झुका दिया, उसकी गांड में लंड डालकर चोदने लगा.

कुछ देर सोच कर शीना ने ओके कहा और बोली- मैं कल सुबह कॉलेज टाइम में आ सकती हूं. अब खाना तैयार था लेकिन हम नहाये नहीं थे, तो हमने बाथरूम में एक कुर्सी खींच ली. वो मजे से लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत के अन्दर जीभ डाल कर चुत चूसने लगा.

अब मेरा हाथ उसकी निक्कर के ऊपर से ही चूत पर जाने लगा तो उसने अपने पैरों को थोड़ा फैला दिया. सोनम झट से उसके पास गयी और उसकी कॉलर पकड़ कर उसने चपरासी को उस टॉयलेट से बाहर खींचते हुए बोली- साले भोसड़ी के … ये सब करने आता है यहां पर? चल आज तेरी सारी गर्मी निकालती हूँ. अगर तू चाहेगा कि तेरी वाइफ को सिर्फ तू ही चोदेगा … तो तेरे अलावा उसे कोई और नहीं चोद सकता.

मैंने उसकी चूत पर जैसे ही जीभ लगाई, वो तड़प गई और मेरे लंड को मुँह में गले तक ले लिया. मैंने उससे कहा कि जब भी आपको मेरी जरूरत हो, याद कर लेना … मैं आ जाऊंगा.

थोड़ी देर बाद मैं काफी गर्म हो गई और अब खुद ही चुदने के लिए बेताब हो उठी.

इससे पहले तो वो बहुत गुस्सा हुए और मुझे भला बुरा बोलने लगे, पर मैंने उन्हें शांति से समझाया कि मुझे भी शारीरिक सुख की कमी महसूस होती है. bf सेक्सी वीडियोमम्मों के ऊपर गजब के निप्पल थे, मैंने दोनों निप्पलों को चूस चूस कर लाल कर दिया. क्सक्सक्स वीडियोस देसीलगभग पांच मिनट बाद मैं डिस्चार्ज हो गया और मेरा शरीर निढाल होकर उसके ऊपर गिर पड़ा. बीवी अपने पति के दफ्तर में गयी तो वहां उसने चपरासी को बाथरूम में मुठ मारते देखा.

मैंने कहा- कोई बात नहीं बाबू … आज अपनी चुत और गांड को दो मर्दों से फड़वा लो … लाइट भी नहीं है.

तभी मीरा की आवाज़ सुन कर रीमा ने निखिल को खुद से अलग किया और कल मिलने का वादा करके चली गयी. यह घटना देश में लॉक डाउन लगने से पहले यानि होली के अगले दिन की है, जिसकी शुरुआत होली वाले दिन हुई. उसने टीवी पर एक भूत वाली अंग्रेजी पिक्चर लगाई ये फिल्म थोड़ी गंदी थी.

मैंने जल्दी से मोबाइल का फ़्लैश ऑन किया, तो मां मुझे घूर रही थीं,मुझे जागा हुआ देख कर मां कहने लगीं- ये तू क्या कर रहा था. मौसी- तुमको उससे क्या मज़ा मिलेगा!मैं- मुझे ऐसा लगेगा कि मुझे चूसना है. आंटी की सास हमारे घर पर थीं, मैं आंटी से मिलने गया उनकी दुकान पर गया तो वो बंद थी.

बीएफ सेक्सी सेक्सी चोदा चोदी

देखो उस रात को जब हम दोनों छत पर चुदाई कर रहे थे, तब नीतू हम लोगों को छिप कर देख रही थी। नीतू को हमारे बारे में पता चल गया। वो कह तो रही है कि वो किसी को कुछ नहीं बताएगी. लण्ड को धीरे धीरे अन्दर धकेलते हुए आधा लण्ड कविता की चूत में पेल दिया. तकरीबन दस मिनट बाद उसका लन्ड फिर से टनटना गया और अबकी बार समीर उठा और उसने पहले अनामिका की गांड चाटी.

मैं- तुम्हारा साइज क्या है?फ़लक- 34-32-34मैं- और गहराई?फ़लक- किस चीज की गहराई ?मैं- चूत की!फ़लक- मुझे क्या पता?मैं- आज नापकर बताऊँगा.

शेखर अपनी कमर को उचका कर लंड को और अंदर डालने की कोशिश करने लगा।मगर फ़िलहाल कमान धारा के हाथों में थी इसलिए वो अपने हिसाब से लंड को अपनी मर्ज़ी मुताबिक ही चूत में ले रही थी.

जब तक लड़की 19 साल की नहीं होती है, उसे लंड चुत और माल से दूर रखा जाता है. मुझे ऊपर लेकर लंड को चूत पर रख लिया मैं ऊपर-ऊपर ही लंड फिराने लगा तो उसने ऊपर की तरफ कमर उछाली लेकिन मैं उचक गया. सेक्स फर्स्ट टाइममुझे भी शारदा का फिगर मस्त लगा था, मगर अभी सामने हूर सी फरियाल की चुत दिख रही थी तो मैं चुप हो गया.

टॉयलेट सेक्स के बाद हम दोनों एक दूसरे को जकड़ कर थोड़ी देर खड़े रहे, अपनी सांसों को संभालने के बाद हमने एक दूसरे को अलग किया और हांफने लगे. थोड़ी देर बाद मोहन आता है और नीरू के पास बैठ कर उसकी जांघों पर हाथ फेरने लगता है. यह सुनकर मैंने विशाल की तरफ देखा और मुस्कुरा कर बोली- अच्छा तो अब तू मर्द बन कर आया है.

मैंने अपने लंड को समझाया कि मान जा साले लौड़े … थोड़ी देर में ये गांड चुत सब तू ही चूसने वाला है. भाभी के मुँह से इतनी खुली और गंदी बातें सुन कर मैं एकदम से शॉक्ड रह गया और सोचने लगा कि यह वही भाभी है, जो साली देखने में कितनी भोली और मासूम दिखती थी.

उसने देखा कि उसकी माँ पूरी नंगी होकर मेरा लन्ड अंडरवियर से बाहर निकालती है.

फिर मैं उनके बराबर में आंख बंद करके लेट गया और वो मेरे कंधे पर अपना सिर रख कर मेरी छाती पर हाथ फेरने लगी थीं. वो अपनी चुत को उठाते हुए मुझे बार बार चुत चाटने का इशारा कर रही थी. मैंने भाभी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया और धीरे धीरे झटके मारने लगा.

स्टूडेंट एक्स एक्स एक्स भाभी अपना हाथ मेरे सिर पर बालों में फेरती हुई मुझे आना दूध पिला रही थीं. अब सुनो … जब मुझ जैसी फिल्म की हीरोइन आपके सामने बैठ कर आपको हैंडसम कह रही है तो आपको इस बात का भरोसा हो जाना चाहिए कि आप हैंडसम हैं.

तब पता चला कि उसकी शादी को 6 साल हो गए हैं, किन्तु शराबी पति के कारण उसका तलाक हो गया था. वैसे मैंने ज्यादा नहीं, बस दो की चूत चाटी है और दोनों से अपनी चूत चटवाई भी है. भैया से हाथ मिलाया तभी भाभी ने भी अपना हाथ बढ़ा दिया, तो मैंने भाभी से भी हाथ मिलाया.

इसके बीएफ

उधर भाभी बोले जा रही थीं- रुक क्यों गया … झटक मारो … आह मेरी चुदाई को बहुत दिन हो गए. इस अवस्था ने बैठने के कारण मेरे बूब्स बहुत ज़्यादा लटक कर बाहर को दिख रहे थे. लगभग एक घंटा हुआ होगा, तभी मुझे अहसास हुआ कि कोई मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहला रहा था.

तो तन्वी हंसते हुए बोली- अरे यार अनलिमिटेड … बट इसके पहले मुझे तुझसे एक बात पूछनी थी. ऐसा करने से मुझे बहुत मजा आ रहा था और मुझे लगने लगा कि मेरा वीर्य ऐसे ही निकल जाएगा.

मेरा तीसरा छेद यानि मुंह अभी खाली था तो मैंने अमित का लंड मुंह में ले लिया और उसे चूसना शुरू कर दिया.

यह कह कर जैसे ही चाची उठी तो वीर्य बाहर आ कर उनके पटों पर फैलते हुए नीचे आने लगा. मुझे उनका मोबाइल नंबर भी मिल गया था, तो जब भी भाभी खाली होतीं, वो मुझे बुला लेतीं या हम दोनों की फोन पर बात होने लगती थी. कोई 15 मिनट की चुदाई के बाद मेरा और उसका पानी आने को हुआ तो मैंने पूछा- कहां निकालूं?जिस पर वो बोली- अन्दर ही डाल दो … मेरी चूत की प्यास बुझा दो.

मैंने कहा- यार, मुझे आज बहुत मन कर रहा था, क्या मैं तुम्हें लेने आऊं या हमेशा की तरह तुम खुद आ जाओगी?उसने बिना कुछ बोले फ़ोन रख दिया. हॉट चैट स्टोरी में पढ़ें कि ऑनलाइन बने दोस्त ने अपनी बीवी से सेक्स की बात की तो वो भी बेचैन हो गया अपने सेक्स जीवन में कुछ नया करने के लिए. मैं झुंझला गया क्योंकि मेरे लंड की नसें फूलकर फटने को तैयार थीं- क्या कर रही हो तन्नू?तमन्ना- वही जो आप दो दिनों से कर रहे हो!मैं- क्यों तड़पा रही हो?तमन्ना- मजा आ रहा है!मैं- अच्छा ये बात है?कहते हुये मैं उसकी ओर झपटा तो वो पहले ही छिटक कर टेबल पर जा टिकी.

अब वो हर झटके में सिसकारने लगी और मैंने भी अपने झटकों की रफ्तार बढ़ा दी.

हॉस्टल का बीएफ: मैं सॉरी बोल कर सामने वाले सोफे पर बैठ गया और अपने लोअर के ऊपर से ही लंड को एडजस्ट करने की कोशिश करने लगा. वैसे मुझे आवाज की कोई दिक्कत नहीं थी क्योंकि घर पर कोई नहीं था … बस मुझे उर्वशी की फ़िक्र थी.

जब कभी भी हम तीनों को टाइम मिलता था तो उस वक्त मेरे देवर पीछे रहते थे और उनका दोस्त आगे. अब डॉक्टर रोहित के लंड की लालसा में मेरी चुत मचलने लगी थी जिसे मैं अगली बार की सेक्स कहानी में विस्तार से लिखूंगी. उसने ओके कहा और मैंने पम्प पर सर्विस देने वाले आदमी को इशारे से पास बुलाया.

वो चूमते हुए मेरे शरीर को सहला रहे थे, उनका हाथ मेरी पीठ सहलाते हुए गांड पर पहुंच गया.

मैंने भी मौका देख कर उसको बोल दिया- बेटा मुझे भी बहुत प्यास लगी है; मुझे भी पिला दो. मैंने लंड चुत में पेल तो दिया मगर मुझे आंटी की चुत मारने में मजा नहीं आ रहा था … इसलिए मैंने लंड खींच लिया और चुदाई के लिए मना कर दिया. हालांकि मुझे खुद को रंडी बुलवाना बिलकुल पसंद नहीं है मगर आज का माहौल ही कुछ ऐसा था कि मैं खुद को एक रंडी ही समझ रही थी.