सैक्स बीएफ

छवि स्रोत,100 साल की बुड्ढी की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

హిందీ హిందీ బిఎఫ్: सैक्स बीएफ, वो मानो पागल हो गयी थी और मुँह से ‘आय यस स्श्ह इह्ह उऔऔ इह्ह उऔ ऊया औ उहिही उहू.

मद्रासी ऑंटी सेक्सी व्हिडिओ

राहुल फाड़ दो मेरी जालिम चूत को आहह्ह्ह् … चोदो … पूरी तरह निचोड़ कर पानी निकाल दो. गांव का चुदाई सेक्सी वीडियोपता नहीं मैं क्या से क्या होने लगी और मेरे मुँह से अपने आप ही सिसकारी निकलने लगी थी.

मैं अपने बॉयफ्रेंड को बहुत प्यार करती थी, क्योंकि वो मेरी सारी परेशानी समझता था. सेक्स वीडियो सेक्सी वीडियो दिखाओफिर वो बिस्तर पर सीधी लेट गईं और मैंने उनकी दोनों टांगें अपने कन्धों पर रखकर उनकी चूत मारनी शुरू की.

उसे दीवार के साथ झुका दिया और उसकी गांड मारने लगा और उसके चुचों का हलवा बनाने लगा.सैक्स बीएफ: कुछ हफ्ते बाद मुझे सुबह से ही अजीब लग रहा था और एक बार वोमिट भी हुई तो मैंने प्रेग्नेंसी का रिपोर्ट करवाई, तो वो पॉजिटिव आई.

मैंने धीरे से हाथ नीचे ले जा कर उसके ब्लाउज़ के सारे हुक खोल दिये और उसकी चुचियो को मसलते हुए उसके निप्पलों को खींचने लगा.मुझे ऐसा लग रहा था कि सुषी की चूत दीवार में लगी है और मैं दीवार को चोद रहा हूँ.

लड़की की और कुत्ता की सेक्सी फिल्म - सैक्स बीएफ

गोरे, चिकने मस्त मम्मे … जिन्हें मैंने उनकी बेसुधी में बहुत बार देखा था.रात के 1 बजे का समय हो गया था, मैं अपने कपड़े पहन कर लता भाभी के ड्राइंग रूम वाले दरवाजे से निकल कर चुपचाप अपने कमरे में चला गया.

जब मैंने चैट में पीछे जाकर देखा तो यह वही लड़का था जो उस दिन बारात में मिशिका के साथ बात कर रहा था. सैक्स बीएफ राहुल और सुरभि के साथ भी टाइम स्पेंड करें, उनके स्कूल, कॉलेज और फ्रेंड्स के बारे में उनसे बात करें … धीरे धीरे सब नार्मल हो जाएगा, आप टेंशन मत लें.

मैंने कुछ देर बाद दोनों को ऊपर से हटाया और एकता को डॉगी स्टाइल में आने का बोला.

सैक्स बीएफ?

भाभी उस धक्के के लिए तैयार नहीं थी और जैसे ही पूरा लंड चूत के अंदर फंसा, भाभी की एकदम चीख निकल गई, बोली- राज! मुझे मार ही दिया, इतना मोटा लंड है तुम्हारा. जिस दिन मेरे हस्बैंड मेरे साथ सेक्स नहीं करते थे, उस दिन मुझे ऐसा लगता था कि कोई आए और मुझे खूब जोर से चूसे. उसने आते ही मुझसे पूछा- अकेली यहाँ क्या कर रही हो?मैंने उसे सारी कहानी बता दी, फिर उसने कहा- कोई बात नहीं, मैं घर छोड़ देता हूं.

मैंने उठकर दरवाजा खोला तो बाहर ननद खड़ी थी।वो बोली- भाभी आप खाना खा लो और राहुल को भी खाना खिला दो. फिर वो अचानक रुकी और खड़ी हो गयी।मैंने थोड़ी देर उसकी कुर्ती में से उसके तने हुए बूब्स को दबाया फिर मैं उसके बूब्स को बाहर निकालकर चूसने लगा। मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। आज भी मुझे उस घटना का एक-एक पल याद है। फिर दीदी ने अपनी पैंटी को उतारा और मुझसे अपना लंड उसकी चूत में घुसाने को कहा।मैंने अचानक से घुसाया तो उसे बहुत जोर का दर्द हुआ. राज अंकल मम्मी से बोले- पहले कहां चलूं? साड़ी की दुकान पर चलें या इस वन्द्या के लिए जहां कपड़े मिलें, वहां चलें?तो मम्मी बोलीं- जहां साड़ी भी मिल जाए और लड़कियों का भी हो, वहीं चलो.

वो बोले- सिर्फ थोड़ी देर देख ले … तुझे अच्छा नहीं लगेगा, तो चली जाना. उसके बाद एकदम से उसकी चूत से पानी निकलने लगा और वह जोर से चिल्लाती हुई शांत हो गयी. आह … आ उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ … फ़क मी … जैसी आवाज़ें पूरे कमरे में गूँज रही थीं.

बचा यह महेश, तो यह अपना लंड या तो इस वन्द्या के हाथों में और या इसके दोनों दूधों के बीच में डालकर रगड़ लेगा. वो क्या है ना कि हम मिर्ज़ापुरयों को अपने टेलेंट पर पूरा भरोसा होता है.

लेकिन वक्त के साथ मैंने मान लिया अब मेरा शौहर कभी वापस लौटकर नहीं आएगा.

मुझे बहुत मजा आ रहा था, मेरा लंड मीशा की चूत में कसा कसा जा रहा था.

मैं तुम्हें जानती भी नहीं हूँ, फिर भी तुम्हारा लेटर पढ़ने के बाद से मैं तुमसे मिलने के लिए बेचैन हूँ. फिर मैंने उसकी नाइटी के ऊपर से ही उसकी चूचियों को दबाना और मसलना शुरू कर दिया. उसके बाद मुझे महसूस हुआ कि मेरे पांव को नीचे से कुछ टच हो रहा है, मैंने थोड़ा नीचे की तरफ झुककर देखा तो मामी मेरे पांव को अपने पांव से सहला रही थी.

मुझे जगत ने बताया है कि अभी कुछ दिन पहले 5-6 लोगों ने भी चार-पांच घंटे में तेरी आग नहीं बुझा पाए थे. इसके साथ ही उसके शरीर ने झटके लेने शुरू किए, उसके पेट के नीचे और बुर के ऊपर का हिस्सा फूलने पिचकने लगा और फिर वो लम्बी- लम्बी सांसें लेते हुए पूरी तरह शांत हो गई. नीना की चूत में अपना लंड डालने से पहले वह बहुत कुछ कर लेना चाह रहा था, मगर हमारे बेडरूम में, जहां नीना हर रोज मेरे साथ चुदाई किया करती थी.

मदन की मां- अगर आप बुरा ना माने तो एक एक जाम हो जाए, वैसे भी इतनी दूर बाइक से आते आते आपकी तो उतर भी गई होगी.

अब तो हालत ये हो गई थी कि हम दोनों लोग जिस दिन बात नहीं करते थे तो वो लड़का मेरे घर आकर मुझसे बात करता था. मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मेरी चूत की खुजली को मिटाने में उसका लंड बड़ा ही मस्त मजा दे रहा था. दोस्तो! कैसे हो आप सब? मेरी रीयल चुदाई की गर्म कहानी को पढ़कर आप सब मज़ा लें!आज मैं आपको बताऊँगा कि कैसे मैंने एक लेडी डॉक्टर की चुदाई की।यह कहानी पिछले हफ्ते की ही है। जब मैं मेरे बड़े पापा के घर मुंबई गया था.

कैसे लगी मेरी कहानी, आप कमेंट्स और मेल लिख कर मुझे अवगत कराएं!तब तक आप सभी चुतों को मेरे लंड का चुदाई भरा नमस्कार. तो लुंगी में उनकी गोल मटोल गांड देखकर मुझे अनिरुद्ध की बात याद आ गयी. जब मेरा पानी निकला तो उसे महसूस करते हुए वो शायद एक बार फ़िर झड़ गयी.

उसके बाद मैंने ज़ोर से भाभी की चूत में एक धक्का मारा तो भाभी ने मेरा कंधा छोड़ दिया.

काफी टाइम से उससे बात भी हो रही थी तो मुझे वह पसंद भी था और भरोसा करने के लायक भी लग रहा था. उसकी कमर को चूस करके मैंने लाल कर दिया और फिर धीरे धीरे में उसके चूचों को दबाने लगा.

सैक्स बीएफ जैसे-जैसे उसके जिस्म से कपड़ों की परत उतर रही थी मेरे लंड का तनाव हर पल और ज्यादा बढ़ता जा रहा था. उसके जाने के बाद मैं और वाणी बैठ कर उस शाम के बारे में बात करने लगे.

सैक्स बीएफ मेरे लंड को भाभी के मुँह की गर्मी का अहसास हुआ, तो बस मेरे मुँह से अब ‘आहह भाभी. एक बात है कि जितना मज़ा पूरे कपड़ों के साथ आता है, उतना मज़ा नंगे हो कर नहीं आता है.

मैंने बातों ही बातों में उससे पूछा तो पता चला कि वह मूल रूप से मध्य प्रदेश की रहने वाली है.

साउथ सेक्सी वीडियो फिल्म

मैं उसको जब जगाने जाती तो उसको हिला कर उसे जगाती और वो भी मेरा हाथ पकड़ कर कह देता कि अभी और सोने का मन है … प्लीज़ मत जगाओ न!तो मैंने उसके हाथों में अपने उस हाथ को फंसा रहने देती और दूसरे हाथ से उसे बांह पर चिकोटी काट कर उठने का कहती. मैं दोनों को मस्त कर रहा था और एक एक हाथ से दोनों के बूब्स को दबा भी रहा था. काफ़ी देर तक करने के बाद मैंने उससे कहा- सब कुछ मैं ही करूँगा, तो तुम क्या करोगी?ये कहते हुए मैं उसके ऊपर से हट गया.

मैंने उसकी टांगें पूरी तरह से खोल कर चुत फैलाई और लंड के सुपारे को बुर की फांकों में डालने लगा. कार में बैठने के बाद मैंने भाभी से पूछा कि कहीं वह मुझसे नाराज़ तो नहीं हो गई है. मामी पूरी तरह से गर्म तो हो ही गई थीं, वे बोलीं- जल्दी लंड डाल कर मुझे चोद दे कमीने.

उसके बाद भाभी मेरे पास बेड पर वापस आ गई और मेरे लंड और मेरे मुंह से अपनी ब्रा और पेंटी हटाकर कहने लगी कि अब इसकी क्या ज़रूरत है मेरे राजा … जब मैं खुद तुम्हारे पास हूँ तो …भाभी ने अपने अंडरगार्मेंट्स उठाकर एक तरफ फेंक दिए और मेरे होठों पर किस करने लगी.

मैं भी निहारिका को उसके बदन पर कभी यहाँ तो कभी वहाँ छू-छूकर गर्म करने की कोशिश करने लगा। वो अब बहुत गर्म हो चुकी थी. लेकिन एक बार में उसकी गांड में पूरी तरह से लंड नहीं घुस सका था और वो भी उंगली की जगह कड़क लंड की मोटाई को न झेल सकी. वैसे तो मैं कभी कहानियां लिखता नहीं लेकिन अन्तर्वासना पर काफी कहानियां पढ़ के मेरा दिल भी लिखने का करने लगा.

मेरी चुचियां दबाते हुए मेरे गाल चूमने लगा और मेरे लहंगे का नाड़ा खोल दिया. तभी एकदम से एक मिनट बाद ही जगत अंकल के लंड का पूरा रस मेरे मुँह में पिचकारी की तरह आने लगा. अन्तर्वासना की सभी चुदासी लड़की, भाभी, आंटी और कहानी पढ़ने वाले सभी चुतों को मेरे खड़े लंड का चोदता हुआ नमस्कार.

तो फिर उसने कुछ फोटो हटाई तो फिर पता नहीं मुझे क्या हुआ कि मैंने उसको ऐसा करने से मना कर दिया और बोली- नहीं हटाओ, रहने दो … अभी हम दोनों के सिवा कौन है यहाँ।इसके बाद उसने मुझे बैड पर बिठाया और फ्रिज में से केक निकाल कर बाहर रखा और बोली- यह मेरे अच्छी दोस्त के लिए जो आज दुल्हन की तरह सजी है. ऐसे ही बातें करते-करते मैं भाभी के होंठ और चूचियां पीने लगा और चूत के ऊपर हाथ लगाने लगा, भाभी फिर गर्म हो गई और उन्होंने मुझे बेड पर धक्का देकर नीचे लिटा लिया और खुद मेरे ऊपर चढ़ गई.

तुझे क्या लगा दुप्पटा अपने आप गिरा था? नहीं … मैंने जानबूझ कर गिराया था. अब मेरी सहेलियां और भाभियां, जो भी मुझे देखती थीं तो मेरे लिए बोलतीं- वन्द्या, तेरी मौसी ने ऐसा क्या खिलाया कि 20 दिन में ही तेरी रंगत बदल गई, तेरे जिस्म में चमक आ गई है. मीशा ने मेरा लंड अपने मुलायम हाथों से पकड़ लिया और उसे फील करने लगी.

इधर चारु हमेशा मुझे हितेश के नाम से चिढ़ाती और उसकी देखा देखी बाकी लड़कियां भी मुझे हितेश का नाम लेकर चिढ़ाने लगीं.

उसके बाद तो जब भी हम दोनों को अकेले में मौका मिलता हम दोनों सेक्स का खूब मजा लेते थे. वह बोला- तुम घर पर हो, मैं अभी आता हूं?मैंने कहा- इतना ज्यादा भी बीमार नहीं हूं. भीगी-भीगी इस मस्त समा में प्रशांत का नौ इंच लंबा कड़क लंड भला वी-कट अंडरवियर में कहां छिप पाता.

मैंने सीधे ही अपना मुँह उसकी मरमरी चूत पर लगा दिया और रसदार चूत का रस पीने लगा. आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, इसके बारे में आप कहानी पर कमेंट जरूर करें.

उन्होंने अपनी चूत को मेरे लंड के ऊपर कुछ बार रगड़ा, जिससे मैं पागल हो गया और फिर माँ से अपने लंड को उनकी चुत में डालने की भीख माँगी।मम्मी मुझ पर हंसी और फिर मेरे लण्ड को सीधे हाथ से पकड़ कर धीरे-धीरे बैठने लगी जब तक उनकी चूत ने मेरे लण्ड को गहराई तक नहीं निगल लिया। मम्मी धीरे-धीरे ऊपर-नीचे हो रही थी। मम्मी के 36″ आकार के स्तन उनके साथ ऊपर-नीचे हो रहे थे. उन दोनों ने मुझे वहीं ज़मीन पर लेटा कर एक ने नयी बियर की बोतल खोली और मेरे शरीर पर डालने लगीं. सलोनी की तो दर्द भरी चीख निकल गई जिसके साथ मैं भी चीख पड़ा क्योंकी सलोनी ने मेरे लण्ड को दर्द में ज़ोर से दबा दिया था.

बाजू के डिजाइन दिखाओ

बड़े शहर में एकदम से घर मिलना कितना मुश्किल होता है, ये तो आप जानते ही हो.

मेरा बैठ कर खाने का मन हुआ तो मैंने सोचा कि कोई अखबार मिल जाए, तो बिछा कर बैठ कर खा लूँ. तो मैंने कहा- मैं भी सोच रहा था कि कपड़े उतार कर कुछ देर सो लिया जाए. अपने कपड़े पहने और बेडरूम में चला गया जहाँ मेरे सोने का इंतज़ाम किया गया था.

वह महिला रंग में तो गोरी थी और दिखने में भी ठीक थी, वो मुझसे पूछने लगी- क्या बात है?मैंने कहा- आपके पास पी. मेरा भी पीने का मन था और फिर तुम्हारे बारे में सोचा तो एक कप तुम्हारे लिए भी लेकर आ गई. केटरीना की सेक्सी वीडियोमैं क्या अगर कोई बूढ़ा भी उसको देख ले तो उसका लंड भी टन्न से खड़ा हो जाये, इतनी सेक्सी लगती थी वो देखने में.

उसने धक्कों की अपनी रफ्तार तेज कर दी और अब वो मेरी गहराई तक वार करने लगा. हमारे फ्लैट से थोड़ी ही दूर उसका घर था, तो कभी कभार हम सुपरमार्केट में भी मिल जाते थे.

इतना कहते ही मेरा कंट्रोल खत्म हो गया मेरे लंड से माल की पिचकारी छूट गई. क्यों ज्यादातर मर्द मुझे इस तरह के कपड़े उपहार में देते हैं और क्यों इन परिधानों में मुझे देखना चाहते हैं. फिर वो अचानक रुकी और खड़ी हो गयी।मैंने थोड़ी देर उसकी कुर्ती में से उसके तने हुए बूब्स को दबाया फिर मैं उसके बूब्स को बाहर निकालकर चूसने लगा। मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। आज भी मुझे उस घटना का एक-एक पल याद है। फिर दीदी ने अपनी पैंटी को उतारा और मुझसे अपना लंड उसकी चूत में घुसाने को कहा।मैंने अचानक से घुसाया तो उसे बहुत जोर का दर्द हुआ.

मैंने एक हाथ से पंकज के लंड को पकड़ लिया और अपनी जलती हुई गर्म चूत पर रखवा दिया. मैं आपसे पूछना चाहता हूँ कि क्या मेरे और नैना के बीच जो हुआ, वो ठीक हुआ या गलत, क्या रिश्ता था मेरा नैना से दोस्ती का … या सिर्फ जिस्म की भूख मिटाने का?प्लीज मुझे मेल करके अपने विचार बताएं और साथ ये भी कि आपको कहानी कैसी लगी. लेकिन मेरा अभी बाकी था … मैं चुदाई में लगा रहा और करीब दस मिनट के बाद मैंने लंड बाहर निकाला और कंडोम हटा कर लंड का माल उसके मम्मों पर मेरा माल गिरा दिया.

मैंने दूसरी बार भी पानी छोड़ दिया और ढीली होने लगी, पर सरदार जी अभी भी उंगली से मेरी योनि भेदने में लगे हुए थे.

एकता तो पहले ही लंड के वीर्य के टेस्ट की दीवानी थी, तो उसने पहले अपने मुँह का तो गटक ही लिया. मुझे और भी मजा आने लगा ‘आह्ह मर गयीईई आह्ह …’फिर उसने मेरी जीन्स पेन्ट उतारी और बोला- वाह … आज अन्दर कुछ नहीं पहना मेरी जान … तू तो बिल्कुल तैयार होके आई थी मेरे पास.

एक दिन मैं यूं ही बैठा हुआ सोच रहा था कि ऐसे बैठे रहने से तो मुझे नई चूतें नहीं मिलने वाली. उनके मुँह से ऐसी बातें सुन कर मुझे शरम आ गयी, तो मैंने सर झुका लिया. मेरे अचानक झटके से वो ज़ोर से चिल्ला पड़ी और उसकी आंखों से आंसू निकल आए- उम्म्ह… अहह… हय… याह… माँ … मर गाइई … नि …का …लो इसे … सांड का लंड है … मैं मर जाऊंऊगी … रहम कर चूतिए … निकाल साले!उसकी हालत देख मैं थोड़ी देर रुक गया और उसका ध्यान उसे चूम के … उसके कबूतरों के साथ खेल कर थोड़ा हटाया.

उसके बाद उसने मेरी बीवी को करवट से कर दिया और उसके पीछे जाकर लेट गया. मम्मी 38 साल की, पापा 44 साल के और मेरा छोटा भाई 19 साल का… हम लोग मिडल क्लास लोगों में आते हैं और फैमिली का गुजारा खेती में ही होता है. बस उनके कहते ही मुझे लगा, जैसे बदन से मेरी जान मेरे लंड के रास्ते बाहर निकल रही है। मैंने एक झटके से अपना लंड अपनी मॉम की चूत से निकाला और जैसे ही लंड बाहर निकला एक गाढ़े सफ़ेद पानी की धार बड़े ज़ोर से बाहर को निकली और मॉम के मुंह तक जा गिरी.

सैक्स बीएफ मैं जब जब उसके अंडों, लिंग को जोर से दबाती या हिलाती, तो दर्द से सरदारजी कराह उठते और लिंग हल्के से जोर मार देता. उसने तेल की बोतल पकड़ी और थोड़ा सा तेल अपने लंड पर लगा दिया और उंगली से मेरी गांड पर भी लगवा दिया.

इंडियन हिंदी सेक्सी

अब तक कुल छ: मर्दों ने मुझे चोदा था, पर अब्दुल ने अब जाकर मेरी चूत से पानी निकाल पाया था. उसने मेरे निप्पलों की भी किस करना चालू कर दिया और बारी बारी से वो मेरे दोनों निप्पलों को दांतों से काटने में लग गई. मैंने मौका देख कर सोनू की पैंटी में हाथ डाला और सीधा हाथ चूत के ऊपर टिका दिया.

मैं भी अपने आठ इंच के लंड को पूरी स्पीड से गदराई चुत के होल से सुरंग से पानी निकालने में लगा था. मेरी जो 20 साल वाली बहन है उसका नाम मिशिका है और जिसकी उम्र 22 साल है उसका नाम राशिका है. शर्मीली सेक्सीमेरी उमर 23 साल की है और मेरे लंड का साइज़ भी मेरी उमर के हिसाब से ज़्यादा है.

बुआ ने मुझे भी अपने घर चलने को कहा, पहले तो मैं दिखावा करने लगा लेकिन जब रिंकी ने मेरा हाथ पकड़ा तो मैंने भी हाँ कह दिया.

तभी मनोहर ने मेरी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया और मेरे बूब्स दबाने लगा. जब मैंने धीरे से डालने को कहा, तो तुमने इतनी जोर से क्यों डाला, दर्द हो रहा है.

यही बात राज भी बोल देगा, वह समझ तो जाएगी, पर तुम बोलने को तो उसे बोल ही सकती हो. सुजाता ने दो गिलास भरे तो रमेश ने कहा- अरे, अजय के लिए भी बना न!सुजाता- ये आपके और अजय जी के लिए ही तो है. ’‘तूने चोदा इसकी माँ को?’‘हाँ दोनों छेदों में … मस्त माल है, मोटी चुचियां, भरे भरे चूतड़.

मैंने पूछा- आपके पति कहाँ हैं?वो बोलीं- वो बंगलौर किसी काम से गए हुए हैं.

बनियान में उसकी छाती भरी हुई थी और अगले ही पल उसने बनियान उतार कर एक तरफ डाल दी. फिर किस करने के बाद वो एक शरारती अंदाज में मेरे लंड के पास पहुंची और लंड से खेलने लगी. तुझे इस सोसाइटी के बारे में ही बता दूँ, इसी सोसाइटी के करीब 90℅ औरत और मर्द का कहीं न कहीं टांका भिड़ा है.

बीपी शॉट सेक्सी मराठीमेरी बात उसके कानों में पड़ते ही उसने पंखे की रफ्तार से धक्के देना शुरू कर दिए. उसने एक बार मेरे तने हुए लौड़े को पैंट के ऊपर से ही सहला दिया तो मेरे लंड ने एक जोर का झटका देकर अपना तनाव और ज्यादा बढ़ा लिया.

व्हिडिओ व्हिडिओ सेक्सी

फिर मैंने अपनी उस उंगली से शिल्पा की गांड के छेद पर क्रीम लगा कर अपनी उंगली अन्दर डालने लगा. मैं हैरान परेशान इधर उधर कुछ लोगों से पूछती रही कि शायद कोई मेरे मोहल्ले के पास का हो, पर कोई नहीं था. मैं आप सब लोगों से कहना चाहती हूं कि 21वीं सदी में ऐसी कोई भी औरत नहीं है, जो किसी और से चुदना नहीं चाहती हो.

हम ग्रीन फील्ड के अन्दर दाखिल ही हुए थे कि देखा सीवरेज का काम चल रहा था. फिर खुद को समझाने के लिए यही सोचा कि हो सकता है दोस्तों के बीच कहीं बिजी होंगे इसलिए. फिर इसके बाद तो उस का हाथ मेरे पीछे तरफ अपने आप मेरी कूल्हों में चलने लगा और उसका लंड भी दोनों चलने लगे.

वो मुझे कुदरत की तरफ से मिली एक बख्शीश है, इसे देख कर सिर्फ लड़कियां ही मुझसे जलती हैं, बाकी सब इसे चाहते हैं. मैं अब जहां खड़ी हुई थी, वहां पर भी मेरी टांगों के नीचे से 5-6 बूंद मेरी चूत का रस गिर गया. दीदी ने कहा- तुम शनिवार और रविवार सुबह कहां जाते हो?मैंने कहा- कहीं नहीं.

मैं सर से लेकर पांव तक काँप गई।देवर जी अब अपनी जीभ मेरी चूत पर घुमाने लगे. ज्यादा चुटूर चुटूर करने का नहीं है … समझा?मैं उसका इशारा समझ गया था कि वो हम दोनों के साथ क्या कर सकता है.

उधर सारा ने मेरे लंड को चूस-चूस कर बेदम कर रखा था, ज़रीना की बुर का भी बुरा हाल हो गया था, उसकी बुर का मक्खन बह कर उसके चूतड़ों तक पहुंच चुका था.

फिल्म खत्म हुई और सब निकलने लगे मैंने उससे ‘आई लव यू …’ बोला और किस करने को पूछा, पर उसने इस बार फिर मेरा दिल तोड़ दिया. 16 साल की लड़कियों की सेक्सी मूवीभले ही भाभी गर्म हो गई थीं, तब भी मुझे उनके साथ शुरू करने बहुत डर लग रहा था. सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स भेजोफिर मैंने उसके बैग को संभाला और जब वह थोड़ी नॉर्मल हो गई तो हम दोनों घर वापस आ गये. जब मैं बाथरूम में बैठ कर अपनी चूत के दाने को मसल कर सिसकारियां ले रही थी.

मैंने प्रीति को बोला- यह क्या कर रही हो? यह गलत है … इतनी हैवानियत मत करो, मेरे हाथ खोलो.

मैंने फिर से ना में हाथ हिलाया तो उसने मुझे पीछे तरफ से कमर पकड़ के चिपका लिया और अपना लंड मेरी गांड में लहंगे के ऊपर से दबाने लगा. लेकिन जैसे लड़के मुझे पसंद थे वैसे लड़के किसी गे साइट या डेटिंग ऐप पर बहुत ही कम मिलते थे. अगर उन्होंने देख लिया तो मैं मम्मी को मुँह दिखाने लायक नहीं रहूँगी.

मेरा लंड अपने पूरे आकार में आ चुका था और 7 इंच लम्बा हो चुका था जिसे आंटी पूरा का पूरा अपने गले में उतार रही थी. भाभी भी बिना कॉन्डॉम के ही मनोहर के लंड से चुदी और मनोहर हाँफते हुए भाभी के ऊपर पर गिर गया. मैं उसे सहलाने लगा और धीरे से एक उंगली उसके अंदर घुसा कर अंदर बाहर करने लगा.

नेपाली फुल सेक्स

उसने उठ कर अपना लंड मेरे मुँह तरफ लाकर बोला- वन्द्या, ओपन योर माउथ. तभी मैंने आंटी की चूत के मुंह पर लंड रखा और उनके मुंह में अपना मुंह लगाकर चूमने लगा. ससुराल में आते ही बाकी की रस्म रिवाजों में सुबह से शाम हो गयी, पर रस्में थीं कि खत्म ही नहीं हो रही थीं.

गीता बोली- क्या इरादा है?तो मैंने कहा- इसने तुझे चोदा था ना … अब तू इसे बिस्तर पर पूरे जोर से चोद.

अब मेरे भी मन में अजीब तरह की खुशी होने लगी, सोचा चलो अब उंगली से काम नहीं चलाना पड़ेगा.

मैं- अरे मायूस क्यों होती हैं आप … चलिए इसी बात पर एक एक जाम और हो जाए. स्टीव ने अपनी तरफ से फिर भी सब कुछ फिर से सामान्य रखने की कोशिश की, कुछ हद तक कामयाब भी रहा. सेक्सी देखने लायकमैंने भाभी के चूचों को ब्लाउज ऊपर करके आज़ाद किया और उनके पैरों को थोड़ा फैला दिया.

पन्द्रह मिनट की भयंकर चुदाई के बाद मेरा टाइम छूटने का होने वाला था. मीशा के मुख पर थोड़ी दर्द भरी रेखाएं उभर आयी और उसके मुख से निकला- उम्म्ह… अहह… हय… याह…देखो तुम्हारी चूत में मेरी उंगली जा रही है. फिर चली जाना और यह पैंटी याद के रूप में मैं रखूंगा, तुम नयी ले लेना.

मैंने देखा कि उसकी नेवी ब्लू पैंट में कुछ आकृति उठ कर एक आकार लेने लगी थी. आज तेरी वजह से सुहागरात हो जाएगी, तेरा नाम हमेशा लूंगा कि मेरे भाई के कारण मेरी सुहागरात हुई थी.

वो मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछती, मैं उसे उसकी सब बातें बता देता था.

मैंने महसूस किया कि ऐसे डर के साथ चुदाई करने में जल्द पानी नहीं निकलता. दोनों को ही एक दूसरे की चाहत बड़े लंबे समय से थी जो अब जाकर पूरी हुई. जहां शीला ने मेरा सारा वीर्य पी लिया, वहीं मैंने पद्मा की चूत का पानी पिया.

बिहारी सेक्सी वीडियो में दिखाएं तो मैंने उसकी बात मान ली और अपनी साड़ी कमर तक उठा कर पैंटी निकाल दी. हम तीनों नंगे ही छत पर चले गए और फ़िर चियर्स कर के हम सबने दो तीन घूँट में ही बियर खत्म कर दी.

क्या ये इतना ही मजबूत भी है?मैंने कहा- आंटी, आप खुद ही देख लो अंदर लेकर. अब आगे:वे दोनों अपने अनुभव का फायदा उठा कर मुझे तृप्त करने में लगी हुई थीं. कुछ ही देर में वो लौंडा मेरी भावना समझ गया और उसने वैसे ही मेरी पेंटी निकाल कर मेरी चूत को सहलाया.

सेक्सी पिक्चर अंग्रेजी पिक्चर

उन्होंने कुछ मेकअप का सामान और मोबाइल चार्जर माँगा, जो कि वह जल्द बाजी में भूल आई थीं. उन्होंने मेरे कान में आकर कहा- होने वाले के पापा जो हैं उनको भी बता दो. कुत्ता प्रयास तो कर रहा था, मगर उसका लिंग योनि के दाएं बांए टकरा रहा था.

मैं- देखो अगर तुम मुझे अपना दोस्त समझती हो, तो बता सकती हो वरना … मैं समझूंगा कि तुम मुझे अपना दोस्त नहीं समझती हो. इतने में मेरी टांगों को अपने हाथों से निहाल नीचे चौड़ा करने लगा और फिर बिल्कुल मेरे नीचे आकर मेरी चूत में अपनी जीभ को लगा दिया.

उसकी तेज आवाज निकली, लेकिन मैंने अनसुना करके एक बार फिर प्रयास किया.

मैं शादीशुदा होने के कारण सेक्स का आदी था, और कई महीने से सेक्स से वंचित था. तेरा प्रमोशन पक्का हो जाएगा … मैं इसे फिर से चोदने आऊँगा, अभी मेरी बीवी मुझे फ़ोन कर रही है, तो जा रहा हूँ. आठ-दस धक्कों के बाद लंड की पिचकारी छूट पड़ी और सारा का सारा माल सारा की बुर में भरता चला गया.

अब वो ऋतु की गांड में लंड डालने लगा और उसने मुझसे बोला- चल आ आकाश … अपने हाथों से अपनी वाइफ के दोनों चूतड़ों को अलग कर, जिससे इसकी गांड का छेद और खुल जाएगा … फिर तू इसकी गांड के छेद में भर कर क्रीम लगा देना. मैं उसके पूरे बदन को चूमा और जल्दी ही उसकी दोनों टांगों के बीच में आ गया. अपने आस-पास के गे लड़कों की लोकेशन पता करना, अगर कोई पसंद आ जाए तो फिर उससे पिक्चर्स मांगना, अगर वो पिक्चर्स ना दिखाना चाहे तो अपनी फेक पिक्चर्स भेज कर उसकी असली पिक्चर्स देखने की कोशिश करना वगैरह … वगैरह … कामों में दिन आराम से निकल जाता था.

10 मिनट तक मैंने उसके होंठों को चूसा और उसके बाद मैंने कान के पीछे से चूमा.

सैक्स बीएफ: आज से करीब 5 महीने पहले मेरे लिए मुम्बई से शादी का रिश्ता आया, लड़के वाले काफी अमीर लोग थे. मैं पीछे हाथ से उसे पकड़कर रोकने की कोशिश की, वह भी इस तरह से कि किसी को पता भी ना चले.

उसका लंड सीधे मेरी बच्चेदानी को छू रहा था, जो मुझे गड़ता सा महसूस हो रहा था. धीरे धीरे मेरा झुकाव पॉर्न की तरफ़ हुआ और हर रात उन औरतों को उन विशाल लिंगों के साथ खेलते देखना, उन्हें हाथों में लेना, अपने होंठों से चूमना और उन्हें चूसना और फिर उसी तने हुए मूसल से बेतहाशा रूप से मज़ेदार चुदाई करवाना. मैंने कहा- क्या बात करती हो? मैंने ना जाने कितनी सुहागरात मनाई हुई हैं तुम्हारे पति और अपने पति से.

लिफ्ट से निकलते ही उसने सबसे पहले अपना स्कार्फ़ हटाया और मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई … और दरवाजे के लॉक खोलने लगी.

एकता ने एक घुटी सी सिसकारी ली, क्योंकि उसी समय प्रमिला ने एकता का मुँह बालों से पकड़ के चुत में दबा लिया था. भईया के साथ नहीं, पर मेरे हाथों उद्घाटन होना था,मुझे लगा कि ये सब होना ही था. बॉस एक उंगली से मेरी बीवी की चूत का छेद देखने लगा चूत का दाना देख कर उसे रहा न गया और उसने अपनी जीभ चूत के दाने पर लगा दी.