बाप बेटी की बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,6 साल के बच्चे के पेट में दर्द

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी चुदाई फोटो: बाप बेटी की बीएफ सेक्सी, मैंने अगले दिन का ऑफ ले लिया और आगे के लिए एक महीने अपनी नाईट ड्यूटी लगा ली.

पंजाबी कुड़ी सेक्सी वीडियो

उसकी लम्बाई के अनुसार उसका वजन भी ऐवरेज ही था और उसकी जांघें भी ज्यादा भारी नहीं थी जबकि मुझे मोटी-मोटी जांघें ज्यादा आकर्षित करती हैं जैसी कि संजीव की थी. सब्जी की रिकॉर्डिंगघर के अंदर जाकर मैंने उनकी तबियत के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि उनकी कमर में मोच आ गयी है जिससे वो चल नहीं पा रही है। उस टाइम अंकित बाहर खेलने गया हुआ था।मैंने उनसे पूछा- भाभी, आपने कोई दवाई ली या नहीं?तो भाभी कहने लगी- पेन किलर गोली तो मैंने ले ली है.

ये लंड का दीवाना है, चलो आज इसको प्राइवेट प्रॉपर्टी से पब्लिक प्रॉपर्टी बना देते हैं. प नाम लिस्ट बॉय इन हिंदीउसने एक शॉर्ट टॉप पहना हुआ था, इसलिए हिलते वक्त पीछे से उसका टॉप उठ जाता और मुझे उसकी मुलायम त्वचा दिख जाती.

सच बता कितनी लड़कियों को चोदा है?मैं बोला- भाभी, मैंने किसी के साथ कुछ नहीं किया है … और मुझे इस बारे में कुछ नहीं पता है.बाप बेटी की बीएफ सेक्सी: भाभी बोली- देखूँ कि बड़ों जैसे काम करने वाले का कितना बड़ा हो गया है.

मैं उठा और मैंने उसकी दोनों टांगों को फैलाया तो हैरान रह गया कि इतना भरा हुआ जिस्म होने के बावजूद भी इतनी लचक थी कि टांगें बिल्कुल बेड के साथ लग गईं और उसकी मोटी और सूजी हुई चूत खुल कर मेरे सामने आ गयी.वो मेरे मम्मों को चूमता, कभी सख़्त हो चुके निप्पल को जीभ से चाटता, कभी एक हाथ से पकड़ के उन्हें चूसता.

छोटे बच्चे की सेक्स - बाप बेटी की बीएफ सेक्सी

मिसेज पाटिल की एक जोर की चीख निकल गई और मैंने वहीं अपने लंड को रोक दिया.तब उसने मुझे पूरी नंगी किया और फिर आरती से कहा- तुम इसके मम्मों को चूसो और मैं चूत की सफाई करता हूँ.

तो विजय ने उससे कहा कि माला मुझे तेरे बारे में सब पता है कि तुम्हारा जो जिस्म है, ये कैसे फल फूल रहा है. बाप बेटी की बीएफ सेक्सी अब मैं उसकी चूत के भगनासा को अपनी उंगलियों की बीच में रखकर दबाने लगा.

इसी लिहाज से मैंने भी मीना के सर को उठा कर अपनी जांघों में रख दिया.

बाप बेटी की बीएफ सेक्सी?

मैंने अपना लंड बाहर निकालकर उसके मुँह में दे दिया, पहले तो धीरे धीरे चूम सी रही थी, लेकिन बाद में उसे मेरे लंड का स्वाद अच्छा लगने लगा, तो वो मजे से लंड को चाट रही थी. फिर सोनल ने अपना मुँह मेरी चुत पर से हटा लिया और मेरे मुँह पर बैठते हुए अपनी कमर हिलाने लगी. एक दिन आफिस में कुछ ज्यादा काम की वजह से हम दोनों को घर जाने में देर हो गई.

सरोज भाभी लम्बी लम्बी सिसकारियां लेने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ तो मुझे लगा ये सही समय हैं मैंने बिना देखे ही 3 खतरनाक धक्के लगा दिए. जब मैंने उस आदमी से पैसों के बारे में पूछा तो मेरी खुशी का ठिकाना न रहा. घर में घुसते ही भैया ने आवाज लगाई- भावना डार्लिंग कहां है तू … अब रंग लगवाने को तैयार हो जा.

कभी कभार तो नॉनवेज मजाक भी हो जाता था। हंसी मजाक में कभी-कभी भाभी को छू भी लेता था. गलत था उसका इतनी जोर जोर से कमर हिलाते हुए झड़ना और कपड़े गन्दा करना क्यूंकि मेरा फ्लैटमेट भी आने वाला था. उसने आंख खोली तो मैंने उसके होंठों में अपने होंठ लगा कर उसे किस किया.

इतनी देर में उसकी चुत से 2-3 बार पानी निकला और मैंने भी अपने लंड का सारा पानी उसकी चुत में निकाल दिया. अगर देसी शब्दों में कहें तो मैं अपनी सुहागरात की कहानी को आप सब के साथ शेयर करने जा रही हूँ.

इससे अब मेरी भी हालत ख़राब होने लगी और मेरी चूत में अपनी जीभ घुसा कर जीभ से मेरी चूत चोदने लगा.

पर मंसूर भाई समझ गए कि रज़िया भाभी ने किसी और से चूत मरवाई है और प्रेग्नेंट हो गई है.

रात को खाना खाने के बाद रीना को कॉल किया तो हम दोनों फिर से बातें करने लगे. मैं उनकी बातें ध्यान से सुन रही थी, तभी मेरी चुत के अन्दर से कुछ रिसने लगा, रस सा आने लगा. मैंने कहा- दीदी के भोसड़ी वाले भाई … निकाल लंड को … और पानी बाहर निकालना! मुझे अभी कोई बच्चा नहीं पैदा करना इस चूत से.

मगर मन भी कर रहा था कि आज नहीं किया तो कल करना पड़ेगा, तो क्यों न आज से शुरूआत कर ली जाये? मैंने सोचा कि जो होगा वो देखा जाएगा. अनन्त ने दीदी के दोनों तरफ अपने पैरों को रखा और अनन्त की टट्टे दीदी के होंठों के पास आ गये. जब उससे बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने कह ही दिया- आह्ह … दीपक, अब और नहीं रुका जा रहा.

इसके बाद मामी ने पीछे से अपनी गांड को थोड़ा सा बाहर निकाल लिया … जिससे मेरा लंड का सुपारा उनकी गांड के छेद में घुस गया.

गलत था उसका इतनी जोर जोर से कमर हिलाते हुए झड़ना और कपड़े गन्दा करना क्यूंकि मेरा फ्लैटमेट भी आने वाला था. मैंने उसकी चूत का पूरा पानी चाट लिया और उसकी चूत को लगातार चाटता रहा. मैंने उसके आंसू पौंछे, उसे प्यार किया, उसके कंधों पर हाथ रख कर कहा- मेरी जान, मैं तुम्हें छोड़ कर कहीं नहीं जा रहा.

उस लड़की में न जाने क्या बात थी कि हमारी बातें जल्दी ही सेक्स पर पहुंच गईं. बस उसी के साथ सेक्स करने के सपने देखता रहता था, पर उसे कभी ये बात बता नहीं पाया. तब वो सब उसके पास आकर उसे चूमने लगे और कोई कहीं बैठ गया, तो कोई कहीं हो गया.

मैं उनको देखता तो मेरा मन करने लगता था कि उसको अभी अपने दबा के चोद दूँ.

जिस शहर की वो थी, उसी शहर में एक उच्च अधिकारी बनकर आना एक सम्मान की बात है, अब शायद रंग उसकी तरक्की में आड़े नहीं आएगा. हमारी रोज भेंट होती और मैं उसे रोज अपने पति को रिझाने का कोई न कोई तरीका बताती.

बाप बेटी की बीएफ सेक्सी मीना के घर के साथ वाले वाले घर में उसका जेठ यानि ननकू के भाई हरक लाल का परिवार भी रहता था. जाते टाइम उसने मुझे किस दिया और कहा कि मैं तुम्हें जल्दी ही फिर बुलाऊंगी.

बाप बेटी की बीएफ सेक्सी मैंने अपनी बाइक उसकी बगल में रोकी और उससे कहा- मैडम, क्या मैं आपकी हेल्प कर सकता हूँ? आज ऑटो वालों की हड़ताल है. मैंने कहा- और जो हमारी शादी हुई थी?उसने कहा- वो तब खत्म हो गई, जब मेरे पति ने मुझे अपना मंगलसूत्र पहनाया था.

करीब 20-25 जबरदस्त शॉट लगाने के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया और उससे लिपट कर कुछ देर शान्त हो गया.

बैगन की चुदाई

मामा के लंड की सवारी करते हुए वह मामा के निप्पलों को होंठों में लेकर चूसने लगी. उसने पूछा- इससे पहले तुमने कभी किसी को बिकनी में देखा है क्या?मैंने कहा- बस फिल्मों में ही देखा है मैडम. वो भी दर्द से चिल्ला उठी- आह्ह्ह्ह … आराम से डार्लिंग … थोड़ा आहिस्ता!हाय मेरी प्यारी बीवी … अब कहाँ आहिस्ता … इतने दिन बाद तेरी ठुकाई कर रहा हूँ, थोड़ा बर्दाश्त कर ले मेरी रानी!” और पीछे से जोर से पकड़ कर उसकी चोदाई जारी रखी.

मैंने तुम्हारे लिए फुल बॉडी वैक्स, मैनीक्योर, पैडीक्योर सब करवाया है और अपनी चूत के बालों को दो बार साफ करवाया है. मुझे तो एकदम से धक्का लगा, मेरा सर चकराने लगा, कुछ देर के लिए तो मैं पागल सा हो गया. अब मेरे स्तन उसके स्तनों के ऊपर थे, सोनल ने नीचे से मुझे बांहों में भर लिया और मुझे अपने शरीर पर दबाने लगी.

उसको अपने कमरे में बैठा कर मैं उसके लिए पानी लाया और कंप्यूटर पर ट्रिपल एक्स मूवी चला दी.

आज चाची ने मुझे व्हाट्सएप पर मैसेज भेजा- कहां है मेरे राजा … मैं बाथरूम में हूँ. फिर मैंने अपना एक हाथ उसकी मैक्सी के अन्दर से ले जाकर उसके चूचों को दबाना शुरू कर दिया. सुबह नूरी खाला ने सारा और ज़रीना की हालत देखी तो सारा माजरा समझ गयी.

मुझे लग गया कि ये सगे भाई बहन का नाता नहीं रहा, अब ये अलग नाता बन गया है. मैं पीठ के बल जा गिरा और उन्होंने बेड ही पर खड़ी होकर अपना पेटीकोट भी निकाल दिया. मैंने अपनी कच्छी ठीक करके शर्ट के बटन बंद किए और नीचे बैठ कर उनकी आँखों में देखने लगी.

मेरे पास सोचने का समय नहीं था, मैं और ज़ोर-ज़ोर से उनके मुंह में लंड घुसाने-निकालने लगा. पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैंने सोनू को सेक्स के लिए तैयार कर लिया था.

जब मैंने उस आदमी से पैसों के बारे में पूछा तो मेरी खुशी का ठिकाना न रहा. पर अब मेरा चुत मरवाने का इरादा नहीं था क्योंकि मेरी चुत में जलन सी हो रही थी. मेरी पिछली कहानी थीऔरतों की गांड मारने की ललकमेरे जीवन में कुछ अजीब घटनाएँ घटीं, जिनके बारे में मैंने कभी सुना या देखा नहीं था.

ये सुनकर एक से रुका ही नहीं गया और उसने रिया की ब्रा खींच कर फाड़ दी और उसकी बॉडी से अलग कर दी.

दोनों स्तनों को अच्छे से मसलने के बाद मैं अपने अंगूठे और उसके पास वाली उंगली को मुँह में डाल कर अच्छे से गीला करके अपने निप्पल्स पर रगड़ती. तभी अचानक सोनिया वहां आ गई और उसने बुआ से पूछा- क्या बात है, आप रो क्यों रही हो?तो बुआ ने उसे पूरी बात बता दी. उसने जरा भी समय गंवाए मुझे अपनी बांहों में एकदम से जकड़ लिया और होंठों से होंठ चिपका कर खड़े खड़े ही चुम्बन करना शुरू कर दिया.

ज़रीना जोर से चिल्लायी।जितना चिल्लाना है जोर से चिल्ला, आज तेरी प्यारी अम्मी भी तुझे बचाने के लिये नहीं आ सकती, मैं आज तुम्हारी गाँड मार के रहूँगा, चाहे तुम राज़ी हो या न हो। अगर खुशी से मरवाओगी तो तुझे मज़ा भी आयेगा और दर्द भी कम होगा. मैं चुत को मुहह हहह मुआहह हहह कर के चाटता जा रहा था और भाभी मेरे मुख में चुत सटाती जा रही थी.

दूसरा काम उसने ये किया कि पति की हर बात मानी, पहली बार प्रीति ने भी उसे अपनी योनि चाटने दी और प्रीति को भी ये अनुभव बहुत पसंद आया. कंडोम पहनते ही मैडम ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरा लंड अपने हाथ से चूत पर सेट कर लिया. वह कराह उठी- आआह्ह … धीरे करो … प्लीज काटो मत! निशान पड़ जाएंगे!पर मैं कहाँ रुकने वाला था … मैंने दोनों कन्धों पर काट लिया और वहां लव बाईट के निशान पड़ गए.

सेक्सी ब्लू फिल्म देखने वाली वीडियो

मेरी बुआ जी एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती हैं, सोनिया भी उनके साथ ही वही जॉब करती थी.

मामी ने शायद लिंग के उभरने का अहसास कर लिया था, वे जोर जोर से सांसें लेने लगीं. सीमा मेरी छोटी बहन के साथ मिल कर मेरी माँ के हाथ में मेंहदी लगाने लगी. बाकी तेरी मर्जी बेटा, अगर तुझे यहां नहीं रहना, तो तू अपने मायके जा सकती है और हितेश से तलाक ले सकती है.

लंड बीवी के होने ना होने का अंतर नहीं देखता, उसे तो चूत का छेद तो चाहिए ही चाहिए. फिर वो बोली- फिर से ये क्यों कर रहे हो, अब अपना लंड डाल दो मेरी चुत में. माही वे सॉन्गउन्होंने स्कर्ट और टॉप पहना था और उनके खुले से गले वाले टॉप से क्लीवेज दिख रहे थे.

अंगूठे और दूसरी उंगली से योनि की पंखुड़ियों को फैला मेरी योनि खोल दी. 10-12 धक्के देने के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ने लगा और वीर्य से उसकी चूत भर दी.

आप मेरी कहानी पर कमेंट्स के ज़रिए भी बता सकते हैं कि आपको मेरी कहानी कैसी लगी. तो मैं उसका साथ देते हुए उठी और उसके लंड में अपनी चूत सेट कर के बैठ गयी और ऊपर नीचे हो कर धक्के लगाने लगी. खैर … 15 मिनट की धकापेल चुदाई के बाद वो झड़ गई और मेरे सीने पर गिर गई.

काफी अच्छी शादी थी, खूब आनन्द लिया और रात के करीब 11 बजे हम लोग शादी से लौटने लगे. मैंने अपने खाने का अरेंजमेंट एक होटल से कर लिया था वहां से डेली टिफिन आ जाता था. जवानी में क़दम रखता हुआ एक लड़का, जिसने सिर्फ चूत का नाम ही सुना हो, जिसके यार दोस्तों ने भी कभी चूत के दर्शन न किये हों, उसके हाथ अगर चूत के जूस से तरबतर हो जाएँ तो उसका क्या हाल हुआ होगा.

कल्पना- अब मेरे बारे में इतना कुछ जानने के बाद आप मेरे लिए अनजान कहां रहे.

जैसे ही मैं उनको नंगी देखने के लिए खड़ा हुआ और दरवाज़े पर हाथ रखा, दरवाज़ा पूरा खुल गया और चाची को नंगी देखता रह गया. मैं उसको किस करने लगा और ऊपर से नीचे आते हुए मैंने ओने दांतों से उसकी पैंटी खींचते हुए उतार फेंकी.

कुछ देर बाद वह बोलीं- अब मुझसे रहा नहीं जा रहा राहुल… जल्दी करो … मैं चुदने को बेकरार हूँ. मेरी एक आदत है कि मैं किसी से बात नहीं करता हूँ जब तक सामने वाला आदमी मेरे से बात ना करे. वो कपल दिल्ली में रहते थे, शुरूआत में तो हमने एक दूसरे के बारे में पूछा, एक दूसरे की पसंद नापसंद पूछी.

मुझे और अधिक खुशी तब हुई कि सुबह उठकर भी दोनों ने पूरी कामुकता और उत्सुकता के साथ संभोग किया. मैं शादी के बाद 24 घंटे बस तेरी टांगों की नीचे लेटा तेरी चुत को चाटता रहूंगा. उस दिन शाम तक मैं उसके घर पर ही रहा और हमने साथ में खाना खाया और उसके बाद दो बार फिर से सेक्स किया.

बाप बेटी की बीएफ सेक्सी मणि ने कोमल के साथ बिस्तर पर लेट कर उसकी गांड चौड़ी कर दी और उंगली डाल दी. तो आप वो छोटा लड़का और मैं तो मैं हूँ ही।मैंने ये कभी ट्राई नहीं किया था इसलिए मुझे भी रोमांच आ गया और हाँ बोल कर रोल प्ले शुरु कर दिया।वो उसी पोज में चुदवाते हुए बोली- हाँ बाबू, मुझे जोर से चोदो ना।मैं बोला- हाँ भाभी, चोद रहा हूँ!और सन्जू को चोदने लगा.

बीएफ एचडी में फुल मूवी

अगले कई मिनट की इस दमदार चुदाई में कब रात के 10 बज गए, पता ही नहीं चला. मैं मामी के मुँह में जोर जोर से जीभ को घुसाने लगा और मामी भी मेरा साथ देने लगीं. जब मैंने अंदर की तरफ दोबारा देखा तो विनय ने अपना लंड कुसुम दीदी के मुंह में डाल रखा था.

अब तक मेरे पति ने बहुत तरक्की कर ली थी, उन्होंने धनबाद में ही अपना व्यापार शुरू कर लिया था. जब मैं वापस दीदी और जीजू के बेडरूम में आई तो मेरे पूरे बदन में आग लगी हुई थी. सम्भोग कैसे करेमैंने उसकी चूत में धक्के पे धक्के देना शुरू कर दिया और बिल्कुल जबरदस्त वाली ठुकाई करने लगा.

और नीचे मेरा बॉक्सर मेरे पैरों पर पड़ा हो और मेरा लंड धीरे से उसकी चूत में सरक गया हो और वहीं बैठे बैठे वो मेरे ऊपर कमर हिला रही हो.

दीदी की सासू माँ बोल रही थी- बाबू, तेरी दीदी ना शादी करना चाहती है. बस मैंने हिम्मत बढ़ा दी और अपना हाथ उनकी ब्रा में डाल कर उनके एक चूचे को अपनी हथेली में भरके सहलाने लगा.

अब आगे:तभी आशीष मेरी समीज के ऊपर से ही मेरे दोनों दूधों को पकड़ कर जोर से दबा दिया और फिर मुझसे बोला- तू बहुत मस्त लग रही है. एक पल बाद मैं उल्टा हो गया और मैंने फिर से भाभी को अपना लंड मुँह में दे दिया. आह्ह्ह …फिर मैंने जांघों के बीच में चाटा और वंश को बोला- बेटा गुड मॉर्निंग!यह कहते ही मैंने उसके लंड को गप से पूरा अन्दर ले लिया और पूरे मन से उसके लंड को ऐसे चूसने लगी, जैसे लॉलीपॉप चूसते हैं.

वो हल्के से सिहर गई लेकिन अगले ही पल वो भी मेरी इस मस्ती में मेरा साथ देने लगी.

वंश के मुँह से सिर्फ ‘आअहह फ्फ्फ मम्मी डार्लिंग … स्वीटहार्ट कविता आई लव यू. ज़रीना जोर से चिल्लायी। खून की धार बह निकली मेरी नई दुल्हन की गांड से!डरो मत मेरी जान! अब मेरा लंड पूरा का पूरा तुम्हारी गाँड में है, सब ठीक हो जायेगा. इतनी बात बोलकर चिन्टू चला गया मगर मीना के दिल में काफी सारे प्रश्न उठा गया.

व्हाट्सअप सेक्सी व्हिडिओ‘क्यों क्या लगता है फंस जाएगी?’‘दे देगी तुम्हें!’‘कामिनी मेरी रानी उल्टी लेट जा’मैं लेटी. अंकल की दोपहर की कामुक हरकतों से मेरे मन में भावनाओं का सुनामी पैदा हो गया था, अंकल अब कल क्या करेंगे, इसका मुझे बहुत कौतूहल पैदा होने लगा था.

हिन्दिसेक्स

पर अब मेरा चुत मरवाने का इरादा नहीं था क्योंकि मेरी चुत में जलन सी हो रही थी. मुझे तो एकदम से धक्का लगा, मेरा सर चकराने लगा, कुछ देर के लिए तो मैं पागल सा हो गया. मुझे बहुत मजा आ रहा था, मेरी सिसकारियां पूरे कमरे में गूँज़ रही थीं.

मैंने भी भाभी को चोदना चाहा, और भाभी के पराये मर्द से सम्बन्ध का वास्ता देकर भाभी को चुदाई के लिए मना भी लिया लेकिन मैं ज्यादा कुछ नहीं कर पाया. वो बोली- क्या मतलब?मैं- मेरी जान, तू तो पहले ही सुहागरात मना चुकी है और किसी का लंड पहले भी खा चुकी है. कुछ दिन बाद मैंने उससे कहा- अब सेक्स चैट बहुत कर लिया, अब ये सब कुछ मैं तुम्हारे साथ सचमुच में करना चाहता हूं.

जब दूसरी बार मुझे महसूस हुआ कि अब मेरा पानी निकलने ही वाला है तो मैंने जीजा की तरफ अपने होंठों को बढ़ा दिया. तुमको पूरा डालना पसन्द है और बाबू मैं भी आपको पूरी तरह महसूस करना चाहती हूँ. उसे जन्नत मिल गयी। अब तुम्हें जब भी मौका मिले, मुझे चोदते रहना।फिर भाभी उठी और बाथरूम की ओर जाने लगी तो मैंने देखा कि उनकी जांघें कांप रही हैं और वो थोड़ा लड़खड़ाकर चल रही है।मैं भी उनके पीछे बाथरूम में गया.

मामी बोलीं- तुम तुम्हारे मामा की क्यों टेंशन लेते हो, उसकी परमीशन में ले लेती हूँ. उसने 3500 के कपड़े लिए, जिसके पैसे मैंने दिए और उसके 500 भी उसको दे दिए.

मेरे दिमाग में तो उस वक़्त कुछ नहीं था, पर वो इंसान मुझे केवल आकर्षक लगा था.

कभी थोड़ी दूर चली जाती, तो कभी बिल्कुल करीब आकर मेरी आँखों में आँखें डाल कर नितम्ब लचकाती या कमर मटकाती. अंग्रेज का सेक्सीअब मैंने धीरे से उंगली को चूत में डालनी स्टार्ट कर दी और मेरी उंगली अंदर चूत में आराम से घुस गई. जंगल मंगल सेक्सीवरना तो मैं सपने में भी नही सोच पाता कि यहाँ स्कूल में मुझे तुझ जैसी लौंडिया मिल सकती है. उनकी कामुक आवाजें मुझे और पागल कर रही थीं और मैं अपनी स्पीड बढ़ाने लगा.

’ भी कर रही थींमैंने इसके बाद एक हाथ पेटीकोट पर ले जाकर उनका नाड़ा खोल दिया.

वो उस वक्त नाईट सूट में थे और वे अपने एक हाथ में शराब का गिलास लिए हुए थे. थोड़ी थोड़ी देर में वो मेरे कूल्हों पर थप्पड़ भी मारता, तो मेरे शरीर में एक अलग सा एहसास दौड़ जाता. मैंने अपनी दो उँगलियाँ उनकी गीली चूत में घुसा दीं, और अंदर बाहर करने लगा.

शाम वर्ण, औसत कद-काठी, चेहरे पर बड़े-बड़े आकर्षक नैन बिना काजल के भी कजरारे, जिन पर आप क्या आपके मामा भी फिदा रहते हैं. एक कज़िन से जो आरती का पति है, दूसरा मेरी पति और बाकी के चार जो आरती ने दिलवाए. कुछ देर बाद मैंने आंखें खोलीं, तो देखा वो मेरे लंड को किस करते करते उसको अपने सारे चेहरे पे फेर रही थी.

छूट की चटाई

एक दिन भाभी ने ये बात सुन ली तो वो मुझसे ही पूछने लगी- किस बात का जिक्र हो रहा है?मैंने कहा- पता नहीं क्या बताने की कहता है, मुझे खुद कुछ नहीं मालूम?मेरे जाने के बाद उसने अपने लड़के से धमका कर पूछा- क्या बात है, क्या बताने की बात करता है?उसने भाभी को बता दिया कि मोनी ने चाचू को चॉकलेट दी थी. अनन्त जीजू को बगल के रूम में लिटाकर दीदी, जीजू और मैं हमेशा की तरह लेट गये। जीजू दीदी से कुछ बात कर रहे थे।फिर मैं सोने लगी, दीदी ने गौर से मेरी तरफ देखा और उनको ये लगा कि मैं गहरी नींद में सो गई तब वे बेफिक्र होकर बात करने लगे. जब मैंने धीरे से उसकी पैंटी को उतारा तो उसकी चूत मेरी आंखों के सामने आ गई.

तो रास्ते में इमरान मिल गया, इमरान ने मुझसे पूछा तुमने श्रीनगर और कल रात ऐसा क्या किया कि झंडे गड़ गए?मैंने पूरा हाल तफ़्सीर से बता दिया.

वो भूखी शेरनी की तरह मेरी गर्दन, गालों, लिप्स पर किस किये जा रही थीं.

मैंने कहा- ठीक है!और रात को अपने कमरे की तरफ से दरवाजा खुला छोड़ दिया ताकि वो जब चाहे खोल कर अंदर आ जाए. वासना का उबाल उतरने पर जब दोनों को होश आया तो दोनों के मन में रत्ती भर भी पछतावा नहीं था. सेक्सी वीडियो मराठी हिंदीमैंने सोनू से पूछा- फिर तुम्हारा दिल किया था करवाने को?सोनू ने बताया- कल तक तो आपसे मिलकर मैंने यह सोचा था कि मैं यह काम नहीं करूंगी, परंतु रात को जब मैंने मम्मी पापा को देखा तो मेरा फिर दिल किया और मैंने उंगली से करके अपनी प्यास बुझाई और मन में सोचा कि कल अगर आप कुछ करेंगे तो मैं मना नहीं करूंगी.

और पापा धीरे धीरे अपना लण्ड मेरी चुत में डालने लगे, मेरी चुत पहली बार किसी लण्ड के सामने खुल रही थी इस कारण पापा का लंड कभी ऊपर कभी नीचे फिसल जा रहा था।मैंने उनके लौड़े को अपने हाथ से अपनी चूत के गेट पे रखकर उनको जोर लगाने को बोला. मैं हमेशा खुश रहने लगी थी और मेरी खूबसूरती और बढ़ती जा रही थी। अब मैं अपना और अपने लुक्स का बहुत ध्यान रखने लगी थी। मेरा फ़िगर अब 36-26-36 हो गया था और मेरा रंग और निखर गया था। मुझे हर्षिल ने समझाया था कि सेक्स इंसान के लिए बहुत जरूरी होता है, इसी से दुनिया चलती है।लगभग एक महीने बाद मेरे मामा के लड़के की शादी थी और हम सब का जाना बहुत जरूरी था. चूत के होंठ सूजकर एकदम फूली हुई पॉव रोटी जैसे हो गए थे … बिल्कुल लाल गुलाबी.

वो बस मजे ले रही थी ‘अअअअ ईईई ऊऊ उम्म उम्म सीसी सी …’ वो मेरा सिर जोर से अपने वक्ष में दबाने लगी और बोलने लगी- जानू … और जोर से चूसो इनको! मुझे बहुत मजा आ रहा है. एक दिन आफिस में कुछ ज्यादा काम की वजह से हम दोनों को घर जाने में देर हो गई.

उसके व्यवहार से मुझे अब लगने लगा कि वो मुझसे चुदवाने के मूड में आ गई थी, परंतु हम दोनों में से कोई भी अपनी ओर से पहल नहीं कर रहा था.

मैंने अपने पैरों से उनके दोनों पैर फैलाए और अपने लंड को उनकी चुत के आस पास जमा कर रगड़ने लगा. सब चूतों और लंडों को मेरी चूत और मम्मों का सलाम, नमस्ते और शुभकामनाएं!सम्पादक के नाम: कृपया मेरी मेल आईडी इस कहानी के साथ ना दी जाए क्योंकि मेरा पिछला तजुर्बा कोई अच्छा नहीं रहा. एक बार तो उसने मेरे हाथ को हटाया मगर उसके बाद उसने मुझे ऐसा करने से नहीं रोका.

सेक्सी वीडियो मूवी चाहिए धीरे धीरे हम दोनों के हाथ एक दूसरे के शरीर पर चलने लगे और हमारी जीभ एक दूसरे के मुँह का जायज़ा लेने लगीं. उसने पूछा- तू संजीव को कैसे जानता है?मैंने उसे बताया कि इंटरनेट पर हमारी बात हुई थी और मैं ऐसे ही उससे मिलने के लिए आ गया.

मैं अपने लब उसके लबों पर रख कर किस्सिंग करने लगा और स्पीड के साथ उसको चोदने लगा. तब पहली बार स्कूल में मम्मी पापा ने मेरा एडमिशन कराया और मुझे पढ़ने भेजा. सुबह नूरी खाला ने सारा और ज़रीना की हालत देखी तो सारा माजरा समझ गयी.

ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म देखना है

करीब 3 मिनट तक उंगलियों से रगड़ने के बाद आशीष बोला- छोड़ मेरे लौड़े को … मैं तेरी चुत को फाड़ ही दूं … पर बंध्या तेरी चुत चाटने में जो मजा है, वो मजा चुदाई में नहीं आ सकता है. कुछ देर उसके होंठों को चूसने के बाद मैंने उसके बूब्स को फिर से दबाया और अचानक से उसके पजामे को खींच कर नीचे कर दिया. मेरे परिवार में मेरे पिताजी मेरे मां और मेरे दादा-दादी सभी लखनऊ में रहते हैं, कुल मिलाकर हम 5 सदस्य है.

‘भैया, तुमसे मिलने आने का सोच रही हूँ, तुम तो दोस्त के साथ रहते हो, कोई दिक्कत तो नहीं होगी?’‘शैली, मैं अभी थोड़ी देर में फोन करता हूँ. अब तलाशी तो लेनी ही पड़ेगी … समझ रही हो ना?” सर ने मेरी आँखों में देख कर कहा।मेरा टाइम निकला जा रहा था और उन्हें मस्ती सूझ रही थी.

लगभग 5 मिनट बाद उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया और मैं उसकी चुत का पूरा पानी पी गया.

लेकिन जैसे जैसे टाइम बीतता गया, वो मुझसे खुलने लगे और अपनी बातें शेयर करने लगे. वे मुझसे जिस तरह से वाट्सएप पर बातें करने लगी थीं, उससे मुझे उनकी तरफ से एक मूक आमंत्रण सा महसूस होने लगा था. मैंने झट से अपना सात इंची का लंड अंडरवियर से निकाला और उसके मुँह की तरफ करके हिलाया, उसने अपनी जीभ बाहर निकाली और लंड चाटने का अश्लील इशारा करते हुए दूध दबाने लगी.

थोड़ा सा अन्दर जाते ही वो कामुक सिसकारियां लेने लगी और अंकल का औजार ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी. मुझे उसके लिंग से मर्दानगी की महक आ रही थी, जो मुझे और अधिक कामुक कर रहा था. आज वो स्कर्ट पहन कर आई थी, पता नहीं कैसे खेलते खेलते उसकी स्कर्ट जरा ऊंची हो गयी.

क्योंकि उस समय इन्टरनेट वाले फोन का दौर कम था और बच्चों को फोन से दूर ही रखा जाता था.

बाप बेटी की बीएफ सेक्सी: एक दो बार अवश्य और कामुकता में आकर उसके चूतड़ों पर जोर से चांटे मार देता. सुबह से शाम तक संजय ऑफिस में बिजी रहता और कोमल मणि के साथ कालेज में ट्रेनिंग पर रहती थी.

मामी के कन्धे पर सर रख कर मैंने कहा- मामी, आपकी किस ने तो कमाल ही कर दिया, अब देखना मैं पक्का टॅाप करूँगा. और तो और मामा ने बोल भी दिया कि अब मुझे आने की जरूरत नहीं है, तू अपने हिसाब से इलाज कर दे. जैसे ही मैंने मामा को बांहों में कसा, मामा बोले- बंध्या, तू तो चुदवाने को एकदम पागल हो रही है … तू अब चिंता नहीं करना, मैं सब इंतजाम कर दूंगा.

चाची बाथरूम में नहा रही थीं और ज़ोर ज़ोर से गाना गा रही थी ‘कुण्डी मत खटकाओ राजा … सीधा अन्दर आओ राजा … धीरे धीरे राजा …’बाहर बैठ कर मैं भी मज़े से गाना सुन रहा था कि अचानक चाची ने मुझे आवाज़ लगाई- सुन … वो मैं अपनी टॉवेल और कपड़े तो बाहर ही भूल गयी हूँ, ज़रा दे दे.

कुछ देर बाद संजय ने इशारा किया और मणि को कोमल की गांड मारने के लिए बुलाया. मेरे चूचुक चूमने और योनि में लगातार लिंग के कारण वो और भी ज्यादा उत्तेजित हो रही थी. जैसे ही मैं उनके हाथ में टॉवेल और बाकी कपड़े देने लगा, मेरा ध्यान साइड के मिरर पर गया और मुझे मिरर में चाची के बड़े बड़े चूचे दिखने लगे.