इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ

छवि स्रोत,खुला खुला सेक्सी खुला

तस्वीर का शीर्षक ,

वेक्सएक्स: इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ, आज पहली बार मैंने बाथरूम में जाकर दीदी और रिया के बारे में सोचते हुए मुठ मारी.

सबसे बड़े लिंग वाला सेक्सी वीडियो

मैंने पूछा- कब?कल्पना ने कहा- तुम्हें याद है मैंने तुम्हें कहा था कि मैं तुम्हें कॉल करूंगी. सेक्सी पिक्चर बताएं इंग्लिशउसी दिन करीब रात को नौ बजे दीदी ने मुझे कॉल करके अपने कमरे में बुलाया.

अगले दिन सुबह हम लोग जगे और नहा धो कर नाश्ता किया व पैदल यात्रा शुरू कर दी. हिंदी आवाज में सेक्सी चुदाई वीडियोदोस्तो, मैं देखने में काफी शरीफ सा लगता हूं लेकिन मेरे अंदर इतनी हवस भरी हुई है कि मैं हर वक्त लेडीज की चूचियों और गांड को ही ताड़ता रहता हूं.

मेरी बहन भरे हुए तन की मलिका है। उसको देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो सकता है।मेरा नाम सिद्धार्थ है, मेरी उम्र 25 साल है।यह कहानी मेरी और मेरी मौसी की लड़की मीनू की है जिसकी उम्र 23 साल है।पहले मैं आपको मीनू के बारे में बता देता हूँ.इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ: मैंने उससे कहा- ठीक है … तुम्हारी सहेली कितना लेगी?कल्पना ने कहा- नहीं, वो कुछ पैसे नहीं लेगी.

उसकी इस सख्त बात को सुनकर मैं एकदम से डर गयी और उसको समझाने लगी, लेकिन उसने मेरी एक नहीं सुनी.ये सुनकर मैंने कहा- सच तो यही है भाभी … दिन तो एक बार तो आपको याद करके हिला ही लेता हूँ.

ब्लू फिल्म सेक्सी डीजे - इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ

चाची बोली- अपनी इस भैंस के दूध को दुहना चाहते हो क्या?मैंने कहा- आज मेरा मन मेरी भैंस के ही दूध से बनी हुई चाय पीने के लिए कर रहा है.ये सुनकर भाभी ने मेरा हाथ पकड़ कर बोला कि नहीं मोहित तुमसे बात करना तो मुझे अच्छा लगता है.

मेरा मन उसकी चूत में ही झड़ने का था लेकिन फिर भी मैंने उससे पूछ ही लिया. इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ सारिका ने मेरा लण्ड लोअर से बाहर निकाल लिया और चूसने लगी जिससे लण्ड टनटना कर चुदासा हो गया.

कुछ देर निधि की चूचियों को दबाने के बाद मैंने निधि के कंधों पर से साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया।निधि की चूची को ब्लाउज के ऊपर से दबाने के बाद उसके ब्लाउज का हुक खोलकर उसके ब्लाउज को निकाल दिया।मैंने निधि के ब्रा का हुक खोलकर उसे निकाल दिया.

इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ?

उसके बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर सटा दिया और जोर लगाते हुए उसकी चूत में लंड को घुसाने के लिए एक धक्का मारा. और उसको देख-देख कर मैंने अपना हस्तमैथुन करके वीर्य निकाल लिया।खाना खाने के बाद मैंने ज़ाहरा को फ़ोन किया और उससे पूछा कि वो भी गर्म हुई या नहीं?उसने कहा कि वो ये सब करने से गर्म नहीं होती, जब असली में कुछ ऐसा होगा, तब ही वो उत्तेजित होगी।उसके बाद हम रोज़ कंपनी में ऑफिस की सीढ़ियों पर एक दूसरे के होंठ चूसते तो कभी मैं उसके बूब्स दबा देता. गर्मागर्म कड़क और चिकने लण्ड के अपनी नाजुक चूत पर पहले मर्दाना स्पर्श ने करोना को अलग ही मजेदार और नए अनुभव से दो चार कर दिया.

अगर मेरी इस आपबीती को आप लोगों का पॉजीटिव रेस्पोन्स मिला तो अपने जीवन में घटी और भी सेक्स घटनाएं मैं आप तक लेकर आऊंगा. ये देख कर मैंने फिर से एक ज़ोर का झटका दिया और पूरा लंड चूत में डाल दिया. लेकिन शायद उन औरतों को तैरना नहीं आता था इसलिए वे किनारे ही नहा रही थीं।उस दिन तब तक हम उन औरतों को दिखा दिखा कर नहाते रहे जब तक की वो नहाकर चली नहीं गयीं।अब तो यह रोज का काम हो गया था हम लोग रोज निर्धारित समय पर नहाने जाते और वो भी उधर से नहाने आती.

बहू भी अपने ससुर की इस हरकत का मज़ा ले रही थी और मुझे कुछ नहीं बोल रही थी. वो- आह अब साले तूने मेरी गांड का मजा ले लिया हो … तो फिर से मेरी चुत चोद दे. ऐसा लग रहा था कि चूत चुदाई के समान दुनिया में दूसरा कोई और आनंद नहीं है.

फिर मैंने मुँह से उसके निप्पल को पकड़ कर खींचा, तो उसके मुँह से एक सिसकारी निकल गई. अपनी आने वाली कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि मामी ने मुझे सेक्स करना कैसे सिखाया.

पहले तो उसने शर्म के मारे मेरा लंड नहीं पकड़ा लेकिन फिर पकड़ लिया और उसे दबाने लगी.

आप अच्छे से जानते हो!मैंने कहा- जब तक आपकी मर्जी न हो, मैं कुछ नहीं करूंगा.

उस दौरान वो भी कुछ नहीं कहता था, बस मुझे हल्का सा देख कर सर नीचे कर लेता था. एक तो ये करण इनको सारा दिन चूसता रहता है और तेरे मामा भी इनको नहीं छोड़ते हैं. धीरे उसके जिस्म के हर हिस्से को सहलाते और रगड़ते हुए मैंने उसको पूरी तरह नंगा कर दिया.

सब पाठकों ने ही कहानी की बहुत तारीफ की और मुझे आगे और भी कहानियां लिखने के लिए प्रेरित किया. तनु ने बिना देर किये मेरे लंड के गुलाबी सुपाड़े को मुंह में भर लिया. तुम इतना रिएक्ट क्यों कर रहे हो?पवन- वो … म् … म … म … मैं … व … वो!मैं- तुम कह क्यों नहीं देते कि तुम भी मुझे चोदना चाहते हो … ऐसे चुप रहने से क्या होगा?पवन- न … न … नहीं … अ … आप गलत समझ रही हैं.

मैं उनकी चूत को अपनी उंगलियों से फैला कर जीभ अंदर डालकर चूसने लगा, चाटने लगा.

और मेरी रंडी माँ अन्ह्ह उफ्फ अन्नह विशु और चोदो मुझे! की आवाज में निकालकर सुखद अनुभूति की प्राप्ति कर रही थी. चाची- छी: ये क्या है … तुम ये सब देखते हो … आज तुम्हारी मम्मी को बताती हूँ. कविता के पिता जी पुलिस में थे इसलिए कोई उस पर हाथ डालने के बारे में सोच भी नहीं सकता था.

ये बताओ मुझे तुम्हारा जिम ज्वाइन करना है चार्जेज क्या हैं?अनिल बोला- अरे तुम्हें भी जिम ज्वाइन करना है क्या?मैंने कहा- हां क्यूँ …. चिन्ना ने इसी मुद्रा में करोना की स्लेक्स की इलास्टिक में उँगलियाँ फँसाते हुए उसकी स्लेक्स और पैंटी को एक साथ एक ही झटके में नीचे की तरफ सरका दिया. सच में दोस्तो, ज़िन्दगी में एक बार चूत को आईसक्रीम लगा कर उसके पानी को जरूर पीना … जन्नत का मजा न आए तो कहना.

प्यार जिंदगी में सिर्फ एक बार होता है। आज वो मेरी जिंदगी में नहीं है पर मैं अब भी सिर्फ उसे ही प्यार करता हूँ। गर्लफ्रेंड के साथ मेरे प्यार की मेरी सेक्स स्टोरी का मजा लें.

उसने कहा- वह बहुत वैसी है … उसे बिल्कुल दया नहीं आती … वो खुद काफी देर तक चुदाई करवाती है. मेरे अंदर कामवासना के समुद्र में एक ज्वार फूट चुका था जो रुकने का नाम नहीं ले रहा था.

इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ हां अगर तुम्हारी दीदी भी बुर में लंड लेना चाहे तो मैं उसको भी मजा दे सकता हूं. फिर मैंने उसके मुँह से कपड़ा निकाला, तो उसने जोर से सांस लेते हुए गुस्से से कहा- भैया आज तो मार ही दोगे … इतना दर्द हो रहा है.

इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ और फिर उसने एक हाथ मेरे वक्ष स्थल पर रखकर बेदर्दी से दबाना शुरू किया और अपना दूसरा हाथ मेरी निहायत चिकनी और स्निग्ध योनि को सहलाना शुरू किया. बच्चेदानी के मुँह पर पड़ने वाली हर ठोकर करोना का मजा दुगना कर देती थी.

भाभी के साथ बाथरूम में जाते ही मैंने उनको जकड़ लिया और उनकी सलवार खींच कर नीचे कर दी.

प्रकाश सेक्सी

बहू ने मुझे देखा, बोली- उठ गए डैडी!मैंने कहा- हाँ बहू, आज थोड़ा लेट हो गया. दिल आज भी इसी उम्मीद में है कि एक दिन वो वापस आएगी।पता नहीं ये इंतज़ार कभी खत्म भी होगा या नही।उस दिन मुझे यह पता नहीं था कि मेरी ये मुलाकात आखरी होगी. कसम से मुझे अपने लंड पर उसकी गर्म गांड की तपिश अलग ही महसूस हो रही थी.

फिर वो बोली- अब डाल दीजिए डैडी जी और मेरी चूत की को ठंडा कर दीजिये. इस बीच मैंने पूछा- सिम्मी तुम इतनी खूबसूरत हो, तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड नहीं था क्या?सिम्मी ने कहा- नहीं।मैंने पूछा- ये तो हो ही नहीं सकता. कभी मेरे गालों को खींच कर नोंच रही थी तो कभी मेरे होंठों को जोर से काट रही थी.

चिन्ना का खम्बे जैसा लण्ड करोना की स्लेक्स से ढकी चूत के सामने से होता हुआ करोना के पेट तक पहुँच रहा था, जिसकी वजह से करोना अपनी जगह से आगे नहीं हिल सकती थी।चिन्ना ने करोना को चुदाई के लिए तैयार करने की अपनी कार्यवाही आगे बढ़ाई और एक हाथ से करोना की चूचियों को सहलाता रहा.

चोपड़ा- हम्म … इस नाम से तो लगता है कि *** माल है … वो तो सुन्दर होती हैं … ठीक है तू पिक्चर भेज दे. थोड़ी देर बाद मेरा ध्यान उसकी गांड के गुलाबी छेद की तरफ गया और मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाल लिया. आपने मेरी इस टीचर सेक्स कहानी के पिछले भागटीचर संग प्यार के रंग-3को इतना प्यार दिया उसके लिए आप लोगों को बहुत बहुत धन्यवाद.

फिर मैंने आकांक्षा को बेड पर लेटाया और आकांक्षा के पैर उठा कर अपने कंधे पर रख लिए. मैंने उसे दोबारा बुक करना चाहा तो …मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागचूत चुदाई की हवस कॉलगर्ल से बुझी-2में आपने पढ़ा कि मैं कल्पना नाम की रंडी की चुदाई करते हुए उसकी चुत में झड़ गया था. बहू स्कूटी काफी अच्छी स्पीड पर चला रही थी और दिल्ली का ट्रैफिक तो सब जानते ही हैं.

वाह बिटिया … मजा आ गया आज तो! बेशक ये मेरी आज तक की सबसे बढ़िया चुदाई रही. थोड़ी देर में मैंने शटर गिरने की आवाज सुनी और अगले ही पल मोहन भाई कमरे में आ गया.

अब आगे:पच्चीस सेकेंड तक मेरे लंड से वीर्य उसकी चूत में पिचकारियां देता चला गया. उसके मुंह से अपने लंड की तारीफ में ये शब्द सुन कर मुझे गर्व सा महसूस हुआ. मैंने भी अपने हाथ उनके कंधों पर रख लिए थे और मैं उनके होंठ चूसने लगी.

कुछ देर बाद मैं हिम्मत करके उसके पास गया और उससे सॉरी बोलकर प्रॉमिस किया कि दुबारा ऐसा नहीं करूंगा.

इसके विपरीत वह धीरे धीरे प्यार से पटा कर करोना की मर्ज़ी से उसकी कुंवारी अनचुदी चूत का उद्धघाटन करने की फ़िराक में था. उधर कुछ देर के बाद मैंने कल्पना के दोनों चुचों को हाथ में पकड़ लिया और दबाना शुरू कर दिया. उसके गांड मारने में भी इतना मजा आ रहा था जैसे मैं उसकी चूत को ही मार रहा हूं।कुछ ही देर में हालत खराब हो गई और मैंने जोरदार शॉट लगाने शुरू किये.

मैंने पूछा- मॉम, कहाँ जा रही हो? कब तक आओगी?तो मॉम बोली- पुष्पा आंटी के घर जा रही हूं. मैंने कहा- ये क्या हाल बना रखा है भाभी?भाभी बोली- पापा ने एक बार फिर से मेरी गांड मार ली.

निशा- मेरी जान, मैं भी तुमसे बहुत मोहब्बत करती हूँ … कब से इस दिन का इंतजार था मुझे. उसकी शादी हो जाने के बाद अब मेरा ध्यान गांव की दूसरी लड़कियों पर जाने लगा. उसने देखा तो चौंक गई और बोली- ये क्या अंकल? आपने तो सब रेकॉर्ड कर लिया.

शेख चिल्ली शेख चिल्ली

मैंने धीरे से उसकी पैंटी उतारनी चाही, तो उसने खुद अपनी गांड को ऊपर उठाकर मेरी मदद की.

मैं अभी कुछ संभल पाता कि उन्होंने जल्दी से मेरे पूरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. क्या आपको नहीं लगता कि दुनिया का हर पुरुष उसी लड़के के किरदार में खुद को देखना चाहता है और दुनिया की हर लड़की अपने मर्द (पति या होने वाले पति) के हाथों उसी की तरह एक कला बन जाने का सपना देखती होगी?शरीर के गुप्तांगों के अतिरिक्त कमर की तगड़ी के रूप में भी मेंहदी डिजाइन काफी आकर्षक लगता है. मैं यह कहानी मुख्यतः उन लोगों के लिए लिख रहा हूँ जो लोग समझते हैं कि एक लड़का और एक लड़की सिर्फ दोस्त नहीं हो सकते.

मैं कॉलबॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या विधवा बुलाती हैं. भाभी ने मुझे अपना नम्बर दिया और कहा कि जल्दी ही तुमको मेरे घर आ कर मेरी आग शांत करनी होगी. भोजपुरी सेक्सी देहाती एचडीमेरी छोटी बहन ने मेरा लंड देखा तो वो बोली कि भैया आपकी सूसू पर बाल नहीं हैं, मेरी सूसू पर तो बहुत बाल हैं.

एक चूची से दूध निकालने के बाद चाची ने दूसरी चूची से भी दूध निकाला और फिर जितना भी दूध कटोरी में इकट्ठा हुआ उसको चाय में मिला दिया. यह बात दीपावली की है जब मैं अपने गांव में दीपावली का त्यौहार मनाने के लिए गया हुआ था.

इस स्थिति में भी इस तरह की कला का सहारा लिया जाता है ताकि कमजोर पड़ चुकी कामाग्नि को फिर से भड़काया जा सके. जितनी पोपुलैरिटी सन्नी ने हासिल की है, शायद ही किसी दूसरी नग्न अभिनेत्री को मिली है. वो अपनी जुबान मेरे होंठों से रगड़ने लगी, मैंने अपना मुँह खोल कर उसकी जीभ को अन्दर ले लिया और चूसने लगा.

अंदर जाते ही मैंने मां की साड़ी उतार दी और उसकी चूचियों को पीने लगा. मैं उसके कपड़े उतारने लगा और भाभी के शरीर से इतनी अच्छी खुशबू आ रही थी. अब उसकी ब्रा को मैंने नीचे से ऊपर किया … तब जो सामने आया, वो रुककर देखने लायक नजारा था.

प्रिय पाठको और पाठिकाओ, क्या आपने कभी अपनी बहन या भाई के साथ सेक्स किया है … या आपने किसी के साथ सेक्स किया है … प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं.

मैं घर पर ही हूँ।मैं सीधा भाभी के घर पहुंचा तो देखा कि वो घर में अकेली थी।मैंने पूछा- भाभी कहाँ है?तो उसने कहा- दीदी अपने काम से गई है।फिर उसने मुझसे कहा- तो क्या सोचा है तुमने मेरे और तुम्हारे रिश्ते के बारे में?तो मैंने कहा- मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है. दोस्तो, मैं आपको एक बात बोलना चाहता हूँ कि अगर लाइफ में कभी आप पहली बार चुदाई करोगे न … तब आपके मन में भी बार बार चुदाई का ख्याल आएगा.

मैंने कहा- कहां पर दर्द हो रहा है?उसने कहा- जो आप पकड़ कर दबा रहे हैं न. लेकिन थोड़ी देर में भाभी फिर से चुदाई की भूखी सी हो गई और मेरा लंड पकड़कर चूसने लगी. नसरीन सिर्फ़ इतना बोल कर भाग गयी- धत्त भाईजान … आप भी ना … ये छोटू कहां है.

वो मेरे ऊपर लेट गई और अपने दोनों पैरों को फैलाकर मेरे पेट पर आगे पीछे होने लगी. जिस तरह से पहली ही चैट में उसने आई लव यू बोल दिया था तो फिर शंका का स्थान तो कहीं था ही नहीं. निशा यूनिवर्सिटी में टॉपर है … और ये पढ़ने वाली लड़कियां कुछ ज्यादा ही रोमांटिक होती हैं, मैं आज समझ चुका था.

इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ पर मुझे डर भी लग रहा था कि कहीं मामी ने किसी को बता दिया, तो मेरा क्या होगा. मैंने अपने स्खलन को रोकने की कोशिश की लेकिन मजा इतना था कि मैं रोक ही नहीं पाया.

सेकसिविडिय

मैं- मैं पूरी तरह सहमत हूँ तुमसे … तो इस रूम को छोड़ने के बाद भूल जायेंगे कि कभी कुछ हुआ था हमारे बीच में. मैं बहुत खुश हुआ और कल्पना से कहा- लेकिन ऐसा कैसे?कल्पना ने कहा- मैं जिस चॉल में रहती हूँ, वहां मेरे पड़ोस में मेरी एक सहेली है. करोना ने भी तुरंत अपना शर्ट ऊपर कर लिया और अपनी सख्त चूचियों पर हाथ फेरने लगी.

हम दोनों बाथरूम से कमरे में वापस आ गए और बेड पर जाने के बाद उसने पूछा- तुम चॉकलेट या आईसक्रीम लाए हो क्या?मैंने ना में सर हिलाया, तो कल्पना बोली- कोई बात नहीं … रूम सर्विस वाले को बोल दो, वो ला देगा. भाभी दर्द से तड़फ कर बोलीं- अब और मत तड़पा … मेरे दर्द की चिंता मत करना … मेरी इस गांड को भी फाड़ दे. सेक्सी कार्टून दिखाएंलड़के मेरे पीछे वाली सीट पर बैठ गए और अपनी आँखों से मेरे फिगर का एक्सरे करने लगे, मुझसे बात करने की कोशिश करने लगे.

बहू बोली- डैडी जी, आप हफ्ते में एक बार तो आ सकते हैं ना मेरे लिए?मैंने कहा- बहू, अगर मैं हर हफ्ते आऊंगा तो बेटे को शक हो जायेगा कि पापा हर हफ्ते क्यों आते हैं.

मैंने कल्पना को किस किया और उसके कान को भी अपनी जीभ से छूने लगा, किस करने लगा. एक पुरूष थैरेपिस्ट को इस बात के बारे में भलीभांति ज्ञान होता है कि किसी महिला के शरीर के किस अंग को कितने दबाव की आवश्यकता है और किस अंग पर किस तरह की लय काम करती है.

हम दोनों ने अलग होने का फैसला कर लिया और अब फिलहाल मामला कोर्ट में चल रहा है. एक जगह थोड़ी सी जगह खाली थी वहीं पर मैंने निधि को रोक कर उसके सामने घुटनों के बल बैठ कर उसका हाथ पकड़ कर उसे आई लव यू बोला।जवाब में निधि ने भी मुझे आई लव यू बोला. हम दोनों हजरतगंज में मिले और फिर वहां से सीधे केसरबाग रूबी के रूम पर आ गए.

इस तरफ से मुझे चलती ट्रेन में एक अनजान भाभी की चुत चुदाई का मजा मिल गया था.

कुछ देर बाद हम दोनों वहां से उसके कमरे में आ गए और उसी दिन मेरी सहेली की विदाई हो गई. अभी मेरा भी मन नहीं भरा है।”मैंने फिर से धीरे-धीरे उसे चोदना शुरू किया और अपने धक्कों की रफ़्तार तेज कर दी. मैंने उसका ब्लाउज पकड़ कर खींच दिया तो वो पूरी तरह फट गया। मैं उसके 38 साइज के मम्मों को पकड़ कर चूसने लगा।आह.

इच्छा सेक्सी वीडियोफिर मैंने उसको नीचे गिराया और उसके ऊपर आकर उसकी चूत पर अपना लंड घिसने लगा. मेरी पिछली कहानी थीदोस्त की बीबी की प्यासी चूत गांड में मेरा लंडजैसा कि आप लोग जानते हैं कि मैं फर्रूखाबाद जिले के एक गाँव का रहने वाला हूँ तो अब आप लोग मेरा मतलब लड़के अपना लंड पकड़ने के लिए और लड़कियाँ अपनी चूत में उँगली डालने के लिए तैयार हो जाएँ.

सेक्स वीडियो गाना दिखाइए

हालांकि उनका मायका हमारे गांव से लगभग बीस किलोमीटर की दूरी पर ही है, लेकिन मैं उनके मायके इसलिए नहीं जाना चाहता था क्योंकि उनकी छोटी बहन को मैंने एक बार चोद लिया था. ”सुबह उठकर आज रात की रेकार्डिंग मैंने सेव कर ली और सारिका के सामने पिछली रात की रेकार्डिंग डिलीट कर दी. मैं पढ़ने के लिए जा रहा था, तभी भाभी ने मेरे से बोला- मेरी एक सहेली है.

पापा भी बूंद-बूंद करके मेरी कमर पर डाल रहे थे, तो थोड़ा तेल मेरे पेट पर आ रहा था. और जब दिन में चिन्ना भाषण देता तब बेचारी करोना नीचे खड़ी होकर चिन्ना अंकल के लण्ड की चुसाई करके उसकी सेवा में लगी रहती. मैं उससे मिलने गयी तो उसने मुझे अपने पास बिठा लिया और …हेलो, मेरा नाम सोनाली है अंतर्वासना पर मेरी एक कहानी हैइंटरनेट दोस्त के साथ सेक्स का मजाआ चुकी है। मेरे बूब्स का साइज 32 और मेरे हिप्स का साइज 36 है मैं एकदम भरे हुए जिस्म की औरत हूं।मुझे देखते ही सब मुझसे अट्रैक्ट हो जाते हैं और मुझे चोदने की ख्याल अपने मन में लाने लगते हैं.

उसकी चूत का रस निकल कर मेरे मुंह में जाने लगा और उसकी जांघों से बहने लगा. तभी एक झटके के साथ मैंने अपना लन्ड उसके मुँह में ठूंस दिया और उसने अपनी चूत मेरे मुँह पर दबा दी. खूब चुदती थी उनसे! पर शादी के बाद तो एक ही लण्ड से गुजारा करना पड़ रहा था। जब तुम रूम मांगने आये तो तुमसे चुदने की उसी दिन सोच के बैठी थी.

फिर मैं उसकी गर्दन पर किस करते हुए नीचे आया और उसकी एक चूची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. हमारी योजना के अनुसार भाभी को अपनी भतीजी को पहले खाली खेत में टॉयलेट के लिए भेजना था.

मैंने उसको घुमाकर पीछे से अपनी बांहों में भर लिया और अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को साड़ी के ऊपर से ही दबाते हुए उसकी गर्दन को चूमने लगा।निधि के मुख से सिसकारी निकलने लगी.

इसी बीच हम दोबारा से गर्म होने लगे तो हम दोनों ने एक बार फिर जोरदार चुदाई की।दूसरी बार चुदाई करने के बाद काफी देर तक यूं ही आपस में चिपके रहे नंगे पड़े रहे और आपस में बातें करते रहे. सेक्सी वीडियो रोमांस करने वालीअचानक स्नेहा वहां आ गई और कहा- मामा, क्या कर रहे हो? आप बहुत जल्दी लेट गये. सेक्सी टीवी परबहू बोली- रात में 2 बार महनत भी तो करवाई है मैंने … इसीलिए!फिर मैं और बहू दोनों हंसने लगे. कल्पना ने आगे से अपनी चूत के नीचे से मेरे लंड को पकड़ कर कहा- अब मारो धक्का.

तभी मोहन ने एक ही झटके में अपना 8 इंच का लंड मेरी चूत में अन्दर डाल दिया.

पहले मैं बॉलीवुड हीरोइन की नंगी फोटो देखता था, फिर मैंने सेक्स कहानी पढ़नी शुरू की. उसने ऐसा ही किया और मैंने अपने कूल्गे उचका कर नीचे से अपना लंड चूत के अंदर पेल दिया।कोमल भी मेरा साथ देने लगी और मजे से चुदने लगी। अबकी बार मैंने उसको अलग अलग पोजीशन में बहुत देर तक चोदा. उसने मुस्कुराते हुए मुझे देखा और हम दोनों के लिए एक ही थाली में खाना लगा कर रूम में ले आई.

तो यह सुनकर मैंने उसे पलंग पर लिटा दिया और उसकी दोनों टांगों के बीच में आ गया और उसकी गांड के नीचे तकिया रखा जिससे उसकी चूत थोड़ा सा ऊपर को गई।मैं उसकी तरफ झुकता चला गया उसके घुटनों को मोड़कर ऊपर की ओर उठाया और अपने लंड का सुपारा उसकी चूत के छेद पर लगाया। देखा कि उसकी चूत तो किसी भट्टी की तरह गर्म थी. ऊंह… ऊंह की आवाज के साथ वो अपनी चूत में सहलाते हुए अपना चूचा दबा रही थी. मैंने कहा- क्या बात है बहू की मुझे भी तो बता?तो वो बोली- कल बताऊँगी.

अंग्रेजों की चुदाई वीडियो

कल्पना भी अपनी चूत ऊपर उठा उठा कर मेरे मुँह में चूत दबा रही थी और बड़बड़ कर रही थी. मेरे पापा भी बिल्कुल नंगे थे और मेरी मां ने मेरे पापा के मोटे लंड को मुंह में भर रखा था. तो मैं आपको बताता हूं कि मैंने उससे पटाया कैसे और पेला कैसे, मुझे उसको अपने बिस्तर तक लाने में 4 साल लग गए.

फ़िर थोड़ी देर चूत पर लंड रगड़ने के बाद उसने मुझे उल्टा घुमाया और मेरे पीछे से चिपक गया.

वो मुस्कुराई और बोली- वो आपको पैसे देने के लिए बोल कर गए हैं कि आप पैसे लेने आओगे.

दूसरे दिन भी मैं सारा दिन मायूस बना रहा और दीदी से ठीक से बात भी नहीं कर रहा था. मेरा दिन तो दुकान पर कट जाता था लेकिन रात को बिस्तर पर जाते ही अनु की याद आने लगती और मेरा लण्ड टनटनाने लगता. स्कूल की सेक्सी स्कूल कीमैंने दिमाग लगाया कि मम्मी को और भी गरम किया जाए और कुछ ऐसा किया जाए … जिससे उनका ध्यान मेरी तरफ चला जाए.

दोनों मॉम को चूम रहे थे और पुष्पा आंटी वीडियो बना रही थी।फिर एक ने मॉम की टीशर्ट को खींच कर फाड़ दिया. मैंने फिर कहा- निधि प्लीज एक बार बता ना … तुझे मज़ा आया कि नहीं मेरा यानि अपने भाई का लंड मुँह में लेकर … मुझे पता है कि तेरा पति तेरी चूत की आग को ठंडा नहीं कर पाता था और तू रात रात भर ठरक से तड़पती थी. मैंने फिर लंड सेट किया और हल्का धक्का दिया इस बार भी लंड फिसल गया क्योंकि अभी तक वह चुदी नहीं थी.

मैंने कहा- विशाल तुम पढ़ रहे हो क्या?वो बोला- नहीं अम्मा, बताओ क्या बात है. मैंने उससे कहा- तो दीदी, ओह्ह लवली डार्लिंग कैसा लगा? आज मुझसे चुद कर मजा आया या नहीं? या बॉयफ्रेंड की याद आ गई?अरे बहुत मजा आया! तुमने मेरे बॉयफ्रेंड को चुदाई के मामले बहुत पीछे छोड़ दिया। मेरी चूत तो अभी भी हल्का हल्का दर्द कर रही है।”तो डार्लिंग एक राउंड और हो जाये फिर तो?” मैंने उसकी चूची को सहलाते हुए कहा।अब नहीं.

मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया और धक्का दिया लेकिन मेरा लंड उसकी चूत में नहीं जा रहा था.

एक बार उसने अकेले में तेरी चूची भी दबा दी थीं … और कई बार तूने उसको अपनी बिना धुली कच्छी चाटते हुए देखा था. और करोना ने चिन्ना अंकल के लण्ड पर बैठ कर गप से अपनी खुल चुकी चूत में जड़ तक ले लिया. इसके बाद मैंने अपने लंड पर सरसों का तेल लगाया … और लंड को चुत पर टिका कर झटका मार दिया.

ऑंटी सेक्सी व्हिडीओज आधे घंटे बाद मैंने नितिन को देखा, वह हाइटेड, गोरा, सेक्सी ट्रिम बियर्ड, एकदम फिट कपड़े पहने हुए था. रानी बोली- बाबूजी, काश आप मेरे पति होते तो मैं आपको चुदाई की कमी कभी महसूस नहीं होने देती.

अह!उधर मीनू के सांसें भी तेज हो गयी थी और उसकी चूचियां, जो काफी बड़ी थी, बड़ी जोर से हिल रही थी. कुछ दिन बाद उसने बताया कि वो लव लेटर किसी ने नहीं दिया था बल्कि मुझे फंसाने के लिये उसने खुद लिखा था।मैंने उसे कहा- तू बहुत बड़ी कमीनी निकली. उसके बाद चुदाई तक बात कैसे पहुंची?दोस्तो, आपका क्या हाल है, आशा है आप सब ठीक होंगे.

संध्या देवी

पापा बोले- बेटी, तुम ठीक हो न … कहीं चोट तो नहीं आई?मुझे उस टाइम कमर में दर्द हो रहा था … तो मैंने कहा कि पापा मेरी कमर में बहुत दर्द हो रहा है, मुझसे हिला भी नहीं जा रहा है … ये मेरी डिलीवरी का टाइम भी नजदीक है, मैं क्या करूं?पापा बोले- तुम घबराओ मत … मैं हूं ना … मेरे पास एक तेल है, जो बहुत ही असरदार है. वैसे मैंने कभी मानवी के बारे में सोचा नहीं था कि ये भी इतनी खूबसूरत है और ये भी मेरा एक ऑप्शन हो सकती है, लेकिन कभी उस पर इस नजरिये से मेरा ध्यान ही नहीं गया क्योंकि मुझे उसे देख कर बहन भाई वाला अहसास होता था. जिस तरीके से आप अपनी पत्नी के साथ सेक्स करते हैं, उसी तरीके से मेरे साथ कीजिए.

मैं कॉलबॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या विधवा बुलाती हैं. आप चलेंगे?मैंने कहा- बहू, मैं वहां क्या करूँगा? वैसे भी मेरी जान पहचान का वहां कोई नहीं होगा.

चाची भी मुझ से खुश रहती थीं और जब भी उन्हें कोई काम होता था तो मुझे ही बुला लेती थीं.

तो सेजल ने सोचा अगर उसके पति से कुछ नहीं हो रहा है तो क्यों ना वह उसके ससुर के साथ ही संबंध बना ले! हो सकता है कि उनको एक लड़का हो जाए।बलविंदर साहब पीछे अपने कपड़े बदल रहे थे वहां पर सेजल आयी और उन्हें पीछे पकड़ लिया। बलविंदर साहब ने कुछ भी नहीं बोला अब सेजल ने बलविंदर साहब को बेड पर गिरा दिया और उनके ऊपर बैठकर उनके छाती को चूमने लगी. उसकी चूत पर लंड रख कर मैंने पूछा- पहले लिया है क्या जानू?वो बोली- नहीं, बस उंगली से सहला देती थी. मैंने ध्यान से सुना तो समझ गया कि हनी लैपटॉप पर ब्लू फिल्म देख रही है.

फिर मॉम ने एक से कहा- यहाँ आओ!वो मॉम के पास गया तो मॉम उसका लन्ड पकड़ कर बोली- चूतिये, इसका इस्तेमाल कर … देख तेरे सामने जवान औरत खड़ी है. उसके दो मिनट के बाद वो उठी और उस नकली लंड को एक कपड़े से बेड की ग्रिल पर बांध दिया. सफलता की ऊंचाइयां छूने के लिए सेजल ने अपने बदन का खूब इस्तेमाल किया.

ये सब सुनाते हुए मैं रानी भाभी की जांघें सहलाते हुए उनके और करीब आ गया था.

इंडिया एक्स एक्स एक्स बीएफ: दूसरे दिन सुबह में बहुत खुश था और जो कल हुआ था, उससे आगे बढ़ने को तैयार था. तो मैंने कहा- फिर तो आप उस औरत को बुला लीजिए!भाभी ने नीचे से दूसरी भाभी को बुलाया और मेरे कमरे में ले जाकर हम तीनों लोग बैठ गए.

लण्ड को सेट करते हुए मम्मी के दोनों चूतड़ों के बीच सेट करके हौले हौले से रगड़ने लगा. मैंने घर पहुंच कर बेल बजाई और दीदी कॉल पर बात करते हुए ही गेट खोलने के लिए आ गयी. लेकिन अब मुझे इस बात से कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि अब मुझ पर सब वैसे भी फिदा हो जाते हैं.

फिर मुझे अपनी बहन के बारे में गन्दी बात सोचकर थोड़ा डर लगा और थोड़ी शर्म भी आयी, पर मज़ा भी आया.

मैंने कहा- घबराओ नहीं, लंड जितना लम्बा और मोटा होता है, चूत को चुदने में उतना ही ज्यादा मजा आता है. मैंने कहा- बताओ बहू, क्या कमी है मेरे बेटे में जो तुम्हें इस नकली लंड का इस्तेमाल करना पड़ा?बहू की साँसें तेज चल रही थी मगर वो डरी नहीं. कुछ ही सेकेण्ड्स के बाद मेरे लंड ने संयम खो दिया और मेरे लंड से वीर्य निकल कर उसकी गांड पर पिचकारी मारने लगा.