बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान

छवि स्रोत,सेक्स सेक्स ब्लू पिक्चर सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

खुला सेक्सी हिंदी में: बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान, थोड़ी ही देर में वो भी चुदाई के मज़े लेने लगी और अपने मुँह से मादक सिसकारियां निकालने लगी.

देसी लड़की की ब्लू फिल्म

कपड़े पहने और सोचने लगी कि आज मैं किसी और को चोदने देने वाली थी और कौन मुझे चोदकर चला गया. ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडिओ पिक्चरमुझे ऐसा लग रहा था कि अगर मैंने नैना को नहीं रोका, तो मेरा लंड इसके मुँह में ही हलाल हो जाएगा.

मेरे इतना कहते ही प्रियंका ने अपना शर्ट ऊपर किया और ब्रा नीचे करके अपने दोनों बूब्स बाहर कर दिए. विदेशी एक्सहार्डकोर भाभी सेक्स कहानी मेरे दोस्त की बीवी की जोरदार चुदाई की है.

मैंने बैग खोला और देखा कि उसमें एक साटिन की रेड कलर की पैडेड ब्रा और एक दिल का आकार छपी हुई डार्क पिंक कलर की पैंटी रखी थी.बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान: पजामे के साथ उन्होंने अपनी पैंटी भी उतार दी और मेरे मुँह पर मूतने लगीं.

मैंने उसके लंड को चूत पर रखा और बोली- मार जोर से धक्का और चोद दे अपनी मालिक की बीवी को … फाड़ दे मेरी चूत को.दीदी झड़ चुकी थी और निढाल होकर लेटी थी उसकी सांसें धौंकनी की तरह चल रही थीं.

बिग बूब्स सेक्सी - बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान

उस दिन कुछ देर टीवी देखने के बाद मैं बोली- अंकल आप टीवी देखो, मैं सोने जा रही हूँ.अभी मैं उसकी बगलों की महक को सूंघ ही रहा था कि तभी मिक्की मालकिन ने मेरे अंडों को अपने हाथों से कसके पकड़ कर निचोड़ सा दिया.

दीदी शाम को चाय लेकर आयी तब मेरी नींद टूटी।अगले दिन सुबह जीजा जी को टूर पर 5 दिनों के लिए दिल्ली जाना था।घर पर मैं और दीदी और उनके दोनों बच्चे थे।दोपहर को बच्चे कम्प्यूटर पर गेम खेल रहे थे, मैं और दीदी कमरे में लेट कर बाते कर रहे थे।दीदी ने आदत अनुसार मुझसे कहा- राहुल पैर दबा दो!आज दीदी ने स्लीवलेस मैक्सी पहन रखी थी।मैं झट से पैर दबाने लगा. बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान मैंने फिर से कहा- मम्मी प्लीज़ तेल लगा कर करो न!उन्होंने कहा- नहीं, मैं तेल नहीं लगाऊंगी.

मैंने उसको पैरों से मालिश करना शुरू किया और ऊपर आते हुए उसकी चिकनी जांघों पर हाथ फेरते हुए मालिश करने लगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान?

इससे मैडम को दर्द में राहत मिल गई और उन्होंने लंड को अन्दर झेलना शुरू कर दिया. हेमा सुबह 7:00 बजे ऑफिस जाने के लिए बाथरूम में नहाने जा रही थी तो मैंने उससे कहा- जरा अपना फोन मुझे दे दो, मुझे कॉल करनी है. मैंने दुबारा से एक हाथ उसकी गर्म चूत में डाला और उसके एक निप्पल को अपने मुँह में भरकर चूसने लगा.

मगर मेरे अन्दर इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं उस प्रस्ताव को स्वीकार कर सकूँ. वो बोला- कोई बात नहीं, फिर कभी दिखा देना!हमारी हर रोज़ बात होती, मैं दीप और नीता से बिना बात किये सो ही नहीं पाती थी. उसका यार भी उसकी प्यास नहीं बुझा पाया तो उसने अपने ड्राईवर को उकसाया.

अब उसने मेरे गाउन का फीता खोला और मेरे बदन से गाउन को खींच दिया, जिससे वो फट गया. मैं उसको घोड़ी बना कर 15 मिनट तक चोदता रहा और वो उह आह की सिसकारियां भरती रही. थोड़ी देर बाद मैं झड़ने को हुआ तो मैंने अपना सारा माल उसके मुँह में ही निकाल दिया.

मैंने उसके करीब आते ही दिलप्रीत को अपनी बांहों में भर लिया और उसे दीवार से चिपका कर चूमने लगा. कुछ देर बाद उससे रहा नहीं गया तो बोलने लगी- अब मेरी चूत में तुम अपना लंड पेल दो.

उन्होंने पूछा- आप कौन?मैंने अपने बारे में बताया और बोला- सॉरी मैंने गलती से आपकी बातें सुन लीं और आपके पति के जाते ही आपका मूड खराब हो गया, ये मुझसे देखा नहीं गया.

माया ने कहा था ऐसा करने को … साली ने ये नहीं बताया था कि इतना दर्द होगा.

उसके जाने के बाद अपने मन में उसके लंड की कल्पना करके मैं अपनी गांड में कुछ न कुछ डाल कर मस्ती लेने लगता था. उस्ताद जी बोले- चूत में लेगी मेरा माल या मुँह में?मैंने कहा- मुँह में. भाभी फिर से जोश में आ गईं और बोलीं- चोद दे मुझे!मैंने कहा- चोदने के लिए पहले मेरा लंड तो खड़ा करो.

इससे पहले मैंने कभी नहीं चुदवाया था और कॉलेज में ही मेरी पहली चुदाई हुई थी. फिर मैंने उससे पूछा- आज तक तुमने कभी सेक्स किया है?तो उसने मना कर दिया, बोली- नहीं, मैंने आज तक सेक्स नहीं किया।मैंने कहा- तुम मुझे अपनी चूची दिखा दो!पर उसने मना कर दिया. गलती से भी हाथ लगे, तो सॉरी बोल देते हो और एक वो है जिसके सामने ड्रेस खोल दी … अह … पर उसमें पावर ही नहीं था.

वो उस वक्त तो कुछ नहीं बोली थी मगर आज जब उससे मेरी बात हुई तो मैं समझ नहीं पा रहा था कि ये मेरी बात मानेगी या नहीं.

कभी किसी फंक्शन या पार्टी में जाना होता तो वापसी में काफी देर भी हो जाती है. क्या मम्मी पापा भी मन्दिर चले गए हैं?तो मैंने कहा- हां, आज रविवार को वो लोग दो बजे से पहले घर नहीं आएंगे. उसने भी अपनी कमर उठा उठा कर मुझको और ज्यादा स्पीड से चोदना शुरू कर दिया.

मेरी गर्लफ्रेंड की उम्र 21 साल की थी और उसकी छोटी बहन की उम्र 19 साल की थी. मैं जो बोलूंगी, वो तुम्हें करना होगा … नहीं तो मैं तुम्हारे अंडों पर इतना मारूंगी कि तुम 2-3 दिन तक मूत भी नहीं पाओगे. मैंने कहा- कौन सी वाली मम्मी जी?मम्मी ने आंख दबाते हुए कहा- वही जो लड़की लड़की के साथ करती है.

गोरा रंग, बड़े चुचे, मोटी गांड और 5 फुट 8 इंच की हाइट वाली वो एकदम कांटा आइटम दिखती है.

उसी समय भाभी ने मुझे अपनी बांहों में लेने के लिए अपने दोनों हाथ फैला दिए. किसी से मेरी सेटिंग करवा दो!तो उसने कहा- बताओ किस लड़की को चोदना चाहते हो?तब मैंने रुबी का नाम लिया जो हमारे पड़ोस में ही रहती है और इस साल बारहवी में गयी है।अगर मेरी सेटिंग उससे हो जाती है तो फिर उसकी पहली चुदाई की कहानी जरूर लिखूंगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान मेरे मन में तो उसकी चुदाई की चुल्ल थी पर डर भी लग रहा था कि साली कहीं कुछ बवाल ना कर दे. उस समय मेरा पढ़ाई में मन नहीं लग रहा था इसलिए टीवी चला कर मैं हॉट एक्ट्रेस के गाने देख कर मुठ मार रहा था.

बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान तभी अंकल ने धीरे से मेरे कान ने पूछा- कैसा लग रहा है?मैंने अंकल से कहा- अंकल, ये ग़लत है, आप मेरे पापा के दोस्त हो और आपकी उम्र 50 साल है. मैंने एक एक पैग और बनाया और हम दोनों ने पी लिया।अब मैं भी गर्म होने लगी थी, उसके हाथ मेरे शरीर पर चलने लगे थे।मैंने उससे कहा- कि तुमने मुझे कोई गिफ्ट नहीं दिया?वो बोला- मैं एक डिलीवरी बॉय हूं मैं आपको क्या दे सकता हूं?मैंने मुस्करा कर कहा- तुम तो मुझे वो दे सकते हो जिसकी मुझे सबसे ज्यादा जरूरत है।वो बोला- मेरे पास कुछ नहीं है.

मैं आज आपको अपनी गर्लफ्रेंड की बहन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हूँ.

बुर की चुदाई बुर की चुदाई

जब ज्योति उठी तो देखा बेडशीट पर खून लगा था और उसकी चूत सूजी हुई थी. मेरी धड़कनें इतनी तेज हो गयी थीं मानो दिल छाती फाड़कर बाहर आने वाला हो गया था. ना तो नौकर को पता था कि बहू उसके लंड से चुदना चाहती है … और ना ही बहू को पता था कि आज उसकी कोख नौकर के बीज से हरी होने वाली है.

शिवानी की बात सुनकर मैंने भी हां में हां मिला दी और उसकी दीदी मुझसे बात करने लगी. ’उधर दूसरी रानियां पर्दे की आड़ में अपनी अपनी चूत को मसल रही थीं और सोच रही थीं कि उनका नंबर कब आएगा. मैं मैडम को चित लिटा कर उनके ऊपर चढ़ गया और अपना लंड उनकी चूत के अन्दर उतार दिया.

अब रनिवास में कोई भी काम होता, तो व्यापारी अपने छोटे लड़के अशोक को भेजता.

मैंने उससे कमरे की चाबी भी ले ली और चंचल के आने का इंतज़ार करने लगा. मेरा मन कर रहा था कि पूरी चूची मुँह में भर लूं … पर चूची मोटी थी तो पूरी अन्दर आई नहीं. उनको नजदीक से देखने की चाहत थी, फिर आज मेरे पास बहाना भी था कि सर ने अन्दर चैक करने के लिए भेजा है.

देसी यंग गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे मामा के घर गया तो मामा के बेटे ने मुझे चूत दिलवाने का वादा किया. मेरा भी अब होने वाला था, तो मैंने अपनी रफ्तार बढ़ाई और तभी वो एक बार फिर से झड़ गई. बाद में उसका मैसेज आया कि यार उसमें तो एक लड़का और लड़की की चुदाई की फिल्म थी.

मैं चौंक गया क्योंकि मैं रेस्टारेंट में अपनी जिप बंद करना ही भूल गया था. ज्योति की बुर पर किस करने के बाद मैं उसकी जांघों को चाटते हुए उसके घुटनों से होते हुए पैरों की तरफ धीरे धीरे बढ़ने लगा.

मैंने तुरंत कैब पकड़ी और उस कैब वाले से बोला- भाई इधर किसी अच्छे से होटल में ले चल. और फिर अंदर से दरवाजा बंद कर दिया।मैंने उसे सोफे पर बैठने को कहा और अपने रूम में आ गई।थोड़ी देर बाद मैंने उससे कहा- तुम फ्रेश होकर आ जाओ. फिर मैंने कब कब कैसे कैसे चुदाई की, ये मैं आपको अपनी अगली Xxx कहानी में बताऊंगी.

अब कोमल दीदी पहले से काफी मोटी हो गई थीं, मैं बस कोमल दीदी को देखता रहा.

अब उसके हाथ मेरी जांघों से मेरी गान्ड तक आ गये थे।मुझे उसका ऐसा करना अच्छा लगने लगा था. मैंने दीदी से बोला- अन्दर डाल दूं?तो दीदी ने हां में गर्दन हिला दी. मैंने कहा- क्या इलाज है?कुछ देर बाद मेम ने मुझको एक गोली दी और कहा- लो इसे खा लो.

उसी समय दीदी की आवाज एकदम से थरथराने लगी और वो अपने बदन को ऐंठाने लगीं. नीता बोली- लगता है तुम दोनों को इंतज़ार की घड़ियाँ काटनी मुश्किल हो रही हैं.

अब मैंने पोजीशन बनाई और अपने दोनों पैरों से उसके दोनों पैरों को जकड़ लिया. उनकी चूचियाँ का साइज भी 38 है।नेहा दीदी घर पर हाफ पैन्ट और टी शर्ट में ही रहती हैं. उसने थोड़ा सा खाया, फिर उसने मेरा हाथ पकड़ा और बचा हुआ मुझे खिलाया.

क्सक्सक्स ओके

मैंने धीरे से उसकी अंडरवियर को नीचे किया और उसकी झांटों की महक लेने लगा.

शहर में मैं जहां रहता हूँ, वहां इस बार कोरोना काल में बहुत से कोरोना के केस आए हुए थे. फिर भाई ने धीरे धीरे अपना लौड़ा अन्दर बाहर करना चालू किया तो मेरा दर्द कम होने लगा और मुझे मजा आने लगा।तो मैं भी भाई का साथ देने लगी और जोर जोर से आवाजें करने लगी क्योंकि घर में कोई नहीं था।हम दोनों भाई बहन एक दूसरे को पूरी तरह से खुश कर रहे थे, अपनी जवानी में दोनों मदहोश होकर एक दूसरे को संतुष्ट कर रहे थे. भाभी की चूत चाटने में मुझे इतना मजा आ रहा था मानो रेगिस्तान के प्यासे को अमृत मिल गया हो.

[emailprotected]हॉट मॉम लेस्बियन सेक्स स्टोरी का अगला भाग:मेरी मॉम का सहेली के साथ लेस्बियन सेक्स- 2. जैसे ही मुझे प्रस्ताव मिला, मैं शर्म की वजह से मानो पिघल सी रही थी. सेक्सी पिक्चर नंगी बीपीमैं उसे सवाल समझा रही थी तो मैंने देखा कि उसका ध्यान मेरे बूब्स की ओर था.

मैंने रात को स्पेशल बनाने के लिए सोचा कि चलो कुछ खाने का इंतजाम कर लिया जाए. वो रोती हुई बोली- आआह ऐइ आह आ श मम्मी श्ह साले चोद डाल मुझे … मैं मर जाऊंगी प्लीज़ छोड़ दे मुझे सिड आह श्ह.

मेरी आंख खुली, तो वो मुस्कुरा रही थी और अचानक उसने अपनी जीभ निकाल कर मेरे लंड के सुपारे पर फेर दी. अब तक मुझे सिर्फ ये पता था कि सेक्स भी कोई चीज होती है, लेकिन ये नहीं पता था कि Xxx चुदाई में इतना दर्द भी होता है. मगर अब जब दीदी की शादी हो गई और उनको बच्चा भी हो गया, तब एक बार फिर से दीदी के साथ सेक्स करने की अभिलाषा ने मुझे उनकी चुदाई की कहानी लिखने का अवसर दे दिया.

दरवाजा खोलते ही मेरी सामने साक्षात रम्भा (स्वर्ग की अप्सरा) नैना खड़ी थी. वो बोली- नहीं यार, हमारी ड्यूटी का कोई ठिकाना नहीं कभी रात काली हो जाती हो, कभी दिन. तब मैंने भाभी की जांघों पर हाथ फेरने शुरू कर दिए, तो भाभी मुझे गर्म होती नजर आईं.

मैं वैसे ही उसके पैरों से उसे बिना अहसास कराए अपना लिंग साली के पैरों से रगड़ता रहा और कुछ समय बाद मैंने पानी छोड़ दिया.

मैंने होटल जाने को बोला पर मोनिका ने मना कर दिया कि प्रॉब्लम हो जाएगी, तुम कुछ और सोचो. मैं भी अपने कपड़े चेंज करके बाथरूम में फ्रेश होकर अपने रूम में आ गया.

अब उसने मेरे गाउन का फीता खोला और मेरे बदन से गाउन को खींच दिया, जिससे वो फट गया. मेरी उंगली अपनी चूत में पाते ही सासू मां ने सीत्कार भरी और अपने हाथ से मेरे हाथ को ऐसे पकड़ लिया जैसे वो उंगली को अपनी चूत में अन्दर बाहर करवाना चाह रही हों. मैं उनके मुँह के ऊपर अपनी चूत को रगड़ने लगी और उनकी चूत चाटनी शुरू कर दी.

अब हमारा चुदाई का सिलसिला चल रहा है, हम दोनों आज भी चुदाई करते हैं. कुछ समझ नहीं आ रहा था कि कैसे शुरू किया जाए!और इसी हड़बड़ाहट में अचानक उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. और मैं गोरे बदन की हूं।बचपन में मैंने अपने माँ बाबू जी को सेक्स करते देखा करती थी.

बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान मेरा भाई मेरा फोन चेक करता रहता है।मैंने कहा- ठीक है।फिर हमारी डेली बातें होने लगी।बीच बीच में मैं गंदी बातें भी करता था. इस समय दीप्ति रोमांस के मूड में नहीं थी तो बिना देर किए मैं उसके पैर फैलाकर उसके ऊपर चढ़ गया.

सेकसी सील पेक

उन्होंने जल्दी जल्दी अपनी पैंटी निकाली और हम दोनों 69 की पोजीशन में आकर एक दूसरे को चाटने लगे. उनकी गर्दन, होंठ, गाल, चूची, पेट, कमर चूत शायद ही कोई हिस्सा छोड़ा होगा. वो सिसकारियां भरने लगीं- आहह हह मेरे राजा … और तेज़ तेज़ … आहह … आहह … चोद चोद चोद मुझे … मार ले मेरी … आहह.

ऐसा सेक्स आज तक मैंने नहीं किया था, क्या गजब का सेक्स हो रहा था नैना के साथ. मैंने उसे यूं ही अपनी गोद में सोने को बोल दिया और वो मेरे एक थन को अपने होंठों में दबाए सो गया. সেক্সি ফিল্ম ব্লুमैंने भी दीदी की चुत में मुँह लगा दिया और थोड़ी देर चूस कर मजा लिया.

अब चाहे कुछ भी हो जाए … चाहे जान भी चली जाए, मैं अब पीछे नहीं हटूंगा.

अब मिहीन ने मीरा को डॉगी स्टाइल में खड़ा कर दिया और उसके पीछे आकर अपना लंड मीरा की चूत में डाल दिया. उनके अन्दर आते ही मैंने गेट बंद कर लिया और भाभी को अपने करीब खींच कर खूब किस करने लगा.

मगर कहते हैं ना कि हर डूबती नैया को कोई न कोई मांझी मिल ही जाता है. हम दोनों इस स्पीड में चुदाई करते हुए काफी देर तक संभाल नहीं पाए और मोनिका ने अपना पानी छोड़ दिया. मेरा मुँह बंद मत करना … फाड़ दी तुमने … आह मेरे बाप के लौड़े … जरा बाहर तो निकाल हरामी.

मैंने धीरे से अम्मी की गांड पर अपना लौड़ा रखा और एक जोरदार धक्के में पूरा लंडअम्मी की गांडमें घुसा दिया.

पहले उसने मेरे होंठ चूमे, फिर गले पर … और फिर मेरे मम्मों और निप्पलों को चूमती हुई मेरी जांघों पर आ गयी. तभी उसकी मां आ भी गई और उनसे भी बात हुई।लड़के ने अपना नाम अमर बताया. मैं उसके कहे अनुसार कार को चैक करने लगा और कार ठीक करने की कोशिश की.

एक्स एक्स एक्स वालीवो मेरे पति भी कर रहे थे दिन रात!इधर उधर हर तरह से वो ढेर सारा पैसा कमाना चाहते थे कि कोई अच्छा सा काम धंधा खोल कर बाकी की ज़िन्दगी आराम से काट सकें. वो मुझसे छूटने की कोशिश करने लगी पर मैंने उसे कसके पकड़ रखा था इसलिए वो ज्यादा हिल नहीं पा रही थी.

लंड वीडियो

भाभी ने पिंक कलर की लिपस्टिक लगाई थी, जो उन्हें कातिल रूप दे रही थी. एक दिन हमारे ऑफिस में सभी को एक दिन के टूर पर जाने का फैसला किया गया. मीना- क्या जीजू … मुझे अभी आपने ठीक से देखने भी नहीं दिया और बोल रहे हो कि सोना है.

काफी लम्बी चोदाई के बाद मैं 2 बार झड़ चुकी थी लेकिन भैया मेरी चूत चोदने का मजा ले रहे थे. बुआ के जाने के बाद मेरी नजरों के सामने सिर्फ बुआ के चुचे और चूतड़ ही दिख रहे थे. मैंने अपनी पोजीशन सैट की और अपना लंड उसकी कुंवारी चूत में पेल दिया.

इस पर दीदी ने कहा- पागल हो गया है क्या … मैंने कपड़े नहीं पहने हैं. मैं बाद में बताऊंगा कि घर पर जाकर मैंने अपनी बहन को कैसे चोदा और इसका मुझे क्या क्या फायदा हुआ. आगे क्या क्या हुआ वो सब मैं बातरतीब आपको सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

अलोन वाइफ वांट सेक्स … सुहागरात के बाद पति विदेश चला गया तो दुल्हन को पति के लंड की याद तो आनी ही है. मेरी मॉम अनिल के लंड को झेल रही थीं और कह रही थीं- आह … फाड़ दो मेरी चूत को मादरचोद!अनिल उतने ही तेजी से लंड पेल रहा था.

शायद अब भाभी से सहा नहीं जा रहा था और उन्होंने धीमी आवाज में कहा- राज बस करो.

फिर मम्मी ने ड्रेसिंग टेबल से एक लाल रंग की लिपस्टिक उठाई और अपने होंठों में लगाने लगीं. बिलुफिल्मसच बताऊं तो कई बार मैंने भी उनके मम्मों को चूसने की कल्पना करते हुए अपने लंड की मुठ मारी है. राजस्थानी मां बेटे की सेक्सी वीडियोमेरी पिछली कहानी थी:घर के बेसमेंट में शादीशुदा लड़की के साथ चुदाईआज की कहानी मेरी तीसरी कहानी है. अब हम दोनों अपने जिस्मों को एक दूसरे में समा कर झड़ने लगे और सांसों को काबू करते हुए शांत हो गए.

फिर पापा दीदी की चुचियों को छोड़ कर चूत के ऊपर आ गए और एक उंगली डाल कर आगे पीछे करने लगे.

देसी गर्लफ्रेंड सेक्सी कहानी मेरी बिल्डिंग में ही रहने वाली लड़की की चुदाई की है। मैंने उसको गर्लफ्रेंड बनाकर चुदाई के लिए पटाया और एक रात छत पर बुला लिया. ममता बोली- ओके कुछ और?मैंने बोला- हां, कुक्कू के लिए जूस का एक और गिलास ला दो और मुझे व्हिस्की का पैग बना देना. और थोड़ा देर के लिए हम दोनों चुप हो गए।फिर थोड़ी देर बाद भाई बोले- अरे पागल, तू डरती क्यों है? मैं हूं ना … कुछ नहीं होने दूंगा तुझे!भाई के ऐसे बोलने पर मैं मुस्कुराने लगी.

आज मैं चुदाई के मज़े का आनन्द उठा रही थी और अपनी कमर उठा उठा कर उसका साथ दे रही थी. कुछ दूसरी लड़कियों पर भी कोशिश की लेकिन बात चूत और लंड के मिलन तक नहीं पहुंची. मैंने कहा- क्या हुआ साली साहिबा?तो वो गुस्सा होती हुई बोली- क्या यार जीजू ….

ब्लू फिल्म चुदाई की वीडियो

पुणे से दस किलोमीटर दूर शाम सात बजे के आसपास, रोड के किनारे खड़ी एक कार के पास एक महिला खड़ी थी. उसके बाद जो मैंने उसको अलग अलग पोज में उसकी बजाई, तो वो आह आह कर उठी. मैंने भाभी से कहा- बस कल का कुछ काम है, परसों शाम तक वापस भोपाल पहुंच जाऊंगा.

हम दोनों ने एक दूसरे की तरफ देखा तो मैडम ने अपनी बांहें फैला दीं और मुझे करीब आने का इशारा कर दिया.

मुझे देखते ही माया ने अपना हाथ चूत से हटा लिया और वो मेरे तने हुए लौड़े को देखने लगी.

जैसे ही मैं अन्दर गया तो उसको देख मेरे मुँह से निकल गया- जानम, आज तो बड़ी पटाखा माल लग रही हो. वो हंस दिया और बोला- साले परोपकारी लंड के … मर मत, रुक जरा अभी बताता हूँ. जान सेक्स वीडियोफर्स्ट टाइम ओरल Xxx कहानी में मैं अपने पड़ोस में रहने वाले लड़के से चुद गयी.

मैं दर्द से कराहती हुई अंकल से बोली- ये खून क्यों निकला है अंकल?अंकल- तेरी आजबुर की सील टूटीहै, इसलिए खून निकला है. फिर भाभी ने कहा कि बहुत दिनों के बाद इतना झड़ी हूँ, अब रहा नहीं जाता. मैं सोच रहा था कि ऐसा क्या करूं, जिससे मेरे अंडकोषों में दर्द न हो.

पर मेरा तो अभी शुरू हुआ था तो मैंने अपना लोअर और टीशर्ट अलग किया और अपना अंडरवियर भी उतार दिया. बेड के दूसरी तरफ नंगी मोनिका लेटी थी और कोमल दीदी की बेटी, मोनिका की चूची मुँह में भर कर सो गई थी.

मेरी अम्मी की चूत एकदम गुलाबी थी और अम्मी की चूत पर एक भी बाल नहीं था.

तब चाचा ने अपने झटकों की रफ़्तार बढ़ा दी थी, जिससे मम्मी के दूध भी जोर जोर से ऊपर नीचे हिलने लगे थे. उसी दौरान मेरे साथ ये घटना घट गई तो मैंने सोचा कि अपनी बात को बिना किसी हिचक के यहां लिखा जा सकता है. मैं नीचे से उसकी पैंटी को नाक से और होंठों से रगड़ रहा था और वो भी अपनी चूत जोर लगा कर मेरे मुँह पर रगड़ रही थी.

देसी नंगा नाच तभी मेरी नजर फोन पर गई तो मोनिका के मैसेज को देख मेरी उदासी में नई किरण उगने जैसा महसूस हुआ. मैं बाथरूम के दरवाजे के बाहर खड़ा हो गया और अन्दर झांकने के लिए किसी छेद की तलाश करने लगा.

उस दिन कुछ देर टीवी देखने के बाद मैं बोली- अंकल आप टीवी देखो, मैं सोने जा रही हूँ. मैंने सॉरी बोला तो अनन्या ने कहा- कोई बात नहीं, पहली बार में थोड़ा दर्द होता है. फिर महेश ने मेरी मम्मी को बेड पर बैठाया और उनके पीछे आकर पीछे से उनको अपनी गोद में बैठा लिया.

भाभी की बुर चुदाई वीडियो

पिछले कई दिनों से न जाने क्यों मुझे वही सब बातें फिर से याद आने लगी हैं, जिन पर मेरा जरा सा भी कंट्रोल नहीं हो रहा है. चूँकि उनके घर में दो कमरे और बैठक है तो मामा मामी अपने कमरे में चले गए और मैंने बोल दिया कि मैं और रवीना उसके कमरे में सो जाएँगे. उसके बाद में तो मैं कई मर्दों से चूत मरवा चुकी हूं और मुझे काफी एक्सपीरिएंस हो गया है.

इसी वजह से मुझे भाभी के कड़क होते चुचे अपनी पीठ पर टच होते हुए महसूस हो रहे थे. अभी भी मैं नंगा होकर अपना लंड तकिया में रख कर घिस ही रहा हूँ, इस कारण मुझे अपनी बात बताने में और भी ज्यादा मजा आ रहा है.

कुछ देर बाद हमने खाना खाया, खाना खाने के बाद करीब 9:30 बजे भैया और मैं भाभी के पास गए.

लेकिन वो बोले- सरीना बिटिया कुछ नहीं होगा … कुछ देर दर्द देगा, फिर मज़े ही मज़े हैं. मैं चूत पर लंड सैट करके रेडी हो गया और उसकी ओर देखकर धीमे से धक्का लगा दिया. वो उसके सामने कभी पेटीकोट में आ जाती तो कभी उससे अपने अंग वस्त्र मंगवाती.

वो डॉक्टर के पास गई और डॉक्टर ने उसे अन्दर केबिन में ले जाकर पहले ऊपर से नंगी कर दिया. मैंने अपनी पैंट भी उतार दी और सिर्फ अंडरवियर में कंबल में घुस कर उसको बांहों में भर कर जोर से हग करते हुए उसके होंठों पर किस करने लगा. मम्मी- अब भी मुझे भाभी बोलोगे? शादी हो चुकी है हमारी!चाचा- ठीक है जी, आप ही बता दो कि मैं क्या कहूँ?मम्मी- इसमें कहने वाली क्या बात है, नाम लेकर बुलाया करो मेरा.

इस नौकरी से मैंने काफी अनुभव प्राप्त कर लिया था और 4 साल नौकरी करने के बाद मुझे लगा कि यह धंधा करने के लायक है, लेकिन पैसा नहीं था.

बीएफ सेक्सी वीडियो राजस्थान: जब उसका एक दूध मेरे मुँह में होता, तो मैं दूसरे चुचे को हाथ से दबाता. मैं बोला- अरे यार तुम शर्माते बहुत हो … इसमें क्या शर्माना, बोलो तुमने कभी किसी के साथ सेक्स किया है कि नहीं?वो बोला- नहीं किया.

मैंने कहा- फिर भी तेरा लंड इतना लम्बा कैसे है?वो बोला- रिंकी दीदी आपको याद करके मुठ मारता हूँ इसलिए ये इतना लम्बा हो गया है. रास्ते में रश्मि ने हल्की आवाज में मुझसे कहा- अंकल रात को क्या हुआ था?मैंने अनजान बनते हुए बोला- कब?रश्मि बोली- अंकल ज्यादा छुपाने की कोशिश मत करो. मैंने प्यार से उसके माथे पर एक प्यारी सी चुम्मी ली और अपने हाथों से उसकी आंखों के आंसुओं को पौंछा.

अब तुम्हें जीवन भर दिक्कत नहीं आएगी और अब तुमको चुदे बिना अच्छा भी नहीं लगेगा.

हम दोनों ने कोई ख़ास बातें नहीं की, बस यूं ही अपनी अपनी सुनाते सुनते रहे. उस समय मेरी बुआ घर के पीछे बने बाथरूम में गयी थीं इसलिए मैं मोबाइल का स्पीकर खोल कर बात कर रहा था चूंकि मेरे हाथ कंप्यूटर सैट करने में बिजी थे. जीजा जी ऑफिस के काम से अधिकतर टूर पर ही रहते हैं।दोपहर को खाना पीना खाने के बाद मैं और दीदी बात कर रहे थे.