सी बीएफ दिखाएं

छवि स्रोत,राजस्थान की भाभी की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की की चुदाई फिल्म: सी बीएफ दिखाएं, एक संडे को मम्मी को आंटी के घर टीवी देखने जा रही हूँ, ऐसा बोलकर मैं घर से निकली.

अक्षय का सेक्सी वीडियो

मैंने देखा कि नाभि के नीचे अपनी कमर पे उसने एक ज्वेलरी पहन रखी थी जो कि पतली सी चैन थी. सेक्सी बुर की चुदाई सेक्सी बुर की चुदाईमैंने उसको एक झापड़ मारा और बोली- साले मादरचोद … रखैल नहीं, बीवी बनाना है.

जब भी उसकी नजर मुझसे मिलती, तो वो एक हल्की और प्यारी मुस्कान छोड़ देती. कम उम्र के बच्चों की सेक्सी वीडियोवो पूछने लगी- कितना टाइम लगेगा?मैंने कहा- अभी कहाँ!तो बोली- फिर बेडरूम में चलो.

उसके बाद मैंने उसे ऊपर से नीचे तक चूमते हुए उसके पूरे कपड़े उतार दिए.सी बीएफ दिखाएं: करीब 5 मिनट तक रेशमा मामी की चूत चाटी, जिससे वो एकदम से कड़क होने लगीं.

करीब 15 मिनट तक की धकापेल चुदाई के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.मैंने जैसे ही उनका अंडरवियर नीचे किया, वैसे ही उनका लंड हुंकार मारते हुए मेरे सामने खड़ा फनफना रहा था.

एक्स एक्स एक्स देवर भाभी की सेक्सी - सी बीएफ दिखाएं

और अब कौसर को यकीन हो गया कि उसे चोदने वाला मर्द अहमद नहीं, कोई और है.मैंने छुप कर देखा तो भाभी ने एक काले रंग की ब्रा और कच्छी पहनी हुई थी.

मैं भाभी के साथ बात करने लगा- आप ऐसे कैसे डर गई हो?तो वो बोलने लगीं- अचानक ही कपड़ा आ कर खिड़की पर लग गया, इसलिए डर गयी. सी बीएफ दिखाएं तभी सुमन भाभी बोलीं- आज न जाने क्यों मेरे पांव में बड़ा दर्द हो रहा है.

वो नाइटी पहन कर कपड़े धोती और मैं अपने घर के दरवाजे के पास खड़े खड़े देखता रहता था.

सी बीएफ दिखाएं?

फिर वह मुझे डांटने लगी, बोली- तुम बाथरूम में यही सब करते रहते हो न? बहुत ज्यादा सेक्स चढ़ा रहता है न तुम्हें?मैंने कहा- हाँ. मैंने जानबूझ कर बाइक जंगल के रास्ते से ली और थोड़ा दूर जाकर बाइक बन्द कर दी. मैंने उसे देखा तो मन खुश हो गया- अरे तुम क्यों ले आयी? मैं नीचे आ जाता!नेहा- पागल … ज्यादा हीरो मत बन! कब से चिल्ला रही हूँ, सुनता ही नहीं है.

मैंने सुनीला को बेड पर गिराते हुए उसकी नाभि को चूमा और उसके चुचों को ब्रा से आजाद कर दिया. इतना सुनते ही भाभी मेरे पास आकर बैठ गईं और बोलीं- तुम मुझे बहुत पसंद हो … क्या मैं तुम्हें हग कर सकती हूं?मैंने उन्हें हग किया और कहा- अच्छा भाभी मुझे अभी तो कहीं जाना है, मैं आपको बाद में मिलूंगा. जब भी मेरा उसकी ससुराल जाना होता, तो मेरी साली मुझे किसी न किसी बहाने से छेड़ ही देती थी.

राहुल से भी सीमा की जवानी बर्दाश्त नहीं हो रही थी … उसने सीधे ही उसकी चूत पर धावा बोल दिया और अपना लंड एक ही झटके में सीमा की चूत में घुसेड़ दिया. मैंने कहा- मेरा निकलने वाला है, कहां निकालूँ?उसने बोला- भैया मेरे अंदर ही निकाल दो. मुझे उसके होंठ इस समय इतने मस्त लग रहे थे कि मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और उसके होंठों का रस चूसने लगा.

तभी मैंने मौका देख कर नैना को पलट दिया और अब मैं ऊपर और नैना मुँह में लंड लिए मेरे नीचे आ गई. अब आगे:उस शाम के डिनर के बाद मेरी और अदिति की दोस्ती की शुरुआत हो चुकी थी.

मेरा मन तो हुआ कि कह दूं कि इसके लंड से भी मुझे चुदवा दो, पर कुछ संकोच करके रह गई.

मैंने उसके ऊपर झुकते हुए उसके एक दूध के निप्पल को अपने होंठों के बीच दबाया और पूरे लंड से दीदी की चुदाई चालू कर दी.

इसके साथ ही अब गर्मी भी नहीं थी कि मैं गर्मी के बहाने ही उसके साथ नीचे सो सकूं. फिर राधिका ने सोनल को कैट वाक करने को बोला और सोनल ने कैट वाक किया. मैं दावे के साथ कह सकता हूँ कि देखने वाले की नजर सबसे पहले उनके चूचों पर जरूर पड़ेगी.

वो मेरे सामने को हुई, तो मैंने भी ज्योति के पैरों को पकड़ा और उसके लहंगे को थोड़ा सा उठाकर पायल को निकालने लगा. जब मैंने उसको मुस्कुराने का कारण पूछा, तो उसने बताया कि मेरा लंड उसके पति के लंड से ज्यादा मोटा है और अभी से एकदम खड़ा भी है. मैंने उसको एक बार के लिए अपने अलग किया और अपने सारे कपड़े एक ही बार में तुरंत खोल कर उसके सामने पूरा नंगा हो गया.

ऐसे ही एक दिन की बात है कि सुबह जब हिरेन सो रहा था तो मैं उसके कमरे में झाड़ू लगाने गई हुई थी.

”उसने मेरी साड़ी, ब्लाउज और ब्रा उतार दी।हाय … इतनी प्यारी चुचियाँ!”और वो ज़ोर से मसलने लगा- कामिनी आज मेरी तमन्ना पूरी होगी तुम्हारी लेने की!मैंने तो तुम्हें एक बार बेलिबास भी देखा है. फिर सुमन ने कहा- मुझे दोस्त की तलाश है और आप मुझे अपनी दोस्त बनाना चाहते हैं तो मैं इसके लिए राजी हूँ. न जाने कितने अधिकारियों से मैंने अपनी चूत मरवाई है … आह आह आह!वंश भी नीचे से धक्का लगाने लगा.

वो मेरे लंड के सुपारे पर चिकोटी काटते हुए बोली- जब तुम चक्कर लगा रहे थे, तो तुम्हारी मटकती हुई गांड मुझे बहुत अच्छी लग रही थी, मन कर रहा था कि तुम्हारे कूल्हे को कच्चा खा जाऊं. मुझे अंदर पाकर बोली- अंदर क्यों आ गए! जल्दी निकलो बाहर। अगर किसी को पता चल गया तो बड़ी बदनामी हो जाएगी। मेरी ही गलती थी जो मैंने तुम्हारे सामने नहाने को हां कह दी थी।मैं- भाभी आपकी इतनी मस्त गांड देखकर रहा नहीं गया। देखो मेरा ये औजार कैसे खड़ा हो गया है। वैसे भी अभी किसी के आने का डर नहीं है। कोई नहीं आएगा। बस मजे लो और मुझे भी जरा मजा लेने दो।वो बोली- नहीं-नहीं, निकलो यहां से. जब मैंने उसको मुस्कुराने का कारण पूछा, तो उसने बताया कि मेरा लंड उसके पति के लंड से ज्यादा मोटा है और अभी से एकदम खड़ा भी है.

साहिल- कहीं प्यार-व्यार का चक्कर तो नहीं?हीना- नहीं मामा, ऐसी कोई बात नहीं है.

लगभग पंद्रह मिनट तक तो हम एक-दूसरे के साथ चुम्मा-चाटी में ही लगे रहे. मैंने हस्तमैथुन के लिए बोला, तो वो ख़ुद ही जिप खोलके लंड को सहलाने लग गईं.

सी बीएफ दिखाएं मैंने उससे कॉल पर बात करने की भी कोशिश की, पर उसने कोई जवाब नहीं दिया. वहाँ जो बड़ा सा बाथ टब था, उसमें मुझे डाल दिया और उसमें खूब सारा शेम्पू डाल के खुद भी अंदर आ गए और मुझे अपने ऊपर लेटा लिया.

सी बीएफ दिखाएं पूरा बाहर ही है अभी तो।वह बोली- बाप रे बाप! तुम तो मेरी चूत फाड़ दोगे. हर रोज मैं अपने एक दोस्त से यही सब बातें करता रहता था कि जीवन में एक लड़की नहीं है यार … मैं लड़की कब पटा पाऊंगा.

मैंने अपना हाथ उनके सर पे रखके लंड अन्दर गले तक धकेलने लगा, तो उन्हें उलटी होने लगी.

सेक्सी पिक्चर बीएफ सेक्स

कुछ देर की दमदार चुदाई के बाद उसने मेरे अन्दर ही अपना सारा पानी छोड़ दिया. बिना सोचे-समझे मैंने आंटी की पेंटी को लंड के नीचे करके उसी पर अपना वीर्य गिरा दिया. अब उसका नीचे वाला होंठ, मेरे होंठों में था और मेरा ऊपर वाला होंठ उसके होंठों में आ गया.

मैंने उसे कुछ देर ऐसे चोदने के बाद उसके बाएं पैर को उठा लिया और चोदने लगा. मैं रोजाना रात को बाहर घूमता और सुमन भी अपनी बहनों के साथ घर के बाहर बैठ जाती थी. मेरी यही प्रार्थना है कि उसका शादीशुदा जीवन बहुत सुखी हो और उसे अपनी बीवी से बहुत सारा प्यार मिले.

मैंने अंजान बनते हुए पूछा- मतलब भाबी?भाबी- अब लंड दिखा रहा है या वहीं आकर निक्कर के ऊपर से पकडूं इसे?मैं भाबी के बेड के करीब आ गया.

रोते रोते मेरी हिचकी बंध गयी थी और अंकल जी लगातार मुझे प्यार से समझाए जा रहे थे- सोनम बेटा, बस अब चुप हो जा!अंकल जी मेरा गाल चूम कर बोले उनका लण्ड मेरी चूत में किसी कांटे की तरह घुसा हुआ दर्द भरी चुभन दे रहा था. देख सोनम, अंकल लोग सेक्स के मामले में अनुभवी होते हैं, उन्हें सब पता होता है कि उनकी पार्टनर को पूरा मज़ा कैसे देना है और सबसे बड़ी बात कि अंकल लोग शादीशुदा होते हैं, इनकी अपनी फैमिली, अपनी इज्जत होती है सो इनसे किसी लड़की को कोई धोखा खाने की सम्भावना होती ही नहीं है. भोला सिंह तेजी के साथ मेरी गांड में उंगली चलाता रहा और मुझे मजा आने लगा.

यह कहते हुए उन्होंने मुझे अपनी ओर खींचा और अपने पैर को फैला के लंड खुद से ही चूत में डाल लिया. वह मेरे सीने से अलग हुई और उसने मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. एक बात और मैं अपनी कॉपी में चूत का चित्र बनाती लण्ड का चित्र बनाती, कभी चूत में लण्ड घुसा हुआ चित्र बनाती और फिर उसे एकटक देखती रहती या वो कागज़ अपनी चूत में रगड़ने लगती.

मैं दरवाजे से झांकने लगा, मैंने देखा कि दीदी अपनी पेंटी पहन रही थी और जीजाजी कुछ नाराज लग रहे थे. राहुल ने मना भी किया पर सीमा के भीगे बदन से निकलती आग और उसकी नजदीकी ने राहुल को रुकने पर मजबूर कर दिया.

मैं तुम्हारे अलावा किसी और के साथ अपनी वर्जीनिटी लूज़ नहीं करना चाहती. इसी बीच मैंने अपने लिए दो रूम का फ्लैट किराये पे ले लिया था और घर से अपनी कार भी ड्राइवर से मंगवा ली थी. मैंने मस्त नमकीन पेशाब को पिया और फिर उनके लंड अपने फेस पर लगा लिए.

जब हम दोनों चाय पी रहे थे, तो उसने पूछा- बाबू आपको कैसी औरत पसंद है?मैंने कहा- जैसी भी हो … मगर जिस्म तुम्हारे जैसा हो, तो मजा आ जाए.

हल्का फुल्का तैयार होकर मोहल्ले की नजर से बचते हुए हम दोनों एक रेस्टोरेन्ट पहुंचे, जहां पर खाना खाया गया और फिर पैदल ही पास की मार्केट में टहलने लगे. मैंने उनका नाम पूछा तो उन्होंने अपना नाम अक्षिता बताया और मैंने पूछा कि इस सुनसान जंगल में आप अकेली वो भी इतने बड़े घर में?तो उन्होंने मुस्कुरा कर कहा- ये मेरे पति के पुरखों की हवेली है और वो एक वन विभाग में अफसर हैं उनकी पोस्टिंग इसी जंगल में हो गयी तो हम यहाँ आ गये. मगर अबकी बार मैं उसकी सहूलियत के हिसाब से ही लंड को अंदर कर रहा था.

मैं उसके होंठ छोड़कर उसकी शर्ट ऊपर करके उसकी चूची चूसने लगा, वो अब वासना में जलने लगी थी और मेरा लंड पकड़कर मसलने लगी थी. कभी जोक भेज देता व्हाट्सएप्प पर और कभी फ़ोन पर भी मजाक करता था।एक दिन मैंने उससे ऐसे ही पूछ लिया- तुम्हारी गर्लफ्रैंड कैसी है?सौरव- मेरी तो कोई भी गर्लफ्रैंड है ही नहीं।मैं- झूठ मत बोलो, इतने हैंडसम हो और कोई गर्लफ्रैंड नहीं है?सौरव- हाँ सच में कोई नहीं है.

अगर आप यह सोच रहे हैं कि यह सब मैंने अपने मन से बनाकर लिखा है तो आप गलत सोच रहे हैं क्योंकि ज्यादातर कहानियों में नब्बे प्रतिशत झूठ ही होता है. कहानी पर अपनी प्रतिक्रया देने के लिए कमेंट करें और अपने विचार साझा करने के लिए नीचे दी गई मेल आई-डी आप मेल भी कर सकते हैं. इसकी मादक खुशबू ने तो मुझे दीवाना बना दिया है।वो बोली- अरे पगला है क्या? ये तो मैंने कल से पहनी हुई थी.

बीएफ सेक्सी की वीडियो

साहिल ने उसको पहली बार देखा था तो साहिल की नजर उस पर से हट नहीं रही थी.

वो बोली- पंकज मैं मर जाऊँगी क्योंकि तुम्हारा लंड बहुत बड़ा और मोटा है. बस फिर क्या था, मैंने नम्रता की कमर कस कर पकड़ा और जितनी ताकत लगा सकता था, लगाते हुए एक जोर का धक्का लगा दिया. कुछ ही मिनट बाद मुझे लगा कि बस अब मैं आने वाली हूं तो मेरे शरीर से मेरा नियंत्रण हट गया और मेरी चूत अनचाहे ही उछल उछल कर अंकल का लण्ड लीलने लगी.

मैंने पास में पड़े देसी घी के डिब्बे में से खूब सारा घी निकाल के अपने लंड और भाभी की चूत पे लगाया. फिर वह आंखें बंद करके तेजी के साथ अपने लंड की मुट्ठ मारने लगा और अगले कुछ ही सेकेण्ड में उसके लंड से सफेद वीर्य की पिचकारी छूट पड़ी. हॉट सेक्सी बीपी मराठीनेहा- क्या हुआ, तुम तो सब्जी लेने गये थे?मैं- आज किसी ने बारिश की वजह से दुकान नहीं लगाई.

अंतर्वासना की दुनिया एक ऐसी दुनिया है कि यहां बूढ़े भी अपना मनोरंजन कर सकते हैं. पहले मैं अमृता के बारे में शार्ट में बता दूं; अमृता पैसे वाले बड़े बाप की घमण्डी टाइप की लड़की थी, उसके कामुक स्वभाव से भी हम सब स्टूडेंट्स परिचित थे.

उसने मुझे हिम्मत बंधाई और फिर जो लंड चूत पर रख कर पेला, वो सटाक से चूत अन्दर घुसता चला गया. फिर उसके अन्दर ही मैं माल छोड़ देता था और फिर दोनों मियां बीवी करवट बदलकर सो जाते थे. इसके बाद मेरे सीने में हाथ रख के एक झटके में गाउन को फाड़ दिया और ब्रा को भी फाड़ दिया.

भाभी बताने लगीं कि उनको कपड़े से डर नहीं लगा था बल्कि मुझसे चुदना था. मैं बेड पर ऐसे लेटने का नाटक कर रहा था जैसे कि मैं गहरी नींद में हूं. फिर ताऊ जी ने चाची को चोदते हुए बोला- आज रात को मैं उसका चोदन करूंगा, तुम उसे मेरे पास भेज देना.

मैं क्या करूँ मुझे समझ नहीं आ रहा था इसलिए मैं उनसे सामने जाने से कतरा रही थी.

उन्होंने 3000 रूपए निकाल कर मेरे सामने कर दिएमैं- यह क्या?मैडम- तुम्हारी जरूरत का थोड़ा हिस्सा. अभी तक आपने पढ़ा कि मेरी रंडी बहन मुझे चुदाई के खेल में खेल रही थी मैं उसके साथ वाइल्ड सेक्स कर रहा था, जोकि उसी की पसंद थी.

आपको तो बहुत तजुर्बा है मर्दों के लौड़ों का और उनकी सेक्स इच्छाओं का. दूसरे फिर वो भाभी का भाई था इसलिए भी मैं उसको इग्नोर नहीं करना चाहती थी. मैंने रश्मि की बात का कोई जबाव नहीं दिया और बस उसे तेज गति से चोदने में लगा रहा.

वो मेरी गर्दन में हाथ डाले हुए थी और अपने पैर मेरी कमर से लपेटे मेरे बदन से चिपकी हुयी थी. उसने अपने बेड को साफ किया और बोला- आप यहां बैठिए, तब तक मैं देखता हूं कि कार्बोरेटर में क्या प्रॉब्लम है. मैं उसके करीब गया और उसको हैलो बोला तो वो भी मुझे देख के मुस्करायी और हैलो बोली.

सी बीएफ दिखाएं अगले दिन कुछ बिरयानी बची हुई थी, तो अम्मी बोलीं- बेटा थोड़ी बिरयानी बची है, परवेज अंकल को दे आओ. हमारी काफी चैटिंग होती थी, जिसके चलते हम दोनों ने एक दूसरे के बारे में काफी कुछ जाना था.

देसी व्हिडिओ बीएफ

तभी नीना बोली- ओह्ह पापा बहुत टेस्टी है इसकी चूत … ओह्ह पापा आप भी चाटो ना. बीच में मैंने दो-एक बार सर उठा कर ऊपर देखा तो वसुंधरा की आँखों को बंद पाया. नम्रता मेरे बताये पोजिशन के अनुसार खड़ी हो गयी और उसने अपने दोनों कूल्हों को पकड़कर फैला दिया.

श्वेता मैडम की गर्माहट की वजह से मेरा लंड फिर से जल्दी कड़क होने लगा. अब तो उल्टा मेरे घर जाने का समय हो गया था लेकिन घर जाने की हिम्मत नहीं हो रही थी. पंजाबी सेक्सी ब्लू फिल्म चाहिएअपने नंगे जिस्म से अंकल जी का नंगा जिस्म महसूस करना बहुत ही अच्छा लग रहा था.

मुझे अंदर पाकर बोली- अंदर क्यों आ गए! जल्दी निकलो बाहर। अगर किसी को पता चल गया तो बड़ी बदनामी हो जाएगी। मेरी ही गलती थी जो मैंने तुम्हारे सामने नहाने को हां कह दी थी।मैं- भाभी आपकी इतनी मस्त गांड देखकर रहा नहीं गया। देखो मेरा ये औजार कैसे खड़ा हो गया है। वैसे भी अभी किसी के आने का डर नहीं है। कोई नहीं आएगा। बस मजे लो और मुझे भी जरा मजा लेने दो।वो बोली- नहीं-नहीं, निकलो यहां से.

तेजी से मेरा हाथ लंड की मुट्ठ मार रहा था और दूसरे हाथ में आंटी की पेंटी पकड़े हुए उसको मैंने नाक से लगाया हुआ था. मुझे एक आध इंच तक तो कुछ नहीं हुआ, पर उसके बाद लगा जैसे चूत चिर जाएगी.

फिर मैंने उससे पड़ोसी के बारे में पूछा- वह कहां है?तो उसने कहा- वह अभी नहा रहा है. मैंने पूछा- मैम, मज़ा आया कि नहीं?तो उसने कहा- हाँ!और कहा- तुम चुत अच्छी चाटते हो! आज तक ऐसी कभी किसी ने नहीं चाटी मेरी!मैंने कहा- लेकिन मैम, मुझे आपकी चुत मारनी है!तो उसने कहा- फिर कभी!पर मैं जोर देने लगा तो वो तैयार हो गई. मैंने शर्म से अपनी जांघों को भींच दिया था, पर उनका मर्दाना स्पर्श मुझे बहुत पसंद आ रहा था.

मैंने बार से दो वोडका आर्डर की और खाना ऑर्डर करके सीमा का वेट करने लगा.

मैं नीचे की तरफ ही था कि उसने मेरी गर्दन को पकड़ा और अपना लंड मेरे मुंह में दे दिया. फिर धीरे-धीरे आगे बढ़कर ब्रा और पेटीकोट में उसके सामने दरवाजे पर आई और मुस्कुरा कर जोर से दरवाजा बंद कर दिया. फिर दो मिनट तक मैंने उंगली को चूत के अन्दर बाहर करके उनकी चुत को पैंटी से साफ कर दिया.

एनिमल सेक्सी विडियोफिर थोड़ा ऊपर मेरे मुँह की तरफ खिसकते हुए अपने मम्मे को मेरे होंठों से टच कराने लगी. मेरी मां की हलचल की वजह से अंकल भी उठ गए।मेरी मां उठ कर खड़ी हो गई.

चलती हुई ब्लू फिल्म

उनका चांदनी जैसा बेदाग़ बदन था, स्वर्ग की अप्सरा जैसी चाची मेरे सामने एकदम नग्न थीं. इसलिए वो हमेशा ही मुझे कहती है कि आप अपनी वासना की भूख मिटाने के लिए किसी लड़की को खोज लो, मैं इसमें कोई आपत्ति नहीं करूँगी, बल्कि आपका सहयोग ही करूँगी. जबकि उसके पति के लंड को तो उसको ही हाथों से हिला हिला कर खड़ा करना पड़ता है.

भाभी को मेरी ये मसाज इतनी अधिक पसंद आई कि उन्होंने मुझसे बोल दिया- यार तुम आज मेरे पूरे शरीर की मसाज कर दो. रात को आठ बजे के करीब वो खाना लेकर मेरे रूम में आई और मुझे गुस्से भरी नजरों से देखने लगी. फिर मैंने लोअर भी खींच कर नीचे गिरा दिया और अपनी टांगों से निकालते हुए जमीन पर ही छोड़ दिया.

पर मैं हैंडसम इतना था कि मुझे मेरे दोस्त इमरान हाशमी कह कर ही पुकारते थे. सच में दोस्तो, एक दोस्त जो कर जाएगा, वो कोई और दुनिया में कभी नहीं करेगा. उसने गिरते गिरते सोफे के किनारे को पकड़ कर अपने हाथों से खुद को सम्भाला.

उसकी चूत किसी भट्टी की तरह गर्म थी और मेरे लण्ड को अंदर की ओर खींचे जा रही थी, जैसे मुझे पूरा ही अपने अंदर समा लेना चाहती हो. चाची ने अपनी आंखें बन्द कर लीं और अपने हाथ को ताऊ जी के लुंगी के अन्दर डाल दिया.

मैंने उससे यूं ही पूछ लिया कि आजकल तुम मुझे व्हाट्सैप पर रिप्लाय नहीं देती हो.

फिर भोला को एक शरारत सूझी और वो अपना एक हाथ पीछे मेरे कूल्हों पर ले गया. अमेरिका की सेक्सी पिक्चर दिखाओभाबी बोली- ये बेडसीट मैं संभाल कर रखूंगी … तुम्हारे प्यार की निशानी है. सेक्सी फोटो बताओ सेक्सीअब मैं अगली कहानी आपके सामने पेश कर रहा हूँ मगर उससे पहले आपको अपने बारे में संक्षिप्त परिचय दे देता हूँ. मेरी तरफ घूमी और अपने हाथ को वॉश बेसिन में टिका कर मुझे देख रही थी.

कुछ देर बाद वह पीछे को हुआ और मेरी दोनों गोरी गोरी रानों को हाथों में अलग अलग पकड़ कर झटके के चिपकी हुई रानों को खोलकर मुझे आगे को खींचा, तो मैं हांफती सी सोफ़ा पर चित्त हो गई.

मेरी हॉट सेक्स स्टोरी के पहले भागछोटे भाई की बीवी के साथ सुहागरात-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरे छोटे भाई की बीवी मुझसे चुदने के लिए एकदम राजी हो गई थी और उसने पूरी प्लानिंग भी बना ली थी. तब तक मेरी बीवी ने अपने कपड़े ठीक कर लिए थे और वो सोने की नौटंकी कर रही थी. उसकी इस बात से मुझे पक्का यकीन हो गया कि लौंडिया चुदने को मचल रही है.

भाभी जब कमरे में दाखिल हुई तो उनकी नजर मेरी लुंगी के नीचे लटक रहे मेरे लंड पर गई, मेरे बड़े से लंड को देख कर भाभी एकदम से वहीं रुक गई. वह मेरी मां को देखकर मुस्कराया और वहां से चला गया। मेरी मां शर्म से पानी-पानी हो रही थी. अब मैं उसकी मस्त चूचियों का रस पीने लगा, जिससे परवीन भी मस्त होकर आहें भरने लगी थी.

এটেল ছবি দাও

तभी पीछे से मेरी साली दिशा मुझे रंग लगाकर भागी, तो मैं भी उसको रंग लगाने के लिए उसके पीछे भाग पड़ा. अब मैंने अपना हाथ उसकी चूत से हटा लिया और उसको गोदी में उठाकर उसी कुर्सी पर बैठा दिया और कुर्सी के हत्थे पर एक पैर को टिका कर लंड को नम्रता के नजर के सामने रखते हुए लंड को तेजी-तेजी फेंटने लगा. उसकी चूत भी प्यासी रहती होगी शायद। हम दोनों अक्सर खुल कर बातें किया करते थे.

जब मैं स्कूल पहुँचा तब तक सुबह का स्कूल खत्म हो चुका था, काफी टीचर अपने घर चले गए थे.

जब उसने मुझे ये बताया तो मेरे मन में चुदाई का कीड़ा जाग गया और बाजार जाकर दो कंडोम के पैकेट और डेरी मिल्क की चॉकलेट ले आया.

आप लोगों ने मेरी कहानियों पर कमेंट करके मुझे ढेर सार प्यार दिया इसके लिए आप सभी पाठकों का बहुत-बहुत धन्यवाद. अब मैं और अदिति जिम के अलावा हर संडे मिलते, कभी बाहर घूमने जाते तो कभी फिल्म देखने. छत वाला सेक्सीवो मेरे करीब आई और उसने अपने मुँह में भरा हुआ घूँट मेरे होंठों से लगा दिया.

मैं बीच बीच में हल्के हल्के से भाभी के एक निप्पल को काटने लगा, चूसने लगा. बारी-बारी से उसके तने हुए निप्पलों को अपने दातों से काटता हुआ चूसने लगा. वो पूछने लगी कि मैं आज दिन में फ्री हूँ क्या?तो मैंने हां बोला, तो वो बोली- यार दो महीने हो गए जयपुर आये हुए … मैंने अभी जयपुर ही नहीं देखा है.

मैंने एक एक करके उसकी टांगें अपने कंधों से उतारीं और ट्रेन चलाता रहा. मेरे अंडरवियर में तना हुआ मेरा लौड़ा जैसे अंडरवियर समेत ही उसकी चूत में घुसना चाहता था.

मेरे इस हरकत से श्वेता मैडम जोश में आ गईं और बड़ी बड़ी सिसकारियां भरने लगीं.

फिर मैंने देखा कि हिरेन की जिप के नीचे उसका लंड तनाव में आने के बाद अलग से ही दिखाई देने लगा था. मैं कुछ असहज तो हुई क्योंकि मेरी बहन को चोद चोद कर इस साले कमीने ने ग्याभन कर दिया था और फिर ऐसे वैसे ही घर में शादी करनी पड़ी थी. मैं कुछ देर तक उसे देखता ही रहा और उसके बाहर आने के बाद मैं जल्दी से नहाने घुस गया.

सेक्सी लड़की लड़का लड़की कहकर मैं बाथरूम में चली गई और अंदर जाकर मैंने गाउन निकाल दिया और गाउन निकालते ही मैं उसके ऊपर पहनी नाइटी में आ गई. उन्होंने कहा- आप मुझे बेबी दे सकते हो क्या?मैं पहले तो समझ ही नहीं पाया कि बेबी दे सकते हो, इस बात का क्या मतलब है.

अमृता ने अपने बॉयफ्रेंड को प्रेमपत्र लिखे थे जिन्हें लेकर वो उसे धमकाता रहता था और मिलने के लिए बुलाता रहता था और वो और उसके दोस्त अमृता के बदन से खेलते रहते थे. मैं किसी भी औरत को इज्जत की नजर से कम और हवस की नजर से ज्यादा देखता हूँ. जब मैं खुद अच्छा खासा कमा लेता हूं, तो दूसरों के भरोसे अपनी मस्ती खराब करने का मुझे कोई शौक नहीं है.

लैंड मोटा और लंबा

फच-फच की आवाज तेज हो चुकी थी, मेरे धक्के के कारण रेखा का जिस्म हिल रहा था और साथ ही उसकी चुचियां भी हिल-डुल रही थीं. मैंने देखा कि उसकी किसी लड़के के साथ कुछ सेक्सी व्हाट्सएप्प चैट की हुई थी. मैंने अपने होंठ उसके होंठ से चिपका दिए और अपना लंड धीरे धीरे उसकी पूरी तरह से गीली चूत पर घिसने लगा.

जैसे ही मेरे होंठ वसुन्धरा की नाभि पर पहुंचे, तत्काल मैंने अपनी जीभ उसकी नाभि में डाल दी और नाभि के अंदर अपनी जीभ फिराने लगा. फिर अजय ने उसकी पैंट को निकाल दिया और अब मेरी बीवी मेरे बिजनेस पार्टनर के सामने नीचे से नंगी होकर केवल पैंटी में थी.

वो बोली- वापस कर मेरे कपड़े।मैंने तकिये के नीचे से भाभी की कच्छी निकालते हुए कहा- भाभी, ये तो अब मैं वापस नहीं दूंगा।भाभी बोली- क्यों, अब तू औरतों की कच्छी पहनेगा क्या?नहीं भाभी” मैंने कच्छी को सूंघते हुए कहा.

मैंने रश्मि की चूचियों को कपड़ों के ऊपर से ही दबा दिया और उसकी चूचियों को अच्छे से रगड़ने लगा. जब-जब मेरा पूरा लंड उसकी चुत में जाता, उसकी चुत के अन्दर गर्भाशय में अन्दर तक टकराता, तो उसकी आवाज ‘आह हूँ … मममम ओह मिंटू फक मी फ़ास्ट आह अह … इस्सस हुम्म्म … निकल जाती. मां ने अपने कपड़े ठीक किए और दोनों बातें करने लगे।वह आदमी अब मेरी मां के कंधे पर हाथ रखकर उसे सहलाते हुए उनसे पूछने लगा- पूजा, और कितने दिन तड़पाओगी, अब तो मुझे अपनी चूत का मजा दे दो.

अगले दिन सुबह आँख खुलने पर वो बाहर बालकनी में आया तो देखा कि रजनी योगा कर रही है. मैंने कहा- आप तो शादीशुदा हो, तो आप इतना क्यों चीख रही हो?भाभी- मैंने कभी इतना मोटा लंड नहीं लिया, मेरे पति का लंड भी तेरे लंड से छोटा और पतला है. पिछले हफ्ते आपने जी तनख्वाह दी थी, वो तो सब खर्च हो गयी, बची हुई की वो दारू पी गया.

फिर वो मेरी तरफ देख कर बोली- तुम कितने बदतमीज हो, कैसे बोल लेते हो यह सब गंदा गंदा … छी … मुझे तुम्हारे साथ कहीं नहीं जाना.

सी बीएफ दिखाएं: थोड़ा आगे चलकर हमें एक झोपड़ी दिखी, तो हमने वहीं रुकने का विचार बनाया. थोड़ा मुँह चुदाई के बाद, उसको पहले वाली पोजिशन में किया और चूत और गांड एक साथ बारी बारी से लंड पेल कर चोदने लगा.

मैं घर का काम करती हूँ और कभी कभी मम्मी को स्कूटी से बाजार करवाने के लिए लेकर जाती हूँ. जब मैंने उसकी जांघों पर अपने कोमल हाथ फिराये तो मेरे अंदर एक चुदास सी जग गई. मैं ऐसे ही, चूत में लंड रख कर आपस में लिपटे हुए, मुँह में मुँह डाल कर पड़े रहे.

भाभी ने कुछ देर तो मुझसे मिन्नतें कीं लेकिन जब मैंने उसकी बात नहीं मानी तो उसने मेरे गाल पर एक चांटा जड़ दिया.

मौसी आइसक्रीम खाना पसंद नहीं करती थी लेकिन उनकी आदत थी कि वो सोने से पहले दूध जरूर पीकर सोती थी. उस दिन के बाद से तो मुझे रात दिन भाभी की सफेद कच्छी में छिपी हुई चूत की याद सताने लगी. मैंने तौलिये से बाहर का हिस्सा साफ किया और एक बार फिर लंड को सेट करके धक्का लगाया तो लंड आधा अंदर गया.