सेक्सी बीएफ रंडी खाना

छवि स्रोत,जापानी गर्ल बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन कामसूत्र सेक्सी: सेक्सी बीएफ रंडी खाना, मैंने चाची की गांड में उंगली चलाते हुए जगह बनाई और इसके बाद मैं जोर जोर से गांड को मसलने लगा.

ब्लू बीएफ सेक्स बीएफ

इतने में उसके मुंह से एक गहरी हिचकी निकली, उसने मेरे बाल जकड़ लिये और बड़े ज़ोरों से उसकी टांगें मेरी कमर से चिपक गयीं. गोवा में बीएफहालांकि मुझे कुछ डर भी लग रहा था कि अगर मेरे बदन पर एक भी दांत का निशान पड़ गया तो मैं अपने पति अमित को क्या बोलूंगी.

विक्रम ने थोड़ा से सोचते हुए- हम्म अच्छा … इतने महीने से और मैं क्या क्या सोच रहा था!रीना- क्या क्या सोच रहे थे?विक्रम- यही कि मेरे साथ तुम्हारा मन नहीं करता … तुम किसी और से … वगैरह वगैरह!रीना- ना, अब आपको ऐसे धोखा देना अच्छा नहीं लगता जी!विक्रम- वैसे सच कहूँ तो तुम जब भी पराये मर्द के साथ अपना अनुभव बताती हो तो मुझे कुछ कुछ होने लगता है. 2022 का हिंदी बीएफमेरा सहयोग मिलते ही जेठजी ने जल्दी से मेरी पैंटी को खींच कर निकाल दिया.

मेरा मतलब कोई दूसरी चॉइस?आलिया- तुम्हारे पास दूसरी कोई चॉइस नहीं है.सेक्सी बीएफ रंडी खाना: जब मैं भाभी के करीब गया तो उसने उठ कर मेरे पैर छूना चाहा लेकिन मैंने भाभी को अपने पैर नहीं छूने दिया.

उनके ससुर ने धीरे धीरे दीदी के भी कपड़े निकालने शुरू कर दिए और उन्हें सिर्फ़ पेंटी और ब्रा में ला दिया.फिर एक दिन मैंने कहा- ज़रा मुझे भी खुश कर दो मास्टर जी?उनके कुछ कहने से पहले ही मैं उनके सामने पैंट और अंडरवियर उतार कर लेट गया.

भैया सेक्सी बीएफ - सेक्सी बीएफ रंडी खाना

अब हम लोगों में कुछ भी छिपा नहीं है, मैं रुकैय्या कौ गांड मराने के लिए अक्सर उकसाता रहता हूँ और घोड़ी बना कर चोदने के दौरान अंगूठे से उसकी गांड की मसाज करता रहता हूँ.फिर उसने मेरे कंधों से खींचा और फिर मुझे अपने ऊपर खींचने लगी जैसे मेरे लंड को खुद ही चूत में डलवाना चाह रही हो.

मैंने थूक से आंटी की गांड के छेद को गीला किया और लंड गांड पे सटाया और धीरे धीरे डालने लगा. सेक्सी बीएफ रंडी खाना अब सीधे भाई के ससुराल में जा पहुंचा, जहां मेरे आने की खबर मैंने मुनीर को पहले ही बता दी थी.

अचानक मेरी नजर कमरे के फर्श पर गयी, तो देख कर मैं हक्का-बक्का रह गया.

सेक्सी बीएफ रंडी खाना?

जिस तरह उन्होंने मेरी मालिश की थी, उसी तरह मैं भी उनकी मालिश करता रहा. मैं राज शर्मा चंडीगढ़ से एक बार फिर आप सभी के सामने अपनी एक नई कहानी को लेकर हाजिर हूं। आप सभी ने मेरी अपनी पिछली कहानीरिश्तेदार की लड़की को प्यार में फंसा कर चोदापढ़ कर मुझे बहुत मेल व सुझाव दिए उसके लिए आप सभी का धन्यवाद।यह कहानी मेरे एक मित्र ने मुझे लिखने को भेजी है। जो मैंने उसी के कहे अनुसार कहानी बना कर पेश की है। अब इस कहानी को आप उसी की जुबानी सुनिये।हेलो दोस्तो, मेरा नाम आलोक है. अमनप्रीत ने मुझे कस कर अपनी पकड़ में ले लिया ताकि मैं हिल डुल न सकूं.

मैं उनके घर गया और चुपचाप खाना खाकर आ गया … क्योंकि तब उनके बच्चे भी थे. सामने टीवी पर पोर्न वीडियो भी चल रही थी इसलिए उत्तेजना भी तेजी से बढ़ रही थी. फिर एक दिन किस्मत चमकी या कह लो कि ऊपर वाले को हम दोनों पर दया आ गयी.

उसके बाद मैं भी संजना के होंठों को किस करते हुए संजना ने भी इसमें मेरा पूरा साथ दिया. वो मेरे वीर्य और अपने कौमार्यभंग वाले रक्त का एक अणु भी बर्बाद नहीं करना चाहती थी. चूत में खून और चूतरस के कारण बड़ी पिच पिच हो रही थी और हर धक्के पर फच फच की आवाज़ आती.

मैंने होटल के नाम को मैप में सर्च किया तो पता लगा कि होटल मुम्बई स्टेशन के पास में ही है. इसके बाद पायल और मेरी नजरें मिलीं और नजरों ही नजरों में बहुत सी बातें भी हो गईं.

मुझे भी गोरी गांड चुदाई में मजा आ रहा था और अंकल को भी अपनी गांड चुदवाने में काफी मजा आ रहा था.

जैसे ही मैं उसकी सीट के पास पहुँची तो मैं वहां का नज़ारा देखकर चौंक गयी.

इसके बाद भी मैंने अपना लौड़ा हिलाते हुए अपनी अम्मी की जवानी को याद करता रहा. जीजू अब मेरी चूत की फांकों में अपने लंड को आगे पीछे करने लगे थे … जिससे मैं सब कुछ भूल कर उनके लंड से चुत की रगड़ाई का मजा उठा रही थी. उसके छूट जाने के बाद भी मैं उसके लन्ड को अंदर चूत में लिए चोदती रही। उसकी सांसें ऊपर आ गयीं।मैं तब भी न रुकी तो वो बोला कि रीना… बस करो, मुझे अटैक आ जाएगा। तब मैंने उस पर तरस खाया। मगर उसके लंबे लिंग की सवारी करके मजा आ गया.

संगीता के फ्लैट के नीचे पहुंचते ही मैंने उसको कॉल किया कि मैं आ गया हूं. ’मैंने दो उंगलियां चूत में डाल कर मौसी की चूत का मुआयना किया … जो अब तक गीली हो चुकी थी. उसने मेरा कोट मुझे पकड़ाया और मेरा हाथ पकड़कर मुझे खाने की स्टॉल की तरफ ले जाने लगी.

एक दिन भाभी ने मुझसे कहा था- यार मेरी तुम्हारी उम्र में कोई ज्यादा फर्क नहीं है … तुम मुझे भाभी मत कहा करो.

फिर कविता के उसके बेटे के साथ सेक्स रिलेशन को सोच कर मुझे भी अपने बेटे के जवान लंड की चाहत होने लगती. मौसी ने मेरी बात को किस लिए नकार दिया था … मैं समझ ही नहीं पा रहा था. उसके बाद दस मिनट तक हम एक दूसरे के मुंह में जीभ डालकर किस करते रहे.

और मैं वहां से चल दी।मुझे पता था कि उनकी नजरें मुझे जाते हुए देख रही हैं।जैसे ही मैं सीढ़ियों तक पहुंची तो पीछे पलट कर उनको देखा. इसलिए जब शीला उठ कर चाय बनाने गयी तो सुनील ने विशाल को आवाज देकर बुला लिया और हँसते हुए सारी बात उसे बतायीं. यही वो मर्द है जो अपनी मर्दानगी से हम दोनों के अंदर की आग को बुझायेगा.

पर उस सूने घर में गरजते बादलों और कड़कती बिजली के शोर में उसके काम क्रंदन को सुनने वाला मेरे सिवा और कोई भी नहीं था.

अम्मी ने टाइट ब्लाउस पहना हुआ था, जिसमें से ब्रा की स्ट्रीप मुझे दिख रही थी. कमरे में एक शख्स बिस्तर के पास खड़ा था और कुछ सेकंड बाद ही वो बिस्तर पर चढ़ कर दूसरे शख्स के साथ लेट गया.

सेक्सी बीएफ रंडी खाना उसकी पैंटी को होंठों से चूमते हुए मयंक ने मेरी सेक्सी बीवी की चूत के पानी की खुशबू ली और फिर नीचे की ओर बढ़ गया. वो बोली- बेटा, धीरे से करो!जब मेरा लंड एकदम टाइट हो गया तो मैंने लंड को आंटी के मुँह में डाला और मुख चोदन करने लगा।फिर मैंने कहा- आंटी मैं गांड मारूँगा आपकी।वो बोली- ठीक है पर आराम से मारना अपनी आंटी की गांड!उन्होंने कंडोम निकाला, मेरे लंड पे लगाया.

सेक्सी बीएफ रंडी खाना आपको हॉस्टल का बेड तो पता ही है कि कैसा होता है … ये भी वैसा ही लोहे का पलंग था. अचानक दोनों ने मेरे दोनों स्तनों के निप्पलों को अपने अपने मुँह में लिया और कसके चूसने लगे.

उधर रोहित भी आंखें मूंदे अपनी अपनी औसत गति से चुदाई करने में लगा हुआ था.

picture of सेक्सी

बहुत सारे लोग … जिन में मैं भी शामिल हूँ, अपने-अपने व्यक्तित्व के ग्रे शेड को अभिभूत करने इस साइट पर आते-जाते रहते हैं. यानि, एक का मुंह दूसरी की चूत पर, दूसरी का मुंह तीसरी की चूत पर और तीसरी का मुंह पहली की चूत पर. सुनील बोला- ज्यादा नौटंकी मत कर, मैं एक घंटे से बाहर खड़ा हुआ अपना लंड सहला रहा हूँ.

वो मेरे सामने ही अपने कपड़े खोल कर अमनप्रीत से फोन पर बात करते हुए अपनी चूत में उंगली करने लगी. मैंने फिर लौड़े को दस बारह बार तुनकाया और थोड़ा सा पीछे खींच के आधा लंड मुंह में रहने दिया. उसके घर की बिल्डिंग पर पहुंचने के बाद मैंने स्थिति का जायजा लिया और वाचमैन को हजार रूपये देकर उसे इस बात के लिए राजी कर लिया कि वो मेरे आने जाने की सूचना अपने रजिस्टर में नोट न करे.

मैंने अपनी रफ़्तार और तेज की और उसकी चीखें और ज़ोर ज़ोर से निकलने लगीं.

मैंने कहा- उसका नाम तो सुमन है ना?प्रतिभा ने मुस्कुरा कर कहा- सुमन तो बमौसम बारिश की शिकार हो गई है. भाभी बोली- सचिन, एक बात और बोलूं?मैं- हां भाभी बोलिए।भाभी- किसी से कुछ कहोगे तो नहीं? वादा करो. चाची की 38 इंच की गांड को सलवार में देख कर ही मेरा लंड फटने को हो जाता था.

उधर दीदी के कमरे में आकाश दीदी के बदन से खेलते हुए चुदाई खत्म कर चुका था. उनका भी शायद मूड हो गया था तभी गढ़ों में से और ब्रेक लगा लगा के बाइक लेकर गए. मैंने नताशा के ऊपर से हटकर लंड से कंडोम निकाला … तो नताशा अपनी फैली हुई चूत में उंगली घुमाने लगी.

यह बात उन दिनों की है, जब मेरी शादी के 7 साल के बाद भी मुझे बच्चा नहीं हुआ था. वो सिसकारते हुए मिन्नतें करने लगी- ओह्ह … राज … प्लीज … मुझे अपने हथियार से चोदो न, प्लीज … डार्लिंग। मैं तुम्हारे लंड का स्वाद चखने के लिए मरी जा रही हूं.

मैं बोली- ये क्या कर रहे हो … इस पर कुछ चिकनाई तो लगा लो … क्या मुझे मारोगे?लेकिन वो नहीं माने और जबरदस्ती लंड चुत में डालने लगे. कुछ देर बाद अम्मी ने उठकर मेरा लौड़ा मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगीं. इस बार मयंक ने मेरे पूछे बिना ही सोनम के कपड़े उतारने शुरू कर दिये.

तो मैं बस इंतजार कर रही थी 10 बजने का।मुश्किल से सवा नौ बजे … तब मैं नज़मा को अपनी बांहों में भर कर उसे किस करने लगी तो वो भी प्रतिउत्तर देने लगी।मैंने अपना कुर्ता खोल दिया और उसका भी खींचने लगी तो उसने भी उतार दिया.

जिन्हें देख मेरी भी इच्छा होती कि किसी दूसरे मर्द से चुद कर देखा जाए. उस रात मैंने अम्मी के साथ व्हिस्की का मजा भी लिया और अम्मी ने मुझे सिगरेट भी पिलाई. उसने शीला को बुलाया और उसे अपने मुँह के ऊपर बिठाया और उसकी चूत में अपनी जीभ घुसा दी.

सुबह 5:00 बजे तक मम्मी की खूब चुदाई हुई, फिर तीनों नंगे ऐसे ही सो गए, मैं भी अपने बिस्तर पर जाकर सो गया. फिर मेरी मदद से पैन्ट बाहर निकल गया।फिर हीना ने मेरी ब्रीफ की इलास्टिक कमर के दोनों ओर से पकड़ी और नीचे खींचने लगी.

मैंने कहा- बता दोगी तो मैं तुम्हारे अब्बू को बताने नहीं चला जाऊंगा! और आजकल तो चलता है. रसीले होंठों का धनुषाकार कटाव कुछ और ख़मदार हो उठा और बाएं गाल का डिम्पल थोड़ा और गहरा हो गया. नील से श्लोक ने कहा कि तुम्हें मालदीव आना है अपनी बीवी रकुल के साथ, किंतु सीमा और रकुल को इसके बारे में पहले से पता न लगे.

हिंदी सेक्सी सारी

श्लोक और मैंने गोआ में एक और याराना मनाया जो कि एक बहुत ही रोमांचक घटना थी जिससे मैं आपको बाद में अवगत करवाऊंगा।जिन लोगों ने याराना को अभी से पढ़ना शुरू किया है वो कृपया इस कहानी के पहले भाग से लेकर पूरी कहानी पढ़ने के बाद ही यहां पर वापस इस कहानी को पढ़ने के लिए आयें.

अंकल मम्मी को देखकर समझ गया और बोला- मेरी जान, और चुदना चाहती हो क्या?तभी मम्मी के चेहरे पर एक हल्की सी हंसी आ गई लेकिन वह कुछ बोली नहीं!तभी अंकल बोले- अगर रुकना चाहती हो तो रुक जाओ, आज तुम्हें जन्नत की सैर कराऊंगा. कोमल- क्या कर रहे हो?मैं- देखो … उसने हमें देख लिया है, वो तुम्हारे पति को कॉल करे … उससे पहले तुम उसको भी इस खेल में शामिल कर लो … तब ही हम दोनों बच पाएंगे. मेरा लंड अब मेरी जवान पड़ोसन के स्पर्श को पाते ही तन जाता था लेकिन मैंने खुद को कंट्रोल करके रखा हुआ था.

काफी देर तक चूत में जीभ अंदर बाहर कर के मैं भी थक गया था, लिहाजा सांस लेने के लिये पीठ के बल लेट गया. बिस्तर पर उनके चेहरे साफ नहीं थे, पर यह पक्का था कि वो बाबूजी और मेरी भाभी ही थे. वीडियो में बीएफ पिक्चर हिंदीमैंने अपने लण्ड पर थोड़ा थूक लगाया और उनके पीछे पहले की तरह लेट गया। लण्ड को उनकी चूत के मुहाने पर थोड़ी देर घिसा, उन्होंने भी अपनी कमर पीछे को करके लण्ड का स्वागत किया.

इस बार वो मना नहीं कर पायी।हम दोनों ने ही एक दूसरे को बांहों में भर लिया. आप जानते ही हो कि जब कोई लड़की लंड को चूसती है, तो कितना मजा आता है.

चूंकि घर में मेरी बहन, उनकी बेटी और ससुर रहते थे, तो उनको ये अच्छा नहीं लगता था कि वे सब एक ही बिस्तर पर सोएं. उन्होंने गे पोर्न की साईट को चालू किया और गे मूवी की एक लम्बी लिस्ट में से एक को प्ले कर दिया. बाजार से वापस आते वक़्त मैंने दो सेक्स पावर की गोलियां और एक व्हिस्की की बोतल ले ली और घर आ गया.

एक भाभी अपने ननदरानी के सामने अपने भाई से चुदेगी, तो एक ननदरानी अपनी भाभी के सामने अपने भाई से चुदेगी. पर उसने मेरे लिंग को हाथों में थामते हुए कहा- सर आप मेरी उम्र की बात कर रहे थे ना? तो सचमुच मेरी उम्र अभी 23 की ही है, और मैंने अपने बॉयफ्रेंड के साथ सिर्फ चार बार किया है।इतना कहते हुए उसने लिंग को थोड़ा आगे-पीछे किया और चुम्मी दे डाली. मैंने उस रात बहुत हल्की सी नाइटी पहनी जिसमें मेरा जिस्म हल्का हल्का सा दिख रहा था.

यकायक भावविहल हो कर मैंने अपने दाएं हाथ से वसुंधरा का बायां हाथ जोकि वसुंधरा की गोदी में धरा था … पकड़ कर उस के हाथ की पुश्त को चूम लिया.

मैं आप लोगों को बता नहीं सकता कि मुझे गांड मराने में कितना मजा आ रहा था. उसको देख कर तो किसी भी मर्द का दिल उस पर आ जाये और उसको चोदने के लिए तैयार हो जाये.

मैंने अपनी उंगली छेद में घुसेड़ दी और काफी तेजी से 35-40 बार चलायी और झड़ गयी. कुछ ही पलों में रोहित के लंड की मार इतनी जबरदस्त हो गई थी कि संजू की चुचियां कभी ऊपर, कभी नीचे हो रही थीं. पहले धीरे धीरे फिर थोड़ा तेज तेज फिर पूरी स्पीड से और पूरी बेरहमी के साथ उसकी चूत को अपने लंड से कुचलने लगा.

कुछ देर ऐेसे ही मेरे दोनों बूब्स को छेड़ने और चाटने के बाद उसने मेरे बूब्स को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. वो बोला- अरे आंटी आप मेरी मॉम से मिली ही हो न … वो बहुत सुंदर हैं न … इसलिए मैंने उनके जैसी कहा. मुझे ऐसा देख कर चाची बोलीं- इस उम्र में ऐसा होता है … तुम परेशान मत हो.

सेक्सी बीएफ रंडी खाना मैं उसकी गर्दन से लेकर पीठ तक चाटता रहा चूमता रहा और स्तनों को पीछे से ही दबाता रहा. मैंने उसके होंठों को सोनम के निप्पलों पर सटा दिया और वो उसकी चूचियों को पीने लगा.

विदेशों की सेक्सी

मैं रोहित को रोहन का लण्ड चूसते हुए तो नहीं देख पा रही थी पर जिस तरह से उसका मुंह ऊपर नीचे हो रहा था; उससे तो यही लग रहा था।थोड़ी लण्ड चुसाई के बाद रोहन ने अपने हाथ से रोहित के सर को अपने लण्ड पर दबा दिया जिससे रोहन का लण्ड रोहित के गले तक घुस गया. मैंने उसकी चूत को सूंघ कर देखा तो उसकी चूत से मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी. मैंने भी अपनी बहन की सहेली नताशा की चूत मारी और फिर उसकी कुंवारी गांड को तेल लगाकर खोल दिया.

उसने मुझसे पूछा- स्वाद कैसा लगा?मैं हंस दिया और फिर से लंड चूसने लगा. लेकिन छोड़ने से पहले उसने मौका देखकर मम्मी की गांड को सबके सामने दबा दिया जिसे मैंने देख लिया था. नई दुल्हन का सेक्सी बीएफमैं बोला- हां भाभी आप मेरी मदद कीजिए, कृपया करके मुझे कुछ बताइए, मैं क्या करूं.

फिर जीजू उठे और अपनी उंगली को मेरी चुत में आगे पीछे करने लगे, जिससे मेरी चुत में ठंडी ठंडी आइसक्रीम का समावेश होने लगा.

मैंने सोनम का हाथ अपने लंड पर लगवा दिया और वो मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी. मैंने भाई से कहा- भाई तू जो भी चाहता है, मैं करूंगा, मगर एक वादा कर कि ये बात किसी को बताना मत … वर्ना मेरा मजाक बन जाएगा क्योंकि पंजाब में गांड मरवाने वाले को हिजड़ा और बहुत कुछ कह कर लोग छेड़ते हैं.

संजू के मुँह से करूणा भरे स्वर में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाज निकलने लगी. मेरा लण्ड चूमने के बाद रुकैय्या उठ खड़ी हुई और अपना लहंगा, चोली, ब्रा और पैन्टी उतार कर नंगी हो गई. ”और फिर सानिया ने चाय छानकर थर्मोस में डाल ली और 2 प्लेट्स और गिलास लेकर हम दोनों डाइनिंग टेबल पर आ गए।सानिया दो प्लेटों में जलेबी और कचोरी नमकीन आदि डालने लगी।यार … सानू साथ खाने का मतलब यह थोड़े ही होता है?”क … क्या हुआ?” सानिया ने डरते हुए पूछा।अरे यार ये दो प्लेट में क्यों डाल रही हो?”तो?”आज हम दोनों एक ही प्लेट में खायेंगे.

दूसरे भाग में मैं आपका बताऊंगा कि कैसे मैंने एक पराये मर्द को अपनी बीवी की चुदाई के लिए तैयार किया.

कोमल इस समय पूरे मजे से चुद रही थी और मैं भी बड़ी तेज़ी से कोमल की चुत बजा रहा था. इसके बाद तुरंत मैं बाथरूम में गया और उनको याद करते हुए मैंने दो बार मुठ मार ली. तभी डोरबेल बजी, घड़ी की ओर देखा, 6 बज गये थे, दीदी अस्पताल से वापस आ गई थी.

बकरी बीएफउसे उठा कर खोला, उसमें लिखा था कि आज रात तुम तीनों को बिना कपड़े के रहना पड़ेगा, यही हमारा सरप्राइज है … और हां तुम सभी के लिए एक बोटल छोड़ दी है. तो उसने मुझे लेटाया और मेरे ऊपर आकर अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और मुझे मुँह में चोदने लगा.

मारवाड़ी सेक्सी हिंदी सेक्सी

उसकी उंगली अन्दर जाते ही मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ … और मेरे मुँह से चीख निकल गयी ‘आआहह. तो अच्छा है कि हम यहीं से शुरू कर दें अगर आप सभी सहमत हो तो?मुझे देख कर एक पल के लिए सभी को लगा कि बात तो ठीक है. मैंने उसकी चूत को सूंघ कर देखा तो उसकी चूत से मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी.

मैं उसको जोर जोर से चूमने लगा और पूरा हिलते हुए उसकी चूत में लंड को धकेलने लगा. जब मैंने हाथ फिराना जारी रखा तो वो पलटते हुए मेरी तरफ मुंह करके लेट गयी. नज़रों-नज़रों में एक-दूसरे के अंतर तक उतर जाने वाली निग़ाह से हम दोनों कितनी ही देर दो-चार होते रहे.

काफी देर हो जाने पर बुक नहीं मिली तो निधि भी आ गई बोली- मैं भी हेल्प कर देती हूं. तय हुआ था कि शाम को हनी को डॉक्टर दिव्या शुक्ला के यहां ले जायेंगे. और इधर सतीश अभी तक मुस्कान के मम्में ही चूस रहा था।प्रियंका और सीमा की सिसकारियाँ निकल रही थीं.

जीजा जी ने मेरी बात पर हंसते हुए अपनी बहन यानि आलिया को गोद में उठा लिया और उसे चोदने के लिए वे बड़े हॉल वाले कमरे के अन्दर ले गए. नीचे की तरफ से मैं सोनम की चूत को उसकी पैंटी के ऊपर से ही रगड़ने लगा.

मैंने शीना के बोबों को कस कर दबाया और उन दोनों से कहा- हां मेरी रंडियों … मैं तो तुम्हारे दोनों के पूरे खानदान की औरतों की लूंगा.

वो बोली- तो फिर हल्की हल्की बीयर भी हो जाये तो कैसा रहेगा?मैंने कहा- बहुत अच्छा रहेगा. बीएफ पिक्चर चूत लंडअब वो स्टेप भी आ गया, जब मुझे पायल की कमर को पकड़ कर उसे सहारा देना था. हिंदी बीएफ एनिमलफिर सिसकारते हुए बोली- आह्ह राज … बहुत मजा आ रहा है, प्लीज मेरे झड़ने से पहले तुम मत झड़ना. ये देखना चाहती थी कि तू ग़ुलाम बनने में खुश हो रहा था या सिर्फ मेरी चूत के लालच में ड्रामा कर रहा था … यू पास्ड विद डिस्टिंक्शन रुस्तम.

उन्होंने थोड़ा सा मुँह खोला, तो मैंने अपना आधा लंड मुँह में घुसा दिया.

उसने फिर से पानी छोड़ दिया।लेकिन मैंने अपना काम चालू ही रखा। धीरे-धीरे मैंने भी अपने लण्ड के धक्कों की स्पीड बढ़ा दी। मेरा लण्ड उसकी चूत में काफी तेजी से अन्दर-बाहर हो रहा था।आखिरकार मेरे झड़ने का वक्त आ ही गया, मेरी साँसें तेज़ होने लगी। पूरा शरीर पसीने से तर था। सपना भी तीसरी बार झड़ रही थी. ”रानी ने तुरंत जैसा कहा गया था वैसा किया हालाँकि जीभ की नोक छेद में ज़रा सी ही घुसी. मैं प्यार व्यार के चक्कर में कभी नहीं पड़ी, पर जब एक हैन्डसम से लड़के मुझे प्रपोज किया, तो मैं मना नहीं कर पाई.

मेरे दोनों तरफ अभी दो हॉट सेक्सी औरतें लेटी थी, जिसमें एक किसी की बीवी थी, तो एक बहन थी. तब भी लंड की सुरसुरी इतनी अधिक थी कि उसकी चुत चोदने की लालच मन से निकल ही नहीं पा रही थी. लंड की पूरी लम्बाई बाहर से रानी की चूत के अंतिम छोर तक जाकर ठक्क करती.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो चोदा

सबसे कम मज़ा उसी को मिला था मगर वो अपनी चूत को लगातार उंगली से रगड़ती रही थी. मेरे जीजाजी की मौत हो जाने के बाद मैं हमेशा मेरी विधवा बहन, जो मुझसे बड़ी है, उनका ख्याल रखता था. फिर मैंने अपनी उंगली में लिपटी उसकी पैंटी को उसकी चूत से बाहर निकाला और उसे सूंघ कर चाटने लगा.

उसने मेरा बदन चूमते चूमते अपने दोनों हाथ मेरे सीने की ओर लाकर पीछे से मेरे दोनों मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

अब वो जब सोनम की चूत पर लंड को रगड़ रहा था तो उसके लंड का आकार उत्तेजना के कारण थोड़ा और ज्यादा बढ़ा हुआ सा लग रहा था.

गांड में पानी छोड़ूँ?” मैंने पूछा।हाँ छोड़ दो … आपके गर्म वीर्य से गांड सेक लूंगी. उन्होंने मेरे लंड को छोड़कर अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़कर मेरा मुँह अपनी चूत पर रख दिया. बीएफ पढ़नापहले वाले ने उससे कहा- तू बाहर बैठ … मैं जब बाहर आ जाऊं तो तू अन्दर आ जाना.

मैंने पूरी ताकत से झटका दिया, मेरा पूरा का पूरा लंड भाभी की चूत में आवाज करते हुए चला गया. तूने आज मुझे निहाल कर दिया मेरी जान … मैं गई … आंह!बस ऐसा कहते हुए वो मेरे ऊपर निढाल हो कर गिर गईं और मैं उनकी कमर पर हाथ फेरने लगा. कुछ ही पल में उसने मेरी बीवी की ब्रा को उसकी चूचियों से अलग कर दिया था.

मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा कोई हम बिस्तर मुझे चुदाई की जन्नत में सैर करा रहा हो. मैंने सभी की तरफ़ ध्यान देकर मुस्कान को मुखातिब होकर कहा- साली मुस्कान की सलवार तो मैंने उतारनी थी.

उसके बाद मैंने कई बार पति की गैरमौजूदगी में उनसे अपनी चूत की सर्विस करवाई.

मैंने बेड पर कम्बल के अन्दर जाते हुए पूछा- दूसरे पार्ट में क्या करने वाले है ये लोग … और उसका प्रैक्टिकल क्या हम लोग भी करेंगे?अनिल भैया ने वाइन की बोतल को साइड टेबल पर रखा और खुद बेड की सिरहाने का सहारा लेकर बैठ गए. जिया- अगर भाई को पता चल गया, तो आपके साथ मेरी जिंदगी भी बर्बाद हो जाएगी … फिर भाई आपकी तरह मेरी भी शादी करवा डालेंगे. थोड़ी देर बाद अम्मी ने अपनी टांगें फैलाईं और बोलीं- मेरी मुनिया का स्वाद चखेगा ज़रा!मैंने भी अम्मी के चुत में मुँह घुसेड़ दिया और उनकी चुत चाटने लगा.

सेक्सी बीएफ 70 साल मैं वैसे ही खड़ी थी, तो उसने मुझसे कहा- मेरा लंड लटक गया है, उसे तुझे खड़ा करना पड़ेगा. आकाश- कैसा खेल?अविनाश- आज हम अपनी पार्टनर के बारे में बताएंगे, वो भी सिर्फ चुदाई के समय के बारे में.

मैं और चाची अपनी पहली चुदाई करने के बाद बिस्तर पर नंगे ही पड़े हुए थे और एक दूसरे के अंगों से खेल रहे थे. उसकी स्ससस की आवाज सुनकर मैं समझ गया कि रोहिताश पुराना खिलाड़ी है इस खेल का! नहीं तो पहली बार मे बड़ा लन्ड ले लेना आसान काम नहीं हैकुछ ही पलों में रोहिताश अपनी गांड ऊपर नीचे करने लगा. मैं इतना ही बोल पायी- नहीं मैम, आपके साथ करना अलग बात है, पर गैर मर्द के साथ हमसे न हो पाएगा.

सेक्सी जुदाई सेक्सी

भले ही लड़की मेरे किसी काम की न थी फिर भी सेक्स का खेल देखना किसे अच्छा नहीं लगता. शीला ने मुस्कुराते हुए उनसे ये वादा किया पर झांट साफ़ करने की क्रीम का नाम पूछा तो मेमसाब ने हँसते हुए उसे अपनी हेयर रिमूवर क्रीम दे दी. मैंने कहा- मुझे गुड मॉर्निंग किस नहीं मिलेगी क्या?भाभी मेरे पास उठ कर आई और मेरे होंठों पर होंठ रख दिये.

उसने मेरे लंड को अपने दोनों हाथों में लिया औऱ उस पर 3-4 चुम्बन जड़ दिए. मेरी चूत के एक एक पोर में भराव महसूस हो रहा है … आह मुझे ऐसा लग रहा है … जैसे मैं आसमान में उड़ रही हूँ.

आलस में उठ कर दरवाजे तक गयी और दरवाजा खोला तो सामने ज्ञान जी एक कागज का लिफाफा लिये खड़े हुए थे.

जीजू सीधे हुए, मेरे होठों पर होंठ रखकर चूसने लगे, मैं जीजू का टाइट लण्ड सहलाते हुए जन्नत के द्वार पर थी, जीजू का लण्ड मेरे शरीर में प्रवेश करने को तैयार था. इस मौसी की चूत की चुदाई कहानी के अगले भाग में मौसी के साथ एक मस्त चुदाई का सफ़र लिखना जारी रखूंगा. चित्रा- कल रात के बारे में, वैसे कैसी रही कल की रात!आलिया- आप तो भाई को जानती ही हो.

जीजू सीधे हुए, मेरे होठों पर होंठ रखकर चूसने लगे, मैं जीजू का टाइट लण्ड सहलाते हुए जन्नत के द्वार पर थी, जीजू का लण्ड मेरे शरीर में प्रवेश करने को तैयार था. उसके बावजूद ज़ेबा बच्चे का बड़े प्यार से ख्याल एक माँ की तरह रख रही थी. सामने से मैं अपने होठों से पैंटी में कैद गर्लफ्रेंड की कुंवारी बुर को चूम रहा था.

मेरा टॉप पीछे से खुल गया और मैंने दोनों हाथ से सामने से टॉप पकड़ लिया कि कहीं गिर न जाए.

सेक्सी बीएफ रंडी खाना: मायरा की चूत की फांकों को मैं अपने दांतों से पकड़ पकड़ कर खींचते हुए उसकी चूत को चूस रहा था. कोमल- कैसी शर्त?मैं- अगर मैंने एक हफ्ते में उसके साथ सेक्स कर लिया, तो तुम दोनों मेरे साथ रात बिताने के लिए मुंबई आओगी.

चाची की हल्की सी चीख निकल गई, पर उन्होंने मेरे लंड को चूसना नहीं छोड़ा. पास में रखे टॉवल से मेरी चूत और अपना लण्ड पौंछकर जीजू मेरे बगल में लेट गये और मेरी चूचियां चूसने लगे. मैंने उनका सुपारा मुँह में लिया और बाकी का लंड हाथ से पकड़ कर अच्छे से चूसने लगा.

मैंने पहले वाले अंकल से पूछा कि मम्मी कहां गई?तो उन्होंने बोला- तुम्हारी मम्मी को कुछ काम था तो वह दूसरे अंकल के साथ गयी हैं.

मैंने उसकी ओर देखकर आंख मार दी, तो जिया बेड पर बैठकर हम दोनों को देखने लगी. मैंनेरानी की चूचियों को पकड़ा और उन पर ही टिक कर धक्के मारने शुरू किये. तभी दरवाजा खुल गया और उन तीनों के सामने हम बिल्कुल नग्न अवस्था में खड़े थे.