बीएफ सीन दिखाइए

छवि स्रोत,गांव की भाभियों का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

वर्ल्ड सेक्सी: बीएफ सीन दिखाइए, एक दिन स्कूल में मैं इसी तरह उसके विषय में सोचते हुए कि अगर मुझे उसका साथ मिले, तो मैं उसके साथ क्या-क्या करूँगा, मैं दिन के सपने में खो गया.

देसी सेक्सी देहात की

उसके निकलते ही मैंने आरती को फोन किया- आज अपनी चूत का ध्यान रखना, धीरज का लंड बौखलाया हुआ है तुमको चोदने के लिए. सास और जमाई की सेक्सी वीडियो हिंदी मेंअभी तो आपको बताया था कि वो पटाखा वाला सीन मेरी जिन्दगी में है ही नहीं.

वासना के नशे में आकर उसने मेरा लंड अपने मुँह से निकाल के मुझसे चोदने को कहा. जानवर वाला सेक्सी वीडियो डाउनलोडमैंने उसकी टांगें फैलाईं और उसकी फूली हुई चूत की फांकों में लंड सैट किया.

मैंने न जाने किस तरह से उनसे पूछ लिया कि यहां कोई आपका आने वाला है?इस पर भाभी बहुत उदास होकर गहरी सांस लेती हुई बोलीं- मेरे साथ आने वाला कोई है ही नहीं, आप ही बैठ जाओ यहां.बीएफ सीन दिखाइए: एक बार तो मैंने ध्यान से उनकी चूत को देखा, फिर कपड़े के ऊपर से उनकी चूत पर अपना मुँह रख दिया.

मैंने अपना लिंग थोड़ा सा वापिस बाहर खींचा तो वसुन्धरा के चेहरे पर राहत के भाव आये.मेरा रूप देख कर नितिन ने इरादा बदला और मुझे बांहों में भर लिया, पर मैंने उसे रोका, नहीं तो बहुत देर हो जाती.

सेक्सी मस्ती पिक्चर - बीएफ सीन दिखाइए

मैंने अपना चेहरा ठीक उनके चेहरे के सामने करके और अपना हाथ उनके मम्मे से हटा कर उनकी चूत पर रखते हुए कहा.इतने में मैंने उसकी छोटी सी गांड पर जोर से एक चमाट मारा और बोला- देख क्या रही है रंडी … अब चूस ना लंड.

मैंने उसकी तरफ देखा तो मेरे हाथ में नई घड़ी देख कर बोली- बहुत अच्छा गिफ्ट है, तू बहुत लकी है बंध्या. बीएफ सीन दिखाइए वो देखने में तो एकदम गोरी थी, लेकिन जब मेरे साथ उसकी रात कटी तब पता चला कि वो क्या चीज़ थी.

थोड़ी देर बाद उसने मुझे पकड़ लिया और मेरी कमर पर नाखून गड़ाते हुए झड़ने लगी.

बीएफ सीन दिखाइए?

तो मैंने बोला- भाभी, जल्दी से झोटे का डंडा पकड़ कर लाइन में लगा दो. पिछले भाग में आपने पढ़ा कि श्लोक और सीमा के अहमदाबाद जाने के बाद मैंने विक्रम को जयपुर बुला लिया. हॉस्पिटल नर्स सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपने पापा की सेवा के लिए कई दिन अस्पताल में रुका तो मेरी दोस्ती एक नवविवाहिता नर्स से हो गयी.

शारदा चाची- और जोर से कपिल, और जोर से … शादी में बहुत थक गयी हूं, तू पूरी थकान उतार दे मेरी आज. मैं कई बार उसकी बाथरूम की चूत और चूचियों के साथ खेलने की हरकत से भी अंदाज लगा लिया था कि दीदी को भी लंड की जरूरत है. अगर उसको मेरी गांड चाटने का दिल भी करता था तो मैं कभी पीछे नहीं हटता था.

मैंने सोचा क्यों न कोशिश की जाए, मिल गयी तो ठीक, वरना अपना हाथ जगन्नाथ. पूजा के गोरे गोरे चूतड़ … वो सफाचट चुत … आ … हा … मदमस्त नजारा देखते ही मेरा लंड विशाल रूप लेने लगा. साली इसकी पत्तियों को अपने मुँह में भर कर ऐसे ही चाटो मेरे राजा!! ओह डियर … बहुत अच्छा कर रहे हो तुम …! मेरी बुर के छेद में अपनी जीभ को पेलो और अपने मुँह से चोद दो मुझे!शारदा चाची लगातार गालियाँ बकती जा रही थी- हाय मेरे चोदू भाई! मेरी बुर के होंठों को काट लो और अपनी जीभ को मेरी बुर में पेलो … ओह मेरे चोदू भाई.

अब मुझे आगे बढ़ना था, तो मैंने अपना एक हाथ उनकी कमर के नीचे ले जाकर उनकी ब्रा के स्ट्रिप का हुक खोलने की कोशिश करने लगा. मैंने उसे घर बुला कर जो कांड कर दिया था, उससे उसकी चूत में आग लग गई थी.

अपना अपना रोल नंबर बता दो जल्दी … तुम्हें नहीं पता मैं कितना बड़ा रिस्क लेकर तुम्हारे लिए ये सब कर रहा हूँ.

वो अपनी गांड उठाती हुई जोर जोर से बोलने लगी- आंह भाई मजा आ रहा है … आंह चोद डालो … अपना पूरा लंड डाल दो अपनी छोटी बहन की बुर में … आंह डाल दो पूरा.

फिर धीरे से मैंने अपना लंड लोअर से बाहर निकाल लिया जो कि बहुत ही दर्द कर रहा था. मैंने पति का लंड चूसकर एकदम गीला कर दिया ताकि मेरे पति का लंड मेरी चुत में आसानी से घुस जाए. यदि रिम्पी मुझसे ये कहती कि जब मैं घर में नहीं थी, तो तुम देर तक क्या करती रहीं.

मेहँदी-रचे दोनों हाथों से दोनों साइडों पर अंगूठे और तर्जनी की चुटकियों में से लहँगा रह-रह कर छूट-छूट सा जा रहा था और उसके पूरे जिस्म में बार-बार एक झुरझुरी सी उठ रही थी. पहली बर्नी पकड़ कर मैंने जब आंटी को पकड़ाई, तो मुझे उनके कोमल हाथों का पहली बार स्पर्श मिला. शाम को उपिंदर ने मुझसे कहा- परसों डैडी का जन्मदिन है, अपनी बहन और मम्मी को जालंधर बुला ले.

पर शायद मेरी किस्मत में मौसी की चूत का स्वाद लिखा था इसलिए मुझे जल्दी ही एक और मौका मिल गया.

मेरे लंड का साइज़ इतना है कि मैं किसी भी गर्ल, आंटी और भाभी को पूरी तरह संतुष्ट कर सकता हूँ. इतना सुनने के बाद भी मैं कुछ नहीं बोली, तो अंकल को थोड़ी और हिम्मत आयी और वो मेरा नंगा बदन सहलाने लगे. भाई बहन या मां बेटे जा रिश्ता सिर्फ सामाजिक रिश्ते होते हैं, जो सबके सामने दिखाने पड़ते हैं.

मैंने भी ब्लाउज के ऊपर से ही उसके चूचे मसलना शुरू किया और हम दोनों की जीभ एक दूसरे के मुंह में सैर करने लगी. मुझे घर पर छोड़ने के बाद वो वापिस चला गया और मेरे घर के अंदर भी नहीं आया. मौसी और मौसा का तलाक 2008 में हो गया था और तब से मौसी अपने बेटे बंटी के साथ एक घर में रह रही थीं.

मुझे ऐसे देख और मेरी हरकतें और चरम सुख की प्राप्ति की कामुक आवाज सुन सुखबीर भी खुद को ज्यादा देर न रोक सका.

मैं भी एक सयुंक्त परिवार में रहता हूँ और ये सेक्स कहानी मेरे ताऊ और ताई की है. मैंने उसे बोला- मैं कल आपको दे दूँ, तो चलेगा?वो भी बिना किसी हील हुज्जत के चला गया.

बीएफ सीन दिखाइए मैं दिखने में इतना सुंदर तो नहीं हूँ कि लड़कियां मुझे देखते ही अपनी खोल दें मगर जब उनकी खुलती है तो फाड़ने में कोई कसर भी नहीं रहती है. मैं बाहर के कमरे तक पहुंचा ही था कि उन्होंने मुझे पीछे से आवाज़ लगा कर पूछा- गौरव, क्या तुम्हें घर में कोई काम है?मैंने कहा- नहीं, ऐसा कोई जरूरी काम तो नहीं है, क्यों आपको कुछ और भी काम था क्या?उन्होंने बोला- हां, कल मैं पौंछा लगा रही थी, तो मेरा पैर पानी में थोड़ा फिसल गया था.

बीएफ सीन दिखाइए कुछ देर में सोनू कहने लगी कि बेड पर ही अच्छा लगता है, वैसे ही करो, जैसे पहले किया था. मुझे लगने लगा कि भाभी तो चुदने को तैयार हैं, बस मुझे ही हिम्मत करके भाभी को चोदना है.

अगर आपके पास मेरे लेखन को लेकर कोई सुझाव हो, तो कृपया मुझे बताएं ताकि जब मैं अगली बार कोई कहानी लिखूँ, तो उसमें कोई गलती ना करूँ.

सेक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर

उन्होंने अचानक रुक कर मेरी तरफ देखा और बोलीं- तुम दोनों अकेले क्या कर रहे हो. सर भी मम्मी के ब्लाउज से दिखते उनके गोरे मम्मों पर नजर गड़ाए हुए थे. अंतर्वासना के सभी दोस्तों, भाभियों, आंटियों और लड़कियों को नमस्ते के साथ-साथ उनकी चूत को भी ढेर सारा प्यार और चूत में उंगली!मैं अन्तर्वासना का रेगुलर पाठक हूं.

मेरी चाल लड़खड़ा रही थी, तो दीपक अंकल ने मेरे को पकड़ के बाथरूम तक पहुंचा दिया. तभी वो अंकल मेरे करीब आ गए और मुझे नंगे बदन उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया. तब उसने कहा- सारिका जी क्या आप ऊपर आकर धक्के मारोगी? मैं अब थकने लगा हूँ प्लीज.

मैंने उसकी आंखों में देखा तो उसने इसको नीचे जाने देने का इशारा किया.

लेकिन पैर चौड़े करके बैठने में दिक्कत दे रही थी तो मैंने मेरी सलवार और पैन्टी को मेरे पैरों से निकालकर सीट पर पटक दिया. अमर ने कहा- भाभी तुम्हारा हब्बी तुमको कितनी देर तक चोदता है?पिंकी- वो तो बस 3-4 मिनट में ही ढेर हो जाता है और वो भी स्लो स्पीड में. तो अजय ने बताया कि उन दोनों ये पहले कभी नहीं किया, उनका पहली बार है, होटल में मीना उतना सुरक्षित नहीं महसूस करती जितना घर पर होगी.

दो मिनट बाद भाभी का दर्द कुछ कम हुआ तो भाभी ने जिस्म ढीला छोड़ दिया. वो थोड़ा डालते, फिर रुक जाते और मेरे निप्पल मींजते … और फिर डालने लगते. फिर पापा ने पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया और दे दनादन मेरी चूत को चोदने लगे.

फिर पापा ने पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया और दे दनादन मेरी चूत को चोदने लगे. पर उतने में पापा मम्मी घर आ गए और हम जल्दी से अलग होकर पढ़ाई करने लगे.

इससे पहले वो कुछ बोलता, मैंने आरती को फोन पकड़ा दिया, कहा- करो उससे बात और पूछ लो कि कब चोदेगा तुमको. आह्ह् … स्स्स … उईई … आहा … अम्म … बस … ओह … करती हुई वह मेरे बालों को नोंचने लगी. मैंने कामाग्नि से जलते-धधकते हुए अपने साढ़े छह सात इंच के काम-ध्वज को वसुन्धरा की काम-रस से भीगी योनि से बाहर खींचा और वापिस बिजली की गति से वसुन्धरा की योनि के हाइमन को चीरते हुए वसुन्धरा की योनि में जड़ तक गाड़ दिया.

यह पोर्न कज़िन्स सेक्स कहानी तब की है, जब मैं गर्मियों की छुट्टी में गांव गया था.

मैं बोला- क्यों?रूपा बोली- भैया मुझे डर लगता है … क्योंकि लड़कों पर मुझे जरा सा भरोसा नहीं है. इधर मैंने अपनी रफ्तार को बढ़ा दिया और कुछ समय बाद मैंने मम्मी की चूत में ही अपना सारा वीर्य गिरा दिया. उसी समय अमर ने अन्दर आकर पिंकी को पीछे से पकड़ लिया और उससे लिपट गया.

चाची फिर से बोलीं- सर के नहीं, नीचे जो जंगल उगा रखा है … उसकी बात कर रही हूँ. थोड़ी देर ऐसे ही करते हुए मेरा सारा पानी निकल गया और कुछ पल के लिए मैं शांत हो गया.

मेरा हाथ भी अब उसके लण्ड पर तेज तेज चलने लगा, मैं उसका लण्ड जोर जोर से मसलने लगी. मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी और मैं जोर जोर से चिल्ला रही थी मगर जैसे उसे बहुत मजा आ रहा था. किसी भूखे शेर की तरह वो मुझ पर झपट पड़े, मेरी छाती पर किस करने लगे, मेरे निप्पल्स को चूसने लगे.

जैकलिन बीएफ वीडियो

फिर उसके आगे लंड ले जाकर बोला- ले अब चूस अब मीठा लगेगा … जिस तरह तू आइसक्रीम को मजे से चटखारे लेकर चूसती है इसे भी एक आइसक्रीम ही समझ कर चूस.

वो बोले- कितने दिन से गांड नहीं मरवाई है?मैंने कहा- इस बार काफी लम्बा समय हो गया है और मैं बहुत ज्यादा प्यासा हूँ. मैंने रूम में जाकर अपनी ब्रा और पैंटी को निकाल दिया और फिर अलमारी से एक काले रंग की ब्रा और पैंटी का सेट निकाल लिया. मेरा और मौसी का घर थोड़े ही दूर पर है, जिससे हमारा एक दूसरे के घर पर आना जाना लगा रहता है.

मैं देख रहा था कि लड़के तेरे को कैसे स्कूल में और अभी यहां भी लाइन मार रहे थे. मेरे कैसे लगते हैं?मैंने कहा- मेरी जान तुम्हारे तो और भी सुंदर हैं, बिल्कुल नए हैं. सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो चुदाई वालीमैं उसे उसके कमरे में लिटाकर उसके लिए दर्द कम होने की दवा और आईपिल लेने मार्केट निकल गया.

मैंने कहा- मैंने जिस दिन से आपको देखा है, उस दिन से मैं आपको प्यार करता आया हूँ. मैं उसके उछलते हुए मम्मों को अपने सीने पर महसूस कर सकता था।चोदते-चोदते मैंने उसे गोद में उठा लिया.

मैं पिंकी को घर भेजकर सारा पेपर अकेले में करना चाहती थी लेकिन तभी सर ने मुझे मेरी सहेली पिंकी के साथ देख लिया और सर की परमिशन के बाद मैंने पिंकी को भी पेपर पूरा करने के लिए मना लिया. उसने हाथों से मेरे चूतड़ पकड़ कर हवा में उछालना शुरू कर दिया और प्रीति को गाली देता हुआ बोला- बहनचोद प्रीति … तू क्यों नहीं चुदाती ऐसे. अब मेरे दोनों हाथ सरनी के स्तनों पर थे और मैं बैठे बैठे उसको घस्से मार रहा था.

उसका दर्द देखकर मैंने उससे यूं ही कह दिया- अगर कहो तो मैं कुछ करूँ. जब मैं उसकी जीभ को अपनी जीभ से चूसता था तो चूत लण्ड को अंदर खींचने लगती थी जैसे चूत लण्ड को चूस रही हो. मैंने अपना सुपारा दोबारा चूत पर लगाया और पानी छोड़ चुकी चूत में लंड को एक ही झटके में अंदर तक पेल दिया.

मैंने झुक कर अपना चेहरा उसके पास किया तो उसमें से साबुन की खुशबू आ रही थी.

ये सेक्स कहानी मेरी पहली चुदाई के बारे में है, जब मैं नया नया जवान हुआ था. वह ज्यादातर लव रोमांस की बातें ही कर रहा था कि कॉलेज में इसका उसका चक्कर चल रहा है, फलाना किस लड़की के साथ क्या बात करता है.

तो माया ने अपनी टांगें मेरी कमर के चारों ओर लपेट लीं और आंखें बंद करके ‘सी आह. पानी निकलने के बाद भी वो बस चुत चाट रहा था तो मैं कुछ ही देर में फिर से गर्म हो चुकी थी. मुझे किसी और की स्त्री को भोगने के आनंद …मीना को पराये मर्द के लन्ड का आनंदऔर अजय को अपनी बीवी को किसी गैर पुरुष से सम्भोग करते देखने का सुख मिल रहा था.

हर बार चूतड़ उठा कर विपिन जी के लंड को गप्प से निगल जा रही थी उनकी चूत. मैं अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ फैला देता ताकि मेरा लंड पूजा की गांड में आसानी से अन्दर बाहर हो सके. 6 से 6 सेंटीमीटर तक पाई जाती है यह जितनी ज्यादा होती है बंदे काम रस उतना ही ज्यादा बनता है और वह उतनी ही अधिक महिलाओं और गांडुओं को संतुष्ट कर सकता है। ए जी डी 2.

बीएफ सीन दिखाइए सोनल मेरी ओर देखकर हल्की सी मुस्करा दी और मेरी गोद से उतर कर अपनी जगह बैठ गई. आप लोगों से अनुरोध है कि मुझसे मेरे सेक्स पार्टनर का जानकारी नहीं मांगें, मैं कोई चुत का दलाल नहीं हूं.

बीएफ सेक्सी वीडियो एचडी में बीएफ

मैं तो झड़ गया मगर परी अभी नहीं शांत हुई थी, वो बोली- तुम्हारा तो हो गया लेकिन मैं अभी भी शांत नहीं हुई हूँ. कहानी में और भी पात्र हैं, उनका परिचय उनके आगमन के साथ ही मिल जायेगा।शारदा चाची का घर मेरे ही नगर में कुछ ही दूरी पर है. विदा दोस्तो, सारी महिला मित्रों को ढेर सारा प्यार और मेरे लौड़े का नमस्कार, चुदाई भरा ढेर सारा प्यार.

उसने भी अन्दर कुछ नहीं पहना था यानि आज वो भी पूरे मन से चुदने के लिए मूड बना कर आई थी. मैंने उसके बूब्स को दबाये और उसके निपल्स को अपनी जीभ से हिलाने लगा. आपका सेक्सी वीडियोकपिल ने अपने खड़े लंड को उसकी गीली बुर के छेद के सामने लगा दिया और एक जोरदार धक्के के साथ अपना पूरा लंड उसकी बुर में एक ही धक्के में पेल दिया.

फिर मैंने 2 झटके और मारे और मेरा पूरा लंड उसकी फ़ुद्दी में समा चुका था, उसकी आँखों से पानी बह रहा था.

हम दोनों ने सोचा कि प्लान खराब हो गया क्योंकि ये सब दिखा कर हम उसे गर्म करना चाहते थे. फिर लंड को बाहर निकाल कर पूरी दम से निशा की चूत में धक्का मार दिया.

मैं हरियाणा के भिवानी जिले का रहने वाला हूं और दिल्ली की एक मल्टीनेशनल कंपनी में सीनियर इंजीनियर के पद पर कार्यरत हूं. सोनल बोली- भाई मैं चाहती हूँ कि आप भाभी को अपनी जांघ पर बैठाकर उसके मम्मे दबाओ. वो बोली- तुम फिर खो गए?तो मैंने बोला- क्या करूँ यार, तुम लग ही इतनी खूबसूरत लग रही हो.

पंजाबी चूत की कहानी में पढ़ें कि मैं अपने गाँव की एक कुंवारी लड़की को चोद चुका था.

गुलाबो ने अपनी टांगें मेरे चूतड़ों से और बांहें मेरे कंधे पर लपेट दी थीं और अपने नितम्बों को ऊपर की ओर उठा दिया. मैंने अपनी मम्मी के पास आकर उनके गालों पर किस किया और अपने होंठों से उनके कान को सहलाने लगा. मेरी मम्मी नींद में ही थोड़ा खिसकते हुए बोलीं- यही बीच में तू भी सो जा.

आदिवासी सेक्सी वीडियो आदिवासी आदिवासीउसी समय मैंने भी उसे अपने दिल को बात बता दी- मैं तुम्हें बहुत पसंद करता हूँ. इतनी बात हम दोनों के बीच हो पायी थी कि तभी दो-चार बच्चे कुछ सवाल लेकर नम्रता के पास आ गए.

बीएफ लंगा डांस

वो बोली- अगर पैसे ही खर्च करने हैं, तो अपने आप अपनी पसंद से ले आना … मैं ले लूँगी. तभी बड़ी चाची यानि स्नेहा और मायरा की मम्मी ने मेरे पास आकर मेरे सर पर हाथ फेरा और कहा- तुम लोग बात करो, मैं तुम्हारे लिए कुछ लाती हूं. नीतू तुम्हारी जांघों के बीच में हाथ रखा था, तब मुझे महसूस हुआ था, इसलिए पूछ रहा हूँ, तुम्हारी पैंटी गीली हो गई है क्या?”अंकल की बेशर्मी की हद हो गई थी.

हम्म मिल गया!” सर ने कहा और पेपर लेकर हमारे पास आए और हमारे बीच फंसकर बैठ गये- ये लो, जल्दी-जल्दी करो. मैंने बिना कुछ सोचे उसकी चूचियां दबाना शुरू किया और उसके होंठों को चूमना शुरू किया! नींद खुलते ही राशि मुझ पर चढ़ कर बैठ गयी और अपने बालों को समेटकर, चूत मेरे मुंह पर लगा कर खुद लंड चूसने लगी 69 पोजीशन बना कर. मैंने पहले भी बोला था कि तुम पहली नज़र में मुझे अच्छी लगीं, तभी जब पता लगा कि हम दोनों की मंजिल एक है तो … आगे तुम खुद जानती हो.

उसके मुख से एक आह निकली- आई ईईई … मादरचोद, बिल्कुल रांड समझ कर ठोक दिया अपना हथियार. मम्मी पापा जॉब पर गए हैं और मेरी बहन को तुम डॉक्टर के पास छोड़कर आई हो. मैं मम्मी मम्मी चिल्लाने लगी … तेजी से रोने लगी, पर आशीष ने मेरी गांड में अपना लंड रगड़ना और अन्दर बाहर करना जारी ही रखा.

मेरे ऊपर वे चढ़ बैठे, छेद में थूक लगाने लगे तो मैंने तेल की बोतल की ओर इशारा कर दिया. मैंने अपना लंड साफ किया और जाकर सो गया, इसके बाद और कुछ नहीं हो पाया.

कुछ देर बाद मेरी बहन जोर जोर से बोलने लगी- आंह भैया … अब नहीं सहा जा रहा है … प्लीज़ जल्दी से अपनी बहन को चोद डालो.

मैं ठीक हो जाऊंगा ना?मेरे सवाल पर उसने कहा- घबराने की कोई जरूरत नहीं है. सेक्सी गांड मरवाईमैं उसकी तरफ घूम गया तो उसने प्यार से मेरे दोनों निप्पल्स पर किस किया और कहा- जानेमन, कॉफी की क्या ज़रुरत थी, अपना लंड मुंह में डाल देते … मैं खुद ही उठ जाती!मैंने उसके चूचों के निप्पलों को अपने अंगूठे और उंगली से पकड़ कर भींच दिया और उसके होंठों पर एक लम्बा सा, गहरा सा चुम्बन दे दिया. सेक्सी पिक्चर कार्टून सेक्सी पिक्चरमैंने उनकी एक नहीं सुनी और लंड चूत के छेद पर रख कर जोर का एक झटका दे दिया. इसलिए इस वक्त मेरे पास संगीता की बात मानने के अलावा कोई और रास्ता नहीं था.

भाभी तिरछी नजरों से मुझे देख रही थीं, साथ साथ जब मैं भैंस को आवाज देते हुए सैट कर रहा था, तो भाभी मुस्कुरा रही थीं.

मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी कमर को पकड़ रखा था ताकि लंड गांड में ही रहे बाहर ना आए. मैं यह सब सुन कर बहुत कौतूहल में था कि ना जाने रानी की सुस्सू का स्वाद कैसा होगा … अगर मुझे पसंद न आया तो?गुरू चेला की सेक्स कहानी जारी रहेगी. मैंने अपने अंडरवियर को निकाल दिया और मेरा काला ‘लाल’ मेरी जांघों के बीच में लटकर झुलता हुआ बाहर आकर चैन की सांस लेने लगा.

उसने अपनी कमर नीचे की और मैंने अपनी चूतड़ थोड़े उठाए और जैसे ही सुखबीर को मेरी योनि की छेद का स्पर्श हुआ, उसने जोर से लिंग धकेल दिया. फिर मैंने दूसरे चूचे को भी सहलाना शुरू कर दिया और उसके निप्पल को जैसे ही दो उंगलियों के बीच में लेकर मसलना शुरू किया, निशा मानो तड़पने लगी थी. आज मुठ मारने में एक अलग ही मज़ा था, मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरा लौड़ा हाथ में नहीं बल्कि उसकी फ़ुद्दी के अन्दर-बाहर हो रहा हो! दस मिनट के बाद मेरा लंड छूट गया और मेरे लंड से पिचकारी सीधी दीवार पर गिरी.

बीएफ वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ

फिर वो पिंकी की टांगों को चौड़ा करते हुए उसकी चूचियों की तरफ चढ़ने लगा. मैं उसकी नजरों से बचती रही और वह चोरी चोरी मुझे देखने की कोशिश करता रहा. इसी तरह सरिता की पीठ, कमर और गांड को सहलाता रहा, तो सरिता मदहोश होती जा रही थी.

मैं उनके बूब्स को पीने के साथ साथ उनकी सलवार में हाथ डालकर योनि में अपनी उंगली अन्दर बाहर कर रहा था.

मैंने कहा- ठीक है जान, तुम ही मेरा प्यार हो, बाकी सब तो मेरे लिये टाइम पास हैं.

एक बार तो मन किया कि शायद मैं ही ज्यादा सोच रहा हूँ मगर फिर ध्यान आया कि अगर उसे कुत्ते को अंदर बंद ही करना था तो कमरे की लाइट बंद करने की क्या जरूरत थी?हो न हो जरूर उसकी चूत का लावा कुत्ते के लंड के पानी से शांत होने की इच्छा कर रहा होगा. मैंने सच में उससे इस वक्त भी यही झूठ बोली, तब वह और मुझे कस के पकड़ के रगड़ने लगा. सेक्सी विडियो सीलपम्मी आंटी को चुदाई के लिए कहने में भी मुझे डर लगता था क्योंकि वो मेरे दोस्त की दूर की मामी लगती थीं इसलिए मैं उनके नाम की मुठ मार कर ही काम चला लेता था.

मैंने धक्का देते हुए कहा कि यह कैसे हुआ … तुम्हें किसने चोदा?उसने मुझसे कहा- मैं पहली बार तुमसे चुद रही हूँ … चूत में मैं कभी कभी डिल्डो डालकर अपनी गर्मी शांत कर लेती थी. ऊऊऊ ऊऊ हम्मम्म हम्मह उउम् उउम …मैं भी उसका पूरा साथ दे रहा था और वह मजे से अपनी चूत को चुदवाने लगी. फिर उसने शीशे देखते हुए अपनी ब्रा को उतार दिया और वो अपने तने हुए मम्मों को खुद ही प्यार से देखने लगी.

उसके निकलते ही मैंने आरती को फोन किया- आज अपनी चूत का ध्यान रखना, धीरज का लंड बौखलाया हुआ है तुमको चोदने के लिए. मैं बहुत खुश हो गया कि आज पहली बार अपनी मौसी की लड़की की फुद्दी को छूने का मौका मिला है.

इस तरह पति और देवरानी के सामने खुलकर तुम्हारे लंड को गांडउठा उठाकर नहीं ले पाऊंगी।वीणा- सच कहा भाभी.

तभी बीच में एक स्टेशन आ गया और ट्रेन से बहुत सारी सवारियां उतर गईं. अपने सुझाव मुझे मेरी मेल आई डी[emailprotected]पर जरूर भेजें।बहुत जल्द ही मुलाक़ात होगी एक नई और वासना से भरूपर सच्ची कहानी के साथ. फिर मैंने कहा- मेरी रानी, तेरी चूत की चुदाई कब से नहीं हुई?तो भाभी कहने लगी- इसकी चुदाई तो कभी नहीं हुई है, बस जब उसके मन में आया तो वो मुझे पकड़ कर मेरी चूत के ऊपर ऊपर से ही दो चार झटके लगा देता है … और मुझे आग में डाल कर छोड़ देता है.

सेक्सी वीडियो ससुर की उसके बाद मैं उठा और उनके दोनों पैर अपनी गोद में रख कर बैठ गया और दबाने लगा. एक बार जब मैं उनके घर गया, तो वहां न तो बंटी दिखा और न ही सलोनी मौसी दिखीं.

फिर उसके आगे लंड ले जाकर बोला- ले अब चूस अब मीठा लगेगा … जिस तरह तू आइसक्रीम को मजे से चटखारे लेकर चूसती है इसे भी एक आइसक्रीम ही समझ कर चूस. वो कहते हैं न कि दाने दाने पर लिखा है खाने वाले का नाम … और हर चूत पर लिखा है चोदने वाले लंड का साईज. ऐसी स्थिति में जो आनंद मुझे आ रहा था मैं आप लोगों को यहाँ पर शब्दों में बता नहीं सकता.

बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू

मेरे घर से 6 किलोमीटर कॉलेज दूर था, तो मैं अपनी एक्टिवा से आया जाया करती थी. अन्दर देखा तो भईया पूरे ऊपर से नीचे रंग में नहाए हुए भांग और दारू के नशे में धुत्त पड़े सो रहे थे. तब वो बोला कि साली उस नीच का लंड तू और तेरी सहेली खूब लेती है, चूसती और चाटती ही होगी … तो क्या उसके लंड में शहद लगा है … और मेरे में कांटे लगे हैं.

आप जैसी लड़की न जाने कितनों की रोल मॉडल हो सकती है जो खुद अपने दम पर दुनिया में आगे बढ़ना चाहती है, आज मैं आपको अपने साथ न लाता तो मुझे आपको जानने का अवसर ही नहीं मिलता. उसके माता-पिता गांव में रहते हैं, तो यहां पर हम चार दोस्त रहते हैं.

साथ ही साथ चूत चुदवाने के उतावलेपन में वह काम भी फटाफट निपटा रही थी.

अब में सिर्फ एक निक्कर में रह गया था जिसमें से मेरा लंड नब्बे डिग्री पर अपनी उत्तेजना से उन तीनों चुदासियों की चूतों में चीटियां रेंगा रहा था. मैं इस उम्र में ये कपड़े पहनती फिरूंगी क्या?मैंने मम्मा को बोला- मम्मा, बाहर ना सही, आप इन्हें मेरे सामने ही घर पर पहन लेना. खैर जब मैं नहीं रह पाती लंड के बिना … तो बेचारी मामी कहाँ रह पायेंगी.

मुझे ये भी लगता था कि 29-30 साल की उम्र में मौसी का तलाक हो गया था और तब से लेकर अभी तक मौसी अकेली रही हैं, तो फिर मौसी अपने शरीर की ज़रूरतों को कैसे पूरी कर रही होंगी. और इधर मैं वसुन्धरा को अपने आगोश में कस कर समेटे हुए नीचे बिजली की तेज़ी से अपनी कमर चलाते हुए ऊपर मैं अनवरत वसुन्धरा के माथे पर, गालों पर, आँखों पर, होठों पर, गर्दन पर, दोनों छातियों के बीच में चुंबनों की बौछार किये जा रहा था. मैं समझ गया कि ये इतनी जल्दी बुर या चूत शब्द का प्रयोग नहीं करेगी, पर मैंने भी सोच लिया कि अब जब तक ये चूत, बुर, लंड जैसे शब्द का प्रयोग नहीं करेगी, तब तक मैं भी इसे तड़पाता रहूंगा.

दस मिनट तक उसके मुंह को चोदने के बाद मैंने अपना सारा माल उसके मुंह में ही निकाल दिया.

बीएफ सीन दिखाइए: मेरी बात सुन कर शायद उसे ख़ुशी हुई और उसे भी अपनी मर्दानगी पर गर्व हुआ, वो बोल पड़ा- मजा गया सारिका जी, आप जैसी कामुक औरत मैंने आज तक नहीं देखी, काश प्रीति भी आप जैसी होती!उसने कुछ देर अपने लिंग को मेरी योनि में टिकाए हुए हल्के हल्के हिलाता रहा और फिर धीरे धीरे उसने धक्के मारने शुरू किए. हम दोनों बातें करने लगे, तो भाभी अपने रिलेशनशिप को ले के काफी मायूस लगी.

अब रितेश ने अपने हाथ से क्रीम के ट्यूब से क्रीम ली और मीरा की कमर में पर लगाना शुरू कर दी. ‘हमने तुम्हें खुशबूदार निशानी दी, अब तुम हमें निशानी दोगी, हमारे लौड़ों पे अपनी लिपस्टिक का निशान. मैं- ओके मेरी प्यारी साली साहिबा, लेकिन इसको खुला रखने से संभालना मुश्किल हो जाएगा.

उनकी चूत फिर से पानी छोड़ने लगी थी और ये देख कर मेरे लंड में भी हलचल होने लगी.

तो मैं और मोहित एक दूसरे को देखने लगे कि ये भाभी भी चूत चुदवाने के लिए बावली हो रही है. फिर वो पिंकी की टांगों को चौड़ा करते हुए उसकी चूचियों की तरफ चढ़ने लगा. मैंने सरिता को बता दिया कि उस दिन वो 10 बजे अपनी माँ के जाते ही आ जाए.