सेक्सी बीएफ देवर भाभी के

छवि स्रोत,xxx com सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

एचडी सेक्सी वीडियो बिहार: सेक्सी बीएफ देवर भाभी के, रमा मैडम जोर जोर से आहें भर रही थीं- आ आह्ह आ आह्ह ओह्ह आआह्ह … और चूसो … आह मैं बहुत प्यासी हूँ.

सेक्सी फिल्म देसी फिल्म

अंकल ने मुझे अपनी बाइक की चाबी दी और कहा कि मेरे पास मूवी की दो टिकट हैं, तुम चाहो तो अपने दोस्त के साथ देखने जा सकते हो. हिंदी bf.comस्नेहा के मम्मी पापा को शॉपिंग के लिए आने जाने में ही दो घंटे लगने वाले थे और शॉपिंग का समय अलग.

मैंने पूछा- आज नाज नहीं आई?अम्मी कहती हैं कि नाज अब बड़ी हो गई है, अब बिना बुर्के के कहीं नहीं जायेगी. ब्लू फिल्म नंगी सेक्सी वीडियोलण्ड की ठोकर खाते समय मुमताज की आहें और सिसकारियां नया जोश भर रही थीं.

अब आगे हॉट सेक्स विद बॉस की कहानी:शायद ये व्हिस्की का नशा था, या हम दोनों के अकेलेपन की वजह थी कि राजीव सर ने इतने सालों में पहली बार कुछ ऐसा कदम उठा लिया था.सेक्सी बीएफ देवर भाभी के: अचानक मुझे याद आया कि पेड़ के नीचे से आते समय अपने मोबाइल को डिक्की में रखते समय मेरे कॉलेज का आईडी कार्ड शायद वहीं गिर गया था.

मेरी इस बात से वो खुश हो गई और उसने मुझे गले से लगा कर ‘थैंक्यू भैया …’ बोला और अपना काम करने चली गई.एक मिनट के बाद उसने पूछा- तुम दोपहर को मेरी तरफ काफी देख रहे थे … क्या बात थी?उसके ये कहते ही मैं पहले तो घबरा गया और चुप बना रहा.

सेक्सी चूत सेक्सी चूत - सेक्सी बीएफ देवर भाभी के

मैंने उसकी पैंटी साईड को करके उसकी चूत में अपनी उंगली पेल दी और फांकों को रगड़ते हुए उसकी चुत में उंगली चलाने लगा.उनका गाढ़ा गर्मागर्म वीर्य अपने अन्दर महसूस करके सच में मैं तो सातवें आसमान पर ही थी.

निशा के शब्दों में:पिछले साल एक बार रात को जब मैं पेशाब करने के लिए जगी, तो मम्मी के रूम के पास से गुजरते हुए मुझे कुछ आवाज सुनाई दी. सेक्सी बीएफ देवर भाभी के हम दोनों नंगे बदन एक दूसरे को चूमने लगे और एक दूसरे के अंगों से खेलने लगे।मैं उसकी चूचियां को चूसने लगा, वो सिसकारियां भरने लगी।मैंने उसे 69 में किया.

मैंने मॉम से पूछा- आप डैड के अलावा और किसके लौड़े ले चुकी हो?मॉम ने कहा- मुझे याद भी नहीं मैंने कितने लौड़े लिए हैं.

सेक्सी बीएफ देवर भाभी के?

पहले तो उन्होंने मेरी फ़ोटो देखीं, जो पहले सिंपल, फिर हॉट और फिर कुछ नंगी थीं. मैं चौंकते हुए बोला- मुझे भी नहीं पता कि खुद पर कैसे कंट्रोल कर पाया. उसको देखते ही मेरा लंड एकदम से तन गया और मेरी तौलिया से बाहर से साफ दिखाई देने लगा.

अलीज़ा की चूत ने इतना पानी छोड़ा कि उसकी पूरी टांगें चूत के पानी से भीग गईं. नील ने कहा- आप जैसे गबरू इंसान से चुदना हर किसी की किसमत में नहीं होता. इस सेक्स कहानी में कैसे मैंने एक शादीशुदा औरत को उसी के घर में चोदा था, इसकी कहानी लिखी है.

क्या मैं आपसे मेल पर आगे भी बात कर सकती हूं?मैं- हां आप बिल्कुल कर सकती हो. चूंकि मैं दिल्ली अपने एक एग्जाम के सिलसिले में आया था … तो मेरा दोस्त या अन्य कोई भी मुझे बाहर ले जाने के फोर्स नहीं करता था. मेरे हाथ कभी भाभी के बड़े बड़े मम्मों को जोर जोर से मसलते तो कभी मैं अपनी दाढ़ी से और जीभ से गांड चूत को चूसते चाटने लग जाता.

वो लौड़े को मुँह से निकाल कर थूक से सने अपने होंठों को मेरे होंठों पर ले आई. बत्तीस साल की उम्र तक शादी नहीं हुई, जब हुई तो महीने भर बाद ही शौहर को छोड़कर लौट आई.

वो लंड की गर्मी से बेहद कामुक हो उठी और अपनी गांड उठाकर लंड चुत में लेने की कोशिश करने लगी.

मैंने उन्हें लिटाया और उनकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखकर अपने लंड को उनकी चूत पर सैट कर दिया.

एक रविवार हम सब क्लास में बैठ कर पढ़ रहे थे कि अचानक बहुत तेज़ बारिश होने लगी. पेशे से में एक फ्रीलांस लेखक हूँ, मैं सोशल मीडिया पर काफ़ी सक्रिय रहता हूँ. लेकिन जब मैंने अगले दिन उसे नहाने के बाद देखा तो मेरी आंखें खुली की खुली रह गईं.

इस हॉट स्टूडेंट सेक्स कहानी में आपको एक जवान लौंडिया के साथ हुए सेक्स की गर्म दास्तान लिख रहा हूँ. अगर किसी लड़की भाभी को लंड देखने का मन हो, तो वो बिंदास मुझे मेरे ईमेल पर मैसेज कर सकती हैं. ये शायद उसके लिए अचानक हुई प्रतिक्रिया थी और इस क्षण भर की प्रतिक्रिया ने उसे झुकने पर मजबूर कर दिया.

उनकी शर्ट् से निकलते छाती के काले बाल और उसकी खुश्बू मुझको नशा सी चढ़ाने लगी.

भाभी बोलीं- अब समय मिल रहा है आपको हमारी शादी के बाद … इतने दिन याद ही नहीं आई क्या? इन्होंने न जाने कितनी बार आपको याद करते हुए मुझे बताया था कि राज मेरा सबसे प्यारा दोस्त है. मैंने उसे देख कर अपनी बांहें फैला दीं और अशी कटे हुए पेड़ की तरह मेरी बांहों में समा गई. दस मिनट तक उसकी चूचियों को चोदने के बाद मैंने उससे लंड पर बैठने को कहा और मैं लेट गया.

रात को 3 बजे मामी अपने पति को छोड़कर हमारे पास आ गईं और हम तीनों ने फिर से थ्रीसम चुदाई का मजा किया. ऐसा नहीं है कि उनका इस कदर छूना मुझे पसंद नहीं आया, पर एक शादीशुदा औरत होने की वजह से मैं अन्दर से थोड़ा झिझक भी रही थी. मेरी कुछ समझ में नहीं आ रहा है, आप करना क्या चाहते हो?जुनैद भाई ने मुझसे कहा- तू बोलता था ना कि मैं तेरे मुँह का पानी पीता हूं … तो मैंने एक हफ्ते तक अन्दर जमा कर रखा था, आज वो पानी तेरे मुँह में वापस डाल दूंगा.

नाज की चूचियां सहलाते हुए, मैंने कहा- नाज, भले ही मेरी शादी मुमताज से हुई है लेकिन मेरा पहला प्यार तुम ही हो.

मेरे मन में ये डर आ गया कि कहीं वो किसी को इस बात के बारे में बता न दे. उसके बाद निशा ने बड़े ही जोश के साथ मेरे चेहरे को पकड़ा और जोर जोर से मेरे होंठों को चूसने लगी.

सेक्सी बीएफ देवर भाभी के वो भी गर्म हो गया था, उसने मेरे एक दूध पर अपने होंठ लगा दिए और मैंने उसको अपने दूध चुसाने लगी. मैंने कहा- ओके अब आप लंड मत चूसो, मैं आपके मुँह की थोड़ी सी चुदाई कर देता हूँ.

सेक्सी बीएफ देवर भाभी के कंपनी आजकल 8 घंटे चल रही थी तो मैं अपने रूम में हिंदी सेक्सी कहानी पढ़ने में ही लगा रहता; कभी रेखा आंटी से फोन में सेक्सी बातें कर लेता. उधर अन्वेषी भाभी मुझसे अभी चुदने के लिए उतावली हो उठीं थी क्योंकि दो महीनों से भाभी को न अनिकेत ने चोदा था … न किसी अन्य मर्द के लंड ने चुत को टच किया था.

वह पीछे मुड़ी और कब हमारे होंठ आपस में मिल गए हमें कुछ पता ही नहीं चला.

मोटी आंटी की सेक्सी फोटो

असल में मेरी बीवी रश्मि एक बहुत सुंदर फिगर वाली और रंग से फिरंगियों जैसी कामुक बला है. उसके मुँह से बहुत ही कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं- हहाईई … मउम्मीईईई. घड़ी में दोपहर के 12 बज चुके थे और इतनी देर सोये रहने पर मुझे अपने आप पर गुस्सा आ रहा था.

उसने कहा- अच्छा … इसलिए आप ‘मन भर गया’ कह रहो हो!फिर मैंने पूछ लिया कि आपके पति कैसे हैं?तो उसका चेहरा नीचे की ओर झुक गया और धीमी आवाज में कहने लगी- ठीक है!लेकिन मैं उसके चेहरे पर प्यास देख रहा था. उसके बाद मैं धीरे धीरे उसके चिकने, गोरे और सपाट पेट को अपनी जीभ से चूसते हुए गीला करने लगा. वो कराहती हुई बोलीं- आह मर गई … थोड़ा बाहर निकालो … मुझे दर्द हो रहा है.

गांड में चिकनाहट हुई तो मैंने अपने लौड़े को तेजी से अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया.

कामवाली बाई के होंठ बहुत बड़े और ऐसे रसीले थे मानो उनका मजा हर एक घंटे में कोई लेता हो. मैंने कहा- इसका नाम क्या है?वो आंखों से मुझे गुस्साती हुई बोलीं- साला पूरा हरामी हो गया है. अंकल ने हमें 2 फ्लैट दिखाए जो कि अंकल के घर से 5 किमी की दूरी पर ही थे.

उसकी गांड के छेद में तेल भरा और छेद के ऊपर रुई का फाहा लगा कर उसे एक पेन किलर खिलाई और ऐसे ही नंगी सुला दिया. वो मादक स्वर में बोली- रियांश अब सहा नहीं जाता, प्लीज प्लीज लंड चुत में डाल दो. मैंने रघु से पूछा कि तो तुम उसकी लाइफ में दूसरे आदमी हो!तब रघु बोला- ये तेरी दूर की बहन बहुत बड़ी वाली है.

तभी मुझे अहसास हुआ कि सरोज ने मेरी अंडरवियर उतार दी और वो मेरे लौड़े को मुँह में लेकर चूसने लगी. मेरी रण्डी माँ की सेक्स कहानी के पहले भागपापा के दोस्त और मेरी मां के सेक्स सम्बन्धमें अब तक आपने पढ़ा था कि पापा के दोस्त राजेश अंकल ने मेरी मां को अकेली पाकर चोद दिया था और दुबारा चोदने की बात कह कर चले गए थे.

अब आगे देसी अंकल सेक्स कहानी:कुछ पल बाद ओमी अंकल मुझसे बोले- रुको, मैं कोई जगह देखता हूं. थोड़ी ही देर में हम दोनों ने एक दूसरे के पूरे कपड़े उतार कर अलग कर दिए. 5 इंच मोटे लंड का मालिक भी बनाया है, जिसे मैंने सेक्स कहानी लिखने से पहले नटराज कम्पनी के स्केल से नापा है, ताकि लड़कियों को सही नाप की जानकारी दे सकूं.

फिर करीब 5 मिनट बात करने के बाद फोन से मुक्ति मिली तो भाभी बोलीं- बहुत हो गया … अब तुम मेरे ऊपर चढ़ जाओ.

धीरे से मैंने अपना हाथ उसकी गर्दन पर रख दिया और उसे अपनी तरफ झुकाने लगा. मैं रुका तो उन्होंने कहा- मेरी कितनी भी चीख निकले, तुम रुकना मत … आज मेरी चुत का भुर्ता बना दो. शिवानी ने मुझे चाय नाश्ता दिया और इस तरह से कोई आधा घंटे में मैं नाश्ता आदि करके सोने के लिए बगल के कमरे में चला गया.

मैं तो उनकी उनके इस किस करने के तरीके से एकदम से मचल गई और अपने हाथों को उनके हाथों से अलग करने लगी. मैं शहर में रहती हूँ इसलिए मैं बहुत बार अपने पड़ोस की औरतों के साथ बाजार करने और ब्यूटीपार्लर जाती रहती हूँ.

अब्बू ने अपने कुर्ते से अपना लण्ड पोंछा और फिर से मेरी बुर पर रखा, मेरी चूचियों को मुँह में लिया और धीरे धीरे लण्ड को अन्दर धकेलने लगे. मैं फ़ोन काट कर उनके पास गया और उन्हें उठाने लगा पर वो उठ नहीं पा रही थीं. एक मिनट से भी कम समय में हम दोनों बेड पर लेट गए और एक-दूसरे को चाटना चूसना शुरू कर दिया.

राजस्थानी भाभी के साथ सेक्सी वीडियो

मैंने उससे कहा- मिलने से पहले क्यों न हम दोनों कुछ खुल कर सेक्स चैट करें?वो एकदम से राजी हो गई और बोली- हां, मैं भी पहले यही चाहती हूँ.

मैंने अपनी ठरकी नजर से पता कर लिया था कि वह जरूर अपने बोबों से छोटी साइज की ब्रा पहनती होंगी. फिर थोड़ी देर बाद हम नीचे गए … कपड़े बदले, खाना खाया और एक ही रूम में एक दूसरे को पकड़ कर किस करते हुए सोने लगे. अब रितिका मेरे सामने गिड़गिड़ाने लगी- भैया, अब मत तड़फाओ … प्लीज़ चोद दो मुझे … जल्दी से अपना लंड डालो.

मैंने आपको अपनी पिछली सेक्स कहानी में अपने एक प्रशंसक दोस्त से चुदवाकर अपनी चुत चुदाई का पूरा मजा दिया था. मैंने अपनी स्पीड से नंदिनी को चोदने लगा और उसके मम्मों भी चूसने लगा. हिंदी में ब्लू फिल्म नंगीफिर कामवाली बाई ने अनन्या को उठाया और मुझे चित लिटा कर मेरे खड़े लंड पर बैठा दिया.

वो बोलीं- तुमने तो कल भी किया था मगर कल खून क्यों नहीं निकला था?अंकल ने कहा- आज मैंने लंड मोटा करने की दवा खा ली थी, इसी वजह से तुम्हारी चुत से खून निकल गया है. मैं इन सबका मज़े लेते हुए उसके नाजुक गर्दन पर हल्के हल्के किस कर रहा था और अपने दोनों हाथों से उसके पीठ से लेकर गांड तक सहला रहा था.

मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसकी गर्दन को चूसने लगा, साथ ही मैं अपने एक हाथ से उसकी चूचियों को भी मसल रहा था. थोड़ी देर में उस चौकी के अन्दर मैं और नील बिल्कुल नंगे होकर एक दूसरे गुत्थम गुत्था थे. सेक्सी औरत चुदाई कहानी के पहले भागजुम्मन की बीवी की चूत नहीं मिली तो …में आपने पढ़ा कि मैं जुम्मन की खूबसूरत बीवी कि चूत मारना चाहता था पर वो ना मिली.

ये कहकर भाभी अपनी गांड चूत मेरे मुँह पर रगड़ती हुई मेरे लंड को गले तक लेकर चूसने लगीं. लंड चुत में घुसा तो वो ‘आहह ओहह ऊईईई ऊईईईई मर गई मर गई अम्मा मर गई. थोड़ी देर बाद में चाचा मार्केट से आ गया और मोटो चाची मेरे घर की तरफ देखती हुई अपने घर के लिए चली गई.

कुछ देर बाद जब मौसी से रहा नहीं गया तो उन्होंने कहा- जल्दी से अन्दर बाहर कर दे … कोई आ जाएगा, तो मजा किरकिरा हो जाएगा.

मैंने जानबूझ कर अपना एक हाथ उनकी तौलिया के अन्दर कर दिया और उनकी गांड पर मालिश करने लगी. मैंने अपना लण्ड अन्दर बाहर करना शुरू किया तो आंटी और उत्तेजित हो गईं.

शादी हुई, शौहर मिला, तीन चार साल साथ में रहा और फिर छोड़कर किनारे हो गया. मैंने पूछा- किसने तोड़ी तेरी सील?वो बोली- मेरा एक बॉयफ्रेंड है, उसके साथ सेक्स किया था तो मेरी सील टूट गई थी. इस चूमाचाटी के दौरान मैंने आंटी की गर्दन पर भी दांत के निशान बना दिए थे.

मेरी तेज तेज हांफी चल रही थी और मेरी चूत में हल्का सा दर्द भी हो रहा था. दोस्तो, मेरी ये सिस्टर की गांड की कहानी आपको कैसी लगी … प्लीज़ मेल करना न भूलें. एक दिन मुझे किसी काम से सुबह सुबह उनकी दुकान में जाना पड़ा जहां उनके साथ मेरी मुलाकात हुई.

सेक्सी बीएफ देवर भाभी के यारो … मैं प्रिया अपनी सेक्स कहानी में आपको अपने जेठ जी के साथ चुदाई की कहानी में सुना रही थी. मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से सरोज की गांड मारने लगा.

बिहार की फुल सेक्सी

उनके मम्मे यूं लगते थे मानो वो एक आमंत्रण दे रहे हों कि आओ और हमें दबा दबा कर हमारा दूध पी जाओ. इस बार सबसे पहले मैंने मैडम की गांड में उंगली की, तो मैडम ने कहा- पीछे से शुरुआत करोगे?मैंने कहा- हां, मुझे आपकी गांड बहुत मस्त लगती है. वहां मेरी मुलाकात मेरे बुआ के लड़के से हुई जो विदेश रहता था मगर भारत आया हुआ था.

उसी समय फोन में आवाज आई और समझ आया कि मुंतज़िर के हस्बैंड उसे आवाज दे रहे थे. हमने कहा कि ये क्या कर रहे हैं, आज हमारी सुहागरात है, आज ये क्या कर रहे हैं. सेक्सी girlहहहह आ ह रश्मि, मुझे बस हमेशा से पता था तू ऐसी ही चुदक्कड़ होगी … उम्म मेरी जान … उछलती रह, मैं बस आने वाला हूँ … आ आ आ हहह … हां रंडी बस ऐसे ही लंड लेती रह भैन की लौड़ी रुकना मत रंडी.

मुझे समझ नहीं आ रहा है कि मैं क्या करूं … कृपया आप मेरी बीवी की इस इंडियन एक्ट्रेस बॉलीवुड सेक्स कहानी को पढ़कर बताएं कि मेरे पास क्या रास्ता है?मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा.

भाभी अपनी एक बैग लेकर वाशरूम में गयी और मैं उनके आने का इंतजार करने लगा. आज तक मेरी फैमिली और उनकी फैमिली में किसी को पता नहीं है क्योंकि हमारा ऐसा रिश्ता है कि किसी को शक भी नहीं होता है.

मैंने उंगलियों में उसके रस को लिया और सूंघ कर उसको अपनी जीभ पर लगाया।लंड के रस को मुंह में लेना मेरे लिये आम बात थी क्योंकि कर्ण भी चोदने के बाद अपना रस पिलाता था और मेरी चूत के रस को चाट जाता था।अब मेरे दिमाग में एक खुरापात आयी, मैंने कैमरा निकाला और उसको सेट करके चालू कर दिया।मैं उसकी हरकत देखना चाह रही थी।कैमरा सेट करने के बाद मैं वापिस लेट गयी. जब उसे होश आयी तो …दोस्तो, मैं निर्वाण एक बार फिर से!नंगी लड़की होटल Xxx कहानी के पिछले भागकोमल सी हसीना के साथ बितायी शाममें आपने पढ़ा कि होटल के कमरे में मैं कोमल नाम की हसीना को शराब के नशे में अपने सामने लगभग नग्न हालत में मदहोश पड़ी देख रहा था. अब उसके दोनों मम्मे एकदम अकड़ गए थे, तो उनका प्यार पाने का समय आ गया था.

मेरे शरीर को टच करने के बाद मेरे शरीर में उत्तेजना करंट के रूप में दौड़ने लगती थी.

मैंने अब भी झटके मारने जारी रखे और उसकी चूत को बुरी तरह से चोदते चोदते अपनी आखिरी बूंद भी उसकी चूत में छोड़ दी. तभी एक दिन अपने घर के आँगन में पैर फिसलने से मुमताज गिरकर बेहोश हो गई. खुश होते हुए मैंने कहा- हां हां, तू जब भी मुझे बुलायेगी मैं किसी काम के लिए मना नहीं करूंगा.

सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियोफिर मैंने पूछा- आप क्या पढ़ाई करती हैं?उन्होंने बताया- हां, मैं एमए कर रही हूं. तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी यह Xxx ब्रदर एंड सिस्टर कहानी … आप लोग कमेंट करके मुझे जरूर बताइएगा और मुझे मेल भी कीजिएगा.

பாய்ஸ் செஸ்

जिन लोगों ने इस होटल रूम Xxx कहानी पिछला भाग नहीं पढ़ा है, उनके लिए बता दूँ कि मैं निर्वाण 6 फीट लम्बे चौड़े कद का मस्त लौंडा हूँ और अब तक कितनी ही चुत का रस अपने 7 इंच लंबे और ढाई इंच चौड़े लंड को पिला चुका हूं. मेरा तो पहले से ही मन कर रहा था उनके चुचों और चूतड़ों को दबाने के लिए, पर अभी भी मैं ऐसा खुल कर नहीं कर सकता था. ’मैं उसकी चूत चाटने में लगा रहा और वो मेरा सर अपनी चुत में घुसाए अपनी गांड से मेरे मुँह पर धक्का देने में लगी रही.

निशा चुप थी, शायद उसको समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या कहे और क्या न कहे. हैलो साथियो, मैं आपको अपनी इस जबरदस्त चुदाई की कहानी में अपनी पड़ोसन रानी के साथ चुदाई की कहानी को लिख रहा था. इस घटना से इतना जरूर हुआ कि रमा मैडम का व्यवहार मेरे प्रति दोस्ताना हो गया था.

वो लंड की गर्मी से बेहद कामुक हो उठी और अपनी गांड उठाकर लंड चुत में लेने की कोशिश करने लगी. किस करते करते रघु ने अपना एक हाथ उसकी ब्रा में डाल दिया और उसका एक दूध बाहर निकालकर चूसने लगा. ये बात मां सुन रही थीं और खुश भी हो रही थीं … लेकिन मेरा प्लान कुछ और ही था.

थोड़ी देर बाद आरू बोली- भाई अब रहा नहीं जा रहा है … पेल दो अपना लंड … अपनी बहन की बुर में. जब अगली बार जब मैं उससे मिलूंगी, तो उससे पूछ लूंगी कि उस रात शरद ने क्या सोचा था.

अगर ये बात मेरे घरवालों को पता चल गयी कि मैं अपनी ही पड़ोस की लड़की को ऊपर छत पर नंगी नहाते हुए देखता हूं तो पता नहीं कितनी मार पड़ेगी और फिर पड़ोस में बदनामी होगी वो अलग।अब मैंने ऊपर नहीं जाने का फैसला किया.

धीरे धीरे घी निशा की चूत में समा गया और मैंने अपनी उंगली से चुत में और घी लगा दिया. bf भेजो bfसर को पहली बार मैं इस हाल में देख रही थी और ये सोच भी रही थी कि वो सही भी हैं. देसी चुदाई वीडियोसफ्रेंड सिस्टर सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपने दोस्त के साथ रूम में रहता था. मैं चौंक कर बोला- दो बार … एक बार तो रसोई वाली चुदाई तो मैंने देखी है.

वो अपने ड्राइवर और नौकरों के सामने बिकिनी और पैंटी पहनकर अपने फ्लैट में घूमती थी.

मैंने अनन्या ने कहा- डार्लिंग, तुमने तो कहा था कि तुम्हें पीरियड चल रहे हैं?‘हां मगर वो रुक रुक कर आते हैं. चुत में लंड अन्दर जाते ही मैंने शरद की क़मर को कसके पकड़ लिया और उसके जोरदार झटकों का मज़ा लेने लगी. मैं बोला- नहीं सीरीयस … सिमरन को बताएगा कौन … मुझे भी नई गर्लफ्रेंड का कुछ एक्सपीरियेन्स मिल जाएगा.

अशी बोली- क्या तुम मुझे अपने हाथ से खाना खिलाना पसंद करोगे?मैंने उसे अपने हाथ से खाना खिलाया और उसने मुझे. उसने फोटो लेने की बात कही तो डायरेक्टर ने मेरी बीवी की कमर में हाथ डाला और उसके साथ कुछ सेल्फ़ी फ़ोटो निकालने लगा. निशा ने एक कदम और आगे बढ़ाते हुए मेरे गीले मुँह को अपने होंठों से चाटना शुरू कर दिया.

और औरत की सेक्सी

मेरी पिछली कहानी थी:मामा की जवान बेटी की गांड फाड़ीमेरे चाचा चाची लखनऊ में रहते हैं. मैं- अंकल नहीं तेरा मादरचोद … साली कुतिया तू गाली देकर ही मुझे पुकार मेरी सेक्सी डार्लिंग, मेरी रंडी साली. इतने में ही अमिता के मुख से कामुक आवाज निकल आई- अअअअअ सौरव दर्द हुआ!मैं जानता था कि उसे दर्द होगा.

मेरी यह कहानी मेरे और मेरे घर के सामने वाली दूकान वाली महिला की है.

ऐसे ही एक दिन सुबह सुबह आंटी का फोन आया- विजय, आज मत आना क्योंकि आज मेरी कजिन सलमा आ रही है, अभी अभी उसका फोन आया था.

बीस मिनट बाद बीवी बाहर आयी और बोली कि डायरेक्टर ने बाद में रोल फ़िक्स करने के लिए बुलाया है. मैंने न चाहते हुए भी अरविन्द जी को अपने आपको सौंप दिया था क्योंकि वो मुझे बहुत अच्छे इंसान लगे थे. കുളിക്കുന്ന വീഡിയോकैसे? और उसके बाद आंटी की बहन उनके घर आयी तो उसे भी मैंने लंड का मजा दिया.

उन्होंने भी आव देखा ना ताव … फटाक से मुझे नंगा करके अपने बिस्तर में लेटा दिया. सरिता भाभी ने फिर अपना अगला दांव फेंका और विजय से कहा कि जरा ऊपर से चीनी का डिब्बा उतार दो. मैंने गांड को सहलाया, फिर अपना लंड उसकी चूत में पूरा जड़ तक उतार दिया.

इतने में ही मैंने तपाक से अपनी आंखें खोलीं और उससे कहा- सॉरी यार, थोड़ी सी आंख लग गयी थी. कुछ ही देर में सरोज थक चुकी थी, तो मैंने भी उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और ऊपर आकर चोदने लगा.

तभी वो बोली- आप नाश्ता कर लो … और जो कल हुआ था, उसके बारे में मैं किसी को कुछ पता नहीं चलेगा.

दीदी हैरान हो गईं और बोली- अरे वाह मेरे चोदू भाई … कब चोद दिया उन्हें तूने?मैंने दीदी को उनकी सास की चुदाई की कहानी पूरे विस्तार से सुना दी. आज ऐसा मैंने इसलिए किया था क्योंकि मेरे न जाने से आज आशीष पक्का इसको होटल ले जाकर चोदता. मॉम सन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी मॉम को पापा से चुदती देख मेरा मन भी उन्हें चोदने को करने लगा.

সানি লিওন সেক্সি বিএফ पार्टी शुरू होने में अभी टाइम था तो मैंने कुछ देर आराम करने का सोचा. पर उसकी साड़ी की वजह से मुझे उसके मुलायम पैर का फील नहीं मिल पा रहा था.

उसके पति ने उसकी समुन्दर जैसी रसीली जवानी की एक बूंद मात्र ही पी है. वो एकदम मेरे लंड पर गांड रख कर झूल रही थी और मेरी गोदी में ही चढ़े हुए खुद ऊपर नीचे हो रही थी. वो अपनी पूरी उद्दंडता से कभी नाभि में उंगली आगे-पीछे कर रहा था, कभी उसमें उंगली घुमा रहा था.

चोदने वाली सेक्सी वीडियो में

पहले एक फिर दो फिर तीन उंगलियों से मैंने मैडम की गांड को ढीला किया. नाचते समय मैं उसके करीब होने की कोशिश करने लगा तो नाचते नाचते एक दो बार मेरा हाथ उसके शरीर से जा लगा. कुछ देर बाद मुझे भी लंड के प्रहार अच्छे लगने लगे और मैं उसके नीचे दब कर पिसती रही.

उसकी शादी के दो साल बाद उसके पति के साथ उसका डाइवोर्स हो गया था क्योंकि उसका पति का कहीं चक्कर था. मैं भी दीदी की मटकती गांड को देखकर उनके पीछे जाने लगा और किचन में जाकर दीदी के गांड में खड़ा लंड सैट करके उन्हें जोर से हग कर लिया.

फिर मॉम ने कहा- चुदाई शुरू करें?मैंने कहा- घर में करने का मेरा मन नहीं है, कहीं बाहर जाकर करें … जैसे किसी होटल में?मॉम ने कहा- ठीक है … तो फिर हम गोवा चलते हैं.

एक बार की बात है, गर्मियों की छुट्टी में जेठानी जी अपने मायके गई थीं तो जेठजी खाना खाने हमारे घर आ जाते थे. एक हाथ से उन्होंने मेरे एक दूध को दबाया हुआ था और दूसरे हाथ से मेरी जांघों को पकड़े हुए थे. वहां उन्होंने गौरी को पीछे से दबोच लिया, लगे उसकी गर्दन और कानों को चूमने।उन्होंने उसके मम्मे जकड़ लिए।गौरी बोली- ऐसे तो बन गया नाश्ता!अनिल कुमार का खड़ा हो गया था। उनकी इच्छा थी की वहीं रसोई में एक दौर हो जाये।उन्होंने गौरी को नीचे झुक कर घोड़ी बनने को कहा।गौरी वहीं स्लैब पर झुक गयी।अनिल कुमार ने उसके पिछवाड़े से एंट्री करनी चाही.

अब आगे पड़ोसन Xxx कहानी:सरिता भाभी की जिन्दगी में रोमी, सोनू और दूध वाले की तरह एक एक करके कई मर्द आते रहे और सरिता भाभी की चुत लंड लेती रही. मैंने अपने लौड़े को चौथे गियर में डाल दिया और ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा. अब से दो साल पहले मेरे पति को उसके ऑफिस से उसके ट्रांसफर की खबर मिली.

श्रुति भी उसे आंखों से इशारे करते हुए अपनी नेट की साड़ी से अन्दर दिखने वाले बोबे दिखा रही थी.

सेक्सी बीएफ देवर भाभी के: दूसरा दिन आया तो मैं बाथरूम में घुस गया और अपने लंड की झांटें आदि साफ़ करके शिवानी की बुर चुदाई के लिए रेडी हो गया. बोलो तुमको बकरी बना दूँ?कुछ भी बना दो, बस प्यार करते रहो, आज बहुत दिनों बाद आरजू पूरी हुई है.

काफी देर तक चोदने बाद सक्सेना का लंड झड़ने पर आ गया और उसने मेरी चूत में ही अपना पानी छोड़ दिया. लगभग 30 मिनट बाद उसका मैसेज आया- सो गई?मैंने जवाब दिया- नहीं, नींद ही नहीं आ रही है. मेरी यह चाची चुदाई स्टोरी आज से 6 साल पहले की है जब मैं पहली बार फौज में भर्ती होने के बाद अपने गांव में पहली छुट्टी काटने गया था.

उनके गीले बदन पर पेटीकोट चिपका हुआ था जिसमें से उनका बड़ा सा कूल्हे और बड़े बड़े चूचे साफ़ दिख रहे थे.

उनके मुँह से ‘उहम्मम अअ ह्ह्ह इस्स …’ मार डाला रे आइ … और तेज और तेज कर. किसी का कोई डर नहीं था … बस चरम सुख का आनन्द जो मुझे चाहिए था, मिल रहा था. पिछले साल जब पूरे देश में लॉकडाउन लग गया था और इसकी वजह से पूरा देश बंद हो चुका था.