बीएफ चूत और लंड की चुदाई

छवि स्रोत,बाबा की सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

करिश्मा कपूर का सेक्सी: बीएफ चूत और लंड की चुदाई, मेरी सारी हिम्मत हवा हो चुकी थी और कुछ समझ नहीं आ रहा था तो मैं चुपचाप लेट गया और सुबह होने वाले काण्ड के बारे में सोचता रहा.

विराट सेक्सी

उसके बाद क्या हुआ?दोस्तो, मेरा नाम दीपक है और मैं एक बार फिर से आपके लिए एक कहानी लेकर आया हूँ।जब मैं किसी काम से बिहार गया था तो मैं पटना स्टेशन पर दोपहर 1 बजे उतरा। मेरा काम दो तीन दिन का था और उस वक्त बहुत तेज गर्मी पड़ रही थी।मैं प्लेटफॉर्म से बाहर निकलकर एक कोने में खड़ा होकर जूस पी रहा था. सेक्सी व्हिडिओ बीप्या मराठीथोड़ी देर बाद जब लंड खड़ा हुआ तो मॉम बोलीं- यहीं चोदेगा कि बेडरूम में चलें?मैं- रानी पूरी रात है बेडरूम के लिए.

चारू की योनि की संकीर्ण दीवारों ने मेरे लंड को चारों तरफ से बांध लिया था. ब्लू फिल्म सेक्सी अंग्रेजन कीमैंने उनके मुंह को एकदम से दबाया और उनके बदन के अंगों को बेतहाशा चूमने चाटने लगा.

फिर मैंने सिगरेट जला ली तो खुशबू ने मेरे हाथ से सिगरेट लेते हुए अपनी टांगें खोल दीं.बीएफ चूत और लंड की चुदाई: आंटी कराहने लगीं- आह्हह!जैसे ही मैं आंटी के बोबे को मुँह में लेता था, तो उनकी एक मस्त सीत्कार निकल जाती थी.

थोड़ी देर बाद मैंने अपना हाथ उनके ब्लाउज पर रखा और ब्लाउज का बटन खोल दिया.एक तरफ से मॉम की चूचियों का ऊपरी भाग भी हल्का हल्का बाहर दिख रहा था.

पिक्चर मराठी सेक्सी - बीएफ चूत और लंड की चुदाई

मैंने बोला कि ठीक है सर … मैं घर पर बात कर लेता हूँ … और कल आपको बता दूंगा.‘आहाहाहा … ऊहुऊहु … और जोर से … मादरचोद पूरा डाल भैन के लंड पेल दे अन्दर पूरा … आह भोसड़ी के बहुत मजा दे रहा है … आह बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा.

भाभी ने मेरी गर्म सांसों को महसूस किया और बस मेरे होंठों की तरफ अपने होंठ कर दिए. बीएफ चूत और लंड की चुदाई इधर मैंने भी उल्फ़त की अधूरी चुदाई की थी तो मेरा लंड भी एकदम लोहे की तरह सख्त था.

फिर चारू कातिल मुस्कान लिये मेरी ओर देखती हुई, अपनी मखमली गांड को हिलाते हुए, चाय बनाने के लिए किचन में चली गयी.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई?

मॉम ने बोला- क्यों चूत पसंद नहीं आई क्या?अंकल बोले- वो तो पहले से फटी है. शकील ने कहा- मामी ने तुम्हारी सारी बात बताई, तुम तैयार क्यों नहीं हो?सुनीता ने कहा- मैं ऐसा नहीं कर सकती. बात कुछ ऐसे शुरू हुई कि दीदी के कान में कुछ प्रॉब्लम थी, तो वो बाइक पर मेरे साथ डॉक्टर के पास गई.

भाभी तो खुशी के मारे चिल्ला रही थीं- अआहाह … ओहहहो … उईईईई और चूसो … आह खा जाओ इस निगोड़ी चुत को. मैंने उनकी गांड पर अपना लंड लगाया और हल्का सा धक्का देकर अपना सुपारा अन्दर घुसा दिया. इस धक्के से मेरा लिंगमुण्ड अपने रास्ते में आने वाली सारी रुकावटों को दूर करता हुआ उसकी बच्चेदानी से जा टकराया.

थोड़ी देर बाद मैंने ज़ोहरा आपा को खींचकर अपनी छाती से लगाया और अपने मोटे लंड को बहन की बच्चेदानी में घुसाकर मनी की पिचकारियाँ मारने लगा. अब भाभी को थोड़ी राहत मिलने लगी और धीरे-धीरे उन्हें भी चुदने में मजा आने लगा. मैं वहां से उठाकर उसको बेडरूम में ले गया, उसको वहां बेड पर लिटाया और वहां उसको 5 मिनट किस किया.

फिर ज़ोहरा अपने आप से बात करने लगी- रफ़ीक़ के आने में तीन हफ्ते रह गए हैं. तुम मेरी बाकी सहेलियों को भी जानती हो, उनका भी तुम्हारी तरह हाल है.

मैं अपनी प्यारी दीदी को गालों पर किस करते हुए उसके मम्मों को दबाने लगा.

मैं- कहीं क्यों जाना है, यहीं चेंज कर लो न!निशा भाभी- नहीं, बाथरूम में कर लूंगी.

और फिर मैं उन अंकल की तरह से ही अपनी कमर और गांड को हिला हिला दीदी की चुदाई करने लगा. तुम दोनों को मेरी बात माननी होगी, क्योंकि तुम्हारा पति होने के कारण मैं इस घर का मुखिया हूँ. और शायद खुद चुदने के चक्कर में ही उन्होंने ये बात और किसी को नहीं बताई.

वह जब भी अपने पीहर आती है, मैं भी उधर पहुंच जाता हूँ और उसको ताबड़तोड़ चोद कर ही आता हूँ. हम दोनों बस फ़ोन पर ही बातें करके मन शांत कर लिया करते थे … कुछ व्हाट्सएप पर भी चैट हो जाती थी. मैंने कहा- लेकिन मैं यहाँ पटना में 3 दिन के लिए हूँ और मेरा घर वेस्ट बंगाल में है और वहाँ मैं अकेले रहता हूँ, सोच लो.

क्योंकि दोनों बुआ के घर एक ही थे, वे दोनों दो भाइयों की पत्नियां थीं.

हमने उसके घर में बालकनी, सीढ़ियों पर, किचन में और यहां तक की लिफ्ट लॉबी में भी सेक्स किया. फिर वापस आ कर बोला- ठीक है, मैं पुलिस स्टेशन जाकर कार का नम्बर दे देता हूं कि ये कार मुझे ठोक कर भागी हुई है. मगर न वो कभी मुझसे कह पायी … और न मैंने कभी उससे अपने प्यार का इजहार किया.

थोड़ी देर में मेरी पतिव्रता पत्नी मेरे पलंग पर मेरे बाजू में आकर लेट गई. मेरे लेटते ही उसने खुद ही रजाई ढक ली और धीरे से कान में बोली- जल्दी से करो, मुझे फिर सोना है. मेरा हाथ भाभी की चूत पर पहुंचने ही वाला था कि भाभी ने मेरे हाथ को रोक लिया और बोली- अरे … रुक भी जाओ … इतने उतावले क्यों हो रहे हो … अभी पूरी रात पड़ी है।मोनिका भाभी ने मेरा हाथ पकड़ा और बोली- यह बात किसी को पता नहीं चलनी चाहिए.

मैंने इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करने के बाद अपनी इसी कामना को लेकर फिर से सोचना शुरू कर दिया था.

छोटी बुआ बोलीं- लेकिन हमारे पास तो ब्रा और पेंटी भी नहीं है ना … हम कहां ब्रा पहनते हैं … और पेंटी तो केवल उन दिनों में पहनते हैं. वो बोलीं- लेकिन हम अब चूत में लंड नहीं ले पाएंगे … गोली ली थी तो भी दर्द कर रही है.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई सामने सपना के पापा बैठे थे, मुझे नहीं मालूम था कि वो सपना के पापा हैं. फिर धीरे धीरे उनके लंड को अपने मुँह के अन्दर तक लेकर चूसना शुरू कर दिया.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई मैं मामी के बदन का रसपान करते करते उनके पेट से होते हुए उनकी नाभि तक पहुंच गया. देखते ही देखते उसने सबके सामने ही मेरी जेब में हाथ डाला और मेरा पर्स निकाल कर उसमें से उसमें पड़े फोटो वगैरह देखने लगी और उसने चुन्नी से उसको ढक रखा था लेकिन वो टॉर्च दिखाकर उसे देख रही थी तो सब कुछ दिख रहा था बाकी सारे लोगों का ध्यान उसी पर था तो मुझे तो काफी डर लग रहा था कि लोग क्या समझेंगे। वहां पर कई सारे लोग मुझे भी जानते थे.

मेरे दिल दिमाग में भी एकदम से कामुकता जागने लगी, लेकिन इस समय कुछ किया नहीं जा सकता था.

बीएफ इंग्लिश चुदाई बीएफ

उन्होंने अम्मी को किस करते हुए एक हाथ से अम्मी की सलवार का नाड़ा खोल दिया और एक हाथ अम्मी की सलवार के अन्दर डाल दिया ताकि उनके टाइट चूतड़ों का मजा लिया जा सके. वो मेरा सारा माल पी गयी।उस रात मैंने माँ की गांड भी मारी।दिन के 11 बज चुके थे रात भर चुदाई की वजह से माँ और मैं लेट सो कर उठे. भाभी अभी भी छूटने की कोशिश कर रही थी मगर वो यह भी जानती थी कि बगल में ही उसका पति सोया हुआ है.

मैंने कहा- क्या आप इसे मुँह में लेना नहीं चाहोगी?आंटी ने कहा- हां … ला लंड चूस देती हूँ. चाची की बेटी रुखसार की चूत मैंने किस तरह से चोदी और चाची ने मेरी मदद कैसे की, इसके बार में जानने के लिए आप जुड़े रहें. जैसे ही उसने मेरे लंड को हाथ में पकड़ा तो मैंने उसकी गर्दन को अपनी ओर घुमाकर उसके होंठों को किस करना शुरू कर दिया.

भाभी के साथ बेडरूम में नंगी मूवी चला कर टीवी पर भाभी के साथ मस्ती करते हुए चुदाई देखना …सेक्स कहानी पढ़ते हुए भाभी के बदन से खेलना …सारे घर में भाभी को उठा उठा कर चोद देना …भाभी की मोटी चूचियां पी पी कर गांड चोद देना …इस सबमें मुझे जरूरत से ज्यादा मजा आता था.

मेरा हाथ भाभी की चूत पर पहुंचने ही वाला था कि भाभी ने मेरे हाथ को रोक लिया और बोली- अरे … रुक भी जाओ … इतने उतावले क्यों हो रहे हो … अभी पूरी रात पड़ी है।मोनिका भाभी ने मेरा हाथ पकड़ा और बोली- यह बात किसी को पता नहीं चलनी चाहिए. घर में अकेली होने के खयाल से मेरे लंड में उत्तेजना के झटके लग रहे थे. सुमन भाभी की गांड चोदने लायक करने तक शोभा भाभी बेड पर नंगी लेट कर मुझे देखती रहीं.

लड़की के मुंह से तेज तेज आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … ओह्ह … और तेज … आई … याह … चोदो, मेरी चूत को फाड़ दो तुम… जल्दी।अब मैंने उसकी चूत को चोदने की स्पीड को बढ़ा दिया था. माथे से गले तक, फिर स्तनों को और फिर पेट तक, फिर जांघों को, फिर पैरों को भी पूरी शिद्दत के साथ चूमा. जिसको वो पहले तो पूरा पी गया और फिर उनकी चूत पूरी चाट चाट कर साफ कर दिया।अब मामी उठी और सागर की गोद में बैठ कर उसको बहुत प्यार करने लगी और साथ ही साथ बोली- आज पहली बार किसी ने मेरी चूत चाट कर मेरा पानी पिया है.

मैंने अपने लंड को धीरे से पीछे लेकर थोड़ा नीचे कर दिया और बुआ की चुत पर सटा दिया. मुझे बस ब्रा खोलने में थोड़ी परेशानी आई जिसमें अंकल ने मेरी मदद की हुक खोलने में!चड्डी उतारते समय मैंने बहुत नजदीक से दीदी की चिकनी चूत को देखा और महसूस किया.

जिस तरह से घुड़सवारी करते वक्त लगाम को हाथ में पकड़ते हैं … इसी तरह मैंने लगाम की जगह पर भाभी के सर के बाल पकड़ रखे थे. हम दोनों का ही मन था कि हम पूरी रात चुदाई करते रहें लेकिन अगले दिन मैंने पेपर देना था तो सोना भी जरूरी था. अम्मी ने थोड़ा सा सरसों का तेल अपने कूल्हों और गांड में लगाया क्योंकि फूफा को गांड मारने का बहुत ज्यादा शौक था.

मैंने अब उसे अपने ऊपर से उतार कर दीवार के सहारे टिका दिया और लंड पेल कर उसे रगड़ कर चोदने लगा.

अब मुझे कुछ ठंड भी लगने लगी थी, तो मैंने सोचा कि क्यों ना भाग कर सर के घर चला जाऊं और जैसे बारिश रुकेगी, तो अपने घर चला जाऊंगा. मैंने कपड़े उतारे और अपना खड़ा लंड हिलाते हुए भाभी से लंड चूसने को कहा. अब हालात ये हो गई थी कि वो खुद मेरे पास बैठने की इच्छा जाहिर करने लगी और इस तरह से हम दोनों क्लास में साथ में बैठने लगे.

उसकी चूचियां बहुत टाइट थी अंदर से! पता नहीं मुझे ऐसा पहली बार फील हो रहा था क्योंकि मैं पहली बार किसी लड़की की चूचियों को दबा रहा था. मैं अपने रूम में चली गयी और सामान आदि बिना खोले, कुछ देर के लिए सो गयी.

वो जोर ज़ोर से चिल्लाती रही- थोड़ा धीरे चोद ले साले, धीरे कर ले कमीने … थोड़ा धीरे चोद प्लीज़ … आहह्ह … ऊऊ. ऐसा लग रहा था कि चाची के चूचे उनके ब्लाउज को चीर कर बाहर निकल आएंगे. हम भाई बहन की चुदाई में हमारे माँ बाप रुकावट ना बनें, इसलिए मैंने योजना बनाकर बाप बेटी की चुदाई करवा दी.

नोरा फतेही का बीएफ

उसने मेरे लंड को लोअर के ऊपर से दबाते हुए कटीली मुस्कान के साथ बोला- अभी इसके लिए सेफ जगह नहीं है इसको अभी आराम करने दो.

मैं उसके मचलते बोबों को मसल रहा था, साथ में धीरे धीरे उसकी पीठ से उसे ऊपर नीचे होने में मदद भी कर रहा था. मैंने उसको पूछा कि तुम कहां पर रहती हो?तो उसने मेरे को बताया कि मैं मोहाली में रहती हूं और मैरिड हूं. जैसे ही उसने मेरे लंड को अपने गर्म से मुंह में लिया तो मेरे मुंह से एकदम से मस्ती भरी सिसकारी निकल गयी.

मैंने कहा- लेकिन मैं यहाँ पटना में 3 दिन के लिए हूँ और मेरा घर वेस्ट बंगाल में है और वहाँ मैं अकेले रहता हूँ, सोच लो. उसके बाद मैंने उसके मम्मों और होंठों को किस करके उसको दुबारा से गर्म कर दिया. सेक्सी फिल्म दिखा दे भाईकुछ देर बाद भाभी की दोनों टांगें मेरे सीने से लग गई थीं, जिसकी वजह से मुझे स्प्रिंग जैसा लग रहा था.

कुछ देर उसकी एक चूची को अपने मुँह में भर कर उसकी चुत में उंगली अन्दर बाहर की. उसके कपड़े उतर रहे थे और मेरे कच्छे के अंदर मेरी लुल्ली कड़क होने लगी थी.

हम दोनों बिस्तर पर 69 की पोजीशन में आ गए। अब वो मेरे लौड़े को और मैं उसकी चूत को चूसने लगा।5 मिनट बाद उसकी चूत ने नमकीन पानी छोड़ दिया।अब मैं तेजी से उसके मुंह में झटके मारने लगा और एकदम से मेरे लौड़े से वीर्य निकल पड़ा और मेरे गाढ़े माल को वो गटागट करके पी गई।थोड़ी देर तक हम दोनों बिस्तर पर ऐसे ही पड़े रहे. अम्मी ने यह बात मानी थी, उन्होंने अलमारी से तेल की बोतल निकाली और सुनीता की चूत पर लगा दी. तो फिर दोस्तो … इत्तेफाक से दो दिन बाद मेरे भाई की साली की शादी थी.

मैंने भाभी को थैंक्स कहा और उनसे पूछा- क्या आप चाय लेंगी?उन्होंने कहा- नहीं, मैं केवल ग्रीन टी पीती हूँ. मुझे हल्का दर्द हुआ, मेरे मुंह से ‘आह’ निकली क्योंकि उनकी उंगली भी बड़ी और मोटी थी. लेकिन मां मुझे नहीं देख सकती थी पर मौसी मुझे पूरे गौर से देख रही थी और बड़ी गौर से देख रही थी.

फिर उसने मुझे पेट के बल लेटा कर क्रीम अपने लंड पर लगा कर मेरीगांड में लंडडाल दिया.

मैंने लंड पीछे से चूत में उतार दिया। मैं अब पूरे जोश के साथ चूत चोद रहा था. इस बार मैंने अपने लंड पर थोड़ी क्रीम लगाई और उसकी गांड पर भी! और फिर से अपना लंड भाभी की गांड पर सेट किया और जोर का धक्का दिया.

पर तुम ये सब मुझे क्यों बता रही हो? मम्मी जी को बताओ ना!तो मीनाक्षी ने शक जताया- मुझे लगता है कि यह बच्चा आपका ही है. मैंने उसको पूछा कि क्या हुआ?तो उसने बोला- मुझे यहां पर कुछ ठीक नहीं लग रहा है. ”आपको खुश करना होगा? कैसे खुश करना होगा?”वैसे ही, जैसे एक औरत एक मर्द को करती है.

तब के बाद जब भी हम दोनों को मौका मिलता तो मैं उसकी खूब चुदाई करता था. अब मेरे सामने एकदम संगमरमर की मूर्ति की माफिक, हुस्न की मल्लिका, मेरी रानी चारू बिल्कुल नंगी थी. उनकी मंशा क्या थी, ये तो मैं नहीं जानता था … लेकिन मेरी चुदास अपना सर उठाने लगी थी.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई अगले दिन जब मैंने अपनी सहेलियों को ये सब बताया, तो वो सब पागल हो गईं. कल फिर से आपको उल्फ़त की चुदाई के साथ साथ अपनी सगी बहन की चुदाई की कहानी को भी लिखूंगा.

बीएफ पिक्चर चोदी चोदा हिंदी में

जीजा जी ने कहा- मैं मर जाऊंगा लेकिन इस शादी के लिए हां नहीं करूंगा. हम सब हॉस्पिटल के लिए दौड़े … और हमारे वहां पहुंचने से पहले ही उनका निधन हो चुका था. एक मिनट बाद उसने अपना सारा मुठ दीदी के मुँह में ही छोड़ दिया और बचा हुआ माल दीदी के मम्मों पर डाल दिया.

आगे बात करने पर पता लगा कि वो मेरे घर से 5 किलोमीटर की दूरी पर रहती हैं। रानी के दूध बार बार टकराने से मेरा लंड खडा होने लगा था जो मेरे लोअर में उभार बना चुका था. कुछ देर तक एक दूसरे के होंठों का रस पीने के बाद मैंने उसकी टॉप को उतार दिया. सेक्सी फिल्म भेजो पंजाबीतो मैंने कहा- बस थोड़ी देर … और फिर ये दर्द भी खत्म हो जाएगा।कुछ देर बाद ज्योति से मैंने पूछा- तेरी गांड का दर्द कम हुआ?तो उसने हाँ कहा.

उनकी इस बात को सुनकर मैं नीचे देख रहा था, लेकिन जब मैंने सर उठ कर भाभी का चेहरा देखा तो वह मुस्कुरा रही थीं.

जिसमें सत्यम ने हमारा साथ कोल्डड्रिंक से दिया और हम सब दो दो पैग लगाने के बाद मूड में आ गए. मैंने भी खुद को साफ किया और अपने कपड़े पहन कर उसको घर तक छोड़ कर आ गया.

मेरे प्यारे पाठको, आपको मेरी फैमिली सेक्स स्टोरी कैसी लगी?[emailprotected]. मेरा लंड पहले से खड़ा था क्योंकि वो मुझे काफी देर पहले से छेड़ रही थी. जब भी वो छुट्टियों में आती तो मैं उसके लिए सैन्टर फ्रैश, सुपारी और चाकलेट लाता था और वो बहुत खुश होती थी.

शादी के बाद रोहित और अवनीत हनीमून पर चले गये और लौटने के बाद जब मैं उससे मिला तो उससेहनीमून की चुदाई की कहानीपूरे विस्तार से सुनी.

मैंने उसकी चूचियों को पीते हुए उसकी चूत में लंड के धक्के एकदम से तेज कर दिये. लेकिन मुझे उसकी सिसकारियां सुन रही थी जिनको सुनकर मैं जोर जोर से उसकी चूत सहलाने लगा. रात को मैं अपनी मम्मी को दुल्हन की तरह तैयार करके अपने पापा के कमरे में ले गया.

फुल सेक्सी सेक्सी फुलधीरे धीरे करके मैंने पूरा लंड आंटी की गांड में उतार दिया और फिर उसकी गांड की चुदाई शुरू कर दी. हमने आपस में खुल कर सेक्स पर बात की और वैशाली ने मुझे अपना फोन नम्बर दे दिया.

भाई बहन की वीडियो बीएफ

गांव में बरात लेट ही आती है, तो हमें पहुंचते पहुंचते रात दस बज गए थे. मैंने भी उन दोनों से पूछ लिया कि उनका कोई ब्वॉयफ्रेंड है क्या तो उन्होंने भी मना कर दिया. कुछ देर तक जब भाई की तरफ से कोई हरकत नहीं हुई, तो मैंने अपना एक हाथ उसके पेट पर रख दिया.

इस समय चुत अपनी आग बढ़ाने का काम भी करती है … जिससे लंड का पिघलना भी जल्दी होने लगता है. बड़ी बुआ बोलीं- ठीक है … और हां हम जो भी कर रहे हैं, वो किसी को बता मत देना कि हम तुम्हारे सामने नंगे हुई थी. फिर श्रुति ने अपने घर वैशाली को बुला कर मेरी बात उनसे फोन पर करवायी.

मैं उन दोनों को देख कर बहुत खुश था कि आज इन दोनों की चुदाई देखूंगा. हम कुछ नहीं कर पाए थे लेकिन अभी बहुत कुछ होना बाकी था।उस दिन के बाद काफी समय बीता. वह यह है कि इंसान में सेक्स की शुरुआत किस उम्र से हो जाती है यानि कि सेक्स क्रिया, कामक्रीड़ा से पहला परिचय कब होता है.

मैं जब अपने कमरे में गयी तो देखा सागर मेरे बिस्तर में सो रहा था।अब कुछ दिनों तक हम दोनों (मैं और मेरी मामी) दोनों सागर के लन्ड से मज़ा पाते रहे. अबकी बार आधा लंड उसकी चुत में घुस गया और वो जोर से चिल्ला उठी- उईईई … आआह्ह मर गयी.

पिछले भागबेटे की उम्र के लड़के से चुद गयी मैंमें अब तक आपने पढ़ा था कि सत्यम मुझे चोद कर चला गया था.

इसके बाद जब मैंने पट्टा खींचा, तो उसके बाल खिंचने लगे और उसे बहुत दर्द होने लगा. करीना कपूर करीना कपूर की सेक्सी वीडियोभाभी रोज सुबह एक्सरसाइज करती थीं और जॉगिंग पर जाती थीं, इसकी वजह से भाभी की कमर पतली और गांड मोटी बन गई थी. सेक्सी सेक्स चोदा चोदीमैं बोला- ठीक है, आज से हम दोस्त हैं पर इस बात का घर पर नहीं पता चलना चाहिए. मैंने तुम्हें इतना डरा दिया, सॉरी तो मुझे बोलना चाहिए।मैं– कोई बात नहीं।शिल्पी– तुम अपना सामान रख लो.

मैंने उनसे बात करके संदीप और चारू के लिए उस घर को किराये के लिए उपलब्ध करा दिया।मेरे इस कार्य के लिए संदीप और चारू ने बहुत धन्यवाद दिया.

मुझे भाभी के फोन से प्रिया का नंबर मिल गया, पर नंबर लेकर क्या कर सकता था … मैं ये सोचने लगा. पिछले भागबेटे की उम्र के लड़के से चुद गयी मैंमें अब तक आपने पढ़ा था कि सत्यम मुझे चोद कर चला गया था. उन्होंने ढोकला का डिब्बा एक तरफ रख दिया और दूध का गिलास मेरे होंठों से लगा कर दूध पिलाया.

हम दोनों कमरे में आ गए और बाथरूम में अंकल मुझे कुतिया बना कर चोदने लगे. फिर हम पटना से वेस्ट बंगाल आ गए और इस बार मैं अकेले नहीं बल्कि अपनी रखैल के साथ आया था. रात के 10:00 बजे मैं बोला- मुझे नींद आ रही है, मैं अपने रूम में सोने जा रहा हूं.

एक्स एक्स हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो

जब ऑफिस के बाकी लड़कों को ये बात महसूस हो गयी कि आसिफा मेरे साथ ही ज्यादा वक्त बिता रही तो बाकी लड़कों ने उसको पटाने की कोशिश करना छोड़ दिया. उसके बाद उसने मेरा हाथ पकड़ कर कहा- इस दीये के चारों तरफ हम सात फेरे लेंगे।फिर हमने दीये के चारों तरफ घूमकर सात फेरे पूरे किए।मैंने पीहू को अपने सीने से लगाते हुए कहा- अब तुम मेरी दुल्हन हो, तुम्हारे मन और इस खूबसूरत तन पर किसका अधिकार है?तो वो बोली- मेरे प्यारे भइया का … जो अब मेरे सईंया भी हैं।मैंने पीहू से कहा- अब हम सुहागरात मनाएंगे. मेरी पिछली कहानी थी:भाभी की चुदाई के बाद बहन को भी चोदायह भाई बहन सेक्स कहानी मेरी और मेरी छोटी बहन आइला और मामू की लड़की ज़ाफिरा और उल्फ़त के बीच की है.

थोड़ी देर बाद सर ने मेरी ब्रा भी उतार दी और मेरे दोनों नंगे मम्मों से मज़ा लिया.

मैं अब खेत में जाकर गाजर, मूली, बैंगन और खीरे जैसी चीजें अपनी गांड में लेने लगा और मुठ मारता.

उसे शायद कुछ दर्द का अहसास हुआ, उसके मुख से निकला- उम्म्ह… अहह… हय… याह…व सिसकारियां भर रही थी. यहां पर कैसे बैठ सकते हैं, कोई गलत समझेगा।मैंने कहा- कोई बात नहीं, यहां झाड़ियों में कहीं बैठ कर आराम से बात करते हैं. arjun सेक्सीफिर चुदाई के बाद मैंने लंड बाहर निकाला और मां की चुत पोंछने के बाद उनके कपड़े ठीक करके सो गया.

मैंने फिर से चूमना शुरू कर दिया और एक हाथ भाभी की फुद्दी पर ले गया. मुझे ऐसा लगने लगा था कि यदि मैंने अभी चारू को नहीं रोका तो इसके मुख में ही मैं झड़ जाऊंगा. वो मेरे सामने इस समय काले रंग की ब्रा पैंटी में बहुत ही मस्त लग रही थी.

उसे देख कर ऐसा लग रहा था जैसे कोई विदेशी पोर्न स्टार सामने खड़ी हो।उसके बूब्स उसकी टीशर्ट के अंदर बिल्कुल फिट थे. मेरे मन में उनसे डर था और वह मुझे धमका के रखते थे कि यदि मैंने इस बात का जिक्र कहीं किया तो वे मुझे बहुत पीटेंगे और मेरी शिकायत करेंगे.

आप जानते ही हैं कि जब कोई लड़की सूट डालकर कमर पर हाथ रखे और सवालात वाली निगाहों से देखे तो उस दृश्य की आप कल्पना कर सकते हैं।मेरा तो ये सब देखते ही खड़ा हो गया था।थोड़ा संभालते हुए उससे कहा- बहुत अच्छी लग रही है इसमें.

मैं- क्यों?निशा भाभी- मुझे शर्म आती है और दुल्हन को सजा-धजा देख कर पहले घूंघट भी तो उठाओगे कि ऐसे ही सब कर लोगे?मैं- ओके जान. बात 15 दिन पहले की है।एक बार ऐसा हुआ कि जब मैं मेरी बीवी को सेक्स के लिए मना रहा था तब मेरी सास हमारी बातें सुन रही थी. 4-6 रूपये में उपलब्ध इस पत्रिका में पूरे पेज 5-7 नंगी तस्वीरें होती थी जिन्हें ‘पिन-अप’ कहते थे.

डॉक्टर सेक्सी वीडियो इंडियन रूम में आते मैंने उनको दीवार के सहारे खड़ा करके किस करना शुरू कर दिया. शिल्पी मुझे घूरे जा रही थी।मैंने नीता से पूछा तो नीता ने मुझे बताया- मैंने शिल्पी से शर्त लगाई थी और शिल्पी हार गई.

मैं अपनी आंखें बंद करके अपना लंड शनाज़ के मुँह के हवाले करके मजा लेने लगा- शनाज़ मेरी जान … कल रात की चुदाई मैं कभी भूल नहीं पाऊंगा. मेरे यार के मुख से सिसकारियाँ निकल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उसके आधे कपड़े निकले हुए थे, पूरे भी अभी नहीं उतरे थे।लेकिन मैं पूरी नंगी थी. मैंने भाभी की टांगों को फैला कर चुदाई की पोजीशन बनाई और उसी वक्त उसकी चूत पर लंड को लगा दिया और अन्दर धकेल दिया.

आदमी की गांड मारने वाली बीएफ

उसकी नशीली आंखें जैसे कह रही थीं कि आ जाओ … अब देर न करो … मेरे जिस्म को ठंडक दे दो. उसके बाद उसने वैसे ही लन्ड बहन की चूत में घुसाए हुए ही बेडरूम में लेजा कर बेड पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया. आंटी की चुत चुदाई से मेरे लंड की नसें फूल गई थी … जिससे आंटी की चुत में लंड की रगड़ और मस्त होने लगी थी.

इधर मुझे पता चला कि ज़िन्दगी में पहली बार मुझे लड़कियों के साथ एक ही रूम में पढ़ना पड़ेगा. भाभी ने बोला- कॉलबॉय ऐसे नहीं करता … वो तो सामने वाले की फरमाइश पूरी करता है.

इसी कारण मैं भी नई-नई हसीनाओं, भाभियों व आंटियों की चूत का दीवाना रहता हूं.

हल्का सा धक्का लगाते ही मेरे लंड का सुपारा उसकी चिकनी चूत में घुस गया. मैंने भाई की साली की वर्जिन चूत की चुदाई कैसे की?दोस्तो, मैं सिद्धार्थ अन्तर्वासना पर अपनी पहली सेक्स कहानी लेकर आप लोगों के सामने हाज़िर हूं. मैं उसके पास तक गई और उससे बोली- क्या बोले तुम?उसने कहा- तुमने सुन तो लिया है.

भाभी ने सुबकते हुए बताया- तुम्हारे भैया मुझे ख़ुश नहीं रख पाते हैं. अचानक से मेरे लंड का टोपा उसकी चुत में घुस गया और चुत का दरवाजा सा खुल गया. तब तक माँ ने अपनी ब्रा और पैंटी भी निकाल दिया।माँ इतनी जल्दी कहाँ झड़ने वाली थी। थोड़ी देर चूत चूसने के बाद अब बारी उनकी थी.

जैसे ही मेरे लंड का मोटा सुपारा आपा की बच्चेदानी में घुसा, वैसे ही मेरी बड़ी बहन की आंखें दर्द के मारे फटने का हो गयी.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई: मैं नाश्ता करके छत वाले रूम में आराम करने गया और गुड़िया के चोदने का प्लान करने लगा. और कब सामान्य बातों से हम प्यार की बातों पर आ गये, हमें पता ही नहीं चला और हम बस कॉलेज और उसके बाहर बस प्यार की बातें ही किया करते थे।कॉलेज में जब हम साथ होते थे तो मौक़ा पाकर मैं कभी कभी उसकी जाँघ या पीठ पर हाथ फेर देता था जिससे वो सिहर जाती थी।अब वो मेरी गर्लफ्रेंड बन गयी थी.

तो मैंने यह कहां से सीखा? तो आजकल तो आप जानते हैं कि पोर्न मूवी में सब कुछ देखने को मिल जाता है।तभी मुझे ध्यान आया अब तो बहुत टाइम हो गया मेरे दोस्त भी मेरा इंतजार कर रहे हैं. दो-तीन मिनट के बाद मैंने उसके होंठ से अपने होंठों को हटाया, तो वो लम्बी लम्बी सांस लेते हुए कराह रही थी. मैंने अपना प्लान बना कर उन्हें बोला कि सिखा तो मैं दूंगा … लेकिन आप इन कपड़ों में नहीं सीख पाएंगी.

मेरा मन करता था कि अपनी गांड में किसी का लंड लेकर चुदवा लूं ताकि वो खुजली मिट जाये.

उनके हाथ मेरी चूचियों पर आ गये और वो मेरे ऊपर झुककर मेरी चूचियों मसलने लगे. कुछ समय वैसे रहने के साथ ही मैं धीरे धीरे नीचे बढ़ने लगा और नीचे आकर मैंने अपने दांतों के सहारे उसकी पैंटी को नीचे करना शुरू कर दिया. आप सभी के सामने आज अपनी बीवी की चुदाई की कहानी लिख कर मैं खुद को काफी हल्का महसूस कर रहा हूँ.