नंगी सीन बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ नॉर्मल

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एनिमल बीएफ: नंगी सीन बीएफ हिंदी, पर आपने पता नहीं क्या कर दिया था, तो सब ऐसे ही मुँह से निकल गया था.

इंग्लिश पिक्चर बीएफ इंडियन

तीनों एक ही घर में रहते हैं और नजदीक के कस्बे में कपड़ों का शोरूम चलाते हैं. हिंदी बीएफ नई मूवीरूचि- आउच राहुल, प्लीज धीरे धीरे करो ना, बहुत दर्द हो रहा हैं उसमें.

मैंने वहीं किचन में बाकी पूरी रात उन्हें चोदा और वहीं फर्श पर हम दोनों नंगे सो गए. न्यू देहाती बीएफहमारे घरों में बैठने वाला एक स्टूल नुमा होता है, उसे ही पीढ़ा कहा जाता है.

लेटकर मैंने उसके सामने बांहें फैला दीं और उसे मेरे ऊपर आने का इशारा किया.नंगी सीन बीएफ हिंदी: वो कहने लगी- नहीं, तुम मेरी फूल सी बहन को हैवानों की तरह चोदोगे, मैं तुम्हें ऐसा कभी नहीं करने दूंगी.

इस सबमें एक बात ऐसी थी, जिसने मुझे अब तक नहीं छुआ था और वो था सेक्स.पहले धक्के में उसकी जोर से चीख निकली- आईई … मम्मी … मर गयी … ओफ्फो … ऊईई … आराम से डाल यार … इन्सान हूं मैं भी.

बीएफ दे बीएफ हिंदी में - नंगी सीन बीएफ हिंदी

फिर मेरा एक दूध उन्होंने सर के मुंह में दे दिया और दूसरे को खुद पीने लगे.ये सब देख कर मेरे जिस्म में अजीब सी सनसनी फैल गई और मेरी चूत में चीटियां रेंगने लगीं.

नीचे से मैंने पूजा भाभी की साड़ी में हाथ दे दिया और उसकी जांघों को सहलाते हुए उसकी पैंटी में हाथ घुसा दिया. नंगी सीन बीएफ हिंदी मैंने शादी में काले रंग का सूट पहना था, मैंने भाभी के साथ भी सेल्फी कैमरे से फोटोज भी खींची.

उसमें कैद उसके 28 के बूब्स मानो बाहर आने को बेताब थे और राहुल को चुनौती दे रहे थे.

नंगी सीन बीएफ हिंदी?

उसकी कुंवारी चूत में चुदाई करते हुए लंड के अंदर बाहर होने की आवाज कमरे में सुनी जा सकती थी जो पच … पच … की ध्वनि के साथ निकल रही थी. वो हंसते हुए बोली कि कहां खो गए थे?मैं कुछ बोल नहीं पाया क्योंकि मेरी आवाज ही नहीं निकल रही थी. मैं अब ऊपर की ओर गया और उसके ब्लाउज को खोल कर उसकी चूचियों को आजाद कर दिया.

उस दिन के बाद से चाची की चुदाई का दौर शुरू हो गया और हमने बहुत मस्ती की. मुखिया- देख गीता, तुझे तेरे घर वालों की ख़ुशी चाहिए या नहीं? अब फैसला तेरे हाथ में है. बहुत गर्व हो रहा था अपने और अपने लंड के ऊपर।प्रिया भी पूरी खुश हो गयी थी.

वैसे तो भाभी अक्सर शॉर्ट और टी-शर्ट पहनती हैं … लेकिन इस समय मेरा नजरिया एकदम बदल गया था. मेरे मौसाजी दिल्ली में रहते थे जो तीन चार महीने में एक बार आते थे या मौसी ही उनके पास चली जाया करती थी. चूंकि अब तो मेरी बात उससे बंद हो चुकी थी और हमारा फोन सेक्स भी शादी के पहले ही खत्म हो गया था, इसलिए मैंने उसके बारे में सोचना बंद कर रखा था.

तभी मैंने देखा कि अम्मी एक टाईट लैगी और कुर्ती पहने हुए घर में काम कर रही थीं. बस इसी बात का फायदा उठा कर मुखिया उसके करीब को हो गया और धीरे धीरे उसकी पीठ पर हाथ फेरने लगा.

अब राहुल थोड़ा गाली की शुरूआत करते हुए बोला- बोल साली, लेगी मेरा लौड़ा!मैं तो पहले से ही भट्टी सी तप रही थी मैंने कहा- साले दे दे, जो देना है … क्यों मेरी फुद्दी को तड़पा कर पाप कर रहा है.

मेरी एक चूची मेरे पति के मुंह में थी और दूसरी चूची सर के हाथ में।आह्ह … दोस्तो, सच में क्या मजा मिल रहा था.

बालों से भरी हुई रसीली और गीली चूत बहुत ही शानदार लग रही थी लेकिन बहुत बड़ी थी. एक आदमी ने अम्मी को अपने ऊपर बैठा लिया और ब्लाउज़ के ऊपर से उनके मम्मों को दबाने लगा. कॉलेज गर्ल सेक्सी चूत स्टोरी में पढ़ें कि मेरी क्लास में आयी नयी लड़की मेरे पीछे पड़ गयी.

तो भाभी ने पूछा- कहां जा रहे हो?मैंने बोला- मैं अपने घर जा रहा हूँ. उसकी गांड को चिकनी करके मैंने लंड के टोपे को छेद पर टिकाया और एक धक्का जोर से मार दिया. मैंने फ़ोन को लॉक मोड से हटा दिया था और स्क्रीन टाइम बढ़ा दिया था ताकि फ़ोन बार बार लॉक और स्क्रीन ऑफ़ ना हो.

मैंने धीरे से मामी को हिलाकर देखा तो उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

मुखिया और कालू बैठे बातें कर रहे थे तभी सन्नो उनके पास आई और कहा आज का काम हो गया. भाभी बोली- अगर वो तैयार भी हो गये तो कितनी देर टिकेंगे, उनके साथ करने का फायदा ही क्या है?इस पर मैंने पूछा- उनकी दवाईयां अभी भी चल रही हैं क्या?भाभी बोली- हां, चल रही हैं, क्यूं क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं, बस पांच मिनट रुको, मैं अभी आया. जब भाभी वापस आईं, तो मैंने पूछा- क्या खरीद लिया भाभी, बताओ ना?भाभी- कुछ नहीं … बस ऐसे ही.

उन्होंने मुझे मेरा कौमार्य बचाए रखने को धन्यवाद कहा और मुझसे वादा किया कि वो हमेशा सिर्फ मेरे ही बन कर रहेंगे. आप यकीन नहीं मानोगे मेरा यह सेक्स का पहला अनुभव था और मेरी सील टूटी नहीं थी. फिर मैंने मन में ही कहा कि कोई बात नहीं, आज तो झड़ना ही है किसी भी हाल में.

हर रोज वो पी कर घर आता है और इतना नशे में होता है कि कभी कभी उसके शू और कपड़े भी मुझे निकालकर उसे सुलाना पड़ता है.

चुदाई का मज़ा भी क्या गज़ब चीज है इंसान को कितना बेशर्म बेहया बना देता है. मेरे हाथ में सीधी भाभी की चूत आ गई। अब मैं भाभी की चूत को मसलने लगा।वो बोली- आह्ह … रोहित, मत कर ना … प्लीज रुक जा.

नंगी सीन बीएफ हिंदी फिर मैंने उसकी मैक्सी के अंदर हाथ दे दिया और धीर से हाथ सरकाते हुए उसकी चूचियों तक ले गया. इस बार मैंने उसे घोड़ी बनाया और थूक लगा कर उसकी गांड में लंड डालने लगा.

नंगी सीन बीएफ हिंदी ऐसी भी क्या जल्दी है आपको!वह दोबारा हाथ को इधर उधर लगा कर देखने लगी. वो चादर के अंदर ही मेरे लौड़े के ऊपर हाथ रखे रही। मामी दूर से ही बात कर रही थी। मगर मामी बहनों की चूत चुदास देख चुकी थी.

कई बार ऐसे ही मैंने भाभी के 34 साइज के बूब्स भी दबा दिए थे, जिसका भाभी जी कोई विरोध नहीं करती थीं, बल्कि वो हंसती रहती थीं और ज्यादा जोर से दूध दबने पर आह कहते हुए शर्मा जाती थीं.

बीएफ सेक्सी डॉक्टर की

उसने मुझे फर्श पर लिटा लिया और अपनी गांड खोलकर मेरे लंड पर चूत को रख दिया. भाभी मुस्कुरा कर बोलीं- इसे तो मैं अभी शान्त कर देती हूँ, बाकी कबड्डी बाद में खेलूंगी. मुनिया- धत्त भाबी … आप भी ना!सन्नो- क्यों मैं झूठ बोल रही हूँ क्या? खा मेरी कसम कि हम दोनों की चुदाई देख कर तेरी चुत में जलन नहीं हुई!मुनिया का चेहरा शर्म से लाल हो गया था.

सोचा कहीं तुम नाराज न हो जाओ, मेरे प्यार को वासना न समझ बैठो … इसलिए मैं रुक गया था. अब सारे राज़ एक साथ जानोगी क्या! बस इतना समझ लो कि दो नंबर के काम हैं. फिर मैंने भाभी को दूसरी तरफ घुमाकर झुका लिया और पीछे से उसकी चूत में लंड दे दिया.

मैंने भाभी को लेटने को कहा और खुद उनकी बगल में लेट गया और धीरे-धीरे उनके मम्मे दबाने लगा.

जब मैंने घूम कर देखा, तो मेरे पीछे मेरा भाई कासिब नंगा खड़ा था और उसका गर्म लंड मेरे नंगे चूतड़ों पर चुभ रहा था. मैं समझ गया और थोड़ी देर रुकने के बाद मैंने फिर से धक्के देने शुरू कर दिए. संध्या मौसी मंदिर जा रहीं थीं और मुझसे कह के गयीं थीं कि रूपांगी बिटिया डिनर के लिए तू सब्जी काट देना और दाल कुकर में उबाल कर रख देना बाकी काम वो कर लेंगी.

मीता- यहीं दिखाऊं … कोई आ गया तो!सुरेश- हां सही है, ऐसा करो तुम अन्दर जाकर कपड़े निकालो, मैं उधर ही आता हूँ. जैसे ही पैंटी निकल गयी, उसकी चिकनी मक्खन जैसी मुलायम चूत राहुल के सामने आ गई. मैं बोला- जब वो शाम को क्लास से लौटकर आये तो आप नहाने का बहाना कर लेना और दरवाजा मत खोलना.

तब चाचा ने मुझसे कहा- जब तक तेरी भाभी यहां पर हैं, उनका ख्याल तुझे ही रखना है और उन्हें किसी भी चीज की जरूरत हो, तो उनकी हेल्प कर देना. अचानक वो फिर से बड़बड़ाई- बहन के लौड़े, तूने आग लगा दी है मेरे जिस्म में, अब चोद दे मुझे कुत्ते … साले … मेरी चूत में लंड दे दे अब। मैं मरी जा रही हूं … आह्ह … चोद दे यार प्लीज। मैंने अब तक उंगली से ही काम चलाया है.

सुशी के अन्दर आते ही मैंने दरवाजा बंद करके उसे अपनी बांहों में भर लिया. मैं कंपनी में ही उनसे चुदवाने की प्लानिंग सोचने लगी लेकिन ऑफिस में चुदाई होना संभव नहीं था. मैं उनकी गर्दन पर जोर जोर से चूमने चाटने लगा, जिससे वो बेहद कामुक होकर गर्म आहें भरने लगीं.

उधर सुरेश क्लिनिक पहुंच गया था और जैसे कल तय हुआ था, मीता भी तैयार होकर पहुंच गई थी.

मुझे मेरे फेसबुक मैसेंजर पर एक मैसेज आया जिसमें एक शादीशुदा आदमी ने अपनी पत्नी की फोटो भेजी हुई थी. बहू के नर्म हाथों से मालिश पाकर ससुर को बहुत आनंद आ रहा था। ससुर अपने जांघिया के फीते को पकड़ उठ खड़े हुए. दोस्तो, रुक्मणी भाभी की मादक जवानी को लेकर मैंने ठान लिया था कि इनकी चुदाई की कहानी आप सभी को सुनाना ही है, चाहे कुछ हो जाए.

मैं वैसे तो अपने घर में इकलौता बेटा था, पर मेरे तीन चचेरे भाई हैं, जिनकी शादियां हो चुकी हैं. उसके बाद मैंने उसे आइसक्रीम दी, वो उसे चूस कर ऐसे खा रही थी, जैसे मेरा वीर्य खा रही हो.

क्या मस्त चूची लग रही थी आंटी की! ऐसी चूचियां पोर्न वीडियो में दिखाई जाती हैं. मेरे पिताजी के दोस्त की एक बेटी थी और मेरे पिताजी चाह रहे थे कि मेरी शादी उनके दोस्त की बेटी के साथ हो जाये. उधर सुरेश क्लिनिक पहुंच गया था और जैसे कल तय हुआ था, मीता भी तैयार होकर पहुंच गई थी.

सेक्सी बीएफ हिंदी वीडियो सेक्सी बीएफ

सुरेश ने उन दोनों को पीछे के रास्ते से बाहर निकाल दिया और खुद वापस अन्दर आया, तो मीता कुर्सी पर बैठी उसको देख कर मुस्कुरा रही थी.

मैंने नताशा को जोर से भींच लिया और कुत्ते की तरह उसकी चूत को फाड़ने लगा. मैंने उससे पूछा- तुम इतना कम क्यों दिखती हो?वो चौंक गई- क्या??मैं बोला- मतलब, तुम लोगों के साथ ज्यादा बात नहीं करती हो न, बस इसलिए कह रहा था. इतना बोलकर सुरेश उसकी चुत पर टूट पड़ा और नमकीन चुत की रसभरी फांकों को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा.

अम्मी कुछ नहीं कर रही थीं मगर राज मेरी अम्मी के मम्मों को उनकी मैक्सी के ऊपर से ही मसलने और दबाने लगा. आज पहली बार मुझे अहसास हुआ कि भाभी की चूचियां बड़ी तो थी हीं … हथेली से जोर देते ही भाभी की चूची पूरी तरह से दब गई. सेक्स मूवी बीएफ वीडियोसाथ ही उनके पेट और चूत की भी मालिश करने लगा।जब मैं उसकी चूत में मालिश करता तो वो अपनी चूत को छुपाने का प्रयास करती लेकिन ऐसा संभव नहीं हो पा रहा था.

थोड़ी देर उसके मम्मों से खेलने के बाद उसने मेरी आंखों में देख कर कहा- मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं, अब से मैं बस तुम्हारी हूँ. उसकी चुत देख कर मैं हैरान था, मगर अपने मस्त तने हुए चुंचो से वो भरपूर माल लग रही थी.

भाभी का ब्लाउज पूरा खुल चुका था और मैं उनकी चूचियों को दबाने में जुटा था. अब बहू ने उनकी कमर को रगड़ते हुए उनके अंडरवियर में हाथ घुसा लिया और अपने ससुर के मोटे मोटे चूतड़ों को रगड़ने लगी. फिर धीरे धीरे से नीचे होते हुए मेरे लंड पर बैठती चली गई और मेरा लंड उसकी चूत में घुसता चला गया.

मैंने ये बात अपनी बीवी दीक्षा को बताया, तो वो मुझे धौल जमाते हुए बोली- तुम नहीं सुधरोगे. फिर धीरज बोला- अरे इकबाल साली की पेन्टी उतार न इसकी चुत तो देखने दे. मीता- मगर बाबूजी मेरा लंड लेने का बहुत मन है, उसका क्या होगा!उसकी बात सुनकर सुरेश समझ गया कि इसको ठंडा करने के चक्कर में सुमन के सामने नज़रें नीची हो जाएंगी.

मैंने भी कह दिया- चिंता मत करो भाभी, आपकी मर्जी के बिना कुछ नहीं करूंगा.

मेरी अम्मी ने पास रखी तेल की बोतल ली और लंड पर तेल टपका कर मालिश करने लगीं. जिस दिन ये घटना हुई थी उस दिन मैं अपनी मॉम के साथ अपनी मौसी के घर से लौट रहा था.

उस रात भी वो चोदते हुए कह रहे थे- साली रंडी … मैं तुझे इतनी पेलता हूं लेकिन फिर भी तेरी चूत की प्यास शांत नहीं होती है … लगता है तुझे तेरे पांडेय सर का लंड दिलवाना ही पड़ेगा. अगर आपको इस एडल्ट सेक्सी चैट में मज़ा आए, तो फिर हम लोग आगे की सोचेंगे कि क्या करना है. हम तीनों बाप बेटे दिन रात उस हरामी मुखिया के खेतों में अपना खून जलाते रहेंगे? आप बापू से कहती क्यों नहीं कि उससे हिसाब करके देखे, पता तो लगे कि हमारा कितना कर्ज़ बाकी है.

इस वाले कॉलेज में सबसे अच्छी बात ये हुई कि मेरी मौसी की लड़की रूचि को भी यहीं एडमिशन मिल गया था और हम दोनों कॉलेज के पास ही एक पी जी में रूम लेकर रहने लगीं थीं. मुझे लंड लेने में दर्द तो हुआ लेकिन उसके आगे जो मजा आने वाला था उसको सोचकर मैं सारा दर्द बर्दाश्त कर गयी. कासिब मुस्करा कर बोला- जा साली रांड … वहां तेरा बाप तेरी चूत का भोसड़ा बनाने के लिए अपना लंड हिला रहा है.

नंगी सीन बीएफ हिंदी अब धीरे धीरे उसको मजा आने लगा था और वो अपनी कमर को ऊपर उठाने लगी थी. अब मैं फिर से मौसी के ऊपर लेट गया और कुत्ते की तरह तेज तेज लंड को चूत में पेलने लगा.

सेक्सी बीएफ साउथ की

अपने पति सोनू से मैंने जॉब करने के लिए पूछा तो उन्होंने हां कर दी और मैं भी फिर काम पर जाने लगी. दोस्तो, इस तरह से मुझे अपनी बीबी की सुहागरात की चुदाई करने के लिए एक महीने के बाद मौका मिला और अब मैं पूरी तरह से खुश हो गया था. मुनिया- छी: छी: भाबी आप कैसी गंदी बातें करती हो, मैं भला क्यों लेने लगी उसको मुँह में … और ऐसी चीज को कौन लेता है अपने मुँह में … ये सही नहीं है.

उसके घर जाकर मैंने मसाज करके उसकी सेक्सी पत्नी रीमा मैडम को गर्म किया और उसकी चूत में उंगली करके उसको चुदाई के लिए उकसा दिया. कुछ ही देर में हम दोनों ने खाना खत्म कर लिया और भाभी बर्तन साफ करने लगीं. चोदा चोदी वाला बीएफ चोदा चोदी वालामैंने कहा- यार तुम्हारी बहन मेरी आधी घरवाली है, क्यों न तुम मुझे उसका स्वाद चख लेने दो.

मैं अपने एक हाथ से उनके चेहरे को पकड़े हुए था और दूसरा हाथ उनके मम्मों पर फेर रहा था.

सुमन- तो तुम क्यों नहीं होते … मुझे तुमसे जलन होने लगी है … इतने हट्टे कट्टे हो, लंड भी ठीक ही होगा, तो मुझे देख कर तुम्हारा वो कभी खड़ा क्यों नहीं होता. जान जब आपकी चुत मेरे मुँह में मजा देगी, तब आपकी चुदासी आवाज निकलेगी और आपकी सेक्सी आवाज पूरे रूम में गूंजने लगेगी.

राहुल हौले हौले से उसकी चूत पर हाथ फेर रहा था और एक हाथ से उसके मम्मों को दबा रहा था. लेटकर मैंने उसके सामने बांहें फैला दीं और उसे मेरे ऊपर आने का इशारा किया. मेरा रूम से स्टेशन 3 किमी पर था, मैं वेट कर रहा था और स्टेशन पर आंखें सेंक रहा था.

वो जल्दी से मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लन्ड को पकड़कर अपनी चूत में सेट कर लिया.

मैंने लंड पर थोड़ा थूक लगाया और चुत की फांकों में सुपारा सैट करते हुए एक तेज धक्का लगा दिया. शबाना- अरे तुम कब आए?मैं- मैं बस अभी ही आया हूँ, तुम नहीं गई शादी में?उसने इस बात का कोई जवाब नहीं दिया, वो बस एक मुस्कान के साथ रसोई में चली गई. कुछ देर के बाद उसने पूछा- आप कहां जा रहे हैं?मैंने कहा- मैं तो ग्वालियर जा रहा हूं.

सबसे मोटी बीएफचूंकि फोन नम्बर लेते देते वक्त ही ये सीन बन गया था कि भाभी मुझसे सैट हो गई हैं. मैंने उनसे कहा- ठीक तो बताइए क्या बात करना है?उन्होंने मुझसे कहा- फोन पर बात नहीं हो सकेगी, आप रायपुर आ जाओ और अकेले ही आना.

गैलरी की सेक्सी बीएफ

ऐसे साजिश क्यों की आपने?मुखिया- ये क्या बकवास कर रही हो तुम … मैं तुम्हें क्यों मारना चाहूँगा?सुमन- ऐसी भूतिया हवेली में मुझे लाना एक साजिश ही तो है. दस मिनट बाद मैंने समीक्षा की तरफ करवट ले ली और उसके ऊपर हाथ रख दिया. सुमन के चेहरे पर एक क़ातिल मुस्कान आ गई थी, जिसको कालू भी अच्छी तरह समझ गया था.

भाभी ने हल्की सी आवाज निकाली- आह्ह क्या कर रहे हो?मैं- जो करना चाहिए. अब आगे की माय बॉयफ्रेंड सेक्स स्टोरी:अब विक्रम ने गरिमा को, आदिल ने मुझे और जॉन ने साक्षी को पकड़ लिया। सोमेश, अनिल और राजीव ने बारी बारी से हम तीनों की चूचियों और चूत पर रंग लगाया. मैंने भूसा लगी उनकी मस्त गांड को चाटा और फिर उनके मस्त नर्म चूतड़ों को मसलने लगा। चूतड़ों की गोलाइयों में और गहराई में भी भूसे ने जगह बना ली थी। मुझे चूतड़ों को मसलने में बहुत आनंद आ रहा था.

मैंने बाहर से ही देखा कि भाभी शॉप में लेडीज अंडरगारमेंट्स के सेक्शन में गयी थीं. मैंने उसके बालों को पकड़े और अपना पूरा का पूरा लंड उसके मुँह में दबा दिया था … तो उस बेचारे को मेरे लंड का पूरा रस पीना पड़ा. राहुल के लौड़े ने जैसे ही मेरी फुद्दी की सील फाड़ी, मैं इतनी जोर से चिल्लाई मानो भूकम्प आ गया हो.

मैं पहले राउंड में उसे शान्ति से ही चोदना चाहता था … ताकि अगले राउंड में उसे सही से चोद सकूं. वो बोली- कहां होती हैं ये ग्रंथि?मैंने कहा- ये तो छूकर ही पता लग सकता है.

अब नीचे से मेरी चूत में मेरे पति का लंड था और पीछे मेरी गांड में सर का लंड घुसा हुआ था.

मैंने उससे पूछा- तुम इतना कम क्यों दिखती हो?वो चौंक गई- क्या??मैं बोला- मतलब, तुम लोगों के साथ ज्यादा बात नहीं करती हो न, बस इसलिए कह रहा था. बताइए बीएफचूहे बिल्ली और ना जाने कितने जानवर इसमें भरे पड़े हैं … और हां एकाध उल्लू भी इसमें हैं, जिसकी आवाज़ रात को किसी इंसान जैसी लगती है. एक्स एक्स बीएफ हिंदी में वीडियोमैंने कहा- अगर आपको ज्यादा दिक्कत है तो मैं आपका सामान आपके रूम तक भी छुड़वा सकता हूं. अब मेरी चूत उनके लंड को छू रही थी; और मैंने अंदाज़ से पूरी ताकत से कमर उछाल दी.

पोर्न वीडियो में जबरदस्त चुदाई चल रही थी और इधर मैं भाभी की चुदाई के पगला गया था.

वो आँख बंद करके सिसकारी लेने लगा- उह्ह … आह्ह … स्स् … आह्ह … हाय … चूस … मेरी जान … और चूस।कुछ देर चूसने चाटने के बाद मैंने अपनी गांड को उसके मुंह पर रख दिया और वो मेरी गांड को चाटने लगा. मेरी बीवी बोली- मैं भी चलूंगी और वहां पर हम लोग ताजमहल भी देख आएंगे. सुरेश- सुबह जो गधे का लंबा सा लटक रहा था, उसको क्या बोलते हैं … तुम्हें पता है?मीता- पहले तो मुझे उसका नाम नुन्नू पता था.

काफी सोचने के बाद मेरे खाली पड़े मकान में मैंने सुशी को मिलने बुलाया. क्योंकि मुझे खुद गांड मरवाने का अनुभव लेना ही था; मेरे पति नमन से तो मुझे इस मामले में कोई उम्मीद थी ही नहीं. मेरी चूत से मिलन का रस बहता हुआ मौसा जी की झांटों को भिगोता हुआ बिस्तर गीला करने लगा.

हिंदी में एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियो

कुछ ही देर में वो इतनी ज्यादा गर्म हो गई थी कि मेरे बालों को नौंचने लगी और मेरे कपड़े खोलने लगी. अब राहुल ने अपने लौड़े को जहां तक अन्दर गया, वहीं तक रहने दिया और मेरे होंठों, मेरे बोबों मेरे चूचुकों को चूसने लगा. जब मैंने पहली बार अपनी गर्लफ्रेंड की चुदाई की थी, जो मेरी जिंदगी का पहला सेक्स अनुभव था.

मैंने मौसी के ब्लाउज के ऊपर से जोर जोर से उनकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया.

फिर मेरे लन्ड पर कूदने लगी और अपनी चूत चुदवाने लगी।अब शायद उनका पानी निकालने वाला था.

उसके बाद उसने क्या किया?दोस्तो, मैं राज सिंह उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले से हूँ. अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली भाभी न्यूली मैरिड सेक्स स्टोरी है और थोड़ी लम्बी है, शायद कुछ लोगों को बोर भी लगे. बीएफ हिंदी देहाती सेक्सउसके साथ एक बड़ी दिक्कत ये थी कि वो लोग मांसाहार भी करते थे जबकि मेरा परिवार पूरा का पूरा शाकाहारी था.

थोड़ी देर में जब वो आह … आह … करने लगी तो मैंने नीचे से झटके मारना शुरू कर दिया और पूरा लिंग अंदर चला गया. मैं चूंकि बचपन से ही अपना लंड हिलाते आ रहा हूँ, तो इसकी देर तक टिके रहने की आदत पड़ गई है. मेरी ये सेक्स कहानी आपको पसंद आ रही हो तो अपने मैसेज में जरूर बतायें.

धीरे धीरे मैं ऊपर आते हुए उनके पैर को चाटते हुए उनकी जांघ तक पहुंच गया. मैंने भाभी को हिलाया, तो भाभी उठ कर बिना कुछ कहे अपने ब्लाउज का हुक लगाते हुए ऐसे बाहर चली गईं, जैसे कुछ हुआ ही ना हो.

उससे चला नहीं जा रहा था।हैंगओवर का असर अभी भी सिर में चढ़ा हुआ था। मैंने होटल में नींबू पानी मंगाकर उसे पिलाया और उसके होस्टल के लिए ओला कैब बुक की। उसके फोन से मैंने उसकी सहेली का नंबर लेकर कॉल करके उसकी तबियत खराब होने की बात बता दी।फिर हम कैब से निकल गये.

होंठों को चूसते चूसते अब मेरे हाथ उनकी की गांड पर जा पहुंचे।मामी की मोटी गांड को मैं जोर जोर से मसलने लगा। आह! उफ़ … क्या मस्त गांड थी उनकी, एकदम सुडौल और गद्देदार चूतड़। मुझे उनकी गांड को मसलने में बहुत ज्यादा मजा आ रहा था।उनकी गांड में मैं उंगली घुसाने की कोशिश करने लगा. सुरेश- क्या हुआ, बड़ी जल्दी आ गई तुम!सुमन- क्या करूं … एक तो बादाम का डब्बा बहुत ऊपर रखा हुआ है, मैंने उतारने की कोशिश की, तो हाथ फिसल गया … देखो कैसे लाल हो गया है!मुखिया- अरे बेटी तुमको ज़्यादा चोट तो नहीं लगी ना!सुमन- नहीं नहीं, बस ज़रा सा हाथ मुड़ गया था … अब ठीक है. फिर मैंने मौसा जी के लंड की लम्बाई का अनुमान कर अपनी कमर को इतना ऊपर उठा उठा कर चुदाई की कि वो मेरी चूत से बाहर न निकलने पाए.

ऐश्वर्या राय की बीएफ पिक्चर तीन-चार मिनट की चुसाई में ही मैं झड़ने लगा और मैंने सारा माल मामी के मुंह में भर दिया. कोरोना वायरस के चलते फिर लॉकडाउन हो गया तो मुझे कहानी लिखने का समय मिला और अब मेरी कहानी आप सबके सामने है.

अंधेरा काफी हो चुका था और ठंड के मौसम में भी बाइक को धक्का लगाने से मेरे पसीने छूट रहे थे. सुमन स्पीड से हरी के देसी लंड पर चुत पटक रही थी और चुदाई के मज़ा ले रही थी. उन्होंने साफ-साफ बोल दिया कि मैं उनकी फैमिली के स्टेटस के साथ मेल नहीं खाता हूं.

बीएफ मूवी बीएफ बीएफ

पहली मुलाकात में तो हमने ज्यादा बात नहीं की, पर उसके बाद मैंने ठान लिया था कि उसको अपने लंड के नीचे लाना है और उसकी जम कर चुदाई करनी ही है. ये कहते हुए भाभी झुक गईं और उन्होंने मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर मुँह को आगे-पीछे करने लगीं. उसका गला भी काफी खुला था, जिससे सुमन की चूचियों की क्लीवेज साफ नज़र आ रही थी.

मैंने लंड को लोअर के अंदर डाला और हाथ पौंछ कर बाहर देखने के लिए उठा. मगर मेरे बिना कुछ कहे ही शबाना ने लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

कुछ देर बाद मैं बोला- स्मायरा, अब तुम्हारी चूत में डाल दूं अपना लंड?वो बोली- हां डाल दो, मेरी चूत में अब बहुत बेचैनी हो रही है.

फिर उसने सिसकारते हुए मेरे सिर को ऊपर उठाया और अपनी चूचियों पर मेरा मुंह लगाकर बोली- थोड़ा सा इनको भी पी लो. भाभी ने जल्दी से अपनी साड़ी और ब्लाउज ठीक किया और आंखें बंद करके लेट गईं. सुमन- बहुत चूस लिया मैंने, अब बस चुत में घुसाओ जल्दी से … ताकि मेरी आग शांत हो सके.

रुक्मणी- कुणाल, कोई कीड़ा मेरे सूट के अन्दर चला गया है … और मेरी पीठ पर रेंग रहा है. चोदो मुझे, अब आप ही मेरे इस बदन के मालिक हो; जी भर के भोग लो मुझे आज!” मैं काम संतप्त स्वर में बोली और मैंने अपनी जीभ उनके मुंह में घुसा दी. आखिर में मुझे हथियार डाल देने पड़े और उन्होंने पैर से कमर तक मुझे नंगी कर लिया.

बस मन कर रहा था कि वो अपना मोटा लंड निकालें और मेरी निगोड़ी चूत को चोद डालें.

नंगी सीन बीएफ हिंदी: आपको दवाखाने आ जाना चाहिए था ना!महेश- अरे ऐसा कुछ नहीं है, बस थोड़ी थकान हो गई थी. मुझे ये सब बहुत अच्छा लग रहा था और मैं भी उसका पूरा साथ दे रहा था।हम लन्ड से लन्ड रगड़ रहे थे.

भाभी ने मेरे कहे मुताबिक रूम को पहले से ही अंदर से बंद करके रखा हुआ था. हम दोनों की चुदाई खत्म हुई तब दोपहर के दो बज गए थे, तभी मेरे दोस्त का कॉल आ गया. मैं भी उनको अपने ऊपर खींच कर अपने दूध चुखवाते हुए चुत चुदाई का मजा ले रही थी.

वो कराहते हुए मीठी आवाज में कहने लगीं- आह … रुको रुको!मैंने उनकी एक ना सुनी, क्योंकि मैं झड़ने वाला था.

मैं उसकी चूचियों को दबाते हुए अपना लंड चूत में डालकर मौसी को चोद रहा था. दोपहर 12 बजे का समय था। जिन्दगी में पहली बार मैं किसी लड़की को होटल लेकर जा रहा था. राहुल का लंड देखकर मेरा मन भी करने लगा था कि मैं भी मां के पास ही चली जाऊं और राहुल के लंड को खूब जोर जोर से चूसूं.