हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई

छवि स्रोत,साड़ी वाली की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी लोकल सेक्सी वीडियो: हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई, ट्रेन चलती रही और मैंने उस के चूतड़ों से लंड सटा कर मजा लेता रहा, मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं उस दिन पहली बार किसी औरत के पीछे आगे तक चला गया.

बहन भाई का सेक्सी बीएफ

इस बीच वो 2 बार झड़ी, मैंने भी उसकी चूत में अपना वीर्य उगला और उसके ऊपर ही लेट गया. बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी ब्लूमैंने भी कह दिया कि काम वाली बाई को एक दिन देखा था कि रैक से कुछ निकाल कर अपने ब्लाउज में छुपा रही थी, शायद माला-डी ही रख रही होगी.

माँ ये नहीं देख पा रही थी, उसका मुँह दूसरी ओर था रहमत का लंड करीब 8 इंच का होगा. बीएफ हिंदी पोर्नजीजू बोले- रोमा ये राज है, मेरा दोस्त… मेरे साथ मेरे ही ऑफिस में काम करता है.

अपने विचार अवश्य लिखें![emailprotected]कहानी का अगला भाग :सहकर्मी भाभी ने दोस्ती करके चूत चुदाई-2.हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई: तो मैं लड़का, आपका ब्वॉयफ्रेंड और आप लड़की तो मेरी गर्लफ्रेंड हुई ना!यह सुन सुमन भाभी हँस पड़ीं.

जब ये लोग पहुँचे तब अतुल और बरखा फ्लॉरा के साथ कमरे में थे और टीना बाहर हॉल में अकेली थी.मैं ढूँढने लगा तो मुझे वहां एक सफेद रंग का गुब्बारा मिला, जिसमें ऊपर से गांठ लगा कर बांधा गया था, उसमें कुछ सफेद रंग का गाढ़ा सा पदार्थ भरा था.

हिंदी बीएफ पिक्चर फुल एचडी में - हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई

पर वो कहाँ मान रही थी, उसको तो मेरी चुटकी लेने में मजा आ रहा था, उसने कहा- जीजू कितने टाइम में तेरा काम उठाते हैं? अमित जी तुझे तो रोज करते होंगे.उसने कहा- साँस अन्दर लो और वजन अपनी गांड पर दो, पैरों पर वजन कम करो.

उसके हाथ में एक छोटा बैग था, जिसमें कॉसमेटिक्स और उसके कंधे पर उसके कपड़े थे. हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई बस फिर क्या था, मैंने बहूरानी के दोनों पैर अपने कन्धों पर रखे और उसकी दोनों चूचियां दबोच के चुदाई शुरू कर दी, पहले आराम से धीरे धीरे, फिर तेज और तेज फिर पूरी बेरहमी से.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:जीजा साली की चुदाई: सगी बहनों की स्वैपिंग-2.

हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई?

ऐसा लग रहा था कि मुझे बुखार हो गया हो।मैं वहां से हट गया और मैंने नीचे आकर दीदी की पैंटी निकाली और मुट्ठ मारी।शाम को उनके पति आए. सुमन- आप तो कितनी बार बाहर रहती हो, फिर क्या प्राब्लम है… आप उनको बता दो. इतना कहकर पूजा खड़ी हुई और लंड को पकड़ कर पलट गई, फिर लंड को अपनी गांड पे एड्जस्ट करके बोली- देख मेरे राजा, आज तुझे इसमें जाना है, ये बहुत टाइट है तुझे बहुत मजा आएगा.

तो प्रिय पाठको, उन्ही की इंडियन सेक्स स्टोरी उन्ही के शब्दों में पेश कर रहा हूँ:फ्रेंड्स, मैं रीना सिंह आप सभी पाठकों का बहुत बहुत वेलकम करती हूं। आज मैं सभी लड़कों को ऐसी कहानी सुनाने जा रही हूँ कि उसे पढ़ने के बाद सभी लड़के मुठ मार लेंगे।दोस्तो, मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ। अब मैं 26 साल की हो चुकी हूँ। लेकिन यह बात मैं तब की बता रही हूँ जब मैं जवानी में कदम रख रही थी या रख चुकी थी. मैंने अपने लंड पर अब थोड़ा सा सरसों का तेल लगा लिया था, जो मनोज ने इस बार पास ही रख दिया था. उसने डंडा उठाकर एक तरफ फेंका और भैंसों के लिए लगे बरामदे की छत पर लगे पंखे का बटन दबा दिया और मुझसे बाहर आने का इशारा किया.

कुछ पल बाद रीना ने सर झुका कर ‘हां’ कह दी और स्माइल देते हुए शर्म से बाहर भाग गई. रागिनी फिर से पूरी मस्ती में आ चुकी थी और उसकी चूत पानी छोड़ कर चुदने के लिए फड़कने लगी थी. उसका नाम ऋतु (बदला हुआ) है, उम्र 19 साल, मेरे ही गाँव के पास में रहने वाली, फैमिली रिलेशन्स के चलते हमें एक-दूसरे से मिलने की पूरी छूट थी.

इरफान अभी भी पूरी तरह बेहोश नहीं हुए थे, हमने उन्हें बेड पर उल्टा ही लेटा दिया. हाय दोस्तो, मैं आज आपके सामने एक सच्ची हिंदी एडल्ट स्टोरी प्रस्तुत कर रहा हूँ जो मेरी अपनी मम्मी की है.

अन्तर्वासना साईट का एक बार फिर से बहुत बहुत धन्यवाद, जिसकी वजह से ये कहानियाँ आप तक पहुँच पाती हैं.

अरे, मैं इन सब बातों के बीच आपकी इस कहानी के एक जरुरी पात्र से परिचय करवाना ही भूल गया- मोहन लाल.

फिर धीरे से उसकी समीज को उठाते हुए दोनों चूचियों को कैद से आजाद कर दिया. सभी लोगों ने एक साथ डिनर किया, मामा जी ड्यूटी पर चे गए और मामी मुझे अपने साथ कमरे में लेकर बन्द हो गईं. मुस्कुराते हुए रूपा बोली- तू मेरी बेटियों के बारे में जानने के लिए बेताब है… यह मैं जानती हूँ पप्पू… तो सुन, मेरी एक बेटी हॉस्टल में पढ़ती है और दूसरी घर में रहती है.

जब भाभी को मैंने बताया कि मेरा लण्ड लेडी डॉक्टर ने 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा कर दिया था तो भाभी बोली- मैं नहीं मानती, मुझे दिखाओ।मैंने भाभी से कहा- पहले आप अपनी चूत दिखाओ?तो वे कहने लगी- नहीं, मैं फीता लाती हूँ और तुम्हारा नाप कर देखती हूँ।भाभी दराज से फीता निकाल लाई और बोली निकालो. सबके चले जाने के बाद अब हमें एक-दूसरे से बातें करने का मौका मिल रहा था. उसके बाद मैं अपने कमरे में नीचे आ गया और भाभी भी थोड़ी देर बाद वहां आ गईं.

साथ ही उसके शोल्डर को चाटना भी शुरू किया। वो जोर जोर से सीत्कार कर रही थी।उसका वन पीस निकालने के बाद मैं उसे देखता ही रह गया… ब्लैक ट्रांसपेरेंट ब्रा और पैन्टी में.

इस पोज़ीशन में चूत चोदने में बहुत ही मजा आ रहा था क्यूंकि मेरा लंड उसकी चूत में पूरा घुस रहा था और मुझे बिना मेहनत किये ही चूत चुदाई का मजा मिल रहा था. जब से मैंने इसे तुम्हारी और मेरी चुदाई की बात बताई है, तब से ये भी तुम्हें चोदना चाहता था. तो मैं उस की टाँगों के बीच गया और बहन की चूत का मुँह खोल कर देखने लगा.

साली ने अपनी झांटें बिल्कुल साफ रखी थीं, जैसे उसे पता हो कि आज उसे चुदवाना है. जब मेरा ब्वॉयफ्रेंड मेरे मम्मों को दबाता था तो मैं उस समय चुदासी हो जाती थी. कुछ ही देर में वो दोनों अलग अलग हुए और नेहा बाथरूम में साफ़ करने भाग गई.

वो बोली- डरना क्या? मैं स्कूल से अपनी चुत की चुदाई करवाती आ रही हूँ, कभी बाहर करवा लेती हूँ और कभी घर में जब कोई ना हो, तब दोस्तों को बुलाकर मजे लेती हूँ.

इतनी देर में मेरी बीवी ने आवाज आई- कहां हो?मैं डर गया कि कहीं ऊपर ही ना आ जाए. मामी आगे पीछे, दाएं बांए होकर चुत रगड़ रही थीं, जैसे चुत की महीनों की जंग छुड़ा रही हों.

हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई वाइन पीते पीते मैंने मोबाइल में ब्लू फिल्म प्ले करने के बाद पॉज कर दिया और स्लाइड लॉक लगा दिया और उसकी साइड में रख दिया. शायद अब उसका अजगर लंड खड़ा हो चुका था और उस पर हवस हावी हो गई थी, इसीलिए उसका व्यवहार इतना सख्त हो गया था.

हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई रीना और रंजु भी मेरी बाजू पर बनीं मछलियों को तिरछी नजरों से घूरती रहीं. मैंने अपने कपड़े लिए और बाथरूम की ओर जाने लगा, इतने में ही डोर बेल बजी.

वो रो कर बोली- क्यों तड़पा रहे हो, मेरी चूत और गहरी है, पूरा घुसेड़ो ना, बुझा दे ना मेरी चूत की प्यास.

देसी में बीएफ वीडियो

मैंने अपनी जीभ उसके होंठों के बीच में घुसा दी तो वो बड़े मजे से मेरी जीभ को चूसने लगी. मैंने भौचक्का सा उन्हें देख रहा था तभी अगले ही पल मामी मेरे नजदीक हुईं और मेरे एक एक कपड़े को निकाल कर मुझे भी नंगा कर दिया. मुझे उम्मीद है आप सभी लोगों को कहानी बहुत पसंद आई होगी और आप सभी दोस्त मेरा हौसला बढ़ाते रहेंगे.

तीसरा शमशेर उसका लंड भी करीब 5-6 इंच के आसपास ही था, लेकिन उसका सुपारा काफी मोटा था. गांड मराई के तीसरे दिन बहू रानी का मूड अच्छा और खुश खुश सा दिखा, अतः मैंने शाम को रोमांटिक बनाने के लिए बहू रानी को आउटिंग पर ले जाने और बाहर ही डिनर करने का प्रस्ताव रखा जिसे बहूरानी ने तुरंत हंस कर मान लिया. तुम्हें देखना है?मैंने झट से अपनी पेन्ट उतारी दी और मेरी पेन्टी भी.

आंटी बहुत गर्म हो गई थीं, उन्होंने मेरी लुंगी निकाल दी और बोलीं- मेरे ऊपर आ जाओ.

मैंने पूरे दिन के लिए रूम लिया था तो दो बार चुदाई करने के बाद हम रूम बंद कर के बाहर घूमने चले गए और खाना खा कर लौटे. मैंने उसको बांहों में भर लिया, उसके होंठों पर एक चुम्मा लिया, फिर हम बस की ओर चल पड़े. उस्मान ने माया का चेहरा पकड़ा और उसके होंठों पे अपने होंठ लगा दिए और चूसने लगा.

मैंने बनावटी गुस्सा दिखाते हुए कहा- जब तूने मेरी गांड में जो धक्का मारा था उस वक्त मैं चीखते चीखते बची थी, तुमने गांड में पेंटी तक लंड घुसा दिया था, ऐसा भी भला कोई करता है क्या. ऐसे में बुआ की कड़ी निगरानी में दिन निकल जाता, पर रात कुछ आनन्द करते थे. संजय- टीना तू पूरी पागल है, अभी ठीक से हम मिले भी नहीं और तुम शुरू हो गई.

वो जितना मेरे लंड को मसलतीं, मैं उतनी कसके उनके मम्मे मसलता और चूसने लगता. शायद उन दोनों का अमृत रस ने चादर पर गिर कर रात भर में सूख कर चादर को कड़क कर दिया था.

अपनी हवस के बस हो कर मैं कहां तक आ गया और अब क्या हो रहा है मेरे साथ… मुझे अपने आप से घिन्न हो रही थी और अपने गे होने पर भगवान को कोस रहा था. उसने वह सब अन्दर रखा, फिर वह मुझे ऊपर बेडरूम में खींचती हुई ले गयी. अंजलि का मोबाइल नम्बर भी मेरी बीवी के पास था तो मुझे उसका नम्बर पाने में कोई परेशानी नहीं हुई.

आज मैं आपको जो हिंदी सेक्स स्टोरी बताने जा रहा हूँ वो बिल्कुल सच है.

जब वो दूसरे दिन खाना बनाने आई तो मैं सुबह उठकर तैयार हो चुका था और भैया उसके आने से पहले ही जॉब पर चले जाते थे क्योंकि उनको ऑफिस में लंच मिलता था. मुस्कुराते हुए रूपा बोली- तू मेरी बेटियों के बारे में जानने के लिए बेताब है… यह मैं जानती हूँ पप्पू… तो सुन, मेरी एक बेटी हॉस्टल में पढ़ती है और दूसरी घर में रहती है. बोली- इससे मजा लेगी?मैंने कहा- कौन है?बोली- ये मेरे को खुश करता है.

अचानक बहूरानी ने मेरे हाथ पर अपना हाथ रख दिया और उसे दबा कर अपनी चूत रगड़ने लगी. उसमें चाकू से एक छोटा सा छेद बना दिया और इंतज़ार करने लगा।आंटी आईं और उन्होंने मुझे खाना दिया और खुद नहाने चली गईं।मैं भी थोड़े देर बाद पीछे पीछे चल दिया और दरवाजे से झाँकने लगा।वह नज़ारा आज भी नहीं भूल सकता हूँ.

फिर उन्होंने काफी कोशिश की लेकिन मम्मी ने मुँह में नहीं लिया तो शमशेर बोला- चलो साली की चुदाई करते हैं. काजल ऊपर से आधी नंगी सी थी, उसकी दोनों चूचियां ब्रा के अन्दर से साफ़ नज़र आ रही थी और वो अपने ही भाई का लंड चूसते हुए पकड़ी गई थी. मैं अपनी जीभ को धीरे धीरे नीचे लाते हुए उसकी गहरी नाभि को नापने लगा.

एक्स एक्स देहाती बीएफ

एक जोरदार सीटी के साथ उसने जैसे ही पेशाब करना शुरू किया, मैंने रीतिका की चूत से लंड निकाला और पूजा की चूत में डाल दिया.

मोहन लाल की पत्नी यानि की इन बच्चों की माँ का देहांत हुए लगभग 7 साल हो चुके थे. फिर उन्होंने मुझे छोड़ा और कुछ खाने को दिया और एक ग्लास जूस भी दिया. शायद मुझे अच्छा लगने लगा था।इसके बाद उसने मुझसे कहा- आज के लिए इतना ठीक है। जब मैं बुलाऊँ.

मैंने कहा- इतनी सारी रोटियां किसके लिए हैं?उसने कहा- हमारे लिए हैं और किसके लिए है? तू जाट के घर में है, यहां ऐसे ही खाया जाता है. गोपाल- अच्छा तुम्हें इस बात का कैसे पता है?मोना- अरे रात को मैंने दबवाए थे उससे. गर्ल सेक्सी बीएफ वीडियोमैं भी हड़बड़ी में दर्द भूलकर अपनी पैंट ऊपर करता हुआ उठ गया और खुद को संभालते हुए नॉर्मल किया और उसके पीछे चला.

अब क्या करूँ?तब मौसी ने कहा- बेटा मेरे पड़ोस में कोई भी कमसिन लड़की नहीं रहती वरना मैं तेरा काम ज़रूर बनवा देती. ”अन्दर पांच हज़ार गिनकर रखे हैं हज़ार से एक पैसा ज्यादा लिया तो टांगें तोड़ दूंगी.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:जीजू की चचेरी बहन की बुर चोदन की कहानी-2. बीच बीच में मैं उसकी चूत के दाने को थोड़ा जोर से दांतों में दबा लेता जिससे बहूरानी उत्तेजना के मारे उछल जाती और मेरे बाल मुट्ठी में भर लेती. गार्ड कुछ आवाज सुनकर हमारी दिशा में बढ़ने लगा और उसने जल्दी से पैंट ऊपर की और मुझसे भी उठने को कहा.

मैंने उस के होठों को चूसना शुरू किया जो लगभग गुलाबी से सूज कर नीले हो गए थे. शॉर्ट्स से सिर्फ उसकी गांड ढकी थी, गोरी टाँगें साफ़ झलक रही थीं, बनियान नाभि तक आया था और टाइट होने से मम्मे उभरे हुए दिख रहे थे और नीता के कड़क निप्पल भी पप्पू को साफ़ दिख रहे थे. मेरा नाम मोनू है, मैं एक सीधा साधा लड़का हूँ और अन्तर्वासना में यह मेरी पहली एडल्ट कहानी है जो कि एक सच्ची घटना है.

अबकी बार ऊपर चढ़ने के वक्त नीलिमा बोली- थोड़ा पीछे से मुझे हाथ लगाओ, मुझे बर्थ पे चढ़ने में आसानी होगी.

फिर मैंने अपने लंड का सुपाड़ा चाची की ग़ांड में टिकाकर धीरे से दबाया तो सुपारा उनकी गांड में घुस गया. दोपहर को दीदी और उनकी सास को कहीं बाहर जाना था, जाने से पहले दीदी मेरे पास आईं और बोलीं- संचू डार्लिंग, मैं अपनी सास के साथ कहीं जा रही हूँ, रात तक वापिस आएंगे, कुछ चाहिए हो तो अंजलि से ले लेना.

उसने फट से वो मुद्रा बना ली, फिर मैंने अपने लंड को रेखा की कमसिन चूत में घुसा दिया. दो मिनट बाद ही ड्रिंक का सुरूर ऐसा छाया कि रिया और मैंने आगे बढ़ कर पोल डांस शुरू किया। हमारी सेक्सी डांस पोज़ देखकर सीटियां बजने लगी, लोग पास आकर हमारे बदन को हाथ लगाने लगे, जहां मर्जी दबाने लगे. एक बात है नीता तेरी माँ जैसे लंड आज तक किसी ने नहीं चूसा, क्या मस्ती और लगन से चूसती है रूपा.

मन तो उससे चटवा कर साफ कराने का था लेकिन अभी उसका वक्त नहीं आया था. पर राज का लंड तो फिर से खड़ा हो गया था और वो फिर से मुझे चोदने के लिए बेकरार था. मैंने भी कह दिया कि काम वाली बाई को एक दिन देखा था कि रैक से कुछ निकाल कर अपने ब्लाउज में छुपा रही थी, शायद माला-डी ही रख रही होगी.

हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई तभी वह उठा और मेरे मुँह से लंड निकाल कर मेरी टांगों के बीच आ गया, उसने मेरी जांघों को फैलाया और बीच में बैठ गया, उसने मेरे पैरों को अपने कंधे पर रख लिया, जिससे मेरी चुत उसके लंड से टच करने लगी. रवि ने अंशु से खा- अब क्या करें?अंशु बोली- रात को तो यहीं रुकना पड़ेगा?रवि बोला- हां रुकना तो पड़ेगा ही, लेकिन मेरे पास इतने पैसे नहीं हैं कि हम होटल में रह सकें!उन्होंने कोई धर्मशाला तलाशने का निर्णय लिया और इधर उधर पूछ ताछ करते हुए एक धर्मशाला में पहुँच गए.

हिंदी सेक्सी आंटी

संजय- टीना तू पूरी पागल है, अभी ठीक से हम मिले भी नहीं और तुम शुरू हो गई. मैं बोली- भाई आपक़े सूसू के ऊपर में दवा लगा दूँ, फिर मुझे आप लगा देंगे ना. इस हिंदी सेक्स की कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि विक्रांत के बेटे को उसकी भाभी एडल्ट मूवी दिखाने ले गई है.

इस तरह 15 मिनट बाद वो मेरे लंड के पास आया और बोला- अब हम खेल शुरू करते हैं. वही चार अजनबी बाराती, जिन्हें मैंने खेतों की ओर जाते देखा था, दो दो के गुट में भाभी और बुआ को दबोचे हुए थे. पाकिस्तानी ओपन बीएफअंजलि को थोड़ा दर्द हुआ तो मैं रुक गया और उसकी गांड पर हाथ घुमाने लगा.

तब कहीं जाकर बाबा जी ने अपना वीर्य नीतू की चुत में भरा और कुछ देर उसके ऊपर पड़े रहे.

यह देखते ही मेरे नुन्नू… नहीं… लंड सख़्त हो गया और जोर से हिलने लगा. अगले ही पल उसने अपनी पेंटी खुद उतारी और अब उसकी नंगी फुद्दी मेरे सामने थी.

काजल अपने कमरे से बाहर आई और अपने भाइयों के लिए ग्लास में पानी ले आई. मेरी पत्नी इस स्थिति में थी कि उसके बूब्स वो लड़का बहुत साफ़ देख पा रहा होगा. एक हाथ से मैं उनकी चुचियां दबाता दूसरे से उनकी लोअर को निकालने लगा.

वो अपनी चूत हल्के से पप्पू के मुँह पे दबा कर अपनी उंगली पे पप्पू के लौड़े का रस लेके बोली- अब तेरा हाथ मम्मों पे पड़ा तो ये लगा मुझे कि मसलना किसको कहते हैं और मर्द का हाथ कैसा होता है.

जब मैं बस में बैठा तो मेरे सीट के बाजू में कोई नहीं बैठा था, बस जैसे ही मुलुंड के बाद रुकी तो एक औरत 6 महीने के छोटे बच्चे के साथ मेरे बाजू में आ बैठी. एक दिन जब मौसी की लड़की पिंकी कॉलेज गई हुई थी और मैं छत पर था तब मौसी आँगन में नहा रही थीं. जब मैंने पूछा कि जब हस्बैंड चूचियों पर निशान देखेगा तो?तो वह बोली- उस को तो मैं नजदीक ही नहीं आने देती, वह तो देखता भी नहीं है, उस के लंड में दम ही नहीं है.

सेक्सी बीएफ स्टारमम्मी दोनों हाथों से ससुर जी के सिर को अपनी चूत पर खींच रही थीं और बोल रही थीं- खा जाओ मेरी भोसड़ी को. लेकिन तभी जब मैंने अपना हाथ उसकी फुद्दी पर फेरा तो पाया कि वो पहले से ही झड़ चुकी थी.

बीएफ कुंवारी सेक्सी

मेरा लंड खड़ा था कुछ देर चूसने के बाद माँ ने मुझे खड़ा किया खुद लेट गईं और अपने हाथ से बुर खोल कर दिखाई और कहा- बेटा ये बुर है. अब मैं रूम में अकेली थी, मेरी मन में एक ही बात आ रही थी कि आज तो मामा मेरी गांड को नहीं छोड़ेंगे. मैंने अपने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी और नेहा दी जोर जोर से झड़ने लगीं, जिस वजह से हर धक्के में चाप चप चाप की आवाज आने लगी.

तो उसने अपना लंड चूत से निकाल कर मेरे मुंह में डाल दिया और पूरा पानी मेरे मुंह में ही गिराया. तो कई लोगों को मैं अपने बिस्तर पर ला देता। मैं तो अपनी सेक्सुअलिटी को ठीक तरीके से उजागर होने देना चाहता था।शहर बदल गया और मैं चुदाई में रम गया। मैं अब गाण्ड देख कर ही बता सकता हूँ. जल्दी ही लंड ने लावा उगल दिया और चूत फैल सिकुड़ कर लंड को निचोड़ने लगी.

जब मैंने फ़ोन उठाया तो जीजू ने कहा- रोमा, क्या कर रही हो? क्या तुम अपने घर की छत पर आ सकती हो?मैंने उनसे पूछा- क्यों जीजू, क्या हुआ? आप मुझे इतनी रात में छत पर बुला रहे हो, सब ठीक तो है ना?उन्होंने कहा- रोमा, सब ठीक है, तुम छत पर आओ तुम्हारी बहुत याद आ रही है. फिर मैंने अपने पापा से बात करके बुआजी के घर जाने की इजाजत ले ली और मैं तय किए गए दिन अपनी बुआजी के घर पहुँच गया. वो मुझे देख कर बहुत खुश हुई थीं क्योंकि मैं उनके घर बहुत दिन बाद गया था.

मैंने उनकी पेंटी भी उतार दी और उनकी गोरी चुत पर चॉकलेट सीरप लगाया कर चाटने लगा. ”यह कहकर मैं उसके सामने बैठ गया और उसकी छोटी सी बुर से निकलती हुई पेशाब की धार को देखने लगा.

मैंने मोनिका से हाथ जोड़े और कहा- देवी, मैं समझ गया कि बिना लड़की की इजाजत के आओगे और अगर वो अपनी पर आ जाएगी तो तुम्हारी बैंड बजा देगी.

फिर मैंने सोचा कि एक बार बैंगन डाल कर जाँच कर लूँ कि मेरी गांड मामा जी के लंड के आकार में खुली है या नहीं. ब्लू सेक्सी पिक्चर बीएफ वीडियोसाढ़े ग्यारह बज चुके थे यश को मेरे घर पर आने में आधा घंटा लगता है… तब तक मैंने मम्मी को कहा- मम्मी, मेरी चिकनी चूत में आप अपनी बीच वाली लम्बी उंगली देती रहो. एक्स एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडीपप्पू की बांहों से छूटने का नाटक करती हुई वो बोली- आप मुझे छूएं मत ऐसे अंकल. उसकी सांस भी जोर से चलने लगी थी, दिल की धड़कन तेज हो गई थी और चेहरे पर शर्म आने लगी थी.

मैं कपड़ों के ऊपर से ही उसके चूचे दबाने लगा, वो मजे लेने लगी… मादक सिसकारियां लेने लगी, बोली- मुझे कुछ हो रहा है… प्लीज़ कुछ करो.

तो श्रुति जो रूम के दरवाजे पर खड़ी थी, स्माइल के साथ शरमाते हुए अन्दर चली गई. वो ऊपर पहुँच गई और मैं भी बाईक खड़ी करके ऊपर आ गया और दरवाजा बंद करते ही मैंने आयशा को बांहों में भर लिया और उसे जोरदार किस किया और मेरे मन में खामोशी द म्यूजिकल का गाना बजने लगा ‘बांहों के दरमियाँ, दो प्यार मिल रहे हैं. उसने पोर्न मूवीज देख रखा था और उसको पता था कि इसके आगे क्या करना होता है.

सुबह जब आँख खुली तो काम वाली लड़की चंदा, जिसके पास नीचे सीढ़ियों की एक चाबी होती थी, वह हर रोज़ की तरह कमरे में आ गई और उसने हम दोनों को बिल्कुल नंगे एक दूसरे की बाहों में देख लिया। वह हमें देख कर फ़ौरन बाहर निकल गई और किचन में काम करने लगी। परंतु जाते हुए कमरे से सारे बर्तन ले गई. उस्मान ने कुछ देर माया के होंठों का रसपान किया और फिर माया के होंठ अपने लौड़े पे दबा दिए. शिवानी ने बाथ रूम में चूत को साफ़ किया और थोड़ा मुंह धो कर, क्रीम लगा कर दुबारा तैयार हो गई.

ससुर बहु चुड़ै वीडियो

ममता ने अपनी पोजीशन बदलते हुए सलवार की फांक से अपनी पैंटी को थोड़ा हटाया और मेरे लंड को साधते हुए सीधे बुर के मुहाने पर ले गई और जोर देते हुए एक ही बार में लंड को सीधे अन्दर निगल लिया. मैं सुबह 6 बजने से पहले में अपने रूम में आ गई, जहाँ मेरे पति अपनी पत्नी की बेवफाई से बेखबर सोए पड़े थे. फिर शाम को जो दर्जी मेरा साइज़ ले गया था, वो आया और उसने दीदी को एक शेरवानी दी.

जैसे ही मैं जय के रूम में पहुँची तो मेरी आँखें खुली की खुली रह गईं.

फिर मैंने पिंकी को उठाकर शीट के सहारे घोड़ी बना दिया और उसकी चूत में लंड पेलकर बोला, अब जोर से पेशाब करो.

दीदी बेडशीट को ज़ोर से पकड़े थी… जीजाजी पेले जा रहे थे… दीदी अपनी कमर उचकाते हुए चुदवा रही थी. वैसे कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में बता दूँ. हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सीओ के!लेकिन मैंने उसकी कोई बात नहीं सुनी और मैं ऑटो पकड़ कर अपने घर चली गई.

पहली बार में दूसरी ओर फिसल गया, मौसी से रहा नहीं जा रहा था सो उन्होंने फिर से मेरे लंड को चुत के द्वार पर रखा और खुद ही चुत की फांकों को खोल कर मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत में हल्के से अन्दर कर लिया और फिर अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों चूतड़ों के गोले पकड़ कर अपनी ओर खींचा. उमन्न…”उस ने मेरे मुँह को अपनी चूचियों में दबा लिया और मेरे बाल कस के पकड़ लिए. कुछ नहीं होगा…मैंने उससे कहा- ठीक है चल सब कुछ भूल कर तेरे कहने पर एक बार ट्राई करती हूँ.

वो तड़फ़ने लगी और चूत को लंड की तरफ उठा रही थी, पर मैं रगड़ते हुए लंड को फिर पीछे कर लेता. अबकी बार राहुल ने भी लता को एक बार चोदा और मैंने सुबह तक लता को पांच बार चोदा। सुबह पांच बजे हमने चुदाई बन्द की और सो गए.

मैं अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ था तब वो मेरा लंड लगभग रोज़ चूसती थी पर कभी मेरा माल नहीं निकाल पायी.

उसने दरवाजा खिड़कियां बंद की, मैंने कहा- क्या कर रही हो?वो बोली- रुक बताती हूँ. बहूरानी के तन पर कोई वस्त्र नहीं था, एकदममादरजात नंगी, उसकी जुल्फें खुली हुई कन्धों पर बिखरीं थीं. गोपाल- अच्छा तुम्हें इस बात का कैसे पता है?मोना- अरे रात को मैंने दबवाए थे उससे.

बीएफ सेक्सी बिहारी सेक्सी गुलशन जी जब उठे तो फ्च्च की आवाज़ के साथ उनका लंड चुत से निकला और सुमन दर्द से सिसक उठी. लेकिन आज मैं खुश भी बहुत था क्योंकि मेरी बहन जैसी सेक्सी लड़की किसी तो आसानी से नहीं मिलती.

मैं जीजू के सामने के एकदम नंगी थी, मैं बोली- अगर ये बात दीदी को पता चल गई तो?जीजू बोले- पिंकी, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और तुम्हें चोदना चाहता हूँ, तुम मेरी हो जाओ, मैं तुम्हारी दीदी से ज्यादा तुम्हें प्यार करता हूँ और तुम्हें खुश रखूँगा. माया की साड़ी उसकी गांड से लगभग ऊपर उठाते हुए उस्मान बोला- लेकिन उन सबमें इसके जितने बड़े मम्मे किसी के नहीं है सर. इसके बाद रवि अंशु के घर पहुंच गया, घंटी बजाने पर दरवाजा अंशु के पिता जी ने खोला.

ब्लू सेक्सी बीएफ

फटे ब्लाउज़ में बिना ब्रा के सीने को गंदी साड़ी में लपेट कर, साड़ी बिना पेटीकोट के, पैंटी पर बाँध कर वो घर आई. अंजलि मेरा इशारा समझते हुए लंड के ऊपर बैठ गई और जोर-जोर से ऊपर-नीचे होने लगी. वह मुझे बांहों में दबोच कर कपड़ों के ऊपर से ही तेज तेज झटके मार रहा था.

मेरी कामुकता इतनी बढ़ा गई थी कि मैं वहीं से ऑटो पकड़ कर उसी समय अंशुल गोयल के घर आ गई तो मुझे पूछने पर पता चला कि वो एक जिगोलो है और इस समय किसी क्लाइंट को अटेंड करने गया हुआ है. 30 पर टैक्सी में अपना सामान लेकर निकल गए। जाते वक्त भाभी ने थोड़ा उदास होने का नाटक किया, भैया कहने लगे- राज को तुम्हारे साथ रहने के लिए ही तो बुलाया है, यह बच्चा है, तुम लोग घूमो फिरो.

दीपक घुटनों पर बैठ मामी की चुत चपड़ चपड़ चाट रहा था और राम उनके चूचों पर जीभ फेर रहा था.

उसने पूछा- क्यों? मेरा लंड तुम्हें पसंद नहीं आया?मैंने कहा- मैंने कहा था ना कि मुझे तुम्हारा लंड पसंद है. चलो जल्दी से पोज़िशन बनाओ ताकि हरामजादी के सारे छेदों में लंड घुस जाएं. फिर मैं उसे किस करने लगा और धीरे से दूसरा झटका मारा, मेरा पूरा लंड अब उसकी चूत में था.

मैंने भी उसको घुमा कर अपने नीचे किया और 69 में आकर उसकी फुद्दी का सारा रस चाट गया. अन्दर कुछ साफ तो नहीं दिख रहा था लेकिन उनकी परछाई से लग रहा था कि वो जरूर कुछ अलग ही कर रहे हैं. पिछली बार प्रकाशित कहानीसोचा ना थाके बाद मुझे मिले एक नये दोस्त के साथ बिताये उन हसीन पलों को आप के साथ साझा करने के लिए मैं अपनी नई कहानी आप के लिए लेकर आया हूं.

बीच में क्या हुआ कितनी बातें हुईं … इन सबको लिखने का कोई मतलब नहीं है अब सीधे चुदाई का मजा लें.

हिंदी सेक्सी बीएफ नंगी चुदाई: उस आदमी की बात से रूपा समझ गई कि ये भीड़ का पूरा फायदा लेने वाला है और अब वो पीछे हटने वाला नहीं. पर आपसे एक इल्तिजा है कि आप मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें क्योंकि मैं एक सेक्स स्टोरी की लेखिका हूँ, बस इस बात का ख्याल करते हुए ही सेक्स स्टोरी का आनन्द लें और कमेंट्स करें.

इसने बड़ी बेरहमी से अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में घुसेड़ दिया था. इतने में मम्मी ने यश का अंडरवियर नीचे कर के लंड हाथ में लेकर सीधा अपने मुंह में देकर चूसने लगी. फिर वो मेरे लंड को भी प्यार से अपने कंठ में अन्दर तक भर कर रखे हुए थी.

ससुर जी ने निप्पलों को चूसने के बाद मम्मी से पूछा- माला रानी तुम्हें कैसा लग रहा है?मम्मी ने कहा- बहुत अच्छा लग रहा है.

मैं इसी तरह अपनी बेटी को गोद में उठाए हुए ड्रेसिंग रूम के फुल साइज़ मिरर के सामने ले गया- जानू, देखो मिरर में. सोनिया जैसे पहले से ही काफी उत्तेजित थी और वो झट से तैयार हो गई और हम दोनों के बीच आ गई. पप्पू की बांहों से छूटने का नाटक करती हुई वो बोली- आप मुझे छूएं मत ऐसे अंकल.