सिर्फ बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,मां बेटे की चुदाई बीएफ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

घाघरा लुगड़ी: सिर्फ बीएफ वीडियो, वो पूरी क्रीम खाकर उठ गया, तो रमा ने मेरी योनि में फिर से क्रीम लगा दी.

न्यू ब्लू बीएफ

वो कोई चीज परोसने के लिए झुकी, तो उसके गहरे गले से मुझे उसकी चूचियों के दीदार हो गए. बीएफ पिक्चर बीएफ हिंदी में बीएफफिर उसने मेरे पजामे को भी निकाल दिया और मेरी पैंटी को निकाल कर मेरी चूत में उंगली करने लगा.

मेरी सहेली के बताये होटल में जाने का हम दोनों ने एक दिन तय कर लिया. मौसी बीएफ सेक्सीमैंने पूछा- नज़मा, तेरा नाप क्या है?वो बोली- जब आपके लंड से चुदूंगी, तो मेरा साइज़ नाप लेना.

मैं उसके मम्मों को किसी छोटे बच्चे के जैसे चूस रहा था और वो मेरे बालों के ऊपर हाथ फेर रही थी.सिर्फ बीएफ वीडियो: मैं जब उसे एक्सरसाइज करवाता था, तो मेरी नज़र कभी कभी उसके मम्मों पर जाती थीं.

लेकिन बहुत दिनों के बाद आज मौका मिला है। अगर कुछ त्रुटि हो गयी हो तो माफ कीजियेगा.इस तरह से हम दोनों ही एक दूसरे से मिल कर सेक्स करने को हद से गर्म हो चुके थे.

सेक्सी फिल्म पिक्चर बीएफ - सिर्फ बीएफ वीडियो

फिर सामने की ओर राजेश्वरी को कांतिलाल ने पूरी नंगी कर दिया था और उसे चूम रहा था.तभी मामी जग गई और मुझे देख कर एकदम सकपका गई और धीमी आवाज में चिल्लाते हुए गुस्से से बोली- यह क्या कर रहे हो रोहित? तुम्हें समझ नहीं आता? मैं तुम्हारी मामी हूं.

डिलीवरी के बाद सम्भोग शुरू करने से पहले महिला रोग विशेषज्ञ यानि गायनी डॉक्टर से जांच करवा के उसकी अनुमति से ही सेक्स करना शुरू करना चाहिए. सिर्फ बीएफ वीडियो संगीता मेम ने मेरा लंड देखा और कहने लगीं- इतना बड़ा तो पंकज का भी नहीं है.

संक्षेप में कहें तो बेबी होने के पश्चात जब महिला शारीरिक रूप से पूरी तरह से चुस्त तंदरूस्त हो जाये, तभी पति पत्नी को सम्भोग शुरू करना चाहिए.

सिर्फ बीएफ वीडियो?

अपने बदन पर ब्रा को एडजस्ट करते हुए मां मुझसे पूछ रही थी कि कैसी लग रही है. तो दोस्तो, आपको मेरी कामुक चचेरी बहन की चुदाई की ये कहानी कैसी लगी. इधर मेरा भी लन्ड अपने उफान पर आ गया और मैंने भी एक जोर की पिचकारी छोड़ दी.

उसने मेरा ध्यान अपने शब्दों पर लिया और बोली- पहले कभी नहीं देखी क्या ऐसी औरत?मैं हंस कर बोला- मेरा तो काम ही ऐसा है. जो कहानी मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूं वो आज से करीबन 2 साल पहले की है. मैं थोड़ा सा हिचक गया कि कहीं मैं जल्दी तो नहीं कर रहा हूं लेकिन दोस्तो बहुत बुरा हाल हो रहा था.

उसका सुपारा मेरी योनि के भीतर अब तेज धार धार तलवार सा महसूस होने लगा था, जिससे मैं और अधिक ताकत और मस्ती में अपनी कमर हिला हिला उसके लिंग को अपनी योनि से मलने लगी थी. मुझे ऐसा महसूस हो रहा था, जैसे जिंदगी की सारी खुशियां मुझे मिल गई हों. मैंने ऊपर जाकर उसके मम्मों के ऊपर की चैन खोल दी और उसके मम्मों को चूसने लगा.

ऐसा इसलिए भी किया गया ताकि पहले चार महिलाओं के हाथ में जो पर्ची आएगी, वो उन मर्दों के साथ पहले संभोग करेंगी. लेकिन मैडम को चुदाने की बेचैनी हो रही थी तो वो खुद अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर लगाने लगी.

उस दिन छुट्टी का दिन था और वो लोग वहां पर आये हुए थे क्योंकि स्कूल उन्हीं के पिताजी का था.

सेक्स की प्यास के बारे में कई बार मैंने अपने मां और पापा को बातें करते हुए अपने ही कानों से सुना हुआ था.

और आज मैं भी आंटी के पास ही बैठ गया और आंटी के जिस्म के साथ खेलने लग गया. मगर अब दिव्या के मुंह से कोई दर्दभरी चीख नहीं निकली, उसकी आँखें फटी हुई, और चेहरा फक्क पड़ा था और मैं ज़ोर लगा लगा कर अपने लंड को उसके जिस्म में पिरोने में लगा था।जब तक दिव्या अपने होशो हवस में वापिस आई, तब तक मैंने अपना पूरा लंड उसकी फुद्दी में घुसेड़ दिया था. चुत में बड़ी मुश्किल से मेरा लंड गया क्योंकि उसका पति बहुत ही कम भाबी की चुदाई करता था.

मैंने उसके बालों को और जोर से ऐसे खींचा, जैसे घोड़ी की लगाम खींची हो. करीब 10 मिनट तक एक दूसरे की चुसाई करते हुए उसने अपनी चूत का पानी मेरे मुंह पर ही निकाल दिया जिसे मैंने बड़े प्यार से साफ किया लेकिन अभी मेरा माल निकलना बाकी था और वह मेरे लंड को बड़े जोरों से चूसे जा रही थी. मैंने उसकी टांगों को फैला दिया और उसके चूचों को पीते हुए अपना लंड उसकी पानी छोड़ रही चूत पर रगड़ने लगा.

हर वो लड़का और लड़की ये अच्छी तरह से जानते हैं कि जब पहला सेक्स होता है और जब पहली बार कोई आपके सेक्सुअल पार्ट्स को टच करता है तो वो पहला नशा एकदम अजीब सा होता है.

लेकिन मेरे पति की माँ यानि मेरी सास कहती है कि अगर तू मुझे मेरे परिवार का वारिस नहीं दे सकती तो मेरे बेटे को छोड़ दे. तीसरे लड़के ने उसकी स्कर्ट को उठा कर उसकी चड्डी खींच कर उतार और फेंक दी. उसके बाद आंटी ने मुझे प्यार से उठाया और हम दोनों बाथरूम में चले गये.

मुझे मेरी एक सहेली ने ही सुझाव दिया था, इस साईट के बारे में बता कर मुझे कहा था कि यहाँ पर अपनी समस्या लिख कर भेज. उसके होंठों को चूसते हुए मुझसे रहा न गया और मेरा हाथ उसकी जांघ पर फिरता हुआ उसकी चूत को टटोलता हुआ उसकी पजामी के अंदर घुस गया. मोल भाव के अंतर्गत वेश्याएं क्या क्या करेंगी और क्या क्या करने देंगी.

रवि इतना अधिक उत्तेजित था कि उस झटके के पल भर बाद ही वो तेज़ी से धक्के मारते हुए आगे बढ़ने लगा.

मुझे हर तरीके से सेक्स करना और काफी देर तक पति के साथ सेक्स करना बहुत पसंद है. जिस पर मैंने मासूम बनते हुए पूछ लिया- क्या चालू हो गए?राज आंखें मटकाते हुए बोला- अरे मेरा कहने का मतलब ये था कि हम 5 दिन के लिए आए हैं तो प्यार भी आराम से भी किया जा सकता था … मगर वे लोग तो.

सिर्फ बीएफ वीडियो सामान्य डिलीवरी में भी थोड़ी बहुत चीर फाड़ सामान्य बात है, उसमें भी टाँके लगते हैं तो इस केस में भी तीन महीने का समय कम से कम बिना सेक्स के निकालना अनिवार्य है. उसकी आंखें क्या मस्त झील सी गहरी थीं कि बस एक बार देख लूं, तो घायल ही हो गया.

सिर्फ बीएफ वीडियो मैंने तुरंत उसके चूचों को अपने हाथों में भर लिया और उसके चूचों को अपने हाथों में लेकर जोर से दबाने लगा. जगेश भी जाग चुका था, वो बाथरूम जाकर लौटा और कुछ देर में उसने अपने कपड़े पहन लिये.

मैंने कंपाउंड गेट खटखटाया, तो चाची ने मुझे देखा और पूछा- आप कौन हैं?मैं- जी मैं राज का दोस्त हूँ.

अमरपाली सेक्स

उन्होंने मुझे फर्श पर लेटने को कहा तो मैं फर्श पर लेट गई, दरअसल मैं भी चुदासी हो चुकी थी. मैं खुद चौंक गया क्योंकि आज तक जितनियों को चोदा, किसी के अंदर पूरा नहीं गया लेकिन पूजा पूरे मजे ले रही थी. संभोग करते हुए लगभग एक घंटा होने को था और कांतिलाल उन मर्दों में से था, जो अपने अनुसार अपना वीर्य रोक सकते थे.

मुझे यूं घूरता हुआ देख कर भाभी बोलीं- क्या हुआ … ऐसे क्या देख रहे हो … मुझमें कोई कमी दिख रही है क्या?मैंने पलट कर जवाब दिया- भाभी आप में कोई कमी ही तो नहीं दिख रही है, यही तो समस्या है. उससे पहले मैं अपना संक्षिप्त परिचय देना चाहूंगा ताकि कहानी को समझने में आपको कोई दिक्कत न हो. मेरा बॉयफ्रेंड मुझे चोद रहा था और मैं उतावली होकर उससे चुदवा रही थी.

सीधे शब्दों में कहूं तो मैं दीदी पर लाइन मारने की कोशिश करता रहता था.

उसने मुझे बताया कि उसने ही पिंकी को सब बताया है और वो किसी को भी कुछ नहीं बताएगी. वैसे तो वो कई बार सूट और सलवार भी पहनती थी लेकिन साड़ी में वो गजब की माल लगती थी. इसमें कोई शक नहीं है कि हम पांचों बहुत ही खुले विचारों वाली लड़कियां हैं लेकिन इस तरह से सार्वजनिक रूप से पराये मर्दों से चैट करना हम लोगों की शादीशुदा जिन्दगी के लिए काफी नुकसानदेह हो सकता है.

उसके होंठों को चूसते हुए मेरा लंड दस मिनट के बाद फिर से खड़ा हो गया. कुछ देर में उसकी सांसें वासना के रंग में रंग गईं और काफी तेज हो गईं. इस तरह कमलनाथ यानि लड़के के भाई ने राजेश्वरी (लड़की की बहन) को राजी कर लिया.

मैंने उसे गुस्से में बोला- हटो मेरे ऊपर से … आप बहुत बेरहम इंसान हो. आखिरकार कमलनाथ जोर से गुर्रा उठा और एक जोरदार झटके में अपना सम्पूर्ण लिंग राजेश्वरी की योनि में अंत तक धंसा कर रुक रुक झटके खाने लगा.

दोनों मम्मों को नंगे करने के बाद मैंने धीरे से अपने होंठ उसके एक चूचे पर लगाए और उसको अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. उसके बाद मैंने उसकी ब्रा को खोला और जब मैंने उसकी चुचियां देखीं, तो क्या बोलूं यार. मैंने देखा कविता और राजेश्वरी ने मैचिंग की ब्रा पैंटी पहनी थी और वो दोनों तो उसी में ज्यादा आकर्षक और कामुक दिख रही थीं.

इस कामुक सेक्स कहानी के तीसरे भागखेल वही भूमिका नयी-3में अब तक आपने पढ़ा कि मैं अब तक नेता और कमलनाथ के अलावा रवि से सम्भोग करके बहुत ज्यादा थक चुकी थी.

उसके लंड को हाथ लगा कर मेरे बदन में एकदम से करंट सा दौड़ गया और मैंने हाथ पीछे खींच लिया. मुझे एक बार लगा कि अब जैसे फरजाना ने मेरे साथ अपनी बेटी की ब्लू फिल्म देख ली है, तो अगर मैं इस पर भी हाथ डाल दूँ, तो क्या फरजाना भी मुझसे चुदवा लेगी. मेरा लंड अभी 2 इंच ही अन्दर घुस पाया था कि वो जोर से चीख उठी- आई आई मरी … ऊफ़्फ़ ऊफ़्फ़ … थोड़ा धीरे डालो न … मुझे दर्द हो रहा है.

उसके बाद निधि और कुणाल फिर से रूम में चले गए, कुणाल और निधि ने फिर से चुदाई की।चुदाई करने के बाद वे लोग चले गए।तब से निधि से मेरी सीधी बात होने लगी, अब जब भी हम लोगों को मन करता है, हम लोग मिलकर चुदाई करते हैं।अगली कहानी में आप लोगों को बताऊंगा कि कैसे मैंने और निधि ने अन्तर्वासना पर मिले एक जोड़े के साथ ग्रुप सेक्स किया।[emailprotected]. फिर वो मेरी तरफ देख कर बोला- क्या यार निहाल … कम से कम मेरे आने तक तो रुक जाते, मुझे भी तो मज़ा लेने देते.

खैर … उसकी विनती करने के बाद भी मैं मुस्कुराते हुए अपनी योनि को छुपाने के प्रयास करती रही. उसके बाद मैंने उसको फोन करने की कोशिश की लेकिन उसका वो नम्बर बंद हो चुका था. अचानक से फोन का मैसेज बजा तो मैंने देखा कि फोन में मेरे पास दो मैसेज आये हुए हैं.

सेक्सी फिल्म खून निकलने वाली

लेकिन कोई तरीका समझ में नहीं आ रहा था। मैं कभी-कभी कोई अश्लील फिल्म की सीडी लाकर रात में फिल्म भी देख लेता था जिससे मेरे मन में चुदाई करने की चाहत और तेज होती जा रही थी।एक दिन मैंने सोचा कि क्यूँ ना अपनी साली को पटाया जाए चुदाई के लिए … इससे मेरा काम बहुत आसान हो जाएगा और जब तक पत्नी नहीं आती है, तब तक जब भी मन करेगा, भरपूर मज़े ले सकूँगा.

उसने मुझसे पूछा- क्या पहली बार कर रहे हो?मैंने कहा- हां … मैंने कभी सेक्स नहीं किया है. भाभी बोली- पागल हो गये हो क्या तुम? मैं तुम्हें धंधे वाली लग रही हूं?भाभी ने गुस्से से कहा. जब यहां हमारे घर पर ही खाना बनेगा तो यह भी यहीं साथ में ही खा लेगा.

उसका सुपारा काफी मोटा था और उसका लंड मेरी चूत में पूरा फिट हो गया था. सुबह 4 बजे के करीब मेरी आंख खुली और मैं रेनू को फिर से उठा कर ले गया. सेक्सी बीएफ हिंदी मूवी सेक्सी बीएफमैं बोला- कोई बात नहीं तुम अपना काम खत्म कर लो, मैं बैठा हूं, इन्तजार कर लेता हूं.

राजशेखर जितना जोर ऊपर से लगा रहा था, उतना ही जोर मैं भी नीचे से लगाने का प्रयास करने में लगी थी. मैंने करवट बदल ली- यार रहने दे!अब मेरी पीठ उसकी तरफ थी, उसका लंड जो खड़ा था, मेरे अंडरवीयर के ऊपर से ही मेरे दोनों चूतड़ों के बीच में रगड़ने लगा.

मैं कहा- हां ये बड़ा ही होता है … इसकी लम्बाई के लिए तो लड़कियां मरती हैं. पहला लेख मैंने ही लिखा क्योंकि सबका यही विचार था कि सोनम अपने से ही शुरूआत करे. कांतिलाल धक्के मारते मारते हांफने लगा था, पर धक्कों की ताकत और रफ्तार में कोई कमी नहीं आने दे रहा था.

मैंने मामी की पैंटी को मसला और उनकी चूत को छूते ही मैं बेकाबू हो गया. फिर मैं लोहे की रॉड जैसे सख्त हो चुके अपने लंड को काजल की चूत पर रगड़ने लगा. मैंने आव देखा न ताव दोनों हाथों से उसके मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

मेरी साली मुझे खाना खिलाने के बाद पड़ोस में रह रहे अपने चाचा के घर में सोने चली जाती थी और सुबह जल्दी आकर मेरे लिए खाना बना देती थी.

वो अब तक बहुत गर्म हो गयी थी और उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं. इससे काव्या चौंक गयी और उसके मुँह से निकल गया- उफफ्फ़ …राकेश ने पूछा- क्या हुआ जान? आर यू ओके?काव्या ने बोला- हां, कुछ नहीं, जीभ कट गयी थी.

फिर मैंने उसकी भारी सी गांड में फंसी हुई छोटी सी जालीदार पैंटी को उसके कूल्हों के बीच से उंगली घुसाते हुए खींच दिया. एक दिन मेरे दोस्त ने मुझसे कहा- वो तुझे जिस तरह से देखती है, उससे लगता है कि ये तेरे से पट जाएगी. मैंने हैरानी से पूछा- तुमने कब देखा बहू?बोली- जब आप ड्रिंक लेते हैं और सासूजी को रुलाते हैं तो मैं दरवाजे के छेद से देख लेती हूं.

यह बात आज से पांच साल पहले की है जब मेरे बड़े ताऊ के लड़के की शादी थी. फिर धीरे से मैंने उसकी लैगी में हाथ डाला तो उसमें नाड़ा तो था नहीं. मैंने 10 मिनट के अन्दर उनकी चुत का सारा पानी अपने मुँह में पी लिया.

सिर्फ बीएफ वीडियो वो ये सब देखते हुए बोलीं- छोटू को बोलो कि थोड़ा इंतजार करे … उसकी छोटी थोड़ी नखरेबाज है … अभी तैयार होकर आती है. मैं भाभी के बदन को चूमने लगा और धीरे धीरे भाभी की चूत पर मैं अपना मुँह ले गया.

नवरा बायको भांडण

वो चिल्ला पड़ी- अभी नहीं।मैं भी पीछे हट गया और उनके फ्री होने का इंतजार करने लगा. मेरा बहुत मन करता था कि उस पार जाकर अभी उसकी चूत को चूस लूं और उसकी गीली चूत की चुदाई कर दूं लेकिन अभी मेरे अंदर इतनी हिम्मत नहीं आई थी. कहानी पर अपनी राय देने के लिए कमेंट करें कि कहानी में कहीं कोई कमी तो नहीं रह गई है.

वो इतना अधिक उत्तेजित था कि उसने एक बार भी मुझे लिंग चूसने को नहीं कहा. आंटी ने मेरा हाथ हटा दिया और कहने लगी- मैं तुम्हारे दोस्त की मां हूँ. इंग्लिश सेक्सी पिक्चर बीएफथोड़ी देर संभोग के बाद शायद रवि को वो लय मिलती हुई शायद नजर नहीं आई.

मैंने लन्ड सेट किया और धक्का लगा कर अंदर डाला और मेरा लंड पहली बार में तो फिसल गया.

उस शाम को तो मैम के दोनों बच्चे खाना खाने के बाद सो गए लेकिन हम दोनों पूरी रात सिर्फ बातें करते रहे. पहली बार मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने जब मेरी चुत में लंड डाला था, तो मुझे बहुत दर्द हुआ था.

मगर मैं मन ही मन सोच रहा होता था कि जब वो खुश ही नहीं हो पाती तो यह सब अच्छे सेट पहनने का क्या फायदा है. मुझे पता नहीं लग रहा था कि वो ऐसे क्यूं कर रही है।मैं किसी तरह एक बार उससे बात करने का मौका ढूंढ रहा था. अब मैं साराह की जांघों और चूत के अगल बगल में बड़ी तल्लीनता से चाट रहा था और साथ में मम्मों को भी दबा रहा था.

मैं डर गया और कुछ देर तक उसी अवस्था में उसके ऊपर लेटा रह के उसे सहलाता रहा.

शाम को अनीता जी ने सीमा जी का नंबर दिया और बोला कि मैं उनसे बात कर लूं. क्योंकि यदि कोई ध्यान केंद्रित भी कर भी ले, तो हो सकता है कोई दूसरा या तीसरा हममें से उसे भंग कर दे. मैंने कभी ऐसा नहीं सोचा था कि मैं सीमा भाबी के साथ कभी इस हालात में भी लेटूँगा। मैं यह नहीं सोच पा रहा था कि अब क्या करूं.

बीएफ सेक्सी देहाती एचडीधीरे धीरे मैंने अपनी जवान साली के कपड़ों को उसके शरीर से अलग कर दिया. मैं तब तक योनि उठाने का प्रयास करती रही, जब तक मैं पूरी तरह से झड़ न गई और मेरी योनि तथा शरीर की नसें ढीली न पड़ने लगीं.

ಮಲ್ಯಲಂಸೆಕ್ಸ್

उसने राजेश्वरी को बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी टांगें फैला कर बोला- ये जो तुम्हारी चुत है, ऐसा ही छेद तुम्हारी दीदी का भी है … और जैसा मेरा लंड है, वैसा ही मेरे भइया का है. अगर घर पर कोई मेहमान आता था तो वह मेरे रूम में ही रुकता था क्योंकि दूसरा रूम तो मां और पापा के लिए था. मैं कहने लगा कि मैं तुम लोगों के लिए एक जुगाड़ करवा सकता हूं लेकिन उसमें थोड़े पैसे लगेंगे.

मैंने उसके दोनों हाथों को पीछे किया और पीठ पर सटा कर पीछे की तरफ दुपट्टे से बांध दिया. आपको मेरी यह भाई बहन की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके बताना. वो बोली- अरे फिक्र मत कर … ये लड़की 15 लाख कमाई करके देगी … तुझे तो पता है मौसी घाटे का सौदा नहीं करती … साली की चूत से जम कर पैसे कमाऊंगी … और तुम्हारे लिए भी गिफ्ट है.

आज भी उसका लिंग पहले की ही तरह ताकतवर और अच्छे खासे मोटाई और लंबाई में था. तुम्हारी दीदी और जीजा जी रात को क्या करते हैं?राजेश्वरी ने उत्तर दिया- मुझे क्या पता क्या करते हैं. चाची- क्यों इसमें लगने वाली क्या बात है?मैं- मेरा मतलब आप काफी कम उम्र की एक मार्डन और स्मार्ट लड़की सी लग रही हो ना … इसलिए कहा.

मैं समझ गया कि अब उसकी वासना अपने चरम पर है लेकिन अभी मैं उसको भरपूर मज़ा देना चाह रहा था जिससे वो मेरी दीवानी हो जाये। मैं बहुत ही प्यार से उसकी चुचियों को चूस रहा था. इसके बाद ब्लाउज के हुक भी खोल दिए, ब्लाउज भी निकाल कर फेंक दिया, ब्रा के हुक खोले बिना ही उसे ऊपर उठा कर मेरे मम्मों को चूसने लगे.

फिर मैंने उससे पूछा- आखिर मुझे करना क्या है?तब उसने अपना असल स्वार्थ मुझे बताया.

मेरे लन्ड का टोपा आंटी की चूत में चला गया और वो जोर जोर से चिल्लाने लग गई उम्म्ह … अहह … हय … ओह … और वो लन्ड बाहर निकालने के लिए बोलने लग गई. नेपाली सेक्सी बीएफ बीएफशायद वो झड़ने के क्रम में खुद पर संतुलन न रख पाती होगी, पर करीब 4-5 बार ऐसा हुआ था. देहाती बीएफ जंगल वालाजैसे जैसे कमलनाथ का लिंग ढीला पड़ने लगा, सफेद मलाई की भांति वीर्य रिसने लगा था. मैंने अपनी माँ की चूत नंगी देखी तो मेरा मन माँ की चुदाई को करने लगा.

जब मैं अपनी बहन को नंगी देखता हूँ तो मुझे बहुत मजा आता है और मेरा लंड भी खड़ा हो जाता है.

मेरी योनि में अब पहले से कहीं ज्यादा पानी आने लगा था और मैं राजशेखर से और अधिक खुल कर चिपकती जा रही थी. ”रात को ग्यारह बजे नमिता आई, मैंने दरवाजा खोला तो नजरें झुकाये खड़ी थी. कुछ देर बाद रोहण ने प्रिया की चूत के होंठों पर अपना दस इंच का लंड रखा और धक्का दे मारा.

मैं मस्ती में था, तो एक हाथ से राईट बोबे को मसलना शुरू किया और लेफ्ट बोबे को चूसने लगा. अगले दिन मेम ने मुझे ट्यूशन के बाद रोक लिया और मुझसे कहने लगीं- पढ़ाई पर ध्यान दिया करो, इन सब चीजों को लिए पूरी जिंदगी पड़ी है. मैंने दूसरा तरीका निकालने की सोची क्योंकि बिना लंड चुसवाये तो मैं रह ही नहीं सकता था.

हॉट सेक्सी मम्मी

मेरे कहने पर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया और उसको चूसने लगी. फिर मैंने बिना अंडरवियर के ही लोअर पहन लिया और नीचे जाकर खाना खाया और कुछ देर बाद फिर ऊपर आकर अपने कमरे में लेट गया।भाबी भी नीचे सारा काम निपटा कर दादी को खाना खिला कर और अपनी छोटी गुड़िया को और अपने आप खाना-वाना खाकर मेरे लिए एक गर्म दूध का गिलास उस में हल्दी डालकर लेकर आई. अब मेरे मन में वही सीन चल रहा था जब मैंने मौसी को ब्रा और पैंटी में देखा था.

ठीक मेरी तरह ही राजशेखर मुझे तब तक झटके मारता रहा, जब तक उसने अपने वीर्य की थैली की आखिरी बूंद मेरी योनि की गहरायी में न छोड़ दी.

उषा- ये बात तो तूने सही कही … इसकी गांड और चूत चुदेगी, तो ये एक नंबर की माल बनेगी, ये कमाई भी बहुत करेगी.

जैसे किसी को शिक्षक और विद्यार्थी, मां और सौतेले बेटे, देवर भाभी और कई तरह के किरदारों की कल्पना करते हुए काम क्रीड़ा करने में मजा आता है. तो फिर उन्होंने थोड़ी कोशिश करी और आखिरकार पैंट की चैन मेरे लंड से अलग हो ही गई. मराठी में सेक्सी बीएफ वीडियोराजेश्वरी- तो क्या अभी तुम भी मुझे चोदोगे?कमलनाथ- हां … और देखना तुम्हें बहुत मजा आएगा … जैसा तुम्हारी दीदी को आता है.

लेकिन बाद में जब से मुझे सेक्स की हवस चढ़ना शुरू हुई, तो मैं हमेशा प्रीति के मादक बदन को देख कर मुठ मारने लगा था. इस दौरान हम दोनों ये तो भूल ही गए थे कि कोई चुपके से हम दोनों को देख रहा है. फिर मैंने उसे उसके दोनों मम्मों वाली तरफ से पकड़ लिया और उसने पुशअप लगाने स्टार्ट कर दिए.

यह मेरी पहली कहानी थी गाँव की सेक्सी लड़की की … इसलिए मुझे कुछ लिखना नहीं आ रहा था कि आगे क्या लिखूं. एक दिन मैंने गलती से पोर्न वीडियो की लिंक उनको सेंड कर दी थी और मेम ने वो लिंक देख लिया था.

मेरे बेड पर लेटते ही उसने मेरे लंड को हाथ में लिया और उसको मुंह में भर कर जोर से चूसने लगी.

थोड़े दिन के बाद मैंने सुना अम्मा किसी के साथ फोन पर बात कर रही थीं. मैंने उसकी चूत की दरार को उंगली से फैला कर अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटना शुरू किया. वो बोली- हट बेशर्म!उसकी बातों से लग रहा था कि उसके मन में भी कुछ चल रहा है.

हिंदी में सुहागरात वाली बीएफ भाई को देख कर मुझे भी अपने मोबाइल में पोर्न देखने का मन किया तो मैं अपने मोबाइल में पोर्न देखने लगी. पर जिस तरह की कहानी हमने बनाई थी, वैसा रमा और रवि से नहीं हो पाया बल्कि रवि की उत्सुकता की वजह से दोनों आपस में ही शुरू हो गए.

मेरी इच्छा तो हुई कि करवट बदल लूं, उसकी तरफ अपनी पीठ कर लूं और वह अपना मस्त फनफनाता लंड मेरी गांड में डाल दे. और हमारा वो सेक्स सम्बन्ध लगभग 5 साल रहा और काफी अच्छा और काफी वाइल्ड रहा।तो यह थी मेरे कई अनुभवों में से एक अनुभव की कामुकता भरी कहानी। आपको कैसी लगी? आप लोगों की राय जानना चाहूँगा। यह मेरी पहली कहानी है तो शायद लेखनी में कुछ गलतियाँ हो सकती हैं, वो मैं आगे सुधार लूँगा।आपका अपना उदित[emailprotected]. फिर एक दिन मैंने उनसे कहा कि आपने बच्चों के बारे में डॉक्टर से सलाह ली है क्या?मेरी बात को वो टाल गई.

सरस्वती मंदिर कहां है

अभी रवि को रमा की योनि को प्यार करते हुए थोड़ी ही देर हुई थी कि रमा काफी उत्तेजित हो उठी. राज- वैसे रुचि ने मुझे बताया था कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड भी आने वाला था!मैं- हां यार, लेकिन वो आ नहीं पाया … मेरी किस्मत खराब थी. कुछ देर बाद मेरा भी दर्द कम हो गया और मैं भी सेक्स का आनन्द लेने लगी.

अब तो उन्होंने और भी बड़ा खीरा निकाला और उसे अपनी चुत में डालना शुरू कर दिया. चाची की चूचियां नंगी हो गयीं और मैंने उसके बड़े बड़े बूब्स को मुंह में ले लिया.

मैं अब प्रिया के होंठों को चूसने लगा और मैंने उसका हाथ अपने लंड पर रखवा दिया.

एक पिचकारी ऊपर हवा में जाने के बाद बाकी का माल युक्ता के हाथ से होता हुआ उसकी उंगलियों में भर गया. आज भी जब मैं उन पलों को याद करता हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है और खुशी महसूस होती है. मैं बहुत खुश थी कि आज मुझे लंड से चुदवाने के लिए मिलेगा क्योंकि मैं अपनी चूत में उंगली करते करते एकदम बोर हो गयी थी.

वो भी एक दोस्त की तरह बड़ी खुल कर सेक्स की बातें करती है, क्योंकि अब मेरे लिए शिफा को वही लेकर आती है. फिर वो सीधे मेरे ऊपर आकर 69 की अवस्था में होकर मेरी चूत को किसी बहुत प्यासे और भूखे इंसान की तरह चूसने और चाटने में लग गए. तो एक लड़का बोला- तो इतना शार्ट स्कर्ट टॉप पहन कर इधर क्या कर रही है.

वो नीचे बैठी हुई फूलों को देख रही थीं और अन्जाने में अपने संगमरमर जैसे जिस्म के दर्शन करा रही थीं.

सिर्फ बीएफ वीडियो: मैंने बोला- क्या अम्मा बुढ़िया को क्यों बुला रही हो?अम्मा बोलीं- एक बात बताऊं, उसे भी सेक्स चाहिए, काफी सालों से उसके पति बीमार हैं, वो भी लंड की प्यासी हैं. और उसके होते मैं उसकी बेटी को कैसे चोद सकता था।तड़प मैं पूरा रहा था कि कब मौका मिले और कब मैं इस कुँवारी कन्या के कोमल तन का भोग लगाऊँ। मगर अब रूपा को गले लगाना और चूमना तो मैं दिव्या के सामने भी कर लेता.

और वो मेरे लन्ड को हाथ में लेकर सहलाने लग गई।फिर आंटी को मैं गोदी में लेकर अपने बेड पर ले आया और उनको बेड लेटा कर हम दोनों एक दूसरे को चूमने लग गए. मेरी ये तरकीब अब काम आयी क्योंकि मुझे अनुभव है कि मर्दों को ज्यादा उत्तेजित करने के लिए स्त्री को आगे आना पड़ता है. कुछ मिनट तक ऐसे ही करने के बाद मैंने भाभी का ब्लाउज और पेटीकोट खोल दिया.

लेकिन रात को अचानक मेरी नींद तब खुली जब मुझे कुछ हिलता हुआ महसूस हुआ.

सच में दोस्तो, अपनी कामुक चचेरी बहन की चूत की चुदाई करके मजा आ गया था मुझे. नमस्कार दोस्तो! अभी तक की सेक्स कहानीगोवा टूर में ग्रुप सेक्स का मजा- 2में आपने पढ़ा था कि मुझे मेरी सहेली के बॉयफ्रेंड विवेक ने चोद दिया था जिससे मुझे अपनी चुत में ठंडक पड़ गई थी. फिर मैंने पूछा- ऐसा भी क्या है जो आपसे इतना भी बर्दाश्त नहीं हो रहा है? आपको शायद किसी सही इन्सान की तलाश करनी चाहिए.