हिंदी की आवाज में बीएफ

छवि स्रोत,इंडियन बीएफ वीडियो एक्स एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

दया भाभी का सेक्सी: हिंदी की आवाज में बीएफ, मैंने उनकी चुत के अन्दर ही अपना वीर्य गिरा दिया … क्योंकि इस बार मैंने कंडोम नहीं पहना था.

आदिवासी नंगे

तो उन्होंने ऐसे ही मुझे सीधा करके पीठ के बल लेटा कर मेरी गीली चूत में लंड डाल दिया. करीना कपूर का सेक्सी गानामुझे भी बहुत इच्छा थी तो मैंने उसके सोए हुए लंड को चूस चूस कर जगा दिया.

उस दिन हम दोनों ही गर्म हो गये और मैंने भाभी की चूत में उंगली करते हुए उसकी चूत को अपने मोटे लंड से रौंद डाला. चुदाई वाला बीएफकई मिनट तक मैंने उसके लंड को चूसा और फिर उसने मुझे 69 की पोजीशन में कर लिया.

अब समय आ गया था कि चूत से एक वास्तविक लंड का मिलन हो, पर मेरे मन में एक भय था.हिंदी की आवाज में बीएफ: मैंने उसको कहा- तुम अपने पुराने ऑफिस से वर्क एक्सपीरीयेंस लिखवा कर लाना.

मैंने उसकी आँखों में देखा, तो वो फिर से मेरे हाथ से अपनी चूची सटाते हुए मुस्कुराने लगी.एक दिन वो कहने लगी- मैंने जब से तुम्हारा हस्तमैथुन करने का वीडियो देखा है तब से मेरी चूत में कुछ कुछ होने लगा है.

एमएमएस सेक्स वीडियो - हिंदी की आवाज में बीएफ

मैं उन्हें निहारती ही रही और उन्होंने एक स्टाइलिश गाउन निकाल कर बदन पर डाल लिया.औरतें भी अपना काम करके पड़ोसियों के घर में गप्पें मारने के लिए चली जाती हैं.

राजन ने 69 की पोजीशन बनायीं तो ममता को उसका लंड मुख में लेने में संकोच सा हुआ. हिंदी की आवाज में बीएफ अंशी के घर में उसके मम्मी पापा और एक बहन है, उसकी बहन भी बहुत बड़ी रंडी है.

फिर हम दोनों नंगे ही पड़े रहे और मैं भाभी के बोबे चूसते हुए ही उनकी बांहों में ही सो गया.

हिंदी की आवाज में बीएफ?

आपने मेरी पिछली कहानीगीत मेरे होठों परपढ़ी और आपके हजारों की तादाद में ईमेल आए. इस बार मैंने सांस को छोड़ दिया था, चूत को भी सामान्य रहने दिया और पैरों को भी थोड़ा खोल लिया था. उसने थोड़े पैर फैलाकर लंड को चूत पर सैट किया और पूरा वजन लंड पर डाल दिया.

वो हांफने लगी और मुझसे दूर होकर बोली- कितने जन्म के प्यासे हो, मेरे होंठ ही सुजा दिए. मैं सोचने लगा था कि यदि इस मादरचोद अंकल की जगह मैं अपनी मॉम की चुदाई कर रहा होता तो बहुत प्यार से उनकी चूत की चुदाई करता. मैं जोर से चिल्ला कर बोली- ये क्या कर रहे हो?आदी घबरा गया और ‘आ बा आ बा.

शर्मा अंकल- ऊऊम्म्म … भाभी जी … दूसरे राउंड के लिये रेडी हो जाइये।अब शर्मा अंकल ने मॉम को कमर से पकड़ कर उठाया और किस करने लगे, अपनी पूरी ताकत से मॉम की जीभ को अपने मुंह में खींचने लगे. फिर उसने जीभ को निकाला और मेरी चूत को ऊपर से लेकर नीचे तक चाटने लगा. फिर मैंने उनके पैरों को ऊपर किया और उनकी चूत को मेरे लंड के सामने लाया.

मैंने अपनी हथेलियों पर थोड़ा तेल और लिया और उसके पेट पर मालिश करते हुए उसके जवान कसे हुए उभारों तक ले जाने लगा. फिर उसने मुझे एक हेलमेट दिया, वो मैंने पहन लिया।उसने मुझे बाइक पर बिठाया और चल पड़े.

उनको भी अपनी चूत पर एक जवान लड़की की चूत के घर्षण में बहुत मजा आ रहा था.

मैं बोला- प्रोफाइल में तो कुछ और लिखा है?तो उसने बताया- वो मेरा ससुराल है.

आदी- कुछ नहीं दीदी, आप मेरे लिए वहां से कुछ लाई नहीं?मैं- लाई तो थी, सुबह दी थी न तुम्हें. रेखा वहां से गुजरी तो उसकी नजर ड्राइंग रूम में पड़ी जहां उसने देखा कि शैली स्कर्ट उठाकर दादू की गोद में बैठी है और दादू का लण्ड अपनी बुर में लेकर उचक रही है. मैं आप सभी को बताना चाहता हूँ कि मेरा अपना घर भी होने के बावजूद भी मैं ज्यादातर मेरे चाचा और चाची के घर पर ही रहता हूँ.

मैंने उसके पास जाकर उसकी चूत को हथेली से रगड़ते हुए उसकी गर्दन को फिर से चूमना शुरू कर दिया. मेरे फेसबुक स्टेटस हिंदी में ही होते थे और वो उन पर अक्सर अपना कमेंट किया करती थी. मैंने आव देखा न ताव उसका लोअर झट से नीचे उतरा और अपनी नाइटी उतार फेंकी, अभी मैं पूर्ण रूप से नंगी थी बस गले में मंगल सूत्र था.

मेरा लंड जोर जोर से अन्दर बाहर हो रहा था और मेरी धक्के देने की गति और भी तेज हो रही थी.

आलिया- आहह याह या अम्मह ओह राज फक मी हार्ड … और जोर से चोदो राज … जैसे अपनी दीदी को चोदते हो. इस वजह लगभग 1-2 घंटे के लिए सड़क बंद हो गई पानी भरने के कारण। इस शहर की एक कनेक्टिंग रोड है जहाँ पानी भर जाता है फिर पंप से उस को खाली करते हैं. मेरे घर के पास ही एक छोटा सा मैदान है, मैं अपने दोस्तों के साथ वहीं क्रिकेट खेल रहा था.

मैं समझ नहीं पा रहा था कि इसको मेरे जरिये अपना काम करवाने की क्या सूझी. हुआ कुछ यों कि दिल्ली से मुंबई आते वक़्त राजधानी एक्सप्रेस में एक शख्स संदीप से मेरी मुलाकात हुई. मुझे तो ऐसा लग रहा था … जैसे आज मुझे पहली बार कोई भाभी चोदने के लिए मिली हो.

राजन को बैंक के सहकर्मियों ने बताया था कि प्रकाश और उसकी बीवी का अक्सर झगड़ा रहता है और इसीलिए प्रकाश ने अपना ट्रान्सफर कराया है.

हल्का सांवला चेहरा, काफी पतली कमर, थोड़ी सी उठी हुई गांड और छोटी-छोटी चूचियां कयामत ढा रही थीं. उसने मुझसे कुछ नहीं कहा, परन्तु अपने बहन को ‘रंडी’ कह कर दूर हट गई.

हिंदी की आवाज में बीएफ इस लंड राइडिंग करने वाली पोजीशन में मुझे बहुत अच्छा लगता है और मैं एक बार फिर से झड़ गई. दाने पर मेरी उंगलियों की हरकत महसूस करते ही स्नेहा भाभी ने मस्ती भरी आवाजें निकालना शुरू कर दी थीं.

हिंदी की आवाज में बीएफ मैंने बहुत आहिस्ता से वसुंधरा के जिस्म को गोद में संभाल कर उठाया और आराम से बिस्तर पर लिटा कर रजाई ओढ़ा दी. उसने मुझसे कहा- क्या देख रहे हो?मैं बोला- आप तो बहुत हॉट सेक्सी दिख रही हो!वो मुस्कुरा के किचन में चली गई और पानी लेकर आई.

उसके मुंह से मादक सी सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … आह्ह … श्शस्स … करके वो अपने लंड को चुसवाने लगा.

सेक्सी वीडियो डांस

अब सोफे पर उसने आदी को झुका कर उसकी गांड के छेद पर थोड़ा थूक लगा दिया. अब उन्होंने थोड़ा तेल अपने लंड पर भी लगा लिया और फिर से अपने लंड को मेरी गांड के छेद में लगा के जोर लगाया. साथ ही ऊंउम ऊंउउह कहती हुई आवाज निकालती … कभी धीरे … कभी जोर से करने कहती.

पहला कि अगर दादू और पोती चुदाई का मजा ले सकते हैं तो ससुर बहू क्यों नहीं. अब मैं जो कहानी आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ, वो आपको जरूर पसंद आएगी. हम 20 मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे के आगोश में गुम से होकर पड़े रहे।उसके चेहरे पर सन्तुष्टि के भाव साफ झलक रहे थे। मैंने उसकी चूत को देखा तो उसकी चूत में से अभी भी वीर्य और लहू के मिश्रण का रिसाव हो रहा था.

उस दिन मैं खेतों पर जाने के लिए तैयार हो रहा था कि पायल आ गई और बोली- नानू, हमको घुड़सवारी सिखा दीजिये.

और मैं उसकी तरफ देख कर मुस्कुरा दी।लेकिन फिर उसने मुझसे कहा- मुझे आपसे एक काम है।मैंने कहा- क्या … बोलो?आप जाते जाते एक बार मेरा लंड चूस कर जाओ. एक दिन मनु के घर वाले दिन भर के लिए बाहर गए थे तो हमने दिन में ही मजे करने का प्रोग्राम बना लिया. दीदी ने गांड उठाते हुए आकाश का लंड अन्दर लिया और कहा- राज … अब जिया को और मत तड़पा … जल्दी से उसे चोद डाल.

मेरी मामी का मायका मेरे गाँव के पास वाले गाँव में ही है सिर्फ 6 किलोमीटर की दूरी पर!मैंने मामी की तीसरे नम्बर की बहन कामिनी की चुदाई की है. फिर असलम अंकल मेरी चूत को चाटने लगे भानुप्रताप अंकल मेरे दोनों बूब्स को दबाने लगे. फिर दीदी ने अपनी एक टांग हवा में उठाते हुए अपनी गांड को अपने हाथों से फ़ैला दिया.

जैसा कि आप लोग जानते हैं कि पहली बार की चुदाई के दौरान भी मैं जेठजी का लंड चूसना तो चाहती थी, पर शर्म और झिझक की वजह से कह और कर नहीं पायी थी. दोस्तो, आपने मेरी पिछली सेक्सी कहानीपड़ोस की देसी सेक्सी लड़की की चूत की प्यासको पढ़ा, कैसी लगी बताइएगा जरूर.

हम दोनों उसके साथ चुदाई का मजा कभी उसके घर पर ले लेते थे, कभी वो मेरे घर पर ही मुझे पेल देता था, या फिर कभी हम दोनों अलग अलग होटलों में चुदाई का खेल खेलते थे. जीजा जी ने पैग बनाए और पहले मुझे गिलास देते हुए बोले- लो थकान दूर करो. फिर उसका लंड ढीला होकर बाहर आने लगा तो हम लोग चारपाई के ऊपर ही लुढ़क गये और तेज तेज साँसें भरने लगे.

जब उन्होंने उन्होंने पूरा मेकअप कर लिया, तो वह बहुत सुंदर लग रही थीं.

मैं जैसे ही खड़ी हुई, मेरी नाइटी नीचे गिर गई और मैं पूरी नंगी हो गई. वो कुछ बोल नहीं रही थीं … लेकिन अपने होंठ दबाते हुए मेरी हरकतों का पूरा मजा ले रही थीं और सीत्कार रही थीं. मैं उसके उपर से ही उसे किस करने लगा और उनके बूब्स के निपल्स को निचोड़ता रहा।मैं थोड़ा नीचे आकर चाची के पेट को किस करने लगा.

मैंने चाची से पूछा- झांटें साफ़ क्यों नहीं रखतीं आप?वो पहली बार बोलीं- तुम्हारे चाचा को ऐसी ही पसंद हैं. उसकी मखमली जांघों पर मेरे सख्त फौजी हाथ पड़े तो शायद उसको भी मर्द की छुअन का अहसास उत्तेजित करने लगा.

मुझे पता था कि जेठजी इतने जल्दी नहीं रुकने वाले क्योंकि जेठजी करीब एक डेढ़ महीने बाद सेक्स कर रहे थे और पहली बार में ही करीब आधे घंटे तक चोदा था, तो ये तो दूसरी बार है. शैली पूरी तरह थक चुकी थी जब वो चुदाई करवा के मेरे कमरे से निकली तो!उसकी मम्मी रेखा ने भी जब उसे देखा होगा तो वो समझ गयी होगी आज उसकी बेटी की जम कर चुदाई हुई है. अब मैं बिल्कुल नंगी हो चुकी थी और उसका अकड़ा हुया लंड उसके अंडरवीयर में से ही मेरी फुदी पर महसूस हो रहा था.

आदिवासी स्टेटस इन हिंदी

कहानी के पिछले भाग में मैंने बताया था कि दोनों सेठ जो जीजा के दोस्त थे वो दोनों के दोनों ही नंगे होकर मेरे जिस्म से लिपटने लगे थे.

उसके छोटे छोटे मम्मे पूरे के पूरे मेरे मुँह में अन्दर चले जा रहे थे. मैंने कहा- उनकी चूचियों के निप्पलों को छेड़ते हुए मैंने उनसे कहा- परेशान तो आपके इस कयामती जिस्म ने मुझे कर रखा है भाभी. ताश के पत्ते बांटे गए।पते बाँटने से पहले रमेश सर बोले- जो हारेगा, उसे एक एक कपड़ा उतारना पड़ेगा.

रेखा के चूतड़ के नीचे दो मोटे मोटे तकिये रखे तो उसकी चूत आसमान में टंग गई, उसकी दोनों टांगें हवा में तैर रही थीं. ”आशू- सुबह-सुबह चढ़ा कर (दारू पीकर) आयी है क्या, तुझे पता है न मैं क्या कर सकता हूँ?वो मेरा वीडियो कॉलेज ग्रुप में डालने की धमकी देने लगा. sex వీడియో hdदर्द कम करना भी मेरे ही हाथ में था, तो मैंने केले को चूत में डालना वहीं रोक दिया.

इतना कहकर मैंने जोर से ठोकर मारी और संगीता की चूत की झिल्ली फाड़कर मेरा लण्ड अन्दर तक चला गया. मैंने देखा कि जीजा का लंड उनके अंडरवियर में पूरा जोश में आ चुका था.

वो मुझे चूमते हुए बोलीं- दरवाजा खुला रखना है क्या?मुझे याद आया कि जल्दीबाजी में दरवाजे बंद ही नहीं किये थे. फिर मैंने दीदी को देख कर सॉरी कहा- दीदी ने कहा- कोई गल नहीं, सब चलता है … चलो अब तुम लोग भी कपड़े बदल कर फ्रेश हो जाओ, फिर खाना बनाते हैं. कामोत्तेजना के कारण चूत से निकलता रस उसकी चुत में चमक पैदा कर रहा था.

मैं सीधा उसके ऊपर टूट पड़ा और उसके मम्मों को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. उन दिनों पति घर में नहीं थे और मेरी एक साल की बेटी की तबियत खराब थी. मैंने दीदी से कहा- लेकिन दीदी ये डिल्डो तो परमीत के पास वाले डिल्डो से काफी मोटा है और ये ही एक ओर से ही लंड जैसा है.

उसकी बातों के जवाब में मेरे मुँह से निकल गया- आहह संदीप … आह … ऐसे ही चोदते रहो … आहह संदीप लव यू यार!यह कहते हुए मैं झड़ गई.

उसने खड़े खड़े ही मेरी टांगों को फैलाया और मेरी चूत को ध्यान से देखने लगा. फिर मैंने भाभी से पूछा- आप कैसी हैं? आप क्या करती हैं? आप कहां से हैं? मैं आपकी क्या हेल्प कर सकता हूँ?वहां से जवाब आया- मैं भी अच्छी हूँ.

भगवान तुम्हारे पति की आयु सौ साल करे! लेकिन हकीकत यह है कि तुम भी शारीरिक सुख से तो वंचित ही हो. जैसे जैसे उसके पैर फैल रहे थे, वैसे वैसे उसकी गुलाबी चूत मेरे सामने खुली हुई दिखायी दे रही थी. उस दिन शाम तक मैंने अपने सारे काम जल्दी से जल्दी निपटा लिए और रात को उस अन्दर के कमरे में जाकर बैठ गया.

मैंने कहा- अर्थात मेरी प्यारी बीवी अपने भैया का लंड लेने को तैयार है?संजू बिना कुछ बोले मेरे गले से लिपट गई. फिर!मोनिका ने मेरी बात काटते हुए- आपको रोका किसने है? वैसे रवि मेरी फिगर में कुछ बदलाव आ गया है. ” मैंने वसुंधरा की गर्दन पर अपने होंठ फिराते हुए अपने आइंदा इरादों को ले कर वसुंधरा को ख़बरदार किया.

हिंदी की आवाज में बीएफ वो- और …मैं- तुम्हारी मोटी मोटी आंखें एकदम वाइट और बीच में मटकता काला गोला … आह … आज भी नशीला है … जो एक बार देख ले, तो नशे में हो जाए. फिर मैंने उसके गालों पर उंगली हुए फेरते हुए कहा- मैं खूबसूरत लोगों को निराश नहीं करता हूं.

सेक्स कैटरीना

तभी बिक्कू ने मेरे भाई को फोन लगाया और फोन को स्पीकर मोड पर डाल दिया. साकेत भैया दीदी को फिर से बेड पर लिटाया और दीदी से पूछा- प्रिया … थोड़ा सा तेल मिलेगा!दीदी कराहते हुए- टेबल पर होगा. यह भी मुझे बाद में पता चला कि इस बात के लिए उन दोनों की बात पहले ही हो चुकी थी.

बाकी बचे 4 इंच को दो जोरदार धक्के लगा कर पूरा 9 इंच लंड अन्दर पेल दिया. हम दोनों एक-दूसरे को देखकर मुस्कराने लगे और मैं अपने बैग के साथ उसके पास चला गया. मौसी और भतीजे की सेक्सी वीडियोदीदी की बात पर मैं रूम के अन्दर ही सकपका गई और अब तक परमीत भी कपड़े पहन चुकी थी.

तब तक मैंने भी अपने फ़ौजी पति को फोन लगाकर उनसे बात कर ली और फिर मैं ड्राइवर के पास जाने का सोचने लगी.

मैं अपने शॉपिंग बैग कार से निकाल रही थी, तब उसने मुझे एक गिफ्ट का बॉक्स दिया. उन्होंने भी मुझे अपने से चिपका लिया था और पूरी ताकत से मेरी चुदाई किये जा रहे थे.

उसने मेरे मुंह पर भी हाथ रख दिया और धीरे से मेरे कान में कहा- डरो मत, मैं सुधीर हूँ. उन्होंने अपना एक हाथ मेरी कमर में डाला और लंड फुद्दी में लगा कर एक हाथ मेरी गांड में लगा के लंड पेल दिया मेरी चूत में!अब हम दोनों की ही कमर चलने लगी; मेरे दूध उनके सीने से रगड़ने लगे. नीतू कोई 20-22 साल की लड़की है, जिसका रंग बिल्कुल दूध जैसा गोरा है, आंखों का रंग भूरा व बालों का रंग सुनहरा है, कोई भी उसे देख कर ये नहीं कह सकता कि वो भारतीय है.

मैंने सपना के मम्मों को दबाना शुरू किया, तो वो भी गर्म होने लगी और सीधे बोली- यहीं चोदेगा क्या … अन्दर चल मेरी चुत की खुजली ठीक से मिटा.

फिर थोड़ी देर बाद मैं अपने कमरे में वापस आ गई और सोचने लगी कि शायद आदी गे है. फिर उन्होंने मुझसे कहा- रूचि डियर, तुम्हारे जैसा मजा मुझे किसी लड़की ने नहीं दिया. मैंने उसे अपने सीने से लगा कर पूछा- क्या तुम भी वैसा करना चाहोगी?मेरे पकड़ते ही उसके माथे पर पसीने की बूंदें छलक आयी थीं.

मुंबई सेक्स ओपनउसने जैसे ही करवट बदली मैंने अपने होंठ उसके होंठ से सटा दिए और उसे चूसने लगा। चूसते चूसते मैं उसके बूब्स भी दबा रहा था वो भी मेरा साथ दे रही थी।फिर वो अलग होकर मेरे कपड़े उतारने लगी, मैंने भी उसके कपड़े उतार दिए. तो उन्होंने धीरे-धीरे मेरी गीली हुई चूत पर अपनी जीभ फिरानी शुरू की। मुझे तो बहुत मजा आने लगा, मैंने उसके दोनों हाथों में अपने हाथ दे दिए और कहा- बेबी और तेज करो!वे भी मेरी चूत को पूरा मुंह में लेकर चूसने लगे.

नंगी ब्लू पिक्चर

वहां मामा हॉल में सोफे पर बैठ कर टीवी देख रहे थे और मामी किचन में खाना आदि का देख रही थीं. बीच बीच में जेठजी मेरे दोनों चूतड़ों को कस कर दबा देते, तो मैं भी उनके चूतड़ों को अपनी पूरी ताकत से दबा देती. मैं जब भी घर में आता था, भाभी मुझे दुल्हन की तरह सजा देती थीं और वह शर्ट पैंट में हो जाती थीं.

मैंने समय नहीं गंवाते हुए अपने लंड का सुपारा चाची की चुत पर रख दिया और धीरे से अन्दर पेल दिया. उस दिन मेरे ज़हन में एक बात आयी। ये जानते हुए भी कि मैं कितनी बड़ी रण्डी हूं उसने मेरा फायदा नहीं उठाया। मेरी हेल्प की और मुझे इस समस्या से निकाला।ये सोचते हुए आयशा की बात मेरे दिमाग में घूमने लगी ‘सेफ सेक्स की गारंटी!’उस दिन के बाद से मेरे मन में एक भावना का उदय हो गया था. भाभी नींद में ही बड़बड़ाने लगी- क्या कर रहे हो, सोने दो ना प्लीज … मैं बहुत थक गई हूं.

हम कभी एक दूसरे के स्तनों को सहलाते, तो कभी पीठ पर हाथ फेरते कभी नितम्बों को भींच लेते. कहानी के पिछले भागऑफिस गर्ल की दोबारा चूत चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मैंने अपने दोस्त के रूम पर अपने ऑफिस की लड़की की चूत चुदाई करके उसकी चूत को लाल कर दिया था. मेरी तड़फ मोनिका के लिए बढ़ती जा रही थी, तो लगभग एक महीने बाद मैंने उसके मैसेंजर पर मैसेज छोड़ा.

फिर वो दीदी के ऊपर चढ़ गए और दीदी की गांड में अपने लंड से पम्पिंग करने लगे. उसकी इस हरकत से मैं और भी उत्तेजित हो गयी, मेरी चूत में सनसनाहट सी होने लगी.

उसके दोनों मोम्मे ऊपर नीचे हो रहे थे, जिन्हें वो अपने हाथों से मसलने लगी.

उसकी जीभ जैसे ही मेरे लंडमुंड से छुई, जैसे पूरे बदन में तरंगें दौड़ गयी, उसका गर्म मुँह और गीली जीभ मेरे लंड को बहुत सुहायी. देसी लड़की का वीडियो सेक्समैं- क्या बात है सर क्यों परेशान कर रखा है … उसको अकेला समझा है क्या, जो इतना परेशान कर रहे हो?मैंने उससे घुड़की भरे अंदाज में कहा, तो वो घबरा सा गया. सेक्सी इंग्लिश वीडियो एक्स एक्स एक्ससपना को अपनी शॉप मार्केट में लेनी थी, तो वो अधिकारी मान नहीं रहा था. उसके दोनों मोम्मे ऊपर नीचे हो रहे थे, जिन्हें वो अपने हाथों से मसलने लगी.

अब नजारा यह था कि मेरा एक बूब आगे वाला दबा रहा था और दूसरा बूब पीछे वाला मसल रहा था.

इससे पहले कि मैं अपनी इस सेक्स कहानी को शुरू करूं, सबसे पहले मैं आपका परिचय अपनी दीदी और उस आदमी से करा देता हूँ, जिसके बारे में मैं आपको अपनी इस सेक्स कहानी में बताने जा रहा हूँ. मम्मी ने वहीं से आवाज लगाई- क्या हुआ श्वेता, जा रही हो?श्वेता- हां आंटी जा रही हूं. मैं पहली नजर में ही ताड़ गया कि चोदने के लिए मजबूत सामान है, बस जाल बिछाने की जरूरत है.

तभी उसने लंड का सुपारा चूत में फंसा दिया और फिर एक लय में लंड चूत में समाता चला गया. मैं धीरे धीरे उनकी भारी भरकम भरी हुई जांघों पर तेल की मालिश करके दबाने लगा. मैंने झट से चाची की एक चूची को अपने मुँह में दबा लिया और चचोरने लगा.

देहाती ब्लू सेक्सी वीडियो

… शायद ये पहले से प्लान था … हम लोग एक होटल में गए और टेबल पर बैठ गए … एक तरफ मैं और श्वेता दीदी और दूसरी तरफ दीदी और साकेत भैया …वेटर ऑडर लेने आया- सर क्या लाएं?साकेत भैया ने मेरी दीदी से पूछा- क्या लोगी?दीदी कुछ नहीं बोली. उसने कहा- यार बस तीन घंटे? इतने टाइम में क्या होगा यार! मेरा तो मन भी नहीं भरेगा इतने टाइम में!तो मैंने हंसते हुए कहा- तो फिर सुबह तक तुम्हारे पास ही रहती हूँ. वसुंधरा की नर्म-ग़र्म साँसें मेरी नाभि पर से आ-जा रहीं थीं जिसको महसूस करके मेरा काम-ध्वज बड़ी तेज़ी से चैतन्य अवस्था को प्राप्त होता जा रहा था और इस का अंदाज़ा वसुंधरा को भी बराबर हो रहा था.

दूसरी सवारी को दोनों सीटों के बीच वाली जगह पर बैठना था और वहाँ पर गियर हैंडल भी था.

मैंने कहा- हां डार्लिंग … बस पीछे से तेरी चुत में लंड पेल कर चुदाई करूंगा.

प्रीति के शब्दों में:मेरा भाई मदहोश होकर मेरे होंठों का रस-पान कर रहा था। वो मेरे बदन पर हाथ फेरते हुए किस कर रहा था। मैं भी उसका भरपूर साथ दे रही थी। धीरे धीरे उसने उसने दोनों हाथ मेरे शर्ट के नीचे डाल दिए और उसके हाथ मेरी नंगी पीठ को सहलाने लगा।मैं उसकी मजबूत बांहों में जकड़ती जा रही थी। उसके हाथ मेरी ब्रा तक पहुंच चुके थे। वो ब्रा खोलने की कोशिश करने लगा मगर ब्रा उससे खुली नहीं. जिसमें मैंने कल्पना की है कि मैं शिखा मामी की चुदाई किस तरह से करूंगा. जिगोलो कंपनीपहली बार किसी लड़की को देखकर इतनी जोर से दिल धड़का था कि क्या कहूँ.

मैं लंड खींच कर बाथरूम की तरफ जाने वाला ही था कि मेरे हाथ को पकड़ कर निधि बोली- मादरचोद बहनचोद चूतिये … जाता किधर है हरामी … मेरे ऊपर मूत न!मैंने खड़े होकर नीचे फर्श पर कुतिया बनी निधि के ऊपर ही मूत दिया. ”अपना अंगूठा ज्योति की बुर में बनाये रखते हुए मैंने कहा- कब और कैसे हुआ, पूरी बात सच सच बताओ?वो बताने लगी:एक दिन राकेश के मम्मी पापा और भाई लखनऊ गये हुए थे, वो घर पर अकेला था. मेरी सेक्सी मॉम के बदन के बारे में बात करूं तो उनका फीगर 36-28-38 का है.

इस पर वो बोली- फिर भाभी को क्या बोलेंगे?मैंने कहा- उसे मैं फ़ोन करके बोल देता हूं कि आज नाईट शूट है. वो मेरे होंठों को चूसे जा रहा था और मेरी चूचियों को दबाने में लगा था.

बाद में भाभी ने बच्चों उठा कर तैयार किया और स्कूल भेज कर फारिग हो गईं.

कुछ ही देर में भाभी भी पूरी गर्म हो गई थीं और खुल कर मेरा साथ दे रही थीं. श्वेता दीदी- अरे कुछ बताओ … कहां दर्द है … तब ना कुछ उपाय बता सकूंगी. किसी बॉडी बिल्डर से कम नहीं लग रहा था वो। उसको देख कर किसी भी चूत का चुदने को मन कर जाये.

পাঞ্জাবি বিএফ সেক্স जोड़ी तो सुन्दर है, घर परिवार भी ठीक है, भगवान इन बच्चों पर कृपा बनाये रखें. इस बात पर मेरा लंड हरकत में आ गया और मैंने संजू को रसोई में ही अपने आगोश में भर लिया और उसके होंठ पर अपने होंठ रख दिए.

मैंने मौके की नजाकत को देखते हुए दूसरी बार में जोर के धक्के के साथ पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. उसके मुँह से ये सुनते ही मैंने कहा- हां भाभी, मैं आपकी चूत को आज खा जाऊंगा. चाची लंड सहलाते हुए बोलीं- इतना बड़ा तो तुम्हारे चाचा का भी नहीं है.

पंजाबीसेकसी

उसने और तेज तेज धक्के लगाने शुरु कर दिए। मेरी और तेज चीखें निकलने लगी. उसके बाद मैंने जैसे ही दरवाजा बन्द किया, तो मैंने और उसने एक दूसरे को कसके जकड़ लिया. जैसे ही मैंने अपना लंड उनकी गांड में डाला, तो मैं कुछ ही देर में चाची की गांड में ही झड़ गया.

मैंने मौके का फायदा उठाते हुए उससे कहा- ये क्या कर रही थी तुम मेरे लैपटॉप में?मैं जानता था कि वो भी सेक्स कहानियों का मजा ले रही थी. मैंने भाभी से एक दिन पूछा- भाभी, आपके सामने मैं इसकी चुदायी करता हूँ … तो आपका मन चुदने का नहीं करता?भाभी उसके सामने मेरे इस प्रश्न के लिये तैयार नहीं थीं.

फिर हम तीनों ने साथ खाना खाया, सोनू थका होने के कारण जल्दी कमरे में चला गया.

मैं हैरान थी कि पांच मिनट के अंदर ही दीदी ने अपनी चूत दूधवाले से चुदवा ली. उसने राजन से कहा- सर अगर आप चाहें तो मेरा मकान देख लें, उसमें वन रूम सेट खाली है और बहुत अच्छे से मेन्टेन है. वो अपन ही बेटी को धंधा करने के लिए परमिट दे रही थी, वो भी मेरे जीजा के कहने पर.

परमीत हमेशा ही गीत की बहुत तारीफ करती रहती है और उससे ज्यादा तारीफ आपकी करती है. मैंने और भी बेकरार होकर पूछा- फिर कब?मालकिन ने आँखें नचा कर अपनी चुदास बिखेरी और कहा- रात को. ज़ेबा के ज़बरदस्त विरोध के बावजूद आख़िरकार मैंने 5 इंच लंड चुत में पेल दिया.

पर मैंने जाने का इशारा किया, तो वो लोग चली गईं और जाते-जाते कह गईं- हमारी सहेली नाजुक है, जरा ख्याल रखना.

हिंदी की आवाज में बीएफ: उसने कुछ देर मेरे लंड को दबा कर देखा और फिर मेरे अंडरवियर को निकाल कर मेरे लंड को भी नंगा कर दिया. अब मेरा लंड स्वीटी आंटी के चुत में अंडरवियर के ऊपर से ही सट रहा था.

हमारी सोसायटी के सारे बुड्ढे, अंकल, धोबी, दूध वाला, सफाई वाला और यहां तक कि मेरे दोस्त भी मेरी मॉम पर लट्टू हैं. मैं लंड खींच कर बाथरूम की तरफ जाने वाला ही था कि मेरे हाथ को पकड़ कर निधि बोली- मादरचोद बहनचोद चूतिये … जाता किधर है हरामी … मेरे ऊपर मूत न!मैंने खड़े होकर नीचे फर्श पर कुतिया बनी निधि के ऊपर ही मूत दिया. तो सर ने अपने लन्ड के टोपे को मेरी चूत पर लगा कर अपनी पोजीशन ली और फिर एक ही झटके में सर ने अपना पूरा लन्ड मेरी चूत में उतार दिया.

वैसे मंदिर जाना मेरे लिए नई बात नहीं थी, पर आज मैं भगवान से कुछ खास मांगने गई थी.

जीजा जी- साले साहब अपनी बहन को चोदने में मजा आ रहा है न?मैं- बहुत ज्यादा … और आपको?जीजा जी- हां बड़ी मक्खन माल है आलिया. मेरे 38″ के चूतड़ों में गुदगुदी हो रही थी और साथ में लंड चूत में!बहुत मजा आ रहा था उसे भी और मुझे भी!वो पीछे से मेरी कमर चाट रहा था चिकनी एकदम … जिसे उसने वीडियो कॉल में देखा था. क्यों नहीं?”उसके उस छोटे से जवाब से मेरे दिल में खुशियों की लहर सी दौड़ गयी। मैंने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए और बिल्कुल नंगा होकर उसके पैरों के ऊपर बिना वजन रखे बैठ गया और उसकी खूबसूरत चूत और चिकनी नाभि को धीरे धीरे अपनी उंगलियों से सहलाने लगा।उसकी आँखें अभी भी बंद थी पर उसने दांतों से होंठों को दबाते हुए जो मुस्कुराहट दी.