सेक्सी फुल बीएफ एचडी

छवि स्रोत,एक्सएक्सएक्स रिलीज़ दिनांक भविष्य

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू पिक्चर का फोटो: सेक्सी फुल बीएफ एचडी, साफ़ दिख रहा था कि चाची ने अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी, पर पेंटी का मालूम नहीं चल रहा था कि पहनी है या नहीं.

माया बाजार

फिर उसने सिसकारियां लेते हुए मेरी कमर में अपने नाखूनों से नोंचना शुरू कर दिया. खूबसूरत लड़की फोटोज्योति लंड शब्द सुनकर शर्माते हुए आश्चर्य भरी निगाहों से मेरी तरफ देखा.

अब अनिल मेरी मॉम के होंठों को चूसने लगा और मॉम के गालों को काटने लगा. ब्लू फिल्म अंग्रेजीइसके बाद मैंने उन्हें चूमना स्टार्ट कर दिया, उनके माथे में, होंठों में, गालों में चूमते हुए मैं उनको प्यार करने लगा.

मैंने पूछा- वाह क्या बात है … लेकिन तुम जिम में ना किसी से बात करती हो और ना किसी की तरफ देखती हो … मैडम इतना गुरूर अच्छा नहीं होता.सेक्सी फुल बीएफ एचडी: मैंने कहा- फिर हम एक दूसरे की मूतने वाली जगह देखते थे और सोचते थे … ये हम दोनों की अलग अलग क्यों है.

एक बार उनको काम के सिलसिले में ब्राज़ील के बीच (समुद्र तट) और कल्चर पर एपिसोड बनाने थे.भाभी बोलीं- कहां जा रहा है … ऊपर नहीं आ रहा क्या?मैंने बाइक स्टैंड पर लगाई और उनके साथ ऊपर आ गया.

सनी लियोन सेक्सी ओपन वीडियो - सेक्सी फुल बीएफ एचडी

मैंने अपनी ब्रा खोल कर एक तरफ डाल दी और मेरे भाई ने मेरे चूचों को अपने मुंह में भर लिया.मैं उम्मीद करता हूँ कि मेरी ये सेक्स कहानी आप सबको उत्तेजित और खुश कर देगी.

दीदी के सामने लंड को हिलाते हुए वो दीदी के मुंह पर लंड को पटक रहा था. सेक्सी फुल बीएफ एचडी कुछ देर तक मॉम की चुत चाटने के बाद मॉम ने मेरे सर पर हाथ फेरा और मुझे इशारा किया.

जॉयश ने आगे बढ़कर एकता को अपने आलिंगन में ले लिया और कहा- वेल डन … वेल डन!फिर सबने बारी-बारी से एकता को गले से लगाया.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी?

या यूं कहा जाए कि इस वक्त मैंने अपने लंड से भाभी के मुँह को ही चोदना शुरू कर दिया था. कोई उसकी गांड को एक बार देख ले, तो मेरा दावा है कि वो सब कुछ भूल जाएगा. नवधा चाय पीती हुई मुझे आँख मार रही थी और इशारा कर रही थी कि रुक जाओ.

इतने में उनकी बेटी कोचिंग से आ गयी तो हम दोनों संभल कर बैठ गये।फिर आंटी भी अंदर चली गयी और मुझे बोली- मैं अब खाना बनाऊँगी तो आ जाना खाने।8 बजे के लगभग मैं खाना खाकर वापिस अपने घर की तरफ आ गया और पढ़ाई करने लगा. कैमरा सैट करके मैंने चुपके से दीवार फांदी और और उनके पीछे जा कर खड़ा हो गया, थोड़े फासले पर. मैंने उसकी कुर्ती फाड़ दी जिसका बदला उसने मेरी छाती पे काटते हुए लिया.

वे दोनों लड़के एक गली में जाकर प्रीति को बारी बारी से किस कर रहे थे और उसकी चुचियां दबा रहे थे. सब अपनी जांघों से मंगल के सिर को अपनी चूत पर दबा रही थी और उनका मन ही नहीं कर रहा था कि मंगल उनकी चूत को छोड़कर किसी दूसरी की चूत पर जाए. इसके साथ तो समय कम था, इसे घर भी जाना था और बहुत मुश्किल से मानी भी थी.

एक हमारे यहां की एक आंटी, जो कि थोड़ी पढ़ी लिखी कम थीं, उनके साथ मेरे संबंध थे. उस लड़के ने मुझसे दो मिनट वहीं सोफे पर बैठने को कहा और दोनों मियां बीवी एक रूम में चले गए.

ऐसे खूसट किस्म के गांडुओं ने मेरी गांड कम मारी थी, मुझे उनकी गांड उनके मजे के लिए मारना पड़ी थी.

मामा जी- बड़े किस्मत वाले थे वे जिन्हें तुम जैसे नमकीन की मारने को मिली.

उसके होंठों को देख कर साफ़ लगता था कि जैसे इन रसीले होंठों में अंगूर का रस भरा हुआ हो. मैंने सोचा यही सही मौका है कि कुछ ऐसा काम करूं कि भाभी को बुरा भी न लगे … और बात भी बन जाए. इसी बीच बातों-बातों में पता चला कि उसकी केवल एक बेटी है, जो बाहर पढ़ रही और पत्नी का 2 साल पहले बीमारी की वजह से स्वर्गवास हो गया.

देखते ही देखते प्रिंसीपल का लंड मेरी दीदी की चूत में अंदर तक चला गया. तो बात करते करते ज़रीना बोली- अभी असगर भाईजान ने जब मुझ पर हाथ उठाया तो मुझे चोट लग गई. यह कहते हुए भाभी मेरे मुँह को अपने सीने पर कसे ब्लाउज़ और साड़ी के आँचल से कसके रगड़ देती थी.

एक बार भाई एक महीने के लिए बाहर गए तो …दोस्तो, मेरा नाम मनीष है … और मैं इंदौर से हूं.

दोस्तो, क्या बताऊं … भाभी मेरा लंड ऐसे चूस रही थी कि मैं भी उसके मुँह में ही अपने लंड को आगे पीछे करने लगा. कुछ देर तक उसके निप्पलों पर जीभ से चाटा तो वो थोड़ी सामान्य हो गयी. अब हमारे पेट व सीना एक दूसरे से टकरा रहे थे … व लंड भी एक दूसरे को छू रहे थे.

मौके की नजाकत को समझते हुए मैंने चूत की गहराइयों में लंड को उतारने का फ़ैसला कर लिया. थोड़ी देर बाद विभोर और मैं हम दोनों सेक्स करते करते झड़ गए और हमारा पानी निकल गया. बस एक बार ऐसा जुगाड़ लगाओ कि तुम मैं और सारिका साथ रात भर मजे से चुदाई कर सकें.

मैं लंड देखता रहा कि कहीं छाले तो नहीं है … दर्द तो नहीं हो रहा है.

मैं उसको बचपन से ही जानता हूं और पसंद भी करता हूँ पर आज तक उससे कभी कह नहीं सका था. इतना सुनने के बाद मैं थोड़ा शरारती अंदाज़ में बोला- आप इतनी जवान दिखती हो … मेरी उम्र की ही हो, अब मैं आपको आंटी तो बुला नहीं सकता … तो आप ही बताइए कि मैं आपको क्या बोलूं … आप जो बोलेंगी, मैं आपको वही बुलाऊंगा.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी मामी ने भी बोल दिया था कि जितना खुल कर बात करेंगे उतना ही मजा आयेगा. मैंने अपने दोस्त से एक दिन शराब के नशे में सारी बातें पूछी, तो उसने बताया सोमेश भैया ने दीदी से और लड़कों के साथ मिलकर ग्रुप सेक्स करने को कहा था.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी ऊपर को नजर दौड़ाई, तो भाभी के गोरे रंग के घुटने थे, उन घुटनों पर भाभी हल्के हल्के से मालिश कर रही थी. अगले दिन उसे नर्सिंग होम से कुछ दिनों की छुट्टी मिल गई थी, तो वह अपनी फैमिली के पास अपने गांव जा रही थी.

फिर जब उनको पता चला कि मैं भी उनको देख रहा हूं तो मामी ने नीचे फर्श पर देखना शुरू कर दिया.

बहिण-भावाचा सेक्स

मैंने फिर से अपने होंठ मॉम के स्तनों से लगा दिए और उनका दूध पीने लगा. अब मिहिर ने भी दो धक्कों के बाद अपना नियंत्रण खो दिया और मेरी बीवी की योनि में ही वीर्यपात करते हुए शांत होता चला गया. वे बोले- नहीं … मैंने रात को रेस्ट ले लिया था … आपने सवेरे से किया, इसलिए थकान लग रही होगी.

फिर भी कन्फर्म करने के लिए मैंने उससे पूछा कि ये डैड क्या है?उसने कहा- ये कोड मुझे राजू ने बताया था कि आप लोग कोड से ही काम की बात करते हो. वह अपने साथ बॉम्बे डाइंग का जंबो साइज का टॉवल लेकर आया और पूरी तरह नंगी एकता के पीछे जाकर उसके दोनों हाथ ऊंचे किए और टॉवल को उसके वक्ष पर लपेटकर अच्छे से बांध दिया और एकता के निर्वस्त्र शरीर को ढक दिया. मैंने कई बार उसको बोला लेकिन वोलंड चुसाईकरने के लिए तैयार नहीं हुई.

इसके बाद मैं सौम्या को किस करते हुए नीचे आने लगा और उसकी काले रंग की पेंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर किस करने लगा.

मैं कम्प्यूटर में विन्डोज़ इन्सटॉल करने में लग गया … दोस्त की गर्लफ्रेंड ज्योति पास में ही बैठी थी. लड़के ने कंप्यूटर संबंधित कुछ काम बताया, उन्हें कुछ प्रिंट निकलवाने थे. कुछ देर बाद बुआ उठ कर बाथरूम में जाने लगीं, तो बुआ ने देखा बिस्तर की सफ़ेद चादर लाल हो गई थी.

फिर उसने मेरी पैंटी भी निकाल कर मुझे पूरी नंगी कर दिया।मैं कामवासना के ज्वर से तड़पती हुई बिस्तर के चादर को हाथों में लपेट कर दबा रही थी।उसने मेरी टांगों को फैलाकर मेरी अनचुदी चूत के दर्शन किये। मेरी कुंवारी चिकनी चूत को देखते ही उसकी जीभ लपलपाने लगी।वो मेरी चूत के ऊपर झुका और उसने मेरी चूत पर अपने होंठ लगा दिए. मैं मॉम के पास गया औऱ प्यारी रंडी मॉम ये कहते हुए उनके प्यारे होंठों को चूम लिया. इस तरह सारा तेल उनकी नाइटी पर मम्मों के पास गिर गया और चाची के मम्मों पर चला गया.

उन्होंने ये सब छुपा कर दीदी को प्रपोज किया था और रोज़ नेहा को चोद रहे थे. उसके ना मानने पर ये तय हुआ कि ज्यादा दूर ना जाकर इंदौर से भोपाल ही जाया जाए.

मैंने अपने एक हाथ से उसकी पीठ पर दबाव बनाया और दूसरे हाथ से उसके चूतड़ों को दबाने लगा. सुरेश- तुम अपनी ये झांटें साफ नहीं करतीं क्या?मैं- मैं इतना ध्यान नहीं देती, कभी मन होता है तो कर लेती हूं. ये बात सुनकर मैंने खुशी से भाभी की चूची जोर से दबा दी तो भाभी ने कहा- जाओ अपनी चालू मॉम शालिनी रंडी की चूची दबाना … उसके कुछ ज्यादा ही बड़े हैं.

मैंने उस मूली को बाहर की ओर खींचा और बोला- आपकी बुर को मूली नहीं … मेरा लंड चाहिए.

मोनिषा आंटी ने कहा- नवीन, तुम पहले अपने लंड का साइज देखो और मेरी गांड का छेद देखो … कैसे जाएगा इसमें?मैंने कहा- मैं तो सब कुछ कर लूंगा. मैं- हम्म … वही सोचूँ कि विमला से तो इन सबके बारे में बात नहीं होती कभी … न ही उसे दिलचस्पी है. और फिर मैंने क्या देखा कि भाभी अपनी चूत में …आपने अब तक मेरी इस देसी हिंदी सेक्स स्टोरी के पहले भागपड़ोसन भाभी को मदमस्त चोदा-1में पढ़ा कि मेरी पड़ोसन रेनू भाभी को मैं अपनी गोद में उठा कर उनके बेड तक ले गया था.

मैंने भी जानता था कि ये दोनों आज मेरी गैरमौजूदगी में चुदाई करने वाले हैं. अब मुझे चोदने के लिए हर दूसरे हफ्ते लड़की चाहिए होती है, इसीलिए मेरी कई जुगाड़ें हैं, जिन्हें मैं गाहे बगाहे चोदता रहता हूँ.

नोंचने का सा एहसास सुरेश को भी हुआ … और वो भी थोड़ा था कराह उठा … मगर उसकी नींद नहीं खुली. फिर एक साथ रंडी बीवी की गांड और चुत में लंड डाल कर 3 घण्टे की दमदार चुदाई हुई. ढीली होने की वजह से निर्मला का शरीर भारी पड़ गया था, जिसकी वजह से राजशेखर पूरा जोर नहीं लगा पा रहा था.

वीडियो बफ हिंदी

मैंने भी उसको अपनी बांहों में भर लिया और एक एक करके उसके सभी अंग सहलाना शुरू कर दिए.

फिर मैंने दूसरे चूचे को मुंह में भरा और पहले वाले को हाथ से दबाने लगा. दीदी के सामने लंड को हिलाते हुए वो दीदी के मुंह पर लंड को पटक रहा था. आधा लंड डाल कर मैंने बाहर निकाल लिया, फिर आधा ही अन्दर बाहर करने लगा.

बहुत बार उंगली से या फिर और कोई चीज अपनी चूत में मेरी कामवासना बुझाने का प्रयास करती, पर उससे मेरी प्यास कहां बुझने वाली थी. इतना सुनते ही उसने मुझे छोड़ा और अपनी पैंट उतार कर बिस्तर पर बैठ गया. आगरा चुदाई वीडियोतभी इतने में रीता की चुत ने भी अपना रस निकाल दिया था, जिससे मेरे लंड को ऐसा लगने लगा था, जैसे इसकी चुत में मलाई का तालाब सा बन गया हो.

अब आगे:मैंने उससे कहा- अगर तुमने ये लंड देख लिया हो, तो क्या मैं तुम्हारी चुत देख लूं?उसने पैर खोलते हुए कहा- दिख तो रही है. बीच बीच में कल्लू मम्मी की चूचियों को जोर से दबा देता था, तो मम्मी चिहुंक पड़ती थीं.

पूर्वी की चुत का रस स्वादिष्ट भी इसलिए था क्योंकि ये अभी उसकी नई जवानी का रस था. मैंने भाभी की गांड पर दो चमाट मारकर उसे लाल कर दिया और कहा- यदि ऐसी बात है … तो अपनी बहन को तेरे सामने उसकी चुत और गांड चोद कर चूता हाल कर दूँगा. आप इतनी हॉट और सेक्सी हो कि रोज आपके नाम की मुठ मार कर सोना पड़ता था.

भाभी कई महीनों से चुदी नहीं थी, उन्हें मेरे मोटे लंड से दर्द भी हो रहा था … मगर वो चीख को दबाए हुए लंड झेल रही थीं. हमारा स्कूल 4 किलोमीटर हमारे गांव से दूर था और केवल हम चार ही अपने गांव से पढ़ने जाते थे. उन्होंने मेरी निक्कर के नीचे से हाथ डाला और मेरे लंड के पास की मालिश करने लगीं.

मैं काँप रहा था, क्योंकि इससे पहले मैंने न ही ऐसा कुछ देखा था और न ही किया था.

जबकि मैं उसे पूरा ऊपर से नीचे तक … बल्कि उसकी कोमल छोटी सी चुत को भी देख रहा था. पर मैं अपनी तरफ से कोई हरकत नहीं कर रही थी, बस जैसा वो कर रहा था, करने दे रही थी.

उसके बाद वो मेरे होंठों को पीने लगा और मैं भी चुदाई में उसका साथ देने लगी. उस समय ठंड का मौसम था, गेहूं की सिंचाई चल रही थी और तिलहन की फसल भी बड़ी हो गई थी. मेरा निशाना तो दीदी ही थी, मगर वो बोली- अपनी गर्लफ्रेंड बना ले … उसी से करना.

मैं हमेशा से ज़रीना की बुर का रसपान करना चाहता था और ख़ासकर तो उसकी गांड का तो दीवाना था. कैसे मैंने अपने छोटे भाई से चुदाई करवा के अपनी वासना की आग बुझाई। ये सब अगली कहानी मैं बताऊंगी। तब तक के लिए विदा।[emailprotected]. आंटी ने अपनी चूत को अपने दोनों हाथों से खोल कर मेरे मुँह पर लगा दी और बैठ गईं.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी दोस्तो, कैसी लगी ये मेरी सच्ची कहानी?आप लोग कमेन्ट जरूर करना, मुझे इंतजार रहेगा. उन्होंने कहा- मेरी बहन के पूरे बदन में दर्द है, उसे रूबी के पार्लर के बाहर ही छोड़ कर आई हूँ, उसको फ़ुल बाड़ी मसाज करवाना था.

மாமனார் மருமகள் செக்ஸ்

मैं एक शादीशुदा स्त्री को हर्ट नहीं करना चाहता था।कुछ देर बाद निशा जी बोलीं- रेयान, तू बड़ा बुद्धू है यार!और मुझे किस लगीं. आप कभी करके देखना कि पूरा लंड चूत के अन्दर हो और बिना कोई हरकत किये हुए चूचियों पर से लिक्विड चॉकलेट को चाटना एक अलग ही मजा देता है. जब वो आयी तो मेरा हाथ मेरा लंड हिला रहा था और सामने स्क्रीन पर चूत चुसाई का सीन चालू था … जिसको उसने कुछ 5-6 सेकंड देखा होगा, फिर वो बिना कुछ बोले चली गयी.

सुरेश को मेरी योनि में बहुत मजा आ रहा था और मैं अब समझ गयी थी कि जितनी जोश में अब वो है, जल्द झड़ जाएगा. जब वंदना मैम मेरे घर आतीं … तो एक अलग सी खुशबू फ़ैल जाती थी, जो मुझे बड़ी पसंद आती थी. इंग्लिश सेक्स ब्लू पिक्चरमैंने चुत की गुलाबी फांकों में लंड का सुपारा फंसा दिया और उसकी आँखों में देखा.

अत्यधिक उत्तेजना के कारण भाभी को दस मिनट चोदने के बाद मैंने उनकी बुर में ही अपना पानी गिरा दिया.

एक चादर से जांघों को ढक लिया और उसके चूचों के बारे में साचते हुए लंड को हिलाने लगा. चूत चुदाई करने से पहले मैंने अपना लंड फिर से एक बार बारी बारी से उन दोनों से चुसवाया.

मैंने उनका गाउन ऊपर करके पेंटी के ऊपर से चूत में हाथ लगाया, तो वो पूरी तरह से गीली हो चुकी थी. अभी कॉलेज शुरू होने में थोड़ा वक्त था लेकिन कोचिंग की क्लास शुरू हो गई थीं. फिर मैंने आंटी को बोला- आप लेट जाइए, इस बार मैं लेट कर आपकी चूत चाट लूंगा.

मुझे बाद में पता चला कि रंजन जग रहा था और अपना लंड मेरी गांड में टच करके मजा ले रहा था.

अब तक मेरी आंटी की चुदाई की कहानी के पहले भागमेरी पहली मोहब्बत आंटी की चुदाई-1में आपने पढ़ा कि आंटी की चुदाई अब होने में कुछ ही देर बाक़ी थी. जब वह अपनी सेक्सी गांड हिलाते हुए चलती थी, तो उसे देख कर अच्छे अच्छों के लंड सलामी देने लगते थे. मैंने इस वक्त शॉर्ट्स पहना हुआ था, तो मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था.

नंगी सीन पिक्चरतब भैया ने कहा कि इतनी गर्मी में दोपहर से अच्छा शाम को निकलना ठीक रहेगा. एक पक्के चोदू की तरह उसके चुचे दबाते हुए मैंने फच फच फच की आवाज के साथ खतरनाक मोर्चा संभाल लिया.

xxx sex हिंदी

जाकर उसे लाइन दे … हो सकता है, घंटे भर बाद यहीं पर उसका लंड तेरी भोसड़ी में हो. वो अपने दोनों हाथों से मेरी कमर पकड़ कर अपनी बुर पर दबा रही थी और नीचे से कूल्हे उठा उठा कर चुदवा रही थी. उसने उसी समय मुझे 10000 रूपये दिए और कहा- भाई आज तो इस हॉट और सेक्सी आंटी को चोद ही लेने दे.

अपनी उंगली मैंने उसकी गांड में डाली तो लौड़ा तड़प उठा … इतनी गर्मी थी मेरी रांड बहन की गांड में कि मैं बता नहीं सकता. विद्या- आज मेरी चूत को पहली बार किसी ने इतना मज़ा कराया है, तो इसके लिए मैं इतना तो कर ही सकती हूँ. मैं- क्यों तुम्हारी पत्नी कुंवारी नहीं थी क्या, जो इतनी टाइट लग रही थी वो.

मेरे साथ दोस्ती होने से उसे आस बंधी कि मैं उसकी कामवासना की तृप्ति का साधन बन जाऊँगा. इस शकरकंदी के स्वाद के लिए दस बारह दिन से अनिल को पटा रहा था पर साला तैयार नहीं हो रहा था, बहाने बाजी कर रहा था. तो ये सारी बातें थीं, पर मेरे दिमाग में ये चल रहा था कि आखिर इतने सालों के बाद सुरेश ने मुझसे आज ये बात क्यों कही.

मॉम ने जैसे ही लंड सहलाने शुरू किया, तभी ड्राइवर ने बस की बत्ती ऑन कर दी. ऐसे ही दिन बीतते गए, अपनी चूत की मांग, शारीरिक भूख को मैंने अनदेखा कर दिया था, पर उसका परिणाम मेरी सुंदरता पर और मानसिक स्थिति पर होने लगा था.

मैंने तो अब तक कईयों बार अनजान व्यक्तियों के साथ संभोग किया था, सो अब मैंने सोचा कि सुरेश का साथ देना ही उचित होगा.

हर बार उसका सुपारा मेरी बच्चेदानी को ऐसे छू कर आता, जैसे झूले में झूलता हुआ कोई किसी को चूम कर वापस जाता और फिर आता और फिर चूमता. सेक्सी पिक्चर सेक्सी पिक्चर नंगीतभी कुछ देर में मैडम को उनके पति का कॉल आया … तो वो बात करने कमरे से बाहर चली गईं. क्सक्सक्स करीना कपूरमैंने पूछा- क्या हुआ भाभी … आप इतनी उदास क्यों हो?भाभी बोलीं- कुछ नहीं … बस ऐसे ही. मैंने कहा- अंकल तो रोज़ चोदते होंगे आपका फिगर इतना मस्त है, कितने किस्मत वाले हैं अंकल.

वो मुझे चूमते चूमते बिस्तर पर ले आया और मुझे लिटा कर मेरे ऊपर चढ़ गया.

कुछ देर के बाद उसका लंड मेरे मुंह में फिर से तन गया और उसने एक बार फिर से मेरी चूत फाड़ दी. सेक्स वीडियो में मैंने देखा कि एक मोटे लंड वाला आदमी एक औरत की गांड में लंड डाल रहा था. आंटी बोलीं- आप किस ट्रेन से जाओगे?मैंने कहा- देखता हूं … जो भी मिल जाए.

तब ये सुनकर मैंने भी सोचा कि एक बार तुम्हारी मॉम की गांड चोदने को मिल जाए. फिर वो मेरे से लिपट गयी ओर बोली- सावन, आज मुझे चोद दो, बहुत दिनों से मन हो रहा था, प्लीज़ आज आये हो तो चोद कर ही जाना!इतना बोल कर उसने मेरे लंड को एक हाथ से पकड़ लिया और हिलाने लगी. मैंने उसकी तरफ मुँह घुमाया और देखा कि उसने अपने मम्मों के पास का बटन खोला हुआ था.

एक्स एक्स पॉर्न व्हिडीओ

मैंने इस तरह भाभी को उठाया कि उसका बायां हाथ मेरे गले पर और मेरा बायां हाथ उसके दायें हाथ को पकड़े हुए था. पता नहीं उर्वशी के मन में इतना प्यार क्यों उमड़ रहा था मिहिर के लिए! वो उसको ऐसे प्यार कर रही थी जैसे नई-नवेली प्रेमिका अपने प्रेमी पर प्यार का सागर उड़ेल देती है. मैंने अपना मोबाइल का कैमरा ओपन करके उसे दे दिया और फिर साइड से उसे कसकर एक हाथ से उसकी कमर को पकड़ कर सेक्सी सा पोज़ दिया.

मैं थरथराने लगी और अपनी योनि को लिंग पर धकेलते हुए उसके सीने पर गिर पड़ी.

लेकिन मैं बस यही सोच रहा था कि यहां तो चोदने को बहन भी है, वहां पर लंड के लिए कौन मिलेगा.

अब वो मेरी चूत में अपना लंड जल्दी जल्दी अन्दर बाहर करने लगा और हम दोनों लोग तेज गति से सेक्स करने लगे. मैंने ध्यान से देखा, दोनों के एक हाथ में गिलास और दूसरे हाथ में सिगरेट थी. धोबी गीत डाउनलोडबुआ बोलीं- बाजार जाएगा क्या?मैंने बुआ से कहा- नहीं, पापा की दारू की बोतल में से हम दोनों थोड़ी टेस्ट कर लेते हैं … उनको क्या पता चलेगा.

कुछ देर तक तो लिंग एक ही स्थिति में रहा, पर जब मैंने उसे पूरा मुँह में भर जुबान सुपारे पर फिरानी शुरू की, तो उसका लिंग आकार बढ़ाने लगा और कुछ पलों में फूल कर एकदम कड़क हो गया. ये मेरी पहली कहानी है, अगर इसमें कोई गलतियां दिखें, तो प्लीज़ नजरअंदाज कर देना. वो चुप हो गई, लेकिन उसने सिर्फ इतना कहा- अगले हफ्ते से मैं भी ट्यूशन आ रही हूँ.

उसने न तो मेरे हाथ को हटाने की कोशिश की और न ही खुद को पीछे करने की कोशिश की. अब ससुर बहू की चुदाई की सेटिंग करनी थी तो मैंने चैट में लिखा- तुम सोते समय सबके लिए दूध लेकर आना.

उस रात को एक भाई ने बहन की चुत मारी दो बार! यह मेरे जीवन की पहली चुदाई थी.

वो चुत में उंगली से तेजी से अन्दर बाहर करते हुए आंखें बंद किए हुई थी. मैंने मामी की ब्रा के हुक खोल दिये और उसके चूचों को हाथ में भर लिया. मैंने अब बेशर्म होते हुए कहा- तुम्हें पता है कि इसका नाम क्या है? मैंने अपने तने हुए लंड की तरफ इशारा करते हुए पूछा.

लड़की कुत्ता रात की पहली चुदाई से मेरे लंड पर सूजन आ गई थी और मुझे दर्द भी हो रहा था. तो दोस्तो, सारिका के परिवार की लड़कियों और चुदक्कड़ औरतों की प्यासी जवानी ने मुझे मुझे कॉल ब्वॉय बन कर रख दिया था.

मैंने नाश्ते के लिए उन्हें मना कर दिया तो उन्होंने कहा- डॉक्टर साहब रात को मैंने आपकी बात मानी … आप नाश्ता नहीं कर रहे हैं … ये ठीक नहीं है प्लीज़ ना न करें. मैंने पूरी ताकत से सुरेश को पकड़ लिया और हाथों टांगों से उसे जकड़ कर झटके देने लगी. जब मुझे गांड घूरते हुए भाभी ने देखा, तो उन्होंने इशारे से मुझे अपने रूम में बुलाया.

नंगी पिक्चर सेक्सी नंगी

तो मैंने क्या किया?दोस्तो, आज मैं आपको अपने परिवार की, मेरी माँ की अन्तर्वासना सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ. मैं चिल्ला दिया- उई आं … आह …वे बोले- थोड़ा ठहरो … मैं चिकनाई का इन्तजाम करता हूँ. उसके चूसने की स्पीड इतनी तेज थी कि मैंने कब माल उसके मुँह में छोड़ दिया, मुझे पता ही नहीं चला.

मैंने उसकी चड्डी के ऊपर से ही उसकी बुर पर हाथ रखा, तो उसकी चड्डी गीली हो गई थी. इशारा मिलते ही उसने अपने कमर के हिस्से से दबाव बढ़ाया और लिंग का सुपारा सट से मेरी योनि की पंखुड़ियों को फैलाता हुआ भीतर चला गया.

मम्मी के चेहरे पर हल्की सी परेशानी का भाव आया … लेकिन थोड़ी देर बाद वह खुद नीचे से अपने चूतड़ों को उठाने लगीं.

मैंने पूछा- क्यों आपके पति आपकी गांड नहीं मारते?उन्होंने कहा- मेरे पति मेरी चूत में ही सिर्फ 2 मिनट में झड़ जाते हैं … गांड लायक उनका कड़क ही हो पाता. तुम चल सकते हो क्या?मैं बोला- भाभी, वैसे मुझे कॉलेज जाना था लेकिन अगर आपको जरूरी काम है तो फिर मैं आज कॉलेज की छुट्टी कर लेता हूं. उसके बाद मैडम ने मेरी तरफ देखा तो मैंने भी इशारे में उनको बता दिया कि यह साड़ी उन पर बहुत अच्छी लग रही है.

आज मैं आप लोगों को अपने जीवन की पहली चुदाई की घटना बताने जा रहा हूं. फिर मैंने सोचा कि अभी तो मामा ही मेरी मामी की चूत को चोदने में लगा हुआ होगा. कुछ देर उसको फिर से चूमने चाटने के बाद मैंने फिर से झटका मारा, तो इस बार मेरा पूरा लंड अन्दर चला गया.

इरफान- साले गांडू … माँ के लौड़े तुझे लंड चाहिये था ना … रोता क्यों है भैन के लौड़े … ले साले लंड ले … चिल्लाता रह … जितना चिल्लाना है … चिल्ला ले … मगर अब लंड अपना काम करके ही बाहर निकलेगा.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी: मेरी भाई बहन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी बहन को होटल में ले गया और अब बहन की चुदाई करनी थी. मुझे पता था कि कुछ ना कुछ आज हो सकता है, इसलिए जाते वक्त मैंने कंडोम का पैकेट ले लिया.

पहले तो हमने ऐसे ही कुछ बातें की, फिर मैंने उससे कहा- मुझको किस करना है. मैंने पूछा- मैम आप मुझे कोई नया विषय भी पढ़ाने वाली थीं?उन्होंने मुझे हैप्पी बर्थडे कहते हुए कहा- हां मुझे पता है कि आज तुम्हारा जन्मदिन है … और मैं आज ही से नया विषय पढ़ाऊंगी. मेरे कराहने, उसके हांफने और संभोग की क्रिया से हो रही थप-थप की आवाज से कमरा गूंजने लगा था.

उसने 10-12 जोर जोर से धक्के मारे, वो मेरे दोनों स्तनों को पूरी ताकत के साथ दबोच कर मेरे होंठों से होंठ लगा कर चूमते हुए दोगुनी ताकत से धक्के मारने लगा.

तो दोस्तों ने कहा- यार, अभी से जा रहा है? क्या करेगा घर जाकर?मैंने कहा- कुछ काम है. फिर मैं उठा प्रमिला आंटी के बगल में लेट गया और उनके बूब्ज़ दबाने लगा।मैंने प्रमिला आंटी को कहा- आप खुश हैं अब?वो मेरे गालों पर हाथ फेरते हुए बोली- बहुत … बहुत ज्यादा खुश हूं। तुम्हें पता नहीं है कि तुमने मुझे कितनी खुशी दी है।हम दोनों ने एक दूसरे को बांहों में भर लिया। प्रमिला आंटी थोड़ी भावुक हो गयी थी और मेरी आँखों में देख कर रोने लग गयी. जब मैंने ढंग से नहीं किया, तो दीदी ने मुझे हटा दिया और खुद ही करने लगी.