एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर वीडियो राजस्थानी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी में पिक्चर चाहिए: एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स, उसने मुझे देख कर एक स्माइल के साथ कहा- सौरभ, तुम इस समय यहाँ?मैंने कहा- जो मेरा काम बाकी राह गया था उस दिन … वो आज पूरा करना है.

सेक्सी बिहारी वीडियो एचडी

हम उसे खोना नहीं चाहते थे।मेरी सेक्सी कहानी पर अपनी राय जरूर दें जिससे मुझे लिखने की प्रेरणा मिले और मैं अपनी गलतियां सुधारूं. सेक्सी नवीन बीपीमैडम ने सपाट शब्दों में पूछा कि व्हिस्की पीते हो?मैंने हां में सर हिला दिया.

मेरा भी बदन पूरी तरीके से गर्म हो चुका था और लौड़ा भी अभी किसी भी टाइम अपना लावा उगल सकता था. सेक्सी वीडियो चुदाई ने वालातभी मैंने अपनी एक उंगली को उसकी चूत की फांकों में घुसाई और धीरे से अन्दर कर दी.

वो लंड निकाल कर मेरी आंखों में चुदासी नजरों से देखने लगी तो मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर घोड़ी बना दिया.एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स: मैंने देखा, तो उसके साथ एक लंबी गोरी, बड़े बड़े मम्मों वाली और बाहर निकली गांड वाली एक औरत भी थी, जिसकी उम्र 30-32 साल के आस-पास की थी.

जैसे ही मैंने भाभी को सीने से लगाया तो उन्होंने बोला- अब देर मत करो, मेरी चूत में आग लगी है.उसके झटके और तेज़ होते गए और उसके साथ ही वो लंबी पिचकारियां मारते हुए मेरी चुत में झड़ गया.

सेक्सी फिल्म सुहागरात की चुदाई - एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स

कोमल ‘हाई मां ईस्स आह उई ओह्ह …’ करती हुई लंड को आगे पीछे करने लगी.वो भी मुझे अपने साथ बाइक पर बिठा कर ले जाते और मैं भी उनकी कमर पकड कर उनके मर्दाना जिस्म को स्पर्श करके अपने अन्दर की आग को भड़काती रहती.

इसी बीच नन्दिनी अपनी बातें बताने लगी कि किस तरह वो और उसका ब्वॉयफ्रेंड तीन साल से रिलेशनशिप में थे. एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स मैंने कहा- यूँ कहो न कि तुमको अपनी चूत के लिए मोटे लंड की जरूरत है!वो बोली- हां यार, तभी तो तुमसे मिलने के लिए कह रही हूँ.

मैंने कहा- पापा पर मैं अंकल के घर नहीं रुकूंगा, मैं वहीं कहीं रूम लेकर रह लूंगा क्योंकि मुझे कोई रोक-टोक पसंद नहीं है.

एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स?

खैर मेरी नज़र पड़ी तो मैंने देखा कि वो कुर्सी पर बैठा था और मेरी बीवी झुककर उसे अपने वश में करके एक हाथ उसकी जांघ पर रख कर … तो दूसरे हाथ से उसके गालों को मसल मसल टचअप कर रही थी. और उस समय मेरी नजर वाशरूम के दरवाजे से अंदर गयी तो में अचानक शॉक हो गया. वो कामुक आवाज़ निकाल रही थी- ऊऊ … हम्म … तेज तेज चोदो साहिल हैया … आह मजा आ रहा है.

मगर मैं तेल लगा कर पहले ही दीदी की गांड को ढीला कर चुका था तो गांड ने लंड ले ही लिया. उसने मेरे मम्मों को देखते हुए कहा- मैं नवीन हूँ, बैंक एजेंट हूँ और आपके पापा ने मुझे किसी काम से बुलाया था … उन्हें मुझसे कुछ बैंक का काम था. मैं फिर से कंफ्यूज़न में था कि कुछ करूं या न करूं … मगर तब भी मैं उठ खड़ा हुआ.

मैं नई दिल्ली स्टेशन चला गया और वहां से मैंने इंदौर के लिए ट्रेन में अपना रिजर्वेशन कराया और शाम को उधर से ट्रेन पकड़ कर निकल गया. पहले तो मैंने दिल्ली के पास आगरा घूमने जाने का मन बनाया था लेकिन अचानक से मेरे मन में न जाने क्या आया, मैंने उस ट्रिप को कैंसिल कर दिया. नमस्कार दोस्तो, हिन्दी सेक्स कहानी के इस पटल पर मैं राज शर्मा आपका स्वागत करता हूँ.

तभी वो बोली- आप नाश्ता कर लो … और जो कल हुआ था, उसके बारे में मैं किसी को कुछ पता नहीं चलेगा. वो इस बार बहुत खुश थी और कह रही थी- भैया, अब मेरी चुत की सील भी फाड़ दो.

अब हम दोनों में ही मिलने के लिए बहुत उत्सुकता थी क्योंकि मैं उससे सेक्स चैट के माध्यम से तो बहुत खुल चुका था … लेकिन सामने से उसके साथ मिलने का ये पहला मौका था.

लोग कहेंगे कि मैं अमीर हूँ … तो कुछ भी कर सकता हूँ और अनन्या मिडल क्लास है तो मैं उसके साथ कुछ भी कर सकता हूँ क्या?नहीं नहीं … मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए.

मैंने कहा- ठीक हैं मौसी आपकी परेशानी मैं दूर नहीं करूंगा, तो कौन करेगा. फिर रश्मि सोफ़े पर बैठ गई और डायरेक्टर उसे पोज देने और एक्टिंग करना समझा रहा था. निशा की नजर सीधे मेरे पजामे पर पड़ी और बिना कुछ हाव-भाव लाए वह अन्दर आ गयी.

मैंने चादर अपने ऊपर डाली और सोचा कि रेखा आंटी तो घर में आती नहीं हैं … फिर इतनी रात को कौन आया होगा. मेरा लण्ड सामान्य से बड़ा है जिसकी वजह से आज मेरी पत्नी एक अच्छी सेक्स लाइफ जी रही है और मैं उसको खुश कर देता हूं. अब अंकल मां के पास लंड को ले गए और मां ने इना समय गंवाए लंड को चूसना चालू कर दिया.

मैंने कहा- देखा उठा लिया!वो हंस दी और मेरे लंड पर अपनी गांड घिसने लगी.

आज मुमताज के मुँह से यह सुनकर कि नाज बड़ी हो गई है, तो अचानक मन में नाज को लेकर पुलाव पकने लगा. फिर मैंने सोचा कि अभी मॉम को चोदने का अच्छा मौका है, डैड काफी दिन बाद आएंगे. ’रोशन ने अपनी गांड को सोढ़ी की गोद में थोड़ा एडजस्ट किया और दूसरे हाथ से अपने मम्मों पर चादर को थोड़ा एडजस्ट करते हुए गोगी को जाने को कहा.

उसने भी अन्दर अंडरवियर नहीं पहना था; चैन खुलते ही उसका बिना झांट वाला लम्बा मोटा और चिकना लंड बाहर आ गया. फिर चुदाई के बाद श्रेया ने उस लड़के से कहा कि आज के बाद हम कभी नहीं मिलेंगे … और वो सच में आज तक उससे नहीं मिली. उसके बाद हम दोनों स्टेशन से बाहर निकले, तो वहीं पास में एक रेस्टोरेंट था.

लेकिन यह लड़की ऐसी थी कि क्या बोलूं!सोशल मीडिया पर मुझे एक दिन नन्दिनी नाम की एक लड़की का संदेश आया.

थोड़ी देर बाद मैं खड़ा हुआ और उसको ऐसे ही लंड पर लटका कर घूमने लगा. मैं दिखने में एकदम ऐसी मदमस्त माल हूँ कि लोगों की आहें निकल जाती हैं.

एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स उनकी चुचियां एकदम सुडौल थीं और दोनों चुचियों के किनारे पर मटर के दाने जितने बड़े दो गुलाबी निप्पल इंठे हुए थे. नमस्कार, मेरा नाम अंजलि ठाकुर है और मैं जम्मू में रहती हूं।यह मेरी अन्तर्वासना पर पहली कहानी है। अगर कोई लगती हो तो मुझे माफ करना.

एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स फिर जुनैद भाई ने मुझे पलट दिया और मेरी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रख कर मेरी गांड की तरफ से निशाना लगाकर एक जोरदार झटका लगा दिया और फिर से मेरी गांड चुदाई शुरू कर दी. उसकी चूचियों को मैंने अपने हाथों में लेकर मसलना तेज़ कर दिया तो वो भी लंड पर तेज़ गति से उछलने लगी.

रात को खाने के बाद हम दोनों जब साथ बैठ कर टीवी देख रहे थे तो वह मुझसे बोला- मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ.

हिंदी सेक्सी वीडियो छोटी लड़कियों की

अंकल जी ने मुझे अपनी बांहों में भरकर अपने बेड पर लिटा दिया और मुझे किस करने लगे. हर सिक्के के दो पहलू की तरह जहां एक तरफ मैं अपनी निजी जिंदगी से जूझ रही थी, तो दूसरी ओर अपने काम में इस तरह से मग्न होने के कारण मेरा सिर्फ 6 महीने के अंतर से ही एक और प्रोमोशन हो गया था. मैंने उसके होंठों को छोड़कर अपने होंठ उसके एक बोबे पर लगा दिए और बहुत ही सारा थूक लगा लगा कर उसकी घुंडी को चबाने लगा.

दुल्हन का सीन शुरू हुआ तो वो मुझे सिंदूर देते हुए मांग भरने के लिए बोली. उसने झट से पैंट उतार कर डेस्क पर रख दी और मैं दोबारा से उसका लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. अब उसको कौन समझाता कि उसकी इतनी छोटी सी चुत में मेरा लंड नहीं जा सकता.

मैंने पीहू को उठाया और मुँह के बल झुका कर डॉगी बना दिया और उसकी साड़ी ऊपर कर दी.

खैर … जैसे तैसे हम कॉलेज पहुंच गए और मैंने महसूस किया कि मैम मेरी इस हालत का मज़ा ले रही थी. मैंने झटकों को तेज़ कर दिया और उसकी गाँव की देसी चूत ने पानी छोड़ दिया. चूंकि मैं बहुत गहरी नींद में सोता हूँ तो मुझे होश ही नहीं रहता है कि किस ने मेरे साथ क्या किया.

मैंने तेज़ तेज़ झटके मारने शुरू कर दिया।अब मैंने उसके होंठों को आजाद कर दिया और खुशबू को तेज़ तेज़ चोदने लगा. दोस्तो, मैं आशा करता हूँ कि आपको आंटी की बेंगाली सेक्स कहानी अच्छी लगी होगी. मैंने सुमन की बहन सरोज को उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी सलवार उतार दी.

हम इंदौर के पास एक गांव में रहते हैं क्योंकि पापा की जॉब वहीं पर ही है. मैंने उनसे कहा- अब जब भी मिलेंगे … तो चुदाई से पहले चूसने वाला प्रोग्राम जरूर करेंगे.

उतने में वहां से शरद अन्दर आया- अच्छा हुआ तुम उठ गई, बेबी मुझे जल्दी निकलना होगा. मुंतजिर- आह … फाड़ोगे क्या?’मैंने उनकी बात को अनसुना करते हुए फिर से झटका मारा, तो आधा लंड चुत को चीरता हुआ अन्दर धंस गया था. हम दोनों अभी बच्चे नहीं चाहते थे, इसीलिए हम बहुत कम बार बिना कंडोम के सेक्स करते थे … और जब भी करते तो अगले दिन में गर्भनिरोधक गोली का सेवन कर लेती.

मैं तो डर ही गया और कमरे में जाकर जल्दी से मैंने उन्हें मैसेज किया कि मैं 5:30 बजे तक आपके घर आ जाऊंगा.

दोस्तो, आप मुझे मेरी चूत में उंगली सेक्स कहानी पर अपने मेल करना न भूलें. शरद- अपने काम पर ध्यान देना, मैं पहुंच कर वहां सेटल होते ही, असीम को वापस भेज दूंगा. दरअसल उनसे मिलने और चुदने के बाद मेरी उनसे फोन पर बातें तो होती ही रहती थीं.

धीरे से मैंने अपना हाथ उसकी गर्दन पर रख दिया और उसे अपनी तरफ झुकाने लगा. मैंने सोचा कि ये अच्छा मौक़ा है, इस बार तो आंटी की चुत में लंड पक्के में गया समझो.

मेरे दांतों का प्रहार पाते ही आंटी के मुँह से ‘आहह यस बेबी … खा जाओ मुझे. तो अर्शिया ने ही मम्मी को सजेस्ट किया कि मुझे आप अपना पेटीकोट दे दो, वो हल्का भी रहेगा और मुझे नींद भी आ जाएगी. मेरी उम्र 31 साल है … मैं दिखने में ठीक-ठाक सा एक साधारण इंसान हूँ.

भारतीय सेक्सी हिंदी फिल्म

क्योंकि मैं एक 55 साल के मर्द से चुद रही थी, वो भी मेरे जीजू के पापा से.

कोमल को सहलाते हुए मैंने अपनी टी-शर्ट को निकाल दिया और अपने नंगे बदन को कोमल से रुई के समान बदन से घिसने लगा. उसके बाद भाभी ने ब्रा उतारा तो उनके बड़े- बड़े दो कबूतरों हवा में लटकने लगे और वहीं पर मेरे लंड में तनाव आना शुरू हो गया. मैंने आप पर भरोसा किया था, लेकिन आपने बिना बताए अपने दोस्त को भी इसमें शामिल कर लिया.

अब तक मेरे मन में मौसी के लिए कोई ख्याल नहीं थे क्योंकि वो उम्र में मुझसे काफी बड़ी थीं और उनके एक 5 साल का पोता और 3 साल की पोती भी थी. थोड़ी देर बाद साहिल उसके गले से नीचे आके निप्पल चूसने लगा और दूसरे हाथ से दूध दबाने लगा. एक्स एक्स एक्स वीडियो राजस्थानी सेक्सीदो साल हो गए थे हमारे रिलेशनशिप को … मगर हमारे बीच नजदीकियां नहीं थीं.

हाय दोस्तो, हम निशा और विराट आज फिर से आपके लिए अपनी सच्ची सेक्स कहानी लेकर हाजिर हैं. जैसा कि आपको पता है कि मुझे पहले से ही भरी गांड और बूब्स वाली औरतें काफ़ी पसंद हैं.

बत्तीस साल की उम्र तक शादी नहीं हुई, जब हुई तो महीने भर बाद ही शौहर को छोड़कर लौट आई. मैंने निशा का सर जोर से पकड़ लिया और उसे अपने लौड़े का पानी पिलाता रहा. मूड बन जाता तो कभी मैं असीम से कुछ बियर भी लाने कह देती, कभी अपना मन बहलाने के लिए ऑफिस के दोस्तों के साथ कोई फ़िल्म देखने चली जाती, या घर पर ही कोई अच्छी सी क़िताब पढ़ लेती.

अब मेरे हाथ में पीछे से ही उसके स्तनों पर जम गए थे, जिन्हें मैं दबाए जा रहा था. अब मैं ऊपर आकर चोदने लगा।सीधा लंड गपागप गपागप अंदर बच्चादानी में टकराने लगा. उसने मेरी तरफ देख कर आंख दबा दी और उंगली से करीब आने का इशारा कर दिया.

मैं कुछ जोर से दबाव देते हुए उसके निप्पलों को मरोड़ने लगा और पीठ और कंधों पर अपने दांत गड़ाने लगा.

मुझे भी ऐसा लगा कि मैंने अपनी बिछुड़ी हुई गर्लफ्रेंड को फिर से पा लिया. मैंने उनके एक मम्मे को अपने मुंह में लिया और धीरे-धीरे चूसना दबाना शुरू कर दिया.

सरोज की चुदी चुदाई चूत में लंड आसानी से अन्दर बाहर जाने लगा और हम दोनों चिपक गए. और उसका फिगर तो मानो कोई बेली डांसर हो!वो हमेशा जीन्स पहन कर आती थी जिससे उसका पिछवाड़ा साफ साफ दिखता था. उसका व्हाट्सएप चैक किया, तो पता चला कि सारे मैसेज ही उसकी सहेलियों के ही थे, जिसमें अधिकतर जोक्स ही थे और कुछ नहीं था.

अब मोटो मेरे सामने सिर्फ काली पैंटी और काली ब्रा में खड़ी हुई थी और मैं उनके सामने अपने अंडरवियर और बनियान में खड़ा हुआ था. चूंकि वो शादीशुदा थीं, पर पति से दूर रहने और महीनों सेक्स ना करने से उनकी चूत कसी हुई थी. राजीव भी अपने दोनों हाथों से मेरी नंगी पीठ सहला रहे थे और कुछ ही पल में उन्होंने मेरे ब्लाउज का हुक खोल दिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स फिर मैंने उससे पूछा कि अगर तुम भी ऑटो से ही कॉलेज जाते हो, तो हम सुबह साथ चलें!वो इस पर राजी था. और जब रहा न गया तो मैंने धीरे से उसकी चुत में अपनी एक उंगली डाल दी.

घोड़ा घोड़े की सेक्सी पिक्चर

मैंने उसे अपने सीने में भर लिया और एक बार फिर से चुदाई का दौर शुरू हो गया. आइसक्रीम खाने के बाद मैंने उससे कहा- तुम बैठो, मैं नहा कर आता हूँ … थोड़ा फ्रेश फील होगा. मेरी इन सब लीपापोतियों से उसका आत्मविश्वास ओर उसकी वासना सातवें आसमान पर थी.

मैंने लंड निकाल लिया और हम दोनों बाथरूम में जाकर एक दूसरे को साफ़ करके फिर से बिस्तर पर आ गए. उसे देख कर लग रहा था जैसे वो कुछ सोच रही हो … मतलब उसके मन में किसी बात की तन्हाई सी दिख रही थी. हिंदी सेक्सी वीडियो 16 साल लड़कीलेकिन साथ ही में हमें अपना घर और यहां के दोस्त और ज़िन्दगी छोड़ कर जाने का गम भी था.

उनका फोन आया था कि स्टेशन से वो बाजार जाएंगी और उन्हें आने में दो घंटे लग जाएंगे.

शीना भाभी के शहद जैसे होंठों का रसपान करने में भारी आनन्द की प्राप्ति हो रही थी. मेरा उससे कोई खास परिचय नहीं था क्योंकि वो बहुत दूर की रिश्तेदार थी.

जेबा- आप करते क्या हैं … और क्या आप इंदौर से हो?मैंने उन्हें कहा- नहीं मैं एक बिजनेसमैन हूं. मैं जब दीदी के पास पहुंचा, तो दीदी ने मेरे लिए नाश्ते पानी का इंतजाम किया और कुछ ही देर बाद उन्होंने मेरे साथ मार्केट चलने की बात कही. मैं अपनी इस उम्र में कुछ समझ नहीं पाता था कि ये सब क्या है क्योंकि मैं तब गांडू लड़का नहीं था.

उस वक़्त दर्द से मैं मरी जा रही थी लेकिन मैं मुँह में कपड़ा ठुंसा होने के कारण चुप रही.

थोड़ा रूकते हुए मैंने अपनी पकड़ को ढीला किया तो नील ने मेरे नीचे से निकलने की कोशिश नहीं की. वो नीचे फ़ाइल उठाने झुकी तभी उसके गोल गोल सफेद मलाई जैसे दूध दिख पड़े. पर ये बाते बताते हुये और उनके बूब्स की दरार को देख के मेरा लंड फिर से तनाव में आ गया.

रिप्लाई सेक्सी वीडियोहैलो फ्रेंड्स, मैं विजय उर्फ़ वीरा … आपको अपनी बहन की प्यासी चुत की चुदाई की कहानी सुना रहा था. सुनील मुझसे बोला- चल बे मस्त माल हैं तीनों … कोई जुगाड़ सैट करते हैं.

इंडियन ग्रुप सेक्स

मैंने पहले बुआ के मुँह पर लगाना शुरू किया था, तभी बुआ एकदम से चौंक गईं. कुछ ही दिनों में ऐसा होने लगा कि मैं मैडम से पढ़कर आने के बाद अपने बाथरूम में आकर मैडम के नाम कि मुठ मारने लगा था. मां ने सारा माल (वीर्य) मुँह में ही ले लिया और लंड को जीभ से साफ़ कर दिया.

मुझे चलने में बहुत प्राब्लम हो रही थी तो चाय पीने के बाद वो मेरे बगल में लेटकर मुझे किस करने लगे. फिर बीस मिनट तक रमामैडम की चुतका बाजा बजाने के बाद जैसे ही मुझे लगा कि मेरा होने वाला है, मैं अपनी पूरी ताक़त से उन्हें चोदने लगा. मैंने भी बिना कुछ बोले आंटी के एक चूचे को मुँह में दबाया और चुत में लंड की फ्रंटियर मेल दौड़ा दी.

करीब 10 मिनट ऐसी चुदाई के बाद मैंने उसको डॉगी स्टाइल में किया और लण्ड को पीछे से एक ही झटके में अंदर कर दिया. सक्सेना ने हंस कर मेरी गांड पर एक जोर से थप्पड़ लगाया और बोला- साली भोसड़ी की … सेक्रेटरी सेक्स के लिए ही रखी है मैंने … तू लंड लेगी तो माल भी तो कमाएगी. वो हमेशा सलवार कमीज पहनती थी इसलिए कभी उसका साइज पता नहीं चल सका था.

चूंकि वो एक दारोगा थे, तो उनकी बॉडी काफ़ी मजबूत थी और उनकी हाईट भी 6 फिट से कुछ ज्यादा ही थी. मैंने आंख दबाते हुए कहा- सिर्फ देखना ही है ना!वो बोले- नहीं, आज मैं मेरी दुल्हन के साथ सुहागरात मनाना है.

खाना खाने के बाद मैंने एक बार पेमेंट करने के लिए कोशिश की … मगर उसने मना कर दिया.

काफी देर तक चोदने बाद सक्सेना का लंड झड़ने पर आ गया और उसने मेरी चूत में ही अपना पानी छोड़ दिया. देसी हॉट सेक्सी पिक्चरफिर जब तीसरे दिन जब हम सब अपनी क्लास में बैठे थे, तो मैडम के आने के पांच मिनट बाद उसी क्लास में एक लड़का आया. तालिबान की सेक्सी मूवीहम तीनों बहनों की चुचियां और गांड इतनी ज़्यादा भर गई थीं कि क्या बताऊं. जब मैंने उनको देखा, तो पूछा- अंकल क्या चाहिए?वो बोले- कुछ नहीं बस तुम्हें देखा तो आ गया.

मैं अपनी जीभ से भाभी की चूत चाटते हुए उनके पेट पर आ गया और भाभी की नाभि को चूमने लगा; दांतों में लेकर लव बाइट्स करने लगा.

वो कामुक आवाज़ निकाल रही थी- ऊऊ … हम्म … तेज तेज चोदो साहिल हैया … आह मजा आ रहा है. उसकी चूत पर मैंने एक हाथ फेरा और उसके पानी को लेकर अपने मुँह से चाटने लगा. उसकी गरम चुत में मेरा पिस्टन तेजी से अंदर बाहर होता हुआ दिख रहा था.

’ करके सरोज चिल्लाने लगी- आह मादरचोद बिहारी … आह इस जाटनी की गांड फ़ाड़ दे. धीरे धीरे हमारी बातें सेक्स तक पहुंची और मैं फोन पर ही रानी को खूब मजा देने लगा. वो लंड की गर्मी से बेहद कामुक हो उठी और अपनी गांड उठाकर लंड चुत में लेने की कोशिश करने लगी.

राजस्थानी सेक्सी सेक्सी

काले नाग की तरह फुफकारता मेरा लण्ड नाज की बिल में जाने के लिए उछल रहा था. [emailprotected]पड़ोसन Xxx कहानी का अगला भाग:किरायेदार का लंड ले लिया भाभी ने- 2. सरपट दौड़ते घोड़े के जवाब में घोड़ी भी रिवर्स गेयर लगाकर धक्के मार रही थी.

हम दोनों अक्सर देर रात तक टीवी देखते रहते और कई बार तो वह टीवी देखते देखते ही सामने सोफा पर सो जाता था.

मैंने दीदी की गोरी और मोटी जांघों से लेकर उनकी गांड तक खूब मसाज की.

उसने कहा- क्या तुम मुझे उठा पाओगे?विजय ने सरिता भाभी को पीछे से पकड़ लिया और जोर से ऊपर उठा लिया. मैं पहली बार हैदराबाद आया था तो मेरे लिए सब कुछ नया था और कोई जान पहचान का भी नहीं था. सेक्सी दिखाइए चोदने वालामैंने दूसरी आंख से उन्हें देखा तो वो मेरी तरफ अपनी साड़ी का पल्लू लेकर आने को हो रही थीं.

मैं तुरंत ही बेड पर लेट गया और दीदी मेरे मुंह के पास अपनी चूत टिकाती हुई मेरे ऊपर चढ़ गई और लंड के टोपा को मुंह में भर लिया. लेकिन उसी दिन शाम के समय वो फिर से मेरे मूतने के समय पास आकर खड़ी हो गई. उफ्फ क्या चुत थी मेरी बहन की … कोई भी देख ले तो लंड डाले बिना उसे चैन ना आए.

लंड की कामना के चलते मेरा भी आंटी के घर आना जाना शुरू हो गया था, हालांकि ये अभी कम था. मेरे लंड ने पीहू की बच्चेदानी पर चोट की थी तो पीहू जोर से चिल्ला पड़ी- उई मां मर गई … लंड को निकाल लो.

मैम ने मुझसे कहा- जब तक बारिश नहीं रुक जाती, तुम मेरे घर पर ही रुक जाओ.

शाम को सात बजे मेरी नींद खुली, तो मैंने होटल से खाना आर्डर कर दिया. वो मेरी चूत को अपने लंड से चोद रहे थे, मैं उनसे चुदवा रही थी और वो मेरी चूत में धक्का दे रहे थे. एक बार फिर से मेरे होंठों को चूमते हुए मेरे बदन से कपड़े लगभग उधेड़ते हुए मुझे एक पल में एकदम नंगी कर दिया.

अंग्रेजी सेक्सी मूवी फुल धीरे धीरे मैं अपना एक हाथ उसकी चूत पर ले गया और चुत को कपड़ों के ऊपर से ही मसलने लगा. थोड़ी सी चुम्मा चाटी करने के बाद मैं पारले जी बिस्कुट लेकर अपने घर वापस आ गया.

अभी मेरा सिर्फ ऊपर का हिस्सा ही अन्दर गया था कि उसकी आवाज और आंसू दोनों निकल पड़े- आआह … संदीप … फक मी … आआह!मैंने चुदाई के साथ साथ उसके मम्मों को मसलना चालू कर दिया ताकि उसे थोड़ा आराम मिले. अब वो मेरे सिर को अपनी दोनों टांगों के बीच जकड़ रही थीं और उनकी चुत से रस की धार बहने लगी थी. वह मुझे गले से पकड़ कर अपने ऊपर जोर जोर से खींच रही थी और बोल रही थी- मुझे खा जाओ … मेरी जान मुझे खा जाओ.

सेक्सी एंड हॉट वीडियोस

रास्ते में जेठ जी ने कहा- प्रिया, मैं आज तुम्हें उसी रूप में देखना चाहता हूँ, जब मैंने तुम्हें पहली बार देखा था … मतलब दुल्हन के रूप में. ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, एक हॉट सेक्सी गर्ल बेडरूम में आयी, यही कहानी है. कोमल को राहत मिली और वो अपनी कोहनियों पर आते हुए मेरी तरफ ऐसे देखने लगी, जैसे उसको भरोसा न हो.

इससे मैं कुछ बिंदास हो गया और मैंने अपने एक हाथ में मैम का हाथ लेकर अपने लंड पर ज़ोर से दबा दिया. फिर मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया लगाया और चूत में लंड घुसा कर पेलना शुरू कर दिया.

मैंने चुत में लंड के झटके मारना शुरू कर दिए और उसकी चूचियों को मसलने लगा.

नीचे के इन हाथों का खेल एक दूसरे का बदन पर चल रहा था और ऊपर मोबाइल हाथ में लिए दोनों हाथों से जो बातें हो रही थीं, उनका खेल मन पर चल रहा था. मैंने पहले टॉयलेट में जाकर अपने लंड को मनाया कि कुछ देर रुक जा भोसड़ी के. मैंने भी मौके की नजाकत को समझा और चुपचाप अपने घर से रात 8:00 बजे निकल के उनके घर की तरफ चल दिया.

मैंने उनसे जीभ लड़ा कर ऐसे खेल रहा था, जैसे लड़की के होंठों को लिपलॉक कर रहा होऊं. मैडम ने उसको बैठने को बोला, तो सारी लड़कियां खिसकते हुए उसके लिए जगह बनाने लगीं ताकि वो उनके पास बैठ जाए. भाभी ने अब मेरे दोस्त अमित से लड़ाई कर ली थी और उसको अपनी चुत गांड देना बंद कर दिया था.

वो सादगी से ही रहती थी और घर से बाहर कहीं नहीं जाती थी।अब मेरा छत पर जाने का एक ही मकसद होता था कि किसी तरह अश्मि से बात की जाये और उसको पटाने की कोशिश की जाये।मैं छुप छुपकर उसे देखने लगा.

एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्स: आंटी आह आह करके मेरे सर को अपनी चुत में घुसेड़ लेने की कोशिश कर रही थीं. कोमल की हालत अब एकदम उस मछली की तरह हो गयी थी, जिसे अभी अभी पानी से निकाल दिया गया हो.

मैंने जानबूझ कर पैर की नस चढ़ जाने का बहाना किया और ‘दर्द हो रहा है’ ऐसा कहा. दीदी की सासू मां बोलीं- तुम्हारी दीदी अपने कमरे में हैं, जाओ उससे जाकर मिल लो. मौसी ने कहा- चलो … अब नहा लो, फ़िर मैं तेरे लिए नाश्ता बना देती हूँ.

मैंने पूछा- किसने तोड़ी तेरी सील?वो बोली- मेरा एक बॉयफ्रेंड है, उसके साथ सेक्स किया था तो मेरी सील टूट गई थी.

मैंने उससे पूछा- क्या हुआ स्वाति … आज सुबह सुबह तू मेरे कमरे में?उसने कहा- भैया मैं आज आपसे एक बात करने आई हूं. रोहन- बिल्कुल … तू मेरी रंडी है साली रखैल … जया कुतिया … मादरचोद … अह्ह ह्ह्ह्ह … चुस लंड भैन की लौड़ी. इस बात पर उन्होंने शर्माने वाली स्माइल पास करते हुए थैंक्स बोल दिया.