बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में

छवि स्रोत,मेक्सिको सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

நியூ ப்ளூ ஃபிலிம்: बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में, तभी रसोई से ही सुलेखा भाभी की भी आवाज आई- क्या हुआ?सुलेखा भाभी की आवाज सुनते ही मेरी सिट्टी-पिट्टी गुम हो गयी और मैं प्रिया की तरफ देखने‌ लगा.

सेक्सी कहानी एचडी वीडियो

मीठानंद ने आज पहली बार अपनी बहू को इतने करीब से देखा तो देखते ही रह गए. शारदा माता सेक्सी वीडियोरिया भाभी ने मेरे लंड पर कंडोम को पहनाया और कहा- अब जल्दी से करो जो करना है.

बहुत ठंड थी। दोपहर का समय था उसकी बेटी अपनी मौसी के साथ उसके घर गई थी।भाभी घर पर अकेली ही थी. इंडियन सेक्सी बीपी मराठी व्हिडिओ?अब निधि एक अनजान आदमी के सामने कैसे सब साफ-साफ बता देती कि उसकी भाभी को वो चोद रहा था और वो देखकर मज़ा ले रही थी।निधि- व्व.

और ऐसा कहते हुए मयूरी ने अपने हाथ अपनी माँ शीतल की गर्दन पर रखे और वो उसके चेहरे को अपनी चूत पर झुका कर दबा दिया.बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में: तब पता चला कि उसकी तबियत खराब है। मैं उसको डॉक्टर के पास लेकर गया। डॉक्टर ने बोला- खाने में कुछ खराब खा लेने की वजह से इसका पहले पेट खराब हुआ और फिर बुखार आया है।डॉक्टर ने दवा दे दी और हम दोनों घर को आने लगे।मैंने उससे खाने के बारे में पूछा.

उनके घर पर पहले ही पता था कि मैं आने वाला हूँ इसलिये उन्होंने पहले से ही मेरे लिये कमरा तैयार कर दिया था.अब उसने हां कर दिया और वो उठ कर मेरे लंड के सुपारे को मुँह में लेकर चूसने लगी.

मारवाड़ी हिंदी सेक्सी वीडियो फिल्म - बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में

तो प्रिया भी अपनी कमर को हिला हिला कर मेरे लंड को अपनी चूत से चूसने लगी.कभी भी मेरी चूत से रस निकल सकता था। कभी भी मेरी चूत पानी छोड़ सकती है।तभी एकाएक मुझे महसूस हुआ कि कोई ने मेरी जाँघों पर अपना हाथ रख कर कसके दबोच लिया हो.

मुझे भी मजा आने लगा था।मैं भी उसका साथ देने लगी और अपने मुँह खोलकर उसकी जीभ को चूसने लगी।वो मेरे थूक को स्वाद लेते हुए चूस रहा था।करीब आधे घंटे के इस लंबे किस के बाद हम दोनों के होंठ एक-दूसरे के थूक से भीग गए थे।फिर हमने मुँह साफ किया. बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में फिर धीरे धीरे उसने अपनी‌ कमर को आगे पीछे हिलाना शुरू कर दिया, जिससे मेरा लंड अब प्रिया की चुत की संकरी दीवारों पर घिसने लगा.

लंड कई दिनों तक चोदने लायक ही नहीं रहता।इसलिए नए चुदक्कड़ों से ये गुजारिश है कि ऐसी औरतों से संभल कर रहें। वैसे सोनू सांवले रंग की चुदैल है जो मेरे तमाम कयासों से परे.

बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में?

वो मुझे जोर से अपने बाहों में ले रही थी।उसके बाद मैं और नीचे सरक गया, अब मैं उसके पेट पर किस करने लगा।मैं अपनी जीभ से उसकी नाभि में भी जीभ से गुलगुली करने लगा. चाहे वो किसी भी विषय में हो।मैं बचपन से ही थोड़ा ज्यादा सेक्सी था और सेक्स की किताबों में मेरा मन कुछ ज्यादा लगता था। पर मैं अपनी पढ़ाई में हमेशा अव्वल रहता था. तभी मूवी में बाथरूम की चुदाई का सीन आया, मैं चाची की जांघ पर हाथ फेरते फेरते उनकी चूत तक ले गया.

बल्कि एक तरह की ज़िद से है और वो भी ऐसी जोकि काम-वासना की संतुष्टि के लिए किए जाने वाले असाधारण कृत्य को लेकर है।यह सनक पुरुष और स्त्री दोनों में ही हो सकती है. ’मैं उसे कहकर बेडरूम में चली गई और मैं अपने बेडरूम में पहुँच कर कपड़े निकाल कर बाथरूम में घुस गई और सूसू करने बैठी। मेरी फड़कती और चुदाई के लिए तड़पती चूत से जब सूसू निकली. मेरी जिंदगी कीपहली बार सेक्सकी कहानी है यह … यह कहानी मेरी और मेरे चाचा की बेटी की है.

मुझे उसकी चूचियों का स्पर्श ऐसा लगा जैसे किसी रुई को छू लिया हो।लेकिन अगले ही पल उसने गुस्से में मुझसे कहा- तुम मेरी चूत मारना चाहते हो?मुझे तो जैसे करंट लग गया. मैं अपने लंड के टोपे को ऊपर नीचे उठाने कि बजाए साइड से हिलाता था और मुझे मज़ा आता था. मैंने लंड बाहर निकाल लिया और वो उठकर बैठ गई और चूत को जांघों के बीच में दबाकर दर्द से कराहने लगी।मैंने कहा- सॉरी यार… ज्यादा दर्द हो रहा है क्या?वो रोने लगी.

हम दोनों रोजाना चुदाई करते थे और उसके बाद जब भी मौका मिलता है हम उसे गंवाते नहीं हैं। अब चाची को 2 बच्चे भी हो गए हैं. सुपारे की चमड़ी उनके द्वारा पीछे किए जाने से वो फड़फड़ाने लगा।‘कितना उड़ रहा है ये.

मैं वापस जाने लगा तो वो मुझे जबरन अन्दर ले गई और मुझे दूसरे कमरे में बिठा दिया.

मुझे अपने लंड पर दबाने लगा।मैंने इससे पहले कभी ये नहीं किया था, यहाँ तक कि मैं जब भी इसे सेक्स मूवी में देखती या सहेलियों से कभी इसकी चर्चा होती.

निलय गोल-मटोल और स्नेहा दुबली-पतली।हालांकि स्नेहा के मम्मों की खिलने की शुरूआत हो रही थी। वैसे उस समय तक मैंने किसी लड़की के शरीर को नहीं छुआ था और सच बताऊँ तो इतनी हिम्मत भी नहीं होती थी।खैर. तो मैंने अपने बैग से खाना निकाला और प्राची से पूछा- क्या तुम खाना नहीं खाओगी?तो उसने कहा- नहीं, मैं जल्दीबाजी मैं खाना लाना भूल गई. तो देखा वो मेरी चूत को चाट कर साफ़ कर रहा है।मुझे बहुत अजीब लग रहा था.

आज तुम्हारी सजा यही है कि आज तुम खुलकर बताओ कि तुम्हारा मन क्या कर रहा. फिर थोड़ी देर तक उसको ऐसे ही सहलाने के बाद उसके टोपे की चमड़ी को थोड़ा पीछे किया और उसके लंड के ऊपर के भाग पर एक प्यार भरा चुम्बन दे दिया. उसी वक्त मेरा दिल उस पर आ गया और मैं उसके बेड पर चला गया। उसने भी मुझे जगह दे दी और हम फिर से बातें करने लगे।बातों-बातों में मैंने कहा- न जाने क्यों मेरी निक्कर लूज हो गई है।उसने कहा- देखूँ तो.

जिस मम्मी को तू चिल्ला रही है, वो तेरी मम्मी इतनी बड़ी लालची है कि अपनी जवानी में यहीं हमारे गांव में दो सौ पांच सौ रुपए के लिए किसी से भी चुदवा चुकी है.

उसका आदमी वहाँ से चला गया था।अर्जुन नीचे आया तो उसने बिहारी को वहाँ देखा. अब मेरी दोनों तरफ से चुदाई हो रही थी … मुँह से भी और चूत से भी … इसी तरह दादा पोता ने मिलकर मेरी चूत को करीब 4 घंटे तक चोदा. इससे पहले भी मैं काफी बार प्रिया को मेरा लंड मुँह में लेने‌ के लिए बोलता रहता था मगर हमेशा वो मना कर देती थी.

वो भी मुझसे सच्चा प्यार करता था, इसलिए उसने मेरे बदन से खेलने की हिमाकत कभी नहीं की. तो मैंने अपने बॉयफ़्रेंड राहुल को बता दिया कि कल किसी काम से पिंकी के घर पर चलना है।उसने ‘हाँ’ भर दी और फिर अगले दिन उसने मुझे ठीक 12 बजे अपनी कार से पिक किया और हम पिंकी के घर के लिए निकल पड़े।पिंकी का घर मेरे शहर में ही था. मामी भी पूरी गरम हो चुकी थीं और उनकी चूत भी गीली हो गई थी।मैंने सोचा कि अब मामी चुदवाने के लिए तैयार दिख रही हैं।तो मैंने मामी को बिस्तर पर चित्त लेटा दिया और उनकी टाँगें फैला दीं।खुद मैंने अपने लंड को उनकी चूत के छेद पर रख दिया।तभी मामी ने कहा- धीरे से करना.

सब सलोनी को लेकर नहाने घुस गए।वहाँ फिर से एक बार सबने उसकी चूत मारी। इस बार सबने अपना वीर्य सलोनी को ज़बरदस्ती पिलाया। नहाने के बाद खाना आर्डर किया था.

कुछ ही पल बाद मैंने उसकी पेंटी उतार दी और उसकी फूली हुई चूत पर अपनी जीभ फिराने लगा. मैंने भी उसके ऊपर लेट कर उसके लबों को चूमना शुरू कर दिया। थोड़ी देर में किस और उसकी चूची के मसलने का नतीजा सामने आया.

बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में ।मैं उन्हें किस करते-करते उनके चूतड़ दबाने लगा, साड़ी का पल्लू पीछे गिरा दिया।कसम से क्या मम्मे थे. जैसा कि‌ आपने मेरी पिछली कहानीवो कौन थीमें पढ़ा था कि सुमन की‌ शादी में किसी‌ अनजान के साथ मेरे सम्बन्ध बन गए थे, मगर मैं ये नहीं जान सका कि वो कौन‌ थी.

बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में तो उसने मेरे ऊपर चढ़ कर लंड अपनी चुत में ले लिया और मुझको चोदने लगी. रवि बोला- तेरी गांड में डालूं?जीजू बोले- नहीं … इसकी गांड की सील मैं तोडूंगा।कमीनो … मारोगे क्या मुझे?”जान आज तेरी पूरी खुजली मिटा कर भेजेंगे!”उफ रवि … रगड़ो मेरी चूत को … और रगड़ो … फाड़ डालो।”जीजू ने बाल खींच लौड़ा फिर से घुस दिया मुंह में।रवि ज़ोर से … मैं झड़ने वाली हूँ … राजा ज़ोर से …”मैं झड़ने लगी.

मैंने कहा- इस वक़्त तू इस शहर की सबसे बड़ी रंडी है … इसलिए तेरी चुदाई भी वैसे ही होगी.

जानवर बीएफ वीडियो एचडी

और उसके बाद तुम्हारा लण्ड खड़ा हो गया था।मैंने बोला- फिर क्या हुआ?तो वो बोली- पूजा ने भी तुम्हारा लण्ड देखा. इतनी बड़ी और गोल थी कि मेरा दिल करने लगा कि इस अभी पीछे से पकड़ लूं. उसके बाल खुले थे।मैं उसे देखकर पागल हो रहा था। मैंने उसे बैठने को कहा। शायद उस वक़्त वो घबरा रही थी.

मैंने ‘हाँ’ कर दिया और फ़ौरन बाइक लाया और हम दोनों बाजार चल दिए। बाजार से सामान लेकर आ रहे थे. तभी उसने बोला- तुमने तो पक्का कुछ किया होगा?मैं समझ नहीं पा रहा था कि इसे क्या जवाब दूँ?मैं- बी क्लीयर …सिम्मी- क्लीयर तो बोला. तब राजेश मुझे उसके घर ले गया था। हम दोनों दो अलग बिस्तरों पर सो कर बातें कर रहे थे.

उसे देख कर ही मेरा लन्ड खड़ा हो गया।वो मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी।मैंने उन्हें अन्दर बुलाया और सरिता को पकड़ कर किस करने लगा।सरिता ने कहा- आज तुम सिर्फ़ रीना के साथ सेक्स करोगे.

कोई देख लेगा तो मुसीबत हो जाएगी।फिर मैंने भाभी को अगले रात उसके घर में रहकर कैसे उसकी मालिश की और चूचियों की चूसा. ये ऐसे ही तो बुझने वाली नहीं थी।जैसे-तैसे हमने दिन में अपने अरमानों को काबू में रखते हुए दिन बिताया, सारा दिन हमने एक साथ बिताया, खूब एन्जॉय किया. मैं अब सोचने‌ लगा कि अगर नेहा खिड़की‌ पर है … तो फिर दरवाजे पर कौन आया होगा? काफी देर तक मैं दरवाजे की तरफ‌ ही देखता रहा.

’पर वह मेरी बात सुन ही नहीं रहा था। मुझे वहीं बाँहों में कस कर मेरे होंठ चूसने लगा. मैंने कुछ ना कहते हुए चुपचाप अपना बैग नीचे रखा और बैठ गया।गाड़ी चल पड़ी. मैं भी हंसने लगा।हम दोनों बापस कमरे में आकर लेट गए।वो बोली- जब मेरी फ्रेंड्स करती हैं तो उनकी आवाज नहीं होती और जब मैं करती हूँ.

मैंने मुस्कुरा कर कहा- अच्छा है।वो सीधे बिस्तर पर लेट गया और कहा- तू मेरे ऊपर आ जा. अपनी एक सहेली से कुछ बात कर रही थी।मुझे अपनी तरफ देखता हुआ पाकर वो सकपका उठी और चुप हो गई, मैं समझ गया कि दाल में कुछ काला है।अब मैं दोबारा अपनी पढ़ाई की कोशिश करने लगा.

मेरे मम्मों को दबा रहे थे।मैं लगातार गरम हो रही थी, मैंने भी अपने दोनों हाथों से दोनों के लण्ड पकड़ लिए और मुठ्ठ मारने लगी।करीब आधा घंटा बाद उन्होंने वीडियो बंद किया और दोनों नंगे हो गए।मैं देख कर चौंक गई. कुछ देर बाद मैं भी छत पर घूमने चली गई।मैं छत पर टहल ही रही थी कि चाचा की आवाज सुनाई दी ‘हाय मेरी जान. जबकि रजत अपने दोस्त के साथ मूवी देखने गया था तो वो दस बजे तक आने वाला था। यह बात सबको घर में पता थी.

मैंने मन में ही झुंझलाते हुए कहा- अब कौन है यार?दरवाजा खोल के देखा तो देखता ही रह गया.

मैंने भी मिडल बर्थ वाली सीट को सीधा किया और खिड़की में बैठ कर बाहर का नजारा देखने लगा. दोनों से एक साथ चुदवाने से प्रीति आंटी जोश में आ गईं और गौरव को अपनी बांहों में जकड़ लिया. उसकी आँखों से आँसू बहने लगे।पुनीत को भी ये अहसास हो गया कि पायल को कितना दर्द हुआ होगा.

खैर सारे काम निपटाकर मैं बैंक से घर आ गया और कुछ दिन ऐसे ही निकल गए. मयूरी ने अपनी नंगी माँ को बड़े गौर से देखा और उसके शरीर का निरीक्षण करने लगी.

लेकिन वो सावधान रहना चाहती है।मैंने उससे कहा- तुम अपना फोटो भेजो और कोई एक्सपीरियेन्स शेयर करना चाहती हो. मैंने उसे अलग किया और नीचे लेटा दिया। मैं उसके मम्मों पर टूट पड़ा और अच्छी तरह से मसलने लगा।वो ‘आहह्ह्ह्ह. कहानी का मजा लेने के लिए मेरे साथ बने रहें और मुझे ईमेल करके मेरा मनोबल बढ़ाएं![emailprotected].

पाकिस्तानी बीएफ एक्स एक्स एक्स

लेकिन एक रोज मेरे मकान का लिंटर डल रहा था, मेरी पत्नी ने काम में हाथ बटाने के लिए नीरू को भी बुला लिया.

मेरे घर में मैं और मेरी मां हैं, पिता जी मौत कुछ वर्ष पहले हो गई थी. तुझे मजा आएगा।वो बोली- भाई मेरी फ्रेंड ने बताया था कि दर्द भी होता है।मैंने कहा- नहीं ऐसा नहीं है. !मैं एकदम चुप हो गया। भाभी ने मेरा लोवर नीचे की ओर खिसका दिया। लण्ड अंडरवियर में था.

मेरा नाम अम्मू है, मैं पंजाब के संगरूर ज़िले का रहने वाला हूँ, उम्र चौबीस साल है. अब मैं चुदने के लिए तैयार थी।मैं कुछ देर तक उसके लंड को चूसती रही और फिर जैसे-जैसे उसका लंड तनता गया. एक्सएक्सएक्सिंदी सेक्सीमेरे झड़ने के कुछ ही देर बाद रवि भी मेरी चूत में ही झड़ गया और मेरे ऊपर निढाल होकर कुछ देर पड़ा रहा.

जिसे उन्होंने अपने मुँह में भर रखा था और पागलों की तरह चूसे जा रही थी।तभी मैंने उनकी जींस उतारी और हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए और एक-दूसरे को चूसने लगे और झड़ गए।फिर मैंने उनकी गुलाबी जांघों को चाटना शुरू किया और टांगों को चूमते हुए कमर पर आ गया। अब मैं अपने हाथों से उनके मम्मों को दबाने लगा। वो मुझे नीचे लेटने का इशारा करने लगी और एकदम से अपनी चूत को लण्ड के ऊपर रख कर जोरदार धक्का मार दिया. वो मम्मों को दबाने लगा, मेरी बीवी थोड़ी सहमी हुई थी।वो मेरे ही सामने मेरी बीवी को किस करने लगा होंठों से होंठ मिलाकर.

तुम्हें मैं जान बोल सकता हूँ या फिर कुछ और?मैं- राकेश जी आप कुछ भी बोलिए. वो बोले जा रही थी- और जोर से चोदो मुझे … और जोर से मारो मेरी गांड ह्हआआह … ह्ह्ह्म्म …कुछ मिनट प्रिया की गांड मारने के बाद अभी भी उसकी गांड टाइट थी. जैसे पिछले बारह घंटे से मेरी मार रहे हो।जरोम बोला- नहीं… अगर तुम चाहो तो हमारे साथ एक-एक दिन बिताओ और फिर तुम जिसे चाहो.

मैं अभी कुछ देर पढ़ाई करूँगा।मैं उसके बिस्तर के बगल में नीचे बैठकर पढ़ने लगा और अनु सोने लगी।ठीक जैसा मैंने उससे कहा था. पर वास्तव में मैं उसको टटोल रहा था।जब कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैं और आगे बढ़ा. मैंने उसकी तरफ इस तरह से देखा, जैसे कि मुझे मामले का पता नहीं हो और मैंने सब कुछ यहां तक कि उसे नहीं पहचानने का नाटक करते हुए कहा- कहिए क्या काम है?सर, मुझे किसी आवश्यक काम के लिए कुछ पैसों की जरूरत है.

जो मौसी की इकलौती बेटी है।अनु के बारे में आपको बता दूँ कि उसकी हाईट 5’5″ है.

मेरे सामने मासूम बनने की नौटंकी न कर मादरचोद।”अबे तो कौन सा घिस जायेगी।”भक्क भोसड़ी के।”उधर आरजू ने सहला कर और चूस कर दोनों के लिंग एकदम टाईट कर दिये और फिर रुक कर दोनों को ऐसे देखने लगी जैसे वाकई मुआयना कर रही हो- लगती तो नहीं कोई बीमारी … तुम देखो भाई. मैंने पहले एक बार मॉम को डैड के साथ सेक्स करते हुए भी देखा था।उस दिन अचानक मैं बैलेंस नहीं रख पाया और दरवाजे से टकरा गया।दरवाजे पर आवाज़ होने से मॉम ने पूछा- कौन?मैंने कहा- मैं हूँ.

बाकी के पांचों ने भी अपना नम्बर लगा दिया। विजय ने इस बार वीर्य उसके मुँह पर ऊपर डाल दिया।बाद में अमर ने उसे उल्टा लिटा दिया।अब यह साफ था कि अब उसकी गाण्ड का बाजा बजने वाला है।अमर ने फिर एक झटके में लण्ड अन्दर धकेल दिया। आधा इंच लण्ड उसकी चूत में जा चुका था. ’ उन्होंने गुस्से से कहा और रसोई में चली गईं।काफी देर बाद वो वापस आईं. अगर गुजरात का कोई भी पाठक या पाठिका मुझसे बात करना चाहे, तो मुझे मेल कर सकते हैं.

मैं पूरा मधु को आलिंगन करके कुत्ते की भान्ति चोद रहा था और बड़ी बेरहमी से उसकी चूची और निप्पल को दबा दबा के मसल रहा था. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ।बात कुछ साल पुरानी है। मेरे पापा की चचेरी बहन हमारे घर रहने आई हुई थी। उसका नाम कोमल (बदला हुआ नाम) है और वो करीब एक महीना हमारे घर पर रही, वो मुझसे तीन साल ही बड़ी है. उसी वक्त मेरा दिल उस पर आ गया और मैं उसके बेड पर चला गया। उसने भी मुझे जगह दे दी और हम फिर से बातें करने लगे।बातों-बातों में मैंने कहा- न जाने क्यों मेरी निक्कर लूज हो गई है।उसने कहा- देखूँ तो.

बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में ’ की आवाजें निकालने लगी।थोड़ी देर में ही उसकी पकड़ टाइट हो गई और उसकी चूत ने अपना पहला कामरस छोड़ दिया।मैं फिर भी नहीं रुका. अब राजीव अंकल पूरी ताकत से जोर जोर से मेरी गांड में अपना लंड पूरा डाल कर जमकर चोदने लगे और मुझे बहुत गालियां देने लगे.

सेक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो

मैं तो पहले से ही बड़े और मोटे लंड की दीवानी ठहरी, उसका इशारा पाकर अपनी मुस्कराहट को रोक नहीं पाई और वो भी बस से उतरते ही मेरे पीछे पीछे चल दिया. और आज तो भाभी के कारण इससे बात कर सकता हूँ।इसलिए यह मेरे लिए एक सुनहरा अवसर है और इस अवसर को मुझे खोना नहीं चाहिए।थोड़ी देर में भाभी ने मुझसे बोला- तुम मेरे बच्चों को देखना. मी त्या दिवशी स्वप्नीलने सांगितले म्हणून केप्री आणि लेगीन घातली होती.

पर नींद नहीं आ रही थी।मैंने हिम्मत करके धीरे से उनके मम्मों पर हाथ रखा। चाची सो रही थीं. तो वो बोलीं- मेरे अन्दर ही झड़ जाओ।मैं उनकी गान्ड में ही झड़ गया।इस घटना के बाद. माय बेटा का सेक्सी वीडियोइतना कहकर पुनीत बिस्तर पर आ गया और पायल की गाण्ड को सहलाने लगा।पायल- उफ्फ.

उस नजर को मैं बहुत अच्छे तरह से पहचानती थी। साफ़ दिख रहा था कि अगर उसे मौका मिले.

’ मेरी सिसकारी निकल गई।गर्म होने के कारण उसकी साँसें मेरे लण्ड पर महसूस हो रही थीं। वो लगातार मेरा लण्ड चूस रही थी। मैंने उसके सिर को पकड़ कर मेरा लण्ड उसके मुँह में दबाया. मैं क्या करूँ??प्लीज़ हेल्प मी!अगर वो इस सन्देश को पढ़ रही है तो उसे मैं कहना चाहता हूँ:‘मेरी सबसे बड़ी ख्वाहिश है कि तुम मुझसे एक बार बात करो, मैं कौन सा तुम्हें किसी बात के लिए दबाव डाल रहा हूँ, एक बार बात कर लो, फिर जैसा तुम चाहोगी वैसा ही होगा.

लेकिन अनु सोई रही और हिली भी नहीं। मैं जानता था कि वो क्या चाहती है।मैंने भी सीधा उसकी स्कर्ट को उसकी कमर तक चढ़ा दिया और उसकी पैन्टी पर हाथ रख दिया। अब मैं धीरे-धीरे उसे उतारने लगा. ।मैं उन्हें किस करते-करते उनके चूतड़ दबाने लगा, साड़ी का पल्लू पीछे गिरा दिया।कसम से क्या मम्मे थे. उसने कहा- अगर तुम्हें कभी ठंडा पानी या कुछ और चाहिए हुआ करे तो तुम मेरे घर से ले लिया करो.

दोस्तो, अभी मैंने उसके चीरे पर टोपा रखा ही था कि वो चीखने लगी… सन्नी बहुत मोटा है… ऐसे नहीं जाएगा.

अंकल ने मेरी गांड के छेद पर अपने लंड को जैसे ही रखा, मुझे ऐसा लगा जैसे बिजली का करंट मेरे बदन पर दौड़ गया हो. मैं बुरा नहीं मानूँगी।मुझे लगा कि भाई मेरी फ्रेंड्स के बारे कहेंगे।भाई- मुझे तुम जैसी लड़की पसंद है और तुम जैसी लड़की कोई मिलती नहीं है।मैं- भाई मेरे जैसी. मैंने चोली के नीचे ब्रा नहीं पहनी थी, जाकिर ने मेरे पीछे से डोरी खोल कर चोली खोल दी और निकाल दी.

सेक्सी वीडियो हरिद्वारएक हाथ से मैंने अपना लंड उसकी फुद्दी पर रखा और दूसरे हाथ उसकी गर्दन के पीछे रखा. उस दिन दीदी की सहमति से उन्हीं के घर में मैंने जीजू को अपने जाल में फंसा अपनी जिस्म की भूख पूरी की.

सेक्सी इंग्लिश व्हिडिओ बीएफ

शाम के 4 बज रहे थे, मैं दुकान के दूसरी तरफ खड़े खड़े उसे बहुत देर तक निहारता रहा. अभी तो मैं आपको अच्छे से जानती भी नहीं हूँ।मैंने उसे समझाने की कोशिश की- मैं आपसे प्यार करता हूँ और प्यार में तो ये सब चलता है।वो बोली- मैं भी तो आपसे बहुत प्यार करती हूँ. इसलिए हमने वक़्त की नजाकत को समझते हुए रात को मिलने का प्रोग्राम बनाया और एक और दिल की गहराइयों को महसूस करते हुए एक-दूसरे के होंठों को चूम लिया.

कुछ दिन बाद वो मेरे लण्ड को अपने हाथ में भी लेगी और मुँह में भी लेगी और चूत में भी लेगी।किरण हँस कर बोली- ठीक है. ’मेरा इतना कहना सुनते ही चाचा ने मेरे कूल्हे को पकड़ कर मेरी बुर के छेद पर लण्ड लगा कर. आखिरकार 15-20 झटके मारने के बाद मैंने अपना रस उनकी गांड में भर दिया और उनके ऊपर गिर गया.

मैंने उनकी कमर पर हाथ फेरते हुए उनको बोला- चाची आप बहुत सेक्सी हैं, इस दिन का इंतजार मुझे कई सालों से था. पायल को अब मज़ा आने लगा था। वो हाथों पर ज़ोर देकर फिर से घोड़ी बन गई थी और पुनीत अब उसके कूल्हे पकड़ कर ‘दे दनादन. पेट को चूमते हुए मेरे स्तनों को पकड़ चूसने लगे।मेरा हाथ भी अब नीचे उनकी चड्डी के पास चला गया और ऊपर से ही उनके लिंग को मैं सहलाने लगी।वो मेरे स्तनों को बारी-बारी से दोनों हाथों से जोर-जोर मसलने और चूसने लगे। मैं हल्के हल्के स्वर में कराहती हुई उनके लिंग को चड्डी के ऊपर से मसलने में मग्न हो गई।कुछ देर बाद मैंने उनकी चड्डी को सरकाना शुरू कर दिया और जाँघों तक सरका कर लिंग बाहर निकाल कर हाथों से पकड़ा.

अब तक की मेरी इस कहानी में मैंने आपको बताया था कि मेरे कॉंप्लेक्स के केयर टेकर अंकल मुझे रोज चोदते हैं. खाना पीना कम्पलीट हुआ, फिर मधु मस्त दो गिलास बादाम और केशर वाला दूध पिलाई, हम दोनों ऐसे ही सोफे में बैठ के बात कर रहे थे.

मैंने उसे एक हाथ से उठा कर बगल की टेबल पर रख दिया और दूसरे हाथ की उंगली अब भी चुत कुरेदने में लगी थी.

अब तो यह हाल हो चुका था कि सारंगी लंड निकालने के लिए आगे को भागने लगी. व्हिडिओ सेक्सी फिल्म व्हिडिओतो उसकी आवाज और जोर-जोर से आने लग जाती।अब मैंने सोनी की चूत में एक उंगली डाली. घोड़ी के साथ सेक्सीसिड्नी आने से पहले मैं सोच रहा था कि ऑस्ट्रेलिया जाकर ऐश करेंगे और खूब कमाएँगे और मजें करेंगे. इससे मेरे मुँह से भी कामवासना से भरी सिसकारियां निकलनी शुरू हो गईं.

उसने जल्दी से सारे कपड़े उतार दिए।वो मेरे सामने एकदम नंगी हो गई थी।अब मैंने भी सारे कपड़े उतार दिए। वो अब मेरे पूरे शरीर पर चूम रही थी और मेरे लण्ड को जोर-जोर से हिला रही थी।फिर मैंने उसको बिस्तर पर लेटा दिया उसके ऊपर लेट गया और होंठों को चूसने लगा, मेरा लण्ड उसकी चूत के ऊपर फनफना रहा था।वो बोली- मेरे राजा, इसको अन्दर डाल दो.

प्रिया की कमर पर एक लम्बी लाईन में बिल्कुल लाल निशान सा बना हुआ था‌‌, जो‌ छिलने‌ का निशान था. जब मैंने उनको पहली बार देखा था, तो उस टाइम रिया भाभी ने ब्लू जीन्स और लाल रंग का टॉप पहना हुआ था. तो मैं नीचे बैठ कर उसकी साड़ी के अन्दर घुस गया। मैंने उसकी पैन्टी खींच कर उतार दी और उसकी चूत चाटने लगा। वो भी मदहोश होने लगी थी.

मानो उससे दूध निकाल लूँगा।अपने लंड को उसकी दोनों चूचियों के बीच फँसाकर मम्मों की चुदाई करने लगा मैं लौड़े को उसके मुँह में डालने लगा जिसे वो ‘गपगप. तो हम दोनों साथ ही चलते हैं।आंटी ने कहा- मैं भी वहाँ अपनी लड़की का एग्जाम दिलाने के लिए फ़ैजाबाद जा रही हूँ।अब मैंने चौंकते हुए उनसे कहा- मगर आंटी आप तो अकेली दिख रही हो?तो आंटी ने कहा- मेरी लड़की जरा फ्रेश होने गई है. यह कहते हुए राजीव अंकल के लंड से बहुत जोर की गर्म गर्म वीर्य की पिचकारी मेरी गांड में भर गयी, मुझे एक अलग तरह का अहसास मिल रहा था.

बीएफ सेक्सी काले लंड वाली

मैं ऐसे लिख कर ज्यादा अपने आपको को तुर्रम खां नहीं बनाऊंगा कि मेरा लंड घोड़े जितना बड़ा है, या सांड के जैसे लम्बा है. मेरी भाभी की 5 फुट 3 इंच हाइट की थीं और वे ज्यादा पतली नहीं थीं, पर मोटी भी नहीं थीं. एक बार तो मैं अब दिल ही दिल‌ में खुश हो गया कि चलो भैया से डांट तो सुननी पड़ी, मगर कम्प्यूटर कोर्स से तो पीछा छूट गया.

बस मौका देखते ही मैं भी उनको लाइन देने लगी और फिर शुरू हुआ मेरी ताबड़तोड़ चुदाई का सिलसिला.

आज उससे काफी देर बात चली, मैं फ़ोन कट करने ही वाला था तभी ज्योति बोली- रवि एक बात बताओगे?मैंने कहा- हां पूछो.

मैं ला दूँगा।तो वो बोली- नहीं मैं खुद ही लाऊँगी।मैं उसको एक शॉप में ले गया. तो मैं नीचे झुक कर उसकी चूत को चाटने लगा। अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदने लगा।वो बुरी तरह से ‘एयेए. सेक्सी सुदामा सेक्सीमैं- अंकल आपका लंड तो चुत में घुसने वाला है… पर दर्द क्यों हो रहा है?अंकल ने अपना लंड मेरी बुर में सटा कर हल्का से दबाया तो लंड का सुपारा बुर के अन्दर चला गया.

कुछ ही देर ऐसे चुदाई करते हुए हुआ होगा कि प्रिया अब और जोर जोर से सांसें लेने लगी. मैं सफ़र से काफ़ी थका हुआ था तो मैं सोने जाने लगा, उसने मेरे होंठों पर किस किया और हम नीचे चले आए।फिर मैं सो गया।जब उठा तो देखा उसके घर वाले आ गए हैं. चूत ने कामरस छोड़ दिया।मैंने पूरा रस चाट कर साफ़ कर दिया।गीतिका- तुम तो बड़े एक्सपर्ट लगते हो.

पर इस बार क्योंकि मैं था इसलिए स्वाति को छोड़ कर जाने का प्रोग्राम बनाया।अगले दिन मेरा साला सुबह ही घर से निकल गया, मैं जब सो कर उठा तो वो जा चुका था।स्वाति ने नाश्ता बना रखा था. अमीषा अपनी माँ लीना के साथ रहती थी जो अपने पति से अलग हो चुकी थी या कहा जा सकता है कि उसने अपने पति से तलाक़ ले लिया था या वो विधवा थी मगर उसके बारे में पक्का कुछ भी नहीं कहा जा सकता था.

कोई देख लेगा तो मुसीबत हो जाएगी।फिर मैंने भाभी को अगले रात उसके घर में रहकर कैसे उसकी मालिश की और चूचियों की चूसा.

जैसे मुझे उससे कोई लेना-देना नहीं है। क्योंकि मैं एक हरियाणा राज्य का सरकारी कर्मचारी हूँ और मेरी नौकरी भी जा सकती थी। वह भी हरियाणा की कुम्हारिन थी और सास ससुर और देवर से अलग रहती थी।लेकिन उस दिन की घटना के बाद मेरे मन में उथल-पुथल रहने लगी और मैं अपने डीवीडी प्लेयर पर पुराने दर्द भरे गाने अपनी आदत अनुसार सुनता रहता था।तभी मेरे भाग्य ने पलटा खाया और धीरे-धीरे उसके आदमी से मेरी बातचीत होने लगी. यह बोल कर दीप्ति ने मुझे जोरदार किस किया और मेरे खड़े हो चुके लौड़े को बाहर निकाल कर किस किया। उसके बाद हमने एक बार चुदाई की. दरवाजे को लात मारते हुए दादा जी ने विकास को आवाज दी- अरे नालायक दरवाजा खोल … वरना तेरी टांगें तोड़ कर रख दूँगा.

सेक्सी फिल्म ऑल मैं- क्या कहा?सिम्मी ने बात को बदलते हुए कहा- ऑल्मोस्ट अपना फ़्री टाइम तो तुम मेरे साथ बिताते हो, ज़्यादातर फ़ोन पे और कभी कभार शॉपिंग और या कहीं आना जाना होता है तो. मैं भी आपसे चुदने को तड़प रही हूँ।तभी चाचा बोले- बहू छत पर अंधेरा है कोई आ गया तो भी हम दोनों को देख नहीं पाएगा.

पोजीशन तुम्हें पता है।”वह फिर उल्टी हुई और घुटने मोड़ कर दोनों जांघों को पूरा खोलते हुए अपने नितम्बों को हवा में उठा दिया। अपने चेहरे और सीने को चादर से सटा रखा था और पेट को मुड़ी हुई जांघों तक खींच लाई थी।यूँ उसकी योनि अपने पूरे आकार में मेरे चेहरे के सामने खुल गयी। न उसके नितम्बों पर कोई खास मांस था और न ही जांघों पर. आप कौन?उसने कहा- रूपाली (बदला हुआ नाम )मैंने कहा- आपके कल रात से मैसेज आ रहे हैं?तो वो बोली- आर यू मैड. तभी मेरी बहन ने अपनी आंखें खोलीं और शरारती मुस्कान देते हुए बोली- तुम नहीं मानने वाले ना.

बंगाल की बीएफ सेक्सी वीडियो

हालाँकि मैं रिया भाभी को किस तो बहुत बार कर चुका था और अब मेरा उनको चोदने का मन कर रहा था. उसकी चूचियां और गांड कपड़े से ढके होने के वावजूद भी पूरी दिखाई दे रही थी. मैंने सब बात कर ली है।अगले दिन सुबह बताए पते पर पहुँच गया। वो कोई ऑफिस ना होकर एक आलीशान बंगला था। मैंने डोर-बेल बजाई तो एक अधेड़ महिला ने दरवाज़ा खोल कर अन्दर आने को कहा और वह चली गई।थोड़ी देर बाद एक औरत.

वरना आजकल की लड़कियाँ तो बॉयफ्रेंड ऐसे चेंज करती हैं जैसे कि कपड़े बदल रही हों।मैं- भाई और आप बताओ. मैंने उससे कहा कि मेरी बात सुनो, प्लीज चिल्लाना मत … पहले मेरी पूरी बात सुन लो.

लेकिन फिर भी नहीं घुस पा रहा था।मैं जाकर वैसलीन ले आया और गाण्ड और लंड पर लगा कर उसे बिल्कुल चिकना बना दिया और गाण्ड के छेद पर लंड को रखकर धीरे अन्दर पेलने लगा।मेरा लंड धीरे-धीरे गाण्ड की गहराई में ड्रिल करता हुआ घुसता जा रहा था, अनु तड़पती जा रही थी।लण्ड करीब आधा घुस चुका था.

और जल्दी जल्दी बाहर आ गया, क्योंकि बाहर सारंगी मेरी प्रतीक्षा कर रही थी. उसकी तो पूछो ही मत वो इतनी तेज चीखें निकाल रही थी … मानो सील तुड़वा रही हो. इसीलिए मैंने अपनी जीन्स के अन्दर हाथ डाला था कि तुम भी मुझे उंगली करते देख लो.

दूसरे दिन मैं 7 बजे आ गया, तो पता चला मनीष आज किसी इंटरव्यू के लिए भिवाड़ी गया था, तो देर होने के कारण वहीं रुक गया है. फिर मैंने उससे पूछा- और करोगे क्या?तो वो बोला- सर आप रात में रूम खुला रखना. ये कह कर डैड कपड़ों के उस ऊंचे ढेर के निचले सिरे पर अपने हाथ से लंड को सीधा पकड़ कर निशाना साध कर बैठ गए थे.

मैंने उसकी कमर से हाथ फेरते हुए उसकी ब्रा के ऊपर से उसके मम्मों को दबाने लगा.

बीएफ चाहिए बीएफ एचडी में: ’ उन्होंने अत्यधिक गुस्से से कहा।मैं वहाँ रुकता तो मामला और बिगड़ सकता था. मानो मेरी योनि को पूर्ण रूप से गीला और चिपचिपा कर देना चाहते हों।मेरी योनि तो शुरू से ही गीली थी.

मेरी और उसके निगाहों का आमना-सामना हो गया, वह मुझे देखकर उछल उठा- आअअअप यय. उन्हें मजा आने लगा और साथ ही वह गांड उचका उचकाकर मेरा साथ देने लगीं. अचानक उसने करवट बदली तो मैं घबरा गया। मैंने सोचा कि कहीं वो मुझे ऐसे देख न ले.

खैर दस मिनट होने के बाद भी वो बैठा रहा और अगले 10 मिनट के बाद उस का लंड आसमान को देखने लगा, जो 7 इंच लंबा और 2.

जब उसने हिलना शुरू किया तो मैंने भी जोर-जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए। वो भी उछलने लगी और ‘आह्ह. और मैं चूत चुदाने के नशे में अंधी होकर पूरी जांघें खोल कर लण्ड के अन्दर जाने का इन्तजार साँसें रोक कर करने लगी।मैं जवानी के नशे में पागल हो रही थी ‘बस. फिर थोड़ी देर तक उसकी गांड में साबुन लगाते हुए बेटे ने अपनी एक उंगली माँ की गांड में डाल दी तो शीतल जैसे चिहुँक सी उठी, उसके हाथ से पेटीकोट का नाड़ा छूट गया और पेटीकोट नीचे गिर गया.