ससुर बहु का बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,बीएफ वीडियो रिटर्न

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स और बीएफ: ससुर बहु का बीएफ वीडियो, ऐसे कहां मानने वाली थी, उसने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चुत पर रखा और मुझे जोर का झटका मारने को बोला।तो मैंने ना आव देखा ना ताव.

शिल्पी का बीएफ

अपने पैरों को दूर-दूर करो। आंटी ने वही किया और मैंने चूत में एक उंगली डाली और हिलाने लगा। आंटी ‘सी सी. हिंदी बीएफ चोदने वाला वीडियोतो हम दोनों को ही डबल चुदाई का कितना मज़ा आता।गोपाल- तुम तो जानती हो.

वो एक अच्छे दोस्त की तरह मेरा बहुत ख्याल रखती है… इस समय वो भी मेरे पास बैठी है, लो बात करो उससे!निष्ठा चौंक गई, इस समय ऋषिका रयान के बेड रूम में??ऋषिका फोन पर आई, बोली- घबराओ मत निष्ठा, मैं अभी आई हूँ, मेरे पास कुशल का फोन आया था, वो बहुत परेशान था… वो बहुत रोमांटिक है पर धोखा देने वाला आदमी नहीं है. इंग्लिश बीएफ नईये मेरे से नहीं हो सकता टीना तुम बात को समझो ये उफ़फ्फ़ कैसे होगा ये?टीना- ओके मत करो.

उसके बाद बाकी दो लोगों ने जगह संभाल ली, एक चूत में, एक गांड में… फिर मेरी चुदाई स्टार्ट हुई.ससुर बहु का बीएफ वीडियो: तो उन्होंने हाथ पीछे करके मेरे लंड को पकड़ लिया और धीरे-धीरे उसे सहलाने लगीं.

’मैं- भैया मुझे कुछ ऑर्डर करना है।‘हाँ जी मैडम बोलिए, क्या लेना चाहती हैं आप?’मैंने थोड़े से मस्ती के मूड में आकर कहा- लेना तो बहुत कुछ चाहती हूँ.उसका मस्त लंड मुझे आकर्षित कर रहा था। अब उसका लंड पहले से ज्यादा बड़ा लग रहा था।फिर मेरे ऑफिस वाले साहब ने भी मेरी गांड पर हाथ फेर-फेर कर मुझे उत्तेजित कर दिया था।मैंने उसका हाथ अपने हाथ में लेकर उसे अपनी गांड पर रख दिया। मैं उसका लंड पकड़े हुआ था। मैंने उसके लंड पर अपने हाथ से दो-तीन जोरदार झटके दिए। अब उसका हथियार तैयार था.

बिहार के सेक्सी बीएफ देहाती - ससुर बहु का बीएफ वीडियो

मैं भी उसके ऊपर यूं ही पड़ा रहा, उसकी चूत संकुचित हो हो कर लंड से वीर्य की एक एक बूँद निचोड़ती रही.मैंने उसे मेरा लंड चूसने को बोला और थोड़ी देर में, मेरा लंड फिर खड़ा हो गया और मैंने उसकी अलग-अलग पोस्चर में चुदाई की.

तभी अचानक रयान का फोन आया, वो बोला- मैं जानता था कि तुम अभी सोई नहीं होगी. ससुर बहु का बीएफ वीडियो पूछने लगी।मैं भी पूरी तैयारी से आया था सो अपने चुदाई फ़ॉर्मूले की विस्तारपूर्वक व्याख्या करने लगा।मैंने कहा- मैडम, तेल मालिश में बड़ी सावधानी करनी पड़ती है, अगर चूक हुई तो कोई लाभ ना होगा.

तू वो तो दिखा साली?टीना- सब्र कर मेरे राजा पहले इसको थोड़ा प्यार तो कर लूँ।टीना लंड को बड़े प्यार से अपनी जीभ से चाटने लगी और धीरे-धीरे सुपारे को अपने मुँह में भर लिया।संजय- आह.

ससुर बहु का बीएफ वीडियो?

शायद आप भूल गए होंगे, तो दीदी का नाम कमला है।इतना कहकर वो दबी आवाज में हंसने लगी।उसकी बात सुनकर मैं भी मुस्कुरा पड़ा।मैं अभी कुछ बोलता कि फिर वो बोल पड़ी- जीजा सा, मैं जिस काम के लिए यहाँ आई थी. अब हम किस कर रहे थे और मैं एक हाथ से मैडम का एक बूब्स बहुत ज़ोर से दबा रहा था, मैं मैडम की गर्दन को चूम रहा था और साथ ही एक बूब्स को दबा भी रहा था और जिसकी वजह से मैडम उह्ह्ह्ह ऑश आहह अफफफफफ छोटू अह्ह्ह्ह की आवाज़ निकाल रही थी. तेरी चुत का लावा बाहर आने को बेताब है और तू है कि उसको रोके हुए है। चल आज तुझे ठंडा कर देती हूँ।सुमन- दीदी आपसे एक बात पूछनी थी?टीना- हाँ पूछ एक क्यों.

चुदाई की रफ़्तार की वजह से भाभी के मम्मों जोरदार तरीके से ऊपर-नीचे हिचकोले खा रहे थे. मैं भी वहीं जा रहा हूँ।’‘ओके मैं सोने जा रही हूँ।’‘गुड नाइट’‘गुड नाइट. आह उस दिन वो गीला-गीला क्या था आह उसमें बहुत मज़ा आ रहा था, दीदी आप प्लीज़ वैसे ही करो ना.

कैसे किया और कितनी बार किया?सुमन शर्मा रही थी मगर टीना ने जोर दिया तो रात की सारी दास्तान उसने टीना को सुना दी और साथ में ये भी बता दिया कि आज से वो ये गंदी कहानी नहीं पढ़ेगी, इससे उसको रात बहुत परेशानी हुई।टीना- वाउ यार पहली बार में ही ऐसी स्पीड. नताशा मेरी इस प्रक्रिया से पागल हो उठी और मुंह से घू-घू की आवाज निकालते हुए स्वान के टोपे को अपने हलक में घुसेड़ कर चूसने लगी. पर उन्होंने मेरी चीख और दर्द पर ध्यान नहीं दिया और फिर उसके बाद धीरे धीरे मेरी गांड में पूरा लंड डाल दिया और उसे चोदने लगे, पर मेरी गांड का दर्द कम नहीं हो रहा था और दर्द से मेरे आँसू भी निकल गए थे.

तो देखा कि दुशाली नेट की साड़ी पहने हुए थी। दुशाली मेरे दोस्त की एक खूबसूरत बीवी थी. उसके बाद मेरे मुंह में सलोनी ने रस छोड़ना शुरू किया और मैंने सलोनी के मुंह में! उसके बाद वो मेरे ऊपर से उतर गई और मेरे बगल में आकर लेट गई.

जिससे मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।मैंने उससे कहा- तू मुझे रोज ऐसे प्यार किया कर.

तभी शायद सुन्दर ने मेरे उभरे हुए स्तन देख लिए और इसके लंड का कीड़ा चूत मांगने लगा.

पर तब भी उस दिन वो ठीक से चल नहीं पाई।उसने कहा कि बहुत दर्द हो रहा है, पर उसे दर्द से ज्यादा मजा आया था।ये सिलसिला बहुत दिनों तक चलता रहा उसके बाद उसने मुझे उसकी सहेली की सील तोड़ने के लिए रिक़्वेस्ट की, वो बात में दूसरी हिंदी सेक्स स्टोरी में बताऊंगा। मुझे मेल जरूर करना।[emailprotected]. पर व्हिस्की पीने के कारण मेरा माल निकल ही नहीं रहा था।अब मैंने अपनी देशी स्टाइल ट्राइ करने का सोचा। मैंने सोनम को डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से अपना लंड सोनम की चूत में पेल दिया, जिससे सोनम को बहुत मजा आ रहा था और मुझे भी।अगले 5 मिनट में मेरा माल छूटने वाला था तो मैंने सोनम से पूछा कि कहाँ निकालूँ?तो सोनम ने जवाब दिया कि इतना कीमती प्यार किया तुमने. ऐसी गंवार मत बनी रहो। अगर एक महीने में ये सब कह दें कि तुम बदल गई हो.

करीब 15 मिनट लंड चूसने के बाद सचिन मेरे मुँह में ही झर गए और सारा का सारा माल मेरे मुँह में ही छोड़ दिया. मैं आपके सामने अपनी गर्लफ्रेंड की चिकनी चुत चुदाई का पहला अनुभव शेयर कर रहा हूँ।मैं विक्की उम्र 23 साल. तो जाते ही उसके टॉप के अन्दर हाथ डाल दिया और उसके चूचे दबाने लगा।इतने में ही उसके चूचे मस्त टाइट हो गए।मैंने आव देखा ना ताव… उसका टॉप निकाल दिया और उसके आमों को चूसने लगा।तभी मैंने अपना लोअर उतार दिया.

मैं माला से मिलने के लिए बहुत आतुर था इसलिए अम्मा को काम करते देख कर मुझे मन ही मन उस पर गुस्सा आ रहा था की वह माला को लेने के लिए क्यों नहीं जा रही थी.

अब मैं हमेशा तुम्हारी रहूँगी।उसने मुझे होंठों पर लंबा सा किस दिया और उठ कर बाथरूम में चली गई।तो साथियों कैसी लगी मेरी आंटी की चुदाई की सेक्स स्टोरी. मैं जमीन पर घुटनों के बल बैठ गई और मैंने रोहन के गीले लण्ड को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया… वीर्य के कारण लण्ड का स्वाद काफी अच्छा लग रहा था।फिर हम दोनों उठ कर बिस्तर पर लेट गए, रोहन मेरे ऊपर आकर आकर 69 की पोजीशन में लेट गया… फिर रोहन ने मेरी चूत को चाटना और चूसना शुरू कर दिया. माला ने भी मेरा पूरा साथ दिया और खुद ही अपने पेटीकोट का नाड़ा खोल कर उसे नीचे गिरने दिया तथा पूर्ण नग्न हो गई.

वो बोली- मैं सब समझती हूँ कि किधर और कैसी नजर है तुम्हारी!मैं और घबरा गया और बोला- सॉरी भाभी, आगे से ऐसा नहीं होगा!वो बोली- आगे से नहीं होगा का क्या मतलब है? क्या मैं सेक्सी नहीं हूँ?यह सुन कर मैं समझ गया कि भाभी को चुदवाने की इच्छा है. फिर सोने के लिए रेडी हो गए।फिर मैंने पूछा कि नीलू तुमने बोला नहीं कि मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी या नहीं?बोली- ठीक है पर एक शर्त पर. ‘बेटीचोद रेखा के मम्मे बहुत सख्त हो रहे हैं… बहुत ज़ोर से मसलना पड़ेगा… हुम्म्म ज़रा चूस के भी देखूं!’ राजे ने तपाक से एक चूचा मुंह में घुसा लिया और लगा चूसने, जबकि दूसरे चूचे को मसलने लगा.

बस उस टाइम तेरी जमकर चुदाई करूँगा ना।मोना ने गोपाल को मनाने की बहुत कोशिश की मगर वो सारी रात का जगा हुआ कहाँ मानने वाला था, उसने चादर खींची और सो गया।मोना का मूड तो एकदम खराब हो चुका था, वो वहाँ से उठकर दूसरे कमरे में चली गई और रोने लगी।दोस्तो, यहाँ तो गड़बड़ चल रही है.

वो कुछ भी बोलने के मूड में नहीं थी और मैं उसे प्यार करने के मूड में था. इस कहानी में सुन कर मजा लें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है.

ससुर बहु का बीएफ वीडियो पर कैसी पार्टी?मैं बोला- जैसे होती है।भाभी ने आँख मटका कर पूछा- कैसी वाली पार्टी?मैंने पूछा- आप ड्रिंक करती हैं?वो बोलीं- हाँ. मैं वहाँ हाथ से ढकने के कोशिश करने के साथ बोला- आप चलो, मैं आता हूँ.

ससुर बहु का बीएफ वीडियो मेरी बात का अर्थ समझ के उसके चेहरे पर लाज की लाली दौड़ गई और उसने सर झुका दिया. ये पता नहीं था।इतना कहकर आंटी किचन में चली गईं। फिर मैं भी कपड़े पहन कर किचन में आ गया। हम दोनों हंसने लगे और बिरयानी खाने बैठ गए।आंटी ने जैसे ही बिरयानी चखी वैसे ही बोल उठीं- अरे दीप, क्या मस्त टेस्ट है.

लड़की के गले में पड़ी पतली सी बेल्ट द्वारा उसकी गर्दन को झटकना वो नहीं भूलता था!!थोड़ी देर बाद राजू ने लंड मुंह से बाहर निकाल कर मेरी ओर कमर की, मेरे लंड को अपनी गांड में पिलवा रही नताशा को बिना मेरा लंड बाहर निकलवाए, 180 अंश पर घुमाते हुए उसका चेहरा मेरे चेहरे की सीध में ला दिया.

सेक्सी वीडियो खुला दिखाओ

मैंने फिर उसके जिस्म की तारीफ की और उससे बेतहाशा चूमने लगा, उसने भी मेरा पूरा साथ दिया. तो मैं वहां पहुँच गया और चुपचाप उनके घर के सामने एक पेड़ पर चढ़ कर देखा तो मॉम और उनका बॉस ऊपर फर्स्ट फ्लोर पर अपने रूम में खड़े थे और मॉम ने सिर्फ़ ब्रा और पेंटी पहनी हुई थी। उनके मम्मे बिल्कुल नंगे थे। तब से मुझको पता है. मेरे मुख से सिसकारी निकल गई।तभी रोहन ने उस जगह पर एक और चुम्बन अंकित किया और कहा- कविता तुम किसी अप्सरा से कम नहीं हो.

वो एकदम गोरी थी।फिर मेरे मन में ख्याल आया कि ‘नहीं सूरज, तुम इन भोले भाले लोगों के साथ धोखा नहीं कर सकते. मैं ना चाहते हुए भी उत्तेजित हो रही थी क्यूंकि सुन्दर एक स्त्री के सबसे उत्तेजित होने वाले दो अंगों पर कब्ज़ा जमाये बैठा था. 5 मिनट बाद, जब वो बाहर निकली तो उन्होंने घर की ड्रेस पहनी थी और वो टॉवल से बालों को झाड़ रही थी.

तूने कुछ किया भी या बस कहानी पढ़ती रही।सुमन- ऐसी कहानी पढ़ कर बिना कुछ किए नींद कहाँ आती है दीदी?टीना- वाउ मतलब तूने किया.

तभी जैसे उसने मेरा दर्द समझा और मेरी जींस का बटन खोल कर मेरी जींस और चड्डी उतार दी और फिर मेरे होठों को अपने होंठों में लेकर चूमने लगी. अब तुम रोज शाम को यहाँ आना और एकनई लड़की की चुदाई करना, इस बहाने उनकी भी चूत खुल जायेगी और फिल्म में आसानी से चुदाई का सीन होगा. रोहन के दोनों हाथ मेरी कमर से होते हुए मेरी पीठ पर लिपटे हुए थे, मैंने रोहन से कहा- मेरा राजा बेटा अपनी मम्मी से इतना प्यार करता है?रोहन ने हां में सर हिला दिया।तभी रोहन ने पीछे से ही मेरी ब्रा के हुक को खोल दिया और मेरी ब्रा को खींचता हुआ मुझसे दूर हो गया.

पर नहीं की और मुँह साफ करने लगी।अब मैंने उसे पकड़ा और जैसे ही उसकी चूत को चाटने लगा तो वो मचलने लगी और अजीब-अजीब आवाजें निकलने लगी। उसकी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया और मैंने उसे चाट-चाट कर साफ कर दिया।अब मैं उसे देख रहा था और वो मुझे देखे जा रही थी. तभी मैंने वो केला बाहर निकाला और खाने लगा और सुजाता को भी खिलाया।कहानी मैं पहली बार लिख रहा हूँ, कुछ गलती हो गई तो माफ कर देना। यह डर्टी सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, अपने विचार आप मुझे[emailprotected]पर भेजिये. मैं छिपते छिपाते उनके बिल्कुल पास पहुँच गई और एक पेड़ के पीछे से अपनी माँ की चुदाई देखने लगी.

कुछ देर अन्दर बाहर करने के बाद उसने जीभ को लड़की की गांड में ट्रान्सफर कर दिया, और लपालप गांड चाटने लगा. रूम में आने के बाद परवीना ने कहा- चालू मूवी देखें!मैंने कहा- ठीक है!मैंने लॅपटॉप स्टार्ट किया, हिंदी मूवी लगा दी.

पांच मिनट के बाद साराह गाड़ी से उतरी, उसकी लिपस्टिक सब विवेक के चेहरे पर पुत चुकी थी. पोर्न मूवीज से लेकर वाइब्रेटर तक सब का वो खुल कर इस्तेमाल करती थीं और दोनों ने आपस में यह वादा किया था कि जिसकी भी शादी पहले हो जाएगी उसके पति से पहला सेक्स दूसरी करेगी… इंजीनियरिंग की पढ़ाई ख़त्म होते ही साराह की शादी विवेक से तय हो गई जो एक एमएनसी में जीएम था. तू भी तो जवान हो चली है और तेरी चूत भी तो लंड का खुराक मांगती होगी.

उसने एक लंबी और जोर की आह भरी और अपना एक पैर मेरी कमर पर लपेट लिया.

लेकिन जाते जाते पूजा ने अग्रवाल साहब का एक बार फिर लंड चूसा और माल पिया, बोली- मेरी शर्त याद रखना!तो अग्रवाल साहब बोले- ठीक है!दोस्तो, आपको मेरी स्टोरी कैसी लगी जिसमें एक भाई ने बहन को चोदा? मुझे मेल करके ज़रूर बतायें, मुझे आपके मेल्स का इंतज़ार रहेगा. रूबी ने भी उसका लोअर और अपना लोअर उतार दिया अब दोनों नंगे होकर ही पूल में तैरते रहे. तभी मुझे अपनी जांघ पर कुछ महसूस हुआ, मेरे नजर जब मेरी जांघ पर पड़ी तो देखा की साहिल मेरी जाँघों को सहला रहा है और जांघ सहलाते-सहलाते उसकी उंगली मेरे फांकों के बीच भी फिसल जाती थी.

उस चुदाई के बाद थोड़ा आराम करके मैंने राजे से गांड मरवाने की फरमाईश की. मैं उनका सारा पानी पी गया।फिर अपने लंड को उनकी चुत की फांकों पर लगाकर उसे रगड़ने लगा.

भाई ने अपनी बहन की चूत और गांड की चुदाई कैसे की, बहन के मुख से ही सुनें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है. मैं अपने आप पर काबू नहीं रख पा रहा था और वहीं अपने लंड पर थूक लगा कर मुठ मारने लगा।पता नहीं कैसे. दीपा के बाल एक हाथ में लिए उसे इस तरह चोद रहा था कि वो एक घोड़ागाड़ी है और उसकी डोर मेरे हाथ में है.

घोड़ा घोड़ा का सेक्सी

मैं माला से मिलने के लिए बहुत आतुर था इसलिए अम्मा को काम करते देख कर मुझे मन ही मन उस पर गुस्सा आ रहा था की वह माला को लेने के लिए क्यों नहीं जा रही थी.

मैंने रीना रानी को कॉफ़ी बनाने भेज दिया और सुल्लू रानी से कहा कि डिनर में खीर बनाये. मोना- यार पैसे की चिंता नहीं है प्लीज़ तू मेरे लिए ऐसी लड़की ढूँढ दे. जिंदगी के कटु अनुभवों के साथ मैंने अपनी जॉब छोड़ दी और एक दोस्त की मदद से मुम्बई में नई जॉब कर ली.

हैलो फ्रेंड्स, मैं आप लोगों को अपनी ज़िंदगी के पहली बुर की चुदाई की हिंदी पोर्न स्टोरी बताना चाहता हूँ कि कैसे मैंने अपनी ममेरी बहन की बुर की चुदाई की. और उसका लंड फट गया। सारा रस टीना के गले में जा पहुँचा और लंड पिचकारी पे पिचकारी मारता रहा। शायद आज से पहले उसका इतना रस नहीं निकला था. हिंदी में बढ़िया बढ़िया बीएफअब तक आपने इस हिंदी सेक्स स्टोरी में पढ़ा कि अंजलि ने मुझसे चुदने के लिए अपने सगे भाई को इस्तेमाल किया और अब उसी मामले को लेकर मेरी संदीप और आंटी के संग बातचीत चल रही थी। संदीप और आंटी बियर पीते हुए बात कर रहे थे, मैं दूर हो गया था।अब आगे.

कमला दर्द के मारे रोने लगी।मैंने अब थोड़ा इन्तजार करने के बाद लंड को अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे चुत में चिकनापन आने लगा और लंड को अन्दर-बाहर होने में आसानी होने लगी। मैंने एक अब बार अपना पूरा लंड बाहर निकाल के फिर से जोर का धक्का मारा. मैं बड़ा हैरान हुआ, मैंने गीता की और देखा वो सोफ़े पे बैठ कर चाय पीने लगी और मुझे आँख मार कर मुस्कुरा कर इशारा किया, जैसे कह रही हो, चिंता मत कर, मज़े कर!मैंने अपनी बेल्ट और पैन्ट की हुक खोली और अपनी पैन्ट और चड्डी उतार कर नीचे गिरा दी.

और जोर से चोदना।उसने कहा- आंटी, बिना कन्डोम के कैसे चोदूँ?मैंने कहा- मेरी अल्मारी में है कन्डोम. आह उस दिन वो गीला-गीला क्या था आह उसमें बहुत मज़ा आ रहा था, दीदी आप प्लीज़ वैसे ही करो ना. उसमें से एक कन्डोम निकाल कर मेरे लंड पर लगा दिया।अब मैंने भाभी को बिस्तर पर लेटा दिया और उनकी दोनों टांगों को फैला कर अपने लंड को भाभी की चुत की दीवारों पर रगड़ने लगा, जिससे वो पागल सी होने लगीं, भाभी बोलने लगीं- अब मत तड़फा.

और फुंफकार मार रहा था।वो मुझे अपना लंड पकड़ा कर बोलने लगा- देखो ये तुम्हारे अन्दर जाने के लिए कितना बेताब है. 5 इंच से कम नहीं होगा। संजना ने बहुत मोटा और लंबा लंड को महसूस किया जो कि पूरा लोहे की तरह सख्त हो गया था। ऐसा लग ही नहीं रहा था कि ये वही लंड है जो कुछ देर पहले खड़ा ही नहीं हो रहा था।अब तक संजना की चूत में फिर से पूरी तरह से पानी भर गया था और वो चुदने के लिए व्याकुल थी।संजू बोली- ऐ बाबा. वो मुझे चूम रहे थे और साथ में धकापेल चोदे जा रहे थे।‘आह्ह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… सर अह्ह्ह लव यू.

मोना सुधीर की तलाश में बांद्रा पहुँच गई मगर वहाँ उसे पता लगा कि सुधीर 2 दिन के लिए कहीं बाहर गया हुआ है.

उसकी चड्डी जब मैं अपने दांतों से खींच कर निकालता था तब वो हमेशा कहती- मुझे इस तरह से नंगी होना अच्छा लगता है. मैं और मेरा एक घनिष्ठ मित्र चिंटू दोनों मेरी शॉप पर बैठे हुए बात कर रहे थे.

जिसमें भाईसाहब मैं व सुकांत रुक गए। एक उनका रिश्ते का भाई भी कोई आधा इंजीनियर था वो भी आ गया। वो लगभग उन्नीस साल का था, वह भी सुकांत के बगल में लेटा था। मैं चुदाई के कारण बहुत थका था, सो जल्दी सो गया।सवेरे चार साढ़े चार बजे मुझे लगा कि पलंग हिल रहा है। मेरी आंख खुली तो देखा सुकांत उस इंजीनियर को औंधा किए उसके ऊपर चढ़ा है. यह कहानी है पड़ोस की भाभी के साथ सेक्स करके उन्हें प्रेग्नेंट करने की…आप सभी को मेरा नमस्कार। वैसे तो मैं अन्तर्वासना साइट का बहुत पुराना पाठक हूँ और लगभग सभी कहानियां पढ़ चुका हूँ। आज मैंने भी अपनी चुदाई की कहानी लिखने की कोशिश की है।मैं नीतीश भिलाई छतीसगढ़ का रहने वाला हूँ. थैंक्स!’ कहा।मैंने भी उसे ऐसा ही जवाब दिया और पास रखे क्रीम कलर की नेपकिन को पकड़ कर अपने शरीर को साफ करने लगी तो मुझे अहसास हुआ कि नेपकिन में तो वीर्य के साथ खून भी दिख रहा है.

मेरी पत्नी अब मेरे अंडरवियर को नीचे करके मेरे लंड से खेलने लगी थी और मैं इधर रजनी की जवानी के साथ खेल रहा था. रीना रानी ने अपनी माँ को बोला कि मेरे अंडे हौले हौले सहलाती जाए और स्वयं फिर से माँ की चूचियों को मचल मचल के यूँ चूसने लगी जैसे कोई शिशु माँ की चूची से दूध चूसता है. आआआ… ह्ह्हहह…’ करके चिहुँक पड़ी और दोनों हाथों से अपने लोवर पेंटी को पकड़ने की कोशिश करने लगी, मगर तब तक वो उसके घुटनों तक उतर चुके थे.

ससुर बहु का बीएफ वीडियो मैं तुरंत नीचे झुक कर उस स्तन की चूचुक को मुंह में ले कर चूसने लगा और उसमें से निकल रहे अमृत को पीने लगा. 30 बजे हिम्मत ने मुझे बताया कि वो ऑफिस निकल रहा है और बिमलेश अभी अकेली है और खुश भी है, तुम फोन कर लो!मैंने हिम्मत को कॉन्फ्रेंस में लिया और बिमलेश को फोन किया, घण्टी गई.

सेक्सी वीडियो डॉग और गर्ल

अब मैंने उसे सीधा करके उसकी ब्रा उतार दी।उसकी दोनों चूची देख कर में उत्तेजित हुआ और उन्हें दबाने लगा, मैंने एक हाथ से एक चुची दबाई और दूसरे हाथ से दूसरी चुची का निप्पल मुँह में लिया।काफ़ी देर तक मैं चुची का मजा लेता रहा।फिर मैंने उसे पलंग पर लेटा दिया, उसके दोनों बूब्स के बीच में अपना लंड रखकर आगे पीछे हिलाने लगा. इन सब से अंजान हम शाम को सब पीने बैठ गए और सभी औरतें खाने की तैयारी में जुट गई. मैंने फिर उसके जिस्म की तारीफ की और उससे बेतहाशा चूमने लगा, उसने भी मेरा पूरा साथ दिया.

उसे अपने लंड से चोदने की लालसा ने मुझे एक बार झड़ने के बाद भी उतनी ही थी।जब उसने मुझे बाथरूम आने का इशारा किया तो मैं गदगद हो गया. मैंने उससे कहा- मुझे थोड़ी थकान सी लग रही है, तू किसी और को साथ ले जा ना. बीएफ सेक्सी इंडियन ब्लू फिल्मफिर अपनी बाहें पूरी ऊपर उठा के ज़ोर से चिल्लाई- सुनो सुनो सुनो सब लोग सुनो… आज मेरी माँ चुद गई… आओ कमीनों सब के सब आकर देखो कैसे मेरी माँ चुदी पड़ी है… हा हा हा मम्मी कुतिया बधाई हो बधाई, आज तेरी बेटी कीमाँ की चुदाईहो गई… हा हा हा… राजे, बहन के लौड़े… दे मुझे लाख लाख बधाईयाँ… तेरी रीना रानी की माँ चुद गई…ये सब बोलते हुए रीना रानी सुल्लू रानी के मुंह पे चढ़ के बैठ गई- ले मेरी बदचलन माँ.

हरियाणा में रहता हूँ। मुझे मेरी गर्लफ्रेंड फेसबुक पर मिली थी। कुछ दिन बातें करने के बाद मैंने उसे प्रपोज कर दिया और उसने थोड़ा सोचकर हाँ कर दी।इससे मैं बहुत खुश हुआ।मेरी गर्लफ्रेंड का फिगर 34-30-34 का है। मुझे हमेशा से अपनी गर्लफ्रेंड को चोदने का मन करता था। मेरी गर्लफ्रेंड को बारिश बहुत पसंद है। हम अभी तक एक बार भी नहीं मिले थे.

अब इसके दूध के दर्शन करवा!मैंने दिल में सोचा ‘कितना ड्रामा करेगा यह मादरचोद…’ मेरे बदन के एक एक इंच को हरामज़ादे ने हज़ारों बार देखा है चाटा है चूसा है. मेरे मम्मे मुलायम हो गए थे, चूत मस्त पड़ी थी, तथा मुझे अपनी रूह तक आनन्द में डूबी हुई अनुभव हो रही थी.

गोरी, गुलाबी और बेहद दिलकश, रस से तर चूत के होंठ चौड़े कर के मैंने अपनी जीभ इधर उधर घुमाई. उसने लंड टिका दिया।बोला- लगाने को कुछ चिकना नहीं है।मैंने कहा- नई गांड नहीं है. ’ बार-बार कह रही थी। उसकी कामुक आवाजें मेरे कानों में गूंज रही थीं।उसकी हरकतों से मेरा लंड पूरा कड़क हुआ जा रहा था.

मैंने अंदाज़ लगाया कि बहू रानी की चूत में लंड पेलने के कोई चार पांच मिनट में ही अपने चरम पर पहुँच गई थी, कई महीने बाद चुदी थी शायद इसलिए!लेकिन मेरा अभी नहीं हुआ था- ये क्या बहू रानी जी, तुम तो इतनी जल्दी निपट लीं.

‘अंकल जी, मैं ज्यादा नहीं बता सकती बस, आप तो मेरे मुहाँसे मिटाने के लिए कुछ और बताओ प्लीज. चिंटू ने मुझे घोड़ी बनाया और परीक्षित ने रानी को कुतिया बनाया, तभी चिंटू ने मेरी गांड में 2 उंगली डाली और उंगली से ही मेरी गांड को चोदने लगे, तभी चिंटू और परीक्षित ने आपस में कुछ इशारा किया और दोनों ने जगह बदल ली. वहाँ से 2 वियाग्रा की गोली और कॉन्डम लेकर आया। भाभी ने रात का खाना बनाया और हम दोनों डिनर टेबल पर बैठे.

बीएफ सेक्स बीएफ सेक्स सेक्स बीएफ!मुझे अपनी जीभ पर हल्का सा नमकीन सा स्वाद का अहसास हुआ, ऐसा स्वाद जिसमें कुंवारेपन की खुशबू थी, शहद सा मीठापन था. उसकी हल्की आवाज़ें भी निकल रही थीं।अब तक मेरा लंड भी खड़ा हो गया था। मैंने भी ट्राई मारी और अपने लंड को लोवर के ऊपर से ही हल्का एड्जस्ट किया.

सेक्सी फिल्म बेवफा

? पापा के बारे में ऐसी बातें सुनना मुझे पसंद नहीं हैं।टीना- ओये कौन सी दुनिया में जी रही है. ’ की आवाजों से पूरा कमरा गूँजने लगा। गुप्ता जी अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर उसे बार-बार संजू की चूत में पेले जा रहे थे। गुप्ता जी का लंड जब भी बाहर निकल कर दोबारा संजू की चूत में घुसता था. बेशर्म होकर ऐसी चूत चुदाई में हम तीनों को बहुत मजा आ रहा था और हमारा दिल करता था कि यह वक्त यहीं रुक जाये!इस बार हमारी चुदाई काफी लम्बे समय तक चली और रजनी की चूत का फव्वारा जैसे ही छुटा, साथ ही मेरी जवानी ने भी जवाब दे दिया और मेरी बरसात भी उसकी चूत के अंदर ही होने लगी.

मैं- आंटी, आप क्यों नहीं गई’?आंटी- बस ऐसे ही पीछे से कोई घर में आ जाए तो उसे भी अटेंड करने के लिए होना चाहिए. ऐसे मैं तीन चार बार उसके रास्ते में खड़ा हुआ और हर बार वो इसी तरह देख कर भी अनदेखा करके निकल जाती. मेरे परिवार में मेरे पिता जी, माँ और एक छोटा भाई है जो मुझसे बहुत प्यार करते हैं और मैं भी अपने परिवार से बहुत प्यार करती हूँ, शायद यही कारण था कि मैं आज तक किसी ग़लत चक्कर में नहीं पड़ी और ना ही कभी बॉयफ्रेंड बनाया.

मेरी मैडम अब मेरा सर पकड़कर अपनी चूत के ऊपर ज़ोर ज़ोर से दबा रही थी और वो आहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफफ्फ़ उईईईई की आवाज़ निकाल रही थी. उसके लंड से पिचकारी निकलने लगी थी और सुमन को ये पता था तो उसने पहले ही लंड को गाल की साइड कर लिया था. लेकिन इस बार मेरा एक हाथ उसकी चूची पर चला गया और उसकी ड्रेस के ऊपर से ही उसके मम्मे को दबाने लगा। उसने पहले तो मेरा हाथ पकड़ लिया लेकिन बाद में उसको मजा आने लगा तो उसने हाथ को छोड़ दिया कुछ देर बाद हम दोनों अलग हुए लेकिन अब भी मेरे हाथ तो उसके चूचों पर ही थे और मस्ती से दबा रहे थे।अब वो गरम हो रही थी.

मैं ऑटो मैं बैठ गई हूँ।अक्षय- ठीक है, मैं तुम्हें ऑटो स्टैंड पर ही मिलूंगा।‘ओके…’मैं ऑटो स्टैंड पर ऑटो से उतरी तो अक्षय मेरे सामने ही खड़ा मिला, अक्षय अपनी बाइक से उतरकर मेरी तरफ आया और मुझे सबके सामने जोर से अपने गले लगा कर बोला- आई लव यू… तनु!ये सीन देखकर मैं चौंक गई लेकिन मुझे अच्छा लगा और मैंने भी उसे ‘आई लव यू!’ बोला. मैंने रुमाल से सब साफ किया देखा तो 4 बज गये थे और गाज़ियाबाद आ गया था.

ये अभी का ही मामला है मुझे बताने का समय ही नहीं मिला।मैंने कहा- ओके, तो अब बता दो न?‘किसी से कहना मत दीपक…’‘अभी तक तुमने मुझे जो कुछ भी बताया है.

अन्दर फिट करके राधा के चूचे सहलाने लगे।मोना को लगा कहीं इसका दम ना निकल जाए. सेक्सी वीडियो बीएफ पंजाबी मेंमैंने दादाजी की ओर देखा तो उनकी नजरें मेरी गीली पारदर्शी शर्ट में दिख रही चूची पर थी. मूवी बीएफ सेक्सी फिल्मतो मेरी मोना रानी जो औरत अपने पति के अलावा किसी पराए मर्द के साथ सोती है ना. उनकी गर्दन से होते हुए उनके मम्मों को चूमा और फिर धीरे-धीरे नीचे पेट पर आ गया। पेट से होते हुए उनकी जाँघों पर पहुँच गया।मैंने उनके चिकनी टांगों को पूरी तरह से किस किया। मेरे इस किस के कारण भाभी बहुत उत्तेजित हो गई थीं और बोल रही थीं- और मत तड़पाओ.

वो जब बाल साफ कर रही थी, मैं क्या बताऊँ… बहुत कयामत लग रही थी!मैं समझ गया था कि आज तो भैया भाभी की चूत चाट कर भाभी को खूब मजा देने वाले हैं.

अब मैंने अपना लंड बहन की चूत के छेड़ पर रखा और जोर डाल दिया, वो ज़ोर से चिल्लाई. कसम से उस दिन जो मजा आया, उसको मैं कभी नहीं भूल सकता, शानवी भी अब बेकाबू हो रही थी और अपना हाथ मेरे लंड की तरफ बढ़ा रही थी. उसके कान की लौ चुभलाते हुए मैंने उसका दायाँ स्तन कुर्ते के ऊपर से ही अपनी हथेली से ढक दिया, विरोध स्वरूप उसका हाथ मेरे हाथ पर आया और दूर हटाने को लड़ने लगा, हाथापाई करने लगा, पर जीत मेरे ही हाथ की होनी थी और हुई भी… जीत की ख़ुशी कुछ यूं जैसे मैंने वो क्षेत्र, वो प्रदेश, वो अंग जीत लिया हो.

मेरा नाम सिमरन है, मैं 24 साल की एक घरेलू लड़की हूँ, रंग एकदम मिल्की वाईट, पतला शरीर लेकिन बहुत ही बढ़िया फिगर है पतली कमर और बड़े बड़े बूब्ज़, 36-28-34 हाईट 5’5″, मैं बहुत ही सेक्सी लगती हूँ, ऐसा मुझे बहुत से लोग बोल चुके हैं. रामू काका ने मेरी नज़र भाँप ली और गीता से बोले- ए गीता, उठ और चल इधर आ कर मेरी जांघ पर बैठ!गीता ने कामुकता से भरी बड़ी टेढ़ी मुस्कान दी और अपनी ही साड़ी में उलझती हुई रामू काका की जांघ पर बैठ गई. आप ही पिला दो।यह कहकर दुशाली ने अपनी जाँघों को क्रॉस करते हुए दूध मेरी तरफ उठा दिए। उसकी भिंची हुई जाँघों को देखकर मेरा लंड खड़ा हो रहा था। मैंने सोचा इसको मेरी फीलिंग्स कैसे बताऊं.

सेक्सी साड़ी साड़ी

अपनीबहन की चुदाईकर दे!वो धकाधक मुझे चोदे जा रहा था और ब्रा के ऊपर से ही मेरी चूचियों को मसल रहा था।लगभग दस मिनट की जोरदार चुदाई के बाद उसने कहा- दीदी, मैं अब झड़ने वाला हूँ।तो मैंने कहा- भाई, मेरे अन्दर ही अपना सारा माल डाल दे. मैंने उसे कहा कि राजे वक़्त काटे नहीं कट रहा कमीने, आज डिनर जल्दी करवा ले ताकि दस बजे तक चुदाई का कायक्रम शुरू कर सकें!राजे हंस के बोला- क्यों चूत बहुत दुःख दे रही है रंडी?खैर रात दस बजे राजे और जूसी अपने बेडरूम में चले गए और मैं रीना के साथ मेहमानों वाले बेडरूम में लेट गई. कोई बात नहीं मुझे चोदोगे क्या?पहले तो मैं एकदम से घबरा गया कि यह क्या बोल रहे हैं। फिर मैंने भी सोचा कि इसी के लिए तो हम दोस्त बने हैं तो मैंने ‘हाँ’ बोल दिया।फिर मैंने पूछा- लेकिन हम ये सब करेंगे कहाँ?तो अंकल बोले- मेरा रूम सुबह 10 बजे तक खाली रहता है.

मैं और अधिक उत्तेजित हो गया और भाभी की गांड को ज़ोर से चमाट मारते हुए थपथपाते हुए अपने लंड को उनकी चुत में डालने से पहले उनकी दोनों टांगों को चिपका दिया.

क्योंकि यह हमारी एक सोची समझी योजना थी इसलिए माला फ़ोन पर मुझे सब कुछ बताती रहती थी.

मैंने हैरान होते हुए पूछा- आपका मतलब माला के बेटा हुआ है? कब हुआ और अब दोनों कैसे हैं?अम्मा ने उत्तर दिया- चालीस दिन पहले हुआ था जब मैं उसे अस्पताल में ले कर गई थी. जैसे लंड में से जूस निकाल कर पीना चाहती हों।मैं मस्ती में झूम उठा और जैसे ही मुझे लगा कि मैं झड़ जाऊंगा, तो मैंने उनको उठाया और बिस्तर पे लेटा कर उनके चूचों पर टूट पड़ा। चाची के कड़क निप्पलों को चूस कर मैंने और टाइट व लंबा कर दिया।चाची अब इतनी मस्त हो चुकी थीं कि कहने लगीं- राज, बस अब अपना लंड डाल दे मेरी चुत के अन्दर।मेरी भी हालत खराब थी. भोजपुरी में हीरोइन का बीएफऔर उनका फनफनाता लंड मेरी जांघों से टकरा रहा था। उनका दूसरा हाथ मेरे कन्धों पर था, वे मेरी गांड में घुसी हुई उंगली को धीरे-धीरे अन्दर-बाहर चलाने लगे।फिर भाईसाहब ने दूसरे हाथ को कन्धों से हटा कर मेरा लंड पकड़ लिया। वे लंड को दबाते और ढीला करते हुए बोले- तेरा हथियार तो मस्त है.

निष्ठा को भी कुशल के साथ कम्फ़र्टेबल लगता था और रयान के कहने पर उन दोनों के बीच दोस्ताना सम्बन्ध हो गए थे तो निष्ठा फ्रेश होकर जीन्स टॉप डाल कर कुशल के साथ उसकी बुलेट मोटरबाइक पर जाने के लिए बाहर आई. तो मेरी बहन बोली- भाई, ये वाली नहीं क्सक्सक्स मूवी!मैं बोला- इतनी पसंद आई क्या?हम बातें करने लगे, मैंने उसको पूछा- तेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है क्या?वो ना बोली. ’ की आवाज़ निकालने लगीं।इसके बाद मैंने सलवार के ऊपर से ही उनकी गांड के छेद में उंगली डाल दी, वो मस्त और मदहोश हो गईं।अब तो आंटी खुद मेरी उंगली पकड़ कर खुद अन्दर-बाहर करवाने लगीं। मैंने गांड के छेद से ही सलवार को फाड़ दिया और उन्हें किचन की स्लिप पर लिटा दिया। तभी मैंने वहां पर रखा तेल उठाया और उनकी गांड पर लगा दिया।उन्होंने कहा- पीछे नहीं.

वो कितनी भाग्यशाली हैं जिसे आपके जैसा पति मिला जो औरत के हरेक छेद को प्यार देता है. लेकिन ऊपर वाले ने हमारी जल्दी ही सुन ली।कुछ दिन बाद एक विवाहित जोड़ा आया और उसमें से वो आदमी मेरी माँ से कमरे के किराये के बारे में बात कर रहा था। मैं उस जोड़े में कुछ और ही देख रहा था।वो एक नव विवाहित जोड़ा था। वो लेडी तो.

मैं चली सोने।मैंने अपना फोन वहीं रख दिया और अपने ऊपरी मंजिल वाले कमरे में सोने चली गई।फिर 3:10 पर दरवाजे की घंटी बजने की वजह से मेरी आँख खुली.

आलोक- अरे नहीं यार, बहुत दिनों से औरत कोचोदने की लालसाथी, चलो आज पूरा होगी. पर गुप्ता जी उसी स्पीड में चुत चुसाई में लगे हुए थे। संजू को सहन नहीं हो पाया और उसके मूत्र के छेद से एक छुरछुराती हुई मूत्र की धारा निकलने लगी।गुप्ता जी अपना मुँह उसके मूत्र छिद्र पर रखकर सारा मूत पीने लगे, जैसे कि वो मूत नहीं लिम्का हो।संजना की पेशाब पूरे वेग से रह रह कर ‘छुर्ररर. चुदाई देखी दोस्त के मम्मी पापा कीनाश्ता करने के बाद आंटी ने मुझे पांच प्रश्न दिये और मैंने कर दिए लेकिन मयंक को अच्छे से याद नहीं थे तो उसके नंबर कम आए.

सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्स दर्द हो रहा है।मैं बोला- सॉरी, मैं आज अपने पे काबू नहीं रख पा रहा हूँ।अब मैं उसकी ब्रा के ऊपर से धीरे से ही उसके चूचे मसलने लगा। आज नीनू भी मुझे साथ दे रही थी. अभी मेरी बात पूरी भी नहीं हुई थी और मैडम ने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया.

यहां वर्कशॉप अटेन्ड करने आया हूँ।वह बोला- वर्कशॉप कब से है?मैंने कहा- ग्यारह बजे से।उन्होंने कहा- तो उसमें अभी बहुत देर है. उसके कुछ देर बाद हमने एक बार जबरदस्त चुदाई की और 7 बजे हम होटल से निकले और टैक्सी कर उसको उसके घर छोड़ कर उसका नंबर लेकर अपने काम के लिए चला गया. मैं अधनंगी थी और अपने स्तनों को देखने लगी… फिर मैंने रोहन की तरफ देखते हुए उसे कहा- रोहन, बहुत शरारती हो गया है तू?और फिर हम दोनों हँसने लगे।हम दोनों अभी भी गीले थे… रोहन मेरे पास आया और मेरे मम्मों पर एक चुम्मी देते हुए मेरी पैंटी को भी उतार दिया… मेरी नाइटी, ब्रा और पैंटी वही जमीन पर पड़ी हुई थी… मैं बिल्कुल नंगी रोहन के सामने खड़ी थी और फिर रोहन टॉवल लेकर मेरे नंगे शरीर को पौंछने लगा.

सेक्सी वीडियो भाभी की नंगी चुदाई

चाची मदहोश होने लगी और सिसकारियाँ भरने लगी जिससे मैं और भी उत्तेजित हो गया और उसकी ठुकाई और भी जोर से करने लगा. चची की एक बेटी 6 साल की… मेरे चाचा विदेश मे जॉब करते हैं तो साल में एक बार दो हफ्ते के लिए आते हैं, चची गाँव में मेरे दादा दादी के साथ रहती है. पिंकी का अब बुरा हाल हो गया, ये सब उसकी छोटी सी योनि के साथ पहली बार हो रहा था जो उसकी बर्दाश्त के बाहर था, उसने मेरे सिर के बालों को कस कर पकड़ लिया था और जोर से‘अअओ.

उसकी सलवार का नाड़ा मेरी नाक के ठीक ऊपर ही बंधा था सो मैंने उसे दांतों से पकड़ कर खींचना शुरू किया. तो ऐसा हुआ कि होली की दिन मैं उनके घर होली खेलने के लिए गया तो घर पर चाचा नहीं थे, मैंने चाची से पूछा- चाचा कहाँ हैं?चाची ने बताया- तेरे चाचा एक दोस्त के यहाँ गये हैं, एक घण्टे में आएँगे, तब होली खेल लेना!मैंने कहा- आप तो यहाँ हो चाची… आपके साथ खेल लेंगे!तो चाची ने कहा- हाँ क्यों नहीं!चाची गुलाल लेने अंदर गई तो मैंने जेब से पक्का रंग निकाल कर अपने हाथ में लगा लिया.

भाभी मेरे सिर को अपनी चुत पर दबा रही थीं। कुछ मिनट तक ऐसे ही चुत चटाई का सिलसिला चला।भाभी चिल्लाए जा रही थीं- अह.

मेरे शौहर कहते थे लेकिन मैं मना कर देती… लेकिन यहां तो आज मेरी गांड और चूत दोनों फटने वाली थी. रेशमा- कैसे?दीपा- मैं तुम्हें मेरे पति से चुदवाने में मदद करूंगी और तू मुझे रजत से चुदवाने में!रेशमा- हाँ पक्का… मेरी चुत में यह सोच कर ही पानी आ रहा है. काका अब स्पीड से मोना की चुत में लंड पेल रहे थे और साथ में अपनी उंगली से मोना की गांड का भी मुआयना कर रहे थे- आह.

मुझे तुम्हें देखना है तुम कैसे दूसरे मर्द से चुदवाती हो!मैंने कहा- आप बर्दाश्त कर लेंगे जब कोई आपके सामने आपकी बीवी को चोदेगा?उन्होंने कहा- उस दिन का मुझे बहुत दिनों से इंतज़ार है!मैंने कहा- जब आपकी यही तमन्ना है तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है!सच कहूँ तो मैंने जब से वो लंड देखा था, मेरी चूत लगातार पानी छोड़ रही थी. साथ में दो बच्चों की परवरिश भी करना, तो बेचारी इनके चक्कर में पड़ कर रह गई। अब बीमार भी रहने लगी है तो बिजनेस फेल हो गया मगर एक शॉपिंग माल है जो इनका है. मैं दिखने में सुन्दर हूँ, गोरा रंग, लम्बा कद, लम्बे बाल… मैं अन्तर्वासना की फैन हूँ.

एक दिन मैं ऑफिस में अपने काम में व्यस्त था कि दोपहर बाद कोई साढ़े पांच बजे मेरा फोन बजा.

ससुर बहु का बीएफ वीडियो: उसका कहना है कि उसने तुझे कभी इस निगाह से नहीं देखा और ना ही वो तेरे से प्यार कर सकता… बिना प्यार के सेक्स में तुझे मज़ा आए ना आए उसकी कोई गारंटी नहीं. या शायद भैया को बहुत प्यार करती थीं। मैंने हर तरीके से उनको छूने की कोशिश की, लेकिन एक दिन उन्होंने मुझसे कह दिया कि वो मेरी शिकायत मम्मी-पापा से कर देंगी। उस दिन से मैं उनसे दूर रहने लगा।फिर कुछ दिन बाद मम्मी-पापा किसी रिलेटिव की शादी में बाहर गए हुए थे। तो मैंने एक प्लान बनाया। मैं मार्किट गया.

ताकि सोते वक्त आराम से सोएं और किसी को अन्दर का कुछ दिखे ना।बस मैं अब उनकी सलवार को जैसे नीचे की ओर करता जा रहा था। साथ ही उनके निचले हिस्से के हर कोने पर चूमता जा रहा था। बीच में चूत को पेंटी के ऊपर से ही चूमता हुआ. मैं नहीं रुका। इस तरह एक बार तो मैंने उसके मुँह में ही अपना सारा पानी निकाल दिया।फिर वो थोड़ी सी दूर हो गई और ज़ोर-ज़ोर से सांस लेने लगी। मैं उसको किस करने लगा और उसको सीधा लिटा कर उसकी चुत को फिर से चाटने लगा।दीदी के मुँह से आवाजें निकल रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… भैया. अब तू भी जा ऊपर और रात भर चुदवा अपने अंकल से!’ रानी स्नेहा का बूब मसलते हुए बोली.

स्नेहा ने मेरी चुभती नज़र से कुछ विचलित हुई- ऐसे गौर से क्या देख रहे हो अंकल जी?‘कुछ नहीं स्नेहा, तुम बहुत सुन्दर अच्छी हो लेकिन…’ मैंने उसकी तारीफ़ की.

अब मुझे फोन दे दो।उसने कहा- हाँ खेल भी लिया और देख भी लिया।मैं समझ गया कि वो क्या कहना चाह रही थी।अब तो वो मुझसे और भी खुल गई थी। वो जब भी पलंग पर आती तो मैं उसको अपनी तरफ खींच लेता और उसको होंठों पर किस भी करता। साथ ही उसकी जाँघों पर हाथ भी फेरता था।एक दिन तो कमाल हो गया. पीछे से आलोक आ गया, मैंने माँ के चूतड़ को फैलाया और आलोक अपना लंड माँ की गांड में पेल दिया. मेरा नाम राज है और मेरी चाची का नाम सरिता है। मैं अक्सर अपनी चाची की चुदाई करता हूँ, इस कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पहली बार चाची की चूत की चुदाई की.