मराठी बीएफ बताओ

छवि स्रोत,राम रहीम के सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

और बहु की चुदाई: मराठी बीएफ बताओ, और तब वह नताशा को उसकी बगल पर लिटा कर उसकी कमर के पीछे चिपक कर लेट गया और अपने लंड से उसकी गांड के छेद को कुरेदने लगा.

सनी लियोन सेक्सी बीएफ वीडियो

पूरे कमरे में पट पट की आवाज आने लगी जो उसकी गांड और मेरी जांघों से टकरा कर निकल रही थी. मोटे लंड वाली बीएफएक दिन जब मैं भाभी को चोद रहा था, तभी उनकी बहन यानि मेरी फ्रेंड आ गई.

हम दोनों सहेलियों ने तय किया था कि अपनीचूत की खुजलीमिटाने के लिए ऐसे कॉलब्वॉय को बुलाया करेंगी, जिसका लंड एक्स्ट्रा लॉन्ग न हो. సెక్స్ హిందీ సెక్స్ హిందీ సెక్స్ హిందీअब मेरा एक हाथ उसके गले के नीचे था और एक हाथ उसके घुटनों के नीचे था.

फिर मैंने उससे कहा कि तुमने मुझे रोका क्यों नहीं?तो उसने कहा- मैं आपको दु:खी नहीं करना चाहती थी.मराठी बीएफ बताओ: उहकी चूत के लघु भगोष्ठ अभी भी आपस में चिपके हुए नजर आने लगे थे जैसे नो एन्ट्री का साइन हो.

आंटी मुझसे कह रही थी- प्रशांत, मैंने पहली बार पराया लंड अपनी चूत में लिया है! चोद दे मुझे कस के! चोद मुझे उम्म्ह… अहह… हय… याह… इईईई आह्ह हहह चोद ना…मैं लगातार उन्हें चोदे जा रहा था.रानी चीखती हुई छटपटा पड़ी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह्ह हमम महहआ … आराम से कर न …लेकिन अब मैं किसी भी रियायत के मूड में नहीं था क्योंकि साफ़ दिख रहा था कि सुकन्या रानी के ये बोल दिखावा भर थे, असलियत में मज़ा तो उन्हें भी आ रहा था.

गाना वाली बीएफ - मराठी बीएफ बताओ

मैंने उसको ये भी कहा कि तुमको मैं इस जानकारी के लिए अलग से बोनस दूँगी, जिसका किसी को भी पता नहीं लगना चाहिए.बस मैं तो नौकरी ज्वाइन करते ही एक बार फिर नए उत्साह से लंड की तलाश में भिड़ गई.

तभी मेरी मुलाकात बघेल नाम के एक हट्टे कट्टे और मोटे लंडधारी से हुई. मराठी बीएफ बताओ मुझसे भी रहा नहीं गया, तो मैंने एक एक कर उसके सारे कपड़े निकाल दिए और उसकी कमर को मेरे मुँह की तरफ ले लिया.

सुकन्या- उउह उउउहा … निचोड़ दो इन्हें… आअह्ह्म्म …मैं तो वही कर रहा था.

मराठी बीएफ बताओ?

दोस्तों की संगत में मैं काफी पहले से ही मुठ मार रहा हूँ और पॉर्न देखना भी शुरू कर दिया था, जिसके प्रताप से मेरा लौड़ा काफी बड़ा हो गया है. मैं भी अब धीरे धीरे अपनी गति बढ़ने लगा मगर इतनी जोर से भी नहीं कि धक्का लगाने से किसी प्रकार की कोई आवाज निकले. मुझे पता चला कि वो आज छुट्टी पर है, आएगी नहीं, रात भर मुझसे चुदने के बाद जूली अगले दिन होटल नहीं आ पाई थी।मैं बुकिंग मेनेजर अभिलाषा के कमरे में गया तो वहां अभिलाषा भी नहीं थी.

कभी वो अपनी शादी शुदा लाइफ के बारे में वो कुछ बोलती, मैं भी कुछ बताता. किस करते करते कब मेरा हाथ उसकी चूची को दबाने लगा, मुझे पता भी नहीं लगा. वो चिंहुक गई और उसने तुरंत मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूस दिया.

जैसा कि मैंने बताया कि मेरा उनके घर आना जाना था, लेकिन एक साल तक मेरी उनसे कभी बात नहीं हुई. उसी समय भाभी घर के बाहर आईं तो उनको पता चल गया कि मैंने उस आदमी को उनके घर से निकलते देख लिया. उसके घर में दो भाई-भाभी, माँ-बाप के अलावा और कोई नहीं था, सब अपने-अपने कमरे में जाकर सो गए.

ऐसा लग रहा था कि जैसे अब भाभी ने पूर्ण रूप से अपने आपको मेरे हवाले कर दिया हो. नमस्कार दोस्तो, मेरी पिछली कहानीचाची की चूत में खाता खोलामें आपने मेरे चाची व मैडम के बारे में जाना!अब मेरे साथ परेशानी क्या हो गई थी कि मुझे दोनों का ख्याल रखना था जबकि ये दोनों अलग-अलग शहरों में रहतीं थीं.

मेरी सील इस बैंगन जैसी मुनिया से टूटी थी लेकिन फिर भी मैंने बर्दाश्त किया था न… हम लड़कियों को यह बर्दाश करना ही होता है।”ऐसा लग रहा है जैसे चाकू घुसा दिया हो।”भक.

नताशा के चेहरे को देख कर साफ पता चल रहा था कि उसे कम्फर्ट तो नहीं है, लेकिन अब इतनी परेशानी भी नहीं जितनी पहली बार हुई थी!कुछ देर में आर्थर के धक्के और तेज हो गए और वो अपने लंड को ज्यादा अन्दर भी घुसेड़ने लग गया.

जब मैंने उनकी पेंटी पर हाथ लगाया, तो मैंने महसूस किया कि वो अब तक पूरी तरह गीली हो चुकी थी. मैंने भाभी को अपनी तरफ़ खींचा और बांहों में लेकर उनके होंठों को चूसने लगा. बापू नहीं चाहता था कि उसके सिवाए कोई और मर्द उन मुलायम जिस्म के हिस्सों को छुए.

उस दिन पूजा क्या कयामत लग रही थी स्लीवलेस टॉप में… और पीछे पीठ का भाग पूरा खुला ही था, सिर्फ एक डोरी बंधी हुई थी, उसे देख कर मैं पागल होने लगा था, मैंने सोच लिया था कि कुछ भी करके इसे चुदाई के लिए पटाना पड़ेगा।मैंने केक काटा और प्रदीप को खिलाया, फिर पूजा को भी अपने हाथ से खिलाया. मैंने उसकी चूत की दरार में एक उंगली फिया ड़ी तो वो तड़प उठी और उसके पैन्ट के ऊपर से ही अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया. फूफा जी ने अपना लंड मेरी चूत में हिलाते हुए कहा- हाअ… हाअ! शायद हो गया होगा नशे में… मगर मैंने तुम्हारे कपड़े तो नहीं उतारे और मेरे कपड़े भी?मैंने भी फूफा जी के हल्के हल्के झटकों का साथ देते हुए अपनी कमर हिलनी शुरू कर दी और फूफा जी का लंड मेरी चूत में अंदर बाहर होने लगा.

भाभी बोलीं- नहीं ऐसा नहीं है अगर इसका किसी को भी पता चला तो मेरा क्या होगा इस वजह से मुझे डर लगता है.

मैं- ये तो अच्छी चीज है और मैं आपके पास इसलिए सोता हूँ क्योंकि आप मुझे बहुत पसंद हो. बापू खड़े खड़े उसको बहुत ज़ोर से सीने से लगाते हुए उसके सर को चूम कर आहिस्ते आहिस्ते उसके गालों को चूमने लगा. मैं ऐसे ही बाहर खड़ा लंड को छू रहा था उसने मेरे लटके लंड को देखा और हंस कर कहा- कितना छोटा हो गया है.

वो पूरी बेशर्म हो के हर तरह से मेरे बेटे अंकुश की बेइज़्ज़ती कर रही थी और उसे बदला लेने में बड़ा मज़ा आ रहा था. मैं मन ही मन आपको प्यार करती थी और चाहती थी कि मेरे प्यारे भाईजान ही सबसे पहले मुझे चोदकर मेरी जवानी का मज़ा लें. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी हॉट सेक्स स्टोरी के तीसरे भागचुदाई की कहानी शबनम भाभी की-3में आपने पढ़ा कि भाभी ने मेरी नजरों में झांकते हुए कहा- मुझे तुम्हारा प्यार चाहिए, बेहिसाब प्यार और हमारे बारे में किसी को पता नहीं चलेगा.

मैंने अपना एक पाँव बेड पर रखा और उसकी चूत में लण्ड सटा सट चलाने लगा.

मैं भी वहां से निकल पड़ा, लेकिन तभी उसका फोन आया कि उसने खाना नहीं खाया था और होटल में 11 बजे के बाद डिनर नहीं मिलता है, तुम मुझे डिनर करवाने ले चलो. फिर भाभी उठीं और भैया को दूध से भरा हुआ गिलास पीने के लिए देने लगीं.

मराठी बीएफ बताओ अब उसकी बारी थी मेरी चूत को चाटने की, तो इस काम में वो बहुत ही माहिर था. मैं प्रिया को किस करना चाहता था लेकिन उसने कहा कि पहले वो पूरी मूवी देखेगी उसके बाद ही कुछ करने देगी तो मैं भी मजबूरन मूवी देखने लगा.

मराठी बीएफ बताओ हाय रामजी, मर गयी रे … पापा… धीरे … आराम से क्यों नहीं घुसाते आप … आह… मम्मीं … ओ माँ ऽऽ. मैंने मना किया तो वो बोलीं- सुरक्षा समझ के ले ले और हमारी गोपनीयता को बनाए रखने में सहयोग कर!मैंने पैसे लिए और वापिस आ गया।फिर मैंने चाची से थोड़ी देर बात की और अपने काम में व्यस्त हो गया.

मैंने अंतर्वासना पर बहुत सारी कहानियां पढ़ी हैं और कहानियां पढ़कर कई बार लंड हिलाया भी है.

बीएफ चाहिए सेक्सी हिंदी में

नहीं तो लड़कियाँ आजकल शादी से पहले ही अपनी चूत फड़वा लेतीं हैं।फिर जब भाभी का दर्द कुछ कम हुआ तो वो अपने चूतड़ उठाने लगीं, भैया समझ गये और फिर वो भी ऊपर से धक्के लगाने लगे. मैंने दोनों का रस चाट कर साफ कर दिया, दोनों का एकदम टेस्टी पानी था. कुछ देर तक यूं ही मजा लेने के बाद हम तीनों साथ में फव्वारे के नीचे खड़े हो कर नहाए.

भाभी की चुत भी इतनी अधिक रसीली हो चुकी थी कि भाभी ने दांतों पर दांत दबाए और लंड को लील लिया. कुछ वक़्त इंतजार करने के बाद मैं फिर से अपने पैरो को बढ़ाने लगा और धीरे धीरे मेरा पैर उनकी जांघ के बीच में आ गया. वो बोला- मेमसाब क्या ये पैसे हमारी तनख्वाह में से काटे जायेंगे?मैंने उसे चुप रहने को बोला और पेमेंट करके बोली- चलो.

जैसे ही मैंने मैडम के नितम्बों पर हाथ रखा… यकीन मानिए दोस्तो, उससे चिकनी चीज आज तक मैंने नहीं देखी थी.

अब मुझसे रहा नहीं गया और मैं भाभी के चेहरे को अपने हाथों में लेकरभाभी के होंठ चूसने लगा. वो बोला- आप सही कह रही मेमसाब… हम तो पागल ही हैं, जो यह समझ ही नहीं सके. वो अपने मुंह के थूक को मेरे मुंह में भरने लगा, मेरे ब्लाऊज के हुक खोलने लगा.

मैं नीचे बैठा और उनकी साड़ी के अन्दर घुस कर उनकी पेंटी निकाली और चूत को चाटने लगा. भाभी ने पूछा- और क्या अब भी तुम्हारा मन होता है करने का?मैंने कहा- हाँ. इत्तेफाक से जब वे इस बार सऊदी गये, मैं ठीक उसी वक्त लखनऊ शिफ्ट हुआ था तो मुलाकात न हो सकी।”मुझे नहीं पता था… मुझे लगा स्कूल कालेज के टाईम के दोस्त रहे होगे।”आप बताइये कुछ अपने बारे में।”मैं मलीहाबाद से हूँ.

काफी देर बापू के लंड को चूसने के बाद पद्मिनी बोली- बापू मेरा मुँह दुःख गया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:रोहतक के मलंग ने हिला दिया पलंग-2.

उसके बूब्स के बीच में लंड रख कर तब तक चोदो, जब तक लंड का पानी सीधा उसके मुँह में ना जाए. इसके बाद चुहलबाजी शुरू हो गई तो मैं फिर से चूत चुदाई के लिए तैयार था. बिंदु बोली- कोई ग़रीब नहीं होता, जब जवान हो तो उसके लिए यही काम सबसे बढ़िया होता है.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:आपा के हलाला से पहले खाला को चोदा-2.

वो मेरी बगल में बैठ गई और मुझे नाश्ते की प्लेट लगा कर दी और आग्रह कर कर के मुझे खिलाने लगी. इतने में एक ने जो दूसरी से थोड़ी बड़ी लग रही थी, मेरी तरफ देखा और बोली- कोई प्रॉब्लम है क्या, जो ऐसे हमको घूर रहे हो?मैंने भी कह दिया- घूर नहीं रहा हूँ. कुछ देर में वो उत्तेजना में न जाने क्या क्या बड़बड़ाने लगी- चोद दे मेरी भोसड़ी को … जोर जोर से फाड़ दे मेरी चूत को!और मेरी स्पीड उसके कहे अनुसार बढ़ती चली गयी.

मेरा मन उसके लंड को पकड़कर दबाने सहलाने का कर तो रहा था लेकिन पता नहीं क्या सोचकर मैंने हाथ वापस हटा लिया… मैं सोचने लगा कि ये सब तो मैं गगन के मेरी जिंदगी में आने से पहले भी कर रहा था. मेरा लंड मेरी साली की गीली चूत में से फिसल के कब का बाहर निकल चुका था.

राफ्ट में बैठेने के बाद मंजू कुछ घबरा सी रही थी मानो उसको गंगा के उछलते लहराते ठन्डे पानी से डर लग रहा हो. मेरे बूब्स 32 इंच के हैं, लचकती कमर 26 इंच की और गांड की साइज़ 33 इंच की है. इतना कड़ियल लंड है कि एक बार जिसकी चूत को चोद दिया तो वो दोबारा चुदने को बेताब रहती है.

एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स इंग्लिश

घर और बच्चे मैं ही संभालती हूँ, तुम उनकी बात करके बोर मत करो, एन्जॉय करो और कराओ.

उस समय जो अनुभूति हुई, उसको शब्दों में बयां करना मुश्किल है दोस्तो. बस फिर एकदम से सैलाब निकल गया और हम दोनों शांत होकर एक दूसरे से चिपक गए. क्या हो रहा है यह सब?” मैंने हाथ छुड़ाते हुए थोड़े तेज स्वर में कहा।उसने घबरा कर इधर-उधर देखा.

उसका बिहेवियर बाकी दिन जैसा ही था, ना कुछ बातचीत, ना हाय हेलो… सारा दिन में उसी के बारे में सोच रहा था. भाभी के लंड चूसने के अंदाज से मैं समझ गया कि भाभी पुरानी चुसक्कड़ हैं, बस जरा नखरे कर रही थीं. रानी की सेक्सअन्नू और डॉली ने तो मुझे रखा ही इसलिए है कि जब वो चाहें अपनी चुत और गांड की सेवा मेरे लंड से करवा सकें.

आंटी ने मेरा सर पकड़ लिया और प्यार से मेरे बालों को सहलाते हुए बोली- ओह ह प्रशांत! यह सब करना जरूरी है क्या बस जल्दी से जो करना है कर के चोद दे. मेरी सेक्सी कहानी में अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने अपनी बहन और भी को सेक्स करते देखा तो वे दोनों मुझे समझाने लगे कि वे क्या कर रहे थे.

तो बापू ने हौले से अपने एक हाथ को पद्मिनी की जाँघ पर फेरते हुए सहलाया और पद्मिनी ने एक छोटी सी सिसकारी छोड़ी. वो भी बहुत खुश थी, अब हम एक-दूसरे को देख भी रहे थे और सहला भी रहे थे. मैंने पीछे से ही उनके दोनों तरफ से अपने हाथ ले जाकर उनके हाथों को नीचे कर दिया, जिससे वो पलट कर मेरे सीने से चिपक गईं.

” मैं डांटते हुए बोली।क्यों… सीमा को बुरा लगा?” रंजू मुझे चिकोटी काटते हुए बोली।वैसे कुछ नहीं… क्यों बेचारे को…” मैं बोल ही रही थी. पढ़ें मेरी चालू मम्मी के व्यभिचार की स्टोरी!पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ सुनिए…मेरी हिंदी एडल्ट स्टोरी ग्रामीण जीवन पर कॉलेज के एक प्रोजेक्ट के लिए मैं अपनी सहेली के साथ उसके गाँव गयी. हालांकि मुझे भी नहीं पता था कि अब आगे क्या होगा, पर मैं उसके अन्दर से अपने लंड को बाहर नहीं आने देना चाहता था.

मैंने दीदी को बताया कि मेरे घर पर भी कोई नहीं, आजकल तो मम्मी पापा भी गाँव गए हैं.

उसके मम्मों और चूतड़ों पर हाथ फिराया, उसे गोद में बैठा कर प्यार किया और उसके गालों पर हाथ रखकर पूछा- ज्यादा दर्द हुआ?उसने हाँ में सिर हिलाया. मेरे ज़ोरदार झटकों से सोनिया ऊपर नीचे हिलने लगी, जिससे उसके मोटे मम्मे भी झूलने लगे.

पद्मिनी ने गुसलखाने के शीशे में देखा कि बापू का लंड अब खड़ा होने लगा था. खाला को दर्द हो रहा था मगर खाला मुझ से भी ज्यादा प्यासी थी, उने दर्द में भी मज़ा आ रहा था।हम लोग एक दूसरे को किस करने लगे थे. उनके इतना बोलते ही मैंने अपनी तर्जनी उंगली उनके होंठों पे रख दी और अपने होंठ उनके होंठों के पास लाया.

सुबह मैं उठा तो बगल में शीतल गांड उठा के सोई थी, मैं उठा और उसकी गांड को किस करके सोफे पे आकर बैठ गया. इसके बाद मनोहर ने अपने कंधे पर मेरी एक टांग उठा कर रख लिया और मेरी चूत को अपने जीभ से इतनी जोर जोर से चाटने लगा कि मैं अब खुद को नहीं सम्हाल पाई. इस तरह मैं उसकी चूत में जड़ तक अपने लंड को डालता और फिर से निकाल लेता।थोड़ी देर बाद जब उसका निकलने वाला हुआ तो आरुषि ने मुझे जोर से पकड़ पकड़ लिया और अपने नाखून मेरी कमर में गड़ाने लगी.

मराठी बीएफ बताओ मैंने भी तेज़ी से धक्के मारता हुए पूछा- पानी कहां निकालूँ?तो बोली- यार, पहला पानी है, अन्दर ही डाल दो. तभी पीयूष ने मेरी लैगी के अन्दर हाथ डाल दिया और बोला कि मैंने तुम्हारी चूत आज तक नहीं देखी.

मोटी गांड वाली बीएफ सेक्सी वीडियो

भाभी ने कहा- अगर तुम्हारे भईया को पता चला तो?मैंने कहा- कौन बताएगा? ना मैं बताऊंगा ना आप. एक बात समझ लो, जो काम हमें दिया जाता है, उसके लिए तो वो लोग किसी से पांच हजार देकर भी करवा सकते हैं. उनके पति बहुत कम घर में रहते हैं, कई बार तो एक एक महीने तक बाहर रहते हैं.

मुझे नवीन की किस्मत से जलन होने लगी थी कि इतनी मस्त परी जैसी जवानी को एक देहाती नौकर चूस रहा है. फिर मैं अपनी बहन की चुची चूसने लगा और उसकी चूत में उंगली भी कर रहा था. क्सक्सक्स विडिओ हिंडेअगली बार की चुदाई की कहानी में आपको लिखूंगा कि मैंने उसको किसी तरह पटाया कि ये किसी को बता ना दे.

मैंने उनको बेड लिटाया और पोजीशन बना कर एकदम जोर से अपने लंड को भाभी की चुत में पेल दिया.

करीब दस मिनट तक वो मेरे लंड को चूसती रहीं, उसके बाद मैं उनके मुँह में ही झड़ गया. भावनाओं को बीच में मत लाओ!)उसके मुँह से ऐसी बातें सुन मेरा प्यार और बढ़ रहा था.

जब वहाँ का सब काम खत्म हुआ तो हमने दरवाजा खोला और एक एक करके… पहले मैडम, फिर मैं बाहर निकले!यहाँ छोटी बुआ मिलीं तो उनसे भी बहाना बनाया कि पापा का फोन था तो बात कर रहा था. बड़ी चाची को मेरा ये अंदाज बहुत पसंद आया और वे बोलीं- जियो मेरे चोदू भतीजे, इसी तरह लगा रहा तो बहुत तरक्की करेगा. भाबी 5 मिनट में ही मेरे मुँह में झड़ गईं, लेकिन मेरा लंड चूसती रहीं.

उन्होंने सिगरेट का कश मारा और मैंने एक लंड फंसा कर एक धक्का दे मारा.

ये याद करके उसका लंड फिर से एकदम से खड़ा हो गया और अपनी लुंगी के नीचे उस ने लंड को सीधा किया. प्रेरणा- ठीक है, वैसे आप कहाँ आ सकते हैं?मैंने- आपको जिधर उचित लगे, आप बता दें. जब यह सब काम हो गया तो उसने चूत में लंड डाल कर धक्के मारने शुरू कर दिए और हर धक्के का जवाब भी धक्के से मनोरमा अपनी चूत उछाल कर दे रही थी.

हिंदी बीएफ छविउनको देख कर मेरा लंड भी हल्ला करने लगता था कि भाभी की चुत दिलाओ, भाभी की चुत दिलाओ. आजा बेटा, बहुत मेहनत कर ली मेरी प्यारी बहू ने!” मैंने अदिति को चूमते हुए कहा और उसे अपने नीचे लिटा कर उस पर छा गया.

ब्लू फिल्म देखना चाहिए

नहाने के बाद मैं बाहर निकला तो मुझे कुछ आवाज सुनाई दी, तो मैं देखने लगा कि आवाज कहां से आ रही है. छेद खुला हुआ था और लगता था कि वह कोई भी साइज़ आराम से ले सकने में सक्षम थी। मैंने उसके दोनों पैरों को इस तरह उसके पेट से सटा दिया कि उसकी गुदा का छेद सामने आ गया।देख कर ही वह किसी कदर खुला हुआ लग रहा था. उनके पूरे मम्मे तो मेरे मुँह में जा नहीं रहे थे तो मैंने दोनों हाथों से उनके एक मम्मे को जड़ से पकड़ कर भींच लिया और जितना मुँह में जा सकता था, उसे घुसेड़ दिया.

अब उसका एग्जाम 2 दिन बाद था और मुझको अगले दिन शाम को एक फ्रेंड की शादी में जाना था. आआआआ… और अन्दर तक घुसेड़ो! और जोर से… और झटके से… ईईईईई… उफ़!… उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओओओओ… कितना शानदार था इस बार तुम्हारा धक्का! जरा एक बार अपने लंड को मेरी गांड के अन्दर गोल-गोल घुमाने की कोशिश करो…”उत्तेजना से फटे जा रहे आर्थर ने अपने धक्के रोक कर मेरी पत्नी की इच्छा के अनुसार लंड को मेरी भार्या के चूतड़ों के अन्दर रखते हुए अपने कूल्हों को गोलाई में घुमाना शुरू कर दिया. तभी अचानक मुझे ख्याल आया कि मेन डोर से जाऊंगा तो मॉम को पता चल जाएगा और सारा सरप्राइज बेकार हो जाएगा.

मैंने देर न करते हुए उसकी चूत पर किस कर दिया, इसके लिए वो तैयार नहीं थी, पर उसे मज़ा आया, उसने कहा- बस किस ही करना. मेरी उम्र 19 साल की है, पर मेरे दुबले शरीर के कारण कोई भी लड़की मुझे घास नहीं डालती थी. ”भाईजान मुझे देखते बोले- तुम्हारी सहेलियाँ क्या बताती हैं तुमको? यही कि आज उनको कैसे चोदा गया, कैसे चुत चटवाई या किसने अपने भाई के लंड को कैसे चाटा.

कुछ दिनों बाद उस लड़के ने मुझसे अपनी शादी के लिए अपने माँ बाप को मना लिया. इस कारण मुझे उस टाइम ऐसा लगता था कि शायद मेरे लंड के नसीब में कोई छेद ही नहीं लिखा है.

क्योंकि सुकन्या रानी के हाथ पाँव बेड से बंधे हुए थे इसलिए सुकन्या बस अपनी कमर को उचका उचका कर मेरा साथ दे पा रही थी.

ऐसा लगा था जैसे कोई सरिया सी मेरी अंदरूनी चमड़ी को छीलती अंदर भुक गयी हो।मैंने तड़प कर उसकी उंगली निकालनी चाही लेकिन उसने मेरे पेडू पर दबाव डाल मुझे ऐसा करने से रोक दिया।चुपचाप पड़ी रह पागल… तेरी सील तो उंगली ने तोड़ी तो तुझे ज़रा ही तकलीफ हुई और मेरी सोच. ब्लू पिक्चर इंग्लिश में दिखाओउनके विरोध के बावजूद मैं उनके ऊपर चढ़ गया और उनके शरीर को अपने शरीर से दबाए रखा. सनी लियोन हॉट पोर्न वीडियोमेरे प्यारे दोस्तो, मैं अन्तर्वासना की क़हानियां चार साल से पढ़ रहा हूँ. फिर मैंने उसके दिए गए नंबर पर फोन किया तो उसने बोला कि थोड़ी देर बाद इसी नम्बर पर फोन करूंगी.

अच्छी तरह से उसके लंड को अपने थूक से तर करने के बाद मेरी पोर्न वाइफ ने उसे अपनी कमर के पीछे लेट कर लंड गांड में घुसेड़ने को कहा.

मैंने इस बार थोड़ा ज़ोर लगाकर उसका टॉप उपर किया, उसके बूब्स अपने मुँह में ले लिए. मैंने देख कर उन्हें बुलाया- अरे शालू दीदी, आप यहां क्या कर रही हो?उन्होंने बताया कि वो भी कोई किताब लेने घर आई है. मैंने देखा कि दरवाजे में जरा सी झिरी थी, उसमें से देखा तो मॉम एकदम नंगी होकर फव्वारे के नीचे बैठी हुई अपनी चूत में उंगली कर रही थीं.

मेरा लंड 7 इंच का है और मैं अंटियों भाभियों और प्यारी चुदक्कड़ लड़कियों की प्यास बुझाता हूँ यानि कॉलब्वॉय हूँ. इस बार मैंने उसकी गांड मारने की सोची और उससे कहा तो उसने पहले तो मना किया. उस दिन कुछ नहीं हुआ।अगली शाम हम साथ में बैठ कर भुट्टे खा रहे थे, तभी उसने मुझे चिमटी काट ली, बदले में मैंने भी उसको चिमटी काट ली.

बीएफ वीडियो सेक्सी बीएफ वीडियो

उस वक्त वो अपने मम्मे उठा कर मेरी आँखों के सामने ऐसे हो जाती थीं, जैसे पूछना चाहती हों कि क्या मेरी चूचियों से भी ज्यादा उसकी अच्छी हैं. तो उसने मुझे बताया कि वह ग्रेजुयेशन कर रही है और साथ ही सिविल सर्विसेज़ की तैयारी भी कर रही है. मैं चौंक गया कि मॉम तो बड़ी सुबह नहा लेती थीं, आज इस वक्त बाथरूम में कैसे.

फिर मैंने बड़ी चाची से कहा- अब तेरे ताले का नम्बर है कुतिया… बहुत आग है तेरे ताले में साली अभी बताता हूँ रंडी.

फिर भैया ने भाभी को गोद में उठाया और बिस्तर पर बैठा दिया।भैया ने भाभी का पूरा घूँघट हटाया और उनके गाल पर किस करने लगे.

इसके कुछ दिन के बाद मैंने फिर से उनसे बच्चे के बारे में पूछा, तब उन्होंने बताया कि उनके पति में कुछ कमी है, लेकिन उनका इलाज चल रहा है. जीजा अब मेरी चूत चाटने भी लगे, जिसकी वजह से अब मुझसे खड़े रह पाना मुश्किल हो गया, मैं बोली- अंकल. बीएफ सेक्सी वीडियो भाभी देवर की” डॉक्टर का इशारा मुझसे था लेकिन मुझे डॉक्टर की यह बात अच्छी नहीं लगी।मैं इन पर भरोसा कर सकती हूं, आप जो पूछना चाहते हैं पूछ सकते हैं.

जैसे ही मैंने भाभी की चुत की क्लिट पर जीभ घुमाई, वो तड़फ उठीं और मेरा सर अपने दोनों हाथों से पकड़ कर अपनी चूत में दबाने लगीं. उसके जिस्म की गर्मी मेरा लन्ड भी नहीं झेल पा रहा था! मानो भट्टी में तप रहा हो. और हां दोस्तो, कल ही आरुषि का मेसेज आया है कि वो किसी काम से पालमपुर जा रही है, अब आप तो जानते ही होंगे कि लड़कियाँ बुलाती नहीं हैं, लड़के खुद आ जाते हैं.

मैं एक अच्छे बच्चे की तरह उसके बताये हुए काम जल्दी से और बिना कोई शोर किये करने चला गया।जब मैं वापस आया तो मुझे एक बात याद आ गयी, मैं किचन गया और वहाँ से एक चाकलेट उठा लाया. बस 8-10 धक्कों के बाद मेरे लंड ने काजल दीदी के मुँह में अपनी पिचकारी छोड़ दी.

मुझे उसी दल्ले का फोन आया कि होटल के कमरा नंबर 213 में जाकर ग्राहक से मिलो.

करीब पौने दो साल बाद फिर हाज़िर हूँ आपके बीच। अगर भूलें न हों याद दिला दूँ और पढ़ी न हों तो पढ़ लें. अब उन्होंने अपने लंड पर तेल चुपड़ा, तेल की भीगी उंगलियाँ मेरी गांड में ठूँस दीं. वो मुझे देख कर बोली- कल ये चुत की झांटें साफ कर लेना और हाँ कोई ब्लेड ना इस्तेमाल करना, इस काम के लिए गुसलखाने में क्रीम रखी हुई है, उसी को इस्तेमाल करना.

हिंदी बीएफ भोजपुरी बीएफ तो फिर चूस कर देखो न!”मैंने उसके दोनों निप्पलों को बारी बारी से अपने होंठों में दबा कर खींचते हुए चूसा. अब तक नताशा के मुंह में स्थित आर्थर का लंड अतिउत्तेजित हो इतना फ़ैल चुका था कि नताशा के मुंह के अन्दर मुश्किल ही समा रहा था! उसका मुंह आर्थर के लंड को अपने अन्दर समाए हुए फट पड़ने को तैयार हो रहा था और होंठों के किनारों से थूक बाहर आ रहा था जो आर्थर के लंड द्वारा नताशा के मुख-मंथन से पैदा हुआ था.

लेकिन समझते देर नहीं लगी कि ये यहां पर क्यूं है… घर में कोई नहीं है और गगन इसके साथ अंदर रंगरेलियां मनाने में लगा हुआ था।उस नाइजीरियन ने मुझसे हाथ मिलाया, मैंने उसको हैल्लो कहा।मैंने गगन की तरफ देखा, आंखों ही आंखों में उससे पूछा, बस यही था तेरा प्यार… वो मेरा चेहरा देखते ही समझ गया कि मेरे अंदर क्या चल रहा है. आंटी भाभी से पूछने लगीं कि बेटा कौन सा आम मंगाएं?मैं भाभी को देखके बोल दिया- भाभी को शायद बिना गुठलियों वाले आम पसंद होंगे. उन्होंने पैर से ही मेरे बॉक्सर को नीचे कर दिया और मुझे अपने ऊपर खींचने लगीं.

देसी भाभी के साथ सेक्स

उन्होंने दो उंगलियां चूत के अन्दर डाल रखी थीं और तेजी से अन्दर बाहर कर रही थीं. दीदी की चीख निकलने को हुई, मुझे मालूम था कि दीदी की चीख निकलेगी, इसलिए मैंने पहले ही अपने होंठों का ढक्कन उनके मुँह पर लगा दिया था. लेकिन दो मिनट बाद ही उसने झटपट मेरे सारे कपड़े उतार फेंके तथा मुझे नंगा कर दिया.

बाद में उन्होंने मेरे पति से भी दोस्ती कर ली और मेरे पति भी गहर में ही ग्रुप सेक्स का मजा लेने लगे. फिर मैंने अपनी जीभ उनके मुँह में डाल दी और वह मेरी जीभ को चूसने लगी.

मेरा खड़ा हो गया तो उन्होने अंडरवियर में हाथ डाल कर पकड़ लिया व मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया.

वो चाहता था कि अगर बच्चेदानी को चुत का पानी चाहिए तो वो आराम से ले ले. तब मम्मी ने पापा से कहा कि लाइट तो ऑफ कर लिया करो वरना कभी लड़की जाग गई तो उसे नज़र आ जाएगा. वो बीच बीच में मुझसे चुदते समय कहा करती थी कि बॉस आपने जो एड्वान्स दिया है, उसके बदले मेरी चुत चोद लो.

चुत में उंगली डाल कर हल्के हल्के सहलाया, जिससे वो और भी गर्म होने लगी. एक बार ऐसा हुआ जब मैं उनके दूध देख रहा था और वे मुझे मजे से चूचों के दीदार करा रही थीं, तब हम दोनों की नजरें मिल गई. और उसके बाद उसने मुझे डोगी स्टाइल में किया और अपना लंड मेरी गांड में डाल दिया.

अब भी कभी कभी बात हो जाती है तो बोलती हैं कि बहुत मिस करती हूं तुम्हें.

मराठी बीएफ बताओ: जब मैं ड्यूटी पर होता तो देर रात तक उससेफोन पर सेक्सी चैटकरता था और बहुत ज्यादा बात भी करता था. अब तक आपने इस कहानी में पढ़ा कि मेरी सास गीता रूपए के लालच में शराब पी कर चार जवान लौंडों के खड़े लंड अपनी चूत में लेने को राजी हो गई.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार! यह मेरे भैया भाभी की सुहागरात की कहानी है. कुछ देर बाद दीदी की मस्त चिकनी कमर को सहलाने के बाद मैंने उसको बोला कि दीदी अब कहाँ लगाऊं तेल?वो बोली- पहले तो तू मुझे दीदी नहीं विभा बोल. ऐसा मैं बहुत चिल्ला रही थी, पर दोनों तब तक अपना लंड अन्दर डाल चुके थे.

दोनों चाची अब मेरे खाने पीने का ज्यादा ख्याल रखने लगीं और दोनों मुझे हर वक़्त अपने साथ रखतीं.

उसकी हिम्मत की देखकर मैंने एक और जोर का धक्का लगाया और पूरा का पूरा लंड जड़ तक उसकी चूत में समा गया. मेरी हाइट 6 फुट है, दिखने में हैंडसम हूँ औऱ पर्सनालिटी भी अच्छी है. आंटी कभी मेरा लंड चूसती, कभी अपनी जीभ से चाटने कभी जोर जोर से हिलाने लगती.