मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ

छवि स्रोत,काजल अग्रवाल की हॉट सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेकसी बीडीवो: मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ, कुछ देर में हरकेश ने सुमन को घोड़ी बना दिया और उसके बालों को पकड़ लिया.

कैलेंडर सेक्सी

इसके बाद दूसरे माल ने मेरे पास आकर मेरे हाथ अपने मम्मों पर रखवाया और मैं उसके मम्मे मसलने लगा. ब्लाउज डिजाइन नई netउनके मुलायम से हाथ का स्पर्श मिलते ही मेरा लंड एकदम से जैसे भड़क सा गया.

इतने में उन्होंने मुझे फिर सीधा किया और मेरे मुँह में लंड देकर रस झड़ा दिया. कॉटन साड़ी दिखाइएबेबी रानी ने सारा का सारा बॉडी वाश ही नहीं शैम्पू भी हमारे ऊपर उड़ेल दिया.

उसने मुझसे मजाक करते हुए कहा- हां हां … मुझे पता है क्या बात करोगे?मैंने रात में अमित से सब बात की.मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ: धीरे से मैंने शुभ्रा के माथे को सहलाया, उसने आंखें खोलीं तो मैंने पूछा- क्या बात है, सब ठीक तो है?मुझे घूर कर देखते हुए बोली- मेरी बुर चोदने का मजा तुम्हें मिला और सजा मुझे मिल रही है.

मतलब कब हम दोनों के कपड़े उतर गए और किसने किसका क्या उतारा, ये भी याद नहीं.मेरी कमसिन चूत की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताइएगा.

वीडियोएक्सएक्सएक्स - मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ

जब वो मेरी चूत चाटने के लिए लंड बाहर निकालता, तो मैं भी उसका लंड चूस लेती थी.और वो एक के बाद एक ऐसे करते हुए मुझसे सब मोबाइल के बारे में जानने लगी पर मेरी नज़र उनके बूब्स पर ही थी और मेरा लंड वापिस तन गया था जो दी ने देखा.

ऐसे भी मैंने तो पहले ही ठान रखा था, जिसकी भी ये हरकत है, उससे चुद जाऊँगी. मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ थोड़ी देर दूध पीने के बाद पिताजी ने नीचे सरक कर माँ की टांगों के बीच आकर कुछ चाटना शुरू कर दिया.

सुधा ने अपनी सहेली से कोने में से बाहर आने दिया और उसी को बाहर खड़ा कर दिया.

मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ?

एक दिन शाम को दोनों लैपटॉप पर पोर्न वीडियो देख रही थीं, तब नितिन पिंकी के कमरे में आने से पहले नॉक करने ही वाला था कि अचानक उसके दिमाग में कोई खुराफात सूझी और वो नॉक किए बिना ही घुस गया. उसके मुँह से निकल रही सांस और हल्की सी मोन की आवाज सुनकर मुझे यकीन हो गया कि ऐसी आवाज वाली लौंडिया तो सोनल ही है. तो मैं पापा को शिमला घुमाने ले गयी और वहीं एक रात को बारिश की वजह से ठंड अधिक बढ़ गयी तो पापा और मैं कब एक दूसरे से चिपक गये पता ही नहीं चला.

उसकी जांघों को पकड़ कर, पूरा लौड़ा बाहर निकाल निकाल कर जोर जोर से चोदने लगा. तभी पवन ने अपना लगभग पूरा लंड बाहर खींचा और फिर एक जोर के धक्के से दोबारा मेरी गीली चूत में ठोक दिया। आनन्द और दर्द के मिले-जुले अहसास से मेरी चीख निकल पड़ी।अब पवन ने धीरे-धीरे अपने लंड से मेरी चूत में धक्के लगाने लगा और फिर पूरे जोश से मेरी फुद्दी को चोदने लगा। उसका लंड मेरे गर्भाशय तक छू रहा था. बहनचोद ब्लू फिल्मे देख कर के रंडी के दिमाग में ऊटपटांग चुदाई के स्टाइल आ रहे थे.

तो मैंने झटपट पहले उसका मोबाइल नंबर अपने मोबाइल में सेव करके उसे मेसेज किया- हाय!उसने रिप्लाई किया- कौन है?तो मैंने थोड़ा चांस मारते हुए कहा- तुम्हारा दोस्त!फिर उसने सवाल किया- ये कौन सा दोस्त है जिसे मैं जानती नहीं और पहचानती नहीं हूं।मैंने झट से रिप्लाई किया- पहचान बना लेते हैं, इसमें हर्ज ही क्या है. फिर मैंने उसे पकड़ा और उसे अपने गोद में बैठा दिया और उसे किस करते हुए उसके कपड़े उतारने लगा. शाम को वह करीब 08:00 बजे आई और उसे वापस जाने में रात के 10:30 बज गए.

मैंने बिन्दू को कहा- थोड़ा पार्क के अंदर चलें?बिन्दू ने कहा- देर हुई तो मेरी मम्मी गुस्सा करेंगी. रानी ने फिर मुझसे अपनी जांघों पर छलक के लगी हुई अमृत की कुछ बूँदें चटवाई.

उसने मेरी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रखा और मेरी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया.

कपड़े बदलने जरूरी थे, गीले कपड़ों में मेरी हालात पहले ही पतली हो रही थी.

चाची ने मेरी चड्डी में हाथ डाला और बोली- गौरव तेरा घोड़ा तो ताव में आ गया है।मैंने चाची के बूब्स पर हाथ रखते हुए कहा- चाची चूत दे दो प्लीज!चाची बोली- हरामी मैं जानती हूं. मैंने आज ब्लैक सूट डाला था और हल्की सा मेकअप किया था … मतलब लिपस्टिक लगा ली, झुमके पहन लिए, खुले बाल करके रखे थे. अगर मैं आपके ई-मेल्स का रिप्लाई न भी कर पाऊँ तो प्लीज बुरा मत मानिएगा क्योंकि इतने सारे लोगों को रिप्लाई करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है, आप लोग समझ ही सकते हैं।आपकी प्यारी सुहानी चौधरी[emailprotected].

मुझे कुछ समझ नहीं आया, तो मैंने उसकी कमर में हाथ डाल कर उसे अपने पास खींचा और उसकी सलवार में हाथ डाल कर उसकी गीली चुत को मसलते हुए सहलाने लगा. कुछ भी हो सकता है।जब मैं उनके बूब्स को घूर घूर कर देखने लगा तो वो मुझसे बोली- समर क्या देख रहे हो?मैं- कुछ नहीं आंटी, बस ऐसे ही।वो- मुझे पता है तुम क्या देख रहे हो. वह हिजड़ा है क्या जो तुम्हें चोद नहीं पाता … क्या तुम उससे खुश नहीं हो?वह गुस्से में बोली- मेरे पति के बारे में बकवास मत करो … तुम अपना काम करो.

नम्रता होंठ को छोड़ते हुए बोली- शरद मैं इस अहसान का बदला जिंदगी पर नहीं चुका पाऊंगी.

वो मेरा सर अपने लंड के पास ले के गया और अपना टाइट लंड मेरे मुँह में घुसेड़ दिया. कुछ समय बाद मेरी शादी एक अच्छे जॉब वाले लड़के से हो गई, मेरी शादी के समय सुमन ने वैभव और खुशी को मिलाया था. मैंने उससे सीधे सीधे पूछ लिया- अगर कोई तेरी चुत चाटे, तो कैसा लगेगा तुझे?दीपाली- हां मुझे एक बार एक्सपीरियंस तो करना है.

मैंने चाची से कहा- जब आप भीग ही गये हो तो मेरे साथ ही नहा लो!चाची बोली- हट्ट बेशर्म … अगर किसी ने देख लिया तो?मैंने कहा- यहाँ पर कौन है देखने वाला. इसलिए मैंने भी अपने घुटने वैसे ही मोड़ते हुए उसकी चूत के सुनहर दरवाजे पर जब अपना लंड लगाया तो वह सहम सी गयी. अब इस बार बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा, जो है वो भी जाता रहेगा और आज इतना मजा आएगा पूछ मत.

इधर मेरे सामने उसकी चूत लपलप कर रही थी, जिसकी फांकें आज भी एक दूसरे से जुदा नहीं हुई थीं.

डॉक्टर हैरानी से देखती रह गयी बोली- उफ़ इतना बड़ा इतना मोटा तो कभी नहीं देखा. अगले दो मिनट में ही मैंने उसके बदन से नाइट ड्रेस उतार कर उसको नंगी कर दिया था.

मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ मेरा लंड पहली बार किसी औरत के मुंह में गया था इसलिए मैं जल्दी ही अपना संयम खो बैठा और मैंने भाभी के मुंह में वीर्य निकाल दिया. बातों बात में दीदी ने पूछा- अमित से तुम्हारा सेक्स रिलेशन कैसा है?मैं बोली- बहुत बढ़िया है दीदी.

मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ वो अन्दर पानी लेने गयी, तो अपनी गांड कुछ ज्यादा ही मटकाते हुए चल रही थीं. बस मेरे इतना कहते ही वो मेरे होंठों को चूसने लगी और अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर घुसेड़ कर मेरे तालू में चलाते हुए मजा लेने और देने लगी.

तभी राजेश अपनी उंगली मेरी चूत के अन्दर डालकर घुमाने लगे, मेरा रस उनकी उंगलियों में लग चुका था.

करिश्मा कपूर का सेक्सी वीडियो बीएफ

भाभी ने कहा- पहले मुझे पूरी नंगी करो … लेकिन धीरे धीरे और मुझे चूमते हुए. इसके बाद विनीता और मैं कई बार मिले, बस जगह का इंतजाम होने में दिक्कत होती थी. लहंगा और ढीला हो नहीं सकता था और मैं घूम कर पीछे नहीं जा सकता था क्योंकि मैंने दाएं हाथ में लहंगे के नाड़े के दोनों सिरे थामे हुये थे.

बस फिर क्या था, शुभ्रा मामी से बोली- नहीं मम्मी, आप बैठो, मैं ले लेती हूं. उसकी बुर ने फिर हल्का सा पानी छोड़ा जिसके कारण मेरा लंड गीला हो गया. ”मैंने ट्रे से दूध का ग्लास उठाते हुए कहा- बट अभी मैं अपना ब्रेकफास्ट पूरा करूंगा.

मैंने भी उनको तड़पाने की सोची- अंकल आपका कहना है कि मैंने अन्दर कुछ भी नहीं पहना?मुझे नहीं पता?.

रानी ने रफ्तार और तेज़ कर दी, उसे अहसास हो गया था कि मैं जल्दी ही झड़ सकता हूँ. 5 इंच मोटा है, जो कि किसी लड़की को संतुष्ट करने के लिए काफी है। मैं एक साल से प्लेब्वॉय के पेशे में हूं। मुझे यह काम मजबूरी में शुरू करना पड़ा था। मुझे सेक्स करना बहुत पसंद है और मैंने यही काम करना सही समझा। इससे एक तो मुझे भी मजा मिलता है और दूसरा कुछ कमाई भी हो जाती है. डॉक्टर ने लण्ड को रूमाल से साफ़ किया और फिर पकड़ कर ऊपर नीचे और घूमा कर मुयायना किया और बोली- आमिर, चुदाई के दौरान अंदर की कुछ नसें दब गयी हैं जिससे लण्ड अब बैठ नहीं रहा है.

मेरी चूची और गांड का आकार भी बहुत अच्छा है, जिससे मैं और भी ज्यादा सेक्सी और कामुक लगती हूँ. अब भैया ने मेरा लंड हिलाना चालू किया और भैया का बाज़ से चिड़िया बनता लंड मेरी गांड से ढीला होकर धीरे धीरे निकलने लगा. उसकी चुचियाँ इतनी बड़ी थी कि उसकी दोनों लड़कियों की बड़ी चुचियाँ भी उसी की देन थी.

बाप बेटी दोनों एकदम सामान्य लग रहे थे जैसे कुछ हुआ ही ना हो!आज रविवार था तो सब घर पर ही रहने वाले थे. लगभग 1 मिनट तक मैं रुका रहा और फिर से धीरे-धीरे लिंग को अंदर डालने लगा.

पहली बात ये है कि लड़की चाहे जितने भी मज़े कर ले यदि वह गैरमर्द से प्रेग्नेंट हो जाती है तो कहीं की नहीं रहती. चूंकि मेरा पति झंडू है, इसलिए मैं भी खुशी के सामने अपनी प्यास और तड़प की बातें रख देती थी … और ये बातें वैभव तक भी पहुंच गई थीं. इसके बाद मैंने भी उसकी बुर पर अपने दोनों होंठ टिका कर खूब बुर चुसाई की थी.

मैंने अपने खड़े लंड को पैंट के अन्दर सैट किया, चैन बंद की और उसको एक किस करके बिना कुछ बोले वहां से निकल गया.

मेरे सिर में साली जी अपनी अँगुलियों से कंघी सी कर रहीं थीं और मैं लंड को पूरे वेग से उनकी चूत में से बाहर तक निकाल निकाल का फिर पूरे दम से घुसा घुसा कर अन्दर बाहर कर रहा था. मैंने खूब देर तक उसकी चूत में उंगली की और वो भी अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थी. वो झुकी और एक ही झटके में पैंटी को निकाल दिया। हाथों में पैंटी को लेकर सीधी हुई और आस-पास देखा कि किसी ने देखा तो नहीं।फिर उसने मोबाइल उठाया- ईट्स रेडी मास्टर (यह तैयार है)मैं- गुड … गिव इट टू मी! (इसे मुझे दे दो)उसके हाथों से मैंने पैंटी ली और नाक पर रख कर लम्बी साँस ली.

इधर मेरा लंड भी टाईट होने लगा और आगे-पीछे होने के कारण सुपाड़े की चमड़ी चादर से रगड़ खा रही थी. मैंने इंदौर से ही अपने लिए जीन्स टी-शर्ट, चुस्त टॉप, बिकनी वाले शॉर्ट्स ले कर आई थी.

अंकल मेरे पैरों के करीब बैठ गए और मेरी स्कर्ट ऊपर उठाने लगे और उसे एक जगह मेरी पेट पर इकठ्ठा किया. जब मैं इतनी मजबूर थी कि खुदकुशी के सिवाय मेरे पास कोई चारा नहीं था. बस एक दूसरे के मुँह में मुँह डाल कर एक दूसरे की जीभ को चूसने का भरपूर प्रयास करने लगे.

कुंवारी लड़की का बीएफ दिखाएं

मैंने एक प्लान बनाया, मेरी जानू के मोबाइल से मेरे मोबाइल पर नंबर डायल करके फोन चालू छोड़ कर उसका फ़ोन मैंने उसके पर्स में डाल कर उसकी भाभी के रूम में वापस रख दिया.

चूंकि अंतर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है तो जो भी गलतियाँ हों उनके लिये आप कृपया मुझे माफ कर दीजिएगा. वैसे मेरे घर में किसी को नहीं पता है कि मैं पड़ोस में लड़कों से बात करती हूँ. सिर्फ तन से नहीं मन से भी और रूह से भी!मैंने कहा- तुम्हारी चाहत लाजिमी है.

अब तक तो तुम समझ ही चुके होगे कि हमारी सोसायटी में सेक्स कितना कॉमन है. की आवाज निकली लेकिन उसने दांत नहीं भींचे।मैं इस बार फिर रुक गया और उसकी चूची को मुंह में भरने लगा. प्रियंका चोपड़ाxxxxxमेरी चूत टाइट थी मगर जीजा का लंड बासी ककड़ी की तरह यहां वहां चला जाता था.

ओहो … भारी जड़ाऊ काम वाली चुनरी खींच कर या झटके से तो निकाली नहीं जा सकती थी. उन लोगों को एक पार्टी में जाना था, तो मैं उन सबको छोड़ने के लिए रेलवे स्टेशन गयी.

अब आगे की एनल सेक्स स्टोरी:मुझे आगोश में लेकर मदहोश करते हुए कब न जाने वो आए और कभी मेरी गांड तक का सफर उन्होंने मिनटों में तय कर लिया … मुझे कुछ पता भी नहीं चला. सिर्फ तीन ही चीजें पहनी थीं उसने जिन पर लिखा था ‘प्रॉपर्टी ऑफ़ विशाल’ उसके हाथ पीछे बंधे हुए थे. तो चलिए गौर फरमाते हैं एक और हसीना की चीखों पर!बात कुछ दिनों पहले की है जब मेरी मुलाकात एक और हसीना.

मुझे आज भाभी की चूत को चूसने में मजा आ रहा था और दूसरी तरफ भाभी मेरे लंड को चूस कर मुझे और भी मजा दे रही थी. मेरी जानू बाहर कपड़े धो रही थी और काजल किचन में मेरे लिए नाश्ता बना रही थी. नितिन चुदाई करते हुए सोचने लगा कि ये तो सीमा जी से भी ज्यादा सेक्सी माल निकली.

वो किचन में खड़ी होकर आटा गूंध रही थी, बोली- सुबह सुबह कहां निकल पड़े?मैंने कहा- तुम्हें चोदने.

वैसे हम दोनों रात 11 बजे तक टीवी देखती हैं लेकिन आज पता नहीं सुमीना को क्या हुआ, अभी दस बजे ही कहने लगी- भाभी, मुझे तो बहुत नींद आ रही है, मैं सोने जा रही हूँ. वसुन्धरा की आँखें अभी भी बंद थी अलबत्ता होंठों में सिहरन थोड़ी कम हो गयी थी.

सारा को समझ आ गया था कि दिलिया की चूत की चाबी उसके ओंठ और जीभ है और उसे इस तरह से किस करने लगी. एक क्षण … मात्र एक पल और … और सब स्वाहा!फिर न तो राजवीर बचता, न वसुन्धरा बचती और न ही बचती कोई सामाजिक वर्ज़ना. अब मेरी सास रोज़ ताने मारती कि मेरे पापा ने कोई दहेज़ नहीं दिया और सिर्फ थोड़े से पैसे लगाए शादी में.

… सहन नहीं हो रहा … आप जोर से करो … और जोर से चोदो मेरी चुत को, चोद चोद कर पूरी हेकड़ी उतार दो साली की. वो बोली- जैसे तूने बोला था कि चुत चाटेगा, वो तो तू कर ही नहीं रहा है. पहले तो मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया पर रात में सोते वक्त उस आदमी की याद आई, मैंने तुरंत उठकर अपने पर्स से कार्ड निकाला, देखा तो किसी सॉफ्टवेयर कंपनी का लग रहा था.

मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ मैंने कहा- और आप?हेतल बोली- मैं जरा तेरे जीजू की नींद खराब करके आती हूं. सोनल को मजा आया था इसलिए उसने दूसरी बार भी चपत लगा दी, जिससे राधिका ‘आह.

हिंदी एचडी बीएफ हिंदी एचडी

वैसे तो मुझे लंड चूसना पहले अच्छा नहीं लगता था, पर अब अच्छा लगने लगा है. वो बोले- कल से ही आ जाओ!मैं खुश होकर बोली- जी जरूर!और फिर मैं घर आ गई, घर में भी सब लोग बहुत खुश थे. जब से मैंने भैया को देखा कि वह मेरे बदन पर नजर रखते हैं तो उसके बाद से ही मैंने भी भैया की हरकतों पर नजर रखना शुरू कर दिया.

मेरे इस रियक्शन से वह एकदम आग बबूला हो गई और मेरे हाथ को पकड़ कर मुझे अपनी तरफ खींचा और मुझे पागलों की तरह चूमने और चाटने लगी. जब उठ कर बाहर आया तो माँ ने कहा कि मुझे चांदनी भाभी के साथ उनके घर जाना है कुछ सामान लाने के लिए, माँ ने मुझे जल्दी तैयार होने के लिए कह दिया. जम सूट ड्रेसमैंने अब सर को थोड़ा उठाते हुए चूत में जीभ फंसाकर चूत की एक फांक को अलग किया और मुँह में भर कर चूसने लगा.

मैं रेखा की पीठ सहलाते हुए उसके गालों को चूमने लगा और रेखा मेरे गालों को चूमने लगी.

अब मीना को उसकी पति की याद नहीं सताती है और मैं भी उसे पाकर खुश हूँ. मैं गांड उठाते हुए बोली- हाँ मेरे राजा तेरे लंड के बाद अब मुझे और कोई लंड भाएगा भी नहीं.

मैं खाना ख़ाकर ऊपर जा रहा था, तभी सीढ़ियों के नीचे आवाज़ आई- आर्यन यहां!मैंने देखा तो सुधा थी. मैंने आश्चर्य से दीदी से पूछा- फिर?दीदी- फिर वो जबरदस्ती मेरी ब्रा में हाथ डालने की कोशिश करने लगा और उसने मेरे गालों पर चुम्बन की बौछार कर दी. मैंने सोचा कि मानसी आज कुछ ज्यादा ही चुदासी हो गई है इसलिए इसकी आवाज भी अलग रही है.

उसने अपने दोनों मम्मों से काफी दूध निचोड़ा और कटोरी को फिर बगल की टेबिल पर रख दिया.

अनिल भैया भी मेरी गांड से पूरी तरह से सुख लेना चाहते थे, तो मेरे को पूरा तड़पा रहे थे. तभी उसके हाथ ऊपर की तरफ बढ़े, उसने मेरे कंधे को मुट्ठी में भींच लिया. मैं सोच रहा था कि जिस औरत से मेरी ठीक ढंग से बात भी नहीं होती उससे ऐसे गंभीर मामले के बारे में कैसे बात करूंगा.

घर पर केक कैसे बनाते हैंमैंने भाभी को अपनी तरफ खींचा और उनके बोबे दबाते हुए उनको किस करने लगा. प्रतिभा ने कहा- अच्छा तो ये बताओ … दोपहर को बैचलर पार्टी के लिए बुलाई गई रंडियों के साथ ऐश करते समय जनाब को हमारी याद नहीं आई.

इंग्लिश चुदाई बीएफ वीडियो

मैंने गाड़ी से बाहर आकर पूछा- कैसा लगा भाभी सरप्राइज?भाभी बोली- यह किसका खेत है मनीष?मैंने कहा- मेरा ही खेत है भाभी; और पास में ही एक तबेला भी है. मैंने लहँगे का नाड़ा थोड़ा ढीला किया और अपने दाएं हाथ में नाड़े के दोनों छोर पकड़ कर अपना बायां हाथ बायीं ओर से वसुन्धरा के पीछे लेजा कर चुनरी को एक हल्का सा झटका दिया लेकिन चुनरी जस की तस! जरूर जड़ाऊ काम के सितारे-मोती, लहँगे के अंदर कहीं न कहीं फंस रहे थे. सुमन एक हाथ से मेरा और एक हाथ से हरकेश का लंड पकड़े हुए थी मैंने अपना मुंह आगे करते हुए सुमन के होठों को काटना शुरू कर दिया।हरकेश उसके दूध को बेइंतहा चूस रहा था.

देर हो जाने हाइवे से दो तीन किलोमीटर दूर घर सुनसान रास्ता होने के कारण बहू ने मंजू को हमारे साथ ही चलने को बोला. ”हां हां ठीक है, चली जाना, चल पहले चाय नाश्ता कर ले, कब से तेरा इंतज़ार कर रही हूं. जो भी रस उसकी उंगली में लगा था, वो सब मेरी जीभ पर उंगली चलाकर हटा रही थी.

जब उठ कर बाहर आया तो माँ ने कहा कि मुझे चांदनी भाभी के साथ उनके घर जाना है कुछ सामान लाने के लिए, माँ ने मुझे जल्दी तैयार होने के लिए कह दिया. राजेश मेरी चूतड़ों को दबाते गए और फिर फैला कर अपनी जीभ मेरी गांड में चलाते हुए चूत तक ले गए. मेरे पति बना हुआ बेटा बोला- आई लव यू स्वीटहार्ट कविता!मैं बोली- आई लव यू टू माय हबी एंड सन.

मैंने उसकी तरफ देखा, तो पाया कि उसकी आंखें बंद थीं और वो उंगली चोदन के पूरा मजा ले रही थी. लेकिन मैं यह नहीं दिखा सकती थी कि मैं अपने मजे के लिए ये सब कर रही हूँ.

जो कल तक किसी से नहीं मिली थी आज दो-दो लोगों से लंड खा रही थी।कुछ देर में ही सुमन तीसरी बार झड़ गई और उसके तुरंत बाद हरकेश भी उसकी गांड में ही झड़ गया.

अब मेरे हाथ से भी पाना छूट चुका था और मेरे दोनों हाथ उसके पीठ पर आ चुके थे मेरे दोनों बूब्स अब उसके सीने में गड़े जा रहे थे. माधुरी दीक्षित का xxxअब ये सब तुम्हारे दोस्त पर निर्भर है कि वो तुम्हारे साथ कैसे सेक्स करता है. सेक्सी गंदी बातेंबिन्दू डर गई और बोली- सॉरी, आगे से नहीं करूंगी, आप प्लीज किसी को मत बताना. मैं उस पर मुठ मारने वाले को रंगे हाथ पकड़ना चाहती थी कि कौन है, जो ऐसा कर रहा है.

जब दूध खत्म हो गया, तो मैं उसकी दोनों पुत्तियों को दांतों के बीच लेकर ऐसे चूस रहा था, जैसे पेप्सी की बोतल में अन्त की बची हुई पेप्सी को स्ट्रा से निकाला हो.

मुझे नहीं पता दीदी ने उनको कहां से ढूंढा था लेकिन उनको देख कर मुझे ऐसा लगने लगता था कि काश मैं भी इनके जितना ही चार्मिंग होता. भाभी ने अन्दर ले जाकर मुझे पूरा नंगा कर दिया और शावर चला कर हम दोनों नहाने लगे. मैंने भाभी के घर पर जाकर बेल बजाई तो भाभी ने दरवाजा खोला और मैंने पूछा- भाभी आपने बुलाया था किसी काम के लिए?भाभी- तुम नहीं जानते क्या मुझे तुमसे क्या काम हो सकता है?भाभी ने दरवाजा बंद करते हुए कहा.

मैंने उसको बेड के किनारे खड़ा किया और सलवार नीचे खींच दी … क्योंकि उसको पकड़े जाने का डर था. मेरे नंगे बदन को देख कर बोले- तुम तो पहले से भी ज्यादा सेक्सी हो गई हो!उन्होंने मेरी चूत पर अपने होंठ रख कर उसको चाटना शुरू कर दिया. मेरे होंठों को उनके होंठ और उनके हाथ मेरे मम्मों को जबरदस्त मसल रहे थे.

सेक्सी सेक्स बीएफ फिल्म

तुषार बोला- क्यों फट गई क्या … बस अभी से डरने लगीं … अरे मेरी जान कुछ नहीं होगा. उन्होंने वहीं मुझे फिर से घोड़ी बना दिया और मेरी गांड की छेद में देखने लगे. मैंने उसे रोका तो उसने कहा- हमें कोई नहीं देख रहा, थियेटर में बहुत अंधेरा हो रहा है यार.

पिघल रही सीमा के इस वार से मैं भी बच न सका और मेरा भी लौड़ा छूटने के बहुत नज़दीक पहुँच गया.

एक दिन हम दोनों घर में अकेले थे और एक दूसरे से बातें करते करते हम दोनों लोग सेक्स वाली बातें करने लगे.

मैं तो अभी भी उन्हें लालसा भरी नज़रों से देख रहा था कि उनका तो काम मैंने कर दिया, अब वो मेरा भी करें. उस पर नम्रता ने हाई हील सेन्डिल भी पहन ली थी और कैटवॉक कमरे में करने लगी. सकसी वीडीयोजैसे ही मैंने चीनी उतारी, मेरी नज़र भाभी की नज़रों पर पड़ी, जो मेरा लंड देख रही थीं.

अब रणविजय और रीना की चुदाई उन्हीं के शब्दों में:हम दोनों एक दूसरे के चुम्बन में मदहोशी के साथ डूब गए। उसने नाइटी के अंदर कुछ नहीं पहना था। मैं नीचे लेटा हुआ था और चुम्बन करते हुए ही हम दोनों एक दूसरे से लिपट गये. लंड चूत को दो पल तक चाटने चूसने के बाद हम दोनों फिर से चुदाई करने में लग जाते थे. तब मुझे कहीं थोड़ी थकान महसूस हुई तो मैंने थोड़ा विश्राम लेने की और अनिता को थोड़ा और गर्म करने की सोची.

उसके बाद मैंने अपनी छोटी भाभी को भी चोदा, उसकी कहानी अगली बार बताऊंगा. उसके बाद थॉमस को मैंने बेड पर लेटा दिया और उसकी शर्ट के सारे बटन खोल दिए.

मेरा कमरा बेड के चरमराने और लण्ड की चूतड़ों पर थाप की आवाजों से गूंजने लगा.

यूं मैंने ऐसे दर्शाया कि मुझे कुछ हुआ नहीं लेकिन अब के इस काम-केलि की डोर मुझे अपने हाथ ही में रखनी ही होगी नहीं तो आज की रात तो वसुन्धरा ने मुझे यक़ीनन उधेड़ कर रख देना था. या इसके अतिरिक्त कुछ भी जो आपको पसंद हो!लेकिन पति से बोलने में झिझक होती है. मेरा लौड़ा उसकी गर्म चूत के अंदर झटके मार मार कर वीर्य की पिचकारी छोड़ रहा था जिसे दीपिका अपने अंदर तक महसूस कर रही थी.

घड़ी वाला सेक्सी नम्रता लंड चाटते हुए बोली- मेरे राजा, तुमने मुझे बिना चोदे ही इतना मजा दे दिया, जिसकी मैं कल्पना भी नहीं कर सकती. मैं जैसे ही चीनी उतारने के लिए ऊपर हुआ, तो मेरा लंड थोड़ा साइड में हो गया और भाभी की नज़र उस पर पड़ गयी.

उसकी बात पर मैं हँस पड़ा और मैंने अपने आप को सूंघने की कोशिश की तो दीपिका ने अपना मुँह और नाक मेरी बालों से भरी छाती में लगा दिया और बोली- दिल करता है बस तुम्हारे यहाँ अपना मुँह रखे रहूँ. पापा ने मम्मी के ब्लाउज को निकाल दिया और उनके पेटीकोट को ऊपर कर दिया. फ़िर दो दिन बाद हम वापस आ गए और मैंने विनीता को फ़ोन करके सब बताया, तो वो बहुत ज़ोर से हंसी.

बीएफ मूवी हिंदी में चुदाई वाली

रास्ते में दोनों चुप थे, दोनों सोच में थे कि क्या बोलें और कैसे बोलें!नितिन ने ही बोलना आरम्भ किया- तुमको पहले ही बोला था कि बिना कंडोम के मत चुदो, पर तुम नहीं मानी, अब तुम्हारी मम्मी को जवाब देना भारी पड़ेगा. बिल्कुल क्लीन शेव्ड और फूली हुई थी, अब मैं उसकी यौवन की घाटी में प्रवेश करना चाहता था. धीरे धीरे उसकी मोनिंग तेज़ हो गई- आहह उम्म्ह… अहह… हाय … याहह हहह और चोदो मुझे कस कर चोदो … चोद दो मुझे प्लीज़ … मुझे चोदो और मत तड़पाओ।जब उसने ऐसा कहा कि और मत तड़पाओ तब मुझे पता चला कि उसे कुछ नहीं हुआ है.

अब जब तक मेरी और तुम्हारी फैमिली में से कोई एक नहीं आ जाता, तब तक मैं तुम्हारा लंड अपनी चूत में लिये पड़े रहना चाहती हूं, इसलिये कल मैं और तुम दोनों ही स्कूल में छुट्टी की एप्लीकेशन देंगे और सेक्स और खाने के अलावा कोई दूसरा काम नहीं करेंगे. इस सफर की शुरुआत उस वक्त हुई थी, वह सफर आज भी वैसे ही लगातार चल रहा है.

नम्रता- अच्छा तुम बताओ अपनी खुशी का राज?उसके हाथ को अपने हाथ में लेते हुए मैं बोला- जान, मेरी खुशी में तुम्हारी खुशी छिपी है.

जब हम मोटर साइकिल लेकर निकले तो रास्ते में जीजा ने मुझसे कहा- साली जी अगर आप कहो तो पुरानी यादों को फिर से ताजा कर लिया जाये?मैंने कहा- आप बुढ़ापे में भी बाज़ नहीं आ रहे!वो बोले- एक बार आजमा कर तो देखो, आपको जवानी वाला जोश याद दिला देंगे. अगर मैं उसकी गांड पर लंड रगड़ने में थोड़ा सा भी शिथिल पड़ता तो शुभ्रा अपनी गांड हिला-हिलाकर मेरे लंड से रगड़ने लगती. उसको इतना तो पता चल गया था कि मैं काम की तलाश कर रही हूँ पर उसने कुछ बोला नहीं.

अब मुझे लगने लगा कि अगर अगले कुछ पल तक नम्रता ऐसे ही मेरे लंड से खेलती रही, तो मेरा माल कभी भी बाहर आ सकता है. ”मुझे बेड पर लिटाने के बाद उन्होंने मेरे स्तनों को शर्ट के ऊपर से ही सहलाया, उनके सहलाने से मेरा अंग भड़क उठा. मैं कुछ देर तो टीवी देखता रहा फिर टीवी के साथ-साथ मैने लाईट को भी बन्द कर दिया और धीरे से नीचे मोनी की बगल में जाकर लेट गया।मोनी अपना मुँह दूसरी तरफ करके सो रही थी इसलिये अपना एक हाथ धीरे से मोनी की कमर पर रखकर मैं आज फिर से उसके पीछे चिपक गया। मेरा तरीका वही पुराना था कि नींद बहाने से मैं मोनी के बदन को छूने की कोशिश करूं.

फिर मैंने अपना दूसरा हाथ उसकी पैंट में डाला, तो वो ज़ोर से सिसकारियां लेने लगी.

मारवाड़ी लड़कियों की बीएफ: मैंने उसे सारी बात बताई तो वह खुश हो गई और अपने कपड़े हटाने में मेरी मदद करने लगी। मैं उसे चूस रहा था, अपने दांतों से काट रहा था. माणिक और मेरा हम दोनों का झगड़ा भी बहुत होता है और प्यार भी बहुत है.

मैंने सौरभ से बोल दिया था कि चुदाई करते वक्त अंदर डिस्चार्ज नहीं करना है, नहीं तो मैं उसे हाथ नहीं लगाने दूंगी. उसका एक भाई जो कि कनाडा रहने लगा है, वो इस शोक की हालत में भारत आया था. मैं बहुत दर्द महसूस कर रही थी और वो बार बार अपनी स्पीड घटाए बढ़ाए जा रहे थे.

काफी देर तक अनिता इस चॉकलेट चूत चुसाई के बाद कांपते हुए मेरे मुँह को जोरों से पकड़ कर दूसरी बार झड़ गई.

उस दिन मैं साड़ी पहन कर गयी थी … जिसमें मेरी बॉडी काफी खुली दिख रही थी. जब वो उसके ऊपरी ओंठ चूसती थी तो चूत लण्ड को जकड़ने लगती थी और जब निचले ओंठ को चूसती थी तो चूत लण्ड को ढीला छोड़ देती थी. फिर मैंने उसकी चुत से उंगली निकाल के उसके मुँह में दे दी और वो अपने ही चुतरस का मजा चखने लगी.