बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

मोटी बुर वाली बीएफ: बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर, फिर रात को संध्या ने मेरा लंड चूस कर एक बार फिर जगाया और डॉगी स्टाइल में चुदवाया.

बीएफ हिंदी वीडियो में बीएफ

शीला ने शरमाते हुए धीमे से कहा- अशोक जी, आप कम से कम दो जोड़ी फटे हुए कच्छे बनियान पहनते तो हैं, हम दोनों पिछले चार साल से बस एक एक सलवार कमीज़ ही पहनती आई हैं, ये तीन तीन जोड़ी साड़ियां भी चौबे जी ने भाभी जी की पुरानी साड़ियां दी हैं, जिनके ब्लाउज छोटे है, आप कहें तो हम दोनों ब्लाउज उतार कर सलवार कमीज़ पहन लें. बीएफ चूत सेक्सीमैंने उसे बताया कि मैं उसे होटल में लेकर जाता था और उसके साथ क्या क्या करता था.

मामा और पापा कुछ देर में बाहर चले गए और मैं ऊपर छत पर ही था और तभी मामी ऊपर आ गई. ससुर बहू की सेक्सी बीएफ वीडियोबाजू में एक माल ने बोला- अभी दूल्हा माला डाले, तो पार्टी बम मत फोड़ना.

उसने झट से एक्सर्साइज़ करवाना शुरू कर दिया और 3 महीने में ही ऋतु का फिगर देखने लायक हो गया था.बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर: इसके बाद तो उसकी सेक्स लाइफ में हमेशा-हमेशा के लिए बंसती बयार बहने लगी.

उनका बेड दरवाजे से बिल्कुल सामने था कोई आता भी, तो भाभी उसे झुके झुके चुदते टाइम आसानी से देख सकती थी.मैंने वैसे हाथ उसके चूचियों पर रखा तो मुझे झटका सा लगा और मुँह से निकला- वाह … क्या चूचियाँ हैं।अब तक तो मैंने ग़लत निगाह से रेखा को देखा नहीं था लेकिन अब मुझे कंट्रोल नहीं हो रहा था। मैं आहिस्ता-आहिस्ता चूचियों पर हाथ फेरने लगा। मुझे नहीं पता था कि रेखा भी जाग रही है या नहीं … पर उसने करवट बदलकर मेरी तरफ पीठ कर ली और थोड़ी पीछे को आ गई।मेरा हाथ वैसे ही उसके ऊपर था.

ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई वाली - बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर

पहले मैंने अपना हाथ उसके हाथ में रखा, तो वो बोली- क्या कर रहे हो?मैं बोला- आपकी अंगूठी देख रहा हूँ.मेरी दो बहनें हैं जिनमें से एक की उम्र 20 साल है और दूसरी की उम्र 22 साल है.

जब उसका लिंग मेरी योनि से स्वयं ही बाहर आ गया तो उसने उठते हुए अपने मोबाइल में टाइम देखा. बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर अब उसकी शादी हो चुकी है लेकिन फिर भी जब उसके पति कहीं बाहर गए हुए होते हैं तो वह एक दो दिन के लिए मेरे पास अपनी गांड मरवाने आ जाती है.

मैंने एक बार उनका हाथ हटाया, तो आंटी कहने लगी कि मैं तुम्हें अच्छी नहीं लगती क्या?आंटी ने फिर पूछा- तुम्हारा वह सब करने का मन नहीं करता क्या? तेरे अंकल तो रोज दवाई खाकर सो जाते हैं और अगले दिन सुबह ही उठते हैं.

बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर?

तेरे पास तगड़ा लंड ज़रूर है, लेकिन जिगर नहीं कि मुझे पाने की पहल कर सके. उसने बताया कि वह पास के गांव का ही है, जो यहां से 15 किलोमीटर दूर है. जब मेरे लंड ने उसकी जवानी का भरपूर रस पी लिया तो वह भी हाँफता हुआ उसकी चूत में थूकने लगा.

इस कहानी के पिछले भागलंड की प्यासी चूत गांड का मेला-1में अब तक आपने पढ़ लिया था कि एकता और उसकी जेठानी प्रमिला की चुदाई का खेल शुरू होने को था. मदन की मां थोड़ा मायूस हो कर बोलीं- मर्द … और वो …! काश उनकी सोच भी आप जैसी होती. वह साड़ी ऊपर करती रही और मैं घुटनों पर फिर जांघों के अन्दर, फिर चूत पर, नाभि पर किस करता हुआ साड़ी के ऊपर से ही चूचियों को किस करने लगा.

मैं मादक सिस्कारियां निकालने लगी और वो मेरी चूत को चाटने के बाद मेरे जांघों को मसलने लगा. उसने नैना को बर्थडे विश किया और सुबह उसका जन्म दिन भूलने के लिए माफ़ी मांगी. फिर हम दोनों ने एक दूसरे का मोबाइल नंबर लिया, मैंने उन्हें एक सेक्सी गुड बाय किस किया और घर के लिए रवाना हो गया.

यह बात उन दिनों की है जब मेरा दोस्त पूनम को लेकर मेरे कमरे पर आता था. तभी एकता ने प्रमिला से पूछा- क्यों आज तो मुँह में गटक लिया, पहले तो कभी किसी का लंड लास्ट स्टेज में मुँह में लेती ही नहीं थीं, सब अपने मम्मों पर ही या फिर कंडोम में ही निकलवा लेती थीं … आज क्या हुआ ऐसा?प्रमिला बोली- यार जो तूने बोला था … ये घोड़ा तो उससे भी ज्यादा निकला.

मैंने सोच लिया था कि तुम अगर मुझ पर ट्राई करोगे तो मैं तुम्हें अपना सब कुछ सौंप दूंगी.

जब से मैं अपने पति के दोस्त से चुदी थी, तब से मेरा बहुत ज्यादा मन किसी दूसरे आदमी से चुदवाने का करने लगा था.

मैं- प्रिया, मैं इंसान हूँ … जानवर नहीं हूँ … मैं आपका दर्द समझता हूँ. मैंने उनको अपना तौलिया देते हुए कहा- आप ये तौलिया ले लो और बाथरूम में चली जाओ, मैं तब तक आपके लिए चाय बनाता हूँ. पटेल का दोस्त बोला- तुमने सही प्लान बनाया … तेरा प्लान सक्सेस हो गया.

उसने मुझसे मज़ाकिया लहज़े में पूछा- कहीं किसी से प्यार तो नहीं हो गया आपको?और यह सुन कर मेरा दिल की धड़कनें बढ़ गयी. भैया की हालत ना कुत्ते जैसी थी कि हड्डी मिली, पर उठा के रख लिए हो और खा ना सके. इसके बाद यदि मैं लंड की बात करता हूँ, तो लड़कियां भाभियां और आंटियां ध्यान से पढ़ लें कि मेरा लंड 7 इंच लंबा और 4 इंच गोलाई में मोटा है.

कुछ देर तक मामी को मनाने के बाद मैं अपने हाथ से गांड के छेद को सहलाने लगा.

अब मैं और डेविड झड़ने वाले थे और फच्च फच्च की आवाज़ बदल कर अब लिक लिक लिक की आवाज आने लगी. अगले 3 दिन बाद क्या हुआ और मैंने क्या गिफ्ट दिया सलहज को … और उसने मुझे कैसे खुश किया, वो सब अगली कहानी में बताऊंगा. पास के एक गांव में एक घर किराए पर लेकर 3 और साथियों के साथ रहने लगा.

मैंने कहा- आपको मज़े लेने हैं तो इसमे मैं आपकी क्या हेल्प कर सकता हूँ?तो उन्होंने कहा- ज्यादा बनो मत, मैं तुम्हारे और नेहा के बारे में सब जानती हूँ. वाणी बोली- बड़े स्मार्ट हो यार … गर्म भी कर लिया और लगा भी दिया … काश हमारे पति भी ऐसे होते. थोड़ी ही देर में हम पार्किंग में पहुंच गए, तब उस महिला ने मुझे लिफ्ट के पास जाकर इंतजार करने को बोला.

दूसरे दिन मेरी सहेली ने मुझे एक पड़ोसी के बारे में बताया, जिससे मेरी सहेली चुदवा चुकी थी.

मैं धीरे-धीरे सोनू के पेट पर हाथ फिराने लगा, पेट पर हाथ फिराते फिराते मैं अपनी उंगलियों को थोड़ा स्कर्ट के इलास्टिक के अंदर तक डालकर फिराने लगा. अब इंदु बेड के नीचे आ के बेड को पकड़ के झुक गयी और मैं उसकी चुत में फिर से लंड डाल कर अन्दर बाहर करने लगा और मजा लेने लगा.

बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर दूसरे दिन मेरी सहेली ने मुझे एक पड़ोसी के बारे में बताया, जिससे मेरी सहेली चुदवा चुकी थी. उसके बाद उसने मेरी बीवी को करवट से कर दिया और उसके पीछे जाकर लेट गया.

बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर हमने बड़ी बेतकल्लुफी से कहा- चौबे जी, मुझ गरीब को कौन अपनी बेटी देगा, न तो मेरे खानदान का पता है और न ही माँ बाप का. मैं देख कर और घबरा गई क्योंकि जो उसके हाथ में थी, वह उस झाड़ी के पीछे गुम हुई मेरी पैंटी थी.

आंटी का भी शायद मूड बन गया था, वो तब भी मुझसे बोली- यदि ये सब मेरे पति को मालूम हो गया, तो वो आपको मार देगा.

वीडियो सेक्सी दिखाओ वीडियो

मैंने तभी अपना लंड बाहर निकाल लिया, तो वो बोली- क्या कर रहे हो?मैंने उसे सीधा लेटने को बोला. मैंने भी हंसते हुए उनका हाथ पकड़ लिया- लगता है भईया जी, पैसे कमाने के चक्कर में अपने घर का खजाना लुटा देंगे … आप इतनी खूबसूरत हो भाभी जी, कौन मर्द भला, घर से बाहर रह सकता है. आख़िरकार उन्होंने मेरा लंड पैन्ट में से निकालकर चूसना शुरू कर ही दिया.

मेरी किसी विदेशी मर्द से चुदने की पुरानी ख्वाहिश आज पूरी हो रही थी. शांत होते ही उसका लिंग सिकुड़ कर बाहर आ गया और उसके निकलते ही चिपचिपा पानी मेरी योनि से बह निकला, जिसमें सफेद वीर्य के हिस्से भी थे. कुछ समय तक यूं ही आराम करने के बाद मैंने मामी से कहा- मामी, आपकी चूत को चोदने का जो मजा आया है, वो वास्तव में गजब का मजा था.

उसने बस इतना कहा और मेरे उत्तर का इन्तजार किये बिना घर में अन्दर घुस आया.

जब मैंने पूछा- भाभी, आपको चुदवाये कितने दिन हो गए हैं?तो भाभी उदास हो गई और कहने लगी- मुझे नहीं पता कितने साल हो गए हैं, जब यह छोटा हुआ था उसके बाद हमने एक दो बार किया है. मैंने सुनील जी को अपनी तरफ खींचा और उनके लोअर को उतारने लगी- मेरे राजा, तुम भी तो दिखाओ अपना हथियार … जिसकी कल मैंने तस्वीर देखी थी और देखने के बाद फुद्दी में आग लग गई थी. एक दिन मेरे मामा ने मुझे कोचिंग करने के लिए बोला तो मैं भी हां बोल दिया.

मैं चुप रही तो उन्होंने अपना नंबर मुझे दिया और बोले कि अगर विश्वास हो तो कॉल कर लेना. वो बेडरूम की तरफ चल पड़ी उसकी कॅट्वाक देख कर रवि का लंड और खड़ा हो गया. उसका लंड मस्त था वो धीरज के लंड से कुछ मोटा ही था जिसे देख कर मैं खुश थी कि आज जब मोटा लंड अंदर जाएगा तो लंड को इतने जल्दी से नहीं पता लगेगा कि इस चूत में पहले भी लंड जा चुका है.

एक दिन मेरे बॉयफ्रेंड ने मुझसे कहा कि हम दोनों बाहर जाकर ही सेक्स करेंगे. वर्षा बोली- दीदी मैं जब तक जिन्दा हूँ, आपको कुछ भी नहीं होने दूंगी.

इसके बाद मैं भाभी की ब्रा को फाड़ कर अलग करते हुए उनके मम्मों को चूसने और दबाने लगा. फिर खुद को समझाने के लिए यही सोचा कि हो सकता है दोस्तों के बीच कहीं बिजी होंगे इसलिए. मैं बोला- यार तुम अन्दर चल सकती, तो तुमने जो नहीं सोचा होगा, वो भी होगा.

लता बोली- ट्राई जल्दी करनी है, दो-तीन दिन में मेरे हस्बैंड टूर से वापिस आ जायेंगे, उनके सामने या किसी पड़ोसन से यह बात न कर ले.

जब मैं उनके घर पहुंचा, तो देखा वो मैक्सी पहन कर बैठी थीं और बच्चे को पढ़ा रही थीं. मैं भाभी के बड़े-बड़े कूल्हों को हल्के से दबाने लगा और किस करते हुए भाभी के साथ वहीं बेड पर लेट गया. पापा करवट लेकर अपनी एक टांग को मम्मी के पट पर रखकर कभी मम्मी का चूचा सहला रहे थे तो कभी मम्मी की चूत पर हाथ फिरा रहे थे.

मैं बेड से नीचे उतरा और भाभी को बेड के किनारे पर घसीट कर उनकी चूत में दोबारा लंड डाल कर उन्हें पेलने लगा. वो मुझे दीवानों की तरह छाती पे किस कर रही थी और मेरे निप्पल से खेल रही थी.

उसके बदन की महक से मानो वक़्त जैसे ठहर गया, हवाओं में ठंडक सी महसूस होने लगी. पर मुझे न तो मैडम ही दिखाई दी और न ही ‘सर’कहाँ हैं मैडम?” मैंने पीऊन से पूछा।अंदर चली जाओ. एक दिन मैं दोपहर को उठी, तो देखा चाचा कमरे से बाहर गए हैं और बाकी के सब लोग अपने काम से बाहर गए थे.

साड़ी में भाभी की सेक्सी वीडियो

अब समाज की नज़रों में तो हम दोनों भाई-बहन थे इसलिए मेरे सामने बड़ी मुसीबत आकर खड़ी हो गई थी.

दो घण्टे तक इंतजार के बाद भी जब हितेश नहीं आए, तब मैं अपने कमरे से निकल कर बाहर देखने आयी. हमारे बीच में जो कुछ भी हुआ वो मुझसे भूला ही नहीं जा रहा था और मुझे बार-बार सुषी की याद आने लगी थी. अब समझ में आया कि वो शुरू से ही मेरे साथ क्यों अजीब बर्ताव कर रहा था.

उसने बातों ही बातों में ये भी बताया कि हर बार जब वो ये काम करती है, तो उसे लगता है कि उसका बलात्कार हो रहा है. हम दोनों को जब भी मौका मिलता था, तो हम दोनों एक दूसरे से बात करने के लिए अपने घर के पीछे के बगीचे में मिलते थे. ऑडियो की बीएफउसकी पीठ को पकड़ कर एक जोर का धक्का मारा और पूरा लंड उसकी चूत में उतर गया.

दलअसल जिस बिल्डिंग में हम रहते थे, उसी में दो फ्लोर ऊपर एक ऐसा फ्लैट था, जिसमें हमारे ही ससुराली रिश्तेदार रहते थे लेकिन नौकरी के चलते वह दो साल से आउट ऑफ कंट्री रह रहे थे. मैं अपने पड़ोसी लौंडे के साथ रूम में आ गई और हम दोनों लोग एक दूसरे को किस करने लगे.

मैंने बेड में देखा तो मेरी चुत का और गांड का बहुत सारा खून निकला पड़ा था. मुझे एक ख्याल आया, मैंने उससे पूछा- चॉकलेट है क्या तुम्हारे पास?वो बोली- नहीं है … लेकिन क्यों चाहिए तुमको?मैं बोला- चूत पे लगा कर तुम्हारी चूत चाटनी है. दोस्तो, पर्सनल कारणों से मैं इस कहानी की नायिका का नाम और जगह के नाम काल्पनिक ही लिखूंगा ताकि किसी की पहचान छिपी ही रहे.

वो बोली- तुम बताओ मैं क्या करूं, हस्बैंड घर में भी पुलिसिया रौब में रहते हैं. मैंने कहा- अगर ठीक नहीं हुआ तो तुम्हारा क्या होगा?वह धीरे धीरे रोने लगी- वह मुझे मारता भी था. उनका बेड दरवाजे से बिल्कुल सामने था कोई आता भी, तो भाभी उसे झुके झुके चुदते टाइम आसानी से देख सकती थी.

जिसका सबूत है मेरा मेल बॉक्स, जिसमें मेलों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

बाद में पता चला कि पहली वाली तो मेरे घर से केवल 25 किलोमीटर दूर ही रहती थी. प्रमिला के होंठों से भी किस कर के उस के मुँह पर भी रस लगाने में लग गई.

कुछ देर यूं ही मस्ती करने के बाद हम सभी अपने अपने घरों को वापस आ गए. मीशा अब भी दर्द से कराह रही थी और बार बार मुझे धीरे धीरे करने का आग्रह कर रही थी. मैंने अपना ब्लेज़र और डॉली ने गुजराती घाघरा चोली पहनी … वही पूरी पीठ प्रदर्शित करने के लिए … और इस चोली में आगे भी लोकट गला था, जो बूब्स दिखाने के लिए बड़ा ही मस्त था.

मैनेजर ने मेरी बीवी का इंटरव्यू लिया और मेरी बीवी इंटरव्यू में पास हो गई. उनका 3 साल पुराना जितना पानी इकठ्ठा हो गया था, उन्होंने सब मेरी चूत में निकाल दिया. मैंने उसकी जांघें ऊपर उठाईं, तो देखा कि उसकी चूत थोड़ी चौड़ी हो गयी थी.

बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर थोड़ी देर उसकी चुत में लंड पेलने के बाद मैं नीचे लेटा और वो मेरे लंड के ऊपर बैठ गई और खुद से पूरा लंड अपने चुत में लेने लगी. हमारे कॉलेज का वह आख़िरी दिन था और मैं नीरू से आख़िरी बार मिल रहा था.

सेक्सी फोटो हीरोइन की सेक्सी

ये सुनते ही उसने मुझे जकड़ लिया और कहने लगी- आह … शुभ मैं भी तुमको बहुत चाहती हूँ. हम दोनों बिस्तर पर 69 पोजीशन में थे, तो वो अपनी जीभ और उंगली से मेरी चूत को कुरेद रहा था. अगले दिन मिशिका कॉलेज जाते समय अपना मेक-अप किट बैग में डालकर निकली.

सलहज ने कहा- जीजा जी घर में मेरी फिक्र भी किसे है, चाहे बीमार पडूँ या भाड़ में जाऊं. या फिर कुछ मौसम और मेरे सहकर्मियों की बातों का असर था कि मुझमें चुदाई की तीव्र इच्छा जागृत हो गयी थी. हिंदी में सेक्सी हिंदी में बीएफइधर नीचे मेरा लंड भी अपने आकार में आ गया था, जो डॉली के हिप्स पर महसूस हो रहा था.

सीमा ने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी जांघों के बीच में दबा दिया और मैं उसकी चूत में जीभ को घुसाने की कोशिश करने लगा.

तो उन्होंने कहा कि हल्दी के दूध से कामशक्ति मिलती है और मैं तुमसे अपना बच्चा चाहती हूँ. इस बारिश में किसी के आने-जाने को कोई खतरा नहीं था इसलिए फ्लैट का दरवाजा भी खुला ही रह गया था जिसकी कोई चिंता नहीं रही यानि चुदाई का खुल्लमखुल्ला खेल चरम पर आ गया था.

उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था जैसे मानो आज ही शेव किया हो, हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए. मेरी पिछली कहानी थीअपने पड़ोसी के मोटे लंड से चुदीअब मैं अपनी कहानी सुनाने जा रही हूँ. आगे बढ़ने से पहले मैं यह जानने की कोशिश कर रहा था कि यह खुलकर सेक्स क्यों नहीं करना चाहती है.

उसकी मोटी सी टांगों की वजह से आंटी की संकरी चूत में मेरे मोटे लंड को अन्दर जाने में मुश्किल हो रही थी.

मैंने सुनील जी को अपनी तरफ खींचा और उनके लोअर को उतारने लगी- मेरे राजा, तुम भी तो दिखाओ अपना हथियार … जिसकी कल मैंने तस्वीर देखी थी और देखने के बाद फुद्दी में आग लग गई थी. तभी वहाँ पर भैया का लड़का आ गया, मैंने झट से अपना हाथ सही किया और फिर वैसे ही सो गया और ऐसे दिखाने लगा जैसे कुछ भी नहीं हुआ हो. फिर एक गुड़गांव का लड़का मिला जिसने मेरी सच्चाई जानने के बाद भी मुझसे बातें करना जारी रखा.

टाटा की बीएफउसका लंड सिकुड़ कर छोटा सा हो गया था और मेरी चूत से उसका वीर्य बहने लगा था। हम दोनों के ही शरीर से पसीना बह रहा था। उस रात राहुल ने मुझे सुबह 5 बजे तक कई बार चोदा।वो सब मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगी कि राहुल ने उस रात और क्या-क्या किया. मैंने अपने होंठ उनको मुलायम होंठों पर रख दिए और उन्हें चूसता रहा, वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

इंडियन वूमेन सेक्सी वीडियो

मैंने बोला- तुम्हारी कोई फ़्रेंड सहेली के घर मिल सकते हैं?उसने बताया- मेरी दो फ्रेंड हैं, जिसमें एक की टीचर की जॉब इसी शहर में होने की वजह से वो पास वाली बिल्डिंग में एक फ्लैट में किराए पर रहती है. वो समझ गयी थीं कि अब ये चुदाई, उनकी चूत का कुंआ मेरे मोटे लंड के पानी से भरने के बाद ही रुकेगी. मामी ने पूछते हुए कहा- तुम बलदेव के लड़के हो न?तो मैंने कह दिया- हाँ.

मैं बेड के ऊपर लेट कर सोनू की चूत का क्लिटोरिस मसलने लगा और धीरे-धीरे एक उंगली उसकी चूत के छेद में भी चलाने लगा था. चूँकि घर पर मैं था, तो किसी को भाभी के घर पर रुकने से कोई ऐतराज़ नहीं हुआ. वे पापा को समझा रही थीं- आप गुस्सा ना हो, आजकल के लड़कों में तमीज नहीं होती … आप हल्ला मत करो, हमारी ही मोहल्ले में इज्जत चली जाएगी.

मैंने कहा- दीदी क्या मैं आपकी चुत चूस लूँ?दीदी ने कहा- हां क्यों नहीं … लेकिन तू उसे चुत मत बोल, मुझे अच्छा नहीं लगता … तू उसे बिल्ली बोला कर. पहले तो मेरे पापा ने बोला- उनको कैसा लगेगा कि फैमिली से कोई नहीं गया और ये जाएगा, तो कैसा लगेगा. ज़रीना बोली- छी: यह कोई मुँह में लेने की चीज है? घिन नहीं आएगी क्या?इससे पहले मैं कुछ कहता, सारा बोली- इसको मुँह में लेने का तो अपना अलग ही मजा है मेरी बहन.

उसके आते ही मैंने उसे ज़ोर से हग किया और एक दूसरे को किस करने लग गए. मैंने भाभी से कहा- भाभी, मैं मुन्ने को सुला देती हूं।भाभी ने कहा- अरे रहने दो.

जैसे ही मैंने दरवाजा खोला पूनम अपनी शादी के लिबास में खड़ी मुझे खा जाने वाली नज़रों से घूर रही थी.

यह कहानी बहुत छोटी है, पर यह सच है कि मैंने अपनी जिंदगी के सिर्फ दो सच आपको बताएं हैं. बीएफ सेक्सी सरदार वालीतो आंटी ने बोला- एक शर्त पर नहीं करूँगी।मैंने कहा- क्या शर्त है बताओ, मैं सब शर्त मानने को तैयार हूँ।फिर आंटी ने कहा- तुमको मुझे भी चोदना होगा. देसी बीएफ लोकलकुछ देर तक मामी को मनाने के बाद मैं अपने हाथ से गांड के छेद को सहलाने लगा. मम्मी- क्या बात है कल्पना, आज तू सब्जियां क्यों लायी?मैं- आप लोग शादी में जा रहे हो और पता नहीं कब तक आओगे, अगर आपको आने में लेट हो गया, तो कल सुबह ही मार्केट भागना पड़ेगा इसलिए लेकर आ गयी.

इतने में उसने मुझे पीछे हाथ करके रुकने के लिए बोला, मुझे समझ नहीं आया, पर मैं रुक गया.

जब मैं उनके घर पहुंचा, तो देखा वो मैक्सी पहन कर बैठी थीं और बच्चे को पढ़ा रही थीं. मैंने उसकी कमर को अपने दोनों हाथों से पकड़ रखा था और ‘दे दनादन …’ अपना लंड उसकी चूत में दिए जा रहा था. इसके बाद बॉस ने मेरी बीवी की ब्रा की स्टेप खोल दी और मेरी बीवी की 34 साइज की चूचियां हवा में फुदकने लगीं.

जी … मुझे नहीं पता कुछ भी …” मैंने शर्मिंदा सी होकर जवाब दिया।अच्छा … तुझे अब कुछ भी नहीं पता … यू. मैंने आँखे मूंदीं हुई थीं और कब उसके होंठ मेरे लबों से चिपक गए पता ही नहीं चला. इस तरह मनोहर ने धीरे-धीरे लंड चूत में सेट किया और कुछ देर बाद मैंने उसकी बाहों में बाहें डाल दीं तो वो समझ गया और ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा.

सेक्सी फुल एचडी फिल्में

पैंटी के ऊपर से ही बहुत तेजी से आशीष अपनी उंगली चुत पर डालने लगा, चलाने लगा. चूंकि मैं उससे काफी छोटा था और वह मुझसे उम्र में सात साल बड़ी थी, वह बचपन से ही मुझ पर नजर रखे हुए थी. मैंने प्यार से चुत को ऊपर से ही को सहलाया … फिर मैं उनके होंठों को चूमने लगा और वह भी मेरा साथ देने लगीं.

कौशल्या मेरी गोद पर बैठी थी, उसने मुझे दूध पिलाया और पूछा- क्या हुआ मास्टर जी मेरे लिए कुछ लाने वाले थे आप?अरे हां मेरी रोसोगुल्ला …”मैंने वियाग्रा की एक गोली कौशल्या के ग्लास में डाल दीं.

तो तुम्हारा क्या हाल होगा? और पहली पहली बार है, तो थोड़ा दर्द तो होगा ही ना, अभी थोड़ी देर में कहोगी कि जोर जोर से मारो, धीरे धीरे में मजा नहीं आ रहा.

इसके बाद तीनों ने अपने अपने कपड़े पहने और औरत ने गीले कपड़े से मेरी बीवी के शरीर पर उनके लंड के पानी के निशान मिटाने शुरू कर दिए. शौहर के जाने के बाद मुझे बहुत दिनों के बाद मेरे हाथों ने लंड को छुआ था. बिहार सेक्सी बीएफ एचडीज़िन्दगी का असली मज़ा तो यही होता है। मैं राहुल के सिर को पकड़कर कर अपनी चूत में दबाये जा रही थी। ऐसा मज़ा मैंने आज तक नहीं लिया था.

मैंने कहा- अगर तू पेट से ही गई तो?दीदी ने कहा- ओह ओओओओ नहीं तू डाल दे … मैं नहीं होऊंगी पेट से. मैं अपना मुँह ऊपर कर के दोनों हाथ से डॉली का मुँह लंड पर दबाने लगा. मैंने तुरंत ब्रा के अन्दर से उसके गुलाबी चूचुक को दबा लिया और धीरे से मसलने लगा.

ऊपर से मैं हमेशा टाइट कपड़े पहनती हूँ, जिससे मेरे कटावदार एंड और अधिक सेक्सी लगते हैं. लेकिन हम दोनों इस पोजीशन में ज्यादा देर तक चुदाई नहीं कर सकते थे, तो मैंने वाणी को ऊपर खींचा और अपनी गोद में बैठा लिया.

मदन की मां- मैं कुछ समझी नहीं, थोड़ा अच्छे से बताओ ना?मैं- कम से कम हम दो, हमारे दो होने चाहिए, इससे परिवार थोड़ा भरा पूरा लगता है.

एक दिन मम्मी पापा को किसी शादी में जाना था, तो मैंने पहले से ही तैयारी कर ली कि आज तो अपनी चूत में गाजर या बैगन डाल कर मज़े लूँगी. उसके इतना कहते ही वाणी उठी और वहीं लगी अलमारी में से एक डिल्डो वाली बेल्ट निकाल कर पहन ली. मैं तुम्हें जानती भी नहीं हूँ, फिर भी तुम्हारा लेटर पढ़ने के बाद से मैं तुमसे मिलने के लिए बेचैन हूँ.

मस्ती बीएफ मैंने सोच लिया था कि तुम अगर मुझ पर ट्राई करोगे तो मैं तुम्हें अपना सब कुछ सौंप दूंगी. ’राजिंदर के धक्के तेज़ हो गए और फिर उसने मेरी गांड अपने मर्द जल से भर दी.

अब मैंने उसका सिर पकड़ कर लंड मुँह में अन्दर बाहर करने लगा और 7-8 मिनट बाद मैं भी उसके ही मुँह में ही झड़ गया. भाभी- तुम भी मस्त हो … अच्छा कल आओगे ना तुम?मैं- हां कल मैं समय निकाल के जरूर आऊंगा. धीरे धीरे उनकी मस्त आहें फिर से निकलने लगीं, तो मैंने एक लास्ट धक्के के साथ अपना पूरा लंड उनकी बुर में घुसा दिया.

हिंदी सेक्सी चूची

साथ ही नीना ऊपर-नीचे सांस छोड़ने लगी जिससे चूचियां भी ज्वार-भाटा की तरह हरकत करने लगीं. फिर भाभी थोड़ी देर में होश में आकर बोलीं- कुत्ते तूने लंड मेरी गांड में डाल ही दिया. वो मेरी चूत को चोदते हुए रुक गया और अपना लंड मेरी चूत में डाल कर कुछ देर के लिए ऊपर लेट गया.

हालांकि मैं पहले चुद चुकी थी, लेकिन इस बार मेरी चूत में काफी दिनों बाद किसी का मोटा लंड घुसा था. अब नीचे से मुझसे रहा नहीं गया, मैंने अभी तक अपनी पेशाब को रोक के रखी थी.

मैं बोली- आह्ह्ह किशोर लंड पेल दो ना … क्यों तड़पा रहे हो जान … आज तो मुझे ऐसा चोदो उथला पुथला कर कि महीनों तक चुदाई का मन ही ना हो.

वह बोला- तो फिर ये भी बता दीजिये क्या अच्छा लगा आपको मेरे अंदर?मैंने कहा- आपके बात करने का अंदाज मुझे बहुत पसंद आया. ज़रीना मेरे बराबर में लेटकर लंड हाथ में लेते हुए बोली- हुँह, अब यह क्या मारेंगे, इनके लंड की हालत तो देखो, सूख कर मूंगफ़ली की तरह हो गया है. अब मैं अपनी ज़ुबान उसकी चूत में भी डाल रहा था और ज़ुबान से सारा को छेड़ रहा था.

इतना सुनकर चौबे जी तो एक बारगी सफ़ेद हो गए, परन्तु दोनों लड़कियों के माँ बाप ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. अभी तेरे भाई को बोलता हूँ, कहीं अच्छा रिश्ता ढूंढे … तेरा भाई तो कब से कह रहा है, पर मैं ही उसको टालता रहता था कि माया अभी छोटी है. मैं- हाँ ठीक है, मेरा व्हाट्सएप नंबर यही है, जिस पर आपने कॉल किया है, आप इसी नंबर पर मैसेज भेजिए.

वो कभी कभी मेरी गर्दन को किस कर रहा था और साथ ही में तेज झटके लगा कर मेरी चूत को चोदे जा रहा था.

बीएफ हिंदी में इंग्लिश पिक्चर: फिर मैंने अपना हाथ थोड़ा सा साइड में कर के नीचे से उसके टॉप के अन्दर ले गया और उसकी ब्रा के ऊपर से उसकी चुचियां दबाने लगा. उसने अगले ही पल मुझे अपनी बांहों में लेकर बोल दिया- भाभी, मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ.

फिर जब अन्तर्वासना पर बहन भाई की चुदाई की कहानियां पढ़ीं, तो मेरे मन में भी कुछ हिम्मत जागी और मुझे अविका की चुदाई करने की लालसा बढ़ गई. मैं बार-बार पेंटी के आस-पास चूम रहा था लेकिन चूत को बिल्कुल नहीं छू रहा था. मैं कसमसा गयी और उसे देखने लगी।वो बोला- ऐसे क्या देख रही है?मैंने कहा- आराम से दबाओ।वो हंसने लगा और फिर उसने मेरे दोनों बूब्स ज़ोर से भींच दिये.

भाभी ने नीचे बैठ कर मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया और फिर से लंड ने अपना भीमकाय रूप धर लिया.

मैंने भी थोड़ी कामुक सी नज़रों से सुनील की तरफ देख कर बोला- जो आप दोगे, वही ले लूंगी. मैंने जल्दी से अपने कपड़े पहने और बाहर ड्राइंगरूम में बैठ कर टीवी देखने लगा. अब मन की ख्वाहिश पूरी करने के लिए चुत को दुकान से तो खरीद नहीं सकते थे.