सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,शुद्ध भोजपुरी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्यूटी पार्लर मसाज: सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो, मेरे अन्दर ना जाने चूत में कैसी उबाल सी उठी कि मुझे कुछ भी समझ नहीं आया.

ವಿಡಿಯೋ ಸೆಕ್ಸ್ ಓಪನ್

मुझे लगा कहीं ये लोग सबको बता देंगे, तो मैं किसी को मुँह कैसे दिखाऊंगी. ब्लू फिल्म सेक्सी हिंदी पिक्चरजब स्कूटर पर चलते चलते सहन शक्ति जवाब देने लगी, तो एक साइड में रोककर.

भाभी कहने लगी- राज! अब आप अपने कमरे में चले जाओ, बहुत देर हो चुकी है. हिंदुस्तानी बीएफ हिंदुस्तानी बीएफमुझे न जाने क्यों एक बात समझ आ गई थी कि इसकी चूत को सबसे बाद में चूमूंगा.

उसने मेरे निप्पलों को अपने होंठों में दबा कर खींचा और बाईट किया, तो मैं थोड़ा सिसकारियां लेने लगी.सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो: वो मूंछों वाले दादा साहेब बोले- जल्दी ही कर रहा हूं … नहीं तो तू तो ऐसी गर्म आइटम है, ऐसी माल है कि पहले तो तेरे एक एक अंगों को पहले चाटता, उसे प्यार करता और एक एक अंग को सहलाता, उनसे दो चार घंटे खेलता, तब जाकर तुझे चोदता, पर अभी समय बिल्कुल नहीं है.

मैं अपना लंड अपनी कजिन की कुंवारी बुर में लंड घुसेड़ कर कुछ देर ऐसे ही रुक गया.मैंने उसके साथ अभी तक किस के अलावा और कुछ नहीं किया था, रात को जब वो सभी के सो जाने के बाद मेरी बुलाई जगह पर आई तो हम दोनों में बातें होने लगीं.

सेक्सी बीएफ अमेरिका वाली - सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो

मैं थोड़ी देर बाद घूमने बाहर आ गया कि तभी सामने दिव्या दिखी, जो कुछ परेशान सी लग रही थी.हेमा भाभी ने उस दिन एक घुटनों से थोड़ा नीचे तक का घाघरी टाइप स्कर्ट और स्लीवलेस टॉप पहन रखा था जिसमें वे गज़ब की सेक्सी लग रही थीं.

कुतिया ने भी शायद कुत्ते की रजामंदी भांपनी चाही और पलट कर कुत्ते के लिंग को जुबान से चाटा. सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो उसका नाम तो आप सब भी जानते होंगे- चेहरे की किताब! मगर जो भी हो साइट बड़ी अच्छी है.

जिस दिन मेरे हस्बैंड मेरे साथ सेक्स नहीं करते थे, उस दिन मुझे ऐसा लगता था कि कोई आए और मुझे खूब जोर से चूसे.

सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो?

लेकिन हम दोनों इस पोजीशन में ज्यादा देर तक चुदाई नहीं कर सकते थे, तो मैंने वाणी को ऊपर खींचा और अपनी गोद में बैठा लिया. फिर उसने मेरे कानों को किस किया … लिक किया … बाईट किया और कान में ज़ुबान डाल दी. बाद में उसने मेरी चुत का खून पौंछा और मेरी चुत में लंड फिर से डाल कर आगे पीछे होने लगा.

अन्दर लाल रंग की ब्रा में कैद मेरे कबूतर देख वो पागल से हो गए और मेरी पीठ को चूमते हुए दांतों से मेरी स्ट्रिप खोल दी. यह बात उन दिनों की है जब मेरा दोस्त पूनम को लेकर मेरे कमरे पर आता था. ये नाइटी बहुत छोटी और जालीदार थी, इसकी मैचिंग की ब्रा भी जालीदार थी.

जब मुझे फोन आता तो मैं शिखा को साथ ले लेता था और जब उसे फोन आता तो वह मुझे साथ ले जाती थी. जब मैं लखनऊ से घर वापस आया, तो मेरी गर्लफेंड को मैंने एक दिन चोदते समय रिया के बारे में बता दिया. वो कमरे के अगल बगल देख रही थी और फिर अचानक से कमरे में आकर मेरे बगल में लेट गयी.

अब मुझे सच में चिंता होने लगी थी क्योंकि अगर गर्मियों का मौसम होता तो मैं रात बाहर सड़क पर भी गुजार सकता था. हेमा भाभी बोली- मुझे बेवकूफ मत बनाओ, कई दिन से तुम उसी के पास आते-जाते हो और वह तुम्हारे पास आती है, कोई चक्कर चल रहा है, मैं कई देर से दरवाज़े के बाहर खड़ी बेड के चरमराने की आवाजें सुन रही थी.

मैंने कहा- क्या पहली और क्या दूसरी … इसके साथ तो इतनी रातें गुजारी हैं कि अब कोई खास बात नहीं रह गई.

वो मुझसे पूछने लगा- सर आप मदन से इतने घुल मिल कैसे गए?तो मैंने कहा- तू ज्यादा दिमाग मत लगाया कर … और मैंने कहा था न कि अन्तर्वासना पढ़.

आप दोनों को देखा तो पता नहीं कैसे मुँह से निकल गया कि दोनों से ही शादी कर लूँगा और आप मान भी गईं. मैंने माँ को बोला- माँ मुझे अब घूमने जाने का मन है, क्योंकि एग्जाम की वजह से मैं एक महीना कहीं भी नहीं गई हूँ. चूंकि मैं कुर्सी पर बैठा था इसलिए सोनू आराम से मेरे लंड के उभार के ऊपर बैठ गई.

मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी लोगों को मेरी कहानी जरूर अच्छी लगेगी. अब इतना अंदाजा तो मुझे भी था कि एक जवान लड़की और एक बूढ़ी औरत की आवाज में कितना फर्क होता है. अच्छी बात ये थी कि आधी रात का समय था, कोई हमें इस तरह देखने वाला नहीं था.

उसने कुछ पल सोचने के बाद बताया कि वह दो दिन की सर्विस के दस हजार रुपये दे सकती है.

जब चूत से पानी आने लगा, तब मैंने पहले सबसे पतली सी गाजर को उठाया और उसे लंड इमैजिन करके जैसा पोर्न वीडियोज में देखा था, वैसे ही फील करने की कोशिश करते हुए मुँह में डाल कर अन्दर बाहर करने लगी. उसने खुद को ढीला छोड़ दिया और अपने मम्मों को मसलवाने का मजा लेने लगी. सबसे सुंदर सबसे प्यारी और सबसे सेक्सी यह तुम्हारी खूबसूरत नाक है, इससे सुंदर नाक मैंने अपनी जिंदगी में नहीं देखी.

वो मेरी आंखों में आंखें डाल कर बोला- तुम तो बहुत प्यासी हो, तुम्हारी आंखें बता रही हैं कि तुम्हारा बहुत ज्यादा मन है बंध्या. मैंने भाभी का हाथ पकड़ा और उन्हें समझाया कि भाभी मैं यह बात किसी को नहीं बमामांगा. मैंने भाभी की चूत को देखा और पल भर की देर किए बिना ही भाभी की चूत पर अपने होंठ रख दिए.

उसने मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और एक बार सहला कर फिर मेरे लंड को अपने मुंह में डाल लिया.

जैसे ही मैंने दरवाजा खोला पूनम अपनी शादी के लिबास में खड़ी मुझे खा जाने वाली नज़रों से घूर रही थी. कुछ देर बाद चुदास फिर से चढ़ गई, तो मैंने अपना लंड निकाल लिया, जिसे वो देखती रह गई.

सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो मेरी बीवी के दोनों संतरे दबा दबा कर उसके निप्पलों के दूध को चूसने की कोशिश कर रहा था. उसने मेरी गांड में लंड डाले हुए आने हाथ आगे बढ़ाए और मेरी चोली के ऊपर से ही मेरे दूधों को पकड़ कर जोर जोर से दबाने लगा.

सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो ”फिर मैंने कौशल्या को एक जबदस्त गुड बाय चुम्मा दिया और कपड़े पहन कर अपने घर चल गया. राहुल मेरी गांड के छेद में भी उंगली कर देते जिससे मैं उछल जाती। मुझसे अब सहन नहीं हो रहा था.

मेरे साथ आज हुआ भी ऐसा ही था कि जगत अंकल, छत्तू अंकल और ठाकुर ने शुरूआत तो की मेरे साथ चुदाई की, पर तीनों ने बस थोड़ा थोड़ा करके मुझे छोड़ दिया.

डॉट कॉम ब्लू सेक्सी

उसके बाद जब जयमाल होने लगी तो मिशिका और राशिका भी दुल्हन के साथ में ही थी. जब मैं उनके घर पहुंचा, तो देखा वो मैक्सी पहन कर बैठी थीं और बच्चे को पढ़ा रही थीं. वो 9 से 5 की ड्यूटी करते हुए टाइम से घर आते और अपने फैमिली में ही टाइम बिताते.

कुछ पल यूं ही रुकने के बाद मेरी सांस लौटी और मैं जैसे ही दर्द से चिल्लाने को हुई, मयूर ने अपने होंठों का ढक्कन मेरे मुँह पर लगा दिया. आ जा … पहले तो तू मेरे पास आ …”जी …” मैं मेडम के पास जाकर नज़रें झुका कर खड़ी हो गयी।ये क्या है?” मेडम ने एक पर्ची मुझे दिखा कर टेबल पर पटक दी. तुम चिंता ना करो! मगर मेरी पति का लंड लेने के लिए तुम्हें फीस देनी पड़ेगी.

उफ्फफ्फ … अब वो पल दूर नहीं जिसका मैं बहुत देर से इंतज़ार कर रहा था.

जब से मेरे हस्बैंड ने मुझे दूसरे आदमी से चुदने की लत लगाई है, तब से मैं बस चुदना चाह रही थी. दोस्तो, सच कहूँ तो उसका खुला निमंत्रण से मेरे लंड महाशय सर उठा चुके थे, लेकिन थोड़ी नौटंकी तो बनती ही है ना. मैं हाँफ रहा था और कोमल ने मेरे सारे वीर्य को अपने अंदर गटक लिया था.

मैं उसके पूरे शरीर पर किस करने लगा और उसके चूचों को जोर जोर से दबाने लगा. पिछले 20 मिनट में तीन बार मिस कॉल कर चुकी है, बस उसको उसके ऑफिस से लेकर सीधे घर और अगले ढाई दिन साला कच्छी तक पहनने नहीं दूंगा उसको. वह बोले- और भी कुछ चाहिए तो बता दीजिए?मैंने पहले थोड़ा संकोच किया, फिर बोली- आप गलत नहीं समझो तो बोल दूं.

मैंने कहा- मामी, अब मैं टी-शर्ट पहन लूं क्या?मामी बोली- हां, और अगर तुम मुझे अकेले में पूनम बुलाना चाहो तो बुला सकते हो. एक दिन मैं रोज की तरह दिल्ली से सोनीपत आया और पैदल मामा के घर जा रहा था.

उसने अपनी अधूरी चुदाई भुल कर मज़ा लेने की सोची और वो वाणी के नीचे बैठ गयी. उनको इस बात की उत्सुकता थी कि भारत में भी इतना लम्बा लंड उपलब्ध है, तो उसे देखा जाए. मेरे पास पहले से ही लैपटॉप था इसलिए पढ़ाई के साथ साथ मैं मूवी वगैरह भी उसी में देख लिया करता था.

सब कुछ तय होने के बाद दोनों घर वालों के बीच एक मीटिंग फिक्स हुई, जिसमें लड़के को और मुझे भी शामिल होना था.

जब उसका लिंग मेरी योनि से स्वयं ही बाहर आ गया तो उसने उठते हुए अपने मोबाइल में टाइम देखा. ’ ज़रीना उत्तेजना में चिल्ला रही थी और अपने कूल्हे उछाल-उछाल कर मेरे धक्कों का साथ दे रही थी. हम दोनों एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं लेकिन हमारे रिश्ते को हम किसी के सामने बता नहीं सकते हैं इसलिए मैंने यह कहानी यहाँ पर पोस्ट की है.

तभी राधिका आंटी कराहते हुए कहने लगी कि सौरभ करते रहो बस … आहह …मैंने आंटी से कहा- मेरा होने वाला है. ”मुझे कोई परेशानी नहीं है … हाँ अगर तुम्हें कोई परेशानी है तो बताओ … अगर कहो तो तुम्हारे लिए दूसरा कमरा ले लूँ?”नहीं कमरे की कोई जरूरत नहीं है … आप बहुत अच्छे है … मुझे आपके साथ कोई परेशानी नहीं … मैं एडजस्ट कर लूँगी.

चौबे जी ने हमें घर में प्रवेश करवा कर, दोनों से चाय बनवाई और पीकर चले गए. मयूर ने मेरी ब्रा को एक झटके से अलग कर दिया और मेरे चूचे हवा में फुदकने लगे. तभी उस नम्बर पर एक मैसेज आया- तुम मुझे बेचैन करके कहाँ गायब हो गए हो, तुम्हारा फोन भी स्विच ऑफ़ आता है.

हिंदी ट्रिपल एक्स हिंदी

बात 2 महीने पहले की है, मेरी गर्लफ्रेंड अनामिका जिसकी उम्र 19 साल और फिगर 30-34-36 का है.

वो कुछ देर में ही फ़िर से चरम पर पहुंचने वाली थी, लेकिन इस बार उसने चुत टाइट करके ऐसे धक्के मारे कि मैं भी उसके साथ ही पानी छोड़ने पर मज़बूर हो गया. मैंने कहा- उस दिन तो मेरे घर पर कोई भी नहीं था इसलिए हम दोनों को वह खूबसूरत मौका मिल गया था. मैंने माँ से पूछा कि मेरे मामा और मामी तो कोई हैं ही नहीं फिर ये कौन आ रहे हैं.

सलोनी- कुछ मत बोलो … बस मुझे अपना बना लो!कह कर उसने अपने पैर हवा में उठा लिए, जितना वो फैला सकती थी, उतने पैर उसने फैला लिए. इसके बाद बॉस ने मेरी बीवी की ब्रा की स्टेप खोल दी और मेरी बीवी की 34 साइज की चूचियां हवा में फुदकने लगीं. बीएफ वीडियो सेक्सी हिंदी मेंइसी के साथ कुछ पुराने फ़िल्मी गाने भी भेजे तब भी उसका अच्छा रिस्पोंस ही रहा.

पापा मम्मी की चूचियां पीने लगे, मम्मी को किस करने लगे, मैं खड़ी-खड़ी देखती रही, मुझे उस दिन कुछ अच्छा लगा. सोच रहा था कि अपने ही जीवन की एक घटना आप लोगों के साथ साझा करूं, मगर एक पाठक की कहानी ने मेरा ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर लिया.

इसके बाद उस औरत ने मेरी बीवी के पेट से वह पानी साफ कर दिया और दूसरा आदमी मेरी बीवी के ऊपर चढ़ गया. मैंने उससे पूछा- कौन चाहिए … क्या काम है?उसने थोड़ी अलग ही भाषा में टूटी फूटी हिंदी में बोला- मुझे नामित ने बुलाया है. मज़ा आएगा न?’‘मुझे तो सोच सोच के ही मज़ा आ रहा है, पूरी गरम हो गयी हूँ.

कुछ ही देर में रिशु ने मिशिका की चूचियों को अपने मुंह में ले लिया और उनको चूसने लगा. पूनम मेरे करीब आई और धीरे से मेरे कान में कहा- आज की रात मेरी सुहागरात है इसी कमरे में … तुम आज रात को यहीं बगल के कमरे में रुकना. मेरी गीली चूत में वो अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे हचक कर चोद रहा था.

फिर मैंने अपने लंड को भी चिकना किया और उसके गांड के छेद पर लगा दिया.

इतना सुनकर चौबे जी तो एक बारगी सफ़ेद हो गए, परन्तु दोनों लड़कियों के माँ बाप ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. जिस्म में ऐसा लग रहा था कि जान तो है ही नहीं, कई पल लग गए यह आभास होने में कि हम दोनों इसी दुनिया में हैं.

फिर आंटी ने मुझे एक दिन अपने घर में बुलाया और बोलने लगी- प्लीज़ मुझे 3 महीने का और टाइम दे दो. अब मैंने एकदम से अपनी जीभ को उसकी चुत पर लगा दिया, तो वो एकदम से कमर ऊपर करने लगी. उसने कुर्ता और समीज के अन्दर से हाथ डालकर मेरे दूध पर अपने हाथ रख दिया और उन्हें जोर से दबाया कि मेरी हल्की सी चीख निकल गई.

पढ़ाई में भी शुरू से ही काफी अच्छी थी तो सब टीचरों की भी पसंदीदा स्टूडेंट थी. मैं उससे मिला, तो वो बोला- आप यहां रुकिए … मुझे जाना ही पड़ेगा, कल से कॉलेज जाना ही पड़ेगा. भैया की हालत ना कुत्ते जैसी थी कि हड्डी मिली, पर उठा के रख लिए हो और खा ना सके.

सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो उसने मेरी चूत की तरफ देखा तो मैंने एक बार पेंटी नीचे खिसका कर उसे अपनी गरम चूत की झलक दिखाई और फिर से चूत ढक ली. तब तक प्रशांत की बाइक आंगन में रुकी और भाग कर वह अपने फ्लैट में गया.

হিন্দি ব্লু পিকচার সেক্সি

मैंने भाभी की सुंदरता की खूब तारीफ की और कहा- हेमा भाभी तो आपके मुकाबले में कुछ भी नहीं है, उसके पट मैंने देखे हैं. उस दिन मैं सारी रात सोनू और उसके यौवन के बारे में सोचता रहा और सोचता रहा कि वह मेरा इतना मोटा लंड अपनी चूत में कैसे लेगी?अगले रोज शाम के 6:00 बजे आकाश में काली घटाएं छाई हुई थीं. भाभी ने अपनी बांहें फैला कर मुझे अपने आगोश में ले लिया और बहुत प्यार करने लगीं.

सारा साल पढ़ाई क्यूँ नहीं की?” उनकी आवाज़ उनके शरीर की तरह ही बहुत भारी थी. बुजुर्गवार दंपत्ति ने आवाज़ दे कर दोनों को बुलाया, तो उन दोनों को ध्यान से देख कर अचानक मुँह से निकला- चौबे जी, मेरा तो दोनों से ही ब्याह करवा दो. तृषा कर मधु का सेक्सी बीएफहोटल के कमरे में लाकर मेरे बॉयफ्रेंड ने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और मेरे होंठों को चूसने लगा.

मैंने सोचा कि भाभी को सॉरी बोलने का अच्छा मौका है तो मैंने उनको सॉरी बोल दिया.

किसी ने उसे अब तक छुआ भी नहीं था।अपनी बहन की चूत को मैं अपने हाथ से खोलकर देख रहा था. राजिंदर मेरी गांड मार रहा था और उपिंदर लंड चुसवा रहा था और दोनों बातें कर रहे थे.

उसके बदन की महक से मानो वक़्त जैसे ठहर गया, हवाओं में ठंडक सी महसूस होने लगी. मेरा लंड पहले ही अकड़ा हुआ था, उसके हाथ लगने से मेरे लंड का रस निकलने वाला ही था. मैं गांड हिलाते हुए लंड लेने लगी और मैंने भैया से कहा- मार और जोर से … और तेज मार … फाड़ डाल.

मैं सुपारे को ऐसा दम लगाकर चूस रही थी कि उसका सारा खून उसमें आ गया था.

मैं ऑफ़िस गया, शाम को लौटकर आते वक्त कॉन्डोम के दो पैकेट साथ लाया, रूम पर आकर नहाया. मैं दूसरी सिगरेट सुलगा कर आराम से लेटे लेटे लंड चुसाई का मज़ा लेता रहा. मैं उस पर चिल्लाने लगा और उसे पकड़ने के लिए बेड से उठा ही था कि वो हंसते हुए दौड़ लगा कर भाग गयी.

सेक्सी पिक्चर बीएफ दिखाओमैंने भाभी के बालों में अपनी उंगली घुमाई और कहा- आज मैं आपको पूरा मज़ा दूंगा. मैंने डिल्डो के बारे में सुन तो रकः था, फोटो भी देख रखी थी मगर असली डिल्डो पहले कभी नहीं देखा था.

क्सक्सक्स बिहारी

लंड की चाहत होने के कारण मैं अपनी गांड में दो या तीन तीन उंगली डाल लेता था … जिस वजह से मेरी गांड खुल चुकी थी. बाकी सब मैं देख लूंगा।ठीक है, मैं आज ही जाकर मना कर दूंगी।”तो ठीक है, आज से हम दोनों दोस्त, अब डाक्टर की कमी आपकी मैं पूरी करूँगा।”क्या मतलब आपका?”भाभी जी, आपके लिए इतना सब कुछ करुंगा तो कुछ मैं भी तो लूंगा, बस एक बार आपको चोदना चाहता हूँ उसके बाद आगे आपकी मर्जी।”मैं कुछ भी करने को तैयार हूं पहले मेरी सारी पिक अभी डिलीट करो।”अभी नहीं मेरी जान. मैक अब मेरे ऊपर पूरा चढ़ गया और उसके लंड से तेजी से बहुत गरम गरम लावा पिचकारी की तरह मेरी चूत में भरने लगा.

एक दिन मैं रोज की तरह दिल्ली से सोनीपत आया और पैदल मामा के घर जा रहा था. मैं इन लोगों की परेशानी समझ गयी, पर मेरी परेशानी कौन समझेगा, यही सोचते हुए मैंने बात की- ये सब तो ठीक है मम्मी जी पर वंश कैसे बढ़ेगा आपका … जब हितेश कुछ करेगा ही नहीं तो?सासू माँ ने लंबी सांस लेते हुए कहा- ये जरूरी तो नहीं ना बेटा कि हितेश ही कुछ करे, तो ही हमारा वंश आगे बढ़ेगा. उसने पूरा खीरा चूत में घुसेड़ लिया और जोर से चुदासी आवाज में बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और जोर से चोद मुझे और जोर से …मैं भी उसका साथ दे रहा था- अच्छे से है चोद रहा हूँ … आह तेरी ये मस्त गांड वाओ … तेरी चूत तो एकदम कातिल है.

मेरी बीवी को अब तक यह नहीं पता चला कि उसकी चूत दूसरे मर्दों के तीन लंड से चुद चुकी है. जब से सीमा हमारे घर पर आई थी हम दोनों में खूब सारी बातें होना शुरू हो गई थीं. सभी लोग जाने लगे। अब सभी लोग छत से जा चुके थे और मैं, निहारिका और उसके दो भाई-बहन छत पर थे। हम लोग वैसे ही कुछ देर तक बात करने लगे.

मुझे कुछ भूख लग आई थी, तो मैं स्टेशन पर बनी कैंटीन पर जाकर उससे एक समोसा लेकर खाने लगा. मैंने अपने बॉयफ्रेंड को कॉल किया और पूछा कि कहां हो आप?तो उसने कहा- मैं अपने दोस्तों के साथ घूमने आया हूं.

मैं ऐसे ही संध्या की चूत को चाटने लगा और वह अपनी आंखें बंद करके मज़ा ले रही थी.

उसने मेरा टी-शर्ट अन्दर हाथ डाले और मेरे स्तनों को मसलने लगा और बोला- मेरी जान तेरे लिए मैं जान दे सकता हूं. बीएफ सेक्स पेजमैं भी कहाँ पीछे रहने वाला था, मैंने भी एक हाथ से संध्या का सिर पकड़ा. एचडी ब्लू मूवीमैंने आंटी की चूत में एकदम अन्दर तक अपनी जीभ डाल दी और चूत को बहुत अन्दर तक चूस रहा था. मैं ज्यादा देर उसकी चूत को चूस भी नहीं पाया क्योंकि मैं उसको अब बस चोद देना चाहता था.

कुछ देर में वो थक गई, तो मैंने उसे सीधा लेटाया और उसके पैर अपने कंधों पर रखकर चोदाई शुरू कर दी.

राहुल बोले- हाँ अमित, संध्या की बात ही कुछ ऐसी है कि हर कोई अपने होश खो दे. फिर मैं उसे बेडरूम में ले गया और उस पर किसी कुत्ते की तरह टूट पड़ा. मैंने पूछा- क्या हुआ?वो बोली- कुछ नहीं मेरी चूत ने भी पानी छोड़ दिया … मज़ा आ गया मुआआह … मस्त एकदम.

मैंने कहा- कौन बोल रही हैं?तो उन्होंने कहा- मैं संध्या बोल रही हूँ. उसकी भरी हुई जाँघें … वाह … जैसे ही उसको चाटा और चूमा, सलोनी ने जोर से सिसकारी भरी- आआआ … ह्ह्ह ह्ह्ह्ह … उफ्फ … बस राहुल बस, उफ्फ …सलोनी पागलों की तरह अपनी कमर को उचका रही थी. तभी उसने दबी आवाज़ में पूछा- कैसी पोज़िशन लूँ?तब मुझे बहुत ही अलग एहसास होने लगा.

भाई बहन की सेक्सी नंगी वीडियो

क्या मतलब है पीछे से आई थी? अभी तुम्हारी शीट से निकली है या नहीं?” उनका लहज़ा बहुत ही सख़्त था. मैंने अपने हाथ को भाभी की कमर से ले जाकर उनके पेट पर फिराना शुरू कर दिया. मुझे अब याद आया।ना जी ना … मैं क्यूँ लूं …? ये आपकी ड्यूटी है … जो करना हो करिए … मुझे कोई मतलब नहीं!” मैडम ने हंसते हुए जवाब दिया।मैं? मैं मर्द भला इसकी तलाशी कैसे ले सकता हूँ मैडम? वैसे भी ये पूरी जवान है! मुझे तो ये हाथ भी नहीं लगाने देगी.

वो मेरी चूत को चोदते हुए रुक गया और अपना लंड मेरी चूत में डाल कर कुछ देर के लिए ऊपर लेट गया.

भाभी ने चड्डी नहीं पहनी थी, मेरे हाथ ने सीधा भाभी के चुत को टच किया.

मेरी किसी विदेशी मर्द से चुदने की पुरानी ख्वाहिश आज पूरी हो रही थी. मैंने उसमें इंटरनेट रिचार्ज भी करवा लिया ताकि मुझे बार-बार मेल चेक करने के लिए साइबर कैफे पर न जाना पड़े. ব্লু ফিল্ম সেক্সি ফিল্মमैंने उसकी पैन्ट में लंड के पास देखा, तो उधर मुझे लगभग 9 से 10 इंच का कड़ा लंड का उभार नज़र आ रहा था.

मैं कुछ बोलना चाहती थी, पर मुँह में लंड होने के कारण बोल नहीं सकती थी. अब मेरे कोई रिएक्शन या आपत्ति ना होने पर उसका विश्वास और हो गया और वह और मुझसे चिपक कर लोगों से नजर बचाकर मेरे पीछे गांड में चुपके से अपना हाथ भी लगाने लगा. उसके बाद सासू माँ ने बोलना शुरू किया:बेटा, तू तो जानती है, हितेश हमारा एकलौता बेटा है … शुरू से ही हमने उसकी परवरिश में कोई कमी नहीं रखी, बहुत ही लाड़ प्यार से पाला है हमने उसे, शुरू से ही मुझे उसकी हरकतें थोड़ी अजीब लगती थीं, तब सोचा कि बचपना है … धीरे धीरे सब सही हो जाएगा, पर जैसे जैसे वो बड़ा होता गया, वैसे वैसे उसकी हरकतें भी बढ़ती गईं.

थोड़ी देर उसकी चुत में लंड पेलने के बाद मैं नीचे लेटा और वो मेरे लंड के ऊपर बैठ गई और खुद से पूरा लंड अपने चुत में लेने लगी. फिर मैंने अपना लंड निकाला और उसकी गांड पे टिका दिया, वो थोड़ी डर गयी.

इस पर उन्होंने कहा- किसी और के पास जाना होता तो मैं तुम्हारे पास क्यूँ आती.

उफ्फ्फ … क्या बताऊं … यार उसने अपनी खुद की सारी मनी मेरे मुँह से साफ़ कर दी. साथ ही उनकी नाइट कंधे से उतार कर नीचे कर दी और उनकी चुचियों को दबाने लगा. उसने अपने एक हाथ से मेरी जूड़ा-पिन खोल दी और मेरे बिखरे केसुओं को पीछे से मेरे कंधों की तरफ आगे ले आया.

सेक्सी बीएफ 2020 की नई मैंने टी-शर्ट निकाल दी और भाभी ने जैसे ही मेरा लोअर नीचे किया, मेरा 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड फनफनाता हुआ बाहर आकर झूलने लगा. साथ ही उसने भी अपनी गति बढ़ा दी और मेरी ताल के साथ ताल मिलाते हुए वाणी की सामने से चुदाई करने लगी.

उस दिन मैंने उसके दूध दबा कर कह दिया था- हां यार, अब इसको कोई नई चूत चाहिए. बड़ी बड़ी गोल चुचियां, कोमल बदन, ऊपर से लाल साड़ी आहह …वो भी जानबूझ कर अपना पल्लू सरका कर जाम बना रही थीं. करीब पांच मिनट के बाद सुषी अंदर आ गई और एक स्माइल देते हुए उसने दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया.

राम रहीम का सेक्सी वीडियो

अगर उन्होंने देख लिया तो मैं मम्मी को मुँह दिखाने लायक नहीं रहूँगी. इसके बाद मैं उसके ऊपर आया और उसकी चुचियों के ऊपर अपना लंड फिराने लगा और उसके मुँह के ऊपर सुपारा रख दिया. बिल्कुल फ्रेश … पर फिर यह ठाकुर लोग क्यों झूठ बोले होंगे, ठाकुर ने तो बोला था कि रंडी है, छिनाल है बुकिंग में ला रहे हैं, पर इसके चूत की झिल्ली अभी फटी है.

दोनों ने अपनी अपनी जगह बदल ली और पद्मा ने बैठे हुए लंड को साफ़ किया और चूस चूस कर उसे खड़ा करके अपने मुँह की चुदाई करवाने लगी. मैं- अब मैं क्या करूँ मम्मी जी? मेरी तो कुछ भी समझ में ही नहीं आ रहा है.

मेरी कजिन को भी मेरे हाथों की हरकत से और लंड की सख्ती से पता चल गया था कि मेरा सेक्स का मूड बन गया है और लंड खड़ा हो चुका है.

फिर जैसे ही उसने दरवाजा खोला, तो मैं भी बाथरूम के अन्दर घुस गया और उसे पकड़ कर उसकी पैन्ट की जेब से रंग निकाल कर उसे लगाने लगा. नहाते वक़्त अपने मम्मे दबाना, पानी की धारा को सीधे अपनी योनि पर मारना और झड़ना एक आदत सी हो गयी. दूसरे दिन शाम को सुजाता और अजय गेस्ट हाउस में रमेश से मिलने चले गए.

उतने में पूनम ने नंगे बदन ही दरवाजा खोला, तो सामने पूनम की वही सहेली खड़ी थी, जिसने मुझे पूनम से मिलने बुलाया था. अब मैं उठा और उसे लिटा कर उसकी चुचियां चूसने लगा, मैं एक दूध चूसता और एक को दबाता, बड़ा मज़ा आ रहा था. मेरा उतना बोलने के बाद थोड़ी देर वो चुप रही, शायद वो अपने दिल से ज्यादा अपनी चूत की आवाज़ को सुन रही थी.

लगभग 25 मिनट तक उसकी चूत और गांड को पेलने बाद भी लंड लोहे की रॉड जैसे खड़ा था.

सेक्सी फिल्में बीएफ वीडियो: पाँच मिनट ऐसे ही रहने के बाद कल्पना का दर्द कम हुआ, तो मैं लंड धीरे से आगे पीछे करने लगा. इधर मैंने उसकी चूचियां चूसना शुरू किया ही था कि सलोनी मेरी जींस खोलने की कोशिश करने लगी.

फ्रेश होकर जब सासू माँ के पास गई, तब उनसे पता चला कि हितेश ऑफिस जा चुके हैं. जैसे चूत से कोई बहुत गर्म गर्म पिचकारी से निकलने को हो और मुझे इसका अहसास भी हुआ. चाचा लंड पर हाथ फेरते हुए बोले- मैं ये सब अपनी लड़की को कैसे समझाऊं.

मार्च का रोमांटिक गुलाबी महीना और उन दिनों बेमौसम की बरसात तो उसे कुछ अधिक ही तड़पा रही थी.

वो जैसे ही मेरे लंड को मुँह में ले कर अन्दर बाहर करने लगी, मुझे लगा कि अभी तुरंत ही लंड छूट जाएगा और हुआ भी वही. दोनों की गांड के नीचे एक एक तकिया लगाया, जिससे उनकी गांड भी साफ नज़र आने लगी. पटेल मेरी पेशाब का एक एक बूंद चाट कर पी गया और बोला- इसकी पेशाब बहुत मस्त है … ये साली बहुत बड़ी चुदक्कड़ है यार.