देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,गे सेक्स ब्वॉय बिग कॉक जींस पैंट देसी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ देसी हिंदी आवाज में: देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो, लंड का पानी झड़ जाने के बाद मुझे राहत मिली और मैं वापस अपने बेड पर आ गया.

सेक्सी वीडियो इंग्लैंड वाली

और मैं इधर सन्जू को किस करते जा रहा था।एकाएक मैंने सन्जू को नाईटी उतारने को कह कर उसकी नाईटी ऊपर से उतार दी, अब सन्जू की चूची पूरी तरह से नंगी थी और काफी आकर्षक लग रही थी, पूरी गोरी गोरी और टाईट, उसके निप्पल पूरे टाईट हो गये था।रोहित उसे कुछ देर निहारता रहा फिर उसकी एक चूची को अपने मुंह में डाल लिया. सेक्सी भोजपुरी लड़कीजीजू- शिवांगी, तुम घबराओ मत, आराम से डालूंगा तुम्हारी चूत में … तुम को जरा भी परेशानी नहीं होने दूंगा.

मैं कुछ देर के लिए उसके ऊपर ही पड़ा रहा तो कुछ देर के बाद वो शांत हुई. इंडियन में सेक्सीअन्दर … और अन्दर वो चलता गया, चूत के लिप्स को खुला रखते हुए क्लिटोरिस को छूता हुआ वो पूरा 8 इंच अन्दर तक चला गया था.

पूरा दिन गुजर जाने के बाद जब रात को सोने का समय हुआ उसने अपने लिये नीचे फर्श पर अलग से बिस्तर नहीं लगाया और मेरे साथ ही बेड पर आकर लेट गयी.देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो: उसी समय अमर ने अन्दर आकर पिंकी को पीछे से पकड़ लिया और उससे लिपट गया.

मैंने उसकी जांघों पर किस करना शुरू कर दिया और वह भी मेरे हर चुम्बन का मजा ले रही थी.उन्होंने अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चुत के मुँह पर लगाया और धक्का लगाने का इशारा किया.

सेक्सी फिल्म हिंदी वीडियो दिखाएं - देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो

पिंकी भी अमर से ऐसे लिपट गई जैसे कोई सांप किसी पेड़ के तने पर लिपट जाता है.मैंने फ़ौरन वसुन्धरा का ऊपर वाला कन्धा (दायां) अपने ऊपर वाले (बायें) हाथ से बिस्तर पर लगा कर वसुन्धरा को सीधा किया और खुद उसके ऊपर चढ़ गया.

पूजा ने मुझसे पूछा- अब तुम बताओ … तुम मेरी गांड कैसे चोदना चाहोगे? तुमको मेरी गांड जिस पोज में चोदना है, बोलो … मैं उसी पोज में आ जाऊंगी. देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो रितेश ने उसे ले जाकर उसके बेड पर उसे लिटाया और कहा कि मैं आपके गीले कपड़े बदल देता हूँ.

अब तक की कहानीमैं सम्भोग के लिए सेक्सी डॉल बन गई-2में आपने पढ़ा कि मैं सुखबीर के साथ सम्भोग करने के लिए सेक्सी डॉल बनकर चुदने को बेकाबू हो चुकी थी.

देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो?

मेरे ऐसा करने से वो पूरी तरह तड़प उठीं और नींद में होने के नाटक में ही चाची ने अपने पैरों को फैला दिया. मैं वैसे तो काफी रईस परिवार से हूँ लेकिन पढ़ाई के लिए मुम्बई में किराये के मकान में रहता हूं. इस पर मायरा शर्मा गई और बोली- कोई बात नहीं भैया, चाचा चाची प्यार कर रहे हैं.

मैंने अपने एक हाथ से एलेक्स को रोकने की कोशिश की लेकिन वो नहीं रुक रहा था. मैं उसकी चूत को सलवार के ऊपर से ही रगड़ने लगा और वो मेरे लौड़े को पैंट के ऊपर से ही हाथ से मसलने लगी. मैं अपनी गांड की खुजली खत्म करने के लिए किसी अजनबी लंड को ढूँढने लगा और एक गे साइट में जाकर मैंने फिर से एक नया अकाउंट बना लिया.

कहाँ मैं उसको चोदने की प्लानिंग कर रहा था मगर वो पहले से ही मुझसे चार कदम आगे निकली. मैंने अपनी रफ्तार बढ़ाई और उसकी चुत में अपने लंड से एक्सप्रेस रेल चला दी. दिलिया ने मेरे लण्ड पर पड़े हरेक नील तो चूमा, फिर प्यार से सहलाते हुए और मैंने दिलिया के लिप्स पर किस किया और कहा- आय लव यू आपा … आपको चोद कर मैं धन्य हो गया!दिलिया निढाल होकर लेट गयी, मैं उसको प्यार से सहलाने लगा और किस करने लगा और बोला- दिलिया, क्या तुमको मजा आया? दर्द तो नहीं हुआ?वो बोली- बहुत मजा आया.

मेरी दोनों टांगों के बीच मेरा लंड कुतुब मीनार की तरह एकदम सीधा खड़ा होकर भाभी की चूत को सलामी दे रहा था. मगर साथ ही इस बात का दुख भी था कि आज मेरा पहला सेक्स होते-होते रह गया.

मेरी भी जांघें सरिता की जांघों से सटी हुई थीं तो मेरी जांघें भी गीली हो गयी थीं.

मुझे ऐसे देख और मेरी हरकतें और चरम सुख की प्राप्ति की कामुक आवाज सुन सुखबीर भी खुद को ज्यादा देर न रोक सका.

बात तो हमारी रोजाना ही होती रहती थी लेकिन खुल कर कोई भी बात नहीं हो पा रही थी. अब जैसा ऊषा ने मुझे बताया वो भी सुनो:मैंने (ऊषा) इतनी ही देर में पूरे कपड़े उतार दिये थे. ‘आह्ह … ओह्ह … जान … यस … आह्ह … मजा आ रहा है … चोदो … और तेज अंश … फाड़ दो….

सुधा बोली- देखो, तुम्हें (ममता को) कहानी सुनाते-सुनाते मैं तो फिर से पिघलने लगी. थोड़ी देर बाद वो मुझसे गले लगकर रोने लग गईं और उनको समझाते हुए मेरा भी गला भर आया. अमर ने कहा- भाभी तुम्हारा हब्बी तुमको कितनी देर तक चोदता है?पिंकी- वो तो बस 3-4 मिनट में ही ढेर हो जाता है और वो भी स्लो स्पीड में.

मैं उसे बोलती रही- और करो आशीष … मुझसे रहा नहीं जा रहा, प्लीज और चोदो मैं तुम्हारी चुदासी होने वाली बीवी हूं … घुसा दो अपना लौड़ा जोर से … ऐसे मुझे तड़पते हुए मत छोड़ो … नहीं तो मैं कहां जाऊंगी … क्या करूंगी … प्लीज आशीष चोदो … तुम्हारे पैर पड़ती हूं, हाथ जोड़ती हूं … मुझे मसल दो, मेरी तड़प मिटा दो डालो अपना लंड … और चोदो जमकर अपनी चुदक्कड़ बंध्या को.

जबकि रिम्पी के दिमाग में ये सब बातें नहीं आती थीं कि मैं उसके घर में इतनी देर से क्यों बैठी हूँ. फिर लंड को बाहर निकाल कर पूरी दम से निशा की चूत में धक्का मार दिया. मैंने भी उसे भरोसा दिया अगली बार जब भी मिलेंगे उसकी इस फैंटेसी को जरूर पूरा करूंगा।तो दोस्तो, यह थी मेरी दूसरी कहानी.

मैंने भाभी के बूब्स को बड़े प्यार से ब्रा के ऊपर से ही चूमना शुरू किया. किसी से चुदवाने का तो मैंने पक्का इरादा कर ही लिया था पर मैं अपनी चूत दूं तो किसको दूं? दो तीन ऐसे ही असमंजस में बीते पर मैं कोई निर्णय नहीं ले पाई. उसने अपने मम्मी पापा से ये कह कर मना कर दिया उसके एग्जाम हैं। मैं चाचा-चाची को बस स्टॉप तक छोड़ आया और उसके घर आकर बैठ गया.

फिर उसने साड़ी पेट तक उठा कर अपनी नाभि और सपाट पेट को दिखाया और कमर को लचकाते हुए मटकाया.

धीरे-धीरे समय बीतता जा रहा था और मैं सोच रहा था कि आज मैं उससे अपने दिल की बात करूंगा … कल उससे अपने दिल की बात करूँगा, नहीं कल तो पक्का ही करूँगा. करन समझ गया कि मैं झड़ने के करीब पहुँच चुकी हूँ। उसने अपनी बची हुयी पूरी ताकत से धक्के मारने शुरू कर दिया और कुछ ही पल बाद फच्च्ह की आवाज के साथ आआहह हह हहहह… के साथ झड़ गयी और उसे अपने से दूर धकेल दिया और वहीं नीचे बैठ गयी और तेज़ तेज़ सांस लेने लगी।उसने बोला- बस मुझे और झड़ जाने दो प्लीज!मैंने हम्म कहा और खड़ी हो गयी.

देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो अच्छा तो ये तुम्हारी और डीओ की मिली-जुली खुशबू है, बहुत ही मादक है ”अंकल ने मेरी दोनों कांखों पर किस किया और दोनों जगह पर जीभ भी घुमाई. कह रही थी- आमिर, प्लीज … मेरी चूत के अंदर बहुत जलन हो रही है, निकालो!मैंने उसकी बात को अनसुना करते हुए अपने काम को करना चालू रखा.

देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो इस कहानी के प्रथम भाग में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी सहेली सोनम के मामा का लड़का मेरे ऊपर डोरे डाल रहा था. मगर भाभी के जिस्म और चेहरे पर शिकन नाम की कोई रेखा मुझे कहीं पर भी दिखाई नहीं दे रही थी.

मैं उस दर्द में भी आनन्द महसूस करते हुए और जोर से चिहुँक उठी और नाखून और चुभा दिया.

जबरदस्त चोदने वाली सेक्सी

मैं समझ गया कि मेरी बहन की जवान बेटी भी वही चाहती है, जो मैं चाहता हूँ. जब पापा के लंड का टोपा मेरी चूत की गहराई में जाकर लगता था तो मैं पापा को अपने ऊपर खींच लेती थी. लेकिन जिम में जाने के कारण उनके लचीले जिस्म ने मेरे लंड को अपनी चूत में अन्दर तक आराम से चले जाने दिया.

उसकी नींद खुल गई और उसने मेरे गाल पर एक किस किया और फिर से मुझे बांहों में लेकर अपनी आंखें बंद कर लीं. मैंने पूछा- क्या हुआ बाबू?उसकी नजर मेरे लंड पर रुक गई थी और आंखें फाड़ कर उसे देखे जा रही थी. उसके होंठों पर लगी पिंक रंग की लिपस्टिक उसकी खूबसूरती में 4 चांद लगा रही थी.

फिर मैंने दूसरे चूचे को भी सहलाना शुरू कर दिया और उसके निप्पल को जैसे ही दो उंगलियों के बीच में लेकर मसलना शुरू किया, निशा मानो तड़पने लगी थी.

मैं बोला- क्यों?रूपा बोली- भैया मुझे डर लगता है … क्योंकि लड़कों पर मुझे जरा सा भरोसा नहीं है. मैंने कहा- कुछ दिक्कत हो गई क्या?वह बोली- वह सब मैं तुम्हें बाद में समझाऊंगी. मैं आपको अपनी कहानी के पिछले भागभाभी की बहन के साथ बिस्तर मेंमें बता रहा था कि मैं भाभी के घर में उनकी बहन निशा की शादी आया हुआ था.

उनकी चुदने की इच्छा तो हो रही थी मगर वह अपने मुंह से नहीं कह पा रही थी. अभी तो आपको बताया था कि वो पटाखा वाला सीन मेरी जिन्दगी में है ही नहीं. मैंने प्रिया की चूत में पीछे से लंड घुसाया और एक ही बार में पूरा अन्दर तक डाल दिया.

सामने से उसकी क्लीवेज दिख रही थी और दूध जैसे गोरे रंग के उरोज़ों की थोड़ी झलक भी मिल रही थी. मैं- आपके दिमाग में आपके लड़के का लंड आता है ना बार बार … क्या कभी ये नहीं ख्याल आया होगा कि उसके लंड से चुदवा लूं?मां- हां ये तो हमेशा आता है … लेकिन आज आपका लंड अपनी चूत में लेने के बाद शायद मैं अपने बेटे के लंड के बारे में न सोचूं.

मेरे दोनों मम्मों को सहलाया और उनको धीरे से पीना शुरू किया जैसे कोई अबोध बच्चा दूध पी रहा हो. भाभी ने कमरे में जाते ही अपनी साड़ी उतार कर एक ओर फैंक दी और बाथरूम में घुस गईं. उसने मुझे किट दिखाई तो मैंने भी उसके चूचे को दबाकर उसे बधाई दी- तुम मां बनने वाली हो.

फिर खानदान में एक शादी आ गई थी, तो घर के सब लोग शॉपिंग करने के लिए बाजार गए थे.

चाय पीते वक्त मैंने अजय से पूछ लिया कि उसने मुझे घर पर क्यों बुलाया वो होटल भी कर सकता था. बाद में कल्पना ने बताया कि नेक्स्ट टाइम वो अपना अधूरी फैंटसी पूरा करना चाहेंगी. कोर्स के 4 महीने बीतने के बाद मैंने कभी उसके चेहरे पर मुस्कान नहीं देखी थी.

फिर जागृति मेम ने मेरा एक हाथ अपनी एक चूची पर रख दिया और दबाने का इशारा कर दिया. सभी भाइयों को मेरी तरफ से नमस्कार और सभी भाभियों, आंटियों और रसीली लौंडियों को मेरा बहुत बहुत प्यार.

तो जागृति मेम ने मुझे ऑफर दिया- तुम मुझे गर्लफ्रेंड समझ कर कुछ करना चाहो, तो कर सकते हो, मैं मना नहीं करूंगी. फिर पापा ने पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया और दे दनादन मेरी चूत को चोदने लगे. मुझे अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ कर इतना ज्ञान तो हो गया था कि अब नहीं तो कभी नहीं.

इंदन सेक्सी

उन दोनों की चुदाई चल रही थी कि इतने में कोई बाहर कोई आ गया और उनको चुदाई बीच में ही रोकनी पड़ी.

सोनल दिशा के मम्मों को किस करने लगी और मैं ये रंगीन नजारा देख कर लंड हिला रहा था. और भाभी पोर्न मूवी जैसे नीचे बैठ गयी, मैंने अपना माल भाभी के मुँह में गिरा दिया और भाभी उसे पूरा पी गयी।भाभी- आह तेरा माल मस्त है, पीकर के मज़ा आ गया।उसके बाद हम दोनों साथ में नहाये।और वहाँ एक बार और मैंने भाभी को चोदा। मैंने उनकी गांड भी मारी शैम्पू लगा के उनकी गांड में! उसके बाद उन्हें तकलीफ हुई चलने में तो मैं उन्हें सहारा देकर बेड तक ले गया और कपड़े पहने. उनकी इस हरकत से मेरी ध्यान लगाना मुश्किल हो रहा था, तो मैंने हल्के से भाभी के चूतड़ पर काट लिया, जिस वजह से उनकी आह निकल गयी.

साथ ही साथ मामी का अंगूठा मेरी गांड में तेजी से अंदर-बाहर हो रहा था. प्रिया ने मेरी तरफ देखा और हंसती हुई बोली- क्या चाहते हैं आप मुझसे?मैं- वो जो तुम्हारी पैंटी में है. ससुराल बहू का सेक्सी वीडियो हिंदीफिर कुछ देर में मैं अपने लंड को हिलाने लगा और ट्रेन की तरह अपनी स्पीड को बढ़ाने लगा.

वो तो सेक्स की चुल्ल ऐसी होती है कि चुदाई के समय न जमीन के कंकड़ गड़ते हैं और न कपड़े खराब होने की परवाह होती है. मेरे होंठ का स्पर्श अपनी चूत पर पाकर कल्पना मचल उठीं और सिसकारियां भरने लगीं.

कहते हुए वह अपनी चूत के अंदर उंगली डाल कर मेरे माल को अपनी चूत से बाहर करने लगी. फिर मैं बाहर जाने लगा, तभी वो भी मेरे साथ बाहर तक आई और मुझसे बोली कि कल दोपहर में आ जाना. कुछ पल के लिए मेरी पलकें झपकना ही भूल गईं और मैं कभी उनके चेहरे को देखता, तो कभी उनके बुर को देखता.

मैं कहा- तो?नफीसा- आप अपने दोस्त को कुछ मत पूछना, हक़ीकत जो भी है, वो मैं तुमको मिल कर बताऊंगी. मैंने कहा- अमीषी आर यू रेडी?वो मेरे लंड को किस करके बोली- या ऑफकोर्स …वो उठ कर ड्रेसिंग टेबल से वैसलीन ले आई और उसने मुझको दे दी. रानी चिल्लाने लगी- राजे … बहन के लौड़े, साले तेरी माँ की चूत … आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद चोदू राम … ले भोसड़ी के … फिर चार पांच ज़ोरदार धक्के … और ले माँ के लौड़े राजे … फिर कुछ तगड़े धक्के ….

मैंने प्रिया की चुदाई फुल स्पीड पर कर दी … और प्रिया की चूत को अपने पानी से भर दिया.

मैंने धीरे से बहन के पास लेटकर उसके पेट पर हाथ रख दिया और धीरे से टॉप को ऊपर करते हुए उसके चूचों पर जाकर रुक गया।फिर धीरे-धीरे उसके चूचों को दबाने लगा, फिर मैंने उसकी टॉप को थोड़ा ऊपर कर दिया और हाथ को उसकी ब्रा के ऊपर रखकर दबाने लगा. ज्यादा कुछ बोलूंगा तो आप बुरा मान जाएंगी और कहेंगी कि मैं अकेली लड़की देख कर फ़्लर्ट कर रहा हूँ.

लंड को रगड़ रगड़ के सहलाते हुए लंड की सफाई होने से मुझे ये लग रहा था कि कहीं मेरा पानी उनके मुँह पर न फिक जाए. मुझे कुछ याद आ गया और मैंने रुई में लेकर सुन्न करने वाली दवा उसकी चुत पर मल दी. किस करते करते मैंने प्रिया की साड़ी उठाई, उसने नीचे पेटीकोट नहीं पहना था.

जागृति मेम के जाने के बाद प्रियंका की शादी के एक महीना पहले मुझे उसकी चुत चोदने का मौका मिला, वो सेक्स कहानी मैं अगली बार लिखूँगा. इसका लाभ यह हुआ कि वो फिर से दोनों टांगें सीधी करके लेट गयी और मेरा साथ देने लगी!मैंने उसको पलट दिया अब उसकी पीठ मेरी तरफ थी. मैंने सोचा कि शायद सोनिया पहले से ही चुदी हुई है, तभी तो ये ज्यादा हल्ला नहीं कर रही है.

देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो मैंने किसी तरह से उसको मनाया और वह संडे को सुबह 10:00 से 10:30 के बीच मेरे कमरे पर आने को राजी हो गई. जब वो अपनी गांड मटकाकर चलती थी, तो बस मैं दिल में ये ही सोचता कि इसकी लम्बी गांड जब नंगी होगी, तब कैसी लगेगी.

सेक्सी ट्रिपल एक्स एचडी

[emailprotected]देसी मॉम की चुदाई कहानी का अगला भाग:सेक्सी मम्मा से वासना भरा प्यार- 2. इसके बाद राधिका मेरे लंड पर किस करने लगी, साथ ही उसने मेरे लंड के सुपारे पर अपनी जीभ फिराई और लंड के स्वाद का चटखारा लेकर वापस बैठ गई. वो मुझे इस सोफे से उठ कर दूसरे सोफे पर बैठने को बोल रही थीं ताकि वो इधर झाड़ू लगा सकें.

आरती ने कहा- हां यह बात तो है … मगर कैसे मिले? मैं तो अब चुदवाना चाहती हूँ मगर कोई ऐसे लंड मिले जो किसी से कुछ ना कहे! वरना बहुत बुरा हो जाएगा मेरे साथ. भाभी बोली- मैंने तुम्हारे लिये ही आज इसको खास तौर पर तैयार किया है इसको. देसी हिंदी सेक्स मूवीफिर उसने मेरा लण्ड पकड़ कर बुर के छेद में लगा दिया और बोली- राजा, अब तो अन्दर घुसा दो.

मुझे पेशाब लगी थी तो मैं रूम से बाहर चला गया, सुसु करके वापस आ गया.

वो मेरे लंड को देखने लगी तो मैंने उसे घुटनों पर बिठा दिया और अपना 7 इंच लम्बा और 2 इंच मोटा लंड उसके मुँह में डाल दिया. दोस्तो लेकिन उसकी चूत बहुत टाईट थी और तभी मैंने उसे स्पीड बढ़ा कर चोदना चालू कर दिया.

ये सब क्या है सर? छोड़ दो मुझे”मैं उनकी पकड़ से आज़ाद होने के लिए छटपटाई. वो मुझे बहुत ही प्यार से हग कर रहे थे और साथ में मेरी गांड मसल रहे थे. ”नितिन की आवाज से साफ़ लग रहा था कि उनके घर जाने के लिए वो एकदम उत्सुक था.

[emailprotected]Insta/weekendlust_talesकहानी का अगला भाग:तलाकशुदा माँ की अगन-3.

आरती ने कहा- हां यह बात तो है … मगर कैसे मिले? मैं तो अब चुदवाना चाहती हूँ मगर कोई ऐसे लंड मिले जो किसी से कुछ ना कहे! वरना बहुत बुरा हो जाएगा मेरे साथ. मेरे लंड का साइज़ इतना है कि मैं किसी भी गर्ल, आंटी और भाभी को पूरी तरह संतुष्ट कर सकता हूँ. फिर मैंने मौसी की लड़की भावना के होंठों को जोर से चूसना शुरू कर दिया.

सेक्स वीडियो डॉट कॉमनम्रता बस मुस्कुरा दी और बोली- हां देख लिया और पसंद भी कर लिया, तभी खेलने का कहा है. इसका असर हमेशा हमारे मंथली बजट पर पड़ता, इसलिए नितिन हमेशा कमाई बढ़ाने के लिए प्रयास करता रहता था.

सेक्सी वाली आंटी की चुदाई

उनकी योनि रस से इतनी लबालब भरी थी कि जब जीभ को योनि से दूर ले जाता … तो कामरस का धागा दूर तक बन जाता. दिलिया को भी मजा आने लगा, उसने अपने टाँगें उठा कर मेरी पीठ पर लपेट ली. फिर थोड़ा रेस्ट करने के बाद मैंने अपना लंड वापस चूत में पेला और अन्दर बाहर करने लगा.

एलेक्स ने मुझे अपने पास आने का इशारा किया तो मैं बेड पर उसके पास चली गई. ”मैं लेटे लेटे ही शर्ट उतारने लगी, शर्ट उतारने के लिए हाथ ऊपर करते ही मेरे स्तन ऊपर तन गए, तब अंकल ने लपक कर उनको अपने हाथों में पकड़ लिया. वो उत्सुक हुई और बोली कि क्या है सरप्राइज … जल्दी बोलो न!मैंने कहा- रुको न थोड़ी देर.

उसकी ऐसी बात सुन कर मैंने उसे कस कर अपनी बांहों में पकड़ा, उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर उनको चूसने लगा. प्रिया ने मेरे लंड से चूत को हटाया और लंड हाथ से पकड़ कर मुँह में भर लिया. मैंने सरिता के होंठों पर होंठ रखकर किस करके कहा- सरिता, तुम बहुत ही होशियार हो.

नम्रता- पता नहीं मेरे बारे में आप क्या सोचेंगे?मैं- सेक्स के मामले में मैं बिन्दास हूं वैसे भी!नम्रता- मैं भी. और अन्दर पेलो भैया … और अन्दर … बहुत खुजली होती है मेरी चूत में …मैं- और तेज प्रिया!प्रिया- हां भैया और तेज्ज.

इसके बाद उसने बोला- अंश, अब मुझसे रुका नहीं जाता, तुम मेरी चूत में अपना लंड डालकर मुझे चोद दो.

अच्छा हुआ कि सुबह ही मैंने नहाते समय बाल साफ किए थे, तो लंड चिकना था. रक्षाबंधन का नाटकइस स्टाइल में मैंने जब लंड को उनकी योनि पर रखा, तो लंड मोटा होने की वजह से उनकी योनि में ‘परर्रर्रर्रर …’ की आवाज के साथ घुस गया. बिहारी सेक्सी फिल्म वीडियोमैंने जैसे तैसे लंड को समझाया कि भोसड़ी के शान्ति रख दोनों नए छेद तेरे से ही खुलेंगे. फिलहाल अभी कुछ महीनों से उसमें बदलाव जरूर आया है, मगर फिर भी ठंडी लगती है.

इस बार जब मैं गांव आया था, तो मुझे पूरे 4 साल बाद गांव आने का मौका मिला था.

अन्दर एक पेड़ से सटा कर मैंने मेम को देखा तो उन्होंने अपने होंठ गोल करके चुम्बन का इशारा कर दिया. मुझे तो वो शुरू से ही अय्याश लगता था एक तो वो हमेशा बियर पीने के लिए बार में जाता था. ”कौन सी न्यूज़?”मेरे प्रमोशन की …”उसकी बात सुनकर ही मैं रोमांचित हो गयी और मेरा टेंशन भी थोड़ा कम हो गया.

मैंने एक दो बार फिर से हाथ नीचे लेकर जाने की कोशिश की, पर उन्होंने मुझे हर बार रोक दिया. एक दिन उससे मैंने पूछा था कि क्या बात है अगर कोई तुम्हारी नज़र में है तो बताओ. निशा ने शिल्पा की तरफ मुँह कर रखा था और अपनी गांड को हल्के से पीछे कर रही थी.

रियल सेक्सी वीडियो में

फांकों के बगल का क्षेत्र भी सूज गया था … उनकी काफी अच्छे से चुदाई हुई थी. जैसे ही निशा की चूत में एक उंगली डाली, वो ऊपर की तरफ हो गई और उसने एक जोर की सिसकारी ली. जैसे जैसे मेरी चरम सुख की लालसा बढ़ती जा रही थी, वैसे वैसे मैं अपने चूतड़ ऊपर करती जा रही थी.

हॉट भाभी सेक्सी चुदाई कहानी के अगले भाग में सृजन भाभी मेरे लौड़े से कैसे चुदीं, इसको विस्तार से लिखूंगा.

उसने इधर-उधर देखा, फिर मेरी तरफ देखकर बोली- बस इसी तरह का मजा, जहां पर उत्तेजना भी हो और डर भी हो, ऐसा ही मजा चाहती हूं.

मैं उन्हें ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर चोदने लगा और वो सीत्कार करने लगीं. मैंने भी देर न करते हुए उसको पीछे से पकड़ कर उसकी कमर को दोनों हाथों से पकड़ लिया. घूंघट में घोटालालेकिन फिर भी अपने लिंग को वसुन्धरा की योनि से बाहर खींच कर दोबारा अंदर घुसाने में वसुन्धरा की योनि की उत्कृष्ट संकीर्णता आड़े आ रही थी और अपने लिंग को दोबारा योनि-प्रवेश करवाने के लिए मुझे बल प्रयोग करना पड़ रहा था.

वो बोली- मैं बहुत टाइम से तुमसे सेक्स करना चाहती थी परंतु मुझे मौका ही नहीं मिला. टी का इंतज़ार कर रहा था कि तभी एक 20 से 22 साल की काली लड़की भी आई, उसने पूछा कि भुवनेश्वर की ट्रेन का टी. नमस्कार दोस्तो, कैसे हैं आप सभी … आशा करता हूँ कि आप बिल्कुल ठीक होंगे.

तीन चार दिन तक नम्रता के दर्शन नहीं हुए, पता चला कि उसकी तबियत कुछ ज्यादा खराब हो गयी थी. अंकल जी ने मेरी जितनी केयर की थी उससे उनके प्रति मेरे मन में सम्मान और शायद प्यार भी बढ़ गया था.

उसने बोला- मैं तुम्हारा लंड चूसकर शांत कर देती हूं।मैं भी कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था.

मैंने अपने दोनों हाथों से पूजा के चूतड़ फैलाकर पकड़ रखे और लंड को गांड में धकेलने लगा. मैंने अगले दिन फिर से बहुत सजधज के लिपस्टिक लगाई, अच्छे से कपड़े पहने और सोनम के घर पहुंच गई. लौड़े की सुपारी पर बच्चेदानी का मुंह टिका हुआ था और उसको दबा रहा था, चूत जब घूमती तो लौड़े को ऐसा लगता कि कोई उसको एक मथनी के तरह घुमा रहा है.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो एचडी में सलोनी- रियली? ऐसा क्या देखा आप ने मेरे में जो किसी ने नहीं देखा? और आपने देख लिया? आप झूठ बोल रहे हैं. फिर थोड़ी देर बाद मैंने उसे उठाया और बेड पर लिटा कर उसकी पैंटी निकाल दी.

पहले धीरे धीरे करो, जब मैं इशारा करूंगी कि मेरी चूत तैयार है तुम्हारे तूफानी थपेड़ों के लिए, तब जितनी तेज़ चाहे … उतनी तेज़ चोद लेना. वह धीरे से मेरे पास आकर बैठ गई और उसने हल्के से मेरे गाल पर किस कर दिया. वहां हम एक लेडी गारमेंट्स की शॉप में गये और फिर वहां से मैंने मेरे लिये कुछ ड्रेसेस लीं। फिर रोहन मुझे एक लेडी अंडरगार्मेंट्स की शॉप में ले गए.

सेक्सी वीडियोस काजल

वो पजामी मम्मा के शरीर के निचले हिस्से यानि उनकी गांड, उनकी जांघों और आगे उनकी चूत पर भी चिपकी हुई थी. कोई एकाध मिनट तक हम लोग ऐसे ही आपस में लिपटे हुए खड़े रहे फिर अंकल जी ने मेरे दोनों गाल बारी बारी से चूम कर मुझे छोड़ दिया. वीर्य के चटखारे लेते हुए चाची बोलीं- आख़िरकार तुमने आज मेरी प्यास बुझा ही दी.

मुझे महसूस होने लगा था कि अपनी सहेली के साथ रहकर मुझे भी कुछ कुछ अमीरों की तरह रहना आ गया था. इतना कह कर उसने मेरे लंड को धीरे-धीरे अपने हाथों में लेकर सहलाना शुरू कर दिया.

कम उम्र की लड़कियों की यही अच्छाई होती है कि वे कोई भी बात बड़े आराम से मान जाती हैं.

उसने अपने मम्मी पापा से ये कह कर मना कर दिया उसके एग्जाम हैं। मैं चाचा-चाची को बस स्टॉप तक छोड़ आया और उसके घर आकर बैठ गया. मैंने भी उसकी गर्दन के ऊपर से बालों को एक तरफ किया और एक प्यारी सी पप्पी देते हुए उसकी गांड को अपने हाथों में लेकर दबा दिया. बड़ी-बड़ी, काली, मदमस्त आँखें, गुलाबी होंठ, हल्के भूरे रंग के लम्बे बाल, बड़े-बड़े गोल-गोल बूब्स, नर्म चूतड़, पतली कमर, सपाट पेट, पतला छरहरा बदन और फिगर 36-24-36 का था.

भाभी ने कहा- पर रोहन अभी मुझे घर जाना होगा क्योंकि देर हो जाने से किसी को शक ना हो जाए. तभी मुझे अचानक से किसी के आने की आहट हुई तो मैं उधर से हट गया और बाहर आ गया. मैंने उसकी चूत के अन्दर अपनी एक उंगली डाली और मैंने उसकी ब्रा को भी उतार फैंका.

प्रिय दोस्तो, मैं यश अग्रवाल हूँ, अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली चुदाई की कहानी है.

देहाती लड़कियों की बीएफ वीडियो: आःह आआह ह्हह …हम दोनों भाई बहन पूरे जोश में लगभग 20 मिनट तक चोदने में लगे रहे और हम दोनों एक साथ ही झड़ गए. मेरी प्यारी बीवी मुझे नीचे लिटाकर अपनी गांड ऊपर नीचे उछालकर अपनी गांड चुदवा रही थी.

चूंकि अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, तो गलती होना लाजिमी है. उनकी चुत और पैंटी पूरी ऐसी भीगी हुई थी जैसे उन्होंने पेशाब कर दिया हो. मैं अतिउत्तेजना में उसके होंठ खा गया और साथ ही उसके चुचे जोर से दबा दिये.

तो मैंने उसके हाथ को दबाकर उसकी आंखों में आंख डालकर देखते हुए कहा- मेरी जान मुझे तुम्हारे मुँह से खुलकर सुनना है कि तुम क्या चाहती हो?नम्रता- मैं चाहती थी कि मेरा पति मुझे रंडी समझ कर चोदे.

बस फिर मैंने अपने हाथ उसके मम्मों पे रखकर थोड़ा सा धक्का मारा, तो मेरे लंड का टोपा उसकी चुत में घुस गया था. मैं अतिउत्तेजना में उसके होंठ खा गया और साथ ही उसके चुचे जोर से दबा दिये. मैंने खुद देखा था कि मम्मी की कोशिश होती थी कि वे सर से खुद का स्पर्श करते हुए निकलें.