कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी ट्रिपल एक्स व्हिडीओ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स वीडियो बताएं: कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ, आपने ही मुझे सिखाया है।फिर जब भी मौका मिलता, वो मुझे फोन करती। मैं पागलों की तरह उसे चोदने पहुँच जाता।मुझे मेल ज़रूर करें।[emailprotected].

masi सेक्सी वीडियो

!”आज तो तुम्हें ऐसा चोदूँगा कि कम से कम एक हफ्ते तक चुदाई नहीं माँगोगी।”मैं तो बहुत प्यासी हूँ मेरे लाल… आज जी भर कर चोद दे मुझे. हिंदी राजस्थान सेक्सी‘ऊऊ ऊऊम्म्म म्मा आअ ऊऊ ऊउम्म्म्म्माआ आआ!’जैसे पता नहीं क्या हो गया था उसे!उसको ऐसा करता देख मुझे भी जोश आ गया, मैंने उसको पकड़ा और पलट कर दिवार पर सटा दिया और अब उसकी गर्दन को चूमना शुरू कर दिया.

कुछ देर तक लौड़ा गाण्ड में रखने के बाद दीपक ने बाहर निकाला।दीपक- आह ले मेरी रंडी बहना चूत-रस तो तू पी गई. ப்ளூ ஃபிலிம்!’वह बोला- उस चाय वाले का भी कम नहीं होगा, वह भी तेरी गाण्ड फाड़ेगा, अगर तू ना माना वह ज़बरदस्ती रूम में घुस तेरी गाण्ड फाड़ देगा।‘हाय.

मुझे पता नहीं कब साजन ने, अपनी ऊँगली बाहर कर लीऔर ऊँगली के स्थान सखी, दस अंगुल की मस्ती भर दीबेसब्र बिखरते यौवन में, अपने अंग को पूर्ण विस्तार दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ: मैं- फिर डॉक्टर ने कहाँ इंजेक्शन लगाया?सलोनी- अरे उस दिन मैंने पीला वाला लॉन्ग गाउन पहना था ना… बस… उसी कारण…मैं- अरे तो क्या हुआ जान… डॉक्टर जब चूतड़ों पर इंजेक्शन ठोंकता है… तो उसके सामने तो सभी को नंगा होना ही पड़ता है…मधु- हाँ भैया… मगर भाभी ने तो उस दिन.

!मैं- अरे कहीं नहीं जा रहा था, थोड़ा घूमने के लिये निकला था।शैलेश भैया- कोई ‘माल-उल’ पटाया है क्या तुमने? जो रोज़ जाते हो उधर घूमने के लिये.रेहान ने दोबारा लौड़ा बाह्र निकाल कर ज़ोर से झटका मारा तो फिर लौड़ा वहीं जाकर टकराया, पर उसको बर्दाश्त नहीं हुआ और वो बार-बार झटके मारने लगा।पाँच बार के प्रयास के बाद आख़िर लौड़े ने अपनी जगह बना ही ली और पूरा का पूरा चूत में समा गया।जूही का मुँह बन्द था, वरना पूरा फार्म सर पर उठा लेती वो.

केरला सेक्सी वीडियो ओपन - कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ

बाँहों में उठाकर उसने मुझे, खाने की मेज पे लिटा दियामैंने भी अपने अंग से सखी, सारे पहरों को हटा दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.”यह सुन कर वो बहुत खुश हुईं, थोड़ी देर में वो फिर बाथरूम जाने लगीं, तो मैंने पूछा- कहाँ जा रही हो?तो वो कुछ नहीं बोलीं.

आज तो पैरिस जलकर राख हो जायेगा !” उन्होंने मुस्कुराते हुए मेरी तारीफ़ की।आप भी बस मेरी खिंचाई करते रहते हो !” मैं शर्म से लाल हो गई थी। उन्होंने अपने हाथ सामने की ओर फैला दिये तो मैं मुस्कुराते हुए उनके पास आ खड़ी हुई।कहानी जारी रहेगी।. कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ उन्होंने मेरा मुँह अपने मुँह से हटाया और जोर से चिल्लाई- यह क्या किया? मैं मर गई, उई माँ! मैं मर गई! निकालो इसे…वो बोली- तुम जानवर हो! मुझे छोड़ दो! मेरी चूत फट गई! मेरी जान निकल रही है, बाहर निकालो.

मुझे पता ही न चला।ये सब कुछ मेरे साथ इतने रोमांटिक तरीके से मेरे साथ पहली बार हो रहा था।मुझे तब होश आया जब उनके हाथ ने मेरी जींस के ऊपर से ही मेरे लौड़े पर दाब देना चालू किया।यार क्या एहसास था.

कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ?

तभी तो लोगों को पता चलेगा कि ये कुँवारी कली है…अच्छे से रिकॉर्ड करना तुम…!रेहान ने लौड़े पर दबाव बनाया और एक इंच लौड़ा अन्दर घुसा दिया, चूत बहुत टाइट थी अगर तेल ना होता तो लौड़ा छिल जाता या चूत छिल जाती, चूत इतनी टाइट हो रही थी कि लौड़ा घुसते ही उसका दर्द के मारे जूही का बदन अकड़ने लगा नशा उतरने लगा था।जूही- उई रोनू उफ़फ्फ़ रूको अई बहुत दर्द हो रहा है, अई आह उ प्लीज़ रूको आ धीरे से आ आ. हाथ लगते ही चाची के मुँह एक कसक भरी आह निकली।आआआहह… मानो मेरे हाथ लगाने से चाची के अंदर तूफान उमड़ पड़ा हो. !यह सुनकर रेहान की आँखों में चमक आ गई क्योंकि वो तो सुबह ही आरोही पर फिदा हो गया था और उसे इस बात का अफ़सोस भी था कि राहुल कैसा भाई है, जो अपनी बहन को चोदना चाहता है, पर दिल में ख़ुशी भी थी कि उसको एक कच्ची कली बिना मेहनत के चोदने के लिए मिल रही है।बस दोस्तों आज के लिए इतना ही अब आगे आप देखना कि राहुल अपने इरादों में कैसे कामयाब होता है और रेहान क्या करेगा.

कहो क्या है…!रेहान- जब राहुल को पता चलेगा कि तुम ऐसी फिल्म कर रही हो तो वो मेरे बारे में क्या सोचेगा…!आरोही- अरे नहीं रेहान जी. उसका लण्ड और जोर मारने लगा और लगभग मेरी गाण्ड के छेद पर पहुँच चुका था- अरे… हट जा न… हटो शाहनवाज…‘मना मत करो… बुलबुल…’‘देखो मैं चिल्ला पड़ूँगी. इस वक़्त मैं सीधा पीठ के बल लेटा हुआ था और चाची मेरी तरफ करवट लेकर अपना सिर मेरे कंधे पर रख कर और अपना हाथ मेरी नंगे पेट पर फैला रही थी.

और रेहान की कल्पना करके उनका आज जल्दी ही पानी निकल गया।पता नहीं लेकिन मेरे सामने भी रेहान बार-बार आने लगा, मुझे भी उसका क्यूट फेस याद आने लगा।अगले दिन भी हमारी फिर से चैट हुई… आज मैंने 10 मिनट तक रेहान से बात की. ! मैं तो समझती थी बस ऐसे ही होता होगा…!रेहान- अरे यार सब रियल होता है, अब भी बोल्ड सीन करना है या नहीं…!आरोही- अब यहाँ तक आकर मैं पीछे नहीं हटूँगी, अब जो होगा देखा जाएगा…!बस दोस्तो, आज का भाग यहीं समाप्त होता है, अब अगले भाग में पढ़िए कि आगे क्या होने वाला है !बस आप जल्दी से[emailprotected]पर मेल करो और बताओ कि आपको आज का भाग कैसा लगा. ! क्या देख रहे हैं?कामिनी को देख कर वे हड़बड़ा गए। कामिनी रिमोट उठा कर सीडी प्लेयर बंद करती हुई बोली- ये सब रात के लिए रहने दीजिए, कल शाम को मेरे घर आपको आना है, मम्मी ने डिनर पर बुलाया है, सुधा और चमेली भी वहाँ चल रही हैं.

अंकल आंटी और हैप्पी शादी में चले गए।मैं शाम को स्कूल से आते ही सोचने लगा कि गुरविन्दर की जवानी के मजे कैसे लूँ…मैंने अपने एक दोस्त से ब्लू-फिल्म की सीडी मँगवाई।उसके घर जाते ही मैंने वो सीडी उनकी बाकी सीडी के बीच में रख दी।घर पहुँचते ही हम दोनों बातें करने लगे. मैं उसे मन ही मन चोद भी चुका था।लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था, एक दिन मेरा सीनियर किसी मरीज को देखने बाहर गया हुआ था और मैं उसके कहने पर क्लिनिक जल्दी पहुँच गया था.

वरना मैं तुझसे दूर कहाँ!तभी ‘तड़ाक’ की आवाज़ के साथ एक तमाचा मेरे गालों पर पड़ा और अंकिता बोली- साली मादरचोद.

बस अभी मैं उसकी चूत का मुहूरत कर दूँ, फिर रात को दोबारा मज़ा लेंगे…!रेहान वहाँ से चला गया।राहुल सीधा आरोही के रूम में गया, तब आरोही बेड पर लेटी थी और एक चादर अपने ऊपर डाल रखी थी।राहुल- क्या हुआ बहना.

जिससे माया एक आनन्दमयी सिसकारी स्स्स्स्स्शह” के साथ कसमसा उठती।मैं उसकी गर्दन और गालों पर चुम्बन भी कर रहा था, जिसे माया भी एन्जॉय करने लगी थी।फिर मैं थोड़ा नीचे की ओर बढ़ा और उसके चूचों को मुँह में भर कर बारी-बारी से चूसने लगा. !आरोही- उफफफ्फ़ सच में रेहान जी हालत खराब कर दी आपने तो…!जूही- हाँ और नहीं तो क्या… बताना तो चाहिए न एक्टिंग है…!रेहान- अगर बता देता तो इतनी रियल एक्टिंग नहीं होती, कैसा खौफ आ गया था तुम्हारी आँखों में. जल्दी कुछ करो…!रेहान तो इसी इन्तजार में था।, एक मिनट में ही पूरे कपड़े निकाल दिए।आरोही की नज़र रेहान के लौड़े पर गई तो उसकी सांस अटक गई उसे देख कर क्योंकि रेहान का लौड़ा 9″ लंबा और 3″ मोटा था, किसी घोड़े के लंड जैसा लग रहा था।आरोही- ओह माई गॉड.

जिससे माया की कामाग्नि बढ़ती ही चली गई और मुझसे बार-बार लौड़े को अन्दर डालने के लिए बोलने लगी।वो मेरी इस क्रिया से इतना आनन्द में हो चुकी थी कि वो खुद ही अपनी कमर उठा-उठा कर मेरी उँगलियों को अपनी चूत में निगलते हुए- अह्हह्ह उउउउम. रात को कोमल के पिताजी ने पापा को फ़ोन करके मुझे उनके घर के बाहर बने बरामदे में सोने के लिए कह दिया था ताकि घर सुरक्षित रहे. 30 पर जैसे ही उनकी कैब उन्हें लेकर निकली, मुझे ना जाने क्या होने लगा।दोस्तो, मैंने जिंदगी में बहुत सेक्स किया है, नए नए लंड लिए हैं लेकिन हर बार सेक्स के पहले में इतनी ज्यादा उतावली और उत्तेजित हो जाती हूँ, न जाने मेरे साथ ऐसा क्यूँ है।मैंने राज़ को फोन लगाया और उसे जल्दी से जल्दी आने को बोला। उसने 8.

एक पल तो मुझे बहुत तेज़ गुस्सा आया और जैसी ही मैं उस आदमी को मारने के लिए आगे बढ़ने लगा…इशरत बोली- ओह मा.

अंग में अंग की चहलकदमी, और स्पंदन की थाप लगीउत्तेजना अब ऐसी भड़की, सारी मेज पे भूकंप लाय दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. मधु दीदी दिल की बहुत अच्छी थीं, पर बचपन से ही पोलियो के कारण उनके घुटनों के नीचे से दोनों पैर ख़राब थे जिसकी वजह से वो खड़ी नहीं हो सकती थीं. मेरी पत्नी योनि से लिंग निकलते ही उसे अपने मुँह में लेकर मुझे तो पूर्ण आनन्द दे देती है पर खुद उस परम अनुभूति से वंचित रह जाती है !पहले बच्‍चे के जन्‍म से पूर्व हम किसी गर्भनिरोधक गोली का इस्‍तेमाल भी नहीं करना चाहते।कृपया कोई ऐसा घरेलू उपाय बताएं जिससे हम बिना कंडोम, बिना गोली के सेक्‍स भी कर सकें, पत्नी भी यौनानन्द ले पाए और पत्‍नी को गर्भ भी न ठहरे।अपनी सलाह यहीं डिस्कस पर ही लिखें !.

मैं- ओह, बहुत उतावले हो मेरी फ़ुद्दी देखने के लिए?मैंने अपनी पेंटी उतारी और अपनी दोनों टांगें वेबकैम की तरफ कर दी, वो मेरी चूत पूरी तरह देख रहा था. ?सलोनी- नहीं यार… ऐसा कुछ नहीं हुआ… बस जैसे तूने देखा… ऐसे ही किसी न किसी देखा होगा… बस… और तो कुछ नहीं हुआ…नज़ाकत- अच्छा और तुम्हारे देवर, वो कहाँ तक पहुँचे. ‘ऊऊ ऊऊम्म्म म्मा आअ ऊऊ ऊउम्म्म्म्माआ आआ!’जैसे पता नहीं क्या हो गया था उसे!उसको ऐसा करता देख मुझे भी जोश आ गया, मैंने उसको पकड़ा और पलट कर दिवार पर सटा दिया और अब उसकी गर्दन को चूमना शुरू कर दिया.

पता नहीं मुझे क्या हुआ, मैंने कहा- बस एक चीज दिखानी है आपको!और कह के अपनी जींस नीचे कर दी, मेरा नौ इंच का लंड खड़ा हुआ फुफकार रहा था.

और नीलू पैर फैला भी नहीं रही थी कारण यह था कि उसकी चूत और उसकी झिल्ली पर मेरे मुँह और नाक का दबाव पड़ रहा था और वो इसका मजा ले रही थी जबकि मैं उसकी चूत के अंदर तक चाटने की कोशिश कर रहा था. दोनों के मुख से ‘आह-प्रवाह’, साजन के अंग से रस बरसासाजन ने अपने ‘अंग-रस’ से, मुख को मेरे सराबोर कियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ !रेहान तो पागल हो गया था ऐसी जवानी पाकर जूही के होंठों का रस पीने के बाद अब वो निप्पल को चूसने लगा था। दूसरे निप्पल को चुटकी में लेकर दबा रहा था।जूही- आ आ रोनू उफ्फ मज़ा आ रहा है तुम बहुत आ अच्छा चूस रहे हो उफ्फ आ आ. !मन ही मन मैं प्रफुल्लित हो रहा था।वो मेरे कमर के पास बैठ गई और उसने हल्के से विक्स मेरे माथे पर मलना शुरू किया।उसके चूचे मेरी छाती से लग रहे थे।‘आहा हा हा…!’भाभी ने पूछा- क्या हुआ.

कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ पर बताऊँगा ज़रूर।तो शायद अब आप लोग पूरी तरीके से समझ गये होंगे। तो अब मैं उस दिन की बात बताने जा रहा हूँ जिसके लिए आपने इतना सारा पढ़ा और मुझे शायद गाली भी दी होगी। तो मेरे बेसब्र दोस्तो, सब्र रखो क्योंकि सब्र का फल मीठा होता है। तो मैं शुरु करता हूँ।उस दिन रविवार था, जब मैं उसके घर गया। मैंने कॉल-बेल दबाई. मेरी आहें और सिसकारियाँ तो ननदोई जी में जोश भर रही थी।करीब 15 मिनट जबरदस्त चुदाई के बाद ननदोई जी ने पूरा वीर्य मेरी चूत में उड़ेल दिया।ननदोई जी हाँफते हुए मुझ पर पसर गए।इसी बीच मेरा काम एक बार और हो चुका था.

!मैंने भारती को चोदना जारी रखा, वो खूब मजे ले-ले कर मुझसे चुदवाती रही। लगभग एक घंटे तक चोदने के बाद मैं भारती की चूत में ही झड़ गया।इस दौरान वो 4 बार और झड़ चुकी थी।भारती की चूत में पूरा पानी निकालने के बाद मैं हट गया। भारती ने इस बार मेरा लंड अपनी जीभ से चाट-चाट कर साफ किया, साबुन से नहीं.

राजधानी नाइट कल्याण मिक्स चार्ट

मोना मुझ से बोली- तुम्हारे भैया बेकार हैं, आज मेरी ऐसी चुदाई करो कि मैं तुम्हें जिंदगी भर याद रखूँ।मैंने अपना लंड अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया।मोना ‘उूउउ अयू फूऊ उ उफ़ फ फ्फु अयू. वो सेक्स को पूरा मजा ले रही थी, जैसे इंग्लिश मूवी में करते हैं! उसकी चूत से खून भी निकल रहा था, उसकी सील पूरी टूट गई थी. ! बोल कामिनी, क्या बात है?”कामिनी बोली- चाची नहीं है क्या? मम्मी ने जीजाजी को कल रात को खाने पर बुलाया है।”चमेली से फिर रहा ना गया बोली- कामिनी दीदी, सिर्फ जीजाजी को… कल की …दावत देने आई हैं।”कामिनी बोली- चल तू भी साथ आ जाना हाँ.

लेखक : इमरानसलोनी- अच्छा अच्छा… अब न तो सपना देख और ना दिखा… जल्दी से घर चल मुझे बहुत तेज सू सू आ रही है…पारस- वाओ भाभी… क्या कह रही ही… आज तो आपको खुले में मुत्ती करवाएँगे…सलोनी- फिर सनक गया तू… मैं यहाँ कहीं नहीं करने वाली…पारस- अरे रुको तो भाभी, मुझे एक जगह पता है… वहाँ कोई नहीं होता… आप चिंता मत करो…सलोनी- तू तो मुझे आज मरवा कर रहेगा. !ऐसा करते हुए कविता एक बार फिर से झड़ गई। मैं अभी मैदान में ही था। थोड़ी देर चोदने के बाद मैं भी झड़ने वाला था।दीप- मैं भी आ रहा हूँ कविता कहाँ छोडूँ?कविता- चूत में ही प्लीज. मेरी कहानी अभी हाल ही की है, अन्तर्वासना पर मेरी कहानी पढ़ कर मुझे एक महिला ने पत्र लिखा और मुझे से बात करने की ख्वाहिश जाहिर की.

तुझे देखना है तो बता?मैं अजीब भी असमंजस में था, देखना भी चाहता था मगर कहूँ कैसे?मैंने बस सिर नीचे कर लिया।वो फिर बोला- अगर देखना हो रात में एक बजे छत पर आ जाना चुपचाप… लेकिन हाँ, अगर कुछ हरकत करने की कोशिश की तो यह मत भूलना कि मैं पुलिस में बहुत बड़ा अफ़सर हूँ, गाण्ड में डंडा डाल कर मुँह से निकाल लूँगा.

आहा उई ईईई’ करती रही। पूरे रूम में बस यही आवाजें आ रही थीं। अब मैं झड़ने वाला था।उसने कहा- अन्दर नहीं गिराना. वो बस खाना बनाने और साफ-सफ़ाई करने अन्दर आती है। उसको सख्त हिदायत है जितनी जल्दी हो अपना काम निपटा कर बाहर अपने रूम में चली जाए इसलिए वो ज़्यादा बात भी नहीं करती।राहुल उठकर आरोही के रूम में गया, वो पहले ही उठ गई थी।राहुल- आरोही, बड़े जोरों की भूख लगी है, जल्दी आओ खाना तैयार है।दोनों ने लंच किया, तभी रेहान वहाँ आ गया।राहुल- ओह वाउ. थोड़ी देर बाद वो बोली- अकेले हो?मैं- हाँ!फिर वो बोली- मेरे साथ चलोगे?मैं- कहाँ?तो उसने बताया- सेक्स करने!मैं उसकी ओर देखता ही रह गया.

।दरवाज़ा खुला मैंने ध्यान देकर भी ध्यान नहीं दिया था, शायद वो देख कर मुड़ गया था। वैसे भी उसका सर फट रहा होगा।नहा कर निकल मैंने अपने होने वाले पति के लिए नींबू पानी बनाया- यह लीजिए. हाय दोस्तो ! मैं शरद कुमार, उम्र न पूछें !आज आप सब लोगों को मैं अपनी एक महिला मित्र के साथ सेक्स के बारे में बताऊँगा।वह बहुत ही सेक्सी है। हालाँकि वह एक साँवली रंग की लड़की है, पर है मस्त माल !उसकी बड़ी-बड़ी आँखें और बहुत ही बड़ी चुदक्कड़ !ऐसी-ऐसी मुद्रा में चुदाई करवाती है कि जो भी देखे तो दंग रह जाए।मेरे और उसके साथ घटी एक घटना बता रहा हूँ।बात उन दिनों की है जब हम लोगों के बी. !रेहान- नो सचिन… रूको अन्ना बताओ इस रंडी को कि क्या हो रहा है यहाँ…!अन्ना- जवाब तुमको हम देता जी ये पॉर्न-मूवी होना जी….

मुझे इस साईट के बारे में पहले से ही नहीं पता था, मेरे एक दोस्त ने बताया था इस साईट के बारे में, मैंने तो अनदेखा कर दिया उसकी बात को! तो फिर जब मैंने इसे एक दिन पढ़ा तो बस इसका दीवाना हो गया हूँ. !राहुल ने घड़ी की तरफ देखा, सुबह 7 बज रहे थे, वो जल्दी से बाथरूम गया और शॉवर ऑन करके खड़ा हो गया।15 मिनट में फ्रेश होकर, वो तौलिया बाँध कर आरोही के कमरे के पास आया, वो बन्द था, तो राहुल ने आरोही को आवाज़ लगाई, तब उसकी आँख खुली।राहुल- आरोही, जल्दी उठो 7.

क्या चुदाई चल रही थी हम दोनों तो जैसे खुले आसमान में उड़ रहे थे। फचा-फच की आवाज हो रही थी… मौसी के मुँह से आऽऽऽअ. !तो सविता हँसने लगी और बोली- अरे ज्यादा दिन नहीं हुए एक हफ्ता ही हुआ होगा।मैं बोली- क्या ठाठ हैं तुम्हारे. उसके बाद तुम तीनों को एक जादू दिखाती हूँ।बस उसके बोलने की देर थी तीनों उसके सामने एकदम नंगे खड़े हो गए।दीपाली- हाँ ये हुई ना बात.

वो चालू हो गई, वो सिसकने लगी मैंने उसकी क्लिट को दोनों होंठों से चूसना चालू किया तो वो तड़पने लगी और उसका सारा नंगा जिस्म कड़क पड़ने लगा.

मेरी भी शरम खत्म हो गई थी।पता नहीं मैं इतनी बेशर्म कैसे हो गई कि मेरे शौहर के सामने आनन्द के पास नंगी बैठी थी।शायद यह सब आनन्द की चुदाई का कमाल था।आनन्द सलीम को बोला- देख बे. ! ऐसे तो वो सबके मम्मे दबा कर मज़ा ले सकता है।जूही- हाँ रेहान जी वो ही तो आप आगे तो सुनिए, उस कुत्ते की करतूत…!रेहान- अच्छा बता, मेरा तो दिमाग़ घूम रहा है तू बच कैसे गई उनसे क्योंकि ये तो 100% मैं जानता हूँ तेरी चूत की सील मैंने तोड़ी है, अब बता उस दिन क्या हुआ? कैसे बची?जूही- आप सुनो तो सही. पप्पू- आपकी शादी और मेरी पैदा होने की तारीख में सिर्फ़ 5 महीने का फ़र्क है!जो समझ गये तो ठोको ताली, बाकी बच्चे पोगो देखो!***इरफ़ान को गैस की बीमारी थी। वो बहुत परेशान था, ना कहीं आता था ना कहीं जाता था।एक बार किसी वजह से उसे अपने बहन के घर जाना पड़ा। बहन के घर जाते समय रास्ते मे सोचने लगा कि एक 5 साल का भांजा पप्पू है उसके लिए क्या लेकर जाऊँ?फिर एक दुकान से क्रीम वाला बिस्किट का पैकेट ले लिया.

!पति ने हामी भर दी।वो फिर मेरे पति से बोला- तुमको मेरे साथ चलना होगा, ग्राहक जब मीटिंग करके चला जाएगा तो हम लोग आ जाएँगे।मुझे डर लगा, मैं बोली- आप लोग बाहर ही रहो. अब रोड पर भी देख लूँगी।मैंने उसको एक आँख मारी और फिर मैं और वो चल दिए।माया ने अपार्टमेंट के गार्ड को चाभी दी और बोला- जाओ कार बाहर ले आओ.

मुझे दिखाओ।मैंने झड़ने से ठीक पहले लंड को चूत से निकाला और उसे हथेली आगे करने को कहा, पर जब मेरे लंड से ‘आग’ निकली तो वो उसके चेहरे व चूचियों को भिगाती हुई. उसकी अदाएँ तो जैसे जान ही लेने पे अमादा थी ! मुझे इतना तो पता था कि जैसे ही स्पर्श छूटा, वैसे ही वो दोबारा पास आने न देगी, मैंने उसकी हथेलियों को अपने होठों से चूमते हुए कहा-दूर ही रखना था तो साथ आये क्यों. !’‘मैं कहाँ भागूंगी, मेरी गाण्ड तेरे हवाले है, जो चाहे कर… फाड़ दे… चाहे सिलाई कर दे…!’वो झटके पर झटका देने लगा और एकदम लण्ड निकाल बोला- रंडी अब घोड़ी बन जा.

तमन्ना भाटिया की नंगी तस्वीरें

मैं तो जैसे हवा में उड़ने लगा।वो मेरे लंड को जिस तरीके से चूस रही थी, मुझे लगा कि वो कई दिनों की प्यासी हो।फिर अंत में मेरे लंड ने उनके मुँह में ही अपना ‘सोमरस’ छोड़ दिया.

उस दिन को याद करके मुँह में पानी आ गया।उसके बाद मैं आराम से लौड़े को चूसने लगी।अब मैंने जड़ तक उसको चूसना शुरू कर दिया। बड़ा मज़ा आ रहा था जीभ से उसको पूरा चाट रही थी।मैंने उसकी गोटियाँ भी चूसीं. !हम लोग खाना खाकर सोने की तैयारी करने लगे। मेरी छोटी बहन जल्दी सो गई। उसके बाद हम तीन लोग एक ही बिस्तर पर आ गए।कहानी जारी रहेगी।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:चुदाई से परिचय-2. !राहुल झटके से उठा और आरोही भी स्पीड से उठकर घुटनों पर आ गई।राहुल ने धप्प से लौड़ा चूत में पेल दिया।आरोही- आ सस्स ससस्स फक मी आह फक हार्ड अई आ गो डीप.

एक्सीलेंट…ऐसे बहुत सारे भद्दे कमेंट्स पढ़ कर मुझसे रहा नहीं गया।मैंने सलीम से पूछा- ये सब क्या हो रहा है?वो हँसने लगा और मुझसे बोला- डियर तेरे लिए एक अच्छा मर्द ढूँढ़ रहा हूँ। threesome के लिए।मैं बोली- ये threesome क्या है?वो बोला- मेरे सामने कोई और मर्द तेरे साथ चुदाई करेगा और मैं मज़े से देखूँगा।मैं यह सुन कर गुस्सा हो गई और बोली- छि:. !अन्ना रूम में जाकर बेड पर सीधा लेट गया और आरोही उसके पास लेट गई और उसके बालों को सहलाने लगी।आरोही- जान उठो न. 𝒎𝒐𝒎 𝑻𝒂𝒎𝒊𝒍 𝑺𝒆𝒙 𝒗𝒊𝒅𝒆𝒐भाई प्लीज़ आह फास्ट उई फास्ट आह…और फास्ट आह उईईई आआआ आआ…!आरोही ने राहुल के लौड़े को चूत में जकड़ लिया और झड़ने लगी। कभी उसकी चूत सिकुड़ती.

कमल प्रीतदोस्तो, आप सभी को मेरा यानि कमल का नमस्कार।मेरी उम्र 40 साल है और मैं जालंधर में रहता हूँ। मेरा मोटर पार्ट्स और पुरानी गाड़ियों की खरीद-बिक्री का काम है।एक सच्ची कहानी आपकी नज़र है।पिछले अगस्त के महीने में मेरे पास एक पति-पत्नी आए, जो अपनी पुरानी आल्टो कार बेचना चाहते थे। आदमी की उम्र 38 और महिला की करीब 33 होगी।मैंने कार देखकर उनको एक लाख 60 हज़ार रूपये बोल दिए, लेकिन उन्होंने कहा- 1. !और उसको झट से अपने बिस्तर पर गिरा लिया …और चूमने लगा। वो भी मुझे चूम रही थी। मैं उसको चूमते हुए नीचे बढ़ा तो वो फिर से मना करने लगी।मैं जबरदस्ती उस के मम्मों को अपने हाथों से दबाने लगा।वो मुझसे छूटने की कोशिश करने लगी लेकिन मैं उसके ऊपर था उसने अपने मुँह पर हाथ रख लिया।मुझे अब गुस्सा आ गया मैंने कहा- साली चुड़ैल…! चाहती क्या है बोल दे.

आओ मैं बताती हूँ वाशरूम किधर है।वाशरूम में कामिनी ने मुझे तौलिया दिया और मैं जान-बूझ कर धीरे-धीर से पैन्ट साफ़ करने लगा।कामिनी बोली- ऐसे साफ़ नहीं होगी. बच्चा नहीं होगा।दीपाली ने बिना बोले दवा ले ली।अनुजा- थोड़ी देर टीवी देख लेते हैं उसके बाद चुदाई शुरू करेंगे. कभी नाम नहीं सुना उसका और उसकी हरकतें भी ठीक नहीं थी। आपके कहने पर मैं चुप थी और उसकी बातें भी नहीं समझ आईं कि अभी कच्ची है, पकाओ वगैरह वगैरह.

!रूपा- मैंने स्कर्ट पहना था, गरमी की वजह से मैंने पैंटी नहीं पहनी थी। रात को भईया मेरी बुर में दो घंटे तक अपनी उंगली पेलते रहे…मैं- फिर. !”शाहाना बिलकुल मस्त हो चुकी थी। हम दोनों बेड पर लेट गए और एक दूसरे का लंड और चूत चूसने लगे। मैं उसके मुँह में ही अपना लंड हिलाने लगा और जोर-जोर से उसकी चूत को चूमने लगा।आह. ‘मुझे तो बस इतना पता है कि एक नंगी लड़की किसी की दीदी या कोई रिश्तेदार नहीं होती… वो तो बस एक कामुक, गर्म औरत होती है, जिसका नंगा गर्म जिस्म देखकर कोई भी मर्द उसे प्यार करना चाहे.

कितना गंदा फील हो रहा है।रेहान- ओह मेरी जान को ये सब पसन्द नहीं है, अभी लो जान मैं तुम्हें गोद में उठा कर ले जाता हूँ….

हैलो दोस्तो, मेरा नाम पिंटो है, मैं मुंबई का रहने वाला हूँ। यह कहानी अंतर्वासना पर मेरी पहली कहानी है।मेरी तरफ से आप सभी के लंड और चूत को मेरा नमस्कार।यह कहानी लड़कियों और भाभी की चूत में पानी लाएगी और मर्दो का लंड खड़ा हो जाएगा।पहले मैं अपना परिचय देता हूँ, मैं 22 साल का लड़का हूँ, मेरा बदन स्लिम है, लेकिन मेरा लंड 8′ लंबा और 2. गुड अब अच्छा होना आ…!पाँच मिनट तक आरोही लंड को ज़ोर-ज़ोर से चूसती रही। अब उसकी चूत में भी पानी आने लगा था और वो चुदने को बेताब हो रही थी।अन्ना- आ.

अच्छा है कि उन्होंने भी कल अपनी बेटी को चुदते हुए देखा।उसकी बात सुन कर मैं और क्या बोलती…दो दिन बाद रविवार था, सलीम घर पर ही था… नाश्ता होने के बाद बोला- चलो नेट पर चैट करते हैं. !मैंने कहा- भाभी जी वैसे तो आप सूट में भी बहुत अच्छी लगती हो लेकिन जीन्स टी-शर्ट में तो और भी ज्यादा मस्त लगती हो।कामिनी ने थैंक्स बोला और पूछा- चाय के साथ क्या लोगे?मैंने कहा- बस आपके हाथ की चाय और कुछ नहीं।चाय को लेकर हम ड्राइंग-रूम में आ गए। वो साथ में खाने को काफी कुछ ले आई।मैंने कहा- भाभी जी, इतना कष्ट न करो।तो कामिनी बोली- भाभी जी. हा… मादरचोद… चोद… डाल…आआ…आअ, मर… गईईई…”उसका लावा निकल गया। फिर भी मुझे अपनी आग को भी शांत करना था। 2 मिनट बाद वो फिर से मेरा साथ देने लगी।पूरे कमरे में ‘फच-फच’ की आवाज़ के साथ गालियाँ भी निकल रही थीं।वो बोली- चोदता रह, माँ के लौड़े.

वो मुस्कुरा दीं- क्या-क्या? सब बता दो नहीं तो…!मैंने कहा- आपका ऊपर का नीचे का!अरे देविन खुल कर बता, मैं भाभी को नहीं बता रही ये सब. !रेहान ने उसको बताया कि वो गहरी नींद में थी तब उसने राहुल से झूठ कहा और उसे पूरी बात समझा दी ताकि राहुल को उनकी चुदाई का पता ना चल जाए।बेचारी आरोही रेहान की बातों में आ गई और उसने राहुल से बात कर ली।आरोही की नज़र दीवार घड़ी पर पड़ी तो वो चौंक गई।आरोही- ओ माई गॉड 4 बज गए, मैं इतनी देर तक सोती रही। आपने कहा था वो लंच पर आएगा, पर अब तो?वो आगे कुछ बोलती डोर-बेल की आवाज़ आने लगी।रेहान- ये बातें बाद में. मैं जाकर प्रेस उठा लाया।‘देख… तुझको मेरे पेट की सिकाई करना होगी।’मैंने कहा- ठीक है।उन्होंने चादर ओढ़ ली। मैंने एक कपड़ा गर्म किया और चाची को दिया तो वो बोलीं- नहीं रे.

कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ ’ की सिसकारियों से मैं खुश हो रहा था।अब अनिता मेरे धक्कों का जवाब गांड उठा-उठा कर दे रही थी, साथ ही ‘आह. 5 इन्च का लन्ड एक बार में ही उसकी कमसिन चूत में पेबस्त हो गया। अब तो मजे से सिसकारियाँ ले रही थी।15-20 मिनट के बाद मुझे लगा कि मेरा माल निकलने वाला है तो उससे पूछा- कहाँ निकालूँ.

ओपन सेक्स वीडियो इंग्लिश में

थोड़ा और बढ़ा तो हाथ किसी गरम तपती हुई चीज से टकराया वो उसके चूत के ऊपर की पेंटी थी जो गीली हो चुकी थी और मेरे हाथों में कोई चिपचिपाती चीज लगी और मैं ऊपर से ही चूत को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा तभी मुझे उसकी हल्की सिसकारी सुनाई देने लगी. मैं- ब्रा खोलो…रूपा- खोलती हूँ…क्या करोगे?मैं- प्यास बुझाऊँगा…रूपा- किसकी?मैं- तुम्हारी चूची और चूत की. हर स्पंदन के साथ सखी, मेरी मदहोशी बढ़ती गईमैं सिसकारी के साथ साथ, उई आह ओह भी करती गईअंगों के रसमय इस प्याले में, उत्तेजना ने अति उफान लियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

समझ गया न…!मेरा लण्ड उसके कूल्हों के स्पर्श से खड़ा हो चुका था, मुझे भी नहीं समझ आ रहा था कि आज यह क्या हो रहा है।मेरा लण्ड का स्पर्श का अहसास उसे भी हो चुका था इसलिए वो भी अटपटा महसूस कर रही थी, पर उसने मुझे शो नहीं होने दिया कि उसे ऐसा कुछ लग रहा है।मैंने 3-4 बार में सही किया, वो बहुत खुश थी और उसने मुझे प्यार से मेरे चेहरे पर चूमा और बोली- लव यू भैया. मेरा लंड मेरे दिमाग पर हावी हो चुका था और मैं बस उस कामुक दीदी को रगड़ कर चोदना चाहता था फिर वो चाहे मेरी दीदी हो या फिर एक लंगड़ी लड़की. गोरी भाभी सेक्सी वीडियो!फिर मैंने उसके मम्मों और होंठों को चूसने लगा फिर वो धीरे-धीरे शांत हो गई।उसने पूछा- कितना अन्दर गया.

मैं कुछ कहना ही चाह रहा था मगर तभी सलोनी ने एक और बम छोड़ दिया- यह कहाँ ले आई बेवकूफ, इसको बाहर ही रख दे.

करीब आधे घंटे तक की चुदाई-रगड़ने के बाद वो झड़ गई और मैं अपने पप्पू को बाहर निकाल कर उसके पेट पर झड़ गया।हमने गेस्ट हाउस छोड़ा और मॉल में घूमने चल दिए…खूब घूमने के बाद शाम को 8 बजे आये तो उसने बाइक से उतर कर मुझे किस किया और मेरा हाथ पकड़ा और उसी टोइलेट में ले गई जहाँ मैंने उसे पहली बार सेक्स करते देखा था. जब वह शांत हुई तो मैंने अपनी उँगलियों को निकाल कर देखा जो कि उसके कामरस से सराबोर थी।तभी मेरे दिमाग में न जाने कहाँ से एक फिल्म का सीन आ गया.

तो सैफ़ सन्नी लियोनी से पूछने लगा- अच्छा तो यह बताओ कि हम लोगों को सेक्स करने के लिये कितना समय इंतजार करना पडेगा…??नर्स सन्नी लियोनी जोश में बोली- आप बस दस मिनट यहीं रुको, मैं तैयार होकर आती हूँ…. फिर सलमा ने लिंग की तस्वीर दिखाते हुए पूछा- इसके बारे में तुम क्या जानते हो?पप्पू एकदम खड़ा होकर बोला- यह लौड़ा है, मेरे पापा के पास दो हैं. !थोड़ी देर बाद जब जूही ढीली पड़ी तो रेहान ने अपने होंठ हटाए।जूही- अया ह आह आ रोनू प्लीज़ मेरी जान निकल जाएगी आह.

!कार सड़क पर दौड़ती रही, दोनों के बीच ज़्यादा बात नहीं हुई, बस सामान्य बातें ही होती रही।लगभग 15 मिनट बाद कार एक बड़े से विला के सामने रुकी।आरोही- यह कहाँ आ गए हम, आप तो स्टूडियो लेकर जा रहे थे न?रेहान- अरे यार, मैं कोई छोटा-मोटा आदमी तो हूँ नहीं, जो किसी भी स्टूडियो में तुमको ले जाऊँ, यह मेरा विला है और इसमें स्टूडियो है। हम यहीं फोटो निकालेंगे।आरोही- ओके रेहान जी.

भाभी मुझे नहीं पता था कि आप इतनी हॉट हो… नहीं तो मैं कब का तुम्हें चोद चुका होता। भाभी मैं कब से किसी के साथ सेक्स करने के लिए तड़प रहा था… काश. सब एक साथ काम करेंगे तो मज़ा आएगा।रेहान- अभी हम फिल्म की ही बात कर रहे थे तुमने सीन तो सुन हे लिया होगा. फिर उसने कहा तू दस तक गिन, और दस स्पंदन कड़े कियाफिर करवट लेकर उसने तो, पुनः अपने ऊपर मुझे कियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

नेकेड योगाधीरे दबाओ ना मम्मों को उफ्फ आ…!राहुल बड़ा बेसब्र हो रहा था। वो कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था इसलिए ज़्यादा वक्त बर्बाद ना करते हुए उसने लौड़ा चूत पर सैट किया और जोरदार धक्का मार दिया। पूरा लौड़ा चूत में समा गया।आरोही- आआआअ उफफफफ्फ़ धीरे से आह डालना था न… उफ्फ मेरी तो आह आ. उहह उहह ले ले…!दरअसल राहुल आरोही के गुस्सा हो जाने से नाराज़ था और गुस्सा जूही पर निकाल रहा था।जूही- आआ आआ आ…हह.

आज अमावस है

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा:अब आगे…फिर करीब 2 से 3 बजे के आसपास मेरी आँख खुली तो मैंने अपने बगल में माया को भी सोते हुए पाया. अब मैं भी थोड़ा खुला अपनी कुर्सी को उनसे सटा कर बैठ गया, उनका हाथ अभी भी मेरे हाथ मैं था- आप की मज़बूरी मैं समझ सकता हूँ. और ना जाने कितनी परेशानी आ सकती है…हो सकता है सलोनी भी इसी सबका इन्तजार कर रही हो…फिर वो मेरे ऊपर हावी होकर अपनी रंगरलियों के साथ-साथ दबाव भी बना सकती है…मेरा ज़मीर खुद उसके सामने कभी नीचे दिखने को राजी नहीं था…वो भी एक चुदाई के लिए… क्या मुझे अपने लण्ड पर काबू नहीं है.

लेखक : इमरानसलोनी- अच्छा अच्छा… अब न तो सपना देख और ना दिखा… जल्दी से घर चल मुझे बहुत तेज सू सू आ रही है…पारस- वाओ भाभी… क्या कह रही ही… आज तो आपको खुले में मुत्ती करवाएँगे…सलोनी- फिर सनक गया तू… मैं यहाँ कहीं नहीं करने वाली…पारस- अरे रुको तो भाभी, मुझे एक जगह पता है… वहाँ कोई नहीं होता… आप चिंता मत करो…सलोनी- तू तो मुझे आज मरवा कर रहेगा. तुम भी ना… अब जब हर समय साथ है… तो सभी काम ही करेगी ना… और वो तो मेरी पर्सनल सेक्ट्रेरी है… (उसकी चूत को मसलते हुए) तो पर्सनल काम भी… हाहाहा…सलोनी ने मुझे धक्का देते हुए- अच्छा जी… खबरदार… जो मेरा हक़ किसी को दिया तो… वैसे भी वो छम्मक-छल्लो कितना चमक धमक कर आती है…मैं- क्या यार तुम भी ना. !आरोही खुश होकर रेहान से लिपट गई और उसे चूमने लगी।रेहान भी उसके होंठों को चूसने लगा, दोनों एक-दूसरे को कस कर भींच लिया।करीब 5 मिनट के चूमा-चाटी के बाद रेहान उसको बाँहों में उठा कर बेड पर लिटा दिया और उसके मम्मों को दबाने लगा।आरोही पर मस्ती चढ़ने लगी और वो रेहान के शर्ट के बटन खोलने लगी।रेहान भी उसकी शर्ट के बटन खोलने लगी।अचानक रेहान को कुछ याद आया और वो उठ गया।आरोही- उहह डार्लिंग आओ ना.

उसके बाद मैंने दीपक का लंड अपने मुँह में ले लिया और लगी उसका लंड चूसने!मुझे उसके लंड का स्वाद बहुत अच्छा लग रहा था, मैंने दीपक का लंड चूस चूस कर लाल कर दिया था. मैंने कहा- नहीं, मैं खुद सब कर लूंगी, सन सामान ऊपर जाऊँगी, तुम बस मेरे साथ खाना खाना पूरे कपड़े पहन कर !सब बर्तन एक जगह पर रख कर मैंने गहरी सांस ली और एक झटके में अपना काला गाउन उतार दिया. वो तेरा इंटरव्यू लेंगा। पहले तो उसने मना कर दिया था, पर मैंने दोस्ती का वास्ता दिया, तब यहाँ आया है। अब बाकी तुम संभाल लेना.

!”हम लोग उसकी दो-अर्थी बातें सुनकर हँस पड़े।मैंने उसे डांटते हुए कहा- चमेली तू हरदम हँसी-मज़ाक करने के मूड में क्यों रहती है. पक्का सब बताता हूँ भाई प्लीज़…!साहिल मान जाता है, तब रेहान और सचिन आरोही को वापस रूम में बेड पर सुला देते हैं और बाहर से डोर लॉक करके ऊपर के रूम में चले जाते हैं। जहाँ रेहान अब गुस्सा हो जाता है।रेहान- तुम दोनों नशे में पागल हो गए हो, अगर मेरी आँख नहीं खुलती तो मेरा पूरा प्लान चौपट हो जाता, साहिल तुमने क्या कहा कि मेरा मन बदल गया है.

बाद में आते हैं ना दीपक के पास…मैडी ने ना-नुकुर की और फिर मान गया दोनों वहाँ से चले गए।दीपाली- चले गए हरामी.

!वो बोलीं- अभी तो मैंने तो प्यार में चुम्बन किया !मैं बोला- मैंने भी प्यार से चुम्बन किया।तो वो मुस्कुराते हुए बोलीं- कौन सा वाला प्यार? दीदी वाला प्यार या ‘वो’ वाला प्यार?यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं शर्मा गया और बोला- पता नहीं. नंगी नंगी पिक्चर सेक्सी!रेहान ने लौड़ा बाहर निकाला और एक झटके में आरोही को लिटा कर उसके पैर कंधे पर रख कर लौड़ा वापस चूत में घुसेड़ दिया।आरोही- अई… उफ़फ्फ़… इतनी स्पीड में अई अई… ये सब किया आ मुझे तो आ समझ ही नहीं आया… आ आ अब ठीक है उफ़ मेरी चूत में कुछ हो रहा है… आ अई… अई फ… उक्क मैं आ. देसी सेक्सी वीडियो देसी सेक्सबस आंटी अब ज़रा इस अपनी इस मस्त गाण्ड को पीछे को उभार दो और जितना हो सके वॉशबेसिन पर झुक जाओ ऊऊऊ अन्न्न्नान्न्न. अंगन से रगड़त थे अंगन को, सब अंगन पे जीभ फिरात रहेसर्वांग मेरे बेहाल हुए, मुझे मोम की भांति पिघलाय दिया,उस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

अरे यह तो बोरोप्लस की खुशबू थी…इसका मतलब मधु ने रात को बोरोप्लस भी लगाया… इसने एक बार भी मुझे अपने दर्द के बारे में नहीं बताया…मुझे उसके इस दर्द को छुपाने पर बहुत प्यार आया… मैंने उसके होंठों को चूम लिया.

नेहा वर्मादस मिनट बाद मैंने उनकी चूत में गरम-गरम रस डाल दिया और इस दौरान वो भी दोबारा झड गई थीं। मेरा लंड अभी तक उनकी चूत के अन्दर था, थोड़ी देर बाद हम अलग हुए।मैंने कहा- भाभी मन नहीं भरा है. अपने कमरे में आकर मैं, सखी बिस्तर पर थी लेट गईबंद करके आँखें पड़ी रही, साजन के सपनों में डूब गईहर आहट पर सखी मैंने तो, साजन को ही आते पायाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. मैं फिर भाभी के पैरों के बीच में आया और एक ही झटके में पूरा लंड घुसा दिया तो आह्ह्हह्ह” करके चिहुंक गईं, बोलीं- थोड़ा धीरे मेरे राजा.

!’ उनके मुँह से सिस्कारी निकली। उन्होंने अपनी गान्ड को अन्दर भींचा मेरी उंगली अन्दर की तरफ़ चली गई। मैं उंगली को अन्दर-बाहर करने लगा। उनको मज़ा आने लगा था। फिर उन्होंने भी मेरा लण्ड अपने मुँह में ले लिया। मैं डर गया. कुछ सुनाई नहीं दिया…?” वो पूरी बेशरमी पर उतर आये थे।लंड !” मैंने फिर से कहा, इस बार आवाज में कुछ जोर था।वो खुश हो गये। उन्होंने उठकर अचानक लाईट ऑन कर दी। पूरा कमरा दूधिया रोशनी में नहा गया।ऊँ हूँ… नहीं…” मैंने शरम से अपने छातियों को हाथों से ढक लिया और अपनी चूत को दोनों टाँगों के बीच भींच लिया जिससे उनकी उस पर नज़र ना पड़े।क्या करते हो बेशरम. मुझसे चला नहीं जाएगा…!रेहान ने अन्दर जाकर जूही को टब से निकाला, तौलिये से अच्छे से सुखा कर अपनी गोद में लेकर बाहर ले आया।बेड पर बैठा कर उसके पास बैठ कर बोला- लो जान थोड़ी बीयर पीलो.

सैक्सोफोन प्राइस इन इंडिया वीडियो

आप रुकिये…मैं आँखें बन्द करके लेटी रही !पाँच मिनट बाद एकदम मुझे अपने निप्पल पर कुछ ठंडा सा लगा, एकदम आराम मिला, सुकून मिला… आँखें खोली तो श्रेया मेरे निप्पल पर बर्फ़ लगा कर बैठी थी और उसने भी… कुछ भी नहीं पहना था, वो पूरे कपड़े नीचे उतार कर आई थी… उसका गोरा बदन धूप से लाल हो रहा था…मुझे बुरा लगा, मैंने कहा- अरे मुझे गुस्सा तुम पर थोड़े ना आया था. पहली बार मुझे लगा कि कच्छी पहननी चाहिए थी !पर तब तो उन्होंने इंजेक्शन लगा गाउन ठीक भी कर दिया था…मधु- नहीं भाभी. उसने मेरी पैंट की चेन खोलकर मेरा लण्ड बाहर निकल लिया…उसकी इस हरकत से मुझे बहुत आराम मिल गया क्योंकि बहुत देर से मेरा लण्ड पूरा खड़ा था और पेंट के अंदर उसमे दर्द होने लगा था।वो मेरे लण्ड को ऊपर से नीचे सहलाने लगी.

मैं भी साजन को छेड़त थी, कभी अंग को पकड़त छोड़त थी,साजन की कमर, नितम्बों पर, कभी च्योंटी काट के दौड़त थी,साजन के उभरे सीने पर, मैंने दंताक्षर री सखी छाप दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

थोड़ी देर में भाभी को मजा आने लगा और अब मैं भी भाभी की चूत में हल्के-हल्के धक्के लगाने चालू करे और अब भाभी को भी मजा आने लगा.

ऊँगली-मुट्ठी से वस्त्र रहित नितम्ब, नोचे-खरोचे-मसले गए,आटे की लोई से स्तन द्वय, दबाये-भींचे-पकड़े-छोड़े गए,नितम्बों की गहन उस घाटी में, उँगलियों ने गमन भी खूब कियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. न जाने आज मेरी जैसी लड़की जो अच्छा घर से आती है, जो अमीर भी हैबस चंद रुपयों के लिए यानि कपड़े खरीदने के लिए कपड़े उतरवा रही है. मान सेक्सीमैंने महसूस किया कि उंगली गांड में करने से उसकी उत्तेजना बढ़ गई थी… मुझे महसूस हुआ कि उसका लंड चूत के अन्दर ही और कड़कने लगा था.

कैसे जाएगा।मैं बोला- लंड चाहे कितना बड़ा भी क्यों ना हो, किसी भी चूत में आराम से चला जाता है और मैं तो वैसे भी खिलाड़ी हूँ. मैं भी चूसने लगी फिर उसने मुझे चोदना शुरु किया तो मुझे थोड़ा दर्द हो रहा था, क्योंकि चाचू का लण्ड 6 इंच था, पर कासिम का लण्ड 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा था. रात को कोमल के पिताजी ने पापा को फ़ोन करके मुझे उनके घर के बाहर बने बरामदे में सोने के लिए कह दिया था ताकि घर सुरक्षित रहे.

!”हम दोनों ऊपर कमरे में आ गए। जीजाजी दराज से सीडी निकाल कर ब्लू-फिल्म देख रहे थे। स्क्रीन पर चुदाई का सीन चल रहा था। उनके चेहरे पर उत्तेजना साफ झलक रही थी।कामिनी धीरे से कमरे में अन्दर जा कर बोली- नमस्ते जीजाजी. !और मैं फिर से पागलों की तरह चूमने लगा और मैं इतनी तेज़ उसे पकड़े हुए था कि उसके पूरे खरबूजों का मज़ा आ रहा था।वो बोली- ठीक है रात को आऊँगी लेकिन अभी जाने दो.

चोदते समय उसके चूतड़ों को दबा रहा था मैं… उसकी आहें आ रही थी… मादरचोद गांड उछाल कर चुदवा रही थी… उसके गोरे स्तन भी ऊपर नीचे हो रहे थे चोदते समय.

मेरा दिल रखने के लिए दो घूँट खींच डालो।”उनके जोर देने पर मैंने वो पैग खींचा। तब तक मैंने पूरा खाना गर्म कर दिया था, टेबल पर लगाने लगी मेरा सर घूमने लगा था। मस्त दुनिया दिख रही थी, मानो पाँव ज़मीन पर नहीं लग रहे थे।कहानी जारी रहेगी।मुझे आप अपने विचार यहाँ मेल करें।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:कड़क मर्द देखते ही चूत मचलने लगती है-2. पूछा- ये आधी रात को तुम्हें Beautiful कौन लिख रहा है?सलमा परेशां- अरे कौन इस उम्र में मुझे Beautiful लिखेगा?लाओ दिखाओ मुझे !इरफ़ान ने फोन दिखाया. मैंने कहा- जैसे तुम्हारा नाम अच्छा है, वैसे ही तुम भी बहुत सुंदर हो!वो मेरी बातों से शरमा रही थी और चुप थी.

सेक्सी फिल्म अंग्रेजी में वीडियो कमल प्रीतदोस्तो, आप सभी को मेरा यानि कमल का नमस्कार।मेरी उम्र 40 साल है और मैं जालंधर में रहता हूँ। मेरा मोटर पार्ट्स और पुरानी गाड़ियों की खरीद-बिक्री का काम है।एक सच्ची कहानी आपकी नज़र है।पिछले अगस्त के महीने में मेरे पास एक पति-पत्नी आए, जो अपनी पुरानी आल्टो कार बेचना चाहते थे। आदमी की उम्र 38 और महिला की करीब 33 होगी।मैंने कार देखकर उनको एक लाख 60 हज़ार रूपये बोल दिए, लेकिन उन्होंने कहा- 1. साजन के होंठ तो चंचल थे, जिह्वा भी अंग पर अति फिसली,कुहनी के बल मैंने नितम्ब उठा, जिह्वा अंग के अन्दर कर लीअंग में जिह्वा का मादक रस, सखी मैंने स्वयं उड़ेल लियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

मेरी चूत से लगातार रस टपक रहा था और अब बर्दास्त के बाहर था। मैंने नाईटी निकाली जो में रात को पहनती हूँ. साजन का सिर पकड़ के हाथों में, मुख उसके जिह्वा घुसाय दियाहोठों को होठों से जकड़ा, जिह्वा से जिह्वा का मेल कियाजैसे अंग परस्पर मिलते थे, जिह्वा ने मुख में वही खेल कियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. कैसे जाएगा।मैं बोला- लंड चाहे कितना बड़ा भी क्यों ना हो, किसी भी चूत में आराम से चला जाता है और मैं तो वैसे भी खिलाड़ी हूँ.

सेक्सी भाभी की पिक्चर

प्लीज़ प्लीज़ आआ…!जूही की बातों से साहिल और ज़्यादा उत्तेज़ित हो गया और अपनी पूरी ताक़त लगा कर झटके मारने लगा। दोनों के मिलन की आवाजें गूँजने लगीं ठप. सन्ता डॉक्टर को बुलाने भागा तो पप्पू ने दरवाजे पर रोक कर बताया कि बन्ता चाचू बेड के नीचे नंगे छुपे हुए हैं।सन्ता वापस आया, बेड के नीचे से भाई बन्ता को निकाला और गुस्से से कहा- बेगैरत ! तेरी प्रीतो भाभी को हार्ट अटैक आया है ! और तू नंगा होकर बच्चों को डरा रहा है? शर्म नहीं आती !. !धीरे-धीरे पूरा लण्ड अन्दर चला गया, अब मैंने नीचे से लण्ड पेलना शुरू किया, तो कुछ ही धक्कों के बाद कविता को भी मजा आने लगा। उसने भी सिसकियाँ लेते हुए.

मैंने उसको बेड पर गिरा दिया, अपने लंड को थूक से गीला किया, उसकी चूत भी गीली की, अब बस बारी थी एक धक्का लगाने की जिसके लिए हम दोनों उतावले थे. मुझे छोटी चड्डी में डाल कर नीलू मजा ले रही थी, क्योंकि मेरा लिंग फूल कर बाहर झाँकने की कोशिश कर रहा था.

मेरे अंग के सब क्रिया कलाप, अब साजन की नज़रों में थेअंग को अंग से सख्ती से जकड़, चहुँ ओर से नितम्ब हिलोर दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

!रेहान- जान, यह कपड़ा बीच में आ रहा है तुम कहो तो हटा दूँ…!आरोही पर सेक्स का खुमार चढ़ चुका था। उसके सोचने की ताक़त ख़त्म हो चुकी थी।आरोही- आह निकाल दो. अब वो चुदने को तैयार थी, मैंने उसकी टांगों को फ़ैला कर उसकी चूत में धीरे धीरे लंड को घुसाना शुरू किया, उसे काफ़ी तकलीफ़ महसूस हो रही थी. ! यह तो जीवन की कला है।फिर हम दोनों के बीच एडल्ट बातें शुरू हो गईं। बातों ही बातों में मैंने उससे उसकी चूचियों का साइज़ पूछ लिया।अब तक हम दोनों बहुत खुल चुके थे।उसने भी एक मुस्कान दी और बताया- 32.

”वह एकदम से शरमा गई पर कुछ बोली नहीं ! मैंने अपना हाथ उनके हाथ पर रखा और धीरे से बोला- आपको ऐसी साईट देखने की क्या जरुरत है?वह शर्माती अपने हाथ की ओर देखती हुई बोली- तुम्हारे भैया काम पर रहते हैं और मुझे मर्द की जरुरत हो तो यह सब देख लेती हूँ. वो भी नीचे से गांड हिला कर मेरा साथ दे रही थी और बोल रही थी- य्य्य्याआ आआआअ आया तेज और तेज करो बेबी! मुझे चोदते रहो…आआ आआऊऊऊ मम्म म्मन्न न्न्न्न स्सस्स्म्म म्मम् म्मम्म!फिर मैंने उसके दोनों टॅंग को अपने कंधे पर रख कर फिर से अपना लंड को उसकी चूत में दल दी और तेज तेज धक्के लगाने शुरू कर दिए. पर मेरा विरोध देख कर उसने प्यार भरी नज़रों से देखते हुए बोली- राहुल बस इत्ती सी बात पर नाराज़ हो गए… तुम्हारे लिए तो मेरी जान भी हाज़िर है.

उसने मेरी तरफ नजर उठा कर देखा और कहा- भैया जी वो बात ऐसी है कि… और उसने अपनी नजरें नीचे झुका लीं और अपनी साड़ी के छोर को अपनी उँगलियों में गोल-गोल घुमाने लगी.

कोलकाता के सेक्सी वीडियो बीएफ: थोड़ी देर वेटर दो कद्दू लेकर आया, बोला- वो सब तो ख़त्म हो गया, ये अदनान के टट्टे बचे हैं, यही खा लो!***भाग्य की विडम्बना तो देखिए-आमिर खान को कपड़े उतार कर काम करना पड़ रहा है,और…. ए शैलेश भैया बहुत दर्द हो रहा है… आह्ह्ह…शैलेश भैया ने एक ठाप और मारा… उनका आधा लंड मेरी गाण्ड में समा गया।बहुत दर्द हो रहा था…अब दर्द सहा नहीं जा रहा था… ऽ आह्ह्ह… निकाल लीजिए अपना लंड.

तीन-तीन बुर को पछाड़ कर मैदान में डटे हैं… चोद दो रज्जाआ चोदो… मेरी बुर भी कम नहीं है… कस-कस कर धक्के मारोओ मेरे चुदक्कड़ रज्जाआअ… मेरी बुर को फाड़ दो…अपने मदन-रस से सींच दो मेरी बुर को… ओह राजा बड़ा अच्छा लग रहा है… चोददो… चोददो… चोदो… और चोदो… राजा साथ-साथ गिरना… ओह हाईईइ आ भी जाओ मेरे चुदक्कड़ बलम. !आरोही वहाँ सीधी लेट जाती है और अन्ना उसके पास जाकर उसके होंठों पर हल्की सी किस कर देता है फिर उसके पास लेट कर उसकी मम्मे सहलाने लगता है।एक हाथ उसकी जाँघों पर रख देता है और उनको मसलने लगता है, आरोही की सिसकारियाँ निकलने लगती हैं। अन्ना धीरे-धीरे उसकी चूत को रगड़ने लगता है।आरोही- आ सीसी उफ. अब जो होगा देखा जाएगा… हम आता…!अन्ना भी उठकर बेड पर आ गया। अब दोनों उसके मम्मों और चूत से खेल रहे थे। अन्ना मम्मों को चूस रहा था और नीलेश चूत को चाट रहा था।इस दोहरे हमले से मेरी फ्रेंड को थोड़ा होश आया तो उसको अहसास हुआ कि ये क्या हो रहा है.

!दीप- घबराओ नहीं कविता बस थोड़ी तकलीफ के बाद मजा ही मजा है, तुम बस मेरा साथ दो और फिर आप को तो पोर्न स्टार की तरह चुदना है।कविता- ठीक है.

एक हाथ से कमर को भींचा, दूजे से स्तन दाब रहेऐसा लगता था मुझे सखी, ये क्षण हर पल आबाद रहेस्तनाग्रों पे उँगलियाँ वीणा सी ऊपर-नीचे सरकाय दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. नींद ने मेरे ऊपर पूरा कब्ज़ा कर लिया था…जबकि दिमाग में यह आ रहा था… कि उठकर सब कुछ सही कर देना चाहिये… खुद को और मधु को कपड़े पहना देने चाहियें…वरना सुबह दोनों को ऐसे देख सलोनी क्या सोचेगी और ना जाने क्या करेगी?मुझे नहीं पता कि मैं कब बेहोशी की नींद सो गया. ले…!”उसके मुँह से आआआहह उउम्म्म्मम” की आवाजें निकलने लगीं। पूरे कमरे में फ़च-फ़च की आवाजें गूँज रही थीं। करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद वो ज़ोर से चिल्लाने लगी, आह.