सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो भाभी देवर के

तस्वीर का शीर्षक ,

संभोग सेक्स: सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ, आज मेरा सब कुछ कर जाने का इरादा था, तो मैंने कहा- बेटू आज हम दोनों अपने पूरे कपड़े उतार कर सोते हैं … मजा आएगा.

भाभी सेक्स वीडियो एचडी

वह भी नीचे से अपनी गांड उठाकर उस लंड को अपनी चूत में लेना चाहती थी. एक्स वीडियो खेत मेंअपनी गांड को थोड़ा और आगे बढ़ाते ही चिन्ना के अनुभवी लण्ड को करोना बेटी के कुंवारी चूत की झिल्ली महसूस हुई और झिल्ली पर कड़क लण्ड का प्रेशर पड़ते ही अब तक हवस में मस्तायी करोना के माथे पर पसीना सा आ गया.

अब यह सोच कर करोना का दिल धड़कने लगा कि रोज़ की भांति आज फिर कोई मासूम लड़की बाहर से आकर अपना कुंवारापन इस बस में खो देगी।कुछ देर के बाद अटेंडेंट ने दरवाजा खटका कर कहा- बेबी डिनर तैयार है, आप आ जाइये. एक्स एक्स बीएफ वीडियो सेक्सीइतना कह कर मैंने फिर से उसके मुंह को अपने लंड पर दबा दिया और उसके सिर को पकड़ कर जोर जोर से अपने लंड की मुखमैथुन उससे करवाता रहा.

थोड़ा होश आने पर बोली- भैया आप क्या कर रहे हैं?मैंने बोला- तुम्हारी प्यारी बुर को भी तो प्यार चाहिए न.सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ: अम्मी के मुंह में लंड देने के बाद जल्दी ही मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

अब चिन्ना ने अपनी तर्जनी उंगली का दबाव करोना की क्लाइटोरिस (चूत के दाने) के ऊपर बढ़ाया.फिर उसने भाभी को बैड पर लिटा दिया और कपड़े उतार के भाभी के ऊपर आ गया.

नेपाली बीएफ वीडियो - सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ

मैं उसकी पूरी चूत को जुबान से चाटने लगा, उससे उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं.जब उससे बर्दाश्त न हुआ तो उसने मुझे पकड़ कर ऊपर खींच लिया और मुझे अपने नीचे पटक लिया.

सामने दीवार पर 43 इंच का एलईडी लगा हुआ था … जिसमें ‘मेरी आशिकी तुमसे ही. सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ रिया के मस्त रस भरे होंठों को चूसते हुए मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसके होंठों को चूसता रहा.

चूचियों पर हाथ फिराते- 2 चिन्ना बीच- 2 में अपनी चुटकियों में करोना के नाजुक निप्पलों को हल्के से दबा देता था जिससे करोना के मुँह से मस्ती भरी सिसकारी निकल जाती थी.

सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ?

फिर मैं 8 बजे वापस आया तो बेटा नाश्ता कर रहा था और बहू जिम जा रही थी. मेरी मामी की गांड तो और भी मस्त है, जब वो ठुमक ठुमक कर अपनी गांड मटका कर चलती हैं. इसी बीच हम दोबारा से गर्म होने लगे तो हम दोनों ने एक बार फिर जोरदार चुदाई की।दूसरी बार चुदाई करने के बाद काफी देर तक यूं ही आपस में चिपके रहे नंगे पड़े रहे और आपस में बातें करते रहे.

चोपड़ा ने नसरीन की ठुड्डी को उठाते हुए पूछा- तू अपनी मर्जी से आयी है?नसरीन- जी. चुदाई के लिए और क्या चाहिए?मम्मी अपने कमरे में चली गईं और मैं चुदाई का तान बाना बुनने लगा. काफी देर से ये काम-क्रीड़ा चल रही थी इसलिए उत्तेजना कुछ ज्यादा ही थी.

उसके कहने पर मैंने भी सोचा कि आज घर में कोई नहीं है, क्यों न मौके का फायदा उठाया जाये!मैंने भोलेपन से कहा- अच्छा नहीं करूंगा बदमाशी, एक बार छूने तो दे!वो धीरे धीरे मेरे पास आई. मैं जहां से भी जाती तो भीड़ ज़्यादा होने के वजह से कभी कोई मेरी गांड टच कर देता, तो कोई दबा देता. मैंने मम्मी को पलटाकर घोड़ी बना दिया और उनके पीछे आकर चूत का मुंह फैला कर अपने लण्ड का सुपारा रख दिया.

चूत पर लंड की अहसास होते ही बहू ने अपनी टाँगें और ज्यादा फैला दी जिससे बहू की चूत का मुँह खुल गया. जब उनकी जॉब लगी थी तो उन दिनों में ही उनके ऑफिस में काम करने वाली एक लड़की के साथ उनका टांका फिट हो गया था.

और भाभी के बच्चों का भी टाइम हो चला था ट्यूशन से लौट के आने का … तो मैं रुक गया।मैंने उससे कहा- तो फिर अब क्या करूं?तो उसने बोला- तुम रात को अपने घर से बहाना मार के आजाना बोल देना कि आज दोस्त के घर सोऊंगा और मैं रात को बच्चों को जल्दी सुला के भाभी को उनके चाचा के घर भेज दूंगी.

मैं बहुत खुश हुआ और कल्पना से कहा- लेकिन ऐसा कैसे?कल्पना ने कहा- मैं जिस चॉल में रहती हूँ, वहां मेरे पड़ोस में मेरी एक सहेली है.

मैंने जैसे ही दरवाज़ा खोला, सामने वो भाभी ही खड़ी थी और वो अभी भी मुझे ही घूर रही थी. फिर मैं उठा और लाइट जला दी, तो वो एकदम से घबरा गई और बोली- क्या हुआ?मैंने बोला- तुझे आज बिना कपड़ों के देखने का मन हो रहा है … इसलिए लाइट जला दी. मैंने एक दिन भाभी से बोला- आप इतनी मुलायम कैसे हो? मसाज वगैरह करवाती हो?तो उन्होंने कहा- नहीं, पर पहले करवाती थी.

हो सकता है इसी बीच के अंदर मधु ने किसी के साथ संबंध बना लिए हों!यह कहते हुए बलविंदर साहब थोड़ा सा उदास हो गए. फिर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा थोड़ा सा खोल दिया और हल्की सी सलवार नीचे कर दी. एक रात मैं जब उसके कमरे में मुठ मारने गया, तो देखा आज उसकी शर्ट काफी ऊपर हो रखी थी.

दोस्तो, ये मेरी बिल्कुल सच्ची घटना है … कोई झूठी सेक्स कहानी नहीं है.

मेरा नाम पल्लवी है और मैं अन्तर्वासना पर बहुत दिनों से कहानियाँ पढ़ रही हूँ और खुद भी कहानियाँ लिखना चाहती थी. मुझे वह होंठ मिलने वाले थे चूसने के लिए।फिर भाभी ने हमारे लिए ड्रिंक बनाए अपने लिए भी और मेरे लिए भी!हमने दो दो पैग लगाए. गोसानी परिवार के पास बहुत ज्यादा पैसे हो गए थे और अब वे यही करते थे कि अपना पैसा वह दूसरे लोगों को ब्याज पर देते थे.

मेरा नाम आयुष अग्रवाल है और मैं नैनीताल (उत्तराखंड) का रहने वाला हूं. वे भी अपना लंड अपने हाथ में पकड़ कर मेरे मुंह में डालने लगे। थूक का लार मेरे होंठ और उनके लंड से चिपका पड़ा था।फिर उन्होंने मुझे बिस्तर पर सीधा लेटा दिया और मेरी जांघें फैला दी. मैं मन ही मन अपने आप को गाली दे रही थी कि क्या जरूरत थी वहां से जाने की.

वैसे तो मैं भी शादीशुदा हूँ और मेरा शादीशुदा जीवन भी बहुत अच्छा है.

मैंने उसकी चुत पर काट लिया, उसने बहुत जोर से आवाज की और कहा- मेरी जान निकालना चाहते हो जान!मैं- नहीं निशु … तुम्हारे लिए जान देना चाहता हूँ. वो ये बात दीपावली की छुट्टी की है, तो अपने घर जाने से पहले वो एक दिन के लिए भैया के घर आई.

सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ ऐसा करने से तुम्हारी बात भी रह जाएगी और मेरे कपड़ों में तेल भी नहीं लगेगा. मेरी मां एक काम करने वाली ढूँढ रही थीं, क्योंकि हमारी पुरानी कामवाली काम छोड़ कर चली गयी थी.

सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ मेरे शौहर ने सर झुका कर मुझसे मांफी मांगी और कहा- सोचा कुछ और था हो कुछ और गया. अम्मी उस नकली लंड से चुद रही थी और उनके मुंह से आह्ह ऊह्ह … आह्ह … ओह्ह करके कामुक आवाजें निकल रही थीं.

मैंने सोचा पहले मामी का मन जान लिया जाए कि मामी के मन में क्या है, कहीं ऐसा न हो कि जल्दबाजी के चक्कर लेने के देने पड़ जाएं.

देहाती सेक्सी फुल एचडी बीएफ

तब तक मैं मटर तोड़ लेती हूँ।मैंने तोड़े हुए मटर की तरफ इशारा किया और कहा- आपको सिर्फ ध्यान देना है कि कोई इधर न आये. उस दौरान वो भी कुछ नहीं कहता था, बस मुझे हल्का सा देख कर सर नीचे कर लेता था. मैंने कहा- ठीक है कल्पना, कल सुबह मैं आपकी बताई जगह पर पहुंच कर कॉल करता हूँ.

एक दूसरे से डेढ़ से दो मीटर की दूरी बना कर रखें, भीड़ वाले स्थान पर मत जाएँ. वैसे पार्थिव की शादी को 3 साल हो गए थे, लेकिन उनको कोई बच्चा नहीं हुआ था. अब मेरी फोटू की पूछ रहा है?और हंस पड़ी और कहा- ये रण्डी रेनू अब तुम्हारी ही है.

कुछ पल बाद जब मेरा दर्द जरा कम हुआ, तो उसने मुझे छोड़ा और मेरे एक दूध को मसलने लगा.

मैं हरजिंदर सिंह, रोपड़ पंजाब से, एक बार फिर आप सभी का अन्तर्वासना की फ्री सेक्स कहानी साईट पर स्वागत करता हूं. दिल आज भी इसी उम्मीद में है कि एक दिन वो वापस आएगी।पता नहीं ये इंतज़ार कभी खत्म भी होगा या नही।उस दिन मुझे यह पता नहीं था कि मेरी ये मुलाकात आखरी होगी. मैं उसके करीब गया और उसे सर पर किस किया, फिर आंखों पर, फिर गाल पर … और लास्ट में लिप किस करने लगा.

लंड गांड के अन्दर लेते ही वो ज़ोर से चिल्ला दीं- आंह मर गई रे … निकाआल्लल्ल … ले. चाचा की तबियत काफी दिनों से खराब चल रही थी और वो बीमार होने से पहले भी चाची को अच्छे से नहीं चोद पाते थे. फिर वह अपनी चूत के पास पहुँची और जब उसने छुआ तो उसे एक नई सनसनी मिली, जिसका उसे कभी अनुभव नहीं था, लेकिन वह अभी भी इतनी मासूम थी कि उसे नहीं पता कि आगे क्या करना है.

इसी में घुस कर टीवी भी देखेंगे और चाय भी पियेंगे।”वो मेरे से तो खुल ही गयी थी तो उसे आने में कोई दिक्कत नहीं थी।भाभी आने से पहले कमरे का दरवाजा बंद कर दो; बड़ी ठंडी हवा चल रही है. अपनी आने वाली कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि मामी ने मुझे सेक्स करना कैसे सिखाया.

मेरे होश उड़ गए ये सब सुनकर!उस रेकॉर्डिंग में मूवी हॉल का पता, कौन से शो में मिलेंगे और सीट नंबर भी बताया उन्होंने मॉम को. जब भी मैं सिम्मी के स्तन को जोर से काटता वो सिर्फ इतना कहती- आह … दुखता है!कहानी अगले भाग में जारी रहेगी. मैंने दुबारा से उन्हें कॉल किया, तो मैंने उन्हें अपनी कसम दी और बात बताने के लिए कहा.

मेरे मुंह से एक चीख निकल गई तो वह जोर से हंस पड़ी।हम दोनों काफी देर एक दूसरे से चिपके रहे और फिर मैं उसके ऊपर से उतर गया.

मैं बोला- ऐसा करो, तुम लोवर निकाल कर स्कर्ट पहन लो … तब तक मैं पानी गर्म कर लेता हूं. मैं बहुत शर्मनाक स्थिति में हो गई थी मेरे कूल्हे ऊपर उठे हुए थे और मेरी कूल्हे की लकीर इस अवस्था में खुल गई थी मेरा मल द्वार और योनि भी खुल गई थी. पहले तो उसने मुझे मना किया लेकिन बाद में उसने मेरा लवड़ा बड़ी अच्छी तरीके से चूसना चालू किया।मैं पूरे जोश में आ चुका था। मैंने अब उसको वहीं पे जमीन पे लिटा दिया और उसकी कमर को पकड़ के उसके दोनों पैरों की चौड़ा किया.

मेरा खड़ा लंड उनकी जांघों के बीच में और उनकी चूचियां मेरे सीने में घुसने को बेताब थीं. उसने अपनी साड़ी पेटीकोट उतार दी और अपनी पेंटी उतार कर मेरे मुँह में ठूंस दी.

जो लड़कियां इस कहानी को पढ़ रही हैं वो नेहा की हालत को समझ पा रही होंगी, जब किसी के साथ पहला चुम्बन होता है तो कैसा लगता है. तब हम एक दूसरे के बदन को चूम चाट रहे थे।यह सब करने से मेरी वासना जाग उठी थी तो फिर मैं उनका लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. मैं अपना लंड चुत पर टिका दिया उसके छेद पर सुपारा घिसा तो बंदी मस्त हो गई.

भाभी की चुदाई बीएफ चुदाई

ट्रेन चलने का फायदा लेकर मैंने एक हाथ उनकी गांड पर रख दिया, वो कुछ नहीं बोलीं.

मेरे हाथ दीपिका की जांघ पर उसकी चूत के करीब छूकर आ रहे थे जिससे मेरा लंड एकदम से टन्न हो गया था. मैंने बाथरूम में जाकर उनकी पैंटी पर कई बार मुठ मार कर वीर्य गिराया है. मेरे सामने वही वेटर खड़ा था, जो अपने मोबाइल से मेरी वीडियो रेकॉर्डिंग कर रहा था.

उन्हें मुठ मारते देखा, तो मैंने भी अपना लंड निकाल लिया और उन्हें देखते हुए मुठ मारने लगा. कल्पना ने मुझसे कहा- सच में आर्यन, तुम बहुत ज्यादा और बहुत जोर से चोदते हो. कोलकाता सेक्स सेक्समेरे कदमों की आवाज़ सुनकर भाभी ने ऊपर मेरी तरफ देखा और मुस्कुराने लगी.

इससे पहले कि वो संभल पाती मैंने उनको पेट के बल लिटा दिया और उनकी गर्दन और पीठ को चूमने लगा. लेकिन सेजल अपनी धुन के अंदर अपने ससुर का लंड पूरी तरीके से गीला करने पर आमादा थी.

एग्जाम सेंटर पर मैं फ़ोन नहीं ले जा सकता था, तो मैं अपना फ़ोन मानवी को दे गया और उससे बोला कि मैं एग्जाम देने जा रहा हूँ, तुम ध्यान से जाग जाना और घर से फ़ोन आए, तो बात कर लेना. दोस्तो, इस तरह मैं अपनी इन भाभी को रोजाना चोदता हूं और मैं उन्ही यहां किराए पर रहता हूं. तो रेकॉर्डिंग सुनकर मेरे होश उड़ गए।पुष्पा आंटी कह रही थी- रेनू, अगले संडे को मूवी चलेंगे हम दोनों.

उस कॉलोनी का वही सिक्योरिटी गार्ड मुझे मिला और बोला- बिल्डिंग नंबर 10 में नवीन सर है. उसकी चूत पर रगड़ने से लंड के टोपे में जो सनसनाहट हो रही थी वो एक अलग ही मजा दे रही थी. मैंने मामी को और खोला- तो मामी आपने किसी दूसरे के लंड की तरफ ध्यान नहीं दिया?मामी- मेरा मन तो था कि किसी और के लंड से चुद लूं, पर तू तो जानता भी है कि मेरे घर में जॉइंट फैमिली होने की वजह से किसी बाहर वाले के साथ सेक्स करना संभव नहीं है और घर में कोई ऐसा नहीं था, जिससे मैं अपने सेक्स सम्बन्ध बना सकूँ.

भाभी बोली- वो मौका तब ही मिल सकता है, जब मुझे समझ आ जाएगा कि तुम चुदाई में क्या क्या करते हो?मैंने उसे बताया कि मुझे औरतों की गांड सूंघने और चाटने में बहुत मजा आता है और गांड के छेद में लंबी जीभ डालने में बहुत अच्छा लगता है.

धीरे धीरे वो फिर से गर्म हो गई और मुझे लंड उसकी चुत में डालने को बोलने लगी. मैंने नसरीन की ठोड़ी को पकड़ कर उठाते हुए कहा- नसरीन … बोलो ना … आई लव यू … डू यू लव मी?वो शर्म से सर झुकाए हुए खामोश थी.

मैंने उठ कर किचन से जाकर घी लिया और वापस आकर उंगली से उसकी गांड और अपने लंड को चिकना कर दिया. निशु ने अपने नाखूनों से मेरी पीठ पर बहुत बार खरोंच कर नाखून गड़ा दिए थे … लेकिन इसमें भी मज़ा आ रहा था. पर रात को खाने के बाद मेरी उससे बात हुई, तो उसने मुझे बताया उसके पति भी उसे खूब चोदते हैं.

जब कुछ देर तक भाभी की चूचियों को घूरने के बाद पापा से रुका न गया तो उन्होंने भाभी को अपने पास आने के लिए कहा. मैंने कहा- बहू तैयार हो गयी?बहू बोली- हाँ डैडी जी!मैं बहू के बैडरूम में अंदर गया तो देखा मेरी बहू शीशे के सामने खड़ी थी. अगर तुझे मालिश ही करवानी है तो मैं कर देती हूं चल।मैंने कहा- नहीं अम्मी, आप क्यों तकलीफ करती हो.

सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ फिर उन्होंने मुझे अंदर से आवाज दी- यहीं आ जाओ, किचन में बात करते हैं. बच्चे की डिलीवरी में मेरी बीवी की मौत के बाद मेरी 19 साल की जवान बहन ने मेरे बेटे को संभाला.

सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी इंग्लिश

आगे से भी ब्लाउज का भी गला काफ़ी गहरा था, जिसमें मेरे बूब्स पूरे साफ़ नज़र आ रहे थे. मैंने पूछा- भाभी आप इस टाइम?उन्होंने कहा- आपके भैया ऑफिस चले गए हैं. अभी विशु ने मां के दोनों बूब्स के बीच में अपना लंड रख दिया और अपना लंड मां के बूब्स के बीच में लंड को घिसने लगा.

जैसे ही स्टेशन आया टी टी ने दरवाजा खोल कर मुझे उतार दिया और हाथ हिला कर मुझसे विदा ली. फिर मैंने झटके देना शुरू कर दिए … हर झटके के साथ उसके बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे. सेक्सी हिंदी मे सेक्सइसलिए ज्यादा देर तक मैं टिक नहीं पाया और मैंने पांच-छह धक्के लगाने के बाद ही अपने लंड पर नियंत्रण खो दिया और आंटी की चूत में वीर्य उड़ेल दिया.

दीदी की ब्रा बीच में आ रही थी, इसलिए अब दीदी को मैं नंगी करना चाह रहा था.

चूंकि मैं उनको ऐसी ड्रेस में अक्सर देखता रहता था, इसलिए मुझे कोई ताज्जुब नहीं हुआ. इतनी देर में पता नहीं कब पापा ने अपने कपड़े उतार दिए, ये मुझे पता ही नहीं चला.

वो और जोर से चिल्लाई- प्लीज मेरे राजा, आराम से करो … मैं रंडी जरूर हूँ पर इतने जोर जोर और काट कर चुदाई करोगे, तो मुझे भी दर्द होगा, मैं तुम्हें पूरा मजा नहीं दे सकूंगी … प्लीज आराम से चोदो मुझे. उसको हल्का सा दर्द तो हुआ लेकिन वो इतनी मदहोश हो चुकी थी कि उसको ज्यादा पता नहीं चला. चिन्ना ने इसी मुद्रा में करोना की स्लेक्स की इलास्टिक में उँगलियाँ फँसाते हुए उसकी स्लेक्स और पैंटी को एक साथ एक ही झटके में नीचे की तरफ सरका दिया.

मैं यह कहानी मुख्यतः उन लोगों के लिए लिख रहा हूँ जो लोग समझते हैं कि एक लड़का और एक लड़की सिर्फ दोस्त नहीं हो सकते.

हर एक व्यक्ति द्वारा अपनायी गयी रोकथाम, सावधानियां उसके अपने लिए, अपने परिवार के लिए, पड़ोसियों के लिए, देश के लिए लाभकारी है और जरूरी है. मैं बोला- जो भी बात है बताओ?तो उसने मुझसे वादा कराया कि मैं उसकी बात से नाराज नहीं होऊंगा और ना किसी को बताऊंगा।मैंने वादा किया कि मैं किसी से कुछ नहीं कहूंगा और कहा- तुम मुझ पर विश्वास कर सकती हो।तब उसने कहा- मैं तुमसे प्यार करती हूं. दोस्तो, शीला दीदी की बेटी कविता, मेरी बहन नन्दिनी दीदी और मौसेरी बहन ज्योति … तीनों घर की लड़कियां हैं.

पुरानी सेक्सी ब्लू फिल्मकुछ देर इधर उधर घूमने के बाद मुझे नींद गहराने लगी, तो मैंने मम्मी से कहा कि मुझे सोना है. शिल्पा- मतलब?मैं- जैसे तुम्हें अभी रिलैक्स लगा है, वैसे ही तुम मुझे रिलैक्स करवाओगी और फिर दोनों साथ में रिलैक्स करेंगे उसके बाद.

एक्स एक्स बीएफ साड़ी में

दो घंटे बाद वापस आते समय मैंने अनवांटेड 72 की एक टॅबलेट खरीद ली और एक पैकेट कंडोम भी ले लिया. दोस्तों आपको सीमा की चुदाई की कहानी अच्छी लगी हो, तो मैसेज जरूर करना. सलमान की देख रेख करते करते कब मैं नसरीन की तरफ आकर्षित हो गया, कुछ पता ही नहीं चला.

आकांक्षा इस समय पूरी तरह से मदहोश हो चुकी थी और धीरे धीरे मादक सिसकारियां ले रही थी. क्या तुम भी मुझे पसंद करती हो?निधि ने कहा- रात में दस बजे कॉल करने जवाब तभी मिलेगा. लेकिन इनके बावजूद बलविंदर साहब के हाथ में सेजल के बूब्स नहीं आ रहे थे बलविंदर साहब को इतना मजा आ रहा था कि उन्होंने अपने दोनों हाथों को सेजल के बूब्स पर मसलना चालू किया.

हमारे परिवार पर ईश्वर की बड़ी कृपा थी, सब कुछ बहुत अच्छा चल रहा था कि तभी एक मार्ग दुर्घटना में पापा चल बसे. मां के पैर के अंगूठे को चूसना शुरु करके वो अपना हाथ मां की जांघों पर फिराने लगा. चिन्ना का खम्बे जैसा लण्ड करोना की स्लेक्स से ढकी चूत के सामने से होता हुआ करोना के पेट तक पहुँच रहा था, जिसकी वजह से करोना अपनी जगह से आगे नहीं हिल सकती थी।चिन्ना ने करोना को चुदाई के लिए तैयार करने की अपनी कार्यवाही आगे बढ़ाई और एक हाथ से करोना की चूचियों को सहलाता रहा.

करोना की चूत की सील को बिल्कुल सलामत पाकर चिन्ना ख़ुशी से झूम उठा और उसका लण्ड ख़ुशी से इतरा कर ठुमकने लगा. कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं अपने परिवार से आपका परिचय करवा देता हूं.

मेरी सेक्स कहानी में चुत चुदाई का रस कुछ यूं है कि पिछले साल हमारे कॉलेज में दीवाली के अवसर पर बीस अक्टूबर को एक कार्यक्रम किया जा रहा था, जिसमें मुझे लहंगा चोली पहन कर एक आइटम डांस करना था.

अंदर रूम में पूरी तरह से मैं एंटर भी नहीं हुआ था कि मुझे अम्मी के मुंह से ये लफ्ज सुनाई दिये- परवीन … जरा मेरे चूचों पर भी हाथ मार दे, बहुत सख्त हो रहे हैं. कोलकाता सोनागाछी के बीएफजैसे ही उसने अपना हाथ मेरी गोटियों को लगाया, मेरे लंड से वीर्य का झरना उसकी चूत में बह गया. सेक्सी बीएफ वीडियो एचडी मेंमैंने इस पर ध्यान न देते हुए एक और जोरदार झटका मारा, जिससे मेरा लंड आधे से ज्यादा उसकी चुत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया. उसने अपनी आंखें बंद कर ली थीं … इससे मैं भी पूरी मस्ती से बुर का मजा लेने लगा था.

काफी जोर लगाने के बावजूद अब लण्ड अन्दर नहीं जा रहा था तो मैंने हनी के होंठ छोड़े, सीधे होकर हनी की कमर पकड़ ली और आधा लण्ड अन्दर बाहर करना शुरू किया.

उसका भुजंग जैसा लण्ड बस की छत की और ऐसे खड़ा था जैसे कोई मिसाईल लॉन्चिंग पैड पर उड़ने के लिए तैयार खड़ी हो. अब उसने मां के पैरों को दोनों हाथों से पकड़ा और अपनी कमर का पूरा जोर लगाते हुए मां की चूत को चोदना चालू किया. मैं समझ गया कि अब मेरी बहन की कुंवारी बुर का सैलाब निकालने वाला है.

अगर मेरी इस आपबीती को आप लोगों का पॉजीटिव रेस्पोन्स मिला तो अपने जीवन में घटी और भी सेक्स घटनाएं मैं आप तक लेकर आऊंगा. मैं उसके ऊपर लेट उसके एक निप्पल को चूस रहा था और नीचे उसकी चूत की चुदास भी मिटा रहा था. चूंकि मैं कविता को चोदना चाहता था, लेकिन मैंने इस बात को उसे अभी तक नहीं बताया था.

सेक्सी वीडियो चोदा बीएफ

मैंने पापा को कॉल कर दिया कि दोस्त के घर काम है, मैं रात को उसी के घर रूकूंगा. हम दोनों 12वीं तक एक साथ पढ़े हैं तो हमारी पक्की दोस्ती थी, पारिवारिक सम्बन्ध थे. उस वक्त मैं राजस्थान में कंप्यूटर सिखाता था और मैं एक कम्प्यूटर सेंटर में जॉब कर रहा था.

एक घंटे बाद करीब 9 बजे नवीन जी फ्लैट में आये और बोले- अंजलि, क्या तुमने डिनर रेडी कर लिया.

उसकी इस सख्त बात को सुनकर मैं एकदम से डर गयी और उसको समझाने लगी, लेकिन उसने मेरी एक नहीं सुनी.

डिस्चार्ज का समय करीब आते आतेहनी भी पूरे जोश में आ गई और अपने चूतड़ उछाल कर कहने लगी- मारो फूफा जी … और जोर से मारो. अपनी गांड को थोड़ा और आगे बढ़ाते ही चिन्ना के अनुभवी लण्ड को करोना बेटी के कुंवारी चूत की झिल्ली महसूस हुई और झिल्ली पर कड़क लण्ड का प्रेशर पड़ते ही अब तक हवस में मस्तायी करोना के माथे पर पसीना सा आ गया. जंगल सेक्सी बीएफदीदी- राज, तुम मेरे भाई के साथ अच्छे दोस्त भी हो, इसलिए तुम्हें शर्माने की जरूर नहीं हैं.

शिल्पा- हम बहुत अच्छे दोस्त हैं … और मैं भी नहीं चाहती कि ये गर्ल-फ्रेंड बॉय-फ्रेंड के चक्कर में उसको डुबो दें. मैंने जोर जोर से उसकी चूत की दोनों पंखुड़ियों को बाजू करके सीधे उसकी चूत में अपनी जीभ घुसा दी. वो भी बराबर मेरा साथ दे रही थी!फिर उसने मुझे थोड़ा रिलैक्स होने को कहा.

और निधि बड़े ही प्यार से मेरे लन्ड के साथ साथ मेरे अंडकोष को भी चाट रही थी।कुछ देर बाद मैंने निधि के सर को अपनी हाथों में पकड़ लिया. उसकी चूत से उसका और मेरा पानी बहकर बाहर आ रहा था।फिर हम दोनों उठ कर बाथरूम गए और खुद को साफ कर वापस बेडरूम में आ गए.

जब कभी आप बाहर से घर में आयें तो साबुन से अपने हाथ मुँह, शरीर के खुले अंग धो लें.

ट्रेन हिलने के कारण मैंने अपने हाथ ढीले छोड़ दिए थे, जिससे मेरा हाथ भाभी की गांड को अपने आप सहलाने लगा था. मेरा ट्रेन टिकट आम्रपाली ट्रेन में ऊपर की बर्थ की टिकट थी और कन्फर्म थी. फिर मैंने 11 नंबर की बस पकड़ी यानि पडल चलते हुए ही कॉलेज के लिए निकल गया.

मेरठ का सेक्स दो मिनट इंतजार करने के बाद जब मुझे सब कुछ सही लगा तो मैंने फिर से उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया. आज मेरा सब कुछ कर जाने का इरादा था, तो मैंने कहा- बेटू आज हम दोनों अपने पूरे कपड़े उतार कर सोते हैं … मजा आएगा.

अगले एक हफ्ते तक मैं पेंट के अन्दर क्रिकेट वाला एलगार्ड लगा कर फिरा. तुम लोग सिर्फ देखते हो या कुछ करते भी हो?”शगुन के घर में उसका चाचा रहता है, वो अपने चाचा के साथ करती है. गदराया हुआ शरीर 34″ के उभार और मटका सी गांड! कुल मिलाकर ऐसी लगी कि मैं उसे देखता ही रह गया!मैं थोड़ी देर बाद अपने काम में लग गया, सारे काम चलते रहे.

सेक्सी वीडियो इंग्लिश वीडियो बीएफ

उसने कहा- हां चल इधर आ … तेरी फीस भी ले लेते हैं और तुझे पहनना भी सिखा देते हैं. मैंने मौका देख कर अपना लंड उसकी गांड में डालना चाहा … सुपारे ने एक बार फिर से छेद को चीरना चाहा, लेकिन दर्द के मारे उसने मेरा लंड अन्दर जाने ही नहीं दिया. वो बार बार अपनी गांड को ऊपर करके लंड के सुपारे को चूत में लेने का प्रयास कर रही थी जिसमें उसको सफलता नहीं मिल रही थी.

रात को मेरी नींद खुली, तो मुझे लगा कि कोई मेरे पीछे सो रहा है और मेरी जांघ पर हाथ लगा रहा है. फिर मैंने रचना को किस करना शुरू कर दिया और उसकी चूचियों को दबाने लगा.

इतनी बात करते करते भाभी एकदम गरमा गईं और मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगीं.

हम दोनों ने एक दूसरे को अपनी बांहों में डाल एक दूसरे के होंठों को चूसना आरम्भ कर दिया. कुछ देर बाद मैंने मम्मी की ब्रा उतार दी और बीस बाईस साल के अंतराल के बाद आज फिर मम्मी की चूची मेरे मुंह में आ गई. खाना खाते समय उसने मुझे आखिर पूछ ही लिया- तुम मुझे बाथरूम में क्यों देख रहे थे?मैंने बोल दिया- बस ऐसे ही.

जब थोड़ा नॉर्मल हुए, तो वो अलग हुई और बाथरूम जाकर खुद को ठीक करके मेरे लिए किचन से चाय बनाकर लायी. निशा- मेरी जान, मैं भी तुमसे बहुत मोहब्बत करती हूँ … कब से इस दिन का इंतजार था मुझे. मां ने दीदी से कहा- आओ बेटी, अपने पापा को अपनी जवानी का पूरा रस दे दो आज.

उसे अब सिर्फ इसी बात की चिंता सता रही थी कि आखिर ये हवाई जहाज जैसा लण्ड उसकी छोटी से नाजुक चूत में कैसा घुसेगा.

सेक्सी वीडियो नंगा बीएफ: उसने मुझसे कहा- और ना तड़पाओ … पेल कर चोद दो मुझे!मैं भी एक भूखे शेर की तरह उस पर चढ़ गया और अपना लंड उसकी चुत में डालने लगा. हम दोनों के बीच में शादी के 6 महीने के बाद ही मन-मुटाव होना शुरू हो गया था लेकिन घर की इज्जत की वजह से मैंने शादी को खींचे रखा.

वो वैसे ही पूरी लेट गयी और मैं उसकी चूत पे लंड डाले उसके ऊपर लेट गया. उसके बाद सब लोग बैठकर बातचीत करने लगे और मैं स्नेहा को चोदने के बारे में सोचने लगा कि इसे कैसे चोदा जाये. उनकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया और उनकी टांगों को चौड़ी करके अपने हाथों में थाम लिया.

वह धीरे- धीरे जीभ से कभी उसके दाएं निप्पल को छेड़ता, फिर उसके इर्द गिर्द सर्किल बनाता, कभी होंठों में दबा कर हल्के दबाव के साथ चुमला देता.

कुछ ही देर के बाद मुझे लगने लगा कि मेरे लंड से कुछ बाहर निकलने वाला है. अंधेरा होने के कारण कुछ ज्यादा दिखाई नहीं पड़ रहा था लेकिन मां की चूचियां लटकती हुई दिख गयी थीं. मैंने तुरंत तनु को अपने पास खींचा और उसके मुंह में लंड को डाल दिया.