गांड में लंड डालने वाला बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो भोजपुरिया गाना

तस्वीर का शीर्षक ,

इंग्लिश बीएफ भेजिए बीएफ: गांड में लंड डालने वाला बीएफ, वहाँ से आने के बाद मैंने अपने कमरे में जा कर किताब को खोला ही था कि माँ ने आवाज लगा दी.

सेक्सी आ जाए

वो बीच बीच में मेरे कंधे पे, पेट पे, जांघ पे हाथ रखती रही और मैं उसके हाथ को हटाता रहा. xxx पंजाबइसी लिए ऐसा कुछ हो गया।उसकी माँ ने बताया कि किसी काम के सिलसिले में उसके पापा को अर्जेंट दिल्ली जाना पड़ रहा है, अभी निकलना है तू जल्दी से फ्रेश होकर नीचे आ, उन्हें स्टेशन छोड़ के आना है।संजय ने ज़्यादा कुछ पूछा नहीं क्योंकि अक्सर उसके पापा बाहर जाते हैं। वो अच्छे से रेडी हुआ.

इधर मैंने पीटर को अपने पास खींचा और अपने होंठ उसके होंठों पे रख दिए. इंडियन ओपन सेक्सी बीपीअरे तेरे ये मुहाँसे मिट जायेंगे देख लेना और मज़ा ही ऐसा आयेगा कि तुझे अभी तक नहीं आया होगा!’मेरी बात सुनके वो चुप रह गई.

साला हरामी की औलाद कहीं का… बोला- लीजिये राज कुमार जी, मैंने मेरी बीवी आपको पेश की…अब इस कम्बख्त का चोद चोद के भुर्ता बना दीजिए.गांड में लंड डालने वाला बीएफ: मन तो मेरा था उसके होठों को चूस लूँ पर मेरे कुछ भी कहने या करने से पहले ही मानसी ने मुझे आगाह कर दिया कि हम एक सार्वजनिक स्थान पर हैं और मैं कोई भी ऐसी वैसी हरकत ना करूँ.

एकदम लंबी बरफी की तरह कटावदार चुत, थोड़ी सी फूली हुई और फांकें एकदम गुलाबी थीं.इसलिए अभी सूरत जा रहा हूँ, सुबह जल्दी उनसे मिलना है।गुलशन जी जल्दी में थे मगर हेमा ने उनको खाना खिलाया और सुमन ने उनका बैग पैक किया और वो निकल गए।ठीक 9 बजे टीना उनके घर आई, सुमन की माँ से मिली, फिर वो सुमन के कमरे में चली गई।सुमन- मैं आपका ही वेट कर रही थी दीदी, और बताओ आज आप क्या टास्क दोगी?टीना- बताऊंगी मेरी जान.

बिहारी आंटी की चुदाई - गांड में लंड डालने वाला बीएफ

इस बार चुदाई इतनी तेज थी कि मैं दो बार झड़ चुकी थी तब मुरुगन का लंड फटने को हुआ.मैं रात को मस्त और एक सेक्सी ड्रेस पहनकर अपनी रूममेट के साथ डिस्को गई और वहाँ पर मैंने पहली बार दारू पी.

अब मैंने देखा कि चाची कुछ नहीं बोली तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई, मेरा लंड टाईट हो गया था, मैं उसे चाची के हाथ के पास सटा कर चाची की चूची को दबाने लगा. गांड में लंड डालने वाला बीएफ कार में बैठने के बाद जमीला ने बात शुरू की- राजेश जी, जूनागढ़ का सफर कैसा रहा.

मैंने सीमा दीदी से कहा- शायद जल्दी के चक्कर में मेन गेट बंद करना ही भूल गया.

गांड में लंड डालने वाला बीएफ?

नहीं नहीं चुप हो जाओ बस।सुमन- सॉरी पापा, मैंने आपको दुखी किया प्लीज़ आप मुझे माफ़ कर दो।गुलशन- अरे नहीं, तुमने कुछ नहीं किया मैंने ही तुम्हें गुस्से ज़्यादा कह दिया था।थोड़ी देर दोनों बाप और बेटी का ये प्यार चलता रहा. अनिता- आराम से करना, आपका लंड बहुत बड़ा है… कहीं मेरी छोटी सी चुत फट ना जाए. बीच में एक दिन को ऋषिका का पति कुशल भी आया, वो भी स्मार्ट पर्सनालिटी का रंगीन तबियत का आदमी था तो तीनों ने साथ ही बाहर डिनर लिया… रात को देर तक तीनों गप्पें मारते रहे.

हैलो, मेरी इस चुदाई की कहानी में आपका स्वागत है।मैं एक सीधी-सादी महिला हूँ, मेरी शादी को 3 साल हुए हैं। मेरे पति रिक्शा चलाते हैं. फटी हुई एड़ियाँ गायब थीं, नाख़ून साफ सुथरे और हाथों के नाख़ून वाली नेल पोलिश में रंगे हुऐ थे. कमसिन कली स्नेहा का नंगा जिस्म मेरे नंगे जिस्म के आगोश में होगा, अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो!अगले दिन मैं स्नेहा से मिलने को तैयार हुआ.

ये सब खेल मुझे इतना पसंद था कि जब भी मैं वहां जाता तो उसके साथ वो सब जरूर करता था. ! अभी तो उसे ही देख कर हम सेक्स करना सीख रहे हैं। अब तुझे भी सीखना है तो पुस्तक देख के सीख लेना। यार पर हम लोगों ने पुस्तक के सारे तरीके आजमा लिए। पर असल जिन्दगी में वैसा करना बहुत मुश्किल होता है। और पुस्तक में तो लिंग और चूत की साईज ऐसी दिखती है जो कि हमारी कल्पना से भी बाहर है। विशाल का लिंग तो उनके मुकाबले आधे से भी छोटा है। मुझे तो उस पुस्तक की तस्वीरें झूठी लगती है. पहले ही मुझे रंडी बोल चुके हो आज साबित भी कर दो।गोपाल- अरे सॉरी यार.

जब मैं बाथरूम से वापिस आया तब देखा कि चाची मेरे बिस्तर पर बैठी कुछ सोच रही थी, मैंने पूछा- मेरी प्यारी चाची जान, बड़ी गुमसुम सी हो कर बैठी क्या सोच रही हो?मेरी और देखते हुए वह बोलीं- मैं सोच रही थी कि क्यों न हम नीचे मेरे वाले कमरे में चलें. हम लोग आज तक उस पुस्तक जैसा सेक्स नहीं कर पाये।मैंने उसे रोकते हुए तुरंत कहा- रोहन ने तो कहा था कि तुम लोगों ने हर तरीके से सेक्स कर लिया है।तब प्रेरणा ने कहा- अरे नहीं यार.

उसने शीशी से काफी सारा तेल निकाला और मेरे लुल्ले पे लगा कर अपने हाथ से उसकी ऊपर नीचे मालिश करने लगी.

मेरी जवान बीवी की गांड भोसड़े की तरह खुल गई थी और दोनों दैत्याकार लौड़े आराम से उसके अन्दर दौड़ लगाने लगे थे.

शक्ल से भिखारी लग रहा था। उसने फटा हुआ कुर्ता और पजामा पहना हुआ था।सुमन- दीदी क्या कर रही हो आप हटो वहां से. लेकिन अब तो मेरे पूरे पूरे मज़े हैं, जब भी दिल करता है तो कभी जानवी को और कभी तमन्ना को जी भर के चोदता हूँ. मेरे देवर के लंड का रस बहुत ही ज्यादा था, मैंने एक बार पूरा गटक लिया मगर फिर भी मेरे देवर के लंड से रस निकला जा रहा था।आदी ने कहा- प्रमिला भाभी, आज आपको अपने लंड के रस से नहला दूंगा!मैंने कहा- हां मेरे प्यारे देवर, नहला दो अपनी भाभी को!उस दिन मेरे देवर ने अपनी भाभी की तीन बार चुदाई की और चुदाई की प्यास बुझाई.

शाम को चाचा घर आए और मुझे और रवि को चाची के पास ही सोने का बोल के खुद बाहर चले गए. जैसेचार फ़ौजी और चूत का मैदानको तो अपने बहुत ही पसंद किया था और मुझे बहुत सारी मेल भी आई थी. ऐसा करने से उसको बहुत जल्दी नींद आ जाती है और एक बार वो सो जाए तो ढोल नगाड़े भी बजा दो.

आगे जो बातचीत हुई वो इस प्रकार है:राजे- हेलो… कौन बोल रहा है?मैं- हेलो गुड आफ्टरनून राज कुमार जी… मेरा नाम मोना है और आपका नंबर आपकी एक फ्रेंड ज्योति ने दिया है.

रहने दो अब जो हुआ उसको भूल जाओ पार्टी का मज़ा लो ना।फ्लॉरा- वेट वेट. और उधर से कंडक्टर ने सीटी मार दी- बहादुरगढ़ वाली बस चलने वाली है, कोई सवारी बाहर है तो बस में आकर बैठ जाए. तभी पीटर ने मेरे बाल पकड़े और उखड़ी सांस में कहा- निकी, मेरा होने वाला है.

इतनी रात को तुम्हें क्या चाहिए?ऋतु ने कहा- क्या तुम फिर से मेरी बुर चाट सकते हो जैसे कल चाटी थी. अब उसने मेरी बहन की चूचियों को अपनी हथेलियों में भरकर मसलना शुरू किया तो मेरी बहन अपने बदन को उत्तेजना के साथ ऐंठने लगीं. ऐसा एक साल चलता रहा, पर एक दिन मेरे पापा पता चल गया कि यह दोनों गलत काम करते हैं.

वह मजे से सिसकारियाँ लेने लगी और अपने चूतड़ उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी.

जलपान के बाद स्नेहा मुझे अपने रूम में ले गई, उसका रूम तीसरी मंजिल पर था. थोड़ी देर बाद दोनों 69 के पोज़ में आ गए और संजय ने पूजा की बुर को इतने ज़बरदस्त तरीके से चूसना शुरू कर दिया.

गांड में लंड डालने वाला बीएफ और वैसे भी अब मेरे हाथ दुखने लगे हैं।टीना ने थोड़े गुस्से में ये कहा तो मॉंटी डर गया और चुपचाप कैप्री पहन कर सो गया क्योंकि अंडरवियर को पहनने के लिए टीना ने उसको मना किया था।टीना को पता था उसने मॉंटी के अन्दर के मर्द को जगा दिया है, अब उसको सुकून नहीं मिलेगा मगर वो अपने भाई के साथ ये सब नहीं करना चाहती थी. मैं वापिस कमरे में आ गया लेकिन माला ने शायद मुझे देख लिया होगा इसलिए एक मिनट के बाद ही उसकी आवाज़ आई- साहिब, आप अंदर आ जाइए मैंने अपने आप को ढक लिया है.

गांड में लंड डालने वाला बीएफ मैं बोला- क्या रफीक को पता है कि तुम भी घर में हो?तो जमीला बोली- नहीं उनको पता नहीं है और इसलिए तो मैंने कहा कि आज दिनभर इतना मजेदार होगा की पूरी जिंदगी नहीं भूलोगे. मैंने रोका तो मान गए लेकिन फिर दोबारा कुछ चढ़ी तो मेरी गांड में ही पेल दिया.

ऐसी बात मत कर यार, मेरी तो पैन्ट में हलचल शुरू हो जाती है।टीना- अबे चल साले चूतिये.

कोठा पर के बीएफ

आज संजना का मासिक का दूसरा दिन है। कल रात को प्रोगाम बनाते हैं।वो बोले- ठीक है।इसके बाद हम लोग घर आ गए। मैं घर आया तो संजना बोली- आज आपको ऑफिस से आने में काफी देर हो गई, घड़ी देखो, 9 बज गए हैं?मैंने कहा- हाँ एक दोस्त के यहाँ चला गया था।वो खाना ले आई और हम लोग खाकर बिस्तर पे आ गए। मैं उसके होंठों के किस करने लगा तो वो बोली- ओ…हो. com/bhabhi-ki-chudai/ghar-me-sexy-ammi-chacha-choot-chudayi-tubewell/तुम चाचा के साथ करती हो वो क्या है?माँ मेरी ओर देखती रह गई और बोली- क्या, क्या करती हूँ मैं?मैं- तुम भी तो चाचा से चुदती हो!चोदना शब्द सुन कर अपने साड़ी को मुँह पर रख ली. टालना इसलिए भी ज़रूरी था कि मैंने ज्योति के साथ तो यह चर्चा की नहीं थी, उसको पूरी बात विस्तार से बता कर ही मैं सुमित के सामने उसको फोन पर बात कर सकती थी.

मेरे सोना को लुल्ली की मालिश करवाने में मज़ा आ रहा था?मॉंटी- हाँ दीदी. मैं पहले उसकी दोनों टांगों को फैला कर अपना मुँह चूत पर ले गया और मैंने उसकी चूत को चूमा, फिर चूत के बालों को होंठों में दबा कर ऊपर खींचने लगा, फिर उसके योनि-लबों को अपने होंठों में दबा लिया. वो थोड़ा सा चिल्लाई पर थोड़े झटके के बाद वो शांत हो गई और वो मेरा साथ देने लगी.

कुछ के साथ अदल-बदल भी किया। अब इस को लम्बा न खींच कर इतना कहना चाहता हूँ कि ये सब जानने के लिए मेरी पुरानी कहानियों में पढ़ें जो अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम में प्रकाशित हुई हैं।मेरा ग्वालियर शहर में पाँच साल के डिग्री कोर्स में एडमीशन हो गया। मैं ग्वालियर नए कॉलेज पहुँच गया.

इतना कह कर हम दोनों हंसने लगे और फिर से मैंने उसे अपने से चिपका लिया और उसके बूब्स पकड़ लिए और बोल उठा- भाभी, आपके मोम्मे तो सभी आंटियों में फेमस हैं और इतने दिन से इसे सिर्फ़ देखकर ही काम चला रहा था. और यह बोल कर मैं वहां से आ गया।अब मैं भाभी से बात नहीं कर रहा था और दो दिन निकल चुके थे तो शाम के टाइम भाभी का मेरे पास फ़ोन आया और बोली- मेरे रूम में आओ।मैं काफी गुस्से में था तो मैं जाकर बोला- अब क्या काम है?भाभी बोली- क्या बात है तुम मुझसे बात क्यों नहीं करते?तो मैंने साफ़ साफ़ बोल दिया कि आपने मेरे साथ ठीक नहीं किया।भाभी बोली- तुझे क्या चाहिए?मैंने बोल दिया- मुझे तो आपकी सेवा चाहिए. स्वान ने बेसब्री के साथ अपना हाथी जैसा लंड खाली हुए नाता के मुंह में घुसेड़ दिया.

आती रहती है मेरे पास, बता रही थी कि तुझे पसंद करती है। पटा ले नहीं तो कोई और पटा के मज़े ले जाएगा और तू ऐसे ही रह जाएगा।मैं- मेरे पास तुम हो न!भाभी- कब तक. अगले ही पल वो भी टांग घुमाता हुआ बाइक से नीचे था और उसकी जिप के बीच में से उसके काले से मोटे सांप जैसे लंड का तना हुआ डंडा चांद की चांदनी में बाइक की टंकी से से टकरा रहा था. मगर संजय को पता था आज इसकी बुर को नहीं चोद पाया तो ये कभी हाथ नहीं आएगी.

फिर मैंने अपनी जीभ से उसकी टाँगें चाटना शुरू कर दिया तो वो पागल ही हो गई, उसे गुदगुदी भी हो रही थी. और पूजा ने भी मौके की नजाकत को समझ कर हाँ कह दी।पूजा ने अपना होमवर्क करके संजय को एक-दो बार उठाने की कोशिश की, मगर वो गहरी नींद में था सो नहीं उठा, तो पूजा भी उसके पास ही सो गई।दोस्तो, शाम तक कुछ नहीं हुआ सब अपने अपने कामों में बिज़ी थे।रात को करीब 8 बजे गुलशन जी घर आए, तब सुमन और हेमा रूम में बैठी बातें कर रही थीं।हेमा- अरे आप आज जल्दी कैसे आ गए? सब ठीक तो है ना.

दोस्तो, आपने मेरी इस सेक्सी कहानी में अब तक जाना कि संजय पूजा के बारे में बताने से पहले उसी के सन्दर्भ में अपनी दीदी के बारे में बता रहा था और उसकी चुदक्कड़ फ्रेंड टीना सुन रही थी।अब आगे. उसने मुझसे पूछा- क्या लोगे आप, चाय कॉफी ठण्डा?मैं तो मन ही मन में सोच रहा था कि तुम्हारा दूध पियूँगा फिर मैंने उसे कहा- जो तुम चाहो वो ले आओ!वो किचन में गई और थोड़ी देर बाद दो कप चाय लेकर आई, हम दोनों साथ में चाय पी रहे थे और इधर उधर की बातें करने लगे. उसके थोड़ी देर बाद रोहन ने अमन और रोहित को कुछ बोला और आयेशा के पीछे बाथरूम में जाने लगा.

अब जब भी शालू के आस-पास कोई नहीं होता था, तब मैं और शालू किस करने लग जाते थे.

इसलिए तुम्हें ऐसा लग रहा है।वो कुछ नहीं बोली।मुझे लगा कि ऐसे तो संजना जान जाएगी, अब एक ही उपाय है इसे रोल प्ले में लाना पड़ेगा।मित्रो, मुझे उम्मीद है कि आप सभी को मेरीबीवी की चुदाई की सेक्स स्टोरीपसंद आ रही होगी। मुझे मेल जरूर लिखिएगा।[emailprotected]कहानी जारी है।पतिव्रता बीवी की चुदाई गैर मर्द से करवाने की तमन्ना-5. इसी समय मेरा भी लंड उसकी चूत में फड़फड़ाया और झटके खाने लगा फिर एक ज़बरदस्त पिचकारी छूटी. फिर मैं बाहर निकला और मेरा फ्रेंड अन्दर घुसा और वो भी सीमा को चोद कर बाहर निकल आया.

मैं आशा करता हूँ कि आप मेरा यह राज़ किसी को ज़ाहिर नहीं करोगे और अपने तक ही सीमित रखोगे. तो मैंने रफीक को आवाज़ लगाई तो उसने मेरी तरफ देखा और मुस्कुरा कर गुड़ मार्निंग कहा.

मोहाली शिफ्ट होने के बाद हम दोनों ने मिलने का प्रोग्राम बनाया और मैंने पहली बार अपनी मानसी को देखा. उसके बाद उसने लगभग दस मिनट बहुत आराम से चूत के ऊपर फूले हुए भाग को और आसपास के साथ चूत की फाकों को बड़े सहलाना चूमना चाटना जारी रखा, गोरी मांसल गदराई जाघों के बीच हल्के भूरे रंग की चूत, जिसका भीतरी भाग सफेद द्रव से गीला होकर गुलाबी दीवारों पर शबनम की मानिंद चमक रहा था, वो अब एक बार फिर से भरपूर चुदाई के लिए तैयार थी. अब मेरी चूत में जलन होने लगी तो मैंने यह बात रोहन को बताई तो उसने मेरी चूत से लंड निकाल लिया और मेरी गांड में डाल दिया.

बीएफ वीडियो चलने वाली

उठ गईं और दौड़कर कमरे में आ गईं।पर यहाँ का माजरा कुछ और ही था, फिर वो ये सब देख कर तुरंत ही चली गई।मैं अब तक अपना आधा लंड साली की चूत में घुसा चुका था।बड़ी साली आई पर उसको मेरी छोटी साली देख नहीं पाई थी। मैंने सोचा अब चुत में लंड दे ही दिया है.

हरामज़ादी बड़ी खुश हुई कि मेरा पति मुझे राजे से चुदवाती हुई का दृश्य देखना चाहता है, वो बोली- ठीक है, तू चिंता न कर, मैं राजे को फ़ौरन ही यह सब समझा दूंगी. वो दोनों मेरे लंड को बाँसुरी की तरह बजा रही थी और मेरे लंड को अपने मुंह में रखकर दोनों ने फ्रेंच किस करना शुरू कर दिया. उन्होंने मेरे बेड की ओर देखा और फिर मुँह ढक लिया। वे समझ गए कि काम चल रहा है।अब मेरी गांड में उंगली धीरे-धीरे हिलने लगी। उसने उंगली निकाल कर अपना थूक से लिपटा लंड मेरी गांड पर टिका दिया। बड़ी देर तक लंड गांड पर टिकाए रहा.

वो बोली- क्या बात, तू तो सो गया था? फिर जाग कैसे गया?मैंने भी बोल दिया- क्या करूं, जब तक तू सामने होती है आँखों में नींद आती ही नहीं. उधर रात का खाना खाने के बाद सुमन अपनी माँ के पास गई और उनसे कहा कि टीना की माँ बहुत बीमार है. इंग्लिश फिल्म नंगी वालीवो तो सिर्फ लिप किस करना और चुत में लंड डालकर 2-4 मिनट में ख़ाली हो जाता था.

मैंने अपनी सलवार का नाड़ा खोला और उतार फेंकी फिर मैंने अपनी कमीज़, ब्रा और पैंटी भी उतार दी और पूरी तरह से नंगी हो गई… मैंने फिर से फूफा जी का लंड पकड़ा और ज़ोर ज़ोर से मसलने लगी. तब तक नीचे सब सो भी जाएंगे ओके!पूजा को वहीं बैठाकर संजय बाथरूम चला गया। उसका लंड तो पहले ही अधूरा था, अब पूजा की बात सुनकर उसको लगा कि फ्लॉरा की कमी अब पूजा पूरा कर देगी।अरे अरे अभी ग्रुप सेक्स का मज़ा लेकर आए हो.

और मेरी तरफ देखा और मुझे आँख मार कर बोला- जा गाड़ी निकाल कर ला जल्दी!मैं झट से भाग कर गया और सुमित वाली कार लेकर आया. उसका लंड सख्त होकर किसी मोटे डंडे की तरह मेरे मुंह को घायल करता हुआ अंदर बाहर हो रहा था. दीवाली वाले दिन मैं और आयेशा बहुत अच्छे से तैयार हुई, मैंने और आयेशा ने डीप ब्लाउज और लहँगा पहना था.

अनिता- आह… आ ऐसे ही आह… राजा आह… अब दर्द के साथ मज़ा आने लगा है उफ आह… मेरी चुत में कुछ हो रहा है. मैं बार बार उनकी पेंटी से बाहर झांकती ​और उनकी साफ चूत को देखकर सोच रही थी कि इसमें हर रात को भाई साहब का लंड जाता होगा और मैं जिन जाँघों को छू रही हूँ उन्हें किसी मर्द ने भी मुझसे पहले बहुत बार छुआ व चूमा चाटा होगा।मैं ये सभी बातें सोच कर गर्म हो रही थी, तभी पूजा भाभी मुझसे कहने लगी- तुम भी वैक्सिंग करवा लो!लेकिन मैंने उनको मना कर दिया. उसने मेरी तरफ देखा…और बोला- क्यों बेटा, कैसा लगा सरप्राइज़? खुश हो जा अब तू और हम तीनों को भी खुश कर दे.

मैं उम्म्ह… अहह… हय… याह… उउफ्फ़ कर रही थी… मुझे भी मज़ा आने लगा तो मैंने भी दीदी के कपड़े उतार दिए और पूरी नंगी कर दिया.

मैंने भी देर नहीं की और सटाक बुर के मुँह पर लौड़ा सटा के अपना लौड़ा पेल दिया और स्पीड में पेलने लगा. यह खेल हमने लगभग 30 मिनट तक खेला, इसी बीच हम दोनों 3-4 बार झड़ चुके थे.

उन्होंने मेरे हाथों को और पीछे की तरफ खींचा और अब दोनों के लंड आपस में सटे हुए पूरे के पूरे मेरी गांड में आ फंसे. मैं थोड़ी देर वैसे ही उसकी चूत में लंड डाले ही उसके मस्त-मस्त दोनों बूब्स से खेलने लगा और मैंने उनका दूध भी पीना चाहा, बहुत निचोड़ा उसके दोनों बूब्स को लेकिन दूध नहीं निकला!फिर थोड़ी देर बाद वो नीचे से अपनी गांड को हिलाने लगी, मैं समझ गया था कि अब इसका दर्द कम हो गया है तो मैं फिर से उसे चोदना शुरू हो गया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. अगले दिन सायं को मुझे काम था अतः मैं दोपहर एक बजे ही क्लीनिक पर चला गया.

मैंने दीदी के दोनों पैर के बीच मे आकर कहा- अब मैं तुम्हें चोदूँगा…यह कह कर अपने मोटे लंड को दीदी की बुर के ऊपर रगड़ना शुरू किया. अगर फूफा जी को ज़ोर से धकेलने की कोशिश करती भी तो मेरी चूत में गड़ा हुया उनका लंड उनको हिलने नहीं देता. आप चाहो तो आ जाना मेरी वेजाइना ट्रीट करने के लिए अगर आपके पास थोड़ा टाइम हो तो…’ उसकी आवाज में कम्पन और थरथराहट साफ़ झलक रही थी.

गांड में लंड डालने वाला बीएफ हुआ ये कि अचानक रीना रानी, जो परदे के पीछे छुप कर यह तमाशा देख रही थी, बाहर निकल आई. मैंने आवाज लगई- चाची, नहीं मिल रही है, कहाँ होगी?बाहर से आवाज आई- वही कहीं होगी, देखो ठीक से!मैं फिर देखने लगा, इसी दौरान मुझे एक किताब मिला, मैंने पन्ना पलट कर देखा तो उसमें कुछ नंगी तस्वीर थी, मैंने उस किताब को अपनी कमर में खोंस लिया, फिर दवा ढूँढने लगा.

बीएफ सेक्सएक्स वीडियो

ये मेरी टीचर की चुदाई की रियल सेक्स स्टोरी आपको अच्छी लगी हो तो मेल करो या मुझे फ़ेसबुक पर मैसेज करो. उसका लंड लड़की की गांड में चला गया है, तो मेरा लंड तुम्हारी गांड में क्यों नहीं जा सकता है. मैं अपनी निकर उतार कर अपने लुल्ले को हवा लगवाने लगा, मौसी मेरे पास आई और मेरे होंठ चूम कर बोली- घबराना नहीं मेरे लल्ला, मैंने जो किया है, तेरे भले के लिए ही किया है.

शादी में चूसा कज़न के दोस्त का लंड-13अभी तक आपने पढ़ा कि मैं रवि की तलाश में हिसार जा पहुंचा और बस में मिले संदीप की बाइक पर बैठकर रवि के गांव की तरफ जा रहा था. चाची की योनि में से निकले गर्म रस की ऊष्मा मिलते ही मेरे लिंग ने भी वीर्य रस की पिचकारी चला कर दी सात आठ बौछार से ही उनकी योनि को हम दोनों के मिश्रित रस से भर दिया. ब्लू सेक्सी फिल्म बताइएशादी के पहले मुझे नहीं पता था कि मेरे पति को काम के सिलसिले में अधिकतर बाहर ही रहना पड़ता है।मेरी शादी हुई उसके बाद जब में ससुराल गई तो सब लोगों ने मेरा बहुत अच्छा स्वागत किया।मेरे ससुराल में मेरे ससुरजी मेरे पति अविनाश और मेरा देवर आदी बस तीन लोग ही थे, एक साल पहले मेरी सासु माँ का देहांत हो गया था तो पूरे घर में मैं ही अकेली औरत थी.

रफीक जमीला की चूत और गांड दोनों चाट रहा था और जमीला भी रफीक का लण्ड और गांड चाट रही थी, वो अपनी दो उंगली रफीक की गांड में घुसा कर हिला रही थी.

बहुत दिनों बाद आने के लिए माफी चाहती हूँ मगर मैं किसी काम में फंस गई थी इसलिए नई कहानी नहीं ला पाई. नीतू को कुछ समझ नहीं आया तो वो नीचे दबाने लगी मगर गोपाल ने ये इसलिए किया ताकि वो लंड को बाहर निकाल सके.

मुझे लगा कि पीटर के साथ ये दोस्ती पता नहीं क्या क्या और गुल खिलने वाली होगी।यह कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके ज़रूर बताइएगा. उसी अत्यंत उत्तेजित स्थिति में माला की योनि में बहुत ज़बरदस्त सिकुड़न हुई और उसमें से निकलने वाले रस के लावा मेरे लिंग को गर्मी पहुँचाने लगा. मैंने धक्का लगया तो इस बार एक बार में ही लंड चुत के अन्दर घुसता चला गया.

कुछ मिनट तक लंड चुसवाने के बाद मुझे लगा कि मेरा माल निकलने वाला है.

महारानी बेगम साहिबा ने तुरंत हुकम दिया- राजे, तुझे जल्दी से जल्दी रीना की माँ को चोदना ही चोदना है. साथ ही उन्होंने बताया कि उनका छोटा भाई अजय और उनकी पत्नी आरती, अपनी बेटी नेहा को भी साथ ला रहे हैं. तुझे लंड से प्यार से चुदाई कर खुश कर दूंगा।’‘हां अंकल चोद डालो मुझे.

मारवाड़ी लड़की को चोदारुक मैं तेरा पक्का इलाज करती हूँ।इतना कहकर टीना उठी और अपनी मॉम के कमरे में चली गई। वहां एक सरसों के तेल की शीशी रखी थी, वो उसको उठा लाई।टीना जब आई. आज मिला तो ऐसे कैसे जाने देती? मैंने इनको नींद की गोली देकर सुला दिया है.

चूत मारी मारा बीएफ

पर सोने का अभिनय कर रहे थे।फिर एक जोरदार धक्के के साथ चिपक कर रह गया. मौसी ने अपनी उंगली से अपनी चूत को सहलाना शुरू कर दिया, वो कभी मुझसे अपने बोबे चुसवाती, कभी मेरे होंठ चूसती, कभी मेरी छाती को चूमती, चूसती. चाची ने मेरे होंठों तथा जीभ को चूमने एवं चूस कर मेरा साथ दिया और कुछ देर के बाद नीचे से कूल्हे उचका कर मुझे संसर्ग करने के लिए कहा.

मैंने रोहित के हाथ में साबुन देते हुए कहा- मेरी पीठ पर मल दो इसे!मैं अपना चेहरा पानी से बाहर निकालकर टब में उल्टी लेट गई और रोहित मेरी कमर को अपनी टाँगों के बीच में रखकर मेरी गांड पर बैठ गया. हाँ, मुझे कामयाबी मिल रही थी पर पूरी कामयाबी अभी बहुत दूर थी शायद… मुझे अभी थोड़ी महनत और करनी थी मानसी को काबू करने के लिए. चल अब ऊपर-नीचे होकर चुदवा ले, मज़ा आएगा।पूजा अब गांड को हिलाने लगी, उसको थोड़ा दर्द था मगर लंड की गर्माहट उसको सुकून दे रही थी। उसकी चुत भी गीली हो गई थी तो अब लौड़ा फिसलने लगा था। अब उसको हल्के दर्द के साथ मज़ा आने लगा।पूजा- आह.

मेरी जवान बीवी की गांड भोसड़े की तरह खुल गई थी और दोनों दैत्याकार लौड़े आराम से उसके अन्दर दौड़ लगाने लगे थे. बिल्कुल भी ज़ाहिर नहीं होने देगा कि कमीना तुझे दो सौ बार चोद चुका है. और जब दर्द हो तो रुक जाना।मैं भी चुप होकर चुदाई का मजा लेने लगा। मैंने धक्का मारा तो लंड आंटी की चुत में घुस गया।उनके मुँह से ‘आआआ ऊऊजु.

तू सुना क्या हाल है तेरे और कॉलेज में सब ठीक है ना?फ्लॉरा- हाँ पापा सब ठीक है. अब आगे:ऋतु- तो चलो चल कर रोहन से ही पूछ लेती हैं… देखें वो क्या कहता है?और फिर हँसने लगी.

और नताशा के कुछ देर मेरा सुपाड़ा चूसने के बाद मैंने पिचकारी छोड़ कर अपनी जन्म-जन्मान्तर की साथी के एंड्रयू और स्वान के वीर्य से सने चेहरे पर वीर्य का एक और ढेर लगा दिया.

चाची ने आश्चर्य से बोली- हाँ रे अशोक, ये तो सच में, अरे बाप रे…!चाची और आगे देखने लगी. থ্রি এক্স সেক্সदोस्तो, मैं आपका राहुल गांडू!बात उस समय की है जब मेरी बारहवीं की परीक्षाएं चल रही थी, मेरे पास पढ़ाई के अलावा किसी भी काम के लिए समय नहीं था। घर में मैं और मेरी मॉम रहती थी. सुहागरात व्हिडिओकुछ दिन के अंदर ही मुझे पता चल गया कि मेरा देवर मुझे नोटिस करने लगा है। और मैं भी यही चाहती थी कि वो मुझे नोटिस करे. आखिर में मैंने उसके मुँह में एकदम से जोरदार पिचकारी छोड़ दी और एकदम निढाल हो गया.

भाभी को मजा इसलिए आना था क्योंकि उन्हें कुंवारा लंड जो मिलने वाला था.

ये बताने लगा तो आपको मजा नहीं आएगा इसलिए मैं इसको थोड़ा काल्पनिक बना रहा हूँ. एक दिन हमारे यहाँ हॉस्पिटल में पॉवर में शार्ट सर्किट हुआ, तो बिजली वाले को बुलाया. कुछ देर उसकी चूचियों को पीता रहा और धीरे धीरे लंड को उसी जगह आगे पीछे करता रहा.

जो मेरे शरीर को ऊर्जा और उत्तेजना दे रही थीं।बाद में मैं उसको घोड़ी बनाकर पीछे से उसकी बुर चोदने लगा।वह कराहने लगी और पूरा आनन्द लेने लगी। इस पोज में वह भी आगे-पीछे होकर मेरा भरपूर साथ दे रही थी।कुछ ही पल बाद वह कहने लगी- और और तेज करो मुझे मजा आ रहा है।तभी मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ. हम वहाँ बैठे रहे, आते जाते लोगों को देखते रहे, एक से एक बढ़िया गाड़ी, एक से एक बढ़िया नौजवान लड़के लकड़ियाँ, शानदार कपड़े पहने हुये, महंगे परफ्यूम लगाए हुये. सीमा किचन में थी, मैंने पूछा- दीदी, चाची कहाँ है?सीमा बोली- अपने कमरे में है.

सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ सेक्सी

क्या गजब की चूत थी, ब्रेड पकोड़े जैसी, एक दम क्लीन शेव!मैं उसमें उंगली करने लगा. जमीला की चूत भी सबीना की चूत की तरह पानी छोड़ रही थी जिससे मेरी उंगली भीग गई जिनको मैं मुंह में लेकर चाट गया और अब जमीला की चूत में दो उंगली डाल कर उसकी चूत उंगलियों से चोदने लगा और सबीना की चूत को जीभ से चोदने लगा. पर उसके मम्मे और गांड ग़जब की है, एकदम टाइट और फैली हुई गांड और तने हुए छोटे खरबूजे जैसे मम्मे… मैंने उनके बारे में सोचकर कई बार मुठ भी मारी थी.

फिर अचानक भाभी मुझसे पूछने लगी- क्या तुम अंदर के बाल साफ करती हो?तो भाभी के मुख से यह बात सुन कर शरमाने लग गई।मैंने पूजा भाभी को बताया कि मैं कभी कभी कैंची से अपने बालों को काटती हूँ.

मैंने कोमल के पेट पर तेल डाला और उसके मुँह की तरफ खड़ा होकर कोमल की चुचियों पर तेल मालिश करने लगा तो फिर योगिराज कोमल के मुँह में घुस गया और कोमल मेरी मालिश से जब आगे पीछे होता तो उसका फायदा लंड चूसने में लेती.

उस हालत में उसे देख कर बूढ़े का लंड भी खड़ा हो जाए तो जॉय का क्या हाल होगा आप खुद समझ सकते हो. मैं उसके बदन की गर्मी में मदहोश होने लगा… मेरी आंखें बंद हो गईं… वो धीरे-धीरे अपने लंड को मेरी नाभि पर रगड़ने लगा. देसी औरत की सेक्सीअब मैंने उसके मम्मों पर हल्का सा हाथ फेर दिया, वो उठने लगी और मैं जल्दी से जाकर बिस्तर पे लेट गया.

दस मिनट बीतते ही चाची मुझसे अलग हुई और तुरंत झुक कर मेरे लिंग को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी और उसमें से निकल रहे पूर्व रस को पीने लगी. मैं बोला- क्या भाभी, चूत और लंड जब जवान हो जाए तो कोई शरीफ नहीं रहता. अनु आंटी- अरे कभी आंटी से भी मिलने आया करो! रुक जा, तेरे लिये जूस लाती हूँ.

मानसी- ऐसा भी कुछ नहीं है जस्सी, तू तो ऐसे बात कर रहा है जैसे मैंने तुझे कितने ताने मारे हों. रुक मैं तेरा पक्का इलाज करती हूँ।इतना कहकर टीना उठी और अपनी मॉम के कमरे में चली गई। वहां एक सरसों के तेल की शीशी रखी थी, वो उसको उठा लाई।टीना जब आई.

इस तल पर तो तुम्हारे मम्मी-पापा और बुआ के कमरे है, उनमें से कोई भी जाग गया तो हम परेशानी में पड़ सकते हैं.

!मैंने अपना लंड थोड़ा और अन्दर डाला और उनको कुछ देर पेला तो उनका पानी निकल गया और वो मेरे ऊपर ही गिर गईं। मैं समझ गया कि मामी झड़ गई हैं. जब कुछ समय बाद वो थोड़ी नार्मल हुई, तब मैंने फिर आराम से धक्के लगाना शुरु किया. वो आ जाएगी तो सारा गेम ओवर हो जाएगा।साहिल- तुम स्कीम बताओ यार, ये तो ऐसे ही करेगा.

ब्लू सेक्सी ब्लू फिल्म ’ की आवाज़ निकालते हुए मज़े ले रही थी। मैं उसके गले से होते हुए कानों के इर्द-गिर्द किस करना शुरू किया और हाथों से उसे और जोरों से दबोच लिया। अब उसकी चूचियां मेरे सीने से रगड़ खा रही थीं। प्रिया भी गर्म हो चुकी थी, वो भी खुद से मेरे सीने में अपने मम्मे दबाने लगी।इस बीच प्रिया ने अपने दोनों पैरों से मेरे कमर को जकड़ लिया। उससे हुआ यूँ कि मेरा लंड जो तन कर जीन्स से बाहर आने को तैयार था. मैंने अपनी पति से कहा- ज्योति को बोलती हूँ राजे से बात करवाये!सुमित उछल पड़ा और बोला- यह बिल्कुल सही है.

उसने मेरा माथा चूमा और कहा- यह बहुत लंबा विषय है, इसके बारे में जितना बताऊंगी उतना कम है, अभी तो मैंने तुम्हें तुम्हारी उम्र के हिसाब से मोटी-मोटी बात ही बताई हैं। और तुझे भी तो प्रेरणा के यहाँ जाना है ना, देख ग्यारह बज रहे हैं।अब मुझे समय का ध्यान आया मैं ‘ओह. जो कि हमने बारी-बारी से एक-दूसरे की सिर्फ़ पेंटी उतारी लेकिन ब्रा नहीं उतारी।हम दोनों हील पहन कर ही रखी थीं और विग और स्टॉकिंग भी पहने रहे थे। उसने मुझे बेड पर लेटाया और खुद मेरे ऊपर लेट गया। हम दोनों की साँसें एक-दूसरे की साँसों से मिल रही थीं। उसने लिपस्टिक के ऊपर लिपग्लॉस लगा रखी थी. फिर उन्होंने मेरे लंड को पकड़ कर कहा- अशोक, अब मत तड़पा, जल्दी से घुसा दे, अपने मोटा लंड मेरी चूत में.

गर्भवती महिला की सेक्सी बीएफ

इस काम में लड़कियों को उम्रदराज लोगों की यौन आवश्यकताओं को पूरा करना होता था और बदले में भरपूर पैसा मिलता था. मेरी चीखों से अनजान रिया पूरी ताकत से बोतल को चूत के अंदर बाहर कर रही थी. प्लीज मुझे इस सेक्स स्टोरी पर मेल करके जरूर बताना।[emailprotected].

पूजा बड़ी हैरानी से ये सब देख रही थी, उसे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि ऋतु अपने सगे भाई का लंड इतने मजे से अन्दर ले रही है और वो अपना मुंह फाड़े ये सब अनहोनी होते देख रही थी. ब्रीफ निकाल कर पूरा नंगा हो गया और पीछे आकर मेरी ब्रीफ निकाल कर मुझे भी पूरा नंगा कर दिया और मेरे नंगे जिस्म पर लेट गया।आह.

मैं भी नीचे खड़ा हो कर उसे पेलने लगा और जबरदस्त चुदाई से उसने अपनी चूचियों को दीवान पर लगा दिया और गांड ऊपर उठा दी ताकी लंड की ठोक अंदर तक लग सके.

कॉम के फर्स्ट ईयर की स्टूडेंट हूँ। मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ। मैं बहुत गोरी और सुंदर भी हूँ। मेरी हाइट 5 फुट 3 इंच है। मेरा शरीर मीडियम है. कुछ भी बोल देती हो आप, मुझे नहीं देखना उनका सेक्स और अब ट्राई की क्या ज़रूरत, पापा ने तो ड्रेस दिला दिए ना!टीना- नहीं तुम ट्राई ज़रूर करना, तेरे पापा ने ड्रेस क्यों दिलाए. आंटी बीच बीच में लम्बी लम्बी आहें भरती रही, कभी कभी अपनी चूत को हाथ से रगड़ती भी रही.

यह ऑडियो दो लड़कियों का है जो आजकल के लड़कों, बॉयफ्रेंड के बारे में अपने विचार बता रही हैं. चाची बोलीं- मेरे कन्हैया, मेरी बहुत पुरानी चाहत तूने आज पूरी कर दी. दस बजे रात को सभी स्टाफ को छुट्टी मिल जाती थी, मुझे पूरी रात रहना पड़ता था.

उसने मुझे सीधे बेड रूम में चलने को कहा तथा मेरे लिए एक टेबलेट तथा पानी का गिलास लाई और कहा कि इसे खा लो.

गांड में लंड डालने वाला बीएफ: झड़ते ही ऋतु ने झटके से पूजा की गर्दन पकड़ी और एक गहरा चुम्बन उसके होंठों पर जड़ दिया. अगर तुम्हें मेरी बात पर विश्वास नहीं होता तो क्या तुम एक बार मेरे बालों को देखना चाहोगी? तुम कहो तो मैं दिखा दूँ?मैंने उनके मुख से यह बात सुनकर तुरन्त हाँ कह दी.

रफीक दर्द से तड़पने लगा पर नीचे से जमीला ने उसका लण्ड चूस कर और उसके मुँह पर चूत रगड़ कर तसल्ली दी. जब माला वही खड़ी मुझे देखती रही तब मैंने पूछा- तौलिया तो दे दिया है अब क्या देख रही हो? क्या कुछ चाहिए है या फिर कुछ कहना है?माला को शायद मुझसे ऐसे प्रश्न की आशा नहीं थी इसलिए शर्माते हुए मुड़ कर रसोई की ओर जाते हुए बोली- नहीं, मुझे अभी कुछ नहीं चाहिए. रात को जब सभी डिनर कर रहे थे तो ऋतु ने सारी बातें मेरे कान में बता दी.

!और विशाल की आवाज सुनकर वो जोड़ा हड़बड़ा गया और बिना कपड़ों के ही इधर उधर भागने लगा।यह नजारा देख कर हमारी हंसी रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी.

उसकी चूत का छेद इतना छोटा था कि उसमें मेरा मोटा लंड जाना मुश्किल था. और फिर उसके दोनों मम्में मुट्ठी में दबोच के लंड को धकेल दिया उसकी चूत में. वो मेरे खड़े-पड़े लंड पर ऊपर से नीचे तक फुर्ती से चूत को रगड़ने लगी और चूत का दाना लंड पर घिस घिस कर अपनी कमर और तेज तेज स्पीड से चलाने लगी मैं समझ गया की अब ये झड़ने पे आ गई है.