सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी फुल मूवी हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी व्हिडिओ xxxx: सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में, यह मुझको पहले पता होता, तो मैं अब तक अपनी भूख अनेकों बार मिटा चुकी होती और मेरी चुत की आग शांत हो चुकी होती.

लड़कियों की बीएफ

मैंने अपना मुंह तुरंत उसकी चूत के ऊपर रख दिया और उसकी प्यारी सी चूत को चाटने लगा. महाराष्ट्र बीएफ वीडियोअगर खुल के करेंगे तो तुझे भी मजा आएगा, वरना केवल मुझे ही मजा आएगा।तो उसने मेरी ओर करवट बदल ली.

लंड जैसे ही आधा गया तो भाभी की चूत से खून आने लगा तो वो बोली- सही मायनों में आज मेरी चुदाई हुई है. हिंदी बीएफ इंग्लिश बीएफएक दिन टाइम निकाल कर मैंने उसे फोन करके कह दिया कि मैं मिलने आ रही हूँ.

उनके घर पर कोई ना होने के कारण चाचा ने मुझसे पूछा- क्या तुम एक रात अपनी चाची के पास रह लोगे?चाची के साथ रात रुकने की बात सुनकर मेरे अन्दर एकदम से ख़ुशी छा गई.सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में: मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि हम दोनों दोस्त थे तो मुझे कोई परेशानी नहीं थी उसके साथ सेक्स करने में!वह मेरे बूब्स को अपने दोनों हाथों से बहुत तेज तेज दबा रहा था चूस रहा था। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था, नीचे मेरी चूत में आग लगी हुई थी, वह पानी छोड़ छोड़ कर गीली हो गई थी.

जब मेरी बात खत्म हो गयी तो मुझे लगा कि दीदी मान गयी और उसने मुझे हटा दिया.उधर लंड हाथ से हिलाते हुए मेरे मुँह से मेरी गर्लफ्रेंड जिया के बारे में निकल गया था.

सनी लियोनी xx - सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में

फिर अंकल मुझे किस करते करते मेरे पेट से होते हुए मेरे बूब्स तक आ गए और मेरी ब्रा को मेरे बदन से अलग कर दिया.आयशा- सच में भी होता है डियर, वैसे तुझे भरोसा नहीं तो मैं मिलवा दूंगी, तू खुद पूछ लेना.

तो मैंने उससे कहा- डर क्यों रही हो?उसने कहा- ये आप क्या कर रहे हैं?मैं बोला- तुम्हें अच्छा नहीं लग रहा क्या?वो कुछ नहीं बोली. सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में वो बोले- मम्मी, अगर आपको कोई ऐतराज न हो तो मेरे पास और भी ऐसे कई बड़े लोग हैं जो हमारे घर पर आना चाहते हैं.

मैं नीचे बैठ गया और संजू की नाईटी को उसकी कमर तक करके बीवी की गीली चूत में अपने होंठ सटा दिए.

सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में?

निधि बोली- आप मुझको आवाज लगाओ तो!मुझे लगा कि अब ये फोन सेक्स से ही मुठ मरवायेगी. मैं- नहीं … आप खुद उतारें … पैसेंजर बस ये देखेगा कि जो पायलट जन्नत ले चलेगा … और उसने बुकिंग के टाइम जिसने कहा भी था कि उसकी फिगर अपडेट हुई है … ये सच है या नहीं. मैंने तेल लगे हुए लंड को भाभी की चूत पर लगा दिया और एक झटके में ही भाभी की चूत में घुसा दिया.

भाभी ने स्माइल करते हुए कहा- थैंक्स डियर और हां, अब तुम्हें भाभी नहीं, सिर्फ़ मिताली बोलना होगा. उनकी इस हालत को देख कर लगता था जैसे उसने अपनी जिंदगी में सेक्स के ज्यादा मजे नहीं लिए हैं. फिर उसने एकदम से एक जोर की सिसकारी भरी और उसकी चूत का पानी छूट गया.

मनु ने थोड़ा चिढ़ कर कहा- अगर तुझे कल इतना ही मजा आया था, तो उदासी और फंसने जैसा नाटक हमारे लिए ही था क्या?इस पर परमीत ने मनु की जांघों पर हाथ रखते हुए कहा- तू नाराज क्यों होती है मेरी जान, कल सच में ही मैं बहुत उदास थी, पर घर आने के बाद मैंने रोते हुए दीदी को सारी बातें बता दी थीं. इस तरह से हम दोनों एक दूसरे की चूत को चोद कर आपस में एक दूसरे को खुश रखने लगी. मुझे ये नहीं पता था कि संदीप ने चूत चाटते वक्त मुझे चुदी चुदाई समझा, या कुंवारी समझा.

उनको देखो तो ऐसा लगता था कि वो कोई अजंता की मूरत हों, जिसे बड़ी शिद्धत से तराशा गया हो. अगले ही पल उन्होंने दीदी की पैंटी को उतारने के लिए हाथ बढ़ाया तो दीदी ने अपनी टांगें हवा में उठा कर पैंटी को निकालने के लिए अंकल की मदद कर दी.

इससे चाची की छूटने की कोशिश कम होती चली गई और उनकी जिस्मानी कसमसाहट बढ़ने लगी.

तब तक आप मुझे ईमेल जरूर करें … और हां मौका मिले, तो किसी भाभी को चोदे बिना न छोड़ें.

थोड़ी थोड़ी ठंड भी लग रही थी, पर चुदाई करने से शरीर में गर्मी भी बहुत आ गई थी. दरवाजा अपने आप खुल गया और फिर मैंने अंदर जाते ही दरवाजा बंद करके कुण्डी लगा दी. जिया भी अब पूरी तरह से चुदाई के लिए तैयार थी, इसलिए बिना देरी के मैंने अपना लंड जिया की चूत पर सैट कर दिया और धीमे से धक्का लगा दिया.

तभी अचानक से प्रीत ने मुझे अपनी तरफ खींचा और आदी के सामने मुझे किस करके मेरे मम्मों को दबाने लगा. ”मेरे पैरों तले से जमीन खिसक गयी थी ये जान कर कि मेरा भाई मेरी नंगी फोटोज देख चुका है. वो बोला- अब कब आओगी?मैंने कहा- अब इतने मोटे लंड को छोड़ कर किसी और का लंड क्या काम करेगा.

दूसरी तरफ चाची की कामुक आवाजें भी बड़ा मजा दे रही थीं- आह … और जोर से चोदो जानू … मुझे चोद दो … मेरी चूत में घुस जाओ … मेरी चूत में आग लगी है … आह आज से यह तुम्हारी चाची नहीं तुम्हारी रखैल है … खूब चोदो इसको.

मैंने तेल लगे हुए लंड को भाभी की चूत पर लगा दिया और एक झटके में ही भाभी की चूत में घुसा दिया. वो जब चलती थी तो उसके 38 के हिप्स ऐसे हिलते थे जैसे वो कोई पोर्न स्टार हो. वो पहले से ही काफी उत्तेजित थी इसलिए उसने मुझे रोकने या हटाने की कोशिश नहीं की.

पर पहल कौन करे ये दोनों को समझ में नहीं आ रहा था,फिर शुरू हुआ बातों का सिलसिला … साथ में कॉफी!आठ बजे हम दोनों घूमने के लिए निकले. फिर अंकल बाथरूम के फर्श पर सीधे लेट गए और मुझे अपने ऊपर आने को कहा. स्वीटी आंटी की पीठ मेरी तरफ थी, इसलिए मैं उनके लाजबाव मम्मे उछलते हुए नहीं देख पाया.

अभी मेरे लण्ड में बहुत जान है, अभी जीवन में न जाने कितनी रेखा, मनीषा और हनी मिलेंगी.

मैंने कहा- तू? तू यहाँ क्या कर रहा है?”वो दरवाजा बंद करके मेरी तरफ बढ़ा।मैं बाहर की ओर जाने लगी. मोनिका- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से बेबी, जल्दी में हो क्या … जन्नत जाने के रास्ते में मस्ती करते हुए चलते हैं ना … आराम से चोदो न राजा.

सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में 15-20 मिनट मेरी इस तरह चुदाई करने के बाद राज अंकल ने अपना लन्ड मेरी चूत में, असलम अंकल ने मेरी गांड में और भानुप्रताप अंकल मेरे मुँह को चोदने लगे. विशाल ने अपनी जेब से एक पेन ड्राइव निकाला और आशू की जेब में डालते हुए फुसफुसाकर बोला- इसको पूरे कॉलेज में बांट देना, तुझे तेरी औकात पता लग जायेगी.

सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में मगर अभी मेरे दिमाग में एक ही भूत सवार था कि मैं किसी तरह उसको इतनी गर्म कर दूं कि वो अपनी चूत को चुदवाने के लिए तड़प उठे. उसने इस अंदाज से मेरी गांड को चाटा कि मुझे अजीब सी गुदगुदी होने लगी.

अब पीछे वाले ने मेरी साड़ी उठाई पीछे से और मुझे स्टेशन पर लगे बेच पर हाथ रखवा कर घोड़ी बनाया और मेरी गांड पर थोड़ा सा थूक लगा कर अपना पूरा लंड मेरी गांड में डाल दिया.

ब्लू पिक्चर ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो

उसने लंड का स्पर्श चुत पर पाया तो अपनी गांड को उठाते हुए मुझे आंख मारी. भैया दीदी अपने एक हाथ से दीदी के मम्मों को नाइटी के ऊपर से ही दबा रहे थे और दीदी भैया की पीठ सहला रही थी. उन्होंने बताया कि जब कोई लड़की या पत्नी मेकअप करती है, तो वो इसलिए करती है कि वो अपने पति को रिझा सके और पति का प्यार पा सके.

मगर मेरी मॉम की जवानी थी ही ऐसी कातिल कि किसी भी बूढ़े का लंड जवान हो जाता था. इसके बाद मैंने अपना कुर्ता उतार दिया और पूछा- मर्दों की छाती में बाल क्यों होते हैं?पता नही, दादू. ऐसे ही 20-25 मिनट मेरी चूत को चोदने के बाद सर ने कहा- रजनी अब तू कुतिया बन जा!मैं झट से कुतिया बन गई.

एक के ऊपर में बैठकर राइडिंग कर रही हूं और दूसरा मुझे पीछे से मेरी कोली भर कर मेरी कमर को खूब चाटे और उन दोनों के बीच में मैं खूब इंजॉय करूं.

उसके बाद आंटी ने मेरा सर पकड़ कर मेरे होंठों को अपने होंठों से चिपका लिया और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने चाटने लगे. इस कहानी के बारे में अपनी राय देने के लिए आप नीचे दी गयी मेल आईडी का प्रयोग करें. मगर अभी तक न तो मेरी ही हिम्मत हो रही थी पहले करने की और न ही भाभी की तरफ से ही कोई इशारा मिल रहा था.

एक दिन अपनी तन्हाई को अपने साथ बैठाकर मैं उसे अपनी गुज़री जिन्दगी की एल्बम पलटकर दिखा रहा था. इस बार फिर मुझे बेतहाशा दर्द हो रहा था। मैं बस यही सोच रही थी कि जल्द से जल्द इसका पानी निकल जाए और यह मुझे छोड़ दे मगर उस कमीने का पावर इतना ज्यादा था कि इतनी जल्दी उसका पानी नहीं निकल रहा था. अंकल ने अपने लंड को मम्मी को चुदाई की पोजीशन में लिटा कर उनकी चूत पर लंड को रखा और एक जोर का धक्का मार दिया.

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि मैं अपने यार आशीष के साथ फोन पर बात कर रही थी. एक दिन मनु के घर वाले दिन भर के लिए बाहर गए थे तो हमने दिन में ही मजे करने का प्रोग्राम बना लिया.

तो सर ने अपने होंठ मेरे होंठों से लगा दिये जिससे मेरी कामुक आवाज दब गई. तभी उसका दरवाजा खुला और भीगती हुई ममता अंदर आ गयी … आते ही वो राजन से चिपट गयी. तभी दीदी जीजा जी के पास आकर उनके लंड को सहलाते हुए उन्हें किस करने लगीं.

धीरे धीरे हो रही चुदाई से मीना मस्त हो रही थी, तभी एक बार लण्ड अन्दर पेलते समय मैंने जोर लगाया तो पूरा लण्ड मीना की चूत में चला गया, वो चिल्लाने ही वाली थी कि मैंने उसके होठों पर अपने होंठ रख दिये और चोदना शुरू कर दिया.

अगर मैं ऐसे ही एकदम से चूत में लौड़े को घुसा देता तो वो दर्द के मारे मना कर देती. उसको अब मजा आने लगा, प्रीति कहने लगी- संजय, और जोर जोर से चोदो, बहुत मज़ा आ रहा है. मेरे मन में बार बार उनकी गांड मारने का ख्याल आ रहा था, पर उनकी मर्जी न होने की वजह से उनकी चुत को ही चोदे जा रहा था.

अब अंकल ने दीदी से पूछा- कैसा लग रहा है?दीदी ने आंखें बंद करके मुस्कुराते हुए अपनी गरदन को हिला कर ‘हां … अच्छा लग रहा है. इस बीच कुछ पल ही व्यर्थ हुए … लेकिन उन कुछ पलों का इंतजार मुझे युगों का इंतजार करना प्रतीत हुआ.

वो मेरे मम्मों के बीच में अपना लंड डाल कर मेरे दोनों चूचों को साइड से दबा कर दूध चोदने लगा. फिर अचानक से दीदी ने उनका हाथ वहां से वापस खींचा और वो बोली- श्वेता अब चलो. उनका मकान दोमंजिला है, दिलीप और मीना का बेडरूम नीचे है और संगीता का ऊपर.

पंजाबी xxx

काले बालों की चोटी, काली नागिन से बलखाते दोनों चूतड़ों पर बारी बारी से थपकी देते हुए किसी भी मर्द का कलेजा मुँह में लाने को मजबूर कर दे.

हम दोनों की सांसें बहुत तेज चल रही थी और एक दूसरे को अपनेपन का अहसास करा रही थी. जैसे ही कुर्सी से उठी तो मैंने उसको पीछे से पकड़ कर उसकी चूचियों को एक बार फिर जोर से दबाना शुरू कर दिया. फिर उसने मुझे एक हेलमेट दिया, वो मैंने पहन लिया।उसने मुझे बाइक पर बिठाया और चल पड़े.

मैंने जिस दिन बाथरूम में तेरे लंड को देखा था उस दिन से ही मेरी चूत तेरे लंड को लेने के लिए मचल रही थी. अब तक की मेरी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं और मनु, परमीत के घर गए थे, जिधर उसने हम दोनों को एक डिल्डो दिखाया. चुत की नंगी फोटोचुत की मांग में एक छोटा सा चना बराबर मांग टीका अपनी छटा बिखेर रहा था.

मेरा एक हाथ अब भी स्लीव में था, दूसरा हाथ गले से अन्दर डालकर मैंने उसकी ब्रा को निकाल दिया. उसके गोरे चूतड़ों के बीच में उसकी गांड का गुलाबी सा छेद बहुत सुंदर दिखाई दे रहा था.

मैं इधर से उसे बोलता- हां ले रानी … मैं तेरी चुत में लंड पेल रहा हूँ. फिर वो उठा और अपना नाईट गाउन लपेट कर बाहर निकल गया।मैं भी उठी और बाथरूम में जाकर अपने बदन को साफ करके वापस आकर लेट गई।आगे की कहानी पढ़िये अगले भाग में।दोस्तो, मेरी चूत की बड़े अरबी लंड से चुदाई की यह सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी? मुझे मेल करके बताइएगा।[emailprotected]. वो बोली- मगर नानू … आपके सामने … कैसे उतारूं!मैंने कहा- इसमें शरमाने की क्या बात है, मैं तुम्हारा नाना हूं.

जेठजी मुझे फिर से अपनी बांहों में जकड़ते हुए बोले- नहीं, इस बार मैं तुम्हें श्वेता नहीं, जस्सी ही समझ रहा हूं. श्वेता दीदी- हां आंटी, घर में मन नहीं लगता है … यहां आ जाते हैं, तो कुछ पढ़ाई भी कर लेते हैं और कुछ बातें भी. मैं बोली- इसकी जरूरत नहीं, घोड़ा अगर घास से यारी करेगा, तो क्या खाएगा.

… शायद ये पहले से प्लान था … हम लोग एक होटल में गए और टेबल पर बैठ गए … एक तरफ मैं और श्वेता दीदी और दूसरी तरफ दीदी और साकेत भैया …वेटर ऑडर लेने आया- सर क्या लाएं?साकेत भैया ने मेरी दीदी से पूछा- क्या लोगी?दीदी कुछ नहीं बोली.

इस तरह से कुंवारी चूत चोदने मेरा सपना मेरी बीवी की मदद से उसकी ही कुंवारी भतीजी को चोद कर पूरा हुआ. कुछ देर तक मैं वैसे ही घुटनों के सहारे बैठे बैठे ही जेठजी का लंड चूसती रही, पर जल्दी ही मेरे घुटने दुखने लगे, इसलिए मैं उठ खड़ी हुई.

क्योंकि एक तो वो मुझसे उम्र में काफी बड़ी थीं … और दूसरा मेरे ही कॉलेज में जॉब भी करती थीं. दोस्तो, मेरी रण्डी बनने की क्सक्सक्स कहानी में आपने पढ़ा कि एक फार्म हाउस में तीन कॉलेज गर्ल रण्डी बन कर पासी कमाने के लिए तीन मर्दों से चुद रही थी. मगर मैंने उसको समझा दिया कि पहली बार में ये सब होना नॉर्मल सी बात है.

भाभी नींद में ही बड़बड़ाने लगी- क्या कर रहे हो, सोने दो ना प्लीज … मैं बहुत थक गई हूं. श्वेता अब धीरे से मेरे बदन के और करीब आ गयी और मेरे बदन के साथ चिपकने लगी. नींद खुलने के बाद मैंने देखा कि उसने मुझे पूरा जकड़ लिया है। और मुझे यह भी अहसास हुआ कि उसकी इस हरकत से नीचे मेरा लंड सलामी दी रहा है.

सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में इसी तरह से तीन-चार बार लंड फिसला क्योंकि उसकी चूत और मेरे लंड से प्रीकम की धार कम नहीं हो रही थी और लंड बार बार फिसल जा रहा था. मैंने उसके लंड को दबाते हुए इशारा किया और वो मुस्कराते हुए मेरी टाँगों के बीच आ गया.

ब्लू फिल्म वीडियो पर

अंकल मुस्कुरा कर बोले- नेकी और पूछ पूछ … प्यासे की प्यास बुझाना तो बड़ा नेक काम होता है … फिर मैं क्यों नहीं आपकी बात मानूँगा. एक दिन मैंने फोन पर उससे उसका फिगर पूछा, तो उसने 32-30-34 का बताया. मैं उठा और कॉण्डोम का पैकेट उठा लाया और ज्योति से पूछा- तुम्हें कौन सा फल सबसे ज्यादा पसंद है?तो बोली- आम.

तो दीदी ने दूसरी बार ठंडी सांस लेते हुए हाययय काश …दीदी ने इतना ही कहा और हम बाहर आ गए. वो पजामा भी ज्यादा देर मेरे शरीर पर रह न सका क्योंकि जेठजी ने पजामे को खींच कर मेरे टांगों से अलग कर दिया. एक्स एक्स हॉट फिल्मचित्रा ने नशे की मस्ती में मुझसे कहा- राज डियर … पहले तुम्हारे बारी है.

गांव में पहले जल्दी शादी हो जाती थी तो कम उम्र में मेरी भी शादी हो गयी थी।मेरी पति शुरू खेती ही करते हैं और शराब भी बहुत पीते हैं.

वो मेरे पास को आया, मुझे अपने पास वाली कुर्सी पर बैठा कर मेरे होंठों में लंड घिसने लगा. सपना बोली थी कि इसने ही तुम्हारे साथ ये सब करने को कहा था, इसकी ही मदद से हम दोनों मिले थे.

रात को बेटा भी उससे एक हफ्ते बाद मिल रहा था तो शोभा और राजन को सेक्स में ज्यादा उठा पटक का मौका नहीं मिल पाया. फिर तीसरे दिन भी चाचा मेरी चाची की चूत में तीन-चार धक्के लगाने के बाद ही झड़ गये. उसकी नाभि जैसे किसी गहरी अंधेरी गुफा के समान अंदर तक धंसी हुई थी और चूत का तो कहना ही क्या.

इससे उन्हें बहुत दर्द हुआ क्योंकि मेरा लंड काफी मोटा और 7 इंच लंबा था.

तो उन्होंने मेरा डर कम करने की कोशिश की- पूरा नहीं, जितना ले सकता है उतना ही ले, ज़्यादा ज़बरदस्ती नहीं है।मैंने उनके आंड से लंड तक अपनी जीभ को बाहर निकाल कर चाटा और उनको मज़े आने लगे। मैंने उनका लंड मुँह में लिया जो मुश्किल से आधा ही मेरे मुँह के अंदर गया।भैया ने थोड़ा सा धक्का दिया तो थोड़ा सा और अंदर चला गया पर मेरी जैसे साँसें रुक सी गयी. इससे पहले कि चाची कुछ समझ पाती मैंने उनकी चूत से टॉर्च हटाई और अपनी जीभ को उनकी चूत में लगा दिया. मैं अच्छी तरह से प्रीति की चूत को चाटे जा रहा था प्रीति के मुँह से ‘आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह हअआह’ निकल रहा था.

ब्लू सेक्सी फिल्म दिखाएं वीडियो मेंआज वो बिल्कुल वैसे ही लग रही थीं, जैसे पिया की पहरेदार सीरियल में तेजस्विनी प्रकाश होली वाली सीन में दिखती है. चाची ने नहाने के बाद जो नाइटी पहनी हुई थी … उसमें से साफ़ पता चल रहा था कि चाची ने अन्दर ब्रा नहीं पहनी है.

செஸ் வீடியோ இந்தியன்

मैं समझ गया कि जीजा जी ने अपनी बहन आलिया की गांड में लंड पेल दिया है. खेत पर तमाम लड़कियां काम करती थीं इसलिये चोदन की व्यवस्था भी हो जाती थी. इसके बाद मैंने उसे नीचे लिटा दिया और उसकी चुत को चाटने लगा, जिससे वो एकदम से गरमा गई.

मैंने उसकी चूत की चुदाई चालू रखी और वो भी मेरे लंड को चूत में लेकर मजे लेती रही. उसने दस मिनट तक मेरी चूत की चुदाई की और फिर मुझे सीधी होने के लिए कहा. मोमबत्तियों की लहराती लौ की नाक़ाफी सी झिलमिलाती रोशनी और बाहर हो रही बारिश का शोर क़रीब-क़रीब उसी जादुई माहौल का अहसास जगा रहा था जिस का रसस्वान हम दोनों पहले भी एक बार कर चुके थे.

इस कहानी के बारे में अपनी राय देने के लिए आप नीचे दी गयी मेल आईडी का प्रयोग करें. अब हम वहाँ चार लोग ही बचे थे।मालिक के जाते ही उस अरबी ने मुझे इशारा किया और अपनी तरफ बुलाया।मैं धीमे कदमों से उसकी तरफ चल दी. मैंने चाचा की शेविंग किट से रेज़र लिया और ब्लेड बदल कर चाची की चूत पर फोम लगा कर उनकी चुत साफ़ करने लगा.

कुछ देर तक मैं उनके होंठों को … या यूं कह लीजिए कि हम एक दूसरे के होंठों को चूमते और चूसते रहे. करीब 20 मिनट के बाद उसने अपना लंड बाहर निकाल दिया और जैसे ही लंड बाहर आया तेज़ पिचकारी छूट गई और सीधा मेरे चेहरे पर आकर पड़ी।चेहरे के साथ साथ मेरे पेट और चूचियों पर उसका वीर्य बह गया था.

मैंने पूछा- इसमें क्या मिला है?भाभी ने कहा- इसमें प्यार बढ़ाने वाली गोली मिलाई है.

ऐसा होने से मैं भी अपना होश खो बैठा और मैंने सीधे उनके होंठों पर अपने होंठ रख कर चूसने लगा. औरत पेशाब करते हुए वीडियोमैंने पूछा- आपका कब हो गया था?चाची ने कहा- चुदाई के समय मेरा दो बार पानी निकला था. தமன்னா ப்ளூ ஃபிலிம்मुझे तो ऐसा लग रहा था … जैसे आज मुझे पहली बार कोई भाभी चोदने के लिए मिली हो. अब शायद मॉम को भी मजा आ रहा था क्योंकि मॉम के मुंह से अब दर्द की बजाय आनंद की आवाजें निकलती हुई सुनाई दे रही थीं- ऊऊफफ्फ … शर्मा जी.

मैंने भाभी से एक दिन पूछा- भाभी, आपके सामने मैं इसकी चुदायी करता हूँ … तो आपका मन चुदने का नहीं करता?भाभी उसके सामने मेरे इस प्रश्न के लिये तैयार नहीं थीं.

लेकिन मैंने दीदी को इस बात का पता नहीं चलने दिया कि मैंने उनकी चुदाई को देखा है. ” मैंने वसुंधरा की गर्दन पर अपने होंठ फिराते हुए अपने आइंदा इरादों को ले कर वसुंधरा को ख़बरदार किया. मैंने मन में सोचा कि अगर थोड़ी मेहनत और की जाए, तो ये सैट हो सकती हैं और मुझसे चुदवा भी सकती हैं.

स्वीटी आंटी- वाह रॉकी … मेरे कपड़े खोल कर मुझे ब्रा और पैन्टी में कर दिया और खुद अब तक कपड़े पहने हो … चलो तुम्हारे कपड़े मैं खोलती हूं. मैंने कहा- इसको इतना प्यार दे रही हो, थोड़ा प्यार अपने देवर को भी कर लो भाभी!वो बोली- नहीं, मेरी चूत की खुजली तो यही शांत करता है. मैंने कहा- बैठो, बताओ क्या बात करनी है?रेखा ने कहा- चाचा जी, चाची को मरे काफी टाइम हो गया और इनको मरे हुए भी छह साल हो गये.

ভারত সেক্স

उन पलों को सोचता हूं तो उसकी चूत के रस का नमकीन स्वाद आज भी मेरे मुंह में पानी ले आता है. उसके बाद हम दोनों ऐसे ही काफी देर तक एक दूसरे के साथ नंगे जिस्मों के साथ चिपके रहे. मैंने उनसे पूछा- अंकल का क्या हुआ?उन्होंने कहा कि तुम्हारे अंकल को मैंने दूध में नींद की गोली डाल कर सुला दिया है और खुशी को सुला कर आई हूं.

रोहित- वाह, आप लोग तो छुपे रुस्तम निकले पर हर किसी का प्यार अंजाम तक पहुंचे जरूरी नहीं!फिर मैंने और रोहित ने 5 मिनट बैठ कर चाय पी, घर-बार इधर-उधर की बात की.

कहानी के बारे में आपको यदि कोई सुझाव देना है तो उसके लिए आपका स्वागत है.

प्रियंका देखने में अति सुंदर, लंबा चेहरा, घने बाल वाली कंटीली छमिया है. ’कुछ दिनों तक ऐसे ही चलता रहा … एक दिन मैं, दीदी और श्वेता दीदी बाजार गए थे … बाजार में साकेत भैया भी थे. छोटे भाई की चुदाईममता ने उससे कहा भी ‘डिनर भी साथ ही बना दूँगी’ पर राजन ने मन कर दिया.

उसने आते ही मम्मी से पूछा- आंटी कैसी हैं, प्रिया कहां है?मम्मी- हां बेटा मैं ठीक हूं. अब आगे:नीतू की बात पर मैंने कहा- जरूर मेरी जान … पर तुम पहले मेरे लंड को थोड़ा चूस तो दो. आशा है आप सभी प्रिय पाठकों को पसन्द आयेगी।मेरी इससे पहली कहानी बॉडी मसाज और चूत की चुदास को लेकर आप लोगों के बहुत से सुझाव और मेल आये.

मैं उनको शांत कराने के लिए उनके बगल में बैठ गया और उनकी पीठ पर हाथ फेरते हुए उनको शांत करने लगा. लेस्बियन पोर्न फिल्म देखते हुए मैंने अपनी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया.

उसने राजन को मोर्निंग विश किया और कहा- भाई साहब, चाय तो मैं बना देती! आपने क्यों तकलीफ करी?राजन ने महसूस किया कि वो तनाव में है.

पर स्नेहा का मुँह अभी भी दरवाजे की तरफ ओर था और उनकी पीठ मेरी तरफ थी. इसी बीच मेरे पति ने हाथ से अब तक अपना माल निकाल दिया था और वो वहीं सोफे पर ही लेट गये थे. चाची की चूत से नमकीन सा पानी निकल रहा था जिसका टेस्ट मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

राजस्थानी सेक्स सेक्सी वीडियो मुझे ऐसा फील हो रहा था कि मेरा लौड़ा रबरबैंड में फंसा हुआ सा अन्दर जा रहा है. 5 मिनट की चुदाई के बाद सर का पानी निकल गया।फिर मैंने उन्हें गोद में उठाया और मैम की चूत में लंड डाल कर मैम की चुदाई करने लगा।उसके बाद उनके दोनों पैरों को कंधे पे रख कर चुदाई चालू रखी.

आलिया ने दोनों हाथों से बेडशीट पकड़ ली थी … मैं पूरी ताकत से आलिया को चोदने में लगा हुआ था. कोई 15 मिनट बाद मैंने ही अपने आपको रोका और मोनिका से कहा- जन्नत कब ले चलोगी!वो हंस दी और बोली- जब तुम कहो. सच यही है कि मैं काफी सालों के बाद यौवन से भरी निर्वस्त्र लड़की देख रहा था.

स्कूल गर्ल क्सक्सक्स वीडियो

जब भी मुझे छुट्टियों में फ्री रहना का मौका मिलता, तब या तो मैं वहां चला जाता या आलिया दिल्ली आ जाती थी. मैं आज बहुत खूबसूरत लगना चाहती थी, लेकिन साथ ही यह भी चाहती थी कि मैंने आज के लिए स्पेशल तैयारी की है, इस बात की किसी को भनक भी न लगे. सफेद जीन्स और लाल टॉप में, गले में स्कार्फ, खुले कर्ली बाल, आँखों में काजल, सुर्ख होंठ, हील वाली सफेद सैंडल, उफ्फ … क़यामत तक समय रूक जाए!रूपसी अप्सरा … वो किसी भी तरह से 30 या 32 साल की नहीं लग रही थी.

उसकी चूचियों को सहलाते हुए मैं कभी कभी उसके निप्पल पकड कर मींज देता, तो वो एकदम से सिस्कार देती … और मेरे सीने पर मुक्का मारते हुए कहने लगती- कैसे नोंच रहे हो … लगती है न. इस सबसे उनके अन्दर इतनी आग बढ़ गई थी कि वो सेक्स करने के लिए मुझसे भी ज्यादा वो तड़पने लगी थीं.

फिर असलम अंकल मेरी चूत को चाटने लगे भानुप्रताप अंकल मेरे दोनों बूब्स को दबाने लगे.

आलिया- कैसा गया एक्जाम?मैं- हमेशा की तरह बेहतर … वैसे आज आप बहुत सुंदर लग रही हैं. थोड़ी देर बाद, भाभी ने कहा- और अच्छे से कर ना … मैं स्ट्रीप खोल देती हूँ. फिर विक्की खड़े हो कर चोदने लगा और दस मिनट बाद वो मेरी चुत के बाहर झड़ गया.

अब 2 मिनट बाद वहाँ से ट्रेन चली गयी और मैं स्टेशन से थोड़ा दूर आ गयी सन्नाटे में!वो दोनों चोदू मर्द अब भी मेरे पीछे आ गए थे। अब उसमें से एक आदमी ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मुझे चूमने लगा पीछे से!अब आगे वाला मेरे सामने आया और मेरे ब्लाउज में हाथ डाल कर मेरे दोनों बूब्स को दबाने लगा और बोला- बहुत तड़पाया है रानी तुमने! अब तुम्हारी सारी जवानी चूस डालूँगा. एक बार फिर से मेरी फुदी में से पानी निकलने लगा था और ड्राइवर उसे चाट चाट कर मुझे और भी मज़ा दे रहा था. उसने बोलना शुरू किया- दीदी मैं स्कूल के दिनों से ही आपको पसंद करने लगा था.

और आलिया फिर से जोरों से चिल्लाने लगी- आहहह राज, स्टॉप इट … आह यू हर्ट मी … राज स्टॉप इट … प्लीज बाहर निकालो … मुझे दर्द हो रहा है.

सेक्सी फिल्म बीएफ एचडी हिंदी में: उसे बस इस हुस्न की परी की उस रसीली मुनिया (चूत) के हां कहने की जरूरत थी. सपना- यार मेरे राजा … अब डाल ना अपना लंड मेरी चुत में जल्दी से डाल … बहुत तड़प रही हूँ.

जैसे ही मेरे गर्म होंठों ने उसकी तपती हुई चूत को स्पर्श किया तो उसके मुंह से जोर से सिसकारी फूट पड़ी- आह्ह. मैं बस स्टॉप से बाहर आया और जैसे ही रिक्शा में बैठने वाला था कि मुझे अपने पहचान की एक आंटी दिख गईं. तब तक आप मेरी अगली कहानी में शिखा मामी के साथ होने वाली चुदाई की कल्पना से लबरेज गर्मागर्म चुदाई की कहानी का मजा लीजिए.

फिर पांच या छह दिन के बाद जब दोपहर में मैं सो रहा था तो मुझे पेशाब लगी.

उसने अंतिम पल में लंड बाहर निकालना चाहा, तब तक मेरे मुँह को प्रसाद प्राप्त हो चुका था. मैं तुरंत अपना लंड उसके मुँह में डालने लगा लेकिन प्रीति ना-नुकुर करते मेरा लंड अपने मुँह में ले ही लिया और धीरे धीरे चूसने लगी. उसके बाद एक गोरा सा लड़का दीदी के पास आया और उनको लेकर एक तरफ चला गया.