मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,मां का बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी काजल का: मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ, मैंने उस दिन उसको अपने बारे में सब बताया- मेरा पति नहीं है और बेटी किधर है … उसे सब कुछ बता दिया.

देसी बीएफ वीडियो एक्स एक्स

क्योंकि एग्जाम मार्च में होने थे और मामी को जनवरी में आना था तो ठंड बहुत थी उस समय।जब वो अपने घर से चलीं तो मम्मी ने बोला था कि उनको जाकर बस स्टेशन से रिसीव कर लेना. प्रियंका चोपड़ा एक्स एक्स बीएफक साथ नहाते हुए फिर से हमारा मूड बन गया, तो फव्वारे के नीचे भी एक बार चुदाई कर ली.

मैंने भी मौके की नज़ाक़त को समझते हुए उसकी चूत पर लंड रख दिया और एक जोर से धक्का मारा तो आधा लंड अन्दर चला गया. मुसलमानी पिक्चर बीएफमैंने सुनील को कहा कि हम दोनों पहले युविका को चोदेंगे और बाद में उसकी बहन को.

उसने वासना से मेरी तरफ देखा और अपनी चूचियों को मसलती हुई बोली- मैं दरवाजा खुला रखूँगी और तुम्हारा इंतजार करूंगी.मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ: मैंने उनको हटाया और उनकी टांगों को चौड़ी करके उनकी चूत में मुंह लगा दिया.

मैंने अपने नंगे जिस्म को अपने हाथों से छुपाने की कोई कोशिश नहीं की बल्कि अपने स्तनों को और आगे करके उभार दिया और अपनी टांगों को फैला कर खड़ी रही.ऐसे करते करते पिज्जा तो खत्म हो गया लेकिन हमारी वासना फिर से जाग गयी.

सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी में - मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ

मैंने दीदी को बोला- देखो, क्या आपको ऐसा ही लड़का चाहिए था?उसने मेरी तरफ देखा.अचानक से दरवाज़ा खुलने की आवाज़ आयी और एक पल में मम्मी उस कमरे में घुस आईं.

मैं जोर जोर से चाची के बूब्स को भींच रहा था और वो मेरे लंड पर अपने दांत गड़ा देती थी. मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ उसकी कड़क मर्दाना उंगली से मेरी चूत की नसों में सुर्खी आ गई और चुत की फांकें तेजी से फड़कने सी लगीं.

भाभी- अरे हमारे ऐसे नसीब कहां, वो तो काम को ही अपना सब कुछ मानते हैं.

मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ?

मेरा लण्ड फूल कर फटने को हो गया था।इतनी देर से मैं प्रिया की चूत से खेल रहा था इसलिए लंड में लगातार कामरस बाहर आ रहा था. एक बार अगर सोने का मौका मिल जाएगा तो आगे फिर कुछ बात बन सकती है।मैंने पहले ही बोल दिया था कि मैं स्लीपर में सोऊंगा एक लड़की तुम तीनों में से जो भी चाहे वह स्लीपर में आकर सो सकती है या बैठ सकती है।यह सुनकर पहले तो तीनों ने मना कर दिया कि हम तीनों ही नहीं आएंगी हम 2 सीट पर 3 लोग एडजस्ट करके बैठ जाएंगी।और उन लोगों ने ऐसा ही किया. किसी तरह से फिर मैंने उनको रिक्वेस्ट की और मनाया तो वो मान गयी और ऊपर सोने के लिए तैयार हो गयीं.

न्यूड भाबी चुदाई कहानी के पिछले भागभाभी ने दूध वाले का लंड खा लियामें अब तक आपने पढ़ा था कि दूध वाले ने भाभी को खूब चोदा था. क्या लाजवाब टेस्ट था उसकी चूत का!चूत में से पानी आने लगा। मैंने उंगलियों से उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया. मैंने सोचा कि पता नहीं मामी ने इतनी देर इतनी ठंड को कैसे सहन कर लिया.

इस अचानक हुए हमले के कारण भाभी दर्द से चिल्ला उठी- हाय मेरी गांड से निकालो अपनी उंगली … आह मेरी गांड से बाहर निकालो. ऐसा लग रहा था जैसे मैं हसीनाओं के शहर में आ गया हूं और एक के बाद एक चूत मुझसे चुदवाने के लिए आ रही है. उसकी सुराही जैसी गर्दन को मैं अपने होंठों से चूसता रहा और गीला करता रहा; साथ ही साथ मैं अपने एक हाथ से उसकी पीठ को भी सहलाता जा रहा था.

मैंने दीदी की एक टांग उठाई और उनकी गांड के छेद पर अपना लंड रख दिया. जेठजी अपनी एक उंगली को मेरी चूत में अन्दर बाहर कर रहे थे और अपनी जीभ से मेरी चूत के दाने को चाट रहे थे.

मैंने गहरी नींद में सोने का ड्रामा करते हुए अपने हाथ उसकी गांड पर रख दिया.

मगर इस सहानुभूति के साथ ही मेरे मन में एक और भावना भी साथ साथ पनप रही थी.

कल की तरह आज भी मैं मम्मी की ब्रा लेकर बाथरूम चला गया और मम्मी को याद करके मुठ मार ली. तभी जीजू को एक फ़ोन आया, तो जीजू में हम दोनों से कहा कि वो किसी मीटिंग में जा रहे हैं, शायद ये मीटिंग इसी होटल में होगी. आपकी आंखें आपसे भी ज्यादा सुन्दर हैं, जी करता है कि आपको और आपकी आंखों रोज देखता रहूँ.

फिर भाभी मेरे लिए एक तौलिया लाईं और बोलीं- तुम भीग गए हो, इससे पौंछ लो. बस इसके बाद मैं अपने रास्ते चला गया और वो लड़की वापस बिल्डिंग में चली गई. अब ये तो पक्का था ही कि ये भी सिंधी होगी और सिंधी औरतों की बहुत मोटी मोटी गांड होती है.

दोस्तों ने मुझे काफी कुछ बताया तो मेरी रूचि सेक्स में काफी ज्यादा हो गयी.

जब विजय ने यह देखा, तो वो बोला- मेरी सरिता रांड … क्या हुआ तुझे … थक गई क्या … अभी तो खेल शुरू हुआ है साली … और तुम तो अभी से थक गई हो. अब वो भी मेरे लंड का मजा बड़े मन से ले रही थी और बोल रही थी- आह और जोर से चोदो मेरे राजा … आह आज मेरी बुर को फाड़ दो … आहह उफ्फ बहुत अच्छा लग रहा है. थोड़ा चढ़ने पर ही हवा से उसकी कुर्ती उड़ने लगी और मेरी नजर उसके हिलते हुए चूतड़ों पर टिक गयी.

मेरी मौसी का लड़का अपने स्कूल की तरफ से नेशनल पार्क को देखने गया हुआ था।मेरे जाने पर मौसी मुझे देखकर खुश हुई और उसने मेरा अच्छे से स्वागत किया. मैं उसके मम्मे चूस रहा था और साथ ही साथ उसे जोर जोर से चोद भी रहा था. उस हॉट लड़की ने कहा- तुम सीधे लेट जाओ और मैं तुम्हारे मुँह के अन्दर पेशाब करूंगी.

कोमल की गर्म सांसों को मैं आराम से महसूस कर सकता था; उसकी सांसें तेज हो रही थीं.

रोमी ने भी धीरे धीरे सरिता की गांड में लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. अभय मुझसे अभी भी बात करता है लेकिन हमारे बीच पहले जैसी दोस्ती नहीं है.

मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ मैं एकदम से रूम में दाखिल हुआ और आवाज दी- मामी …वो एकदम से उछलकर उठ बैठी थी. आगे एक और सेक्स कहानी मैं आपको सीमा के साथ चुदाई की कहानी में लिखूंगा कि सीमा की मुझसे चुदने की क्या क्या कल्पनाएं थीं और उन सबको मैंने किस तरह से पूरा किया.

मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ थोड़ी देर में मैंने अपना माल भी उसकी चूत के हवाले कर दिया और हम दोनों एक दूसरे से लिपट कर नंगे ही सो गए. फिर वो मरे लिए कुछ खाने के लिए लाने गयी और मैं टीवी देखने लगा।फिर वो मेरे लिये नाश्ता लेकर आयी.

जेठजी ने एक बार लंड थोड़ा बाहर निकाला और फिर से मेरे मुँह में जोर से लंड को घुसा दिया.

हिंदी फिल्म सेक्सी एक्स एक्स एक्स

मैंने उसकी टांग को उठाया और लंड घुसा दिया अब वो कमर आगे पीछे करने लगी मैं भी धीरे धीरे झटके मारने लगा।मैं उसकी चूचियां दबाने लगा और उसकी गर्दन पर चुम्बन करने लगा।हम दोनों पूरे गरम हो चुके थे।अब मैंने उसे नीचे लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया और उसकी चूत में लन्ड घुसा दिया और तेज़ तेज़ चोदने लगा. कुछ मिनट हमारे बीच मौन रहा और इसी बीच मैंने तय करते हुए कहा कि इधर तो दो घंटे भी खड़े रहेंगे तो बारिश नहीं रुकेगी. मैंने हिम्मत करके अपना चेहरा भी उसी तरफ घुमाया और अपना एक पैर उसके चूतड़ के ऊपर रख दिया.

रोहन का लंड ये सोचकर पत्थर हो गया था कि आज के बाद वो कुसुम को कभी भी चोद सकता था. कुछ देर बाद अब रोमी ने कहा- मैं अब तुम्हारी गांड चूसूंगा और चाटूंगा. कुसुम की गांड के छेद पर लंड सैट करके शेखर ने धक्का देना शुरू कर दिया.

वो बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- अब सिर्फ बातें ही करते रहनी हैं या सही से मिलना भी होना है?वो हंस कर बोली- मिल तो गए और कैसे मिलते हैं.

मैं भाभी को चोदने के चक्कर में कंडोम लेने अपने घर से करीब 5 मील दूर गया, वैसे जहां मैं रहता हूँ … वहां बहुत से मेडिकल स्टोर हैं … लेकिन वो सब मुझे जानते थे, तो मैं अपनी पहचान छिपाने को लेकर दूर गया था. जब मैंने उससे मेरी पसंदीदा आइसक्रीम वनीला मांगी, तो वो अपनी कुर्सी से उठ कर काउंटर से होती हुई जैसे ही निकल कर डीप-फ्रीजर के जैसे पास पहुंची, तो आंटी की विशालकाय गांड देख कर मैं एकदम से मचल गया. टॉयलेट सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी की कुंवारी सहेली बहुत सेक्सी थी.

तब जय बोला- नहीं, उधर नहीं … वर्ना इकबाल डायरेक्टर को बोल देगा, तो मेरा भांडा फूट जाएगा. मेरी बात खत्म होने पर आंटी बोलीं- तुमको तो पता ही है आकाश कि तुम्हारे अंकल का होना या ना होना बराबर ही है. वो मेरी बहन को प्यार करने लगा और बहन से रिक्वेस्ट करने लगा- जानू मान जाओ ना प्लीज … मैं एक बार तुम्हारी गांड की रस मलाई चखना चाहता हूं प्लीज … मान जाओ ना!मगर मेरी बहन नहीं मानी और अपने कपड़े पहनने लगी.

जेठानी मुझे साथ लेकर मेरे कमरे में आ गई और मुझे बिस्तर पर लिटा कर बोली- अब तुम आराम करो, अब तो रोज रात को मेरे पतिदेव अपनी सेक्सी बहू को प्यार करेंगे. मैं भी सत्यम के साथ ही झड़ गयी थी और उसी वजह से पानी और भी ज्यादा बहने लगा था.

वो बोली- हां पूछो, क्या पूछना है?मैं- तुमको सेक्स करके कैसा लगा?मेरी बहन ने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया. मैंने रिट्ज से पूछा- किसने लिया है?वो अपना मुँह बना कर बड़बड़ाते हुए बोली- आप तो ऐसे पूछ रहे हैं, जैसे दिला ही देंगे. मैंने कहा- मैं हां कहूँगा, तो चुद लेगी?वो बिन्दास बोली- हां बिल्कुल … उसके साथ मैंने पहले भी सब कुछ किया हुआ है.

फिर मामी ने मेरी गांड पर अपनी टांगों को लपेट लिया और मुझे कसकर भींचते हुए जोर से आह्ह … आह्ह … करते हुए झड़ गयी.

हॉट आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक आंटी आइसक्रीम की दूकान चलाती थी. बड़ा नमकीन स्वाद था मेरी बहन की चूत का!मैं उसकी चूत का रस पीने में लगा हुआ था. तकरीबन बीस मिनट बाद मेरी चूत किसी फटे कपड़े की तरह कांप रही थी, जब सत्यम ने अपना गर्म लोहे जैसा लौड़ा मेरी भट्टी जैसे चूत से बाहर निकाला.

मुझे चोद दे … प्लीज।मैंने उसकी चुदास को समझा और चुदाई के लिये तैयार हो गया. लेकिन सत्यम अभी भी किसी बहादुर योद्धा की तरह अपने लंड से मेरे साथ जंग लड़ रहा था.

बीस मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना पानी उनकी चूत में ही छोड़ दिया. उसने भी हाथ के इशारे से मुठ मारने जैसी हरकत करते हुए बताने लगा कि मुठ मारने गया था. तो उन्होंने पूछा- क्या हुआ ऐसे क्या देख रहे हो?मैं- सोचा नहीं था कि मैं आपको कभी ऐसे भी देखूंगा.

चूत वाली सेक्सी हिंदी में

फिर उन्होंने मुझे वो सारी जानकारी दी कि वहां जाकर कैसे, कहां और क्या करना है।मैंने उनकी सारी बातें ध्यान से सुनीं.

फिर मैंने उसे इमोशनल तरीके से कहा- देखो मैं कोई गैर तो नहीं हूँ, तुम मुझे बचपन से जानती हो … और फिर मैं तुम्हरा क्रश भी रहा हूँ. जो आप मुझसे पूछना चाहेंगे, मैं आपके हर सवाल का जवाब दूँगी।मैंने कहा- मैं ये जानना चाहता हूँ कि सेक्स में तुम्हें क्या पसंद है, अब देखो हमारी शादी हो चुकी है, आज हमारी सुहागरात है, तो नेचुरली हम सेक्स तो कर ही सकते हैं. अब मेरा नंबर था तो मैंने उसके सिर को पकड़ा और अपने लौड़े को उसके मुँह में अन्दर तक घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने घर से निकलते समय रोजाना जैसे ही कपड़े पहने थे ताकि मेरे इस नए काम की जानकारी मेरे जुआरी पति को पता नहीं चले. मुझे अपनी बीवी की चुदाई दूसरे मर्द से करवाने की कल्पना करने में बड़ा सुख मिलता था और उसी के चलते मैं अपनी बीवी को कई बार अपने दोस्त राहुल के लंड से चुदवाने की बात करते हुए चोद चुका था. बीएफ दिखाइए बीएफ दिखाइए बीएफफिर मेरी पैन्ट की ज़िप खोल कर मेरा लंड बाहर निकाला और बोली- इस मादरचोद को क्यों छुपा रखा है? मेरी जान है ये … इसे तो जितना भी चूसूँ, दिल नहीं भरता.

मगर अपने मम्मों पर पड़े नील के और लव बाईट के निशान को कहाँ ले जाती?सब ठीक करके वो एक हल्का पेग मार कर नंगी ही सो गयी. वो बोला- तो अब मैं जाऊं?मैंने उससे कहा- अरे, करके जाना क्योंकि ये बीच में रुक गया तो मुझे तो वापस चलाना भी नहीं आता है?वो बोला- दीदी, अभी देर ज़्यादा हो गयी है … घर से फ़ोन आने लगेगा और डांट अलग से पड़ेगी.

पर ये आकर्षण और अहसास उस नए कड़क लंड का था, जो उसके बेटे का उसने महसूस किया था. दीदी की चूत में लंड को पेलते हुए अब मैं दीदी की चूचियों पर मुंह लगाकर धक्के लगा रहा था. फिर कुछ देर बाद हमारा मूड बना, तो हम दोनों ने एक दूसरे के होंठों को चूमने से शुरूआत की.

उसके हाथ मेरी गांड पर थे और मेरी गांड को बार बार दबाते और उन पर चांटे बरसा रह थे. मैं समझ गया कि लौंडिया आज चुदाई के मूड में ही आयी है और पूरे मजे लेना चाहती है. ‘आआआह …’लंड घुसेड़ते ही उसने टांग छोड़ कर मेरी पिछाड़ी को पकड़ लिया और मैंने टांगों को फैलाते हुए अपने दोनों हाथ उसके गले में डाल दिए.

कुछ ही देर में सरिता भाभी भी फिर से गर्म हो गई और अपनी गांड हिलाने लगी.

थोड़ी देर तक मैं उसे अपनी बांहों में भरकर उसकी पीठ को अपने हाथों से सहलाता रहा. नीचे वाले लोग ऊपर आकर अपने कपड़े वगैरह सूखने डालने आते थे और शाम के टाइम छत पर घूमने आते.

फिर वो तीसरे कमरे को खोलने जा ही रहा था कि उसे कमरे से रोमी को कुछ आवाज आती सुनाई दी. मैं संभोग के इस मद में चूर थी और बिना किसी चिंता के सत्यम के लंड से धुआंधार तरीके से अपनी चूत में युद्ध का मज़ा लिए जा रही थी. मैंने यास्मीन को सीधा लेटा दिया और उसकी दोनों टांगें चौड़ी करके उसकी चूत में लंड पेल दिया.

फिर मम्मी पापा के आ जाने के बाद मैं किसी नए मर्द के लंड का इंतजार करने लगी. जैसे ही उसकी चूत मेरी आंखों के सामने आई, कसम से मैं तो जैसे मंत्र मुग्ध हो गया. वो मेरी गीली चूचियों को वहीं पर पीने लगा और मैं भी फिर से गर्म हो गयी.

मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ उस दूध वाले का लंड देख कर सरिता भाबी ने भी न आव देखा न ताव, पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया और गप-गप करके चूसने लगी. लवली मेरे मुँह के पास आकर खड़ी हो गई जिससे उसकी चूत मेरे चेहरे के ठीक सामने हो गई.

सेक्सी भाभी की चूत की वीडियो

जब शीना ने अपनी बुर की तरफ देखा तो उसमें से भाई का वीर्य और खून की धारा बह कर सूख चुकी थी. सत्यम का लौड़ा अभी भी मेरी चूत में अपनी वीर्य की आखिरी बूंदें छोड़ रहा था. मैं किसी भी जवान या बूढ़ी औरत को चोद कर संतुष्ट कर सकता हूं, इतना मुझे यकीन है.

’हम दोनों का जिस्म पसीने से भीग गया था और अमित मुझे लगातार बिना रुके चोदे जा रहा था. मैंने कहा- मेरे पास एक बुक रखी है आप पहले उससे बेसिक पढ़ लो, उसके बाद किसी भी सेंटेंस को ट्रांसलेट करना आ जाएगा. बिहार बीएफ सेक्सफिर वो घुटनों के बल बैठ कर पैंट के ऊपर से ही मेरा तना हुआ लंड सहलाने लगीं.

थोड़ी देर उछलने के बाद उसने अपनी टाँगें चौड़ी कीं और कमल से कहा कि तुम अपने लंड पर वैसलीन लगा कर आओ और अंदर घुस जाओ चूत में.

इस बार मैंने उसको इतना गर्म कर दिया था कि वो खुद बोल पड़ी- क्या जान ही ले लोगे … अब जल्दी से अपना लंड चुत में डाल दो प्लीज!ये सुनते ही मेरा लंड और टनटना गया मैंने उसी पोजीशन में उसके पैरों के बीच बैठ कर उसकी चुत में एक ही बार में पूरा लंड पेल दिया. उसने अब अपनी कमर पर जोर देना शुरू किया और आहिस्ते आहिस्ते लंड चूत को चौड़ा करता हुआ अन्दर जाने लगा.

रमेश बोला- रोहित क्यों ना दोनों को व्हिस्की पिला दी जाए!मैंने पूछा- कैसे?रमेश बोला कि कोल्डड्रिंक में मिला देते हैं. मैंने उसके प्रीकम का स्वाद लेना शुरू ही किया था कि सत्यम खड़ा हो गया और उसने अपने लंड की दोनों गोलियों को मेरे मुँह में ठूंस दिया और खूब चुसाया. इतने में ही कोमल ने अपने हाथों से जोर से मेरे सर को अपनी चूत से चिपका दिया.

इसी बीच मैंने सोचा कि इसकी चूत का स्वाद भी चूसकर ले लूं, फिर पता नहीं क्यों उसकी चूत पर झांटें देखकर चूसने की इच्छा नहीं हुई.

वो दोनों मस्ती में झूमती हुईं रेस्टोरेंट से बाहर निकलीं और मैं उन दोनों को संभालता हुआ बाहर लाया. मैं अपनी बेहन की टांगों में बीच में आ गया और उसकी चुत पर लंड सैट कर दिया. फिर मैंने उससे कहा- मैं एक बात कहूं … तुम बुरा तो नहीं मानोगी!पूजा बोली- नहीं, बोलो क्या बात है?मैंने कहा- मैं भी तेरी चूत पीना चाहता हूं.

1 घंटे की बीएफअभी बोल मजा आ रहा है न!सरिता भाभी ने कराहते हुए कहा- हां … पर धीरे धीरे तेल लगा कर करना. सेक्सी लेडी पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि आंटी को मैं तो चिड़ना चाहता ही था पर आंटी को लंड की ज्यादा जरूरत थी.

वीडियो सेक्सी मूवी डाउनलोड

माधवी भाभी बोलीं- ये आप क्या बोल रहे हैं?मैंने बोला- शॉर्ट में कहूं तो बिन फेरे हम तेरे … हम आपके दोस्त बनना चाहते हैं. मैंने कुछ ही पलों बाद अपने दोनों हाथों से उसकी दोनों छातियों को दबाना शुरू कर दिया था. वो कुसुम के होंठों को चूसने लगा और साथ ही साथ कुसुम के चूचों को भी हल्के हल्के दबाने लगा.

आंटी मेरे मुँह को चाटते हुए बोलीं- मेरे राजा … मुझे ऐसा मज़ा मिलेगा, ये तो आज तक मैंने कभी सोचा नहीं था. मैं अपनी आगे की सेक्स कहानियों में अपने पति के साथ हुए सेक्स के बारे में बताऊंगी. उसको पहली नजर में देखते हुए ही मुझे अपने लौड़े में कुछ कुछ होने लगा था.

फिर एक दिन मुझे किसी काम से गोपालगंज जाना था तो मैं गाड़ी लेकर निकल गया. चूंकि मैं उस शहर में नया-नया गया था, तो उधर के बारे में मुझे कुछ ज्यादा मालूम नहीं था. मैं समझ गया कि मेरी चालू साली ने मुझे अपने बाथरूम में नहाने को क्यों कहा था.

बहुत सुकून देता है तेरा मूसल।फिर वो उठ गयी और कहने लगी- मैं नहाकर आती हूं. इसके बाद आंटी ने मेरी पैंट उतार फेंकी और फिर से एक बार में ही मेरा पूरा लंड गोली समेत अपने मुँह में ऐसे भर लिया मानो वो मेरे लंड में एकदम घुस सी गयी हों.

आप एक बहुत अच्छे पति हैं, जो अपनी पत्नी को दूसरी बार हनीमून पर ले जाते हैं.

और मॉम मेरे खड़े लौड़े को बार बार खा जाने वाली नजर से देखे जा रही थीं. बीएफ नंगी पिक्चर बीएफ नंगी पिक्चरमैंने उसके लंड की पूरी चमड़ी को खोली और आगे लाकर सुपारे को ढका इस तरह से मैंने लंड की मुठ सी मारी. इंग्लिश बीएफ वीडियो फुल एचडीवो कुछ नहीं बोलती थी।मगर इससे आगे बढ़ने की हिम्मत मेरी अब तक नहीं हुई थी. कुछ दिन बाद जब मुझे कोई दूसरा लंड पसंद आता है, तो फिर पुराने लवड़े से चुदने में मुझे तनिक भी मज़ा नहीं आता है.

मैंने जेठजी को अपनी बांहों में जकड़ रखा था और अपनी टांगों से उनकी कमर को पकड़ कर ऊपर की ओर धकेल रही थी.

मैं सुरीली के चुच्चों को लगातार मरोड़ रहा था और उन पर चांटे मार रहा था. फिर भाभी बोलीं- अच्छा ये बताओ … तुम्हें कैसी लड़की पसंद है?मैंने झट से बोल दिया- आपके जैसी. फिर मुझे अचानक से उस आदमी की याद आई और मैंने उसका नंबर ढूंढ कर उसे कॉल किया.

फिर मैंने उसकी चूत में उगली दे दी और जाकिरा अपनी चूत में भी उंगली करने लगी. मैंने हैरानी से पूछा- क्यों झूठ बोलते हो यार … नहीं बताना चाहते हो तो मत बताओ. मैंने गांव में अपने भाई से उस लड़की बिल्लो के बारे में पूछा, तो पता चला कि उस घर के लड़के ने बिल्लो को भगाकर शादी की थी.

हिंदी सेक्सी वीडियो ओपन सेक्सी

उस दिन अनिकेत ने इतनी दारू पी ली थी कि वो तुरन्त ही गहरी नींद में सो गया. अब वो मेरे सामने खड़ा था और खड़े खड़े ही उसने मेरी एक टांग को अपने हाथ में लेकर जरा सा उठाया और मेरी खुली चुत में अपना लंड अन्दर डाल दिया. अपने प्लान के मुताबिक पीयूष ने शीना को पीछे से हग कर लिया और ये कहते हुए लेट गया- मेरे साथ लेट जाओ, सब बेचैनी दूर हो जाएगी.

मैंने मामी की ओर देखा, तो उन्होंने कहा- तुमसे मिलने की आस में सब कुछ रेडी करके आई हूँ.

आज मैं अपनी बेहन की चुदाई की सच्ची सेक्स कहानी आपको सुनाने जा रहा हूँ, कुछ त्रुटि हो तो माफ कीजिएगा.

बाहर किसी को नहीं आता देखकर चुपके से दरवाजे के रास्ते अपने घर चली गयी. बेहन चोद भाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी बहन को उसके यार से चुदती देखा. बीएफ में सेक्सी दिखाएंफिर जेठजी की आंखों में आंखें डाल कर प्यार भरी निगाहों से देख कर, मुस्कुराते हुए अपने सर से हां का इशारा किया.

मेरा काम बस इतना था कि मैं रोज कॉलेज जाता था और पढ़ाई करके वापस रूम पर लौट आता था. लेकिन अफसोस था, कोई मौका ही नहीं मिल पा रहा था कि मैं रानी की गोरी सी चूत में लौड़ा डाल कर उसको जन्नत की सैर करवा सकूं. उसने एकदम मेरा मुँह और अन्दर करने की कोशिश की और तेज़ झटके देने लगी.

जैसे ही उसने लंड को भाभी की गांड में डाला, वो चिल्लाने को हुई पर चिल्ला नहीं पाई क्योंकि सोनू का लंड उसके मुँह में घुसा था. मैंने पूछा- कभी प्रेगनेंट भी हुई?उसने बताया कि हां एक बार हुई थी, मगर हमने जाकर इलाज करवा कर सफाई करवा ली थी.

मैं पहली बार लंड किसी छेद में डाल रहा था, तो लंड कुछ कड़क ज्यादा हो गया था.

अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार। मित्रो, मेरा नाम राजेन्द्र सिंह है लेकिन मेरे घर वाले प्यार से मुझे राजा बुलाते हैं. काफी देर के बाद मेरे गाल और गले को चूमते हुए मेरी शर्ट के सारे बटन खोल कर उसे उतार फेंका. शाम को जब पापा आए तो वो मम्मी से बोले- मेरा सामान तुरंत पैक कर दो, मुझे दो दिनों के लिए कुछ ज़रूरी काम से बाहर जाना है.

मोटे लंड की बीएफ सेक्सी अजय के मरने के एक साल तक मैंने नहीं किसी और मर्द के लिए नहीं सोचा, किसी गैर मर्द का ख्याल भी अपने मन में नहीं लाई. मैंने बोला- जब मुझे हाथ से ही निकालना होता, तो मैं खुद ही निकाल लेता.

उसकी जींस जांघों तक उतर गई थी मगर अब मैं उससे नीचे नहीं कर पा रहा था. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राजेश सोनी है और मैं मध्य प्रदेश का रहने वाला हूं।मैं अपनी पहली कहानी आप लोगों को सुना रहा हूं. अब मैं अपनी बहन की गांड चाटने लगा और इसमें मेरी बहन को भी मजा आने लगा था.

सेक्सी वीडियो दिखाइए भाई

एक दिन की बात है कि शाम के 7 बजे एक बहुत ही रोमांचक क्रिकेट मैच आ रहा था. मैं बोला- पहले तुम पर तुम्हारी चुचियां दिखाने की उधारी चढ़ी हुई है, तुम अपनी बड़ी बड़ी चुचियां मुझे दिखाओ. पर जब मैंने दीदी को बताया कि इतने सालों बाद आपको नया और जवान लौड़ा लेने के लिए मिलेगा, तो उनका मन बनने लगा.

कुछ देर बाद उसने मुझे आगे किया और झुका कर मेरी गांड पर थूक लगा दिया. जब वो मेरे पास आईं और बोलीं- कहां खो गए … चलो!वो मेरे पीछे एक तरफ पैर करके ऐसे बैठ गईं जैसे बीवियां बैठती हैं.

इतनी सुंदर और दूध से सफेद भाभी को चोदने का मौका न जाने कभी मिले ना मिले.

मैंने उससे पूछा- तेरे बच्चों की उम्र क्या है?वो बोली- दोनों बेटियां ही हैं. अब आगे स्कूल गर्ल सेक्स कहानी:फिर सब तैयारी होने के बाद आकृति आंटी ने कहा- चलो, मैं तुम लोगों को बस अड्डे तक छोड़ देती हूं. कुछ दिन बाद अनीषा मैडम के यहां फर्नीचर बनने का काम शुरू हुआ, जो लगभग एक महीने तक चला.

मैं- कोमल, ज्यादा दर्द तो नहीं हो रहा न!कोमल- कुछ मत बोलो जान, होता है दर्द तो होने दो. मैंने देखा कि उनके रूम का टीवी चालू था और वो पलंग पर लेटी हुई अपने पैरों के बीच में अपने हाथ से कुछ कर रही थी. धीरे धीरे वो एक दूसरे की चूत में उंगलियां डाल कर सिसकारियां निकाल रही थीं.

फिर 26 दिसंबर को अजय का जन्मदिन था। जन्मदिन की तैयारी के लिये सभी लोग जुट गए क्योंकि अजय का जन्मदिन बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता था.

मौसी की चुदाई हिंदी बीएफ: देखना एक दो दिन में वो तुम्हें फिर बुलाएगा और अपने सामने सेक्स कराएगा. उस हॉट लड़की ने कहा- तुम सीधे लेट जाओ और मैं तुम्हारे मुँह के अन्दर पेशाब करूंगी.

कुछ मिनट बाद मैंने अपने मन को शांत किया और उसकी पैंटी वहीं टांग कर अपने रूम में वापस आ गया. गरम गीली चुत स्टोरी मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड की चूत और गांड चुदाई की है. मैंने आंटी से आंटी बोला तो वो बोली मुझे आंटी नहीं … आकृति बोलो, सिर्फ तुम्हारी आकृति.

और एकदम से लोवर के उपर से ही लंड को पकड़ कर बोली- दो मेरा गिफ्ट!मैं चौंक गया और कुछ ना बोला.

फ्रेंड्स, रोहन के डैड ने इस लैटर को पढ़कर क्या कहा, इस सबका खुलासा सेक्स कहानी के अगले भाग में होगा. उसके मुँह से ये सुनकर मैं चौंक गया क्योंकि उसका तो पहले से एक बॉयफ्रेंड था, और वो उससे चुद भी चुकी थी. बस किसी से पूछ कर वो अपना कोर्स पूरा कर लिया करे! और मुझे कोई दिक्कत नहीं।अब सागर ने फ़ोन रखा और बोला- अब ठीक?मैंने हां में सिर हिलाया।सागर का एक छोटा सा केबिन था जो बिल्कुल किनारे था कमरे के … उधर कोई नहीं आता था.