गुजरात के बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,नई दिल्ली के सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ एडल्ट बीएफ बीएफ: गुजरात के बीएफ वीडियो, कुछ ही देर में अम्मी की गांड का दर्द खत्म हो गया और अब वो भी गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी थीं.

पंजाबी सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी

मैंने उसको अपनी बांहों में समेट लिया और उसके कूल्हों को मसलने लगा … साथ ही उसकी काली ड्रेस को ऊपर करने लगा. लड़की और कुत्ता सेक्सी वीडियोआस-पास नहाने वाले मेरे मोहल्ले के हमसे बड़ी उम्र के लड़के तालाब में नहाने वाले या घाट पर बैठे लड़के फौरन आ जाते और हमें तैरना सिखाने के बहाने हमें पानी में पीछे से पकड़ लेते और कहते कि हाथ पैर चलाओ.

फिर हंस कर बोली- चलो, पहले खाना खा लेते हैं, बाकी मजे रात को करेंगे. नंगी सेक्सी फिल्म देहातीXxx न्यू गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि एक कॉलेज गर्ल पैसे के लालच में होटल में रंडी बनकर चुदाई करवाने आ गयी.

वो कहने लगे कि अगर रोशनी बहू चली जायेगी तो यहां घर को कौन देखेगा? सरोज (मेरी ननद) भी तीन-चार दिन के बाद जाने वाली है तो फिर मेरी देखभाल कौन करेगा?ससुर की बात मैं टाल नहीं सकती थी और भाई ने भी यही कहा कि मैं यहीं पर रुक जाऊं.गुजरात के बीएफ वीडियो: सनम ने देखा कि राजू और मैं नंगे हैं तो सनम ने अपने भी कपड़े उतार दिए.

मैंने अंकुश से कहा- अब तो मैं इस ड्रेस में फ्लोटिंग कर सकती हूं न!उसने कहा- हां क्यों नहीं.प्रकाश भाईसाब ने पहले एक उंगली से मेरी गांड को ढीला किया, फिर दो उंगलियां एक साथ पेल दीं.

लेडीज जेंट्स सेक्सी - गुजरात के बीएफ वीडियो

वह शायद कुछ तैयार सा ही था … कुछ नखरे तो करता रहा, पर प्रकाश भाई ने जब धीरे से लंड पर थूक मला, तो नसीम लंड देखता रहा.मैं उसे लेकर एक रेस्टोरेंट गया, हम दोनों ने काफी पी।फिर मैंने उससे पूछा- मैं दो महीने के लिए आया हूँ.

अभी बाथरूम के गेट तक ही पहुंची थी कि ‘स्टॉप चाहत … वहीं रुको!”तो मैं रुक गयी- क्या हुआ जान?मैं पलटी तो वहाँ का नजारा देखकर मेरी चूत अपना पानी निकालने लगी, मेरे जिस्म का पानी अन्दर कहीं छुप गया. गुजरात के बीएफ वीडियो मैंने चूत पर लण्ड रखा और सुपारे को उसमें ठोकने की कोशिश की लेकिन सुपारा अंदर नहीं जा रहा था.

अब मैंने धीरे धीरे एक हाथ उसके गले से अंदर डाल कर उसके स्तनों को सहलाना चालू कर दिया.

गुजरात के बीएफ वीडियो?

रवि ने रश्मि के बालों को पकड़ लिया और दोगुनी ताकत से अपनी बेटी की चूत चोदने लगा. जैसे ही उसकी निगाह मुझ पर पड़ी, तो वो बस मेरे मम्मों को देखता ही रह गया. फिर कुछ देर में मेरा हल्का सा संतुलन बिगड़ गया, क्योंकि सर बिल्कुल मेरे ऊपर चढ़े हुए थे.

लंड को चूत से बाहर निकाल कर मैंने उसी की मैक्सी से एक बार पौंछ लिया और चूत को भी पौंछ दिया. ऐसा कहकर आपने मेरा पूरा पेंट खोल कर अलग कर दिया और मेरा कच्छा भी खोल दिया. जब हम बसस्टैंड पहुंचे तो वहाँ केवल लास्ट बस बची थी और उसमें भी बैठने की कोई जगह नहीं थी.

मुझे वीडियो सेक्स चैट सेशन का विचार कहां से आया उसके पीछे भी एक वजह थी. क्योंकि मुझे ऐसा लगता था कि उनके पति उन्हें नहीं चोदते या सही से नहीं चोदते. फिर उसने मेरी गांड के छेद पर अपना लंड सैट किया और एक झटके में पूरा अन्दर डाल दिया.

मैं अपनी इंडियन सेक्स स्टोरी पर आने से पहले ही बता दूँ कि कोई भी दोस्त मेरे से भाबी का नंबर या आइडी ना मांगे. मैं मीठे मीठे दर्द के कारण मजे में कुतिया की तरह मद्धिम स्वर में चीखने लगी.

मैंने जोश में विनीता को कमर से पकड़ कर जोर जोर से अपने लन्ड पर पटकना शुरू कर दिया और विनीता के नाखून मेरी पीठ पर गड़ते चले गए.

जैसे जैसे मैं नेहा का मम्मा चूस रहा था, नेहा मेरे सिर को पकड़कर अपने मम्मों के ऊपर दबा रही थी और तरह तरह की आ … हा … आहा … आवाज निकल रही थी.

मैंने उससे कहा- मेरे हाथ पकड़ लो और मेरे लंड को अपनी चूत में अन्दर बाहर लेकर लंड पर घुड़सवारी करो. दोस्तो, अब राजवीर रकुल की कहानी आपके प्रिय राजवीर की ही जुबानी-मैंने कमरे की चाबी लॉक में लगाकर दरवाजा खोला तो देखा कि रकुल कांच के सामने साड़ी ओढ़कर खुद को निहार रही थी। खास बात यह थी कि रकुल ने केवल साड़ी ही ओढ़ रखी थी. और एक दो बार वह उस लौंडे को भी अपने साथ लाया था। मैं बहाने से उसे ऑफिस में बुला लूंगा और उसका मोबाइल अपने पास रख लूंगा और फिर सारे फोटो और विडियो डिलीट कर दूंगा।”आप सच बोल रहे हैं?”हंड्रेड परसेंट!”ओह … थैंक यू वैरी मच सर!” सुहाना के चहरे पर अब सुकून सा नज़र आने लगा था।हॉट ओरल सेक्स स्टोरी का मजा लेते रहें.

चूत चाटने के बाद अंकुश ने मुझे बालकनी की रेलिंग पर झुका कर मुझे घोड़ी बना दिया और अपने लंड के टोपे को मेरी चूत के अन्दर डाल दिया. अब तो उसने मेरी चूत को ही केक समझ लिया और मेरी चूत को ही खाने की कोशिश कर रहा था. मैं थॉमस के सीने को किस किए जा रही रही और कभी मैं उसके गले के पीछे उसे चूम रही थी.

मैं कमरे में जोर-जोर से कराह रही थी और आहें भर रही थी ‘आह आह आह मर गई … आपका बहुत बड़ा है … सर आह्ह उफ़ उफ्फ्फ सर प्लीज धीरे धीरे सर … धीरे आह.

रवि- आह्ह … फक यू … आह्ह … फाड़ दूंगा तेरी चूत को … ये ले साली रांड … और ले … आह्ह … ऐसे ही चुदती रह मेरे लंड से … तेरी चूत का भोसड़ा कर दूंगा आज मैं … आह्ह ले … और ले साली … रंडी बनने का शौक पूरा कर तू।रमेश- हाय … रंडी … आह्ह … तेरी गांड … आह्ह् क्या गांड है साली … ऐसी गांड को तो मैं दिन रात चोदता रहूं … आह्हह ले ले पूरा लंड … अपनी गांड में साली … आह्ह चुद मेरे लंड से…. चूंकि मेरी बॉडी काफी फिट है इसलिए चलते फिरते कई अंकल मुझसे चुदने के लिए मचल जाते हैं. उसके लाल रंग के थॉन्ग अंडरवियर की पट्टियां उसकी चूत पर किसी हुई थीं.

और तुम्हें मेरी कसम है जो इस बात को कभी दुबारा पूछा।मैंने भी ना पूछने का वादा किया. उसको देखते ही मैं तुरंत खड़ी हुई और अपने एक हाथ से बूब्स को, तो दूसरे हाथ से अपनी चूत को छुपाने लगी. एक दूसरे को साफ करने के बाद हम दोनों बाहर आ गये और अपने कपड़े समेटने लगे.

मैं एक हाथ से आंटी की चुत सहला रहा था … दूसरे हाथ से उनके एक मम्मे को सहला रहा था.

जिस समय मेरी गांड में किसी का लंड पिला हो, तो लगता है जैसे स्वर्ग में हूं. मैंने भी आगे बढ़ते हुए उंगली से थोड़ा सी लिक्विड चॉकलेट ले ली और उनके होंठों पर लगा दी.

गुजरात के बीएफ वीडियो बिन्दू को कुछ अच्छा लगने लगा था, उसने नीचे लण्ड पर हाथ लगा कर देखा और बोली- यह तो काफी बचा हुआ है?मैंने कहा- बिन्दू, एक आम लण्ड को तो बुर में इतनी ही जगह चाहिए, लेकिन मेरा लण्ड काफी बड़ा है, जब दुबारा करेंगे तब चला जायेगा, अभी तो तुम इसी से मजा लो. मैं घूम गई, तो एक पल के उसकी गांड फटी … लेकिन मैंने जब उससे कुछ नहीं कहा, तो उसकी समझ में आ गया कि उसकी बहन चुदने के लिए मरी जा रही है.

गुजरात के बीएफ वीडियो अब उसे सच बोलूं तो नीरा के नाराज होने का डर!और मैं झूट बोल दूं औऱ नीरा ने पहले ही सच बता दिया हो तो अमन की नज़रों में झूठा होने का डर!मैं बात घुमाने लगा तो अमन फिर से पूछ बैठा- बताओ न कुछ हुआ रात में?क्या होना था रात में?” नीरा टेबल के पास आते हुए बोली. मेरी कहानी उसी घटना के बारे में है।उस दिन पिताजी और माताजी को दर्शन के लिए चित्रकूट निकलना था.

उन्होंने मुझसे कहा- अब तुम जैसे चाहो अपनी पोजीशन फिक्स कर लो, मैं नीचे से ऊपर नीचे करती हूं.

राजस्थानी सेक्सी वीडियो चलने वाला

आखिर हर महिला की यही ख्वाहिश होती है कि कोई उनकी खुल के तारीफ करे। मैं भी उनकी हां में हां में मिला के उनकी बातों का आनंद ले रही थी।मेरी चूत पानी छोड़ने लगी थी। मैं सलवार के नीचे पैंटी कम ही पहनती हूं जिससे पानी का साफ पता चल रहा था।वो धीरे-धीरे कुछ ज्यादा ही खुलकर मेरे अंगों की तारीफ करने लगे। लगभग पौने घंटे तक उन्होंने आधे के करीब बोतल गटक ली। अब उन्हें कुछ ज्यादा ही नशा होने लगा था. कितने ही दिन से मैं अपनी बीवी की लाइव चुदाई दूसरे मर्द से देखना चाह रहा था और आज आखिरकार वो दिन आ गया था. वो मेरी तरफ ऐसे देखने लगा जैसे पूछ रहा हो कि क्या हुआ?मुझे दर्द तो हुआ था मगर चुत चुदवाने की बड़ी लालसा भी थी.

नेहा ने कहा- मुझे होटल में जॉब करते काफी समय हो चुका है, पर आज तक मैंने किसी ग्राहक की नजरों में अपने लिए आंसू नहीं देखे. हम दोनों की इन दो अर्थी बातों से हम दोनों ही समझ रहे थे कि क्या बात चल रही है. ‘साली रंडी … तेरी चुत का भोसड़ा बना दूँ … माँ की लौड़ी … तेरी गांड मैं डंडा घुसा दूँ.

पिताजी ने फोन पर मां से क्या कहा था और घर जाकर मेरी मां के साथ मेरी चुदाई का सिलसिला किस तरह से चला, ये सब मैं मेरी मां बेटा सेक्स स्टोरी हिंदी में लिखूंगा.

तभी मैंने झुक कर उसकी चुत में मुँह लगाना चाहा, तो उसने मुझे धकेल दिया और खुद बैठ गयी. थॉमस अपने लंड को हिलाने लगा और कुछ ही देर बाद थॉमस का लंड रस बाहर आने वाला था. पड़ोस के सारे मर्द गर्म भाबी की मस्त जवानी को देखकर आहें भरते थे। वो मुझे ऊपर से नीचे तक ऐसे देखते थे जैसे कि मैं तंदूरी मुर्गी हूं और वो मुझे नोंच नोंच कर खा जायेंगे.

मीता मेरे को लगातार कोसे जा रही थी … पर मैं जानता था कि कुछ ही पलों में ये लड़की मुझे दुआएं देगी. इसमें बुरा मानने से क्या होगा!अब तो जैसे नेहा ने मेरे अस्तित्व को ही ललकार दिया था. मैंने जल्दी से उसका मुंह बंद किया और लगे हाथ एक और धक्का मार दिया। उसकी चूत को चीरता हुआ लंड जड़ तक घुस गया।वह कसमसाती हुई तड़पने लगी। उसकी आंखों में आंसू भर गए.

फिर एक वक्त ऐसा आया कि भाभी ने अपने पेट और पेट से थोड़ा नीचे हाथ रख लिया. लेकिन मम्मी हंसती हुई अपना चेहरा बार-बार उसके मुंह से हटा रही थी जैसे वो किस नहीं करना चाहती थी.

पहले तो उसने गुस्सा दिखाया, फिर जब मैं उठकर जाने लगा … तो डेज़ी ने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे रोका. मैं आपकी गालियों से पागल होकर कहने लगा कि हां मेरी चुदक्कड़ माल … आप जैसे कहोगी, मैं वैसे चोदूंगा. मम्मों के मसलने से मेरी चूत में और भी सुर्खी आ गई और मैं थॉमस के लंड पर और जोर जोर से उछलने लगी.

मैं उससे थोड़ी गुस्से में बोली कि क्या अंटशंट बोले जा रहे हो? इतने में अमित बिना हिचकिचाए मेरे गालों पर उंगली फेरते हुए बोला कि मैं आपके कातिल हुस्न का दीवाना हो गया हूँ … और अगर आप अनुमति दो, तो मैं आपकी इस जवानी का रसपान करना चाहता हूँ.

मैंने अपना लंड उसकी चूत के छेद से सटा दिया और फिर दोनों चूचियां अपनी मुट्ठियों में दबा लीं. चल ठीक है आज दोनों मिलकर निकाल देते हैं इस रंडी की हेकड़ी।इतना कह कर रवि अपनी शर्ट उतारने लगा. यदि आप दोनों चाहते हैं कि ये सब ये अब्बू के पास ना तो जाएं, तो आपको एक काम करना पड़ेगा.

थॉमस ने एक महरूम रंग की ब्रा-पैंटी उठाई और कहा- आप यह पहन कर दिखाओ मुझे. मैंने पूछा- आपके हस्बैंड क्या करते हैं?उसने बताया- वो एक बहुत बड़ी कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं.

रात में रतनलाल रश्मि को कुछ समझा कर अपनी कार से उसे होटल में ले गया. फिर धीरे-धीरे अपने हाथ से उसके जींस के ऊपर से उसकी चुत को सहलाने लगा. वो आहह … अहह … करने लगा।वो झड़ जरूर गया था पर उसका लंड अब भी कड़क था.

हीरो जैसे नाच के दिखाओ

वहाँ लोग भी ज्यादा ही खड़े थे जिससे ये सब किसी को भी पता नहीं चला।इतने में भाभी ने मेरी तरफ देखा और मुस्करा कर बाथरूम की तरफ चल दीं।बाथरूम बिल्कुल पीछे के हिस्से में था, मैं भी उनके पीछे पीछे चला गया.

फिर दांतों से भींच कर उसने मेरे कच्छे को उतारा और टोपे को हाथ से सहला सहला कर चूसने में लग गयी. मैंने देखा बहुत ही सुंदर और गोरे चिकने चूतड़ों के बीच में चूत और गांड के दोनों छेद मेरे सामने थे. जब चुद पिट कर मैं कमरे से बाहर निकली तो मेरे बेटे का एक दोस्त बाहर खड़ा था.

मैंने अपनी शर्ट के बाकी के बटन खोलना शुरू किए और शर्ट के सारे बटन खोल कर उसे उतार कर टेबल पर रख दी. रमेश- सारी रंडियों की ब्रा- पेंटी पर नहीं … सिर्फ तुम्हारी ही ब्रा और पेंटी मैं ख़रीदता हूँ. दामाद और सास की सेक्सीअब मैं उसके ऊपर नजर रखे था कि ये कब इधर उधर हो तो इसका फोन चेक करूँ.

उसकी इस हरकत पर मुझे लगा कि ये सील पैक माल थी क्या? मैंने पक्का करने के लिए लंड बाहर निकाला और देखने पर ऐसा कोई सुराग हाथ नहीं लगा, जिससे लगे कि ये सील पैक थी. मम्मी ने मुझे कुछ सामान दिया और बोलीं कि लो ये सामान मामा के घर देकर आओ.

और मैं अपनी शादी से बाहर पहली बार अपने पति की जानकारी में छिनालपन करने जा रही थी।मैंने उन्हें बेड पर बुलाया. कई बार नेहा पैंट पहनती थी तो उस पैंट में उसके सुंदर पट, भरी हुई गांड और सामने से दोनों जांघों के बीच में उभरी हुई चूत देखकर मेरा दिल करता था कि भगवान इस लड़की की चूत मिल जाए तो जीवन सफल हो जाए. मैं सर झुकाए उनकी बगल से जाने के लिए निकली, पर उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया.

पूजा के लफ्जों में लिखी हुई सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि वो झड़ चुकी थी. नेहा ने अपनी मम्मी को बोल दिया कि वह रोहित से नफ़रत करती है और अब उससे कभी बात नहीं करेगी. बस यही समय था, जब हम डराकर पुरूष पुलिस वालों को भगा देना चाह रहे थे.

थोड़ी ही देर में हम दोनों में वो वाली बातें आ गईं, जैसे फोन पर हुआ करती थीं.

देखो तुम्हारी गांड कितनी बड़ी हो गयी!रीता के पास आकर रमेश ने उसकी गाँड के दोनों पट को अपने दोनों हाथों से फाड़ दिया. वो बोली कि तो पुरानी तो होगी?मैंने बताया कि मेरी शादी हो गयी थी और मेरी बीवी से बनी नहीं, वो चली गई.

मैंने अपनी सहेलियों से शादी की सुहागरात की चुदाई के किस्से सुने हुए थे. रमेश को देख कर वो मुस्कराती हुई अपने घुटनों पर बैठी हुई उसके लंड को अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी और फिर एकदम से पूरा का पूरा लंड मुंह में भर कर चूसने लगी- आउमम … म्म … हम्म … उम्म मच … पुच … आह्ह … म्मम … आ … करते हुए वो मस्ती में उसके लौड़े को चूसने लगी. फिर उसने अपना सारा माल मेरी चुचियों पर ही छोड़ दिया और मेरी बगल आकर लेट गया.

तभी 2 मिनट बाद ही उसने सनम के मुंह में अपने लंड का पानी डाल दिया जिससे सनम को उल्टी आ गई. इस समय हम रास्ते में थे, तो लाईट की वजह से मैं बस टोपे को चूस कर लंड की खाल को ऊपर नीचे करके फैंटे मार रही थी. उसके मुंह से बहुत ही कामुक आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … शुभम … आह्ह और जोर से! चोदो यार … आह्ह मजा आ रहा है.

गुजरात के बीएफ वीडियो अब मैंने पोजीशन बनाई और लंड के सुपारे को उसकी चुत की फांकों में फेरा. तभी अमन ने नीरा को गर्म करते हुऐ सारे बदन को चूमना शुरू कर दिया और मुझे भी इशारे से बुलाने लगा.

गुजराती मां सेक्सी वीडियो

मुझे पता था कि बहुत से विदेशी लोग वहां पर इंडियन लड़की की चुदाई करने की इच्छा से आते हैं. उनके मुँह से जैसे ही ‘अओह …’ निकलने वाली थी … मैंने झट से अपना मुँह मैडम के होंठों पर रख दिया. सासू माँ बोलीं- दामाद जी, जल्दी से इसे हॉस्पिटल ले चलो, डिलीवरी बस होने ही वाली है.

जीजा साली सेक्सी कहानी में पढ़ें कि लड़की जब पहली बार चुद जाती है तो उसकी चाल हमेशा के लिए बदल जाती है. कुछ ही मिनट बाद आंटी गांड हिलाते हुए बोलीं- राज मैं तेरा लंड पी जाऊंगी. सेक्सी मजेदार बातेंआपके सुझावों के आधार पर ही कहानी को और बेहतर बनाने में मदद मिलती है.

इस अनचुदी चूत की पहली चुदाई कहानी के पिछले भाग में आपने अब तक पढ़ा था कि मीता मेरे लंड को चूस रही थी और अब वो 69 में होकर मजा दे रही थी.

बडा लंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे पड़ोसन भाभी की बड़ी बेटी मेरा लंड लेने के लिए उतावली हुई जा रही थी. मैंने लंड मुँह में लिए ही अर्पित की तरफ देखा तो उसकी आँखें बंद थीं और वो बोल रहा था- ओह्ह … अदिति लव यू यार … बहुत मज़ा आ रहा है.

जिससे मेरी ज़ोर की सीईई… निकल जा रही थी।मैं अभी अपना हाथ उसके पाजामे पे फिरा रही थी और उसके लंड को उकसा रही थी।फिर उसने तुरंत ही अपने सारे कपड़े उतार दिये. मैंने गुरजीत से कहा कि पलटकर टाइग्रेस बन जाओ तो मेरा काम जल्दी हो जायेगा. अब हमें किसी गबरू जवान मर्द के नीचे लेटकर उनका लंड अपनी चूत में लेना था.

मैं अनिकेत, मुझे उम्मीद है कि अब तक आप लोगों ने इस सेक्स कहानी को पढ़ कर अपना रस निकाला होगा.

चूत चाटने के बाद अंकुश ने मुझे बालकनी की रेलिंग पर झुका कर मुझे घोड़ी बना दिया और अपने लंड के टोपे को मेरी चूत के अन्दर डाल दिया. बरेली में उन दिनों खूब घनघोर बरसात होती, बिजली कड़क के चमकती और मस्त ठण्डी हवाओं के झोंके तन मन में वासना की आग लगा देते थे. मैं भी अपने पति के साथ मेरी सुहागरात को लेकर कुछ ऐसे ही सपने देख रही थी.

सेक्सी पिक्चर चूत मारतेमैं एक दो बार उसके लंड पर उछली और उसका लंड पूरा मेरी चुत में समा गया. दीदी मेरी विचारमग्न आंखों को देख कर हंसते हुए बोली- वो तो तेरा पति था … इसलिए सोची कि थोड़ी सा टेस्ट बदल लूं.

शिवा पिक्चर

रवि उसकी चूत पर ऐसे नजरें गड़ाए हुए था जैसे कि उसकी चूत के अंदर घुसने का रास्ता ढूंढ रहा हो. उदय सर मुझे अपनी छाती से चिपकाते हुए बोले कि इसको बजाते समय अपने शरीर को सीधा रखा करो, वरना तुम्हारे ये यूं ही झुक जाएंगे. मेरी पैन्ट में लंड का उभार सीधे हाथ की ओर बन गया था … जिसे नीना ने देख लिया था.

डॉगी पोजीशन में चोदने के बाद थॉमस ने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मुझे दीवार के पास ले गया. मैंने बोला कि क्या हुआ … कुछ पता चला?उसने बताया कि आंटी उसका एक्सीडेंट हो गया है और वो डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में हैं. इतनी देर में मैं भी तैयार होकर मार्केट में अपने क्लाइंट्स के साथ मीटिंग करने चला गया.

मामी ने भी अपनी दांतों को भींचते हुए अपनी चुत में मेरे लंड को लेना शुरू कर दिया था. मैं वहां से चल घर पहुंच कर कपड़े उतारे और नहाने जाने को हुआ कि तब तक कुच्ची आ गया. लोगों का मेरे अंगों को निहारना, मेरे सेक्सी फिगर से उन्हें उत्तेजित करना.

प्राची भाभी- ठीक है तुम जैसा चाहो! और अब हम बाहर पहके के जैसा ही व्यवहार करेंगे. फिर वो मेरे मम्मों के पास लंड लाते हुए बोले- अब इसे चूस लो जान!मैं नाटक करते हुए बोली- मुझे अच्छा नहीं लगता.

जिस समय मेरी गांड में किसी का लंड पिला हो, तो लगता है जैसे स्वर्ग में हूं.

उसने थोड़े बड़े गले वाला टी-शर्ट नुमा टॉप पहन रखा था, तो मुझे उसके हिलते हुए बूब्स दिख गए. सेक्सी सेक्सी सेक्सी हॉट हॉटवैसे मेरी शादी कभी भी हो, तुम्हें जरूर बुलाऊँगी, तुम आओगे ना?मैंने कहा- तुम बुलाओ और मैं ना आऊं ऐसा सोचना भी नहीं, बुलाने के लिए धन्यवाद।अब खुशी और मैं एक दूसरे को समझने लगे थे. सुहागरात वाली सेक्सी वीडियो भेजोमैंने पूछा- अब तक कितनी लड़कियों के साथ सेक्स कर चुका है?तो उसने कहा- मैंने अपनी दोनों भाभियों को बहुत चोदा है मगर किसी जवान लड़की को चोदने का मौका पहली बार मिल रहा है. वह शायद कुछ तैयार सा ही था … कुछ नखरे तो करता रहा, पर प्रकाश भाई ने जब धीरे से लंड पर थूक मला, तो नसीम लंड देखता रहा.

मेरी इन हरकतों का परिणाम ये हुआ कि कुछ दिन के अंदर ही मेरी मस्त जवानी के आसपास कई भंवरे घूमने लगे.

रॉबर्ट मेरी चुत को जोर-जोर से चाट रहा था और मैं उसे भड़काने के लिए जोर-जोर से चिल्ला रही थी ‘आह आह आह्ह रॉबर्ट सर आह आह्ह आह्ह उम्म. साली जी एकदम फ्रेश लग रहीं थीं और खूब अच्छी तरह से टिपटॉप होकर आईं थीं. चूंकि हमारे यहां ऑटो मीटर पर नहीं चलता है, उसका किराया रूट के हिसाब से तय होता है.

जवाब में मैं भी ऊपर नीचे होकर उसकी चूत में धक्के देने लगा ।मेरे हाथ उसके स्तनों तक पहुंच रहे थे जो कि उसके स्तनों को जोर से मसल रहे थे. मैंने उसकी झांटें सुलगाने के लिए उसी के सामने पूजा को चूमते हुए कहा कि ओके तुम कुछ नया देखो. मेरी पेलमपेल चुताई की कहानी से भाभी की चूत और गीली हो गई और मेरी कहानी से बाहर आकर भाभी बोलने लगीं- हायई … प्रकाश मेरी चूत पानी छोड़ रही है … प्लीज़ चलो बिस्तर में अब खड़े खड़े ही चोदोगे क्या?फिर भाभी ने मुझे धक्का देकर मेरे लंड को पकड़कर मुझे बिस्तर में ले गईं.

राजस्थानी सेक्सी पिक्चर मूवी

पर पता नहीं क्यों मैं उसे मना नहीं कर पाई क्योंकि मुझे उस दर्द में ही मजा आ रहा था।उसकी उंगलियां हरकत कर रही थी. एक स्त्री हमेशा ये सोचती है कि उसकी इज्जत पुरूष की नजर में तब तक है, जब तक कि पुरुष ने कामरस नहीं त्यागा हो. फिर उसने लन्ड की खाल पीछे कर लन्ड छिद्र पर जीभ लगा कर, फिर जीभ अंदर घुसाने की कोशिश करने लगी.

पर उसने मुँह से लंड नहीं निकाला … बराबरी से उसने मेरा लंड चूस चूस कर फौलाद सा कर दिया.

क्यों?”मम्मी बोलती है तोते दीदी की शादी में पहन लेना अभी खलाब हो जायेगी.

टॉप के अन्दर कोई डिजाइनर ब्रा पहनी हुई थी जिससे उसके बूब्स का आकर प्रकार बेहद लुभावना और चित्ताकर्षक लग रहा था. जेठ जी मस्ती में आकर मेरी हवा में उठी हुई मेरी टांगों के तलुवे चाटने लगे. चंदन का सेक्सी वीडियोमैंने उससे कहा- जो होना था वह हो चुका है, अब सारी जिंदगी इसमें मजा ही मजा आएगा.

बहुत टेस्टी है आपका माल तो अंकल।रमेश- हम्म … लौड़े को माल भी तो खिलाता हूं मैं. ऐसे भी एक और बात है जो मैंने तुमको नहीं बताई है, और ना ही कभी बताऊंगी।उसकी इस बात को मैंने सामान्य ढंग से ही लिया. ज़रा मुस्करा दो।वो मुंह बना कर बोली- तुम भी न, हमेशा अपनी बात मनवा ही लेते हो। ठीक है जाओ, और हाँ रात में ही आने की कोशिश करना।रमेश- बॉय!रति- बॉय! जल्दी आने की कोशिश करना।अब रमेश भी घर से निकल गया.

मैं राज से पूछ रहा था कि रात को नशा सही से हुआ या नहीं?मैं समझ गया कि नीरा ने कुछ नहीं बताया. मैंने कहा- नहीं, मैं गांड नहीं मरवाता हूँ।वो बोले- तो मेरा अपने हाथ से ही हिलाकर निकाल दो.

इतने में उसने मेरे अंडरवियर में हाथ डाल कर लंड अपनी मुट्ठी में भर लिया.

थॉमस ने उसके बाद एक राउंड और मेरी गांड मारी और हम पूरी तरह थक चुके थे. मैं- मेरी जान, आज होंठों को कितना रसभरा करके आयी हो, जो इतने रसीले हो रहे हैं. फिर सपना को किचन में गैस स्टैंड पर बिठा कर उसके पैर फैला दिए और चूत को चूसने लगा.

इंग्लिश पिक्चर सेक्सी वीडियो पिक्चर थोड़ी देर बाद थॉमस ने कहा कि अब तुम मुझे यह वाली बिकनी पहन कर दिखाओ. इस बार जुनैद ने भी लंड को चुत की फांकों में सैट किया और मेरे ऊपर छा गया.

मैंने कहा- तुमसे और नाराज? ये तो कभी सपने में भी नहीं हो सकता।खुशी ने कहा- वोहह सो स्वीट. मुझे इस सीन से बड़ा मजा आ रहा था कि मैं अपने पति के सामने एक हब्शी का मूसल लंड चूस रही थी. मैंने मौके की नजाकत को समझते हुए एक बार फिर से उसके बदन को चूम लिया और अपने दोनों हाथ उसकी कमर में डालते हुए उसकी नाभि के आस पास सहलाने लगा.

छत्तीसगढ़ी सेक्सी छत्तीसगढ़ी सेक्सी

‘आह्ह्ह्ह उम्म्म’ हमारी सिसकारियां एक दूसरे के मुँह के अन्दर दफ़न होने लगी. तो मैं अपनी चिकनी नंगी चूत लेकर खड़ी हो गयी उसके सामने।आपकी सुहानी चौधरी[emailprotected]कॉलेज गर्ल की नंगी चूत की कहानी का अगला भाग:कभी कभी जीतने के लिए चुदना भी पड़ता है-3. बिन्दू मुझसे कहने लगी- मैं आपके इस बड़े हथियार से डरी हुई थी लेकिन आपने बहुत प्यार से किया.

साली जी अब गर्म होकर अपनी ऐड़ियां बेड पर रगड़ने लगीं थीं और मेरी पीठ पर भी ऐड़ियां रख कर दबाने लगीं थीं. उसकी ब्रा और पैंटी को अंदर रखते हुए रमेश बोला- क्या तुम जानती हो कि ये सारी यूज़ की हुई ब्रा- पैंटी हैं? बिना धुली हुई.

कई बार गांड में अपनी मोटी उंगली घुसेड़ कर उंगली को आगे पीछे करने लगते.

इन दोनों के आने से घर में रौनक और चहल पहल बढ़ गई और शर्मिष्ठा भी खूब खुश रहने लगी. मैंने उसके बाल पकड़े, सर को कंधे से हटाया और घुटनों पर बैठ कर अपनी जीभ निकाली और नुकीली करके उसकी नाभि में लगा दी. कुछ ही मिनट बाद आंटी गांड हिलाते हुए बोलीं- राज मैं तेरा लंड पी जाऊंगी.

कुछ देर बाद उसका दूसरा दोस्त भी आ गया और वो मेरी दूसरी साइड बैठ गया. मैं और वो साथ में लेट जाते थे लेकिन अभी तक कभी चुदाई जैसा कुछ नहीं हुआ था. तुम्हारी फूली जींस को देख कर उस दिन मेरी चूत पानी छोड़ने लगी थी प्रकाश.

फिर एक दिन गर्म दोपहर में वो मेरे दुकान पर आई और धीरे से मुझसे बोली- मैं आपके साथ तैयार हूं.

गुजरात के बीएफ वीडियो: कमेंट्स के द्वारा अथवा नीचे दी गई ईमेल पर मैसेज करके आप अपनी राय भेज सकते हैं[emailprotected]. खाने के बाद मैंने अम्मी की तरफ वासना से देखा तो अम्मी बोलीं- बस दस मिनट और रुक जा, तू पहले कपड़े तो बदल ले.

कभी मैं उसके आंड को मुँह में लेती तो कभी लंड के ऊपरी हिस्से पर जीभ घुमाती. हॉस्टल में मेरे साथ मेरी एक बहुत पक्की सहेली रहती थी जिसका नाम सनम जहाँ था. वो बोली- नहीं, अगर तुम दोनों फिर से स्टार्ट हो गये तो? अब तो मैं चाय पीकर ही जाऊंगी.

मैं लेटी रही, मेरे जिस्म में बहुत कम जान लग रही थी लेकिन अर्जुन का लंड मेरे दिमाग से नहीं उतर रहा था.

मैंने नेहा की दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखा और तेजी से उसकी चूत में पिस्टन की तरह से लंड चलाने लगा. मैंने एक दिन हिम्मत करके कह दिया- शाजिया अब इंतज़ार नहीं होता, बस मुझे तुम्हारी चूत लेनी है. ” कहते हुए मैंने उसके गालों को चूमना शुरू कर दिया।प्रेम! एक बात बोलूँ?”हाँ जान?”तुम्हारा नाम प्रेम नहीं या तो कामदेव होना चाहिए या फिर प्रेमगुरु!”कैसे?” मैंने हंसते हुए पूछा।किसी स्त्री को कैसे अपने वश में किया जाता है तुम बहुत अच्छे से जानते हो?”अरे नहीं … ऐसा कुछ नहीं है?”अब देखो ना तुमने अपने शब्द जाल में मुझे फंसाकर मुझे इस काम के लिए भी आखिर मना ही लिया.