बीएफ एचडी मे

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स वीडियो हिंदी देसी

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्स पिसातुरे: बीएफ एचडी मे, मेरी पिछली सेक्स कहानीनई मकान मालकिन की भूखी चूत चोदने मिलीमें मैंने आपको बताया था कि किस तरह मैंने अपनी मकान मालकिन ललिता भाभी को रात को अपने कमरे में हचक कर चोदा था.

सेक्स सीडीएक्स

कुछ ही मिनट में उसकी आंखों में तृप्ति के भाव आने लगे थे और बदन ऐंठने लगा था. ছেলেদের এক্স এক্স ভিডিওकरीब दस मिनट बाद रूपा शांत हो गई और मेरा लंड बड़े प्यार से उसकी गांड में आने जाने लगा.

मैंने कहा- मैं तुझे उसे हाथ भी नहीं लगाने दूंगा, फिर तुझे जो करना है … कर ले. मोटी चूची वालीइतने में मौसी ने मेरा लंड पकड़कर मेरी मॉम के सामने मुझे खड़ा कर दिया और बोलीं- एक बार चूसकर देख बहना, तेरे लड़के का लंड कितना रसीला है.

लेकिन तकिये में मुँह दिए हुए ही अञ्जलि ने आगे बढ़ कर लंड निकलने की नाकाम कोशिश की.बीएफ एचडी मे: इधर मैं नोटिस कर रही थी कि वो किसी न किसी बहाने मुझे देखते रहते थे.

अञ्जलि ने मुझे गर्दन में हाथ डाल कर अपनी और खींचा और मेरे होंठों को अपने होंठों में दबोच कर जोश में मेरे होंठ चूसने लगी.उसके बाद जब भी टाइम मिलता, भाभी चुदवाने के लिए मुझे अपने घर बुला लेती या मेरे घर आ जाती.

सेक्सी पिक्चर पूरी नंगी - बीएफ एचडी मे

मैंने जल्दी से नहा कर टॉवल लपेटा और फ्रिज में से एक बियर की बोटल निकाली और खिड़की के पास बियर की बोटल लेकर कुर्सी पर बैठ गया.फिर वो वहीं खिड़की के पास ही कुर्सी लगा कर बैठ गयी और उसने अपना मोबाइल खिड़की पर रख दिया, जिससे कि मुझे लगे कि वह मोबाइल में देख रही है.

बॉस बेहद ही तेजी के साथ मेघना को चोद रहा था और मेघना बहुत बुरी तरह से चिल्ला रही थी. बीएफ एचडी मे भाभी ‘आहह आहह …’ करके तेजी से अपनी गांड आगे पीछे करके साथ देने लगी.

नमस्कार दोस्तो, हिन्दी सेक्स कहानी पर सभी लंडधारियों और चूत वालियों का मैं आपका राज शर्मा स्वागत करता हूं.

बीएफ एचडी मे?

उन्होंने मुझे घुटनों के बल बिठाया और अन्दर गले तक अपना लंड ठूंस दिया. मैंने अपने नौकर को बुलाया और रूपा को खाना खिलाने के लिए बोला और अन्दर चला गया. उधर गीता हमें देखकर नीचे उतरकर बोली- नीता, क्या तुम अकेली ही रस पियोगी? मुझे भी तो इस अमृत का थोड़ा स्वाद ले लेने दो.

मौसी बोलीं- तनु, क्या हुआ?मैंने कहा- आपको दर्द हो रहा था तो निकाल लिया. थोड़ी देर बाद हमने अपनी पोजीशन बदली और भाभी की बड़ी बहन ने अपनी चूत को मेरे मुँह पर रख दिया. घर में सबसे ज्यादा पढ़ा लिखा होने की वजह से घर की पूरी जिम्मेदारी मुझ पर आ गयी.

वह बस मेरे लंड को देखे जा रही थी और मैं अपने लंड को धीरे धीरे सहला रहा था. ये सुनकर पता नहीं मुझे अचानक से क्या हुआ कि मैंने एकदम से भाभी को गले से लगा लिया और उनको किस करने लगा. सेक्स इन बस का मजा लिया मैंने स्लीपर बस में! मेरे केबिन में मेरे साथ एक लड़की थी.

उसने अपने एक दूध के निप्पल को हाथ से पकड़ा और मेरे लंड के ऊपर धार मारने लगी. दोस्तो,मेरी पिछली कहानीपड़ोसन भाभी के बाद उसकी कुंवारी ननदआपने पढ़ी और पसंद की, धन्यवाद.

उसने अपनी टांगें खोल कर उसने मेरे लिए अपनी जांघों के बीच में जगह बना दी और मेरा लौड़ा अपनी फुद्दी पर लगा लिया.

मैं रास्ते में खड़ा हो गया और भाभी को सुनाते हुए फोन पर झूठ मूठ की बात करने लगा.

मेरा फार्मूला यह था कि जब भी मैं भाभी की तरफ को जाता था तो मैं भाभी की तरफ को जरूर देखता था. मुझसे भी रहा नहीं गया तो मैं उसके लंड को ऊपर नीचे करने लगी और उसे बहलाने के लिए कहने लगी- अभी इसी से काम चला लो बच्चा. पर मैंने सोच लिया था कि इसकी मुलायम और बड़ी सी गांड को आज मैं मार कर रहूँगा.

आंटी की आंखों में आंसू निकल रहे थे और वो ऊईई ऊईई आह आहहह करके चिल्ला रही थीं. अब मॉम लंड को चूसने लगीं और मेरे हाथ अपनी चूचियों पर रखकर बोलने लगीं- तनु, आज की रात तू जो चाहे कर ले, मैं तुझे रोकूंगी नहीं. अब आ जाओ और मुझे चोद दो!मैं अभी भाभी को और गर्म करना चाहता था इसलिए मैं उनकी चूत में उंगली और जुबान दोनों डालने लगा था.

मैं- सही कहा तूने साबिरा, आज तू भी दिखा दे इस हिजड़े को कि कैसे एक औरत अपने मर्द से चुदवाती है.

उसका बदन भरा हुआ था और जब वह नंगी हो जाती थी तो उसे देखते ही लंड खड़ा हो जाता था. मैंने मन ही मन सोचा कि मां बेटी दोनों जबरदस्त माल हैं, अगर चोदने का मौका मिल जाए तो जन्नत की सैर हो जाए. मैंने कहा- अरे बताओ तो!वो बोली- कुछ नहीं, वो स्टेशन पर कुत्ता कुतिया की याद आ गई.

अब रूपा ने मुझे अपना पर्सनल नंबर दे दिया, जिससे मैं कभी भी उसे अपने पास बुला सकता था. मैं उनको बड़ी मुश्किल से ऊपर लेकर गया और उनके रूम में जाकर उन्हें बेड पर लिटाने लगा. यही सब सोचते हुए और धड़कते दिल के साथ मैंने दरवाजा खोल कर देखा कि कोई है तो नहीं बाहर.

देर से दाखिला लेने की वजह से वो पाठ्यक्रम में मुझसे थोड़ा पीछे थी, इस हिसाब से मैं उसका सीनियर हुआ.

मैं वहां अकेला बोर हो जाता था और सोचता रहता कि कैसी जगह घर लिया है, जहां कुछ नहीं है. मेरे भाई को अपनी गांड चटवाने में भी बहुत मजा आता है, तो मैं बीच बीच में उसकी गांड भी चाट रही थी.

बीएफ एचडी मे धारा के नितम्बों के दबाव को झेल पाना शेखर के लिए गवारा नहीं हो रहा था, उसका लंड दर्द झेल रहा था. मेघना बहुत ही गर्म औरत है जो बिस्तर पर इतनी ज्यादा उत्तेजित हो जाती है कि अपने आपको कंट्रोल नहीं कर पाती और मुझे नौचने लगती है.

बीएफ एचडी मे मैंने एक हाथ से देविका की साड़ी कमर तक उठा दी और उसकी गद्देदार जांघें सहलाने लगा. मैं यही सब सोच रहा था कि वो अचानक फिसल कर मेरे ऊपर गिर गईं और मेरा लंड उनके गांड की दरार में सैट हो गया, जो पहले ही उनके बिना ब्रा की चूचियों के छूने से और उनके पसीने से भीग चुके सेक्सी गोरे रंग को देख कर और सूंघकर जोश में आ गया था.

मैं तो चाहता हूं कि मेरी बहन ज़्यादा से ज़्यादा लड़कों का लंड चूसे और अपनी चूत और गांड नए नए लौड़ों से चुदवाए.

हरियाणवी की चुदाई

कान में हेडफोन लगे होने की वजह से मुझे पता नहीं चला कि मॉम मेरे रूम में कब आ गईं. शर्ट काफी खुल गई थी जिससे मेरे काफी गहरी क्लीवेज साफ़ दिख रही थी और ब्रा न पहने होने की वजह से मेरे निप्पल्स एकदम खड़े और साफ दिख रहे थे. आज किरण बहुत ही ज्यादा हॉट और सेक्सी लग रही थी, मैं तो उसे देखता ही रह गया.

हाथ से बेल्ट को छोड़ कर मैंने उसका मुँह उसी हाथ से दबा दिया ताकि उसकी चीखें होटल के कमरे से बाहर ना जा पाएं. कुछ ही देर में हम दोनों ने अपने अपने लौड़े का माल मॉम के दोनों छेदों में झाड़ दिया. मेरी लुल्ली में तनाव आने लगा और वो किसी पतली सी लकड़ी सी सख्त हो गई.

वो बोला- ओह मनीष यार, बहुत मन था तुमसे मिलने का, मुझे तुम्हें बाहों में लेकर मज़ा आ रहा है.

मेरी मॉम मुझसे बोली- अब से तू मुझे मॉम समझ कर नहीं, बीवी बनाकर चोदेगा. मैंने उसे पिलाया तो उसने एक सांस में ही पी तो लिया, मगर व्हिस्की की कड़वाहट उसे कुछ तेज सी लगी. फच्ह्ह … फच्ह्ह्ह … फ़च … धारा की गीली चूत का संगीत शेखर के लंड से मिलकर एक मादक धुन बजाने लगा.

ओल्ड मैन सेक्स का मजा यंग लड़की ने लिए अपने घर बुड्ढे को बुलाकर! लड़की लंड के लिए मचल रही थी तो उसकी सहेली ने अपनी पहचान के अंकल को भेजा उसके घर!यह कहानी सुनें. साबिरा के दोनों चूचे मुट्ठी में भरते हुए मंे उनको आटे की तरह गूंथने लगा. दोनों ने अपने अपने बारे में बताया और एक दूसरे को समझा जिससे हमारे बीच दोस्ती और भी गहरी हो गई.

पर ये साली रांड मेरे लौड़े को ऐसे चूस रही थी मानो आज पूरा लौड़ा काट कर खा जाएगी. फिर उसने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और चुदाई की पोजीशन बना कर अपना लंड मेरी चूत पर रख कर रगड़ने लगी.

रात में 10 बजे मैं फिर से उनकी चुदाई देख रहा था और मेघना बॉस के ऊपर चढ़ी हुई लंड अपने अन्दर ले रही थी. मेरे बॉस का एक हाथ मेघना की बड़ी सी गांड के ऊपर चल रहा था और दूसरे हाथ से उसके चेहरे को पकड़ कर उसके होंठों को मलाई की तरह चूस रहा था. मेरी बात पर वो बोले- मेरा तो उससे भी ज्यादा प्यार करने का मन करता है.

जब उसने अपनी साड़ी और पेटीकोट को उठाकर और पैंटी को नीचे कर मूतना शुरू किया तो उसके चूत से मूतने के टाइम बजती हुई सी की मधुर ध्वनि ने मुझे पागल सा बना दिया.

रेशमा- कुछ मत करो वीरू जी, बस कुछ देर ऐसे ही रूक जाओ, बहुत दर्द हो रहा है. उसकी चूत को मैं पिछले दो दिन से लगातार चोद रहा था पर साली आज भी ऐसे चिल्ला रही थी, जैसे पहली बार चुद रही हो. होटल में आकर मैंने उसके कमरे का दरवाजा खटखटाया तो अजय ने दरवाजा खोला और सीधा मुझे अन्दर खींच लिया.

मैंने कहा- डैड को भी भेज दूँ क्या?वो रोने लगीं और बोलीं- नहीं, प्लीज़ ऐसा मत करना. लंड बार बार फिसल सा रहा था, तो मैंने ललिता भाभी को वापस बिस्तर पर लिटा दिया और लंड मुँह में डालकर चोदने लगा.

हर हफ्ते में 4 प्रेक्टिकल होते थे, उनमें से 2 फिजिक्स के ही होते थे. फिर मैंने कूल्हों और हिप्स पर पैड लगाकर पैंटी पहनी, जिससे मैं एकदम किम किर्दिशियान जैसी फिगर वाली माल लौंडिया लगने लगी थी. भाभी- एक बार मिलना चाहते हो या चोदना चाहते हो?मैं भाभी की इतनी बेबाक बात से एकदम डर सा गया कि भाभी तो एकदम लाइन पर आ गई.

बीपी सेक्स वीडियो मारवाड़ी

उसके बाद वो हमेशा मेरे पास ही रहती, मेरे सारे कॉल में अटेंड कर लेती.

चूंकि मेरे बोर्ड में इन्वर्टर का कनेक्शन नहीं था, केवल लाइट और पंखा में था तो मुझे भी सहूलियत होने लगी थी. साबिरा अपनी हंसी को रोक कर बोली- हाय ये क्या है भाईजान? तू मानस जी का लंड देख, मूसल है … और तेरी तो पूरी खड़ी होने के बावजूद इतनी सी है?मैंने शिराज के बाल पकड़ कर उसके मुँह पर थूक दिया और कहा- हां मेरी रांड, अब तो तेरा भाई उम्र भर गांडू ही रहेगा, इस मादरचोद का निकाह मत करवाना. कुछ समय बाद उनके घर में कुछ आर्थिक दिक्कत होना शुरू हो गई थी जिस वजह से भाभी अपना मकान बेच कर अपने गांव चली गयी.

आंटी की गांड पहले से काफी खुल चुकी थी और अब लंड जल्दी जल्दी अन्दर बाहर अन्दर बाहर हो रहा था. मैं बिस्तर पर लेटा हुआ उसके आने का इंतजार कर रहा था और आहिस्ते आहिस्ते अपने लंड को सहला रहा था. डॉक्टर की चुदाईमैंने नीता से कहा- क्या करें मौसम ही ऐसा बन गया था कि हम दोनों भी मजबूर हो गए थे.

मैंने कितनी बार अपनी गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स किया … और मेरी बहन ने अपने बॉयफ्रेंड के साथ कब कब सेक्स किया, ये बात हम दोनों एक दूसरे से साझा कर लेते थे. कुछ समय बाद वो सामान्य हो गई और अब मैंने उसकी न्यू गांड की चुदाई शुरू कर दी.

फिर मेकअप भी उतार दिया और बालों की विग और नकली नाखून और नेलपॉलिश भी उतार दी. ललिता भाभी अपने पति से अलग होने के इतने साल बाद पहली बार पूरी खुलकर चुदवा रही थीं. मेन गे सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मुझे पुरुषों के प्रति आकर्षण महसूस होने लगा था.

फिर मैंने भाई से पूछा- आप मेरे साथ चुदाई करना क्यों चाहते थे?तो वो मेरे गाल पर हाथ फेर कर बोले- तुम बहुत सेक्सी हो. उसकी कड़क बात सुन कर मैं भी थोड़ा डर गया और उससे बोला- गुस्सा मत करो किरण, मैं तो ‌ऐसे ही पूछ रहा था. वीडियो में लड़का अपनी मॉम को चोद रहा था और उसकी मॉम ‘फक मी सन फक मी …’ चिल्ला चिल्ला कर चुदवा रही थी.

मैं भी चुदासी हो उठी थी और मुझे लंड की सख्त जरूरत होने लगी थी इसलिए मैंने भी संजीव भैया को उकसाते हुए उनका साथ देना शुरू कर दिया था.

मैं बोली- यहां कहां जाकर अपने कपड़े बदलूँ?भैया ने बताया- तुम सुजय सर के केबिन में जाकर बदल लो. दस मिनट के बाद मेरे भाई ने मुझे अपनी पत्नी समझ कर जोर से पकड़ लिया और मेरे दूध दबाने लगे.

मैं उस पर चिल्लाने लगी- साले, फ्री का माल समझ रखा है क्या … निकालो बाहर ओह्ह मम्मी मर गयी निकाल कमीने … मेरी गांड फट गई. फिर मैंने मुँह हटाया तो चाची मस्ती से ‘आह आह उंम्ह उंम्ह …’ करने लगीं. मनीष ज्यादा देर तक मुझे झेल नहीं पाया और उसने जबरदस्ती मेरे मुँह से लंड निकाल कर मुझे किचन की स्लैब पर झुका दिया.

रेशमा दबी हुई आवाज में कराही- वीरू प्लीज … उंगली निकाल दे कुत्ते, मेरी चूत क्या फाड़ देगा मादरचोद साले? आंह मेरे कमीने मालिक … मुझे बहुत दर्द हो रहा है. कैसे हो, क्या कर रहे हो?मैं- कुछ नहीं आज रविवार था तो सोचा कि आपसे घर के बारे में पूछ लूं. अब इसके आगे की गर्लफ्रेंड फ्रेंड सेक्स कहानी आपके मनोरंजन के लिए पेश कर रहा हूँ.

बीएफ एचडी मे आज तो मैं खूब जोर जोर से चिल्ला रही थी क्योंकि आज मुझे सही मायनों में मर्द का लंड मिला था. हम दोनों ने जल्दी जल्दी अपना अपना खाना खत्म किया और लगभग 8 बजे ही मैं सोने के लिए कमरे में चला आया.

દેશી સેક્સી પિક્ચર

वो पूरी तरह तड़प रही थी और बोल रही थी- प्रेम जल्दी से अपना अंदर डाल दो, अब नहीं रहा जा रहा!मैंने उसको बेड पे अड्जस्ट किया और धीरे धीरे अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा. उसके दोस्त का घर उसके अपने फ्लैट से बेहतर था, साफ सुथरा, और हर चीज मानो अपनी सही जगह पर थी. उसके लिए उसे एक अच्छे खासे मोटे लंड की जरूरत है, जो कि मेरे पास नहीं है.

करीब दस मिनट बाद रूपा शांत हो गई और मेरा लंड बड़े प्यार से उसकी गांड में आने जाने लगा. मैंने पूछा- बोलो जान क्या सोचा!मॉम बोलीं- लेकिन ये सब एक बार होगा … और वीडियो डिलीट करनी पड़ेगी. देसी आंटी सेक्समगर वाह री मेरी चुदक्कड़ रांड रेशमा, वो मेरे लंड पर अपनी गांड निहाल कर बैठी थी और दर्द होने के बावजूद वो मेरे साथ गुदा मैथुन में लगी हुई थी.

मैंने उनकी गांड और अपने लौड़े पर थूक लगाया और गांड में लंड घुसा कर चोदने लगा.

फिर धीरे धीरे अपनी जीभ दूधघाटी के बीच से होते हुए नाभि पे अपनी जीभ डाल कर चूसा. दिल्ली की हॉट मॉडल अनुश्री की प्रोफाइल औरहॉट नंगी फोटोदेखने के लिए यहां क्लिक करें।https://www.

जैसे ही मेरी जीभ उसकी गांड में लगी, वो सिहर उठी और मेरी तरफ देख कर एक स्माइल दे दी. उसकी चूचियां मेरे सीने से मसली जा रही थीं, उसके होंठ मेरे होंठों का रस पी रहे थे. मैंने अपने पुराने वाले कपड़े पहने और ध्यान से देखा कि कहीं कोई सबूत न बचा हो कि मैंने कल यहां पर क्या किया.

जब नीता स्वस्थ हो गयी तो वो अपने हाथों से मेरी गांड को मसलने लगी थी और साथ में मेरी गांड के छेद में अपनी उंगलियां फिराने लगी.

वो बोलीं- अरे मेरे सनम … दर्द की क्या बात करते ही … आज तो बहुत ही ज्यादा मजा आया. मैंने उस दिन एक ट्रांसपेरेंट साड़ी पहनी और ब्लाउज एकदम टाइट वाला पहना था. अब मैंने उससे पूछा- तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है?बहन ने बताया- नहीं, मेरा कोई नहीं है ….

स्लीपिंग एक्स एक्स एक्समैं अपनी उम्र से तो लड़की हूँ लेकिन शरीर से पूरी पकी हुई माल औरत दिखती हूँ. वो मेरा साथ तो दे रही थीं पर जैसे किसी छोटे बच्चे को किस करते हैं, वैसे कर रही थीं.

भाभी की चुदाई सेक्स वीडियो

क्या मस्त स्वाद है तुम्हारे अमृत का … मैं जिंदगी भर नहीं भूल पाऊंगी हर्षद … जी भर गया मेरा. मैं बोला- साली कुतिया … लगता है बहुत दिनों से तेरी नदी का नक्का नहीं खुला. मैं भी अब जल्दी से निपटना चाहती थी तो अपने होंठों को कस लिया और उसके सुपारे को चूसने लगी.

मॉम ने उसकी गांड चाटनी शुरू कर दी जिससे दीपाली की गांड गीली हो जाए और उसमें मेरा लंड आराम से जा सके. उसने उस रात मेरे साथ बातें करते करते हुए ही मेरे दरवाजे पर नॉक किया. हम दोनों बिस्तर पर लेट गए और चिपक कर आहह आहह करके अपनी सांसों के सामान्य होने का इंतजार करने लगे.

मैं जाकर उनके बेड पर बैठ गया और लैपटॉप में फोल्डर दिखाने लगा- ऐसे खोल लेना. गर्मी की छुट्टी चल रही थी तो कल्लू के मामा के बच्चे सौरभ और सुचित्रा आए हुए थे. मॉम भी मजे से अपनी गांड चुत में एक साथ बाप बेटे का लौड़ा लेने लगीं और मादक आवाजें निकालने लगीं.

सुमैत्री आहें भरने लगी और बोली- प्लीज़ थोड़ा रुक जाओ … लंड को अन्दर ही रहने दो, झटके मत मारो. उन लड़कियों को, जिन्होंने सेक्स किया है, पता है कि ऐसे लंड चूत में घुसकर कितना मज़ा देते हैं.

कोई मेरी मटकती गांड देख कर खुद के लंड को मसलता तो कोई मेरे बड़े, मोटे और टाइट बूब्स को … और चेहरे पर तो सब फिदा थे.

अब ये चूत तो थी नहीं कि लंड के झटकों के साथ अपना पानी निकल कर चिकनाई बढ़ा दे. मारवाड़ी सेक्सी ब्लूमैं भी अपनी मस्ती में लंड को सहलाने लगा और ऐसे दिखाने लगा, जैसे कि मैं उसे नहीं देख पा रहा हूं. देहाती सेक्सी बफजल्दी घर जाने से ये था कि उस समय सभी रहते हैं तो सोचा थोड़ा घूम लिया जाए, थोड़ा लेट चलेंगे. कभी मैं यशवंत भैया से चुद जाती तो कभी हीरा बाबू मुझे चोद देता, तो कभी दोनों मिलकर मुझे चोदा करते थे.

दोनों को ही बातों में मजा आने लगा तो गेम को छोड़कर हम दोनों मैसेज में और माइक से बात करने लगे.

उसके मुँह से जैसे ही मैंने सुना कि वो अभी दुधारू माल है … मेरा लंड टनटन करने लगा. फिर प्यार से जोलंड की पिचकारीछुटती है जो मेरे गले को तर बतर करती है, उसका मजा आप क्या समझोगे. उनने लगभग 10 से 15 मिनट तक मेरे लन्ड को लॉलीपॉप की तरह चूस कर एकदम टमाटर की तरह लाल कर दिया.

जाने से पहले मम्मी ने मेरे खाने आदि का पूछा तो मैंने कहा कि मैं बाजार में खा लूंगा. लेकिन मैं चिल्ला भी नहीं सकती थी क्योंकि मैं अपनी भाई से चुद रही थी. मेरा पूरा लौड़ा गांड में लिए हुई वो वैसे ही बिस्तर पर कुछ देर लेटी रही.

ભાભી ની ચૂદાઈ

अगले ही पल मैंने भाभी का पेटीकोट खींचा और चड्डी उतार कर उसको बिल्कुल नंगी कर दिया. अब वो हंस दिया और फिर से एक बार मेरे कंधे से हाथ लेकर सीधे मेरी टी-शर्ट के अन्दर कर दिया. हम दोनों की इच्छा अब दुबारा से वो सब करने की हो रही थी जो कुछ देर पहले इत्तेफाक से हुई थी.

हम दोनों एक-दूसरे के होंठों को चूसने लगे और ललिता भाभी मेरा लंड सहलाने लगी.

मेरा नाम निखिल है और मैं कॉलेज से स्नातक यानि ग्रेजुएशन कर रहा हूँ.

जब भी मुझे लंड की खुजली मिटानी होती थी, तब मैं अपनी फैक्ट्री की ही एक महिला श्रमिक सोनम को चोदने चला जाता था. मैं झट से उसके ऊपर चढ़ गया और लंड सैट करके एक ही झटके में पूरी ताक़त से अपना लंड उसकी फुद्दी में उतार दिया. एक्स एक्स डब्ल्यू वीडियोभाभी थी ही ऐसी कि लंड से लार टपक जाए।अब मैं भाभी से मौका मिलते ही हंसी मजाक करने लगा.

ये हॉट सेक्सी भाभी की चुदाई कहानी है व मेरे सच्चे अनुभव पर आधारित सेक्स कहानी है. अकेले बैठने की बात सुनकर मेरे तो मन में लड्डू फूट रहे थे कि अब तो शनिवार को हो सकता है कि इस ऑफिस फ्रेंड सेक्स का मौक़ा ही मिल जाए. मैं प्रेम नील लंबे अरसे बाद एक बार फिर आपके समक्ष प्रस्तुत हूँ अपनी नयी कहानी के साथ!अन्तर्वासना के पाठकों को के लिए परिचय:मेरा नाम प्रेम नील है, और मैं नागपुर का रहने वाला हूँ.

कुछ देर बाद मैंने उसे उठाया क्योंकि मेरे बच्चों के आने का टाइम हो गया था. न्यू कॉल गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने सैंकड़ों कॉल गर्ल को चोदा है पर कुंवारी बुर कोई नहीं मिली.

देविका इस धक्के को सह ना सकी और जोर से चिल्लाने को हुई तभी मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

अब आगे Xxx मास्टर सेक्स कहानी:अब तक मैं भी अपनी उखड़ती सांसों में डूब गई थी और कामुक आवाज़ों के साथ कराहने लगी. कुछ देर बाद आसिफ ने झटके तेज़ कर दिए और मेरी चूत की जेब में ही झड़ गया. कैंची उठाने जब मैं नीचे झुकी और अचानक से मेरी निगाह सामने गयी जहां सर बैठे थे.

ट्रिपल एक्स व्हिडीओ दिखाओ लेकिन कुछ अलग भाषा आनी चाहिए इसलिए मैंने इस क्लास को ज्वाइन किया था. ‘आज तुम्हारे मन में ये क्या हुआ?’मैंने कहा- आप जैसी परी पास में लेटी हो तो कोई भी मानव, दानव बन सकता है भाभी.

गीता की बातें सुनकर मैंने कहा- हां गीता, तो हम क्यों अपना समय बर्बाद कर रहे हैं. ये बात 2 साल पुरानी उस समय की है, जब मैं कानपुर में नया-नया आया था. लखनऊ के होटल में पति के सामने मैंने उसकी पत्नी और साली को एक साथ चोद कर इस मुलाकात को हसीन बना दिया था.

मारवाड़ी ओपन चुदाई

जैसे ही उनका सुपारा अन्दर गया उन्होंने एक बार में ही पूरा लंड अन्दर पेल दिया. घर में भाभी की मां ही थी, इस समय बाकी सब शादी की तैयारियों में जुटे हुए थे।खाना खा पीकर सोने की तैयारी शुरू हुई. अब देख क्या रहा है, जल्दी से इस लंड को अपनी बहन की प्यारी चूत में डाल दे.

उसके बाद तो लगातार चार दिन तक हम दोनों के ऊपर बस चुदाई का भूत सवार था. वो जिस जगह पर फ्लैट लेकर रहता था, वहीं उसके बाजू में कुछ लड़कियां भी रहती थीं जो कॉलेज में पढ़ाई करती थीं.

इधर शेखर अचानक से चूत से दूर हो जाने की वजह से तड़प उठा, अपनी बेचैनी का अहसास उसने अपनी कमर उठा कर या फिर यूँ कहें कि अपने तने हुए लंड की ठोकर धारा के नितम्बों पर मार-मार कर करवाने लगा.

मैंने देविका को चूमते हुए कहा- क्या देविका … तुम भाग्यशाली नहीं हो? कल पूरी रात हम दोनों नंगे साथ में कामक्रीड़ा कर रहे थे … और अब भी सुबह से साथ में हैं. मैंने कहा- आंटी हिजाब सेक्स करते हैं, आप हिजाब ले लो!आंटी ने मेरी बात मान ली और अपने सर पर, गर्दन पर हिजाब डाल लिया. साथ ही आपका लंड बहुत मोटा है, जिससे मेरी सही से आज सुहागरात मनी है.

मॉम ने उसकी गांड चाटनी शुरू कर दी जिससे दीपाली की गांड गीली हो जाए और उसमें मेरा लंड आराम से जा सके. हालांकि उन्होंने कंधे पर चादर डाल रखी थी लेकिन तब भी उनका लंड साफ उठा हुआ दिख रहा था. आप मेरी Xxx सेक्स फॉर फ्री कहानी पर अपनी प्रतिक्रिया मुझे मेल पर ज़रूर देंगे.

मैंने अपनी जगह बदली और पीछे से भाभी की बड़ी बहन की चूत पर लंड रख दिया.

बीएफ एचडी मे: मुझे उसके धक्के असहय से लगने लगे और मैं सोचने लगी कि ये अब जल्दी से झड़ जाए. उसे बिस्तर पर बिठा कर मैंने पहले उसे कुछ बातें की, उसका दिल बहलाया.

वो बोला- कैसी लगी ब्रेड?मैंने कहा- मजा तो आया पर तुम्हारी गाढ़ी मलाई ब्रेड में लगी होती तो और मजा आता. फिर हम लोग खाना खाने एक होटल में गए जहां मैं और आरती आमने सामने बैठ गए और एक दूसरे को पैरों से छेड़ने लगे. फिर मैंने अपनी बहन को एक दर्द निवारक दवा दी और हम दोनों एक घंटा तक यूं ही पड़े रहे.

अब जब बात शुरू ही हो गयी थी तो मैंने भी पूछ लिया- आप कहाँ जा रही हैं?उसने बताया- बेटी को डॉक्टर के पास दिखाने आयी थी.

मैंने भी देर ना करते हुए अपना लंड बाहर निकाला और उसके मम्मों पर मुठ मारने लगा, अपने लंड का सारा पानी उसके मम्मों और पेट पर निकाल दिया. आज मैं जो चुदाई कहानी लिख रहा हूँ, वो मेरी चाची की चुदाई के बारे में है. उसके मुँह से सेक्सी सेक्सी आवाज निकल रही थी- आह … आह राजा डालो मेरी चूत में … बहुत दिनों से लौड़ा लेने का इंतजार कर रही हूँ … आह अब और मत तड़पाओ.