हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स

छवि स्रोत,चुदाई की लंबी कहानी

तस्वीर का शीर्षक ,

सिंगार दानी छोटी: हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स, मुझे कभी भी कुंवारी लड़कियां पसंद नहीं आईं, क्योंकि वे नखरे बहुत करती हैं.

डॉग गर्ल्स सेक्सी वीडियो

मैं भाबी के मुँह में लंड डालने को हुआ, पर भाबी ने लंड चूसने से मना कर दिया. छोटी बच्ची सेक्सी पिक्चरउसका भारी भरकम शरीर अपनी आंखों के सामने नंगा देख कर मैं उसके चूचों पर टूट पड़ा.

ऐसा करते करते मैंने उसके दोनों दूधों को पकड़ लिया और उनसे खेलने लगा. सेक्सी हिंदी सेक्सी व्हिडिओवो मुझे चोदते चोदते मेरी चूची को भी मसल रहा था और कभी कभी वो मेरी चूत में उंगली भी कर रहा था.

उन्होंने मेरी आवभगत की और बातचीत करते हुए मैंने अपने आने का कारण बताया.हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स: अगर इसको अभी से मैंने वासना के दलदल में धकेल दिया तो इसकी पढ़ाई पर बुरा असर पड़ेगा.

जब उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखा तो मैं थोड़ा सा घबरा गया, मैं उसके लंड पर हाथ रख कर ऐसे ही लेटा रहा.फिर भी मैंने दीवार चाट कर अपने भाई का वीर्य चखना चाहा लेकिन मुझे कुछ स्वाद नहीं मिला.

मारवाड़ी गर्ल्स फोटो - हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स

मेरी यह देसी हिंदी सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, आप मुझे ईमेल करके अवश्य बताएं.उसके बाद उसने मेरी पैंटी में हाथ डाल दिया और मेरी गीली चूत में उंगली करने लगा.

मैंने उससे डरते-डरते ही पूछा- आप तो बहुत ही हॉट और अच्छे दिखते हो तो फिर आपके हस्बेंड आपके लिए इतने बोरिंग कैसे हो सकते हैं. हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स इस कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको भी कुछ अपने बारे में बता देती हूँ.

मैंने शावर लिया और बाहर आकर तौलिया से बदन पोंछ कर एक जोड़ी धुले हुए साफ कपड़े बदन पर डाल लिये.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स?

मेरी रीजनिंग और मैथ्स बहुत अच्छा था, तो धीरे धीरे मैंने क्लास टीचर का और सभी लोगों का दिल जीत लिया. राहुल ने सीमा के चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगाकर सीमा की चूत को अपने और पास किया और लगा अपनी बुलेट ट्रेन को चलाने. मेरे लंड का नाप 6 इंच ही है, पर ये इतना मजबूत है कि किसी भी भाभी और लड़की की चीख निकालने के लिए काफी है.

मैं यहां हूं गुसलखाने में।मुझे अंदाजा हो गया कि भाभी वहां कपड़े धो रही थी। गुसलखाने से फट-फट कपड़े जमीन पर लगने की आवाज आ रही थी. एक काम करो ना, तुम मेरे घर पे आओ न … वहीं साथ में बात करते करते टीवी देखेंगे. फिर कभी उसकी चुतचाटता, कभी उसके बूब्स!तब तक वो एक बार स्खलित हो चुकी थी और अब उस पर फिर सेहवस सवार थी.

मेरे बहुत समझाने के बाद भी वह बड़ी मुश्किल से लंड को दोबारा चूत में लेने के लिए तैयार हुई. मैंने दोनों हाथों से उनकी चूचियाँ मसलनी शुरू की और दनादन धक्के देने लगा। बहुत दिनों बाद चूत में लण्ड जा रहा था तो बड़ा मजा आ रहा था। चंडीगढ़ जाने के बाद तो मेरे लिए जैसे चूत का अकाल ही पड़ गया था। वहां की सारी कसर मैं अभी भाभी की चूत में निकाल रहा था।भाभी की चूचियों को पकड़ पर भींचते हुए मैं अपने लंड को भीगी हुई गीली भाभी की चूत में पेलने लगा. मैंने नेट से भोपाल के बाहर ग्रीन व्यू रिसॉर्ट में 3 दिनों के लिए एक सुइट बुक कर दिया.

चाची के नहाकर आने के बाद, मैं बाथरूम में जाकर उनकी ब्रा और पैंटी सूंघता था. उसने उस किताब का कोना हल्का सा बाहर छोड़ दिया था ताकि जब मौसी उस बिस्तर पर सोने के लिए जाये तो मौसी की नजर उस पर पड़ जाये.

फिर वह मुझे डांटने लगी, बोली- तुम बाथरूम में यही सब करते रहते हो न? बहुत ज्यादा सेक्स चढ़ा रहता है न तुम्हें?मैंने कहा- हाँ.

मैं तो उसके चेहरे में ही खोया था, जिसे अदिति भी नोटिस कर रही थी … पर वो बोली कुछ नहीं.

दोस्तो, अभी तक मैंने आपको यह नहीं बताया कि मेरी बीवी कौसर में वासना भरी पड़ी है, वो बहुत चुदक्कड़ है। मैं जब कभी उससे चोदने की बात करता हूँ तो वो तो हमेशा तैयार रहती है, उसकी तरफ से कभी ना नहीं होती है. वो कहती है कि जो मजा तुम्हारे लंड से आता है वो मजा मुझे अपने पति के लंड से नहीं मिल पाता है. शायद अब वह भी मेरे शरीर की सुंदरता के दर्शन करना चाहता था।मैं अब उसके सामने ही तौलिए से अपने शरीर को पौंछने लगी और बालों को सुखाने लगी.

वैसे भी मुझे बाद में पता लगा कि आग तो दोनों तरफ ही लगी हुई थी, इसलिए चुदाई तो होनी ही थी. सीमा की आँखों में एक चमक थी, वह खड़ी हुई और राहुल का टॉप उतार कर उसे भी नंगा किया और फिर वो राहुल का हाथ पकड़ कर बेडरूम में ले गयी. उसके चूचे देख कर मेरा मन तो कर रहा था कि अभी राधिका के मम्मे मसल दूँ और ब्रा फाड़ डालूँ, लेकिन मैं ऐसा नहीं कर सकता था.

मैंने सोचा कि क्यों न मैं भी एक कॉल ब्वॉय को बुला लूँ और आज रात चुदाई के मजे लूं?यही सोचकर मैंने एक जिगोलो को फोन कर दिया और उसे रात को 11 बजे के लगभग आने का टाइम दे दिया.

उसे देखकर लग रहा था कि साथ लेकर घूमने लायक तो नहीं, मगर ये बंद कमरे में चोदने लायक जरूर हो सकती है. मेरी मां को दर्द हो रहा था लेकिन अंकल को उससे कोई लेना-देना नहीं था। अब अंकल ने अपनी स्पीड बढ़ा दी. मैं उसके चूचे देखता हुआ उसके सर की तरफ पड़ी सोफे की कुर्सी पर बैठ गया.

पेटीकोट के ढ़ाई-तीन इंच अंदर मेरी उँगलियों के सिरे वसुन्धरा की पैंटी के इलास्टिक को छू रहे थे. भाभी बोली- मेरा एक काम करोगे राज?मैंने कहा- जी भाभी बोलिये?मैं आंखें नीचे करते हुए ही बोल रहा था. वह अपने लंड को मेरे मुंह के पास लेकर आ गया और मेरे होंठों के करीब लाकर उसको उछालने लगा.

कुछ देर बाद वह मेरे पीछे आया … और अपने मरियल से लंड को मेरी गांड से लगा कर मेरी दोनों चूचियों को मसलने लगा.

लेकिन उस लड़के के प्यार में पड़के अब उनके पति भी उस औरत को छोड़ चुके थे, जिसके पास वो रात भर रहते थे और शराब पीना भी छोड़ दिया था. बिल्कुल भी टाइम खराब न करते हुए वह मुझे खींच कर अपने बेडरूम में ले गयी.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स लगभग डेढ़ घंटे की मसाज लेने के बाद मेरी बॉडी एकदम से रिलैक्स हो गई थी. पूरा बाहर ही है अभी तो।वह बोली- बाप रे बाप! तुम तो मेरी चूत फाड़ दोगे.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स उसकी शर्ट के कुछ बटन खोलने के बाद मैंने उसके नंगे चूचे को हाथ से सहलाना शुरू कर दिया. जिस टाइम में उस टेम्पो में चढ़ा, उस समय उस टेंपो में तीन लोग और बैठे थे.

मेरा लौड़ा भी पूरे ताव में था और भाभी की चूत भी पूरी गर्म हो चुकी थी.

इंडियन लड़की की चूत की चुदाई

उसका लंड नमकीन सा पदार्थ छोड़ रहा था जिसका स्वाद मेरे मुंह में मुझे महसूस हो रहा था. मैंने हैरानी से पूछा- यहां क्यों आई हो?तो बोली- मुझे किचन में कुतिया बनाकर चोदो. मेरे दूध हिल रहे थे और मेरे मुँह से गरम सीत्कारें निकल रही थीं- आह … उह्ह … कितना अन्दर तक जा रहा है साले मादरचोद … पूरी चूत की जड़ तक ठोकर लग रही है.

इसलिए सोचा कि तुम भी कुछ चाहते थे मुझसे और मुझे भी रूम पे आने वाला ब्वॉयफ्रेंड चाहिए था. जिससे भैया मुझ पर बुरी तरह से गुस्सा हो गये और गुस्से में वे मेरे पीछे भाग रहे थे और मैं आगे आगे … इसी भागदौड़ में मैं फिसल कर गिर पडा और मेरे पैर की हड्डी ही टूट गयी जिसकी वजह से मुझे अब दो तीन‌ महीने बिस्तर पर ही रहना पड़ा. वो खुद अपने हाथ से अपनी चुचियां दबाते हुए मुझे उकसा रही थी और अपने होंठ काट रही थी.

अंकल जी चूत दुख रही है अब!” मैंने जल्दबाजी में कह तो दिया पर मेरे मुंह से चूत शब्द निकलने से मैं शर्म से पानी पानी हुई जा रही थी.

मैंने थोड़ा हिम्मत करके बोल दिया- पिलाना है, तो अपना पिलाओ … तो कुछ बात बने. वह उठी, मैंने उसकी कमर से पकड़कर उसको घुमाया और उसका चेहरा अपनी तरफ कर लिया. जब वो चलती थी तो ऐसे लग रहा था कि कोई हिरणी अपनी सुंदरता पूरे जंगल में बिखेर कर जा रही हो।मैं बार-बार ऊपरवाले को इस रात के लिये धन्यवाद दिये जा रहा था।अक्षिता ने फिर मुझसे पूछा- आप कुछ पीएंगे?मैंने अचानक ही कह दिया- मेरे काम की चीज़ अभी यहाँ नहीं मिलेगी.

जैसे ही मेरी नज़र वसुन्धरा की नज़र से टकराई तो मारे शर्म के, वसुन्धरा ने फ़ौरन अपने दोनों हाथ अपनी आँखों पर रख कर करवट ले कर मेरी ओर पीठ कर ली. फिर जब दूसरी बार हम अकेले में मिले तो मैंने उसके गालों पर हल्का सा किस कर दिया. कल में कॉलेज से 11 बजे निकल जाऊंगी और कॉलेज के पीछे वाले पार्क में तुम्हारा इंतजार करुँगी.

आपका खयाल रखना मेरा फर्ज है।रमेश अंकल मेरी मां के पास आए और उन्होंने अपना हाथ मेरी मां के कंधे पर रख दिया और उसे अपनी ओर खींच लिया और मेरी मां को किस करने लगे।मेरी मां उनका साथ नहीं दे रही थी और चुपचाप खड़ी थी। रमेश अंकल मेरी मां के होंठ चूम रहे थे और साथ ही साथ मेरी मां की गांड़ भी मसल रहे थे।कुछ देर चूमने के बाद उन्होंने मेरी मां का पल्लू नीचे कर दिया और ब्लाउज के ऊपर से ही उसके दूध दबाने लगे. दिल तो किया कि उसके गालों पे किस कर लूँ पर मैं अभी कुछ कर नहीं सकता था.

मैं उनसे जब भी कुछ कहती हूं, तो मुझे मारते हैं गाली देते है, छोड़ने की धमकी देते हैं. आज मैं आपको एक मजेदार कहानी बताने जा रहा हूँ, जिसे सुनकर आपके पूरे शरीर में बिजली सी दौड़ उठेगी. सही तरीके से पूरे इमोशन से चुदने की वजह से चुत बार बार गीली हो रही थी.

कोई दस मिनट लंड चूसने के बाद भी मेरा पानी नहीं गिरा, तो वो हैरान होकर मेरा मुँह देखने लगी.

चुत वालियां अपनी चुत चुदाई करवाएं और चुत चोदने वाला नहीं है, तो मुझे मेल करके मुझसे राय लें … मैं उनकी चूत की खाज मिटाने के हजारों तरीके बता सकता हूँ. नमस्कार दोस्तो, मैं देव कुमार जयपुर से आपके लिएआंटी की प्यासी जवानी मांगे लंड-1से आगे का भाग लेकर आया हूँ. मेरे मुंह से ये सब सुनकर मेरे पति भी जोश में आ गए और हम दोनों ने पूरी रात तीन बार चुदाई की.

मुझे दूसरी तरफ यह भी विश्वास था कि वह शायद अपने घर वालों के सामने इस तरह कोई बात नहीं बतायेगा. हमने देखा कि कोई देहाती लोग जो दो लोग थे और वो बाइक लेके लकड़ियाँ काटने आये थे.

मैं सोच में पड़ गई कि क्या करूँ? तो मैंने खड़े खड़े ही मूतना शुरु कर दिया. मैंने शावर बन्द कर दिया और विक्की को कहा कि चोदना है तो चूत में डालो, गांड में दर्द होता है. घर में कोई नहीं था इसलिए हम दोनों नंगे सोफे पर ही एक दूसरे को सेक्स का मजा दे रहे थे.

बीएफ दीजिए बीएफ

अम्मी ने अंकल का लंड मुँह में ले लिया और अंकल ने कहा- चलो मैं तुम्हारी चूत चाटूँगा, तुम मेरा लंड चूसो.

मुझे ये बात तो पता थी कि मुस्कान के रहते, मैं शिशिर से नहीं चुद सकती थी. किसी ने बोला कि अजमेर चौराहा चले जाओ, तो वहां से ट्रेवल्स की बस मिल जाएगी. मैडम ने मुझे टॉवेल दे कर फ्रेश होने को बोल दिया और वह किचन में लग गईं.

बिना राहुल का जवाब सुने संगीता ने एक झटके में अपना कुरता उतार दिया. चाची- धीरे धीरे … आआह … ऊऊह … ये सब गलत है जीशान … अपनी चाची के साथ ऐसे नहीं करते. सेक्सी पिक्चर फिल्ममैं उसको अपनी गोद में उठाकर चूमते हुए बिस्तर पे ले आया और उसके पेट के बल लिटा दिया.

दोस्तो, आपको कैसी लगी मेरी ये बच्चा पाने के लिए भाभी की चुदाई की कहानी. मेरे पति को ऑफिस के काम से फुर्सत ही नहीं थी, लेकिन फिर भी कैसे भी करके मेरी सेक्स लाइफ ठीक चल रही थी.

करीब 10 मिनट में उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया और वो एकदम से अकड़ गयी थी. अनीता भाभी बोली- तो जल्दी से दो न यार … क्यों तड़पा रहे हो … जल्दी से मेरी चूत में अपना लंड डाल कर उसको निहाल कर दो. बॉस- क्या लोगी मेरा पीछा छोड़ने का?रीना कुछ देर सोचते हुए- अच्छा ठीक है, दो लाख दे दीजिए, चली जाऊँगी.

मेरे कुछ देर समझाने पर वो मान गयी और मेरे गले लग गयी और मेरी हिंदी सेक्स कहानी बनाने का रास्ता साफ़ हो गया. अगले दिन सुबह आँख खुलने पर वो बाहर बालकनी में आया तो देखा कि रजनी योगा कर रही है. मैं जोर से नौकर का लंड अपने मुंह में दांतों से दबाते हुए चूसने लगी.

मुझे आराम पड़ता देख अंकल जी ने आहिस्ता आहिस्ता मुझे चोदना शुरू किया.

मैं उनकी उंगलियों को सहलाने लगा उनकी उंगलियों को सहलाते सहलाते मैं उत्तेजित हो गया. जो मज़ा मुझे उन तीनों के सेक्स को देखकर आया था, उससे कई गुना ज्यादा मज़ा मुझे अब आ रहा था.

मैंने इसकी सारी कहानियाँ पढ़ी हैं, तथा आज पहली बार अपनी कहानी लिख रहा हूं. धीरे धीरे उसका मौसम फिर से बना, तो उसने मुझे सोफे पर टांगें चौड़ी कर लिटा दिया. इसलिए मैंने कई नाम से फ़ेसबुक पर सर्च किया, तो मुझे कुछेक दोस्त मिल गए.

तो मैंने पूछा- आज नीरू और कोमल कहाँ गये?नीरू और कोमल सुमन की छोटी बहनों के नाम हैं. चाय पीकर पंद्रह मिनट के बाद बाहर आया तो काजल अभी भी वहीं बैठी हुई थी. मैं आज भी उसकी मस्त चुदाई करता हूं, मुझे तसल्ली है कि पहली चुदाई में मैंने किसी की सील तोड़ी थी.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स अभी मैं मौसी को ये जाहिर नहीं करना चाहता था कि मैं उठ गया हूँ और यह सब कुछ हम भाई-बहनों का ही प्लान है. चूंकि दिशा (साली) जीत गई थी, इसलिए नियमानुसार मुझे उसका टास्क पूरा करना था.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म बीएफ सेक्सी

फांकों को भींचते हुए उसने अब अपनी उंगली चूत के अन्दर डालती, फिर वही उंगली मुँह में लेकर चूसती और फिर चूत के अन्दर पेल देती. मेरी भाभी का भाई जिसका नाम संजीव था, वो भी मेरे साथ काफी हंसी मजाक कर रहा था. अंकल चिल्लपौं की परवाह किए बिना आंटी को दनादन चोद रहे थे, उनके धक्कों से पूरा पलंग हिल रहा था.

मेरी चूत से पहले तो कुछ पानी सा निकला मगर उसके बाद साथ ही यूरीन भी निकल गया क्योंकि मेरा तो यह पहली बार ही था. मैंने उनकी मंशा समझ ली- अगर मैं आपको छोटा दिख रहा हूं तो एक बार आज़मा लीजिये न. वीडियो हिंदी सेक्सी वीडियोमैं मेरी सहेली हम दोनों लोग मेरे बेडरूम में टीवी देख रहे थे तभी मम्मी ने मुझे अपने रूम में बुलाया तो वहां मेरे पापा के दोस्त और उनका बेटा आया था.

पूरा लंड एक बार में अन्दर जाते ही सीमा की आह निकल गई- आह … सी … क्या जान लेने का मन है … राजा जरा धीरे पेलो … तुम्हारा मूसल बहुत बड़ा है.

उसके कामरस की बहुत ही मोहक गंध मुझे पागल किये जा रही थी।फिर मैं धीरे धीरे उसकी पैंटी उतार रहा था और चूमता भी जा रहा था. इससे मुझे अपने लंड की यह खासियत समझ आ गई कि मेरा लंड दिन में 6-7 बार भी चुदाई कर सकता है.

शान्ति ने मेरी तरफ देखा जैसे कुछ कहना चाह रही हो लेकिन कह नहीं पा रही हो. तभी मेरी कौसर जान एक बार फिर परमानन्द की तरफ बढ़ चली और साथ ही मेरे अब्बू ने अपनी मनी उसकी चूत में ही छोड़ दी।अब्बू कुछ देर तक मेरी बीवी के नंगे जिस्म के ऊपर ही पड़े रहे. उसे थोड़ा दर्द हुआ, पर मैं वहीं एक जगह रुककर उसकी चुचियों को पीने लगा, जिससे उसका दर्द कम हो गया.

मैं- और चाची … बच्चे कहां हैं और चाचा कहाँ हैं?चाची- छुट्टियां हैं ना, बच्चे अपने मामा के घर गए हैं … और तुम्हारे चाचा अपने काम से निकले हुए हैं.

अंकल आप … कितना डर गई मैं … भला ऐसा कोई मजाक करता है?”अंकल मुझे खींच कर एक कोने में ले गए और मेरे चुचे मसलने लगे, नसीब से वहां पर कोई सिक्योरिटी गार्ड नहीं था. पूरी यात्रा में उसकी चूत का रस लिया मैंने।हम अभी भी चोरी-छिपे मिलते रहते हैं क्योंकि दुनिया के रीति-रिवाज से तो डरना ही पड़ता है. उनकी सीत्कार भरी आवाज निकल गई- आआहह … कमीने अब चाची को रुलाएगा क्या?मैं- अरे सॉरी चाची गलती से हो गया.

हिंदी सेक्सी वीडियो फुल हदउसमें कुछ लेसन नहीं थे। किस्मत देखो कि मैडम ने याद करने के लिए वही लेसन दिया था जो मेरी बुक में नहीं था. भाभी- अच्छा तो चलो … इजाजत है, अब दिखाओ तुम क्या कर सकते हो?फिर मैंने अपनी जगह से उठ कर उनको लिटा दिया.

सनी लियोन की चूत चुदाई बीएफ

चुदाई करते समय बारिश की ठंडी फुहार और कुछ बूंदें हमारी चुदाईको और भी हसीं बना रही थी. दस मिनट तक उसकी चूत मारने के बाद मैंने उसे उठने के लिए कहा और बेड के किनारे पर लाकर उसको घोड़ी बना लिया, स्वयं नीचे खड़ा हो गया और पीछे से उसकी चूत में लंड पेल दिया. मैं उससे बात करना चाहती थी। वह काफी हैंडसम और इंटेलीजेंट लड़का था। मैंने उसे देखते ही सोच लिया था कि चुदना तो इसी से है।एक दिन मैडम ने उसको कुछ काम बताया और मैडम ने कहा कि सब छात्रों को भी बता दे और कह दे कि कल याद करके और लिख कर भी लाना है.

उनका एक हाथ मेरी छाती पर सांप की तरह सरक रहा था और दूसरा हाथ नीचे मेरी लोअर में तने लौड़े पर जाकर उसको और ज्यादा जोशीला बना रहा था. लेकिन तभी बस ने ब्रेक लगाए और एक झटका इतनी जोर लगा कि मुझसे सम्भला ही न गया और मेरे चुचे उसकी छाती से रगड़ खा गए. अब मैंने उसकी ब्रा पेंटी और पेटीकोट को भी खोल दिया और उसको भी अपनी तरह ही पूरी नंगी कर दिया.

रात को 11 बजे कॉल आया कि भाभी जी आप दरवाजा खोल के रखो, मैं आ रहा हूँ. फिर दोपहर बाद परीशा घर आ गयी और मुकुल भी बहाने से छुट्टी लेकर आ गया. मैंने अपना हाथ उनके सर पे रखके लंड अन्दर गले तक धकेलने लगा, तो उन्हें उलटी होने लगी.

अभी तक की कहानी में आपने पढ़ा कि अपनी पड़ोसन की विवाहिता बेटी मोनी के प्रति बढ़ती मेरी वासना के चलते मैंने एक रात को उसकी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर करके उसकी पेंटी के अंदर अपने लंड को घुसा ही दिया. मैंने फोन सेक्स से उसका पानी भी निकाला और मेरे लंड को मुठ मार कर ठंडा किया.

आखिरकार वासना की जीत हुई और मैंने मेरे घर का दरवाजा खोला, बाहर कोई नहीं देख कर खुशी से मैंने अपने घर का दरवाजा लॉक किया और अंकल के घर की तरफ भागी.

ऐसी हल्की फुल्की बातें चलती रहीं।तभी राजेश बोला- 2-3 दिन छुट्टी है, कहीं घूमने चलते हैं।कहाँ?”मनाली!”नहीं, बहुत सर्दी होगी. सेक्स वीडियो सेक्स वीडियो इंग्लिश मेंतभी अंकल बोले- मैं सच में आपसे बहुत प्यार करता हूँ और आज पूरी रात में आपका यहीं छत पर आपका इंतजार करूंगा. 5 गांव पंडवानी दे दोस्स्स … स्सस … ऊंह्ह … की बेहद हल्की सी आवाज दोनों के मुंह से निकल रही थी जो केवल उनके पास बैठा हुआ कोई शख्स ही सुन सकता था. मैं उसके बाल पकड़ कर अपनी तरफ खींच कर उसे ऐसे धक्के लगा रहा था जैसे कि वो मेरी घोड़ी है और मैं उसकी सवारी कर रहा हूँ.

मैं खुद की किस्मत पर यकीन नहीं कर पा रहा था। बस कामदेव से यही कह रहा था कि कोई प्यार का तीर इस पर भी चला दीजिये।उसने टीवी चालू किया और मैंने 2 छोटे पेग बनाये। हम दोनों ने ड्रिंक खत्म की और टीवी पर कोई रोमांटिक मूवी चल रही थी.

चाची- मैं तुम्हारी कामयाबी से बहुत खुश हूं … मेरे घर में रहकर इतने अच्छे अंक लाए हो. मैंने भाभी से हस्तमैथुन करने को कहा और ख़ुद उनकी गर्दन और मम्मों की गहरायी पे अपनी ज़ुबान चलाने लग गया. अम्मी बोलीं- ऐसा मत कहिये, अभी तो आप जवान हैं, दूसरी शादी कर लीजिये.

मेरी बीवी को मालूम ही नहीं चला क्योंकि मेरे अब्बू का शरीर बिल्कुल मेरे जैसा है. जब उन दोनों ने मुझे छोड़ा, तो सरिता पास आ मेरी चूचियां पकड़ कर बोली- मज़ा आया?हां दीदी. क्या सिर्फ बात करने के लिए दिया?कुछ देर ऐसे बात हुई, तो उन्होंने कहा कि तो आज रात मिलते हैं.

बिहारी गर्ल बीएफ

मैं आपको बता दूं कि वो अपनी सेहत और फीगर का बहुत ध्यान रखती है और अपने आप को फिट रखती है. फिर अपने लंड लायक मेरी गांड को फैला दिया था, वो मेरी गांड के छेद में चिकनाई लगा कर सुपारा धकेलता रहता. तब उन दोनों ने अपने लंड झटके से मुँह में डाल कर अपने अपने लंड के वीर्य मेरे मुँह में छोड़ दिए.

अंकल ने सलवार का नाड़ा खोला तो सलवार उतर गई और अंकल नंगी चूत को सहलाने लगे.

अब वो राहुल को शायद दिखाने के लिए भी ज्यादा ही खुराफात करने लगे थे.

मैं उठी, अपनी टांगें साफ कीं, चादर साफ की, कपड़े पहने और अपनी किस्मत को कोसते हुए लेट गई. चाची मेरे लंड को चूसने में इतनी व्यस्त थी कि उसको अपने मुंह से बाहर निकालने का नाम ही नहीं ले रही थी. अंग्रेजों के सेक्सी वीडियोअब तो कंट्रोल करना हम दोनों के ही बस में नहीं था, मैंने उसे अपने से अलग किया और एक ही झटके में उसका गाउन नोच फेंका.

मेरी दोनों हथेलियों के नीचे वसुन्धरा के दोनों उरोजों और उनके निप्पल्स रगड़ खा रहे थे. वो अहह ओहह हहह हाह करती रही, फिर मुझे उसकी चूत में लण्ड डालने को कहने लगी।मैंने उसकी एक ना सुनी, मैं चूत चाटता रहा. अब उसे चुदवाने का भूत चढ़ा था तो वापिस एक बार उसने मेरे लंड को अपने मुँह से सहलाना शुरू किया और इस बार तो वो लंड के साथ साथ गोटे भी चूसने लगी.

मैंने तीनों के लिए चाय बनाई और नंगी ही उनके सामने चाय लेकर चली गयी. मेरे छूटने की कोशिश में गलती से मेरा हाथ उनके लुंगी पर आ गया और मैं शॉक हो गयी.

लेकिन यह क्या, एक बार फिर नम्रता 69 की पोजिशन पर आ गयी और अपनी चूत को मेरे मुँह पर रखकर खुद लंड को मुँह में लेकर चाटने लगी.

”मैं मुस्कुरा दिया।सबसे पहले तुम्हें गर्ल बनना पड़ेगा, लड़की बनना पड़ेगा। लिबास से लड़की, मन से लड़की। तुम्हारे लिए हम सारे कपड़े ले आएंगे और तुम घर पे वही पहनोगे। मेकअप करना सीखोगे। और मन से लड़की बनने के लिए तुम लड़कियों की तरह बात करोगे। समझ गए?”हाँ मैं समझ गयी. मोनिषा की हाइट 5 फीट 8 इंच है और उसकी चूचियां का साइज 36 इंच के आस-पास का है. मेरे बारे में बता दूँ कि मैं पतला और लंबा इंसान हूँ और लंड भी ठीक ठाक है.

सेक्सी न्यू हिंदी वीडियो उसके बाद उसने कहा- मैडम, अगर आपको और भी चुदाई करवानी है तो आपको उसके लिए एक्सट्रा चार्ज देना होगा. उसने अपनी चूत को मेरे होंठों पर रख दिया और खुद मेरा लौड़ा अपने मुंह में ले कर आइसक्रीम की तरह चूसने लगी.

कुछ देर तक मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही चूसने के बाद भाभी ने मेरे कच्छा को निकाल दिया और जैसे ही मेरा लौड़ा बाहर आया भाभी ने तुरंत उसको अपने गर्म मुंह में भर लिया. वो मेरी गांड चाटने लगा और गांड को गीला करके मेरी गांड में अपना मोटा लंड एक ही झटके में पूरा डाल दिया. सच में दोस्तो, एक दोस्त जो कर जाएगा, वो कोई और दुनिया में कभी नहीं करेगा.

बीएफ पिक्चर सेक्सी देहाती

वो मेरी चूत को चाटने के बाद अपना लंड मुझे चूसने के लिए बोला तो मैं उसका लंड चूसने लगी. तभी अंकल ने अम्मी को बेड पर गिरा दिया और उनके गले से लेकर उनकी कमर तक पूरी जगह चाटने लगे. मैं जानता था कि रेखा खुलकर सेक्स नहीं करेगी, फिर भी वो जैसा प्यार कर रही थी, वो ही बहुत था.

टीना आंटी- चोद मादरचोद … आह भड़वे … ठोक भैन के लंड … लौड़ा अन्दर तक पेल … आ आह ठोक दे इस चुत में … आह … बना दे इसे भोसड़ा … आह साले और तेज़ ठोक मादरचोद … जोर लगा के ठोक … निकाल दे इस निगोड़ी झुमरी तलैया बुर का रस … निचोड़ के रख दे इसे. आप जीत गये।मुकुल राय- अरे मेरी जान … तूने इतनी जल्दी कैसे हार मान ली। अभी तो शुरूआत है। देखना आगे आगे मैं क्या करता हूँ।इतना बोलकर मुकुल राय अपने दोनों हाथ परीशा की पीठ पर रखकर उसकी ब्रा का स्ट्रिप्स को खोल देता है और अगले पल परीशा झट से अपने गिरते हुए ब्रा को दोनों हाथों से थाम लेती है।मुकुल राय अगले पल परीशा के ब्रा को पकड़कर उसके बदन से अलग कर देता है और परीशा भी कोई विरोध नहीं कर पाती.

मेरा जो साढ़ू है, वह लगभग काम के सिलसिले में हर समय घर से बाहर ही रहता है.

उनके घर का मेन गेट खुला हुआ था और चलते हुए मेरी नजर भाभी पर जा पड़ी. उसकी खुशी मेरे लिए अहम थी, क्योंकि उसने मुझे वो खुशी दी थी, जो आज तक मेरे शौहर ने नहीं दी थी. फिर अंकल ने अपनी दो उंगलियां अम्मी की चूत में डाल दीं और हल्के हल्के सहलाने लगे.

मैंने उससे यूं ही पूछ लिया कि आजकल तुम मुझे व्हाट्सैप पर रिप्लाय नहीं देती हो. आज की रात वसुन्धरा जन्मों-जन्मों तक नहीं भूल सके, मैं सतत इसी प्रयास में था. अब आगे:हेतल नहीं जानती थी कि मानसी की चूत चुदाई की शुरूआत मेरे लंड से हो चुकी है.

सिर्फ चूत ही नहीं है मेरे पास और भी बहुत कुछ है साले!मैं- रंडी है तू मदरचोद! ले मेरा लण्ड।ज्योती- ला दे हरामी … आह्ह डाल जोर से।मैंने स्पीड तेज कर दी और ज्योति झड़ने वाली थी.

हिंदी बीएफ वीडियो एक्स एक्स: एक बार मैं गर्मियों के दिनों में छोटी मौसी के यहां दस दिनों के लिए गया था और मेरी बहन भी उन दिनों वहीं पर थी. तो मैंने दरवाजा खोल कर पूछा- तुम्हारा कुछ ज्यादा ही लंबा नहीं है?उसने कहा- क्या?मैंने कहा- ट्राउजर बहुत लंबा है.

मेरे लंड का साइज ज्यादा बड़ा नहीं है, औसतन 5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा ही होगा … मैंने कभी इसे नापा नहीं है. ऐसा लग रहा था कि टोपे में गाजर का गहरे रंग का जूस भरा हुआ है, उसके मुंह पर झाग पर बन गये थे. थोड़ी देर ऐसे चोदने के बाद मैंने उसको अपने ऊपर ले लिया और उसके मम्मों को अपनी छाती में लगाकर उसके गालों को चूमते हुए नीचे से तेज तेज धक्के देने लगा.

हम दोनों हांफने लगे। फिर हम दोनों ऐसे ही नंगे लेटे रहे। मैंने भाभी की चूत को चाट लिया.

काफी देर तक सचिन मेरी गीली चूत में अपनी जीभ लगाकर उसकी आग को और ज्यादा तेज करता रहा. मैडम, आप गाड़ी किसी स्पीड में दौड़ाना पसंद करती हैं?”मैंने अपने टी-शर्ट को पीछे से हल्का सा थोड़ा ऊपर किया अब मेरे हिप्स पीछे से पूरे नंगे हो गए थे और उसके लंड को अपनी गांड की दरार में एडजेस्ट करते हुई बोली- जितनी तुम रेस कर दो कि मैं उतना दौड़ा दूंगी. एक दिन हमारे सामने वाले घर में एक खुराना फैमिली रहने आयी, अंकल लगभग चालीस साल के थे.