सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो

छवि स्रोत,सेक्स हिंदी में सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सनी लियोन नंगी: सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो, मैं डर गया और पूछा कि तुम अपने घर क्या कह कर आई हो?वो बोली कि आज उसके घर में कोई नहीं है, सब गाँव गए हैं और मैं कुछ बहाना बना कर रुक गई थी.

लखनऊ वाली सेक्सी वीडियो

दोस्त के जाते ही मैंने रिया को अपनी बांहों में भर लिया और उस की किस लेनी शुरू कर दी. हॉट मॉम सेक्सी व्हिडीओमेरी नज़रें महेश से मिलीं, वो बार बार मुझे लंड चूसने को बोल रहा था, मगर मुझे उससे घिन आ रही थी.

मैंने उसका पेटीकोट उतार दिया और देखा कि उसका पेट थोड़ा सा बाहर था, तो मैंने मजाक से पूछा- कौन सा महीना चालू है?वो सिर्फ नीचे सर झुकाए खड़ी थी. इंस्टाग्राम सेक्सीअचानक भाभी ने मुझे अपने ऊपर खींच कर लिटा लिया और मुझे किस करने लगीं.

कमल मुझसे कहने लगा- ओह सरिता, यार तुम बिना कपड़ों के बिल्कुल अप्सरा लग रही हो.सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो: आनन्द ने घबराते हुए कहा- क्या हुआ जान? मुझसे क्या भूल हुई?मोना- यही कि मेरे कपड़े उतार कर मुझे नंगी कर दिया, पर खुद के कपड़े नहीं उतारे.

क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि वो मुझे देखकर शर्मिंदा हो। बस एक प्यार सा नोट छोड़कर और उसमें लिखा था- तुम्हें खाना बनाना नहीं आता।साथियो धन्यवाद.नंगी होने के वावजूद तुमने पहले अपनी पैंटी पहनी और अपनी चूचियों पर दुपट्टा डाला, उसके बाद ही मेरे पास आई.

कॉलेजच्या मुलीचा सेक्सी - सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो

गुरप्रीत चाची को गोद में लिए उनकी चुचियों को दबा रहा था और बुआ पता नहीं कहां थीं.मैं बोल पड़ा कि आप मुझे चोदने दो बदले में मैं आपको पैसे भी दे दूंगा.

फिर उसने अपना काम करना शुरू किया पहले उसने मेरे सीने पर किस किया फिर पेट पर और फिर मेरे लंड की जड़ के पास किस करने लगी. सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो आज से नहीं, काफ़ी टाइम से मैं आपके करीब आना चाहता था लेकिन कभी हिम्मत नहीं हुई, जब भी आपके इस भरे हुए जिस्म को देखता पता नहीं मुझे क्या हो जाता.

पायल की चूत में हम दोनों के प्यार का रस था जो कि हल्का-हल्का बाहर निकल कर बेडशीट पर आने लगा.

सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो?

तभी दीदी ने अपना सर नीचे कर लिया; मैंने भी हाथ से दीदी के सर को पकड़ा और उसका फेस ऊपर कर दिया, दीदी ने एक पल मेरी तरफ देखा. मैं भी उनको देख ही रहा था और मन ही मन उनके साथ सेक्स के ख्यालों में डूबा हुआ था. प्रिया प्रेम की पराकाष्ठा पर जल्दी से पहुँचने के लिए तमाम बंधन तोड़ने पर उतारू थी लेकिन मैं आज के अपने इस अभिसार को सदा-सर्वदा के लिए यादगार बनाने पर कटिबद्ध था.

मगर मुझमें अब और सब्र नहीं बचा था, मैंने उनके हाथों को पकड़ लिया और थोड़ा जबरदस्ती से उनके हाथों को हटा कर उनकी नंगी चूचियों पर टूट पड़ा… जो एक बड़े से आम की जितनी तो रही होगी. अब मैं बेड पर लेट गया और भाभी मेरे ऊपर आ कर लंड पर चूत फंसा कर बैठ गई. तो घर बंद रहता था, इसलिए हम घर की चाभी हमारे पड़ोसी के यहां रख जाते थे.

कमल ने मेरी दोनों टांगों को पकड़ कर फैला दिया और अपना लंड मेरी चूत में घचाक से पेल दिया. माया ने अपनी गाड़ी पार्किंग में लगाई और तेज़ कदमों से अपने केबिन की तरफ बढ़ चली. क्या मस्त सीन था, ऐसा आज तक मैंने सिर्फ कंडोम के एड में ही लड़की को लंड के लिए इस तरह तड़पते हुए देखा था.

तभी मैं बोली पापा को- मेरे राजा, आप पहले जी भर के चोदो मुझे, अपना लंड बाहर मत निकालिएगा. अब किशोर ने उसे कमर से उठा कर घुमा दिया और उसके छोटे से चूतड़ दबाने लगा.

भाभी की चूत देख कर मुझे यूं लग रहा था जैसे भाभी मुझसे ही चुदने के लिए चूत को तैयार करके आई हों.

दोस्तो कैसी लगी मेरी हिंदी पोर्न स्टोरी? अगर आपका भी किसी के साथ कोई नाजायज़ रिश्ता बन गया है, तो मुझे जरूर मेल करें.

नीचे ब्लू कलर की पैंटी पहनी थी तो पूरी पैंटी और पुसी के पास की फूली जगह भी साफ दिखाई दे रही थी. रविवारीय बैठक में निर्णय लिया गया कि उन सीडी को नष्ट कर दिया जाए, पर एक बार उन्हें देख लिया जाए. मैं उसकी उभरी हुई गांड को दबाने लगा, मुझे ऐसा लग रहा था, शायद उसने पेंटी नहीं पहनी या फिर मधुर मिलन में कोई अड़चन ना आए तो उसने पहले ही उतार दी हो.

जैसी आशा थी, थोड़ी देर में भाभी का फोन आया कि किसी ने बाहर से कुंडी लगा दी है. सुबह हो गयी, सब जाग गये और हम होनों एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा रहे थे और चुदाई के मौके का इन्तजार कर रहे थे. मैंने अपना मुँह उनकी फूली हुई देसी चुत पर लगा दिया और जैसे पोर्न फिल्मों में करते हैं, उसे चुसकने लगा.

पहले की बात और थी… लेकिन अब प्रिया दो साल बड़े शहर में रह कर, बड़े शहर की आज़ादी के रंग ढंग देख कर वापिस गयी थी तो… उस का ऐसी बंदिशों से ऊबना स्वाभाविक ही था.

बहन की साँस फूल गई थीं, उसकी वजह से बहन के मम्मे ऊपर नीचे हो रहे थे. फिर उसने मुझे मेरे घर छोड़ दिया और मैं जब कार से बाहर निकल रही थी तो अवी ने मुझे अपनी तरफ खींच कर मेरे होंठों को चूमा और जोर से दांत से काट लिया. वो चिल्लाने लगी- छोड़ बहन के लोड़े! फट जायेगी!मैंने उसकी बात न सुनते हुए उसकी चूत पर एक और धक्का मारा और अपना पूरा लंड पेल कर कर जोर जोर से अपनी बहन चोदने लगा.

मेरी हिंदी एडल्ट स्टोरी मेरे और मेरे दोस्त की बहन के बीच में घटी बुर की चुदाई एक सच्ची घटना है. मेरी इस हरकत से उसको दर्द हुआ और वो चिल्लाने वाली थी, पर मेरा हाथ उसके मुँह पर चला गया और उसकी आवाज नहीं निकल पाई. उन्होंने मेरे लंड की चमड़ी को पीछे किया और मेरा सुपाड़ा निकालकर उस पर जीभ फिराने लगीं.

क्योंकि मेरी छटी इन्द्रिय कह रही थी कि यहाँ उसी की खुशबू चारों ओर फैली हुई थी.

अंजलि की चूत की कामुक सुगन्ध मेरे नाक में भर कई और मेरे लंड को एक झटका सा लगा एक जवान लड़की की चूत की खुशबू लेकर!मैंने उसकी चूत पर पैंटी के ऊपर से ही किस किया और अपने नाक से उसकी चूत कुरेदने लगा. दीदी के 34 इंच के तने हुए बोबे देख कर मैं पागल ही हो गया और ब्रा के ऊपर से ही दीदी के चूचे निचोड़ने लगा क्योंकि मुझसे जल्दबाजी में ब्रा खोली नहीं जा रही थी.

सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो मैं भी इसका फ़ायदा उठा कर बाइक को बार बार ब्रेक लगा रहा था, तो भाभी ने भी फटाक से पूछ लिया- आज ज्यादा मजे आ रहे हैं क्या. विक्की ने बोतल गोलू को पकड़ा दी, पर पिंकी ने अपनी टांगें खुद ही फैला दीं.

सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो फिर मैंने देखा कि उसकी चूत से खून निकल रहा है, मैंने उसको नहीं बताया. मैंने उससे कहा कि एक बार अपनी मम्मी को फोन करके पता तो करो कि वो कब तक आएंगी.

उसके बाद राहुल का लंड एकदम साफ़ हो चुका था लेकिन तब भी जोया ने उसके लंड को चूसना बन्द नहीं किया और उसे एक छोटे बच्चे की नूनी की तरह चूसती रही.

सेक्स करते फिल्म

बीच में ही वो रुका और मेरा एक पैर उठा कर उसने बोनेट पे रखवाया। ऐसा करने से उसे और ज्यादा जगह मिल गयी और उसका चोदने की स्पीड बढ़ गई. अब बाइक पर सबसे आगे में था, मेरे पीछे सोनी और उसके पीछे मेरा छोटा भाई. तकरीबन जब दस बार मेरी उंगलियाँ उनके मम्मों को छुईं, तब मीना जी ने खामोशी को तोड़ते हुए कहा- बंटी, डरो नहीं और मुझसे शरमाओ भी मत, मालिश ठीक से करो और फिर तुम किसी को बताने वाले तो हो नहीं.

मैं तैयार होकर जब घर से निकल कर जूते पहन रहा था तभी सोनी मेरे पास आई और उसने मुझसे धीरे से कहा- नवीन, अगर मम्मी को पता लग गया कि हम कॉलेज बंक करके बाहर घूमने गए थे, तो हमारी खैर नहीं. मैं जैसे ही हटी उससे तो कुछ नहीं हुआ, क्योंकि अब तक अमित का हाथ पीठ पर था. मैंने नीचे कुछ नहीं पहना था क्योंकि मैं चाची को अपना लंड दिखाना चाहता था.

इस धक्के के बाद उसने मुझे गाल पर बहुत ज़ोर से थप्पड़ मारा, मुझे बहुत गुस्सा आया और मैंने ना आओ देखा ना ताव.

मुझे कई बार चाची की हरकतों से लगता था कि वो भी वही चाहती हैं जो मैं चाहता हूँ. ऐसा कभी मत सोचना वर्षा, हम मर गए हैं क्या कि तू खुदख़ुशी करेगी?”मुझे पहली बार सच में उस अकड़ू पर इतना प्यार आया कि मैंने उसे अपने सीने से लगा लिया और मेरी आँखों में आँसुओं की धारा बहने लगी. मैं अपनी उंगली से उसकी चूत का दाना सहलाने लगा तो वो कामवासना से चुदास से पागल होकर बोली- समीर मुझे चोद दो, अब नहीं रुका जाता.

लेकिन अंजलि ने मुझे जबरन जगाया और कपड़े पहनने को कहा, वो अपने कपड़े पहन चुकी थी. अब वो लंड निकाल कर उलटा मुँह करके मेरे लंड को अपनी चुत में सटा कर फिर चोदने लगीं और बोलने लगीं- आह. मैं तो अभी भी चाची की भीगी मैक्सी के अन्दर से झाँकते उनके अंगों को बेशर्मों की तरह घूर रहा था.

अन्तर्वासना पर इंडियन सेक्स स्टोरीज पढ़ने वाले आप सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. इधर मैंने जोया से उसकी गांड मारने के लिए पूछा तो वह तुरन्त तैयार हो गई.

फिर बहूरानी जी मेरा लंड यूं अपनी चूत में घुसाये हुए मेरे ऊपर शांत लेट गयी. प्लीज़ चाची।मैं मचलने लगी कि यह तो सैट ही हो गया। हालांकि मुझे पता था कि गाण्ड की कसावट चूत से भी ज्यादा टाइट होती है। अब उसे खुश करने के लिए. चाची मेरे लिए चाय बना लाईं और कहने लगीं- बेटा जूता उतार कर आराम से बैठ जा मैं जरा कपड़े धो कर अभी आई.

अब मेरी दोनों बहनों की शादी हो चुकी थी और मेरे बड़े भैया की भी छह महीने पहले शादी हो गई थी.

स्टेशन छोड़ने के पहले भी उसने मेरी बुर को एक बार हचक कर चोद दिया था. मैं चाची को बाथरूम से उठा कर उनको रूम में ले गया और बेड पर लिटा दिया. अब पायल ने आँखें बंद कर लीं, क्योंकि उन्हें पता था कि मैं अब आगे क्या करने वाला हूँ.

हाँ, यूं ही उचटती सी नज़र कभी उसके ऊपर पड़ी हो तो अलग बात है लेकिन नजर भर के, पसंद नापसंद करने के आशय से मैंने अदिति बिटिया को कभी भी नहीं परखा. ये लो मेरी रानी…” मैंने भी कहा और लंड को बाहर तक निकाल कर पूरी दम से पेल दिया चूत में!हाय राजा जी… ऐसे ही चोदो अपनी बहूरानी को!” बहूरानी कामुक स्वर में बोली और मेरे धक्के का जवाब उसने अपनी चूत को उछाल कर दिया.

मैंने उसे पकड़ लिया और खूब मसला, उसके चूचे दबाए और उसे ज्वार के खेत में ले गया और उसका रसपान करने लगा. मैंने सोचा कि छोड़ो… चूत तो मिल रही है! मैंने उसे कहा- ठीक है, कोई बात नहीं!फिर मैंने उसकी ब्रा हटा दी और उसके आम चूसने, काटने लग गया. क्या हुआ अदिति बेटा?”कुछ नहीं पापा जी, अब और नहीं, नहीं तो खुद को रोक नही पाऊँगी.

ब्लू फिल्म वीडियो सेक्सी पिक्चर

उनकी गांड बजाने के बाद मैं धीरे-धीरे सुकुमारी भौजी के बदन को शहद की तरह चाटते हुए अपनी जीत पर ख़ुशी मना रहा था.

मेरे गर्म वीर्य का जितना भाग छोटी के होंठों और मुंह पर आया, उसने चाट लिया और जितना भी दूसरी जगहों पर था, उसे उसने वहीं मल लिया. मैं उससे पूछती- वर्षा, तुम मुझसे नाराज तो नहीं हो ना इस बुखार के लिए?वो बोली- नहीं दीदी, मैं तो खुश हूँ. मैं कमल के पास गई और उसके लंड को पकड़ कर अपनी चूत पर लगा कर धीरे धीरे बैठने लगी.

मैं उदास थी क्योंकि मेरे इतना कुछ करने के बाद भी रोहण अपनी ओर से कुछ नहीं कर रहा था. मैंने उसे पूरी बात बता दी कि बॉस से आज्ञा लेकर ही सब प्लान किया है. मराठी सेक्सी वीडियो xxxवो अपने लंड को पूरे जोश से मेरी चुत में अंदर बाहर कर रहे थे, मैं भी वासना से घिर कर बोल रही थी- आआआहह… उमआआआ… हां हां हां… हा चोदो मेरे राजा मेरी चूत को! हाय रे मर गयी।‌वो बोले- आआह… कितनी गर्म चूत है तेरी!फच्च फच्च!हा हाँ… आह… गयी मैं!” आआह कर के मैंने अपना रस छोड़ दिया लेकिन समधी जी अभी भी मुझे चोदने में लगे थे.

माया ने अपनी गाड़ी पार्किंग में लगाई और तेज़ कदमों से अपने केबिन की तरफ बढ़ चली. फिर मैंने अपना एक हाथ उसकी जीन्स के ऊपर से ही उसकी चूत के ऊपर रखा और जीन्स के ऊपर से ही उसकी चूत रगड़ने लगा.

दीदी के हाथ में एक चमड़े का हंटर था, जिसे दीदी उन तीनों की नंगी पीठ पर बरसाते हुए कह रही थीं- रांड की औलाद कुत्तों, तुम्हारी यही जगह है अपनी मालकिन के जूतों में. पापा बोले- सच?अंकल बोले- वादा आपसे!मेरे पापा बोले- मैं आज तक नहीं बोला, तो बोल नहीं सकता आरती से, अगर आप बुला दो तो आज जो मांगोगे दे दूंगा. दीदी आगे पूछने लगीं- वो पोर्न वीडियो अभी है या फिर डिलीट कर दी?मैं बोला- है ना.

तब भाभी ने पैर गोद में ही लिए हुए पहले डेटोल से साफ किया और जैसे ही दवाई लगाने झुकीं, मेरा पैर उनके चुचे से छूने लगा. जैसे तैसे मैंने वहाँ बिखरा सामान खिसका के अपना बिस्तर लगाया और दरवाजा भीतर से बंद करने को हुआ तो देखा की अन्दर की चटकनी भी टूटी पड़ी है. बहुत मजा आ रहा है… बस ऐसे ही मुझे चोदते रहो… आज मिटा दो मेरी चुत की गरमी… मिटा दो इसकी सारी खुजली….

हम दोनों अभी बात कर ही रहे थे कि किचन से वह बला की खूबसूरती से भरी हुई मदमस्त भाभी हाथ में चाय का ट्रे लिए हुए हम लोगों के पास आई और मुस्कुराते हुए मुझे चाय का कप पकड़ाने लगी.

कन्धे पर तेल लगाने की वजह से मेरे हाथ उनके चूचे जो आधे से ज्यादा खुले थे, उनपे टच हो रहे थे और नीचे मेरा लंड उनकी चूत में घुसने को बेकरार था. उनकी गर्दन के नीचे सहलाते हुए मैंने अपना हाथ थोड़ा नीचे की तरफ बढ़ाने लगा तो उनका पेटीकोट मेरे हाथ से थोड़ा नीचे की ओर खिसकने लगा और उनकी चुचियां धीरे धीरे नंगी होने लगीं.

आनन्द ने अपने लिंग की नोक को मोना की योनि द्वार पर रख कर एक जोर का झटका दिया और आधा लिंग योनि में घुस गया. कुछ मिनट उंगली करने के बाद भाभी भी मेरा साथ देने लगी और हांफने लगी. अंकल बोले- आरती, मैं अपनी बीवी बोलूं तुम्हें?मैं बोली – 5 मिनट हैं आपके पास जो मन हो कहिए करिए पर जल्दी! कोई आ गया तो मैं बर्बाद हो जाऊंगी!अंकल बोले- ओके मेरी सेक्सी आरती, तुम मेरी बीवी हो!और तुरंत मेरी टांगों को फैलाया, मुंह को मेरी चूत में रख कर पहले चूमा और फिर चाटने लगे.

उसने उसका बदन सीधा करलिया और वो झड़ गयी थी पर मैं नहीं झड़ा था, मेरे धक्के चालू थे. हम तीनों भाई बहन इस जोरदार चुदाई से संतुष्ट होकर अपनी सांसों पर नियन्त्रण पाने की कोशिश करने लगे. इरशाद भाई मेरी पीठ के पीछे चिपके थे, इरशाद ने अपने हाथ पर थूका और मेरी गांड पर चुपड़ने लगे.

सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो मैंने मौका देखा और दीदी के हाथ को अपनी चेस्ट पर रखा और अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चेस्ट पर घुमाने लगा. भाभी ने अपने पैरों को फैलाया और मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत पर रगड़ने लगीं.

एक्स एक्स एक्स ओपन सेक्स वीडियो

आपको बुरा तो नहीं लगा?भाभी ने भी हंस कर मुझे रेस्पॉन्स दिया और खुल कर बात करने लगीं. उसने एक पारदर्शी जालीदार काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी। मैंने उसके कानों पर लिकिंग करते हुए उसके गर्दन से नीचे आते हुए उसके ब्रा के हुक को अपने दांतों से खोला, बहुत देर लगी मुझे ब्रा का हुक खोलने में… फिर मैंने अपने होंठों और दांतों से ही उसकी ब्रा पूरी उतार दी. प्लेट उठाते वक़्त भाभी के गोल गोल मम्मे दिख रहे थे, जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया और वो पैन्ट के ऊपर से मेरे लंड को देखने लगी.

उन्होंने सीधे बढ़ते बढ़ते अपनी गांड को मेरी तरफ किया और इससे मेरा लंड खड़ा हो गया. फिर मैं बाथरूम में गयी और अपनी हॉट चूत में खीरा डालने लगी और वासनामयी आवाजें निकालने लगी- आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह!फिर थोड़ी देर अपनी चूत को खीरे से चोदने के बाद मेरी गर्म चूत ने पानी छोड़ दिया और फिर मैं भी रूम में आकर सो गयी. दूध्वली सेक्सी व्हिडिओहम हमारे अधूरे काम को कब पूरा करेंगे?ये पहली बार था जब संजय ने मुझे नाम से पुकारा था.

लेकिन मैंने पहले अपना लंड चाची के मुँह में पूरा घुसेड़ दिया और 15 सेकंड बाद निकाला, जो कि चाची में थूक से गीला हो गया था.

दस मिनट बाद मैं अपनी चरम सीमा पर आने वाला था और मेरे मुँह से आवाजें आने लगीं- ऑश चाची और जोर से आह. अब वो धीरे-धीरे मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं बिल्कुल पोर्न मूवीज की अभिनेत्री की तरह.

और मैं वीजा के लिए देखो कल जाकर आवेदन कर दूंगी, एग्जाम बाद आने की तैयारी कर लेना और वहां तुमको पूरा एक महीने रुकना है. कुछ देर उसने अपनी उंगलियों से मेरी चुदाई की तो मेरा संयम ख़त्म हुआ और मैं भरभरा कर झड़ गयी. उसके बाद तो हम हर महीने इस तरह के चुत चुदाई समारोहों का आयोजन करने लगे थे.

ब्लाउज झीना होने के कारण सुमित को गोरे गोरे मम्मों की झलक मिल रही थी और उसका लंड पेन्ट फाड़ के बाहर आने को तैयार था.

खास कर अपनी चुत और गांड चटवाना…ऐसे ही एक दिन मुझे बहुत ही तेज खुजली हो रही थी मेरी चुत और गांड में… बहुत मन हो रहा था कि किसी से चटवा लूं. मैंने धीरे से उनकी लुंगी हटा दी और उनका मुरझाया हुआ लंड हाथ में ले कर सहलाने लगी. बातों बातों में एक दिन भाभी ने बताया कि उनकी शादी को दो साल हो गए हैं.

भूतों की कहानी दिखाएंदोस्तो, मैं एक बार फिर से हाजिर हूँ अपनी कहानी लेकर।मेरा नाम गोल्डी है, मैं दिखने में पतला और 6 फिट 2 इंच का 20 साल का अच्छा दिखने वाला लड़का हूँ। मेरा लंड 8 इंच का है और मोटा है जो अच्छी अच्छी लड़कियों औरतों का दम निकल सकता है। मेरी यह कहानी पूरी सच है. साथ ही ऐसा मैंने ये सोच कर भी किया ताकि जान सकूं कि आगे क्या होने वाला है.

सेक्सी बीएफ चोदा चोदी फिल्म

उसने अपने थूक से उसको लंड को गीला किया, फिर ज़ोर शोर से उसके साथ मस्ती करने लगी. मैं नारी शरीर के उस अत्यंत गोपनीय अंग को निहार रहा था जिसको कभी सूर्य चन्द्रमा ने भी नहीं देखा था. पापा बोले- सच?अंकल बोले- वादा आपसे!मेरे पापा बोले- मैं आज तक नहीं बोला, तो बोल नहीं सकता आरती से, अगर आप बुला दो तो आज जो मांगोगे दे दूंगा.

अब शादी ब्याह वाले घर में कई सारे पुरुष होते हैं पता नहीं कौन पिछली रात उनका शील भंग कर गया होगा… यही चिंता उन्हें खाए जा रही थी. कहानी का पहला भाग :बीवी की चुत चुदाई मेरे दोस्त से-1मेरी कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं अपनी बीवी को अपने दोस्त से चुदवाने के लिए एक निर्जन सड़क पर कार में ले गया. !वरुण ने मुझे ऐसे पकड़ा कि मेरे मुँह में अपना मुँह डाल कर किस सा किया.

फिर क्यों पिंकी की गांड मारोगे?अच्छा तू अपनी चूत तक नहीं मारने देती, तू कैसे अपनी गांड देगी मुझे?”राहुल मुझे दर्द होता है, मुझे तुम और कुछ भी कहो, मैं करूँगी. ”अच्छा तुम अपनी चुन्नी, सलवार, कमीज़, ब्रा, पेंटी सभी कुछ उतार कर चेयर पर रख दो और गोलू तुम्हारी साइज़ की नाप लेके बताएगा कि तुम कितना सच बोल रही हो. फिर राहुल की हर महीने प्रेमिका बदलने की आदत भी उसे अपने दिल की बात कहने से रोक देती पर राहुल के बार बार प्रोपोज़ करने पर धीरे धीरे वो मान गयी।सुहानी और राहुल के बीच का रिश्ता दोनों के लिए बिल्कुल अलग था। जहाँ राहुल के लिए वो भी बस एक गर्लफ्रैंड है, लड़की है, मौक़ा मिलते ही उसका बदन इस्तेमाल करेगा और उसे छोड़ देगा.

उसने अपनी उंगलियों से मेरी चूत को खोलते हुए अपना लंड डालना शुरू कर दिया. और हां सबसे खास बात यह कि मेरा बॉयफ्रेंड अवी भी था, वो मुझसे रोज कहता कि चलो कहीं घूमने चलते हैं पर मैं मना कर देती थी.

तलाक का केस सालों चलता रहा, इसी बीच इस गम से माधुरी के पिता बीमार रहने लगे.

और जैसे ही सोफा एक जगह से दूसरी जगह तक रखा, भाभी का पल्लू पूरा नीचे गिर गया था. লুডু খেলা দাওउसने बेड पर मुझे लिटा दिया और वही क्रीम निकाल कर लगा दी और मालिश करने लगा. বেঙ্গলি বৌদির সেক্সचचा माँ माल मेरी चूची और पेट पर गिरा जिसे चाचा ने मेरी ही पेंटी से पौंछ दिया. मम्मी ने अंजलि को कहा- अंजलि बेटा, तू आ जा हमारे पास लेट जा, आराम कर ले!लेकिन अंजलि बोली- मामी, मुझे आप बड़ों की बातें सुन कर क्या मजा आयेगा, मैं भी अंकित के साथ ऊपर वाले रूम में जा रही हूँ.

एक तो वो इस घर की बेटी नहीं थी, वो इस फैमिली से बाहर की लड़की थी, जबकि बाकियों के बीच में खून का रिश्ता था.

तभी दीदी ने अपना सर नीचे कर लिया; मैंने भी हाथ से दीदी के सर को पकड़ा और उसका फेस ऊपर कर दिया, दीदी ने एक पल मेरी तरफ देखा. किड का लंड अब बहुत सख्त हो चुका था, जिसके फलस्वरूप वो किसी खंजर की तरह मेरी अर्धांगिनी की गांड में घुस गया. ये पहला समय था जब मैंने किसी का लंड छुआ था और कोई मेरी चूचियां दबा रहा था.

काफी देर तक चूमाचाटी करने के बाद वो मेरे कपड़े निकालने लगीं और खुद के कपड़े तो उन्होंने फाड़ ही डाले. मेरे हाथ कंधे से हट कर चाची के घुटनों की तरफ आकर कुछ शरारत करना चाह रहे थे. करीब 15 मिनट की किसिंग के बाद मैंने उसका ब्लेजर उतरा और उसकी टी शर्ट हटा दी.

नंगी वाली सेक्सी फिल्म

मैंने लंड बाहर निकाल लिया और उसकी गांड पर रख दिया जिससे वो एकदम खड़ी हो गयी और बोली- गांड ना मराऊँ यार… दर्द घन्ना होवे है. तो उसने मुझे इशारा किया कि मुझे भी सुनने हैं गाने!मैंने कहा- कैसे?तो उसने कहा- आप भी इधर आ जाओ!और मैं उसके बर्थ पर चला गया और हम दोनों एक एक इयर फोन से गाने सुनने लग गए. मैंने उसे चूत दिखाने को कहा और लंड निकाल कर मुठ मारने लगा।अब हम दोनों एक दूसरे को अपने यौन अंग यानी चूत और लंड दिखा कर मुठ मार रहे थे.

मैं बिस्तर पर लेट गया और उसे अपने ऊपर आने को कहा और उसकी गांड पकड़ कर मैंने उसकी चुत को अपने लंड पट टिकाया और उसे धीरे धीरे बैठने को कहा तो मेरा लंड पूरा उसकी गर्म चुत में सरकता चला गया.

मैंने भी कोई प्रतिक्रिया नहीं की, ना खुद को सही किया, ना हिली वैसे ही लेटी रही.

वो बोली- माया दीदी, मेरा बहुत खून निकला ना, मुझे दर्द हुआ, बुखार भी हुआ. मेरी बॉडी धूप में एकदम शीशे की तरह चमक रही थी।फिर रोहण बोलने लगा- मां, आप कितनी ब्यूटीफुल हो!मैंने कहा- थैंक यू बेटा!फिर उसने कहा- माँ, मैं आपके बूब्स को एक बार चूसना चाहता हूँ. कॉलेज सेक्सी फोटोआधी रात बीतने को थी; कभी कभी विपरीत दिशा से आती कोई ट्रेन हमें क्रॉस करती हुई निकल जाती.

मोहन लाल की पत्नी के पिता यानि के मोहन लाल के ससुर भी उसको उतना ही प्यार करते थे, जितना वो उसको करता था. मुझे अजीब सा लगा तो मैं उन्हें वहीं छोड़ कर पार्किंग में आ गया और सिगरेट पीने लगा. इस बार तिगुनी उत्तेजना के साथ सुकुमारी भौजी ने मेरे विश्वास को जगाया.

कुछ देर और चोदने के बाद मेरा बदन अब अकड़ने लगा, मैंने तुरन्त लंड निकाल कर मोना के मुँह में डाल दिया लेकिन उसने मेरा पानी पीने से मना कर दिया. कार को दीदी का बॉस दयाल ड्राइव कर रहा था और पीछे की सीट पर दीदी के ऑफिस के दो बड़े ऑफिसर राकेश और सतीश बैठे हुए थे.

मैंने अपना मुँह उनकी फूली हुई देसी चुत पर लगा दिया और जैसे पोर्न फिल्मों में करते हैं, उसे चुसकने लगा.

मेरे बुर चूसने पर उसके मुँह से बहुत ही मादक आवाज़ निकल रही थी, वो अपने मम्मों को दबा रही ही और साथ में मेरे सर को अपनी बुर में ऐसे घुसाए जा रही थी, मानो आज वो मेरा पूरा सर अपनी बुर में घुसा लेना चाहती हो. धीरे धीरे मैं उसके पेट पर जीभ फेरता हुआ उसकी चुत तक आ गया और जीभ से उसकी चूत को चाटने लगा. साथ ही ऐसा मैंने ये सोच कर भी किया ताकि जान सकूं कि आगे क्या होने वाला है.

ब्लू सेक्सी फिल्म वीडियो ब्लू सेक्सी भैया ने ताकत से अपना लंड बाहर निकालने की बहुत कोशिश की, पर अब उन्हें भी बहुत दर्द हो रहा था. उन्होंने पैर फैला दिये, शायद वो अपनी चूत को थोड़ी राहत पहुँचाना चाह रही हो, उन्होंने अपने हाथों से मेरा शरीर सहलाना शुरू कर दिया, बालों को भी खींचने लगी.

मेरे लंड की लंबाई 6 इंच मोटाई 2 इंच है जो कि किसी भी लड़की भाभी या आंटी को चुदाई का भरपूर सुख देने के लिए काफ़ी है. तभी मेरे हाथ को बहुत ज़्यादा गीला गीला महसूस हुआ, मैं समझ गया कि दीदी की चूत ने पानी छोड़ दिया है. ” दिनेश अपना खून से सना लन्ड उसकी कसी हुई चूत से बाहर खींच लिया।अरे तू तो कुंवारी निकली… छक्का साला मेरा बेटा जो ऐसीचूत की नथ खुलवाईन कर पाया.

सासु मां का बीएफ

मैंने उसकी चूत पर उंगली लगाकर बालों को हटाना शुरू किया, मेरी उंगली लगते ही उसकी चूत की कली छुईमुई जैसे मुरझा गई. मैं ऐसे लेटी थी कि मेरे टॉप का जो हल्का कपड़ा था, वो भी ऊपर खिसक गया था और मेरे मम्मों के पास पहुँच गया था. बोलो न?मैं- क्या आप आज की रात मेरी गर्लफ्रेंड बनेगीं?मामी- अगर तुम ज्यादा बदमाशी नहीं करोगे तो ही बोलो.

उसने अपना मुँह नीचे कर लिया।मैंने थोड़ा गुस्से में कहा- अभी तुम्हारी मम्मी को बताती हूँ।वो- नहीं चाची जी, प्लीज़ मत बताओ।वो रोने लगा।मैं- तो फिर बताओ. जैसे ही लेटा मैं तो हैरान रह गया क्योंकि उसने अपने आप ही मेरे लंड को पकड़ा और सीधा मुँह में ले गई.

चाची मस्ती में आँख बंद किए हुए थीं और दोनों हाथों की मुट्ठी ज़ोर से बंद किए हुए थीं.

”हाँ साल कुत्ते चोद मुझे… चोद… और चोद… मुझ मस्त कर मुझे जितनी गालियाँ दे सको, दो और मेरी फ़ुद्दी को चोद चोद कर चिथड़े उड़ा दो इसके. खाना खाने के बाद हम आपिस अपने घर आने के लिए उठ रहे थे, तो छाया ने रोकते हुए कहा- थोड़ी देर और बैठिये ना, बात करते हैं. मैंने अपना एक पैर आगे बढ़ाया और अंगूठे से उसकी पैंटी अलग करके चूत को कुरेदने लगा.

उस दिन वे मुझसे पूछने लगीं कि तुम्हें फ्रूट कौन से पसन्द हैं?मैंने उनके मम्मों की देखा और बोला- भाभी मुझे चूसने वाले आम पसन्द हैं. उसे बेडरूम में से कुछ जानी पहचानी आवाज आने लगी और वो बेडरूम की तरफ बढ़ चला. इसीलिए उसने मेरी तरफ नज़र भर के देखा और आँख झपका के गर्दन हिला के मुझे इशारा किया कि वो मेरे मन की बात समझ रही है.

थोड़ी देर बाद कुतिया की तरह बेड पर उससे पोज बनवाया और उसकी गांड पर लंड रख दिया और मैंने कहा- अपना मुँह बंद रखना क्यूंकि आगे जितना दर्द नहीं हुआ, उससे कई गुना दर्द अब होगा.

सेक्सी बीएफ मूवी हिंदी वीडियो: दस मिनट के बाद उसने मेरे निप्पल को चूसा, मुझे बहुत ज्यादा ही मज़ा आने लगा. फिर थोड़ी देर बाद मैंने अपने रूम में जाकर पहली बार भाभी को याद करके मुठ मारी.

मैंने उसके हाथ में अपना लंड पकड़ा दिया और वो मेरे लंड को सहलाने लगी. इधर मेरा भी वही हाल था जैसे मैं सर्दी में आग के पास खड़ा हो गया होऊं. बहुत मोटा है इस नीग्रो हब्शी का… अपनी मासूम बच्ची को बचा ले राधिका.

मैंने देर न करते हुए उसकी पैंटी भी उतार दी, जिससे उसकी अनछुई चुत मेरे सामने आ गई.

जब सुपारे के पास का हिस्सा बचा, तब तक उसकी शर्म और घृणा जा चुकी थी. मैंने प्रेरणा के मम्मे और कमर थाम लिये और बीच बीच में कूल्हों पर तबले जैसा थाप देने लगा।अब हम दोनों के अंदर भी थकावट हावी होने लगी, प्रेरणा कांपने लगी, शायद वो झड़ रही थी और साथ ही मेरा सागर भी छलकने को हुआ तो मैंने छोटी को इशारा करके अपने सामने बिठा लिया और अपने लंड का गाढ़ा वीर्य उसके चेहरे होंठ मुंह और शरीर पर गिराने लगा. मैं आपका प्रिय दोस्त रौनक राजस्थान की एक मिडिल क्लास फैमिली में रहने वाला, बहुत ही गठीले सुडौल बदन वाला हूँ, दूर से देखते ही लड़कियाँ मेरी कद काठी सुंदरता के आकर्षण का शिकार हो जाती हैं.