शुद्ध हिंदी देसी बीएफ

छवि स्रोत,डीजे वाली सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

रोबोट सेक्सी पिक्चर: शुद्ध हिंदी देसी बीएफ, व्हाट दा फ़क … मेरा मन कह रहा था कि भाभी पूरी की पूरी नंगी खड़ी है मेरे सामने.

देवर भाभी की सेक्सी चुदाई हिंदी में

उन्होंने मेरे दूधों को जोर से चूसना शुरू कर दिया और मैं तड़पने लगी. नेपाली सेक्सी चाहिए नेपाली सेक्सीमैंने नम्रता को पलंग पर बैठाया और उसकी एड़ी को उसके कूल्हे से सटाते हुए उसकी टांगों को फैला दिया.

वहां आवश्यक फोर्मलिटीस के बाद मैंने ज्वाइन कर लिया और मेरी नौकरी शुरू हो गयी. ऑनलाइन कपड़ा लहंगाभाभी मेरे पास आ कर बैठ गईं और बोलीं- देवर जी पहले मेरे लिए भी एक पैग बनाओ.

मैंने आँख खोल कर मां को देखा, तो पाया कि उनकी नजरें मेरी लुंगी में बने हुए तंबू पर थीं.शुद्ध हिंदी देसी बीएफ: वह शायद पहले से जानती थी कि मैं अगर उसके साथ बिस्तर पर हूँ तो जरूर कुछ न कुछ करूंगा ही इसलिए उसने अपने एक हाथ को आगे ले जाकर अपनी चूचियों को हाथ के नीचे छिपा लिया.

मैं तुरंत वापस आ गई और डर कर सोफे में बैठ कर बॉस को आवाज लगाई- सर चाय बन गयी है.उसके ये बोलने तक मेरा एक हाथ उसकी चूची पर पहुंच गया था … लेकिन उसकी बात सुनकर मैं उसको एकदम से छोड़ कर खड़ा हो गया.

फ्री सेक्सी कहाणीआ - शुद्ध हिंदी देसी बीएफ

उन्होंने अपना हाथ मेरी ब्रा के अन्दर डाल दिया और मेरे स्तन दबाने लगे.बाप-बेटी की इस गंदी गांड मरवाई कहानी में आपको मजा आया हो तो अपने विचार मुझ तक जरूर पहुंचायें.

फिर उसने अपने हाथ मुंह अच्छे से धोये और वापिस बेडरूम में आकर अपनी सलवार और कुर्ती पहिन ली. शुद्ध हिंदी देसी बीएफ मैंने उससे पूछा- बोलो क्या बात करनी है?तो वो बोली- कुछ नहीं, बस ऐसे ही तुमसे मिलने का दिल कर रहा था.

आपने ड्यूटी लगवाने से पहले एक बार भी नहीं सोचा?वो अहसान सा करते हुए बोले- मैं इसमें क्या कर सकता हूं सोनल जी.

शुद्ध हिंदी देसी बीएफ?

चूंकि रंजना के साथ संभोग करने का यह मेरा पहला अनुभव था इसलिए लिंग चुसवाने और योनि चाटने का मेरा मन नहीं किया और न ही मुझे उसके आनंद के बारे में कोई ज्ञान था. दी जब नहाकर बाहर आई तब मैंने देखा कि उन्होंने मेरा एक शर्ट और नीचे पजामा पहना है. जैसे घनघोर बारिश के बाद सारी प्रकृति निखरी-निखरी सी दिखती है वैसे ही अब वसुन्धरा निखरी-निखरी सी दिख रही थी.

एक बात और बताना चाहता हूँ कि मैं कोई साहित्यकार नहीं हूँ, बस अपनी बात अपने शब्दों में लिखने की कोशिश करता हूँ. ये बात उसने मुझे खुद बताई थी कि उसका गुजरात में 4 लड़कों के साथ चक्कर था जिन्होंने उसे खूब चोदा था. आप उस पर ज्यादा ध्यान न दो और कहीं कोई खूबसूरत औरत के साथ सेटिंग कर लो और जिन्दगी का मजा लो.

खैर … एक दिन लखनऊ यूनिवर्सिटी के पास ही मैंने उसको एक लड़के के साथ देखा … जो बिल्कुल घोंचू सा था. मैंने मेरी वाइफ को आईडिया दिया कि एक काम करो, तुम ये सैट अपनी भाभी को दे दो, शायद इसकी फिटिंग तुम्हारी भाभी की साइज की हो. अपने प्रिंसिपल सर के साथ मैं उन्हीं की गाड़ी में अपने घर की ओर चल दी.

उसकी बुर तो बहुत ज्यादा टाइट थी, लंड को उसकी बुर के अन्दर जाने में बहुत मेहनत करनी पड़ रही थी. धीरे-धीरे उसकी तरफ मेरा आकर्षण बढ़ने लगा और मैं उसको पसंद करने लगा.

मुझे देखकर सुमन उठने लगी मगर मैंने इशारे से उसे रोक दिया और वह मेरे सामने हरकेश के लंड पर कूदती रही.

एक दिन अंकल ने मुझे अकेले में पूछा भी- क्यों नीतू … सब ठीक है ना?उनकी आवाज से ही पता चल रहा था कि वो भी टेंशन में हैं.

मेरी पिछली कहानी थी:छोटी सी लड़की लण्ड ले बड़े बड़ेचूंकि मैं काफी समय से अमेरिका में था और काम में बिजी था इसलिए लिखने का वक्त नहीं मिल पा रहा था. दो मिनट के बाद हमने एक दूसरे के होठों को एक दूसरे से आजाद किया।अपना खड़ा लंड मैंने हाथ में हिलाते हुए रीना के मुंह के पास कर दिया. लंड चुसाई का मजा और बढ़ाने के लिए मैंने पैंट को ऊपर से खोल दिया और उसके बाद धीरे से अपनी पैंट को नीचे सरका दिया.

पाठकगण! मैं आपसे झूठ नहीं बोलूंगा … उस वक़्त चुनरी का वसुन्धरा की पेंटी की पकड़ से छूट जाना मुझे भी कहीं अंदर ही अंदर बुरा सा ही लगा था. फिर नीचे की तरफ बढ़ी और पंजे के बल बैठते हुए उसने अपने दोनों हाथ मेरी जांघों पर गड़ा दिए. उनके ऐसा करते ही मैं चौंक कर बोली कि अरे क्या कर रहे हो … छोड़ो मधु आ जाएगी.

अब हालत यह थी कि एक तरह से वसुन्धरा मेरे आगोश … आंशिक ही सही लेकिन आगोश में थी.

बिन्दू डर गई और बोली- सॉरी, आगे से नहीं करूंगी, आप प्लीज किसी को मत बताना. मीता- मतलब?मैं- मेरा मतलब तुम इतनी सुन्दर हो और तुम्हारा दोस्त तुम्हारे सामने कुछ भी नहीं है. मैंने खड़े हो कर उसे बांहों में भर लिया और खड़े खड़े उसके कान के निचले हिस्से को झुमके समेत अपने होंठों में दबा लिया.

जब लड़की लंड की राइडिंग करती है, तो को लंड उसकी चुत के अन्दर तक जाता है, जिसका अहसास का मज़ा ही अलग आता है. पति- हां रानी मैं भी ऐसा करना नहीं चाह रहा था, लेकिन तुम्हारी बात दिमाग से निकल नहीं रही थी. मैंने गैलरी में ही नेहा को गोदी में उठा लिया और उसको प्यार करने लगा.

रमेश ने अपने एक पैर को रिया की पीठ पर रखा हुआ था और रिया के बाल सहलाते हुए उसको खूब गालियाँ दे रहा था- मादरचोद, मां की लौड़ी, भोसड़ीवाली, चुदक्कड़ रांड …और भी कई अलंकारों से रमेश ने उसको नवाज़ा।रिया गालियां सुनकर और ज्यादा जोश में आ रही थी और लंड चूसने की उसकी गति बढ़ती जा रही थी.

सर मेरे पास आकर मेरे होंठों पर अंगूठे से फिराते हुए बोले- वाह रे रांड, तू तो बहुत ही चुदक्कड़ चीज है. हां बेटा, एकदम सच्ची में!” अंकल जी बोले और मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपनी ओर खींच लिया.

शुद्ध हिंदी देसी बीएफ उसके साथ के मजे तो मैं कभी भी लिख सकता हूँ, लेकिन आज मैं आपके सामने मेरी साले की पत्नी यानि की मेरी सहलज के साथ हुई रसीली घटना बताने जा रहा हूँ. वो पागलों की तरह मेरे जिस्म के हर हिस्से पर चुंबन की बरसात करने लगी.

शुद्ध हिंदी देसी बीएफ मैंने उसकी डोरी वाली ब्लैक पेंटी को खोल कर फेंक दिया और उसकी क्लीन शेव चूत को उंगली से सहलाने लगा. वो अपने से दोहरे उम्र के आदमी से बात कर रही थी, पर आजकल के नौजवान किसी से हार मानना पसंद ही नहीं करते.

दस मिनट तक मैंने उसकी बुर में लंड को अंदर बाहर करते हुए उसकी बुर को चोदा और मेरे लंड ने भी पानी छोड़ दिया.

మలయాళం సెక్స్ వీడియో

मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भागजाट लड़के ने जाट लड़की की सीलपैक चूत चोदी-2में अब तक आपने पढ़ा कि मेरे साथ कोचिंग में पढ़ने वाले एक लड़के अमित से मेरी लव स्टोरी चलने लगी थी. ’तभी तुषार ने मेरे मुँह में से अपना लंड बाहर निकाला … और मेरे मुँह से चीख निकल गयी- आआअहह …मुझे इस समय बहुत मज़ा आ रहा था. सच कहूँ, तो उस दिन हम दोनों को बहुत मज़ा आया, जो उसने बाद में मुझे बताया था.

उसके बाद हम दोनों ने यहाँ-वहां की कुछ बातें की और कुछ चुदाई की बातें की. उसने इशारे से पूछा- कहाँ?तो मैं जवाब देने के बजाय उसके घर पहुंच गया. इस तरह से अर्चना से मुलाकात हुई और उसको ऑफिस के बारे में बताने कुछ काम समझाने का मौका मिला.

इस घटना के बाद हम दोनों घर में मौका मिलते ही घर में सेक्स कर लेते हैं या होटल में जाकर सेक्स का मजा ले लेते हैं.

थोड़ी देर बाद उन्होंने मेरा लंड बाहर निकाला और मुड़ कर अपना एक पैर बाजू में पड़े एक टेबल पर रखा और एक पैर जमीन पर. शायद इस तरीके से रेखा को ज्यादा आनन्द नहीं आया, तो वो खुद ही सीधी होकर बैठ गयी और फिर अपनी कमर को गोल-गोल घुमाने लगी. पहली वाली के मम्मे बड़े थे, लेकिन मैं इतना मदहोश था कि मुझे पता लगाना मुश्किल हो रहा था.

मैरी मेरा लंड चूसते हुए ऐसे लग रही थी जैसे किसी पोर्न मूवी का सीन चल रहा हो. पूनम को मौका कभी-कभी ही मिलता है लेकिन उन दोनों में से किसी एक को भी अगर मैं कभी अकेला दिखाई दे जाऊं तो वे मेरे लंड को खाने के लिए दौड़ पड़ती हैं. उसे मेरे मुँह से एडल्ट जोक्स सुनकर बड़ा अच्छा लगता था और वो मुझे धौल जमाते हुए मजा करती रहती थी.

अगले भागों में आपको पता लगेगा कि मेरे यार ने मेरी चूत को कैसे चोदा. बात आगे बढ़ने से पहले ही मैं बोला- मां पिताजी कहां हैं?वो बोलीं- अभी आ जाएंगे, वो कुछ काम के लिए बाहर गए हैं.

मैंने अंगूठे को पूरा चाची की चूत में डाल कर तेजी से उनकी चूत को कुरेदना शुरू कर दिया. हम दोनों चुदाई करते करते इतनी मदहोशी में डूब गए थे कि हम दोनों को ये भी पता नहीं चला कि शाम कब हो गयी. मैं मूवी का बोल रहा था, जबकि वो कह रही थी कि होटल में रूम ले लेते हैं.

तू टेंशन मत ले।रिया- जैसे मन करे वैसे चोदो डैड। मैं तुम्हारी दासी हूं.

मैंने अपना सुपारा मीना की यौवन की घाटी के मुहाने पर रखा और आदतन पूरी ताक़त से ज़ोरदार धक्का लगा दिया. मेरी चूची में उसके जोर से दबाए जाने से हल्का दर्द हो रहा था क्योंकि वो मेरी चूची को बहुत जोर से मसल रहा था. फिर मैंने ही पहल की और पैंटी को नीचे सरकाने लगी, जैसे जैसे मेरा योनिप्रदेश उनके सामने अनावृत हो रहा था, वैसे वैसे उनकी आंखों में चमक दिखाई दे रही थी.

मैं- क्या तुमको सुबह की बात को लेकर कुछ कहना है?मीता- सॉरी वो बहुत ज़िद कर रहा था तो क्लास बंक करके मैं उसके साथ चली गई थी. दीपिका- तुम आकर खुद ही बात कर लो न?संजना- तुम राज जी से बात तो करो, तुम्हारे लिए तो वे अपना कमरा भी खुला छोड़ गए थे, हाय, ऐसा पड़ोसी मुझे भी दिला दो यार.

बाहर से तो किसी को कुछ दिखाई देगा नहीं और घर पर कोई देखने वाला है नहीं. मैंने मंजू से पूछा- कुछ पूछूँ? बताओगी मंजू?वो बोली- जी!तुम्हारी घर से भागने वाली बात बताओगी?”वो बोली- जरूर … उस समय मेरा एक लड़के से सम्पर्क था. मैंने उसे सारी बात बताई तो वह खुश हो गई और अपने कपड़े हटाने में मेरी मदद करने लगी। मैं उसे चूस रहा था, अपने दांतों से काट रहा था.

બળાત્કાર સેક્સી

उसने मुझे रुकने को कहा और मुझे अपना कार्ड दिया, बोला- अगर काम की जरूरत हो तो मेरे ऑफिस में कुछ जगह खाली हैं, अगर चाहो तो एक बार आकर देख लेना.

वो इस प्रक्रिया में लंड निकालने के साथ ही मेरे मुँह की तरफ लंड कर देता और अपना मुँह मेरी चूत पर लगा देता था. मैं शुभ्रा से चिपक गया और उचक-उचक कर देखने के चक्कर में लंड उसकी गांड से बार-बार टकरा रहा था. मगर उसकी चूत की मदहोशी ऐसी थी कि पता नहीं कब मेरी जीभ उसकी चूत पर चलने लगी.

मैंने कहा- यार निहारिका तू है ही इतनी सेक्सी … किसी का भी मन न भरे. मैंने उसके होंठों पर हाथ रखकर कहा- बस यही दर्द है, थोड़ा सा सहन करो बस अभी थोड़ी देर में ही दर्द सही हो जाएगा. चोदा चोदी वीडियो सेक्सी चोदा चोदीनम्रता भी जोश में अपनी चूचियों को भींच रही थी और दोनों मम्मे को बारी-बारी अपने मुँह की तरफ ले जाती और जीभ को निप्पल की तरफ चलाती.

उसकी दोनों टांगों को मेरे कंधे के पास रख कर मैं दोनों पैरों पर बैठ कर पेलने लगा. और यह लैला भी अपनी जवानी की भूख को अब और सहन करने के पक्ष में बिल्कुल नहीं लगती है।ज … जया जी … आप ब … बहादुर औरत हैं आपको हौसला नहीं छोड़ना चाहिए.

मैंने उत्तेजना वश पूछा- और क्या अंकल?और तुमने अन्दर जो पहना है वो … अगर पहना हो तो … वो भी उतारना पड़ेगा. मैंने उसकी जांघिया पर हाथ फिराया तो पता लगा कि उसकी कच्छी गीली हो चुकी है. पहुंच कर मैंने पूछा- भाभी आप मुझे बुला रहे थे क्या? बताइये क्या काम है?यह सब पूछते हुए मैं किचन तक पहुंच चुका था.

ऐसे आज तक किसी ने चूत मेरी क्या … किसी की भी चूत, किसी ने भी नहीं चाटी होगी, जैसे वंश चाट रहा था. मनीषा बेडरूम में छिपी हुई थी, जागृति दरवाजे के पीछे और मैं बाथरूम में छिपा हुआ था. मीरा रितेश के लंड को सहला रही थी, वो कभी लंड के सुपारे को चूम रही थी.

फिर पूनम की नजर मुझ पर पड़ी पर उसने शर्ट सही नहीं किया बल्कि मझे देखकर एक कुटिल सी हंसी हंस दी.

इसी लिए दीपाली की चुत पर मुँह रख के बहुत जोर से चूसा और ढेर सारा थूक उसकी चुत पर मल दिया. नाड़ा खोलकर सलवार को कमर से थोड़ा नीचे करके उसकी नाभि पर अपने होंठ फिराने लगा। मेरी इस हरकत पर सिसयाते हुए वो बोली- मैंने कहा था न कि मेरे से दोस्ती करेगा तो तुझे ज्यादा मजा आयेगा और तू है जो किताब पढ़कर अपने लौड़े को मरोड़ रहा था!मेरे मन में अब तक की जो शुभ्रा थी, वो कहीं खो चुकी थी.

मैं एक बार फिर घुटने के बल होकर उसकी जांघों के बीच आ गया और उसकी जांघों पर अपने हाथ का दबाव देकर मैंने कहा- जान जब मैं तुम्हारी जांघ को दबाऊं, तो तुम मूतना रोक देना … और ढीला करूँ तो फिर शुरू हो जाना. जब ग्यारह बज गये तो मैंने सोचा कि अब तक जीजू और हेतल दोनों सो चुके होंगे. जब मैं अंदर गया तो पूनम पोछा लगा रही थी और उसके शर्ट से उसके चूचे आधे बाहर आये हुए थे.

हेतल ने मेरी तरफ देख कर कहा- क्यूं रे, इतनी जल्दी? तू अपनी बीवी को कैसे खुश रख पायेगा. मेरे लंड महाराज तो पहले ही मानसी की चुत की गर्मी से पूरे लोहे की रॉड बने हुए थे. कहीं से भी शरीर पर अतिरिक्त चर्बी नहीं दिखाई देती थी बल्कि उनको देख कर लगता था कि जैसे वो कोई मॉडल ही हों.

शुद्ध हिंदी देसी बीएफ शायद वह मुझे अपनी नंगी टांगों कमर और चूत को घूरते हुए नहीं देख पा रही थी. फिर हमने ये प्लान बनाया कि पहले मैं तेरे लंड को अपनी चूत में लूंगी और वो भी तुझे बिना बताये हुए.

सेक्सी वीडियो 2001 की

शायद उसकी कमनीय काया को लेकर आपके लंड ने भी समझ लिया होगा कि वो सांवली सुन्दरी कितनी गर्म माल होगी. उसने मेरे लिंग को अपनी चूत में जैसे कैद करके जकड़ सा लिया और उसकी चूत से निकलने वाली कामरस की गर्म धार सी मुझे मेरे लंड के इर्द गिर्द और लंड के टोपे पर महसूस हुई. खैर बड़ा समझाने के बाद शुभ्रा तैयार हुई और लंड को मुंह मे लेकर चूसने लगी.

आप ऐसे अचानक आ गए?वो बोला- अच्छा हुआ साली रंडी तूने सूसू नहीं किया. मैं तो पहले से ही चाहती थी कि भैया मेरी चूत को चोद दें मगर अभी तक मौका नहीं मिल पा रहा था. माँ बेटे की सेक्सीमैंने अपनी एक टांग उठाकर बेड पर टिका दिया ताकि उनको उंगली करने में आसानी हो जाए.

मैंने अपने हाथ से बेडशीट को कसके पकड़ा, तो भैया ने समझ लिया कि मैं रसधार देने के लिए तैयार हूँ.

आअह्ह ह्ह चोद दे बेबी … जोर जोर से चोद माय स्वीट बेबी … फ़क मी आअह उफ्फ!”वंश मुझे धकापेल चोद रहा था और मेरे होंठों में किस भी कर रहा था. सीमा और नितिन का चुदाई का खेल चालू हो गया, सारे दरवाजे खिड़कियां बंद करके दोनों एक दूसरे से ऐसे चिपक गए, जैसे जन्म जन्म से प्यासे हों.

वो किचन में खड़ी होकर आटा गूंध रही थी, बोली- सुबह सुबह कहां निकल पड़े?मैंने कहा- तुम्हें चोदने. जब मैंने संजना और शीना को अपनी आंखें खोल कर देखा कि वह क्या कर रही है, तब मुझे बहुत ही ज्यादा खुशी हुई कि 2 औरतें मुझसे इतना प्यार करती हैं. वो मेरे मुंह पर बैठ गई, मैं चाची की चूत चाट रहा था और कंचन मेरा लंड।फिर मैंने वीडियो में देखी हुई वाटरफॉल पोजीशन ट्राय की जिसमें मेरे पैर बेड पर और सर जमीन पर … मेरे लंड पर कंचन बैठ गई और चाची ने मुंह से अपनी चुत चटाई। इस पोजीशन में हम करीब 15 मिनट तक थे। फिर हमने नई पोज़ बनाई जिसमें कंचन की चूत में लंड डाल कर वो मेरी गोद में बैठ गई। और चाची ने उसकी चुत चटाई की.

मैं गाड़ी से उतरा और दूसरी तरफ गया। गेट खोल कर उसे बाहर निकाला।उसके उठते ही उसका गाउन सरक कर पैरों में आ गया। वो घबराई.

नवरात्रि की रात को गरबा खेलने के बाद जब रुमित, भार्गव, तुषार और मैं जब घर आने के लिए निकले. वो बोली- आप लोगों कितना करते हो यार … मैं तो देखते देखते थक गई … लेकिन आप दोनों नहीं थके. रानी ने लंड को मुस्कुराते हुए सहलाना शुरू कर दिया- यार राजे, यह तेरा सण्ड मुसण्ड तो बड़ा ही शैतान है.

ग्रुप सेक्सी मूवीथोड़ी देर बाद उसने अपना पूरा लंड मेरी गांड में डाल दिया … और अन्दर बाहर करते हुए मेरी गांड मारता रहा. डॉक्टर जूली ने चेक-अप के बाद प्राथमिक जांच में बताया था कि चुदाई करते वक्त लंड की नसें नीचे दबी रह गई होंगी शायद इसीलिए लंड सामान्य स्थिति में नहीं आ रहा है.

बाप बेटी सेक्स मूवी

उसके तीन चार बार लगातार मेरे होंठों को चूसने से मुझे सेक्स का पूरा नशा चढ़ चुका था और मेरे बूब्स अब ऊपर नीचे होने लगे थे. रमेश- क्या चाहिए कुत्ती खुलकर बोल? रमेश उसके बाल खींचते हुए बोला।रिया- लण्ड … आपका लण्ड मुझे मेरी गांड में चाहिए डैडी। मुझे अपने लंड का ईनाम दे दो डैडी।रमेश- भीख मांग लण्ड के लिए।रिया- प्लीज डैडी, मैं आपके लंड की भीख मांग रही हूं. मेरी बोली- कितनी सेक्सी लग रही हूँ?मैंने उसकी चूचियों पर हाथ डाल दिया और दबाते हुए कहाब- बिल्कुल सन्नी लियोनि सी माल लग रही है.

जल्दी जल्दी फ्रेश होकर मैंने भगवान को प्रसाद चढ़ाया, उन्हें नमस्कार किया और बाहर आ गया. मेरी चूत टाइट थी मगर जीजा का लंड बासी ककड़ी की तरह यहां वहां चला जाता था. लेकिन राज मेरी पेंटी के अंदर हाथ डाल कर मेरी छोटी छोटी झांटों पर सहलाने लगा.

इस बार लंड बिना किसी आनाकानी के अन्दर चला गया। मेरा उत्साह और बढ़ गया और मैं लंड को बहन की चूत के अन्दर और धकेलने लगा. शर्मा सर थोड़ा आगे आ गए, उनकी गर्म सांसें मेरी जांघों पर गुदगुदी कर रही थीं. तुम्हें भूख नहीं लगी है क्या?मैंने कहा- नहीं यार, मुझे तो तुम्हारी चूत की भूख है.

प्रतिभा की बात सुनकर मुझे लगा कि खुशी और मेरी वार्तालाप को मैं ही समझ सकता था, प्रतिभा केवल सुनी हुई बात जानती थी. मैं- टेक ऑफ यॉर पैंटीज नाउ! (अपनी पैंटी उतारो अभी)वो आश्चर्य से मेरी तरफ देखने लगी.

मतलब बन्दी मेरे बारे में सब जानती है!दोस्तो, जब कभी भी चिकन या मटन बनता था तो मैं मामा की बोतल से एक पैग निकाल लेता था और सबकी नज़र बचाकर जल्दी से खाना खाने से पहले पी लेता था।मैं शुभ्रा की तरफ देखता ही रहा.

जब मैं अगले दिन ऑफिस गया, तो मेरा एक दोस्त बोला कि उसे ऑफिस के काम से कुछ दिनों के लिये बाहर जाना है और 3 दिन बाद उसके माता पिता आने वाले हैं, तो वो घर बंद करके नहीं जा सकता. आईसीसी t20 वर्ल्ड कप लाइव स्कोरकुछ देर बाद वह बोल पड़ी- क्या हुआ? अब कुछ नहीं करना है क्या? वहां पर इतने सारे लोगों थे तो मुझे नंगी कर देना चाहते थे. கீர்த்தி சுரேஷ்செக்ஸ்खुशी वैभव को बहुत ज्यादा चाहती थी इसलिए उसने उसके साथ सारी हदें शादी के पहले ही लांघ डालीं. बेबी रानी लगता था कि नींद में भी चुदाई का स्वप्न देख रही थी क्यूंकि उसकी एक उंगली बार बार अपनी चूत पर चली जाती थी.

मैंने देखा कि कोई भूतनी सी छाया वहां खड़ी है, उसे देखकर मैं एकदम से डर गया.

जाने के वक्त मैंने उसे दर्द की दवा और गर्भनिरोधक दवा खिलाई और घर भेज दिया. फिर उसने लंड को बाहर खींच लिया और उसकी पैंटी रिया की गांड में ठूंस दी. मतलब बन्दी मेरे बारे में सब जानती है!दोस्तो, जब कभी भी चिकन या मटन बनता था तो मैं मामा की बोतल से एक पैग निकाल लेता था और सबकी नज़र बचाकर जल्दी से खाना खाने से पहले पी लेता था।मैं शुभ्रा की तरफ देखता ही रहा.

साले को चुदाई के बीच फोन करने की क्या जरूरत थी?मैं रूका और बोला- उस बेचारे को क्या मालूम कि तुम चुद रही हो, फोन उठा लो. लावा भरा पड़ा था … शायद इसी वजह से कुछ 17-18 झटकों में मेरी पूरी गांड भर गई. स्टूडेंट्स के जाने के बाद वो बोली- लड़कियां तो दीवानी हैं राहुल जी आपकी.

सेक्सी इंग्लिश सेक्सी इंग्लिश

ओके सर!” मैं धीमी आवाज में बोली और रवि सर के सामने पड़ी कुर्सी पर बैठ गयी. मंजू जब घर से फरार हुई थी तो उस घटना का मैंने गोपनीय रूप से पता लगाया था. उन्होंने कहा- थोड़ी देर सो जाओ!तो मैं ऐसे ही नंगा लेट गया और वो कपड़े पहनने लगी.

सर मेरे पास आकर मेरे होंठों पर अंगूठे से फिराते हुए बोले- वाह रे रांड, तू तो बहुत ही चुदक्कड़ चीज है.

रमेश- क्या चाहिए कुत्ती खुलकर बोल? रमेश उसके बाल खींचते हुए बोला।रिया- लण्ड … आपका लण्ड मुझे मेरी गांड में चाहिए डैडी। मुझे अपने लंड का ईनाम दे दो डैडी।रमेश- भीख मांग लण्ड के लिए।रिया- प्लीज डैडी, मैं आपके लंड की भीख मांग रही हूं.

इधर मेरी चूत ने जवाब दे दिया था और उसमें से पानी निकलने लगा तो मैं भी अपनी मैक्सी ऊपर करके अपनी चूत में उंगली करने लगी।उधर ससुर जी गपागप चूत में लण्ड पेले जा रहे थे. मैंने उतने ही माप के धीरे-धीरे धक्के‌ लगाने शुरू कर दिये जिससे मोनी अब हल्के-हल्के टसकने लगी।मोनी ने अपना मुँह जोरों से भींचा हुआ था इसलिये उसके मुँह से कराहटें तो नहीं निकल रही थीं मगर कराहटों की जगह हल्की हल्की टसकने की सी आवाज निकलना शुरू हो गयी थी। पता नहीं मोनी ऐसे ही टसक रही थी या‌ सही में उसको तकलीफ हो रहा थी? मैं उस वक्त इस बारे में किसी निर्णय पर पहुंचने में सक्षम नहीं था. वीडियो सेक्सी तस्वीरहम दोनों भाई-बहन खड़े होकर तिरछी नजरों से वह नजारा देख रहे थे मगर ये जाहिर नहीं होने दे रहे थे कि दोनों की ही नजरें सामने चल रहे कुत्ते और कुतिया की चुदाई के सीन पर हैं.

अब क्या बोलना बाकी रह गया था, मैं बोला- खाना तो बाद में भी खा लेंगे मेरी जान. इसी उत्तेजना का परिणाम था कि वो जल्दी ही खल्लास हो गई और उसका पानी मेरे मुंह में गिरने लगा। वो शायद संकोचवश मेरे मुंह को अपनी चूत से अलग करना चाह रही थी लेकिन वो असफल रही. मैंने धीरे-धीरे करके दोनों उंगली पूरी की पूरी उसकी बुर में घुसा दीं और फिर दोनों उंगलियों को चौड़ी कर लिया और उसकी बुर में चलाने लगा.

दूसरी तरफ मैंने बॉयफ्रेंड के जाने के बाद दूसरा चुन लिया, फिर तीसरा … फिर चौथा. उन्होंने कहा- थोड़ी देर सो जाओ!तो मैं ऐसे ही नंगा लेट गया और वो कपड़े पहनने लगी.

मैं- अरे तो क्या हुआ, तुम चाहो तो अपनी चूची से मेरी गांड मार सकती हो.

चरमसीमा तक पहुंचते ही मेरे दोनों पैर अकड़ने लगे … और मैंने उसको ज़ोर से अपनी ओर खींच लिया. सोच लो!इतना कह कर वे उठे और बोले- मैं बाहर से एक सिगरेट पीकर आता हूँ. इसके बाद वंश ने मुझसे बोला कि मम्मी आप रियली बहुत सुन्दर लग रही हो.

రోజా తెలుగు సెక్స్ వీడియో चौदह साल! भगवान् राम चंद्र जी को भी तो चौदह साल का बनवास हुआ था लेकिन राम जी के साथ तो माता सीता और भैया लक्ष्मण भी थे पर इस प्रेम-पथ पर इस तन्हा विरहन के साथ तो कोई भी नहीं था, वो भी नहीं जिस के प्रेम में ये सब हुआ. घर पर तो ये सब हम कर नहीं पाते हैं … और अब जब मौका मिला तो मैं कैसे छोड़ देती.

मैं सरक कर बेबी रानी की तरफ हो गया और फिर उसके चूतामृत का लुत्फ़ उठाया. बगल में सोये दूसरे लोगों के उठने का भी डर था क्योंकि मां तो सुबह में जल्दी ही उठ जाती थी. मैंने गोद में उठाये हुए ही उसको होंठों पर हल्का सा चुम्बन किया। उसने भी आँख बंद करके मेरा वेलकम किया। फिर बाथरूम में जाकर हम साथ में नहाये.

राजस्थानी थ्रेसर की कीमत

फिर अंकल जी ने मेरी चूत का वो बाजा बजाया कि मेरी पोर पोर दुःख गयी और उस रात तीन बार चुद कर मैं तृप्त हो गयी और उनसे लिपट कर नंगी ही सो गयी. वह हैरान थी कि मैं उसकी बात या उसका इशारा समझ पाया या नहीं?दरअसल वह मुझे इशारा कर रही थी कि आज मम्मी बाहर जाएंगी और मैं अकेली हूँगी, तो तुम आ जाना. मगर वहां जो शावर वाला स्थान इतना बड़ा नहीं था जिसमें तीन लोग फिट भी हो जाते और चोद भी लेते.

बात आगे बढ़ने से पहले ही मैं बोला- मां पिताजी कहां हैं?वो बोलीं- अभी आ जाएंगे, वो कुछ काम के लिए बाहर गए हैं. नील देख कर बोली- काफी कस कर चुदाई की है तुमने सारा की! पूरा समझने के लिए मुझे पूरी चुदाई की कहानी तफ्सील से सुनाओ आमिर!मैंने कैसे दिलिया और सारा को कल रात और आज सुबह चोदा, पूरी तफ्सील से सुना दिया.

जब मैंने अपने लंड को उसके मुंह से बाहर निकाला तो थोड़ा सा वीर्य उसके होंठों पर लग गया.

वसुन्धरा का दायां हाथ उत्तेजना-वश मेरी पीठ पर रह-रह कर कस-कस जाता था और उसके मुंह से सीत्कारों का प्रवाह सतत जारी था. भैया ने मुझे गांड से बिना लंड निकले धक्का दिया, तो मैं बेड पर लेट गया और भैया मेरे सामने आ गए. नम्रता- तुम एक दिन अच्छे से इसकी खुजली मिटा दो, तो फिर मैं खुजली नहीं होने दूंगी.

वो बिलबिला गई उम्म्ह… अहह… हय… याह… मेरी पकड़ से छूटने के लिए जद-ओ-जहद करने लगी. अंकल जी मेरी पीठ पर हाथ से सहलाने लगे; मेरी चिकनी पीठ पर उनके हाथ निर्विघ्न फिसल रहे थे क्योंकि ब्रा तो मैंने पहनी ही नहीं थी. प्रेशर रिलीज होने की वजह से बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और मेरी आंखें अपने आप ही बंद हो गईं.

मैंने भी उनकी आंखों में प्यार से झांकते हुए कहा- चाहिए तो बहुत कुछ है लेकिन अभी सिर्फ चाय ले आइए.

शुद्ध हिंदी देसी बीएफ: अगर कोई उसको अपनी चूत दे रही है, तो उसकी चूत को खूब चोदे, लेकिन मेरी भी चूत की प्यास भी तो बुझाये. मुझे बोले- जल्दी यहाँ आकर बैठो और इस फाइल में जो लिखा है, उसको बताओ, मैं सब जल्दी से इसमें लोड कर दूँ.

उसने 5 मिनट तक मेरे संतरे जैसे होंठों को चूसा और सारी लिपस्टिक व लिप लाइनर छुड़ा डाली. उसने हमसे बैठने के लिए कहा और बोला कि मैं आप लोगों के लिए एक और सीट देख कर आता हूँ. नेहा ने बहुत सुंदर परफ्यूम लगाया था और नहाने के बाद बाल खुले छोड़ रखे थे.

मैं उसका हाथ पकड़ कर लंड को उसके हाथ में पकड़ाते हुए बोला- थोड़ी देर और रुक जाओ.

थोड़ी देर बाद नम्रता अपने कपड़े सही करते हुए बोली- अपने घर बुला लिया है, दिखाओगे नहीं अपनी बीवी के लिए हुए सेक्सी कपड़े?मैं- ओह हां यार, तुम्हारा कामक्रीड़ा से युक्त मादक जिस्म मेरे सामने जब से आया है, मैं सब कुछ भूल जाता हूं. फिर मैंने दीपाली की चूत से अपना लंड बाहर निकाला, तो दीपाली की चुत, मेरा लंड और मेरी चादर खून से ख़राब हो चुकी थी. वैसे लड़के अक्सर लड़की को देख कर चोदने की प्लानिंग करना शुरू कर ही देते हैं.