सेक्सी बीएफ किन्नरों की

छवि स्रोत,सारी वाली सेक्सी सारी वाली सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

होली गीत भोजपुरी में: सेक्सी बीएफ किन्नरों की, लेकिन काम भी जरूरी था, इसलिए हम लोगों ने लाईट की व्यवस्था की और फिर से काम चालू हो गया.

सेक्स सेक्सी सेक्स सेक्स

एक दिन मेरा फोन बजा- ट्रिंग ट्रिंग ट्रिंग …अज्ञात नम्बर था। ऐड वगैरह के अनजान नंबर से फोन आते रहते थे. हॅलो सेक्सी गेमअब आगे:मेरे मम्मों को दबाते दबाते उसे भी बहुत मज़ा आ रहा था, वो बोला- आशना, कैसा लग रहा है?मैं कुछ नहीं बोली और बस ‘उन्नह.

पुरुष दम्भ … ये तो है ही!यक-बा-यक बिला-वज़ह ही फिज़ा खुशगवार सी हो चली थी और वसुन्धरा भी कुछ सहज़ सी दिखने लगी. पाकिस्तानी एक्स एक्स सेक्सी वीडियोदीद के जाने के बाद मुझे एक अजीब सी शांति मिली और अब मेरा मन चुदाई का खेल खेलने का करने लगा.

उसने मुझे बेड पर फेंक दिया और खुद मेरे ऊपर चढ़ गया और फिर से अपना लोड़ा मेरे मुंह में घुसेड़ दिया, कुछ धक्के मारने के बाद उसका छूट गया और पूरा मैंने रस पी लिया.सेक्सी बीएफ किन्नरों की: सायमा ने बेसब्री दिखाते हुए मेरे अंडवियर को उतार दिया और मेरे तने हुए लौड़े को अपने गर्म मुंह में भर कर चूसने लगी.

उसके बाद मैंने चाची को बोला- इतनी स्वादिष्ट होती है चूत … मुझे मालूम होता तो मैं पहले ही आपकी चूत को खा गया होता.आकर कहने लगी- जो तेल तुम लेकर आये उससे मेरी मालिश कर दोगे क्या? आपके दादा जी ने इसी तेल से मालिश करने के लिए कहा था.

सेक्सी सनी लियोन की चूत - सेक्सी बीएफ किन्नरों की

उसका पूरा जिस्म हिल रहा था और वो ज़ोर से ‘आऽह्ह्ह आऽऽह्ह …’ करती हुई फिर एक बार झड़ गई.मगर मेरी हेतल दीदी ने उसे अपने रूम में भेज दिया और खुद उसके रूम में आकर अपनी चूत चुदवा ली.

वहां पहुंच कर डॉली ने मेरे फोन से ही गुप्ताइन को पहुंचने की सूचना दी. सेक्सी बीएफ किन्नरों की वो मुझसे मेरी क्लाइंट और उनकी मेरे द्वारा की गई चुदाई के बारे में पूछने लगी.

?नम्रता ने बड़े इत्मीनान से पूछा- टाईम क्या हुआ?जब पति देव ने टाईम बताया तो बोली- देर रात तक नींद नहीं आने के कारण नींद नहीं खुली.

सेक्सी बीएफ किन्नरों की?

वह बार-बार अपनी गर्दन उठा कर मेरे होंठों को चूस कर वापस से चुदाई का मजा लेने लगती थी. उसी वक्त भाभी ने दिमाग से काम लिया और अपनी बहन का ध्यान अपनी तरफ बंटाने की कोशिश करने लगी. जब मेरा लंड भाभी की चुत में 6″ तक घुस गया, तो वो बोलीं- अब रुक जाओ.

कुछ देर तो वो दर्द से बिलखती रही मगर फिर उसको भी धीरे-धीरे मजा आने लगा. वैसे तो उसको देख कर ही मेरे मुंह में पानी आ गया था लेकिन मुंह के साथ-साथ लंड में भी पानी आने लगा था. वो नीचे से मेरी टांगों की तरफ आई और उसने मेरी जीन्स का बटन खोल कर जीन्स ओर अंडरवियरएक साथ नीचे कर दी.

करीब दस मिनट बाद मैंने अपने झटकों की स्पीड कम कर ली और कुछ पल बाद रुक गया. मैंने कहा- कैसी लगी मेरी चुत?तो वो बोले- मस्त … बड़ी टाईट लग रही थी. जब वो गहरी नींद में सो गई तो मैंने चेक करने के लिए उसको आवाज लगाई तो वो कुछ नहीं बोली.

उसकी साड़ी और पेटीकोट के निचले छोर को पकड़ कर मैंने धीरे-धीरे उसको ऊपर करना शुरू कर दिया. ” रानी ने मेरे बालों में उंगलियां फेरते हुए मेरे कानों में शहद घोला.

कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या सही है और क्या गलत?मन में तूफान सा उठा हुआ था और मैं उसमें फंसता ही जा रहा था.

अब जैसे ही भाबी की गांड में मेरा पूरा लंड अन्दर घुसता, उनके भारी कूल्हे मेरी जांघों पर लगते, जिस वजह से मेरा लंड और बुरी तरह की गांड को चोदता.

मैं गिरने को हुआ, तो मामी ने मजाक में मेरे चूतड़ों पे जोर से हाथ मारा और हंस दीं. मैं सोचता रहा हूं कि अन्तर्वासना से जुड़ने से शायद मुझको नए दोस्त मिल जाएंगे. रानी का ऐसा ही आदेश था कि धक्के बहुत धीरे धीरे से शुरू करके बाद में तेज़ी दिखानी है.

मैं ज्यादा जोर से चिल्ला भी नहीं सकती थी, वरना बदनामी मेरी ही होती. रीना ने कहा- ओहो नाराज़ क्यों होते हो बोलो न!मैंने कहा- मुझे तुमसे मिलना है. मगर रजाई होने के कारण कुछ पता नहीं लग पा रहा था कि मैंने नीचे से पैंट निकाल रखी है.

मैं उसके और करीब जाकर देखने लगा तो मुझे उसके उठे हुए गोरे चूचों की दरार भी दिखाई दे गयी.

पूजा फिर मेरी तरफ मुड़ी और अपनी कमर पर हाथ रख कर पूछने लगी कि क्या किया तुमने, जो ये इतने जोर से चीखी?मैंने बताया कि मुझे लगा कि तुम बैठी हो और मैंने इसके गाल को जोर से नोंच लिया, इसलिए ये चीखी. भाई ने अपना आधा लंड बाहर निकला और फिर एक जोर के धक्के से पूरा मेरी चूत में अन्दर पेल दिया. तो मैंने धीरे से उसके ओंठों को चूमा और धीरे धीरे सारे फूल हटाने लगा.

मुझे काफी दर्द हो रहा था मगर पहली बार चूत में लंड लिया था तो जल्दी ही मजा भी आने लगा. पर अंकल जी तो अपनी ही धुन में मेरी कोरी कुंवारी चूत से रसपान किये जा रहे थे और बीच बीच में मेरे पूरे नंगे बदन को निहारते हुए सब जगह से चूम रहे थे जिससे मेरी उत्तेजना और भड़क रही थी. इस पर सारा बोली- इनसे क्या शर्म … ये सभी मेरी बहने हैं!और वो खुद तफसील से हमारी सुहागरात की पूरी दास्ताँ सुनाने लगी.

मैंने नीचे झांक कर देखा तो मेरे लंड की साइड से हल्का सा खून निकल कर नीचे गिर गया था.

वैसे हम लोगों के रूम के आगे काफी बड़ा ग्राऊन्ड है, जो खाली पड़ा रहता है. उस पूरे दिन में मुझे बुआ से अकेले में बात करने का कोई मौका नहीं मिला.

सेक्सी बीएफ किन्नरों की बीच में नम्रता को बीयर पीने में तकलीफ हुई, लेकिन उसने बिना कोई नखरा किए बीयर को पूरा पी लिया. उसका लंड मेरी गांड में अन्दर बाहर हो रहा था, उसके गोल-गोल अखरोट मेरी चूत पर घिस रहे थे.

सेक्सी बीएफ किन्नरों की मैं उसे पकड़ कर बोलने लगी- यार मज़ा दे दिया तूने आज तो।और थोड़ी देर में उसका दुबारा खड़ा हो गया. वो भी गालियाँ बके जा रहा था- रंडवी साली … तेरे भोसड़े में मेरा लोड़ा … तुझे आज घोड़ी बना दूंगा, तेरी चुत चोद चोद कर फाड़ दूंगा, तेरी गांड मार दूंगा.

पर मेरी ब्रा के कारण हाथ खुल कर नहीं चल रहा था तो मैं बोली- ब्रा का हुक खोल लो, क्यों शरमा रहे हो.

चुत लंड की चुदाई

अगर तुझे ये अजीब लग रहा है, तो सुबह मेरे नंगे जिस्म को देख कर तेरा लंड क्यों खड़ा हुआ था. धोने के बाद जब मैं वापस रूम में आई तो भोला ने वह गंदे वाला बिस्तर साफ करवा दिया था और चादर को वहां से हटा दिया था. मेरी तरफ से कोई विरोध होता न देख कर उन सभी को समझ आ गया कि मैं उनसे क्या चाहती हूँ.

अन्तर्वासना की सेक्सी कहानियों के सभी पाठक पाठिकाओं, लेखक, लेखिकाओं को देव कुमार का नमस्कार. सुमिना मना करती रही लेकिन अब उन दोनों को शॉपिंग पर ले जाना मेरे लिए इतना जरूरी हो गया था जैसे प्यास से मरते हुए इन्सान को पानी का एक घूंट नसीब हो जाये. एक रात मैंने रीना को फ़ोन किया और कहा- कितने दिन हो गए है, तुम्हारा खूबसूरत चाँद सा मुखड़ा देखे हुए, तड़प तड़प के मेरा तो जी बेहाल है.

जैसे ही मैंने घुंडी को चूसना शुरू किया, काजल के मुँह से एक तेज और मादक सिसकारी निकल पड़ी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…उसकी ये सीत्कार इतनी तेज़ थी कि अगर कोई नीचे होता, तो पक्के में आवाज़ सुनकर ऊपर आ जाता.

तब शुरु हुई हमारी कहानी!मेरी बातचीत तो मोनिका से होती ही रहती थी पर इतनी ज्यादा भी नहीं!उसकी माँ और बाप दोनों काम पर जाते थे और भाई आवारा गर्दी करते थे. ’ उसका लंड जैसे ही मेरी चूत के अन्दर गया, तो मेरे मुँह से चीख निकल गई. उनकी सांस रुकने लगी, तो उन्होंने जल्दी ही मेरे लंड को अपने मुँह से बाहर निकाल दिया.

अब अनिल ने मेरे मुँह से लंड निकाल दिया और बोला- लंड का मजा आ रहा है. मगर मैं जानता था कि अगर मैंने आज इसको यहीं पर छोड़ दिया तो कल ये मुझे अपनी सलवार का नाड़ा भी नहीं खोलने देगी. मैं उसके साथ ही रसोई में था, हालांकि हम दोनों के बीच कोई बात नहीं हो रही थी.

नया ऑफिस था और पद भी काफी बड़ा था, इसलिए लोगों से मिलते मिलते कब दो महीने गुजर गए पता ही नहीं चला. ये बात वसुन्धरा बड़ी अच्छी तरह से जानती थी … तो भी? चक्कर क्या था? कोई न कोई तो ऐसी बात जरूर थी जिस का अभी मुझे इल्म नहीं था, इसी उधेड़-बुन में डूबता-उतरता मैं शादी वाले होटल वापिस पहुँच गया.

मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया और खुद अपने सिर को उसकी फैली हुई टांगों के बीच रखकर अपनी निगाहों को उसकी चूत पर टिका दिया. जिन पाठकों को मेरे बारे में नहीं पता है, पहले उनको मैं अपने बारे में बता देती हूँ. बुआ ने सलवार का नाड़ा खोल दिया और सलवार को नीचे सरका कर अपनी कच्छी को भी नीचे कर लिया.

मैं अपने लंड को इस तरह तो गीला नहीं करवाना चाहता था, पर उस टाइम ज्यादा जोर जबरदस्ती भी नहीं कर सकता था.

सुमिना के सामने हाय-हैल्लो से ज्यादा कुछ बात होना संभव भी नहीं था फिर भी मैंने उम्मीद बांधी हुई थी कि कभी तो उसके करीब जाने का मौका मिलेगा ही. रानी के हुक्म के अनुसार मैंने तौलिया आगे को फैलाया और रानी का एक पैर उठाकर आगे को रखा. लेकिन में किसी को अनावश्यक परेशान नहीं करता था, इसलिए सब मेरी बहुत इज्ज़त करते थे.

मैं उसके दोने चुचों को दबाये उसके सीने और गर्दन के भागों पे किस कर रहा था. तो उन्होंने कहा- हाँ तुम वाक़ई बहुत अच्छे हो तो वैसे अच्छे से बात करते हो.

यूं समझिये जैसे कि घोंघा … घोंघे का उपरी कवच बहुत सख़्त होता है, अक्सर दूसरे शिकारी जानवर घोंघे का कवच नहीं भेद पाते लेकिन बहुत सख़्त कवच के अंदर घोंघा बहुत ही नाज़ुक, बहुत ही कोमल होता है. आखिर मैं भी तो मर्द हूँ और आपके सिवाए मेरा इस दुनिया में और कौन है?वो बोलीं- फिर तुम यहीं रुको, मैं अभी आती हूँ. मैं अभी निचले हिस्से में ही मालिश कर रहा था मगर उसने गर्म होकर खुद ही कहा कि थोड़ी मालिश ऊपर भी कर दो.

आसामी ड्रेस

जब नम्रता ने पाया कि अभी भी मेरा रिएक्शन ढीला है, तो वो मेरे मुँह से अपनी चूत रगड़ने लगी.

अब प्रिया की तरफ मैंने ध्यान देना शुरू कर दिया क्योंकि प्रिया ही एक ऐसी लड़की थी जो मेरी बात उससे करवा सकती थी. उसने पार्टी दी, खासकर मेरे कहने पर कि इसी बहाने रेशमा भी आ जाएगी, जिससे कि कुछ बात आगे बढ़ सके. मुझे उम्मीद है कि पिछली जीजा साली सेक्स की कहानीजीजा के साथ मेरा सुहागदिनकी तरह इस कहानी को भी आप लोग पसंद करेंगे.

अब वो वैसा ही करती और मैं भी थोड़ा सा अपने पेट को हल्का करते हुए गांड को फुला-पिचका रहा था ताकि उसकी उंगली अन्दर चली जाए. नीचे देखा तो भाभी की झांट रहित सफाचट छोटी सी चूत अपना जलवा बिखेर रही थी. सेक्सी हिंदी में वीडियो सॉन्गइसके बाद मैंने राजेन्द्र जी के सामने इस बात को चैक करना शुरू कर दिया.

इसी क्रम में मुझे एक पाठिका सोनम सिंह का मेल मिला जिसमें उन्होंने मेरी कहानियों की तारीफ़ के साथ साथ अपने बारे में भी बहुत कुछ बताया. जैसे ही वसुन्धरा का वक्ष अर्ध-नग्न हुआ, एक मोहक, नशीली सी काम-आह्लादित करने वाली तीक्ष्ण गंध मेरे नथुनों में प्रवेश कर गयी.

चूँकि मेरा घर प्रिया के मायके और ससुराल वाले घर के ऐन सेंटर में पड़ता था और शादी वाला होटल-कम-बैंक्वेट हॉल जोकि मेरे ही एक जानकार का था और जिसे मैंने बहुत कम पैसों में बुक करवा कर दिया था, वो भी मेरे घर से सिर्फ कोई एक-डेढ़ किलोमीटर दूर था. ”वसुन्धरा को अब समझ आया कि क्यों मैं उसके पुराने पहने हुए कपड़ों वाला अटैची कार में रखकर साथ ही होटल ले आया हूँ. यदि पति के शक करने से आप स्वयं को बचाना चाहती हैं तो सुहागरात के दिन आप सेक्स क्रिया के दौरान दर्द होने का नाटक भी कर सकती हैं चाहे आपको दर्द कम हो रहा हो या बिल्कुल ही न हो रहा हो.

अब तक मेरे मम्मों और चुत के मज़े ले रहे ससुर जी बोले- साली मेरी बहू तो मुझसे भी ज़्यादा तेज निकली. मैंने कहा- अगर तुम भी मेरे बारे में कुछ ऐसा सोचती हो तो मैं खुद को बहुत लकी मानूंगा. आपको मेरी कुंवारी चूत की चुदाई की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल जरूर कीजिएगा.

मेरे दादा जी एक वैद्य हैं जिनके पास सब दवा लेने आते हैं। हमारे खेत में हमने गेहूँ काटने के लिये काम वालियों को लगाया हुआ था जिसमें से 2 औरत थी और 4 लड़कियां.

वो क्क ओ कॉन्डोम … लगा लेता हूं!” मैंने फिर से कहा मगर मोनी ने अब भी मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया और मुझे अब भी वैसे ही पकड़े रही! मैंने अब धीरे से उठने की‌ दोबारा कोशिश की जिससे कि मोनी ने हल्का सा कसमसाकर अब अपना दूसरा हाथ भी मेरी गर्दन में डालकर मुझे पकड़ लिया और पहली बार उसके मुंह से कुछ ऐसे शब्द निकले- म म मुझे … रखना है!मोनी ने हल्का सा कुनकुनाते हुए कहा जिसे सुनकर मुझे झटका सा लगा. लेकिन एक बात थी, जिस दिन प्रिया का फ़ोन आता, उस रात मेरी कामुकता बिस्तर में वो कहर ढाती कि बेचारी सुधा दो-दो दिन ठीक से चल भी नहीं पाती.

मैं भी गांड उठा कर मादक सिसकारियां लेने लगी और वो मेरी चूत को चाटने लगा. कुछ ही देर की चूत चुसाई से मैं मूतने लगी, तो वरुण मेरी चूत का पानी चाटने लगा. हैलो फ्रेंड्स … अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, लेकिन मेरी लाइफ की ये पहली सेक्स स्टोरी नहीं है.

धीरे धीरे मैं अपना हाथ नीचे ले जाने लगा और उसकी जींस के अन्दर हाथ डालने लगा. मैं शायना बुआ को चोदना चाहता था लेकिन इतनी जल्दी ये बात कैसे हो सकती थी. ”आंटी अपना हाथ मेरे लोअर में डालकर मेरा लण्ड पकड़कर बोली- बहुत बड़ा है तेरा.

सेक्सी बीएफ किन्नरों की वैसे तो मुझे भी गरबा और डांडिया खेलने का शौक है और मुझे डांडिया खेलना आता भी है. उसने मुझे बताया है कि अब उसकी एक साथ तीन उंगलियां गांड में जाने लगी हैं.

सेक्सी बीएफ भाभी जी

मैं जान गई कि उनका वीर्य दीदी की गांड में पिचकारी के रूप में भरने लगा है. अगले दिन सुबह उठते ही मैंने चाची को बोला- संगीता रानी, आज मैं आपकी चूत के बालों को साफ करके चोदूंगा. मैं भी गांड उठा कर मादक सिसकारियां लेने लगी और वो मेरी चूत को चाटने लगा.

ऐसे ही एक बार मैं और मौसी खेत में चुदाई कर रहे थे … तभी मौसी की एक पड़ोस की भाभी ने हमें देख लिया … उसके बाद क्या हुआ, वो सब कहानी के अगले भाग में लिखूँगा. तुम देखना पसंद करोगी?मैं डर गई, मुझे समझ में आ गया कि वो क्या कहना चाहता है. साउथ इंडिया सेक्सी व्हिडीओवो बोले- मेरी जान, अब मुझे इस मालिश का इनाम में तेरी एक चुम्मी चाहिए.

फिर वनिता के ससुर राजेन्द्र कुमार से मेरे पति की पहचान भी अच्छे हो गई.

उसने थोड़ी देर मेरे मम्मों को दबाने के बाद मुझे बेड पर उठाया और अपने हाथों से मेरा ड्रेस निकाल दिया. उसने मेरी टांगों को ऊपर उठा लिया था और मेरी गांड के छेद को छेड़ रहा था.

मैंने तो आपकी डॉली जैसी दुबली पतली लड़कियों को भी चोदा है, बड़े मजे से चुदवाती हैं, कुदरत ने लड़की का शरीर ही ऐसा बनाया है. मैंने मौसी से कहा कि अब मुझे आपकी दोनों बेटियों की चुत भी चोदना है, आप मुझसे वायदा करो कि मुझे रोकोगी नहीं. तीसरे नम्बर के लड़के ने मेरे कंधों को पकड़ा और मुझे फिर से नीचे लेटा दिया.

उस पर लाल रंग की चादर बिछी थी और पूरे रूम में एक मादक गंध फैल रही थी जिससे माहौल पूरा सेक्सी हो रहा था.

फिर मैंने उसकी टांगों से फूलों को हटाया और लिक-किस करके हुए पाँव तक पहुंच गया और जहाँ जहाँ के फूल हटाता था वहां किस करता चला गया. अब तक मेरे मम्मों और चुत के मज़े ले रहे ससुर जी बोले- साली मेरी बहू तो मुझसे भी ज़्यादा तेज निकली. कुछ देर की इस चूतफाड़ चुदाई के बाद दीदी का पानी निकल गया था और दीदी की दोनों टांगें पानी से चिकनी होने लगीं.

सनी लियोन सेक्सी सनी लियोन सेक्सकरीब पांच मिनट की चुसाई के बाद मैंने काजल का सर पकड़ा और मेरे लंड को उसके गले की गहराई तक पहुंचाने लगा. मेरा लंड तो पहले से ही तनना शुरू हो गया था इसलिए अंदर की हवस ने ज्यादा कुछ सोचने का मौका नहीं दिया.

साउथ में बीएफ

वो बोली- देखते ही रहोगे या कुछ करोगे भी?मैंने भी बोला- पहले देख तो लें कि स्टार्ट कहां से करना है. मैं मेले में निहारिका को ढूंढ रहा था, पर निहारिका अपनी भाभी के साथ रात आठ बजे आई. मैं मानती हूँ कि तेरे भैया अब मेरी चूत को शांत करना जरूरी नहीं समझते लेकिन मैं उनकी पत्नी हूँ और इस तरह से मैं तुम्हारे साथ कुछ नहीं करना चाहती.

कसम से मॉम के वो बड़े बड़े मम्मे और उनके ऊपर वो काले चूचे देखकर ऐसा लगता है कि बस उनको पकड़ कर चूस लो. इसके बाद जब तक निहारिका इधर रही, मैं हर रात को निहारिका से मुठ मरवा लेता था. मैंने कहा- इसमें कैसे डाल दूँ, यह तो बहुत छोटी है, अन्दर जायेगा कैसे?आंटी ने हाथ बढ़ाकर मेरा लण्ड पकड़कर अपनी चूत पर रखा और बोलीं- मां चोद, जोर से दबा दे, अन्दर चला जायेगा.

जैसे ही वो खाना रखने को झुकी मुझे जन्नत की दो सफेद चोटियां और उसके शिखर नजर आए. बाद का किस्सा-ऐ-मुख़्तसर तो यह रहा कि प्रिया की शादी बहुत धूमधाम से हुई और शादी के बाकी के समारोह में वसुन्धरा का सब के साथ व्यवहार आश्चर्यजनक रूप से शालीन और मधुर रहा. दोस्तो, मैं जो कहानी आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ वह आपको जरूर पसंद आएगी.

मेरी लाइफ की इस देवर भाभी सेक्स की सत्य घटना को पढ़ने के आपका धन्यवाद. गज़ब! वसुन्धरा के चेहरे पर तो हवाईयां उड़ रहीं थीं और जाने क्यों उसकी पेशानी पसीने से तर-ब-तर थी, नज़रें सहमी हुई हिरणी के मानिंद इधर-उधर भटक रही थी, कार की सीट के परले सिरे पर सिमट कर बैठी वसुन्धरा ने गोद में रखे हुऐ अटैची-केस का हैंडल दोनों हाथों से कस कर थाम रखा था.

एक दिन हम दोनों साथ बैठ कर एक फ़िल्म देख रहे थे, तो उसमें एक सेक्स सीन आया.

मेरे रूम में केवल मैं और मैडम ही थे इसलिए मेरी हवस उबल-उबल कर बाहर आ रही थी. सेक्सी वीडियो एचडी फुल अंग्रेजीमैंने अपना लोअर नीचे खिसका दिया, उसकी पैन्टी भी खिसका दी और अपने लण्ड का सुपारा उसकी चूत पर रगड़ने लगा. सेक्सी वीडियो भोजपुरीxxxफिर जैसे ही अजय ने मुझे छोड़ा, वरुण ने कहा- बोल कुतिया, तेरी गर्मी कुछ कम हुई. भाबी की टाइट चुत भी आज मेरे लंड को ऐसे चबाए जा रही थी कि जैसे मेरे लंड को पूरा निगल ही जाएगी.

हम लोग उस समय नए नए जवान हो रहे थे, इसलिए सेक्स के प्रति हमारा आकर्षण अपनी ऊंचाईयों पर था.

मैं जीजा को गाली देने लगी- चोद दे हरामी मेरी चूत को … और तेजी से चोद … आह्ह …जीजा बोले- साली रंडी तू तो बहुत बड़ी रांड है. इससे पहले मां कुछ कहती मैंने राहुल से कहा- राहुल, तू मां को घर छोड़ कर आ जा, हम तब तक यहीं रुकते हैं. इसी के चलते मैंने उसकी गांड में लंड पेलने से शुरुआत की और जब वो दर्द से चिल्लाई, तो मेरी भाभी ने हम दोनों को बाहर बुला कर पूछा.

कुछ देर तक ताऊ जी ने बुआ जी की मस्त चुदाई की और फिर ताऊ जी की सांस थोड़ी भारी हो गई तो वो बेड पर लेट गये. लगभग नंगे होकर मैंने मामी को वहीं बेड पर लिटा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर बेतहाशा चूमने लगा. फिर जब वो हल्की मोन कर रही थी, तभी मैंने अपना लंड सैट करके, एक जोरदार धक्का लगा दिया.

इंडियन एक्स सेक्सी व्हिडीओ

मैं भी ड्राइवर भैया के बगल में बैठ कर टीवी देखते हुए आम खाने लगा और मैं उनसे बातें भी कर रहा था. पहले मैं खुद चुदने को मरी जा रही थी अब जबकि सब कुछ सेट हो चुका था तो मेरी हिम्मत जवाब देने लगी थी. वो उठ कर अपने रूम की तरफ जाने लगी जहां पर रितेश मानसी की चुदाई कर रहा था.

यह सुनकर भाई को जोश आ गया और वो पूरी स्पीड से मुझे चोदने लगा और गाली देने लगा- साली रंडी कुतिया … ले अब देख अपने भाई के लंड का कमाल … आज तो तुझे में अपने बच्चों की माँ बना कर छोड़ूँगा … मेरी चुड़क्कड़ रखैल.

बाथरूम का दरवाजा खुला हुआ था और मैं नंगी, जवान, अपनी सहेली को गर्म कर रही थी.

इसके बाद करीब आधा घण्टा अपने बीते कॉलेज के बीते दिनों की बातें करने के बाद दोनों ने एक बार फिर चुदाई की और फिर एक दूसरे को आलिंगन में लिए गहरी नींद में वो दोनों सो गए।दोस्तो, मेरे छोटे भाई विक्रम ने अपनी भाभी की चूत को चोदने की कामना पूरी कर ली थी. जल्दी से जल्दी रीना भाभी को यहां बुलाइए।राजवीर- लेकिन रीना को अभी हमारे इस प्लान के बारे में कुछ नहीं पता है। जब वह जानेगी तो हैरान हो जाएगी और पता नहीं क्या प्रतिक्रिया देगी। मुझे इसके बारे में कोई अंदाजा नहीं है. ब्लू पिक्चर भेजो सेक्सी हिंदीचूंकि उसने घुटनों को मोड़ लिया था इसलिये मेरा हाथ उसकी चूत के पहुंच से दूर था.

मैंने उसके सेक्सी बदन से उसकी साड़ी निकाल दी और उसके ब्लाउज और ब्रा खोलकर उसके 34 डी नाप के मम्मों को चूसने लगा. उस पड़ोसी भाभी ने क्या किया या हमने क्या किया … ये सब जानने के लिए अगले भाग का इंतजार कीजिएगा. मैं अपनी पूरी जीभ उसकी छोटी सी चूत में घुसा घुसा कर चाटता रहा और अन्दर बाहर करता रहा.

मेरे बड़े और खड़े लंड को स्पर्श करते ही भाभी की चुदास भड़क उठी, वे कहने लगीं- आज मैं तुमको सेक्स का असली मज़ा दूँगी. भाभी भी पूरी तरह वासना के इस खेल के आनन्द में डूब गयी और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… आउच.

फिर सुमिना ने उसे अपने ऊपर से हटाते हुए उसको पीछे किया और वो अपने घुटनों पर आ गया.

हम दोनों लोग बाइक से घूम रहे थे और जब रिदम अपनी बाइक के ब्रेक लगाता तो मेरी चूची उसकी पीठ से छू जा रही थी. उस रात चूंकि स्वीटी का पहली बार का चोदन था, तो ज्यादा न चोदते हुए पूरी रात में एक बार और चुदाई का खेल हुआ. आप बेफिक्र होकर हस्तमैथुन कीजिये परंतु नियमित तौर पर नहीं।अब आपकी तीसरी समस्या के बारे में कहना चाहूंगा कि यदि आपने सेक्स का अत्यधिक मात्रा में आनंद लिया है और आपकी योनि पूर्ण रूप से खुल गई है तो आप हस्तमैथुन करना छोड़ दें.

देवर भाभी का प्यार सेक्सी वीडियो फ़!” मेरे हर चुम्बन के साथ साथ वसुन्धरा के मुंह से जैसे एक दीर्घ ग़ुर्राहट सी निकलती. एक बात तो मेरे समझ में आ गयी थी कि मेरे बाप से पिछले 20 सालों में कुछ नहीं हुआ.

कुछ ही देर में कूलर के सामने लेटने से मुझे नींद आने लगी और मैं सोने के लिए कहने लगा. बस … पर्दा उठने को था और हंसों के इस अछूते जोड़े पर मेरी पूरी मनमानी चलने को थी. इतने बड़े चोदू हैं मेरे जीजा? जब उन्होंने मेरे साथ सेक्स किया था तो मैंने उनका ऐसा रूप नहीं देखा था.

ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो इंडियन

सुमन को सेक्स करने या सेक्स के दौरान होने वाली अनुभूतियों के बारे में कुछ भी नहीं पता था. जबकि वास्तव में उसकी गांड में मेरा लंड घुसा हुआ उसकी गांड मार रहा था. हम लोग रोज ऑफिस के बाद मिलते और किस तो करते, लेकिन इससे आगे और कुछ करने का मौका नहीं मिल रहा था.

झुकी हुई रानी जब मेरे जूते-मोज़े उतार रही थी, तब उसकी चूचियां जिस तरह हिल रही थीं वह देखकर मेरी काम वासना उड़ के आकाश तक जा पहुंची थी. उस समय भाई टीवी देख रहा था, मैं उसके सामने जा कर झुक झुक कर झाड़ू लगाने लगी, ताकि वो मेरी चूचियां देख पाए.

भाबी की चुत एकदम क्लीन थी … और उसमें कोई मस्त सुगंध लगाईं हुई थी, जिस वजह से मैं भाबी की चुत को अच्छी तरह चाटने लगा.

ये उसके उत्तेजना की चरम सीमा ही थी, जो उससे ऐसा करने को उकसा रही थी. वनिता के ससुर राजेन्द्र जी ने मुझे देख कर कहा- आओ कैसी हो?मैं धीमे से बोली- मस्त हूँ. धीरे-धीरे करके पूरा का पूरा लौड़ा गीतू की कुंवारी गांड में उतार दिया मैंने.

अपने लंड से वह मेरी दीदी की छोटी सी गांड की चुदाई करने लगे और मेरी दीदी की चीखें निकलने लगीं. पिछले 2 साल से रोज़ाना जिम जाने के मेरी बॉडी भी काफ़ी अच्छी हो गई है और मैं बहुत आकर्षक दिखता हूँ, ऐसा सब कहते हैं. वो चौकी, पीछे मुड़ी- क्या?ये क्या है, तुमने कपड़े पहन रखे हैं?”वो सोचने लगी.

पूजा ने उस लड़की से पूछा कि वो क्यों चीखी?फिर उसने मेरी तरफ देख कर पूछा कि वो क्यों चीखी, तुमने क्या किया और तुम अभी यहां क्या कर रहे हो?मुझे कुछ समझ में नहीं आया कि मैं क्या बोलूं और फिर मैंने उसको बताया कि मैं तुमसे मिलने आया था.

सेक्सी बीएफ किन्नरों की: मैंने उसके पेट पर से शुरू किया, फिर धीरे धीरे नीचे आने लगा और उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसके चूत को चूमने और चाटने लगा. मैंने भी पीछे से उसे पकड़ लिया और उसके बूब्स दबाते हुए उसकी गर्दन में किस करने लगा.

”हमने पर्दा हटा दिया। तभी मम्मी अंदर आईं और एक नर्स।नर्स ने कहा- आप लेट जाइये और कपड़े खोल दीजिये, डॉक्टर अभी आएंगी. इसी बीच मैंने अपना दूसरा फोन जेब से निकाला और आसपास के बीयर बार की लोकेशन देखने लगा. अम्मी बोलीं- क्यों … पहले तो तूने कभी नहीं बुलाया उनको?मैंने कहा- अम्मी वो स्टडी में मेरी बहुत हेल्प करते हैं … और भी काम में हमेशा मेरी मदद करते रहते हैं.

मैं- तो यार … खाना खाने के बाद तुरन्त चुदाई तो हो नहीं सकती न, अब तुम जो कहो, वो कर दिया जाए.

कंजूस गुप्ता जी के मुकाबले मेरा राजसी खर्च देखकर डॉली खुश भी थी और प्रभावित भी. नम्रता अभी भी उसी तरह बैठे हुई थी और उसने मेरी मालिश करना चालू रखी थी. हैलो फ्रैंड्स, मेरा नाम राज (बदला हुआ नाम) है, मैं इलाहाबाद से हूँ, लेकिन मैं नोयडा में रहता हूं.