हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात

छवि स्रोत,सेक्सी बातें दिखाइए

तस्वीर का शीर्षक ,

गंदी गंदी गंदी बात: हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात, वो अपनी बहन को लेकर फिक्रमंद था इसलिए दोस्ती की खातिर मैंने उसकी बात मान ली.

सेक्सी पंजाबी में सेक्सी

यह मेरी पहली कहानी है, इसलिए कोई गलती दिखे, तो प्लीज़ माफ़ कर दीजिएगा. सेक्सी विडियो हिंदी में विडियोउसके मुँह से ऐसी बातें सुनकर मैं थोड़ा सा सोचने लगा कि यह तो कितनी चालू लड़की है … कितनी बेशर्मी से बातें कर रही है.

सब की सब जवान हो रही थीं इसलिए चूतों को लंड की प्यास महसूस होने लगी थी. सेक्सी हिजड़ा कीअभी देखना कैसे तू अपने हाथ से लंड हिलाता रह जाएगा और मैं तेरे सामने तेरी बीवी को अपनी बीवी बना कर पेलूंगा.

मैंने अपना लोअर उतार कर अपना लण्ड नमिता के मुँह में डालते हुए उसे चूसने को कहा.हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात: एक घंटे बाद जब मैं वापस आया, तो अंतरा अपने रूम में बैठ कर पढ़ रही थी.

मेरा लंड पूरा नपा तुला आठ इंच लंबा और इंची टेप से लंड की गोलाई नापी जाए, तो ये पांच इंच मोटा है.भाभी ने जिद करते हुए कहा- बताओ ना यार?मैंने बोला- आपका फिगर … आपका फेस सब कुछ मस्त है.

अंग्रेज की सेक्सी मूवी - हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात

हम दोनों हांफते हुए अपने अपने चूतड़ हिला हिला योनि में लिंग रगड़ते हुए आगे बढ़ने लगे.उसने तुरंत अपना मुँह मेरी योनि से चिपका लिया और ऐसे चाटने लगा, जैसे मेरी योनि कोई खाने की वस्तु हो.

कारण ये रहा कि मेरे अम्मी अब्बू को लड़की कुछ समझ में नहीं आई … और इसी लिए मेरी उससे सगाई टूट गई थी. हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात सच में एक जवान लड़की को जब एक जवान लड़का पहली बार चूमता है तो एक मस्त सनसनी होती है.

थोड़ी देर ऐसा करने पर जब रवीना की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुयी तो मैंने मेरे हाथों को उसके चुच्चों की तरफ बढ़ाना शुरू किया और अंत में इसमें सफल हुआ.

हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात?

मैंने उससे कहा- फ्रेश होना है?वो बोली- तुम्हारा मतलब नहाने से है न. वो मेरी तरफ हैरान सी देखने लगी और बोली- तो क्या अभी सीधे केले से नहीं खाई थी. मैं रोज बस यही प्लान बनाता रहता कि क्या करूं, कैसे दीदी को चुदवाने के मनाऊं, उन्हें कैसे चोदूं.

उसका नाम नीलू था और वो भी दिल्ली में अपने परिवार के साथ ही रहती थी. रोहण मुझसे बोला कि आज मैं एक नयी रंडी चोदने जा रहा हूँ, साली सील बंद माल है … उसकी चूत का उद्घाटन मैं ही करूंगा. मैं कुछ कहती, इससे पहले उन्होंने मेरा मुँह पकड़ कर अपना लिंग मेरे होंठों के पास लगा दिया.

तभी सोनाली ने मेरे सिर के पीछे से मुझे अपनी पूरी ताकत से अपनी ओर खींच लिया. मैंने कहा- मैं जानता हूं कि आपकी और भैया की सेक्स लाइफ कुछ ठीक नहीं चल रही है. मेरे वहां पहुचने से पहले ही उसने होटल का रूम, गाड़ी, खाना-पीना आदि सब इंतजाम किया हुआ था.

मैं उसके चेहरे पर थोड़ा गुस्सा और नाराज़गी देख रहा था, तो मैंने झट से अपूर्वा से बोला- अपूर्वा मुझे माफ़ कर दो प्लीज़ मुझे माफ़ कर दो, मैं तुम्हें सच में बहुत पसंद करता हूं और मैंने जो कुछ तुमसे कहा, वो सब सच है तुम्हारी कसम. मैंने उसकी चूत के बालों पर क्रीम लगा दी और रेजर में ब्लेड लगा कर उसकी चूत के बालों पर हल्के से चलाने लगा.

उसकी गीली गांड में मेरे लंड का टच होना हर पल मेरे अंदर हवस को बढ़ाये जा रहा था.

मेरी देसी फुद्दी की चुदाई कहानी के तीसरे भागकॉलेज गर्ल चुदी पड़ोसी अंकल से- 3में मैंने आपको बताया था कि कैसे मेरे पड़ोसी अंकल ने मुझे गर्म करके मेरी चूत पर लंड लगाया.

थोड़ी देर हुई थी और अंगिका मेरे आधे शरीर पर मानो कब्ज़ा सा कर चुकी थी. कुछ देर तक दोनों ने भाभी के नंगे जिस्म को खूब चूसा चाटा और अपना लंड भी चुसवाया. फिर उन्होंने खीरा जोर से बाहर निकाला, इसके साथ ही उनकी चुत से पानी निकलना शुरू हो गया.

फिर उसने अपनी गाड़ी में मुझे मैट्रो स्टेशन तक छोड़ा और फिर मैं अपने घर आ गया. जब मैं उधर गई, तो उन्हीं दिनों बुआ के यहां उनके कुछ और रिश्तेदार भी आए हुए थे. एक रोज मैं राज से मिलने उसके घर गया, तो बगीचे में एक जवान मदमस्त औरत को देख कर दंग रह गया.

हम एक कमरे के घर में रहते थे तो मुझे अम्मा अक्सर नंगी दिख जाती थी तो …हाय, मेरा नाम समीर है.

फिर उन्होंने मेरी दोनों टांगों को उठा कर अपना लिंग मेरी योनि में झटके के साथ अन्दर डाल दिया और धुँआदार चुदाई चालू कर दी. मेरी खुद की योनि और जांघों पर वीर्य सूख कर पपड़ी बन चुकी थी, क्योंकि अन्तिम औरत मैं ही थी, जिसने वीर्य ग्रहण किया था. इस पर भाभी ने बोला कि मुझमें ऐसा क्या ख़ास है?मैं बोला- भाभी सब कुछ तो ख़ास है आपमें … सच में भैया बहुत किस्मत वाले हैं, जो उनको आप जैसी वाइफ मिली है.

वो मुझे रोज काव्या की तस्वीरें देता था, लेकिन कभी उसने मुझे उसकी एक भी न्यूड फोटो नहीं दी. तब तक वह खड़ी हो चुकी थी और मैंने भी लंड को सहला कर खड़ा कर लिया था. तूने गलती से इनकार किया, तो ब्लू फिल्म तो बनेगी ही, ऊपर से तुझे पैसे भी नहीं मिलेंगे.

मेरे ख्याल से उसे हो भी रही थी, जिस प्रकार राजशेखर उसे धक्के मार रहा था.

जाते हुए मैंने उससे पूछा- आप रोज इतनी ही पीती हो क्या?इस पर वो हंस पड़ी और बोली- आज नहीं पीऊंगी. हम दोनों कुछ बोल नहीं रहे थे, बस एक दूसरे से लिपट चिपट कर रगड़ सुख ले रहे थे.

हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात तो मैंने क्या किया?इस सेक्सी कहानी के पहले भागभतीजी और उसकी सहेली की चुदाई-1अब तक आपने पढ़ा कि मेरी भांजी और उसकी सहेली छत पर दारू और सिगरेट का मजा ले रही थीं. मैंने उसकी बीवी काव्या के ब्लाउज के दो बटन खोले ही थे कि तभी किसी ने दरवाज़े की घंटी बजा दी.

हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात वैसे तो आप सब असम और नागालैंड की लड़कियों के बारे में शायद जानते होंगे. अब मैं अपने भीतर नए तरह का जोश, ताकत और कामोत्तेजना महसूस करने लगी थी.

फिर जब उसने देखा कि मैं उसको देख रही हूं तो उसने अपनी आंखें बंद कर लीं और जैसे सोने का नाटक सा करने लगा.

jio न्यू सेक्सी वीडियो

फिर मैंने उसको कपड़े पहनाकर दूसरे कमरे में जाने दिया और अपनी पत्नी को इसी कमरे में बुलाकर उसकी चुदाई के मजे लेने की सोचने लगा … क्योंकि मेरे लंड का पानी अभी निकला ही नहीं था. मैंने उनकी चीख पर ध्यान ही नहीं दिया और अपना बचा हुआ आधा लौड़ा दूसरे झटके में अन्दर घुसा दिया. थोड़ी देर में वो वापस आई और बोली- उठ जाओ, बहुत आराम हो गया अब तो?मैं बोला- मैडम थोड़ी देर रुक जाओ.

इस बीच चार लड़कों का एक गैंग आया और उसमें से एक ने पूछा- ओए रंडी … कितना लेगी … बड़ा मस्त लग रही है. वहां जाते ही हमने धीरे से दरवाजा बंद किया और एक दूसरे को बेतहाशा चूमने लगे. अम्मा के मुख से रिश्तों में चुदाई की बातें सुन कर मैंने भी कहा- ठीक है.

मैं सोच रहा था कि जब ये बाहर से देखने में इतनी मस्त माल लग रही है तो अंदर से तो ये बिल्कुल कयामत ही लगती होगी, मैं उसकी मां के नंगे बदन को देखने के लिए तरस जाता था लेकिन अभी मुझे ऐसी कोई उम्मीद दिखाई नहीं दे रही थी कि मैं उसकी मां को नंगी देख सकूं.

उसने मुझसे बोला- कहां खो गए? क्या रात भर यहीं रुके रहना है?काव्या ने हंसते हुए मुझे आंख मार दी, उसके साथ राकेश भी हंसने लगा. मुझे इस तरह वेश्या का किरदार करने से खुद निर्लज्ज स्त्री की भांति जिज्ञासा जागने लगी थी. कुछ देर में उसकी सांसें वासना के रंग में रंग गईं और काफी तेज हो गईं.

जब वो नीचे से गांड को हिलाने लगी तो धीरे धीरे मैंने भी उसकी चूत चोदनी शुरू कर दी. उसके उठने से मेरी जांघों को बड़ी राहत मिली और मेरी योनि, जांघें, चूतड़ों को भी राहत सी मिल गई. मैंने फिर से उनको पकड़ लिया और एक कोने में ले जाकर पीछे से अपना तन्नाया हुआ लंड उनकी चुत में घुसा दिया.

राज- अगर तुम्हार बॉयफ्रेंड भी आता … तो तुम भी अभी उन लोगों जैसी सो रही होतीं. उसके मादक छुवन से मेरे बदन में ऐसा लग रहा था, मानो हज़ारों चीटियां मेरे बदन में रेंग रही हों, मेरे जिस्म में एक मीठी सिहरन सी हो रही थी.

मैंने उन्हें कैसे चोदा? मजा लें कहानी का!मेरी प्यारी भाभियों और उनकी बहनों को मेरा प्यार भरा नमस्कार. फेसबुक फ्रेंड ने अपनी बीवी की चुदाई करवायी-2अब तक आपने पढ़ा था कि कैसे मैंने और राकेश ने मिलने का प्लान बनाया और मिलने के बाद मैं और काव्या, एक दूसरे के प्यार में डूबे हुए थे. मेरे सेक्स की देसी कहानी को पढ़ कर मजा लें कि कैसे मैंने गाँव की एक जवान चुलबुली लड़की को पता कर खुले आसमान के नीच उसकी चूत की चुदाई उसकी सहेली के सामने की.

मेरी बीवी ने मेरी पैंट की जिप खोल दी और अन्दर हाथ डाल कर वो मेरा लंड सहलाने लगी.

वो समझ गई और उसने एकदम से मेरे गाल को नोंचने के लिए हाथ बढ़ाया … तभी रिक्शा रुक गया और मैं उतर गया. दूध मसलने से उनको मस्ती सी चढ़ने लगी और वो ना जाने कैसी कैसी अजीब सी सिसकारियां लेने लगीं. मैंने इधर उधर देखा और झट से उनके घर के खुले दरवाजे के अन्दर घुस गया.

वह बुरी तरह मेरे ऊपर चढ़ बैठा, बोला- दिखाना ही पड़ेगा!इस पकड़ धकड़ में उसके लंड की ठोकरें मेरी गांड पर पड़ रहीं थीं, मुझे मजा दे रहीं थीं. फिर तेज़ी से अपनी कमर आगे पीछे करते हुए उसके मुँह में लिंग अन्दर बाहर करने लगा.

वो झट से बोली- प्लीज आप लोग मुझे भाभी कहना बन्द कीजिये … केवल रमा कहिए … और किसे कहां चोदना है, मुझसे ना पूछें, मैं भी तो देखना चाहती हूँ कि आखिर ये कैसी सर्विस देती है. तीन चार विजिट के बाद डॉक्टर साहब मुझसे इतना खुल गये कि मौका मिलते ही मेरी चूचियां और चूतड़ दबा देते. मैंने मामी की गर्म चूत की प्यास कैसे बुझाई?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम रोहित है और मैं इंदौर (मध्य प्रदेश) का रहने वाला हूं.

वीडियो सेक्सी ब्लू फिल्म दिखाओ

मम्मी के स्कूल में सर्दी की छुट्टियां शुरू हो गयी थी और मम्मी घर आ रही थी.

लेकिन वो सेक्स कहानी अगली बार लिखूंगामुझे ज़रूर बताइएगा कि आपको मेरी ये चुदाई कहानी कैसी लगी. आज मैं आपको अपनी पहली सेक्स स्टोरी सुनाऊंगी, जब मैंने पहली बार किसी से सेक्स किया था. एक दिन दीदी मेरे कमरे में आई और बोली- लगता है तू कुछ ज्यादा ही बड़ा हो गया है, इसलिए इतना गुस्सा करने लगा है.

राजेश्वरी ने अपने चूतड़ों उछालने शुरू किए और हमें उसकी योनि में लिंग घुसता निकलता दिखने लगा. इसी वजह से मैं थोड़ा सतर्क होकर उसके लिंग को चूस रही थी ताकि कहीं अगर वो वीर्य छोड़े, तो मेरे मुँह में न चला जाए. मेहरारू का सेक्सी वीडियो एचडीमुझे पता चल गया था कि मां को अपनी चूत के साथ इस तरह से छेड़खानी करवाने में मजा आ रहा है.

सभी लड़कियों ने अल्ट्रा मॉर्डन ड्रेस पहनी थी, जो कि सिर्फ उनके प्राइवेट पार्ट छिपा सकती थी. मस्तानी भाभी की उम्र लगभग 30 साल की थी और उनका फिगर बड़ा ही मस्त था.

अपनी सलवार व पैन्टी नीचे खिसकाकर मैंने एक खीरा अपनी बूर में ठोंक दिया, चार छह बार खीरा बूर के अन्दर बाहर किया और पैन्टी ऊपर खिसकाकर सलवार पहनकर बाहर आ गई. सुबह हुए मेरी बीवी अपनी भाभी को डॉक्टर के यहां रूटीन चैकअप कराने ले गई. मैंने अपनी जांघें उसके मुंह की ओर कर लीं और उसकी चूत पर लेट कर अपनी जीभ उसकी चूत में अंदर तक घुसा कर अंदर ही अंदर घुमाने लगा.

दोस्तो, आप मुझे जानते ही होंगे, मैं अन्तर्वासना का पुराना लेखक हूँ. तो बिल्कुल सामान्य अवस्था में भी कम से कम दो महीने तो सेक्स नहीं करना चाहिए. उसके बाद मैंने गांड की चुदाई शुरू की, हल्के हल्के धक्के मारने शुरू किए.

किरण मेरे लंड को चूस रही थी और मेरा लंड उसके मुंह में खड़ा होकर पूरा तन गया था.

जब मैं वापस आया, तब तक काव्या भी गर्म हो गयी थी और राकेश उसे चोद रहा था. रवि जब अपना लिंग धकेल रहा था, तो उसकी योनि में ऊपरी चमड़ी और पंखुड़ियां भीतर की ओर खिंची जा रही थीं, जिसकी वजह से निर्मला को तकलीफ हो रही थी.

राजेश्वरी की योनि पहले से इतनी गीली थी कि 2-3 बार के धक्के में ही समूचा लिंग भीतर पहुंच गया. फिर उसने भी मेरी पैंट में हाथ डाल दिया और मेरे पहले से तने हुए लंड को हाथ में पकड़ लिया. इतने में उसने जोश में आकर मेरा निक्कर खोल दिया और मेरे लम्बे और मोटे लंड को मुँह में लेकर भूखी रंडी की तरह चूसने लगी.

एक दिन मुझे एक मैसेज आया, जिसमें लिखा हुआ था कि आपकी और मेरी पसंद बहुत मिलती है, क्या हम दोस्त बन सकते हैं. लेकिन इसके अलावा मुझे और कोई हल भी नजर नहीं आ रहा क्योंकि हमारे पास इतना पैसा नहीं है कि हम महंगे अस्पताल में आई वी ऍफ़ जैसे आधुनिक तरीकों से गर्भधारण का प्रयास कर सकें. भाभी ने उनका साथ देते हुए अपनी कमीज को हाथ ऊपर करते हुए निकलवा दिया.

हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात शाम को अनीता जी ने सीमा जी का नंबर दिया और बोला कि मैं उनसे बात कर लूं. इसलिए उनकी सास ने मेरी माँ से कहा कि राकेश को कुछ दिनों के लिए रात को सोने को भेज देना क्योंकि घर में बहू अकेली रहेगी।रात को खाना खाने के बाद मैं उनके घर चला गया.

सेक्सी चोदने वाली हिंदी में

मैंने उससे आने के लिए कहा, तो उसने खुद कहा कि मैं खुद तुमसे मिलना चाहता था, मगर जब तक तुम्हारी तरफ से कोई बात न आती, मैं संकोच कर रहा था. एक अन्जान नम्बर से फोन आया मेरे मोबाइल पर!मैंने फोन उठाया तो उधर से आवाज आई- हैलो!मैं सोचने लगा कि ये आवाज तो कुछ जानी पहचानी सी लग रही है. नीचे वाले फ्लोर को हमने किराये पर दिया हुआ है और ऊपर वाले फ्लोर पर हम खुद रहते हैं.

मैं हैरान था इस लड़की की कामुकता को देख कर … मैंने सिर्फ एक झटका आगे की तरह मारा और उसकी योनि के अंदर अपने लंड को डाल दिया. वो आ गयी और मैंने उसको छत पर रात के घुप्प अंधेरे में चूसना शुरू कर दिया. कॉलेज की लड़कियों की सेक्सी ब्लू फिल्मकी आवाजें भी तेज होने लगी थी लेकिन मैंने इसकी परवाह किये बिना उनकी चुदाई चालू रखी।एक समय आया जब भाबी कि चूत एकदम चिकनी हो गई और मुझे लंड अंदर बाहर करने में बहुत मजा आने लगा।तभी भाबी एकदम अकड़ गई और उन्होंने अपनी दोनों टांगें सिकोड़ ली तथा जोर से चिल्ला भी पड़ी- आईईई.

कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको अपने घर के बारे में बता देता हूं ताकि आपको कहानी को समझने में ज्यादा आसानी हो सके.

मैंने पहली बार मामी की नंगी चूत को देखा था और बार-बार उसको देख कर मैं अपने लंड को मसल कर मजा लेने में लगा हुआ था. हम दोनों एक केबिन वाले स्विमिंग पूल के सामने कमरे में चले गए और खाने का आर्डर दे दिया.

मैं तो उसके गोल-गोल चूचों को देख कर उनके हिलने का और आनंद लेना चाह रहा था लेकिन स्वीटी की प्यास बुझाऩा अब जरूरी हो गया था. मैंने उन्हें कहा- सर आप बैठिए!मैंने उन्हें कुर्सी देते हुए अपनी दुकान के अंदर ही बैठा लिया।वे मेरे साथ बात कर रहे थे और मुझे कहने लगे- तुम्हारे घर में सब लोग कैसे हैं?मैंने उन्हें बताया- बस साहब क्या बताएं, मम्मी की दवाइयों में बहुत खर्चा हो जाता है. मेरी कामुक बहन भी मेरे गर्म लंड को पकड़ कर मजे से उसके टोपे को आगे-पीछे करने में लगी हुई थी.

क्योंकि मेरे लंड महाराज अपने रौ में आ गए हैं और इसको शान्त करना जरूरी है.

राहुल ने मेरी साड़ी का पल्लू थोड़ा सा हटाकर गर्दन के पीछे से किस करना चालू कर दिया. शुरू से ही मेरी बहुत इच्छा थी कि मेरी बीवी किसी दूसरे मर्द से चुदवाये।मैं चाहता था कि उसकी चूत में किसी पराये मर्द के लंड को अंदर बाहर होता हुआ देखूं. जब सुसराल में कोई नहीं रहता है, तो मैं चुपके से सुसराल पहुंच कर अपनी सलहज विशाखा को खूब चोदता हूँ.

सेक्सी वीडियो 6 साल लड़कीउसके बाद मैंने धीरे से युक्ता का एक हाथ पकड़ कर अपने लन्ड पर रख दिया और धीरे से उसको दबा दिया. उनसे बातचीत में पता चला कि वो घर पर अपनी बहु और बेटे के साथ रहती हैं.

सेक्सी वाली लड़की का मोबाइल नंबर

कुछ पल के लिए उसने अपना लिंग पूरी तरह मेरी योनि की गहराई में दबा दिया और सांस लेने लगा. मैंने उन्हें कैसे चोदा? मजा लें कहानी का!मेरी प्यारी भाभियों और उनकी बहनों को मेरा प्यार भरा नमस्कार. मैंने खुद को आईने में देखा तो एक पल के लिए खुद सोच में पड़ गई कि ये मैं ही हूँ या कोई और स्त्री है.

अब मैंने उससे पूछ ही लिया- फरजाना तुम तो यहां अपनी बेटी को मुझसे बचाने आई थीं. फिर एक दिन की बात है कि मैं अपने दोस्त के रूम पर उसके साथ टीवी पर फिल्म देख रहा था. पांच मिनट के बाद वो मुझे अपनी बांहों में कस कर पकड़ने लगी और उसकी बुर मेरे लंड पर कसने लगी.

फिर सोचने लगी कि दोस्त के कमरे पर कहीं मेरे साथ कोई गड़बड़ न हो जाए … या वो मुझसे सिर्फ मिल कर ही चला जाए, मेरे साथ मेरी कामना को पूरा ही न करे. पर समझ नहीं आ रहा था कि कैसे किया जाए। मैं उनकी मुस्कान पर फिदा था, उनकी मुस्कान बहुत ही खूबसूरत थी, वो जब हँसती थी तो मेरा दिल उनको देख कर और उनके प्यार में पागल हो जाता था।मेरी आदत थी कि मैं हमेशा घर के बाहर नाले के पास पेशाब किया करता था और वो जगह मेरे घर के छत से साफ दिखती थी. मैंने निधि को 20-25 मिनट तक लगातार हचक हचक कर कर चोदा। जिसमें निधि दो बार झड़ गयी, जिससे चादर भी गीली हो गयी।उसके बाद मैं भी कुछ तेज धक्के लगाकर उसकी चूत में ही झड़ गया क्योंकि मैंने कंडोम लगाया हुआ था तो कोई डर नहीं था।उसके बाद हम दोनों अगल बगल लेट गए और बातें करने लगे.

मैं वहीं पर घुटनों के बल बैठ गया और आंटी की चूत को जीभ से चाटने लगा. सेक्स की प्यास के बारे में कई बार मैंने अपने मां और पापा को बातें करते हुए अपने ही कानों से सुना हुआ था.

भाभी को भी डर हो गया था कि अगर लाइट जली तो सारा मजा खराब हो जायेगा.

विवेक ने मेरे होंठों को अपने होंठों से लॉक कर लिया दो मिनट तक उसने मुझे यूं ही जकड़े रखा. सेक्सी चुदाई चुदाई सेक्सी वीडियोउसकी गर्मी ने मेरे लंड को चिकनाई दे दी थी, जिससे मेरे झटके और भी स्पीड से लगने लगे थे. सुंदर भाभी की सेक्सी फोटोप्रीति ने ज़्यादा हलचल तो नहीं की लेकिन वो खुद से अपनी पैंटी बार बार मुझे दिखा रही थी. फिर मैंने उसकी ब्रा भी उतार दी और उसकी दोनों चुचियों को चूसना शुरू कर दिया.

वो कभी कमलनाथ के चूतड़ों सहलाती, कभी अण्डकोषों को सहलाती दबाती, तो कभी जोरों से लिंग को मुट्ठी में पकड़ आगे पीछे हिलाती.

मामी का गुस्सा देख कर मेरी गांड फट गई और मैंने उनको सॉरी बोला और उठ कर कमरे से बाहर चला गया और सोफे पर लेट गया और वहीं लेटे लेटे सो गया. आज से आप मेरे जीजा जी नहीं, मेरे पति हो! मेरे राजा और ज़ोर से चाटो मेरी चूत को! अपना लंड डाल के फाड़ दो मेरी चूत को! बहुत मज़ा आ रहा है. दोस्तो, शायद मेरी जवानी की भड़कती हुई वासना ने मुझे अंकल को हां करने के लिए तैयार कर दिया था। फिर उसके दो दिन के बाद मैंने एक कागज़ पर लिख कर उनको दे दिया।मेरा जवाब पढ़ कर वो बहुत खुश हुए और उन्होंने भी एक कागज पर लिख कर मुझे इसके लिए धन्यवाद दिया.

वो मुझे खींच कर अपने रूम में बिस्तर पर ले गया और मुझे बिस्तर पर धक्का देकर लिटा दिया. मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की ट्रू स्टोरी मेरे ब्वॉयफ्रेंड के साथ उस वक्त की है, जब उसने मुझे पहली बार लंड के नीचे लिया था. वहां से निकलने के बाद रमा मुझे एक कपड़े की दुकान पर ले गई और जोर जबरदस्ती करके मुझे मेरी नाप के नए कपड़े दिलवाए.

सेक्सी एचडी बीपी इंडियन

मैंने दीदी से कहा कि मुझे भूख नहीं है, अगर तुम्हें भूख लगी है तो मेरा वीर्य पी लेना, उससे तुम्हारी भी भूख कम हो जायेगी. मैं सुबह से घर का सब काम कर लेती हूँ और जब घर के लोग जॉब करने चले जाते हैं, तो मैं घर में अकेली रह जाती हूँ. पूरे समय मेरे मन में केवल एक ही सवाल घूम रहा था कि रमा मुझ पर इतना पैसा क्यों खर्च कर रही है … कोई न कोई तो उसका निजी स्वार्थ होगा ही.

उसके लिंग की चमड़ी घुसते निकलते मेरी योनि की दीवारों से खुलते बंद होते हुए रगड़ती.

मैंने उसकी गर्दन को अपनी तरफ घुमाया और उसके होंठों को जोर से चूसने लगा.

मेरा लंड देख के साराह खुश हो गई और बोली कि ये तो एक दम मेरे पति जैसा ही है, उतना ही लंबा और मोटा!साराह मेरे लंड को अपने नाजुक हाथ में पकड़ कर आगे पीछे करने लगी, मुझे बहुत मजा आ रहा था. इस पर निर्मला ने उससे मजाक करते हुए बोला- तुम्हें भी रंडी बनना है क्या?राजेश्वरी ने उत्तर दिया- क्या यार कोई एक्टिंग कर लेगा, तो क्या वो सच में रंडी हो जाएगी क्या? मैं तो केवल सारिका की एक्टिंग देखना चाहती हूँ. नंगी सेक्सी पिक्चर फिल्म वीडियोहम दोनों कुछ देर ऐसे ही न्यूड पड़े हुए एक दूसरे के साथ चिपक कर लेटे रहे.

मैं अभी भी वहीं पर देख रहा था और मैंने महसूस किया कि मामी जी के चेहरे पर हल्की सी मायूसी सी दिखाई दे रही थी. मेरे शैतान मन में घंटी बजी और मैं सोचने लगा कि काश आज इसे ठोकने का मौका मिल जाए … तो मेरे लंड को भी शांति मिल जाएगी. चोदेगा? कभी चोदी है?वह बहुत ज्यादा प्रभावित था, बार बार हाथ में मेरा लंड लेकर कह रहा था- इतना बड़ा तो कम लोगों का होता है.

संगीता मेम ने मेरा लंड देखा और कहने लगीं- इतना बड़ा तो पंकज का भी नहीं है. वो समय गर्मियों का था तो जैसा कि आप सभी लोग जानते ही होंगे कि गाँवों में लोग गर्मियों में घरों के बाहर खुले में सोते हैं.

उम्र का पता तो मुझे बाद में चला था लेकिन मैं आपकी जानकारी के लिए पहले ही यहां पर लिख रहा हूं ताकि आपको उसके बदन के बारे में कुछ आइडिया मिल जाये कि वो देखने में कैसी रही होगी.

पर कांतिलाल की ताकत के आगे मेरी एक नहीं चली और वो मुझे जोरों से पकड़ कर तेज़ी से मेरी योनि चाटने लगा. रात को मेरी नींद खुली तो भाभी मेरा लन्ड सहला रही थी और मेरा लन्ड एकदम फटने को हो रहा था. मेरा लंड बहुत मस्त है, इसकी तारीफ़ मैं नहीं इसका शिकार हुई लौंडियों और भाभियों ने की है.

सेक्सी वीडियो रोमांटिक चुदाई इसी बीच मुझे उनके नाम पता चले और वे कहां कहां से आए थे ये भी मालूम हुआ. उनकी मस्ती भरी आवाजों से मुझे यकीन हो गया था कि आंटी की गांड मजा दे रही है.

इससे काजल बुरी तरह तड़फने लगी और बोलने लगी- आई लव यू … प्लीज़ और मत तड़फाओ … आज मुझे लड़की होने का अहसास करवा दो. बीच बीच में मैं अपनी उंगली उसकी बुर के अन्दर डाल देता और वो ‘आह आह. वो बोली- बताइये न सर, कॉलेज में भी कोई अच्छे तरीके से इसके बारे में नहीं बताता है.

मोटा लेडीस का सेक्सी वीडियो

भाबी ने एक रजाई मुझे दे दी और दूसरी रजाई में खुद और अपनी बिटिया के साथ लेट गई।सोने से पहले भाबी ने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया था और नाइट बल्ब जला दिया था जिससे कमरे में अंधेरा था और बहुत हल्का सा आस पास दिखाई दे रहा था. उसने धीरे धीरे से पूरा का पूरा लिंग मेरी योनि के भीतर घुसा दिया था और उसके सुपारे का स्पर्श मैं अपनी बच्चेदानी में महसूस करने लगी थी. और यदि मुझे भी ऐसी ही लड़की मिलेगी तो मैं तो उससे कभी भी शादी नहीं करूंगा।वर्मा जी कहने लगे- बेटा, आजकल का समाज बदल गया है … सब लोग अपने सुख सुविधा के बारे में सोचते हैं।मैंने उन्हें कहा- ऐसी बात नहीं है … आप तो बड़े ही अच्छे और सज्जन व्यक्ति हैं.

वो बोली- धन्यवाद निहाल … तुमने मुझे जितना प्यार दिया, उतना किसी ने नहीं दिया था. वंदना भाभी को भी अहसास हो गया था कि बल्लू का माल चूत में निकल चुका है इसलिए उसको एक अलग ही नशा सा चढ़ा हुआ था.

मैंने फिर उसके हाथ को पकड़ कर अंदर रजाई में कर दिया और फिर उसका हाथ अपने तने हुए लंड पर रखवा दिया.

उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया और हम दोनों अब 69 की पोजीशन में एक दूसरे को मजा देने लगे. मम्मी बोलने लगी थीं- आह … चोदो बेटा और जोर से चोद दे … आह और जोर और जोर से चोद … पेल दे पूरा लंड फाड़ दे मेरी बुर. मैंने दीदी की चूत को टटोला और अपने लंड को दीदी की योनि पर फेरते हुए रख लिया.

मेरा सोचना सही निकला और अभी तक राजशेखर ने मेरे साथ एकल संभोग नहीं किया था, तो उसकी नज़र मुझ पर बहुत पहले से ही थी. उसका ऐसा कहना था कि मैं फिर से काव्या के ऊपर टूट पड़ा और उसे दीवार से लगा कर उसके पल्लू को हटा कर उसके ब्लाउज खोलने लगा और उसे किस करने लगा. चूंकि वो एक लड़की थी तो पुरुष के प्रजनन अंग के बारे में उसकी जिज्ञासा स्वाभाविक थी.

इस कम्पनी में मेरी रिपोर्टिंग कम्पनी की स्टेट हेड एक महिला लेती थी.

हिंदी बीएफ चुदाई सुहागरात: मैंने उसे अपने नीचे लिटाया और लंड को बहन की चूत की फांकों पर रखकर लंड सैट कर दिया. रमा धक्कों के साथ जैसे कराह रही थी, उससे ऐसा लग रहा था कि अब वो रो ही पड़ेगी.

अब मेरे अंदर कामुकता जागने लगी, मैंने इस देसी कमसिन जवान लड़की के बुर चोदन का मौक़ा देखा तो मैं धीरे-धीरे बहाने से उसके बूब्स को जानबूझ कर छूने और दबाने की कोशिश करने लगा. उनके लंड चूसने के इतने शानदार तरीके से मेरा लौड़ा लोहे का डंडा बन चुका था. हम लोग उसी मॉल के सिनेमा हॉल में टिकट लेकर मूवी देखने के लिए घुस गए.

मैंने अंतरा की चूत को सहलाया और अपनी बहन को नंगी करके चित लिटा दिया.

रमा की सिसकियां, कराहने चीखने की आवाजों ने पूरे कमरे का माहौल ही बदल दिया था. मैंने उसका पूरा लंड अपनी चुत में ले लिया और मेरी सिसकारियां निकलने लगी. इसलिए मैं अपने जीवन में घटित हुई असल भाबी की चुदाई कहानी को आप सबके सामने प्रस्तुत कर रहा हूंःयह घटना आज से करीब 5 साल पुरानी गर्मी के दिनों की है.