सनी बीएफ एचडी

छवि स्रोत,वहिनी ची झवाझवी

तस्वीर का शीर्षक ,

राजस्थानी एचडी सेक्स: सनी बीएफ एचडी, अब मैं भी इन दोनों की तरह से पूरी चुदक्कड़ बन चुकी थी, जो डिल्डो को चूत में डाल कर चूत को ठंडा करती थी और शुक्रवार और रविवार को असली लंड का पूरा मज़ा लेती थी.

सेक्सी बीएफ ब्लू फिल्म वीडियो

उसने मुझे बाद में बताया था कि इस कमरे का टीवी दूसरे कमरे में रखे हुए डीवीडी प्लेयर से कनेक्ट है. एचडी के बीएफमैं अपनी उंगलियों से‌ नेहा की चुत की फांकों को सहलाते हुए नीचे उसके खजाने के‌ द्वार की तरफ बढ़ रहा था.

बाकी मेरे रहने और खाने की चिंता उन्हें सता रही थी, तो मेरे दोस्तों के ये कहने पर ही कि उनके रिश्तेदार उसी जगह रहते हैं, किसी तरह की कोई समस्या नहीं रहेगी, घर वालों ने मुझे जाने की इजाजत दे दी. भाभी देवर का सेक्सी पिक्चरपर जिस प्रकार वो लंबी थी, कोई कह नहीं सकता कि वो मोटी दिखती है, बस उसका शरीर भरा हुआ था, जो किसी भी मर्द के मुँह में पानी ला दे.

मेरे बगल से जगत अंकल थे और गाड़ी जैसे ही घर से चली कि जगत अंकल मेरी तरफ देख कर मुस्कुराए और मेरी जांघ पर उन्होंने अपनी हथेली रख दी.सनी बीएफ एचडी: मैं- बड़े चाचा बड़ी चाची की गांड मारते हैं या नहीं?चाची- कभी कभी … जेठ जी का लंड तुमसे भी बड़ा है.

अमीश ने मेरे सामने परिणीता आंटी को फ़ोन किया कि मैं बाहर जा रहा हूँ.शाम को मिलने पहुंचा तो वो जिस ऑफिस में काम करती थी, उधर से वापस आयी हुई थी.

carey बीएफ प्राइस - सनी बीएफ एचडी

रजत ने थोड़ी देर बाद अपना लंड शीतल की चूत पर सेट किया और विक्रम ने उसकी गांड का रुख किया.उनके मुंह से साथ ही कुछ इस तरह की आवाज़ें भी निकल रही थीं- उम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआह्हह!मुझे यह सब देखकर बड़ा मज़ा आ रहा था.

तब सतीश बोला- यह छिनाल से भी बड़ी वाली रांड है यार … तू देखता नहीं इसका सेक्सी लुक है और ऊपर से ब्यूटीफुल भी है … इस साली कमसिन को कौन छोड़ेगा. सनी बीएफ एचडी मैं उसकी चूत की दरार में जीभ फिराने लगा और वो अपने चूतड़ हिला हिला कर, अपनी जांघें लहरा लहरा कर मचल रही थी.

आप मुझे अपनी दुआ ज़रूर देना कि मेरा सेक्स टाइम बढ़ता जाए और मैं अपनी भविष्य की होने वाली बीवी को खूब खुशी दूँ, जी भर के चोदूँ, संभोग करूँ, खूब मैथुन क्रिया में लिप्त रहूँ और रात्रि टाइम में रति क्रीड़ा में व्यस्त रहा करूँ.

सनी बीएफ एचडी?

दीमा संग हम दोनों लड़के अब अपने लंड नताशा की फैलती जा रही गांड में गपागप अन्दर घुसेड़ते जा रहे थे और सिसकारी भरती गोरी पूरे जोशो-खरोश के साथ डबल एनल के मजे ले रही थी. हिमांशु ने मोबाइल निकाला और मेरी अलग अलग पोज़ में नंगी फोटो लेने लगा. मैं पूजा की बातों को सुनकर हॅंस दिया और फिर उसको चूमते हुए बोला- मुझे पता है कि यह तुम्हारा पहली बार किसी मर्द के ऊपर चढ़कर चुदाई करना नहीं था, क्योंकि तुम बहुत ही सधे हुए तरीके से अपनी चूत से मेरे लंड पर धक्का मार रही थीं.

इसके बाद सोनू खड़े होकर अपने लौड़े पे खाने का निवाला रखता जाता और मैंने उस निवाले को मुँह में लेने के लिए उसके लंड को भी चूसती जाती और निवाला भी खाती जाती. पत्नि की सांसों को थोड़ा आराम देने के बाद मैंने दोनों हाथों में पकड़ कर उसका सिर मेहमान के तड़प रहे लंड की ओर घुमा दिया और मेरी शर्मीली पत्नि ने अपना मुंह खोलते हुए उसे जड़ तक अपने हलक में घुसवा लिया!दीमा ने धीमे-धीमे बाहर निकालते हुए अपने लंड को दुबारा मेरी पत्नि के हलक में उतार दिया और इसी प्रकार अन्दर-बाहर करते हुए दीमा जंगली जानवरों की तरह चिल्लाता हुआ नताशा का मुंह चोदने लगा. हमें इस बात का विशेष ख्याल रखना पड़ रहा था कि नीचे को सरकती हुई नताशा इतनी ज्यादा भी नीचे ना गिर पड़े, कि हमारा द्विलंड उपकरण उसकी नाजुक सी गांड को फाड़ता हुआ अन्दर घुस जाए!इसलिए हमने अपना एक-एक हाथ अपनी पार्टनर के चूतड़ों के नीचे लगा लिया था और उसे ऊपर उभरने में मदद करने लगे थे.

लेकिन अभी तक किसी के भी साथ इस पोज़ का एग्जीक्युशन नहीं हो सका था!और तो और चुदाई कला के माहिर पोर्न आर्टिस्ट भी अभी तक मेरी पत्नि के साथ ऐसा पोज़ एग्ज़िक्यूट नहीं कर सके थे. मैं हमेशा ख्वाब में किरण चाची को चोदा करता हूँ … और जब भी चाची के यहां आता हूँ … तो छुप छुप कर चाचा चाची की चुदाई देख कर मुठ्ठ मार लेता हूँ. लेकिन मन में डर था कि डैड घर में हैं और दूसरा ये कहीं किसी से बोल न दे.

अब हम दोनों मां बेटियों को रंडियों की तरह कुतिया बनाकर पेल रहे थे।अब हमने दोनों को एक दूसरे के पास कर दिया और दोनों को एक दूसरे का मुंह चूमने को बोला. वह दोनों जाने मुझे क्या समझ कर आए थे कि मेरी बात का उन पर कोई असर ही नहीं पड़ा.

अब हमारे तपते हुए लंडों को चलने के लिए ज्यादा जगह मिल जाने से, हम लंडों को घुमा-घुमा कर अपनी बीवी की गांड में ठूंसने लग गए.

भाभी की हालत उस समय एक प्यासे हाथी की तरह हो गई थी, जो किसी तरह नदी तक पहुंचना चाह रहा था.

एक दूसरे के बारे में जानकारी करने के बाद मैंने उसका नम्बर माँगा तो बोली- नम्बर का क्या करोगे?मैंने कहा- दोस्ती की है, तो नम्बर तो देना ही पड़ेगा. मैंने अपना हाथ जब रखा तो वह सीधे उसके निप्पल से टकराया, तो वह मुस्कुरा कर धीरे से कहने लगी- कर लो हाथ गर्म. मैंने पैसे लेने से मना कर दिया और कहा कि आप खुश हो, वही मेरे लिए बड़ी बात है.

मैं उसको सॉरी बोल कर किस करने लगा … साथ ही साथ उसके मम्मों को भी हल्का हल्का दबा लेता था. पूजा ने भी अपना एक हाथ बढ़ा कर मेरा लंड अपनी चूत के छेद से लगा दिया और खुद ही अपनी कमर हिला कर एक झटका देते हुए मेरा लंड फिर से अपनी चूत में घुसवा लिया. मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और मैं झड़ गया तो उसने मेरा सारा माल रुमाल से साफ किया और लंड को साफ कर के कुछ केमिकल लगा कर लंड को चूसना शुरू किया.

नीचे की ओर पतली होती हुई पिंडलियां और कमानीदार धावकों जैसे बीच में से घुमावदार पैर.

दो पल बाद उसने कहा- क्या हुआ … रुको मत … अन्दर बाहर करते रहो … मुझे इस दर्द में भी बहुत मजा आ रहा है. अगर कोई भी मुझे किसी भी काम के योग्य समझे या कभी बात करना चाहें तो कर सकते हैं. मेरे दिमाग में आईडिया आया और मैं थोड़े गुस्से में बोला- नहीं, बच्चे को ऐसे दूध पिलाते हैं क्या?कविता बोली- हां.

चुत के पास से सुलेखा भाभी की पेंटी बिल्कुल गीली हो रखी थी और उसमें से गर्माहट सी निकल रही थी. उसने महेश से पूछा कि महेश भाई बात हुई थी, अपनी अब्दुल मियां से … उसको भी बुला लें … वो भी अपना पार्टनर है. दस दिनों तक तो सब कुछ ऐसे ही चलता रहा, मौका नहीं मिल पाया उसके दस दिन बाद मैं अपने बॉस के साथ किसी काम से दिल्ली से बाहर गया हुआ था.

थोड़ी देर बाद मैंने अपनी दो उंगलियों को उसकी चुत में घुसा दिया और अन्दर बाहर करने लगा.

मुझे मालूम है कि आप यही जानना चाहते हो कि मेरी बहन मुझसे चुदी या नहीं. चाची की गांड के दरार में उंगली फेरते हुए मैंने उनकी चुम्मी ली- अबकी बार तो चाची, आपकी गांड चोदने की बारी है.

सनी बीएफ एचडी मैं आपको उस औरत के बारे में बता दूँ … उसकी हाइट करीब पांच फ़ीट आठ इंच होगी, रंग एकदम गोरा और शरीर ऐसा जैसे किसी सांचे में ढाला गया हो। पतली कमर लम्बी गर्दन. उधर अपने नौकर को भी फोन करो कि बढ़िया वाली स्कॉच दारू चिकन और सब लेकर जल्दी पहुंच जाए.

सनी बीएफ एचडी डांस करते हुए तीनों एक दूसरे का चूचियां दबाने लगीं और एक दूसरे के कपड़े खोलने लगीं. मेरी आदत है कि ठण्ड हो या गर्मी, कोई भी घर पर आया हो … मैं रात में केवल कच्छा और बनियान में सोता हूँ.

भाभी की चूचियां एकदम टाइट थीं, मनीष उन्हें सहला रहा था और अब झुक कर भाभी को चूमने लगा.

सेक्सी कविता सुनाओ

मैं इतना मदहोश हो गया था कि मुझे रसोई से भाभी की आती आवाज भी सुनाई नहीं दी. रोज रात को अपनी खिड़की खोल कर रखती और मेरी खिड़की के खुलने का इंतजार करती. मैं फिर भी पूजा के नीचे चुपचाप लेटा रहा और पूजा को पूरी तरह से झड़ने दिया.

जैसे उंगलियां चूत में घुसीं, मुझे बहुत ही अजीब लगा और मैं उछल पड़ी. तूने अब्दुल और रमीज जैसे पठानों के बड़े बड़े लंड लेकर जिस अंदाज से मस्त चुदवाया है. फिर सर ने बड़े प्यार से मुझे सीधा लिटाया और पास पड़े कपड़ों को गोल सा करके मेरे चूतड़ों के नीचे रख दिया.

नीरू ने पूछा- क्या तेरा मन है?तो सविता ने कहा- क्यों? क्या तेरी नजर में कोई लड़का है या तेरा कोई बॉयफ्रेंड है जिससे तू करवाती है?तब नीरू ने कहा- बॉयफ्रेंड नहीं, एक अनुभवी फ्रेंड है मेरे पास … उम्र 42 वर्ष है लेकिन बहुत मस्त … ना कोई फिक्र, ना कोई झंझट, न राज खुलने का डर! और अनुभवी आदमी जो मजा दे सकता है, वह नया लड़का नहीं दे सकता.

मैं उस टाइम एम बी बी एस की पढ़ाई भी कर रहा था और घर पर ही 11 वीं और 12 वीं क्लास के स्टूडेंट्स को टयूशन भी देता था. जब वो वाराणसी आती हैं, तो मेरे सारे दोस्त भाभी की जवानी के नाम पर मुठ मारते हैं. हमें जब भी अवसर मिलता है हम चुदाई कर लेते हैं लेकिन अब रेवती की शादी है.

जब टांगें हवा में बंधी हों और चुदने वाली को ये नहीं पता हो कि कौन चोद रहा है … सच में बड़ा ही अच्छा लग रहा रहा था. जीजू बोले- स्वीटहार्ट सो रही हो क्या?मैं चुप रही, तो जीजू एकदम से बेड पर आ कूदे और कंबल के ऊपर से मुझे दबोच लिया. मेरी कनपटियां तप रहीं थीं और लंड भी तनाव में आ चुका था; पैंट के नीचे दबे होने से लंड बुरी तरह अकड़ गया था और उसमें हल्का हल्का दर्द सा भी होने लगा था.

मेरी छोटी सी बुर में लंड आज वहाँ सैर कर रहा था, जहाँ आज तक कोई लौड़ा नहीं पहुँच सका था. तूने मेरा फोन चैक करा था?मैं- अरे आप मुझसे मांग लेतीं, मेरे पास तो खजाना भरा पड़ा है.

जब तेरे मामा आते थे तो उनका लंड लेने से पहले भी मैं उनकी गांड के साथ खेलती थी. सर की बात सही निकली, मैं खुद उनकी पीठ पर नाखून गाड़ कर, गांड उठा उठा चुदवाने लगी. थोड़ी देर बाद मैं उनके घर के सामने पहुँच गया, सच कहूँ तो दोस्तो … मेरे मन में बहुत से सवाल चल रहे थे उस समय … जैसे कि क्या ये उतनी सुंदर होंगी जैसी ये फोटो में दिखती हैं और क्या इन्होंने जो फोटो मुझे भेजा था, क्या वो सब असली थे या नहीं?मन में सवाल लिए हुए मैंने उनके घर के दरवाजे की घंटी बजाई.

अब मेरी पत्नी ने कहा- पीछे बैठकर इसकी चूत में जीभ से चाटो!मैंने अपनी पत्नी की आज्ञा का पालन करते हुए उसकी चूत को कुत्ते की तरह चाटना शुरू कर दिया.

मेरे बहुत कहने पर और समझाने पर वह इस बात पर मान गयी कि हम पति पत्नी ही जा रहे हैं. मुनीर ने सिसकारते हुए पूरे जोश से माइक का लिंग अपनी ओर खींचा और मुठी में भर कर उसके सुपाड़े को जीभ से चाटने लगी. मैंने उनसे कहा- क्यों मैडम जी, बहुत दर्द हो रहा है?तब उसने कहा- प्लीज़ मुझे मैडम जी मत कहो.

इतने में कोई दूसरे अंकल ने भी मेरे दूसरे हाथ को पकड़कर अपने लंड में रखवा लिया और अपने लंड को ऊपर नीचे करवाने लगे. हमने एक एक पैग और सिगरेट पी और फिर उसने मुझे मेज़ पर लिटा दिया बोली- आज पूरा बदला ले कर रहूँगी.

उसके बाद मैंने 5 मिनट तक सोनाली की गांड भी मारी औऱ मैं सोनाली की गांड में झड़ गया. वो मेरा इशारा समझ गईं और तुरंत मुझे धक्का देकर मुझे पीठ के बल लेटा कर मेरी जॉकी को खींच कर निकाल फेंका. अब मेरी पत्नी ने कहा- पीछे बैठकर इसकी चूत में जीभ से चाटो!मैंने अपनी पत्नी की आज्ञा का पालन करते हुए उसकी चूत को कुत्ते की तरह चाटना शुरू कर दिया.

गुजराती सेक्सी ओपन सेक्सी

वहां पहुंचते ही सबसे पहले मैंने दरवाजा बंद किया और उसे दबोच लिया और एकदम जकड़ कर उसे चूमने लगा.

इसलिए जैसे ही मैंने अब उनकी चुत को चूमा, उन्होंने मुझे पकड़ कर‌ अब नीचे‌‌ गिरा लिया और अपने पैरों को मेरे दोनों तरफ करके मेरी जांघों पर बैठ गईं. महेश ने फोन में बोला- ठाकुर, कुछ अभी जितना पैसा देना हो तो बोलो, हम लोग दे देते हैं. उसने शायद घाघरे के जैसा कुछ पहना हुआ था, जो कि काफी खुला हुआ भी था.

फिर अब भला मैं कहाँ पीछे रहने वाला था, ‘इसस्स … आआह …’ सिसकारी भरते हुए मैंने भी मीता की नाभि में उंगली से चुदाई शुरू कर दी और दूसरी उंगली से चूत को अंदर बाहर करते हुए दोतरफा बाहरी चुदाई शुरू कर दी. फिर से मैंने उसी पोजीशन में 5 मिनट तक फिर से सेक्स किया और फिर से एक बार मेरा लौड़ा झड़ गया. एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियो 2020आपको कोई भी प्राब्लम हो तो आप श्यामा से कह कर मुझे बतला दिया कीजिए.

तब मैंने जाना कि जो मेरी गांड में लंड घुसाये हैं, उनका नाम राजीव है. दिन गुजरते गए और हम दोनों एक दूसरे को और अधिक बेहतर तरीके से समझते गए.

मैं सिसकारते हुए धीमे से बोली- स्स्स्स … अहाआ … अंकल जी … आपका बहुत बड़ा और मोटा है … आअह्ह्ह … पूरा कस गया है अंकल जी. माँ उस बैंगन को ऐसे प्यार कर रही थी जैसे कोई लंड हाथ में ले रखा हो. मैंने कहा- तुम क्या पागल हो?उसने कहा- हां तुम्हारे लिए … तुम्हारी ख़ुशी के लिए.

एक दोपहर मैंने दीदी से कहा- दीदी, मेरी चूत में बहुत खुजली मची है, मुझे एक बार जीजू का लौड़ा दिलवा दो. वो मस्ती में आंखें बंद करे हुए अपनी जांघें जोर से दबाए हुए और अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ पकड़ते हुए बैठ गई थी. मुझे पता था कि उनको बहुत दर्द हो रहा है … लेकिन मैं मौका हाथ से खोना नहीं चाहता था.

इसके बाद उन्होंने उठ कर मेरी पैंट उतार दी और मेरी चड्डी भी नीचे कर दी.

कोई परेशानी हो तो बताइए?रेवती की मां बोलीं- नहीं सरस, कुछ पूजा का सामान रह गया है, वहीं लाना है यहीं पास से. उस दिन हम लोग कॉलेज से बंक मारते हैं और तुम मेरे साथ मेरे घर पर चलना, फिर वहां तुमको सब बताऊंगी.

सतीश बोला- मैडम आप आराम से बैठ जाइए या लेट जाइए, हम आपके कपड़े लाते हैं. आ जाओ पूजा मेरे ऊपर बैठकर मेरा ये लंड अपनी चूत में भर लो और चुदाई करो. इतना कहने के बाद मैं पूजा की चूत के अन्दर झड़ गया और पूजा की चूत ने भी मेरे साथ साथ अपना पानी छोड़ दिया.

सोनाली ने मेरे लंड का पानी अपने मुँह से किस करते हुए ख़ुशी के मुँह में दे दिया. पिटाई तो ठीक है, मगर मुझे जब यहां से निकाल देंगे तो मैं अपने घर पर क्या जवाब दूँगा? अब ये सोच कर तो मैं अन्दर तक‌ ही हिल सा गया. नेहा उत्तेजित थी और उसे मजा भी आ रहा था मगर शायद वो शर्मा रही थी‌ इसलिए उसने मेरे हाथ को छोड़ा तो नहीं, मगर अपने हाथों की‌ पकड़ को थोड़ा सा ढीला जरूर कर दिया.

सनी बीएफ एचडी अब मेरे मजे के लिए उस बिल्डिंग में दो घर हो चुके थे, जिनके दरवाजे मेरे लिए हमेशा खुले रहते थे. सच में तेरी गांड से मस्त गांड दुनिया की किसी मॉडल की भी नहीं होगी, न किसी हीरोइन की होगी.

चोदी चोदा सेक्सी पिक्चर हिंदी

मुझे आईने से सब कुछ दिख रहा था, मजे की बात कि यह बात सोनल को पता थी. अब मैंने धीरे धीरे करके उनकी नाइटी को पीछे से ऊपर करना चालू किया और कुछ ही देर में उनकी नाईटी को उनके कमर तक कर दिया. शीतल (उत्सुकता से)- क्या सुना है?मयूरी- रहने दो… आप यकीन नहीं करोगी!शीतल- अरे तुम बोलो तो… मैं पक्का यकीन करुँगी.

मेरी बड़ी चाची का नाम किरण है, उनकी उम्र 55 साल की है, लेकिन देखने में वो 40-42 की ही लगती हैं. शायद ये इशारा था कि मैं उसके लिंग को प्यार करूँ, पर उसे देख कर तो मेरी कामुकता कम होने लगी और भीतर से डर भी गयी. एक्स एक्स एक्स बीपी एक्स एक्सफिर मैं अपना एक हाथ उसके माथे पर से फिराते हुए उसके होंठों पर ले गया और होंठों के आसपास फिराने लगा, इससे वो इतनी उत्तेजित हो गई कि उसने अपने हाथों से मेरे सिर को पकड़ कर अपने पास खींच लिया और किस करने लगी.

दूसरी तरफ संयोग से कुछ दिन बाद मैंने उस बाहरी लड़के से मोबाइल पर बात करना बंद कर दिया क्योंकि हम दोनों में झगड़ा हो गया था.

मैंने उस दिन मेरून रंग का बड़े गले का टॉप पहना था और बहुत ही टाईट जींस थी. एक दिन की बात है, उसके घर पर कोई नहीं था, तो उसने मुझे कॉल किया और बोला कि आज रात को मेरे घर पर कोई नहीं है, तो हम कहीं बाहर चलें.

वो हमेशा मुझसे कहती है कि तुम अपने होंठ मुझे दे दो और मेरे होंठ तुम ले लो. उसने झट से मुझे अपनी बांहों में दबा कर मेरे मम्मों को दबाना शुरू कर दिया. उस ढलके हुए पल्लू की वजह से उनके बूब्स को और उनकी दूध घाटी दिख रही थी.

फिर लगभग तीन घंटे सोने के बाद, पता नहीं कब, कुछ लोग मेरे कमरे में आ गए और मेरे साथ लेट गए.

जब उसने कहा कि दर्द कम हुआ है, तब मैंने एक और झटका लगाया और मेरा पूरा लंड उसकी चुत में समा गया. ओके!मैंने जरा खुल कर कहा- देखो जो आपको चाहिये, वो मैं दे सकता हूँ, मैं आपकी प्यास भी बुझा सकता हूँ. वो झड़ कर मुझसे लिपट गया और साथ ही हांफने लगा, दो-तीन मिनट वो मुझसे लिपटा रहा, फिर बोला- इसको चोदने में बहुत मजा आया … गजब की लड़की मिल गई यार … क्या किस्मत थी हम दोनों की.

देवर भाभी की एक्स एक्सकम्मो की वो दोनों ब्रा पैंटी तो मैंने अपने पास पैंट में छुपा रखीं थीं. हम बेडरूम में पहुंच गए, मेरी पत्नी दूसरे रूम में थी, मैं नीरू और सविता एक रूम में!मैंने नीरू को पूछा- नीरू, क्या बात? इतनी रात कैसे आना हुआ? और मम्मी से क्या बोल कर आई हैं?नीरू बोली- मैंने मम्मी को बोल दिया है कि जीजी सुबह कहीं बाहर जा रही हैं, उनका हाथ बटाना है, फोन आया था जीजी जी का … तो मम्मी ने भेज दिया.

मुसलमान लड़कियों की सेक्सी फिल्म

उस दिन मेरा दिल नहीं लग रहा था इसलिये मुझे खाना खाने की भी इच्छा नहीं हो रही थी. मुझे इतना तो पता लग गया था कि हिना भाभी अपने पति से ख़ुश नहीं हैं, पर ख़ुश होने का नाटक करती हैं. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:विशाल लंड से चुदाई का नया अनुभव-3.

कोई और होता तो मेरी लालसा का लाभ उठाता और मेरी चूत और गांड दोनों फाड़ देता. वो जॉब छोड़ने के लिए बोलने लगी तो मैंने उसे बोला- जॉब मत छोड़ो जब तक दूसरी नहीं मिलती. तभी रिया भाभी ने तेल लाकर अपने हाथों से मेरे लंड पर और मेरे लिए एकता भाभी नई नकोर गांड पे लगा दिया.

मुझको बहुत मजा आ रहा था और मैं भी अपनी कमर हिला हिला के अपना लौड़ा उनके मुँह में डाल रहा था. छोटी चाची इस वक्त एक नाइटी पहनी हुई थीं, वे पता नहीं कब से मेरी इस हरकतों को देख रही थीं. मैं आज अन्दर अकेले सो रही थी इसलिए मुझे डर भी नहीं लग रहा था कि कोई हमें देखेगा क्योंकि घर के सब लोग बाहर सो रहे थे.

माइक धक्के पर धक्के मार रहा था, मुझे तभी एक पल के लिए मुझे ऐसा लगा. मैंने भी मानसी को फर्श पर कुतिया बना दिया और उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया.

मुन्ना तू अपना लंड इसके मुँह में डाल और फ्रेंच चुदाई कर इसके मुँह की.

इतने शर्मीले क्यों हो यार?मैंने धीरे से बोला- कल रात जो मैंने किया था, वो गलती से हो गया. ओपन सेक्सी बीएफ हिंदीकम्मो ने भी अपना जिस्म ढीला छोड़ दिया और आनन्द से आंखें मूंद लीं और और अपने पैर और चौड़े कर दिए इससे उसकी चूत और खुल गयी और मुझे उससे खेलने के लिए ज्यादा स्थान मिलने लगा. एसएस वीडियो बीएफअब रेवती की चूत से बाहर आने वाले वीर्य में हम दोनों का वीर्य शामिल था. समय बीतता गया मेरी पढ़ाई पूरी हो गयी और मुझे घर के पास ही जॉब मिल गई, जिसके कारण मैं घर पर रहने लगा.

वो एकदम से टूट सी गई थी, उसका जिस्म एकदम से बेजान सा हो गया था … वो थोड़ी बहोश हो गयी.

मजाक धीरे-धीरे सेक्स की ओर बढ़ती जा रही थी और मुझे भी माहौल अच्छा लगने लगा. पूर्वी एक कमरे की तरफ इशारा करती हुई- आप उस बेडरूम में जाकर बैठो, मैं पार्सल लेकर आती हूँ. फोन उठाया तो दूसरी तरफ से सुमन की जिस तरह से आवाज़ आयी, उसे सुनते ही मैं समझ गया कि आज ये चुदना चाहती है.

हम दोनों के चर्मोत्कर्ष को प्राप्त कर लेने के बाद भी हम उस आलिंगन के पलों से बाहर नही आना चाहते थे. यह सुनकर तो मेरे मन में एक खुशी की लहर दौड़ गई, पर उसे इसका अन्दाजा नहीं था कि आज उसके साथ क्या होने वाला है. फिर मेरी मम्मी की ओर इशारा करके बोले- उनको भी मेरी तरफ से 4 साड़ियां और दिला दो, तब तक मैं वन्द्या को कुछ नाश्ता करा देता हूं.

भतीजी के लिए स्टेटस इन इंग्लिश

डेढ़ घंटे बाद मैंने देखा तो साढ़े सात बज चुके थे … तो मैं फटाफट तैयार हो गया और ठीक आठ बजे मैंने मोबाइल उठा कर मेम को फ़ोन करने के लिए सोचने लगा. नीरू बोली- जीजी, मुझे नहीं मालूम … लेकिन मैं तो मजे के मारे मरी जा रही हूं. मैंने अब उनकी नंगी पीठ पर से चूमना शुरू‌ किया और धीरे धीरे गर्दन की तरफ बढ़ने लगा जिससे सुलेखा भाभी और भी‌ जोरों से सिसक उठीं.

पिछली कहानी में आपने जाना था कि मैंने कैसे अपनी दीदी की सहेली की चुदाई की थी.

मैं और नीरू दोनों बिल्कुल नंगे हो चुके थे जबकि सविता के शरीर पर ब्रा और पेंटी बाकी थी.

राज अंकल ने मुझसे वादा किया था कि तुम्हारी मम्मी को मैं तुम्हारे सामने चुदते हुए दिखाऊंगा. मैं जोर जोर से चाची की गांड को मसलने लगा और अपने लंड को चाची की जांघ पर रगड़ने लगा. आंटी का बीएफचूंकि वो एक भीड़ भाड़ वाला इलाका था, तो मुझे वहां अच्छी अच्छी बालाएं मतलब भाभियां, आंटियां वगैरह दिख जाती थीं, जिन पर मैं अपनी पैनी नज़र गड़ाकर कुछ रुक कर देखता और गुजर जाता था.

मैं तुरंत ही समाली अंकल का लौड़ा पकड़ कर उसे अपने हाथों से रगड़ने लगी, तो वो और कड़क होने लगा. मैं अब धीरे से खिसक कर उसके नजदीक हो गया और उसके दोनों कंधों को पकड़ कर धीरे से उसे बिस्तर पर धकेलने लगा. मेरी अब ज्यादा किसी से बात करने की या पूछने की हिम्मत नहीं हुई इसलिये मैं चुपचाप अपने कम्प्यूटर कोर्स के लिये निकल गया.

दो तीन मिनट तक तो मैं ऐसे ही सुनता रहा, मैंने सोचा कि कमरे का दरवाजा खुलवाऊँ या नहीं! फिर मैंने सोचा कि चलो जो होगा देखा जायेगा, शायद मेरा काम भी बन जाये।मैंने दरवाजा खटखटाया तो अन्दर से आवाज़ आनी बन्द हो गई. योजना के अनुसार जब हम वहां पहुंचे तो वो कम्प्यूटर पर ब्लू फिल्म देख रहा था.

मुझसे नए जुड़ने वाले साथियों के लिए बताना चाहता हूँ कि मेरा नाम रिक्की (बदला हुआ नाम) है.

अपनी जीजी की आज्ञा का पालन करते हुए नीरू तुरंत ही बेड पर सिर रखकर डॉगी स्टाइल में खड़ी हो गई. शायद उसने अन्दर ब्रा भी नहीं पहनी थी, तभी तो उसकी साँसों के साथ साथ उसके अनार आजादी से ऊपर नीचे हो रहे थे. चाची फुंफकार भरते हुए बड़बड़ाने लगीं- आह … ऐसे ही चोदो मेरे राजा … आह … आह … बहुत मजा आ रहा है … पूरी चूत में एक अजीब सी गुदगुदी हो रही है … ओह … आह … मेरे चुदक्कड़ राजा जी … अब तुम चोदते रहो!चाचा- तेरी चूत बहुत गर्म है मेरी चुदक्कड़ रानी … मेरा लंड जल रहा है अन्दर!चाची- बस आप यूं ही चोदते रहो मेरे राजा … जब आपका पूरा वीर्य मेरी चूत की गहराई में गिर जाएगा, तब ही मेरी चूत की गर्मी खत्म होगी.

बिहारी सेक्सी एचडी बीएफ मगर आने से एक दिन पहले देर रात तक हम दोनों किसिंग का खेल खेलते रहे. बस अब फ़र्क इतना था कि मैं उसके होंठ चूस रहा था और एक हाथ से उसकी चुची को सहला रहा था.

उसके दोनों बेटे भी उसकी चूचियों से धीरे-धीरे खेल रहे थे और उसकी जांघों को सहला रहे थे. वह मुझे स्कूल की किताबों की जगह सेक्स की कहानियों की पुस्तकों को ला ला कर पढ़ने को देते और मैगज़ीन जिसमें चुदाई की फोटो रहती थी, वो दिखाते और मेरे नीचे उंगली डालकर अन्दर बाहर करते. अगर आपको यह कहानी अच्छी लगी होगी तो मैं आपको अपनी अन्य कहानियाँ भी सुनाऊँगी.

सेक्सी फिल्म गाना भेजो

मेरी बात सुन कर सुशीला शर्मा कर जब वहां से जाने लगी तो मैंने उसको पकड़ के वहीं बेड के ऊपर बैठा दिया और खुद उसकी जांघों के बीच बैठकर उसकी चूत में मुँह घुसा दिया।वो सिसिया गयी … मैंने उसकी चूचियाँ ब्लॉउज के ऊपर से मसलनी आरम्भ कर दी तो वो और ज्यादा सिसकारने लगी।मैंने मानसी की मम्मी की चूत चाटना जारी रखा, साथ में चूचियों को मसलना भी … उसको मजा आने लगा था। वो आँखें बंद करके आनन्द लेने लगी थी. साली ले अब सहन कर … आज तू देख साली … आज तेरी चुत को भोसड़ा न बना दिया तो कहना … आह ले … साली लंड खा … हरामिन चुपचाप सहन कर … कुतिया आज से तू मेरी रांड है. जब वो मुझे चाय देने झुकीं, तो मेरी आँखें फटी की फटी रह गईं, क्या बूब्स थे भाभी के.

इतने में मैंने कहा- क्यों ना हम आराम से बेडरूम में चलें और उधर ही खेल का मजा लें. वो बोली- अगर ऐसा है तो दिखाई क्यों नहीं देता कपड़ों में से?मैंने पूछा- मतलब?उसने कहा- ऐसे सीधे हवा में ऊपर की तरफ कैसे था.

उसने मेरे स्कर्ट को और ऊपर को जैसे ही चढ़ाया, तो उसको मेरी पैंटी दिखी.

मैं दिखने में भी बहुत सेक्सी हूँ और बहुत मजबूत इरादे वाली लड़की हूँ. मैं उनके पीछे पीछे उनके बेडरूम में गया जब वो खड़ी थीं, तो मैंने उन्हें पीछे से जाकर पकड़ लिया और उनके कान के नीचे गर्दन पर अपने होंठ घुमाने लगा. उसके इस तरह के संभोग क्रिया से मैं समझ गयी कि वो तारा को पूरी तरह सहज महसूस करवाना चाहता था.

इस पर भाभी कुछ बोल ही नहीं पा रही थीं, तो मुझे लगा कि उनको मेरी बात पर शायद गुस्सा आ गया होगा. कुछ मिनट बाद मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ तो मैंने रेखा का हाथ अपने लंड से हटवा दिया और उसकी सलवार का नाड़ा खोलने लगा. पहली बार मैंने अपनी रेशमी जांघों के बीच अपनी नाज़ुक सी चूत को उंगली से छेड़ा.

मुझे मुन्ना अंकल ने मेरी स्कर्ट और टॉप उठा कर दी और बोले- वन्द्या ऐसे ही जल्दी से पहन लो.

सनी बीएफ एचडी: लगातार दस मिनट तक लंड चूसने के बाद मेरा वीर्य निकलने वाला था तो मैंने सोनल को बोला कि हट जाओ … मेरा निकलने वाला है … लेकिन उसने मुँह नहीं हटाया. उसकी सांसें तेज होने लगीं, मैंने अपना एक हाथ उसके सीने पर रख दिया और कुरते के ऊपर से ही उसके मम्मों को दबाने लगा.

मैं पहले अपने जीजू से ज्यादा बात नहीं करती थी लेकिन अब जब भी जीजू दीदी को लेकर आते थे तो मैं जीजू से बात करती थी. इस बार तो वो इतने मजे से लंड चूस रही थी कि मेरी जान निकलने को होने लगी थी. उसकी चुम्मी करने का अंदाज ऐसा था मानो मैं इमरान हाशमी हूँ और वो ज़रीन खान है.

तभी मैक ने गैब्रियल को अंग्रेजी में कुछ बोला और मुझे उठा कर बैठा दिया.

मैं सोच रहा था कि क्यों न रेखा की ही चूत मार लूँ लेकिन उस वक्त वह अपने पति के साथ थी. शायद उससे सहा नहीं गया और जोर से उसकी चुत से पानी का फव्वारा मेरे लंड को लगा. किस करते हुए उन्होंने मेरे टॉप को खोल दिया और ब्रा के ऊपर से ही चूची को दबाने लगा.