भोजपुरी इंग्लिश बीएफ

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी एक्स एक्स एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी बीएफ देसी बीएफ: भोजपुरी इंग्लिश बीएफ, मैंने गाड़ी की चाबी वहीं पास में छुपा दी और नंगी ही सड़क पर चलने लगी.

सेक्सी व्हिडिओ भेजना सेक्सी व्हिडिओ

इसलिए मैंने तेज तेज चुदाई करना उचित नहीं समझा और स्लोली स्लोली भाभी की चुत में लंड अन्दर बाहर करने लगा. हिंदी फिल्म सेक्सी बोलने वालीरमेश की बात सुनकर मैं भी सोच रही थी कि हां साला इस कोरोना के चलते मुझे भी कोई लंड नहीं मिला, जिससे मैं अपनी चूत की गर्मी शांत करवा सकूँ.

इधर मुझे ऐसा लग रहा था जैसे किसी कुतिया ने अपने दांतों में मेरे लंड के टोपे को जकड़ रखा हो. सेक्सी बराबरमैंने ये बात पल्लवी को बताई और कहा कि अगर तुम चाहो, तो हम दोनों मिल सकते हैं.

हालांकि मुझे रेहाना के ढीले मम्मों साथ इतना ज्यादा मजा नहीं आ रहा था, साली कपड़ों में तो बड़ी मस्त माल लग ही थी.भोजपुरी इंग्लिश बीएफ: मैंने अपने लंड को उसकी चूत में घुसाया और बड़े आराम से ताक़त लगा कर अन्दर बाहर करने लगा.

वो लंड सहलाते हुए बोली- मैं उसकी गांड तुझे कैसे दिलाऊं भाई?मैंने कहा- कर ना यार कोई जुगाड़.कुछ देर बाद वो मेरा लंड पैन्ट के ऊपर से ही सहलाने लगीं और हम दोनों बातें करने लगे.

फुल सेक्सी वीडियो फुल चुदाई - भोजपुरी इंग्लिश बीएफ

आपके मेल काफी संख्या में मुझे मिल रहे हैं और मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है.इस हरकत से कुसुम की आंखें फैल गईं और उसे समझ में आ गया कि ये क्या हो रहा है.

उसने जैसे ही मेरे पैंट को निकाला, मेरा खड़ा लंड अंडरवियर में से बाहर आने को तड़पता हुआ दिखा. भोजपुरी इंग्लिश बीएफ मैंने अभय से पूछा कि तुम दोनों के क्या मामले हैं, बार बार लड़ते रहते हो.

फिर मैंने कुछ देर बाद आकर उसको बुक दे दी और जाने लगा, तो भूल ही गया कि खाना लेकर जाना है.

भोजपुरी इंग्लिश बीएफ?

फिर भाभी ने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने ना में सिर हिलाया. मेरा लौड़ा दीदी ने इतनी जोर से पकड़ा कि जैसे दीदी के हाथों में किसी पहलवान का जोर आ गया हो. रिट्ज मेरे पास आई और बोली- यार सॉरी, मैं समझी तुम बस वैसे ही बोल रहे हो.

मैंने उस डिल्डो को नजर भरके देखा और उस भाभी को बोला- लो आपकी जल गई. ये कहते हुए विजय ने कपड़ों के ऊपर से भाभी के एक मम्मे पर अपना मुँह लगा दिया. वो बोली- सिर्फ दबाओगे ही या कुछ करोगे भी?मैं उसके मम्मों को दबाते हुए चूसने लगा.

मैंने उसे अपने पास बुलाया और अपनी कमर पर बैठने को कहा।वो मेरी कमर पर एक टांग इधर और दूसरी टांग उधर कर करके बैठ गई।मैंने उसके दोनों कूल्हों को पकड़ कर दबाया और उसको अपनी और खींच कर उसके होंठों को चूस लिया।लिपस्टिक के स्वाद में उसके बासी मुँह का ज़ायका दब गया. रमेश मुझसे बोला- आह साली रांड अच्छे से लंड चूस मां की लवड़ी … आह बड़ा मजा दे रही है. नवीन बोला- देख अंजलि मेरे पास पैसा है … मैं तेरी और तेरी बेटी का खर्चा उठाऊंगा, तू मेरे साथ आ जा.

फिर धीरे से मैं अपना हाथ आगे की तरफ ले गया और धीरे धीरे उसकी एक चूची को सहलाने लगा. रोमी बोला- क्या तुम्हारी गांड अभी तक किसी ने नहीं मारी है?सरिता भाभी बोली- नहीं … मेरी गांड अभी तक किसी ने नहीं मारी.

सड़क पर ट्रेफिक ज्यादा था तो वो सब सड़क के पार जाने के लिए कुछ पल रुक कर बात करने लगीं.

जाते समय वो बोला- मैं वैसे भी किसी को तुम्हारी वीडियो फॉर्वर्ड नहीं करता.

फिर जीजू में अपने कपड़े उतारे और मेरी तरफ देख कर मुझसे कपड़े उतारने की कहने ही वाले थे कि तभी किसी ने जीने का दरवाज़ा बजा दिया. मैंने भी मौका देखते हुए उनसे थोड़ा बात करने की कोशिश की और उनको बोला- आंटी, क्या आपको अपनी दुकान का रजिस्ट्रेशन करवाना है?वो बोली- हां. उसने एक स्कर्ट और टॉप पहन रखा था, उसका टॉप एकदम खुला हुआ सा था, जिसमें से उसके बड़े मम्मों का आकार का साफ़ दिखाई दे रहा था.

कुसुम को जब अपनी चुत पर अपने बेटे के लंड का अहसास हुआ, तो वो मजे से झूम उठी. मेरी बहन ने उससे कहा- आह पंकज, मुझे बहुत दर्द हो रहा है … मुझे कुछ नहीं करना, बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज़ लंड बाहर निकाल लो. लेकिन उसने कभी किसी लड़के का लंड नहीं लिया था।सच कहूँ दोस्तो, मैं तो 69 का मतलब ही नहीं जानता था.

मैं बिहारी में कहूँ, तो बिल्लो रानी कही, तो जान दे देयी, हाय रे मोर बिहार वाली विपाशा.

जैसे ही उसने चूत को लंड पर रखा, लंड सट्ट से अंदर घुस गया और अंजुमन की चीख निकल पड़ी. जैसे ही आसिफा ने मेरा लोअर नीचे किया, मेरा खड़ा हो चुका लंड उसके सामने फन फैलाने लगा. मेरी बहन ने जैसे ही अपनी चुत पर लंड का गर्म अहसास किया, वो अपनी गांड उठाने लगी और लंड कि अन्दर पेलने की कहने लगी.

फिर इस तरह धीरे धीरे हम दोनों की दोस्ती हो गई और बातचीत भी होने लगी. आज मैं अपनी बेहन की चुदाई की सच्ची सेक्स कहानी आपको सुनाने जा रहा हूँ, कुछ त्रुटि हो तो माफ कीजिएगा. उन्होंने अपने होंठों से मेरे होंठ चूम लिए और मुझे 5 मिनट तक फ्रेंच किस किया.

एक बार मैंने उसकी चूत में उंगली डाली, फिर उसने खुद अपनी चूत में उंगली डाली और फिर आरिफा ने भी उसकी चूत में उंगली से चोदा था.

कसम से दोस्तो, ममेरी बहन की चुदाई में इतना मजा मिलेगा मैंने सोचा नहीं था।मैंने पांच सात मिनट तक दीदी की चुदाई की और फिर मेरा माल निकल गया और मैं दीदी के ऊपर लेटकर हांफने लगा. प्रिय पाठको, आपको मेरी कानपुर सेक्स की कहानी कैसे लगी?[emailprotected].

भोजपुरी इंग्लिश बीएफ तो मैं आंख बंद करके मुठ मारता हुआ ‘आह सरीना डार्लिंग आह … आह सरीना तेरी मस्त गांड मारने को मिल जाए … आह मेरी सरीना रानी. उन्होंने मेरे एक दूध को अपने मुँह में भर लिया और मेरे निप्पल को अपने मुँह में लेकर खींचते हुए चूसने लगे.

भोजपुरी इंग्लिश बीएफ मैंने आपा का घूंघट हटाया और उसे एक अंगूठी गिफ्ट दी, जो मैं अपनी पत्नी के लिए लाया था. उन दोनों की चुदाई से मुझे भी मजा आने लगा था और मैं भी मस्ती से अपनी चूचियां पिलाते और गांड हिलाते हुए चुद रही थी.

फिर उस बाजू वाली भाभी का हाथ मेरी जांघ के ऊपर आ गया और वो मेरी जांघ को सहलाने लगी.

दिल्ली क्सक्सक्स

मैंने लंड चूसना छोड़कर उनकी आंखों में देखा, तो जेठजी ने मुझे उठाया और पलंग पर लिटा दिया. मैं आंखों ही आंखों में उस पर गुस्सा थी कि बिना बताए ये किधर का प्रोग्राम बना लिया. भाभी काफ़ी एक्सपीरियेन्स वाली थीं, उन्होंने छोटी सी उम्र में ही घाट घाट का पानी पिया हुआ था.

इंडियन सेक्सी भाभी चुदाई कहानी के पिछले भागपड़ोसन भाभी को चुदाई के लिए तैयार कियामें अब तक आपने पढ़ा था कि भाभी मेरे साथ सुहागरात मनाने के लिए दुल्हन का लिबास पहनने बाथरूम में चली गई थीं. एक दिन वो मुझे खाली सड़क पर दिखी तो …नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम नील है. [emailprotected]बार डांसर की कहानी का अगला भाग:जुआ के अड्डे से पोर्न ऐक्ट्रेस बन गई- 2.

अब लकी ने कमल की बिना परवाह किये सारा के मम्मों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

मैं आज तुम्हारी गांड मारूंगा और मेरा दोस्त तुम्हारी चूत चोदेगा … सच में तुम्हें बहुत मजा आएगा. वो कमर हिलाते हुए ठुमके लगाने लगी और पूरे लंड को लीलते हुए चुत की खुजली मिटवाने लगी. जेठजी अपना दूसरा हाथ भी मेरी गांड के नीचे ले गए और मेरे चूतड़ों को ऊपर की तरफ उठा दिया.

फिर वो अपनी बीवी को लेकर होटल आ गया और हम चारों एक मॉल में घूमने चले गए. अब वो उस डीप-फ्रीजर से उठीं और एक कोन वाली आइस क्रीम निकाल कर मुझे उस डीप-फ्रीजर पर लेटने को बोला. मैं उसके मम्मों को दबा रहा था, तब वो एक हाथ से मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहलाने लगी थी.

हमें सही वक्त भी नहीं मिल रहा था क्योंकि उस टाइम हम दोनों के एग्जाम थे तो हमने एग्जाम खत्म होने पर सेक्स करने का फैसला किया. उन्होंने मुझे अपनी बेटी का मोबाइल नंबर दिया और कहा कि कुछ पूछना हो तो अपनी दीदी से पूछ लेना.

उसके बाद मैंने उसे चित लिटाया, तो वो किसी पारंगत रंडी के जैसे अपनी चुत खोलकर लेट गई और उसने अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर मुझे इशारा किया. फिर मैंने उनको मज़े से चोदा।जीजा जी नेहा दीदी को रण्डी बोल बोलकर गाली दे रहे थे।सुबह तक फिर हम तीनों नंगे लेटे थे. करीबन ग्यारह बजे उसका पति घर आया और उसने सरिता को देखा कि वह अभी भी सो रही है.

थोड़ी सी वैसलीन मैंने अपने लंड पर लगाई और ज्यादा सी वैसलीन उनकी गांड के छेद में उंगली डालकर लगा दी.

अमित ने पहले ही एयर कंडीशनर चालू कर दिया था … जिससे कमरे में काफी ठंडक आ गई थी. मैंने उसे अपने लंड पर बिठा लिया और उसकी चूचियों को मसलते हुए चुदाई शुरू कर दी. एक दिन शाम को मेरी बीवी ने मुझे कहा- अपने सामने जो यह रानी आई है न!मैं- कौन रानी?मेरी बीवी- अरे श्याम की बीवी और कौन.

आंटी की सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं एक सेक्सी आंटी की चूत मारना चाहता था. झड़ने के बाद मैं रिट्ज की स्कूटी से करीब 10 बजे आकृति आंटी को दुकान से लेने चला गया.

मैं कुछ समझता, इतने में ज़रीना मेरे पीछे से आगे आकर मेरा लंड हाथ में ले लिया. मैंने जोर से उसको अपनी बांहों में भींच लिया था, जिससे उसके बोबे पिचक कर मेरे सीने से पिसने लगे थे. हम जिंदगी के उस पड़ाव पर हैं जहां पर हमारे शरीर की कुछ मांग होती है.

सेक्सी गाना चाहिए वीडियो

उसने जाते समय मुझसे पूछा- कल कितने बजे आओगे?मैंने कहा- जब तुम बुलाओगी, हाजिर हो जाऊंगा.

फिर जांघों से और ऊपर ले जाकर अपने हाथ की हथेली को मेरी पैंटी पर रख दिया. फिर अगले झटके पर मैंने जानबूझ कर अपना हाथ थोड़ा उसके हाथ की तरफ कर दिया. मैंने उनसे अपना लौड़ा चूसने को बोला तो वो झट से नीचे आ गईं और हाथ में लंड लेते ही सकपका गईं.

उसने मेरे सर को अपनी जांघों में भींच लिया और मेरे लंड को अपने दाँतों से काट दिया. मैं भी दीदी की गांड को सहलाते हुए उसकी चूत में तेजी के साथ जीभ को अंदर बाहर करने लगा. सेक्सी दिखाना वीडियो सेक्सीकुछ देर बाद वो मुझे आगे से मेरे पेट पर हाथ रख कर भी पकड़ने लगा और कभी मेरी नंगी कमर पर अपना हाथ ले जाने लगा.

जब मैं वहां गयी तो देखा कि नवीन कोई और नहीं, वो वही आदमी था जो जुआ के अड्डे पर आता था. मामी के चेहरे पर घबराहट तो थी लेकिन उसने लंड को हाथ में पकड़ने की कोशिश नहीं की मगर लंड से हाथ हटाया भी नहीं.

मैं तो अभी ये सोच कर डर रही हूँ कि जब घर जाऊंगी, तो मेरा क्या होगा. उनको इस हालत में देखकर मेरा लंड कड़क हो गया और अन्दर ही अन्दर लंड झटके मारने लगाफिर मैं भाभी के चेहरे पर रंग लगाने लगा और पीछे से पकड़ कर भी रंग लगाने लगा. उसने दोनों हाथों की मुट्ठी भींच ली और तभी उसकी चूत से गर्म गर्म लावा बह निकला जो मुझे मेरे लंड पर महसूस हुआ।मैंने अचानक से अपना लण्ड उसकी चूत से निकाला और अपना मुख उसके गर्म-गर्म लावे पर लगा दिया.

सुहैला ने अपनी दोनों जांघें किसी रंडी की तरह फैला दीं और आंख मारते हुए मुझे आमंत्रित किया. मुझे उनकी गांड को देखकर एक कही सुनी कहावत याद आ गई कि रोड के ऊपर गाड़ी का पेट्रोल खत्म हो सकता है लेकिन रोड कभी खत्म नहीं हो सकती. उसे पता था कि उसकी मॉम सही है और ये रिश्ता उन दोनों के बीच पाप का रिश्ता कहलाएगा.

फिर उसने अपनी चूत को अपने दोनों हाथों से खोलकर बताया- विशु, देख चूत में दो छेद होते हैं.

वो मेरे लंड की ओर मुंह को ले गयी और अपनी चूत मेरे चेहरे की तरफ कर दी. मैंने कहा- ये आप कैसे कह सकती हो?भाभी बोलीं- देखोगे?मैंने कहा- हां दिखाओ.

मेरा फोन नम्बर तो उसके पास था ही, मगर एक हफ्ते में ही उसने मेरा व्हाट्सएप्प नंबर भी ले लिया. उस समय मुझे अपने दूध चुसवाने में मज़ा आ रहा था, तो मुझे इस बात का पता नहीं चला था. मैं यूं ही अपने भाई से बोलने लगी- अरे ये गेम कहां से लिया … मुझे भी चाहिए.

पांच मिनट में हम दोनों की चुदाई अपनी ऊंचाइयों पर आ गई और हम दोनों किसी से कम नहीं रहने वाले हो गए थे. मुझे कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था, सिर्फ कार्तिक के हाथों का स्पर्श ही मिल रहा था. मेरी छोटी सी चड्डी में से एकदम साफ़ फुंफकारता हुआ दिख रहा था जिसे रिट्ज ने भी देख कर मजा लिया था.

भोजपुरी इंग्लिश बीएफ इतने में ही ससुर ने अपने पजामा नीचे करके लंड बाहर निकाला और मेरे मुंह में दे दिया. उसके घर और मेरे घर के बीच में जो छत थी, वो एक खाली घर था, उस घर में कोई रहता नहीं था.

सुपर बाउल xxv

सारा ने कमल को कसकर चूमते हुए कहा- देखा कमल … तीसरी के आते ही तुम्हारी चुदाई कितनी लाजवाब हो गयी. मैं उसे पहचान गई और बोली- हां बोल, फोन क्यों किया?वो बोला- मैं तुझे चोदना चाहता हूँ, तुझे देख कर मैं पागल हो गया था. इस बीच में अपनी चूत की फांकों से जेठजी के लंड को जकड़ती और छोड़ती रही.

रोहन ये सब सुनकर बहुत खुश हो गया और वो खुशी के मारे अपनी मॉम को किस करने लगा. मेरे मन में एक सवाल उठ रहा था कि मेरी उम्र इतनी ज्यादा है और मेरे स्तन को चूसने का मजा लेते हुए उसने कुछ नहीं बोला. सेक्सी सेक्सी चुदाई फोटोअब चाची मेरे ऊपर आ गयी और उसने अपनी दोनों टांगों को मेरी दोनों ओर कर लिया.

उसके बाद आकृति आंटी ने उस कोन वाली आइसक्रीम का पैकेट फाड़ कर मेरे लंड में पूरा कोन पहना दिया.

फिर उतरते हुए ही उसने मुझे फ़ोन पर मैसेज किया कि आप टॉयलेट के पास मिलिए, मुझे आपसे अकेले में काम है. सुबह अन्वेषी भाभी ने उठते ही मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया और लंड को कड़क करके उसके ऊपर चढ़ गईं.

फिर मैंने कहा- आपा आप कब तक इंतजार करोगी?आपा मेरी आंखों में आंखें डालकर बोली- तू क्या चाहता है?मैंने हिम्मत करके कहा- मैं आपको चोदना चाहता हूँ. मैं अपनी बेहन की टांगों में बीच में आ गया और उसकी चुत पर लंड सैट कर दिया. अब कुछ समझा बुद्धुराम या नहीं?मैं लवली के सारे लेक्चर को ध्यान से सुन रहा था।अभी मेरा बीज नहीं निकला था जबकि लवली झड़ चुकी थी।अचानक मुझे ध्यान आया कि एक बार खाली पीरियड में कुछ शरारती लड़के ब्लू फिल्म देख रहे थे तो थोड़ी सी फ़िल्म मैंने और अजय ने भी देखी थी.

सागर मेरी चूचियों के साथ खेलता, कभी मेरी चूत चाटता तो कभी मैं उसका लौड़ा चूसती.

इसके बाद वो मेरा दूसरा हाथ भी अपनी कमर पर रखवा कर मेरे सीने से अपनी मोटी मोटी चुचियों को चिपका कर हिलने लगीं. उसके पायजामे के अन्दर से ही उसका मोटा लंड मेरी चुत पर रगड़ मार रहा था. हुआ यूं कि जब मैं वहां रहने नया नया आया था, तो मुझे मालूम नहीं था कि इस घर में पानी का प्रॉब्लम है.

सेक्सी वीडियो झारखंड वालीउसकी आंखें फैल गई थीं और वो अपने गले में अटका थूक गुटक कर अपने बेटे के हब्शी लंड को देख कर एक बार डर सी गई. मैं तड़पती रही और वो आहिस्ते आहिस्ते लंड चुत में अन्दर बाहर करता रहा.

दिल्ली का सेक्सी

उत्तेजना के वशीभूत जेठजी अपनी शर्ट के बटन खोलने लगे; तो मैंने तुरंत उनके पास जाकर उनके हाथों को हटा दिया और अपने हाथों से जेठजी के शर्ट के बटन खोल दिए. जब वो लंड के साथ खेल रही थीं तो मैंने कहा- लंड को मुँह में लेकर चूसो न!निशा भाभी- नहीं, गंदा है ये. उसमें से एक सवारी हमारी सीट पर बैठ गई और एक सामने वाली सीट पर बैठ गई.

फिर वो लंड निकाल कर सीधा लेट गया और मुझसे बोला- चल अब तू लंड पर बैठ जा और ऊपर नीचे कूद. मैं झड़ कर एकदम निढाल होकर उनके ऊपर लेटा रहा और वो मेरे माथे को चूमते हुए सहलाने लगीं. मगर मुझे मालूम था कि कुछ समय बाद इन कपड़ों को भी मेरे जिस्म से हट जाना है.

मेरा लण्ड फूल कर फटने को हो गया था।इतनी देर से मैं प्रिया की चूत से खेल रहा था इसलिए लंड में लगातार कामरस बाहर आ रहा था. कुसुम अब शेखर से बोलने लगी थी- तुम घर में आते ही मुझे चोद दिया करो … और सुबह जाने से पहले भी चोदकर जाया करो. तो भाभी बोलीं- मैं बहुत दिनों बाद एक मजबूत और कड़क मर्द से मिली हूँ.

जब मैं उससे ये कहता, तो बोलती कि भैया अपन दोनों हैं तो किसी भी तरह चलें. आकृति आंटी बोलीं- ठीक है, लेकिन कहीं सही जगह उसको ले जाना … कोई दिक्कत न हो.

उसने मेरे तने हुए लंड की ओर देखा और मुस्कराकर बोली- काफी बदमाश हो गया है तू!उसके बाद मैं उसको रूम में ले गया.

मैं भी दीदी की गांड को सहलाते हुए उसकी चूत में तेजी के साथ जीभ को अंदर बाहर करने लगा. सेक्सी हिंदी वीडियो रोमांसउसी समय मैंने अपनी कमर को भी ऊपर की ओर धकेला और अपने बाएं हाथ से जेठजी की कमर को पकड़ कर चुत की ओर धकेलने का इशारा किया. सेक्सी पिक्चर साड़ी वाली भाभी की चुदाईमैंने कहा- ठीक है, आप सो जाइये, कहां सोना है आपको? बेड पर या नीचे वाले गद्दे पर?मामी बोली- मैं नीचे वाले गद्दे पर सो जाऊंगी, तुम बेड पर सो जाना. मेरी बात खत्म होने पर आंटी बोलीं- तुमको तो पता ही है आकाश कि तुम्हारे अंकल का होना या ना होना बराबर ही है.

जब मुझसे नहीं रहा गया तो मैं पूर्ण उत्तेजित हो उठी और झट से अपने दाहिने हाथ को अपनी दोनों टांगों के बीच ले जाकर जेठजी के लंड को बीच से पकड़ कर अपनी गीली चूत के मुँह पर रख दिया.

ऊपर से उन्होंने अपनी टांगों को क्रॉस करके मेरे गले को भी बांध लिया था. आखिर में उन्होंने बोला कि आज काफी दिनों बाद मैंने किसी से इतनी देर और इतनी बात की है. लेकिन अभी मैं जल्दबाजी में कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था, इसलिए केवल पैर की ही मालिश करता रहा.

उसकी फिर से एक तेज़ सिसकी निकली और मैं उसके साथ चुदाई की धकापेल करने लगा. अंजलि मोटे लंड के कारण चीख पड़ी और बोली- उई मां मर गई रमेश धीरे … आह मार ही दोगे क्या. तीन चार मिनट तक चाची ने मेरे लंड को मजे से चूसा और फिर उठकर वो अपनी साड़ी खोलने लगी.

ट्रिपल+एक्स+के+कलाकार

मेरा रंग गोरा था और लड़कों के लौड़ों की धड़कन थी मैं!इस कहानी को सुनकर मजा लीजिये. मैंने कहा- शर्त लगा कर खेल खेलोगी?वो बोली- मतलब!मैंने कहा- लूडो में एक गोटी मारने पर एक बात माननी पड़ेगी … तुम्हें भी और मुझे भी. क्या तुम्हें इसमें कोई दिक्कत है?सारा एक एक दांव संभाल कर चल रही थी.

मुँह बंद होने से उसकी आवाज बंद हो गई मगर जैसे ही मैं जरा सा हिलता, तो उसको दर्द होने लगता.

उसे देख कर मैंने उठ कर रूम का डोर लॉक किया और उसकी तौलिया खींच कर उसे नंगी कर दिया.

शायद आज तक प्रियंका भाभी के पति ने उनकी गांड में लंड डाला ही नहीं होगा. गांड मारने के बाद मैंने वीर्य अन्दर ही छोड़ा और उसकी पीठ पर ही ढेर हो गया. सेक्सी बहिण भाऊमैंने उनसे पूछ लिया- भाभी क्या आप कभी सेक्स करते समय रोयी हो?उन्होंने कहा- नहीं, अनिकेत के साथ कभी ऐसा नहीं हुआ.

वहां उनकी ब्रा और पैंटी टंगी थी, उसको देख कर मैंने उसको उठा लिया और सूंघा. जाते जाते मैंने उसकी गांड पर एक चपेट मारकर बोला- अबकी बार इसका नंबर है, तैयार चिकनी करके रखना. मैंने उसकी नंगी गांड दबाते हुए कहा- अब बताओ … क्या करूं?उसने कहा- क्या जन्म से ही चूतिया हो या अभी बन गए हो.

आपका ही आकाश[emailprotected]सेक्सी लेडी पोर्न स्टोरी का अगला भाग:मां बेटी की चुदास मेरे लंड से मिटी- 5. उसे लकी नाम का एक लड़का पसंद आ गया था जो कुछ दिन पहले ही उनके सामने वाले फ्लैट में रहने आया था.

चूंकि छत पर अंधेरा था तो पता नहीं लग सकता था कि कोई इन्सान सो रहा है या जाग रहा है।दीदी ने देखने की कोशिश तो की और मैंने सोने का नाटक किया।मैंने सोचा कि दीदी अब मामा को कुछ बोलेगी.

वो अब लंड छोड़ कर किसी भूखी मादा शेरनी की तरह मुझपर चढ़ गईं और अपनी दोनों टांगों को उठा कर मेरे लंड को चुत पर सैट करने लगीं. शेखर भी कुसुम की चूत में झड़ गया … पर कुसुम के मुँह से रोहन का नाम सुनकर वो चौंक गया था. फिर खड़े लंड को जोर जोर से रगड़ने से लंड सफेद रंग का पानी सा बाहर छोड़ देता है, जिससे बहुत सुकून मिलता है.

पति-पत्नी का सेक्सी हिंदी हॉट वाइफ फंतासी स्टोरी में पढ़ें कि मेरी बीवी ने बताया कि उसकी सहेली अपनी सेक्स लाइफ से खुश नहीं है. आकृति आंटी ने मुझसे कहा कि तुमको रिट्ज कैसी लगती है?मैं ये सुनकर एक बार को तो हड़बड़ा गया और बोला- ठीक लगती है.

वो अभी वर्जिन थी … क्योंकि वो मेरा स्कूल टाइम से क्रश थी और वो भी मुझे लाइक करती थी. मेरी बहन बोली- जब भी तुम्हें भाभी की याद आती है, तो क्या तुम ऐसे ही करते हो?मैंने उसकी बात समझ ली कि ये मुठ मारने की बात कर रही है. उसके होंठ और चूचों को किस करते हुए मैंने उसके दर्द को कम करने व भुलाने का प्रयास किया.

गो से लड़कों के नाम 2022

शेखर ने अब कुसुम को पूरी नंगी कर दिया और उसकी नंगी कोमल चूचियों को छूने मात्र से शेखर का लंड फिर से तन गया. जब मेरा एडमिशन हो गया तो राज़ ने मुझे गर्ल्स हॉस्टल के एक रूम में शिफ्ट कर दिया क्योंकि हम लोग एक ही रूम में नहीं रह सकते थे. उनके मुंह की पकड़ इतनी तेज थी कि मेरे मुंह से जोर जोर की आहें निकलने लगीं.

वो बोलने लगीं- तुम क्या चाहते हो सबको मालूम चल जाए कि मुझे कोई अभी भी चोदता है. मैं जल्दी से मम्मी की नाइटी पहन कर कमरे से बाहर आयी और कमरे का दरवाज़ा भेड़ कर मेन गेट पर आ गई.

दस मिनट की जोरदार चुदाई के बाद रमेश का वीर्य अंजलि की चुत में भर गया था.

मेरी उंगली अब उसके इसी रस से तर-बतर थी।मैंने उसका हाथ, जो मेरे हाथ में ही जकड़ा हुआ था, उसके मुँह पर ले जाकर रखा और उंगली का एक धक्का चूत के अंदर किया।उसके मुंह से ‘ऊउउ … उ … गुं गुं’ की आवाज निकली और उसी के साथ उसकी आंखें खुलीं तथा वह दर्द से टांग लहराते हुए छटपटाई।फिर मैं दोबारा उंगली को थोड़ा बाहर लाया और एक और बार उंगली अंदर डाल दी. थोड़ी देर बाद बहन बोली- भाभीजान की याद आ रही है?मैंने धीमे से कहा- हां. पीयूष- कोई बात नहीं, यही पहन कर रखो, धीरे धीरे तुमको मजा आने लगेगा.

उन्होंने इतने मन से बोला था कि मैं मना नहीं कर सका और जाकर सोफे पर बैठ गया. उसने कमरे में रखे फ्रिज से एक कोल्डड्रिंक की कैन निकाली और मेरे मुँह में दूध देते हुए बोली- अब चूसो. मैंने प्यार से उस भाभी के पेट पर अपने होंठों से चूम लिया तो भाभी सिहर सी गई.

वो अपने को खुशनसीब ही मानता कि सारा जैसी चुलबुली लड़की से उसकी शादी हुई है.

भोजपुरी इंग्लिश बीएफ: उसका लंड मेरी चुत की फांकों में जैसे ही फंसा, उसने एक ज़ोर का धक्का दे दिया. उसने जैसे ही अपनी मॉम के कमरे का दरवाजा खोला, तो रूम में पूरा अंधेरा था.

उसका ब्लाउज ऊपर से काफी गहरे गले का था जिसमें मेरे स्तनों के बीच की गहराई बहुत ज्यादा दिख रही थी. मैंने दोनों टांगों में इतनी जोर से कसके पकड़ा कि मेरा पहला ओर्गेज्म हो गया. कुछ मिनट तक लगातार धक्के मारते मारते शेखर कुसुम की गांड में ही झड़ गया.

फिर चुदाई की और अधिक भूख लगने लगी तो मैंने कल्पना की कुछ सहेलियों के साथ भी मजे किए.

हम दोनों की सांसें बहुत तेज चल रही थीं, मैंने उसे गले से लगा कर चूम लिया. इस वक्त कुसुम के होंठ रोहन के होंठों के सामने थे और कुसुम की चूचियां रोहन की छाती में धंसी हुई थीं. झट से पलट कर लेट गई और मेरे मुँह पर चुत रखते हुए बोली- ले चूस ले भैन के लंड.